इंग्लिश बीएफ चुदाई चुदाई

छवि स्रोत,देखने के लिए सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ बड़े लंड वाली बीएफ: इंग्लिश बीएफ चुदाई चुदाई, दीदी कई बार अपनी ज़ुबान को मेरे मुँह में घुसा देती और मैं भी दीदी की ज़ुबान को प्यार से चूसने लगता लेकिन जब मैं अपनी ज़ुबान को दीदी के मुँह में डालता तो दीदी पागल कुतिया की तरह मेरी ज़ुबान पर टूट पड़ती थी.

वीडियो बडी एप कैसे डाउनलोड करें

अन्तर्वासना हिंदी सेक्स स्टोरीज डॉट काम पर मेरी पहली कहानीमेरी पहली बार गांड चुदाईप्रकाशित होने पर मुझे काफी सारे प्रोत्साहित करने वाले ईमेल मिले। मुझे अपने विचार भेजने के लिए मैं उन सभी पाठकों का धन्यवाद करता हूँ. घोडा बाई सेक्समैं भी ये ही चाहता था, पर उससे डरता बहुत था कि कहीं वो नाराज ना हो जाए.

कुछ देर बाद मम्मी बोली- मैं मीतू के पास सो रही हूँ, तुम यही टीवी वाले कमरे में सो जाओ. शुद्ध हिंदी सेक्सठीक है, आज ही आपको दो मिल जाएंगे, बस आप तैयार रहना। आप बताइए कि कितना बजे भेजना है?मैंने कहा- साढ़े दस बजे तक भेज देना.

फिर वह बोली- मुझे सब कुछ करने का मन हो रहा है पर मैंने यह सब कभी नहीं किया तो मुझे डर भी लग रहा है.इंग्लिश बीएफ चुदाई चुदाई: फिर एक दिन घटना घट गई जिसका हाल एक कहानी के रूप में आपके समक्ष पेश कर रहा हूँ.

फिर मैं जल्दी से फ्रेश होने चला गया ताकि हमें टाइम ज़्यादा मिल सके.उसका कमरा फर्स्ट फ्लोर पर था, नीचे उसके मकान मालिक अपने परिवार के साथ रहते थे और उसके आने जाने का रास्ता घर के बाहर से ही था.

ा७ सट्टा किंग - इंग्लिश बीएफ चुदाई चुदाई

इतने में रिया और मेरी सास उठी और मुझे कुत्ते की तरह झपट लिया, मेरी साड़ी रिया ने खोल दी और ब्लाऊज सास ने, पेटीकोट भी रिया ने उतार दिया.एक बार जब दीदी की गांड का छेद ज़रा सा खुला, मैंने जल्दी से एक उंगली गांड के अंदर घुसा दी जिस वजह से दीदी हल्का सा उछल गई लेकिन फिर से मेरे लंड को जल्दी ही चूसने लगी.

मॉम की चुदाई की इस कहानी के पिछले भागसेक्सी विधवा मॉम की चुदाई का मजामें आपने पढ़ा कि मेरी मॉम विधवा है, बहुत सेक्सी है. इंग्लिश बीएफ चुदाई चुदाई मैंने नेट वाली मिलती जुलती पैन्टी मिला के दे दी और फिर उसके रूपय भी ले लिए और वो फिर घर चली गयी!मैं फिर अपने काम में व्यस्त हो गया और आहिस्ता आहिस्ता शाम हो गयी और मैं रज़िया के बारे में ही सोचता रहा!और सुबह उठ कर उसके घर गया.

वो जब अंदर आई तो मैंने उसको अंदर कुर्सी पर बैठाया और पानी पूछा तो बोली- अभी तो ए.

इंग्लिश बीएफ चुदाई चुदाई?

उस समय मुझे सेक्स की समझ तो थी पर मैं अनुभवी ना होने के कारण से मैं भाभी की कामुकता से भरपूर हरकतें समझ नहीं पाया. उसने मुझसे पूछा- आप को खाना बनाना आता है क्या?मैंने कहा- क्यों आप हो तो सही? फिर मुझे किस बात की फ़िक्र करना?तो वो कहने लगी- अभी तो आ गई हूँ, पर शाम को मुझे अपने पति के साथ शादी में जाना है. अब कोमल लंड को तेज़ी से मस्त चूस रही थी और उसे अपनी मुँह के अन्दर बाहर कर रही थी, जैसे उसे भी अब चूसने में मजा आ रहा था.

भाभी बोलीं- तेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है क्या?मैं बोला- नहीं भाभी, लेकिन मैं किसी को पसंद करता हूँ. चूमते हुए पेटीकोट के ऊपर से ही मैं रेणुका भाभी की चुत को चूमने लगा. सिमरन बहुत ही तेज दर्द के साथ बोली- हाय मम्मी, मर गई! वीशु जी मुझे बहुत दर्द हो रहा है, निकाल लो अपना लंड! मुझे नहीं चुदना!और वो दर्द से छटपटाने लगी.

उम्मीद है यह लघु निबन्ध सभी नए लेखकों का मार्गदर्शन कर उन्हें कुछ अच्छा और नया लिखने को प्रोत्साहित करेगा. जल्दी ही बहूरानी अच्छे से मस्ता गयीं और अपनी चूत उठा उठा के मेरे मुंह में देने लगीं. मैंने 500 वाली बात किसी से नहीं बताई थी, लेकिन वो रूपये मैंने संभाल कर रखे थे.

उसने उठा कर सारी लाइटें बंद कर दीं और दोनों मोमबत्ती जला कर नाईटी को उतार दिया. मेरे मामा की तो किस्मत बहुत अच्छी है जो आप जैसी मामी उन्हें मिली हैं.

तभी उसका बच्चा रोने लगा, उसने ब्लाउज के तीनों बटन खोल दिए और एक चुची से अपने बच्चे को दूध पिलाने लगी.

मैंने अपना हाथ नीचे ले जा कर उसकी पैंटी में अंदर डाला और उसकी ओर देखा तो वह भी अपने नीचे के बाल बना कर आई थी.

ये बात सुन के ही दीदी ने अमित को फोन पर गुस्से में कुछ बोलना चाहा लेकिन मैंने अपने लिप्स पर उंगली रख के दीदी को चुप होने को बोला. मुझे मेरी भाभी की चूत ऐसे चाटना चाहता हूँ कि उनकी चूत से स्वादिष्ट रस निकलता रहे. कुछ देर ऐसे ही पड़े रहने के बाद हम दोनों देवर भाभी ने एक दूसरे को धन्यवाद दिया और उठ कर सफाई करके फिर से वोड्का के जाम लेने लगे फिर खाना खाया.

मेरी चोदन कहानी पर अपने विचार मुझे मेल करें!धन्यवाद, फिर मिलते हैं. ” दिनेश ने विक्रान्त के कान में फुसफुसा के कहा।यार वैसे तू कुछ ज्यादा ही ठरकी है पर इसने तो मेरा भी बम्बू बना दिया है. मैंने फोन को चूमा और किचिन में जा के रानी को दे दिया और उसे अपना बंगलौर और दिल्ली जाने का प्रोग्राम बता दिया.

इसी झटके के लिए मैंने अभी तक दीदी के कन्धों को कस के अपने हाथ से पकड़ा हुआ था ताकि दीदी दूसरे झटके से बचने के लिए आगे की तरफ नहीं निकल जाए.

यह मैं 1 घंटे से भी ज्यादा समय तक करता रहा और फिर हम डिनर करके रात में 11. मौसी की गांड पतले कपड़े से साफ दिखलाई दे रही थी, रोहण खींच खींच कर चुदाई कर रहा था. यह बात 2010 की है जब मैं एम सी ए कर रहा था, जिसकी कहानी है, उस लड़की का नाम सुमन है और वो मेरे कजन की गर्लफ्रेंड थी.

मैंने भी अपने भाई से चुदने का फ़ैसला कर लिया क्योंकि अगर भाई मान गया तो रोज रात में मस्त चुदाई होगी और नींद भी अच्छी आएगी. अंजलि बेड पर अपनी जाँघें फैलाए पड़ी थी, उसने टॉप पहना हुआ था मगर लोअर उतारा हुआ था, पंत्य्य नीचे सरकी हुई थी और अपनी चूत में एक डिल्डो अंदर बाहर कर रही थी. अगले दिन रविवार था, मैंने रात में होटल में स्टे किया था, रात को घर रहना ठीक नहीं था.

इससे उसके लंड में से कुछ लाल रंग का हिस्सा बाहर खुल कर आ गया था और कुछ बड़ा भी हो गया था.

मैं जब अमदाबाद में जॉब करता था, तब मैंने एक प्रोफ़ेशनल कोर्स में पार्ट टाइम एडमिशन लिया था, जिसकी क्लास शाम को होती थीं. वैसे मुझे ऐसे ही कपड़े पसंद थे और मैं पहनती भी ऐसे थी कि मेरी आधी बॉडी दिखे, तभी इस जवानी और इस जिस्म का मज़ा है.

इंग्लिश बीएफ चुदाई चुदाई आज मैं अपने साथ हुई इसी पर आधारित एक सच्ची घटना को आपसे शेयर करना चाहता हूँ. उन्होंने एक एक करके दोनों छेद दिखाए जिसमें ऊपर वाला छेद मूतने के लिए बताया कि इस वाले छेद से मूत निकलता है और नीचे वाले छेद में लंड घुसेड़ा जाता है.

इंग्लिश बीएफ चुदाई चुदाई फाइनली हमारी एक दूसरे के साथ सेक्स करने की कामना पूरी होने वाली थी. मयूरी सोफे पर लेट गई और मोहन लाल ने अपना लंड उसकी चूत पर सैट करके एक ही झटके में पूरा लंड उसकी चूत में उतार दिया.

अब मेरा लंड पूरी तरह से टाइट हो चुका था जो सलवार के ऊपर से ही अप्पी की गांड में घुसना चाह रहा था.

चुप चुप के बीएफ

अमित- यार अपनी कोई फोटो दे दो मुझे ताकि जब याद आए तो देख लिया करूँ. फिर कुछ ही देर में उस किताब के ऊपर ही अपना सारा माल निकाल कर निढाल होकर बेड पर पड़ा रहा. लेकिन मेरे भरे हुए गोरे जिस्म को देखकर इसने मुझे बीस हज़ार से पचास हज़ार का ऑफर कर दिया.

फिर उसने मुझे खाना खिलाया और घर ले जाने लगा कि रास्ते में मेरे हाथ पर अपना हाथ रख दिया. तभी बाहर के दरवाज़े की घंटी बजी, हम दोनों को जैसे शॉक लग गया, साक्षी भाग कर दरवाज़े पे गयी तो कोई सेल्समेन था, उसे वापस कर के साक्षी दौड़ के मेरे कमरे में आयी. वो ड्रेस मेरे बूब्स से लेकर चूतड़ों तक थी, पीछे पीठ में ऊपर से नीचे तक पूरे में चैन लगी थी.

मेरे प्रिय दोस्तों, मेरा नाम सनी सिंह है, मैं राजस्थान में रहता हूँ.

मैं आकांक्षा के इस लंड चूसने की कलाकारी को मुस्कुराते हुए देख रहा था और उसके बालों में हाथ भी फिरा रहा था. दोस्तो, अब शायद जल्दी ही मेघा और मेरी शादी हो जाएगी तो हमें अपनी शुभकामनाएं जरूर दीजिएगा. आज से छह महीने पहले एक रात को मैं फेसबुक पर ऑनलाइन था और हमेशा की तरह उस दिन भी लड़कियों को रिक्वेस्ट सेन्ड कर रहा था.

मैंने कहा- चलो, अच्छी बात है, ऐसी सुन्दर महिला के घर जाने का मौका क्यों छोडूँ!रास्ते में थोड़ा और बातचीत करते करते हम उनके घर पहुंच गये… उनका घर अच्छा खासा बंगला था. उधर विकास ने पूजा पर अपना निशाना बना कर उसे पूरा भिगा दिया, जिससे उसका टॉप उसके शरीर को पूरी तरह से चिपक गया. मैंने थोड़ा इन्तजार करके फिर से जोर से धक्का मारा तो लंड आधा अन्दर चला गया.

उसकी चूचियां ज़्यादा तो नहीं लेकिन हाँ मतलब भर की थी जो मेरे हाथ में आ रही थी और अब मैं उन्हें धीरे धीरे दबाता और उसे फ्रेंच किस भी करता जाता. मुझे मेरी भाभी के साथ नंगे होकर नंगी फिल्म देखनी है… नंगी फिल्म देखते हुए मैं उसके मम्में दबाना चाहता हूँ और भाभी मेरा लंड हाथ में पकड़ के हिला रही हों…13.

[emailprotected]कहानी का अगला भाग :गांडू बेटे की सेक्सी माँ को चोदा-2. मॉम की बलखाती कमर के नीचे मोटे और बड़े से चूतड़ उसकी खूबसूरती को 100 गुना बढ़ा देते हैं. मैं उनके बदन को अच्छी तरह निहार रहा था, मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया.

एक दिन भाभी अपने कमरे में आराम कर थीं तो मैं भी उन के पास चला गया और हँसी मजाक करने लगा.

फिर हमने एक रात संभोग किया, उस रात उसने पहली बार मुझे अपना पति स्वीकार किया. फिर बॉस ने रास्ते में खाना पैक करवाया और फिर मुझे अपने फ्लैट में छोड़ा और कहा कि खा पी कर आराम कर लो, मैं शाम तक आता हूँ. इधर बाहर मैं खड़ा उसी गांड को चोदने की सोच में हाथ से लंड हिला रहा था.

मैं सफेद और रेड कॉंबिनेशन का सलवार सूट पहन कर कॉलेज गई तो सबकी नज़रें मुझे ही घूर रही थीं. पुलकित भी हंस दिया- ओ के जी, तो क्या हम दोनों चॉकलेट और कचोड़ी एक साथ खा सकते हैं?मंजरी बोली- हाँ, क्यों नहीं!तो पहले तुम मुझे चॉकलेट खा कर दिखाओ!” पुलकित बोला.

चूमते हुए उसने मेरी ब्रा का हुक़ खोल दिया और ब्रा को मेरे शरीर से अलग कर दिया. ऐसे ही हम दो तीन बार मिले, जब भी मैं दूध को हाथ लगाता वो गुस्सा हो जाती. उमर हो गयी आपकी, बच्चों की शादियाँ हो गयीं लेकिन आपकी आदतें आज भी वही जवानी वाली हैं जैसे कल ही शादी हुई हो अपनी.

जानवर इंसान वाला बीएफ

लंड को पूरा बाहर तक खींच कर फिर पूरी ताकत से उसकी चूत में पेलने लगा.

योगिता कई बार झड़ चुकी थी, उसके चेहरे पर संतुष्टि के भाव साफ दिख रहे थे, मैंने रफ़्तार बढ़ाई और उसकी चूत को जूनून से चोदने लगा. ”यह क्या कह रही है तू बहू? मुझे ट्रेन से बंगलौर आने में पच्चीस छब्बीस घंटे लगेंगे और फिर हम दोनों बंगलौर से दिल्ली जायेंगे ट्रेन से. मम्मी ने उसके काले लंड का ज़ोरदार चुम्बन लेते हुए कहा- वाउ इट टेस्ट सो गुड.

गांड गीली होने की वजह से थप्पड़ की आवाज़ बहुत मस्त आई और फिर मैंने उनकी टी-शर्ट को खींच कर फाड़ दिया और सिलेक्स को भी एक झटके में नीचे खींच दिया. सुनील ज़ोर ज़ोर से धक्के लगाने लगा तो मुझे ऐसा लगा कि मेरी चुत से पानी निकल पड़ेगा. চোদাই ভিডিওकुछ ही पलों में वो थक गई, क्योंकि हम एक एक बार हो लिए थे, तो भी टाइम लगना था.

अचानक ड्राइवर ने ब्रेक लगाया तो वो अपने लड़के पर गिर गईं और ठीक मैं उनके पीछे था. अब ब्रायन का तनतनाता हुआ लंड एक बार फिर उनकी आँखों के सामने लहरा रहा था.

फक मी हार्ड नाउ पापा!”या अदिति बेटा, ऍम गोइंग टू ड्रिल योर चूत नाउ!” मैंने बोला और फर्श पर से उठ कर बहूरानी पर झुक गया और अपने लंड से उसकी रिसती हुई चूत को रगड़ने लगा. वो इन धक्कों से निहाल होकर 10 मिनट में ही झड़ गयी और मुझसे कस के चिपक गयी. ये किस्मत का खेल ही था, जो एक सामान्य घर के सामान्य से रिश्तों को कुछ ही घंटों में इतना विशेष बना दिया.

वो अंतिम कुछ धक्के तेज मारे और एकदम आखिर के तीन चार धक्कों पर अपनी गति बहुत धीमी कर दी जैसे कि वह ट्रेन की प्रशिक्षित चालिका हो, और एक बार में ही ब्रेक मारने से दुर्घटना हो जायेगी।तनु मुझ पर ही लुढ़क गई और लिपट कर लेट गई, मैं तनु के पूरे शरीर को सहला रहा था, अब हमारा तन मन फूल जैसा हल्का निश्छल और निर्मल हो चुका था।शायद ऐसे लेटे ही हमारी नींद लग गई. उन्होंने मेरा लंड फ़िर से चूस कर नेक्स्ट राउंड के लिए खड़ा कर दिया और मैंने उन्हें फ़िर से इशारे से कहा- लेट जाओ. लड़का बोला- इसके साथ वाले जागे तो?वो बोली- मैं कह दूंगी टॉयलेट गई है.

करीब दो मिनट ऐसा ही करती रही और इस बीच मेरा लंड पूरा उसकी चूत में उतार चुका था.

फिर धीरे-धीरे मैंने मेरे हाथ उसके चूचों की तरफ बढ़ा दिए और उन्हें सहलाने लगा. कुछ यों ही इधर उधर की बातें हमने की और हम अपने गन्तव्य पर पहुँच गए.

दीदी के दोनों हाथ मेरे हाथों में थे और पूरी तरह खुल कर बेड पर लगे हुए थे जिससे मुझे स्पीड तेज रखना मुश्किल हो रहा था. भाभी मुस्कुराने लगीं और कहा- मुझ में तुम्हें क्या सेक्सी लगता है? बताओ ज़रा?मैंने कहा- भाभी… आपके होंठ…भाभी- और?मैंने कहा- और… आपके बूब्ज़!भाभी मुस्कुराने लगीं और पूछा- और क्या क्या? सब बता दो आज!मैंने कहा- आप की बैक भी. मेरा खड़ा लंड इस बार बिल्कुल सीधाआंटी की गांडमें दरार में था और मेरे दोनों हाथ उनके बड़े बड़े कूल्हों पर थे.

रियल सेक्स कहानी जारी है, कहानी पर अपने विचार दे सकते हैं।मेरा ईमेल है-[emailprotected]. उसने कहा- आपकी बात तो ठीक है, पर हर एक पर भरोसा तो नहीं कर सकती और आजकल तो आपको पता ही है कि थोड़ा सा भी कुछ हो जाए तो लोग बातें बनाना शुरू कर देते हैं और एक अकेली लड़की का जीना मुश्किल हो जाता है. मैं जानती थी कि मम्मी बहुत ज्यादा किसी कॉफ़ी शॉप या रेस्टोरेंट तक ही जाएँगी.

इंग्लिश बीएफ चुदाई चुदाई उसने अपनी दोनों टाँगों से मेरी कमर पकड़ ली और कह रही थी- मुझे चोदो… और चोदो… उम्म्ह… अहह… हय… याह… और अंदर तक डालो!अब मेरा लंड आसानी से अंदर बाहर हो रहा था, छप छप की आवाज़ से पूरा कमरा गूँज रहा था. बहुत अच्छा लग रहा था, पर मैंने बनावटी ढंग से भाभी को डांटा कि जबरदस्ती मेरा मूड मत बनाओ।भाभी के गाड़ी से उतरते ही एक कातिल मुस्कान के साथ मैं अपनी दुकान पर वापस आ गया।कहानी जारी रहेगी.

काजोल हीरोइन की सेक्सी बीएफ

वो बेड पर झुक कर कुतिया बन गई जिससे उसकी चुत पीछे से खुली दिख रही थी. भाभी ने संजय को जोर से जकड़ लिया और झड़ गईंमैं खिड़की के बाहर से गैर मर्द से भाभी की चुत चुदाई देख कर अपना लंड सहलाने लगा. अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज पर मैं पहली बार अपनी सेक्स कहानी लिख रही हूँ, मुझे उम्मीद है कि आपको मेरी सेक्स स्टोरी पसंद आएगी.

लेकिन मैंने उसके दोनों हाथ पीछे करके पकड़ लिए और धीरे धीरे उसकी गांड मारने लगा. लेकिन मैंने आपको ये बात बताई है, सिमरन को मत बोलना और मुझे उसके घर से थोड़ा पहले ही उतार देना जिससे उसे यह पता न चल जाये कि मैं आपसे आज मिल चुकी हूँ। वीशु जी, फॉर्म फिल अप करना तो एक बहाना है, असल में सिमरन आपका खड़ा हुआ लंड देखना चाहती है. मारवाड़ी सेक्सी इंडियामुझे अपने ऊपर गुस्सा आ रहा था कि इस गुड़िया सी लड़की को इतना दर्द दिया.

मौके का फायदा उठा के उस्मान ने माया की नाभि के नीचे अपनी उंगली फिरा दी.

वो फिर से मेरा लंड चूसने लगी जिससे वो दोबारा खड़ा हो गया, अब मैंने उसकी ब्रा और पैंटी उतार दी, अब वो मेरे सामने बिल्कुल नंगी खड़ी थी, उसके बड़े बड़े मम्मे मुझे अपनी ओर खींच रहे थे कि हमें चूसो. आपके पहले प्रोजेक्ट पे ये आपके साथी होंगे और इसलिए आप दोनों का केबिन एक ही है.

हम दोनों की जीभें आपस में फाइट करने लगीं, हमारी स्मूच 15 मिनट तक चली. करीब 5 मिनट बाद मेरा पूरा लंड दीदी की गांड में अंदर बाहर होने लगा था. अमित- यार अपनी कोई फोटो दे दो मुझे ताकि जब याद आए तो देख लिया करूँ.

अब वो पूरी तरह से गर्म हो चुकी थी और मेरे लंड का तो हाल ही बुरा था, अंडरवीयर में वो तन कर एकदम अकड़ चुका था, मेरी अंडरवीयर और मेरा लंड भी मेरे प्रि-कम से गीली हो चुका था.

मेरा नाम अजय है, मैं राजस्थान के अलवर का रहने वाला हूँ लेकिन अभी नोयडा में रह कर प्राईवेट जॉब कर रहा हूं. इसके कुछ देर बाद फिर से दो दो पैग लगाए और फिर से लंड चूत की कुश्ती शुरू हो गई. जब हम चले तो मॉम अपने उन रिश्तेदार से बोलीं कि राहुल का फोन नंबर दे दो, मुझे उससे कुछ काम है.

देसी गांव का सेक्समहेश- अगर तुम ने मुझे बीच में रोक दिया तो मेरी कोई भी बात माननी पड़ेगी. मैंने भी शरारत भरी हंसी देते हुए पूछा- क्या चीज़ छोटी निकल आई भाभी?वो इठला कर बोलीं- देवर जी, पेंटी छोटी निकल आई.

सलवार वाली बीएफ

मैंने उसे ढांढस बंधाया और उसकी जॉब के लिए दो तीन जगह बातचीत कर ली, मेरा अपना काम इतना बड़ा नहीं था कि मैं उसकी सैलरी अफ्फोर्ड कर पाता इसलिए मैंने उसे दूसरी जगह जॉब पर लगवा दिया जहाँ काम का इतना स्ट्रेस भी नहीं था और सैलरी भी पवन के ऑफिस से तो बेहतर ही थी. करीब दस मिनट मेरी गांड चोदने के बाद सर ने लंड बाहर निकाला और मेरी स्कर्ट को भी निकाल दिया. 7 का था, खूब बड़े बड़े स्तन थे, मुझे साइज़ का अंदाजा नहीं, लेकिन बहुत टाइट और बड़े थे.

5 इंच का लंड मेरी पैन्ट से बाहर निकाला जो अब तक पैन्ट में तम्बू बन कर खड़ा था और फिर वो नीचे बैठ कर चूसने लगी. तभी ललित बोला- यार मुझे शायद ज्यादा दिन भी लग सकते हैं तो तू प्लीज इधर का ख्याल रखना. साथ ही पीछे से मॉम की चुत में लंड के धक्के पे धक्का मारे जा रहा था.

मेरी हिंदी सेक्स स्टोरीपहले प्यार का चुदारम्भ-1में आपने पढ़ा कि मेरे पड़ोस की एक लड़की बड़ी खूबसूरत, सेक्सी थी, उसका जिस्म कुछ ज्यादा ही खिला हुआ था। लम्बे बाल, मटकती हुई गांड, मोहल्ले के सारे लड़के उसकी गांड के ही दीवाने थे, लेकिन वो लड़की शायद मुझे चाहती थी तो एक दिन उसके दिल की बात मेरे सामने आ गई और हम दोनों एक दूसरे को प्यार करने लगे. पाठको, आपको मेरी हिन्दी सेक्सी कहानी कैसी लगी, मेरी स्टोरी पर अपने कमेंट्स जरूर कीजिएगा. मैं अपने हाथों से उनके निप्पलों और जीभ से उसकी चूत को घायल कर रहा था.

इस वीडियो में लड़की लड़के के कपड़े उतारती है तो मैंने कहा- जयसे ये कर रहे हैं ना, वैसा ही हम करेंगे, बहुत मजा आएगा. मैं उनकी हैंडसम पर्सनलिटी अच्छे पहनावे और स्टाइल से काफी इम्प्रेस भी थी.

उसकी लपलप करती चूत में पीछे से अपना लौड़ा डाल कर भीषण धकापेल चुदाई करने लगा.

मैं सुबह जल्दी उठी गई और दरवाजे की चौखट पर देखा कि एक पैकेट पड़ा था. डिस्को लाइटमैं रोज रात को उसे किस करने जाता, तो कोई न कोई बहाना करके मना कर देती. अंग्रेजी सेक्स बताओअब मैं 5 मिनट तक ऐसे ही उसके होंठों को चूसता रहा, फिर मैंने एक और धक्का मारा और मेरा पूरा लंड उसकी चुत में घुसता चला गया. ट्रेन के रास्ते में कई बार भैया ने पूछा कि मैं कहां तक पहुँच गई हूँ.

दिव्या सो रही थी, तभी अमित का एसएमएस आया और पता नहीं मुझे क्या हो गया था कि दिव्या को न जगा कर मैं ही एसएमएस खोल कर पढ़ने लगी.

यह सुनते ही उसने एक हल्की सी मुस्कान दी और रसोई में आ कर काम करने लगी. मुझे कॉलेज की हवा लगी तो मुझे भाभी की हरकतों का मतलब समझ आने लगा था. सब परिवारों को एक एक रूम मिला हुआ था होटल में!अब मैं आपको अपनी मॉम के बारे में बता दूँ.

उसके बाद वो मुझे किस करने लगा, कुछ देर किस करने के बाद, हम खड़े हो गए और एक दूसरे की बाँहों में बाँहें डाल कर एक दूसरे को किस करने लगे. मैं उसे तड़पता देखकर अपने मन में बहुत खुश थी, कैप्सूल इतनी पावरफुल होती है, ये मुझे भी पता नहीं था. जब हम जा रहे थे तो महेश कुछ देर के लिए सुदेश से मिला, फिर हम उसके रूम में चले गए.

बीएफ सेक्स मार्केट

मैंने कहा- भाभी मैं आपको आपकी शादी के टाइम से चोदने की सोच रहा था, पर आज मौका मिला. और मैं टीवी देखने लगा।तो वो बोली- ठीक है, तब तक मैं किचन साफ़ कर के आती हूँ!और वो चली गयी. अब दोनों एक दूसरे के होंठों को बड़े जोश से चूस रहे थे और वो लड़का मेरी मॉम की गांड दबा रहा था.

मैंने सागर से कहा- सागर जाओ और हमारे लिए ठंडा पानी और नमकीन ख़त्म हो गया है, वो किचन में से लेकर आओ.

आपको मेरी ये सेक्स कहानिया अच्छी लगी या नहीं, कृपया अपने सुझाव ईमेल करें.

लेकिन मुझे क्या मिलेगा!अब मेरा मन पता नहीं कैसा होता जा रहा था कि मैं उसी की बातों में खोती चली जा रही थी. मैं ड्रेस बदल कर और सिंपल टॉप और लोअर पहन कर लेट गई और वही सब सोचते सोचते सो गई. सेक्सी फुल एचडी व्हिडिओसर्दियों के दिन थे, वो हमेशा सलवार सूट पहन कर आती थी, ऊपर से वो एक कार्डिगन या जरसी पहनती थी, ऊपर ऊपर सर पर से दुपट्टा भी लेती थी.

मेरी सास को बहुत बुरी तरीके से चोदे जा रही थी कि तभी उसने प्लास्टिक का लंड और अपना लंड मेरी सास की चूत में एक साथ पेल दिया. मुझे उसकी बात पर बहुत गुस्सा आया कि आज तक ये बात मुझे किसी ने नहीं कही, इसकी क्या औकात!मैंने फ़िर कहा- वैसे भी तो तू बाहर मुँह मार रही है, मुझसे ही कर ले, क्यों मेरी बाहर बेइज्जती करा रही है?वो बोली- मैंने कहां मुँह मारा?तो मैंने कहा कि मेरे कजन के साथ तेरा क्या चक्कर है?वो बोली- मेरी किसी के साथ कुछ नहीं है. उस दिन मैं नहाने से पहले अपना तौलिया रखना भूल गया और नहाने के बाद मैंने भाभी से तौलिया माँगा.

उसने अन्दर ब्रा भी नहीं पहनी थी और उसकी नाईटी चूंकि सिल्की कपड़े की थी तो उसके मम्मों का पूरा आकार उसके निप्पल समेत दिख रहा था. अब मैं अकेला मॉल में क्या करता, यह सोच कर नीचे पार्किंग में आकर ऐसे ही किसी की बाइक पर बैठ कर मोबाइल पर गेम खेलने लगा.

मैंने टोटल किया तो 165 रुपये बने तो उन्होंने मुझे 500 का नोट मुझे दिया.

शाम को किसी अनजान नंबर से मुझे कॉल आया तो मैं समझ गया कि किसका होगा. उसके बाद जब भी मुझे मौका मिलता तो मैं भाभी के घर में आ जाता और हम दोनों चूत चुदाई के मजे करने लगते. मेरे पास दो कमरे थे, मकान मालिक तब बाहर गए थे, कोई फर्नीचर नहीं था, मैंने चटाई बिछाई, उस पर एक कम्बल बिछाया और बैठ गए.

राजस्थानी 14 बाटी साथ ही साथ बीच बीच में अपनी जीभ उसकी चूत में अन्दर तक डाल कर रगड़ देता था. जिस तरह से कोई तुम्हारी गर्लफ्रेंड है, वैसे ही वह भी किसी की गर्लफ्रेंड हो सकती है.

वौ तौ आपसे भी गांड मराबे तैयार हतो, आप मानेई नईं, आपको मैं पसंद आ गऔ. कसम से मज़ा आ गया, पहली बार ऐसा अहसास हुआ कि मैं अभी झड़ जाऊंगा।उसने मेरे लोड़े को मुँह से निकाला और सुपारे के छेद में जीभ घुसाने लगी. मैं वहाँ से भाग आया क्योंकि मेरा लंड मोनिका के शरीर की गर्माहट से खड़ा हो चुका था.

ब्लड बीएफ

मैंने अपने चूतड़ उछाल कर करारा सा धक्का मारा और भाभी ने मेरा लंड अपनी चूत में ले लिया. उन्हें भी मज़ा आने लगा था क्योंकि वो जिस तरह मुझे किस किए जा रही थीं, उससे ऐसा लग रहा था मानो मेरे होंठों को पूरी तरह चूस लेना चाहती हों. कुछ देर मम्मों को सहलाने के बाद मुझसे कंट्रोल नहीं हो रहा था तो मैंने भाभी के कुर्ते को ऊपर कर दिया.

लड़की के पिताजी ने इस बात पर ऐतराज़ किया और कहा कि देखो साहब हमारे यहाँ फ़ैसला बच्चे नहीं, हम ही करते हैं और शादी से पहले लड़के लड़की बात तो क्या, एक दूसरे को देखते भी नहीं हैं. मैंने पिघला हुआ बर्फ का टुकड़ा उठाया और भाभी के पेट और नाभि पर फिराने लगा.

फिर मौसी ने बात बदल दी और मेरे पीछे की जीवन को कुदरने लगी- खैर बता तेरा काम कैसे चलता है?मैं फिर चुप थी तो मौसी समझा गई कि मेरी चुत चुदाई काफी अरसे से नहीं हुई है.

और मैंने भाभी के होंठों पर अपने होंठ रख दिए, भाभी के ब्लाउज के ऊपर से चुचे दबाने लगा. कुछ देर बाद मेरा दर्द कम हुआ और मजा आना शुरू हुआ, तो मैं नीचे से गांड उचकाने लगी. आप ये भी बताना कि मेरीभाभी सेक्सकी यह एडल्ट कहानी आप सबको कैसे लगी.

अगले दिन से वो ठीक 4 बजे शाम को आ जाती थी और हम दोनों पहले पढ़ाई फिर योगा करते थे. रोहण मैं दोनों काफी खुश थे।तभी रोहण ने स्पीड बढ़ा दी और वो अपना पूरा माल मेरी चुट में गिराने लगा. उतनी भी चिंता की बात नहीं है मैडम, आपकी कार में स्टेपनी तो होगी ही ना?”मेरा जवाब सुन कर मुझे उनमें थोड़ी राहत दिखी.

मुझे बड़ा शॉक लगा कि शादीशुदा की गर्लफ्रेंड और वो भी उसके घर के अन्दर!उसके बाद वो जुगाड़ शाम को चली गई.

इंग्लिश बीएफ चुदाई चुदाई: यह कह कर उसने मेरी कमर पर किस कर लिया, फिर पेट पर कर लिया और आगे मेरी क्लीवेज में तो जुबान ही लगा दी. मैं जब भी उनको भाभी कहकर पुकारता, तो मुझसे गुस्सा हो जातीं और बात नहीं करती थीं.

राजधानी से भी तेज स्पीड से चोदूँगा तुझे पूरी दो रातों तक; तेरी तंग चूत का भोसड़ा न बन जाए तो कहना!” मैंने कहा. मैं दिन में इधर उधर के काम में बहुत व्यस्त रहा था, इसलिए थकान ज्यादा हो गई थी. मेरी इच्छा है कि मुझे एक ऐसी ब्लू फिल्म मिल जाये जो सिर्फ देवर भाभी की हो.

आप तो किसी वहशी की तरह टूट पड़े मुझ पर!पुलकित ने उसे अपनी बाहों में जकड़ा और फिर से बेड पर लेट गया.

इतना कहते ही मैंने पूनम को ज़बरदस्ती हग किया और उसके गालों की एक जम कर चुम्मी ले डाली. मैंने ये सुनते ही एक जोश में आकर एक जोर से झटका दिया और अन्नू भाभी की चूत में मेरा लंड जड़ तक घुस गया. यह मेरी पहली हिंदी पोर्न स्टोरी है मैं आशा करता हूँ आप सभी को पसंद आई होगी क्योंकि यह सेक्स से ज़्यादा रोमांटिक है.