लेडीस की सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,लड़कियों की चूत चूत

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी वीडियो नई नई नई: लेडीस की सेक्सी बीएफ, मेरा पूरा लंड सोनाली की चूत की दीवारों को चीरता हुआ उसकी गहराई में उतर चुका था.

हिंदी बिहारी बीएफ वीडियो

मैंने भी पूछा- आपके घर में कौन कौन रहता है?भाभी ने बताया- मैं यहां अकेली रहती हूं. ગુજરાતી સેક્સ વીડિયો નવાमैंने चाची के दोनों मम्मों को अपने हाथों में भर लिया और एक एक करके चूसने लगा.

ये कहानी पूरी तरह काल्पनिक है और इसका वास्तविकता से कोई संबंध नहीं है. इंडियन फिल्म ब्लू फिल्मभाभी हंस दीं और बोलीं- चलो मैं देखती हूँ कि मैं उसे आपके लिए कैसे सैट कर सकती हूँ.

मैंने बिंदास कहा- आपकी गांड बहुत मोटी है, जिसे देखकर मेरा लंड खड़ा हो जाता है.लेडीस की सेक्सी बीएफ: ये हॉट लड़की सेक्सी कहानी जो मैं आपको बताने जा रही हूं, वो मेरे और मेरे फूफाजी जी बीच हुई थी जिसमें मैं एक नादान कली से फूल बन गई थी.

जमीला- जानती हूँ, जो तुमने उनसे मिलाया, इसलिए तुम्हें भी बोल रही हूं.उसका साइज़ 36-30-34 का है … और वो अपनी दोनों बेटियों से भी ज़्यादा मस्त माल लगती है.

इंडियन सुहागरात बीएफ वीडियो - लेडीस की सेक्सी बीएफ

उसने कहा- भले आपकी शादी हो जाए … लेकिन आपकी पहली बीवी मैं ही रहूंगी.जैसे पुराने और जाने पहचाने ग्राहक को देखकर हर व्यापारी मुस्कुराता है, ठीक वैसे ही वो व्यापारी मुस्कुराया और हमारा स्वागत किया।बोलिये मैडम क्या दिखाऊ आपको?” हर दफा कहा जानेवाला डायलॉग उसने बोल के बात करना शुरू किया।मेरी शादी है.

मैं बहुत हिम्मत करके ब्रा के अन्दर हाथ डालने की कोशिश करने लगा और सफल भी हो गया. लेडीस की सेक्सी बीएफ अंधेरा था, तो साफ दिखाई नहीं दे रहा था … मगर चाल ढाल से लगा कि कुच्ची है.

थोड़ी देर बाद हम दोनों का किस खत्म हुआ तो मैं गर्दन को चूमते हुए उनके मम्मों पर आ गया.

लेडीस की सेक्सी बीएफ?

रोजी ने मुझसे कहा- तुम उसे अपने साथ ले जाओ और उसके लिए कुछ कपड़े खरीद दो. मेरे पति एक दो गिनने लगे, तो मैं समझ गयी कि अब ये क्या करने वाले हैं. जयदीप उससे किसी बात की मिन्नत सी कर रहा था- प्लीज यार कोमल प्लीज!वो बोली जा रही थी- यार आप पागल हो क्या!मैंने सोचा कि जीजू का मूड होगा और कोमल का नहीं होगा.

वो मेरी ब्रीफ मुझे देती हुई बोली- अब बताओ नंगे क्यों सोये थे?मैंने भी कह दिया- तुम्हारे पति ने ही मुझे नंगा किया था. उसने भाभी को सीधे लेटा दिया और उनके सर के पास खड़ा होकर अपने लंड को उनसे चुसवाने लगा. उसी समय नियाज मेरे पास आया और पूछने लगा- अंसार, आंटी कहां हैं?मैं कुछ नहीं बोला.

इससे अब तुम ही निकाल सकते हो।मैंने कहा- लेकिन मम्मी, मैं शालू से बहुत प्यार करता हूं. एक तो मेरा वजन उसके ऊपर था और उसकी काफी दिनों बाद की चुदाई की वजह से टाइट चूत में मेरा मोटा मूसल लंड फंसा हुआ था. अब मेरे दिमाग़ में एक तरकीब आयी कि मैं बड़ी आसानी से दीदी को मेरे लंड की दीवानी बना सकता हूँ.

वो लौंडा मेरे सामने ही उचक उचक कर इशहाक भाई के लंड से गांड मरवा रहा था और मेरी कुलबुला रही थी. मैंने धीरे से कहा- क्या वो सच में नामर्द है?फिर उसने मुझे अपने शौहर के बारे में बहुत कुछ बताया, वो उसके साथ कैसा रहता है, क्या करता है.

इसी बीच एकदम से ब्रेक लगे और वो व्यक्ति एकदम मेरे ऊपर गिरने को हुआ.

आंटी ने मम्मी के हाथ से मेरे लिए कई बार हलवा आदि बना कर भेजा था तो मैं अपने कमरे में आंटी के हाथ का बना हलवा ले जाता था और अपने लंड पर लगा कर आंटी को याद करके मुठ मार लेता था.

दिन भर उनके पास बैठकर बातें करता, हंसी मज़ाक करता रहता, जोक्स वगैरह सुनाता. मैंने अपने भी सारे कपड़े उतार दिए और साथ ही साथ अपने लंड को सहलाने लगा. जब मेरा लंड गर्म हो गया तो उसने चोदने को कहा लेकिन गर्भवती होने के कारण उसने धीरे-धीरे लंड पेलने को कहा.

मैंने सरिता से पूछा- सरिता, तुम्हारी चूचियां अभी तक इतनी कड़क और गोलमटोल कैसी हैं. मुझे भी आनन्द की अनुभूति हो रही थी और मजे में मेरी आंखें भी बन्द होने लगीं।थोड़ी देर उसके हाथ द्वारा मसले जाने के कारण मेरे लंड ने भी माल छोड़ दिया और मैं ठंडा हो गया. मुझे डर था कि कहीं मौसी मेरे माता-पिता से न कह दें कि मैं उन्हें चुदाई करते हुए देख रहा था.

जब हम दोनों सुबह उठे, तो 8:00 बज चुके थे और मेरी चुत में काफी दर्द हो रहा था.

मैं झट से वैसे ही लेट गई और उन्होंने मेरी कमर के नीचे एक तकिया रख दिया. बारिश में भीगे हुए दोनों के ठंडे बदन, बांहों में आते ही गर्माने लगे थे. तभी होटल का लड़का सामान लेकर आ गया।मैंने सामान लेकर रूम अंदर से लॉक किया और हम दोनों फिर से एक दूसरे के जिस्म से खेलने लगे।धीरे धीरे हम दोनों के जिस्म से कपड़े अलग होने शुरू हो गए.

बाहर से आती हुई रोशनी उसके बदन को छूती हुई झोपड़ी के अन्दर उसकी एक अनोखी परछाई बना रही थी. जिया दीदी- मतलब?मैं- मैं आपकी उम्र का होता तो जीजाजी को आपको पटाने ही नहीं देता क्योंकि मैं आपको अपनी गर्लफ्रेंड बनाता और आज आप मेरी बीवी होतीं. मुझे बहुत अच्छा लग रहा था और मैं ये सोच रही थी कि अगर कपड़ों के ऊपर से ही इतना मज़ा आ रहा है तो बिना कपड़ों के तो कितना आएगा.

वर्जिन गर्ल सेक्स कहानी में पढ़ें कि एक लड़की से मेरी दोस्ती फोन पर हुई। हम दोनों सेक्स के लिए उतावले थे पर वो शादी से पहले सेक्स नहीं करना चाहती थी.

उसके बाद जब भाभी आई तो मैंने जानबूझकर ऐसा दिखाया कि ऐसे लगे कि मैंने उनको देखा ही नहीं।वे चुपचाप पीछे खड़ी हो गई और मैं कहानी पढ़ता रहा. मैं एक बार उससे चुद चुकी हूं, लेकिन वो अपनी पहचान नहीं बताना चाहता.

लेडीस की सेक्सी बीएफ मैं अपने मुँह में सोनाली की एक चूची लेकर चूस रहा था और दूसरी चूची को हाथ से मसल रहा था, दूसरे हाथ को सोनाली की कमर में डालकर उसे सहारा दे रहा था. उसको देख देख बेचैनी बढ़ती जा रही थी, पर मेरी पुकार सुन ली गई, ज्यादा दिन इन्तजार नहीं करना पड़ा.

लेडीस की सेक्सी बीएफ जिया दीदी- क्या बोल रहे हो, कहीं आज सेलिब्रेशन में ड्रिंक्स तो नहीं कर ली तूने?मैं- मैंने ड्रिंक नहीं की है दी … मैं पूरे होश में बोल रहा हूं. तब हसित बोला- कैसा लगा … क्या आशीष का भी ऐसा ही है?रीना बोली- आशीष और आपके दोनों के अच्छे हैं.

मैंने कहा- भाभी आप क्या सोचती हो आगे क्या होगा … भैया तो ऐसे ही रहते हैं.

सेक्सी विडिओ हिंदी आवाज माई

फिलहाल मेरे पास ट्रेन ही एक आखिरी साधन था, मैं उसको छोड़ना नहीं चाहता था. इस वजह से कुछ ही देर में ही रीना ने अपने काम रस से हसित के मुँह को नहला दिया. मैंने उसके आंसुओं की परवाह न करते हुए एक दूसरा झटका दे मारा और मेरा पूरा लंड उसकी बच्चेदानी से जा टकराया.

प्रियंका अपने भाई की बात सुनकर मन मसोस कर दूर खड़ी हो गई और चुदाई देखने लगी. प्रकाश ने अपने और सोनम के कपड़े उतार दिए, सोनम को घुटनों पर बैठकर लंड चूसने को कहा. बस फिर क्या था … मैंने लंड को चुत से सुपारे तक पूरा बाहर किया, थोड़ा सा लंड उसकी चूत की छेद में अटकाए रखा.

उसने शाम सात बजे के आस पास उसके घर से थोड़ी दूर एक किराने की दुकान पर आने को कहा.

हालांकि मैं उस दर्द को सह सकती थी तो उठकर बाथरूम में चली गई और फ्रेश हो गई. उन्होंने फोन पर कहा- हां, एक रांड चोद रहा हूँ … हां हां तुम्हें भी मिलवा दूंगा … पहले मैं तो मजे ले लूं. मैंने फिर से लंड का सुपारा चुत पर लगाया तो इस बार लवी ने मेरे लंड को पकड़ कर अपनी चुत की दरार में लगा दिया और पकड़ के रखा.

चूंकि मेरी दीदी मुझसे सब कुछ बिंदास बता देती हैं, तो उस रात भी उन्होंने बिना संकोच के मुझे फोन पर बता दिया कि इस समय तेरे जीजाजी मेरे ऊपर चढ़े हुए हैं, तो तू अभी फोन रख … हम कल बात करते हैं. स्पाई कैमरा की मदद से हमने उसकी एक वीडियो भी बना ली।ये सब करने के बाद अब उसे वापिस भेजना था. थोड़ी देर में उनकी उत्तेजना चरम पर आ गयी और वो कहने लगीं- साहिल, प्लीज मेरी चूत में आग लगी है … तुम जल्दी से अपना अन्दर डाल दो … मुझसे अब नहीं रहा जा रहा है … आंह डालो प्लीज़ … आंह.

मैंने इस चुदाई की मस्ती में अपनी दीदी की तड़प भरी आहों और कराहों को अनसुना कर दिया था. उन्होंने कहा- इस बार जब मैं जबलपुर आऊंगा, तब एक बार तुम्हें मेरे सामने ब्रा और पैंटी में आना होगा.

मैंने उसको सीधा लेटा दिया और उसके ऊपर आकर अपना लंड उसकी चूत पर टिका दिया. मैंने फ़ोन पर ट्रेन चैक की और देखा कि छत्तीसगढ़ ट्रेन अभी दो घंटे बाद मेरठ कैंट पर आने वाली है. शायद वीडियो कॉल पर उन्हें मेरा लंड पसंद आ गया था और उनकी दबी हुई वासना मेरे साथ मुखर होने लगी थी.

आपको मेरी सेक्सी मौसी की चुदाई हिंदी कहानी कैसी लगी, प्लीज़ मेल करके जरूर बताएं.

अनिकेत भैया बोले- मुझे नहीं पता!मां बोली- तुम सभी ने मिल कर यह प्लान बनाई थी. जमीला- अच्छा, हिम्मत है … आ सकते हो!मैं- तुम बुलाओ तो सही, फिर देख लेना हिम्मत है कि नहीं. मैंने मॉम को देखा और कहा- वो मॉम बस में भीड़ बहुत ज्यादा होने के कारण मैं आपसे चिपका हुआ था, जिससे ऐसा हुआ.

लेकिन हमें वो मज़ा नहीं आ रहा था जो हमेशा से आया करता था।ऐसा लगता था मानो ज़िन्दगी पहले जैसी नहीं रही।कपड़ों के नाम से तो मानो नफरत सी हो गयी थी. जिया दीदी- क्या सच में तुम मेरे साथ सेक्स करना चाहते हो!मैं- हां दी, मेरा बहुत मन है और आप ही मेरी मदद कर सकती हो.

लेकिन भैया और भाभी भी गांव जा रहे हैं तो घर पर मैं रुकूँगा।भाभी- अच्छा तो आओगे पढ़ाने?मैं- जी भाभी. शिल्पा ने देखा पीछे मुड़ कर देखा, उसके बाद वो पीछे ही नहीं मुड़ रही थी. उसकी 36 इंच की तोप सी उठी हुई गांड की बात करूं तो क्या बताऊं भाई … एकदम हाहाकारी गांड थी.

सेक्सी कैसा होता है

भाभी मेरे लंड को सहलाती हुई बोलीं- इसे सम्भाल कर रखना और अब इसको हाथ से नहीं हिलाना.

अब हज़ीरा ने अपने हाथ से अपनी चूची रमेश सर के मुँह में देना शुरू कर दिया और अपनी गांड उठाती हुई चुदवाने लगी. पर वैसे उसके पापा हर महीने एक अच्छा ख़ासा अमाउंट उन दोनों के अकाउंट में ट्रांस्फर करते हैं क्योंकि वो एक काफ़ी बड़े बिजनेसमैन हैं. जवानी की दहलीज पर कदम रखते समय जिस तरह के सेक्स के सपने दिमाग को उत्तेजना के शिखर पर पहुंचा देते हैं, उस सबका समावेश इस हिंदी सेक्स कहानी में आपको पढ़ने को मिलेगा.

मुझे घर के कपड़ों में देखकर बड़ी मम्मी ने पूछा कि मैं बर्थडे में क्यों नहीं जा रहा हूं. अब मैंने उसको अपने ऊपर आने का इशारा दिया तो वो फ़ौरन मेरे ऊपर आ गयी. ચોદવા ની રીતफूफाजी कार चलाने के लिए बैठ गए और मैं, बुआ और फूफा के बीच में गेयर के दोनों ओर टांगें डाल पर बैठ गई.

मैंने उससे कहा- एक बार लंड चूस ले!मगर वह मना करने लगी और बोली- यह गंदा है. उसकी हाइट 5 फीट 4 इंच है और उसका फिगर साइज़ 32-28-34 का है जो काफ़ी अच्छा साइज़ है.

एक दिन भैया ओर भाभी की किसी बात पर लड़ाई हो गयी और उस समय मैं वहीं था. भाभी बोलीं- तुम दोनों को भूख लग आई होगी, तुम खाना जब तक खाओ, मैं अभी आती हूँ. यह सब देखकर शिवम बोला- मां तो ऐसी माल है कि मोहल्ले का हर आदमी चोदे तब भी कम पड़ जाए! काश मां को चोदने का मौक़ा मिलता!विवेक बोला- अनिकेत मामा नानी को चोदकर बहुत आनंद ले चुके हैं.

फूफा जी ने मेरी जांघ पर अपना हाथ रख देते और इसी बहाने अपने हाथों की कोहनी से मेरे मम्मों को दबा देते. मैंने विलास से कहा- आंह विलास, अब मैं झड़ने वाला हूँ आंह अअअह … इह और चूस जोर से आह आंह!बस मेरे लंड ने जोर से पिचकारी मारी जो विलास के गले की गहराई तक गयी. जब वह ग्रेजुएशन कर रही थी, तब बंशी और सीमा की आंखें चार हुई थीं और उन दोनों में प्यार हो गया था.

मम्मी पूछ रही थीं- क्या कर रहे हो … पढ़ाई कर रहे हो कि नहीं?मैंने कहा- हां मम्मी मैं फिजिक्स पढ़ रहा हूँ.

मुझे इतना यकीन हो गया था कि वो मेरे अलावा किसी और से प्यार नहीं कर सकता था. मेरी चीटिंग वाइफ Xxx कहानी में पढ़ें कि जब मैं अपनी बीवी के साथ अपने पुराने घर में गया तो वहां हम दोनों को मेरी बीवी की मेरे दोस्त से हुई चुदाई याद आ गयी.

नाश्ते में क्या दूं तुझे? और ये तेरी ट्रैक पैंट पर क्या लग गया है?मैं- पता नहीं, शायद कुछ चिकना पदार्थ गिर गया है, शायद तेल गिर गया होगा. कुछ धक्कों के बाद ही मेम झड़ गईं और उनके झड़ने की गर्मी से मैं भी झड़ गया. इससे उसको दर्द हुआ और वह चीखने ही वाली थी कि मैंने उसके मुँह पर हाथ रख दिया.

जब सब विदेशी टूरिस्ट होटल से चेक आउट करके बस में बैठ गए तो उसने मुझे कहा- तुम भी बस में जाकर बैठो, मैं कार पार्किंग में लगा कर आ रहा हूं. मैं सदा उनसे बात करने की कोशिश में रहता था लेकिन वो ज्यादा बात नहीं करती थीं. मैं बबीता भाभी को पहली बार देखते ही उनकी मदमस्त जवानी पर फिदा हो गया था.

लेडीस की सेक्सी बीएफ मैं- ससुर जी, सासु जी अभी घर में ही हैं।ससुर जी- बहू तू उसकी चिंता मत कर! उसे मैं सम्भाल लूंगा. आपको मेरी सेक्सी मौसी की चुदाई हिंदी कहानी कैसी लगी, प्लीज़ मेल करके जरूर बताएं.

सेक्सी विडियो दिखाई

फिर पता नहीं उसकी आंखों में देखते ही मुझे क्या हो गया था कि मुझसे रुका ही नहीं जा रहा था. मॉम- क्या कर रहे हो बेटा?मैं- कुछ नहीं मॉम मैं तो बस यह सोच रहा था कि आपकी कमर कितनी चिकनी है … बिल्कुल संगमरमर की तरह. लंड से चुदते हुए कहे जा रही थी- आह सलीम तुम्हारा लंड बहुत बड़ा है … मोटा तगड़ा है … मेरी भूल थी कि मैं कमीने हम्माल के साथ फंस गई … आह अभी तक तो मैं तेरे बच्चों को अम्मी बन गई होती … आह सलीम चोद मुझे … आह मेरी प्यास बुझा दे.

मैंने फिर से पूछा- अब मैं जाऊं?विशू ने कहा- अरे भाभी! चली जाना, पर जाने से पहले अपना थन तो खाली करवा दो. लॉकडाउन के बाद जब हमारी बेटी कॉलेज गयी तो हमने दिन के उजाले में चुदाई का मौक़ा मिला. देहाती हिंदी सेक्सी बफसाथ में लंड और चुत गीली होने के कारण पचा पच की आवाज रूम में गूंजने लगी थी.

आंटी ने मम्मी के हाथ से मेरे लिए कई बार हलवा आदि बना कर भेजा था तो मैं अपने कमरे में आंटी के हाथ का बना हलवा ले जाता था और अपने लंड पर लगा कर आंटी को याद करके मुठ मार लेता था.

मैंने कहा- अगर आपको कोई प्रॉब्लम नहीं, तो मुझे क्या प्रॉब्लम हो सकती है. उसकी सांसें रुक जातीं तो वो लंड बाहर निकाल देती और फिर से अन्दर ले लेती थी.

सुबह का उज़ाला होने ही वाला था तो मैंने भाभी से कहा कि भाभी अब मैं अपने रूम पर जाता हूं. देसी आंटी की चुदाई कहानी पर आप अपने कमेंट्स और मेल करके मुझे जरूर बताएं. मैंने उनके खर्चे के बारे में पूछा तो वो बोली- अब 2 साल से तो नेहा की जॉब लग गई है.

मैंने मेम से कहा- मजा आ रहा है?वो हंस कर मुझसे चूमती हुई बोलीं- हां बहुत … पहले तो तुमने मुझे मार ही दिया था.

मैंने कहा- बोलो भाभी जी, क्या काम है?भाभी- देखो दूसरे फ्लोर को साफ कर दो. दिनकर ने गगन को अन्दर आया देखा तो वो सुम्मी की चूची मसलते हुए बोला- क्यों रे भड़वे, अब क्या देखने आ गया है? तेरी अम्मा तो जवान है या इसकी उम्र भी 19 की नहीं हुई है?गगन- चाचा, मेरी मम्मी तो पूरी मस्त माल है, मुझे तो खुद ये सब देख कर मस्ती चढ़ रही है और मेरा भी लंड खड़ा हो गया है. मेरी जीभ उसके दांतों, मसूड़ों, होंठ के अन्दर के हिस्से और उसकी जीभ को लगातार चाटे जा रही थी.

एक्स एक्स एक्स बीएफ हिंदी वीडियोउसकी नजर मेरे खडे लंड पर गयी तो उसकी आंखों में भी मुझे वासना दिखाई दी. हम दोनों ने जल्दी से छत पर बिस्तर बिछाए और यश को नीचे से उठा कर ऊपर छत पर लाकर सुलाया.

व्हिडिओ सेक्सी दिखाइए

इतना कहकर उसने लंड मुँह से निकाल दिया और सुपारे पर गोल गोल अपनी जीभ घुमाकर नीचे नीचे आने लगा. मैं अपने फ्रेंड के घर पहुंचा और वहां हम दोनों दोस्त लौडियों की बातें करने लगे. अचानक से मैंने एक जोर का झटका मारा और मेरा दो इंच लौड़ा चुत के अन्दर घुस गया.

मां की बातें सुनकर मैं सोच में पड़ गया था कि आज वो कुछ ज्यादा ही सोच रही है मेरे बारे में!मैं सोच में पड़ गया और मां बोली- क्या सोच रहा है?मैंने कहा- कुछ नहीं, मुझे पैसे दे दो. उसके बाद मैंने भाभी के लिए डिनर बनाया और भाभी को मेरा बनाया डिनर बहुत पसंद आया. रमेश सर ने उसे देखा और वो खुशी से बोला- आज का दिन मेरे लिए लक्की दिन है, जब एक और चिड़िया अपने आप आ गयी है.

उसने अपनी कमर को हिलाते हुए मेरे ऊपर चुम्बनों की बौछार शुरू कर दी उसके हर धक्के के साथ चुम्बन में उसके दांतों की कसावट का अहसास बढ़ता जा रहा था. भाभी की बड़ी दीदी के मरने के बाद उनसे भाभी की शादी करा दी गई थी क्योंकि उनके 2 बच्चों को संभालने वाला कोई नहीं था. कल को मेरी शादी होगी और अगर मेरे उसे पता चल गया तो!मैंने कहा- कुछ पता नहीं चलता.

मेरी चुदास बढ़ चुकी थी और मैं विलियम के साथ अब खुल कर मजे लेना चाहती थी. उसकी टांगें ऊपर करके उसे ताबड़तोड़ चोद रहा था, शॉट पर शॉट लगा रहा था.

मेरी तो उधर ही रुक कर दो तीन दिन उसके साथ मस्ती करने की इच्छा हो गई थी … मेरा लंड बार बार फड़फड़ा रहा था, पर जाना जरूरी था.

मम्मी ने मुझे पास बुलाकर सब बताया, तो मुझे तो अन्दर से हेनू हेनू होने लगा. बांग्ला बीएफ बांग्ला बीएफ बांग्ला बीएफमैंने उसके मखमली बोबे पर हाथ को सख्ती से रखा और धीरे धीरे उसको दबाने लगा. एक्स एक्स एक्स सेक्सी बीएफकभी वो अपनी चूत को गोल गोल घुमाती, तो कभी लंड की चटनी सी पीसने लगती, तो कभी बस कमर को ऊपर नीचे करती, कभी पूरे शरीर से पूरे शरीर को रगड़ कर मालिश सी करने लगती. दस मिनट बाद मैंने रघु से पूछा- अब मैं जाऊं?रघु ने कहा- चली जाना भाभी, पर जाने से पहले एक एक बार हमारा लंड चूस लो.

कुछ देर में ही हसित की स्पीड तेज़ होने लगी और रीना की आहें कराहों में बदलने लगीं.

मैं फिर से अपने काम में लग गया और पंद्रह बीस झटकों के बाद जोर से उसके मम्मों को दबाते हुए उसकी गांड में ही झड़ गया. उन्होंने कहा- केतन इतना क्या शर्मा रहे हो … आजकल तो ये सब नॉर्मल है. मैंने कहा- सुनो तो सही!उसने चलते हुए पीछे देखा और कहा- जाओ फिर मिलेंगे, आई लव यू!वो देसी हॉट टीन गर्ल कदम तेजी से बढ़ाती हुई चली गई.

उन बातों में मुख्य बात ये थी कि उनकी बहन उनकी शादी नहीं होने दे रही थी. ब्रदर सिस्टर सेक्स कहानीकहानी के पिछले भागदीदी ने मुझे अपना जिस्म दिखायामें मैंने आपको बताया था कि एक दिन अचानक बड़ी दीदी पूनम घर आ गयी. मैंने दीदी की मांग भी भरी थी और सुहागरात तो हम रोज़ ही मना लेते हैं.

खड़ी-खड़ी सेक्सी वीडियो

कुछ पल बाद चाची बोलीं- दक्ष, अब चोद दे मेरी चूत को … मुझे और मत तड़पा. जब हमें ऊपर आना होगा तो मैं बता दूंगा!बातचीत सब इंग्लिश में हो रही थी में उसको हिंदी में लिख रही हूँ. जबसे संतोष की शादी हुई है, वो मुझसे प्यार करना तो दूर ढंग से बात भी नहीं करता.

मित्रो, आप इस मेरी सेक्स कहानी में बस स्टॉप से मिली स्वीटी के साथ चुदाई के मजे का रस ले रहे थे.

प्रकाश बोला- खाने से पहले एक बार और हो जाए?सोनम ने मुस्करा कर सहमति जता दी.

हसित मुस्काने लगा और बैठ कर दोनों हाथों से रीना के ब्लाउज के हुक खोलने लगा. मौसी स्टूल से उठीं और एक तौलिया को अपने मम्मों के ऊपर लपेट कर एक ओर होने लगीं. ಇಂಗ್ಲಿಷ್ ಬಿಎಫ್ ಓಪನ್सेक्स कैसे किया जाए और लड़की को कैसे चरम सुख किस तरह से दिया जा सकता है.

’अम्मी बोलीं- हां बेटा अब देरी ना करो … प्लीज़ जल्दी से मुझे चोद दो. उस समय एक बार हम साथ साथ खलिहान में लेटे थे, तब उनके एक दोस्त ने मेरी गांड मार दी थी. तभी मैंने हिम्मत करके दी की कमर पर रखा हुआ हाथ नीचे को बढ़ा दिया और जिया दीदी की मदमस्त मखमल जैसी गांड पर रख दिया.

इस बार मुझे दर्द कम हुआ, पर मुझे लग रहा था कि उसका लंड मेरे पेट को छू रहा है. राजेश ने अपना लंड उसकी गांड में लगाया और उसमें से टपकने वाले मेरे वीर्य से अपने लंड को गीला कर लिया.

फ्रेंड्स इस सेक्स कहानी के अगले भाग में आपको मैं बताऊंगी कि कैसे मैंने अपनी चुत की फड़फड़ाहट को किसके लंड से शांत करवाई.

मैं सरिता के ऊपर से उठ गया और एक तकिया लेकर सरिता की गांड के नीचे रख दिया. ’हज़ीरा- हां रमेश डार्लिंग, मेरी चुत धक्का मार मारके फाड़ दो न … आह बहुत मजा आ रहा है. वो बोली- इससे तो परहेज नहीं है न … लो इसे पी लो, इससे सारी थकान मिट जाती है.

बीएफ सेक्सी फिल्म बीपी रूम में एंटर होते ही मैं सामने लगे शीशे के सामने जाकर खड़ी हो गई और राज पीछे से डोर लॉक करके मेरे पास आ गए. जैसे ही मैं दरवाजा बंद कर रही थी, उसने कहा- कल शाम को पण्डाल आइएगा, हम लोगों ने सारे मोहल्ले के लिए छोटा सा प्रोग्राम रखा है कि दूध कैसे दुहा जाता है और मलाई कैसे निकालते हैं.

अब मैं उसे वापस पाने के लिए ऊपर वाले से गुज़ारिश करने लगा लेकिन शायद हमारे प्यार को किसी की नज़र सी लग गयी थी. मैंने उनसे कहा- चाची मैंने आपके फ़ोन में अभी बहुत मस्त फोटोज देखी हैं. उतने में भाभी की सिसकारियों की आवाज तेज़ हो गई- आह जय हां … ऐसे ही चाट … आंह बहुत परेशान किया है इस निगोड़ी ने … आह … ऊऊह … चाट और जोर से चाट … सारा पानी निकाल दे … इस निगोड़ी चुत ने बहुत तकलीफ दी है … आज इसका भोसड़ा बना दे.

चोदते सेक्सी

कुछ देर बाद हनी बोला- प्लीज़ सोहल … थोड़ा रुक जाओ यार … मेरी टांगें दर्द होने लगी हैं. भाभी जब भी हमारे घर पर आती थीं तो मैं हमेशा उनके आस-पास टहलता रहता था और बातचीत करने की कोशिश करता रहता था. मैंने भाभी को लिटा दिया, उनके बूब्स दबाने लगा और उनकी गर्दन पर किस करने लगा.

हम दोनों एक दूसरे के लंड चूत देख चुके थे और चुदाई की बातें होने लगी थीं. कुछ देर बाद मैंने अपने मोबाइल से विलास को फोन लगा कर पूछा- यार विलास, तुम कब तक आ रहे हो, मुझे बड़ा बोर लग रहा है यार.

थोड़ी देर बाद मेरे ध्यान में आया कि मेरे पड़ोस के अंकल मुझे खिड़की से देख रहे हैं.

प्राची मेरे नजदीक आकर मेरे लंड को सहलाती हुई पूछने लगी- किसका फोन था?मैंने उसे मनीष के फोन के बारे में बता दिया. मुझे यकीन नहीं हुआ तो मैंने पूछा कि तुम इतनी ब्यूटीफुल हो तो किसी ने अब तक तुम्हें प्रपोज़ क्यों नहीं किया?इस पर उसने बोला कि उसके डैड से लोग डरते हैं. मैं तुरंत उसकी चूत पर टूट पड़ा और अपनी जीभ को उसकी चिकनी चूत में डाल कर आगे-पीछे, ऊपर नीचे करने लगा.

मैंने कहा- अच्छा ये बताओ, मेरा सरप्राइज क्या है?वो बोली कि अभी रूको जरा, इतनी जल्दी क्या है?फिर लगभग 9:15 हुए होंगे तब वो मुझसे थोड़ा अलग हुई. जैसे ही उसकी टी-शर्ट को उतारा, उसकी ब्रा में दबी चूचियां एकदम कसी हुई ऐसे दिखीं, जैसे फटने को हों. मैंने आगे कहा- अच्छा ये नहीं बता सकती हो तो ये बताओ कि उन लड़कों को तुम्हारे साथ क्या मजा आया था?वो बोली- ये तो वो लड़के ही बता सकते हैं या …मैंने कहा- क्या या …वो आंखें चमकाती हुई बोली- या तुम बता सकते हो कि उन्हें मेरे साथ क्या मजा आया था.

शीना के मम्मे कभी तुषार की छाती से रगड़ खाते कभी राजीव से।चूमा चाटी तो बदस्तूर जारी थी।अब नीचे आग लगनी शुरू हो गयी थी और ऊपर से शावर की बूंदों ने अपना कमाल दिखाना शुरू कर दिया था।राजीव नीचे बैठ गया और शीना की चूत चाटने लगा.

लेडीस की सेक्सी बीएफ: जैसे ही मैं अन्दर गया, वो पीछे की तरफ मुड़ी और उसी समय मुझे वो सीन दिखा, जिसकी मुझे आशा भी न थी. मैंने उसे होटल में चलने को मनाने की बहुत कोशिश की पर वो होटल जाने को तैयार नहीं हुई.

शर्म लाज त्याग कर वो अपने नंगे जिस्म को किसी पराये मर्द के हवाले कर चुकी थी- अह्ह … उम्मम्म … याल्ला मालिक … आईई ईसीई ही चाटो बाबा, खा जाओ मेरी रंडी चूत को मालिक … कहते हुए वो खुद अपनी गांड ऊपर करके अपनी फुद्दी वीरू के मुँह पर दबा रही थी. सुम्मी हंसने लगी और बोली- हां चमेली की चुत जवान हो गई है … जाओ उसे देख आओ. हमारे पास लगेज के नाम पर सिर्फ एक एक लैपटॉप वाला बैग था जो हमने पीछे लटकाया हुआ था.

भैया हंसने लगे और बोले- साली कुतिया … अभी तो तेरी सिर्फ चूत चाटी है … अभी मेरे लंड का स्वाद भी तुझे लेना बाकी है.

कुछ देर तो वो बेजान रही मगर जैसे जैसे वीरू ने बिना रुके उसकी गांड का छेद फाड़ना चालू किया तो उसकी तड़प सामने आने लगी।शरीर में बची कुची ताकत लगाकर वो अपने आप को छुड़ाने की कोशिश करने लगी. मैं- अब कब आओगी?रीता- आपको अब भी लगता है कि मैं यहां कभी आऊंगी?मैंने उसे मनाने की बहुत कोशिश की, पर वो नहीं मानी तो मैं उसे घर छोड़ने निकल पड़ा. हसित ने रीना के ब्लाउज के ऊपर से ही उसके तने हुए मम्मों पर किस किया और दोनों मम्मों हाथों से सहला दिए.