एक्स एक्स एक्स बीएफ दिखाइए वीडियो में

छवि स्रोत,सेक्सी वीडियो देसी आदिवासी

तस्वीर का शीर्षक ,

ધાયા મસળવા: एक्स एक्स एक्स बीएफ दिखाइए वीडियो में, जब मैंने खिड़की से झाँक कर देखा तो मेरे पैरों तले की जमीं खिसक गई… माँ नंगी हो कर कुतिया के समान झुकी हुई थी और राघव उसको पीछे से चोद रहा था और गालियाँ दे रहा था उसको कह रहा था- तेरे जैसी रांड मैंने आज तक नहीं देखी रानी… तेरा पति साला बाहर जाता है और तू मुझे बुला लेती है और बड़े मजे से चुत चुदवाती है मेरी रांड… साली एक दिन मैं तेरे सामने तेरी बेटी को चोदूंगा.

गांड मारने की वीडियो

करीब 15 मिनट की तगड़ी चुदाई के बाद मैं भाभी की चूत में निकलने को हुआ, तभी भाभी ने मुझसे कहा- राहुल मुझे लंड चूसना है. सेक्सी वीडियो न्यू सॉन्गइसके बाद उसने अपनी ब्रा और पेंटी भी उतार दी और पूरी तरह नंगी हो गई.

थोड़ी देर में उसने अपने शरीर को टाइट कर लिया और योनि को भींच लिया, उसने अपना गर्म पानी छोड़ दिया, वो चरम सीमा पर पहुँच कर झड गयी थी. इंडियन क्सक्सक्स विडिओमैंने उनकी चूत पे मुँह लगाया और जोर जोर से जीभ डाल कर चूत चाटने लगा था.

लंड उसकी गांड में अन्दर गया तो उसने दांत भींच लिए, आंखें बंद कर लीं.एक्स एक्स एक्स बीएफ दिखाइए वीडियो में: फिर मैं भी पूरा नंगा हो गया और मैंने उसके हाथ में अपने लंड दे दिया.

फिर तुम संतुष्ट कैसे होती हो?मीना- कहाँ होती हूँ भैया, ऐसे ही तड़पती रहती हूँ.चौथे दिन मैंने अपना सामान पैक करना शुरू कर दिया तो भैया ने मुझसे पूछा- वीशु तू अभी ये क्या कर रहा है?मैंने भाभी के सामने ही भैया से कहा- भैया मैं नहीं चाहता कि आप और भाभी में मेरी वजह से लड़ाई या झगड़ा हो इसलिए मैं अपने घर जाना चाहता हूँ.

एक्स एक्स एक्स वीडियो सनी लियोन की - एक्स एक्स एक्स बीएफ दिखाइए वीडियो में

एक दिन मुझे आकांक्षा नज़र आई, मैंने उसे रोका और गाड़ी में बैठने के लिए कहा तो पहले उसने मना किया लेकिन मेरे बार बार कहने पर वो मान गई और मेरी गाड़ी में मेरे साथ बैठ गई.अच्छी सेक्स कहानी कैसे लिखें?पहली बात तो यह कि कहानी लिखने के लिए कल्पना शक्ति का प्रबल होना पहली आवश्यकता है; इसके बाद अपनी कल्पना को शब्दों में परिवर्तित करके साकार कर देना ही मूल आवश्यकता है.

मैं धीरे धीरे उसके कपड़े उतारने लगा अब वो बस ब्रा और पेंटी में ही थी. एक्स एक्स एक्स बीएफ दिखाइए वीडियो में अब धीरे धीरे मुझे भी लग रहा था कि मैं अच्छी हूँ, किसी को भी दीवाना बना सकती हूँ.

जब वो सुबह मेरे पास आई थी, उस वक्त मैंने उससे कह ही दिया था कि अन्दर कुछ नहीं पहनना, मैंने देखा कि वो अन्दर कुछ भी नहीं पहने थी.

एक्स एक्स एक्स बीएफ दिखाइए वीडियो में?

उसके 10 मिनट के बाद मैं भी बाहर आ गई तो मुझे हॉल में दोनों दिखाई नहीं दिए. उसने अपनी माँ से शरारती लहजे में पूछा कि क्या अब मालिश के बाद वो ठीक है या उसे दुबारा मुझसे मालिश करवानी है?अब झेंपने की बारी मेरी थी और मैं उन्हें बाय बोल कर वापिस आने लगा. मैंने कॉल रिसीव किया तो एक बहुत ही नाजुक पर सेक्सी सी आवाज़ कानों को छू गई.

उनकी हाईट भी 5 फुट 5 इंच थी, जिसके कारण वो एक मॉडल से कम नहीं लगती थीं. गुस्से में फ़ोन बिस्तर पर पटक कर दीदी बाहर आई और बोली- मेरी सास ने बुलाया है… यहीं शहर में… बोली हैं कि सफ़ेद साड़ी पहन कर आओ. शिखा- गलती… हो… गई… प्लीज… छोड़… दे!सन्नी- बस दीदी, जितना दर्द होना था हो चुका, अब तो मज़ा ही मज़ा है.

सविता ने एक ट्रांसपेरेंट नाइटी पहनी हुई थी, जिसमें से उसके चूचे कुछ ज्यादा ही दिखाई दे रहे थे. फिर वो बोली- अब रोने से क्या होगा रवि, तुम मेरे पति हो इसलिए मैं आनन्द को एक रात धोखा दे रही हूँ. वौ तौ आपसे भी गांड मराबे तैयार हतो, आप मानेई नईं, आपको मैं पसंद आ गऔ.

मैंने अपनी चूत पे टैटू बनवाने का फैसला किया और पहुँच गई स्टूडियो में… पहली सिटिंग में एक लड़की से आधा टैटू बनवाया और बाक़ी अगले दिन होना था. मुझे लगा कि भाभी शायद नाराज़ हो जाएँगी पर उन्होंने बिना कुछ कहे अपना ब्लाउज निकाल दिया.

अब विवेक मेरे पास आया और मुझे चूमने लगा, तो मैंने कहा- यार रवि आ जाएगा.

थोड़ी देर और चुम्बन के बाद रमेश ने अपने सारे कपड़े खोल दिए और काजल की दोनों टांगों को फैलाकर उस पर अपना लंड सैट कर दिया.

अगर मैं 20-25 मिनट में आने वाली होऊंगी तो दरवाजा खोल के सो जाए, अगर देर होगी तो बंद करके सो जाए. इसके बाद भी उसने मेरे लंड को चाटना नहीं छोड़ा और पूरा लंड चाट के साफ कर दिया. आज तुम्हें सब कुछ मिलेगा और इतना मिलेगा कि तुम्हें किसी बात का कोई पछतावा नहीं रहेगा.

उनकी उम्र 33 साल थी मगर स्लिम बॉडी और गठीला बदन होने से वो 25-26 साल की एक सेक्सी परी सी लगती थीं. भाभी ने संजय को जोर से जकड़ लिया और झड़ गईंमैं खिड़की के बाहर से गैर मर्द से भाभी की चुत चुदाई देख कर अपना लंड सहलाने लगा. इसके बाद हमने फ़ोन करके रेस्टोरेंट से खाना मंगवाया और उस रात मैंने शीतल को 5 बार और उसकी डिमांड के पोज में चोदा.

मौसा जी पूरे गर्म होकर मेरे से चिपक गये और उनके सांसें तेज होकर चलने लगी, मुझसे चिपके होने से मुझे मौसा के गर्म होने का अहसास हो रहा था इसी लिए मैं उनके सीने से अपने पीठ को सटा लिया और अंकल का हाथ मेरे बगल से होता हुआ मेरे मम्मों को टच करने लगा.

जैसे ही मेडिकल स्टोर वाली भाभी गईं, तो वो अपना सामान उठा कर निकलने लगीं और उनका नोट नीचे गिर गया. मैंने फिर पूछा- निकाल लूं?वह बोला- अब कर लो, कितनी देर लगेगी?बहुत देर हो गई, गांड जलन कर रही है, मैंने दो तीन धक्के दिए, अंदर बाहर… अंदर बाहर… धच्च फच्च… धच्च फच्च. मेरी इच्छा है कि मेरी भाभी मेरा लंड अपने दोनों मम्मों के बीच में लेकर दोनों मम्में मेरे लंड पर दबायें.

और मैं उसकी शादी से पहले ही उसके साथ सुहागरात मनाना चाहता था… एक रात के लिए उसका पतिदेव बन जाना चाहता था. वो दर्द में ऐसे चिल्लाई… मैंने एकदम उसके मुंह पर हाथ रखा और जैसे तैसे उसे शांत किया. भाभी ने मेरा पैन्ट खोला फिर मेरे अंडरवियर को निकाल कर मेरे लंड को आज़ाद किया और लॉलीपॉप की तरह चूसना चालू कर दिया.

वो छटपटाने लगी थी और अपने पैर पटक रही थी, पर मैंने उसको कसके पकड़ रखा था.

उसने पूछा- और सुनाओ भाई … क्या हाल चाल हैं?मैंने कहा- मैं तो मस्त हूँ लेकिन दिव्या यार, तुम भी तो खूब मस्त हो गयी हो. पहले मैं मैनपुरी (उतर प्रदेश) में रहता था, अभी दिल्ली में रहता हूँ.

एक्स एक्स एक्स बीएफ दिखाइए वीडियो में इसके बाद अचानक मेरी बीवी को उसकी माँ का कॉल आया तो उसको एक घंटे के लिए वहाँ जाना पड़ा. मैंने अब बिल्कुल भी देर ना करते हुए उसकी चूत में अपनी जीभ को लगा दिया और फिर चूसने लगा.

एक्स एक्स एक्स बीएफ दिखाइए वीडियो में सही बात तो ये थी कि हम दोनों ने ही एक दूसरे की मारी थी, एक दूसरे से मराई थी, मास्टरों से मरवाई थी और बड़े लौंडो से कई बार मरवा चुके थे. मैंने भाभी की चुत को अच्छे से साफ किया और उन्होंने मेरे लंड को हिला हिला कर साफ़ किया, जिससे मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया.

मैं बैठ कर सोचने लगा कि क्या किया जाए जिससे बात आगे बढ़े लेकिन मुझे कुछ तरकीब ही नहीं सूझी.

इंग्लिश सेक्सी नंगी चुदाई

फिर कुछ सोचते हुए रमेश ने कहा- मतलब कि आप रिश्ते में हमारे पापा भी हो सकते है और जीजा भी. मैंने कहा- पूनम हमारी शादी तो होनी ही है लेकिन दिल में जो आग अभी लगी हुई है उसे कैसे बुझाएं?इतना कहते ही मैं पूनम को लिप किस करने लगा और पूनम के कूल्हों को ज़ोर ज़ोर से मसलने लगा. उनकी तीन लड़कियां अंजलि, पारुल और संगीता और एक लड़का बॉबी यादव था, जो ताऊजी के परिवार में सबसे छोटा था.

मैंने और तुम्हारे अंकल ने कुछ नहीं किया।मुझे लगा कि शायद आंटी चुदना चाहती हैं। मैंने आंटी से इसी टॉपिक पर कुछ बातें की. उसके बाद मैं वापिस दिल्ली चला गया और भाभी की चुदाई का सिलसिला जारी रहा. वैसे तो उनकी सेक्स लाइफ शुरू से ही अच्छी थी, लेकिन पिछले 4-5 सालों में माया की वासना बढ़ने लगी थी.

फिर वह बोली- मुझे सब कुछ करने का मन हो रहा है पर मैंने यह सब कभी नहीं किया तो मुझे डर भी लग रहा है.

फिर मैं बहुत खुश हुआ, अपने जीवन की पहली चुदाईसील बंद चूतकी करने को मिली. पहले मैं इसे हल्के में ले रहा था क्योंकि जब पहले ही 5-7 फंसी हुई हों तो नई लड़की पर एक्सपेरिमेन्ट ही किया जाता है कि फंस गई तो ठीक, नहीं तो नहीं सही. शालिनी देखने में बहुत ही सेक्सी है, उसका रंग एकदम गोरा है और उसका फिगर 30-28-32 का है.

हालांकि मैं जिम नहीं जाता लेकिन वॉलीबॉल का खिलाड़ी हूँ तो मेरा बदन पूरा कसा हुआ है. उनका मदमस्त शरीर देख कर मेरा भी सब्र टूट गया और मैंने उन्हें अपनी बांहों में भर कर किस करने लगा. उस दिन चाची को मैंने गौर से देखा, उनके हर एक अंग का नाप आँखों में भर लिया.

माया को लगने लगा था कि अमित को उसका जिस्म पसंद आ गया है और अमित उसको अपने लंड के नीचे लेटाना चाहता है. मैंने इतनी जोर से धक्का मारा कि मेरा लंड चूत गीली होने की वजह से पूरा अन्दर घुस गया था.

तभी एक आदमी बगल से निकल कर आया और भाभी को चूमने लगा, उसने भाभी की चूत पर अपना मुँह रख दिया. मैं बोली- तू शर्माता क्यों है? मैं तेरी भाभी हूँ, अपनी बीवी समझ!वो बोला- भाभी, आप भी मजाक करती हो।मैंने अपनी छाती से अपना पल्लू हटा दिया और साड़ी उतार दी, मैंने कहा- साफ कर!वो साबुन उठा कर मेरे गाल पर लगाने लगा।मैं बोली- सारी जगह लगा ना!वो बोला- अच्छा भाभी!‌उसने अपने हाथ मेरे ब्लाऊज के ऊपर रख दिये और हुक खुलने लगा. मामा, मैं भी झड़ने वाली हूँ प्लीज़ अपना लंड अब मेरी चुत में डाल दो.

कभी कभी तो दोनों साथ में ही मुझे आगे पीछे से लंड पेल कर सैंडविच बना कर चोदते थे.

उमर हो गयी आपकी, बच्चों की शादियाँ हो गयीं लेकिन आपकी आदतें आज भी वही जवानी वाली हैं जैसे कल ही शादी हुई हो अपनी. अब रात के 2 बजे थे, सब शादी की कारण उधर फंक्शन में थे, उस वजह से घर में उस वक़्त कोई नहीं था. मेरी मम्मी राधिका ने लंड चूसते चूसते ही पोजीशन बदली और ब्रायन की टी-शर्ट को भी खींच कर उतार दिया.

आज बहुत सर्दी है, लेकिन यह पार्किंग बेसमेंट में है यहाँ तुमको सर्दी नहीं लगेगी. तो उस के घर वालों ने मुझ को विश्वास दिलाया कि आज के बाद ऐसा कुछ नहीं होगा और उसके मोबाइल से मैसेज आदि हम डिलीट कर देंगे, जो उन्होंने किए भी.

मामी ने मेरे लंड खुद ही अपने हाथ से पकड़ा और चूत के छेद पर लगा कर धक्का लगाने को बोलीं. अब की बार कहानी के लिए कुछ ज्यादा ही इंतजार करवाया आपको तो आप सबकी तहे दिल से माफ़ी मांगती हूँ. मैं भी उसके पीछे खड़ा हो गया, अब मेरा लंड उसकी गांड पे था और मैंने बड़ी हिम्मत करके उसके गर्दन पे एक किs किया पर वो कुछ ना बोली तो मैं भी शुरू हो गया.

बीएफ पिक्चर बीएफ बीएफ

अरे मेरे पापा और मेरी चूत के मिलन की पूरी कहानी मेरी सेक्सी आवाज में सुन कर मजा लें!अन्तर्वासना ऑडियो सेक्स स्टोरीज सुनने के लिये सर्वोत्तमब्राउज़र क्रोम Chrome है.

आरजू और विनीत अपने आप में मस्त थे, मैं और रीनू मामी उन दोनों को देख रहेथे लेकिन हम एक दूसरे की तरफ बिल्कुल भी नहीं देखा. इसके बाद तो वे सब कोरी चुत देने में रूचि रखने वाली मुझसे किनारा करने लगीं और सब भोसड़ी वालियां मेरी जगह कुँवारा लंड ढूँढने लगीं. खैर चुदाई का एक दौर पूरा हो चुका था और अब हम दोनों दूसरे राउंड की तैयारी करने लगे थे.

रिया का लंड मेरी सास ने दस मिनट तक चूसा और रिया मेरी चूत चाट रही थी, मुझे मजा आ रहा था कि तभी मैं चिल्लाई- आहहह… हहह… अहह… ओहहहह… मा मरर गई!और मेरी चूत ने बहुत तेजी से रिया के मुँह में चूत का गर्म गर्म पानी छोड़ दिया और रिया मेरी चूत कर सारा पानी पी गई. वैसे मैंने उसे एक बार मेरे मामा की लड़की के साथ रात में हरकत करते हुए देखा था लेकिन मैं उस टाइम कुछ नहीं बोली थी. सेक्सी ब्लू सेक्स वीडियोएक दिन मैंने अपनी ननद से पूछा- शीतल ये बता, ननदोई जी इतना शरमाते हैं, रात को तेरे साथ भी ऐसा ही करते हैं?वो बोली- भाभी, उनके शरमाने पे मत जाओ… रात को मुझे खूब परेशान करते हैं.

जैसे ही मेरी और बॉबी भैया की नज़र मुझ पर पड़ी, तो वो खाना छोड़कर मुझे गले मिले और उन दोनों ने मेरा खूब स्वागत सत्कार किया. जब काफी देर तक कोई नहीं आया तो मैंने सोचा कि शायद घर में कोई भी नहीं है, ये सोच कर मैं वापस जाने ही वाला था कि दरवाजा खुला.

इस तरह उसने करीब 4-5 मिनट किया होगा कि अचानक उसने मेरी चुचियों को दबाना किस करने और अपने लंड को ऊपर नीचे करने की गति को तेज कर दिया. अब विवेक ने मुझे सोफे पर डॉगी स्टाइल में होने को कहा और मेरी चुत पर अपना हाथ फेरने लगा. मेरे बेड पे गिरते ही चचा जान मेरे ऊपर आ गए और हम एक दूसरे को बेतहाशा चूमने लगे.

उसको भी ये अच्छा लगता था क्योंकि उसको जब पता चला कि मैं उसके लिए वहाँ आता हूं तो वो फिक्स टाइम पर बाहर आने लगी. मैंने उंगली डालते ही जान लिया। इन लोगों ने बोला था कि एकदम से फ्रेश माल है. उसके बाद मैं वापस आकर बिस्तर पर सो गई।अब तो करीब करीब हर रोज़ रात को मेरा भाई मेरी चूत मारता है और दिन में मौका मिलता है तो कभी अब्बू से तो कभी फरीद से चुदवा लेती हूं।मेरी चूत को तीन तीन लंड नसीब हो रहे हैं.

वो मोटी होने की वजह से ज़्यादा स्पीड से नहीं कर पा रही थी, तो मैंने उसको घोड़ी बनाया और चुत में पेलने लगा.

मेरी आँखें गर्म और सुर्ख होने लगी, होंठ कामुकता से सूखने लगे और मेरी प्यासी चुत में पानी उतरने लगा. जिसको मैं सीनियर लड़कों को उंगलियों पर नचाना समझती थी, वह अब समझ आ रहा था.

मेरे दोस्त को उसकी गर्लफ्रेंड का कॉल आ गया, शायद उसे कहीं जाना था तो उसने मेरे दोस्त को बुला लिया. अब उसकी चूत अपना मुंह बाये हुये मेरे सामने थी और चूत का दाना फूल कर बाहर की ओर निकल आया था. प्रिय दोस्तो, मैं प्रदीप यादव (बदला हुआ नाम) अन्तर्वासना पर यह मेरी पहली चुदाई की कहानी है, हो सकता है कि मैं एक अच्छा लेखक नहीं हूँ पर मैं अपनी सच्ची कहानी सभी को बताना चाहूंगा कि अपनी ही बहन को कैसे पटाते हैं और इसमें कुछ गलत नहीं है अगर दोनों की रजामन्दी है तो!बहन के साथ सेक्स करने में बहुत फायदे होते हैं.

मेरी बहन के मुख से सिसकारियां निकलने लगी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… चूस भाई…फिर उसने मेरे निक्कर में हाथ घुसा दिया और मेरे लंड को सहलाने लगी. सन्डे को 10 बजे हमारे रूम आना, तब मैं रूम पर नहीं हूँगी क्योंकि मैं घर जा रही हूँ, तुम वो ड्रेस उसे दे देना और कहना कि दिव्या के लिए है. मैंने अंतरवासना पर बहुत सी कहानियाँ पढ़ी हैं, आज मैं आप सब को मेरी एक रियल सेक्स स्टोरी बताने जा रहा हूँ.

एक्स एक्स एक्स बीएफ दिखाइए वीडियो में वो करीब 21 वर्ष की थी, गोरा रंग, कद करीब पांच फीट तीन इंच, गदाराया हुआ भरा भरा बदन और सबसे ख़ास बात उसकी मुस्कराहट बेहद कातिलाना थी. मैं- ये सब हो क्या रहा है बताएगा कोई?मोना- कुछ नहीं रवि, अब से आनन्द यहां रहेंगे.

भोजपुरी सेक्सी वीडियो एक्स

मैं दिन में इधर उधर के काम में बहुत व्यस्त रहा था, इसलिए थकान ज्यादा हो गई थी. उसके चेहरे पर बहुत ही संतुष्टि के और पुलकित के लिए प्रेम के भाव थे. जब चूत में से बच्चा बाहर आ सकता है, तो यह लंड क्या चीज़ है? मेरी वाइफ भी तो लेती ही है.

इससे उसे आराम मिला और 2 मिनट के बाद मैंने लंड को हिलाया लेकिन मेरा लंड बहुत ही मुश्किल से हिल पा रहा था क्योंकि उसकी चूत ने लंड को पूरा जकड़ रखा था, उसकी चूत के अंदर एक भट्टी जितना गर्म था. लेकिन तभी उस्मान बोला- सर, हम कैसे मान ले ये वही ब्रा है जो मैडम आज पहन कर आई हैं?ये सुनते ही माया हंसने लगी. देहाती सेक्सी चुदाई वीडियोअब हमें होश आया तो जल्दी से कपड़े पहने और उसके बाद हमने मेज को साफ़ किया.

फिर थोड़ी देर बाद मैंने सोने का नाटक करते हुए एक हाथ उनके पेट पे रख दिया और जब उन्होंने कुछ विरोध नहीं किया तो मेरी हिम्मत और बढ़ गई.

तो मैंने फीस जमा करा दी लेकिन फॉर्म भरना मेरी समझ से बाहर था इसलिये मैंने उसको बोला कि फॉर्म वो खुद भर दे।पहले उसने थोड़ी न नुकुर की फिर वो राजी हो गई।उसने मेरी डीटेल्स माँगी जैसे मेरा नाम, पता, मोबाइल नंबर और मेरा व्यवसाय आदि।जैसे ही उसने मेरा नाम सुना तो वो मैडम एकदम से चौंक गई तो मैंने उससे पूछा- क्या हुआ मैडम?तो उसने जवाब दिया- कुछ नहीं, ये नाम कुछ सुना हुआ सा लग रहा है. जैसे ही उसने वो मशीन आगे करी मैंने गंदा सा मुँह बनाया और कहा- पता नहीं कितने लोगों के मुँह लगा होगा ये.

आरजू ऐसे ही नंगी मेरे सामने खड़ी थी और विनीत भी एकदम नंगा था, उसने आरजू को वहाँ घोड़ी बनने को कहा और आरजू तो उसकी बात ऐसे मान रही थी जैसे कोई रंडी चुद रही हो. जब मैं अपनी 12वीं के बाद की पढ़ाई के लिए उज्जैन आया तो मैं अपने चचेरे भाई के यहां रुका. तभी वो आई, मैंने देखा कि उसने अपने सारे कपड़े निकाल दिए थे… और वो सिर्फ़ ब्रा और पेंटी में थी.

मैं भी फंक्शन में ही था और अन्दर का डर हटाने को थोड़ा ड्रिंक कर रहा था.

कुछ देर बाद सरिता की चुत लंड खाने की अभ्यस्त हो गई और धकापेल शुरू हो गई. मैं होश में होते हुए भी बेहोश थी, क्योंकि मुझे सब पता चल रहा था कि क्या हो रहा है लेकिन मैं ना तो बोल पा रही थी और ना ही चल पा रही थी. मैंने भाभी की चुत को अच्छे से साफ किया और उन्होंने मेरे लंड को हिला हिला कर साफ़ किया, जिससे मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया.

डब्लू डब्लू सेक्स डॉट कॉम वीडियोमैंने पूछा- भाई साब कैसे चोदते हैं? तुम्हें मजा आता है उन से चुद कर?वो बोली- मत पूछो. कोई दस मिनट तक हमारा स्मूच हुआ, साथ में मैं उसके बदन को हाथ से सहलाता रहा, कभी चूची कभी गांड.

चुदाई आदिवासी

दिमाग में बस दो तीन प्रश्न घूम रहे थे जैसे- आखिर मुझमें ऐसा क्या है? और मैं इतनी अच्छी क्या सच में हूँ कि लड़कों की नींद गायब कर सकती हूँ? अगर इतनी अच्छी हूँ तो मैं क्या करूँ और अमित क्यों चाहता है मुझे गले से लगना? उसे आखिर मुझसे केवल गले लग कर क्या मिल जाएगा?ये सब सोचते सोचते मैं कब सो गई, पता नहीं चला और जब मेरी आँख खुली तो सुबह के 9 बज रहे थे. अब मैंने उनसे कहा- अंकल हम ऐसा करते हैं कि आप मेरे मुँह की तरफ लंड कर लीजिये और मैं अपना लंड आपके मुँह की तरफ कर लेता हूँ. वो पहली बार आई थी, माँ ने उनका परिचय मुझसे कराया और मेरी उनसे दोस्ती हो गई.

वो जब चला गया तो मैंने उस ड्रेस को ऊपर से थोड़ी ढील दे दी ताकि जल्दी खुल जाए और थोड़ा नीचे खींच दिया ताकि जब ऊपर अमित खोले तो पूरी चूचियां एक साथ दिख जाएं. अब वो फिर फटाफट से मेरा लंड मुँह में लेकर चूसने लगी और लंड चूस चूस कर ही साफ कर दिया. उसने हाथ के इशारे से ना बोला, बल्कि मेरा लंड उसके गले तक जाने लगा था.

चूंकि मेरा लिंग योनि के भीतर था और तुरन्त ही लिंग मुरझाता भी नहीं, इसलिए मुझे एक अलग तरह का अहसास हो रहा था और अकड़ और सिहरन के हाथ ही तनु का तूफान भी थमने लगा. मैं कभी कभी दिन में जब मौका लगता था, कोई घर में नहीं होता था, तब किसी न किसी बहाने से वासना के वशीभूत मॉम को टच कर लेता था लेकिन उसमें सेक्स जैसा कुछ नहीं था, सब नॉर्मल ही चल रहा था. हम दोनों की जीभें आपस में फाइट करने लगीं, हमारी स्मूच 15 मिनट तक चली.

वैसे तो मैं दूसरी बार अमेरिका आया था लेकिन यहाँ के नियम और कानून बहुत सख्त हैं, सो मैं सीधे होटल ही आ गया. कुणाल हंस कर बोला- तुमने कभी किसी लड़की चुत को नजदीक से देखा है?मैंने- नहीं.

जब मैंने रानी को पूरी नंगी कर दिया तो मैंने अपने पजामे और टी शर्ट को भी उतार दिया.

मम्मी ने ऊपर वाला रूम खोल दिया और उनका सामान लगा दिया, मैं वहां पर उनके लिए जो भी सामान था वो लेकर गई. সানি লিওন এইচডি বিএফउसके थूक से मेरी चुत भीग गई थी और वह दाने को मुँह में लेकर चूस रहा था. देसी चुदाई लड़की कीकुछ ही देर में शायद वो छूटने वाली थी, इसलिए उसका शरीर एकदम अकड़ गया. तभी लैपटॉप पे काम करते करते मेरे सीधे हाथ की कोहनी उसके जिस्म को छू रही थी और हल्के से उसके चूचों को भी.

मैंने अंजलि दीदी के मांसल कंधों को अपने दोनों हाथों से जकड़ लिया और दीदी को जोर से चोदने लगा.

करीब 15 मिनट की चुदाई के बाद मैं उसके ही अन्दर झड़ गया और उसके ऊपर लेट गया. ”दोनों का पानी निकल गया, संजय उसके ऊपर थोड़ी देर लेटा रहा और फिर कपड़े पहन कर दोनों बाहर आ गए. फिर क्या मुमताज़ ने मेरा लंड अपने मुँह में पिस्ता कुल्फी की तरह ले लिया और ऐसे चूस रही थी कि मानो छोटे बच्चे के हाथ में लॉलीपॉप हो.

वो चिल्ला कर बोली- ये सब क्या कर रहा है, तेरी मॉम को आज ही बताऊंगी. पहले हमने मेरे लिये बहुत सारी शॉपिंग की उसमें मैंने ज्यादा ब्रा और पैंटी ली, मुझे ब्रा पैंटी बहुत पसंद हैं!रोहण ने मेरे लिये अपनी पसंद की सेक्सी सेक्सी ब्रा पैंटी ली।फिर हमने लंच किया और हम मूवी देखने चले गए!हमने पीछे की सीट ली थी. ”उस दिन मैं तुम्हारे हॉस्टल की फीस घर का रेंट और बाकी सब खर्चों को लेकर काफी परेशान थी.

सेक्सी बीएफ वीडियो फुल एचडी हिंदी में

मैंने हिम्मत करके उसका लोवर उसके घुटनों तक किया और हम किस करते रहे. मुझे बहुत मजा आ रहा था।रोहण कहने लगा- माँ, आपके हिप्स कितने गोरे है, और सुंदर भी हैं।मैंने कहा- हाँ बेटा, थैंक यू!अब मैंने रोहण से कहा- बेटा, मेरे बैग में से पिंक रंग की ब्रा पैंटी ला दो, और ब्लैक रंग की नाइटी!रोहण ने कहा- ओके माँ!रोहण ने मेरा बैग खोला और अंदर का सामान देख कर वो चकित रह गया क्योंकि उसमें सारे मॉडर्न और सेक्सी ड्रेस और ब्रा पैंटी थी।रोहण मेरी ब्रा पैंटी और नाइटी ले आया. मैं उनके बदन को अच्छी तरह निहार रहा था, मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया.

फिर मम्मी शाम 3 बजे दूसरे घर गयी जहाँ हम हमारी गाय रखते हैं, वहाँ से मम्मी पूरा काम करके ही आती हैं तो हमारे पास डेढ़ दो घंटे का समय था.

करीब दस मिनट मेरी गांड चोदने के बाद सर ने लंड बाहर निकाला और मेरी स्कर्ट को भी निकाल दिया.

फिर मैंने उससे पूछा- पढ़ाई कैसे चल रही है और दिल्ली में रहकर कोई बॉयफ्रेंड बनाया या नहीं?ये सुनकर वो मायूस हो गई और उसकी आँखों में आँसू आ गए. उसने जैसे ही अपनी चुत को थोड़ा टाइट किया, मेरा भी लंड झड़ने वाला हो गया. आंटियों की चुदाईअब मेरी मासी मेरे लबों पर फैली मुस्कराहट देख कर समझ गई कि मुझे काफी आंनद आया था।[emailprotected].

मैंने इतनी जोर से धक्का मारा कि मेरा लंड चूत गीली होने की वजह से पूरा अन्दर घुस गया था. मैं भी ये ही चाहता था, पर उससे डरता बहुत था कि कहीं वो नाराज ना हो जाए. उसके छेद की लाल गुलाबी चमड़ी थी, जो मेरे लंड को पहला न्यौता दे रही थी.

रोहण ने भी मुझे एक स्माइल दी।लेकिन उसने अपनी तरफ से कुछ नहीं किया और रोहण सो गया. उसकी बात सुन कर मैं शरम से वहां से चला गया पर मेरा 6 इंच लंबा लंड कहां मानने वाला था.

जब भी जाती भाभी के पास… तो मैं उनकी सेक्स भारी बातें सुनने की कोशिश करती, वो कहती- तू सीधी सादी है री… अभी तेरा वक्त नहीं आया ये बातें सुनने का!यह कह कर भगा देती.

मेरी बीवी बेचैन हो कर अपने चूतड़ उछाल उछल कर अपनी चूत में लंड घुस्वाने को आतुर हो रही थी लेकिन मेरा दोस्त अमित उसे और तड़पाना चाहता था, और गर्म करना चाह रहा था. वहां के एक प्रोफ़ेसर ने मुझे बुलाया और कहा- नक़ल करनी है तुम्हें?मैंने हां कह दिया. तो मैंने पूछा- कितना?अंकल बोले- कम से कम एक घंटा!अंकल बोले- तुम्हारा अभी मन है क्या?मैं बोली- ऐसा नहीं है, पर जो आप को ठीक लगे,मैं आपको क्या बोलूं।तभी राजेंद्र अंकल बोले- समझो… बेचारी बहुत चुदासी है, देखो आरती की चूत बह रही है.

সানি লিওন xxx video मैंने देखा कि पेटीकोट के ऊपर ही कुछ गीला गीला चिपचिपा सा पानी आ गया. तभी बाहर के दरवाज़े की घंटी बजी, हम दोनों को जैसे शॉक लग गया, साक्षी भाग कर दरवाज़े पे गयी तो कोई सेल्समेन था, उसे वापस कर के साक्षी दौड़ के मेरे कमरे में आयी.

उसमें केवल एक गले पर बंधी पट्टी खोलोगे वो नीचे तक बिना कपड़ों के हो जाएगी. अब वो दूसरी साइड जा कर खड़ी हो गईं लेकिन मेरा साथ मेरे भाग्य ने दिया, वहां मेरी दादी ने मुझे आवाज़ लगा कर बुला लिया और भीड़ ज्यादा होने की वजह से अब वो कहीं नहीं जा सकती थीं. पर वो चालू था, उसने आँखें खोल ली और डरने का नाटक करने लगा और पाँव पटक पटक कर कहने लगा कि मैंने उसके नुन्नू को खराब कर दिया है कितना सूज गया है। मैं तो अभी तक यही सोच रही थी बेचारा नादान है इसलिए ऐसा कर रहा है।सिल्ली कुछ नहीं होगा, मैं अभी तेरे लन्ड को ठीक करती हूँ, चल आ मेरे पास!” मैंने उसे दिलासा देते हुए कहा और उसके लन्ड को पकड़ लिया.

बीएफ हिंदी अच्छी वाली

पर इस बार फर्क ये था कि मयूरी की चूचियां एकदम खुली हुई थीं और उसने पैंटी को छोड़ कर कुछ भी नहीं पहना हुआ था. मेघा मैं तुमको शादी के बाद तो नंगी ही रखूँगा, जब मन किया अन्दर डाल दिया करूँगा. मैं बोला- काश यह तुम्हारी पहली चुदाई होती… मैं तुम्हारी सील तोड़ पाता.

rahulउस समय मैं एक प्राइवेट ट्रेनिंग ले रहा था और हमारे उस स्कूल जिसमें मैं पढ़ता था, उसमें हम सभी लड़के लड़कियाँ एक ही साथ ट्रेनिंग करते थे. ये उस दिन की बात है, जब मेरा जॉब चालू था और हम दोनों सिर्फ़ ऑनलाइन बातें करते थे.

मैं कांपने लगी पूरा बदन कंरट दौड़ने लगा और वो धक्के मारने लगा, लंड को अंदर बाहर करता हुआ चुदाई करने लगा.

हमारे घर में एक बहुत ही खूबसूरत काम वाली बाई आती थी जिसका नाम सुल्ताना( बदला हुआ नाम ) था. उसके बाद मैंने कहा- गर्लफ्रेंड से अब शादी करने का टाइम आ गया और मैंने मामी की माँग भरी, मंगलसूत्र पहनाया और फिर मैं बाहर से खाना ले आया. इस तरह से मैं एक बार फिर अविनाश के अलावा अनजान लड़कों से जम कर चुदने लगी.

मेरे दिमाग में भाभी के बारे जो इच्छाएँ है जो मैं आप सब अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज के पाठकों को बता रहा हूँ. हमारे नौकर ने हमारा डिनर बना दिया था और घर भी साफ कर दिया था।मैंने ड्राइवर और नौकर को दस दिन की छुटी दे दी तो अब घर में हम दोनों ही थे रोहण और मैं!मैंने रोहण से कहा- रोहण चलो, हम फ्रेश हो जाते हैं. खैर बारिश रुक गयी और मेरी बहन नीचे चली गयी पर मेरी आँखों के सामने उसके संतरे ही नज़र आ रहे थे.

अब मैं भी रोहण का पूरा साथ देने लगी और मजा लेते हुए धक्का मार कर चुदाई का मजा दुगना कर रही थी.

एक्स एक्स एक्स बीएफ दिखाइए वीडियो में: अब वो गरम होती जा रही थी, मैंने उसकी जींस का बटन खोला तो बोली- बेबू, ये गलत है. शादी के बाद मैंने भाभी पर बहुत डोरे डाले, पर उनको चोदने का कभी मौका नहीं मिल रहा था क्योंकि वो एक संयुक्त परिवार में रहती हैं.

मम्मी की मोटी मोटी चुची नंगी हो गयी, उसके काले निप्पल एकदम कड़क लग रहे थे।ससुर जी ने अपनी पैन्ट उतारी और उनका अंडरवीयर मम्मी ने नीचे कर दिया. मेरे पास दो कमरे थे, मकान मालिक तब बाहर गए थे, कोई फर्नीचर नहीं था, मैंने चटाई बिछाई, उस पर एक कम्बल बिछाया और बैठ गए. अब आगे की सेक्स कहानी अगले पार्ट में सुनाऊंगी, तब तक आप जल्दी से अच्छे अच्छे कमेंट्स मेरी आईडी पर करो.

मामी और जोर से मेरे लंड को हिलाने लगीं और मैं झड़ने को हुआ तो मैंने खड़े होकर अपने हाथ से अपना लंड हिलाया तो उन्होंने अपनी जीभ को अपने होंठों पर फिराई मैं समझ गया कि इनको लंड का माल खाना है.

जब पुलकित ने देखा कि मंजरी अपनी आँखें बंद किए उसका लंड चूस रही है, तो वो भी घूमा और उल्टा हो कर मंजरी के ऊपर ही लेट गया. अब मैं लंड को चूत में वैसे ही फँसा कर उस पर लेट गया और उसके होंठ चूसने लगा. मैंने पूछा- चाचा आपने भी कभी मराई?चाचा- हां आर्मी में मराई थी, जब दूर जंगल में जहां न आदमी, न औरत.