बीएफ चूत चाटने वाला

छवि स्रोत,सपना चौधरी की सेक्सी वीडियो हिंदी

तस्वीर का शीर्षक ,

बंगाली आंटी सेक्स वीडियो: बीएफ चूत चाटने वाला, जबकि मुझे ये बात उस टाइम तक पता नहीं थी कि लंड कैसे चूसा जाता है पर फिर भी उस वक्त बुर की चुल्ल मेरी बुद्धि पर हावी हो गई थी.

इंग्लिश ब्लू पिक्चर इंग्लिश ब्लू पिक्चर

मैंने जैसे ही मेरा लौड़ा साफ होते दिखाई दिया, वैसे ही किरण का मुँह रेशमा की चूत की तरफ ले जाकर उसे चाटने को कहा. इंदौर की ब्लू फिल्मअभी मेरे पापा 43 साल के हैं जबकि मेरी मम्मी 42 साल की हैं लेकिन वो लगती 28 साल की हैं.

मौका पाते ही मैंने दूसरा जोरदार झटका दे दिया और अपना पूरा लंड भाभी की चूत में डाल दिया. हिंदी वीडियो सेक्सी गानामैं बोली- छोड़ो भी क्या कर रहे हो?इतने में राजीव बोला- दिखा दीजिये ना अनन्या … वो भी तो देखे कि उसके जीजा ने कितनी मेहनत की है.

तब मैंने उसके मुंह को बंद कर दिया और धीरे धीरे लंड अंदर बाहर करने लगा।और अवसर पाते ही मैंने एक जोर का धक्का लगाया पूरा लंड सनसनाता हुआ अंदर चला गया।वो छटपटाने लगी थी.बीएफ चूत चाटने वाला: उसने भी मेरी अंडरवियर में हाथ डालकर मेरा लंड सहलाना शुरू कर दिया।फिर दोनों पूरे नंगे हो गए और मैं उसके ऊपर आकर चूत में लंड रगड़ने लगा।मैंने उसके होंठों पर होंठ रखकर जोर का धक्का लगाया.

मैंने चैट पढ़ी, तो मेरे होश उड़ गए क्योंकि चैट में वो दोनों इस तरीके से बात कर रहे थे जैसे गर्लफ्रेंड बॉयफ्रेंड हों.[emailprotected]देसी लड़की X कहानी का अगला भाग:जवान लड़की की प्यासी चूत और तीन लंड- 2.

हॉट सेक्सी इमेज - बीएफ चूत चाटने वाला

मैंने भी जोर जोर से अपनी कमर आगे पीछे करते हुए मेरा लौड़ा पॉल के मुँह में देना जारी रखा.मम्मी बिल्कुल नंगी लेटी थीं और सिरहाने की तरफ उनका सर था और चूत मेरी तरफ थी.

ज्योति एकदम गोरी माल लौंडिया थी, उसके भरे हुए मम्मों के गुलाबी निप्पल देख कर मुझे बेहद सनसनी हो रही थी. बीएफ चूत चाटने वाला हॉट सेक्सी लेडी हिंदी कहानी में पढ़ें कि मैंने अपने काम के लिए एक सहायिका रखनी थी.

किरण की चूत सच में भोसड़ा ही थी, ना जाने कितने मर्दों से चुदवा-चुदवा कर उसने अपनी चूत का ये हाल बना लिया था.

बीएफ चूत चाटने वाला?

मैंने उसके पास जाकर बोला- क्या तुम फ्री हो?वो हंस दी और होंठ दबाती हुई बोली- हां, बोलिए न क्या क्या करवाना है?उसकी इस साफ़गोई से मेरी गांड फट गई. आगे जाने पर हमें एक होटल दिखायी दिया तो मैंने वहीं बाईक रोक दी और हम दोनों होटल में चले गए. मैं उसके आते ही उसे बेड पर ले गया और उसके ऊपर बैठ गया।उसके सब कपड़े निकालने के बाद उसके हाथ डोरी से पलंग के ऊपर के हिस्से से बांध दिया और उसके पूरे बदन को चूमने लगा.

फिर मैंने उसे सुहागरात की चूत चुदाई की याद दिलाई कि दर्द तो वहां भी हुआ था, लेकिन अब मजा आता है ना. सुबह आठ बजे नीता ने हमें जगाया, तो नीता के सामने ऐसी हालत में खुद को देख कर गीता शर्माने लगी थी. बाद में मैं 3 दिन जयपुर में रुका और कैसे उसकी गांड मारी और बाद में उसकी कजिन को भी चोदा, वो सब अगली चुदाई की कहानी में लिखूंगा.

अपनी बारहवीं क्लास में पास करने से पहले ही मैं इन दोनों औरतों से कई बार मिला था लेकिन कभी भी मेरे मन में गंदे ख्याल नहीं आए. उनकी वजह से मुझे कितनीनई चूतमारने को मिलीं, वो भी मैं आपको बताऊंगा. सच में बड़ी मस्त महक थी उसकी चूचियों की!इस कामुक मूड में मैंने मुठ मारी और अपना लंड झाड़ दिया.

सुरेश के हाथ पूरे मेरे बूब्स पर जमे थे और मेरे मुँह में उसका लौड़ा था. मैं ऐसे ही गांड में लंड पेलूँगा साली रंडी की औलाद … कुतिया भैन की लौड़ी मेरी रखैल.

उसकी चूत इतनी टाइट थी कि पूरा लंड अन्दर जाते ही मुझे लगा कि जैसे किसी ने मेरा लंड जोर से मुट्ठी में दबा लिया है.

दूसरे दिन सुबह मुझे जगाने के लिए फिर रजनी ही आई और आज मैंने उनींदा बनकर उसे जानबूझकर अपने ऊपर खींच लिया और प्यार करने लगा.

[emailprotected]ब्रो सिस फिज़िकल लव स्टोरी का अगला भाग:गांव में फुफेरे भाई के साथ रंगरलियां- 2. इस बार मेरी हल्की सी चीख निकली तो उसने तुरंत अपने होंठों को मेरे होंठों पर रख दिया और मुझे किस करने लगा. अब आगे GF BF Xxx कहानी:उसके बाद तो ये हमारा रूटीन बन गया, हम हर हफ्ते या 8-10 दिन में जब मौका मिलता, हम किसी लॉज में पहुंच जाते और कम से कम दो बार सेक्स करके ही निकलते.

ऐसे हमारी जान पहचान बढ़ने लगी और इंस्टाग्राम के जरिए हम बात करने लगे. पॉल और उसकी बीवी रीना एक दूसरे की जीभ मुँह में लेते हुए मेरे वीर्य को ऐसे चटखारे मार मार कर खा रहे थे, जैसे मेरे लौड़े की मलाई उनका पसंदीदा खाना हो. मैंने खड़े-खड़े ही उसके होंठों को, गर्दन को, बूब्स को चूमना शुरू कर दिया.

रीना के बाल छोड़ते हुए मैंने अपने दोनों हाथों से रीना की कमर दबोच ली और जोर जोर से रीना की चूत फाड़ने लगा.

मैं नंगी लेट गई और मेरे प्यारे छोटे भाई मेरे शरीर पर बॉडी लोशन लगाया. वो बोलीं- एक साथ कैसे?मैंने एक सिप पानी का मुँह में भरा और उन्हें किस किया. वो तो मेरे होंठों से वह दबी थी, अन्यथा चीख की आवाज पूरे घर में चली जाती.

मेरे लौड़े से चुदते हुए और पॉल की जीभ से खुद की गांड की मालिश करवाते हुए रीना सच में पक्की बाजारू रंडी की तरह दिख रही थी. फिर मेरी नजर अचानक से उस पर पड़ी तो मैंने उठते हुए कहा- अरे आप!वो बोली- अंकित, मुझे कमरे में झाड़ू पौंछा करना है. मोहिनी ने अपना लैपटॉप बंद किया और पियून को बोला कि बैग नीचे कार में रखवा दे.

लैपटॉप बंद करके वाइन की बोतल खोल कर पैग बनाया और धीरे धीरे पीने लगा.

तब मैंने उतने ही लंड से उसकी गांड मारनी शुरू कर दी और मौका देख कर एक झटके में पूरा लंड उसकी गांड में उतार दिया. मैं जानता हूँ कि रात में तुम बाथरूम में इतनी देर क्यों रहती हो? तू अगर चाहे तो हम-दोनों एक दूसरे की मदद कर सकते हैं.

बीएफ चूत चाटने वाला नंदा ने अभी तक साड़ी ब्लाउज और पेटीकोट को समेट कर वापिस सूटकेस में रख दिया था. मैंने ब्रा न खोलते हुए ऊपर से ही उसके मम्मों को सहलाना शुरू रखा और उसके साथ साथ गर्दन, कंधे को चूमता ही रहा.

बीएफ चूत चाटने वाला रीमा अपनी चुदाई तो करवाना चाहती थी, पर उसने मेरे सामने शर्त रखी कि वो अपना मोबाइल नंबर मुझे नहीं देगी और न ही अपनी फोटो भेजेगी. अब तुम बोलो भाभी कि तुम क्या कहती हो?रसिका भाभी- बात तो तुम सही कह रहे हो, पर मैं क्या करूं.

रीना के बाल दूसरे हाथ से खींचते हुए मैंने कहा- अब कहां भाग रही है मादरचोद हिजड़े की बीवी? फोन पर तो बड़ी बड़ी बातें चोद रही थी रंडी, अब देख कैसे तेरी मां चोदता हूँ तेरे इस हिजड़े पति के सामने.

फेसबुक चालू करें वीडियो डाउनलोड

मैं भाभी के कान की तरफ गया और उनके कानों में कहा-भाभी आई लव यू… न जाने कबसे आपके साथ प्यार करने का मन था. उस वक्त ऐसा कुछ भी नहीं था लेकिन मैं गाँव की लड़की लच्छो को चोदना जरूर चाहता था. मैंने अदिति से कहा- अदिति तुम्हें याद है न … गए साल दिसंबर 19 में हम दोनों का पहली बार संभोग हुआ था.

कई बार काम की वजह से हम शहर से बाहर भी घूमने जाते, वहां पर रेशमा बिल्कुल मुझसे सटकर ऐसे चलती, जैसे कि मैं ही उसका शौहर हूँ. फिर मैंने अपने कमरे के बाथरूम के बाहर आकर उसे आवाज दी और कहा- ये लो अनंग, तुम्हारा तौलिया. मैंने कुछ देर तक उसकी चूत पर लंड रगड़ा और एकदम से उसकी चूत में लंड ठूंस दिया.

अब तुम बोलो भाभी कि तुम क्या कहती हो?रसिका भाभी- बात तो तुम सही कह रहे हो, पर मैं क्या करूं.

मोहिनी ने हल्के नशे में कहा- बाहर बारिश हो रही है, चलो बाल्कनी में चलते हैं. उसने मुझे पानी में भीगा हुआ देखा, तो उसका लौड़ा पूरी तरह से खड़ा हो गया था, जो मैंने देख लिया. उन्होंने मेरे निप्पलों को भी खूब रगड़ा, जिसके कारण मेरी दोनों चूचियां एकदम लाल पड़ गईं.

बातों बातों में उसने मुझे बताया कि उसकी शादी के कुछ समय बाद ही उसका तलाक हो गया था और वह तब से लेकर अब तक अकेली ही रह रही है. चीटिंग वाइफ पोर्न स्टोरी में पढ़ें कि मेरी शादी एक बहुत खूबसूरत लड़की से हो गयी. मैंने चूत की फांकों के बीच सुपारा सैट किया और एक दमदार झटके के साथ अपना लंड उसकी चूत में पेल दिया.

न्यूड गर्ल रोड सेक्स स्टोरी में आगे बढ़ने से पहले मैं आपको बता दूं कि मैं बहुत चुदक्कड़ महिला हूं; मुझे सेक्स करना बहुत पसंद है और मैं सेक्स का कोई भी मौका नहीं छोड़ती हूं. सुबह के समय बार में सिर्फ हम दो ही थे इसलिए हम दोनों की गुफ़्तगू को सुनने वाला कोई नहीं था.

फिर मुझे लगा कि अब चूत से ज्यादा मजा गांड में आएगा तो मैंने झट से अपना लौड़ा किरण की चूत से बाहर खींचा और किरण के बाल खींचते हुए उसे मेरे लौड़े की तरफ घुमा लिया. एक मिनट बाद मेरा गर्म गर्म लावा आपा के मुँह में निकल गया और उसे वो एक अच्छी बीवी की तरह पी गईं. मेरी गांड फटी की फटी रह गई और मुझको बहुत तेज दर्द हुआ- हाय मर गया अम्मी अम्मी अम्मी छोड़ दे अम्मी छोड़ दे फट गई!लेकिन उसने मेरे चूतड़ों को कस के पकड़ लिया.

सभी मुझे केवल संभोग की नज़र से देखती हैं क्योंकि सबको मेरी रासलीलाओं के बारे में पता है और सभी से मेरी अच्छी जान पहचान भी है.

कोरोना के चलते एक लम्बे समय के बाद मेरा भारत आना तय हुआ और इसी दौरान मुझे इंटरनेट की एक वेबसाइट पर एक लड़के से सम्पर्क हुआ. हालांकि जब भी मैं उससे मिलता तो कभी अपने जज्बात बाहर नहीं आने देता था. साली तुझे बहुत शौक था ना हम दोनों से चुदने का, तो आज चुद हमारे लंड से.

वो भी मुझे किस करने लगी और बोली कि आज का दिन मेरे लिए सचमुच बहुत यादगार दिन रहेगा. वो मेरे सीने को देखते हुए बोला- कितनी फंसाई अब तक?मैंने कहा- अरे मुझे क्या जरूरत है किसी को फंसाने की, वो खुद ब खुद फंस जाती हैं.

रूम पर आते ही भैया ने मुझे चूमना शुरू कर दिया, मेरे कपड़ों को उतारकर मुझे नंगी किया और खुद भी नंगे हो गए. आज मुझे बहुत संतोष सा लग रहा था और शायद आज पहली बार जीवन में मेरी इतनी मस्त चुदाई हुई थी. मामा मामी से कुछ भागे भागे से रह रहे थे, बार बार किसी का फ़ोन आता और वो फोन पर बात करने लगते.

मेहंदी लगाना दिखाइए

मैंने कहा- क्या मैं तुम्हारे पास आ जाऊं?वो बोली- नहीं मैं तुम्हारे कमरे में आना चाहती हूँ.

मैं आज जो सेक्स कहानी आपके सामने पेश करने जा रहा हूँ, उसमें मैं बताऊंगा कि कैसे मैंने एक रंडी को अपनी दुल्हन बनाया था. रास्ते में, दिनभर में कई बार वसुंधरा भाभी से नजरें मिलीं, तो वो हमेशा मुस्कुरा देती थीं. अब इतना सब आपके आस पास हो रहा हो तो किसी का भी मन आउट ऑफ कंट्रोल हो जाएगा.

अब तक मैंने पॉर्न वीडियो में ही लंड देखा था और आज असलियत का लंड देख कर मुझसे रहा नहीं जा रहा था. तभी अचानक से सब सामान्य हुआ तो देखा कि हम दोनों एक दूसरे से लिपटे हुए हैं. तेरी मम्मी कीआप मुझे मेल करें कि आपको मेरे ब्रो सिस फिज़िकल लव स्टोरी कैसी लग रही है.

पास किया है और अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज़ पर यह मेरी चौथी कहानी है. गार्डन बंद होने के बाद भी हम दोनों एक पीछे के रास्ते से कूद कर उसमें अन्दर आ गए.

आप दिखाओ पहले … फिर मैं भी दिखाता हूं।मैंने पैंट की जिप खोलकर ना लण्ड बाहर निकाला. अब मेरा रास्ता बिल्कुल साफ हो चुका था, जो चीज मैं लच्छो से चाहता था उसके लिए वो तैयार हो गई थी. मैं मां की कोमल व मुलायम पीठ पर दांतों से काट रहा था, वो दर्द से तेज तेज चिल्ला रही थी.

मैंने अपनी आंख हल्के से खोली तो देखा कि वो एक हाथ से मेरा लंड मसल रही है. मैंने फिर थोड़ा सा रोका लेकिन अंकल ने मेरी पैंट खींच कर बाहर निकाल दी. वो जींस पहनते हुए मोहिनी से कहा- अब मुझे जाना चाहिए, रात बहुत हो गयी है.

मैंने जैसे ही भैया के लंड को थामा, उनके लंड की फूली हुई नसें मुझे गड़ने लगीं.

मौका देखकर मैंने फिर अपनी पकड़ मजबूत की और पोजीशन लेकर एक जोरदार धक्का दे दिया और इस बार मेरा पूरा लंड उसकी चूत में चला गया. आने वाले कल को लेकर आपा बहुत घबराई हुई थीं कि सच जानने के बाद बच्चे कैसा रिएक्ट करेंगे.

किरण- आअहह मादरचोद … क्या क्या करवाएगा मेरी बेटी से कुत्ते … आअह चाट बेटी … आज अपनी अम्मी की गांड भी चाट कर मजे ले ले मेरी गांड की कुतिया सालीई. मैंने कहा- सरू मजा आ रहा है?वो बोली- हां कुछ मत बोलो … बस मुझे मन की कर लेने दो. वो तीनों भी अच्छे से मेरी नजर को समझ चुके थे कि मैं क्या सोच रही हूं.

मेरा कमरा मेरे जेठ और जेठानी की कमरे के पास ही था इसीलिए जेठानी की चुदाई के वक्त मैं भी अपनी चूत में उंगली डाल लेती और पानी आने तक अन्दर बाहर करती रहती थी. सूरज ने बताया कि जब जब मैं आपकी कहानी पढ़ता हूँ, मेरा लंड कुतुब मीनार बन जाता है और मैं बीवी पर चढ़ाई कर देता हूं. अपनी जीभ से शीरीं की जीभ के साथ छेड़खानी करता हुआ धकापेल करने में लगा था.

बीएफ चूत चाटने वाला मैंने गाली सुनकर और जोर से धक्का दे मारा, मेरा पूरा लंड गांड में घुस गया. अब मेरे होंठ रानू दीदी के होंठों से ऐसे खेल रहे थे, जैसे वो किसी गैर मर्द के साथ खेलने की अभ्यस्त हो.

पिक्चर प्लांट

अर्णव मोहिनी के कधों और गर्दन को चूमते हुए उसने उसके कान की लौ को अपने होंठों में दबा चूसने लगा. लगभग 5 मिनट तक दीदी की चूत की नदी में जीभ को तैराने के बाद मैं अलग हो गया. उसने मुझे बताया तो डर मुझे भी लगा लेकिन मैं उसके सामने खुद को कमजोर नहीं बताना चाहती थी और पता भी था कि पहली बार में ये सब हो सकता है.

सुहानी जल्दी से सिक्सटी नाइन की पोजीशन में आ गई और वो मेरे लंड को ऐसे चूसने लगी थी कि मैं मस्त हो गया. इतने में मेरे ध्यान में कुछ आया, तो मैं अपने रूम में गया और क्रीम लेकर आ गया. बीपी व्हिडिओ गुजरातीमैंने भी गाली देते हुए लंड की ठोकर मारी और कहा- तो ले भोसड़ी वाली, तेरी चूत तो क्या, आज तो मैं तेरी गांड भी फाड़ूंगा.

पर मैं खुद ही एकदम से झैंप गई और अपने आपको कंट्रोल करने की कोशिश करने लगी थी.

मैं उन्हें मजाक मजाक में कहा करती थी यदि उनकी और मेरी छिपी कहानी बाहर आ गई तो दिल्ली और उत्तर प्रदेश को दंगों से कौन बचाएगा।हंसी में उड़ा कर हम दोनों होंठों से होंठ मिलाकर फिर से चुदाई में जुट जाते, भूल जाते अपने परिवारों को, अपनी बंदिशों को, अपने व्यवहार को!मैं अपने मुंह से उनके लंड को तड़पाती और वो मेरे बड़े बड़े स्तनों को मसल मसल के लाल कर देते।कई बार उन्होंने मेरी गांड मारने की इच्छा प्रकट की. मेरा लंड उसकी गांड को टच करके लगातार अपनी उपस्थिति अंकिता और मुझे बता रहा था.

मैंने कहा- आज कहां मेरी याद आ गई?वो हंस कर बोली- क्यों, तेरी याद क्या मुझे रोज आनी चाहिए!मैंने कहा- क्यों रोज याद कर लेगी तो तेरा कुछ घिस जाएगा. मैंने देखा कि नवाज भाई अपने लंड में थूक चुपड़ कर उसकी गांड पर टिका रहे थे. उस वक्त उसका मुझे इस तरह से किस करने का आभास भी नहीं था, तो मैं उसे किस करते ही एकदम से डर गई और एक अजीब से अहसास से अन्दर से हिल गई.

वो मादक आवाजें निकलने लगी और अपनी गांड उठाकर अपनी गीली चूत मेरे लंड पर रगड़ने लगी.

वो पापा के ऊपर चढ़ कर पापा के कान में हल्के से बताती थीं कि वो किस तरह से चुदना चाह रही हैं. ये सुनकर अदिति नीचे से अपनी गांड उठाकर अपनी चूत मेरे लंड पर रगड़ती हुई बोली- देखो हर्षद, समय निकालना तुम्हारे हाथ में है. गीता ने कसमसा कर मुझे बांहों में कस लिया और होंठ चूसते हुए अपनी कमर हिलाने लगी.

ओरल सेक्सी वीडियोहमारा रोज मिलना, एक दूसरे के बिना अच्छा नहीं लगना, ये सब उस हालात के कारण थे. अगर तुम्हें इस बात का अफसोस है, तो हम दोस्त हैं … लेकिन आगे से हम कभी भी चुदाई नहीं करेंगे.

वूमेन सेक्स

मैंने पूछा- कभी लौंडों की मारी है?वह बोला- सर जी, मैंने मरवाई बहुत है. अगली रोज सुबह से ही काली घटा छाई हुई थी जो दिन होते होते जोर से बरस गई. कहानी के पहले भागतीन सहेलियां जवानी से लदी फदीमें अब तक आपने पढ़ा था कि मेरी दोनों सहेलियां रोमा और गीतांजलि अपने अपने पिता की तबियत देखने घर चली गई थीं और मैं अपने फ्लैट में अकेली रह गई थी.

वो कहने लगी- इतना दर्द तो मुझको मेरी सील टूटने पर भी नहीं हुआ था, जितना पहली बार गांड मरवाने पर हो रहा है. बुर और लंड दोनों पर तेल लगे होने की वजह से लंड का सुपारा गप्प करके घुस गया. तुमने पिछली बार की थी, तो मैंने सोचा कि इस बार भी करोगे, तो कोई मायने वगैरह नहीं रखती … हां एक दोस्त के तौर पर मायने रखती है, बस ज्यादा कुछ नहीं.

हम दोनों एक दूसरे से इतना खुले हुए थे कि मैं उनसे सेक्स के बारे में भी पूछ लिया करता था. परंतु उसने मुझको दोबारा आने के लिए काफी आग्रह किया कि आप अब मेरे पास आते रहना. तो मम्मी ने कहा- बेटा, तुम थोड़ी देर बाहर खेलो, मुझे अंकल से कुछ बहुत जरूरी काम है।मुझे थोड़ा गुस्सा आया तो थोड़ी देर दरवाजे पर हाथ मार के मम्मी को आवाज लगाता रहा.

हमने खुलकर एक दूसरे को अपनी बातें बता दीं और मुझे लगा कि पॉल और रीना वही जोड़ा है, जिसकी तलाश में मैं इतने दिनों से था. मैंने चूत पर हाथ फेरा और कहा- मुंडन करके आई हो भौजी?वो हंसी और बोली- हां, सारी रात से तुम्हारे लंड के लिए रो रही है.

फिर खुद को संभालते हुए झूठा गुस्सा दिखाती हुई बोली- आज कहां से मेरी याद आ गई! छोड़ मुझे, मैं कौन हूं तेरी … जो तुझे मेरी फ्रिक होगी.

मैंने सरसों का तेल लेकर एक उंगली से उसकी गांड के अन्दर लगाना शुरू किया. सेक्स करने के तरीके बताइएमेरे जाने की खबर सुनकर दूसरे दिन रेशमा ने मुझसे कहा- वीरू जी, आप हमें भी ले चलिए ना? मैंने कभी मुंबई की जगमगाहट देखी नहीं है. सेक्सी गाना भोजपुरी में‘आअहह रेश्माआ …’ की आवाज देते हुए मैं अपने लंड का सारा माल रेशमा की चूत में निकालने लगा. चुदाई के बाद मम्मी बिल्कुल शांत और धार्मिक स्वभाव की ऐसी हो जाती थीं जैसे वो अपनी चूत में कभी लंड न लेती ही न हों और चुदाई को गलत आदत मानती हों.

फिर कुछ देर के बाद मेरी चूत से पानी निकला तो मैं भाई से बोली- साले हरामी पी मेरी चूत का पानी.

आज पहली बार कोई पुरुष मेरे लौड़े को चूस रहा था, जिसका एक अलग ही अनुभव था और इसके चलते मेरे लौड़े में भी जान आ गयी थी. तभी पापा ने मम्मी की गांड के ऊपर से चादर हटाई और उनका पेटीकोट पूरा कमर तक उठा दिया. उसके एकदम हिलने से मैं डर गया था, पर खड़े लंड को तो बस चूत चाहिए होती है.

वो ऑफिस में अपना दबदबा वैसा ही बनाए रखना चाहती थी, सो ये ख्याल भी उसने एक पल में झटक दिया. कुणाल ने स्नेहा को अपनी कुतिया बना कर पीछे से लंड चूत में डाल दिया और स्नेहा के हाथ पकड़ कर उसे चोदने लगा. काम करते समय इधर उधर हिलने की वजह से उसकी गांड भी ऊपर नीचे हिल रही थी.

काली सलवार

वो गौरवान्वित महसूस कर रहे थे कि उन्होंने मुझे इतनी जल्दी झाड़ दिया. करीब 5 मिनट बाद भैया ने मुझे उठाया और खुद लेट कर मुझे अपने ऊपर बिठा लिया. वो ये कह कर एक पल के लिए रुकी और दुबारा से शुरू हो गई- कोई बात नहीं, तुम्हें नहीं पता, मगर मुझे सब पता है … और मेरे पास सबूत भी रेडी है.

कोई 20-25 मिनट बाद हमारे बीच फिर से किस होने लगी और हमारी फ़िर से चुदाई शुरू हो गयी.

एक दिन रात को सब सोने की तैयारी कर रहे थे पर मुझे नींद नहीं आ रही थी.

झड़ने के बाद कुछ समय ऐसे ही लेटे रहने के बाद मैंने उसे फिर से चूमना शुरू कर दिया. मैं किस करते हुए होश खोने लगा था कि तभी मेरे हाथ उसकी पीठ पर चलने लगे. मेहंदी फुलराकेश का माल निकलते ही वो मेरे पास में निढाल होकर गिर गया और जोर जोर से हांफने लगा.

उसने सामने पड़े अपने पेटीकोट से अपनी चूत के अन्दर का लिसलिसापन साफ कर लिया. जिसे देखकर कोई भी मर्द यही समझ लेगा कि मेरी मम्मी गांड में लंड लेने की शौकीन हैं और वो कई मर्दों से अपनी गांड में लंड पेलवा चुकी हैं. गदरीली मांसल देह और मोटी मोटी जांघें, तीखे नैन नक्श किसी को भी एक नजर में वश में कर ले.

मैं अपनी उंगलियों को अपने मुँह में लेता, फिर उसकी प्यारी सी चूत में डाल देता. इस बार रीना उठकर खड़ी होने लगी पर मैंने उसकी पीठ को अपने एक हाथ से दबाते हुए फिर से पॉल के मुँह पर बिठा दिया.

फिर रीना ने अपने मुँह से थूक निकाल कर पॉल की गांड का छेद गीला कर दिया और अगले ही पल उसने उस रबर के लौड़े का सुपारा पॉल की गांड में घुसा दिया.

इससे पहले वो कुछ और बोलता, मैं ही बोल पड़ी- सिर्फ़ जीएफ़ या दीदी को भी?इस पर वो चौंक गया. बात उन दिनों की है जब मैं बारहवीं की परीक्षा के बाद अपनी मौसी के पास घूमने गांव आया था. अदिति हम दोनों के लिए चाय नाश्ता ले आई और हमने साथ में चाय नाश्ता किया.

चूत में लंड डालकर दिखाओ कुछ ही पलों में उसका लंड मुझे चोदने के लिए बिल्कुल तैयार हो गया था. हम दोनों ने पूरे दिन बात की, घूमे और बाजार से चाट पकौड़ी खाकर घर आ गए.

दोस्तो, आपने मेरी पहली कहानीसौतेली मां के साथ चुदाई की लालसापढ़ी थी. मैंने उसकी ब्रा को खोला और एक तरफ फैंक कर उसके दोनों मम्मों को अपने हाथों से सहलाने लगा. [emailprotected]Xxx दीदी सेक्सी कहानी का अगला भाग:बहन की चुदक्कड़ जेठानी को खूब पेला- 2.

सोनाक्षी सिंहा सेक्स वीडियो

फिर उसने धीरे-धीरे करके अपना पूरा लौड़ा मेरे गांड के अन्दर उतार दिया और मैंने भी उसके लंड को झेल लिया. जब हम एयरपोर्ट पर मिले, उस समय जो झिझक थी, वो इस समय खत्म हो गयी थी. मैंने उसी दौर में अपने स्कूल के मित्रों से ब्लू फिल्म और अन्तर्वासना साइट के बारे में जाना था.

आज मैं उसके निप्पलों को जोर से चूस रहा था, दांतों से उसे दबाकर धीरे से काट भी लेता था, तब उसकी सिसकारी निकल जाती थी. वो गुस्से में बोली- आने दो आंटी अंकल को, मैं उनसे तेरी शिकायत करूंगी.

शाम के साढ़े सात बजे ट्रैफिक से रास्ता निकालते हुए हम स्टेशन पर पहुंचे.

भाई मुस्कुरा दिया और धीरे से मेरे कान में बोला- चुप रह कुत्ती, मम्मी है सामने. कुछ मिनट की किसिंग के बाद मैं पहले उसके गालों को, फिर गले पर फिर कंधे पर किस करते हुए नीचे आने लगा. मेरा लौड़ा पूरा तन कर खड़ा हो गया था जो मां की गांड में बार बार टच हो रहा था.

राकेश अब बहुत ज्यादा हांफ रहा था और मुझे किस करते हुए धकापेल चोद रहा था. मैंने उसकी तरफ देखा और तभी वो बोली- मैं आई, तब तुम किस कर रहे थे, मैंने वीडियो बनाने की सोची और बनाई भी. मैं तो उसको इतने पास से ऐसे देखकर पागल हो गया था और मैंने मन में ठान ही लिया था कि एक दिन इसको पटक पटकर चोदूंगा.

‘आअहह रीनायआ …’ चिल्लाते हुए पॉल ने अपना सारा वीर्य बिस्तर पर खाली कर दिया.

बीएफ चूत चाटने वाला: नंदा ने अभी तक साड़ी ब्लाउज और पेटीकोट को समेट कर वापिस सूटकेस में रख दिया था. मुझे तो दिल से यही लग रहा था कि अगर वह मुझसे कहते हैं कि तीनों एक साथ मेरे एक ही किसी छेद में अपने लौड़े घुसा देंगे, मैं तब भी उनकी बात नहीं टालने वाली थी.

नगमा ने फौजिया को बुलाकर फ़ज़लू को शीरीं के कमरे में ले जाने को बोला. तभी अंकित ने अपने लंड को सुपारे तक बुर से बाहर निकाला और एक करारे झटके के साथ अपने पूरे लंड को एकदम से बुर के अन्दर पेल दिया. अंकित बोला- अच्छा जी, मजा आया!मैंने उससे झैंपते हुए पूछा- भाई तुम तो ये सब बिल्कुल प्रोफेशनल की तरह कर रहे थे.

उस दिन के बाद हम अक्सर लॉज में जाने लगे और सब कुछ भूल कर एक दूसरे के साथ समय बिताने लगे.

मैंने कहा- अब पहले इसकी चाशनी तो चटाओ मेरी जान!सरोज भाभी ने टांगें फैला कर चूत खोल दी. जैसे ही उन्होंने अपने मुँह की गर्म भाप मेरी चूत पर छोड़ी, मेरी चूत ने पानी छोड़ दिया. हम दोनों ने अपने-अपने घर बात की तो घरवाले मान गए और मुझे चाचा के घर रुकने की परमिशन मिल गयी.