बीएफ सेक्सी बीएफ सेक्सी सेक्स

छवि स्रोत,ब्लू सेक्सी फिल्म दीजिए

तस्वीर का शीर्षक ,

धन सेक्सी: बीएफ सेक्सी बीएफ सेक्सी सेक्स, मुझे किंजल के मुँह से उसके पति को गालियां देकर बात सुनना खूब पसंद आता था.

सेक्सी बीएफ वीडियो मूवी

अब मैं वहां बिछे पलंग पर लेट कर चाचा चाची की चुदाई शुरू होने का इंतजार करने लगी. सेक्सी वीडियो बीएफ पंजाबीतो मैंने भी सोचा कि क्यों ना ऐसा कुछ ट्राई किया जाए!क्योंकि मुझे अपनी लाइफ में हमेशा कुछ नया करने का चस्का लगा रहता है.

एक बार मैं उसके घर गया तो मैंने क्या देखा?हैलो फ्रेंड्स, मैं संजीव कुमार आपको लॉकडाउन में अपनी फ्रेंड और कॉलेज फ्रेंड सेक्स कहानी सुना रहा हूँ. जैकलीन की सेक्सी फिल्ममैंने लंड निकाल कर थूक लगाया और उसकी गांड पर टिका कर धीरे से अन्दर कर दिया.

कभी दूर तक तैर जाता, तो बधाई देने के बहाने मेरे मुँह चूम लेते और जोर से होंठ काट लेते, गाल रगड़ लेते.बीएफ सेक्सी बीएफ सेक्सी सेक्स: तब मैंने यामिना के चेहरे पर झुककर उसके सुलगते होठों पर अपने होंठ दोबारा रख दिये.

हम दोनों बिस्तर पर एक दूसरे से लिपटकर चुम्बन करने लगे और प्यार भरी बातें करने लगे.मैंने इसकी कोई परवाह ना करते हुए उनकी गांड में धक्के लगाने जारी रखे और एक हाथ से मैं उनकी चुत में मसाज तो कर ही रहा था.

हिंदी में ब्लू फिल्म देखने वाली - बीएफ सेक्सी बीएफ सेक्सी सेक्स

संगीता ने बांहें फैलाते हुए कहा- मयंक, आज मेरी यह खूबसूरत जवानी तुम दोनों के लिए खुली पड़ी है … आओ और जितना लूट सकते हो … लूट लो मुझे.कुछ ही देर में मैंने टेलीग्राम डाउनलोड किया और उसको रिक्वेस्ट भेज दी.

उनके लगातार चूसते रहने से मेरा लण्ड कड़क हो गया तो मैम मेरे ऊपर चढ़ गईं, घुटनों के बल खड़े होकर मैम ने अपनी बुर के लब खोले और मेरे लण्ड के टोपे पर टिका दिये और उस पर बैठ गईं. बीएफ सेक्सी बीएफ सेक्सी सेक्स तब तक मैंने भी अपना शॉर्ट्स पहन लिया और जाकर प्राची के बाजू में सोफे पर बैठ गया.

उसने झटके से लण्ड बाहर निकाला और बची हुई चॉकलेट फिर लण्ड पर लगा दी.

बीएफ सेक्सी बीएफ सेक्सी सेक्स?

वो अपनी दोनों टांगें हवा में उठाते हुए बोली- आहह आहह और तेज़ और तेज़ … मज़ा आ रहा है. मैंने उसकी चूत पर हाथ लगाया और उसके लोअर के ऊपर से थोड़ा थोड़ा फेरना चालू कर दिया. वो बोली- आह्ह … इतना मोटा और लम्बा है … ये तो फाड़ देगा … पायल की चूत तो इसे ले ही नहीं पायेगी.

साक्षी अपने पूरे कपड़े निकाल कर जोर जोर से अपने पति के लंड पर कूद रही थी. उस लड़की ने कहा- मेरा नाम संगीता है यार … तुम लोग मुझे मैडम कहकर मत बुलाओ … मेरा नाम बोलो प्लीज़. सोनम को ढेर सारी पीड़ादायी और यातना से भरी चुदाई देकर अब शायद उसका मन भर गया था.

मेरे साथ इतनी देरी क्यों कर रहे हो? मुझे क्यों तड़पा रहे हो?मैंने उसकी आंखों में देखते हुए कहा- इसे तड़पाना नहीं, इसे आनंद देना कहते हैं. अपने लाल सुर्ख चेहरे और बिखरे हुए बालों को समेटती हुई दीपक के लंड पर मस्ती में झड़ चुकी अनु दीदी भी अपनी मस्ती का इजहार कर रही थीं. ये जितनी भी हैं ना, इन सबको मैं पूरी की पूरी नंगी देख चुकी हूँ और इन सबकी चुदाई का लाईव टेली कास्ट भी देखा था.

अशोक- रूपा जी, आप आज लंच कहां करना चाहेंगी?मैंने कहा- अशोक जी, लंच देने वाले पर होता है कि वो कहां लेकर जाएगा. ये देख कर मैंने चूत से हाथ हटा लिया और संगीता के ऊपर आकर उसके रसीले होंठों को चूमने लगा.

एकदम नर्म और फूली हुई दो पंखुड़ियां छूते ही मन में उनको देखने की तीव्र इच्छा होने लगी.

आह्ह … आईई … मेरी चूत … आह्ह!वो मेरे सिर को अपनी चूत में दबाने लगी और मैं उसके इस पागलपन में जैसे खोने लगा था.

जब उसकी दोनों बेटियां अन्दर अपने कमरे में सोने चली गईं तो मैं भी अपने कमरे में आ गया. वे अन्दर तक अपनी जीभ को मेरे मुँह में डाल दे रहे थे, मैं भी उनकी जीभ को अपने मुँह में लेकर चूसने लगती थी. एक दिन में देर तक सेक्स करने वाली टैबलेट ले आया और उस रात मैंने उसे 25 मिनट तक चोदा.

आँटी- ठीक है, मत बताओ, मैं तुम्हारी चाची रश्मि से अपने आप पूछ लूँगी. मैं भी उसकी चूत को चोदने के लिए उतावला था मगर समझ नहीं आ रहा था कि कहां कहां से उसके बदन का मजा लूं. मैं माफी चाहता हूं कि समय न मिलने की वजह से मैं अपनी कहानी जल्दी नहीं पेश कर सका.

पहले वाला अंग्रेज मेरी बीवी के नीचे लेट गया और मेरी बीवी को अपने लंड पर बिठाकर धक्के मरवाने लगा.

फिर रोहन बातें करने लगा और बोला- राज, मैं कॉलसेंटर में जॉब करता हूं. मैंने उसकी तमन्ना कैसे पूरी की?अब आगे की हनीमून सेक्स स्टोरी:कुछ देर में ज़ारा आई. वे हंसे बोले- अरे गांड का चूमा तो लंड से लिया जाता है, ऐसे तो अनाड़ी लेते हैं.

वो तो बस आता है और मेरी दोनों टांगें अलग करके अपना लंड मेरी चूत में डाल कर अपना पानी निकल कर सो जाता है. दो चूतड़ों के बीच पावरोटी की तरह फूली हुई चुत और बीच में गुलाबी रंग की दरार देखकर तो मेरे मुँह में पानी ही आ गया. हालांकि उसकी चूत प्यासी थी लेकिन अब वो दूसरे राउंड के प्लान में रात काली नहीं करना चाहती थी.

जितना सुख तुम दोनों ने मुझको दिया है … आज तक वैसा सुख किसी से भी नहीं मिला.

अब मेरा लौड़ा मेरे काबू से निकल गया उसकी चूत को मैंने वीर्य से भर दिया।मैंने लंड निकाल लिया और उसने मुझे अपनी बांहों में भर लिया. मैंने फ्रॉक पहनने के बाद अच्छे से मेकअप किया और पहले जैसी बनकर बाहर निकल आयी.

बीएफ सेक्सी बीएफ सेक्सी सेक्स मुझे ऐसा लग रहा था कि साली ये तो बहुत बार की चुदी हुई निकली और भैन की लौड़ी मुझसे चुत की फाड़ने की बोल रही थी. दोस्तो, संगीता जैसी जवान और मस्त माल की मेल जिगोलो सेक्स कहानी को अगले भाग में लिखूंगा.

बीएफ सेक्सी बीएफ सेक्सी सेक्स जिसका मतलब साफ था कि मेरा पति अपने वाहियात दोस्तों के साथ उनको कंपनी देने के लिए गया हुआ है।मैंने मोबाइल फोन निकाला देखने के लिए कि उसने कहीं कोई मैसेज न छोड़ा हो।मुझे उसका मैसेज मिला- जान, मैं अपने दोस्तों के साथ आया हुआ हूं. अब वो सिसकारियां लेते हुए मेरा साथ दे रही थी- आह ऊह आह अई ओओओ … और तेज और तेज!कुछ देर धकापेल फ्रेंड सेक्स करने के बाद मैंने अपनी पोजीशन बदल ली.

कैसे मनाया मैंने मामी को?मित्रो, मैं राहुल पनवेल मुंबई से फिर से हाज़िर हूँ.

आदिवासी चुदाई बीएफ

भाभी व्हाइट कलर की नाईटी में और भी हॉट लग रही थीं और भाभी को देख कर मेरा फिर से मूड बनने लगा था. मुझे इस प्रकार सीधे अन्दर आते देख प्राची ने बाजू में रखी हुई कमीज़ अपने उभारों पर ओढ़ ली और मैं भी आंखें बंद करने का नाटक करते हुए उसको कमीज ठीक से पहनने के लिए बोलकर बेडरूम से बाहर निकल आया. दोस्तो, अगर मैं चाहता तो मौके का फायदा उठाकर भाभी की गांड भी मार लेता और वो मना भी नहीं करतीं.

चूचियां दबाते हुए उसके पति ने अपनी बीवी की चूत को सहलाना शुरू कर दिया. करीब आधा घंटे तक ऐसे ही भाभी की चुत चोदने के बाद मैं झड़ गया और भाभी के ऊपर ही गिर गया. मैंने होटल के रूम में आकर दरवाजा बंद किया और उसे अपनी बांहों में कस कर जकड़ कर बेतहाशा किस करने लगा.

मैंने जल्दी से उसकी ब्रा पैंटी भी उतार दी और अब वो पूरी नंगी हो चुकी थी.

मैं तो आपकी भाभी हूँ आप मुझसे क्यों शर्मा रहे हो?मेरी इस बात से मेरे देवर जी को शायद कुछ हिम्मत आई और उन्होंने कहा- भाभी, मैं आपसे कुछ कहना चाहता हूँ. देखो … ( उसने अपने हाथ हवा में लहराये और अपने टॉप की स्ट्रैप्स को एडजस्ट किया). मैंने ऐसे ही उनकी चुचियों को चूसते हुए फिर से दो उंगलियां उनकी चूत में डाल दीं.

गगन हंसने लगा और बोला- चाचा, आपका नसीब तो गधे के लंड से बंधा लगता है. मैंने उनसे कहा- पूरा एकदम अन्दर डालने की क्या जरूरत थी … धीरे-धीरे करके डालते. मैंने कमरे के फोन से वेटर को बोलकर स्नैक्स सोडा वगैरह मंगवाए और महफिल का दौर शुरू हो गया.

अब तो बहुत बात उसने लंड से निकलती मेरी गर्म पेशाब को भी पी लिया था. मैंने भी अपना हाथ उसके लंड पर लगाया, उसका लंड एकदम कठोर हो चुका था.

फिर मैंने एक दिन यूं ही चैक करने के लिए उसका नंबर लगाया कि देखूँ उसका नंबर चालू हुआ या नहीं. मेरी चुत के पानी से निखिल का लंड पूरी तरह भीग गया था और आराम से चुत में दौड़ रहा था. एक दिन में देर तक सेक्स करने वाली टैबलेट ले आया और उस रात मैंने उसे 25 मिनट तक चोदा.

घर आकर खाना खाकर लेट गया और आज भाभी के साथ जो जो हुआ, वो सब सोचने लगा.

इसी के साथ मैंने लंड को चुत में पूरा फंसा कर भाभी का मुँह अपनी तरफ कर लिया. तभी रिचर्ड मुझसे मुखातिब हुआ और बोला कि आप दोनों एक दूसरे को पसंद करते हो, यह जानकर मुझे अच्छा लगा. मालिश क्या … यूँ कहें कि अपने लंड को तेल से चिकना कर मुठ मारना शुरू कर दिया.

मैं सोनिया वर्मा फिर से आपको सेक्स कहानी के अगले भाग चाची चाचा की चुदाई में स्वागत करती हूँ. मैंने दीदी से उनके ब्वॉयफ्रेंड के बारे में पूछा, तो वो सिर्फ मुस्कुरा कर रह गईं.

मैं उसे प्यार करने लगा तो कुछ देर बाद उसकी आंखें खुल गईं और वो लम्बी सांस लेते हुए बोली- आज पहली बार ये अनुभव हुआ कि चुत से भी पानी निकलता है. मैंने प्राची की चूत से लंड निकाले बिना ही उसे अपने ऊपर उठा लिया और उसके चूतड़ों के नीचे हाथ डालकर उसे मेरे लंड पर ऊपर नीचे करने लगा. मामी मेरा ध्यान भंग करते हुए बोलीं- क्या देख रहे हो!मैं मामी से बोला- मामी … मैं आपको बहुत पसन्द करता हूं, मुझे आपकी रोज याद आती है … पर क्या करूं … कुछ समझ नहीं आता.

आदिवासियों की बीएफ

फ़लक के घुटनों को मोड़कर उसकी पकौड़ा सी सूजी हुई चूत पर फिर लण्ड का मोटा सुपारा रखा और ढ़ेर सारा थूक लगा कर लण्ड चूत के छेद में घुसेड़ दिया.

फिर मैंने उनके पास जाकर उनकी आंखों पर पट्टी बांध दी और उनसे कहा- आपने मुझसे वादा किया था कि जो मैं करना चाहूंगी आप मुझे नहीं रोकोगे. मेरा कुछ शुरुआती वीर्य पेटिकोट पर भी लग गया था जिससे दो तीन बड़े गीले दाग बन गए थे. तो हम लोग भी मना नहीं कर पाये और सोचा कि इसी बहाने साक्षी का ससुराल भी देख आयेंगे.

मेरे होंठ उसके होंठों पर जा लगे जिनका स्वागत उसने बहुत ही प्यार से किया और पूरा साथ देते हुए मेरे होंठों से होंठ मिलाकर चुम्बनों का आदान प्रदान करवाने लगी. मैंने हंस कर उसे देखा, तो वो मेरी गोद में बैठ गई और तीसरा पैग हम दोनों ने धीरे धीरे पिया. भोजपुरी मे बीएफदिन भर ऑफ़िस में थक हार कर शेखर जब घर लौटता तो रेणु और हर्ष (शेखर का बेटा) की मुस्कराहट उसकी थकान मिटा देती थे.

मगर प्यार प्यार से करना!मैं खुश हो गयी और प्यार से उनको किस कर दिया. स्नेहा का हाथ सीधा उसकी बिना बाल वाली चिकनी चूत पर लगा, तो उसे ऐसा लगा जैसे अभी बाल बना कर आई है.

मैंने लंड मामी की चूत से बाहर निकाल लिया और उनका सीधा करके उनके मम्मों को चूसने लगा. उन सब ने मेरी बारी बारी से चूत मारी, गांड मारी, मुंह चोदा और साथ ही मेरी रिकॉर्डिंग भी कर ली. 2008-09 में भारत में इंटरनेट पर सेक्स सम्बंधी कई सारी साईटें उपलब्ध थीं जो कामुक प्रवृति के इंसानों के लिए अपनी अंतर्वासना को शांत करने का अहम ज़रिया हुआ करती थीं.

मैंने एक पल देखा और दूसरे ही पल में उसकी क्लीन शेव्ड चुत पर मुँह लगा कर उसकी चुत चाटने लगा. चलती हुई बस में सब एंजॉय करते हुए स्नेहा- ज्योति, तू मेरे भाई को प्रपोज क्यों नहीं कर देती है. ये मेरी हॉट फैमिली सेक्स कहानी आपको कैसी लगी, प्लीज़ कमेंट में जरूर बताएं और मेल भी करें.

कुछ देर चूमकर मैं थोड़ा नीचे हुआ और उसकी चूचियां चूसते हुये चूत को भी रगड़ने लगा तो ज़ारा मेरे सिर को अपनी चूचियों पर दबाने लगी.

दो घंटे से बातें करते-करते शेख़र और धारा एक दूसरे से काफ़ी हद तक खुल चुके थे. आँटी धीरे से सरककर ऊपर बेड पर हो गई और आंखें बंद करके लम्बी लम्बी सांसें लेने लगी.

अगले ही पल मैंने एक हाथ को मोना भाभी के लहंगे के ऊपर से ही उनकी चूत पर रख दिया और चुत को सहलाने लगा. कुछ देर बाद मैंने उसे बिस्तर पर चित लिटा दिया और उसके ऊपर चढ़ कर उसके रसीले होंठों को चूसने लगा. तो प्राची ने अपनी टी-शर्ट एक तरफ से ऊपर करके कहा- लो कर लो अपनी इच्छा पूरी.

ओह … क्या बूब्स थे … एकदम टाईट और बिल्कुल पर्फेक्ट 34 इंच के … ना ज़्यादा … ना कम. दोस्तो, संगीता जैसी जवान और मस्त माल की मेल जिगोलो सेक्स कहानी को अगले भाग में लिखूंगा. चूचों के नीचे उनकी पतली कमर और उसके नीचे गोल गोल मांसल चूतड़ों के साथ उनकी 34-30-36 की काया ने कमरे में वासना के उफनते दरिया को और अधिक आंदोलित कर दिया था.

बीएफ सेक्सी बीएफ सेक्सी सेक्स मैं बीच बीच में पूनम बुआ की गांड पर चपत भी लगा देता … जिससे उनकी गांड थोड़ी चिहुंक जाती और टाइट भी हो जाती. उसने अपना पैंट उतार कर हैंगर पर टांग दिया और अंडरवियर घुटनों तक करके खाट पर लेट गया.

हिंदी बीएफ औरत

मैंने सोचा मेरी वाईफ के तो इतने बड़े नहीं है, ये तो दोनों हाथों में ही नहीं आ रहे हैं. वो बीस इक्कीस का होगा, गेंहुआ चिकना स्लिम होने से जरा लम्बा सा दिखता था. फिर मैंने भाभी को उठाया और बेडरूम में ले जाकर भाभी की गांड को सूखे कपड़े से पौंछकर नारियल का तेल लगाया ताकि गांड की सूजन ठीक हो जाए और भाभी को थोड़ा आराम मिल सके.

इसके बाद सबने होटल में खाना खाया और इसके बाद सब हाथ मिलाकर चलने लगे. मगर जब वो बाहर चला जाता है, तो मैं अपनी बुआ के लड़के को बुला कर उससे अपनी चुत की सेवा करवाती हूँ. हिंदी विडिओ बीफफिर कुछ दिनों बाद शनिवार को सुबह सुबह मैंने देखा कि अमितेश बैग लेकर कहीं जाने की तैयारी में था.

खाना मैंने रास्ते में एक होटल से पैक करा लिया था।घर पहुंच कर गाड़ी खड़ी करके जैसे ही मैं अपने रूम पहुंचा एक मैसेज आया- आई लव यू जानू … परसों फ्री रहना.

कुछ ही समय बाद मैं कमरे के फर्श पर ही लेट गया और नशे में लंड चुसाई का मजा लेने लगा. हालांकि उसके मुंह पर लगातार ‘ना’ ही थी लेकिन उसका बदन मुझसे दूर होने की कोशिश नहीं कर रहा था। शशि के आने में अभी आधा घंटा बाकी था.

मैंने कम से कम दस मिनट तक उसके होंठों को खूब चूसा लेकिन तब भी उसके होंठों का रस कम नहीं हुआ. यह सुनकर तो मैं और जोश में आ गया और प्राची की चूत में लंबे लंबे धक्के लगाने लगा था. मैंने खाने का कुछ ऑर्डर किया और खाना खाकर हम आपस में लिपट कर नंगे ही लेट गए.

उनकी टांगें ऐसे भिंच गईं, जैसे वो अपनी चुत को मुझसे छिपाना चाह रही हों.

बेड और फोल्डिंग के बीच में गैप की वजह से बात ठीक से बन नहीं रही थी. मैंने उसका हाथ पकड़ लिया और सहलाते हुए बोला- मैं तेरी प्रॉब्लम समझ सकता हूं. अचानक हुए हमले से कांप गई रंजू के हाथ से अनु दीदी की बांहें छूट गई थीं.

न्यू बीएफ सेक्सी वीडियोएक बार यामिना ने मसाज करते हुए कुछ पीछे देखा तो मैंने अपने टॉवल की गांठ को तुरंत निकाल कर ढीला कर दिया. उसने पूछा- मेम, यदि आज शाम तक आप लेटर दिलवा देंगी, तो आपकी बहुत मेहरबानी होगी.

बीएफ हिंदी गांव की देहाती

उसको फिर से चुदासी होते देख मानस बोला- क्यों मादरचोदी, कैसा लग रहा है बहन की लौड़ी … बड़ी अकड़ रही थी न साली रांड … अब देख कैसे एक चपरासी के सामने झुकी हुई अपनी गांड मरवा रही है कुतिया. जैसे ही मैं आँटी के करीब आकर उनके ऊपर झुका, आँटी ने मेरी गर्दन पर अपने हाथ डालकर अपने ऊपर खींच लिया और मेरे गालों पर चुम्बनों की बौछार कर दी. देखने तो एक बार मेरी होने वाली भाभी की बुर कैसी है … चोदने लायक है भी या, बस मूतने के ही काम आती है.

अब उसने अपनी बॉडी के सामने वाले हर भाग पर तेल मालिश करना शुरू कर दिया. इस सबके बीच मैंने अपने लंड को पूनम बुआ की गांड पर साधा और उनके कंधे को दोनों हाथों से पकड़ कर जो पीछे से ज़ोर लगाया तो मेरे लंड का टोपा पूनम बुआ की गांड में जा कर फंस गया. मैं बहुत डर रहा था क्योंकि घरवाले सब सो रहे थे और कोई उठ गया तो रायता फ़ैल जाएगा.

उसका लण्ड देखकर मेरी तो गांड फट गई क्यों कि उसका लण्ड करीब 11 इंच लम्बा था जो मसाज से 12 इंच हो गया. आज तक मुझे उसका वो खिला हुआ चेहरा याद है, जब वह मेरे पास आकर बेड पर बैठी तो बहुत खुश थी. मैंने आँटी के घुटनों को थोड़ा मोड़ दिया और कामरस से चिकनी हुई चूत के छेद के ऊपर अपने मोटे लंड का सुपारा रख कर अपनी पीठ को नीचे धकेलते हुए लंड को चूत के अंदर डालना शुरू किया.

मोना भाभी गर्म होने लगी थीं और अब उनके मुँह से मादक सिस्कारियां निकल रही थीं- अअह … उहह!भाभी ने जो पेटीकोट पहना था, वो उन्होंने अपने मम्मों के ऊपर चढ़ा कर पहना हुआ था. अंकिता की दोनों छाती एकदम संतरे जैसी गोल-गोल लग रही थीं और उन पर ब्राउन कलर के निप्पल थे जो कि एक रूपये के सिक्के जितने बड़े थे.

वे मुझे काफी देर तक लगातार चोदते रहे और फिर एकदम से मेरे ऊपर निढाल हो गये.

उसने अपनी एक उंगली अपनी चिकनी गीली चुत के अन्दर घुसा कर बाहर निकाली, जो खुद के पानी से तर हो रही थी. सनी का बीएफ सेक्सीमुझे उस दिन अपने घर के लिए निकलना था, मगर शायरा की हालत देखने‌ के‌ बाद मुझे अब घर जाने की बजाए शायरा से मिलना ज्यादा जरूरी लग रहा था. थ्री एक्स ब्लू फिल्म वीडियोहमारे घर में दिन में हम दोनों ही अकेले ही रह जाते हैं क्योंकि मेरे मॉम और मेरे डैड नौकरी करते हैं. सिगरेट के दौरान ही दीदी ने मुझसे ड्रिंक के बारे में पूछा तो मैंने ना में सर हिला दिया.

दो मिनट लगातार किस करने के बाद संगीता ने कहा- मयंक यार, तुम कपड़ों में बिल्कुल भी अच्छे नहीं लग रहे हो, इनको उतार दो.

मेरी चुत बार-बार पानी छोड़ रही थी, जिस कारण निखिल का लंड आसानी से मेरी चुत में फिसल रहा था. संगीता की बातें और उनका सुंदर शरीर, उसके रहने का तरीक़ा हमारे लिए प्यार … यह सब सोच सोच कर गर्म हो चुका था. मैंने दीदी को अपनी तरफ घुमा कर उनके मम्मों को देखा तो क्या उठान था … दीदी के मम्मे एकदम तने हुए मुझे ललचा रहे थे.

दस मिनट तक उसकी चूचियों को सहलाने पीने के बाद मैंने उसके पेटीकोट को खोल कर उसके बदन से अलग कर दिया. किंजल अपनी प्यारी सी नशीली आंखों से देख कर मुझे स्माइल पास कर देती. कभी दायें वाले को तो कभी बाएं वाले को!और उनके दोनों हाथों को खोल कर अपनी हथेलियों से जकड़ लिए.

हिंदी गांव की देसी बीएफ

मुझे दर्द हो रहा है, फिर भी तुम मुझको चोदते रहो … ठोको जान अन्दर तक ठोको इस मूसल लौड़े को मेरी चूत में. उंगली करते हुए भी यही सोच रही थी कि कविता मेरी चूत को चाट रही है और मैं उसकी चूत को चाट रही हूं. मैं आनन्द से सराबोर होकर अपने अन्दर उठे वासना के तूफान के शांत होने की अवस्था में आ चुकी थी.

मुझे डर भी लग रहा था कि ये औरत आखिर चाहती क्या है … इस तरह का सेक्स जानलेवा हो सकता है.

मैंने कहा- इतने दिन से बिना तेरी चूत के लंड में आग लगी हुई है … और तुम हो कि चुदना नहीं चाह रही हो.

करीब दस मिनट की भयंकर चुदाई के बाद अपनी दोनों टांगों को भींचते हुए चिहुंक कर रीना दीदी झड़ गईं और मेरे सीने पर निढाल होकर हांफने लगीं. एक मिनट तक भाभी की चुत रगड़ने के बाद उनकी पैंटी पूरी तरह से गीली हो गई थी. सेक्सी व्हिडिओ ब्लू पिक्चर बीएफइस बार उसने मुझे कसकर अपनी बांहों में भर लिया और मुझे लता सी लिपट गई.

मैं- तो यार उसकी दिलवाओगे?वह- अरे आप तो बड़े मजे से करते हो, मैं उससे जरूर बात करूंगा. हम बेर तोड़ते, आम के पेड़ों पर चढ़ कर कैरी तोड़ते, यूं ही घूमते, आवारागर्दी करते, क्रिकेट खेलते बदमाशी करते. रमण के कमरे में अनीता ने रमण से अपनी चूत मरवाई और फिर जल्दी से नीचे आ गयी.

मेरे मन में संदेह था कि पता नहीं आज निखिल मुझ में कोई इंटरेस्ट लेगा या नहीं. भाभी जी- आरुष सॉरी … प्लीज मुझे माफ़ कर दो … मेरी वजह से तुमने इतना गंदा सेक्स सहन किया.

[emailprotected]लेस्बियन लव स्टोरी का अगला भाग:चूत की प्यासी चूत- 2.

दोस्तो ये मेरी सच्ची सेक्स कहानी थी आपको कैसी लगी कुंवारी लड़की की पहली चुदाई?प्लीज़ मेल करके बताएं. पूनम बुआ सिर हिलाती हुई बोलीं- हम्म्म …मैं- अन्दर ही डाल दूँ ना?पूनम बुआ- जहां तुम्हारा मन करे. कैसे मनाया मैंने मामी को?मित्रो, मैं राहुल पनवेल मुंबई से फिर से हाज़िर हूँ.

चलती हुई बीएफ देखते ही देखते मैं उसकी चुत की फांकों में मोटा लौड़ा अन्दर तक पेल कर उसकी चुदाई करने लगा. फिर क्या था … रूम में घुसते ही मैंने उसकी पजामी नीचे से फाड़ दी और पैंटी साइड में करके उसकी चुत में लंड पेल दिया.

मुझे ऐसा लग रहा था कि मेरा सारा लोड एकदम से छूटकर कंप्यूटर स्क्रीन पर जा लगेगा. कहानी पर आप सब के सुझाव भी मिले और इस बार की कहानी में मैं कोशिश करूँगी कि आपको पसंद आने वाली बातें ज्यादा लिखूं।आपका मनोरंजन करने का मैं पूरा प्रयास करूंगी. दीदी को मैंने अपनी बांहों में भर लिया और दीदी ने भी मुझे अपने अंक में समेट लिया.

सेक्सी भाभी बीएफ वीडियो

और शिखा से बोली- तू अपने वाले को भी बुला ले!शिखा ने दीपा को आँख मारते हुए कहा- मनीष तो सो रहा होगा। तू उसे उठा ले, जब तक नाश्ता आता है, मैं भी एक झपकी मार लूँ।अनिल ने नाश्ते का ऑर्डर दिया।दीपा बोली- मैं चेंज कर लूँ, बाहर ऐसे नहीं जाऊँगी।शिखा चीखी- तुझे कौन सा मार्केट में जाना है। बस दूसरी कॉटेज में ही तो जाना है. जब झड़ने को होता तो मैं चुत से लंड निकाल कर उनके मुँह में चोदना शुरू कर देता, तो कभी उनकी चूचियों में लंड फंसा कर मजा देने लगता. अब भाभी फिर से आहें भरने लगीं- आआह … आआ शुभ और तेज पेलो … आहह … उउऊह.

अन्दर सामने ही डायनिंग टेबल पर मैंने जो खाने का डब्बा दिया था, वो वैसे का वैसे रखा था. मैंने परेशान होकर तुम्हारे अंकल से कहा कि यदि ऊपर वाला कमरा किराये पर न दिया होता तो मैं बच्चों के साथ ऊपर छत पर सो जाती.

मुझे हल्का सा दर्द हुआ और मैं बस ‘आअह्ह आअह्ह उफफ अम्मी आह आएईई जानू आराम से चोदो!’ करके रह गई.

जिसे अपना समझा जाता है वहां कोई औपचारिकता नहीं रहा करती, समझे मिस्टर अशोक. अब मैं उसकी गांड में पिस्टन की तरह लंड हिला रहा था, वो भी प्यार से लंड सह रही थी. वो मेरी चुत को चौड़ी करके अपनी ज़ुबान से चुत की फांकों को खींच खींच कर बाहर कर रहा था और चुत के दाने को भी धीरे धीरे काट कर चुत को पूरी तरह से गर्म कर रहा था.

उसने मेरी गांड के छेद पर अपना दौड़ा रखा और एक जोरदार धक्का दे मारा. मेरी पिछली कहानी थी:सहेली के पति ने मेरी चूत मार लीमैं अक्षिता एक बार आपके सामने अपनी देवर भाभी Xxx कहानी लेकर फिर हाजिर हूं. मेरी तरफ से कोई रुकावट न देखकर उसकी हिम्मत बढ़ गयी और उसने एक झटके में अपना पूरा हाथ मेरे बूब्स पर रख दिया.

वो मुझसे बात करने की कोशिश करती रहीं और मैं उन्हें नजरअंदाज करता रहा.

बीएफ सेक्सी बीएफ सेक्सी सेक्स: श्वेता बताने लगी कि अमितेश बात बात पर ग़ुस्सा करते हैं … और लड़ते रहते हैं. अब आगे गरम औरत की गांड मारने की कहानी:इस बार बुआ ने लंड को ना चूस कर सीधे मेरे टट्टों को चाटना शुरू कर दिया था बल्कि एकाएक मेरे एक टट्टे को अपने मुँह में भर लिया था.

मेरे मन में संदेह था कि पता नहीं आज निखिल मुझ में कोई इंटरेस्ट लेगा या नहीं. उस भूरे रंग के छेद में अपना लौड़ा आते-जाते देख मानस मन ही मन में खुश हो रहा था. बालिग़ होने का अहसास, चाची का सुन्दर गदराया बदन, चाचा का चाची के लिए आकर्षण कम होना और चाची द्वारा स्पेशल गिफ्ट की बात, ये चारों बातें मुझे अनायास ही एकदम इकट्ठी मिल गईं और चाची के प्रति मेरे ख्यालों में रोमांच भरने लगा.

ज्योति- तन्वी तू क्या बोलती है?तन्वी- कहां की प्लानिंग की है स्नेहा?स्नेहा- तुझे कैसे पता ये प्लानिंग मेरी है?पल्लवी- तेरी गांड में कहीं भी घूमने जाने की ज्यादा खुजली होती है.

अंकल मेरी चुत देखते ही रह गए, एकदम गोरी चिकनी सीलपैक चुत उनके सामने थी. और यार तेरी पूजा दी का कुछ हुआ?समीर- नहीं यार … पता नहीं कहां से साला हिजड़ा लिखा था दी की किस्मत में … उस मादरचोद का लंड ही खड़ा नहीं होता. जैसा कि आपने पिछली बिग बूब्स स्टोरी में पढ़ा था कि कैसे अदिति अपनी चूचियों को बड़ा करवाने की चाहत में मुझसे चुद गयी थी.