हिंदी बीएफ सेक्सी मूवी बीएफ

छवि स्रोत,भोजपुरी बीएफ सेक्सी गाना वाला

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ पिक्चर भाई बहन की: हिंदी बीएफ सेक्सी मूवी बीएफ, मुझे महसूस ऐसा हो रहा था कि उसके लंड का टोपा अंदर चला गया है लेकिन ऐसा वास्तव में नहीं था.

एक्स एक्स एक्स बीएफ जबरदस्ती चुदाई

पर मेरी इस पीड़ा से उसे कोई फर्क नहीं पड़ा बल्कि अगले ही पल उसने हौले हौले लिंग मेरी योनि में अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया. घोड़ा का बीएफ सेक्सीफिर मैंने कहा- रुको … अगर मैं झड़ गया तो मुझे तुम्हारी चुत चूसने में उतना मज़ा नहीं आएगा.

मामा जी ने उसे मेरी जांघों पर बिठा दिया- नखरे नहीं … पेल दे … ये तैयार है और तू बहाने कर रहा है?उसने तेल की शीशी उठाई, लंड पर चुपड़ा और लंड को मेरी तड़पती गांड पर टिका दिया. ब्लू बीएफ सेक्सी चुदाई वीडियोजब मैं सामान लेकर वापस उस घर में आया तो अबकी बार एक लड़की ने दरवाजा खोला.

उसने नीचे से काले रंग की ब्रा पहनी हुई थी जिसमें उसके चूचे भरे हुए थे.हिंदी बीएफ सेक्सी मूवी बीएफ: मैंने कहा- नहीं … ये तो नेचुरल है कि किसी भी पुरुष का किसी महिला को नंगी देखकर अपने आप खड़ा हो जाता है.

” बेडरूम से बाहर आते वक्त मेरे कान पर शब्द पड़े, पर मैं सीधा अपने घर चली आयी.तो वह समझ गयी और कहने लगी- यह सब नहीं!लेकिन मैंने फिर से ज़िद की और वह मान गयी।मैंने फिर से उसको किस करना शुरू किया, इस बार दोनों ही मूड में आ गए। मैंने किस करते हुए एक हाथ उसके दूध पर रख दिया और बुर्के के ऊपर से ही सहलाने लगा.

हिंदी बीएफ स्मार्ट - हिंदी बीएफ सेक्सी मूवी बीएफ

मैं उनकी तरफ अपना हाथ बढ़ाया तो इस पर भाभी बोलीं- यहां नहीं … छत पर चलते हैं.वो मुझे सामने देख के हक्का बक्का रह गयी और जल्दी जल्दी में, जिस मूली से वो अपना बुर चोद रही थी, उसे जल्दीबाजी में अपनी बुर में ही अन्दर फंसा लिया और साड़ी को नीचे करते हुए खड़ी हो गयी.

उसका लिंग अब मुझे किसी मूसल सा लगने लगा था और सुपारा ऐसा गर्म लग रहा था कि मैं जल जाऊंगी. हिंदी बीएफ सेक्सी मूवी बीएफ फिर मैंने उसे सीधा किया और उसकी टांगों के बीच में आकर अपने लंड पर कंडोम चढ़ाया और उसकी देसी बुर पर रगड़ने लगा.

मॉम भी उसके सामने नहाने लगीं, जिससे उनके बड़े बड़े चूचे पेटीकोट से चिपक कर दिखने लगे.

हिंदी बीएफ सेक्सी मूवी बीएफ?

उसने बताया कि वे लोग बहुत बड़े गुंडे थे … उनका मेरे से मन ही नहीं भर रहा था. वो बोली- तुम मुझे आप क्यों कह रहे हो, मैं तुमसे उम्र में इतनी बड़ी हूं क्या? मुझे ‘तुम’ कह कर ही बुलाया करो. उस मॉल में फिल्म देखने बहुत ही कम लोग आए हुए थे … क्योंकि इस फिल्म को लगे दो हफ्ते हो चुके थे.

मोनिषा आंटी ने कहा- नवीन, तुम पहले अपने लंड का साइज देखो और मेरी गांड का छेद देखो … कैसे जाएगा इसमें?मैंने कहा- मैं तो सब कुछ कर लूंगा. आंटी नहा चुकी थी और उन्होंने लाल रंग की साड़ी पहन रखी थी।मैं उन्हें देख रहा था. मैंने अपना मोबाइल फोन निकाल लिया और उन दोनों की वीडियो बनानी शुरू कर दी.

फिर मैंने दूसरे चूचे को मुंह में भरा और पहले वाले को हाथ से दबाने लगा. शायद इसका कारण ये था कि मम्मी और बुआ के बाजार चले जाने के बाद रंजन और मैं, हम दोनों लोग ही घर में अकेले रह जाने वाले थे. मैंने उसकी साड़ी को ऊपर किया, तो बोली- पहले मूत लेने दो प्रभात बाबू.

इस गांडू कहानी के अगले भाग में मैं आपको बताऊंगा कि क्या मास्टर साहब का लंड मेरी गांड में घुस पाया या नहीं. मैंने उनके आगे से उनके कंधे को पकड़ा और तुरंत ही एक हाथ से उनकी चूची को टच करके दबा दिया.

विभोर ने मुझे सिनेमाघर में ही किस किया था और मेरी चूची भी दबाया था.

और फिर इंतजार समाप्त हुआ क्योंकि अंदर से जॉयश ने मंगल को अंदर बुलाया और मंगल अंदर चला गया.

सुरेश दसवीं के बाद ही बाहर चला गया था, पर जब कभी गांव आता तो हम सबसे जरूर मिलता. मैंने इस बात पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया क्योंकि मर्दों की तो आदत होती ही है घूरने की. इसकी चुत तो देख एक बार … कैसे फूल गई … उभार तो देख चुत का, कोई छोटी पहाड़ी बन गई है.

पूछने पर उसने बताया कि बच्चा हो जाने के बाद आज पहली बार में सेक्स में संतुष्ट हुई हूँ. मैंने आंटी का मन समझ लिया था कि आंटी को अब दूसरे लंड की जरूरत होने लगी है. जिस दिन मेरे ऑफिस की छुट्टी रहती है और बुआ अपने बेटे के साथ हमारे घर आती हैं.

आपको चुदक्कड़ सेक्सी पंजाबन भाभी की चूत चुदाई कहानी पसंद आई? तो अपने विचार इस कहानी के बारे में जरूर बतायें.

जैसे ही मैं पहुंचा, तो उसने मुझे हैलो बोला और अपनी गर्लफ्रेंड से परिचय करवाने लगा. मैं उनकी तरफ अपना हाथ बढ़ाया तो इस पर भाभी बोलीं- यहां नहीं … छत पर चलते हैं. मैं हमेशा से ज़रीना की बुर का रसपान करना चाहता था और ख़ासकर तो उसकी गांड का तो दीवाना था.

मैंने पूछा- कहां पर?तो वे थोड़ा रुक गए, फिर आंखें नीची करके बोले- प्राईवेट पार्ट में. मैंने खाना उसके हाथ से लिया और साइड में रख दिया और उसको अपनी बांहों में ले लिया. फिर मैंने कंडोम पहना और लंड घुसेड़ना चालू किया, पर वो जा ही नहीं रहा था.

फिर उसने मुझे ट्रक के टायर से टिका कर खड़ा किया और मेरे पीछे जा कर मेरी गांड में लंड डाल कर धकापेल चोदने लगा.

तभी निर्मला ने कहा- अब तुम्हारी सालों की प्यास बुझने वाली है सारिका, राजशेखर प्यार से चोदना इसे. मंगल एक पालतू की तरह से एक एक करके अपने पूरे कपड़े उतरता ही चला गया.

हिंदी बीएफ सेक्सी मूवी बीएफ मैंने कहा- फिर हम एक दूसरे की मूतने वाली जगह देखते थे और सोचते थे … ये हम दोनों की अलग अलग क्यों है. उनकी उम्र क़रीब 35 साल थी पर लगती 25 की थी। मैं और मेरी बीवी 32 और 30 साल के हैं।डोर बेल बजी तो मैंने दरवाज़ा खोला तो वो सीधे अंदर घुस गई और आवाज लगने लगी- रूबी … ओ रूबी!मैंने उनसे कहा- रूबी आज ही भोपाल से बाहर गई है। वो तीन दिन में आएगी।तो उन्होंने कहा- सॉरी … मुझे इस तरह आपके घर में नहीं आना चाहिए था.

हिंदी बीएफ सेक्सी मूवी बीएफ पर सुरेश धक्कों के साथ साथ बातें बहुत कर रहा था, जिससे संभोग में उतना मजा नहीं आ रहा था. विद्या ने अब अपने कोमल हाथों से मेरे लंड और गोटियों से खेलना शुरू कर दिया.

मगर आजू बाजू की छत से सब कुछ खुला दिखता था, इसलिए मैं मनमसोस कर रह जाती थी.

बीएफ सेक्सी पुलिस वालों की

जब वो मेरे कमरे में चाय देने के लिए आई तो मैंने उसका हाथ पकड़ लिया और उससे कल वाली बात के बारे में पूछा. बहुत दिनों के बाद मेरे चूचों को एक मर्द के होंठों का स्पर्श मिला था. मैंने उसके मम्मों पर भी लिक्विड चॉकलेट लगानी चाही, वो बोली कि इधर बाद में.

जब मैं जोधपुर पहुंच गया तो मैंने सबसे पहले अपने एक दोस्त को फोन किया क्योंकि मुझे रहने के लिए एक रूम का इंतजाम भी करना था. जब कभी हम दोनों रास्ते में मिल जाते थे, तो लोगों की नजरों से छुप कर एक दूसरे से बात कर लेते थे. ! तुम्हें बहुत हंसी आ रही है … हम दोनों को चोद कर ठंडा कर भी पाओगे!सुरेश- कोशिश करूंगा … और आजकल तो एक से एक दवा आती हैं.

मैं जान बूझ कर अपने लंड में झटके देने लगा ताकि उसको मेरी उत्तेजना की प्रबलता का आभास हो सके.

मेरी मॉम भी नीचे से अपनी गांड को उछाल-उछाल कर मेरे लंड से अपनी चूत को चुदवा रही थीं. साथ साथ मैं आहिस्ता आहिस्ता मोसी की चुदाई करने लगा।अब धीरे धीरे मोसी भी मेरा साथ देने लगी और मैंने मोसी की चुदाई की गति तेज़ कर दी और उनकी दमदार टाईट और रसीली चूत को जोर से चोदने लगा. बहन बोलीं- भाभी आप भी इसमें शामिल हैं? आपको शर्म नहीं आती ये सब करते हुए?फिर मैंने अपनी बहन से कहा- चुप रह रंडी … बाहर के लड़के से चुदवाने में कोई प्रॉब्लम नहीं है … मेरे लंड में क्या कांटे लगे हैं.

मेरा भाई बाथरूम से नहा कर निकलता है तो मन करता है कि मैं उसका तौलिया को उतारकर उसका नंगा जिस्म देखूं. मैं झट से उठा और दरवाजे की सिटकनी खोल कर फिर उन्हीं के ही घर में सोफ़े और दीवार के कोने में छिप गया. अब मैं जब शीशी उठाने के लिए चाची के ऊपर झुका तो मेरा लंड चाची के सिर पर लग गया और मेरी कुहनी चाची के चूचों से छू कर जाने लगी.

दीदी को लंड की भूख थी, इसलिए अब उसको भी सोमेश भैया के शादीशुदा होने से कोई फर्क नहीं पड़ता था. उसने कहा- आप मुझे कोई दवा ला दो … मैं आपसे तेल मालिश नहीं करवा सकती.

अगर तुमको मेरी बुर दोबारा चोदना है, तो सीख ही लो क्योंकि तुझे मेरी बुर चोदने से पहले चाटनी पड़ेगी. मैंने डरते डरते फोन उठा लिया।सर बोले- हेलो, बेटा कैसे हो?मैं (डरते हुए)- जी ठीक हूँ।सर- क्या बात है, आज तुम्हारी तबियत ठीक नहीं है क्या जिसकी वजह से आवाज तुम्हारी कुछ बदली हुई लग रही है?मैं- जी थोड़ा जुकाम है. और उसके बाद …मेरी ओर से सारे लंडधारियों और चूत की रानियों को प्रणाम.

ताले लगाने के बाद वह एक कमरे में चला गया और उसने अन्दर से दरवाज़ा बंद कर लिया.

सरस्वती हंसते हुए बोली- तो क्या हुआ … बस चोद ही तो दिया तुझे और मुझे … तो कौन सी हमारी इज्जत लुट गयी, मजा भी तो दिया न आखिर. आपको मेरी यह भाभी की चोदाई कहानी कैसी लगी इसके बारे में जरूर मुझे बताना. मिहिर ने मेरी बीवी की गर्दन को चूमा और उसके नितम्बों को अपने हाथ में पकड़ कर दबाते हुए उसको बेड की तरफ ले गया.

कानपुर स्टेशन पर मिली एक आंटी की गांड का मजा मैंने उनके घर जाकर कैसे लिया, पढ़ें इस कहानी में! ट्रेन में आंटी से दोस्ती हो गयी थी और थोड़ा मजा मैंने ट्रेन में ले लिया था. मैंने अपना लंड थोड़ा बाहर निकाल कर फिर से धक्का मारा, तो भाभी बोली- थोड़ा धीरे धीरे करो यार … कहीं भागी नहीं जा रही हूँ.

मैंने भाभी का ब्लाउज खोलकर उनके दूध को छोटे बच्चे की तरह चूसने और पीने लगा. मुझमें फिर से मस्ती चढ़ने लगी और मैंने हल्के हल्के कराहना शुरू कर दिया. फुलवा भौजी … आखिर कजरी भौजी भी तो इतनी मस्त हैं और भाई उनको छोड़ कर गुजरात चले गए हैं … याद तो आएगी ही.

ब्लू ब्लू बीएफ

मैं एक पल के लिए भौचक्की रह गई, पर अगले ही पल उससे दूर होने के लिए संघर्ष करने लगी.

कुछ देर तक चूत पर लंड को रगड़ने के बाद उन्होंने मेरी चूत पर अपने लंड को अच्छी तरह से सेट कर लिया और धीरे-धीरे अपने शरीर का वजन मेरे ऊपर डालने लगे. उसे ख़ुशी भी हुई और उसने फिर से मेरे स्तनों से बारी बारी चूस कर मेरा दूध पीना शुरू कर दिया. ये बात मैं बहुत दिनों से किसी को शेयर करना चाहता था, पर पता नहीं क्यों … ये सब बयान ही न कर सका.

मेरे लंड का साइज 6 इंच है और लंड खड़ा होने के बाद इसकी मोटाई 3 इंच हो जाती है. अपनी थोड़ी सी बेशर्मी और बदतमीजी की बदौलत मुझे ज़िंदगी भर याद रहने वाली यादगार चुदाइयां करने का मौका मिला. बीएफ सेक्स करता हुआउसकी टांगों को चौड़ी करवा कर मैंने उसकी चूत पर लंड को लगा दिया और उसकी चूत के मुंह पर अपने लंड को सेट कर लिया.

मेरे मुँह से निकल गया- मे आई कमिंग वंदना!सब देखने लगे, मैंने तुरंत ‘मैम …’ कहकर कवर किया. शादी से पहले भाभी जीन्स और टॉप वगैरह भी पहनती थी लेकिन शादी के बाद ज्यादातर साड़ी या सूट में ही रहने लगी थी.

फिर उसने बोला- यार कितना टाइम लगा दिया तुमने … मैं भी तुमको लाइक करती थी … लेकिन तुम कभी मुझ पर ध्यान ही नहीं देते थे. वो कमर उठा-उठा कर गर्म गर्म सासें ले रही थी।अब भाभी से बरदाश्त नहीं हुआ और वो उठकर मुझे किस करने लगीं. मैंने आपको बताया था कि मैं उस वक्त 19 साल की थी और वह लड़का 20 से 22 का था.

आप मुझे मेल कर सकते हैं पर प्लीज़ भाषा का ध्यान रहे कि आप एक ऐसी स्त्री से मुखातिब हैं जो सिर्फ अपनी चाहत को लेकर ही सेक्स करने की सोचती है. उधर उसने अपनी पूरी ताकत से एक हाथ से मुझे पकड़ रखा था, दूसरे हाथ से मेरे बालों को. बहुत मजा आ रहा था मुझे इस कार सेक्स में!मैं बोला- आह्ह … साली, देख क्या रही है, चूस इसे.

मैंने धीरे धीरे चूचों पर तेल लगाना शुरू किया और बीच बीच में मैंने निप्पल दबा दिए.

भाभी ने मेरे लंड को हाथ में लिया और उसे सहलाते हुए बोलीं- मैं तुम्हारी रखैल हूँ … इस रखैल को तुम चाहे जैसे चोदो, मैं मना नहीं करूँगी. लड़के के जाने के बाद उसने मुझसे कहा- आप खाना खा लीजिए, फिर बात करते हैं.

उसने पूछा- दर्द कर रहा है क्या मेरा लंड?मैंने कराहते हुए कहा- हां, बहुत दर्द हो रहा है. तो मैंने उसकी चूत से अपना लण्ड बाहर निकाल लिया और उसके मुँह में दे दिया. बीच बीच में मैं अपने हाथ को उसके गोल गोरे चूतड़ों पर भी फेर देता था.

दो दिन बाद एक दिन मोनिषा आंटी के यहां कोई नहीं था, अंकल बाहर गए हुए थे. अपनी हिंदी बेस्ट सेक्स स्टोरी पर आपकी प्रतिक्रिया के इंतजार में आपका आर्यन. मैम को दर्द हो रहा था लेकिन वो इंग्लिश में कह रही थीं- आह फ़क मी हार्डर.

हिंदी बीएफ सेक्सी मूवी बीएफ लेकिन आप मेरे पक्के दोस्त हो और मैं आपको धोखा नहीं देना चाहता यार! इसलिए आज तक कुछ नहीं बोला आपकी बहन को।विक्की बोला- अबे, ये तू क्या कह रहा है?मैं- विक्की, मैं सच बोल रहा हूँ यार … प्लीज आप गुस्सा मत करना।विक्की बोला- ठीक है यार, लेकिन अंदर काम मत करना।इतना सुनकर मेरा दिमाग खराब हो गया. अब उन्होंने मुझे औंधा करके मेरा अंडरवियर अपने दोनों हाथों से नीचे खिसका दिया.

सेक्सी वीडियो बीएफ जबरदस्त चुदाई

पापा काम से बाहर गये हुए थे और मां किसी रिश्तेदार के यहां पर गई हुई थी. तभी प्यासी टीचर अचानक से मेरा सर अपनी चूत में दबाने लगीं, मुझे लगा कि कुछ पानी जैसा मेरे मुँह में आया. मैंने आंटी को उठाया और एक ही झटके में उनकी ब्रा को निकाल कर उनकी दोनों चूचियां को दोनों हाथों से दबा दबा कर चूसने लगा.

मैंने उसके पोते सहला सहला कर उसके लंड के वीर्य की आखिरी बूंद तक निचोड़ ली और उसके लंड को पूरा चाट कर साफ़ कर दिया. फिर एक ही बार में उसे अपने मुँह में भर कर फिर से चूसने लगी कि जैसे वो मेरे लंड को पूरा का पूरा निगल जाएगी. गूगल सेक्सी बीएफ वीडियोकुछ देर तक स्वरा दीदी के चूचों को दबाने के बाद प्रिंसीपल ने मेरी दीदी के चूचों को छोड़ कर उसकी शर्ट को उतारना शुरू कर दिया.

करीब 10 मिनट तक उसकी बुर चूसता रहा मैं और वो अपने हाथों से मेरा सिर उसकी बुर पर दबाये जा रही थी।थोड़ी देर में उसकी बुर ने रस छोड़ दिया जो मैं सारा का सारा पी गया.

निर्मला मेरी कमर के पास बैठ गई और मेरी जांघें फैला कर दोनों हाथों से मेरी योनि को फैलाते हुए चूमा और बोली- कितनी मादक खुश्बू है तुम्हारी चुत की और स्वाद भी बहुत मजेदार है. भाभी हंस पड़ीं और बोलीं कि तुमने इस बात पर ज्यादा गौर नहीं किया होगा.

करीब दस मिनट बाद मैंने उसको धीरे से उसके कान में बोला कि तुम ढक्कन उतार दो रानी … अब खेल शुरू करते हैं. उसने अपने होंठों को मेरी बीवी की गर्दन की तरफ बढ़ाया और एक मखमली सा चुम्बन अपने लाल होंठों से मेरी बीवी की गोरी सी गर्दन पर कर दिया. ज्योति के मुँह से सिसकारियां छूट रही थीं- आआआह … उम्मह उम्मह मेरे बोबों को पी ले महेंद्र राजा.

यदि तुमने मना किया, तो तुम समझ लेना कि मेरे लंड की सेवा तुम्हारी चुत के लिए बंद हो गई.

कुछ ही मिनट में मेरा माल निकलने को हो गया था, तो मैंने भाभी को बोला- मैं झड़ने वाला हूँ. फिर तो मैं मौका मिलते ही चाची की साड़ी को ऊपर उठा कर चाची की चुत में उंगली कर देता था. वो अपने दोनों हाथों से मेरी कमर पकड़ कर अपनी बुर पर दबा रही थी और नीचे से कूल्हे उठा उठा कर चुदवा रही थी.

कॉलेज स्टूडेंट सेक्सी बीएफमैं समझ चुका था कि दीदी को अब चुदाई का चस्का लग गया था और सेक्स के साथ वो नशा भी करने लगी थी. इस बार मैंने उसके कंधे को पकड़ा और लंड को देसी बुर पर टिका कर कंधे को अपनी तरफ खींचते हुए जोर का धक्का दे मारा.

ब्लू बीएफ वीडियो इंग्लिश

वो बोली- जब तक तुम्हारी शादी नहीं हो जाती, तब तक तुम्हें मेरी चूत को चोदना पड़ेगा. यह मेरी पहली कहानी है अगर कोई गलती हो मुझसे … तो आप मुझे माफ़ कर देना, यह कहानी बिल्कुल सच्ची है. मैंने खाने को टेबल पर एक तरफ रख दिया क्योंकि अभी खाने की नहीं बल्कि हवस की भूख लगी हुई थी.

मैंने एक बात नोटिस की कि वो अपने आपसे उठी और थोड़ा सा भी नहीं लड़खड़ाई. वो हमेशा मुझे फ़ोन कर बातें करती रहती थी या वीडियो कॉल कर मुझे देखना पसंद करती थी. उस दिन फ़्रेंडशिप-डे था, तो वह रास्ते में से मेरे लिए गिफ्ट लेकर आयी थी.

मैंने पहले नीचे का पेटीकोट भी निकाला और भाभी को ब्रा पेंटी में ला दिया. आपने अब तक मेरी इस सेक्स कहानी के पिछले भागपुराने साथी के साथ सेक्स-5में पढ़ा था कि सुरेश बिस्तर में मेरा जबरदस्त साथ पाकर बहुत खुश हो गया था. आज मैं आपको अपने जीवन की एक सच्ची घटना बताने जा रहा हूं जो मेरे ननिहाल में हुई थी.

एक बार वो हमारे घर आया और माँ से बोला- भाभी जी, हमें भी आधा लीटर दूध दे दिया करो, हम भी अपनी चाय बना कर पी लिया करेंगे. आराम आराम से किया तेल लगा लगा के … इस वजह से उसे उतना तकलीफ नहीं हुई थी और न ज्यादा खून आया था.

मैंने अपने लंड का माल निकाल दिया था लेकिन मामी की चूत अभी प्यासी रह गई थी.

वहां पर मैंने देखा कि अनिरूद्ध और मेरी 22 साल की बहन दोनों एक दूसरे से चैट कर रहे थे. हिंदी बीएफ सेक्सी वीडियो भेजोतुम तो एकदम से बदल गए हो यार!उसको देख कर मैं हैरत में था कि वो सीधा सा दिखने वाला लड़का इतना ख़ूबसूरत और इतना गबरू जवान हो जाएगा कि जिसकी मैं कभी कल्पना भी नहीं कर सकता था. ब्लू बीएफ वीडियो पिक्चरमैंने उसकी कुवारी चूत में जीभ को अंदर तक डाल दिया तो वो तड़पने लगी. मैंने पूछा- ये कैसे निकल गया?वो बोला- यार नीलम, मेरा जल्दी निकल जाता है … ये पहले से बीमारी है.

लंड जैसे ही बाहर आया, मैंने पहली बार ध्यान से देखा कि मेरी उम्र के हिसाब से मेरा लंड काफी बड़ा था.

कुछ देर मैंने उसे अपने सीने से लगाये रखा, उसके बालों से खेलता रहा, उसके गालों को सहलाता रहा. दो घंटे के बाद उसका फोन आया कि वो अपना कॉलेज का काम खत्म करके आ गई है. कुछ देर तक ऐसे ही हाथ से लंड को छूने के बाद उसने मेरे लंड पर हाथ चलाना शुरू कर दिया मगर बीच बीच में वो हाथ को हटा भी लेती थी क्योंकि कोई न कोई रास्ते में देख रहा था.

वो शायद इसी ऑफर का इन्तजार कर रहा था, वो रुक गया और वापस आकर बैठ गया. उन्होंने पूछा- ट्यूशन क्यों नहीं आ रहे थे?मैंने कहा- तबियत ठीक नहीं लग रही है. फिर एक दिन जब मैं उनके घर गया, तो उन्होंने मुझसे कहा- मेरे फोन में कुछ दिक्कत हो गयी है, तुम जरा ठीक कर दो.

बीएफ सीन दिखाओ

कमरे में जाते ही मैंने उसको गले से लगा लिया और उसे किस करने लगा, उसके बूब्स दबाने लगा. उसने कहा- मैं इस खेल में शामिल नहीं होती हूं!लेकिन जॉयश और सब लेडीज उसके पीछे पड़ गई- नहीं, कोई फर्क नहीं पड़ता. बस दो मिनट बाद जो उसे चरमसुख मिला, उसका जिस्म सूखे कागज जैसा काँपने लगा, उसकी आवाज़ उसके गले में ही घुट गयी और आंखों से आंसू बह निकले.

जब मैं झुक कर झाड़ू लगा रही थी तो मेरा ध्यान मेरे हिलते हुए चूचों पर गया.

मैंने फिर से भाभी के मुंह में लंड को दे दिया और 2 मिनट चुसवाने के बाद मेरा लंड पूरे जोश में आ गया.

पर वो चुपचाप मेरी ओर बढ़ता चला आया और फिर मेरे बदन से मेरी साड़ी अलग करने में लग गया. मगर हम दोनों बहुत कम आवाज करने की कोशिश कर रहे थे क्योंकि नीचे मौसी और दादा-दादी भी सो रहे थे. ब्रदर एंड सिस्टर सेक्सी बीएफमैंने भी प्रिया भाभी को चूमते हुए कहा- आज से तुम मेरी हो गई हो मेरी जान.

उनको वासना का नशा चढ़ने लगा, कुछ ही देर में उन्होंने खुद अपना दुपट्टा निकाल दिया और अपना हाथ मेरे हाथ पर रख कर अपने मम्मों को दबवाने लगीं. करीब 10 मिनट में ही हम दोनों के शरीर से पसीना बहने लगा और हम लंबी लंबी सांसें भरने लगे. एक पल चुत की फांकों का जायजा लिया और धीरे से उंगली को चुत के अन्दर डालने लगा.

चाची चीखने लगी थीं- आह मर गई … बाहर निकाल भोसड़ी के … दर्द हो रहा है. उसके बाद मेरे बेटे प्रकाश ने मेरी चूत को सहलाया और दोबारा से अपना लंड मेरी चूत पर लगा दिया.

तभी मैडम ने मुझे रोकने लगीं और कहने लगीं- बस अब इससे ज्यादा और कुछ नहीं.

दोस्तो, मैं बस इतना कहना चाहूंगा कि आप अपने भाई या बहन से शर्माओ मत … उन्हें खुलकर बोलो. मैंने भाभी से पूछा- बहन किससे चुदवाती हैं?वो बताने लगीं- मैं और मम्मी एक दिन शाम को 4 बजे के बाद मार्केट गए हुए थे, तो मैंने देखा कि प्रीति दो लड़के से बातें कर रही थी. मैंने पल भर की देरी किये बिना ही उसके चूचों को अपने मुंह में भर लिया और उसके अमरूदों को बारी बारी से चाटने लगा.

लुगाइयों की बीएफ मैंने उससे कहा- यदि तुमको नींद आ रही है, तो तुम मेरी गोदी में अपना सर रखकर सो जाओ. मैं कई बार जल्दी में नहाने के टाइम पर अपनी ब्रा और पैंटी को बाथरूम में ही छोड़ देती थी.

कई बार कोशिश करने के बाद वो भी परेशान हो गई और कहने लगी कि लगता है कि रात यहीं पर गुजारनी होगी. उन्होंने एक पिंक कलर का लखनवी चिकन पहना था जिसमें उनके मोटे मखमली रबड़ी के समान 38 साइज के चूचे अपने होने का पूरा अहसास करा रहे थे. शायद उसने अपनी बेटी को भी डांटा होगा, उसके बाद वो भी मुझसे कन्नी काट गई.

आग रात वाली बीएफ

ये बात सुनकर मैंने खुशी से भाभी की चूची जोर से दबा दी तो भाभी ने कहा- जाओ अपनी चालू मॉम शालिनी रंडी की चूची दबाना … उसके कुछ ज्यादा ही बड़े हैं. उसने उठ कर देखा तो वो घबरा कर रोने लगी लेकिन मैंने उसको समझा दिया कि यह पहले सेक्स के बाद निकलने वाला खून है. मैं थोड़ा घबराई … फिर मैंने धीरे से दरवाजा खोला, देखा कि सामने एक गोरा चिटा लम्बा चौड़ा स्मार्ट बॉय खड़ा था.

खैर मैंने उसके निमंत्रण को स्वीकार किया और उसकी चूत में जितनी अन्दर तक चाट सकता था, वहां तक चाटने लगा. उसने भी बड़ी मस्ती से मेरे लंड को अपने मुँह में ले लिया और लंड चूसने लगी.

मेरे प्यारे दोस्तो, मेरा नाम बबलू है और मैं दिल्ली में रहता हूं। हमारे घर में मेरे मम्मा-पापा और भैया भाभी रहते हैं। मैं अभी फाइनल ईयर में हूं.

सच कहूँ तो उस वक्त बड़ा आनन्द आया, जब उसने मेरा स्तन चूसना शुरू किया. एक सेक्सी प्यासी भाभी के पति उसे रोज नहीं चोदते थे जबकि वो कॉलेज में अपने यारों से रोज चुदती थी. आप लोगों ने देखा होगा स्टेशन के पास चाय कॉफी की दुकानें बनी रहती हैं, तो मैं पास में ही एक दुकान पर चला गया.

मेरी भाभी की चुदाई की एक गंदी कहानी पहले आ चुकी है, जिसका शीर्षकछत पर देवर भाभी सेक्स स्टोरीथा. उनके मुँह से ‘ऊऊऊ ऊऊऊ उम्म्ह … अहह … हय … ओह …’ की निकलना शुरू हो गई. साफ़ दिख रहा था कि चाची ने अन्दर ब्रा नहीं पहनी थी, पर पेंटी का मालूम नहीं चल रहा था कि पहनी है या नहीं.

फिर मैंने धीरे से अपने लंड को प्रमिला आंटी की चुत में डालना प्रारंभ किया। मेरा लंड मोटा होने के कारण आंटी की चुत में धीरे-धीरे जा रहा था.

हिंदी बीएफ सेक्सी मूवी बीएफ: मैंने कच्ची नींद में आंख खोल कर देखा कि सोनू मेरी बगल में बैठी हुई थी. मैंने तय कर लिया कि आज कुछ भी हो जाए, लेकिन यह पता करना ही है कि इनको देर कहां हो जाती है.

मैंने मैम की चूत पर वैसे ही हाथ फिराया, जैसे मैंने वीडियो में देखा था. दिन भर घर में पेंटर होते थे, तो दोपहर को आराम करने ले लिए मैं सुनील के घर चली जाती. अब मेरे ब्वॉयफ्रेंड ने मुझसे पूछा- अब तो ठीक है?मैंने मुस्कुरा कर हां कर दी.

उसकी फ़ोटो देख कर कहीं से नहीं लगता था कि वो एक बच्चे की माँ भी बन चुकी है.

जैसे ही गांठ खोली, मैंने देखा कि उन्होंने ब्लू कलर की ब्रा और पैंटी पहनी हुई थी. मम्मी के चेहरे पर हल्की सी परेशानी का भाव आया … लेकिन थोड़ी देर बाद वह खुद नीचे से अपने चूतड़ों को उठाने लगीं. अब उसका टाइम जाने का हो गया था, तो मैं उसको वापस छोड़ने गया और रास्ते में मेडिकल से आईपिल ले कर उसे दे दी, वहां से वो अपने घर पैदल चली गई.