हिंदी पिक्चर ब्लू बीएफ

छवि स्रोत,मॉमेडियन सेक्स

तस्वीर का शीर्षक ,

पुलिस वाली हिंदी बीएफ: हिंदी पिक्चर ब्लू बीएफ, वो बोलने लगीं- विकास प्लीज़ अब डालो ना!अब हॉट चाची चुदाई के लिए बेचैन थी, मैं भी देरी ना करते उनके होंठों को चूसने लगा, बूब्स को भी चूसा.

चूत वाली चूत

मैंने दो तीन गर्म साँसें उसकी पैंटी के ऊपर छोड़ी जो शायद उसकी चूत तक महसूस हुईं. क्सक्सक्स राजस्थानी वीडियोऑफिस तीस मिनट की दूरी पर था सो रास्ते में मैंने अरुणिमा को मैसेज किया कि अगर मुझे देर हो जाए, तो उनको खाना भी खिला देना.

कुछ देर चूमाचाटी के बाद मैंने चाची की ब्रा को भी निकाल दिया और चाची के सर के बाल भी खोल दिए जिससे चाची एकदम गजब की रंडी दिख रही थीं. धंधे वाली का सेक्सी वीडियोअब मेरी प्रिया से सैटिंग हो गई थी और जब भी दीदी घर में नहीं होती तो प्रिया मुझे बुला लेती और मैं प्रिया को चोद दिया करता था.

अब भी मुझे दर्द हो रहा था लेकिन माय फर्स्ट सेक्स में मुझे मजा भी आ रहा था।अंकल मेरी चूत के दाने को सहलाते रहे और धक्के लगाते रहे.हिंदी पिक्चर ब्लू बीएफ: मैं- हां बेबी, मैंने तुम्हारी पैंट उतार दी है और मैं अब सिर्फ अंडरवियर में हूं.

इसी पोज में उसे मैं काफी देर तक चोदता रहा और फिर हम डॉगी स्टाइल में चुदाई करने लगे.उसने मुझसे प्रॉमिस मांगा था कि ये बात हम दोनों में से किसी और पता नहीं चलनी चाहिए.

सुहागरात सेक्सी व्हिडिओ - हिंदी पिक्चर ब्लू बीएफ

घर पहुंच कर दरवाजे की बेल बजाई, तो अन्दर से आवाज आई- खुला है आ जाओ.वो आह आह करके मेरे सर को अपनी चूत में घुसेड़ लेने की कोशिश कर रही थी.

मैं अपनी जो कहानी बताने जा रही हूं, वो आज से लगभग 27 साल पुरानी है. हिंदी पिक्चर ब्लू बीएफ बहुत से पाठकों को शिकायत रहती है कि मैं ईमेल का रिप्लाई नहीं करती हूँ, तो दोस्तो नाराज मत हों, मैं जब से पोर्न इंडस्ट्री में आयी हूँ, बहुत बिजी रहने लगी हूँ.

संगीता भाभी उसी दिन मुझसे अब बार बार कह रही थीं- यार, तुमने तो मेरा सबकुछ देख लिया है, अब तुम अपना हथियार भी मुझे दिखा दो न!मैंने कह दिया कि अरे यार सामने से देख लेना.

हिंदी पिक्चर ब्लू बीएफ?

अभी क्या हाल है आपके शैतान का?मैंने कहा- एकदम तैयार है, आ जाऊं क्या आपके पास!वंदना- नहीं बाबा, केवल उन महाशय की फोटो भेजो न … मुझे भी देखना है. मेरे पति ने मेरी ब्रा खोल दी और मैंने शर्मा कर अपने मम्मों पर हाथ रख दिया. वो कचरा निकालते वक्त बार बार झुक रही थीं, तब चाची के बूब्स साफ दिख रहे थे.

दोस्तो, कैसी लगी आपको सेक्स क्रेजी गर्ल की सच्ची कहानी, आप मुझे मेल कर सकते हैं. यह घटना मैं फिर किसी कहानी में लिखूँगी।आज के लिए इतना ही।तो दोस्तो, कैसी लगी आपको मेरी कहानी? मुझे आप मेल करके बताइए।ऐसे ही अपनी सच्ची कहानी लेकर फिर आपके सामने हाजिर होऊंगी।[emailprotected]. मित्रो, मेरी निम्फ़ो यंग वाइफ हार्डकोर सेक्स कहानी पर आप किसी भी प्रकार की राय देने के लिए स्वतंत्र हैं और मेल पर मुझसे संपर्क कर सकते हैं.

इसके बाद मैं प्रतिदिन वंदना की सहेली के घर पहुंच जाता था और वंदना भी आ जाती थी. लेस्बियन मॉम डॉटर स्टोरी में पढ़ें कि मेरे बॉयफ्रेंड ने मेरे सामने मेरी मॉम को चोदा तो मैंने उससे ब्रेकअप कर लिया और मैं अपनी मॉम को प्यार करने लगी. अब चाची थोड़ा मुस्कुराने लगीं और बोलीं- बहुत कमीना है तू और तेरा लंड भी.

उसकी चूत का नमकीन स्वाद मुझे और भी ज्यादा चूसने पर मजबूर कर देता है. मेरे लंड के ऊपर बहुत जलन हो रही थी और जैसे लंड में बहुत तेज से खून दौड़ रहा हो, ऐसा लग रहा था.

आंटी ने झुककर मॉम के दोनों हिप्स के बीच की दरार में जीभ लगा दी और ऊपर से नीचे तक चाटने लगी.

साली हंस कर बोली- अरे जीजू, मैं कोई लन्दन से थोड़ी आ रही हूं, जो इतना थक गई होऊंगी.

मैं शायद पहली बार किसी के सामने कुछ बोल ही नहीं पा रहा था क्योंकि मैं पहली बार किसी लड़की को से ऐसे बात कर रहा था. फिर उन्होंने दोबारा से अपने लंड को मेरी चूत के मुँह पर रखा और अब की बार धीरे धीरे अपना अपना लंड मेरी चूत में उतार दिया. लेकिन आप उनके बारे में ऐसा क्यों सोच रहे हैं?मैं- सच कहूँ तो उनके बारे में मैंने कभी ग़लत नहीं सोचा.

उन्होंने मेरे दोनों पैर चौड़े किए और अपना लंड मेरी चूत में पेल दिया. भाभी का कॉल करीब दस बजे रात को आया और उन्होंने मुझे अपने घर बुला लिया. ये सुनकर हितेश खुश हो गया और मुझे गले लगा कर बोला- यार सच बताऊं?मैंने कहा- हां सिर्फ सच ही बोल!हितेश बोला- देख भाई, मैं तेरी नैना को न जाने कब से चोदना चाहता था लेकिन कभी बोल नहीं पाया.

भाभी एकदम से फफक फफक कर रो पड़ीं और कहने लगीं- प्रवीण, मुझे माफ़ कर दो, मैं खुद को रोक ही न पाई.

मैंने थोड़ा सा नाचना शुरू किया ही था कि राजेश ने कहा- बिना चोली के डांस करना होगा. उसके बाद उसने मेरी पैंटी उतारी और अपना लंड सीधा मेरी चूत पर रगड़ने लगा. चाची सास- हां वो तो मुझे पता है, पर कुछ कर भी रहे हो!मैं- कुछ नहीं.

मैंने उनके चूचों पर चांटे मारने शुरू कर दिए जिससे उनके चूचे लाल होने लगे. अब आगे बॉय बॉय सेक्स:किशन- भैया आपको कैसा लगा?मैं- अच्छा लगा, लेकिन ये किसी को मत बताना. फिर बातों बातों में मैंने अपनी पैंट खोल दी और उसे मेरा लंड पकड़ा दिया.

प्रिया भाभी बस ब्रा और पैंटी में रह गई थीं और मैं कच्छे में रह गया था.

ये सब जल्दी जल्दी में होता था क्योंकि हमें उस दिन जैसा एकांत नहीं मिल रहा था. नहीं, मैं तो आज ही मारूंगा!” दीपक अड़ गए।अब वो मेरी गांड में अपना निरोध लगा गीला लौड़ा घुसाने को नाकाम कोशिश करने लगे.

हिंदी पिक्चर ब्लू बीएफ वो मुझे गंदी गंदी गालियाँ देने लगी- आह कुत्ते … मादरचोद … मेरी चूत तेरे लंड के लिए तड़प रही है. मैं बोली- चल कुतिया चाट मेरी चूत को!मॉम ने अपनी जीभ निकाली और मेरी चूत में घुसा कर उसे चूसने लगीं.

हिंदी पिक्चर ब्लू बीएफ मैंने एक दूध चूसते हुए पूछा- जीजा जी इतने दिन थे कि क्या आपने उनका नहीं लिया?दीदी बोलीं- अभी उनकी बात नहीं करो. गुरबचन जी मुझसे बोले- सोच रहा हूँ कि आज रात अरुणिमा रंडी को घर ले जाऊं, आज रात इसे तबीयत से चोद कर सुबह वापस पहुंचा दूँ.

मेरे टट्टे चाची की गांड से टकरा रहे थे और पूरे रूम में थप थप की आवाजें गूंज रही थीं.

जंगली जानवरों की बीएफ

फिर धीरे से धक्का मारा तो मैडम की मां चुद गई और उसकी चीख निकलने लगी. वो कहने लगी- तुझे मेरी गांड का कैसे पता चल गया?मैंने कहा- जब तूने मेरी उंगली को अपनी गांड में बिना तड़फे ले लिया था, तभी मुझे लगा था कि तूने पीछे से मजा ले लिया है. थोड़ी देर मैं उसके साथ बातें करता रहा वो हर बात का जवाब हां और ना में दे रही थी.

मुझे आपसे नहीं चुदवाना है और मेरे साथ आप जोर जबरदस्ती भी करने की कोशिश भी नहीं करना, नहीं तो दीदी को बता दूँगी. वो कराहती हुई बोली- आह मर गई … थोड़ा बाहर निकालो … मुझे दर्द हो रहा है. फिर मेरा रस निकलने वाला था तो मैंने उनके सर को कसके पकड़ लिया और मैं लंड उनके गले तक ठूंस कर उनके मुँह में ही झड़ गया.

अंजलि- विवेक प्लीज़ अपना वीर्य मेरी चूत में निकालना, मैं तुम्हारे बच्चे की मां बनना चाहती हूँ प्लीज़ अन्दर डालना अअह ऊऊऊ और जोरर्र सेईई आआह करते रहो.

लंड क्या घुसा … मेरी सारी जवानी निचुड़ गई और मेरी चूत में इतनी जोर से दर्द हुआ कि मैं छटपटा कर राजेश के आगे से हटने की कोशिश करने लगी. लगभग तीस मिनट से ज्यादा ही लगा होगा, जब दोनों एक साथ उसकी चूत गांड तेजी से चोदने लगे. नमस्कार, सभी पाठकों को मेरा प्रणाम!कम उमर में मैं दिल्ली शहर चला गया था.

मैं उनको समझाने और उनकी उदासी को दूर करने के लिए उनके साथ हंसी मज़ाक करके उनकी उदासी दूर करने की कोशिश करता रहता था. कभी वो मुझे लेटा कर मेरी एक टांग को ऊपर उठा कर पीछे से अपना लंड मेरी चूत में डाल कर चोदने लगते तो कभी मेरी दोनों टांगों को फैला कर मेरी चूत का बाजा बजाने लगते. ये हॉट Xxx गर्ल चुदाई कहानी 3 साल पहले की उस वक्त की है, जब पापा के बेस्ट फ्रेंड हमारे पड़ोस में रहते थे.

उनके नितंबों और बूब्स को देखकर मैं मंत्रमुग्ध हो गया और अपनी वासना को पूरी करने के लिए तुरंत अपने बाथरूम में भागा।भाभी को याद करके मैं मुठ मार रहा था और मुठ मारते मारते पता नहीं आधे घंटे से ज्यादा हो गया. भाभी- पजामा उतार अपना!मैं ड्रामा करने लगा- नहीं भाभी प्लीज नहीं … मेरी इज्जत से मत खेलो.

अब मैं भी पूरी तरह नंगा हो गया और मेरा लंड भाभी के सामने अजगर सा फुंफकारने लगा. कोई भी लड़की मुझे देखते ही मेरे बारे में सोच कर अपनी चूत गीली कर लेती है. बेड का गद्दा बहुत मुलायम और जंपिंग वाला था, जिससे चाची इतनी जोर से ऊपर ऊछलीं कि उनकी गांड और मम्मे मस्त सीन दिखाने लगे.

एक तरफ मैं उदास भी थी कि मैंने भाई को नाराज कर दिया, दूसरी तरफ से मुझे कैसे ना कैसे करके उसके साथ सेक्स भी करना था.

जब उन्होंने मेरा लन्ड देखा तो मुस्कुरा दी क्योंकि उनके हिसाब से बहुत छोटा था. पतली, मोटी, सांवली, गोरी, भाभी और आंटी वगैरह सभी के साथ मजा लिया है और उनको बहुत बार चोदा भी है. भईया एक प्रावेट कंपनी में काम करते हैं तो उनके पास काम की कोई कमी नहीं रहती है.

इतने में आंटी के मुँह से अजीब सी सिसकारियां और मादक आवाजें निकलने लगीं. फ्री सेक्स इन ओपन का मजा मैंने अपनी दीदी के साथ उनके घर की छत पर लिया.

फिर उन्होंने संतुष्ट होकर मुझे एक कागज देते हुए कहा- ठीक है कल से ड्यूटी शुरू कर दो. तभी मेरे दिमाग में एक आइडिया आया और मैं चाची का बाथरूम से निकलने का इंतज़ार करने लगा. वो कभी मेरे गाल पर चांटा मारता, तो कभी चूतड़ों को और कभी स्तन मसल देता.

मराठी आंटी का बीएफ

सोम ने पूछा- राजीव, तुझे कभी मौका मिला तो तुम बॉटम बनना पसंद करोगे या टॉप?मेरे मुँह से निकला- बॉटम.

मैंने उससे कहा- आका का हुक्म मानो और जो बोलता हूं … उसे फिर से बोलो कि हां मैं तुम्हारी रंडी हूं, बना दो मेरी चूत का भोसड़ा, मेरी गांड चूत सब तुम्हारी लंड की प्यासी है. मैं सोचने लगा कि अपनी बीमार बीवी को तो चोद नहीं सकता; उसकी तो तबियत खराब है. कुछ देर बाद अनुज ने कहा- चल रोनित, आंटी को उठाकर जकूजी में ले चलते हैं.

फिर मेरे चाचा जी ने बड़ी दीदी को एक स्मार्टफोन खरीद दिया जिससे वह पढ़ाई किया करती थी. उनके बार-बार कहने और जोर देने पर मैंने उनका लंड अपने मुँह में लेना शुरू कर दिया. सुहागरात वाली सेक्स वीडियोभाभी का भरा भरा कातिल फिगर और ऊपर से उनका दूध जैसा गोरा बदन आंह… उनके बारे में सोचते ही मैं उत्तेजित हो जाता हूं.

मैंने भी कह दिया- भाई यहां है नहीं मैं क्या करूंगा यहां रुक कर … अकेले में मेरा मन ही लगेगा. किस तरह से कोमल मुझसे चुदी, ये सब मैं अपनी इस फर्स्ट लव किस स्टोरी के अगले भाग में लिखूंगा.

अब वो भी मेरे बालों को सहलाने लगी थीं इससे साफ हो गया था कि चाची ने लंड लील लिया था और उनका दर्द खत्म हो गया था. मेरा मन उनको रोकने और यहां से चले जाने को बोलने का था पर मेरी बीवी मजे से लंड ले रही थी और उसकी ख़ुशी देख कर मैं चुप रहा. आप भी मजा लें कहानी पढ़ कर!फ्रेंड्स, मैं शनाया राजपूत आपको अपने भाई से हुई चूत चुदाई की कहानी सुना रही थी.

मैं ऐसे ही चूत में लंड डाले गद्दे पर बैठ गया और चाची को भी अपनी गोद में बिठा दिया. हम दोनों के अन्दर आग लगी थी जबकि हमें चुदाई का कोई मौका नहीं मिल पा रहा था. मॉम ने तुरंत आंटी को बेड पर चित लिटा दिया और टांगें बेड के नीचे नीचे कर दीं.

मैं भी उनका साथ देने लगी और अपना हाथ अंकल के कच्छे में डालकर अंकल के लोड़े की टोपी को धीमे धीमे सहलाने लगी.

उसी समय वो एकदम से उठ गई और उसने कहा- ये तुम क्या कर रहे हो?मैंने न जाने किस झौंक में कह दिया- कामिनी, मुझसे कण्ट्रोल नहीं हो रहा है. पहले तो दो तीन दिन तक मैं चाचा के घर पर ही रुका, तो चाची से अच्छी पहचान हो गई.

ये कहते हुए वो मुझ पर उल्टा लेट गए और मेरे मुंह में अपना लंड घुसेड़ दिया और कमर हिला कर मेरा मुखचोदन करने लगे।मेरी चूत की खुशबू उन्हें और मादक कर रही थी. लगातार दस मिनट तक दूध चोदने के बाद पापा अपने लंड को मम्मी के मुँह में डालकर मुखचोदन करने लगे. वो सीन अभी भी मेरी आंखों के सामने चल रहा था कि आज जिन्दगी में पहली बार मुझे सेक्स में इतना मजा आया था.

जब भी मैं भाभी की दुकान पर जाता, तो वो मुझे सामान देने में मशरूफ़ होतीं और मैं अपना लंड मसलता रहता. उसे मेरा लन्ड अपने एक्स बॉयफ्रेंड के लन्ड से भी ज्यादा पसन्द आया और उसने मुझे बताया- कल मेरे घर वाले दिल्ली जा रहे हैं किसी काम से. मैंने अपनी पूरी रफ्तार भरी चुदाई को मध्यम गति से करना शुरू कर दिया.

हिंदी पिक्चर ब्लू बीएफ अब मुझे भाई का लंड अपनी चूत में भी चाहिए था लेकिन मुझे पता था कि जब मैं उसके साथ ऐसा करती हूँ तो वो जागा रहता है, पर कुछ बोलता नहीं है. नाश्ते में भाभी ने मुझे एक केला दिया जिसे देखकर मैंने कहा- भाभी, इतना बड़ा केला मैं नहीं खा पाऊंगा.

देसी हिंदी बीएफ साड़ी वाली

खैर … दिन भर कार्यक्रम चलते रहे और शाम को लेडीज संगीत की तैयारी होने लगी. चाची जोर से खुशी के मारे चिल्लाने लगीं और मेरा मुँह जोर से चूत के ऊपर दबाने लगीं. तभी अंकल मेरे पास आए और मुझे प्यार से बोले- शुरू शुरू में थोड़ा सा दर्द होता है ललिता, एक-दो बार अन्दर बाहर करने पर यह दर्द मजे में बदल जाएगा … और आज अगर तुमने यह हिम्मत नहीं दिखाई, तो तुम अपनी पूरी जिंदगी इस बात को लेकर डरती रहोगी.

हुआ यूं कि जब मेरे नाना जी की तबीयत खराब हो गई तो मेरे घर वालों को मुझे छोड़कर जाना पड़ा क्योंकि मेरे 12वीं कक्षा की प्रैक्टिकल थे. उन्होंने बिना रुके मेरी चूत में अपनी मोटी मोटी दो उंगलियां घुसा दी- आह वीनस, क्या गर्म चूत है तेरी!मैं भी नशे में बोली- चोदो ना मुझे रोहित, कितने वक्त बाद आज मिले हो, अपनी रण्डी बना लो!हां वीनस … आज मैं तुझे अपनी रण्डी बनाऊंगा, तू भी याद करेगी कि क्या चुदाई हुई थी तेरी!” दीपक गर्म होकर बोले. ब्लू फिल्म सेक्सी फिल्ममैं उसे देखता ही रह गया क्योंकि उसने एक झीना सा गाउन अपने जिस्म पर डाला हुआ था; उसमें से उसकी रेड ब्रा और पैंटी साफ नज़र आ रही थी.

वो मेरे करीब आये और उन्होंने मुझे अपनी बांहों से पकड़ कर खड़ा कर दिया.

उन तीन दिनों में मैंने सेक्सी मामी को दसियों बार पेला और उसके बाद अब जब भी मौका मिलता, मैं मामी को पेल देता. मेरे घर में नेहा दीदी ही बची थीं जिनकी जवानी का रस मैंने नहीं पिया था.

मैं अपनी कहानी पर आने से पहले ही कह दूँ कि कोई भी पाठक मुझसे किसी भाबी का नंबर या आइडी ना मांगे. मैं ये सब कह जरूर रही थी लेकिन मन ही मन मुझे भी उस रात चुदने को मन हो रहा था. नतीजा ये निकला कि मेरी चाची सास अंजलि आज मेरे बेटे की मां बन चुकी हैं, उसका चेहरा बिल्कुल मेरे ऊपर गया है.

आंटी ने मुस्करा कर देखा, तो मैंने उनकी चूचियों को पकड़ कर जोर से झटका दे दिया.

भाभी सिर्फ अपनी चूचियों को मेरे सामने दिखाती रहीं और आगे बोलीं- और क्या अच्छा लगता है आपको मेरे अन्दर!मैंने कहा- भाभी मैं आपकी मटकती गांड भी देख रहा था. शायद वो दोनों धीरे धीरे कुछ बोल भी रही थीं, जो मुझे सुनाई नहीं दिया. मुझसे रहा न गया और मैंने उसे खींच कर लिटा दिया और उसके जिस्म के हर हिस्से को अपनी जीभ से चाटने लगा.

हिंदी एक्स एक्स एक्स फिल्मइस तरह मैंने उसे रात भर गंदी बातों की ट्रेनिंग दी और आगे के लिए मानसिक तौर पर तैयार करता चला गया. तो मैंने फिर से मना कर दिया, उससे कहा कि अभी तक तो उसने अपना कुछ दिखाया भी नहीं है कमरे में अकेले मिलने पर मेरी नियत बिगड़ जाएगी.

सेक्सी बीएफ चोदा चुदाई

यह कहते हुए उन्होंने मुझे छोड़ दिया और कहा- सोच कर बताना कि क्या तुम अपने डर पर काबू करना चाहती हो … या खुल कर मस्ती करना चाहती हो. इतने भाभी ने पूछ लिया- तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है क्या?मैंने बोला- नहीं भाभी, पहले थी मगर अब नहीं है. हम दोनों ने आंटी के छेदों में लंड डाले रखे और आंटी को जकूजी में लेकर आ गए.

मैं भी उनका साथ देने लगी और अपना हाथ अंकल के कच्छे में डालकर अंकल के लोड़े की टोपी को धीमे धीमे सहलाने लगी. उसने मुझसे फोन पर ही कह दिया था कि तुम इस बात का ख्याल रखते हुए घर में आना कि तुमको कोई पड़ोसी देख न सके. भाभी का कमरा ऊपर छत पर था तो मैं उन्हें अपने कमरे में नीचे लाने के लिए सीढ़ियों पर से नीचे उतरने लगा.

अब जब भी मैं उसे चाय देने उसके रूम में जाती तो देखती कि उसका लंड अक्सर खड़ा रहता था जो मुझे साफ साफ उसके अंडरवियर में उभरा हुआ दिखाई देता था. इसके बाद वह पौंछा लगाने लगी।पौंछा लगाते समय उन्होंने अपनी कुर्ते को थोड़ा ऊपर कर लिया जिससे वह एक डॉगी स्टाइल में उनकी टाइट लैगी से उनके चूतड़ साफ-साफ दिख रहे थे।ऐसे ही अब शाम हो गई. वो जब अपनी चूत में अपनी उंगली डालती थी तो अपने एक हाथ से अपनी चूची को मसल कर आह आह कर रही थी.

मेरा पति मुझे ऐसे अक्सर चोदता रहता था और मैं अपने मम्मी पापा से बात करती रहती थी. मैं और चाची अन्दर ही अन्दर बहुत खुश हुए और मेरे मम्मी पापा भी मान गए.

भाभी- नहीं, तू चाहे तो मेरे मुँह में दे ले, मेरी चूत में दे ले, पर मेरी गांड छोड़ दे.

इससे मॉम की थोड़ी कमर भी उठ गई और उनकी चूत और गांड के छेद साफ़ दिखने लगे. সেক্সি ব্লু ফিল্ম সেক্সিवो उधर दर्द की वजह से मेरी पीठ मसलने लगी।फिर मैं एक हाथ उसकी नाभि से ले जाते हुए उसकी पेंटी के ऊपर फेरने लगा. काला लंड वाला सेक्सी वीडियोवो मेरे लंड को किसी पोर्नस्टार जैसे चूस रही थी और मुझे बहुत मज़ा आ रहा था. पेलने दो न!”मैंने कहा- ठीक है, मैं लेटी हूँ, तुझे अपने हाथ से जो करना है करो.

मगर आप तो सब जानते ही हैं कि जवान लौंडिया की चूत एक बार चुद जाए तो उससे रहा नहीं जाता है.

मैंने उनके मुँह के पास हाथ रख दिया और पहले झटके में जोर से पूरा लंड भाभी की चूत के अन्दर कर दिया. पैंटी के ऊपर से काफी देर तक चूमने के बाद अचानक उन्होंने मेरी पैंटी भी मेरे जिस्म से अलग कर दी. मैंने कमरे का दरवाजा बंद किया और उनके पास जाकर उनके होंठों पर होंठ रख दिए.

इसमें मेरे और मेरी पड़ोस की भाभी की चुदाई की घटना को लिखा है, जिनको मैंने मैक्सी में चोदा था. वो बोली- कैसे?मैंने कहा- मैं तेरी गांड में तेल लगी उंगली से मालिश कर देता हूँ … फिर तू खुद करने लगना. वो अब मेरे सामने सिर्फ़ एक लाल रंग की पैंटी में थी और वो भी काफी गीली हो चुकी थी.

नौकरानी का बीएफ

मैं धीरे-धीरे अपने पलंग से नीचे उतर आया और भाभी के घुटनों के पास बैठ गया. बोलीं- फिर से तैयार हो गए?मर्द यही तो सोचता है एक ही बार में खा जाऊं।मैं चूचियां मसलने लगा. जिस दिन हमें जाना था, उस दिन अचानक से हुसैना भाभी ने जाने से मना कर दिया क्योंकि उनको एमसी आई थी.

मैं चलते चलते आंटी की गांड को मटकते हुए देख रहा था और इसमें मज़ा भी बहुत आ रहा था.

गुरबचन जी ने एक दिन कॉल करके कहा- आ जा शाम को … फलां बार में प्रोग्राम बना है, मिलना है.

गुरबचन जी बोले- शाबाश! अब कमरे में जाओ और अरुणिमा को कुछ बोलो ताकि उसे लगे सब तुम्हारी मर्जी से हो रहा है. मेरी बहन के बूब्स और गांड दोनों छोटे आकार के थे जिसके कारण कोई मेरी बहन को शादी के लिए पसंद नहीं कर रहा था. सेक्सी बीपी मराठी शॉटचूंकि पैंटी टाइट और छोटी सी थी तो पैंटी उतरते ही रोल होकर एक जरासी पट्टी सी बन गयी थी.

कुंवारीलड़की की पहली चुदाई में खूनकी लकीर बह निकली उसकी चूत से!मैंने कुछ भी ध्यान नहीं दिया, बस लगा रहा. लेकिन मैं भी उनकी आंखों में लगातार देखती रही जिससे हमा दोनों के अंदर एक अलग ही टाइप की हवस जाग रही थी।अंकल ने बाथरूम में कमरे से लाकर एक चादर बिछाई और मुझे उस पर लेटा दिया. उसने मेरे एक गाल पर एक चांटा मारा और गाली देते हुए चोदने लगा- साली भैन की टकी … रंडी, तीन लंड एक साथ लेने की कह रही थी मादरचोद … साली से एक लंड नहीं लिया जा रहा है.

इतना सुनते ही उसने मुझे गोद में उठाया और बोला- कमरा कहां है?मैंने रूम की ओर इशारा कर दिया. मैंने एम्बुलेंस स्टार्ट की और उसे हर तरह से चैक करके जाने को रेडी हो गया.

हमारे पहुंचने पर शर्मा आंटी और उनके भाई राजेश ने हमारा दिल खोलकर स्वागत किया और हमें धर्मशाला के एक कमरे में ठहरा दिया.

मेरी यह आंटी की पेंटी सेक्स कहानी आपको कैसी लगी? आप मेल करना न भूलें. मैं इतनी जोर जोर से धक्का मारने लगा था कि दीदी कराहने लगीं, चीखने लगीं. आंटी भी अपनी गांड को उठा उठा कर साथ दे रही थीं, मुझे गालियां दे देकर अपनी चूत का भोसड़ा बनवा रही थीं.

पोर्न फिल्म पोर्न फिल्म मैं ऑफिस से घर लौटा तो खाला बोलीं- फ़ैज़ी बेटा आज तुम अपनी भाभी और उसकी भाभी को कहीं घुमाने ले जाओ, उन दोनों का बड़ा मन है. उस दौरान चाची ने एक बार भी ‘ऊईई याह ऊहहह …’ की आवाज नहीं निकाली बल्कि एकदम शांत होकर और आंखें बंद करके बस मेरे लंड को अपनी चूत में अन्दर लेती रहीं.

वंदना- अच्छा लगता है तो क्या बात है, मेरा जवाब क्यों नहीं दे रहे हो?मैंने कहा- ओके मैं बाद में आपको जवाब देता हूँ. दस मिनट बाद अरुणिमा ड्राइंग रूम में आई तो विश्वेश्वर जी उससे बोले- आ जा, मेरी गोद में आकर बैठ जा. विक्रम अन्दर आ गया और मुझे बांहों में लेकर चूमने लगा और अपने हाथों से मेरे चूतड़ दबाने लगा.

सी बीएफ जानवर

अगर आपको यह ट्रेलर पसंद आया और आप चलती ट्रेन में सविता की साहसिक और जोखिम भरी चुदाई वाला पूरा एपिसोड वीडियो देखना चाहते हैं तो बसGoogle. हॉट वाइफ वांट सेक्स … जो लड़की शादी से पहले ही अपने मंगेतर का लंड लेरे को तैयार हो, वो सुहागरात में चुदाई के लिए कितनी बेचैन होगी. लगभग तीस मिनट से ज्यादा ही लगा होगा, जब दोनों एक साथ उसकी चूत गांड तेजी से चोदने लगे.

सिमरन ने सीधे लेटते हुए चूत के पानी को अपनी उंगलियों में ले लिया और रस चाटने लगी. उसके बाद विश्वेश्वर जी बोले- अरुणिमा रंडी! एक काम कर, घुटनों पर बैठ और हम सब का लंड बारी बारी से चूस.

मेरी चीख निकली और मैं चिल्लाया- उईई ईई मम्मी!जिसे सुनकर अयाना मुस्कराई और बोली- आई लव यू बेटा!और टाईट हग कर लिया।मैं बोला- मम्मी, आपने सब कर लिया और मुझे कुछ नहीं दिखाया?अयाना बोली- पहले उछल मेरी गोद में!हमने ऐसे बात की जैसे अयाना मेरी भतीजी नहीं मम्मी हो!इससे मुझे कुछ अलग सा महसूस हुआ.

मैंने चाची को होंठ पर किस कर दिया, तो चाची भी मेरा साथ देने लगीं और हम दोनों एक दूसरे को पागलों की तरह किस करने लगे. सुनील- ठीक है … ठीक है … यह ड्राइवर की जॉब है, यह तो तुम जानते ही होगे असलम. मैंने उनकी गांड की चुदाई करने के लिए इस बार उनको बेड के एक सिरे पर लेटा दिया, उनकी टांगों को फैलाया और उनकी गांड के नीचे तकिया लगा दिया.

मुझे पता चल गया था कि दीदी अन्दर से खौल रही थीं, उनको एक मर्द के लंड की सख्त जरूरत थी. फोन उठाते ही वो चिल्लाए- अबे भड़वे! हमारे जाने के बाद भी उस वेश्या को चोद रहा था क्या … जो अब तक सो रहा है? जल्दी उठ और निगम जाकर चारों फाइल जमा कर दे और पावती ले लेना. मैं झुकी हुई चुदाई करवा रही थी और उस पोजीशन में मेरे दोनों दूध नीचे लटक रहे थे.

सिमरन लौड़े के पूरा अन्दर जाते ही सर इधर उधर पटकने लगी और रोने सी लगी.

हिंदी पिक्चर ब्लू बीएफ: मेरे चाचा के घर में तीन लोग रहते थे; महेश चाचा, सुमन चाची और उनका चार साल का बच्चा. उसके बाद आंटी से सीखे हुए एक लड़की और एक लड़के ने कामक्रीड़ा मतलब फ़ोरप्ले करके दिखाया.

चाची की गांड मारी मैंने होटल के कमरे में! मुझे गांड मारने में सबसे ज्यादा मजा आता है क्योंकि गांड में जाकर लंड जोर से भींच जाता है. हॉट गर्ल लस्ट स्टोरी हिंदी में पढ़ें कि मेरे दोस्त की गर्लफ्रेंड मेरे पड़ोस में रहती थी. तब अंकल मेरे पास आकर बोले- बेटी, तुम तो सायद संजीव की लड़की हो?मैं बोली- हां अंकल।इतना कहते ही अंकल ने मेरी बहुत टाइट कोली भर ली और बोले- बेटा, मुझे नहीं पता था कि तुम संजीव की लड़की हो.

मेरे नंगे होते ही उसने मेरे लंड को हाथ में ले लिया और बोली- ये तो मेरी चूत फाड़ ही देगा.

लगभग चालीस मिनट के बाद सबका लंड तन गया था और चोदने के दूसरे राउंड का प्रोग्राम बन गया. हॉस्पिटल सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने गाँव के अस्पताल में डॉक्टरनी की चूत और गांड मारी. मुझे ऐसा मजा लड़की चोदने में भी कभी नहीं आया, जितना आज गांड मरवाने में आया है.