सेक्स बीएफ हिंदी में वीडियो

छवि स्रोत,इंग्लिश सेक्सी ब्लू फिल्म नंगी

तस्वीर का शीर्षक ,

लडकी का सेक्स: सेक्स बीएफ हिंदी में वीडियो, उसके बाद जब मैंने मैसेज किया तो उसने मुझे बताया कि उसके ब्वॉयफ्रेंड ने मुझे ब्लाक कर दिया था.

भैया भाभी सेक्सी

’ वो कुछ सेकेंड रुका और एक जोरदार झटके से पूरा का पूरा लंड मेरी चूत के अन्दर उतार दिया. बुआ और भतीजे की सेक्सी फिल्मलंड फंसते ही मैंने उसे अपनी ओर खींच लिया, जिससे एक ही झटके में मेरा पूरा लंड उसकी बुर में समा गया.

बाकी फिर कभी फ़ुर्सत में लिखूंगी कि आगे मेरी और राहुल को कितनी बार चुदाई की कोशिश हुई या चुदाई हो भी पाई या नहीं हो सकी. बिहार की औरत की सेक्सी वीडियोतभी 4-5 कर्मचारी बड़ी तेजी से चलते हुए आगे आ रहे थे, मैं देखकर वहीं खड़ा रहा.

जान ए बहार तुम किसी शायर का ख्वाब होचौदहवीं का चाँद हो, या आफताब होजो भी हो तुम खुदा की कसम लाजवाब हो!रेखा मुनमुनाई- झूठे कहीं के.सेक्स बीएफ हिंदी में वीडियो: चोद दो मेरी चूत को मेरे भाई… आह…विक्रम- हाँ मेरी बेहेना… आज से मैं तेरा भैया और सैयां दोनों हो गया… अब तेरी चूत को मैं खुद चोदूँगा.

आज ही सुबह सुजाता के मम्मी पापा किसी रिश्तेदार की शादी में गए हुए थे.आज के लिए इतना ही … आगे की कहानी फिर कभी …दोस्तो, चालू लड़की की चुदाई कहानी आपको कैसी लगी, अपने विचार जरूर दें.

ब्लू फिल्म सेक्सी वीडियो एक्स एक्स - सेक्स बीएफ हिंदी में वीडियो

मेरा पूरा लंड एक ही बार में उसकी चूत को चीरता हुआ अन्दर तक चला गया.साथ ही आपको बता दूँ कि मेरी प्यारी बीवी को मुझसे चुदवाना बहुत ही ज्यादा पसंद है.

और फिर जेम्स ने रितु कि बेड पर लिटाया और जोर जोर से धक्के मारने लगा, जेम्स बोल रहा था- आई ऍम कमिंग!और फिर उसने रितु की चूत में ढेर सारा वीर्य छोड़ दिया और उस पर गिर गया. सेक्स बीएफ हिंदी में वीडियो दरअसल मैंने जब कॉलेज में एडमिशन लिया था, तो वहां कुछ दिनों के बाद मैं एक दोस्त के रूम पर गया था.

दो-तीन मिनट बाद मैं अपनी कमर उछालने लगी, पता नहीं दर्द कहां गायब हो गया, मुझे खुद समझ नहीं आया.

सेक्स बीएफ हिंदी में वीडियो?

मेरे हाथ इस वक्त अपनी सास की चूत पे थे और मैं उनकी चूत को सहला रहा था. मैं उनकी बेटी के साथ खेलने के लिए जब उनकी गोद से उसे लेता था, तो धीरे से उनके चूचे दबा देता था. थोड़ी देर तक ऐसे ही करने के बाद जब बड़ा भाई आश्वस्त हो गया कि उसकी बेहेन की चूत एकदम गीली हो गयी है तो वो रजत का लंड अपने हाथ में लेकर बोला- मेरे भाई, अब तुम ये अपना लौड़ा अपनी बेहेन की इस खूबसूरत और गहरी मगर टाइट चूत में पेल सकते हो.

अगर आपको कामुकता से भरी देसी लड़की की चुदाई की मेरी कहानी अच्छी लगी या नहीं, मुझे मेल जरूर करना. मैंने खाना खाकर उससे जाने के लिये बोला तो उसने कहा- क्या तुम एक दिन यहां नहीं रूक सकते?मैं बोला- कल सोमवार है मैडम. एक दिन उसने बताया कि कल उसके घर वाले तीन चार दिन के लिये बाहर जा रहे हैं और वह घर पर अकेला है.

मैंने डोर बंद नहीं किए थे और आँख बंद करके लंड से मूत की धार निकाल रहा था. आज तक देखी नहीं, मैं भी तो जरा देख लूँ कि ये ब्लू फिल्म होती कैसी है और सुन बढ़िया वाली ही देना. वो हँसी- हा हा !!! टेस्ट भी नहीं लेने दिया अच्छे से, सारे सड़का सीधे गले में उतार दिया.

उन दीदी की चूत गर्म गर्म थी और वो आंखें बंद करके बस लंड के घुसने इंतजार कर रही थीं. मेरी जान निकली जा रही थी और आँखों से आंसू निकले जा रहे थे, पर उसने मुझे पूरा दबाया हुआ था.

इसलिए उसके चेहरे पर कुछ शान्ति थी कि रात के सफ़र में कोई दिक्कत नहीं होगी.

कुछ ही देर में उनके गाढ़े वीर्य की पिचकारियां मेरे मुँह में गिरने लगीं.

मैंने अपनी बहन की ब्रा में से एक चुचे को बाहर निकाला और उसे मुँह में लेकर चूसने लगा और दूसरे को हाथ से दबा रहा था. मेरी निगाह रूपा के मस्त उठे हुए मम्मों पर थी जोकि रूपा ने भी भांप लिया था. आखिर में एक फ्लैट अच्छा लगा, वहां के मकान मालिक एक बुजुर्ग दंपत्ति थे.

लंड पर उसके नरम होंठों का स्पर्श हुआ तो जैसे मैं आसमान की सैर करने लगा था. दोस्तो, मैं आपकी प्यारी प्यारी दोस्त प्रीति शर्मा।आपने मेरी पिछली कहानीप्रीति भाभी का कैजुअल सेक्सपढ़ी और पसंद की, धन्यवाद. मुझे यूं घूरते देख कर वो बोल पड़ी- इतना घूर कर क्या देख रहे हो? कभी चूत नहीं देखी क्या?मैंने बोला- चूत तो बहुत देखी हैं, मगर सिर्फ पोर्न फिल्मों में ही देखी हैं.

अब सुरेश जी ने अपना लंड मेरी गांड के छेद पे रख दिया और दबाव देकर अन्दर डालने लगे.

ये बात पिछले साल की है, मैं जहां जॉब करता था, वहीं पास में एक ब्यूटी पार्लर था. [emailprotected][emailprotected]आप इस आईडी से मेरे साथ फ़ेसबुक पर भी एड हो सकते हैं. उनके बेल बजाते ही मैंने दरवाजा खोला तो मुझे ऐसी अवस्था में देख हंसने लगे और बोले- तुम तो पहले से ही तैयार हो.

मैं उनके किचन में जाकर कॉफी बनाने लगा, तो वो भी आ गईं और कहने लगी कि तुम्हारी होने वाली बीवी बहुत ही खुशनसीब होगी, जो उससे तुम्हारे जैसा पति मिलेगा. अब मुझसे रहा नहीं जा रहा था, मैं झट से रचना की टांगों के बीच में बैठ गया. अब उन्होंने अपने अपना मोटा लंड मेरी चूत में टिका कर अन्दर डाल दिया और धक्के लगाते हुए चोदने लगे, तो मैं उनके मोटे लंड की चोट एकदम से बर्दाश्त नहीं कर पाई और एक तेज चीख मेरे मुँह से निकल गई.

मैंने धीरे से अपने लंड को हाथ से पकड़ कर पीछे से उसकी गांड की दरार में रखा और एक हल्का सा धक्का मारा.

फिर 9 बजे भाभी का फोन आया, उन्होंने कहा- किधर हो?तो मैंने बोला कि घर पर ही हूँ, आपकी राह देख रहा हूँ. मैं तुमसे बहुत कुछ बोलना चाहती थी पर कभी बोलने की हिम्मत नहीं हो पाती थी, सोचती थी कि पता नहीं तुम मेरे बारे में क्या सोचते हो! यह सोचती थी कि अगर मेरे किसी बात का तुम्हें बुरा लग गया तो तुम मुझ से बात करना बंद तो नहीं कर दोगे? मैं तुम्हें बहुत पसंद करने लगी थी, मुझे तुमसे प्यार हो गया लेकिन डरती थी इस बात से कि कहीं तुम मुझ से दूर ना चले जाओ! मैं तुमसे बहुत बहुत बहुत ज्यादा प्यार करती हूँ.

सेक्स बीएफ हिंदी में वीडियो ” वे हाथ पर से डोले और बॉडी दिखाते हुए बोले।पता है मौसाजी, आप बहुत स्ट्रांग हो!” खुद को ना रोक पाते हुए मैंने अपने हाथ को उनके डोलों पर घुमाए तो अजीब ही सरसराहट हुई।मैं वैसे ही उनके डोलों पर हाथ फेरते रही, मेरे स्पर्श से मौसाजी भी उत्तेजित हो रहे थे।आप बैठो, मैं आपको पेग बना कर देती हूं. अनीता दीदी अपने घर में अकेली रहती थीं, कभी कभी अपने भाई के घर आ जाया करती थीं.

सेक्स बीएफ हिंदी में वीडियो इसके साथ वो मुझे इतनी गंदी गंदी गालियां और बातें बोल रहा था कि मेरे होश और जोश दोनों में बिल्कुल आग लग रही थी. मैं उनको बेड पे ले गया और बड़े ही प्यार से उनके कपड़े निकाल दिए और उनके होंठों को चूमने लगा.

आखिर में एक फ्लैट अच्छा लगा, वहां के मकान मालिक एक बुजुर्ग दंपत्ति थे.

जंगल में बीएफ सेक्स वीडियो

औऱ आप कौन?वैसे मुझे लग रहा था कि ये मुस्कान है क्योंकि मैंने उसका नम्बर नहीं लिया था. मेरे घर पर भी बड़े अच्छी तरह से उसका आना जाना था और राहुल मॉम डैड को भी काफ़ी अच्छा लगता था. कुछ देर बाद उसके सारे शरीर के ऊपर हाथ फिराने के बाद और पूरी तरह से उसको गर्म करने के बाद, मैंने अपनी पैंट उतारी.

अपनी टांग उसने मेरी टांग के ऊपर लपेट ली और उसके नाख़ून मेरी पीठ में चुभने लगे. उसे बाद में पता लगा कि वो उन लड़कों को ब्लैकमेल कर रहा था कि जल्दी से पैसे निकालो वरना में पुलिस बुलाता हूँ कि तुम लोगों ने एक मासूम का *** कर दिया है. पर मेरी किस्मत खुल गयी, उस दिन से मैं मामी से जल्दी जल्दी मिलने लगा और जब जब मिलने जाता तब मामी को चोद के आता.

सुजाता वहां से मेरे पास वाले नीम के पेड़ की नीचे आकर खड़ी हो गई और कुछ सोचकर उसने अपना सलवार का नाड़ा खोल दिया और अपना बांयाँ हाथ अन्दर डालकर चूत सहलाने लगी थी.

फिर मैंने मौसी की ब्रा भी खोल दी, 32 इंच के दूध उछल कर बाहर आ गये। मैंने मौसी के निप्पल मुंह में लेकर खूब चूसे और चूस चूस के लाल कर दिये. फिर मैं उठ कर बैठा और मैंने दोनों हाथ से अपनी सास के दूध मसलने शुरू कर दिए और बारी बारी से उन्हें चूसने भी लगा. मैंने ऑफिस से छुट्टी ली और अपने दोस्त को बोल दिया कि मैं उसके रूम पर आ रहा हूँ.

मैंने ड्राइवर को मना किया परंतु वह नहीं माना तो फिर मेरी बहन प्रीति मेरी टांगों पर बैठ गई. कोमल भाभी की आह निकल गई- आह रॉबी…भाभी मेरा सर अपनी चूत पर दबा कर पैर सोफे पर रखकर अपनी चूत मेरे मुँह पर दबाने लगीं. जब उसने अपने कपड़े उतारे और मेरी नज़र उसके लंड पर गई, तो मैं तो देखती ही रह गई.

मैंने पूछा- और बच्चे?तो भाभी बोलीं- वो सो गए हैं और सुबह से पहले नहीं उठने वाले हैं. वो लंड हिलाते समय पद्मिनी की जांघों को याद करता और उस सीन को याद करता, जिस तरह से पद्मिनी खड़ी थी… उसके बिल्कुल सामने… धीरे धीरे अपनी स्कर्ट को ऊपर उठाते हुए और उसको अपनी खूबसूरत जांघों को दिखाते हुए… बस ये सीन याद किया तो लंड फिर से खड़ा होकर मजा देने लगा.

मैंने मेल बॉक्स खोल कर देखा तो उसमें भाई ने मुझसे पूछा था कि तुम्हारी भाभी तुम्हें अपनी भाभी बनाना चाहती है. मेरा भी बहुत मन करता है माँ की चुदाई करने का… पर ये पता नहीं संभव होगा या नहीं. आंटी खुश हो गईं और बस इसके बाद हम दोनों ने दो दो पैग लगाए और एक बार फिर से चुत लंड का खेल खेला.

मैंने उसके पासवर्ड को अपने मोबाइल से लीक कर लिया और फिर मैंने अपने ऑफिस में ही उसकी सारी मेल्स जो जाती थी और उसको मिलती थीं, पढ़ लीं.

इसी बात को पकड़ कर निक्की ने चुटकी ली, निक्की ने कहा कि अब तो चैक करना पड़ेगा. इसके बाद मैंने अपना लंड आंटी की बुर के मुहाने पे रख दिया और बोला- जानू धीरे धीरे चढूं कि एकदम से पेल दूँ?वो बोलीं- अरे मेरे राजा जैसे चढ़ना है चढ़ जाओ. चूंकि मैं एक बहुत अच्छे कॉलेज से पढ़ा था, इसलिए कॉलेज का नाम सुनते ही वो प्रभावित हो गए.

वो नशे में मेरा सर पकड़ते और जम कर अपने लंड की शंटिंग करते हुए मेरे मुँह को दबा दबा कर चोदते. मैंने उनकी चुत पर हल्के से अपनी गर्म जीभ फिराई और चुत को पूरा मुँह खोलकर अपने मुँह से कवर कर लिया.

दोस्तो, यह मेरे पहले सेक्स की मेरी पहली सेक्स कहानी है, जरूर बताएं कि कैसी लगी. मुझे ऐसे ही रोज चोदना और मेरी चूत और गांड में अपने ये मस्त लंड डाले ही रहना. जब मैं घूम कर अपने मामा के गांव गया तो वहाँ देखा कि मेरे रिश्ते की मौसी वहाँ मुझे मिलीं.

बीएफ सेक्सी पिक्चर फुल एचडी हिंदी

मैंने चूत पर किस किया और चाटने लगा तो वो बोली- आअह्ह्ह… आराम मिल रहा है, बहुत अच्छा लग रहा है, प्लीज और चाटो!उन्हें दस मिनट तक मैंने चाटा और चूसा और फिर खाला झड़ गयी.

घंटी बजते ही वो ग्रामीण बाला झट से उठी और हॉल के मेरी तरफ वाले कोने की ओर बढ़ने लगी; जरूर ये उसी का फोन बजा था. तभी उन्होंने पूछा- तुमने कभी कोई औरत नहीं देखी़? जो मुझे घूरता रहता है़. अब समय था, जब मेरी फूल जैसी चूत को चोदने के लिए एक मूसल एकदम कड़क हो कर मेरे सामने तन्ना रहा था.

नाश्ता वगैरह तो हो चुका था और सब लोग अपने अपने हिसाब से टाइम पास कर रहे थे. फिर पूरी बॉडी को बॉडी से मिला कर रगड़ा जाता है और इसके बाद कबड्डी खेली जाती है. सेक्सी वीडियो पिक्चर फिल्म ब्लूमैंने उसके मम्मों को तेज़ी से दबाने शुरू कर दिए तो उसके मुँह से सिसकारियां निकलने लगीं.

मगर उसने पूछा- बताओ… एक बार मुझे बता दो कि तुमने अपने दिल से मेरे बाप को पति रूप में स्वीकार किया था. मैंने सोफे पर बैठ कर जूली को अपनी गोद में लिटा लिया और उसको किस करने लगा.

मयूरी के लिए यह पहली बार था जब वो किसी का लंड अपने हाथ में ले रही थी. वो सोफे पर पसर कर बैठ गईं और कहने लगीं- ऐसे जीवन को क्या जीना, जिस जीवन में रंग ना हों. रास्ते में कोमल ने मुझे बताया कि वो ओर उसकी फ्रेंड आईटी कम्पनी में काम नहीं करती हैं, बल्कि यही दोनों एक स्पा में काम करती हैं.

अब मैंने कोमल को डॉगी स्टाइल में खड़ा किया और खुद बेड से नीचे खड़ा हो गया. लेकिन जैसे ही राहुल के होंठ मेरे होंठों से अलग हुए, मैं राहुल को धक्के देकर अपने घर की तरफ़ भाग गई. रास्ते में मेरा शरीर उसके शरीर से रगड़ खा रहा था, जिससे मुझे बड़ी चुदास भड़क रही थी.

मन लो ऐसा नहीं हुआ तो?मयूरी कुछ सोचते हुए- वैसे तुम लोगों का मन नहीं करता कि तुम दोनों मम्मी की चूत की चुदाई करो? एक साथ!रजत- मैं सच्ची बताऊँ, मेरा तो बहुत मन करता है कि मैं माँ का दूध जोर से दबा दूँ और भाई पीछे से मम्मी को पकड़ कर उसकी चूत में उंगली डाल कर मजे ले.

ऐसे जंगलियों की तरह क्यों कर रहे हो?मैं थोड़ा नशे में बोला- चुप कर साली. लेटने की पोजीशन कुछ इस तरह से थी कि पहले एक लड़की, फिर भैया का एक दोस्त, फिर मैं, मेरे बाजू में वो लड़की, जिसे मैंने पसंद किया था, फिर उसकी साइड में एक और लड़की और सबसे लास्ट में वही भैया, जो मुझे लेकर गए थे.

ये बात समलैंगिक और गैर समलैंगिक सभी नौजवानों पर लागू होती है।मैं अन्तर्वासना की टीम का आभारी हूं जो ये संवदेनशील और सच्ची कहानी उन्होंने पाठकों तक पहुंचाने में मेरी पूरी सहायता की। ईश्वर उनको लम्बी आयु दे…मैं अंश बजाज. दोस्तो, लड़की के फिगर का असली परिचय तो चुदाई से थोड़ा वक्त पहले ही दें, तो लौंडिया की चुदाई की कहानी को पढ़ने का मज़ा डबल हो जाता है. बाद में कार में अनु दीदी रोने लगीं, मुझे लगा शायद मेरी एक हरकत पे गुस्सा हैं.

’ बोला और उनकी चूचियों से चिपक कर लेटा रहा और पता ही नहीं चला कि हम दोनों कब सो गए. मैंने सोचा किसी का फोन होगा तो नहीं उठाऊँगा, लेकिन देखा तो फोन राजू का था. मैं यहां से बाहर चला जाऊं क्या?चाचा मेरे कान में धीरे से बोले- क्यों वन्द्या डार्लिंग इसको भी बुला लें, बाहर जाके कुछ गड़बड़ ना करे.

सेक्स बीएफ हिंदी में वीडियो वो थोड़ा हिली… पता नहीं मुझे क्या हुआ, मैं अपने ऊपर कंट्रोल खो बैठा और मैं मौसी के ऊपर चढ़ गया. कोमल की चूत बिल्कुल पानी पानी हो रही थी और इधर मेरा माल भी निकलने वाला था.

बीएफ वीडियो में देहाती बीएफ

फिर मैंने उनके गालों पर अपनी जीभ फेरनी चालू कर दी और फिर उनके ऊपर के होठों को चूमता हुआ, उनके नाक पर अपनी जीभ से चाट लिया. इसके बाद सब उठ कर नीचे जाने लगे, तो वो थोड़ा सा लेट होकर जल्दी से मुझे एक किस करके चली गईं. वो बोला- तबस्सुम को तो मेरे लंड से जल्दी छुटकारा मिल गया, मगर तुम्हें नहीं मिलेगा.

आंटी मेरे बारे में पूछने लगीं कि कौन हूं, कहां से आया हूं, वगैरह वगैरह. उसे चॉकलेट बहुत पसंद थी तो मैंने उसके लिए दो तीन किस्म की चॉकलेट और एक बुके ले लिया. డానీ డేనియల్స్मैं सीट में बैठ गया और निशा, उस गाड़ी में एक चालीस साल की औरत थी, उसकी गोद में बैठ गई.

फिर वो बोली कि तूने मेरे तो सारे कपड़े उतार दिए और खुद क्यों पहन रखे हैं.

इस दौरान एकाध बार मुझको अपने साथ उस जंगल वाले रास्ते में ले जाता और वहां मेरे साथ ऐसा ही करता, जैसे आप करते हो. मैंने अपना लंड उसकी चूत पे टिकाया और ज़ोर लगा कर लंड का टोपा धीरे से उसकी सुखी चूत में घुसा दिया.

मैंने खुद को संभाला और फिर अपने हाथ पर ध्यान दिया कि उसका लिंग झटके खाने लगा था. लगभग पन्द्रह मिनट के इस कार्यक्रम में वो इतनी गरम हो गयी कि समझ लीजिएगा कि बस नाड़ा खुलने की देर थी. इतनी गंभीरता से इसलिए नहीं देखते हैं क्योंकि उनके नीचे वाले क्लर्क, बाबू लोग सब चैक करके ही साइन के लिए अन्दर भेजते हैं.

गीता कुछ देर आराम करने के बाद पिछले दरवाजे से ही बाहर निकली तो देखा कि डॉक्टर किसी से बात कर रहा था.

मैं मना करती रही, फिर भी उसने मेरा मुँह अपने लंड से भर दिया और मेरे मुँह को चोदने लगा. पर मैं नहीं माना और लंड के सुपारे को सीधे उनकी गांड के छेद में सैट किया और इससे पहले चाची कुछ सोचती या कहतीं, मैंने लंड उनकी गांड में पेल दिया. खुद उसको अजीब सा लग रहा था और उसने अपनी उंगलियों को अपने चुत तक पहुँचाया तो देखा कि उसकी चूत भीग गयी है.

जियो फोन में वॉलपेपर डाउनलोड कैसे करेंउसके गालों पर, मुँह पर, गले पर, उसके पूरे जिस्म को सहलाते हुए चूमने लगा. दोस्तो, मैं उम्मीद करता हूँ कि मेरी पहली चुदाई की कहानी आपको पसंद आई होगी.

आंटी की बीएफ चुदाई

अभी यही सब सोच रहा था कि तभी मेरी हवसी नज़र एक औरत पर पड़ी, जो आने में थोड़ा लेट हो गयी थी. उसने मेरी चुची दबाते हुए कहा- क्या हुआ, फट रही है?मैं चुप रही और धक्के झेलने लगी. जब हम फौजियों की परेड देखने लगे तो मेरी बहन मुझसे आगे खड़ी हुई थी उसने बहुत ही अच्छा पंजाबी सूट डाल रखा था जिससे वह बहुत ही खूबसूरत लग रही थी और उसकी सफ़ेद रंग की ब्रा साफ साफ दिखाई दे रही थी.

मैंने दीदी का हाथ अपने लंड पे रखा, उन्होंने झटके से हटा लिया और आंखें खोल कर देखा- हाय, ऐसा होता है क्या आदमियों का? कितना अलग सा है ना. यह तो मजबूरी है कि लंड अपना पानी निकाल कर चुत से बाहर आ जाता है और फिर कुछ समय बाद उसे दुबारा खड़ा होना पड़ता है, वरना मैं तो इसे तुम्हारी चूत में डाल कर निकालना ही नहीं चाहता. शीतल- एक काम करते हैं… आज रात में मैं तेरे कमरे में जाकर थोड़ी देर तक अपने बेटों की रिझाऊंगी और उसी वक्त तुम मेरे कमरे में जाकर अपने पापा को अपने हुस्न का जादू दिखाओ… क्या कहती हो?मयूरी- आईडिया बुरा नहीं है.

तब थोड़ा बाहर निकाला और फिर अन्दर बाहर करके मेरे मुँह को दिनेश चोदने लगा. मुझे परेशान समझ कर वो मेरे पास बैठ कर अपने हाथों से मेरे माथे को और मेरे चेहरे को सहलाने लगीं और मैं गहरी नींद में होने का नाटक करते हुए धीरे धीरे बड़बड़ाने लगा. अबकी बार मेरे लंड का थोड़ा सा सुपाड़ा मामी जी की गांड में चला गया, जिसकी वजह से तो वो ज़ोर से चीख पड़ीं- आईईईईई मैं मर गई.

मैं शरमा गई तो सर बोले- जानती हो क्या अधूरा रह गया था?मैं बोली- नहीं सर. जब हम सेक्स करने के बाद बातें कर रहे थे तो मैंने उसको अपनी फ़्रेंड्ज़ और ननद के बारे में बोला.

एक में कमरे में रखे फ्रीज़ में से एक कोक निकाल कर उसमें मिला दिया और जूली को पीने के लिए दे दिया.

मैंने अपना लंड उसकी चूत पे सेट किया और तेज़ी से पूरा लंड घुसा दिया. देसी हिंदी सेक्स कहानियांउनके रूम पे जाते समय रास्ते में भैया से पूछा- भैया बताओ तो कुछ?भैया बोले- रूम पर तीन लड़कियां आयी हैं, कॉल गर्ल नहीं हैं. சிஸ்டர் செஸ்उसके बड़े बड़े बूब्स और तने हुए निप्पल सामने वाले के लंड में आग लगा दे. उनकी चुचियों का साइज कम से कम 36″ तो होगा ही!मैं जब भी अपनी मामी से मिलने उनके घर जाता तो वे हमेशा मेरे पास आकर बैठ जाती और कुछ ऐसी हरकतें करती थी जिनसे मुझे थोड़ी सी उत्तेजना महसूस होती, कभी-कभी तो मुझे उन पर शक भी होता था कि कहीं ये मुझसे कुछ चाहती तो नहीं हैं।मामी कभी कभी अजीब ढंग से कपड़े पहन लेती, कभी अपना गाउन ऐसे पहनती जिससे उनके क्लीवेज मुझे दिखाई पड़े.

उम्म्ह… अहह… हय… याह… आअह्ह …”दोस्तो, उसके मुलायम होंठों से लंड चूसने का मजा ही कुछ अलग था.

कुछ देर में ही वो अपनी कमर उठा कर मेरा साथ देने लगी और कहने लगी- साले पहले क्यों नहीं मिला रे. एक बार फिर 10 मिनट के बाद रीना दीदी ने मुझे कस के पकड़ लिया लेकिन इस प्रकार के पोजीशन में उनकी चूत ने मेरे लिंग को इस प्रकार जकड़े हुआ था कि मैं भी उनकी चूत में स्खलित हो गया. फिर चार पांच मिनट के बाद मैंने अपनी चुदाई की स्पीड बढ़ा दी और जोर जोर से पिंकी को चोदने लगा.

सुधा भाभी रोने लगीं और बोलीं- मुझे पता है और उनका चक्कर बहुत पहले से चल रहा है. उन्होंने कहा- ठीक है, जब भी मुझे आपको बुलाना होगा तो दो तीन पहले फोन पर बता दूंगी. भाभी कामवासना से पागल होने लगी थीं, मेरे बालों में उंगली फेरने लगीं.

कुंवारी लड़कियों वाली बीएफ

मैंने अपनी जीभ उसकी चूत में डाल दी जिससे वो सिहर गयी और मेरा लण्ड चूस चूस कर चोदने लायक बना दिया और वो मुझे पागलों की तरह चूस रही थी।कभी मैं चाची की चूची तो कभी चूत को रगड़ रहा था. मैंने उससे पूछा- तुम्हारा झड़ क्यों नहीं रहा, कोई दवाई खायी है क्या?उसने बताया कि नहीं ये उसका रियल स्टैमिना है. कुछ देर तक ऐसा होने के बाद एक बार फिर से अब मेरी बारी थी और मैं अपनी नंगी मामी के बदन के ऊपर था.

इस पर पद्मिनी ने एक छोटी सी चीख़ निकाली, मगर बापू ने उसकी चीख़ को नज़रअंदाज़ कर दिया.

अब तक इस सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा कि मेरी कामवाली मुझे अपनी पहली चुदाई की कहानी सुना रही थी और उसके ममेरे भाई नेउसकी सील तोड़ दीथी चुकी थी और अब वो उसे दुबारा चुदने के लिए कह रहा था.

अब मैं जॉब के सिलसिले में चंडीगढ़ आ गया हूं और यहीं रह कर कोई न कोई रंडी या औरत की चुदाई करता रहता हूं. उसने अपने लंड को मुझे पकड़ा कर बोला- पूछो यह क्या मांग रहा है?मैंने कहा- मुझे नहीं पता मगर मेरी चुत इसको अभी भी मांग रही है. सैकसी पिचरएक ही धक्के में मेरा लंड पूरा घुस गया चाची की चूत में… और चाची ने एक करारी सी आह भरी और मेरा मूसल पूरा का पूरा निगल लिया.

वल्लिका ने मन ही मन बाबा को धन्यवाद दिया और ये सब बाबा का चमत्कार समझ, उसे मन से प्रणाम किया. जैसे ही मैं पहुँचा तो तुरंत मुस्कान का फ़ोन आया, वो बोली- घर वाले शादी में चले गए, कहाँ हो तुम? अब मेरे घर आओ!मैं बोला- दरवाज़ा तो खोलो, तुम्हारे घर के सामने खड़ा हूँ. उसके बाद उसने अपनी चुदाई का काम शुरू कर दिया और मुझे कुतिया बना कर चोदा.

मैं खुश हो गई और बोली- जरा 5 मिनट रुक, मैं सज धज कर दुल्हन बन जाऊं, फिर सुहागरात का खेल खेलेंगे. फिर मैंने उनकी पैंटी निकाली और गांड पर अपना मुंह ले गया… क्या मजा आया मुझे दोस्तो!और आंटी ‘विक्की… आह्ह औऊ अहह ई उऔउ…’ कर रही थी.

अब धीरे धीरे राहुल के हाथ मेरी चुचियों तक पहुँच चुके थे और वो मेरी चुचियों को अच्छे से मसल रहा था.

फिर भी उसकी कराहें निकल रही थी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’वो एकदम से अपने हाथों से बिस्तर की चादर को पकड़ कर खुद को ऐसे किए पड़ी थी मानो उसकी चूत में कोई धारदार गर्म चाकू घुसा पड़ा हो. चाचा बोले- देखो वन्द्या तुम्हारा फिगर एक नंबर का है, भले ही उम्र कम है तो क्या हुआ, एज से कुछ नहीं होता अभी तुमने एक साथ तीन तीन वो भी बड़े बड़े लंड अपने तीनों होल में डलवाये और पूरी संतुष्ट भी हुईं. फिर बोला- आज के बाद मुझे कभी याद ना दिलाना कि मेरे बाप ने तुम्हारे किसी भी अंग को हाथ लगाया था.

अंग्रेजी मूवी सेक्सी पिक्चर रजत- तो ये पता कैसे चलेगा?मयूरी- तुम दोनों को कोशिश करनी होगी… लेकिन मैं उसके पहले तुम दोनों को जैसे जैसे बताऊँगी वैसे-वैसे ही करना होगा. आँख बंद करके काँपने लगी थीं,मैंने उनके होंठों पर अपने होंठ रख दिए, उन्होंने कुछ नहीं कहा.

मैंने उनकी उत्तेजना को समझते हुए अपना लिंग उनकी चूत पर टिकाया और सीधा उनकी चूत में प्रविष्ट कर दिया. मैं उसके मोटे लंड की ठोकर सहन नहीं कर पाई, मेरा नशा हिरन हो गया और मैं जोर जोर से चिल्लाने लगी. अब मुझे थोड़ा मेकअप का सामान लेना था क्योंकि मैं कुछ भी मिस नहीं करना चाहती थी.

मुस्लिम देसी बीएफ

मैंने अपनी शर्ट उतार दी, तो वो मेरे पास आई और कहा- अरे वाह, तुम तो कसरत करते हो. और इसी मजे के लिए शादी भी करते हैं, सिर्फ इतना ही मजा है जिंदगी का, जिसके लिए गर्लफ्रेंड और बॉय फ्रेंड बनते हैं. जब भी वो बाल्कनी में आतीं तो हम सभी फ्रेंड्स आकर खड़े हो जाते और उनको प्यासी निगाहों से घूरते रहते कि बस एक बार भाभी की मिल जाए.

एक दिन जब मैं मसाज़ करवाने गयी तो जिस लड़की से मैं मसाज़ करवाती थी, वो नहीं आयी थी. कुछ देर बाथरूम में मस्ती करने के बाद मैं रचना को अपनी गोद में उठा कर बेड पर ले गया.

”मतलब?”मैंने मधु का चेहरा अपने हाथों में लिया, उसकी आंखों में आंखें डाल कर कहा- मतलब ये कि टॉपलैस होना पड़ेगा.

वो मुझे जोर देने लगा- चलिए ना मैडम … आप प्लीज चलिए, समोसे खायेंगे!तो मैं मान गयी और मैं और मेरी सहेलियां हम सब लोग समोसे खाने के लिए दुकान में चले गए. वर्ना तुम्हारी मम्मी को बता दूँगी कि तुम उनके पीछे से घर पर क्या क्या करते हो. अब मैं अनु से बात नहीं करता और ना ही करूँगा, आप मुझ पे यकीन कर सकती हैं.

हर कोई तुझे चोदने के लिए पागल रहता होगा, वन्द्या भैन की लौड़ी तेरे से मस्त माल, तेरे से बड़ी छिनाल. मैंने कुछ तेज झटकों के बाद अपना सारा माल उसकी चुत में खाली कर दिया. अब तक की इस चुदाई की कहानी में आपने पढ़ा कि चाचा और मनोहर दोनों मेरी गांड और चुत में लंड घुस्से हुए मुझे धकापेल चोद रहे थे.

मैंने कहा- ठीक है फिर तुम कल से आ जाना और तुम्हें सेलरी अभी 15000 दे जाएगी अगर काम ठीक तरह से किया तो मैं इसको बढ़ा कर पहले 20000 और बाद में 25000 भी करवा दूँगी.

सेक्स बीएफ हिंदी में वीडियो: राहुल ने मेरे टॉप में हाथ डालकर मेरी चुचियों को पकड़ लिया और दबाने लगा. मैंने एक बार और जीभ सेभाभी की चूत को चाट कर थोड़ा गीला कियाऔर अपना लंड धीरे धीरे उसके घुसा दिया.

एक लड़की ने एक सवाल पूछा था कि मैंने निक्की कीगांड क्यों नहीं मारी, तो मैं बता दूँ कि जी नहीं, बिल्कुल नहीं मारी. तो उन्होंने अपने होंठ मेरे होंठों पर रख दिए और मेरे होंठों को चूसने लगे. उधर चाचा मेरे सामने खड़े मैं उनसे नज़रें चुरा रही थी, उनकी तरफ देखने की हिम्मत तो मुझमें थी ही नहीं.

मेरी बीवी मेरी कमर के दोनों बाजू में अपने दोनों पैर रख कर खड़ी हो गई.

फिर क्या था, मैं समझ गया कि हरी झंडी मिल गई है इसलिए मैंने उसके कंधे पे हाथ रखकर उसके सिर को थोड़ा मेरी तरफ घुमाया और उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए. गोद में बैठा कर अपनी सास की चुदाई करने के बाद मैंने सीधे लेट कर उन्हें अपने ऊपर ले लिया. मैंने कोमल का एक निप्पल मुँह में ले लिया और लंड को जोर जोर से पेलने लगा.