सेक्सी बीएफ बड़े बड़े लंड वाली

छवि स्रोत,सेक्स पोर्न देसी

तस्वीर का शीर्षक ,

बांगला बीएफ बांगला: सेक्सी बीएफ बड़े बड़े लंड वाली, मेरे दिमाग में हलचल मच गई थी कि कितना अच्छा लगेगा, जब कोई उसे मेरे सामने छुएगा, उसको चूमेगा, उसके चूतड़ों को मसलेगा और मेरे ही सामने मेरी वाइफ की चूत चोदेगा और वो रंडियों की तरह उस मर्द का लंड अपनी कसी हुई चूत में लेगी.

सेक्सी ब्लू पिक्चर वीडियो पर

मैं सिर्फ उसकी चूत से निकलती हुई गर्म गर्म मलाई की तेज धार को अपने मुँह में जाता हुआ महसूस कर रहा था. पंजाबी देसी भाभीउमैय्या की तरफ़ से कोई रिऐक्शन ना देख कर अगली बार मैंने उसके बायें मम्मे पर हाथ फेर दिया.

दोस्तो, आपको मेरी हॉट ओरल सेक्स कहानी पसंद आई होगी, तो प्लीज़ मेल और कमेन्ट जरूर करें. बफ सेक्सी हड हिंदीफिर से थोड़ा सा ही लंड अन्दर घुस पाया था कि शिवानी फिर से चीख पड़ी.

उनकी निगाहों और बोली से साफ़ समझ आ रहा था कि जिस तरीके से वो मुझे देख रही थीं, उससे तो अभी ही मुझपर टूट पड़ेंगी.सेक्सी बीएफ बड़े बड़े लंड वाली: जब मैं छोटी थी, तब मैंने आपको अंकल की बेटी की शादी में देखा था, तब से मैं आपकी दीवानी थी.

दीदी ने 12वीं के बाद 2 साल कुछ नहीं किया, फिर दो साल के बाद दीदी ने D.हर रात किसी ना किसी से अपनी चुत और गांड मरवाएगी, तो पूरे शहर को मजा देगी.

एचडी बीएफ वीडियो में - सेक्सी बीएफ बड़े बड़े लंड वाली

मैं- बाबू, तुमने अपना स्कार्फ़ क्यों उतार लिया?मेघना- अब मुझे थोड़ा कम्फर्टेबल फील हो रहा था और तुम भी तो यही चाहते थे … तो मैंने उतार लिया.वह दोनों तरफ अपनी टांगें रख कर उसे देखता हुआ सड़का मारने लगा।लण्ड ने सारा वीर्य उसकी चूचियों पर गिरा दिया।सबने बड़ी जोर से तालियां बजाईं।आठवीं पर्ची रूपेश ने निकाली.

उस कागज़ को मैंने निकाला और खोल कर देखा, तो कागज पर मोबाइल नंबर लिखा था. सेक्सी बीएफ बड़े बड़े लंड वाली मॉम थोड़ी देर यूं ही अपनी गांड में डिल्डो लिए कुतिया बनी रहीं और फिर खड़ी हो गई.

एक बार हम लोग एक आउटडोर कैफ़े में बैठे थे, जगप्रीत ने अम्मी के सामने मुझसे कहा- अगर मैं तुम्हारी अम्मी को किस करूं तो तुमको कैसा लगेगा?मैंने कहा- अगर मेरी अम्मी आपको प्यार करती हैं तो मुझे अच्छा क्यों नहीं लगेगा?इस बात से मेरी अम्मी बहुत खुश हो गई थीं.

सेक्सी बीएफ बड़े बड़े लंड वाली?

आंटी बोलीं- मेरे सरताज, अब चाहे चुत को फाड़ो या छोड़ दो … बस मुझे पूरी ताकत से चोद दो. सेक्स कहानी के पिछले भागससुर जी ने बहू की गांड में उंगली फिरा दीमें आपने पढ़ा कि मेरे ससुर जी मुझे नंगी करके मेरी चूचियों के निप्पल चूस रहे थे और मेरी गांड की दरार में उंगली फिरा रहे थे. फिर मेरे होंठों से होंठ लगा कर उसने मेरे मुँह में रम उड़ेलने का सिलसिला शुरू किया.

झड़ने के बाद मॉम विकी के पास में आकर लेट गईं और विकी मॉम के मम्मों के साथ खेलने लगा. वो मद्धिम आवाज में कहने लगीं- आह्ह आह मर गई … तूने तो मेरी चुत आज फाड़ ही दी. अब आंटी केवल काले रंग की रेशमी ब्रा और पैंटी में मेरे सामने लेटी हुई थीं.

तभी दरवाज़े पर दस्तक हुई, मैंने मेघना को बोला- तुम जाओ देखो कौन है!मेघना ने दरवाजा खोला और एकदम से चहकी- अरे कार्लोस तुम … तुम यहां कैसे?कार्लोस- मुझे सर ने बुलाया है. मुझे पता है दीदी आपको एक मर्द की जरूरत है … वो मर्द मैं बन सकता हूं. मैंने कार रोकी और उतर कर दीदी से कहा- दीदी मुझको डर है कि आप कार ठीक से चला भी पाओगी या नहीं!दीदी भी बाहर आई थीं और खामोश खड़ी थीं.

मैंने कहा- अरे फिर?दीदी- हां यार … और मैं चूंकि अपने नीचे के बाल बिल्कुल साफ करके रखती हूँ, तो मुझे अपनी चुत पर स्टिक सनसनी देने लगी. मैंने उसका हाथ पकड़ा और अपनी जांघ पर रख कर कहा- खुजाओ न … रुक क्यों गए?वो मेरी तरफ फिर से देखने लगा.

मेरा कद 6 फुट का है, लंड 6 इंच का है और ये औसत से काफी मोटा लंड है.

मगर मैंने चाचा जी से कहा कि आप कमरे से बाहर जाओ और जब मैं फोन करूं, तब आना.

फिर हम सो गए।दो दिन बाद मैं और मोहिनी वापस अपने शहर, जहां हम काम करते थे आ गये. मैं प्रीति की पीठ के पीछे बैठ गया और इसकी गोरी नंगी पीठ पर हाथ फेरने लगा और चूमने चाटने लगा. वो बहुत ही उत्तेजित हो गया था तो बीस चुप्पे लगाने में ही उसके लंड ने लावा उगल दिया.

हमारा प्यार तीन घंटे तक चला था और हम दोनों ने चुदाई का मस्त मजा लिया था. मगर अब मैं खुद ही उनसे जगप्रीत अंकल के साथ दोस्ती करने के लिए कह रहा था, तो वो राजी हो गई थीं. धीरज बोला- हां मां की लौड़ी, आज मेरे सर तुझे चोद चोद कर तेरी चुत का पूरा भोसड़ा बना डालेंगे.

मैं उससे बिल्कुल सट गया था और अब मेरा लंड भी बुरी तरह फुंफकार मारने लगा था.

मैंने कोमल को उपर उठाके होंठों को चूमते हुए अपने ऊपर आने का इशारा क़िया. अब मुझे कल्पना भाभी की चूत मिलने की उम्मीद पूरी तरह से दिखाई देने लगी थी कि मैं बहुत जल्द कल्पना भाभी को अपने लंड की सैर कराऊंगा. मेरी ट्रेवल सेक्स कहानी पसंद आयी या नहीं? कमेन्ट जरूर करें।अंजलि ठाकुर जम्मू.

फिर वो खड़ी हुई और घुटनों पर बैठ कर मेरे लंड को ज़ोर ज़ोर से चूसने लगी. तभी मैंने नोटिस किया कि वो भी जगी ही है, लेकिन फिर भी मैंने कुछ देर उसे नोटिस करके कन्फर्म किया कि वो भी जाग रही है या नहीं. फिर मैंने उसके होंठों को चूमना शुरू किया और उसके मुँह में अपनी जीभ डाल दी.

उस शॉप के मालिक की पत्नी भी कभी कभी उसकी शॉप पर उसकी हेल्प करने के लिए आ जाती थी.

मेरे मन में कई सवाल हिलोरें मार रहे थे … कहीं शिवानी ने चूत चुदवाने से मना कर दिया तो!लेकिन अगर वो चूत देने के लिए मान गई तो!इन्हीं सवालों के बीच दिन खत्म होकर शाम हो गई. उनके चुचे इतने बड़े थे जैसे वो ब्रा के अन्दर कैद हों और चीख चीख कर कह रहे हों कि हमें आजाद करो.

सेक्सी बीएफ बड़े बड़े लंड वाली भाभी सिसकारियां लेने लगीं- आह उई आह ई चोद दो मेरे सनम … अच्छा लग रहा है. उनकी गैरहाजिरी में मुझे अपनी बहन को अल्ट्रासाउंड के लिए लेकर जाना पड़ा.

सेक्सी बीएफ बड़े बड़े लंड वाली तभी फरीना ने बोला- बेबी बारिश तेज आ रही है, आप पहले से भीगे हुए हो … थोड़ी देर यहां रुक जाओ. हालांकि विजय ने जंप सूट के लिए भी टोक दिया और बोला- कोई फ्रॉक डाल लेतीं!पर सीमा बोली- नहीं, बाहर तुम्हें छोड़ने जाऊँगी, गेट बंद करूंगी, फिर खोलूँगी, इसलिए ये ही ठीक है।वो ब्रा पहन रही थी तो विजय ने नहीं पहनने दी।खुद विजय ने भी अपना कसरती बदन दिखने वाला ट्रेक सूट पहना, बॉडी स्प्रे लगाया.

विकी ने मॉम के चुचों को देख कर अपनी आंखों को फैलाया ही था कि मेरी मॉम ने अपनी गांड को उठा कर विकी के हाथ पर रख दी.

सेक्सी पिक्चर बताइए ब्लू

भाभी चुदाई का सपना देख ही रही हैं, क्यों न मैं अपना लंड भाभी की चुत में पेल कर मजा ले लूं. अब उमैय्या की कच्छी को मैं अपने हाथ में लिए खड़ा था और मेरी उत्तेजना बढ़ रही थी. उसने मेरी तरफ नशीले अंदाज में देखा तो मैं उसको दिखाता हुआ उस उंगली में लगे चुत रस को चाट गया.

मैंने कुछ मिनट तक भाभी की प्यासी चूत को चाटा ही था कि भाभी वासना से तड़फ उठी और उसने मुझे धक्का देकर अपने नीचे लिटा दिया. अब वो बेड पर से उतर कर खड़ा हो गया और मेरे मुँह पर निशाना लगा कर मूतने लगा. पहले छोटा बट प्लग डालना फिर कुछ दिन बाद बड़ा बट प्लग इस्तेमाल करना.

काफी देर तक पार्क में घूमने के बाद हम दोनों बच्चों को लेकर घर की तरफ रवाना हो गए.

इस तरह से बहुत दिनों तक मैं भाभी को नहाते हुए देखता रहा और बस लंड हिला कर खुद को ठंडा कर लेता. विकी की आह निकलते ही मॉम ने उसके लंड को अपने मुंह में भर लिया और ऐसे चूसने लगीं जैसे उन्हें लंड चूसने में कुल्फी चूसने का मजा आ रहा हो. मगर अभी जब भी हम दोनों को मौका मिल जाता है तो मैं भाभी पर चढ़ जाता हूँ और भाभी भी मेरा पूरा पूरा साथ देती हैं.

भाभी ने भी मुझे आंखों से प्यार से देखा और अपने होंठों से वैसा ही एक चुबंन उछाल दिया. मैं उनकी ब्रा के ऊपर से ही उनके बड़े-बड़े मम्मों को दबा रहा था और साथ में उन्हें किस भी कर रहा था. अब आंटी केवल काले रंग की रेशमी ब्रा और पैंटी में मेरे सामने लेटी हुई थीं.

अभी हम दोनों ने 10 मिनट ही बातें की होंगी कि बाहर उमैय्या के ब्वॉयफ्रेंड की कार की आवाज़ आयी. ये देख मां बोलीं- बहू तेरा दूध पीने के कारण देख मेरे बेटे का लंड कैसे बड़ा हो गया है.

कमरे में बस मेरे आंडों के आंटी की गांड से टकराने से ‘फ़ट फट …’ की आवाज आ रही थी. जैसे ही मैं घर में जा रहा था, मुझे वो भिखारी मेरे घर के गेट से अन्दर जाते दिखा. मैं अपनी आंखें नीचे करके बड़े भोलेपन के साथ धीरे धीरे लोवर नीचे कर रहा था.

धीरज ने उठ कर अम्मी और बहन की नाक दबा कर बंद कर दी ताकि वो दोनों पूरा पैग पी जाएं.

हम दोनों की सांसें तेज चल रही थीं और लंड का पानी अन्दर से बाहर निकलने लगा था. इससे पहले मैंने कभी सेक्स नहीं किया था तो मेरी वर्जिन नजरें उसकी खिलती जवानी पर ठहर गई थीं. धीरे धीरे वे एक दूसरे के कपड़े उतारने लगीं।पूरी नग्न होने के बाद वे एक दूसरे के स्तन चूसने और दबाने लगीं.

मैं थोड़ा डर गया।फिर बातें सुनकर ऐसा लगा कि ऐसे ही नॉर्मल बातें कर रहे थे. मैंने पूछा- क्या?वो- एक दिन नशे में वो अपने किसी दोस्त को रूम पर ले आया.

ये वाली कुछ और ज्यादा डरावनी राइड थी तो थोड़ी देर में आंटी मेरे एकदम पास में आ गईं और उन्होंने फिर से अपना एक हाथ मेरी जांघ पर रख दिया. फिर शीला दीदी ने अपने पैर थोड़े और फैला दिए और अपनी चुत को दोनों हाथों से पकड़ कर मेरे लंड के सुपारे को अन्दर घुसने लायक चौड़ा कर दिया. अब दीदी मद्धिम स्वर में बोलने लगीं- वीरा आज जो हुआ, वो किसी से नहीं कहना.

इंडियन बीएफ एचडी वीडियो

ऐसे ही पांच मिनट तक चुत चुदाई करने के बाद सावी भाभी ने अपने जिस्म को अकड़ाते हुए कहा- आह और जोर से करो राजा … आह मेरा होने वाला है.

मैं आप लोगों को बता दूं कि मुझे सिर्फ गांड मरवाने का शौक है, किसी की गांड मारने का नहीं. अब मेरे प्यार का छेद मैं सुनील को समर्पित करने के लिए तैयार थी।अब उसने उंगली में के-वाई जैल लेकर मेरे छेद में लगा दिया।मैं लड़की से औरत बनने की पीड़ा और आनंद का इंतजार कर रही थी. कुछ पतियों को स्त्री से संभोग में मज़ा ही नहीं आता, जिसके अनेक कारण हैं.

मैं खुद नीचे बैठ गया और प्रीति के होंठों को चूमने लगा, उसकी जीभ को अपने मुंह में लेकर चूसने लगा. आंटी काफी गर्म हो गई थीं, वो अपनी टांगें हवा में उठा कर बोलीं- राज, आज सलीम की अम्मी की सुहागरात है. हिंदी में चोदा चोदी बीएफतभी अनिल ने कहा- यार ये साक्षी और गरिमा तो कोई रेस्पांस ही नहीं दे रही.

अब तक मुठ तो मैं मारता था लेकिन आज जो मजा मुझे आंटी के हाथ से आ रहा था, वो मुझे आज तक नहीं आया था. कुछ देर बाद ही मुझे मामीजी शिवानी को साथ में लेकर आती हुई दिखाई दीं.

उस दिन मुझे न जाने क्यों एकदम से ख्याल आया और मैं फेसबुक पर उसको सर्च करने लगा. मैं उसकी कमर से उसकी कच्छी की इलास्टिक में अपनी दोनों हाथों की उंगलियां डाल कर नीचे खींचने लगा. जब कशिश की तरफ से कोई विरोध नहीं आया तो मैंने अपना लंड लोअर के ऊपर से ही धीमे से उसके चूतड़ों के बीच में फंसा दिया.

मेरी बीवी अपनी छोटी बहन कविता और अपनी भाभी भारती के साथ रसोई का काम देखने लगी. मैंने कहा- बाहर तो कोई नहीं है, तो दरवाजा कैसे खुलेगा?उस लड़की ने कहा- मम्मी डैडी कल से घर पर नहीं हैं. दूसरे दिन चाचा जी मेरे लिए साड़ी ब्लाउज पेटीकोट व मेकअप का सामान आदि ले आए और मुझे नारी रूप में सजने के लिए कहा.

अपनी उत्तेजना में वो मेरी क्रियाओं की प्रतिक्रिया में मेरे लंड को निचोड़ने की हर मुमकिन कोशिश कर रही थीं.

वो उस वक्त और भी पागल हो उठतीं … जब मैं मौका देख उनके भगनासे को दांत से खींच कर उमेठ देता. अब मैंने भी भाभी से पूछा- तो फिर?भाभी- फिर … वो तो तुमने रात को मेरे पैर पर अपनी जांघें लगा दीं और तुम थोड़ी थोड़ी देर में मेरे पैरों को सहला रहे थे, तो मैं गर्म हो गई थी.

सफाचट चुत को देख कर मुझसे रहा ही न गया और मैंने अगले ही धीरे से भाभी की चुत पर अपना हाथ रख कर चुत को सहला दिया. तो स्वाति ने पूछा- कहां से मिला?उसे फिर मैंने जेनी के बारे में बताया. पिछले भागरिश्तेदारी में दीदी के साथ सेक्सी मस्तीअब तक आपने पढ़ा था कि दीदी ने घर पर चिकन बनाया था और मुझे डिनर पर बुलाया था.

उसने दरवाज़ा खोला और मैंने देखा कि वो सिंपल सूट में पतली सी लड़की मेरे सामने खड़ी थी, जिसके चुचे और गांड का उभार अभी उठने शुरू ही हुए थे. ससुर बहू Xxx कहानी में पढ़ें कि मेरे ससुर ने मेरी लंड की जरूरत और मैंने अपने कामुक ससुर जी की ठरक को कैसे पूरा किया. कुछ देर इसी तरह चूमा चटाई के बाद मैंने अपना मुंह फिर से उसकी चूत पर रख दिया और उसकी चूत चाटने लगा.

सेक्सी बीएफ बड़े बड़े लंड वाली मैंने दीदी के होंठों को चूमते वक़्त अपने दोनों हाथ उनकी पीठ पर जमा दिए थे और उनकी गांड से लेकर गर्दन तक हाथों से दीदी के जिस्म को सहला कर मजा ले रहा था. मैंने अपने लौड़े की रफ्तार बढ़ा दी और तेज़ी से अन्दर-बाहर करने लगा.

हिंदी सेक्सी बीएफ एचडी सेक्सी बीएफ

मेरी 34 की गांड बाहर को निकली हुई है।बस अपनी रफ़्तार से चल रही थी और अंदर अंधेरा था।अचानक से मुझे लगा जैसे किसी ने मेरी गान्ड पर हाथ लगाया हो।अंधेरे में मुझे कुछ नहीं दिखा लेकिन मुझे अच्छा भी लगा।थोड़ी देर बाद फिर से मेरी गान्ड पर हाथ चलने लगा. अम्मी भी मस्ती में आ गईं और बोलने लगीं- आह मार ले मेरी गांड … मादरचोद मार … बस इतना ही दम है तुम्हारे अन्दर भोसड़ी वाले!पीयूष भी लंड पेलते हुए बोला- आज तो साली मैं तुझे रंडी की तरह चोदूंगा … आह लौड़ा ले हरामन … मैंने कई रंडियां चोदी हैं, पर तेरी जैसी मस्त रांड कोई नहीं मिली अब तक … आह साली तू तो एकदम मियां खलीफा के जैसे बड़े बड़े मम्मों वाली मस्त छिनाल है. इतनी मुलायम चुत को छूकर मुझसे रहा नहीं गया और मैंने उसकी टांगों को फैला दिया.

वो बोली- साले बिल्कुल सांड बन जाता है तू … जरा मुझ पर रहम भी तो कर. मॉम घूम कर भिखारी की तरफ आईं और उसे बिस्तर के किनारे बैठा कर उसका लंड चूसने लगीं. डॉक्टर की बीएफमेरी भाभी और मेरा सम्भोग कई बार हो चुका था, इसी कारण मेरी भाभी मां बनने वाली थीं.

[emailprotected]न्यूड भाभी सेक्स कहानी का अगला भाग:पड़ोसन भाभी को लंड की जरूरत थी- 2.

उसके बाद मैं (रतन) और मोहिनी सोने की तैयारी करने लगे। हमारे तीन पैग खत्म हो गए थे। हमने खाना खाया और सो गए।दोस्तो, आपको ये फर्स्ट टाइम लेस्बियन लव स्टोरी कैसी लगी बताना जरूर!नीचे दिए गए ईमेल आईडी पर अपने मैसेज भेजें।[emailprotected]फर्स्ट टाइम लेस्बियन लव स्टोरी का अगला भाग:एक अनोखी शादी- 3. माल साफ़ करने के बाद उसने अपना अंडरवियर नीचे उतारा और गोटी मेरे मुँह में भरने लगा.

कुछ ही देर में वो गांड में लंड के मजे लेने लगी थी और मस्ती से बोल रही थी- आंह सूरज … ऐसी चुदाई तो मेरे पति ने भी नहीं की थी. अब कब तक मैं बाहर रंडियों को चोदता फिरूंगा?आज मैंने अपना मन पक्का बना लिया था कि अपनी सासू मां की दिल की बेचैनी को अपने लंड की बेचैनी से मिला ही दूंगा. मैं अचानक हुए इस व्यवहार से चौंक गया और खुद को जन्नत में महसूस करने लगा.

झड़ने के बाद मॉम विकी के पास में आकर लेट गईं और विकी मॉम के मम्मों के साथ खेलने लगा.

विकी मॉम की टांगों के बीच में आ गया और उसने मॉम की चुत की फांकों में टपकते रस को अपनी जीभ से चाट लियामॉम की चुत में जैसे ही विकी की जीभ ने अहसास दिया, उनके शरीर में एक सिहरन दौड़ गई और वो ‘आह मर गई विकी … आह …’ बुदबुदाने लगीं. मैंने उसे ज़्यादा ना तड़पाते हुए उसके होंठों पर अपने होंठों रखकर धीरे धीरे अपना लंड उसके चुत में धकेलने लगा. ऐसे हम एक दूसरे से कामुक छेड़खानी करते हुए कब स्टूडियो पहुँच गए, पता ही नहीं चला.

मंस वीडियोमैं अपनी गर्लफ्रेंड फरीना के सामने सिर्फ चड्डी में कम्बल ओढ़ कर लेटा था और वो मेरे सामने अपने गीले कपड़े बदलने के लिए मुझे आंख बंद करने के लिए बोल रही थी मगर मैं नहीं माना और वो मेरे सामने ही किसी तरह से अपने कपड़े बदलने की कोशिश करने लगी. लोगों की नज़र उसे इस कदर नंगी कर रही थी, जिसे देखकर मेरा उसे उसी समय चोदने का मन करने लगा.

देसी सेक्श

मेरे घर आने से पहले भाभी ने मुझे 4 बार कॉल किया था मगर मैं समझ रहा था कि फोन अटेंड नहीं करने से भाभी मुझे बुलाने मेरे घर पक्का आएंगी. काशिफ ने लगभग बीस मिनट मेरी गांड मारी और अंत में अचानक से स्पीड बढ़ा दी. यह नकली लंड कहां मिलता है?जेनी ने नकली लंड यानी स्ट्रेप ऑन डिल्डो सूटकेस से निकाला।हम दोनों नंगी होकर एक दूसरे को चूमने लगीं.

अंकल मुझसे बोले- बेटा तुम्हारी मम्मी टॉयलेट में गिर गई थीं, इस वजह इनकी कमर में कुछ दर्द हो गया है. जेनी की चूत से रस का फव्वारा निकला और उससे मेरा चेहरा भीग गया।ये सब होने के बाद हम दोनों नंगी ही सो गयीं।अब हम दोनों खुल गयी थीं।मैंने जेनी की चिकनी चूत और बड़े स्तनों का राज पूछा।फिर नहाने समय उसने मेरी चूत के बाल साफ किये और उसको चिकनी कर दिया और बोली- ये है मेरी चिकनी चूत का राज!स्तनों के बारे में वो बोली- यह कुछ हद तक आनुवांशिक है. डैड ने ओके कहने के साथ ये भी कहा- वो लोग अपने परिवार से बहुत पहले से जुड़े हैं … यदि तुम हां में जवाब दोगे तो सभी को अच्छा लगेगा.

कुछ देर के बाद जगप्रीत ने अम्मी को पलटा और उनकी गांड में अपना लौड़ा डाल दिया. आंटी की चीख और आंसू एक साथ निकल पड़े।मैंने धीरे धीरे आंटी की गांड चुदाई शुरू कर दी और उनकी पीठ चूमने लगा।कुछ देर में आंटी का दर्द कम हो गया था. मैंने अपना मुंह सीधा उसकी बुर के दाने पर टिका दिया और उसकी बुर चाटने लगा.

मैं प्रीति की पीठ के पीछे बैठ गया और इसकी गोरी नंगी पीठ पर हाथ फेरने लगा और चूमने चाटने लगा. मैं थोड़ा दूर बैठा था, पर थोड़ी देर में मौसी एकदम मेरे पास को खिसक आईं.

कुछ देर बाद साई हट गया और मैंने सोमू की गांड चाटना फिर से शुरू कर दिया.

रास्ता बहुत ख़राब था, जिसकी वजह से मेरी बहन की चूचियां मुझे मेरी पीठ पर रगड़ती हुई महसूस हो रही थीं. भाई बहन की चुदाई बीएफ‘आह मार डाला रे ईईईईई … साले मादरचोद … रुक जा सांड … ऊऊऊहह मेरी फट गई आह मर गई … आराम से कर … भोसड़ी वाले मार ही डालेगा क्या?’वो गाली देती हुई ऐसे ही बोलती रही. बॉस की चुदाईमैंने उसकी टांगों को मेरे कंधे पर रखा और चूत के छेद में लंड पेल दिया. एक सीख आपको भी देना चाहता हूँ किगर्लफ्रेंड को चोदने की कोशिशजरूर करना.

इस पूरी सफाई के दौरान मुझे उसकी ढीली टी-शर्ट और हाफ लोअर के कारण उसके मम्मों के और ठुमकती गांड के खूब दर्शन हुए, जिससे मेरा लंड खड़ा हो गया और तौलिये में से दिखने लगा.

हालांकि भिड़े अभी भी थोड़ा असहज महसूस कर रहा था लेकिन अब बात उसके हाथ से निकल चुकी थी. पापा मम्मी के ऊपर लेट गए और कमर आगे पीछे करके मम्मी की चुत में लंड के झटके देना शुरू कर दिए. मैंने कहा- नफीसा आंटी ये सब क्यों कर रही हो?ये कहते हुए मैं उनके पास को चला गया.

मतलब सुपारे के बाद दो इंच अन्दर घुसा था और इसके नीचे का पूरा डंडा चुत के अन्दर जाना बाकी था. मेरे पास ज्यादा दिन नहीं थे क्योंकि सब लोग कुल 8 दिन के लिए ही गए थे. मैं पीछे से आगे हाथ किये हुए था और दीदी के दोनों निप्पल्स मींजते हुए बोला- मैं दूध भी निकाल दूंगा, इसमें कौन सी बड़ी बात है.

एक्स एक्स एक्स हिंदी इंग्लिश

अब भाभी निकलने वाली हो गई थी, तभी मैंने अपनी रफ्तार को अपनी क्षमता के शिखर तक तेज कर दिया. कुछ ही देर बार पारूल को नींद आने लगी … तो वो उठकर रूम में सोने चली गई. दीदी के बड़े बड़े बूब्स उनके मजबूत हाथों से मसले जा रहे थे, ये देख कर मुझे भी मजा आ रहा था.

मैं- हां दीदी … मैं किसी से कुछ नहीं बोलूंगा, पर एक बात बोलूं?पूर्णिमा दीदी- हां बोलो.

तो मेरी बीवी मजाक से बोली- रहने दे प्रीति, इन्होंने आज दूसरी कॉफ़ी पी हुई है.

वो बड़बड़ा रही थीं और मैं उन्हें सड़क छाप कुतिया समझ कर चोदे जा रहा था. उनकी दबी सी आवाज कमरे में आ रही थी- आह आह राज और तेज़ तेज़ अन्दर तक जाने दो … और अन्दर आहह!मैंने अपने लौड़े को चौथे गियर में डाल दिया और गपागप गपागप गांड मारने लगा. हिंदी में सेक्सी हिंदी में सेक्समैंने प्रीति को मजाक करते हुए कहा- काँग्रेट्स प्रीति … तुमने बताया नहीं कि तुम्हारी शादी होने जा रही है.

स्वीट गर्ल सेक्स कहानी मेरे पापा के ख़ास दोस्त बेटी की गर्म चूत की चुदाई की है. फिर अम्मी ने फोन रख दिया और रसोईघर में सबीना को बुला कर बोलीं- देख धीरज 12 बजे आएगा. धीरज मेरी अम्मी से बोला- साली उस दिन तो मैंने तेरी भट्टी में छोड़ा था … तब तो तू कुछ नहीं बोली थी.

पूरा लौड़ा चुत में जाने के बाद मैं अब हल्के हल्के धक्कों से आगे पीछे करने लगा. कब हम ‘आप’ से ‘तुम’ पर आ गये पता ही नहीं चला।मोहिनी ने पूछा- रतन, कभी किसी लड़के के साथ आपका शरीर का संबंध हुआ है?मैंने बताया- मैं और मेरा दोस्त दो साल तक पति पत्नी की तरह रह चुके हैं.

फिर मैंने उसकी स्कर्ट को उतार दिया और बिना पैंटी की चुत पाकर खुश हो गया.

दूसरी तरफ शायद दीदी भी मेरी सख्त पीठ से अपनी चूचियों की रगड़ का अहसास ले रही थीं. चुदाई में थप थप की आवाज़ आ रही थी।जेनी सिसकारी ले रही थी और बोल रही थी- और जोर से … आह्ह … कमॉन फास्ट … आह्ह … हार्ड … फक हार्ड।मैं और जोर से चोदने लगी. अंकल मुझसे बोले- बेटा इसमें थोड़ा टाइम लगेगा, तुम बाहर जाओ, हम दोनों अभी आते हैं.

xx.com बीएफ ‘शश …’ माधवी ने झुक कर अपनी उंगली भिड़े के होंठों पर रख कर उसे चुप करा दिया. वो भी मेरे साथ चुदकर खुश हो जाती थी और जितनी बार मैं उससे चुदाई के लिए कहता, वो झट से राजी हो जाती.

जब उसका मूतना हो गया तब विक्रम ने सुनीता को कहा- चल कुतिया अपना कुर्ता उठा और सब साफ़ कर।बेचारी सुनीता ने अपना कुर्ता उठाकर डरते हुए सारा मूत कुर्ते से पौंछ दिया।तभी मैंने देखा कि सोमेश नंगा होकर साक्षी के पास अनिल के साथ खड़ा हो गया. मेरी अम्मी धीरज से बोलीं- इसका हथियार तो काफी बड़ा है … मैं तो मर ही जाऊंगी. मैंने उनकी तरफ देखा तो उनके गालों पर लालिमा आ गई थी और नजरें झुकी हुई थीं.

हिंदी में सेक्सी वाला बीएफ

मेरे मन में आया ‘भाभी जरा चूत चटा दो!’हाय दोस्तो, मैं शुभम चौधरी हाजिर हूं अपनी अगली कहानी लेकर!मेरी पिछली कहानी थी:पड़ोसन युवती को लगी प्यार की लतयह नयी कहानी है मेरे गांव की हॉट भाभी गुलाबो के बारे में! मैंने कैसे पड़ोसन भाभी की चुत चाटी. उनकी 36 इंच की उठी हुई पहाड़ जैसी चुचियां थीं, कमर 34 इंच की और गांड का इलाका 38 इंच का था. विकी- ठीक है मेरी जान तो देखो … आज मैं तुम्हें कैसे मजे करवाता हूं.

अगले दिन मैं फिर क्लास में नहीं गया तो मैम ने मेरे दोस्तों से पूछा. अब मैं भाभी को सहलाने लगा और कुछ देर के बाद मैंने उनके बूब्स भी दबाने शुरू कर दिए.

मैं 27 साल की हूँ, मेरे मॉम डैड दोनों जॉब करते हैं, मैं अपने मॉम डैड की एकलौती पुत्री हूँ.

Xxx सिस कहानी के पहले भागमेरी सेक्सी बहन की जवानी की गर्मीमें अब तक आपने पढ़ा था कि मैंने बहन को अपनी गोद में बिठा कर कार सिखाने की कोशिश की थी, जिससे मेरी दीदी वासना की आग में जलने लगी थीं. थोड़ी देर बाद भैया-भाभी दोनों बेड पर लेट गए थे और भाभी उनसे बात कर रही थीं कि अब तो आप अगले हफ्ते से सात दिन के बाद ही वापस घर लौटोगे, तो मैं अपनी प्यास का क्या करूंगी. पर किसी को इस बारे में बताना मत!मैंने आंटी से कहा- आंटी, ठीक है।तब तक मेरा लंड मुरझा चुका था।आंटी ने मेरा लंड अपने मुंह में लिया और चूसना शुरू कर दिया.

मैंने ऐसा वीडियो लगाया था जिसमें दो लड़कियां छोटे कपड़े पहनकर कुश्ती लड़ रही थीं।फिर जो लड़की जीती उसने दूसरी के कपड़े उतारे, उसके बदन को चूमा और उसकी चूत को चूसा।फिर जीतने वाली लड़की डिल्डो स्ट्रैपऑन पहनकर, हारने वाली की चुदाई करने लगी. लंड घुसते ही भाभी के मुँह से जोर की चीख निकली- आआंआह … हाय बेदर्दी ने मार डाला … आंह साले तू इंसान के भेष में क्या खच्चर है माँ के लवड़े … जो इतना बड़ा लंड लगा रखा है. ज़ाहिर सी बात है कि ये उमैय्या की कच्छी थी जो शायद अभी नहा कर गयी थी क्योंकि बाथरूम अभी भी गीला था.

अब वो जब भी नीचे झुकती, उसके बोबे मुझे हवा में झूलते हुए दिखते और जब भी मेरी तरफ पीठ करके झुकती उसकी मोटी गांड पर पहनी हुई चड्डी की पतली पतली स्ट्रिप दिख जाती, जिससे उसकी चड्डी का शेप साफ़ दिख रहा था.

सेक्सी बीएफ बड़े बड़े लंड वाली: आप सभी को मेरा नमस्कार, मैं लकी सिंह, फिर एक बार आप लोगों के सामने हाजिर हूँ. मैंने उससे पूछा कि ये क्या है?तो वो बोला- ये तुमको पहली बार में ही मजा देगा.

मेरे दोनों हाथों में मेरी सासू मां के दोनों नारियल थे और मैं हचक कर अपनी सासू मां की चुत में लंड पेल रहा था. मैं रात के मैसेज पढ़ कर समझ गया था कि राजेश जी भी दीदी को पसंद करने लगे हैं. तो मैं बोला- तुम्हारी दीदी सेक्स करने में मेरा खुल कर सहयोग नहीं करती, न तो वो कभी मेरा लन्ड चूसती, कभी कभी तो मुझे अपनी चूत भी नहीं चाटने देती.

तब तक वो अल्मारी से एक ड्राईफ्रूट्स का डिब्बा लाकर मेरे बाजू में बैठ गई.

मुझे तो ऐसा लग रहा है कि आज आसमान फट ही जाएगा आह … आह … दक्ष मैं आने को हो गई. फिर हम दोनों ने एक दूसरे को चूमना शुरू कर दिया और हमारे कपड़े प्याज के छिलकों की भांति उतरते चले गए. मैंने कहा- तूने कभी किसी लड़के का लंड देखा है आज से!उसने ना में जवाब दिया.