बीएफ फिल्म ब्लू बीएफ

छवि स्रोत,देहाती बीएफ जबरदस्ती

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी बॉयज: बीएफ फिल्म ब्लू बीएफ, मैंने मजाक में कहा- अच्छा भाभी, मैं ले आऊंगा मगर ये तो बताओ कि इसे कहां और कैसे लगाते हैं?ये भाभी हंस कर बोली- आप ले आना तब बता दूँगी.

हिंदी बीएफ सेक्सी हिंदी फिल्म

धीरे धीरे हम दोनों के सब कपड़े उतर गए, दोनों नंगे आपस में लिपटे हुए थे. औरत की बीएफ सेक्सीएक मिनट बाद उसने आंखें खोलीं और अम्मी से बोला- तेरा घर भोग मांग रहा है.

मैंने कहा- ये दवा किधर से आई?उसने बताया कि मेरे अब्बू यूनानी हकीम हैं, सब मर्ज का इलाज करते हैं. मुसलमानी बीएफ सेक्सी फिल्मएक बार मैंने चाची को मम्मों के ऊपर पेटीकोट बांधे देखा तो …दोस्तो, मैं राज उत्तर प्रदेश के एक छोटे से जिले से हूं.

मैंने उन्हें अपनी बांहों में उठा लिया और हम दोनों बाथरूम में पहुंच गए.बीएफ फिल्म ब्लू बीएफ: इतने में मंजू बोली- बुआ, मेरे पति ने तुम्हें शादी में देखा था, तभी से वह कहते हैं कि तुम्हारी बुआ मस्त माल हैं.

मैंने घर वालों को यह कह कर मना लिया कि मैं शादी में मामी के सामने नहीं जाऊंगा.आपको गोदी में बैठा देख कर भी तो कोई कुछ कह सकता है, तो गुब्बारे से खेलने में कोई क्या कहेगा.

बीएफ सेक्सी वीडियो सील तोड़ने वाली - बीएफ फिल्म ब्लू बीएफ

जबकि उसकी अम्मी ने जल्दी से गाउन पहन लिया और वो गेट की तरफ चली गईं.ऐसे में मैंने सोचा कि ममता भाभी को पटाने की कोशिश की जाए, मेरी उनसे बात नहीं होती थी.

तब मैंने उसकी ब्रा भी निकाल दी और एक दूध को अपने मुँह में लेकर चूसने लगा. बीएफ फिल्म ब्लू बीएफ ये सुन कर भाभी बोलीं- अरे यार, अभी तो लड़का जवान हुआ था और तुरंत ही उसका लंड काट दिया.

जब मैं उनको रोमा आंटी बुलाता था तो वह कभी-कभी मजाक में बोलती थीं- मैं तुम्हें आंटी किस एंगल से लगती हूं?मैं इस पर बोलता कि आप मेरी फ्रेंड की मम्मी है इसीलिए तो आपको आंटी ही बुलाना पड़ता है.

बीएफ फिल्म ब्लू बीएफ?

उसका बॉयफ्रेंड अंकुश मेरी चूत को चोद रहा था और हाथ के अंगूठे से मेरी चूत के दाने को सहलाए जा रहा था. हवलदार बोला- अभी रुक रंडी, अभी तेरी गांड भी मारनी है मुझे, खुली रही तो मजा नहीं देगी. मैं बेशर्म होकर मंजू से बोली कि तुम हटो, मुझे एक बार और चुदाई करवाना है.

मैं- यदि मैं झेल नहीं पायी तो मैं कोड वाक्य ‘सोमवार …’ बोलूंगी, तब सब रुक जाना. वो भी इतनी बड़ी वाली रांड थी कि कभी भी मेरी चूत को छूने का मौका नहीं छोड़ती थी. इतना कहकर वो पानी लेने चली गई और फिर से आकर मेरी चूत में उंगली करने लगी.

34डी नम्बर की ब्रा को नाक के पास लाकर उसकी मनमोहक खुशबू ली और उसके बाद उसकी चड्डी को उठाया. मगर अनजान बनते हुए अमन ने कहा- क्या देना पड़ेगा?नेहा ने कहा- जरा देखो तो इस बहन के लंड को … कैसे अनजान बन रहा है, जैसे कुछ पता ही ना हो. [emailprotected]रोड सेक्स हिंदी कहानी का अगला भाग:मन्त्री जी के फार्म हाउस में मेरी बीवी- 2.

उनके मुँह से मादक सिसकारियां निकलने लगीं और उनकी चूची मेरे हाथ से दबी जा रही थी. मैंने अपनी आवाज में नर्मी ला कर कहा- शाम को कितने बजे तक अरुणिमा को पहुंचवा देंगे आप?विश्वेश्वर जी बोले- क्या बात है, बड़ी चिंता हो रही है.

मैंने भी उसकी कच्छी में हाथ डाला और मैं भी उसी तरह उसके बड़े बड़े मुलायम चूतड़ दबाने लगी, जिससे हम दोनों को बहुत मजा आ रहा था.

उनका हाथ बहुत मुलायम था और हाथ का स्पर्श पाकर मेरा लंड कड़क होने लगा था.

आंटी ने अपना एक हाथ मेरे गाल पर रखकर पूछा- क्या सोच रहे हो?मैंने उनसे पूछा- आपको किस तरह का प्यार मुझसे चाहिए रोमा जी?इस बात पर वह मुस्कुराती हुई बोलीं- तुम कोई बुद्धू तो हो नहीं कि तुम्हें हर बात मैं खुल कर समझाऊं? मैं तुम्हारे सामने हमेशा इतनी अच्छी तरह से बन-ठन कर रहती हूं, इससे तुम्हें क्या लगता है कि मैं क्या चाहती हूँ. वो बोली- मेरी जान मार ही डालोगे क्या, आराम से करो, मैं कहाँ भागी जा रही हूँ?मैं- मेरी रानी अब कंट्रोल नहीं होता, अब तेरी बुर का भोसड़ा बनने दे. उसने अरुणिमा को फिर से गाड़ी से बाहर निकाला और सीट पर कोहनी रख कर झुक कर खड़े होने को बोला.

मैं और रिया बहुत बुरी तरीके से एक दूसरे को ऐसे किस कर रही थी जैसे कि हम एक दूसरे को खा जाने वाली थी. कुछ टाइम बाद उन्होंने मेरा लंड पकड़ा और लॉलीपॉप की तरह गपागप चूसने लगीं. मैं धीरे धीरे उसकी चड्डी को नीचे की तरफ सरकाता रहा और चड्डी को निकाल दिया.

कभी हाथ चूचे पर, तो कभी नाभि पर, कभी चूत पर, कभी उनके चूतड़ों पर … ऐसे ही 2-3 मिनट तक चलता रहा.

मैंने उससे कहा- आपके और दोस्त होंगे, उनको भी इस तरह के मदद की आवश्यकता होगी तो उन्हें मेरा सुझाव दे दीजिये. मैं सजनी से लड़की के रूप में कोर्ट में शादी कर लेता हूँ, मेरी कोई बीवी नहीं है. ज्यादा लोगों ने तो नहीं देखा मगर मोहित और रिया ने नेहा को मेरे बूब्स दबाते हुए देख लिया.

यहां हमारा अलग घर था, जिसमें मैं अपनी मम्मी पापा और बहन के साथ रहता हूं. जैसे ही मैंने चूत के अन्दर लंड पेला, उनकी घुटी हुई चीख निकल गई ‘आंह मर गई … ज़रा धीरे पेलो. चौधरी जी ने अपने लंड पर तेल लगाया, मेरी गांड की छेद पर रखा और कहा- गांड ढीली करो.

मैंने उससे पूछा- आप मेरी बाइक पर जाएंगी तो आप भीग जाएंगी क्योंकि मेरे पास रेनकोट नहीं है.

[emailprotected]वाइब्रेटर सेक्स का मजा कहानी का अगला भाग:पड़ोसन भाभी के साथ चुदाई का मजा- 2. अरुणिमा की चूत में एक लंड, मुँह में दूसरा और दो लड़के उसके निप्पल्स को चूस रहे थे.

बीएफ फिल्म ब्लू बीएफ मैंने उससे कुछ पूछना चाहा तो वो मुझे नजरअंदाज करके अपने फोन से किसी से बात करने लगी. उसके होंठों को चूसते चूसते मैंने अपनी जीभ उसके मुँह में डाल दी और हम एक दूसरे की जीभ का रस चूसने लगे.

बीएफ फिल्म ब्लू बीएफ दोस्तो, आप सभी ने मेरी अब तक की सभी कहानी पसंद की हैं और उम्मीद है आगे भी करोगे. इधर रूबी भाभी बार बार फोन करके पूछ रही थीं कि रूम की व्यवस्था हुई कि नहीं.

दोस्तो, ये थी मेरी अफ्रीकन नीग्रो के लम्बे मोटे लंड से चुदाई!आपको कैसी लगी नीग्रो सेक्स कहानी… प्लीज़ मुझे मेल करके जरूर बताएं.

लड़की की चुदाई का वीडियो दिखाओ

तभी मैंने अपनी एक आंख को हल्का सा खोला और मेरा ध्यान गया कि मंजू का एक हाथ उसकी चूत में है. बाबा ने अम्मी को अपनी गोद में बिठा लिया और वो अम्मी के दूध दबाते हुए उन्हें चूमने लगा. मुझे लगा कि दस मिनट बाद वो लोग आ जाएंगे, पर इंतजार करते करते लगभग एक घंटा हो गया, लेकिन वो नहीं आए.

फिर जो कैमरा मैंने बेड की तरफ मुँह करके पहले से फिट किया था, उसको ऑन कर दिया. यह देख कर मुझसे भी रहा नहीं गया; मैंने भी अपनी लॉन्ग टी-शर्ट उतार दी और मैं भी नंगी हो गई. मैंने पूछा- फिर आग कैसे बुझाती है?वो अपने जिस्म को हिलाकर होंठ काटने लगी और चुप हो गई.

मैंने मौके का फायदा उठाया और पूछा- आंटी, अभी तक आपने सिर्फ अंकल के साथ ही सेक्स किया है या किसी और को भी चखा है?आंटी हंसने लगीं और बोलीं- हम दोनों ने मिल कर बहुत बार कपल स्वैप भी किया है और कभी कभी आनन्द ने मुझे यंग लड़कों से अकेले चुदने का मजा दिलाया है.

रोशनी भाभी के मेरी जांघ पर हाथ रखने से मेरे अन्दर भी आप वासना उफान मारने लगी थी. चार से उसने खुद को थोड़ा आगे निकाला, छह-पांच से मैं भी एक लंबी छलांग मारकर उसके करीब जा पहुंचा. तुम्हें छूने से पहले तक मुझे भी नहीं पता था!” मैंने एक और चुम्बन के साथ उसे जवाब दिया।मैं रोशनी को कसकर किस करने लगी.

लेकिन जब से वह शहर आई थी, तब से वह देख रही थी कि विकास में भी धीरे-धीरे उसके प्रति बदलाव आया था. इस बार मैं अपने दोस्त के घर गया तो वहां मेरी बीवी उसके अंकल से चुद गयी. सामने बैठी अरुणिमा अपनी जांघों को फैला कर उनको अपनी चूत दिखाने लगी.

यदि मेरी इस जवान सेक्स से भरी आत्मकथा आपको अच्छी लगी हो, तो जरूर मेल करें. मदन जी और मैंने मिलकर एक प्लान बनाया कि कैसे उन चारों से शादी की बात की जाए और शादी के बाद कैसे रहा जाए.

भाभी- क्या हुआ यार … तुम अभी तक ऐसे ही पड़े हो?मेरी आधी नींद तो पहले ही जा चुकी थी और आधी नींद भाभी को सजी धजी देख कर चली गई. आज भी कविता और मेरा रिश्ता वैसे ही चल रहा है और मौका मिलते ही मैं कविता को चोद देता हूं. ये सब देख सुनकर मैं चुपचाप बाहर गया और विश्वेश्वर जी को कॉल करके सारी बात से अवगत कराया.

हाथ उनको पकड़ने के लिए भागे और मन सोच रहा था कि साले चूतिया इनको अभी तक क्यों भूला हुआ था.

मैंने ज्योति को घुमा दिया और ऐसे ही उसकी ब्रा की हुक के पास उसकी पीठ को चूस रहा था और आगे से रोहित उसे चूसे जा रहा था. मैंने विस्मय से आंटी को देखा और कहा- अरे वाह आंटी … आपने तो घाट घाट का पानी पिया है. उसने मेरी चिल्लपौं को कैमरे में कैद किया और मुझसे कहा- चुप रहो, अगल बगल वालों को भी जगा दोगी क्या?मैंने मुँह पर हाथ रख लिया.

वो बोली- आपका तो बहुत बड़ा है साहब … मेरे मर्द का इतना बड़ा नहीं है. वहां पहुंचने के बाद मैंने देखा कि किशोर शराब के नशे में चूर था क्योंकि उसे शराब पीने की आदत थी.

एक दिन उसने दोपहर में मुझसे कहा कि भैया आपके फोन में वीडियोज हैं क्या!मैंने उसे सॉंग्स और मूवी के वीडियो ओपन करके दे दिए. अब मैं उसके पैरों के पास आ गया और उसके पैरों के अंगूठे को अपने मुँह में लेके चूसने लगा जिससे उसके मुँह से एक जोर की आह निकली. मैंने देखा कि ज्योति की जवानी की आग पूरी तरह जलने लगी थी और उसकी पैंटी चूत के ऊपर से गीली हो गयी थी.

ब्लू पिक्चर एक्शन

अंकल ने गाली देते हुए मेरी साड़ी खींच ली- हाँ भैन की लौड़ी, आज तेरी चूत का भोसड़ा नहीं बनाया तो कहना.

दोस्तो, मैं आपका दोस्त असलम, कैसे हो … उम्मीद करता हूँ कि आप सब ठीक होंगे. अभी मेरी तमन्ना पूरी नहीं हुई थी मुझे उसकी गांड की भी चुदाई करनी थी क्योंकि उसकी गांड का गुलाबी छेद मेरे मन को भा गया था. उसका एक बॉयफ्रेंड भी था जो बहुत लंबा तगड़ा था और वो भी बहुत बदतमीज था.

मैं एक पल को चौंका और बोला- क्या मतलब?‘मैंने और कुछ नहीं पहना, अब मैंने नहीं उतारनी बस … तू चाहे और कुछ करने को बोल दे!’उसने फरमान सुनाते हुए कहा. भाभी- आह … मजा आ रहा है … और जोर से चोदो मुझे … आह … फक मी …मैं- भाभी कैसा लग रहा है?भाभी- बहुत अच्छा लग रहा है राजा. हिंदी बीएफ फुल एचडी बीएफसंजना बोली- जान, अब मुझे अपना बना लो … हमेशा के लिए मेरे अन्दर समा जाओ.

ऑफिस से वापसी में मैं अगर जल्दी फ्री हो भी जाता … तो उसका इंतजार कर लेता था. संजना- मैंने आज तक आप से सिर्फ बात की थी, आपको समझा और अपना तलाक करवा कर हमेशा के लिए आपके पास आ गई हूँ.

हमारे बीच की चुप्पी तोड़ते हुए उसने कहा- आगे खेलें अब!मैंने हामी भरी और फ़ोन आगे रखा. मैं पहले नहाने के लिए गया और कपड़े उतार कर मैंने अभी नहाना शुरू ही किया था, इतने में वो मेरे पीछे आकर मुझसे चिपक गई. मैंने उसकी सलवार का नाड़ा खोला और उसकी सलवार को उसके घुटनों से नीचे कर दिया.

सर्दी से गीले बालों की वजह से ठिठुरन हो रही थी तो मैंने दोनों के बाल ड्रायर से सुखाए. रोहित बोला- यार देखो, हम दोनों आपकी कहानियों के फैन हैं और आपसे पहली बार मिल रहे हैं. वो भी अपनी गांड को मेरी तरफ उठा उठा कर अपनी चूत को मेरे लंड से खाने की कोशिश करने लगी.

मैं- अभी ले मेरी जान!मैं उसके ऊपर आ गया और उसकी फुद्दी पे अपना लंड लगाया और एक जोर का धक्का लगा दिया.

‘बाबू को मम्मी का दुधु पीना है? नहीं आ रहा मुँह में? पापा को बोलो जोर से चोदे मम्मी को … तब तो दुधु आएगा. उसने मेरे साथ एक समझौता किया कि एक दिन वो मेरे साथ अपनी मर्जी का सेक्स करेगी, दूसरे दिन मैं उसके साथ अपनी मर्जी का सेक्स कर सकता हूँ.

जैसा कि बुआ की सहेली ने पहले ही बच्चों को अपने पास रखने की शर्त बुआ को पहले ही बता दी थी. देर न करते हुए मैंने एक स्तन को हाथों में भर लिया और दूसरे को हाथ से सहलाया. चुदाई ज्यों ज्यों आगे बढ़ रही थी, नेहा का दर्द अब आनन्द में बदलने लगा था.

मैं जब झुककर नाश्ते की प्लेट किसी पति को देती, तो ब्लाउज से मेरा आधे स्तन दिखने लगते. आप सभी लोगों ने मेरी पिछली सभी सेक्स कहानीडॉक्टरनी और नर्स की चूत चुदाई का मजापढ़ीं और मुझे बहुत प्यार दिया, उसके लिए मैं सभी पाठकों का धन्यवाद करता हूँ और उम्मीद करता हूँ कि इस बार भी मुझे इतना ही प्यार मिलेगा. मैंने पूरी प्लानिंग कर ली और सुबह 5:00 बजे की ट्रेन से गुंटूर निकल पड़ा.

बीएफ फिल्म ब्लू बीएफ कुछ देर बाद भाभी बुआ की चूत को चाटने लगीं और बुआ मेरे लंड को चाटने लगीं. वो लंड पर थूक लगा कर उसे मस्त कर रही थीं और बार बार मुँह में लेकर चूस रही थीं.

पॉर्न वीडियो न्यू

रिया ने कहा- बहनचोद पागल है, अगर इससे उनकी गांड मारी तो डिल्डो गांड में जाएगा, मगर आंखों की गोटियां बाहर आ जाएंगी. उन्होंने मुझे घर से चले जाने की कह दिया था और वो तीनों मेरी बीवी की चूत गांड की प्यास बुझाने लगे थे. मेरी बात सुनकर वो झट से खड़ा हो गया लेकिन उसकी नजर मेरी चूचियों पर थीं.

उसके मुँह में से लार ही लार निकल रही थी और उसका मुँह एकदम लाल हो गया था. सर से नीचे आते बालों में से उसके निप्पलों का उठान देखकर कोई भी पागल हो सकता था. गुजराती बीएफ दिखाओफिर मामी ने मेरे हाथों से अपने हाथों को छुड़ाया और मेरा मुँह अपने स्तन से हटाने लगीं.

मेरे चाचा ट्रांसपोर्ट का काम करते हैं, इसलिए वो काम के सिलसिले में अधिकतर बाहर रहते हैं.

क्या चूत थी यारो!पहले मेरा चूत चाटने का मन नहीं था लेकिन उसकी पिंक चूत देखने के बाद मेरा मन मान नहीं रहा था. अभी चुदाई चल ही रही थी कि एक नौकर आया और अरुणिमा से बोला- मैडम, आपको बाहर बुला रहे हैं.

दोस्तो, मेरी हमेशा से कोशिश रहती है कि आप लोगों तक एक सच्ची और मजेदार सेक्स कहानी लेकर आऊं, जिसे आप लोग मजे लेकर पढ़ें और अपनी भागदौड़ भरी जिन्दगी में कुछ पल के लिए सेक्स कहानी का भरपूर मजा लें. नेहा ने खुद को छुड़ाया और बोली- साली बहनचोद ये क्या था?आयेशा ने कहा- ये मेरी नींद ख़राब करने की सजा थी!नेहा एकदम से भौचक्की रह गयी. मैं तेज कदम से उनकी तरफ जा रहा था, पर मेरे आधे रास्ते पहुंचने से पहले उनकी गाड़ी निकल गई.

फिर वहां अचानक से शांति हो गयी और लगभग 5 मिनट तक कोइ हलचल नहीं हुई.

भाभी बोलीं- उठ गए, तेरे मोबाइल का अलार्म या घंटी, पता नहीं क्या बज रहा है. तब तक खाने का समय भी हो रहा था, हम सबने कपड़े दोबारा पहन लिए।आधे घंटे बाद बस ढाबे पर रुकी, तब दोपहर के ढाई बज रहे थे।हमने खाना खाया।मैं दीपक की ओर रोशनी धीरज की बांहों में सिमट के सो गई।बस से उतरने से एक घंटा पहले दीपक और धीरज ने हमें बच्चा रोकने की दवा खिलाई. मैंने भाभी की बुर की फांकों के बीच में अपना लंड फंसाया और उनकी कमर को पकड़ कर एक जोरदार का धक्का लगा दिया.

सेक्सी पिक्चर इंग्लिश में बीएफमैंने कहा- क्या हुआ था जान? तुम तो खेली खाई थीं न!वो मेरी आंखों में झांकती हुई ना में सर हिलाने लगी. मुझे गुस्सा आ रहा था तो मैंने तुरंत विश्वेश्वर जी को कॉल करके उनको स्थिति से अवगत कराया.

बीएफ पिक्चर मुसलमानी

गुंटूर जाने के एक दिन पहले मैंने ओयो से एक फाइव स्टार होटल में रूम बुक कर लिया. मैं जल्दी से सही करके मीटिंग अटेंड करने पहुंचा और उधर से बहाना मार कर जल्दी ही बाहर हो गया. दोस्तो, सही मायने में बताऊं तो मैं चाहता था कि अगर दोनों सेक्स करने वाले हों, तो मैं ऐसे समय में अन्दर जाऊं कि दोनों मुझे बिना कपड़ों के मिलें.

अब मैंने अपने लंड में दबाब बनाया और संजना की गांड में अपना लंड डालने लगा. अब मैं झट से उठा और जो डेयरी मिल्क मैं लाया था, वो मैंने विनी को दे दी. उसका विकराल लंड देखकर मैं सिहर गई और सोचने लगी कि मैं तो समझ रही थी कि ज्यादा बड़ा नहीं होगा, लेकिन उसका लंड उसके शरीर के अनुपात से काफ़ी ज्यादा बड़ा था.

जब से मैं उससे मिला था, तब से मेरा लंड उसे देख के बेकाबू था और मैं अपने लंड को एडजस्ट कर रहा था. अन्दर के गेट के ठीक सामने अरुणिमा घुटनों के बल बैठी थी और गुरबचन जी का लंड चूस रही थी. मैंने पूछा- भाभी, क्या हुआ था, आपके और पिंकी भाभी के बीच में, जो आप बता रही थीं.

फिर अचानक से ऊपर स्टेज पर भीड़ जमा होने के कारण वो स्टेज से नीचे आ गई और अपनी एक सहेली के साथ ठीक मेरे सामने ही आकर खड़ी हो गई. तब मैंने उसकी ब्रा भी निकाल दी और एक दूध को अपने मुँह में लेकर चूसने लगा.

शुरुआती धक्कों में नेहा को थोड़ा सा दर्द हुआ लेकिन उसके बाद नेहा ने लंड के मजे लेना शुरू कर दिया.

उन दोनों ने मेरी अम्मी और बहन की टांगें चौड़ी की और दोनों ने अपना अपना लंड अम्मी और बहन की चूत में पेल दिया. की चुदाई बीएफअब मैं उसे चोदता हुआ गालियां देने लगा- भैन की लौड़ी … साली रांड … आज तो तेरी चूत को फाड़ ही दूंगा तेरी चूत का भोसड़ा बना दूंगा. बीएफ वीडियो बिहारी बीएफमेरी गंदी नजर हर उस लड़की या औरत पर पड़ जाती है, जो मुझे सेक्सी लगती है. वह भी मेरे बहुत दबाव देने पर … अब बताओ सबकी नई शादी होती है, तो वह पूरा इंजॉय करते हैं कि नहीं.

फिर मैंने नाटक करते हुए कहा- लेकिन ये गलत है, आप मेरी फुआ लगती हो और किसी को पता चल गया तो?जया बोली- ये बात हम दोनों के बीच में रहेगी और बिल्कुल रोज की तरह हमारा पढ़ाई जारी रहेगी.

मैं कभी जोर से अपने पेट को पकड़ती, कभी मोनू को रोकने की कोशिश करती मगर उसकी ताकत के सामने मेरी ताकत कुछ भी नहीं थी. जैसे ही मुझे लगा कि अब वो ठीक है, तो मैंने एक जोरदार धक्का और से दिया. वो अन्दर वाले कमरे में लेट गईं और मैं भी वहीं कमरे में पड़े सोफे पर लेट गया.

जांघ पर भी साफ करते हुए उसके पैर ऊपर को उठा मोड़ते हुए उसके पेट पर लगा दिए. अरुणिमा उनसे कुछ बात करके शायद मना कर रही थी, पर वो सुन ही नहीं रहे थे. इसलिए मैंने अपना होटल खुद बुक किया जो शहर से दूर था और पहाड़ी पर था.

एक्स एक्स एक्स इंग्लिश पिक्चर फिल्म

इस जबरदस्त चुदाई के बाद कुछ देर तो मेरी हिम्मत नहीं हुई कि पलट कर उससे दूर हो जाता. अगले भाग में आपको बताऊंगी कि हम चारों ने उन चारों लड़कों की गांड किस तरह से मारी. अब मैंने उसकी पैंटी को भी उसके बदन से अलग कर दिया और उसकी टाइट चूत में एक उंगली दे दी.

अगली बार, हम दोनों साथ में ही लेस्बियन पोर्न देखा, तो उसमें वाईब्रेटर था.

वो सब खुश हो गए कि उन्हें भी सजनी की यानि मेरी गांड मारने का मजा मिलेगा.

कुछ देर लंड चूसने के बाद भाभी कहने लगीं- अब तो खड़ा हो गया और मन भर गया … अब पेलो. जब वो चलती है तो उसको देख कर अच्छे अच्छों का लंड खड़ा हो जाता है और हर कोई उसे बस चोदना चाहता है. सेक्सी बीएफ चोदने वाली बीएफजैसे ही उसने ब्रा को हटाया, उसके सामने नेहा के तने हुए चूचे बाहर आ गए.

मैं संजना के पास गया और उसको गले से लगाने के लिए अपनी बांहें पसार दीं. चौधरी जी बोले- सजनी जब बाहर निकलेगी तो उसका परिचय पहचान कर लोग पूछेंगे. अभी दोनों गर्म थे तो मैंने नूर को पकड़ कर सोफे पर लिटा कर कहा- नूर दस मिनट और करने दो, जल्दी हो जाएगा.

मेरे सास ससुर की दो लड़कियां थीं, जिसमें से एक के साथ मेरी शादी हो गई थी. मैंने जब भाभी से पूछा कि भाभी आपकी शादी भी हो चुकी है और आपकी एक बेटी भी है.

पहले दिन पिंकी अपने बच्चे को लेकर आई और अपने बच्चे को एक तरफ लिटा दिया.

गुरबचन जी बोले- हां बे भड़वे! इससे पहले हम दोनों का लंड फिर से खड़ा हो जाए, ले जा अपनी रंडी को. भाभी बस ये देख कर अपनी चूत सहला रही थीं और खुद भी पिंकी भाभी के ऊपर लेट गईं. पहले ये बताओ कि अब सब ठीक है या एकाध जगह हैं?वो बोली- मुझे तो समझ नहीं आता है.

सेक्सी बीएफ फिल्म सेक्स अरुणिमा बीच वाली सीट पर घोड़ी की तरह बनी थी और वो ड्राइवर उसको पीछे से चोद रहा था. उंगलियां चुत के अन्दर जाते ही उसकी चीख निकल गयी, पर होंठ बंद होने से वो सिर्फ ‘ऊंह … ऊंह … ऊंह …’ की ही आवाज कर पा रही थी.

जिस समय वो झड़ी, उस समय उसने अपनी दोनों बांहों को मेरी कमर पकड़ कर अपने अन्दर तक खींच लिया. और मैंने तुरंत उसके दूसरे मम्मे पर जीभ रख दी और पहले वाले मम्मे के चूचुक को उँगलियों में लेकर सहलाने लगा. अरे क्या बताऊं … बाद में एक बार तो चाची ने चाचा और मेरे बीच में सोए सोए चूत मरवाई थी, उसकी कहानी फिर कभी बताऊंगा.

हिंदी देहाती सेक्सी चुदाई

मेरा चेहरा दीपक के सीने से चिपका था और दीपक के हाथ मेरी कमर थामे मुझे स्थिर रखे हुए थे ताकि वो आराम से मेरी चूत बजा पाएं।तभी पूल कर्मचारी आ गया. [emailprotected]बैड सेक्स रिलेशन कहानी का अगला भाग:भतीजी के घर में घमासान- 3. करीब 5 मिनट चोदने के बाद मैं थोड़ा थक गया तो पिंकी भाभी मुझसे लेटने को बोलीं और खुद मेरे लंड की सवारी करने लगीं.

वो वापिस वीडियो देखने लगा और मैं, हम दोनों के लिए कुछ नाश्ता बनाने लगा. आपने कहा था, उनको मेरा बनाया खाना अच्छा लगा था, जब आपने उनको चखाया था.

कुछ देर बाद मैंने संजना के दूसरे दूध का निप्पल मुँह में ले लिया और पहले वाले को दबाने मसलने लगा.

[emailprotected]इन्स्टाग्राम: Vrinda_venusXxx डिजायर कहानी का अगला भाग:होली, चोली और हमजोली- 3. मगर मेरी बुआ की लड़की साली पूरी रांड हो गई थी, उसकी सेहत पर तो मानो कोई असर ही नहीं पड़ा था. मेरे दिमाग़ के सारे तार ढीले हो गए, ये सोच कर कि अब इनके दिमाग़ में क्या पक रहा है.

जैसे ही मैं उन्हें लेने के लिए झुकी, मेरी चूचियां हैरी के मुँह के पास आ गईं. इससे हैरी को और जोश आने लगा और उसने मेरे दोनों हाथ पकड़ कर एक बाजू कर दिए. चार से उसने खुद को थोड़ा आगे निकाला, छह-पांच से मैं भी एक लंबी छलांग मारकर उसके करीब जा पहुंचा.

मैं दिल से उनका सम्मान करता हूँ।तभी मैंने ज्योति को उठाया और रोहित से उसकी नाईटी उतारने को बोला.

बीएफ फिल्म ब्लू बीएफ: बस फिर क्या था … वो एकदम जोर से कराहती हुई बिन पानी मछली की तरह तड़पने लगी. लेकिन जल्द ही उसने महसूस किया कि वरुण के साथ उसका तालमेल सही नहीं जम रहा है.

उसके एकदम गोरे स्तन बहुत ही कड़क थे और काफी बड़े थे, मेरे हाथों में नहीं आ रहे थे. अगर आपके पास वक्त है तो एक बार हम कैसुअल मीटिंग कर लें?मैंने उन्हें आने के लिए बोल दिया. उधर उन्होंने मेरा लौड़ा अपने मुँह में ले लिया और बाथरूम में ही चूसने लगीं.

अभी मेरी तमन्ना पूरी नहीं हुई थी मुझे उसकी गांड की भी चुदाई करनी थी क्योंकि उसकी गांड का गुलाबी छेद मेरे मन को भा गया था.

उन्होंने मुझे किस करते हुए कहा- हां मेरे राजा … अब तुम बातों में वक्त को जाया मत करो और मुझे आप आप कह कर मत बुलाओ. कैसे हो दोस्तो, मैं आपका दोस्त राजेश आज अपनी पहली चुदाई कहानी लेकर आया हूँ. कमरे में हम दोनों की कामुक सिसकारियों के अलावा कुछ भी सुनाई नहीं दे रहा था.