सेक्सी बीएफ खपाखप

छवि स्रोत,एक्स एक्स ब्लू सेक्सी बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

ओपन द सेक्सी मूवी: सेक्सी बीएफ खपाखप, फ़लक ने मेरे लंड को मुँह से बाहर निकाल दिया और वो उत्तेजना अमे बड़बड़ाती हुई बोलने लगी थी ‘आह अगम मैं आ रही हूँ … आंह मर गई … आह …’फिर जैसे ही उसने झड़ना शुरू किया तो उसने तेजी से पूरे लंड को मुँह में भर लिया और इतनी तेजी से चूसने लगी कि मुझको लगा, जैसे ये मेरे लंड को ही उखाड़ कर अलग कर देगी.

बीएफ नई लौंडिया की चुदाई

मैंने सना से पूछा कि क्या मैं इन्हें अपने हाथ में लेकर चूस सकता हूँ?सना ने हां में सर हिला दिया. ब्रदर एंड सिस्टर बीएफ वीडियोमुझसे भी नहीं रहा गया और मैंने अपने लंड को सहलाया और पोजीशन बना कर उसकी बुर में लंड डालने लगा.

मैंने अपने हाथ नीचे ले जाकर उसकी कमर को कस लिया और पीछे से धक्के देने लगा. इंग्लिश बीएफ फिल्म इंग्लिशदीदी की गांड बहुत बड़ी लग रही थी, मैं गांड दबाने लगा, मुझे मज़ा आ रहा था.

मैंने उसकी चूत की फांकों में लंड का सुपारा रखा और धीरे धीरे रगड़ना शुरू किया.सेक्सी बीएफ खपाखप: सबकी चोदने की स्टाइल भी अलग अलग थी, इसलिए सबसे चुदवाने में खूब मज़ा आया.

पहले हमारी बात सामान्य ही हो रही थी, पर भाभी खुद ही गहराई में उतरती चली गईं जिससे मेरे अन्दर हिम्मत आ गई थी.मैं अपनी बीवी से सेक्स में बिल्कुल भी खुश नहीं था इसलिए मैं कई बार होटल में कॉलगर्ल के साथ रात बिताकर अपनी प्यास बुझाया करता था … या अपने हाथों से ही काम चला लिया करता था.

बीएफ इंडियन चुदाई वीडियो - सेक्सी बीएफ खपाखप

वो बोली- दो उंगलियों से ही मेरी हालत खराब हो गई है … इससे तो मैं मर ही जाऊंगी.पापा जोरदार धक्के दिए जा रहे थे और मम्मी को उठा उठा कर चोदे जा रहे थे.

मैंने अपने लंड पर और तेल लगाया और चाची की गांड पर टिका दिया और हल्के से अन्दर डालने लगा. सेक्सी बीएफ खपाखप जब मैंने उसका गाउन उसकी जांघों तक हटाया, तो उसकी संगमरमरी जांघें देख कर मेरे मुँह से पानी निकलने लगा.

उसे लगा कि अब मैं उसकी चुत चूसूंगा लेकिन मैंने उसे बेड के सहारे खड़े करके घोड़ी बना दिया और पीछे से चुत में से पैंटी साइड करके थोड़ा सा जैल उसकी चुत पर लगा दिया.

सेक्सी बीएफ खपाखप?

भाभी बोलीं- चूत तो बाद में फाड़ना, पहले मेरी चूत की आग ही शांत कर दो तो बहुत है. कहानी के तीसरे भागअजनबी लड़की के घर में सेक्स का मजामें अब तक आपने पढ़ा था कि हम दोनों नंगे थे और बिस्तर पर चुदाई की तैयारी कर रहे थे. मैंने कहा- भाभी नीचे की तो कोई चीज नहीं दिखी मगर ऊपर आपके वो दोनों बहुत मस्त थे.

बस मैं रोज रात को माँ को खेत पर मुखिया जी और डॉक्टर से चुदते देखता क्योंकि अब माँ को भी सेक्स की लत लग गयी थी. चूत में लंड और चूत के दाने पर मेरी उंगली का खेल करते हुए मैं रेशमा को ट्रेन के कूपे में पूरी नंगी करके कुतिया बनाकर ताबड़तोड़ चोदे जा रहा था. बर्थ को अपने हाथ से पकड़ती हुई वो मेरे सामने अपनी गांड के दीदार करवा रही थी.

दोस्तो, इस वेबसाइट की कहानियां तो मैं 2013 से पढ़ता आ रहा हूँ पर आज अपनी पहली सेक्स कहानी लिख रहा हूँ. मैं उसके पास गया और उससे बोला- दीदी किस!वो बोली- ठीक है लेकिन सिर्फ एक बार … और एक शर्त पर कि तू किसी को बोलेगा नहीं. मैंने उसके लंड को भी चूमते हुए फोन पर अपने पति से बोली- हां जानू, मैं कम ही पियूंगी, डांट वरी.

अहा … अहहह!मेरी आहें निकल गईं, जब फ़लक ने मेरे निप्पल को दांतों से काट लिया. मैं भी बड़े प्यार से खूब चुदी और जब तक मेरे पापा मम्मी के आ नहीं गए तब तक मैं चुदती रही.

उसकी कमसिन बल खाती छवि, उसकी लम्बी गोल और गहरी नाभि का सम्पूर्ण दृश्य आंखों के सामने आ गया.

भाभी बोलीं- चूत तो बाद में फाड़ना, पहले मेरी चूत की आग ही शांत कर दो तो बहुत है.

चाची लौड़े से उठीं और अपनी चूत को मेरे लंड के ऊपर लगा कर ऊपर नीचे होने लगीं. जैसे ही मैंने चूत के पूरे इलाके में केक लगाया तो फ़लक से रहा नहीं गया और उसने मेरे सर को पकड़कर मुझे ऊपर उठा दिया. फिर रेखा ने अपनी टांगों की पकड़ से मुझे आजाद कर दिया था तो मैं खड़ा हो गया और अपना सना हुआ लंड रेखा की चूत से बाहर निकाला.

प्रिय पाठको, इस साइट से सिर्फ सेक्स कहानी पढ़ कर मज़ा लेना ही नहीं अपितु यहां आप सभी अपने विचार, मन की सोच, सेक्स से मज़े लेने के तरीके आदि भी साझा कर सकते हैं. वो अपनी सेक्स की प्यास में तड़पती रहती थी पर किसी को अपना बॉयफ्रेंड भी नहीं बना सकती थी क्योंकि उसे बदनामी का डर था. मैंने इशारा किया तो उसने टांगें चौड़ी कर लीं और अपने आप आगे की ओर झुक गया.

तुम्हें पसंद हैं या नहीं?वो मेरे दूध देखते हुए बोला- जी मामी, मुझे संतरे खाना और उनका रस पीना दोनों ही बहुत पसंद है.

कुछ ही पलों बाद अनीशा अपनी कार में आई और बोली- आइए मैं आपको ड्राप कर दूंगी. अब जवान होने पर मेरे लंड का आकार 7 इंच लंबा और गोलाई में नापने पर ये 5. डिब्बी खोल कर एक उंगली में वैसलीन भर कर रुचिका की गांड पर हल्के हल्के फिराने लगा.

मैं पानी पीकर रसोई में गया और रेखा से कहा- चाय मत बनाओ मुझे देर हो जाएगी. वो मेरे क़रीब आई और मुझे किस करके मेरे लंड के पास मुँह करके बैठ गई. चूतिया हस्बैंड से सेक्स की परमिशन मिलने के बाद मैं उठी और दरवाज़ा खोल दिया.

शायद भाभी का काम खत्म हो गया था और वो दोनों सोने के लिए अपने रूम में आए थे.

फिर मेरी ओर इशारा करके बोले- आपने परमीशन दे दी थी कि अब डाल दिया है तो काम कर लें. उन्होंने जाने के पहले हम दोनों से गले लगकर किस किया और सीने से लगाया.

सेक्सी बीएफ खपाखप गुलाबी रंग की नाइटी में वो गोरे बदन की मल्लिका, जैसे आज इस कमरे को सेक्स की नदी में बहाने आई हो. मन कर रहा था कि बस लंड को देखती ही रहूं और लंड का टोपा चूसती ही रहूं.

सेक्सी बीएफ खपाखप मैं भी कहां ऐसे मौके को हाथ से जाने देता, झट से हां बोल दी और सामान खरीदने लगा. अब मैंने देर न करते हुए भाभी की टांगों को फैलाया और अपना लंड उनकी चूत के छेद पर सैट कर दिया.

मैंने उनकी कमर पर मूव लगाना चालू की, तो मेरे से कंट्रोल खत्म होने लगा और शायद भाभी भी मेरे सख्त हाथों से गर्म हो चली थीं.

सच्ची कहानी सेक्सी

आमोद कुमार[emailprotected]नंगी लड़की सेक्स फोरप्ले कहानी का अगला भाग:दोस्त की सहेली संग चुदाई युद्ध- 3. रेशमा ओपन सेक्स का मजा लेती हुई बोली- आअह हह वीरूउउ जीईईई इस्स चाटो मेरे शेर, खा जाओ अपने रंडी की चूत … आज तो मैं ख़ुद आपको सड़कछाप रांड बनकर दिखाऊंगी मेरे बलमा जी … उफ्फ मेरी फुद्दी की खुजली मिटा दो मेरे सनम!रेशमा के मुँह से सड़क छाप रंडियों वाली भाषा सुनकर मुझे भी अब पक्का यकीन हो गया कि ये आज सच में किसी दो कौड़ी की लावारिस सड़कछाप कुतिया की तरह चुदने के लिए तड़प रही है. फिर मैंने टीवी पर वीडियो सॉन्ग शुरू किए, उसमें आशिक बनाया आपने वाला गाना आया.

एक चुत ही तो थी, हजारों मिलती हैं विक्की तुझे … क्यों सेंटी हो रहा है. मैंने सोनम की किचन में मदद कराते हुए बर्तन आदि समेट कर बर्तन साफ होने के स्थान पर रखवाए और मैं सोनम के साथ रूम में चला गया. तब मुखिया जी बोले- अभी कहाँ कपड़े पहन रही है चन्दा!माँ- जी, मैं कुछ समझी नहीं?तो मुखिया जी ने अपने मोबाइल से एक कॉल किया और बोले- मेरा काम हो गया है.

फिर हुआ कुछ ये कि उनके पति को कोरोना हो गया था, उनके पति ऊपर अलग कमरे में रहने लगे थे.

मैं बाहर कमरे में बैठकर धीरे धीरे व्हिस्की पीने लगा और सविता किचन में खाना लगाने लगी. सोनाली उठकर खड़ी हो गयी और बोली- चलो हर्षद, अब हम दोनों जल्दी से नहाकर फ्रेश हो जाते हैं. अगले दिन मैंने कैसे भाभी की गांड मारी, ये आपको अगली चुदाई कहानी में बताऊंगा.

उसे आनन्द मिलने लगा और उसने अपने नितम्बों को ऊपर-नीचे करना शुरू कर दिया. भाभी इठला कर बोली- कहां खो गए देवर जी … और इस तरह से घूर कर क्या देख रहे हो. मैं बेसब्री से उसका इंतजार कर रहा था क्योंकि मेरी उससे केवल फोन पर ही बात हुई थी.

इसी आवेश में मैं रेशमा के ऊपर अपने बदन का पूरा भार देते हुए पूरी ताकत से आखिरी धक्के लगाने लगा. मैं सुबह अपनी कार लेकर उसके घर गया और वहां से श्रेया को पिक करके चल दिया.

मैंने पूछा कि तुम आज अकेली आई हो?उसने बताया कि हां मेरा भाई थोड़ी देर के बाद आएगा. वो जानबूझ कर पलट गई क्योंकि वो जानती है कि मुझे उसकी गद्देदार गांड कितनी पसंद है. अब मैं फकीर के नीचे अर्धनग्न अवस्था में पड़ी हुई थी और फकीर मेरे पूरे शरीर से खेल खेल रहा था.

मुझे रह-रहकर अपने शौहर की याद आ रही थी और उनका मासूम चेहरा मेरे सामने आ रहा था.

फिर मेरी ओर इशारा करके बोले- आपने परमीशन दे दी थी कि अब डाल दिया है तो काम कर लें. एक दिन मौसी का फोन आया कि अजय अभी तुम्हारे एग्जाम भी ख़त्म हो गए हैं. मेरे मर्दाना अंग का जो ऊपरी हिस्सा होता है, उसके आस पास जरा सहला दो.

फिर वो अपना एक हाथ नीचे ले जाकर मेरे पेटीकोट के अन्दर डालने लगे लेकिन मैंने उनका हाथ पकड़ लिया. मैंने भी उसके गालों पर, चेहरे पर चूमा, फिर गले से होते हुए उसके कंधे पर चूमने लगा.

लेकिन मैं इस तरह से चुदना भी नहीं चाहती थी क्योंकि मेरे पति ने हमेशा प्यार से सेक्स किया था. अब उसने अपनी गांड उठाकर एक हाथ में मेरा लंड पकड़ा और मेरे लंड का सुपारा अपनी चूत की दरार में रगड़ने लगी. हॉट आंट सेक्स स्टोरी मेरी पड़ोसन आंटी की है। आंटी अपने घर में खुले में बैठकर मूतती थी और मैं उनके नंगे चूतड़ देखता था। एक दिन उन्होंने मुझे देख लिया.

भाई बहिन कि सेक्सी

मैंने कुछ देर बाद फिर से उसे चोदा और इस बार उसने मेरे लंड का पानी गटक लिया.

अब वो पूरी तरह मगन होकर अपनी गांड मरवा रही थी और मुझे भी उसकी गांड चोदने में काफ़ी मज़ा आ रहा था. मैंने एक सवाल पूछा- मछलियां शाम को किसने खाईं?उन्होंने कहा- हम दोनों ने. करीब बीस मिनट की गांड चुदाई के बाद मैं झड़ने लगा तो मैंने उससे कहा- कहाँ निकलू मेरी जान?मेरे मुँह में!” उसने कहा.

दोस्तो, आपने मेरी पिछली सेक्स कहानीप्राइवेट सेक्रेटरी की रसीली चूत का मजामें पढ़ा था कि मैंने अपनी पड़ोसन रेशमा को अपने ऑफिस में काम पर रख लिया था और उसे मुंबई लाते समय ट्रेन के कूपे में ही पटक पटक कर चोदा था. मुझे अब उसकी बातों और हावभाव से महसूस हुआ कि अगर कोशिश की जाए, तो इस माल को चोदा जा सकता है. बीएफ सुहागरात की सेक्सीआपने मेरी पिछली कहानियों को इतना ज्यादा पसंद किया, उसके लिए बहुत बहुत धन्यवाद.

मुझे मेरे लंड में बड़ी कसावट महसूस हो रही थी और ऐसा लग रहा था जैसे कुत्ते का लंड कुतिया की चूत में फंस गया हो और फूलने लगा हो. उसने अपने हाथ पर तेल लिया और मेरे लंड को हिलाते हुए उस पर तेल लगाने लगी.

मैं आज जो रिच हॉट गर्ल Xxx स्टोरी आपको सुनाने जा रहा हूँ, ये मेरे कॉलेज टाइम की है. मैं दूसरी मंजिल के बाद अपनी छत पर सोया हुआ था और बाजू में नीचे बनी हुई छत पर पड़ोस में रहने वाले भैया और भाभी सोए हुए थे. दूध में वो कुछ मिलाकर लाई थी, पता नहीं क्या … पर उसको पीने के बाद वो मेरे लटके हुए लंड को चूसने लगी और लंड खड़ा हो गया.

उसने एक सिगरेट होंठों से लगाई और ऐसे पीने लगी, जैसे उसे रोज पीने की आदत हो. हम तीनों अब जब भी मिलते हैं, तो मैं सबसे पहले दीदी को चोदता हूँ और नीरजा मेरे लंड को चूसती है. उन्होंने मुझसे कहा- मैं एक सप्ताह के अन्दर फाइल में जरूरी कागजों पूरा करके दुबारा से अप्लाई करूंगी.

मैं एक हाथ उसके पेट पर सहलाते हुए उसकी लैगी के अन्दर चूत पर ले जाने लगा तो उसने रोक दिया.

मैंने कई बार आंटियों की ग्रुप पार्टी भी ज्वाइन की है, जिसमें आंटी अलग से मजे करने के लिए मुझे बुलाती हैं. उसकी इस अदा में मुझे भी अपना वीर्य स्खलन करने पर मजबूर कर दिया और कुछ तेज झटकों के बाद मेरे लंड से वीर्य की बाढ़ निकलने लगी.

मैडम एक बार फिर से पूरी तरह उत्तेजित होने लगीं और जल्दी से मुझे लंड को चूत में डालने को कहने लगीं. ये सुनकर मैंने मानसी को अपने सीने से लगा लिया और उसे प्यार करने लगा. मैंने जब ये सुना तो मैं समझ गया कि मेरी बहन की चूत में काफी पहले से ही आग लगी थी और ये खुद ही मेरे लंड से चुदने मचल रही थी.

तब उसने राज के कान में कहा- अब लंड बाहर निकालूंगा, तब तू इस छिनाल की चूत चूसना, तुझे बहुत मजा आएगा. मुझे भाभी कि ये अदा और भी प्यारी लगी कि मुझे बिना मेहनत के मजा मिल रहा था. मैं उस दिन रात को 11:30 बजे वाली ट्रेन से अपनी ससुराल के लिए निकल गया था.

सेक्सी बीएफ खपाखप मैंने भी उनकी बात पर हाजिर जवाब दिखाते हुए कहा- मैडम आप भी 40 की नहीं लगती हैं. वो बोली- क्या तुमने कभी उसके साथ रात बिताई है?मैं जानकर अनजान बन रहा था.

बाबी सेक्सी

मैं समझ गया था कि सीमा का पानी छूटने वाला है तो मैंने और जोरों से उसकी चूत चाटना चालू कर दिया. मैंने चुपके उसके पीछे से जाकर देखा तो वो अन्तर्वासना में भाई बहन सेक्स कहानी पढ़ रही थी. सोनाली उठकर खड़ी हो गयी और बोली- चलो हर्षद, अब हम दोनों जल्दी से नहाकर फ्रेश हो जाते हैं.

पर आज वो मौका मिला है मुझे … सारी कसर आज पूरी करूंगा मैं!यह बोल डॉक्टर ने अपने कपड़े उतार दिए और वो माँ के पास चटाई पर जा कर बैठ गया और उनके दूध से खेलने लगा. कुछ ही दिनों में मैंने अपनी आंखों के स्कैनर से बिग गांड वाली भाभी की पूरी देह के उठाव और कटाव का हर एंगल से नाप ले लिया था. इंडियन बीएफ हिंदी सेक्सी वीडियोमैंने सोचा कि अगर इसे दिक्क्त होती, तो ये हाथ लगाते ही चीखने चिल्लाने लगती.

वैसे मुझे 100% पक्का था कि ये हां ही कहेगी इसलिए उसके जाने के बाद मैं पूरी बॉडी के बाल वगैरह साफ़ करके एकदम तैयार हो गया.

भाभी बोली- हर्षद कैसी लगी मौसी?मैंने हड़बड़ाकर कहा- क्या मतलब?सरिता ने मुझे आंख मारते हुए कहा- इतने भोले मत बनो हर्षद. उसके मुँह से इतना साहित्यपूर्ण प्रवचन सुना तो मेरे होंठों पर मुस्कान आ गई.

चाची दर्द से चिल्लाने लगीं- उन्ह साले कुत्ते बाहर निकल अपने लंड को … आंह मेरी गांड फट गई … आंह दर्द हो रहा है … लंड बाहर निकाल मादरचोद फट गई मेरी गांड. मैंने लंड पर थूक लगा कर उसकी गांड पर टिकाया और कहा- यार थोड़ा सब्र करना, थोड़ी लगेगी … अपनी ढीली रखना. उसका लौड़ा सुबह के समय किसी खम्बे की तरह एकदम टाइट था जिसको मैं अपने हाथों में लेकर हिलाने लगी.

फिर मनीष ने चूत पर लंड फिट करके जैसे ही धक्का मारा, मैंने अपनी कमर हिला दी.

तुझसे भी गांड मरा लूंगा पर प्लीज अम्मी को मत बताना यार … मैं तेरे पैर पकड़ कर भीख मांगता हूँ. आधे घंटे की घनघोर चुदाई के बाद ही मेरा वीर्य उसकी बुर की गहराई में बरस गया. मैं भी उनके होंठों से होंठ लगा कर उनको चुम्बन में साथ देने लगी थी, साथ ही मैं अपने हाथों से उनके बालों को सहलाने लगी थी.

बीएफ बीएफ हिंदी चुदाईदिन भर घर में मजहबी प्रोग्राम होता रहा, फिर रात में खाना पीना खाकर सभी लोग हमारे घर में ही सो गए थे. साथ में सिगरेट का भी और स्नैक्स का भी।मैं आपको बताना चाहूंगी दोस्तो कि मैं अंकल हमारे पड़ोसी हैं, मेरे शौहर पीने पिलाने के चक्कर में कई बार उनके साथ वक्त बिताया करते हैं.

राजस्थान की छोरी की सेक्सी वीडियो

दोस्तो, मैं अपनी कहानी शुरू करने से पहले अपने बारे में कुछ विवरण देना चाहता हूं. इसके बाद उस रात हमने 3 बार चुदाई की और कई तरह के पोज़ बनाकर चुदाई के मजे लिए. मेरी चूत में उसके लंड का पूरा सुपारा घुस चुका था और मेरा एक चूचुक उसके मुँह में था.

वो बोला- दीपक रुकना मत … आज फाड़ दो इस रांड की चूत को!उनके पति ने लंड मुँह में डाला हुआ था और मैं भाभी की चूत में लंड डाल कर चोदने लगा. फिर उसने स्लीवलैस गोल्डन ब्लाउज में से हाथ ऊपर करके अपने अंडरआर्म्स आगे कर दिए और थोड़ा दूसरी तरफ झुक गयी. उसने एक हाथ में मेरा लंड ऊपर से ही पकड़ा और दूसरे हाथ से गुब्बारे देती हुई बोली- ये तो बहुत बड़ा है हर्षद जी.

उसने खुद ही अपने हाथ से कुर्ती उतार दी और अपने दोनों मम्मे पर मेरे हाथ रखवा कर मसलवाने लगी. चूत लंड ले चुकी थी तो मैंने अपनी तीन उंगलियों से चूत को चोदना चालू कर दिया. एक लंड अन्दर जा रहा था और दूसरा बाहर आ रहा था, कभी दोनों एक साथ बाहर आ रहे थे.

रोज रोज वही लंड, वही चुदाई, वही लौड़े का चूत में आना जाना … धीरे धीरे मैं बोर होने लगी. भाभी कुछ सोचती हुई बोली- ठीक है पर किसी को आप मत बताना और आप आंख बंद करके आराम से लगाना.

मैंने कहा- मेरे पतिदेवो … अभी जल्दी क्या है … कुछ देर आराम कर लेते हैं.

वो दर्द से मिश्रित आह की आवाज निकाल कर बोलीं- आह मेरे अनाड़ी देवर जी, जरा प्यार से अपनी भाभी की चूत पेलो न!उनकी ये आह अत्यंत मजेदार थी. मालकिन और नौकर का सेक्सी बीएफऐसे ही पापा पोजीशन बदल बदल कर बहू चोदते रहे और आखिरी में सोनम को नीचे लिटा कर चुदाई करने लगे. बांग्ला देसी बीएफ मूवीस्नेहा ने स्लीवलैस ब्लाउज पहना हुआ था जिस वजह से उसके हाथ बेहद सुंदर दिख रहे थे. [emailprotected]हॉट लड़की की वासना का अगला भाग:लॉकडाउन में ससुर बहू की चुदाई की मस्ती- 2.

चूत में लंड और चूत के दाने पर मेरी उंगली का खेल करते हुए मैं रेशमा को ट्रेन के कूपे में पूरी नंगी करके कुतिया बनाकर ताबड़तोड़ चोदे जा रहा था.

उनकी एक बड़ी बेटी सोनाली 19 साल की थी और दूसरी बेटी छोटी मुनमुन थी. हम दोनों बिस्तर पर एक साथ बैठे और एक दूसरे के यौन अंगों को छूने और सहलाने लगे. मेरा लंड इतना बड़ा था कि वह पूरा लंड अपने मुँह के अन्दर नहीं ले पा रही थीं.

अब वो तू मुझे चाहे कैसे भी चुका! आज शाम तक मेरे पैसे मेरे पास होने चाहिए. मैं समझ गया कि यही गांड की छेद है और इसमें ही अपना लन्ड डालना है।जब पहली बार दीदी के गांड में मेरा लन्ड गया तो मुझे बहुत दर्द हुआ. जल्दी ही मैं अपनी कोई और मस्त चुदाई की कहानी लेकर आपके सामने आऊंगी.

ब्लू पिक्चर हिंदी में सेक्सी हिंदी

मैंने ऐसा बोला, तब नेहा भाभी हंस दीं और आप से तुम पर आती हुई बोलीं- जबसे तुम्हें पहली बार पार्क में देखा और पता चला कि तुम मेरे पड़ोसी हो, तब से तुम पर मेरी नज़र है. मैंने शाम को उनसे नीचे जाकर माफी मांगी और भविष्य में ऐसा ना करने की कसम खायी. अनकटे लंड से गांड मरवाने का मजा लियाआज मैं आपको अपनी फर्स्ट नाईट Xxx कहानी बता रहा हूँ.

8 फीट लम्बा हूं। मेरा वजन 55 किलोग्राम है और मेरा लंड 5 इंच लम्बा और 2.

दोस्तो मैं नैना, आपको बता रही थी कि मेरे और ससुर जी के बीच एक दूसरे को गंदी निगाहों से देखने का खेल काफी समय से चल रहा था.

मैंने अनीशा से पूछा- इरादा क्या है?तो वो बोली- चलो चंडीगढ़ चलते हैं. मैं एक बार फिर आप लोगों का लंड खड़ा करने के लिए अपनी Xxx कुकोल्ड हस्बैंड सेक्स कहानी लेकर हाजिर हूँ. सेक्सी बीएफ बड़े बड़े लंडमैंने भी हाजिर जवाबी होते हुए कहा कि और मर्दों का तो पता नहीं, लेकिन सारी औरतें इतनी दिलकश हसीना नहीं होतीं कि नजर हटाने का मन न करे.

सुपारा चूत पर लगते ही मैंने जोरदार धक्का देकर आधे से अधिक लंड चूत में पेल दिया. वो बोली- अब क्यों उतार रहे हो?मैं बोला कि हम दोनों बिना कपड़ों के ही सोएंगे. दीदी की गांड बहुत बड़ी लग रही थी, मैं गांड दबाने लगा, मुझे मज़ा आ रहा था.

इसके बाद उसने मुझसे कहा कि तुमने मेरा पानी निकाल दिया था, मैंने तुम्हारा निकाल दिया. ये तुम्हारा चौड़ा सीना और गठीला बदन देखकर मैं तो तुम पर फिदा हो गयी हूँ.

मैंने उनकी कमर पर मूव लगाना चालू की, तो मेरे से कंट्रोल खत्म होने लगा और शायद भाभी भी मेरे सख्त हाथों से गर्म हो चली थीं.

कुछ देर बाद गांड रवां हो गई तो वो बोली- आंह यार, बहुत मजा आ रहा है … आह जोर जोर से मार ना … आह … मैं आ रही हूँ. भैया ने हल और खेत की बात पूछी, तो मैंने एग्जाम की बात कह कर बात टाल दी. मैंने कहा- लोला मतलब क्या?उसने आंख मारते हुए कहा- लोला मतलब चूतिया.

बीएफ सेक्सी कैटरीना कैफ की वो कराहती हुई बोलने लगी- बहुत दर्द हो रहा है यार … इसे निकालो, मैं मर जाऊंगी. वो मुस्कुराई और बोली- थैंक्स आपको, क्योंकि आपने मेरा नाम बिल्कुल सही पढ़ा और स्पष्ट बोला.

‘आअहह हम्म्म्म …’ जैसी आवाजें मेरे मुँह से निकलने लगीं और रेशमा के बाल मुट्ठी में भरकर मैंने उसका मुँह मेरे लौड़े पर दबाना चालू कर दिया. रात को रियान और मैं जब सना के कॉटेज पर पहुंचे तो उसने पTकिस्तानी तरीके से मेरा स्वागत किया. पापा ने उनकी दोनों टांग पकड़ ऊपर करते हुए उनके मुँह की तरफ झुका दीं.

हनी सिंह का सेक्सी सॉन्ग

उसने पूछा- आपको मैंने आपको पहचाना नहीं?मैं अपने ओनर की तरफ इशारा करके बोला- दरअसल मैं उन साहब के यहां सुपरवाईजर का काम करता हूं. मुझे ऐसा लग रहा था कि मैं अपनी मौसी के साथ में ही रहने लगूँ और जब मेरा मन करे, तब उनकी चूत में अपना लंड डालकर अपने मन को तृप्त करता रहूँ. मैंने किचन में जाकर उससे पूछा- दीदी आपका फिगर बहुत टाइट है और सेक्सी भी.

उस समय मुझे अपनी मौसी को चोदने का भूत सवार था इसलिए मैंने सोने का नाटक जारी रखा, पर लंड में कहां दिमाग होता है. मैं उनका लंड चूस कर खड़ा भी कर देती थी मगर वो चूत में लंड पेलते ही झड़ जाते थे.

मैं दरवाजे के बाहर खड़ा था और अन्दर झांक कर देखने की कोशिश करने लगा.

राज ने कुछ तगड़े शॉट मारे और मोनिका की चूत में ही लंड का पानी छोड़ दिया. सोनाली ने खुश होकर मुझे अपनी बांहों में कसकर कहा- कितना ख्याल रखते हो मेरा हर्षद. ये यह बोल कर उसने अपने होंठ मेरे होंठों पर रख दिए और बिस्तर पर लेट गई.

मैं- नहीं, अगर आपको किताब दे देंगे, तो आप एक ही दिन में सारे चुटकुले पढ़ लोगी. फिर जरा गांड हिलाकर लंड सैट किया तो सुपाड़ा अन्दर चला गया और मैं जम कर बैठ गया. उन्होंने मेरा नाम लेकर पुकारा- देखिए आपके साथी ने क्या कर डाला, अभी आए एक महीना नहीं हुआ, लौंडा पटा लिया और उसकी मार भी दी.

हॉट लेडी ट्रेन फक़ स्टोरी मेरी प्राइवेट सेक्रेटरी की चुदाई की है चलती गाड़ी में! मैंने उसे कूपे में पूरी नंगी करके अलग अलग आसनों में चोदा.

सेक्सी बीएफ खपाखप: मैंने उसकी बात को ज्यादा गम्भीरता से नहीं लिया और अपने रूम पर आ गया. रात को रोहण दूसरे रास्ते से मेरे कमरे में 11 बजे आ गया और उसने रात भर मुझे चोदा.

मैंने उसको उठा कर उसकी साड़ी ऊपर कर दी और उसे झुका कर उसकी चूत में लंड डाल दिया. उन्होंने एक बार फिर से अपनी चूत को बुरी तरह से झाड़ दिया था और अपना पानी बहाने लगी थीं. मैंने उससे पूछा- गांड मरवा कर कैसा लगा?वो बोली- सच में बड़ा मजा आया.

मैं उनकी नीचे चूत के पास आ गया और उनके पैरों को पूरा खोला और उनके छेद को देखने लगा.

वो और जोर से मादक सिसकारियां लेने लगी- ओह आह स्ह ऊंई हर्षद … काश मेरी शादी तुम जैसे रोमांटिक, गठीले बदन वाले हैंडसम और मोटे लंड वाले मर्द से हुई होती. आधे दिल की आकार के कान और उनमें छोटी छोटी बालियां, लंबी गर्दन और उसमें एक पतली चैन. तभी ललिता भाभी मेरे पास आकर बोलीं- राज, तुम ये सब क्यों करते हो?मैं चुप था.