अच्छी बीएफ दिखाओ

छवि स्रोत,सेक्सी वीडियो मुसलमानी की

तस्वीर का शीर्षक ,

डॉग और गर्ल्स की सेक्सी: अच्छी बीएफ दिखाओ, अभी तक आपने मेरी इंडियन गे सेक्स स्टोरीज में पढ़ा कि मैं मां के साथ सोनीपत वाली बस में अपने घर बहादुरगढ़ जा रहा था और उसी में साथ वाली सीट पर एक लड़का-लड़की जिनको देखकर लग रहा था कि नई-नई शादी हुई है, रंगरेलियाँ मनाते हुए आ रहे थे, लड़का चलती बस में अपना लंड लड़की को चुसा चुका था और बस खरखौदा बस स्टैंड पर कुछ देर के लिए रूकी थी.

सेक्सी वीडियो भोजपुरी नंगा

साथ ही वो लंड की गोटियां भी चूस रही थी और गुलसन जी मजे की अलग ही दुनिया में खो गए थे. इंडियन सेक्सी चूत दिखाओउसका एक हाथ मेरे सिर को कस कर पकड़े था और दूसरा मेरे बदन पर ऊपर से नीचे घूम रहा था.

उसने अपने हाथ में एक भारी पीतल का कड़ा पहना हुआ था जो उसको और भी सेक्सी लुक दे रहा था. सेक्सी होने वालीचिकनी गुदाज जंघाओं का वो उष्ण स्पर्श पाकर मेरी उंगलियाँ उसकी चूत की तरफ बढ़ चलीं और मैंने उसकी चूत को पेटीकोट के ऊपर से ही मुट्ठी में भर लिया, लगा कि जैसे नीचे पेटीकोट के अलावा अन्य कोई आवरण चूत के ऊपर नहीं था और चूत मध्य रेखा में अपनी तर्जनी उंगली फिराई जिससे चूत का चीरा दिखने लगा और चूत का गीलापन झलकने लगा.

तो मैंने उनको पूछा- क्या मैं आपकी हेल्प कर सकता हूँ?उसने मुझे कहा- मुझे बहुत दूर जाना है.अच्छी बीएफ दिखाओ: कुछ ही देर बाद बहूरानी चाय और बिस्किट्स लेकर आईं और मेरे सामने ही चेयर ले के बैठ गईं.

उन 2 घंटे के बीच में हमने पूरी कसर उतार ली, उसकी भी सेक्स की प्यास कुछ हद तक पूरी हो गई थी.मम्मी पापा को कभी शक नहीं हुआ कि हम दोनों के बीच में कोई और रिश्ता भी है.

सेक्सी गर्ल इन माय हार्ट लिरिक्स - अच्छी बीएफ दिखाओ

उन्होंने फ्लॉरा की कमर को कस कर पकड़ा और दे दनादन गांड की ठुकाई शुरू कर दी.खुद को ठीक ठाक करने के लिए हम वाश-रूम पहुंची ही थी तो देखा कि वही लड़का वहाँ खड़े होकर हमारी तरफ देख रहा था.

नमस्कार दोस्तो, सभी चुतवालियों और भाभियों को मेरे खड़े लंड का प्रणाम. अच्छी बीएफ दिखाओ मेरा मन तो उसे चोदने का था तो एक दिन मैंने उससे अपने दिल की बात कह दी कि मैं तुम्हें पसंद करने लगा हूँ.

मैंने तुरंत उससे एक कमरे का इंतजाम करने को कहा तो वो कुछ समय के लिए अपना कमरा देने को तैयार हो गया.

अच्छी बीएफ दिखाओ?

मैं अब खड़ा हो गया और ऊपर स्लैब पर चढ़ गया और सबीना के दोनों और पैर रख कर खड़ा हो गया, सबीना के मुँह के ठीक ऊपर मस्ताना (लण्ड) करके मस्ताना पर बीयर डालते हुए सबीना को बोला- डार्लिंग अब तेरी बारी अब तुम मस्ताना से बीयर पीओ और नीचे तेरी भाभी जमीला तेरी चूत से बीयर पीयेगी. जमीला पहले गांड मरवा चुकी थी इसलिए उसको दर्द कम हुआ और हमारी फिर से चुदाई एक्सप्रेस पटरी पर शताब्दी की तरह दौड़ने लगी. मुझे जॉब के सिलसिले में कई बार बाहर जाना पड़ता है तो एक बार करीब एक वर्ष पहले मैं मध्यप्रदेश के एक छोटे से शहर नीमच 15 दिन के लिये गया.

मैंने भी अपना हाथ उसके चोदू लंड से हटा दिया और हम लोग एक दूसरे से थोड़े दूर हो गए. अचानक से मोना के तेवर बदल गए उसकी बोली में कड़कपन की जगह मिठास आ गई, जिसे देख कर गोपाल भी टेंशन में आ गया. ऋतु- ठीक है फिर… गुड नाईट…और उसने झुक कर मेरे लंड को चूम लिया और बाहर निकल गई.

हम लोग एक-दूसरे को किस करने लगे, वो धीरे-धीरे मेरे लंड को सहलाने लगीं और मैं उसके मम्मों को टटोलने में लग गया. क्या तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है?वो थोड़ा अकबका गया और उसने मुझसे कहा कि नहीं है. यह नजारा देख मेरा तो दिमाग हिल गया, मुझसे अब रुकना कठिन गया… मैं सीधाउसकी चूत पर अपना मुंह लगा दियाऔर उसके चूत रस को जोर जोर से चूसने लगा और मेरी जबान अपनी चूत पर पाकर वह भी मचल उठी और हाथ पीछे लाकर मेरे सर को अपनी गांड में और घुसाने लगी.

मैं भी उसकी बातें सुन कर जोर-जोर से झटके मारने लगा और बोलने लगा- ले रंडी चुद आज अपने सगे भाई के लंड से… आह…वो भी गांड ऊपर उठा कर चुदने लगी. भाभी की चूत चाटते हुए मैंने अपनी एक उंगली उनकी चूत में डाल दी और अन्दर-बाहर करने लगा.

एक दिन नीलम बहुत बेचैन थी क्योंकि उसकी चूत रात को प्यासी रहा जाती थी.

गुलशन जी बाहर आए और सुमन को ऊपर से नीचे तक गंदी नज़रों से देखते हुए सुमन के खाना बनाने के सवाल पर बोले- अपने पापा का बड़ा ख्याल है तुझे.

मैं उसकी चूत चाट रहा था और वो भी अपने हाथ से मेरा सर को अपनी चुत कर ऊपर दबा रही थी. अब वो मोना की जांघें दबा रही थी और मोना और ऊपर और ऊपर करके उसे चुत के एकदम पास दबाने को बोल रही थी. इस तरह की बात सुनने पर सरिता का मन भी मचल उठता था पर सोच नहीं पाती थी कि किससे बुर की चुदाई करवाये.

अब तक चार लड़के झर चुके थे, सिर्फ एक लड़का था जो मेरी गांड अभी तक चोदे जा रहा था, वो झरने का नाम ही नहीं ले रहा था, वो फुल स्पीड में मेरी गांड को चोदे जा रहा था. वो स्कूल से आते ही सीधे मेरे रूम में घुसी और मुझसे लिपट गई और मुझसे पूछा- तुमने देखा… कैसा लगा… मजा आया या नहीं… बोलो?मैंने कहा- अरे हाँ, मैंने देखा और बहुत मजा आया. फिर मैंने अपनी हील पहनी और हील पहनने के बाद मेरी गांड और भी बाहर निकल गयी.

ठीक तभी चंगेज़ भी अपने लौड़े को उसके मुंह के नजदीक ले आया, और मेरी प्यारी परी ने दूसरे लंड को भी अपने छोटे से मुंह में जगह दे दी! थोड़ा सा चुभलाने के बाद गोरी पतली डॉल ने दोनों लंडों को मुंह से बाहर निकाला और बारी बारी से प्रत्येक लंड को चूसने लगी.

रास्ते में मैंने उनसे नाम पूछा तो एक ने अपना नाम प्रिया और एक ने नेहा बताया. मैं भी अदिति के साथ अपने उस रिश्ते को भुलाने की कोशिश करता रहा और समय के साथ धीरे धीरे वो सब बातें भूलती चली गईं. हम दोनों कार से वापिस सोसाईटी के पास आये तो उसने थोड़ी दूरी पर ही कहा, मुझे थोड़ा पीछे ही उतार दें.

हेमा- सुमन बेटा आई एम सॉरी मैंने गुस्से में तुझे डांट दिया तूने कुछ नहीं खाया है. खैर छोड़ो, मैं अपनी रियल सेक्स स्टोरी बताता हूँ!मैं उस समय 23 का था जब यह घटना घटी. अब तक की इस चोदन कहानी में आपने पढ़ा था कि सुमन अपनी माँ से अपने इकलौते होने के कारण पर सवाल-जबाव कर रही थी.

एक बार उसने विनय से पूछा- मुझे कब मौसी बना रहे हो?तो विनय बोला- मैं तो तैयार हूँ पर तुम्हारी सहेली रोज मेरा सामान थेली में रख कर बाहर फेंक देती है.

दोनों लंड काफी फंसे हुए मुंह के अन्दर घुसे हुए थे, और सच पूछिये तो नताशा को मुंह चलाने के लिए जगह ही नहीं मिल पा रही थी, उसकी जीभ भी हमारे लंडों के बीच फंस सी गई थी और किसी भी प्रकार की क्रिया नहीं हो पा रही थी. नीतू के छोटे-छोटे चूचे और कुंवारी चुत देख कर गोपाल अपना संतुलन खो बैठा.

अच्छी बीएफ दिखाओ फिर उसने अचानक पूछा- आपकी कोई गर्लफ्रेंड है?मैं बोला- अभी तक तो नहीं है. अब दर्द और मजा दोनों ही थे मगर मजा बाज़ी मार गया और मैंने कोई विरोध नहीं किया.

अच्छी बीएफ दिखाओ तभी उसका फ़ोन बजने लगा, उसने हाथ बढ़ा कर जमीन पर पड़े ट्रैक पेंट से फ़ोन निकाला और लंड लगाए हुए बात करने लगा. उसकी दोनों बाहें मेरे सर के दोनों तरफ थी और ऋतु के दोनों मोटे मोटे मम्मे मेरी आँखों के सामने झूल रहे थे औरमेरी बहन की रसीली चूतमेरे खड़े हुए लंड को छू रही थी.

वेतन अच्छा था, दो दिन कंपनी के रेस्ट हाउस में रहने के बाद मैं अपने किराये के घर में शिफ्ट हो गई.

2020 के सेक्सी बीएफ

अगले दिन फिर से इसी तरह हुआ, एक बार मैंने बाबू के कपड़े सूखने क्या डाले कि एक दिन मामी ने अपनी ब्रा और पैन्टी भी दे दी. कुछ पल बाद एक मधुर ध्वनि ने ये कहते हुए मुझे स्वप्न से जगाया- सर अब अन्दर चलें?दोस्तो, जितनी हसीं वो खुद थी उससे भी मोहक उनकी मधुर वाणी. वैसे आपके साथ बहुत मजा आया अगर कुछ भी रिश्ता होता तो शायद बात कुछ और ही होती.

उम्म्ह… अहह… हय… याह… हाँ… चोदो… जरा तेज… जोर से… आई… मार दिया…राजा… पहले कहाँ थे, आदि बोलती रही. थोड़ा भी रेस्पेक्ट नहीं है तुझे मेरी! इतनी बार रिक्वेस्ट की, मगर तू बड़ी कमीनी है, मानी ही नहीं।मैंने फिर भी दो गिलास भरे और उसके पास जाकर प्यार से कहा- ओहो, मेरी लाडो को गुस्सा आता है? पता नहीं था यार कि तू गुस्सा भी कर सकती है. मैंने अब जाने की इच्छा जताई तो दीपक बोला- सर, काफी रात हो गयी है तो आज रात आप यहीं रुक जाइये, वैसे भी हमें सुबह जल्दी ही मार्केट निकलना है तो सीधे यहीं से नहा कर और नाश्ता करके निकल लेंगे.

टीना- वो तुम मुझपे छोड़ दो, दुनिया का कोई मर्द ऐसा नहीं होगा, जिसको एक साथ दो चुत फ्री में मिलें और वो ना कह दे.

हम दोनों खूब सेक्स चैट करने लगे और तय कर लिया कि जब भी हम मिलेंगे तो सेक्स जरूर करेंगे. मेरे लंड का लगभग आधे से अधिक भाग एक झटके के साथ माँ की चूत के अंदर समा गया. फिर भी बदन को कड़क कर लिया और एक तेज पिचकारी सीधे सुमन के गले में उतर गई। वो कुछ समझ पाती, तब तक और पिचकारी उसके मुँह को वीर्य से भर गई। जल्दी से उसने लंड को मुँह से निकाला तब तक और भी रस निकला जो उसके हाथ पर लग गया।मेरे प्यारे पाठको, आप इस सेक्सी कहानी पर कमेंट्स मर्यादित भाषा में ही करते हुए सेक्स स्टोरी का आनन्द लें।[emailprotected]सेक्सी कहानी जारी है।.

तेरी मम्मी ने बहुत सारा सामान भेजा है देख ले उसमें दही बड़े भी हैं, कहीं ख़राब न हो जायें, उन्हें फ्रिज में रख देना. इस हल्की सी रोशनी में हम दोनों करीब से एक-दूसरे को साफ दिखाई दे रहे थे. ऊऽऽ ऊऊ फ़्फ़्फ़्फ़ आऽऽ आआ ह्ह्ह्ह…”ऐसा लगा कि जमाई का लंड पिस्टन की तरह अन्दर जाते हुए अपने साथ सास के चूत-रस को समेटते हुए चला जा रहा हो.

उनकी उठी हुई गांड जींस में देख कर किसी बुड्ढे का लंड भी खड़ा कर देगा. उसके रंग-ढंग को देख कर कोई भी बता सकता था कि वो बहुत ही चुदने वाली लड़की है.

उसकी रफ्तार बहुत धीमी थी, मगर हर बार ऐसा लगता था, जैसे वो मेरे लंड को अंदर तो एकदम आराम से लेती है, मगर बाहर निकालते वक़्त जैसे अपनी चूत को टाइट कर लेती है. जैसे तैसे सामान रखवा कर रात करीब नौ बजे मैंने अपनी कार निकाली कि कहीं से थोड़ी बियर या व्हिस्की लाई जाये तो थकान मिट जाएगी।काफी देर तक ढूंढने के बाद भी दारु की दुकान नहीं मिली तो मैं अपने घर के पास के होटल में घुस गई. पता नहीं हमारे बदन पे कितने हाथ रेंग रहे थे, कौन कहाँ हाथ लगा रहा था ये भी ढूंढना मुश्किल था.

प्रिय अन्तर्वासना पाठको, मेरा नाम मनोज है, मैं आगरा का रहने वाला हूँ.

वो चुत रगड़े जाने से बहुत उत्तेजित हो गईं और मुझे धक्का देकर लिटा दिया. तकरीबन 10 मिनट बाद वो झरने को आया तो बोला- निकी, अब मेरा छूटने वाला है. मेरी इस बात पर अंकल ने कहा- ठीक है, एक डेढ़ महीने के अंदर भेज दूँगा.

उसका लंड ढीला होकर मेरी चुत से फिसल गया और फिर पीटर मुझे वैसे ही आगे ड्राइंग रूम में लेकर गया और मुझे सोफे पे लिटाया।साथ में वो भी मेरी चूचियों पे सर रख के लेट गया. मैंने भाभी से ऐसी बेहूदगी इसलिए दिखाई क्योंकि वही एक ऐसी महिला थीं, जो मुझे शुरूआत से पसंद नहीं आ रही थीं.

मैंने पण्डित जी के लिंग को चूसा और उस पर लगे वीर्य को चूस चूस कर साफ़ कर दिया. मैंने सोच लिया कि मुझे रवि के पास जाना ही पड़ेगा, उससे मिलकर ही मुझे पता लग पाएगा कि मेरे साथ आखिर ये सब हो क्या रहा है. जब आपको कुछ करना ही नहीं था तो आपने ये सब ड्रामा क्यों किया?गुलशन जी- जैसी तेरी सोच है मैं वैसा बुरा इंसान नहीं हूँ.

देवर और भाभी का सेक्सी वीडियो बीएफ

लेकिन ना तो मेरा मन किसी काम में ही लग रहा था, न ही खाने-पीने में… मुझे समझ ही नहीं आ रहा था कि मेरे साथ चल क्या रहा है, मुझे क्या चाहिए… और मैं किसके पास जाऊँ ताकि मेरा मन थोड़ा शांत हो जाए.

रानी भी मेरी पीठ सहलाये जा रही थी, कभी कभी अपने नाखून भी गड़ा देती और मुझे कसकर भींच लेती. सुमन अपने कमरे में आ गई और अपनी माँ को कोसने लगी कि कैसे वो पापा को तरसा रही है, इसी लिए पापा इतने गुस्से वाले हो गए फिर सुबह वाली बात उसे याद आई वोपापा का खड़ा लंडउसे याद आया. उठे हुए 34 इंच के चूचे मोटी गांड… मतलब यह कि अब मुझे सपना एकदम कयामत दिखने लगी.

मैं अभी उसकी चूत चाटने में व्यस्त ही था कि वही हट्टा कट्टा आदमी अन्दर आया और उस लड़की की चूची को दबाते हुए बोला- क्यों रोहिणी, अभी तक फिजिकल नहीं हुआ?जवाब में वो लड़की बोली- बॉस, ये लड़का अभी नया है तो बस अभी इसको सिखा रही थी, दो-तीन मिनट रूको, मैं इसको फ्री करती हूँ. मैं क्यों झूठ बोलूँगी तुझसे हाँ?सुमन- आप बुरा मत मानना माँ, रात को मेरे सर में बहुत दर्द हो रहा था तो मैं आपसे दवा लेने आपके रूम में आ रही थी, मगर उस वक़्त आप और पापा बातें कर रहे थे. बिहारी औरत की चुदाई सेक्सी वीडियोवो सिहर सी गई, उसे बहुत पेन हो रहा था, उसको लेकिन मज़ा भी आ रहा था.

इस ऑडियो में लड़के ने लड़की से पूछा कि लड़की को किस तरीके से, किस पोज में ज्यादा मजा आता है. कंडोम, वेसलीन, पानी, पेन किलर और बाकी जिस भी चीज़ की जरुरत पड़ सकती थी, सब मैंने पलंग के सिरहाने इकट्ठा कर लिया.

‘ठीक है भाबी जी, अब आपने कसम दे दी तो हम इतना जरूर करेंगे आपके लिए, लेकिन आपको भी हमसे एक वादा करना होगा. मैं मज़ाक में बोला- किस बात की जल्दी?वो बोली- अपने कमरे में जा कर सोने की. मगर उसे तो कोई परवाह ही नहीं थी, उसने मुझे झट से घुमाया, मैंने दीवार का सहारा लिया और अपनी गांड बाहर निकाल ली.

पण्डित जी उठकर बैठ गए और मेरी ब्रा का हुक खोलने की कोशिश करने लगे, कई कोशिशें नाकाम गयी तो मैंने खुद ही अपनी ब्रा उतार के अपने उरोजों को बेपर्दा कर दिया. दो बजे मनोज को पेपर देने जाना था, नवीन उसको परीक्षा-केन्द्र छोड़ कर आ गए. रास्ते में मैंने उनसे नाम पूछा तो एक ने अपना नाम प्रिया और एक ने नेहा बताया.

वो धीरे-धीरे उंगली से चुत को खोलता, उसकी गुलाबी लकीर में ऊपर से नीचे उंगली घुमाता.

साथियो, आप मुझे मेरी इस सेक्स स्टोरी पर मर्यादित भाषा में ही कमेंट्स करें. हाय राम… मैंने कर डाली? या तूने रगड़ डाला? मैंने सोचा था कि थोड़ा सा दबाना चूसना मसलना और सड़का वगैरा करेंगे… पर जब मैंने तेरा बड़ा मोटा गोरा-गोरा ठोकू राम लन्ड देखा… उफ़ माय गॉड… मैं तो पागल हो गई… अपने आप को रोक ही नहीं सकी। वैसे भी तूने चूस कर मेरी चूत को इतना मस्त और गर्म कर दिया था.

कुछ ही मिनट में वो मेरी पूरी चुत को चाट चाट कर मेरी चुत का सब पानी पी गया. तेरी मम्मी ने बहुत सारा सामान भेजा है देख ले उसमें दही बड़े भी हैं, कहीं ख़राब न हो जायें, उन्हें फ्रिज में रख देना. मैं बता नहीं सकती, मुझे कितनी खुशी हुई है।गुलशन- बस मेरी बेटी ऐसे ही खुश रहा कर.

कुछ मिनट बाद मेरा पानी निकल गया और मैंने सारा पानी उसके बुर में ही डाल दिया. नीतू ने पहले तो नानुकुर की, मगर बाद में वो नंगी हो गई और मोना तो पहले ही पूरे कपड़े निकाल चुकी थी. मैं रुका हुआ हूँ।वे सब चले गए, भाई साहब रुके रहे। मुझे ड्यूटी पर छोड़ने वाले डाक्टर साहब आ गए.

अच्छी बीएफ दिखाओ उलटे तुमने बोला कि यह दर्द तो कुछ देर का है, तो फिर जन्म भर का मजा आना है. इन सबसे मुझे भी थोड़ा अच्छा लगा तो मैं भी चुदने के मजे लेने लगा और राहुल अब आराम से मेरी गांड मारने लगा.

ओपन इंडियन बीएफ

मेरे लंड में तो तूफान उठ रहा था और मैं आज ये मौका नहीं छोड़ना चाहता था. इधर आओ।मैंने उसको पूरा नंगी किया और उसे बेड पर लिटा दिया। उसने अपने दोनों पैरों को खोल कर अपनी नंगी चिकनी चूत का नजारा दिखाया. उसकी 20 मिनट की लंड चुसाई की मेहनत के बाद मैं उसके मुँह में ही झड़ गया.

वो बात जाने दो उसके बाद होश संभालने के बाद भी तो कुछ किया होगा?फ्लॉरा- हाँ यार, पहले तो पता नहीं था मगर बाद में तो तुम जानती ही हो मज़ा आने लगता है।टीना- हाँ यार, ऐसा मज़ा आता है कि सब मज़े उसके सामने फीके होते हैं।फ्लॉरा- मज़ा तो मैंने भी बहुत किया मगर एक साल से ये सब बंद हो गया।टीना- क्यों यार क्या हुआ कि पूरा एक साल निकाल दिया. तभी एनाउन्सर ने हमें बताया कि आप अपना नम्बर सामने डिस्पले में देखते रहे और अपने नम्बर के विषय में बार-बार पूछ कर फालतू का परेशान न करें!इतना कहने के साथ ही पहला नम्बर डिस्पले हुआ. girl सेक्सी वीडियोअमेरिकन लड़का नताशा की सुन्दरता देख कर बहुत प्रभावित हुआ था और वो हर समय उसे ही देखे जा रहा था.

टीचर भी मेरा साथ देने लगीं। मैंने फिर मेम का वाइट टॉप ऊपर करते हुए निकाल दिया और टीचर के चूचे दबाने लगा। टीचर ने कुछ नहीं बोला। कुछ देर मम्मों को मसलने के बाद मैंने टीचर का पाजामा उतारा, टीचर ने अन्दर से कुछ नहीं पहना हुआ था।मैंने टीचर के होंठों पे एक और किस की और उसी के साथ उसकी फुद्दी पर हाथ फेरने लगा। फिर मैंने अपने सारे कपड़े उतारे.

उसके बाद आप लोगों ने मेरी तीसरी सेक्स कहानीपति के दोस्तों के साथ बनाई सुहागरातमें आप लोगों ने पढ़ा था कि कैसे मैंने अपने पति रोहन के कहने पर उनके दोस्तों को अपनी चुत का मजा चखाया था. मगर वो अंकल अजीब ही थे, मेरे पापा से उम्र में बड़े थे मगर उन्होंने शादी नहीं की थी, बस अपनी ही मस्ती में रहते थे.

यह बोलते वक़्त वो उदास हो गई तो मैंने फ्लर्ट करते हुए उनको बोला- आपकी स्माइल बहुत प्यारी है, आप उदास अच्छे नहीं लगती. फिर उसने अपनी ब्रा को भी अपने से अलग कर दिया और अपने बूब्स को दबाते हुए मेरे पास आई. मेरी खासियत यह है कि मेरा कॉमिक सेन्स बहुत अच्छा है और मैं अपने से पहले अपने साथी की परवाह करता हूँ, उनकी प्राइवेसी की परवाह करता हूँ.

मैं हमेशा जब भी फ्री रहता हूँ, हिंदी में देसी सेक्स स्टोरी जरूर पढ़ता हूँ.

मेरे पूछने पर उसने बताया कि उसके पास गाड़ी है और स्कूटी है, परंतु चलाना नहीं आता. मैं सोचने लगा, यार बेचारी कितना दर्द सहती है, अपना जिस्म बेचती है, तब कहीं जा कर बेचारी को कुछ पैसे मिलते हैं. राहुल ऐसे ही लंड डालकर रुका और कहने लगा- मेरी जान दिल तो कर रहा है कि तुझे अपनी रांड बनाकर रखूं पर तेरे जैसा माल सभी को मिलना चाहिए.

वीडियो सेक्सी सेक्सी मूवीदोस्तो यहाँ भी अब कुछ बताने को नहीं है, तो चलो फ्लॉरा से मिल लेते हैं वैसे भी बहुत दोस्तो की शिकायत है कि मैंने फ्लॉरा को कहाँ गायब कर दिया, तो आओ उसी को देखते हैं. मेरे लिए थोड़ी उम्मीद की किरण जागी थी क्योंकि यहाँ कोई कर्मचारी मिल सकता था मुझे जो मेरी लंड की प्यास बुझा सकता था.

सेक्सी बीएफ सेक्सी फिल्म सेक्सी

मैंने उससे पूछा- फिर?उसने कहा कि फिर करीब दो मिनट बाद मेरा पानी भी निकल गया, लेकिन तुम जब तक फिर से गरमा गए और तुमने मुझे डॉगी बना कर मेरे पीछे से आकर मेरी गांड में अपना थूक डाला और लंड को घुसेड़ने की कोशिश करने लगे. वो सुमन के ठीक पीछे जाकर खड़े हो गए और लंड को सुमन की गांड से टच कर दिया. मम्मी और बुआ मान गईं, फिर 5 मिनट में रूपा के घर जाने से पहले मैंने उसे गर्म करने के लिए कहा- आज मेरे दोस्त ने एक नई फिल्म फोन में भरवाई है, मैंने तो नहीं देखी, तू देखेगी? शायद कोई एक्शन वाली फिल्म होगी.

मैं धीरे धीरे उसके और नज़दीक गया और मैंने उसके होंठों पर एक छोटी सी किस कर दी. लौंडे की फट रही है तो फटे।पर सुकांत भी बहुत एक्सपर्ट था, उसने टांगें फिर सिकोड़ लीं। वह अपनी गांड बार-बार ढीली टाइट कर रहा था। साथ ही नीचे से उसने गांड से लंड में धक्के देना शुरू कर दिए। मैं चुपचाप उसके ऊपर लंड डाले लेटा रहा. कुछ देर शहर में घूमेंगे और फिर शाम को मूवी देखने के बाद डिनर बाहर करेंगे.

मेरे पापा ने उन्हीं के साथ जॉब की थी और काफी दूर के रिलेशन में भी हमारे अंकल यानी चाचा जी भी लगते थे. मैं चाय बना कर रूम में ले आई, चाय पीने के बाद कप लेकर किचन में गयी. उसके ऊपर चढ़े चंगेज़ ने उसकी चूत को निशाना बनाते हुए अपना भरकम लंड अन्दर घुसेड़ दिया और सामनी खड़े रुस्लान ने अपने लंड की सीध में आई गांड में! मेरी नताशा इस शानदार चुदाई से निहाल-निहाल हो उठी!पोज़ हालाँकि मुश्किल था, लेकिन लड़के भी तो जवान थे! मेहनत करके ही सही, दोनों ने अपनी कमर सिकोड़ कर, पेट भींच कर आखिर असंभव को संभव बना दिखाया और उलटे पोज़ में ही चूत, और गांड की चुदाई आरंभ कर दी.

उसके थोड़ी देर बाद वही लड़की दो और लड़कियों के साथ और उन दोनों के साथ दो हट्टे कट्टे पहलवान टाईप के आदमी, जिसमें से वो एक भी था जो दो बार कमरे में आया था और उनके साथ-साथ एक बहुत ही खूबसूरत औरत और एक लम्बा सा आदमी जो बहुत ही हैंड्सम था. वो मेरा लंड मुंह में लिए मचल उठी।दूसरी तरफ ऋतु की चूत पर नया मुंह लगने की वजह से वो कुछ ज्यादा ही गर्म हो चुकी थी और उसने अपने पैरों से सन्नी की गर्दन के चारों तरफ फंदा बना डाला था और अपनी चूत उससे चुसवाने में लगी हुई थी.

फिर बहूरानी का नाईट गाउन, ब्रा पैंटी सब फ़टाफ़ट उतार कर उसे नंगी कर दिया और मैं खुद भी नंगा होकर उसके बदन से लिपट गया.

ये मेरी बीवी ने देख लिया, उसने भाभी का हाथ पकड़कर मेरे लंड पर रख दिया और बोली- भाभी, मेरे चोदू का लंड कैसा लगा. चाइना की सेक्सी फिल्म वीडियोअब तो बस मेरे दिमाग में उसका मोटा ताजा लंड लंड ही घूम रहा था और मैं इसी जुगाड़ में था कि इसका लंड अब कैसे लिया जाये. सरदारी सेक्सी वीडियोमोना- अच्छा मैं यहाँ तुम्हारी जान बचाने के चक्कर में लगी हूँ और तुम्हें मजे की पड़ी हुई है?गोपाल- अरे प्लीज़ यार ग़लत मत समझो. मेरी नंगी चिकनी चुत देख कर मामा ने भी झट से अपने कपड़े उतार दिए और केवल अंडरवियर में आ गए.

तुम्हें अतुल जैसा प्यार करने वाला मिला ये दिखने में भी कितना हैंडसम है यार.

उसकी चिंता मुझसे देखी नहीं जाती और उसे मैं बता देता हूं कि पिछली रात मैं ही ऊपर कोठरी में उसके साथ था. फ्लॉरा की बात की टीना ने बीच में काटकर कहा- चलो जाने दो अगर तुम्हें नहीं बताना तो चलो भाई खाना-वाना लगा लो यार. जय बार बार मेरी गांड पर चांटे भी मार रहा था जिससे मुझे दर्द कुछ ज्यादा ही होने लगा था.

थोड़ी देर बाद रिया ने कहा- निकी, ये दिन मैं कभी भूल नहीं पाऊंगी। तुम्हारी वजह से मेरे नसीब मेरा यहाँ आना हुआ है. यह सुनकर वो लड़का कामुक सिसकारियाँ लेता हुआ मेरे निप्पल को मसलने लगा, कभी मेरे होठों को अपनी पैंट में खड़े लंड पर फिरा देता और कभी लंड मेरे हाथ से रगड़वाने लगता. उस हलब्बी लंड को देख कर मैं अपने आप घुटनों के ऊपर आ गई और बिना कुछ सोचे समझे उसे अपने मुँह में ले लिया।पीटर के मुँह से सिसकारियां निकलने लगी, उसका सिर्फ आधा ही लंड मेरे मुँह में जा रहा था.

बीएफ खतरनाक बीएफ

तो देर ना करते हुए मैंने तकिया उसकी कमर के नीचे रख दिया जिससे उसको सहारा मिल गया और मैं अपना लंड उसकी चूत के मुँह पर रखकर रगड़ने लगा. इसीलिए मैं कुछ ज्यादा ही उत्सुक था, पर उस वक्त मेरे पास चाची के सीधा होने का इंतजार करने के अलावा और दूसरा रास्ता नहीं था, चूंकि मेरी फट भी रही थी. मैं ये सब कुछ देख रहा था और उधर सुमित साला भोंसड़ी का मेरी दीदी के मजे लिये जा रहा था.

मैंने भी ड्राइंग रूम से अपनी साड़ी पेटीकोट हटाया और जल्दी से नहा धोकर तैयार हो गई, बच्चे को जगाया और तैयार करा कर स्कूल छोड़ कर आ गई.

मैंने भाभी की मालिश शुरू की, तभी उन्होंने हाथ पीछे करके ब्लाउज और ब्रा को खोल दिया.

कविता नाराज हुई, बोली- अब सिगरेट छोड़ और चल!रीना ने चलते चलते फ्रिज से व्हिस्की निकाल कर एक मोटा पेग बना लिया जिसे दोनों ने शेयर कर के ही बाहर कदम निकाले. उसने मुझे बताया कि वह चाहता है कि वह अपनी माँ को अपने आँखों के सामने किसी बड़े मर्द से चुदते हुए देखे वह चाहता था कि कोई एक मुस्टंडा मर्द उसकी माँ को उसकी आँखों के सामने रौंद डालें. इंटरनॅशनल सेक्सी व्हिडिओमैंने फटाफट किचन और बर्तन साफ़ किये और पण्डित जी के बेडरूम पहुँच गयी.

अब तक इस हिंदी अन्तर्वासना स्टोरी में आपने पढ़ा कि सुमन आज एक सेक्सी और मॉडर्न ड्रेस पहन कर कॉलेज जाने के निकली तो टीना उसे देख कर एकदम से चौंक उठी. तभी सविता भाभी को याद आया कि शाम होने को है और उन्होंने डिनर की कोई तैयारी ही नहीं की. मम्मी ने तुरंत झुककर पेटीकोट उठाने की कोशिश की लेकिन जीजाजी ने पेटीकोट पर पैर रख दिया था.

पण्डित जी बिस्तर पर निढाल हो गए और मैं उनके ऊपर वैसे ही पांच मिनट पड़ी रही. मैंने तो प्राची भाभी की उम्र भी नहीं पूछी थी, बस अनुमान लगाया था कि वे 28-29 की होंगी.

’फिर टीचर ने कहा- कपड़े पहन लूँ?मैंने कहा- कौन सा कोई देख रहा है।टीचर हंस दीं.

अचानक चाची की नजर मेरे लंड पर पड़ी तो चाची चौंक कर बोलीं- तेरा नुन्नू अभी तक खड़ा है. नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम नेहा सिंह, मैं खूबसूरत हूँ… स्मार्ट हूँ, सेक्सी हूँ. इसी के चलते मैंने उससे सेक्स के लिए पूछ लिया और उसे भी कोई ऐतराज नहीं था क्योंकि वो भी मुझे लव करने लगी थी.

झारखंड के देहाती सेक्सी वीडियो मैं- मैं तो, पहले जब आप कपड़े धूप में डालने आती थीं, उस टाइम रोज आ जाता था. मैं यह अवसर खोना नहीं चाहता था, मैंने सही वक्त देखा और उसके नर्म लबों पर अपने लब टिका दिए.

कुछ दिन ऐसे ही फोन सेक्स करने के बाद आखिर वो दिन आ ही गया जब उन्होंने मुझे मिलने के लिए कुरुक्षेत्र बुलाया. भाभी की साँसें तेज हो गईं और उन्होंने कस कर मेरे सिर के बाल पकड़ लिए और अचानक झड़ गईं और शांत पड़ गईं।फिर भाभी उठीं. वह आंनद से आवाजें निकालने लगी, आह… करो… जोर से… मार दिया आज तो… ऐसी चुदाई कभी नहीं हुई… हाय मेरे राजा… मेरे असली पति तो तुम ही हो… आज से मैं तुम्हारी हुई.

ओके बीएफ वीडियो

जो वीर्य पूजा की गांड पर लगा था, वो वीर्य योगी ने पूजा की गांड में उंगली घुसा कर अंदर डाल दिया. हो सकता है कि वो अभी आ जाएं।यह सुनकर दूध वाले की गांड फट गई और वो जल्दी से अपने कपड़े ठीक करके चला गया, जाते समय उसने मुझे अपने नम्बर पर कॉल करने का कह दिया।दूसरे दिन मैंने उसे फोन कर दिया और 11 बजे तक आने को कह दिया। मैंने उससे कहा कि आने से पहले एक मिस कॉल जरूर दे देना, यदि पति नहीं हुए तो मैं तुम्हें कॉल करूँगी. मैंने 11वीं कक्षा में प्रवेश लिया, यूनिट टेस्ट शुरू हुए, तब के टाईम में सभी कक्षाओं के छात्रों की एग्जाम की सिटिंग उनके सरनेम के हिसाब क्रम बद्ध होकर बनती थी.

लेकिन मैंने शादी के बाद एकदम साफ़-सुथरी जिन्दगी बिताने की सोची, मैं अपने पति अशोक को धोखा नहीं देना चाहती थी. दोस्तो, कैसी लगी जवान लड़की की कामुकता की कथा? मुझे जरूर लिखना![emailprotected].

तो देखा कि पूरे रूम में घुप्प अँधेरा था, कुछ भी दिखाई नहीं दे रहा था.

‘बिना कपड़ों के मतलब न्यूड, तिवारी जी,’ अनीता अच्छी तरह समझाते हुए बोली. जल्दी में उसने चूत को साफ़ नहीं किया और मेरे लंड का माल उसकी चूत से नीचे बहने लगा. झड़ने के बाद नीतू एकदम बेजान सी पड़ी रही, जैसे चुत के रास्ते उसके जिस्म का सारा खून बाहर निकल गया हो.

फिर मैंने झट से अपने लंड को मामी की चूत की फांकों में फंसा कर एक तगड़े झटके से घुसेड़ डाला. वो मेरे पास आकर लेट गई- ओह समीर तुमने मेरी प्यास को और बढ़ा दिया है. पापा बोले- सुमि बेटी, चुम्मे से काम नहीं चलेगा, इसको तुम्हारे रसीले होंठों का प्यार चाहिए.

मामा ने अचानक से मेरी गांड पकड़ कर अपने ओर खींच ली, मुझे साफ साफ पता चल रहा था कि मामा का लंड पैन्ट में तन चुका है.

अच्छी बीएफ दिखाओ: सुमन- हाँ पापा, सेक्स के अलावा आप कुछ भी कहो… मैं करने को रेडी हूँ. वो जब खाने की टेबल पर जॉय के सामने बैठी तो उसके झुकने से उसके खरबूजे आधे से ज़्यादा बाहर निकल आए.

बाप रे बाप कितनी बड़ी चुत थी… लगता था जैसे घड़ियाल का मुँह हो और मैं साला इतना निकम्मा था कि इतनी बड़ी चुत में लंड नहीं घुसा पा रहा था. मैंने कहा- ठीक है, मगर ये जाना कहां चाहती है घूमने के लिये, एक बार इससे पूछ तो लो?तभी उसकी बहन ने कहा- मैंने बहुत दिनों से मूवी नहीं देखी है. सुमन इस हरकत से एकदम सिहर गई और जल्दी से पीछे हो गई, उसने अपनी टी-शर्ट ठीक की और गुलशन जी से नज़रें चुराने लगी.

अगले दिन जब वो स्कूल से घर आई तो मैं पहले से उसका इंतजार कर रहा था.

और ये क्या मरने की रट लगा रखी है?फ्लॉरा- मेरे स्कूल की एक लड़की को ऐसे रिएक्शन हो गया था और वो मर गई थी. मुझे भी घर पहुंचना है और तुझे अपने पी जी!इतना कहकर मैं उठकर दरवाज़े की तरफ बढ़ा. तभी उसका लंड मेरी चुत में दाखिल हुआ और मुझे ऐसा लगा कि किसी ने मुझे दोनों पैर खींच कर बीच में से चीर दिया हो.