मोटी औरत की चुदाई बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी बफ चुड़ै वाली

तस्वीर का शीर्षक ,

माधुरी दीक्षित का सेक्सी: मोटी औरत की चुदाई बीएफ, ये कहते हुए मैंने उनके पैंट की चैन नीचे कर दी व हाथ डाल कर उनका लंड बाहर निकाल कर सड़का मारने लगा.

बाळकृष्ण महाराज सेक्सी व्हिडिओ

मेरी अन्तर्वासना की कहानी में पढ़ें कि मेरी चूत की आग ने मुझे किस किस से चुदवा दिया. सेक्सी व्हिडीओ रोमान्सअब तू देर ना जल्दी से डाल दे इसे मेरी चुत में … और बुझा दे मेरी प्यास.

एक हाथ से मैं उस परी के मम्मों को मसलते हुए उसके होंठों का रसपान कर रहा था. वेरी वेरी हॉट एंड सेक्सी वीडियोउसका लण्ड देखकर मेरी तो गांड फट गई क्यों कि उसका लण्ड करीब 11 इंच लम्बा था जो मसाज से 12 इंच हो गया.

वो लंड चुत के हर झटके में अपनी चरम सीमा तक पहुंचने की कोशिश कर रही थीं.मोटी औरत की चुदाई बीएफ: मैंने उनके एक दूध को मुँह में ले लिया और जीभ को निप्पल पर घुमा घुमा कर मजा लेने लगा.

निखिल की हरकतों से मेरे अन्दर दोबारा जोश भरने लगा था और कुछ देर बाद हम दोबारा चुदाई करने को तैयार हो चुके थे.अभी तक जिसने भी मेरी सेक्स कहानी को पढ़ा है, मैं उन लोगों का धन्यवाद करना चाहूंगा.

योगा सेक्सी फोटो - मोटी औरत की चुदाई बीएफ

स्तनों में दूध ज्यादा होने के कारण वो निप्पलों से रिसता रहता है और उसके टी-शर्ट के ऊपर निप्पलों के पास धब्बे बना देता है.मन ही मन खुश होते हुए मैं ठंडे पानी का शॉवर लेने का सोच कर बाथरूम में चली गयी.

उन्होंने आगे बढ़ कर मुझे अपनी बांहों में भर लिया और मेरी गर्दन पर किस करने लगे. मोटी औरत की चुदाई बीएफ जाने क्या बात थी धारा में, उसकी आवाज़ कानों में पड़ते ही शेखर सारी दुनिया से बेख़बर हो जाता था और यह भी भूल जाता था कि शेखर और धारा दोनों शादी-शुदा थे और दोनों का एक हँसता खेलता परिवार था.

उसके कुछ देर बाद विदेशी औरत मेरी बीवी के पास आकर बैठ गई और उसको किस करने लगी.

मोटी औरत की चुदाई बीएफ?

मैंने उनको टोका भी लेकिन वो माने नहीं कि तभी हमारे कंपनी के मुख्य अधिकारी भी आ गये. टॉवल छोटी थी तो मेरी मुयालम गांड भी दिखने लगी।तभी सर को हल्का ठसका सा लगा और मैं हड़बड़ा कर उनको जग में से पानी देने लगी. फिर एक दिन बुआ और घर के सब लोग उसका रिश्ता पक्का करने के लिए बाहर जाने वाले थे.

लेकिन वह अभी झड़ा नहीं था और मेरी गांड में जोर जोर से धक्के मारे जा रहा था. लण्ड और चूत दोनों बार बार की चुदाई से दर्द करने लगे थे लेकिन दिल नहीं मान रहा था. अब मैंने अपने हाथों के बल अपने शरीर को ऊपर उठा‌ लिया और नीचे से अपनी पूरी तेजी व ताकत से ममता जी चुत में लंड के धक्के लगाने शुरू कर दिए.

साथ ही गांड और लंड की रगड़ की पाच पाच की मिली जुली आवाज मुझे और कामुक बना रही थी।मेरी गांड में उसके लंड के झटके तेज होते गए; इतनी तेज कि मुझे दर्द होने लगा. ऐसा लग रहा था कि कुछ कमी सी रह गयी हो।समलैंगिक संबंधों के बारे में हर स्त्री की विचारधारा को तो शामिल नहीं कर सकती किंतु मैं इतना जरूर कह सकती हूं कि ईश्वर के बनाये सभी कामों में संभोग सबसे रोचक काम है, चाहे वो स्त्री-पुरुष के बीच हो, स्त्री-स्त्री के बीच या पुरूष-पुरुष के बीच।हर स्त्री के भीतर संभोग की इच्छा होती है, चाहे वो पुरुष के साथ हो या स्त्री के साथ।इसीलिए शुरू में थोड़ी हिचकिचाहट होती है. दिव्या ने झटके में चादर अपने ऊपर ओढ़ ली।शशि हंसने लगी और बोली- मैं जल्दी तो नहीं आ गई?दिव्या आश्चर्यचकित होकर मेरी और शशि की तरफ देखने लगी.

स्नेहा- और भोसड़े किसके किसके देखे हैं?नेहा- मॉम का भोसड़ा तो हमेशा देखती रहती थी. मेरी बीवी धीरे-धीरे बात कर रही थी और उसकी खुसर फुसर मुझे सुनाई नहीं दी.

इस पर चाची आंख दबाते हुए बोलीं- मार लिए … जी करता हो त … तेरा चाचा भी म्हारी गांड मारा करता सै.

तभी प्राची के निप्पल से दूध की एक बूंद गिरने वाली थी, उसको पकड़ने के लिए मैंने हाथ आगे कर दिया.

शाम को जब मैं वापस आया, तो वही दोनों महिलाओं आपस में बात कर रही थीं. मैं भी उसकी टाइट चूत को चोदकर परम सुख की प्राप्ति कर रहा कर रहा था. थोड़ी देर बाद उसने अपने हाथ की उंगलियां मेरे मुँह की तरफ़ की और मेरे होंठ को छूने लगी.

भाभी इतनी सुंदर लग रही थीं कि मेरे पास उनकी खूबसूरती को बयान करने के लिए कोई शब्द ही नहीं है. मैंने घड़ी देख कर मन में ही हैरानी जाहिर की कि नींद लग गई और कोचिंग मिस हो गई. नेहा के गले में उसने इतना माल छोड़ा कि उसके मुँह के दोनों कोरों से वीर्य बाहर आने लगा.

सोनम भी अब पूरे जोश में नीचे से अपनी गांड उठाते हुए उसके लौड़े का स्वागत अपनी चुत में कर रही थी.

मैं भी उसको ममता जी की चुत में अन्दर बाहर होते अपने लंड को दिखाने के लिए कभी धीरे धीरे … तो‌ कभी तेज तेज धक्के लगाने लगा, जिससे ममता जी की आवाजें भी तेज हो गईं. इधर अमन अपने तीसरे धक्के के लिए तैयार था … उसने जोर से झटका दिया और इस बार अमन का पूरा लंड मेरी बहन रीना की चूत में घुस गया. उसकी चूत में धक्के देते हुए मैंने कहा- मेरा होने वाला है, अंदर छोड़ दूं क्या?वो बोली- नहीं, तू पागल मत बन.

स्नेहा- साली मुझे तो बोल रही थी, पर तेरी ये चूचियां इतनी बड़ी कैसे हो गईं. उनका लंड देख कर मैं थोड़ी डर गई क्योंकि अंकल का लंड 7 इंच लंबा और 4 इंच मोटा था. भाभी- चूस साली … चूस बहन की लौड़ी … देख तेरे भाई से बड़ा और मोटा लण्ड है.

मेरी आवाज कमरे में गूंजने लगी और मेरे नाखून उनकी पीठ पर खरोंचने लगे जिसकी वजह से उनमें और जोश आने लगा.

सुबह उठ कर साथ में नहाते वक्त मैंने फिर से उसकी पूरे जोश में चुदाई की. जब ऑफिस से सब चले गए … तो मैंने अलवीना को सामान के साथ ऑफिस के रेस्टहाउस वाले रूम में आने को कह दिया.

मोटी औरत की चुदाई बीएफ तुम्हारी उम्र बढ़ रही है मगर ये आज भी किसी कॉलेज गर्ल जैसी कमसिन है. तब भाई साहब बोले- अरे साहब ही आपकी परीक्षा लेने वाले सबसे बड़े अफसर हैं.

मोटी औरत की चुदाई बीएफ मैं तो कुछ बोल भी नहीं सकता था … क्योंकि मुँह तो मेरा पहले से ही पैक था. मेरा लंड लम्बाई में 6 इंच के करीब है और उसकी मोटाई है 2 इंच से थोड़ी सी ज्यादा।मैं 38 साल का हूं.

मैंने झट से लंड उसके मुँह में ठेला और अपने हाथ से उसके सर को लंड पर दबा दिया.

बीएफ बीएफ सुहागरात बीएफ

मैं थोड़ी मुस्करा दी तो वो मना नहीं कर पाए और साथ साथ चल दिए।रूम काफी बड़ा था. अजय- हां मेरी रंडी, मेरा लंड अब भी तेरी चुत फाड़ने के लिए फड़फड़ाता है … आ जा साली, तेरी गांड मारने का बड़ा जी कर रहा है. चूंकि सारी बात हम दोनों समझ गए थे कि ये एक दूसरे के प्रति आकर्षण वाला मामला है, तो वो भी मुझसे इठला कर बात करने लगी थी.

चाची- क्यों मुस्कुरा रहा है?मैंने- चाची, आप मुझे बहुत अच्छी लगती हो. आज भी उसके होंठों को जब मैं चूम रही थी, तो मुझे अपार आनन्द मिल रहा था. वो खाने का डब्बा लेकर मैं ऊपर तो आ गया … मगर मैंने उसे सीधा शायरा को नहीं दिया बल्कि उसे शायरा के घर के दरवाजे के पास रख दिया और उसके घर के दरवाजे‌ को‌ एक बार जोर से खटखटाकर ऊपर भाग आया.

यामिना मुँह से लण्ड बाहर निकालकर एकदम पीछे हटी, उसने तुरंत ही अपनी पैंटी उतार कर बेड से नीचे फेंक दी और मुझे बेड पर धकाते हुए 69 की पोजीशन में मेरे ऊपर आ गई.

मैंने उनकी तरफ देखा और एक निप्पल को मींजा, तो भाभी ने खुली और ढीली ब्रा को उतार दिया. मैंने अपनी बीच की उंगली से निर्मला जी की चुत को ऊपर से नीचे तक सहलाना शुरू किया, मेरी उंगली उनकी चुत की फांकों में ऐसे फिसल रही थी, जैसे मार्बल के फर्श पर बर्फ फिसलती है. मेरी नज़रें किसी नई लौंडिया को तलाश रही थीं, जो मोहल्ले में सबसे चर्चित हो.

मैंने देखा कि आगे सीट पर दो बुजुर्ग लोग बैठे हुए थे जो नींद में थे. आपके प्यार की निशानी जीनिया के पेट में है, यह और भी खुशी की बात है. गुलजान दूर से हमें देख रही थी, तो मैंने हाथ के इशारे से उसे अपने पास बुलाया.

मैंने उसकी लैगी और पैंटी को घुटनों तक नीचे कर दी और अपना लंड भी बाहर निकाल लिया. मस्ती को बढ़ाने के लिए मैंने अपने मुँह में भाभी के एक बोबे को लेकर चूसने लगा.

स्नेहा- ओके … तो संध्या चाची की कुछ सुना दो, मॉम की कहानी फिर कभी सुना देना. मैंने दोबारा से उसे जकड़ लिया, पर डर के मारे ज़्यादा कुछ नहीं किया. वो बोली- क्या यार पीछे भी पेल दिया … मैंने कभी नहीं सोचा था कि मैं आपके साथ पहली बार में ही इतना ओपनली सेक्स करवा लूंगी.

मैं अपनी गांड को उसके मुंह पर रगड़ती रही और कुछ समय तक अपना पसीना उसके चेहरे पर लगाती रही.

पर आपने मॉम का भोसड़ा कैसे देख लिया दीदू?नेहा- क्यों तुझे भी देखना है क्या?स्नेहा- मैंने उन्हें नंगी तो कई बार देखा है, पर कभी ये सोच कर नहीं कि मॉम की चूत या भोसड़ा कैसा होगा. मगर ये कहानी मेरी तीसरी गर्लफ्रेंड की है जब मैं 22 साल का था और कॉलेज की पढ़ाई खत्म करने वाला था. इस बात पर प्रभात न जाने क्यों हंस पड़ा, फिर एकदम से बोला- ये अभी लौंडे अफसर हैं.

फिर सूरज भईया भाभी को देख कर बोले- अरे वाह लगता है दोनों देवर भाभी होली के मजे ले रहे हैं. अब सिमरन की एक और गर्म कामुक कहानी पढ़ने के लिए तैयार हो जाइये।मेरी ये सेक्स स्लेव पोर्न कहानी पढ़कर आपका पानी पैंट में ही निकल पड़ेगा इसलिए बेहतर होगा कि आप पहले से ही अपने लंड को बाहर निकाल लें।अब मैं वो घटना बताती हूं.

मैंने प्राची की लगभग नंगी चूचियों को देख लिया था, जिससे मेरा लंड खड़ा हो गया था. मेरे मुँह से आवाज निकल रही थी- ओहह पापा … आह चोदो मुझे … आहह बुझा दो अपनी रंडी बेटी की प्यास उहह आअहह आई लव यू पापा. मैं भी उन्हें जोर जोर से ऊपर नीचे होने में अपने हाथों से जोर लगाता रहा.

बीएफ सेक्सी मराठी ओपन

उसके गले पर काटने के साथ साथ मैं उसकी गांड भी दबाने लगा और अब मैंने फिर से उसके होंठों को चूमते हुए उसकी गांड पर ज़ोर से एक चपत लगा दी।मेरी यह हरकत उसको भी बहुत अच्छी लगी और उसने अपनी ब्रा के हुक खोल दिए.

शायद यह हमारी आखिरी मुलाकात होगी, इसलिए मैं चाहता हूँ कि आपके साथ एक कप कॉफी पी लूं. प्रीति हमेशा यही कहती कि तुम दोनों मुझसे हर महीने अपने लिए तनख्वाह ले लिया करो लेकिन मैं तुमको मेरे ही घर में नौकरी करते हुए नहीं देख सकती हूँ. जब मैंने आंखें खोलीं, तो देखा कि मेरे लंड महाराज जी पूरी तरह लाल हो गए थे.

हॉट कॉलेज गर्ल्स स्टोरी में पढ़ें कि जब सेक्सी लड़कियाँ और गर्म लड़के इकट्ठे होकर आपस में बात करते हैं तो घूम फिर कर विषय सेक्स और मौज मस्ती होता है. वो अपने बेटे के छत पर सोये होने के कारण तेज स्वर में नहीं चिल्ला पा रही थीं. पंजाबी औरतों की सेक्सी वीडियोफ्रेंड्स, इस सेक्स कहानी की लेखिका सोनिया आपको एक बार नेहा को उसके रूप को बताने चाह रही हूँ.

आपको सेक्स विद फ्रेंड Xxx कहानी कैसी लगी मुझे इस ईमेल पर जरूर बताना. हम दोनों भाई वैसे तो निकम्मे या नाकारा नहीं हैं, बस हमारी किस्मत कुछ अजीब है.

फिर आंटी बोली- बेटी तुम्हारी चुत काफी सूज चुकी है … इसलिए रात को सोते समय गरम दूध में थोड़ी हल्दी डाल कर पी लेना. यामिना- यही बात मैं आपसे कहने वाली थी, मुझे पहली बार ऐसे चोदा गया है कि पोर पोर शान्त हो गया है. लेकिन कोई काम नहीं मिला इसलिए हम दोनों काम ढूंढते ढूंढते यहां तक आ गए.

मैं अपनी जीभ उसके मुँह में डाल कर घुमाने लगा, तो प्राची ने भी मेरी जीभ को पकड़ कर चूसना शुरू कर दिया. अब आगे मेरी प्यासी चुत की कहानी:प्रकाश शॉप से घर आया तो अनीता ने उसे दरवाजे पर ही चूम लिया।वह समझ गया कि मैडम आज मूड में हैं. मैं दिन के समय में भी सो चुका था और ऊपर से अनु मेरे पास ही लेटी हुई थी.

दोस्तों के लंडों को ढेरों चुतें और लड़कियों, भाभियों, महिलाओं की चुतों को ढेरों लंडों के मिलने की कुशल कामना के साथ आज की गरम औरत की गांड कहानी को यही विराम देता हूँ.

क्योंकि ना तो शायरा मुझसे बात करती थी और ना ही मैं शायरा से बात करता था. मेरी साली का नाम दीपिका है और वो 23 साल की अविवाहित कुंवारी लड़की है.

मगर बढ़ती ज़िम्मेदारियों और आने वाले सुनहरे कल की उम्मीद में दोनों ने अपने दिल पर पत्थर रख कर इस बात को स्वीकार कर लिया. उसकी चुत में जब भी लंड अन्दर रुकता था, तो मुझे लगता था कि मेरा लंड उसकी चुत के अंत में जाकर टकरा रहा है. कुछ समय बाद मयंक का मेरे पास फोन आया- भाई तेरी बहुत ज्यादा याद आ रही है.

हम कहीं न कहीं किसी भी हालत में इन 4 सालों में हर एक दिन मिलते और अपनी कामवासना को शांत कर लेते थे. मन में एक ही इच्छा होती थी कि रमिला चाची की गांड में लंड घुसाकर जिंदगी भर पड़ा रहूँ. हल्के भूरे रंग के उसके भीगे हुए खुले बाल … और नक्काशी जैसा तराशा हुआ बदन बड़ा ही कामुक लग रहा था.

मोटी औरत की चुदाई बीएफ मैं पूरी तरह से देख रही थी कि उसका लंड बाहर आने की कोशिश कर रहा था. वहीं मेज पर कांच का एक जग पानी से भरा हुआ था, तीनों गिलासों में पानी मिलाया और हम तीनों ने अपने अपने गिलासों को उठा कर थ्री-सम सेक्स के लिए चीयर्स किया.

एक्स एक्स बीएफ मेवाती

शायद मेरे साले की उम्र 38 साल की होने की वजह से वो 26 साल की यौवना को तृप्ति नहीं दे पा रहा हो. रात को भाभी थकान की वजह से गांड साफ करे बिना ही पहन कर सो गई थीं, जिस वजह से दाग बन गया था. मैं धीरे-धीरे उनकी गांड को सहलाने लगी और उनके बालों पर हाथ फेरने लगीमैंने अंकल को बताया- आज आपने मेरी बरसों पुरानी इच्छा को पूरा कर दिया.

शायद यह हमारी आखिरी मुलाकात होगी, इसलिए मैं चाहता हूँ कि आपके साथ एक कप कॉफी पी लूं. ब्लाउज में फंसे उसके चूचे और नीचे से केवल उसकी गोरी जांघों पर चूत पर ढकी पैंटी … ओह्हो … मैंने सीधा नीचे बैठकर उसकी चूत को ही चूम लिया. മലയാള സെക്സ്यामिना- ठीक है सर!मैं- लेकिन जबतक अपॉइंटमेंट लेटर नहीं बनता तब तक यह बात किसी को भी नहीं पता लगनी चाहिए, क्योंकि कई बार बात बिगड़ जाती है.

दोस्तो, मैं उस समय इतना थक चुका था कि मैं बिना कपड़े पहने ही नंगा ही भाभी से चिपक कर सो गया.

उस कमरे तक पहुंचते पहुंचते हम लोग पूरी तरह से भीग गए थे और ठंडी हवाओं से हमें ठंड लगने लगी थी. मैंने भी थोड़ा झुक कर बोला- क्या हुआ?श्वेता झुकी हुई थी, तो उसके आधे बूब उसके टॉप में से दिख रहे थे.

वो मजे में ऐसे गोते लगा रही थी जैसे मैं उसके साथ पहली बार चुसाई कर रहा हूँ. मेरे लंड का रस पूनम बुआ के मल से मिलकर उनकी गांड से बाहर बहने लगा था. मेरे होंठ उसके होंठों पर जा लगे जिनका स्वागत उसने बहुत ही प्यार से किया और पूरा साथ देते हुए मेरे होंठों से होंठ मिलाकर चुम्बनों का आदान प्रदान करवाने लगी.

‘आअह अह्ह्ह्ह ह्म्म्म धीरे करर्रर भोसड़ी के … आह्ह्ह्ह फाड़ ही देगा क्या मेरी चुत साले मादरचोद … और जोर से मार मेरी गांड कुत्ते … आह फाड़ दे मेरी गांड, रंडी बना दे मुझे अपनी साले हिजड़े.

मैं प्रभात को दो साल से जानता था, पर आज तक ये नहीं जान पाया था कि वो भी साला गांडू है. मैं ऐसा करता रहा और लिली लण्ड चूसती रही, कभी कभी उसी गिलास से छोटा सिप भी करती रही. इसलिए मैं थोड़ा लंड चूसती थी और फिर लंड मुँह से बाहर निकाल कर सांस लेने लगती थी.

கீர்த்தி சுரேஷ் செஸ் விதேஒஸ்उन्होंने आगे बढ़ कर मुझे अपनी बांहों में भर लिया और मेरी गर्दन पर किस करने लगे. उस वीडियो में एक फिरंगी लड़की की चार अफ्रीकन हब्शियों के द्वारा ग्रुप चुदाई का वीडियो था.

सेक्सी पिक्चर बीएफ गुजराती

रात में घमासान चुदाई हुई थी दोनों के बीच और चुदाई के बाद हमेशा की तरह दोनों नंगे ही सो गए थे. तो वो बिना कोई बात किए हुए अन्दर आ गई उसने मेरे बारे में पूछा, फिर बोली- आपकी चाची कहां हैं?मैंने कहा- वो तो खेत गई हैं, कुछ काम हो तो बताएं. मैं- कैसी लगी वीडियो?भाभी थोड़ी शर्मा गईं और बोलीं- अच्छी थी … तभी तो देख रहे थे, उतने में आप आ गए.

तो लिली ने मुँह बनाते हुए मुझसे मेरे कपड़े छीन लिए और मुझे अपने ऊपर खींच लिया. वहां पहुँच कर उसे मैंने 2000 रुपये दिए और बोला- तू गाड़ी ठीक करवाके घर चला जाना, मैं दीदी को छोड़ कर आ जाऊंगा. दीदी घर में सब काम करने लगीं और काम करने के बाद रोज के नियमानुसार वो स्नान करने अपने बाथरूम में चली गईं.

कुछ ही पलों बाद वो फिर से कमर उचकाने लगी और जल्दी ही मुस्कान आउट ऑफ कंट्रोल हो गयी. जब तक भाभी का गिलास खाली न हो गया, तब तक मैं उनकी चुचियों को बारी बारी से चूसता रहा. एक मिनट से कम समय में मेरा लंड हिनहिना उठा और मैं बिना कुछ कहे उनके ऊपर चढ़ गया.

जैसे ही अमन घर से बाहर निकला मेरा मालकिन वाला भाव भी कहीं गायब हो गया क्योंकि अब मैं संतुष्ट हो गयी थी. फिर मैंने अपना एक हाथ भाभी की साड़ी में होते हुए पैंटी के अन्दर ले जाकर उनकी चूत पर रख दिया.

उनका (नसीम भाईजान का) नईम सर जैसा ही मस्त लंड था, पर गांड मारने का अनोखा अंदाज था.

भाभी- ठीक है … और अब बिना कपड़े के सोओगे … तो भी कोई प्रॉब्लम नहीं है. ఆంధ్ర సెక్స్ వీడియోउधर भाभी सुबह 6:30 बजे उठती हैं और भाई तो आराम से 9 बजे तक उठते हैं. सेक्सी वीडियोस हॉटआलिंगन के साथ-साथ मैं उसकी पीठ पर पीछे से हाथ भी अब धीरे-धीरे ऊपर नीचे कर रहा था और मेरा हाथ उसके कूल्हे तक जा रहा था।अब हम दोनों एक दूसरे से इतने चिपक गए थे कि मुझे उसकी चूचियों की गोलाकार गेंदों का अहसास मेरे सीने में होने लगा था. झट से अपना लोवर ढूँढ कर उसने पहना और दरवाज़ा खोला।क्या बात है शेखर भैया, आज बड़ी देर तक सोते रहे आ ?”रघु ने अपने हाथों में पकड़ा हुआ चाय का कप शेखर की तरफ़ बढ़ाते हुए सवालिया निगाहों से देखा.

मैंने हार और नेकलेस भी निकाला और ब्लाउज में छिपी उसकी चूचियां दबाने लगा.

कंचन भाबी का फिगर 34-22-32 का है और वो देखने में किसी हीरोइन से कम नहीं हैं. मैं जीभ घुसा घुसाकर चूत चाटने लगा।मैंने उसे बिस्तर पर पटक दिया और ऊपर आ गया। मैं अपने लौड़े को चूत के होंठों पर रगड़ने लगा और चूत के रस से लंड को चिकना कर दिया।अब मैं और नहीं रुक सकता था. चूत के छोड़े हुए पानी के वजह से चूत पूरी गीली हो चुकी थी और मेरा लंड भी अब आसानी से चूत के अन्दर बाहर हो रहा था.

यामिना की चूत की बनावट इतनी सॉलिड थी कि दोनों फाँके, क्लिटोरियस और छेद बिल्कुल सुडौल, गोरे और सुंदर बनावट लिए थे. मिशैल- मुझे लगता है कि तुम्हारा लंड मेरी चूत में घुस जाने के लिए बेताब है. मुस्कान के साथ बातों ही बातों में पता लगा कि उसकी उम्र 38 साल की थी.

ब्लू फिल्म हिंदी में वीडियो बीएफ

डॉक्टर बोला- तो बताओ अब क्या करें?मैं बोली- तुम जाकर मेरे पति को संभालो. मैं भगवान से प्रार्थना करता रहता था कि एक बार रमिला चाची की चूत या गांड मारने का अवसर दे दे, तो जीवन सफल हो जाए. थोड़े समय बाद जब प्राची आयी, तो उसने पूछा- क्यों हो गई इच्छा पूरी!मैं ना में गर्दन हिलाते हुए प्राची के नरम मुलायम होंठों पर किस करने लगा.

मैंने अब तक अपने कॉलेज में बहुत सारी लड़कियों को चोदा है लेकिन जो मज़ा उन दोनों को याद करके मुठ मारने से मिलता था, वो मज़ा तो लौंडियों की चुदाई में भी नहीं मिला था.

हनीमून सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मेरी माशूका जिसे सेक्स बहुत पसंद है, मेरे साथ सुहागरात मनाने की इच्छा जाहिर की.

उन्होंने उसे खोला और अपनी बीच वाली उंगली उसमें डाली और मेरे मुंह में दे दी. गाड़ी का गेट खुल गया, मैं गाड़ी के नजदीक गया तो गाड़ी में एक बहुत ही सुंदर लड़की बैठी थी, जो गाड़ी चला रही थी. बाप बेटी सेक्सी चुदाईहॉट भाभी बूब स्टोरी में पढ़ें कि मेरी पड़ोसन भाभी अपने पति से दुखी थी.

मैं भी थोड़ा डर गया कि कहीं ये बात का बवाल न बना दे इसलिए मैंने समय रहते पलटी मारी. नीमून पर ही रेणु को पता चल गया था कि शेखर कितना कामुक और सेक्स के मामले में बेशर्म मर्द है. मेरे मुँह से लगातार आवाज़ निकल रही थी- आआह … इस्स्स्स्सा अहहा उमम्म्म!वो मुझको धकापेल चोद रहा था.

वो गर्म होने लगी और एकदम से उसने मेरे हाथ को चूत के पास पकड़ लिया और उसको चूत पर दबा दिया. मुझे उसके लंड को पकड़ना बहुत अच्छा लगा तथा मैं उसे सहलाने लगा।वह मेरी गले पर चुंबन कर रहा था.

जब मैंने उसके बारे में पूछा तो उसने बोला कि उसको उसके माता-पिता या घर के बारे में कुछ नहीं पता और वो काफी समय से एक मिल में मजदूरी करता आ रहा है.

दोस्तो, मैं राज आपको अपनी पड़ोसन भाभी उनकी दो किरायेदार लड़कियों की चुदाई की कहानी सुना रहा था. तब तक मैंने भी अपना शॉर्ट्स पहन लिया और जाकर प्राची के बाजू में सोफे पर बैठ गया. इतना बोल कर स्नेहा ने झपट्टा मारा और उसकी चूत जींस के ऊपर से ही दबोच ली.

देशिचुदाई मैंने चड्डी के ऊपर से मम्मी की चूत पर हाथ फेरना शुरू किया तो पापा ने मम्मी के दूध दबाना शुरू कर दिए. तूफान इतना तेज़ था और बारिश भी समय के हिसाब से कुछ ज्यादा हो रही थी.

इधर भाभी भी मेरे लंड को अपने हाथ में पकड़े हुए आगे पीछे किए जा रही थीं. उनके मन में मेरे प्रति क्या भाव थे, मुझे नहीं मालूम, लेकिन मेरे दिमाग और मेरे लंड में जबरदस्त हलचल मची हुई थी. मेरे चेहरे से ही मेरी अच्छी पर्सनेलिटी बनती है और मैंने सेहत भी मेंटेन करके रखी है.

बीएफ हिंदी में सेक्सी ब्लू फिल्म

मैंने भी कह दिया- हां मेरी जान, पीस कर रख दो मुझे … तुम्हारे भैया तो मुझे महीनों तक नहीं छूते हैं. ये मेरी अपनी बात है। आप सब का प्यार मिला उसके लिए आप सब का फिर से बहुत बहुत धन्यवाद. अगर आपने वह कहानी नहीं पढ़ी है तो आप मेरी पिछली कहानी को एक बार पढ़ लें.

उसकी आवाज़ के साथ मैंने भी एक जोर का झटका दिया और लंड को चूत के अन्दर घुसा दिया. नेहा- पर कैसे किया जाए?स्नेहा- एक रास्ता मेरे दिमाग में है, आप कहो तो बताऊं?नेहा- क्या?स्नेहा- आप अपने कमरे की खिड़की थोड़ी सी खुली छोड़ देना … बस.

अब आगे होटल रूम सेक्स स्टोरी:वो बोली- ठीक है, मैं कहानी पढ़कर आपको बताऊंगी.

फ्रेंड्स, इस सेक्स कहानी की लेखिका सोनिया आपको एक बार नेहा को उसके रूप को बताने चाह रही हूँ. उधर सुपारा अन्दर पेल कर थोड़ी देर तो वे रूके, फिर एक दम से सरसराता हुआ पूरा हथियार अन्दर कर दिया. कुछ देर बाद हम दोनों ने किस करना बंद किया और एक दूसरे की आंखों में देखने लगे थे.

उन्होंने मेरे सिर और मुँह को जोर से अपनी दोनों भारी चिकनी चूचियों में दबा लिया और अपना एक हाथ मेरे बालों में चलाने लगी. पूरे कमरे में बस फच फच की आवाज़ और वासना भरी सिसकारियों की आवाजें ही आ रही थीं. मुझे अन्दर ही अन्दर ऐसा महसूस हुआ कि मेरे देवर और मेरे बीच में जो कुछ हुआ, उन्होंने शायद वे उसे बता दिया था और अब वे भी मेरे साथ इंजॉय करना चाहता था.

एक दिन मैं उनके ऑफिस काम से गई तो उन्होंने मुझे वहीं कमर में हाथ डालकर किस करना शुरू कर दिया.

मोटी औरत की चुदाई बीएफ: मैंने अपनी मुट्ठी में लेकर उसे जैसे ही खींच कर नीचे किया, तो मुझे लगा कि वो कुछ और लम्बा हो गया है. लेकिन ऑफिस से बार काफी दूर होने के कारण मैंने अलवीना को मेरे साथ ऑफिस में ही ड्रिंक करने का प्रस्ताव दिया.

परंतु मैं नहीं रुका और लगातार जोर-जोर से भाभी की चुत में लंड को पेलते जा रहा था. मैंने संगीता से कहा- संगीता जी इस नाइट ड्रेस में आप और भी ज्यादा सुंदर लग रही हो. मैंने सोचा कि वो शायद गीली नहीं हुयी है, तो मैं उसको गीला करने के लिए फिर से उसे किस करने लगा.

फिर उनकी टांगों को थोड़ा चौड़ा करके उनकी चूत के ऊपर अपने सुलगते लंड के सुपारे को रखा और इसी पोजीशन में उनके उभरे हुए गोल और चिकने चूतड़ों को अपने हाथों से दबाता रहा.

कहीं आना जाना होता नहीं था, तो बड़ी भाभी के साथ धीरे धीरे पुरानी बातें चलने लगीं. फिर जैसे उसने फ़ोन रखा, मैंने खींच कर उसे अपने नीचे किया और उसकी दोनों टांगों को चौड़ा करके पूरी ताकत से उसकी चुत में लंड डाल दिया. पार्टी में एक से एक लौंडियां जुटी थीं, पर मेरी सैटिंग अपने घर के अलावा कोई दूसरी से नहीं थी.