एक्स एक्स हिंदी मूवी बीएफ

छवि स्रोत,செஸ் விடியே

तस्वीर का शीर्षक ,

लंड चूत सेक्सी वीडियो: एक्स एक्स हिंदी मूवी बीएफ, फिर अपने को संयत करते हुए बोली- लेकिन जान आज मुझे तुम्हारी गांड चाटने में मजा आया.

திரிஷாசெக்ஸ்

थोड़ी देर के बाद जैसे ही मैंने थोड़ा सा और जोर लगाया, तो उसने जोर की आह भरी और इसी के साथ मेरा लंड उसकी गांड में 2″ तक घुस गया. सेक्सी हिंदी वीडियो xxxफिर मैं दिशा को बाथरूम ले जा गया और हम उधर हम दोनों रोमांस करते हुए नहाने लगे.

मैंने कहा- ठीक है कमीनो, लेकिन मां के बारे में तो सोचो, अगर मां साथ में रही तो हम आंटी की चुदाई नहीं कर पायेंगे. सेक्स राजस्थानी सेक्सी राजस्थानीफिर हमने हमारे प्यार को एक यादगार पल बनाने के लिए एक दिन डिसाइड किया.

इस पर अंकल ने अपनी काम वाली को आवाज दी- शायरा … अरे कहां रह गयी … आ जाओ, मुआ लंड पूरा टाइट हो गया है.एक्स एक्स हिंदी मूवी बीएफ: तब जाकर वो दोनों खुश हुए और दोबारा से उनके चेहरे पर मुस्कान देखने को मिली.

मैंने ज्यादा देर ने करते हुए उससे कहा- मैं तुमसे कुछ कहना चाहता हूं अदिति.भाबी- क्यों ऐसा क्या है मेरी गांड में … जो तुमने इसे पकड़ कर दबा दिया? देवर जी, अपने लंड को थोड़ा काबू में रखिए … अब तो मैं आपकी हूँ ही.

ഫക്കിങ് വീഡിയോസ് - एक्स एक्स हिंदी मूवी बीएफ

मैं समझ गया कि लौंडिया खेली खाई नहीं है … जबकि लंड चुसाई के समय मैं सोच रहा था कि ये पका हुआ आम है.उनका गोरा बदन, भरे हुए 38 की साइज के बड़े बड़े चुचे, उठी हुई 36 साइज की गांड और कमर का 30 था.

मैडम ने पैरों में किसी मखमली से गहरे नीले कपड़े की स्लिपर पहनी हुई थी. एक्स एक्स हिंदी मूवी बीएफ आर यू रेडी फॉर इट? (मैं तुमसे शादी करना चाहता हूँ, तुम्हें अपने देश ले जाना चाहता हूँ.

मैंने खुद को घुटनों के बल कर लिया और देखा कि नंगी रानी तौलिये पर खड़ी है.

एक्स एक्स हिंदी मूवी बीएफ?

उसने मेरा चेहरा पकड़ कर मेरे होंठों पे अपने होंठ लगा लिये और जोर जोर से चूसने लगा. मेरी 38 इंच की चूचियां हाहाकारी हो गई हैं, चिकनी कमर 30 की हो गई है और 42 इंच की गांड हो चुकी है. मोबाइल की लाइट में भाई का लंड ठीक से तो नहीं दिख रहा था, पर मैंने सोच लिया था कि ये लंड मैं अब अपनी चूत में लेकर रहूँगी.

असल में अपने जीजा के इस जोशीले सेक्स से मैं भी बहुत ज्यादा गर्म हो गई थी. हम दोनों ने अपने कपड़े पहने और जल्दी से घर जाने की तैयारी करने लगे. जब मैं अपने चूतड़ उछालूं तो शताब्दी की स्पीड से चोदना और मेरे झड़ने की परवाह मत करना.

मेरे काफी मना करने के बाद भी वह नहीं मानी और मुझे जबरन हाथ पकड़ कर अपने साथ ले गई. मेरे बॉस बुर फैला के जीभ से छेद को चाटने लगे, कुछ ही देर में मैं फिर से गर्म हो गई. मेरे बैंक स्टाफ और कस्टमर कई ऐसे पुरुष थे जो मुझे भूखी नज़रों से देखते थे और मुझे चोदने की तमन्ना रखते थे.

इससे गुप्ताइन तो खुश हो रही थी लेकिन मेरे मन में एक नया विचार पनप गया कि यदि डॉली को चोदने का मौका मिले तो क्या कहने. मैंने सुमेर से पूछा- सच बता ये लड़की कौन है?लड़की शर्मा कर अपने शरीर को छुपाने छुड़ाने लगी और कहने लगी- प्लीज मुझे छोड़ दो और किसी को मत बताना, नहीं तो बदनाम हो जाऊँगी.

उसने तेजी से मेरी गांड की चुदाई की और लगभग बीस मिनट की चुदाई के बाद वह मेरी गांड के अंदर खाली हो गया.

जब हमारी चैट होती थी तो मैं डिलीट कर देता था ताकि किसी प्रकार की कोई समस्या ना हो।आखिरकार हमने मिलने का एक प्लान बनाया.

साथ ही मेरे दिल की धड़कन भी तेज होती जा रही थी लेकिन फिर भी मैंने हिम्मत बनाये रखी।मेरा प्रीतम (लंड) भी डर के मारे किशमिश के आकार में आ गया था। भई यूँ तो मैं पूरा चोदू हूँ लेकिन मामला ठहरा खतरनाक चुड़ैल का! थोड़ा सा डर लगना तो स्वाभाविक था. उसका नर्म गाल चूमते ही मेरे तनबदन की आग और भड़क गयी और मेरा लंड सनसनाता हुआ पूरा 8 इंची बड़ा हो गया और सलामी देने लगा. लेकिन भाभी डर गयी और बोलने लगी- अभी तक मैंने गांड नहीं मरवायी है … प्लीज उधर रहने दो, बहुत दर्द होगा.

वह ऐसी हालत में था कि जैसे उसके सारे शरीर की मर्दानगी और ताकत मेरी चूत में ही चली गई हो. इधर सोनल की चूत खुल गई थी, तो वो भी अपनी चुत में उंगली डालकर बोल रही थी- आह … किधर चले गए मेरे राजा भैया … अह ओह अ आह जल्दी से मेरी में डालो न. आआहह … मैं आधी नंगी मेरे भाई के सामने बेड पर लेटी हूँ, ये सोचकर ही मैं बहुत गर्म होने लगी थी.

जब आंटी से रहा नहीं गया, तो उन्होंने अपनी गांड उठाते हुए कहा- अब डाल भी दो यार … क्यों मुझे तड़पा रहे हो.

मैंने तुरन्त कहा- शनिवार को तो मैं लखनऊ जा रहा हूँ, दो घंटे का काम है. अब मैं नीचे से बिल्कुल नंगी थी और मेरी ब्रा मेरे पेट पर फंसी हुई थी और मेरी चूचियों पर उस लड़के के मुंह की लार लगने से वो चिकनी हो गई थी. मेरी चूत चुदाई की कहानी के पहले भागममेरे भाई के साथ मेरी कुंवारी चूत की चुदाई-1में अब तक आपने पढ़ा कि मेरे ममेरे भाई अर्पित ने मेरे मामा मामी की गैरमौजूदगी में मुझे सेक्स के लिए पटा लिया था.

फिर मैंने उसकी टांगों से फूलों को हटाया और लिक-किस करके हुए पाँव तक पहुंच गया और जहाँ जहाँ के फूल हटाता था वहां किस करता चला गया. राधिका को बहुत ज्यादा मदहोशी की हालत में देखकर मेरा लंड उसकी गांड को छू रहा था. जैसे कि आप जानते हैं कि मैं जवानी की दहलीज पर कदम रख चुका था, तो मेरा लंड भी फन उठाने लगा था.

उसके चेहरे पर संतुष्टि साफ-साफ दिखाई दे रही थी। उसने अपनी महकती बांहों का हार मेरे गले में डाल कर मुझे कस कर गले लगा लिया.

फोन पर ही हम दोनों एक दूसरे में इतना खो जाते थे कि कब मेरी टोंटी से पानी निकल जाता, पता ही नहीं चलता था. भाभी ने चूत में लंड की ठोकर लेते हुए मुझसे कहा- आज पहली बार मुझे औरत होने का मजा आ रहा है.

एक्स एक्स हिंदी मूवी बीएफ जब मैं वापस आया तो उस समय रात के नौ बज चुके थे और गांव में लगभग सभी लोग इस समय तक सो जाते हैं. उस रिश्तेदार ने ट्रेन में बैठाने से पहले उनसे ये भी नहीं पूछा था कि वो लोग कहाँ पर उतरने वाले हैं.

एक्स एक्स हिंदी मूवी बीएफ खैर … मैं वहां से अपने घर चला गया और भाभी के बारे में सोच कर मुठ मारने लगा. वो दोबारा से लेट गये और मानसी ने एक बार फिर से जीजू की पैंट के बीच में पीसा की एक तरफ झुकी मीनार के समान खड़े लंड को अपने मुंह में भर कर चूसना शुरू कर दिया.

लंड मोटा होने के कारण मेरे को बहुत तेज़ दर्द हुआ और मैं चिल्लाने लगा ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ लेकिन साले ने उसी दिन मेरी गांड की सील खोल दी.

जीनियस मूवी फुल हिंदी मूवी

उन्होंने एक झटके में मेरी ब्रा और टी-शर्ट को निकाल फेंका और जोर जोर से मेरे बूब्स और निप्पलों को चूसने लगे. मेरा लंड तो पहले से ही अदिति के साथ सेक्स करने के ख्याल से खड़ा था. यह बात बहुत साल पहले की है, उस वक्त मुझे सेक्स के बारे में भी कुछ नहीं पता था, लेकिन सेक्स के मज़े से में ज्यादा दिनों तक अंजान ना रह सका.

मेरे इस सवाल का जवाब उसे भी नहीं सूझा। सुमिना तो उसकी सहेली थी ही जिससे वो इन्कार नहीं कर सकती थी. मैंने सोचा काजल सो गई होगी, पर नजदीक जाकर देखा, तो वो मोबाइल में कुछ देख रही थी. मैनेजर ने मुझसे मेरा मोबाइल नम्बर लिया और कहा- अगर कोई रास्ता निकला, तो तुम्हें कॉल कर देंगे.

उसके बाद उसने अपनी उंगलियाँ मेरी चूत में डाल दीं और मेरी चूत में अंदर बाहर करने लगा.

शायद भाभी का पानी अभी नहीं निकला था इसलिए वो दोबारा मेरे लंड को लेने के लिए इतनी मेहनत कर रही थी. मैंने उससे कहा- जब इसमें से बच्चा बाहर आ सकता है, तो लौड़ा क्यों नहीं घुस सकता. इधर मैंने नम्रता को पीछे से जकड़कर उसकी फांकों को सहलाना शुरू किया, तो वो आह-आह करने लगी.

सुमिना मना करती रही लेकिन अब उन दोनों को शॉपिंग पर ले जाना मेरे लिए इतना जरूरी हो गया था जैसे प्यास से मरते हुए इन्सान को पानी का एक घूंट नसीब हो जाये. फिर घोड़ी पोजिशन में नम्रता खुद ही हो गयी और अपने कूल्हे को थपथपाते हुए बोली- राजा. वो इतनी ज्यादा हॉट है कि उसके चेहरे भर को देखने के बाद ही किसी का भी मन उसे चोदने को बचैन हो जाएगा.

मैं दिशा के करीब होकर उसके मम्मे मसलने लगा, जिससे दिशा भी कुनमुनाती हुई उठ गई. मैंने उसका सामान पकड़ने के लिए पूछा तो मेरे कहने पर उसने अपना सामान मुझे दे दिया.

वह पागलों की तरह चीखने लगी थी और उसकी चीखों उम्म्ह… अहह… हय… याह… में मुझे बस आनंद ही भरा हुआ सुनाई दे रहा था. फिर वो औरत जो मेरे मुँह में अपने चुचे घुसा कर चुसा रही थी, मादक सीत्कार करने लगी. वो दारू के घूँट के साथ सिगरेट पीता हुआ मेरी तरफ वासना से देख रहा था.

मेरी हाइट 5 फुट 8 इंच है और लंड का साइज़ भी 7 इंच लंबा और 3 इंच मोटा है, जो किसी भी चूत को पागल बना दे.

अपने दोनों पैरों को फैलाते हुए उसने कहा- अब शुरू हो जा मेरे हरामी भाई … अपने लंड से अपनी दीदी की प्यास को बुझा दे. फिर भी जितना मैं अपने मुँह के अन्दर ले सकता था, उतना मैं ले रहा था. अगले दिन मेरी बीवी के पीहर से फोन आ गया कि उसकी माँ की तबियत खराब है और उसको बुलाया गया था.

इस बार अपनी जीभ को मोड़ कर जीभ से चोदने लगा और एक उंगली को चाची की चूत में डाल दिया. करीब 5 मिनट की चुदाई के बाद मैं उसकी चुत में ही झड़ गया क्योंकि बहुत दिन बाद चुत मिली थी, तो मैं जल्दी झड़ गया.

किस्मत से उनका घर भी रास्ते में पड़ता था तो उसकी माँ ने मुझसे उनको कुछ दूर तक छोड़ने के लिए रिक्वेस्ट की. जीजा की स्पीड बढ़ने लगी और उन्होंने मेरी चूत की जोरदार चुदाई शुरू कर दी. बियर खत्म होने पर मैंने उसकी उस कोमल चूत को चाटने लगा और साथ ही साथ उस प्री-कम रस का भी मजा लेने लगा, जो शायद उसके ज्यादा उत्तेजना के कारण निकल आया था.

घटिया सोच पर शायरी

इस पर अंकल ने अपनी काम वाली को आवाज दी- शायरा … अरे कहां रह गयी … आ जाओ, मुआ लंड पूरा टाइट हो गया है.

मेरी बीवी और साली वो दोनों नंगी बहनें हमें चुदाई का मजा लेते हुए देख रही थीं. मैंने उसके होंठों को फिर से चूसना शुरू कर दिया और धीरे-धीरे उसकी चूत में लंड को अंदर बाहर करने लगा. कुछ समझ नहीं आ रहा था कि क्या सही है और क्या गलत?मन में तूफान सा उठा हुआ था और मैं उसमें फंसता ही जा रहा था.

मैंने उसकी कुर्ती का कॉलर साइड में किया और दोनों चूची को ब्रा समेत बाहर निकाल दिया. कई लोग कहते हैं कि नंगी फिल्में देख लेने से या किसी को सेक्स करते हुए देख लेने से सेक्स का ज्ञान हो जाता है. হোটেল সেক্সकब मेरा पेटीकोट ब्लाउज निकल गया और कब मेरे तन से मेरी ब्रा पेंटी के चिथड़े उड़ गए, पता ही नहीं चला.

मैंने एक हाथ से दिशा के मुँह पर हाथ रखकर उसकी आवाज दबाने की कोशिश करने में लगा था, लेकिन दिशा फिर भी तड़प रही थी. एक दिन दोपहर में मम्मी मार्केट गयी हुई थीं और घर में हम दोनों अकेले थे.

तो दोस्तो … कैसी लगी ये रियल चुदाई की घटना … सच में ग्रुप सेक्स में अलग ही मजा है. उसकी चुत के बहती रस की खुशबू, जिसे मैंने एक लंबी सांस के साथ अन्दर उतार लिया. वो बोल रही थी कि क्या ये कर रहे हो आरव प्लीज़ छोड़ दो … कोई आ जाएगा … ये रेस्टोरेंट है.

अतः आप सब से विनती है जिन्हें मेरी लेखन कला पसंद आ रही है और वो मुझसे अपनी कहानी लिखवाना चाहता या चाहती है, वो मुझे मेरे मेल आईडी[emailprotected]पर मेल कर सकते हैं. हैलो फ्रेंड्स, ये मेरी पहली और सच्ची कहानी है और मैं ये सच्ची कहानी सबसे पहले आप लोगों के साथ साझा करना चाहता हूँ. फिर जीजा ने दीदी के बालों में हाथ फिराना शुरू कर दिया और कुछ ही देर में दीदी को नींद आ गई.

उसने मुझे पकड़ के घास में लिटा दिया और मेरे ऊपर चढ़ गया। अपने सीने से मेरी पीठ को दबा के अपने दोनों हाथ से मेरी गांड को फैला के लंड छेद में लगाया और अंदर डालने लगा.

उसने फोन उठाया तो पता चला कि गीता मौसी अपनी बहन यानि कि मेरी स्वर्गवासी मां के यहां कुछ दिन रहने के लिए आ रही है. मौसी बोलीं- किसे देख कर मुठ मारी है?मैं चुप रहा तो बोलीं कि अब क्यों शर्मा रहा … जब तू मेरी गांड बड़े मज़े से मार रहा था तब तेरी शर्म किधर थी.

वसुन्धरा के दोनों हाथों से मुझे अपने साथ कसे हुए थी, मेरा दायां हाथ अभी भी वसुन्धरा के ब्रा के ऊपर से ही वसुन्धरा के बाएं वक्ष के निप्पल के साथ अठखेलियां कर रहा था. मैं अभी उन दोनों को ही देख रहा था कि तभी दोस्त ने मुझे जोर से हिलाते हुए कहा कि ये उसकी गर्लफ्रेंड है और साथ आई लड़की, उसकी गर्लफ्रेंड की सहेली है. मैं कुछ देर इसी तरह लेटी रही, फिर कुछ देर बाद उठी मुझे बहुत दर्द हो रहा था.

प्रीति के शब्दों में:पिछले कई घंटे से मेरा भाई मुझे अलग अलग तरीकों से उत्तेजित कर रहा था. इतना कहकर उसने अपने होंठ मेरे होंठ पे और एक हाथ मेरे लंड पर रख दिया और मुझे किस करने लगी. ज्यादातर मैं सलवार कुर्ता दुपट्टा ही पहनती हूं पर कभी कभी साड़ी भी पहन लेती हूं; साड़ी मैं हमेशा अपनी नाभि से नीचे ही बांधती हूं क्योंकि मैं जानती हूं कि मेरा अधखुला पेट और कमर देखने वालों को विचलित करती रहती है.

एक्स एक्स हिंदी मूवी बीएफ फिर 20 मिनट बाद उसने मेरा लंड निकाला और बोली- अब मैं सीधे लेट जाती हूं … फिर करो. बिल्कुल साफ … एक भी बाल नहीं, एकदम गोरी। मेरी बहन किसी मॉडल से कम नहीं है.

वाई 2 मैट

दीदी जीजाजी की चुदाई की कामुक आवाजें सुनकर वैसे मैं भी गर्म होना शुरू हो गई थी. खूब आनंद लेते हुए चटखारे भरते हुए मैंने रानी की चूचियों पर लगी हुई रबड़ी खायी. मैं शुरू से ही मामी को पसंद करता था और शायद मामी भी मुझे पसंद करती थीं.

फोटो में वो हरामज़ादी कामुकता से भरपूर हुस्न की जीती जागती तस्वीर लग रही थी. मुश्किल से एक मिनट तक वे दोनों मेरी गांड और चूत में लंड पेल कर रुके रहे थे. आशा की सेक्सी फिल्मथोड़ी ही देर में मुझे भी लगा कि मेरा भी माल निकलने वाला है और ये बात मैंने मौसी को बताया.

उसने मेरी कुर्ती को निकाल दिया और उसके बाद मेरी ब्रा को भी निकाल दिया.

नम्रता भी मेरे लंड को चूसने लगी और बीच-बीच में सुपाड़े पर जीभ चलाती जाती. जीजा जी मेडीकल लाइन में जॉब करते हैं और दीदी भी साथ में ही रहती है.

जब जीजा जी का लंड पूरी तरह से तन कर बिल्कुल किसी रॉड की तरह टाइट हो गया तो एक बार फिर से जीजा जी ने दीदी को घोड़ी बना दिया. अभी मैं यही सोच रहा था कि अचानक से बाथरूम का दरवाजा खुला और पूजा उसमें से तौलिया लपेटे बाहर आई. वो दर्द से बिलबिला उठी- आहह आहह आहह!मैंने उसके कानों में कहा- व्हाट आई सेड?? (मैंने क्या कहा था?)आहह आहहह सीईईई … नो … उम्म्मम क्लोथ्स मास्टर.

मैं समझ गया कि तीर निशाने पर लगा है, इस बीच कोकाकोला की बोतल आधी हो गई थी.

मेरी चूत तो अभी भी तैयार है, डाल दो इसको मेरी चूत के अन्दर और चोद दो मेरी चूत को. फिर हम दोनों अलग हुए … पीठ के बल लेट कर हम दोनों कमरे की छत की तरफ़ देखकर बुरी तरह से हांफ़ रहे थे. वो बोल रही थी- आरव प्लीज़ धीरे प्लीज़ धीरे मैं मर गयीई … आरव प्लीज़ मुझे छोड़ दो … लंड निकालो बाहर.

बिहार का औरत का सेक्सी वीडियोभाभी ने लंड हाथ में लिया और बोली- इतना बड़ा लंड मैंने आज तक नहीं देखा. वसुन्धरा ने तत्काल एक घुटी-घुटी सिसकी ली और मेरी जीभ इतनी जोर से अपने मुंह के अंदर खींची जैसे वो मेरी जीभ को अपने अंदर उतार लेना चाहती हो.

गणित के टीचर पर चुटकुले

मैं- एक बात तो पक्की है सोनल और दिशा … आज तुम दोनों की आवाजें पूरे कमरे में गूंजने वाली हैं. अगर हेतल मना कर देती तो मानसी को पता चल जाता कि मैंने हेतल के बारे में झूठा बहाना बनाया था और यह सब मैंने मानसी की चूत चोदने के लिए किया है. रितेश का लंड भी बहुत मोटा है लेकिन मुझे अलग-अलग मर्दों के लंड लेने का मन करता रहता है इसलिए मैंने राज को फंसा लिया.

पहले तो मुझे अजीब सा लगा, मेरे पूरे ज़िस्म में एक अजीब सी लहर दौड़ गई. उसके जाते ही घर पर खुद को अकेला पाकर अपने सारे कपड़े उतारकर अपनी चुचियों को दबाने लगी और अपनी चूत में उंगलियां डालने लगी. मैं उसकी दोनों चूचियों के ऊपर काले रंग की घुंडी को प्यार से देखने लगा.

अब उसने मुझे घोड़ी बनने के लिए कहा और फिर पीछे से मेरी चूत में अपना लंड डालकर मेरी चूत मारने लगा. दोस्तो, यह कहानी पिछले साल हुई नवरात्रि के ठीक दो महीने पहले से शुरू होती है. मैं मुस्कुरा दी और जो कुछ भी रात में अंकल के साथ हुआ, वो सब उसको बताया.

उसने मेरा हाथ उठाकर वापस रख दिया, अपना टॉप ऊपर करके अपनी दोनों चूचियां आजाद कर दीं और मेरा हाथ उठाकर फिर से अपनी चूची पर रख दिया. फिर एक दिन पति को काम से बाहर जाना था तो पति ने मुझे फोन किया और बोले- मेरा बैग तैयार रखना, मुझे शाम को चेन्नई जाना है, मुझे कम से कम 15 दिन लग जाएंगे.

फिर एक दिन मैंने उंगली टेढ़ी करने की सोची क्योंकि सीधी उंगली से तो घी निकलना मुझे संभव नहीं लग रहा था.

अगले दिन अपने नोट्स लेकर कुलजीत के घर गया तो उसने अपने मम्मी पापा से मिलवाया. नेपाली सेक्सी देमगर उस बोतल को बाथरूम‌ में लाकर मैं उसमें जितनी भी शराब थी वो सारी पी गया।जब तक मैं वो शराब खत्म‌ करके बाथरूम से बाहर निकला, तब तक‌ मोनी ने खाना बना लिया था. कैटरीना कैफ सेक्सी पिकफिर अपने लंड को उनकी चूत से सटाकर चूत के फांकों में अपना लंड ऊपर नीचे करने लगा. लड़का चाहे +2 पास/फेल हो लेकिन अगर बिज़नेस में दो तीन लाख़ रुपया महीना कमाता हो तो उसको सी ए, एम बी ए, कॉलेज की प्रोफ़ेसर, यहां तक कि आई ए एस, पी सी एस लड़की भी आम मिल जाती है.

पापा बोले- फिर मैं भी चल पड़ता हूँ!मां ने भी तपाक से कहा- हाँ चलिये, आप यहां घर पर अकेले बैठ कर क्या करेंगे.

अगर आप इस कहानी के बारे में कुछ भी बात करना चाहते हैं तो मेल करके जरूर बताएं. मेरा हाथ जैसे-जैसे उसकी कमर को सहलाता गया उसकी सांसों की गति तेज होती गयी. उन्हें भी जोश आने लगा था, क्योंकि मेरा लंड देखने के बाद उन्होंने अपना एक हाथ अपनी चुत पर रख लिया था.

मुझे आपके यहां कब और कैसे आना है?उसने मुझे बताया- पंकज आप आज ही 3 बजे तक मेरे घर आ जाओ. मेरे पैरों पर बैठ कर नम्रता मुझे भी ‘आई लव यू’ बोली और साथ ही उसने कहा- ये सब तुम्हारी वजह से हुआ है. मुझे देखते ही भाबी की आंखों में चुदाई की चमक और मुख पर सेक्स से भरी हुई रौनक दिखने लगी.

मारवाड़ी की सेक्सी वीडियो

चूँकि मेरा घर प्रिया के मायके और ससुराल वाले घर के ऐन सेंटर में पड़ता था और शादी वाला होटल-कम-बैंक्वेट हॉल जोकि मेरे ही एक जानकार का था और जिसे मैंने बहुत कम पैसों में बुक करवा कर दिया था, वो भी मेरे घर से सिर्फ कोई एक-डेढ़ किलोमीटर दूर था. माँ के चूचे अब मेरी आंखों के सामने पहली बार बिल्कुल नंगे हो चुके थे. मेरी पिछली कहानीकमसिन कम्मो की स्मार्ट चूतजो लगभग 6 महीने पहले प्रकाशित हुई थी, उसके बाद से कुछ नया लिखने का संयोग बना ही नहीं.

कुछ ही देर में भाभी की चूत ने पानी छोड़ दिया जो मुझे मेरे लंड पर महसूस हुआ.

मैं उसके सर को वैसे ही बाल पकड़े हुए हल्का सा घुमा के होंठों का रसपान करने लगा.

मैं अपनी उंगली को उसकी चुत में डाल कर हल्के हल्के से अन्दर बाहर करने लगा. गुलाबो ने गुलाबी रंग की फ्रॉक पहन रखी थी और सर पर चुनरी ओढ़ रखी थी, उसने अपना चेहरा छुपाया हुआ था. कुत्ता और लड़की का सेक्सी पिक्चरकभी कभी तो एक तेज़ कंपकंपी उसके शरीर में पैदा हो जाती जब वो सिसक सिसक कर मेरे कन्धों को ज़ोर से नोचती- राजे … हरामज़ादे राजे,” रानी ने फूली हुई साँस के साथ फुसफुसाते हुए कहा- हाथों को बूब्स पे कस के जमा ले … अब दिखा अपनी पूरी ताक़त … ठोक बॉक्सर के मुक्कों की तरह धक्के … बहनचोद हर धक्के से सिर तक धमक जानी चाहिए … चोद चोद कुत्ते चोद … भँभोड़ डाल इन मम्मों को … जल्दी कमीने.

इस घटना को मैं कहानी के रूप में पहली बार लिख रहा हूँ, अगर कोई गलती हो जाए, तो प्लीज़ माफ कर देना. अंगूठे से अपनी जवान चूत को कच कच चुदवाने के बाद सरिता तो झड़कर बेड पर लेट गई थी, पर छोटी वाली में अभी भरपूर मस्ती चढ़ी थी. मैं वाशरूम में जाके हल्का होके बाहर निकला तो देखा कि आंटी ने नाइटी पहनी हुई थी.

जब रानी का नौकर छुट्टी से आ गया तो चुदाई रानी की स्टडी में करनी शुरू कर दी. काजल की आंखें अभी भी बंद थीं और वो बोल रही थी- रुक क्यों गए … प्लीज चोदो ना मुझे!मैं- तुम मेरी आंखों में आंखें डाल कर मेरा साथ दोगी, तो ही मैं चोदूँगा.

भाई ने अपना आधा लंड बाहर निकला और फिर एक जोर के धक्के से पूरा मेरी चूत में अन्दर पेल दिया.

मैंने उससे खुल कर कहा- जब मैं तुम्हारे पास हूँ, तो तुमको किसी और से चुदने की क्या जरूरत है. पास जाकर मेरे मन में मेरी आंखों के सामने अंडरवियर में लेटे हुए जीजा जी के और करीब जाने की इच्छा हुई. हमें देख कर पारो बोली- आप थोड़ी देर रुको, मैं गुलाबो को लेकर आती हूँ.

ఒరిస్సా సెక్స్ मन कर रहा था कि इनकी चुदाई को देख कर यहीं पर मुट्ठ मार लूं लेकिन किसी के आने का डर था इसलिए मैं बस चुदाई के नजारे के मजे ले रहा था. हम दोनों कमरे में किस कर रह थे कि वनिता आ गई और अपने ससुर जी पर बरस पड़ी.

उन लड़कों ने शायद पूनम के साथ भी वैसे ही किया था जैसे उन्होंने मेरे साथ किया था. अब तक आप लोगों ने पढ़ा था कि कैसे मैंने अपनी बहन को सिनेमा हॉल में नीचे से नंगी कर दिया. मौसी की चूत गीली होने की वजह से लंड पिस्टन की तरह अन्दर बाहर हो रहा था और उनकी चूतड़ों और मेरी जांघों के बीच जो मारपीट चल रही थी, उसकी वजह से फट फट की आवाज भी आ रही थी.

भोजपुरी हीरोइन की सेक्स वीडियो

भाबी के चुचे … जो कि पहले से बड़े नज़र आ रहे थे और पीछे से उनकी बड़ी सी गांड … जो कि और बड़ी नज़र आ रही थी. पहले मैंने अपना लंड उनके मम्मों के बीच में डाल कर 5 मिनट मम्मों की चुदाई करते हुए लंड की मुठ मारी. मैंने उसकी पूरी बॉडी को प्यार से देख रहा था, तो उसने शर्मा कर हाथों से चेहरा छिपा लिया.

मैंने अपने दोनों हाथों से वसुन्धरा का चेहरा कनपटियों पर से थामा और पहले तो वसुन्धरा चेहरे पर, माथे पर, गालों पर, कानों पर कानों की लौ पर, चिबुक पर और यहां-वहां ढेर सारे चुम्बन लिए और फिर उसके दोनों होंठ अपने मुंह में लेकर मज़े-मज़े से चूसने लगा. मेरे दादा जी एक वैद्य हैं जिनके पास सब दवा लेने आते हैं। हमारे खेत में हमने गेहूँ काटने के लिये काम वालियों को लगाया हुआ था जिसमें से 2 औरत थी और 4 लड़कियां.

उसकी नंगी चिकनी टांगों की तरफ निगाह गई … तो उसने नीचे मिनी स्कर्ट पहन रखी थी.

मैंने देखा कि अनुषी का देवर अपने घर के बीच में, जो आंगन है, वहां सोया हुआ है. मगर यह सब हुआ कैसे? मैं एक पल के लिए तो सोच में पड़ गया लेकिन फिर अगले ही पल सोचा कि बड़ी मुश्किल से मछली फंसी है. उनमें से दो लड़के उठे और हम दोनों बहनों की बगल वाली सीट पर आकर बैठ गये.

उसके बाद भी मैंने काफ़ी लड़कियों और शादीशुदा महिलाओं के साथ सेक्स एंजाए किया. जैसे ही मैं घर के अन्दर गया, तो भाभी ने मुझे ड्रॉइंग रूम में बिठाया और नैना को आवाज़ दी कि पानी ले आ चाचा के लिए. शादी से पहले कभी किसी के साथ कुछ किया नहीं था, सीधा सुहागरात पे शौहर से ही जिस्मानी सुख मिला.

मैनेजर बोले- देखो तुम चाहो, तो जा सकती हो … लेकिन आज अगर सबके साथ चुदाई करवा लोगी, तो नौकरी मिल जाएगी.

एक्स एक्स हिंदी मूवी बीएफ: उस दिन पूरा दिन हम सबने सिटी घूमी और शाम के बाद से ही रूम में आ गए फिर पूरी रात चुदाई का मज़ा किया. शायरा आंटी सच में माल हैं, पूरी तरह से भरा हुआ गदराया हुआ जिस्म है.

उधर मैं फोन पर आशीष को भी इसी तरह से कामुक सिसकारियां लेते हुए उत्तेजित रखने की कोशिश कर रही थी लेकिन असली मजा तो मुझे यहां जीजा के साथ आ रहा था. वे दोनों मुझे दिखा कर किस करने लगे और सुमेर उसके बूब्स दबाने लगा और पारो उसके लण्ड को सहलाने लग गयी. मुझे लगता था कि इसके पति की गैरमौजूदगी में यदि ये पेट से हो गई, तो हमारा प्यार बदनाम हो जाएगा.

फिर धीरे धीरे मेरा लंड ढीला होने लगा और मैंने उसके मुँह से बाहर निकाल लिया.

मैंने मौके का फायदा उठाने की सोची क्योंकि कई दिन तक जब काजल घर पर नहीं आई थी, तब मैं ही जानता हूँ कि मेरे दिल पर क्या गुज़र रही थी. इस तरह से रात भर उन्होंने मुझे लगभग बीस बार चोदा और इतनी ही दफा मेरी गांड भी मारी. इस बहाने वहां पर घूमना भी हो जायेगा और आंटी भी फार्म हाउस देख कर आ जायेंगी.