बीएफ देसी चुदाई बीएफ

छवि स्रोत,तेरे नाल प्यार हो गया सोनिए तेरे

तस्वीर का शीर्षक ,

लंगा डांस बीएफ: बीएफ देसी चुदाई बीएफ, वो बोली- तू पहले बाहर निकाल कर तो देख, यदि भाई का उठ जाए, तो सीधे लंड चूसने लगना और किस करने लगना.

सेक्सी पिक्चर देखने की वीडियो

मॉम उछल रही थीं और उनके मुँह से मादक चीखें निकल रही थीं- उऊययई जेनीका … मार देगी क्या आआह सच में मज़ा आ रहा है. செஸ் ப்ளூ பிலிம் தமிழ்पर दिव्या की कामुक सिसकियां औरटाइट चूत की चुदाईके मज़े में मैं ये सब इग्नोर कर गया।दिव्या का चेहरा चुदते हुए इतना कामुक लग रहा था कि मेरी रफ़्तार कम होने का नाम नहीं ले रही थी।करीब 15 मिनट की ताबड़तोड़ ठुकाई के बाद मैंने अपना पानी उसकी चूत में ही छोड़ दिया.

मैंने जैसे तैसे अलमीरा खोल दी।मैं और आंटी वैसे ही खड़े रहे, मेरा लन्ड गांड की दरार में झटके ले रहा था।मैंने कह दिया दुबारा- खोल के दिखा दीजिए ना … आपको ही देख के जवान हुआ हूं। चुपके से हर चीज मैंने आपकी देखी है. किस करते हुए दिखाइएबातों बातों में पता चला कि भाभी के पतिदेव अपने काम के चलते उन्हें ज्यादा समय नहीं दे पाते हैं.

मैं अपनी बहन के मुँह में पूरा लंड घुसा रहा था और थोड़ी देर में ही बहन के मुँह में ही झड़ गया.बीएफ देसी चुदाई बीएफ: जैसे जैसे मेरा लंड भाभी की चूत में अन्दर जा रहा था, वैसे वैसे ही हम दोनों को हल्का हल्का दर्द हो रहा था.

चारों स्त्री परीक्षक उनके लंड के ऊपर बैठकर बारी बारी उनको चोदने लगीं.अगले दिन जब मैं उन्हें खाना देने गई तो अब उनके और मेरे बीच में पहले जैसी बात नहीं रही.

सेक्सी पिक्चर जान - बीएफ देसी चुदाई बीएफ

मैंने उसका 8 इंच का मोटा लंबा लंड अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगी.अगर कोई बात हुई तो इसे लेने आ जाऊंगा, तुम लोग टेंशन फ्री होकर पूरी रात ललिता के साथ एन्जॉय कर सकते हो.

मैं और भाभी एक दूसरे की बांहों में आ गए और करीब दस मिनट तक हम दोनों एक दूसरे से लिपट कर चूमाचाटी के साथ बातें करते रहे. बीएफ देसी चुदाई बीएफ ऐसे ही दिन बीतते गए, मेरी बहन 23 साल की हो गयी परन्तु शादी के लिए कोई ने उसे पसंद नहीं किया.

मैंने देर ना करते हुए अपना मूसल उसकी चूत पर रखा और एक धक्का लगा दिया.

बीएफ देसी चुदाई बीएफ?

वो शर्म के मारे तुरंत ही चादर खींचने लगी मगर मैं चादर हटाकर उसके पैरों के पास बैठ गया. वंदना बहुत ज्यादा भूखी शेरनी की तरह तड़प रही थी, तो उसने खुद मेरा लंड पकड़ कर चूत के अन्दर कर दिया और मचलने लगी. वात्सल्य था … प्रेम रस था … या वासना रस?पर कोई भी रहा होगा, मजेदार था।लन्ड को और मुझे थोड़ा आराम मिला।फिर आंटी जमीन पे खड़ी हो गईं और मेरी टांगें फैला के वो मुझे चोदने लगीं.

कुछ मिनट में उसने अपना सारा पानी मेरे मुँह में छोड़ दिया और मेरी नाक पकड़ ली. मैंने हाथों से आंटी की गांड को पकड़ा और अपनी जीभ से उनकी चूत को गपागप चोदने लगा. वो मेरी छाती को भूखी बिल्ली की तरह चाट रही थी, कभी मेरे 6 पैक्स को, कभी मेरी सीने के निप्पल को.

सही आसन बन गया था और उसका पूरा का पूरा लंड मेरी गांड में कॉर्क की तरह फिर हो गया था. कुछ पल लंड को चूत की गर्मी का अहसास दिलाने के बाद मैंने अपना लंड भाभी की चूत में धीरे-धीरे चलाना शुरू कर दिया. फिर मैंने मां के होंठों को चूसा और बोला- शालिनी डार्लिंग, अब तुम अपने काम पर लग जाओ.

ये सुनकर मैं नीचे लेट गया और वो मेरे लंड पर बैठ कर खूब मज़े से चुदने लगी. मैंने जमीन पर खड़े रहकर ही चाची की चूत के छेद के पास मेरे लंड को घिसा, फिर लंड को हाथ से पकड़ कर चूत के छेद पर ले गया और चूत पर ऊपर नीचे रगड़ने लगा.

अरुणिमा ने तुनक कर कहा- अब दो चार दिन मुझे मत चोदना, तो भी मैं कुछ नहीं कहूँगी.

लंड एडजस्ट हो जाने के बाद मैंने जोर से धक्का लगाया तो लंड का सुपारा गांड में दाखिल हो गया.

अब आंटी ने दोनों पिंक निप्पलों को मसलना शुरू कर दिया और होंठों से मॉम के कानों को बारी बारी से चूसने लगी. अब मेरी चाची लव स्टोरी के अगले भाग में मैं आपको चाची के साथ हुई चुदाई का आगे का किस्सा लिखूँगा. वो भी इस चुदाई में हमारा पूरा साथ दे रही थी।रोहित ने ज्योति से पूछा- बोल साली, आज दो लंडों से खेल कर कैसा लग रहा है?ज्योति बोली- अभी तो एक से ही खेल रही हूँ!मैं उसकी हाज़िर जवाबी पर हंसने लगा, मैंने कहा- यार तुम भी अपना लौड़ा निकाल कर हमारी हिरोइन को दो, तभी इसकी दो लंडों से खेलने की ख्वाहिश पूरी होगी.

2010 में आंटी शिमला गईं अपना सारा समान पैक करके छोड़ कर चली गईं।नीचे वाला कमरा भी हमने ले लिया. कुछ देर बाद मेरा लंड तन गया तो मैं उठ गया और प्रिया भाभी से कहने लगा- ये क्या कर रही हो आप?भाभी बोलने लगीं- आपको प्यार. थोड़े देर बाद बेडरूम से आवाज आने लगी- ठीक से क्रीम लगा, हां चूतड़ फैला कर रख, हां हां जा रहा अन्दर, थोड़ा धैर्य रख … घुस जाएगा.

गुरबचन जी बोले- अब जब विश्वेश्वर जी ने इसकी गांड मार ही ली है, तो मैं सोच रहा था कि मैं भी पहले इसकी गांड ही मार लेता.

थोड़ी देर बाद मैंने आंटी को सोफे पर कुतिया बना दिया और उनकी जल्दी जल्दी पैंट उतारने लगा. लेकिन पायल की खुशी का ठिकाना नहीं था क्योंकि उसने लव मैरिज की थी और अब वो अपनी पसंद के लड़के से शादी करके राजकोट जा रही थी. अब दूसरे दिन से भाभी और भाभी के 5 माह का बच्चा एक साथ ऑफिस जाने लगे.

वो भी समझ गया था और मेरी बुर के दाने को अपने हाथ की उंगली से मसलने लगा. आप सभी का बहुत बहुत आभारआज मैं अपनी साली के साथ 7 दिन गुजारने की सेक्स कहानी सुना रहा हूँमेरी साली इकलौती है. थोड़ी देर बाद जैसे ही मैं ट्रक लोड कराके अपने नए फ्लैट पर पहुंचा और सामान अनलोड करवा के बैठा ही था कि तभी गेट की घंटी बजी.

भैया ने मुँह से आ रही शराब सिगरेट की बदबू को खत्म करने के लिए चुइंगम खा ली और थोड़ी देर बाद नीचे आ गए.

चाची के ऊपर से ही चूत में लंड दाखिल कर दिया और धक्के लगाना शुरू कर दिया. भाभी ने हंस कर कहा- जो आपने मेरे और मेरे परिवार के लिए किया है, उसके लिए मैं आपकी सदा के लिए आभारी रहूंगी.

बीएफ देसी चुदाई बीएफ पापा ने झट से मम्मी की एक चूची को अपने मुँह में भर लिया और निचोड़ निचोड़ कर खींचते हुए पीने लगे. और इस दौरान मैंने दो बार उसे फिंगरिंग भी की लेकिन उसने लन्ड को चूत के अंदर डालने से मना कर दिया और कहा कि मैं जबरदस्ती न करूं।उसने भी मुझे दो तीन बार अच्छेब्लो जॉबदिए।और यह Xx फ्रेंड सेक्स इतने में ही सिमट गया.

बीएफ देसी चुदाई बीएफ कुछ देर बाद चाची भी नीचे से गांड उठा उठा कर मेरे हर शॉट का जवाब देने लगी थीं. कोमल ने मेरे लंड को चूस कर गीला कर दिया और कुछ ज्यादा सा थूक भी लगा दिया.

इसके लिए मैंने सब सोच लिया था कि प्रिया ख़ुद पूरी तरह से खुलकर मुझसे चुदेगी … वो भी पूरी रात.

बीएफ फिल्म बताएं

वह अपनी चूत पर मेरी जीभ का ऐसा प्रहार पाकर बहुत मज़े से चूत चटाई करवा रही थी. तू मुझसे नाराज तो नहीं है ना!यह कहते हुए उन्होंने मेरे मुँह से तकिया हटा दिया. चाची की आंखें फटी की फटी रह गईं और वो चिल्लाने लगीं- आंह मादरचोद, धीरे से नहीं डाल सकता था क्या … भोसड़ी के, बहुत दर्द हो रहा है … जल्दी से बाहर निकाल!मैंने लंड को बाहर निकाला और फिर से थोड़ा तेल लंड पर लगा लिया.

लगभग 10 मिनट कभी लंबे कभी तेज धक्कों के साथ बीत गए और मैंने लंड का पानी जल्दी ना आ जाए, इसलिए उसको वापस घोड़ी बनने को कह दिया. मैं उनकी गोद में मुँह से मुँह लगा कर बैठी थी तो सर मेरे एक दूध को मुँह में भर कर चूसने लगे. फिर मैंने भाभी के पेटीकोट का नाड़ा खींचा जिससे भाभी का पेटीकोट नीचे गिर गया और अगले ही पल मैंने भाभी की चड्डी भी उतार दी.

उसने सामने रखी हुए बॉटल से बने हुए पैग में कुछ और व्हिस्की ग्लास में डाल ली और एक सिप लिया.

कुछ देर लंड चूसने के बाद भाभी ने कहा- तुम्हारा लंड तो तुम्हारे भाई से काफी बड़ा और मोटा है. मैंने उससे कहा- आका का हुक्म मानो और जो बोलता हूं … उसे फिर से बोलो कि हां मैं तुम्हारी रंडी हूं, बना दो मेरी चूत का भोसड़ा, मेरी गांड चूत सब तुम्हारी लंड की प्यासी है. रात भर मैं अपने कमरे में लेटे-लेटे सोच रही थी कि जो वह कह रहे हैं, क्या वह सही है.

संगीता भाभी उसी दिन मुझसे अब बार बार कह रही थीं- यार, तुमने तो मेरा सबकुछ देख लिया है, अब तुम अपना हथियार भी मुझे दिखा दो न!मैंने कह दिया कि अरे यार सामने से देख लेना. मैं दो-तीन मिनट तक लगातार धक्के लगाता और रुक जाता तो चाची मेरे लंड को चूत में लिए लंड पर बैठ जातीं जिससे मुझे थोड़ा आराम मिल जाता. इससे मुझे भी जोश आ गया और मैं उसके चूचे चूसने लगा, साथ ही नीचे उसकी चूत में उंगली करने लगा.

मैं अपने रूम में आ गया।आप मुझे ईमेल करके बताना कि मेरी आपबीती कपल थ्रीसम सेक्स कहानी आपको कैसे लगी, आप नीचे कमेन्ट भी कर सकते हो।आपका दोस्तरवि स्मार्ट[emailprotected]. तभी एकदम से हितेश ने टीवी बंद किया और बोला- और सुना क्या चल रहा है?मैंने जवाब दिया- कुछ नहीं भाई, लॉकडाउन में क्या चलेगा.

नीरज ने हम दोनों को हमारे पैसों के बैग दिए और मैं व रीना होटल से चली गईं. थोड़ी देर तक मैंने धक्कों की स्पीड धीमी ही रखी और उसकी चूचियों का मर्दन और क्लिट की रगड़न जारी रखी, जिससे थोड़ी देर में सिमरन भी चुदाई के लिए गर्म होने लगी. देखते ही देखते किशोर का एक हाथ मेरी कमर से होता हुआ मेरे पिछवाड़े तक चला गया और वो मेरे चूतड़ों को सहलाने लगा.

फिर मैंने चाची को पीठ के बल लिटा दिया और प्रियंका भाभी की तरह चाची की गांड के नीचे भी तकिया रख दिया.

उसकी सिसकारी थोड़े दर्द में बदलने लगी क्योंकि शायद मेरी कठोर हथेलियों के कारण उसके मुलायम दूध छिल रहे थे. यह मेरी जिम्मेदारी भी हो गई थी क्योंकि वंदना ने मुझे साफ बोल दिया था- तुम किसी भी चीज की टेंशन मत लेना. दिन में 11 बजे तक उधर पहुंचकर मुझे अपने दोस्त से टिकट्स भी अरेंज करानी थी.

उसके कठोर हाथों से दबते हुए मेरा दूध दर्द करने लगा और दूसरे दूध को वो अपनी खुरदरी जीभ से ऐसे चाट रहा था कि निप्पल बिल्कुल तन गया था. उसने मुझे हग कर लिया और अपने पैर से मेरे लंड को सहलाने लगी जिससे मेरा लंड खड़ा हो गया.

मैंने अपना लंड भाभी की साड़ी के ऊपर से ही उनकी गांड में सैट कर दिया और पीठ पर किस करने लगा. ये सुनकर मुझे झटका लगा कि इसे ये सब कैसे पता चला और आश्चर्य भी हुआ कि मेरी सगी बहन मुझसे सेक्स करने के लिए बोल रही है. मुझे अरुणिमा जंच गई और परिवार के रजामंदी से कुछ दिनों में उससे मेरी शादी हो गई.

बीएफ वीडियो प्ले बीएफ

उन्होंने धीरे से आवाज निकाली- आंह … पेलो न यार!मैंने भाभी के चूचों को सहलाते हुए तेजी से अपना लंड अन्दर बाहर करना चालू कर दिया.

हॉट भाभी का सेक्स का मूड था तो उसने खुद से मुझे कहा कि मेरी मेरी आग बुझा दो. इससे मुझे और जोश चढ़ने लगा और मैं भाभी की चूत को भोसड़ा बनाने में लग गया. दोस्तो, यह थी मेरी फ्री भाभी सेक्स कहानी, आपको कैसी लगी … मेल से जरूर बताना[emailprotected]मेरी पिछली कहानी थी:व्हाट्सएप ग्रुप से एक भाभी ने मुझे पटाया.

भाभी मेरी बांहों से निकल कर अपने कमरे की तरफ बढ़ गईं, मैं उनकी गांड के पीछे पीछे चल दिया. आज काफी दिनों के बाद मेरे लंड की किसी ने मुठ मारी थी, वो भी सीधे मुँह में लेकर चूसा था. सेक्सी फोटो भाभी केदोबारा गर्म होने और क्लिट की रगड़ाई से सिमरन फिर से आहें भरने लगी थी.

मैंने भाभी को अलग पोजीशन में चोदना शुरू किया जिससे भाभी भी एन्जॉय करने लगी. वंदना- अगर कोई मेरे मोहल्ले का लड़का मेरे साथ बातचीत करता या मैं किसी लड़के को अच्छी तरह से जानती, तो तुमसे क्यों बात कहती.

मैं किशोर से लंबाई में कम थी इसलिए मेरा चेहरा उसके सीने से चिपक गया. मुझे आया देख कर चाचा बोले कि यहां खाना खा लेना और रात में भी यहीं पर सो जाना. मैंने भी देर ना करते हुए प्रिया भाभी की दोनों टांगें खोल दीं और गांड के नीचे तकिया लगा दिया.

मैंने दीदी को अपने ऊपर सुला लिया और उनकी मोटी चिकनी गांड को दबाने लगा. आठ परीक्षकों ने आर्ट ऑफ़ सेक्स सीखने वालों के गले की बेल्ट की रस्सी पकड़ी. चड्डी को खुद ही साबुन से रगड़ रगड़ कर धोने के बाद उन्हीं कपड़ों में डाल दिया.

अभी हम दोनों नंगे ही एक दूसरे के ऊपर चढ़े हुए बातें कर रहे थे कि तभी दरवाजे पर आहट हुई और कमरे में मामी के किराएदार की छोटी लड़की, जो कि पाखी की सहेली थी, वो आ गई.

रात को जब बीवी बिस्तर पर आयी तो मुझको फिर से चिन्ता हुई कि अब क्या होगा, दम ज्यादा नहीं बचा था. अब ऐसे ही मैं रोज चुदने लगी और आपने बुलाया तो मैं कुछ दिन के बाद आपके पास आ गई भैया.

पर उस दिन उसने शॉर्ट ड्रेस में मेरे अंदर के शैतान को जगा दिया पर मैंने खुद पर कंट्रोल रखा।मैं उससे थोड़ा दूरी बनाकर रहने लगा जिससे उसे भी शक होने लगा।एक दिन अयाना मेरे पास रात में आयी और गले लगा कर बोली- चाचा, मैं जानती हूं कि आप मुझसे दूर क्यों भागते हैं. वो मुझसे अपनी गांड घिसने लगी, तो मैं भी साली के साथ रोमांस करने लगा. ये कहते हुए उसने तेज धक्का दे दिया और उसका आधा लंड चूत को फाड़ता हुआ चला गया.

लड़कियों को नौकरानी, कोरियर वाला लड़का, इलेक्ट्रीशियन लड़के आदि का मेकअप करने को कहा गया. इनके बारे में मैंने अपनी पिछली चुदाई कहानीदो टीचरों ने मुझे सैंडविच बना कर चोदामें बता चुकी हूँ. उसने अपना लंड पैंट से बाहर निकाल रखा था जो कि इतना कड़क था कि मेरी सलवार फाड़ने को तैयार था.

बीएफ देसी चुदाई बीएफ एक सफल कॉल बॉय या कॉल गर्ल बनने के लिए ग्राहक क्या चाहता है या चाहती है, उसकी बातों से समझकर वैसा नाटक करना पड़ता है. फिर तो मैं उनके साथ रोज ऐसी बात करता और चाची सासु मां भी गर्म हो जातीं.

एचडी बीएफ वीडियो सेक्सी वीडियो

उसी बीच में चाची, चाचा से बोलने लगीं- मेरी एक बचपन की सहेली पिछले दस सालों से केनेडा में थी, वह वापस घर आई है. मेरे साथ पहली घटना होने के बाद मुझे लड़कियों के साथ सेक्स करने में ज्यादा मजा नहीं आता था. ‘मैं अब तुम्हारी पैंटी के पास अपने होंठों से प्यारी किस कर रहा हूँ और थोड़ी सी पैंटी उठा कर तुम्हारी चूत की महक ले रहा हूँ.

चाची बोलीं- क्यों निकाला, अभी तो माल निकला भी नहीं है?मैंने कहा- रुको मेरी जानू. चाची के यह कपड़े थोड़े पुराने थे और अब चाची की बॉडी कुछ ज्यादा भर गई थी, इसलिए ये वाले कपड़े चाची को बहुत चुस्त आ रहे थे. सुहागरात के दिन क्या-क्या होता हैवो भी साथ देने लगी और अपने निप्पलों को मेरे मुँह के अन्दर तक घुसाने लगी.

इस तरह से मैंने भाभी को सैट कर लिया था और उनके साथ कई बार सेक्स किया.

मैं मामी को पकड़ा और उनके गाल पर कट्टू करते हुए गांड पर एक जोरदार चमाट मार कर चिपका लिया. वो बोला- मस्त माल हो जान, अब मुझे तुम ये बताओ कि कितने बार किस किस से चुद चुकी हो?मैंने बताया- रानी दीदी के हसबैंड हैं राज जीजू … मैं उनसे बहुत बार चुद चुकी हूं.

पायल मेरी गोद में थी और अपनी दोनों टांगों को मेरी कमर से लपेटी हुई मचल रही थी. इससे मुझे भी जोश आ गया और मैं उसके चूचे चूसने लगा, साथ ही नीचे उसकी चूत में उंगली करने लगा. मैडम बोली- शिट … कितना पुराना नाम है तुम्हारा … आज मैं तुम्हारा नाम दूसरा रख देती हूँ.

मैंने पीछे से भाभी की साड़ी को ऊपर करके जांघों तक खिसका दिया और उनकी जांघों को मसलने लगा.

उसे धमका दिया कि उसने किसी से इस बात को कहा तो मां चोद दूंगा और तेरी गांड तो मारूंगा ही, साथ में उसकी बहन की चुत भी चोद दूंगा. चाची मेरे बाजू में आ गईं और अपने दोनों मम्मों के बीच में मेरा मुँह सैट करके मेरा मुँह दबा दिया. कुछ ही देर में मैंने चूत में पानी गिराया और उसके बगल में ढेर हो गया.

एक्स एक्स देसी वीडियो सेक्सीसलवार अपने आप नीचे गिर गई।फिर मैंने उनकी चड्डी में लन्ड डाल कर गांड पर रगड़ना शुरू कर दिया. वो बोली- तो अब क्या ख्याल है?मैंने उससे कहा- जब आग दोनों तरफ जल रही है तो बीच में ये दूरियां क्यों हैं? मेरे कमरे में आ जाओ, इस आग को आज ही बुझा देते हैं.

बीएफ 2021 हिंदी

ये एक ऐसी लड़की की चुदाई कहानी है जो सेक्स की अत्यधिक भूखी थी और मेरी बीवी बन कर मेरे साथ रह रही थी. क्योंकि चुदाई का असली मजा तब ही आता है, जब लड़की खुद अपने दिल से अपने जिस्म को सौंप देती है. मैंने कहा- आपको तो केवल देखना ही है, लेकिन मुझे तो इसको शांत भी करना है.

मैंने एम्बुलेंस स्टार्ट की और उसे हर तरह से चैक करके जाने को रेडी हो गया. मैं किसी कुत्ते की तरह कामिनी की पकौड़ी सी फूली चूत को चाटे जा रहा था. लेकिन मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया था तो मैंने चाची से कहा- इस खड़े लंड का अब क्या करूं मेरी रंडी.

उसको एक दिन के लिए रुका लिया और रात में अपनी फ्रेंड को भी शानू के लौड़े से चुदवाया. सुहागरात में जब मैंने उसके कपड़े उतारे तो मुझे उसकी सुंदरता का सही से पता चला. मैं कुछ मिनट में ही झड़ गया और वो किसी रांड की तरह मेरा पूरा वीर्य पी गई.

मैंने उसके साथ बहुत बार चुदाई की थी पर उससे भी कभी अपनी गांड नहीं मरवाई. कुछ देर तक हम एक दूसरे के साथ चिपके रहे, फिर मैं भाभी को चूमने लगा और उनके मम्मों को मसलने लगा.

मैंने कहा- साली जिम में भी चुदाती है क्या?उसने कहा- हां मैंने कोई जिम ट्रेनर ऐसा नहीं छोड़ा, जिसने मुझे चोदा ना हो.

वो भी गर्माने लगी और वासना से बोली- आआ अहह तुझे सिर्फ़ दबाना ही आता है या अब चूसेगा भी!मैंने बिस्तर पर बैठ कर उसके एक निप्पल को मुँह में ले लिया और चूसने लगा. तमन्ना भाटिया की एक्स एक्स एक्समैंने उसका लंड अपने चूतड़ों में जकड़ कर हल्के से ऐसे दबाया, जैसे बस के झटके के कारण उसका लंड अन्दर आ गया हो. रानी चटर्जीxxxअभी कोरोना की वजह से जल्दी ड्राइवर मिलते नहीं हैं, तो क्या तुम ये जॉब कर लोगे?मैं- जी, मुझे ड्राइविंग करना आता है और मैं कर लूंगा. वो लगातार चिल्ला रही थी- आआ ह्ह्ह और ज़ोर से चूसो ना निखिल … आईई … मुझे बड़ा मजा आ रहा है.

चार दिन बाद एक शाम को अचानक प्रिया भाभी का फ़ोन आया- मेरी तबियत कुछ खराब सी लग रही है.

भाभी- ओके अगर तुम मुझे टच करना चाहो, तो कर सकते हो … मैं कुछ नहीं कहूँगी. कामिनी हंस पड़ी और बोली- हां रे … मेरा दिल आ गया था तेरे पे!हमारे बीच ऐसी ही बातें होती रहीं. जब नीलिमा झड़ने को हुई तो बुआ मेरे ऊपर से उठ गई और मैंने नीलिमा को अपने नीचे लिया और पूरी ताकत से चोदने लगा.

अब मम्मी पापा के ऊपर आ गईं और उनके चड्डे और चड्डी दोनों को एक साथ निकाल दिया. तब भी मुझे लगा कि कुछ हो सकता है तो मैंने भी बहती गंगा में हाथ धोने का मन पक्का कर लिया. शुरुआती दर्द के बाद मेरी गांड किसी भी लंड को बड़े आराम से अन्दर तक ले लेती है.

प्रियंका चोपड़ा के वीडियो बीएफ

वो मुझसे अपनी गांड घिसने लगी, तो मैं भी साली के साथ रोमांस करने लगा. मैं कुछ मिनट में ही झड़ गया और वो किसी रांड की तरह मेरा पूरा वीर्य पी गई. तुम लोग उन लोगों को यौन आनन्द देते हो और उनकी शादी टूटने से बचाते हो.

दिन भर उनको अपने काम की पड़ी रहती है और इसी के चलते भैया, भाभी को ठीक से समय नहीं दे पाते हैं.

अब एक बार पहनकर दिखाओ, फिर बोलना कैसे हैं?पहले बुआ मना करने लगी पर मेरे बार बार बोलने पर मान गई.

फिर आजकल सभी लड़कियां अपने बॉयफ्रेंड के साथ ये सब बड़े मजे से करती हैं. अब मेरा लंड पूरे जोश में था और अब मैं इस मौके को गंवाना नहीं चाहता था. आदिवासी भाषा में सेक्सी वीडियोइसके बाद लड़के के बहन ने कहा कि हमें तो पहले से पता था कि लड़की वाले मना कर देंगे क्योंकि हम लोग दूसरा धर्म अपना कर पाप जो कर बैठे हैं.

तभी अचानक से भाभी की नजरों ने मेरी नजरों को भांप लिया और उनको पता चल गया कि मैं उन्हें निहार रहा हूं. बहुत से पाठकों को शिकायत रहती है कि मैं ईमेल का रिप्लाई नहीं करती हूँ, तो दोस्तो नाराज मत हों, मैं जब से पोर्न इंडस्ट्री में आयी हूँ, बहुत बिजी रहने लगी हूँ. मैं इतनी तेजी से गुब्बारे गूंथने लगा कि उसने तड़फ कर कह ही दिया- उखाड़ डालोगे क्या … गुलाम हूं पर इंसान ही हूं.

दो तरफ़ा मजा लेते हुए झड़ना मुझे इतना ज्यादा पसंद है कि क्या कहूँ … और इसी वजह से मुझे गांड मारना अच्छा नहीं लगता. हालांकि हमने वरूण की मम्मी को काम करने के लिए मना कर दिया था परंतु वो फिर भी हमारा साथ दे रही थीं.

वो उधर दर्द की वजह से मेरी पीठ मसलने लगी।फिर मैं एक हाथ उसकी नाभि से ले जाते हुए उसकी पेंटी के ऊपर फेरने लगा.

फिर मैं नीचे की तरफ़ आया और अब बारी थी उसकी चड्डी को निकालकर उसकी मनमोहिनी चूत के दर्शन करने की. मैं तो आपकी दीवानी उसी दिन हो गई थी, जिस दिन दीदी को आपने पहली बार में ही उन्हें बेहोश करने तक चोदा था. मैं खड़ा हो गया, उसने मेरा लंड हाथ में लिया और अपने मुँह में डाल कर चूसने लगी.

सब हीरोइन के सेक्सी वीडियो कुछ देर के बाद फिर मैंने उसको घोड़ी बनाकर उसकी चूत में लंड डालना चाहा।मुझे अहसास हुआ कि उसकी चूत एकदम से कोरी थी।मौसी की लड़की की कुंवारी चूत में लंड की रगड़ से ही जलन होने लगी थी।मैंने उसे समझाया कि लंड जब अंदर जाएगा तो दर्द होगा. मैं ये सब कह जरूर रही थी लेकिन मन ही मन मुझे भी उस रात चुदने को मन हो रहा था.

दिन भर मैं अपने दोस्तों के साथ था, पर जब मैं शाम को घर पर आया तो देखा कि बड़े पिताजी के बेटे आए हुए हैं. आंटी सेक्स डबल चुदाई कहानी में पढ़ें कि मैं अपने दोस्त और उसकी मम्मी के साथ वाटर पार्क में मस्ती करने गया. पैंटी के ऊपर से काफी देर तक चूमने के बाद अचानक उन्होंने मेरी पैंटी भी मेरे जिस्म से अलग कर दी.

भोजपुरी बीएफ बिहार के

मेरा प्यार का नाम प्रिंस है, मैं दिल्ली के पास फरीदाबाद का रहने वाला हूँ. फिर मैंने तुम्हारे दादा को शराब के नशे में चूर कर दिया और घर में इस समय कौन कौन है, सब पता कर लिया था. कुर्ती के ऊपर से मैं उनके मम्मों को किस करने लगा तो वो पागल सी होने लगीं.

मैं भाभी के सम्पूर्ण गदराए बदन और शरीर को अपने होंठों से बड़ी ही बेहरमी से चुम्बन किए जा रहा था. अब विक्रम ने एक बार फिर से मॉम के होंठों पर किस किया और उन्हें छोड़ दिया.

मेरे चेहरे की तरफ देखने के बाद उनकी नजर तुरंत मेरे पैंट में तंबू बने लंड पर पड़ी और उन्होंने गुस्से में अपनी नजर वापस घुमा ली.

कुछ देर बाद मामी मेरे लिए दूध के आईं और हम दोनों फिर से चुदाई में लग गए. मैंने धीरे धीरे करके उनके नीचे से चादर निकाली और उसको वाशिंग मशीन में डाल दिया. हिंदी Xxxx कहानी के पहले भागचचेरे भाई को सेक्स के लिए गर्म कियामें अब तक आपने पढ़ा था कि मेरे भाई ने मेरी चूत चाट कर मुझे चुदास के शिखर पर पहुंचा दिया था.

मैंने भी धक्के लगाना बंद कर दिए और खुद ही चाची के धक्कों की वजह से चूत में लंड डाले अपने आप ही हवा में उछलने लगा. डॉगी स्टाइल में पाँच से सात मिनट चोदने के बाद मैंने अपने लंड का सारा पानी उसकी चूत में ही भर दिया. उसका लंड करीब 6 इंच से कुछ कम था मगर मेरे लंड से कुछ ज्यादा मोटा था.

तभी मुझे ध्यान आया और मैंने कहा- यार, दवा के साथ अच्छे से फ़्लेवर वाले दो पैकेट कंडोम भी ले आना.

बीएफ देसी चुदाई बीएफ: फिर मैंने उसके धीरे से कान में कहा- भाई, क्या तुम भी मेरे साथ ऐसा ही करना चाहोगे. मैं आंटी को बेड पर आकर उन्हें किस करने लगा; आंटी की ब्रा एंड पैंटी उतारकर उन्हें पूरी नंगी कर दिया.

मैं बोला- डार्लिंग तुझे कैसे पता चला?सुरभि बोली- अबे चूतिए, मैं भी तो यहीं बाजू के क्वार्टर में रहती हूँ. मैं किसी कुत्ते की तरह कामिनी की पकौड़ी सी फूली चूत को चाटे जा रहा था. लेकिन जो चीज़ मुझे सबसे ज्यादा पसंद है, वो है उसकी गांड!अगर वो बैठ जाए और कोई पीछे से देखें तो लगता है कि दो तरबूज़ रखे हों।बूब्स उतने ज्यादा बड़े नहीं हैं मगर गांड उसकी गांड फाड़ तबाही मचा देती है सीने में।मैं नोएडा में पढ़ाई करता हूँ और घर जाता रहता हूँ.

अब मैंने भाभी के पेटीकोट में सिर घुसा दिया और उनकी काली पैंटी उतार दी.

चड्डी के अन्दर मेरा लंड भाभी के सामने एकदम कड़क मुद्रा में फूला हुआ रहा था और भाभी लंड को लालच भरी निगाहों से लंड के पहाड़ को देख रही थीं. मेरी जान अब चलो मैं तुम्हें होटल में ले जाकर जन्नत की सैर करवाती हूं. उस समय भाभी के दोनों बड़ी बड़ी चूचियां ऐसे तनी हुई दिख रही थीं … मानो वो भाभी की नाईटी को फाड़ कर बाहर आ जाना चाह रही हों.