एक्स एक्स बीएफ कॉम

छवि स्रोत,क्सक्सक्स करीना कपूर

तस्वीर का शीर्षक ,

देवर भोजाई सेक्सी फिल्म: एक्स एक्स बीएफ कॉम, आंटी मुझसे बोलीं- शायद इसको ज़्यादा चढ़ गई है, तुम इसको गोद में उठा कर इसके कमरे में छोड़ आओ.

ओपन इंग्लिश सेक्सी व्हिडिओ

कॉफी लाकर मैंने उसे उठाया, तो उसने मुस्कुराते हुए मुझे किस किया और मुझे प्यार से अपनी बांहों में भर लिया. क्सक्सक्स तेंतकिओं साद लिरिक्सफिर मैंने उसकी चूत से लंड निकाला और एक गंदे कपड़े से उसको साफ किया.

मैंने दीदी को बोला- देखो, क्या आपको ऐसा ही लड़का चाहिए था?उसने मेरी तरफ देखा. दिसावर में आज सुबह क्या हैपर थोड़ी देर तक ही खेला … आज पता नहीं क्यों हम दोनों को खेलने में मजा नहीं आ रहा था.

मैं- रानी, मैं डॉक्टर को बुलाता हूँरानी- नहीं, डॉक्टर की जरूरत नहीं है … अगर आपसे हो सके तो ड्रावर में क्रीम रखी है.एक्स एक्स बीएफ कॉम: उसकी चूत देखकर मैं पागल हो गया और मैंने सीधा उसकी चूत में मुंह लगाकर चाटना शुरू कर दिया.

उस समय मुझे अपने दूध चुसवाने में मज़ा आ रहा था, तो मुझे इस बात का पता नहीं चला था.मुझे कुछ संकोच लग रहा था कि मैं इस मस्त लंड पर कैसे अपने हाथ को रखूं.

सिलाई मशीन धागा - एक्स एक्स बीएफ कॉम

समीर ने मेरी मदद की।फिर उसने मुझे नहलाया। उसके बाद नहाते हुए उसका लंड फिर से खड़ा हो गया.एक दिन उसका छोटा भाई अपने स्कूल की गर्मियों की छुट्टी में उसके मामा के घर अपने मम्मी पापा के साथ गांव गया था.

आपा ने भी मेरे लोवर मैं हाथ डालकर मेरा लंड पकड़ लिया और उसे हिलाने लगी. एक्स एक्स बीएफ कॉम दोस्तो, इस सेक्स कहानी के अगले भाग में मैं आपको अपने दिल में रानी की दिलकश जवानी की चाहत लिए उसे कैसे चोद सका, ये लिखूंगा.

वो ब्रा काफी बार पहनी हुई थी, जिसे मैं सूंघ सूंघ कर अपना लंड हिला लिया करता था.

एक्स एक्स बीएफ कॉम?

मेरी और लिली की सील पैक चूत की कहानी आपको कैसी लगी, मेल करके जरूर बताएं. अब मैं अपनी बीवी से मुखातिब हुआ- तो क्या करना चाहिये मुझे?मेरी बीवी ने कहा- अच्छा रहेगा, आप रानी को पढ़ा दोगे तो क्या दिक्कत है!मैं- ठीक है, तुम रानी से बात करके बता देना कि उसको पढ़ने के लिए कौन सा टाइम सही रहेगा. झड़ते वक्त सुहैला बड़े प्यार से गांड हिलाते हुए मेरा लावा अन्दर ले रही थी.

झड़ने के बाद मैं रिट्ज की स्कूटी से करीब 10 बजे आकृति आंटी को दुकान से लेने चला गया. उसने अपना लंड मेरी गांड के छेद पर टिका कर जोर लगाया और उसका लंड मेरी गांड में घुस गया. मेरा लौड़ा दीदी ने इतनी जोर से पकड़ा कि जैसे दीदी के हाथों में किसी पहलवान का जोर आ गया हो.

रानी आंखें बंद करके मालिश करवाने का मजा ले रही थी और मैं मौके का फायदा उठाकर उसके तने हुए और ऊपर सर उठाए बोबों को निहार रहा था. फिर खूब बढ़िया से उसकी सील पैक चूत को चाट चाट कर उसका पानी निकाल दिया. मैंने भी टांगें फैला दीं और चाची ने मेरी कच्छे की इलास्टिक हटाकर लंड को बाहर निकाल लिया.

मेरी आह निकली तो उन्होंने मेरे बालों को खोल कर पकड़ लिया और मुझे घपाघप चोदने लगे. रंडियां बन जाने के बाद एकाध दिन मौक़ा पाते ही उन दोनों की चुत भी मैं चोद लूंगा.

इसलिए तौलिया हटाते ही मुझे दीदी की चूत नंगी मिली।मेरा मुंह एकदम से सूख गया.

रमेश की बात सुनकर मैं भी सोच रही थी कि हां साला इस कोरोना के चलते मुझे भी कोई लंड नहीं मिला, जिससे मैं अपनी चूत की गर्मी शांत करवा सकूँ.

वो भी मेरे साथ बात करने का कोई ना कोई बहाना ढूंढती रहती थी और मैं भी उससे बात करने का कोई न कोई बहाना ढूंढता रहता था. मैंने कुछ सोचा और जानबूझ कर ऐसे रिएक्ट करके बाथरूम से आवाज मारी, जैसे वो बाथरूम के बाहर नहीं, अपने रूम में हो. कल भले ही मेरे ओर पूजा के बीच बहुत कुछ हुआ था, पर आज मुझे फिर से डर लगने लगा था.

फिर मेरी साड़ी ब्लाउज की तरफ देख कर वो मुझे ऊपर से नीचे तक बड़ी गौर से देखने लगी. कुछ देर में मैंने भी कंप्यूटर बंद कर दिया और सीधा साधा खेल अब चुदाई के खेल में बदल गया. मैं उसे देखते हुए बोला- जान, बड़ी कमाल की लग रही हो … तुम्हें यूं देख कर मेरा लंड तन कर तंबू जैसा बन गया है.

एक मिनट बाद वो मुँह हटा कर बोली- मुझे थोड़ा गंदा सेक्स ज्यादा पसंद आता है.

तो मैं खुद ही अपने मुँह में लंड को जोर जोर से आगे पीछे करके चूसने लगी. सीमा मेरे 8 इंच लम्बे और मोटे लौड़े की छुअन अपनी चुत पर पाकर हिनहिनाने लगी. इस तरह से उन लोगों ने मुझे काफी उत्तेजित कर दिया और उसी वक्त मुझे सत्यम को फोन मिलाने को बोला.

मैंने उसकी चूत का पानी कैसे निकाला?दोस्तो, मैं एक बार फिर से आप लोगों के समक्ष हाजिर हूं अपनी स्टोरी का एक और भाग लेकर। मेरी गर्लफ्रेंड के साथ सेक्स की स्टोरी के दूसरे भागप्रेमिका के साथ कामुक हरकतेंमें मैंने आपको बताया कि कैसे मैं उसके घर पर गया और वो ड्रेस पहनकर देखने लगी. कुछ देर बाद आंटी खड़ी हुईं और एक बार फिर से मेरे होंठों को चूमते चाटने लगीं. वो किसी तरह मेरी चुत में लंड घुसेड़ने के बाद दो तीन बार जर्क लगाकर ही झड़ गया था.

मैंने गैर किया तो उसका लन्ड अब टाइट हो रहा था।उसकी चुभन का मैं भी मजा लेने लगी। अब मैं उससे और सट के बैठ गई।सागर ने अब अपना एक हाथ मेरी जांघ पर रख दिया.

आप बस जल्दी से मुझे मेरी इस गाँव की लड़की की सेक्स कहानी के लिए अपने मेल लिख कर भेजिए. उसके होंठों को चूसते हुए उसकी ब्रा को खोल दिया और उसके चुचों को आजाद कर दिया.

एक्स एक्स बीएफ कॉम अब सच में वैसा करके लग रहा है कि जो सजा अभय ने दी, उसका गुनाह मैंने सही में किया है. मुझे अपनी आंखों पर विश्वास नहीं हो रहा था कि मामा अपनी बेटी जैसी भान्जी मीनू के साथ कैसे ऐसा कर सकते हैं.

एक्स एक्स बीएफ कॉम असल में उसे अहसास हो गया था कि लकी और सारा आपस में उसके पीछे से चिपटे हैं, बस यह देख कर उसका खड़ा हो गया और उसने इस आग को और बढ़ाने की सोची. मैंने इस बार बहुत सारा थूक उसकी गांड पर लगाया और उंगली से उसकी गांड के अन्दर करके ढीली कर दी साथ में जरा ज्यादा सा थूक भी गांड के अन्दर लगा दिया.

अब आगे हॉट कज़िन की चुदाई कहानी:सुबह जब नींद खुली, तब करीब 10 बजे थे.

हिजड्याची सेक्सी

इस तरह से कुछ ही देर में मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया और मैंने फिर से उसे किस करते करते हुए चुत के अन्दर पेल दिया. रोहन अपना हाथ उसके पेट से होते हुए उसकी चूत पर अन्दर ले गया और उसने अपनी मॉम की चूत में एक उंगली डाल दी. फिर सामने वाली भाभी को देखकर मैंने कहा- इतनी दूर क्यों हो … पास आ जाओ.

मैंने उनसे पूछ लिया- भाभी क्या आप कभी सेक्स करते समय रोयी हो?उन्होंने कहा- नहीं, अनिकेत के साथ कभी ऐसा नहीं हुआ. पांच मिनट बाद वो फिर से मेरे कमरे में आई, अभी भी उसने तौलिया ही लपेटा था. सिर्फ कमल ही चोदेगा उसे!कमल ने अपना माल सारा की चूत में निकाल दिया.

आपा बोली- मैं इस मजे से अभी दूर हूँ … लॉकडाउन खुलेगा, तब तेरे जीजाजी आएंगे, उसके बाद ही मुझे इस मजे का मालूम पड़ेगा.

मैंने उसको अपने पास खींच कर उसके होंठों को अपने होंठों से लगा लिए और उसको किस करने लगी. मैंने उसकी चूचियों की तरफ देखते हुए कहा- ठीक है, मैं अभी आकर ले लूंगा. जैसे ही उसने स्माइल दी मैंने अपने पास बैठी भाभी की कमर से हाथ को हटाया और उसके चेहरे पर रखकर जोर से उसके होंठों को चूसने लगा.

फिर कुछ ऐसा हुआ कि मेरी जॉब मेरी ससुराल के गांव में ही लग गई; मैं उधर ही रहने लगा. मैंने अपना नम्बर दे दिया और भाभी ने उसी समय अपने नम्बर से मेरा नम्बर डायल कर दिया. मेरी बहन बोली- अब तू बहन की गांड मार … तुझे भी मज़ा आएगा और मुझे भी!मैंने पूछा- तूने कभी किसी से अपनी गांड मरवाई नहीं है, तो फिर तुमको कैसे पता है कि दोनों को मज़ा आएगा!उसने बताया- मैं अपनी चूत और गांड में रोज रात को उंगली डालती हूँ.

दो दिन के बाद वह अपने कॉलेज से जल्दी निकल आया और मेरी छुट्टी होने के बाद हम दोनों साथ में ऑटो से बैठ कर आए. वो मेरे बिना कुछ बोले समझ गईं और गप से मेरा लंड मुँह में लेकर उसको बड़े ही प्यार से चूसने लगीं.

मेरे ईमेल पर मैसेज में अपनी राय दें।आप कहानी पर कमेंट्स में भी अपना फीडबैक दे सकते हैं।मेरा ईमेल आईडी है[emailprotected]. उसी समय तुरंत ही जेठजी ने दूसरी उंगली को भी मेरी गांड में डाल दिया. उसकी इस नाइटी में मम्मों के पास जालीदार नेट लगी थी और बस इतनी लम्बी थी कि ये नाइटी उसकी चूत को ढकने में असमर्थ थी.

मेरा तना हुआ लंड देख कर चंचल बोली- जीजू, आपका बहुत लंड बड़ा है … दीदी तो मर ही जाती होगी.

उस वक्त मैं 19 साल की थी, मैं दिखने में भले ही सांवली थी मगर मेरे बदन के कटाव किसी से कम नहीं थे. तभी वो मुझे देख कर इशारा करने लगा मैंने भी हाथ हिला कर उसे आने की कह दी. अगर मैं चुपके से खोलूंगी भी … तो कोई न कोई जाग जाएगा, इतना बड़ा गेट है, खुलने में आवाज करेगा.

मेरी बहन ने सहमते हुए पूछा- कहां पर थी?मैंने बताया- तुम अपने क्लासमेट के साथ कॉलेज के स्टोर रूम में क्या कर रही थी … मुझे सब मालूम है. हम दोनों ने कॉलेज में प्लान बनाया था कि घर जाकर हम कहीं घूमने जाएंगे.

उनकी उम्र 24 या 25 साल की रही होगी, लेकिन वो दिखने में 22 साल की मस्त लौंडिया लगती थीं. देखना एक दो दिन में वो तुम्हें फिर बुलाएगा और अपने सामने सेक्स कराएगा. उसको मैंने इसी तरह से लगभग 15 मिनट तक चोदा।जब दोनों झड़ने वाले हुए तो मैंने पूछा- कहां निकालना है?तो वह बोली अंदर ही निकाल दो, अब तो हर रोज चुदाई होनी है.

सेक्सी वीडियो 18 साल उम्र

रमेश मुझसे बोला- आह साली रांड अच्छे से लंड चूस मां की लवड़ी … आह बड़ा मजा दे रही है.

फिर मैंने उससे कहा- मैं एक बात कहूं … तुम बुरा तो नहीं मानोगी!पूजा बोली- नहीं, बोलो क्या बात है?मैंने कहा- मैं भी तेरी चूत पीना चाहता हूं. दीदी मुझे देख कर सकपका गई और उसके मुँह से कुछ आवाज ही नहीं निकल रही कि क्या बोले. चूंकि मेरे साथ खुद ऐसी ही कुछ अन्य घटनाएं घटी हैं, जो मैं आपको अलग अलग हिस्सों में एक एक करके बताऊंगा.

आपको मेरी इंडियन वाइफ चीटिंग कहानी कैसी लगी … आपके मेल की मुझे प्रतीक्षा रहेगी. मुझे सेक्स का चस्का लग गया था नया नया मजा था और इस अनुभव को मैं अभी और अच्छे से महसूस करना चाहता था. सेक्सी गप्पामेरी चुसाई से नैना की चूत ने थोड़ा-थोड़ा नैसर्गिक नमकीन रस छोड़ना शुरू कर दिया था.

फिर बाहर जाकर मैंने एक नया सिम कार्ड ले लिया और भाभी के नंबर पर बतौर एक रॉंग नंबर फ़ोन किया. मैंने तुरंत मामी को मैसेज किया और उधर से सिर्फ दिल वाला निशान ही आया.

उनका चौड़ा सीना और कड़ियल गोरा जिस्म देख कर मुझे मेरी चुत में चींटियां रेंगने लगीं. मेरे लंड में इससे पहले मैंने इतना तनाव महसूस नहीं किया था। कंडोम पहनने के बाद फिर मैंने चोदना शुरू किया।दीदी भी मस्त होकर चुदने लगी।मुझे भी बहुत मजा आ रहा था. श्रुति की उभरी हुई गांड और तनी हुई चुचियों को देख कर कोई भी उसको खेली खाई लौंडिया समझने में भूल कर सकता था, जबकि वो अभी एकदम सीलपैक आइटम थी.

दो मिनट बाद मैं अपने कमरे से निकल कर फिर से छत पर आ गया और उसकी पैंटी को फिर से देखने गया. जेठजी का समूचा बड़ा मोटा लंड पूरी तरह मेरी चूत के अन्दर तक घुसा हुआ था और जेठजी मेरे दाहिने स्तन को पूरी तरह अपने मुँह में समाए हुए थे. आसिफा की अम्मी की चुदाई के बाद बहुत सारे सवाल मन में थे, तभी ज़रीना का मैसेज आया.

कुछ ही दिनों बाद हमारी फोन पर भी बातें होने लगी और एक दिन हमने मिलने का प्लान बनाया.

आपा बोली- हां, जैसे अभी तुमने भाभी की चूत का भोसड़ा बना ही दिया होगा. एक हाथ से मैंने उसके एक बोबे को दबाया और दूसरे हाथ से उसके ब्लाउज के हुक खोलने लगा.

तभी मैंने देखा कि आसिफा और उसकी अम्मी छत पर थीं और ज़रीना भी ऊपर आ रही थी. हॉट आंटी सेक्स कहानी के अगले भाग में मैं आपको आंटी और उनकी बेटी की चुत में लगी आग को लिखूंगा. यह स्टोरी मेरी और छोटी (बदला हुआ नाम) के बीच हुए सेक्स की है। यह कहानी जुलाई 2019 की है।छोटी की उम्र 25 साल, रंग गोरा, कद पांच फीट और पांच इंच है.

सत्यम मेरी चूत में ही झड़ गया था और उसका वीर्य मेरी चूत में इतना सुकून दे रहा था कि क्या बताऊं. मैंने कुछ धक्के तो इतनी जोर के मारे थे कि मायरा को लगा होगा कि मेरा पानी निकल रहा होगा. ये थी मां बेटी की चुत चुदाई! आपको स्कूल गर्ल सेक्स कहानी कैसी लगी, प्लीज़ मुझे मेल करके अवश्य बताएं.

एक्स एक्स बीएफ कॉम आखिर मेरी बहन ने मानते हुए कहा- ठीक है … सिर्फ एक बार होगा … फिर कभी नहीं कहोगे. यह स्टोरी मेरी और छोटी (बदला हुआ नाम) के बीच हुए सेक्स की है। यह कहानी जुलाई 2019 की है।छोटी की उम्र 25 साल, रंग गोरा, कद पांच फीट और पांच इंच है.

देसी भौजी सेक्सी

मैंने भाभी को बेड पर लुढ़का दिया और उन पर चढ़ कर उन्हें किस करना जारी रखा. वापिस आया तो देखा कि सुनील की बहन सुरीली बेड पर सोई थी और वो अभी भी मेरी बहन को चोद रहा था. दोस्तो,आज मैं आपको गरम भाभी की एक सत्य घटना बताने जा रहा हूँ, जो बहुत ही ज्यादा सेक्स और रोमांच से भरी हुई है.

मैंने उससे शादी के बारे में तफसील से पूछा, तो मालूम चला कि वो मेरे शहर से बस 30 किलोमीटर की दूरी पर ही एक कस्बे में वो रहती थी. लेकिन अभी उसका सही समय नहीं मिल रहा था।मैं यही देख रही थी कि मेरा घर कब खाली हो और मैं उसको बुला लूं. नग्न कुश्तीकुसुम को जब अपनी चुत पर अपने बेटे के लंड का अहसास हुआ, तो वो मजे से झूम उठी.

कार्तिक ने मुझे बांहों में ऐसे भर लिया था कि हमारे बीच में से हवा निकल ही न सके.

जेठजी ने भी मुझे अपने दोनों हाथों से अपने सीने से जोर से भींच रखा था. उसने पहले तो धीमे से अन्दर घुसाया, फिर जैसे ही उसका सुपारा मेरी गांड के छले में फिट हुआ, उसने एक जोर का झटका लगा दिया.

कुछ देर बाद मैंने कंडोम का पैकेट भाभी की आंखों के सामने हिलाया और जेब में रख लिया. सरिता भाभी के मुँह से निकली मादक आवाजें और विजय की आवाजों से पूरा रूम गूंज रहा था. शाम को बीवी को लेने सेंटर गए, वापस आते हुए रास्ते में तेज बारिश हो रही थी सो हम सब पूरी तरह से भीग गए थे.

वहां एक लड़की थी, मैं उसे देख कर बोली- यह कौन है?नवीन बोला- यह मेरी बेटी है.

दस मिनट के बाद रमेश ने अंजलि की गांड में से लंड निकाल लिया और मंजू को बोला- अब मैं तुम्हारी गांड मारना चाहता हूँ. उसने मुझे अल्ट्रासाउंड की जांच के लिए लिखा और एक पैथोलॉजी लैब की बताते हुए कहा कि वहां जाकर करा लेना. कोरोना लॉकडाउन में मुझे चूत की जरूरत हुई तो मेरी दोस्त ने अपनी सहेली से मिलवाया.

राजाजी सेक्सीउसके बाद उसने नंगी ही टेबल पर पिज़्ज़ा लगाया और मेरी गोद में आकर बैठ गयी. उसने मुझसे कहा कि भाभी मैं आपके लिए कुछ भी करने के लिए तैयार हूं … बस आप एक बार मुझसे बात कर लीजिए.

मारवाड़ी कॉलेज लड़की का सेक्सी वीडियो

पहले तो उनके पति कुछ दिन दिखे लेकिन 4-5 दिन बाद भाभी अकेली दिखने लगीं. अब हम दोनों चुदाई में एकदम खुल गए थे और एक दूसरे को गाली देते हुए चुदाई का मजा लेते थे. उसकी चड्डी निकलते ही उसका तना हुआ काला लंड मेरी आंखों के सामने आ गया.

अब आरिफा मेरे होंठों को चूसने लगी और जाकिरा मेरी पीठ को सहलाने लगी. अब मैं सोच रहा था कि किसी तरह मामी को पूरी गर्म कर दूं और वो खुद ही मेरे लंड को पकड़ ले. एक दिन मुझे सुनील का मेल आया और उसने किसी प्रशंसक की तरह मुझे बताया कि आपकी कहानियां मुझे बहुत पसंद हैं.

कुछ ही पल बाद मेरे लौड़े की रफ्तार रूकने सी लगी और तेज़ धार से वीर्य निकल पड़ा उसकी चूत में भर दिया।ट्रेन में चुदाई का मजा लेकर थोड़ी देर वैसे ही लेटे रहे, फिर उसने नाइटी पहन ली. वो बोला- कहां गिराना है?मैं बोली- अंदर नहीं गिराना है।जब तक वो लंड को बाहर निकालने की सोचता तब तक उसके लंड से माल छूट गया और उसका माल मेरी चूत में गिर गया।मैंने गुस्सा होकर कहा- ये क्या किया कुत्ते?वो बोला- कुछ नहीं होगा. मैं लिली के पास जाकर बैठ गया और उसे अपनी बांहों में ले कर किस करने लगा.

जैसे ही मैं उसकी दुकान में गया, वो अपने खिलौने ठीक से लगा रही थी, जिस वजह से मेरी नजर उसके पिछवाड़े पर पड़ी. मेरी दोस्ती फेसबुक पर एक लड़की से हुई। एक दिन मैंने उससे बूब्स दिखाने को कहा।प्रिय मित्रो, मैं बनारस के महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ का छात्र हूं।मैं आपको अपनी एक कामुक घटना बताना चाहता हूं क्योंकि मैंने इससे पहले कभी इस तरह की कोई रचना नहीं की और न ही किसी से इस तरह की बातें शेयर की हैं।उस वक्त में बी.

चुत का रस स्वाद में थोड़ा खारा और थोड़ा खट्टा था, विजय पूरे रस को पी गया.

वो बोली- ब्रा को खोल दे। फिर आराम से मालिश कर देना।मैंने दीदी की ब्रा के हुक को खोल दिया. घोड़ा लड़की की सेक्सी वीडियोमुझे अपना दिल बेकाबू होता दिख रहा था और मैं नैना के ख्यालों में उसके हिलते हुए चूचों और मचलती हुई चूत और मटकती हुई गांड में ही खो गया. सालगिरह माता पिता के लिए चाहता हैधीरे धीरे शीना का विरोध भी खत्म हो गया और वो अब जोर जोर से मादक सिसकारियां ले रही थी जो पूरे कमरे में गूंज रही थीं. मेरी बात सुनकर अनीषा मैडम एकदम से घबरा गई और बोली- क्या बक रहे हो? इधर ऐसा कुछ नहीं होता है.

मैं उसकी इस बात से बेहद खुश हो गई थी इसलिए मैं हंस कर बोली- ठीक है, इकबाल के रूम पर मिल.

कामुकता सेक्स स्टोरी के पिछले भागसेक्स की जरूरत थी मुझेमें आपने पढ़ा कि मेरा दिल मेरे कॉलेज में ऑफिस के एक लड़के पर आ गया. हॉट कज़िन की चुदाई कहानी के पिछले भागदोस्तों ने मेरी अन्तर्वासना जगा दीमें अब तक आपने पढ़ा था कि मैंने रात को अपनी बहन पूजा के शरीर पर कसी उसकी ब्रा की फोटो देख कर मुठ मार ली और उसके बाजू में आकर सो गया. वर्जिन बहन की सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे एक जवान लड़का अपनी सेक्सी बहन की जवानी की तरफ आकर्षित हुआ.

मैं बोला- पहले तुम पर तुम्हारी चुचियां दिखाने की उधारी चढ़ी हुई है, तुम अपनी बड़ी बड़ी चुचियां मुझे दिखाओ. मैंने सीधा उनके पास गया और बोला- दीदी, आज आप फिर से वही कर रहे हो?वो बोली- तो क्या करूं मैं यार? मेरी सारी फ्रेंड्स अपने बॉयफ्रेंड्स के साथ मजे करती हैं. सब बात होने के बाद रिट्ज अंत में मेरे गले लग कर मुझे धन्यवाद बोली और फिर वो मेरे साथ घर आ गयी.

सेक्सी ॲटम दाखवा

मैंने बोला- अरे चाची कैसी बात कर रही हो आप … आपकी तुलना तो प्रियंका तो क्या कोई भी कर नहीं सकता. मैंने कहा- मैं हां कहूँगा, तो चुद लेगी?वो बिन्दास बोली- हां बिल्कुल … उसके साथ मैंने पहले भी सब कुछ किया हुआ है. मैं गांव में भी कम ही घर से बाहर निकलता था, शाम का समय छत पर ही बिताता था.

नवीन बोला- देख अंजलि मेरे पास पैसा है … मैं तेरी और तेरी बेटी का खर्चा उठाऊंगा, तू मेरे साथ आ जा.

मैं तो देखकर खुश हुआ कि चलो कोई तो लड़की इस बैच में है, अब पढ़ने में मजा आएगा.

अब मैं सोच रहा था कि किसी तरह मामी को पूरी गर्म कर दूं और वो खुद ही मेरे लंड को पकड़ ले. आप इसी सीट में अड्जैस्ट करके सफर कर लीजिए।अब मेरी नींद खुल चुकी थी।टीटी चला गया था।मैं अपनी सीट में बैठ गया और उससे बोला- आप ठीक से बैठ जाओ।फिर हमने थोड़ी देर बात की. लड़कियों की चूचीइसके बाद विजय ने अपने लंड पर आइसक्रीम लगाई और सरिता भाभी के मुँह के पास अपना लंड रख दिया.

सत्यम ने मुझे अपनी तरफ मुँह करके गोद में उठा लिया और मेरी बुर में अपना लंड सैट करके मुझे दीवार के सहारे लगा दिया. आपा बोली- तेरे जीजाजी ने अभी तो चूत के दर्शन भी नहीं किए, सिर्फ मम्मे ही दबाए थे. उस पर चढ़ने से पहले मैंने डाइनिंग टेबल से आइसक्रीम की कोन उठा ली और उसकी चुत पर लगा दी.

उसके दोनों स्तन मैंने अपने हाथों में भर लिए और जोर जोर से दबाने लगा. उसका नमकीन स्वाद चखने के बाद मैंने एक बार फिर से अपने लिंगदेव को तैयार किया और चूत के बीच में रखकर एक बार फिर जोर से एक झटका मारा.

मैंने कहा- ये आप कैसे कह सकती हो?भाभी बोलीं- देखोगे?मैंने कहा- हां दिखाओ.

अब मैं जेठजी के लंड को अपने हाथों में आगे पीछे करने लगी और मुँह से सुपारे को चूसने लगी. क्योंकि हॉस्टल में रोका-टोकी बहुत होने के कारण इतनी आज़ादी नहीं है इसलिए फ्लैट लेना ज्यादा बेहतर लगा. अब पीयूष बार बार शीना से टकरा जाता और शीना की गांड और चूचों को दबा देता.

चोदा चोदी वाला चोदा चोदी शाम को बीवी को लेने सेंटर गए, वापस आते हुए रास्ते में तेज बारिश हो रही थी सो हम सब पूरी तरह से भीग गए थे. यह दुविधा कैसे दूर हुई?दोस्तो, आप रोहन और उसकी मॉम के बीच सेक्स सम्बंधों पर आधारित सेक्स कहानी को पढ़ रहे हैं.

तो मैं समझ गया कि इसका खुद से मन है कि ये मुझसे चुदवा ले; फालतू के नखरे कर रही थी. वो मुझे फिर से किस करने लगा और खुद ही ज़ोर-ज़ोर से मेरी चूचियों को दबा रहा था. यदि मैं नहीं हटाती तो शायद वो मेरी चूचियों को ही मसलना शुरू कर देता.

डॉग लड़की सेक्सी पिक्चर

वो मचलने लगी, बोली- राज, मेरी चूत को खा जा! ये तेरे लिए कब से तड़प रही थी. ये सब बोलते हुए मैंने माधवी की आंखों में बहुत प्यार से देखा और एक गुलाब का फूल निकाल कर उनके सामने घुटनों पर बैठ गया. बस थोड़ी देर और चूत में उंगलिया कीं तो उसका शरीर अकड़ने लगा और वो पागल सी होने लगी।उसकी चूत गीली हो चुकी थी.

मुझे लंड अन्दर बाहर करने से जो आवाज आ रही थी उससे सेक्स चढ़ता जा रहा था. उन दोनों का आपस में ये तय था कि वो दोनों सिर्फ़ मजे करेंगे, फिर अपनी अपनी लाइफ़ में आगे निकल जाएंगे.

तभी उसने कहा- भैया, आप चाची की ब्रा ना लिया करें, इसी लिए मैं आपके लिए अपनी ब्रा पैंटी बाथरूम में छोड़ देती हूं, फिर भी आप मम्मी की ब्रा लेकर कर रहे हो.

नवीन के जाने बाद नवीन का घर, पैसा सब बैंक वालों ने ले लिया था क्योंकि नवीन ने काफी कर्जा ले रखा था. मैं उसके बगल में लेट कर उसको होंठों को चूमने लगी और वो भी मेरे साथ देने लगा. वो अपने हाथ नीचे करके मेरे दोनों दूध दबाने लगा और मेरी पीठ पर चूमने लगा.

तीसरे अंकल के झड़ने के बाद ओमी अंकल फिर से मेरे कमरे में आ गए और मेरी चुत में लंड पेल कर मेरी प्यासी चुत की चुदाई करने लगे. मैंने फिर से पूछा- प्लीज बताओ ना … कैसा लगा तुमको?उसने कहा- अच्छा लगा. दोनों का गोरा बदन, रसीले स्तन, हल्के हल्के बालों से छिपी गुलाबी चूत … आह आह करते हुए मैं झड़ गया और मेरी आंखें खुल गईं.

कुछ ही पलों में मैंने वीर्य का फ़व्वारा सुहैला के मुँह में छोड़ दिया.

एक्स एक्स बीएफ कॉम: उसकी पैंटी में से इतनी अच्छी खुशबू आ रही थी कि ऐसा लग रहा था मैं उसकी चुत को ही सूंघ रहा हूँ. आगे से रमेश का लंड चूत फाड़ रहा था, पीछे से दीवार, मेरी गांड में चांटे मार रही थी.

सेक्सी हॉट लड़की की चुदाई कहानी में पढ़ें कि मेरे पड़ोस में एक नया परिवार आया. थोड़ी देर लड़की की गांड में उंगली को अन्दर बाहर करने के बाद में बाहर निकाली और मुँह में लेकर चाटने लगा. मैं चाची के घर पर ही बड़े टीवी पर क्रिकेट मैच और फिल्में देखना पसंद करता था.

प्रिया के पास उसका नम्बर था, तो मैंने प्रिया से नम्बर लेकर उसको फोन कर दिया.

रिट्ज भी तो आपकी ही बेटी है … तो वो भी स्मार्ट होगी ही … लेकिन अभी मेरे लिए आप मेरी ड्रीम गर्ल हो. शेखर अपनी बीवी की चुत को रात में आते ही और सुबह जाने से पहले धकापेल चोदने लगा था. मैं- क्या हुआ सेक्सी?कोमल- बदमाशी आप कर रहे हो और मुझसे पूछ रहे हो कि क्या हुआ!कोमल की साड़ी तो पहले ही चूमाचाटी में साइड में हो चुकी थी.