बीएफ हिंदी में वीडियो में दिखाओ

छवि स्रोत,रोमांटिक गर्ल

तस्वीर का शीर्षक ,

गधों की बीएफ: बीएफ हिंदी में वीडियो में दिखाओ, मैंने उसे गिफ्ट देकर बधाई देकर आगे बढ़ना चाहा … पर खुशी ने मुझे वहीं स्टेज में गले से लगा लिया.

फुल बीपी पिक्चर

मेरा नाम सुशांत है और मैं उत्तर प्रदेश का रहने वाला एक 25 साल का सामान्य सा दिखने वाला नौजवान हूं. जैकलिन फर्नांडीस एक्स एक्स एक्सफिर मैंने उनके लंड को अपनी चूत के छेद पर रखा और नीचे बैठने लगी तो मेरी जान निकल गयी.

उधर संजय का लंड चूस रही गीत ने हमें देखा तो एक आँख दबा कर लौड़े को चाटती हुई रुक कर बोली- इस साली को तो एक साथ दोनों मिल कर चोदना. क्स्क्स्क्स्क्समैंने आह करते हुए कहा- आह श्यामू … ये क्या कर रहा है?वो बोला- मालकिन अपनी जीभ से आपके ज्वालामुखी के मुँह की मालिश कर रहा हूँ.

अब आगे भाभी की बुर की कहानी:जब भाभी जी ने मुझे देखा तब मेरी हालत एक कुंवारे जवान लड़के जैसी ही थी.बीएफ हिंदी में वीडियो में दिखाओ: जैसे ही मैं पार्क में अंदर पहुँचा तो देखा कि वहाँ दो तीन औरतें और दो बुजुर्ग आदमियों ने एक लड़का और लड़की को पकड़ रखा था और उन्हें जोर जोर से डांटने लग रहे थे.

अंदर कैपरी में से उसकी सुडौल जांघों के बीच उसकी चूत के दोनों बाहरी मोटे मोटे भगोष्ठ अलग से दिखाई दे रहे थे.मेरी साइड पर खड़े एक बूढ़े की कोहनी मेरे पेट के साथ छू रही थी, और वो बड़ा ही अनजान बनने का नाटक करते हुए मेरे बूब्स को छूने की कोशिश कर रहा था.

रियल डायमंड - बीएफ हिंदी में वीडियो में दिखाओ

मेरा लगभग आधा ही लंड गया था कि वो कराहते हुए कहने लगी- थोड़ा धीरे करो जान.इस डिल्डो में डबल साइड लंड था जिसे लेस्बियन सेक्स के टाइम पर लड़कियां इस्तेमाल किया करती हैं.

लेकिन जो मैंने अपने अनुभव और अपनी बड़ी औरतों से सीखा, वह यही था कि चूत को लंड की हमेशा जरूरत रहती है. बीएफ हिंदी में वीडियो में दिखाओ उसकी चूत की गर्मी का अहसास मुझे एक अलग तरह के आनन्द की अनुभूति प्रदान करवा रहा था.

”ना … बाबा … ना … आप तो रहने ही दो … अब दुबारा मैं आपकी बातों में अब नहीं आने वाली.

बीएफ हिंदी में वीडियो में दिखाओ?

जब मैं भाभी की चूत पर अपनी चूत रगड़ने लगी तो भाभी बोली- रानी, आज तो बिना कुछ अंदर जाए पूरा मज़ा नहीं आएगा, रुको, मैं अभी आती हूँ. मोहन भी मेरी चुत में ज़्यादा वक्त टिक नहीं पाया और अगले एक मिनट में ही वो मेरी चूत को अपने माल से भर कर मुझसे उतर गया. मजेदार चुदाई स्टोरी में आपने पढ़ा कि मैं अपनी भाभी के भाई से चुद रही थी और अपनी सेक्स विडियो भी बना रही थी भाभी को दिखाने लिए.

हम लोग अभी यही सब बातें कर ही रहे थे कि तभी रूम में सिस्टर आ गयी और उसने कहा कि अब रात को आप आराम करो … कोई दवाई देनी बाकी नहीं है. आप लोगों से मुझे इतना प्यार मिल रहा है, जितना मैंने कभी सोची भी नहीं थी. मैं- वही वीणा न … जो बजाई जाती है!वो खिलखिला पड़ी- बजाना आना जरूरी होता है सा.

कविता के बारे में तो मैं जानती थी … इसलिए मुझे उसे लेकर कोई खास हैरानी नहीं थी. मैंने बोला- साली रण्डी अभी कहां!उसे नीचे फर्श पर लिटा कर मैं उसके उपर आ गया और उसके बदन को फिर से चूसने लगा. मेरी तो आवाज ही नहीं निकल रही थी।वो बहुत ही धीरे धीरे अंदर बाहर कर रहे थे ताकि मुझे तकलीफ न हो। वो समझ चुके थे कि मेरी गांड ज्यादा नहीं चुदी थी और उनका मोटा लंबा लंड मेरे लिए बहुत बड़ा था।बहुत देर तक उन्होंने छेद को ढीला किया.

मैं- क्यों … अच्छा अच्छा … वो कपड़ों की वजह से मना कर रही हो, पर यहां रोड पर कौन देख रहा है … सब लोग तो छुपे बैठे हैं. एक और कामुक और सिसकारियां भरती हुई गरम कहानी के साथ आपके सामने आऊंगा.

गांड में लंड जाते ही नेहा बोली- उफ्फ… मुझे भी गीत की तरह चोदोगे क्या कमीनो?मैंने नेहा को किस करते हुए और उसकी चूत में झटका लगाते हुए कहा-क्यों साली तू कौन सी गीत से कम है? ले ले मज़े आज अपनी जवानी के बेबी.

मेरे हाथ उसकी चुचियों को मसलने में लगे हुए थे और मेरे होंठ उसके होंठों का रस पीने में लगे हुए थे.

जब बुलाओगे चली आऊँगी।रमेश- अच्छा इतना पसंद आया मेरा लंड तुम्हें?रेहाना- बिल्कुल।उस रात रमेश ने रेहाना को किसी गली की कुतिया की तरह रात 3 बजे तक चोदा और अलग अलग पोजीशन में उसकी गांड मारी. आँटी ने अपनी कोहनियों को थोड़ा मोड़ा और छाती को थोड़ा बेड से ऊपर उठा लिया. उसने कहा- वो कैसे?मैंने उससे कहा- जैसे तुम्हारी चूचियों को…वो- क्या … क्या नाम दोगे मेरी चूचियों को!मैं- उन्हें ना … मैं तुम्हारी दोनों बांहें कहूँगा.

मैं ऊपर से नंगी हो जाती और कंपाउंडर पट्टी बदल देता।एक दिन कंपाउंडर कह रहा था इसके स्तन बहुत गोरे हैं. मैंने उसे एक दिन पूरा यही समझाया कि हम दोनों नाम का रिश्ता था, वो मेरी गर्लफ्रेंड सिर्फ नाम भर के लिए थी. जब वो उठी और कपड़े बदलने लगी तो मुझे उसकी पैंटी की एक झलक मिल गयी थी.

दोपहर के तीन बजे मेरे बाजू वाले खाली बेड पर एक नौजवान मरीज की आमद हुई.

मैंने सलोनी भाभी से विनती की- भाभी, आप मुझे अपनी चुत चूसने दो, आपको मजा आएगा. उसने तो मुझे मज़ाक में पकड़ा था, लेकिन ना जाने क्यों उसके स्पर्श से मेरे शरीर में एक करंट दौड़ गया. फिर जैसे ही मैंने वापस उंगली करना चाही, तो मैंने देखा कि उसकी जांघों के आसपास कुछ चिपचिपा सा हो गया है.

मैंने घर जाने के लिए स्कूटी को स्टार्ट किया ही था कि तब तक वो बोल पड़ी- अरे शायरा ये कौन है … सुबह भी तुम्हें छोड़ने आया था?शायरा- अरे ये वो …शायरा ने‌ बस इतना ही कहा था कि वो लड़की बीच में ही बोल पड़ी- और कौन हो हो सकता है … तुम भी ना अजीब सवाल पूछती हो?औरत- तुम्हारा हज़्बेंड?वो लड़की- और नहीं तो कौन हो सकता है … बाकी‌ किसी‌ को ये घास भी डालती है … तुम भी ना?उस औरत ने मुझे ऊपर से नीचे घूरकर देखा. मैंने भी दीदी को वहीं पलटा और उसकी टांगों को अपने कंधे पर रखवा लिया, दीदी की फुद्दी की बाहरी दीवारों पर मैंने लौड़े को रगड़ा. आँटी ने ऐसे ही दो तीन बार किया तो मैं बोला- आँटी, आपको तो कमाल का तरीका पता है, कभी बसन्त अंकल का भी ऐसे ही दबाया था क्या?आँटी बोली- एक बार किया था, परन्तु इतना छोटा था कि भींचने से बाहर ही निकल गया.

भाभी दर्द दबाते हुए बोलीं- आह मेरी जान … तुमने तो मुझे मार ही दिया.

आदमी- किराये पर दोगे?मैंने कहा- सर, आप अंदर आ जाएं, आराम से बैठकर बातें करते हैं. अब आगे:मैं शायरा के होंठों को तो चूस रहा था, पर मेरी हिम्मत नहीं हो रही थी कि मैं अपनी जीभ उसके मुँह में डाल दूँ.

बीएफ हिंदी में वीडियो में दिखाओ मैं स्क्रॉल करता गया और मुझे एक से बढ़कर एक सेक्सी वेबकैम मॉडल मस्त कामुक पोज में चुदासी हुई नजर आईं. अब वो बोल रही थी- फ़ाड़ दे मेरी चूत … और तेज़ तेज़ … आज मुझे जी भर के चोद दे!मैं बोला- आज भी और कल भी।वो बोली- हां, अब तो मेरी चूत में तेरा नाम लिखा है.

बीएफ हिंदी में वीडियो में दिखाओ वो- वो क्यों?मैं- अब बस में तो एक दूसरे से थोड़ा बहुत छू भी जाते हैं, क्या पता तुम कब मेरा गाल सुजा दो. गीत मेरी बात सुन कर बोली- अरे मुझे नहीं चाहिए दो दो, अब थोड़ी देर पहले कौन सा एक लिया था, नेहा को चाहिएं दो दो, इसे ही दे दो। मेरा तो अंग अंग फट गया है.

फिर जैसे ही मैंने अपनी आंखें खोलीं, छोटी चाची मेरे होंठों पर किस कर रही थीं.

फोटो को गोरा कैसे करें

मेरे लिए सब नया था, पहली बार किसी औरत से मुझे चरम सुख की प्राप्ति हुई थी और अब मैं पहली बार किसी औरत को चरम सुख देने की सोच रही थी. अब्बू अम्मी के चले जाने के बाद जायदाद को लेकर परिवार वालों के साथ हमारा बहुत विवाद हुआ. उसकी चूचियां तो इतनी टाइट और कसी हुई लग रही थीं जैसे कि उसके हज़्बेंड ने उनको कभी हाथ ही ना लगाया हो.

शुरू में तो ज्यादा बात नहीं होती थी लेकिन फिर धीरे धीरे उसके साथ देर तक बात होने लगी. मुझे उस वक्त पता नहीं था कि पूरा मज़ा कितना होता है, परंतु मुझे बहुत मजा आया. मैं समझ नहीं सका कि भाभी ने क्या कहा, तो मैंने पूछा कि आपने क्या कहा भाभी … मैं सुन नहीं पाया?भाभी बोलीं- क्या आप जैसे भाभी का सर दबाते हो, वैसे ही मेरा भी दबा दोगे.

मैंने भी मन ही मन में सोच लिया था कि अगर शमा शाही सर से चुद गई, तो मैं भी उसे अपने जॉनी भाई से मिलवा दूंगी.

उन्होंने कहा- बच्चे जब से बड़े हो गए हैं और अपने दुनिया में व्यस्त हो गए हैं. अन्तर्वासना में एक सेक्स कहानी ऐसी थी, जिसमें मेरे जैसी ही लंड से वंचित लड़की, अपनी सहेली के आशिक के लंड से चुद जाती है. उस इंडियन विलेज भाभी ने मुझे सब कुछ बताया- मेरे जेठ की शादी नहीं हुई थी.

अगर तुम मेरी किस्मत में होते तो मेरी जिंदगी संवर जाती और मैं तुम्हारे लंबे लण्ड से हमेशा चुद कर निहाल हो जाती!विजय मुझसे बोला- शालू, इस लण्ड पर मेरी शादी से पहले मैंने कई बार तुम्हारे नाम की मुट्ठ मारी है. गीत बोली- 1 ब्वॉय, 2 गर्ल चलेगा क्या?मैंने कहा- क्यों नहीं, जरूर चलेगा. मैंने गीतिका से पूछा- बताइए आपको कहाँ दर्द है?गीतिका ने मेरी ओर वासना भरी निगाहों से देखा और पूछने लगी- तुम किस किस चीज का इलाज कर सकते हो?मैंने गीतिका की तनी हुई भारी चूचियों को देखते हुए कहा- मैं आपकी सेवा में हाजिर हूँ, आप को जो भी इलाज करवाना हो वही इलाज कर दूंगा.

फिर भैया की बहन की शादी वाले दिन मैं सुबह से लेकर पूरी रात उन्हीं के घर रहा था. मैंने उसे उठा कर पलंग पर लिटा दिया जहां दीपक बेसुध पड़ा था।मैंने भाभीजान की दोनों टांगों को फैला कर चूत के दर्शन किए.

लेकिन आपको अगर किसी बात की जरूरत हो, तो घंटी बजा देना, मैं आ जाऊंगी. जगह जगह से वहशीपने से काटने और चूसने के बाद भाभी को मैंने घोड़ी बनाया और जबरदस्त तरीके से पीछे से चूत में लण्ड ठोक दिया. मुझे पता था कि वो कोरियर वाला ऐसे तो मुझे ये कोरियर देगा नहीं … इसलिए अनायास ही मेरे मुँह से ये निकल गया था.

मैरुन कलर की पैन्टी में दादी के गोरे गोरे चूतड़ देखकर मेरा दिमाग खराब हो गया.

निष्ठा के कामकेंद्र का मेनस्विच ऑन हो चुका था और अब उसकी रग रग में प्रचण्ड वासना की उत्तेजना खून के साथ बह निकली थी. मैंने उसकी जांघों से उसे पकड़ा और अपने लंड का टोपा उसकी चूत पर लगा दिया. मैंने उनसे पूछा- क्यों, चाचा में क्या कमी है?चाची एकदम से झल्लाने लगीं- तुम समझते नहीं हो.

मुझे बैठे हुए ये सब करने में काफी परेशानी हो रही थी और उनका दूध पूरा बाहर भी नहीं आ रहा था. बीच बीच में वो कमरे में आती और एक पैग बना कर दो घूंट पीकर चली जाती.

हथेलियों में चादर को पूरी ताकत से भर लिया और अपना पूरा बदन कड़क बना लिया. ये देख कर मैंने देर ना करते हुए लंड एक ही ज़ोर के झटके में चुत की जड़ तक अन्दर पेल दिया. रमेश रिया से बोला- देख ले, अब से तू सिर्फ एक रंडी है और तेरा काम मेरी सेवा करना है.

श्री राम जानकी बैठे हैं मेरे सीने में

अगर आपरेशन नहीं कराया तो भविष्य में समस्या बढ़ सकती है, स्तन कैंसर हो सकता है।मम्मी के भी बात समझ में आ गई और आपरेशन कराने के लिए तैयार हो गयी।लेकिन मेरा मन आपरेशन के लिए बिल्कुल भी नहीं था.

इंडियन हॉट सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरे साले की बेटी ने सेटिंग करके अपने पति के सामने मुझसे अपनी चुदाई करवायी. वो- हम्म … खैर छोड़ो … ये बताओ तुम करते क्या हो?मैं- मैं एक कंपनी में सुपरवाइजर हूँ. उसके मोटापे को देखकर मैं उसमें रूचि नहीं ले रहा था लेकिन फिर उसके पीछे पीछे एक सेक्सी भाभी भी दाखिल हुई.

इसीलिए मैं नहीं चाहता कि उनकी पहचान को किसी और के सामने मेरे द्वारा बताया जाए. मैंने अपने फ्रेंड से कहा- यार … मुझको तुम इस बेदर्दी से छुड़वा दो ना!तो वो बोली- तुम दोनों का मैटर तुम ही जानो … मैं तो चली पढ़ने. हिंदी में ब्लू पिक्चर देखना हैरिया- कोई बात नहीं डैड … आपकी बेटी है न? जितना मन करे उतना मेरी गांड मारो। माँ की कमी मैं पूरी करूँगी।रिया- डैड, अपनी बेटी रिया को चोद कर कैसा लगा?रमेश- यह भी कोई पूछने वाली बात है? तेरे जैसी बेटी भगवान सबको दे।उस रोज रमेश ने चार बार रिया को अपने मनचाहे पोज में चोदा.

उन्होंने अपने कपड़े पहने और मेरे पास आकर मुझे किस करके बोले- मैं थोड़ी देर में आता हूं. मेरा स्वभाव भी बहुत हंसमुख है और मैं सभी से प्यार से बिना किसी एटीट्यूड या नखरे के बात करती हूँ.

विजय ने अपने घर पर कैसे मेरी गांड का उद्घाटन किया और कैसे मेरी गांड मारी?उसकी कहानी आप सबको अगली बार विस्तार से बताऊंगी. ऐसे ही मैंने भी अपने टाइमपास का तरीका अपनी एक फीमेल फ्रेंड के जरिए ढूंढ ही लिया था।मेरी फ्रेंड ने मुझे अंतर्वासना के बारे में बताया था। उसने मुझे बताया कि अंतर्वासना एक बहुत अच्छी साइट है जहां आप अपना अकेलापन दूर कर सकते हो. तब उन्होंने मेरी गांड को फैला कर उसके छेद पर अपने लंड को रखा और बोले- मेरी जान, अब तेरी गांड की बारी है.

जब मैंने भाभी के हाथ को अपने हाथ में पकड़ कर पूछा तो बोली- राज, उस दिन जब मैं बिन्दू की पिटाई कर रही थी तो मेरी मम्मी भी थी. तभी लेडी बोली- हाँ हमने देखा है और हमने पुलिस को बुलाया है।मैंने कहा- ठीक है, आप भी थाने चलो और अपने नाम से रिपोर्ट लिखवाओ और फिर कोर्ट में भी गवाही देना. और जिस तरह से तुमने मेरी सिस्कारियां निकाली हैं, उससे मुझे तो तुम्हारी बातों पर विश्वास नहीं होता कि तुमने किसी से सेक्स नहीं किया है.

मैं बोली- हां तो साफ साफ बोलो ना … क्या बोलना है … जब से घुमा रहे हो.

मेरे हाथ उसकी चुचियों को मसलने में लगे हुए थे और मेरे होंठ उसके होंठों का रस पीने में लगे हुए थे. मैं यह भी नहीं चाहता था कि इतनी शानदार हसीना हाथ से निकल जाए लेकिन उनके लिए उस सोसाइटी में दस हजार में वह सेट बहुत ही ज्यादा सस्ता था.

इस इंडियन हॉट सेक्स कहानी कहानी में आगे मैं अपनी भतीजी की मौसी सास वीणा की चुदाई की कहानी लिखूंगा. अब मैंने बड़े इत्मीनान से उसकी चूत के बाहरी होंठ अपनी तर्जनी उंगली और अंगूठे से चौड़ी खोल कर चूत के रस से अपना अंगूठा गीला किया और चूत की मणि या भगान्कुर को अपने अंगूठे से छेड़ने लगा. एक के बाद एक चूत में इतना पानी निकलता है कि मन करता है चुदवाती ही रहूं.

मैं तो काफी देर तक साली जी की कुंवारी चूत का सौन्दर्य निहारता रह गया. ये बोलकर मेघा ने वेबकैम को एडजस्ट कर दिया ताकि उसकी चूत के साथ रखा डिल्डो और उसके चेहरे का निचले भाग तक का हिस्सा फ्रेम में रह सके. आप लोगों का प्यार ही मुझे सेक्स कहानी लिखने को प्रोत्साहित करता है.

बीएफ हिंदी में वीडियो में दिखाओ आप जिस भी औरत को चोदना चाहते हैं तो पूरे दिल से और शिद्दत से उसको प्यार कीजिये और उसकी चुदाई कीजिये मेरे विजय के जैसे!ताकि औरत तड़प उठे दुबारा आपसे मिलने के लिए!और मेरी प्यारी बहनों और सभी शादीशुदा औरतों से कहना चाहती हूं: अगर घर का खाना बदबू मारने लग जाए तो बाहर का ताजा खाना भी कभी-कभी खा लेना चाहिए. मैं- हैलो मेघा, कैसी हो?मेघा- मैं बिल्कुल अच्छी हूं बेबी, लेकिन मेरी चुदासी चूत मुझे इतनी रात को भी सोने नहीं दे रही है.

हिंदी अंग्रेजी सेक्सी वीडियो

गीत की गांड में लंड घुसा होने की वजह से उसकी चूत में भी मज़ा ज्यादा आता क्योंकि जब गांड की मांसपेशियाँ कसावट में हों तो चूत में मज़ा आना स्वाभाविक ही है. मैंने कहा- खैर … आप जो भी बोल रही हो, सही है कि किसी अजनबी से कुछ भी बोल लो, किसी भी तरह की बात कर लो … कोई टेंशन भी नहीं है. अबकी बार हम एक दूसरे से ज्यादा खुल गए थे तो हमारे बीच में जो सेक्स हुआ वह भी बहुत मजेदार था.

लड़के तो क्या बूढ़े भी मुझ पर मरते थे, जब मैं बाहर जाती थी तो लोग आहें भरते थे. एक दो बार मैंने उसकी पैंटी की ओर देखा और फिर अपनी चेयर पर आकर बैठ गया. सेक्सी मुस्लिममेरा लगभग आधा ही लंड गया था कि वो कराहते हुए कहने लगी- थोड़ा धीरे करो जान.

साथ ही मेरे स्तनों, जांघों, कमर और जिस जिस जगह उसका हाथ मेरे बदन तक जाता, उन्हें सहलाने लगी.

भाभी की बात सुनकर मैंने भी अपने घर पर दूर के दोस्त की शादी का बहाना कर दिया और घर से निकल गया. अभी जो लोग फ्लैट खाली करके गए थे वे दो बुजुर्ग पति पत्नी थे, जो रिटायरमेंट के बाद अपने शहर चले गए थे.

फिर प्रमिला ने एकता से पूछा- मैं ऊपर चढ़ूं या तुम चढ़ोगी?एकता ने इशारे से प्रमिला को कहा कि तुम करो स्टार्ट. आप बुरा तो नहीं मानियेगा!भाभी ने मेरे फूलते लंड की तरफ देखते हुए कहा कि क्या बोलिए ना. मैं अपने काफ़ी देर से सख्त अकड़न से दुखी होते लंड को सहलाता हुआ रानी के लौटने की बाट देखने लगा.

मैंने उसकी जंघा को सहलाया, उसकी पीठ सहलाई … और उसके कंधे पर चुंबन अंकित कर दिया.

मेरे बाहर आते वक्त दोनों चाचियों ने जोर का ठहाका लगाया और हंसने लगीं. मैंने उसके होंठों को चूमते हुए कहा- साली चिन्ता मत कर, मुझे मालूम है कि माल कहां गिराना है. मेरे नीचे खड़े खड़े ही पीछे से संजय ने गीत के दोनों चूतड़ों की दरार में गीत की गांड के ऊपर अपना लंड रख दिया जिसकी वजह से गीत भी थोड़ा अंदर से शायद किसी लहर या दर्द आने के इंतज़ार में एक तरह से रोमांचित सी हो गयी.

लड़की को चोदना हैतभी एकता ने अन्नू और डॉली को कहा कि अगर वो दोनों बुरा न मानें तो वो उनको कुछ फोटो दिखाना चाहती है. जांघों की मसाज करते करते मैं दादी की चूत की मसाज करने लगा, दादी को भी शायद अच्छा लग रहा था.

पुणे ब्लू फिल्म

कम रोशनी में भी मुझे दीपिका के 38 साइज़ के भारी भारी मम्में और उन मम्मों पर तने हुए तीखे निप्पल साफ साफ दिखाई दे रहे थे. बस फिर क्या था … कविता मेरी जुबान को मस्ती भरे अन्दाज में चूसते हुए खेलने लगी और मेरे स्तनों को मसलने लगीमुझे ऐसा नहीं लग रहा था कि कोई औरत मेरे साथ सेक्स कर रही है, बल्कि कोई मर्द ही मेरे साथ मस्ती कर रहा है. मेरे धक्के अब इतने तेज़ हो गए थे कि सलोनी भाभी की कमर, जो बेड के किनारे से बाहर थी, वो बेड के ऊपर जा चुकी थी.

तो मैंने भी अपने हाथ पीछे ले जाकर अपने चूतड़ों को फैला दिया और अपनी गांड का छेद धीरू अंकल के सामने नुमाया कर दिया. मैंने पूछा- क्या आपको ये पोज पसंद नहीं?भाभी- मुझे तो यह बहुत पसंद है, इससे मैं मस्त हो जाती हूँ. वो बोली- अब मुझे उम्मीद है कि अब तुम सीधे ही अपनी आंटी की गांड नहीं चोदेगे और पहले उसकी चूत में लंड दोगे.

फिर मैंने उसकी मोटी सास के बारे में भी बताया कि कैसे उसने बात आगे नहीं बढ़ने दी. बाकी दिनों तो मैं उसे देखते ही छुप जाता था या फिर किसी दूसरे रास्ते वहां से निकल‌ जाता था … मगर आज मैं छुपा नहीं, बल्कि उसके सामने ही रोजाना की तरह घर के लिए पैदल चल पड़ा. उसने मेरे लंड पर पास में रखी बजाज आलमंड आयल से मालिश की, तो लंड चुत में घुसने के लिए बेकरार हो उठा.

इधर मैं आपको बता दूं कि माउंट आबू जाने के लिए रात के समय में निजी टैक्सी के अलावा कुछ नहीं मिलता है. मैं भी कुछ सोच कर चुप हो गया और थोड़ी देर बाद मैंने भी अपनी बांहें नैना की पीठ के इर्द-गिर्द डाल दीं.

अगर उसका चेहरा थोड़ा खूबसूरत होता, तो भगवान कसम उसे किसी हाल में नहीं छोड़ता.

उधर वो अपना काम ख़त्म करके समय से आ गई और बोली कि कहां चलना है बोलो?मैंने कहा कि कहीं और चलते हैं. सेसीवीडीयोमाना कि कमरा बंद था लेकिन कोई भी यदि कमरे के बाहर होता तो वह सब कुछ सुन सकता था. सहेली की शायरीअगर मेरा एहसान मान कर चुकाना ही चाहती है तो विजय का लण्ड हमेशा खाती रहना. रोहिणी जैसे ही बाहर निकलने को हुई वैसे ही उसकी बहु और मां विमला टिफिन लेकर आ गईं.

आदमी- नहीं, आप खड़े खड़े ही बताएं, देना है या नहीं?मैंने फिर कहा- सर आप अंदर तो आइए?आदमी- नहीं, पहले आप मकान दिखाओ.

मैंने कभी दीवार के साथ खड़ी करके, कभी अपने ऊपर चढ़ा कर, कभी उसे करवट से लिटा कर, एक टांग को अपने कंधे पर रखकर और भी जितने भी संभोग के आसन मुझे आते थे, मैंने गीतिका को पूरी रात चोद कर पूरा संतुष्ट कर दिया और फिर हम दोनों नंगे ही सुबह 9 बजे तक सोते रहे. मैं कभी उनको देखती तो कभी अपनी आंखें बंद कर लेती।फिर धीरे-धीरे करके उन्होंने पूरा लंड मेरी चूत में डाल दिया।लंड को चूत में घुसाकर उन्होंने मेरे पूरे जिस्म को अपने आगोश में ले लिया।वे मेरे पूरे जिस्म पर अपने दोनों हाथ फिराने लगे। कभी मेरे बूब्स को दबाते तो कभी मेरी जांघों को।वो कभी मेरे होंठों को अपने होंठों में लेकर चूसते और लंड को चूत में घुमाने लगते. मैंने लड़की से पूछा- तुम्हारी उम्र कितनी है?लड़की बोली- 19 साल!फिर मैंने लड़के से पूछा- तुम्हारी उम्र कितनी है?लड़का बोला- मेरी भी 19 साल है.

ओह्ह्ह … क्या जादू था उसकी जुबान में … जुबान का स्पर्श होते ही ऐसे लगा कि मैं तीनों लोकों में भ्रमण करने लगी. वे पूरी तरह से संतुष्ट थी, बोली- राज! तुम्हारे अंकल को गुजरे 5 वर्ष हो गए हैं और मुझे नहीं पता मुझे चुदवाये कितने साल हो गए, तुमने तो आज दुबारा से मेरी जिंदगी में बहार ला दी, सच में आज वर्षों बाद जीवन में दोबारा इस चीज का आनन्द आया है. मैं- मैडम, मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि आप अगर थोड़ा खुलकर बतायेंगी तो मैं आपको ऐसी पैंटी दिखाऊंगा कि आप ही नहीं बल्कि आपके हस्बैंड खुद ही आपको वह पैंटी पहनने के लिए कहेंगे.

सेक्स इंग्लिश वीडियो

मैंने देखा वो ब्रा और पैंटी में थीं, पर उन्हें नहीं पता था कि मैं पीछे से उन्हें देख रहा हूँ. हम दोनों को ही पता था कि यह लास्ट राउंड ही होगा तो शुरूआत भी ऐसे ही की थी. मैंने उसे घोड़ी बनाया और तेल लेकर उनकी गांड के छेद पर लगाया और थोड़ा सा तेल मैंने अपने लंड पर भी लगाया.

मेरी पिछली कहानी थीबेटे से चुदवा कर अपना यार बना लियाआज मैं आपको मेरे ही पहचान की एक जवान लड़की की कहानी बताऊंगी.

मेरा लंड उसकी चूत को चीरता हुआ अन्दर घुस गया।वो ‘अआह हाय … ऊई ईल्ल्ला ल्ल्ला अम्मी … मर गई’ चिल्लाने लगी और पैर पटकने लगी.

मेरे प्यारे दोस्तो, आप सभी को मेरा नमस्कार।मैं अंतर्वासना पर बहुत समय से कहानियां पढ़ रही हूं। इस सेक्स कहानी साइट के बारे में मैंने अपनी एक फीमेल फ्रेंड से जाना था।वह अंतर्वासना पर अपनी कहानियां लिखती है। यहां उसे कुछ बहुत अच्छे नेचर वाले मेल फ्रेंड्स भी मिले जिनके साथ वो कुछ नया कर सकती थी।उसने ही मुझे अंतर्वासना पर अपनी कहानियां लिखने के लिए प्रेरित किया. इस कम्पन से मेरी गांड में तरंग सी उठने लगी थी और मुझे बेहद मजा आने लगा था. चोदी चोदा भीइसके बाद मैंने उनकी मांसल जांघों से पैंटी निकाल दी और अपना मुँह उनकी चिकनी चूत पर रख दिया.

अगर कहीं दीदी देख लेती तो पता नहीं क्या होता!और उनका लिंग तनाव में उठा हुआ था वे तो रात को अंडरवियर बनियान में ही सोते हैं।दोस्तो, एक बार पता नहीं कैसे मेरे पूरे शरीर में खुजली की बीमारी हो गयी. भाभी बोली- अरे तुमने कल क्यों नहीं बताया? और फिर सुबह तुम नेहा के रूम में चले जाते, यह तो जल्दी उठ जाती है, आज ऐसे करना, मैं अपना रूम अंदर से लॉक नहीं करूंगी, तुम जब चाहो मेरा बाथरूम यूज़ कर लेना, अब तुम इस घर के सदस्य हो, तुम में और इन बच्चों में क्या अंतर है. शर्म के मारे शायरा तो अब कुछ बोल भी नहीं पा रही थी, इसलिए मैंने ही पहल की- अब भीग तो गए ही हैं, तो चलो घर ही चलते हैं.

उसका लंड बिल्कुल तन चुका था, जिसको देखकर मेरी चुत भी पनियाने लगी थी. और जानते हो, जब आज तुमने मुझे पीछे से पकड़ा था न … मैंने तुम्हारे लंड के साइज़ को फील किया था, मैं खुश हो गयी थी कि तुम्हारा लंड बड़ा मस्त है.

जब हम तैयार हो चुके थे, तब निशु और रोहन ने अपने लड़कियों वाले नाम बताए.

तू इसको किसी और को दे देना, किसी और की चूत मरवा देना, तेरा काफी सारा पैसा तो ऐसे ही वसूल हो जायेगा. कविता मेरे मुँह से निकलती हुई लार को चूस-चूस कर पीने लगी और मेरे मुँह से मुँह ऊपर उठा कर अपने मुँह की लार मेरे मुँह में गिराने लगी. मैंने अपना लंड गीत के मुंह से निकाला और घूम कर गीत के पीछे आ गया और उसके चूतड़ों को अपने दोनों हाथों से सहलाने लगा जिससे गीत भी और उतेजित होकर मुंह से सिसकारियां निकालने लगी.

सूट के गले के डिजाइन फोटो ठरकी डॉक्टर की कहानी में पढ़ें कि एक दिन मुझे मेरी चूची में दर्द महसूस हुआ. मुझे दर्द हो रहा था तो मैं चिल्लाने लगी।लेकिन वे नहीं रुके और तेज तेज धक्के लगाने लगे।मैं उनसे कहती रही- मरो नहीं … रुक जाइए! प्लीज स्टॉप … प्लीज स्टॉप।लेकिन वे नहीं रुके; उन्होंने सारा वीर्य मेरी चूत में निकाल दिया।इस बीच में मैं दो बार झड़ गई थी। मेरी तो जैसे जान ही निकल गई थी.

पति बोला- तो?अनीता- तो जब फूफाजी ये बात बुआजी को बताएंगे … तो तुम्हारी नामर्दी का भांडा फूट जाएगा. हॉट सेक्सी गर्ल की चुदाई कहानी में पढ़ें कि कैसे मेरे ऑफिस की लड़की ने अपनी चूत की प्यास बुझवाने के लिए मुझे अपने घर बुलाया. कुछ देर बाद मामी ठीक हुईं … तो हम दोनों वापस बाथरूम में जाकर साथ में नहाये.

एनिमल गर्ल सेक्सी

फॅक फॅक की आवाज़ के साथ पूरा कमरा हम दोनों की सिसकारियों से गूंज उठा था. उसकी चूचियों को पीते हुए रवि ने रिया की पैंटी को खींच दिया और उसे बेड पर झुका लिया. लगभग आधे घंटे बाद भाभी ने बेडरूम का दरवाजा खोला तो मैं अंदर चला गया.

मैंने कहा- मेरी जान आप चिंता मत करो, मैं बहुत प्यार से करूंगा और आपको इतना मजा दूंगा कि आप मुझसे चुत मरवाने की बजाए कहोगी कि पहले गांड में घुसाओ. मैंने भाभी की नाइटी को ऊपर उठाया और भाभी के मम्मों को बुरी तरह से मसलने लगा.

फिर उसकी मम्मी ने बोला- एग्जाम खत्म हो गए, तो तुम बैग लेकर कहां घूम रहे हो निलेश!मैंने बोला- पूजा की बुक्स वापस करनी थी आंटी, इसलिए बैग में ले आया हूँ.

यहां कोई भी ऐसा है क्या … जो कुछ और कर रहा है! या तुम्हारे पहचान वाला है. मैं इतनी सुंदर, सेक्सी और हॉट दिखती हूँ कि आस पड़ोस के सारे मर्द (जवान और बूढ़े) मुझे चोदने के लिए बेकरार हैं. वो तेरे को हर तरीके से संतुष्ट करता है … लेकिन तू उससे चुदी कब … तुम लोग मिले कब?प्रियंका- अरे वो मेरा यार नहीं है … मेरे जीजू हैं.

[emailprotected]भाभी की बुर की कहानी का अगला भाग:लॉकडाउन में मस्त पड़ोसन की चुदाई- 3. बस उस दिन जब घर आया तो मुझसे रुका ही न गया और मैं शशिकला भाभी की चूचियां याद करके दो बार मुठ मार चुका था. लंड को उसने रेहाना के मुंह के सामने कर दिया और रेहाना उसको मुंह में लेकर चूसने लगी.

और जिस तरह से तुमने मेरी सिस्कारियां निकाली हैं, उससे मुझे तो तुम्हारी बातों पर विश्वास नहीं होता कि तुमने किसी से सेक्स नहीं किया है.

बीएफ हिंदी में वीडियो में दिखाओ: इसलिए जब डॉली और अन्नू की ट्रेनिंग खत्म हुई तो वो सीधा भोपाल से मुंबई आ गयीं. यूं ही रास्ते में बातें होती रहीं और हम दोनों को घूमते हुए करीब 2 घंटे कब निकल गए, पता ही नहीं चला.

मैं कपड़ों की दुकान पर गयी और भाईजान से पूछा- किस तरह के कपड़े लूं?भाईजान बोले- जैसे तुझे पसंद हों वैसे ले ले. उधर सूरज मेरे लिए एक ऐसा लड़का ढूंढ रहा था जो मुझे तबियत से चोद सके. मादरचोद … ले … मेरी जवानी का रस … आह्ह … अपनी गांड में पी जा इस रस को … साली रांड … आह्ह … ले साली।ऐसे सिसकारते हुए संजय ने भी अपने लौड़े का पानी नेहा की गांड में छोड़ दिया.

भाभी बोली- इन दो दिनों में तुमने मेरी जितनी चुदाई की है, उतनी तो सारी उम्र में नहीं हुई.

कुछ देर बाद जब वो दोबारा लाइव आई तो उसने नयी जोड़ी कपड़े बदल लिये थे. पर नताशा का रूप लावण्य ऐसा था … मानो कई एक पुष्प ही पूरी बगिया की सुंदरता के लिए काफी हो. थोड़ी देर तक मैं ऐसे ही पड़े सोचता रहा कि लॉक डॉउन न होता, तो साली की चूत कभी न मिलती.