सुनीता की बीएफ

छवि स्रोत,मुझे छूट चाहिए

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी वीडियो दिखाइए जो: सुनीता की बीएफ, सेक्स वर्कर लाइफ स्टोरी में पढ़ें कि मैंने कालगर्ल को क्या क्या किया.

ब्लू फिल्म्स डेफिनिशन

तभी मैंने उनके बड़े बड़े मम्मों को पकड़ लिया और ज़ोर ज़ोर से दबाने लगा. इंडियन सेक्सी वीडियो बिहारीमैं पहली बार आपा को बुर्के के ऊपर से किस किए जा रहा था और उनके बूब्स दबा रहा था.

मैंने उस समय उससे कहा- कोई बात नहीं … मैं वेटिंग लिस्ट में हो जाता हूँ. सेक्सी फोटो काजोलफिर मैंने उसे डॉगी स्टायल में किया और उसकी चुत में अपना लंड एक ही बार में डाल दिया.

फिर वो चारों उठकर मेरे पास आ गए और सबने मुझे चारों तरफ से घेर लिया और मेरे जिस्म को छूने की कोशिश करने लगे.सुनीता की बीएफ: दस मिनट चुत चुसाई के बाद मैं ऊपर आकर उनके मम्मों के बीच लौड़ा डालकर बूब्स चोदने लगा.

कहानी के पिछले भागभतीजे की पत्नी की चूत सहलाईमें आपने पढ़ा कि मैं अपने भाई के घर में उसकी पुत्रवधू की चुदाई के इरादे से गया था.थोड़े समय के बाद … तक़रीबन रात के एक बजे मैंने रेनू के हाथ को अपने सीने के ऊपर महसूस किया.

हिंदी में ब्लू फिल्म सेक्सी दिखाइए - सुनीता की बीएफ

और गांड तो बिल्कुल भी नहीं मरवानी!तभी मेरे दिमाग में एक आईडिया आया.मैंने जैसे ही उसकी चुत को एकदम गीला सा अनुभव किया तो मैंने अपनी उंगली की रफ़्तार बढ़ा दी.

मैंने उस समय उससे कहा- कोई बात नहीं … मैं वेटिंग लिस्ट में हो जाता हूँ. सुनीता की बीएफ आपा मुझे बिल्कुल भी मना नहीं कर रही थी जैसे वह आज खुद ही चुदना चाहती थी.

भाभी की गतिविधियों से लग रहा था कि शायद भाभी पहले से ही लंड से खेलने की आदी थीं.

सुनीता की बीएफ?

मैंने बोला- सच बताओ?वो बोली- सेक्स तो नहीं किया पर एक बार चुत चटवाई है. गांड के लिए मैंने उससे कह दिया कि मैंने आज तक गांड नहीं मरवाई है तो मुझे गांड मरवाने में डर लग रहा है. अब आगे फैमिली ग्रुप सेक्स कहानी:अब मेरा पूरा लंड धीरे धीरे से उसकी चूत में अन्दर घुसने लगा और मैं जोर जोर से अपनी गांड हिला हिला कर झटके देने लगा.

उठते ही उन्होंने मुझे बेड पर सामने की ओर गिरा दिया यहां तक कि मुझे संभलने का मौका भी नहीं दिया. हर जगह उसके साथ काम करने वाले पुरुषों को जब पता चलता कि वह तलाक़शुदा है, तो लोग निशा को पटाने और यौन सम्बन्ध बनाने के लिए लालयित रहते. तभी आँटी ने कहा- बेटा, कहाँ जा रहा है?तो मैंने कहा- आँटी गेस्ट रूम में सोने!उन्होंने कहा- बेटा, मुझे अकेले सोने की आदत नहीं है.

और बात रही जसवंत और पंकज से सेक्स करने की … तो वो तो तुम जानते ही हो कि मैंने किन हालात में उनसे सेक्स किया था. अब उसकी सांसें भारी होने लगी थीं और चूचों में भारीपन उसके जिस्म में कठोरता ला रहे थे. उन्होंने मेरा कॉलर पकड़ा और मुझसे कहा- मैं तुझे सिर्फ 2 दिन का समय देता हूं, 2 दिन में अगर तूने मेरे पैसे नहीं दिए तो फिर देख मैं तेरे साथ क्या करता हूं.

मैंने अपना 7 इंच का लंड निकाला और छेद में सैट करके शॉट मारने की पोजीशन में आ गया. बाद में क्षिति ने मुझे बताया कि वह उन्हें जानती नहीं थी, बस ऐसे ही बातचीत कर रही थी.

घर के पास ही सेठ जी की धर्मशाला थी, वहीं पर महिला संगीत का कार्यक्रम था.

दूसरे ने कहा- अबे वो लौंडा है … क्या तुझे लौंडों में इंटरेस्ट है?वो बोला- अबे क्या लौंडा और क्या लौंडिया … साला लंड पेलने के लिए छेद चाहिए.

मैंने अपना अंडरवियर उतार दिया और मेरा 8 इंच का लंड उसकी नाक पर जा कर टिक गया. पर ठकुराईन की चूत की गहराई और चौड़ाई मैंने बढ़ा रखी थी, तो उसे दर्द नहीं हुआ. मैंने जैसे ही उसकी चुत को एकदम गीला सा अनुभव किया तो मैंने अपनी उंगली की रफ़्तार बढ़ा दी.

अब ऑफिस Xxx चुदाई कहानी के अगले भाग में मैं आपको अफ्रीकी लौड़ों से चुदाई की कहानी लिखूँगी. अपनी बीवी की चूत में अपना लंड आगे पीछे करते हुए मैंने उससे कहा- प्रियंका एक बात कहूँ!वो बोली- हां कहो. प्रिया शर्म से पानी पानी हो गई।फिर भी निशा बोली- हय रे … अब शर्माना क्यों? फिर से आ जाना … मेरा रूम तुम दोनों के लिए फ्री है.

रोज आते जाते वक्त हम एक दूसरे को देखते, तो भाभी मुझे देखकर मुस्कुरा देतीं.

कुल पांच मिनट में ससुर जी ने काम तमाम कर लिया और लंड लटका कर चले गए. संगीता मैम की हल्की दर्द भरी आह निकली, पर अब तक मेरा आधा लौड़ा उनकी चूत के अन्दर चला गया था. मैंने फिर से वही पोजीशन ली, उनकी टांगें अपने कंधों पर रखकर उनकी चूत में लंड चलाना शुरु कर दिया.

पहली बार किसी लड़के का यूं मुझे मेरे चेहरे पर छूना मुझे अजीब सा लगा. हम दोनों नंगे हो गए और मैंने आपा के जिस्म को चाटना और काटना शुरू कर दिया. भैया ने मुझसे कहा- मैं तुझे रूपए तो दे दूंगा मगर मुझे वापसी में 12 हजार रूपए चाहियें.

उनकी चूत में से फच फच की … और मुँह से आह यह उह ओह की आवाज आ रही थी.

इनकी ये चुदाई काफी बेहतर थी!मैं- वीर्य में गाड़ापन और चूत में मक्खन दोनों ही कमी थी. मैंने मनोज का हाथ पकड़कर कहा- सुहागरात में धीरे धीरे आगे बढ़ना चाहिए.

सुनीता की बीएफ मैं एक बार उस कुत्ते के साथ सेक्स करके यह सारा मामला ही खत्म कर दूंगी. वो भी गांड उचकाती हुई बोली- मर गए मेरी चूत का भंग भोसड़ा बनाने वाले … साले तू बस अपनी बहन की चुत चोद … ज्यादा चुदुर चुदुर न कर!मैं भी उसको ताबड़तोड़ चोदने लगा और 15 मिनट के बाद झड़ गया.

सुनीता की बीएफ अम्मी की गांड पर जैसे ही जैल गिरा, अम्मी बोलीं- आह …फिर अब्बू ने अम्मी की दोनों टांगें पकड़ लीं और अम्मी के कंधों पर टच कर दीं, जिससे अम्मी की गांड का छेद बिल्कुल आसमान की तरफ उठ गया. मुझे शुरू से ही सेक्स का चस्का लगा हुआ था और मैं आज अपनी बहन की चूत चोदना चाह रहा था.

फिर थोड़ी देर बाद हानिया ने मेरा लंड मुंह में लिया और चूसना शुरू कर दिया.

पाकिस्तानी एक्सएक्सएक्स

कुछ क्षणों बाद मैं वापस उनके लंड के ऊपर नीचे होने लगी और उनके लंड को अन्दर बाहर करने लगी. मुझे किस करने के लिए वो अपने होंठ मेरे पास लाने लगा तो मैंने उसे रोक दिया. तो मजा लें बाप बेटी फ्री फैमिली सेक्स कहानी का!बहुत सालों पहले मेरी चचेरी बहनों ज़ाकिरा, फरजाना, आरिफा, सायरा की मेरे साथ रोज़ रोज़ बहुत देर तक चुदाई करने से उनको सात बेटियां पैदा हुई थीं.

मैं चुत पर लंड घिसता रहा और वो सेक्सी आवाजें भरती रही- आह शश आह ऊह मामा कितना मजा आ रहा है … आह आई लव यू मामा आप कितने अच्छे से प्यार करते हो. जैसे ही वो मेरे पास आई तो मैंने उससे कहा- आपने कल अपना नाम तो बताया ही नहीं था. यह सुनकर मैंने उनके बूब्स दबाकर कहा- आप तो बहुत सीधी और शरीफ बन के कॉलेज जाती थी.

लेकिन उसका मुँह छोटा था और मेरा लंड लंबा और 3 इंच मोटा है तो लंड उसके मुँह में नहीं जा रहा था.

कमरे में आकर फरजाना मुस्कुरा दी और बोली- अच्छा साला रात भर से चुदाई का खेल चल रहा था. उसके कड़क मम्मों का अहसास पाते ही जोश में मेरा लंड और टाइट हो गया और उसमें से प्रीकम निकलने लगा. भाबी से उस दिन की मुलाकात ने मेरे अन्दर की वासना को और भड़का दिया था.

अब अब्बू पंजों के बल बैठे और उन्होंने अपने लंड के सुपारे को अम्मी की गांड के छेद पर टिका दिया. वो बोली- मालिक आपका सामान बहुत बड़ा है … मेरे पेट तक चोट कर रहा है, मुझे दर्द हो रहा है. कुछ सूट ट्राई करने के बाद एक लाल रंग ला सूट पहन कर भाभी बाहर आईं तो मैं तो उन्हें बस देखता ही रह गया.

फिर जसवंत ने आपा के बूब्स दबाने शुरू कर दिए और उनके चूतड़ों को मसलने लगा और बोला- मेरी जान, एक बार चूत दे दे. 10 मिनट चुदाई करने के बाद मैंने सारा पानी आपा की गांड के ऊपर छोड़ दिया.

मैंने अपने चुदाई के प्रोग्राम के लिए एक कमरे में जगह साफ़ कर ली, जहां मैं उस भाभी को रगड़ कर चोद सकता था. मैंने ध्यान दिया कि मम्मी की चुत में मेरी दो उंगलियां बड़े आराम से जा रही थीं. मैंने देखा कि वो एक सीढ़ी पर बैठ गयी थी और पायल को अपने लांचा से निकाल रही थी.

इतना कहते ही मैंने मंजू भाबी की चूत को फिर से मुँह में ले लिया और जोर जोर से चाटने लगा.

फिर तीस सेकंड बाद उसने मेरी नाक को खोला तो मैंने मुँह से लंड निकाला और राहत की लंबी सी सांस ली. तो उसने भी मौके का फायदा उठाया क्योंकि शायद उसे पता लग गया था कि मुझे भी अच्छा लग रहा है. जिसे देखकर नीरज ने सुनील को हटा दिया और खुद मेरी चूत के नीचे बैठकर मेरी चूत से निकल रहा मूत पीने लगा.

जब मैं भाभी के पीछे था तो वे अपनी गांड मटकाती हुई मुझे और उतावला कर रही थीं. इससे ये बात तो स्पष्ट थी कि पापा ने मम्मी के मुँह में लंड डाला था, शायद माल (वीर्य) भी.

मतलब हानिया जितनी जोर से सिसकारियाँ ले रही थी, मैं उसे उतनी ज्यादा जोश के साथ चोद रहा था. बहुत बार मौसी अपने घर में पीजी में रहने वाली लड़की को फंसा कर मौसा जी के पास लाती हैं और मौसा उसके साथ सेक्स करते हैं. अन्दर जाकर नसरीन आपा ने उनसे कहा कि वो उनके पैसे जल्दी लौटा देंगी लेकिन वो वीडियो डिलीट कर दो.

एचडी बीएफ देहाती बीएफ

तब नसरीन आपा और मैंने एक दूसरे की तरफ देखा और दोनों का चेहरा उदास हो गया.

मेरी शादी जब हुई, तो उस समय मेरी उम्र 24 साल थी और मेरी बीवी 20 की थी. थोड़ी देर बाद जब वो थोड़ा शांत हुई तो मैं धीरे धीरे उससे चोदना चालू कर दिया. मेरा लौड़ा दनदनाता हुआ पूर्णिमा जी के भोसड़े के हॉल के पेंदे में पहुंच गया.

फिर मैं इतना गर्म हो गया कि मुझे खुद को ही याद नहीं रहा कि मैं क्या कर रहा हूँ. वो इतनी ज्यादा गर्मा गई थी कि पिचकारी मारती हुई मेरे बालों में झड़ गई. న్యూడ్ సెక్స్ వీడియోస్मैंने दरवाजा खोल कर डिब्बा बाहर रख दिया और अपना खड़ा लंड बॉक्सर से थोड़ा बाहर ऐसे निकाला, जैसा अंजाने में निकल आया हो.

लड़कों ने आपस में सलाह की और हम तीनों लड़कियों को अलग अलग कमरे में जाने को कहा. मैंने उसे बेड पर पटक दिया और उसके ऊपर चढ़ कर जोर जोर से उसके दूध दबाने लगा.

फिर जब वो मेरी उंगली को अपनी चूत में डाल चुकी थीं तो मैंने आंखें खोल कर उनसे पूछा- आप ये क्या कर रही हो?उस समय वो थोड़ा सहम गईं. अगले दिन सुबह ही सुबह अमित का कॉल आ गया और उसने पूछा- मेरीरंडी की चूतकैसी लगी?मैंने बोला- मस्त है यार … उसकी सील पहले से टूटी थी लेकिन मैंने चोदा तो उसे दर्द हुआ. अब आगे मिया बीबी की चुदाई कहानी:कयामत की रात में हर लम्हा बदल गयापति ने दिया वीर्य अन्दर तक.

क्षमा के साथ ये किस मुझे इतना अधिक सेक्सी लग रहा था कि मैं अपने लंड की चुसाई करवाना भूल चुका था. थोड़ी देर बाद जब वो थोड़ा शांत हुई तो मैं धीरे धीरे उससे चोदना चालू कर दिया. तय दिन पर मैं 3 दिन के लिए कपड़े आदि लेकर सुबह 6 बजे रेलवे स्टेशन पहुंच गई.

रोहित तो मेरी कसी चुत पाकर इतना मतवाला हो गया था कि उसने जोर रोज से लंड पूरा डालना और बाहर निकालना शुरू कर दिया था.

मैंने भी उसकी चुत से निकले रस को पूरा चाट लिया और उसकी चुत को चाट चाट कर फिर से गर्म कर दिया. मैंने उसे बहुत मनाया, पर वह नहीं मानी तो मैंने भी उसे ज्यादा फोर्स नहीं किया.

कुछ देर बाद उसका मैसेज आया- क्या आपको चाय पीनी है?मैंने मजाक में बोल दिया- जी नहीं, मैं दारू पीता हूँ … चाय नहीं. घर में सभी सामान अस्त व्यस्त होने की वजह से उस दिन पापा मम्मी भाई और मैं सब लोग एक साथ ही सो रहे थे. उसकी कसमसाहट बढ़ने लगी थी और वो मुझे एक बार फिर से हटाने की कोशिश करने लगी थी.

मैंने मौसी की टांगें चुदाई की पोजीशन में खोलीं और अपना लंड डाल दिया. उनकी टीशर्ट उतरते ही नीले रंग की ब्रा में सफ़ेद दूध जैसा जिस्म मुझे पागल कर रहा था. कुछ पल बाद उसने भी उठ कर मेरा पूरा लंड अपने मुँह में ले लिया और मजे से चूसने चूमने लगी.

सुनीता की बीएफ ये सुनकर अय्यर ने लंड को हाथ में लेकर उसे बबीता की तरफ करके बोला- हां मेरी लंड को तेरी चुत की बहुत भूख लगी है. प्रिया मेरा जल्द से जल्द साथ देना चाहती थी, उसने मेरे भी कपड़े पूरे उतार दिये, हम दोनों अब नंगे हो गए.

भाभी अकेले घर पर सोई है बीएफ

मैं फिर से चूत को रगड़ने लगी और हल्के हल्के चूचे दबाने लगी।मुझे इंतज़ार सा हो रहा था।मैं सोच में पड़ गई कि अब काका क्या करेंगे. फिर मैं बाथरूम गयी और अपनी चूत से जितना पानी बाहर निकाल सकती थी, निकाल दिया. वैसे तो वो हॉस्टल में रहने वाली है, फिर भी जब तक उसका एडमिशन नहीं होता, तब तक वो इधर ही रहेगी.

हर धक्के के साथ सौम्या की चीखें बता रही थी कि हम दोनों ही पूरा एन्जॉय कर रहे हैं।मैंने उसके बूब्स से हाथ हटा कर उसकी गांड के नीचे रख दिए और हर धक्के के साथ मैं उसकी गांड को दबा रहा था।उसने दोनों टाँगों से मेरी कमर जकड़ ली, मैं पूरी तरह खोया हुआ था, पसीना पसीना होते हुए मैं परम सुख पर पहुंचने वाला था. मामी- ओके, पर तुम बाथरूम में ये सब क्यों कर रहे थे?मैं- मामी, मेरी कोई जीएफ नहीं है न इसलिए … आपकी तो शादी हो गई है, आपको अब क्या समझ आएगा कि मुझे क्या दिक्कत हो रही थी. indian sex vídeoफिर अगले संडे को उसने मुझे मैसेज किया- आज फिर से दारू चलेगी क्या?मैंने कहा- ठीक है.

अब मैं खुद को रोक नहीं पाया और सोचा कि अब अपना लंड चूत में पेल ही देता हूँ.

मैंने भी मौके की नजाकत को समझते हुए अपनी बीच की उंगली अंतरा की चूत में सरका दी. इस वजह से उनके भोसड़े ने जल्दी ही अपना गर्मागर्म लावा मेरे मुँह में भर दिया.

मगर आपा अपना जिस्म छुपाने में ज्यादा कामयाब नहीं हो पाई क्योंकि पंकज ने आपा को पूरी नंगी देख लिया था. वो कहने लगीं- प्लीज़ योगेश आज नहीं कर पाऊंगी, साड़ी खराब हो गयी तो पंकज शक करेंगे. एक दिन भाबी ने कहा- आज मैं तुम्हें कुछ खिलाना चाहती हूँ … बोलो क्या खाओगे?मैंने कहा- आप जैसी मीठी चीज.

मैं भी उनके पीछे पीछे आया, तो उन्होंने पूछा- मेरा पीछा कर रहे हो क्या?मैं कुछ नहीं बोला और उधर रखा उबला हुआ पास्ता खाने लगा.

फिर मैंने लंड को गांड के अन्दर ही रहने दिया और प्रकाश को वैसे ही गोद में उठा लिया. मेरी चचेरी बहनें मेरे लंड से चुदी और उनकी बेटियाँ भी जवान होकर मुझसे चुदी. निशा बोली- अरे मैं उन दोनों अफ्रीकी के साथ यौन क्रीड़ा कर चुकी हूँ.

सेक्सी वीडियो डॉक्टर डॉक्टर नेमैं- हम्म … पर भाभीजी जिनको आप में इंटरेस्ट हो, उनका क्या?भाभीजी- मतलब?मैं- कुछ नहीं. अब मैंने उसे प्यार मुहब्बत की शायरी भेजना शुरू कर दी और नीचे ‘वेटिंग में आपका अजय …’ लिख देता रहा.

ट्रिपल एक्स सेक्सी व्हिडिओ बीएफ

वो विशाल से बोली- जानू मुझे थोड़े पैसों की जरूरत है, क्या तुम दे सकते हो?तो उधर से विशाल ने कहा- मेरी जान, कितने रुपए चाहियें … बोल?आपा ने कहा- मुझे ₹ 25000 की अर्जेंट जरूरत है और वह रुपए मुझे आज के आज चाहियें. मामी को बेड पर लेटा कर मैंने कहा- आज मैं आपको अपनी मर्दानगी से रूबरू करवाऊंगा … बस अब आप और प्यासी नहीं रहेंगी. रात में मुझे एसी में ठंड सी लगी तो मैं कंबल लेने के लिए मौसी के रूम में आ गया.

थोड़े समय के बाद … तक़रीबन रात के एक बजे मैंने रेनू के हाथ को अपने सीने के ऊपर महसूस किया. मैंने अब अपना फोन वापस लेने के लिए हाथ बढ़ाया और फोन लेते वक्त मैंने उनकी उंगलियों को छू लिया. आपा अपना मुंह नहीं खोल रही थी तो मैंने अपना लंड पकड़ कर उनके होंठों पर सहलाना शुरू कर दिया.

अपनी बेटी के मुँह से इतनी कामुक बातें सुनकर मेरा लंड फनफना रहा था और उसकी बुर की मां चोदने में लगा था. उसके बाद जब भी मुझे मौका मिलता है, मैं भाभी के ऊपर चढ़ जाता हूँ और घमासान चुदाई कर लेता हूं. भाबी अलग होकर बोलीं- तुम बिस्तर पर जाकर बैठो, मैं बाथरूम से आती हूं.

चूँकि हमें रोकने या टोकने वाला कोई नहीं था तो हम रविवार को नंगे ही रहते थे. मैं सामने आया और अपना मुँह उसकी पैंटी के ऊपर से ही उसकी चुत पर रख दिया.

मैं हर टॉय के बारे में अपने विचार बताती गयी, प्रीत उस टॉय का मॉडल नंबर लिखती जा रही थी.

फिर उसने अपने हाथ आपा के चूतड़ों पर रख दिए और उनके चूतड़ों को जोर जोर से दबाने लगा और उन पर थप्पड़ मारने लगा. स्कूल गर्ल देसी सेक्सी वीडियोइसलिए हमने अपना एक अलग घर बसाया, जिसमें हम दोनों खुशी से अपना जीवन यापन करने लगे. ப்ளூ பிலிம் ப்ளூ பிலிம்उसने प्यार से मेरे माथे और आंखों को चूमा, मुझे कोमलता से आलिंगन में लिया. जैसे जैसे वो मेरी बुर को चाटते गए, मैं ज़ोर ज़ोर से उनके लंड को हिलाने लगी।मुझे पता नहीं क्या हुआ … मैंने उनको धकेल दिया और लपक कर उनके सुपारे को होंठों पर रगड़ने लगी और जीभ से चाटने लगी.

उसके कड़क मम्मों का अहसास पाते ही जोश में मेरा लंड और टाइट हो गया और उसमें से प्रीकम निकलने लगा.

अचानक बहुत चिपचिपा सा मेरे चूचों पर बहुत ऊपर से डाला गया तो मैंने उठने की कोशिश की. योगेश ने मेरी चुत में ही अपना लंड का पानी छोड़ दिया और बहुत देर तक मेरी चुत में लंड डाले पड़ा रहा. फिर कुछ देर बाद मेरे पति आकाश का कॉल आया और आकाश ने मुझसे पूछा- जान वीडियो देखी?मैंने हां बोला.

ये देख के अंकित से रुका नहीं गया और उसने मीनू को अपने जिस्म से इस तरह जकड़ लिया मानो एक ही जिस्म हों. इंडियन भाभी हॉट सेक्स का मजा मुझे मेरे गाँव में मेरी जवान भाभी ने दिया. [emailprotected]इंडियन इन्सेस्ट ससुर बहू कहानी का अगला भाग:मुट्ठ मारो ससुर जी- 4.

गुजरातीxxxx

मैंने पूछा- क्या क्या करता है?राजन बोला- वो हमसे लुल्ली चुसवाता है. जब उससे रहा नहीं गया तब उसने खुद को ऊपर धकेल कर मेरे पूरे लंड को मानो अपने अंदर समा लिया हो।उसकी चूत बहुत टाइट थी, मेरा लंड भी अपनी मंजिल पर सुखद आनंद का अनुभव ले रहा था. अब हर तीसरे चौथे दिन मुझे मम्मी की चुदाई की आवाजें सुनने को मिल जाता था.

उसके बाद वह बोली- मैं जा रही हूं, तुम दोनों मस्त एंजॉय करना।प्रिया को बोली- तुम जब चाहो तब यहां पर आ जाना, मुझे कोई दिक्कत नहीं होगी।तो प्रिया भी उसे गले लगते हुए बोली- बहुत बहुत धन्यवाद तुम्हारा निशा!फिर निशा ने मुझे ले जाकर अंदर वाला रूम दिखा दिया, बोली- चले जाओ अंदर … मैं बाहर ही हूं.

जैसा कि मैंने बताया है कि मामा के गांव में ज्यादातर समय लाइट रहती ही नहीं है.

मैंने ये सोच लिया था कि अब जब मेरे शौहर घर आएंगे तो मैं उनसे इस बारे में बात करूंगी और उनसे पूछूंगी कि आखिर क्या वजह थी कि उनको उस छिनाल के साथ सोना पड़ा. हम दोनों थक कर चूर हो गए थे, वैसे ही नंगे काफी देर तक यूं ही पड़े रहे. कॉलेज की सेक्सी फोटोफिर एक महीने के बाद संडे के दिन भैया का कॉल आया- घर पर आ जा, कुछ काम है.

धीरे-धीरे मीनू का मन उधर लगने लगा और अब वह अक्सर फ़ोन पर लगी रहने लगी. घर के शांत माहौल में ‘पुच्छ पुच्छ पुच्छ सी सश्स पुच्छ …’ की आवाजें गूंजने लगीं. क्योंकि काफी दिन से मैंने अपनी गांड नहीं मरवाई है, तो आज मेरी भी खूब इच्छा है कि आज तुम मेरी अच्छे से गांड मारो.

फिर उसने घर पर पापा से बात की, तो उसने अपने पापा से कांफ्रेंस पर अपनी फ्रेंड की बात करवा दी. जेठालाल दुखी होकर पर गाली दिए जा रहा था- मादरचोद अय्यर … मेरे हाथ तो खोल दे भोसड़ी के, मुझे भी अपना लंड हिलाना है कमीने.

अब मैं भाभी की बुर को जोर जोर से चोदने लगा और वो सिर्फ ‘सी … सी … ऊ … उआह … और जोर से करो …’ चिल्लाने लगीं.

करीब बीस मिनट तक नहाने के बाद मैंने नीचे से टॉवल से पानी को पौंछ कर साफ़ किया और ऊपर से अंकित ने उसे सुखा दिया. दोस्तो, इस मस्त रसीली देसी आंटी सेक्स कहानी के अगले भाग में मैं आपको भाभी जी की चुदाई का पूरा मजा लिखूँगा. सविता भाभी की कम्पनी एक सौंदर्य प्रतियोगिता प्रायोजित करती है और बॉस अपनी ख़ास सविता को इस प्रतियोगिता की जिम्मेदारी सौंपता है.

ಇಂಡಿಯನ್ ಸೆಕ್ಸ್ ಕನ್ನಡ मुझे लगा कि इन दोनों की चुदाई खत्म हो गई तो मैं वापस अपने कमरे में जाने लगा. अब यहां जो मैं सपने में कर रहा था, वो मैं मम्मी के साथ असल में कर रहा था.

भाभी की चुत ने रस छोड़ दिया था, जिससे लंड सटासट अन्दर बाहर होने लगा था. मैं उसको कार मैं बैठा कर बोला कि तुम बैठो, मैं 2 मिनट में आ रहा हूँ. वो दोनों जब पहली बार यहां रहने आईं, तब उनकी जानपहचान का यहां कोई नहीं था.

बीएफ वीडियो बीएफ हिंदी बीएफ

बुआ पूरे जोश में लंड चूस रही थीं, शायद वो बता रही थीं कि उनमें आज भी आग है. ये तो मेरे ऑफिस की माल है, इसके सामने मैं भाभी को कैसे बताऊंगा कि इसको सब कुछ बताना ठीक नहीं रहेगा. यह काल्पनिक सेक्स कहानी प्रसिद्ध सीरियल ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा …’ से प्रभावित होकर लिखी गई है.

मैं बोला- अरे यार, मैं कम्पनी की तरफ से एक प्रोजेक्ट के काम से जा रहा हूं. पर कॉलगर्ल की चूत और गांड कसी (टाइट) होनी ज़रूरी है, तभी ग्राहक कॉलगर्ल पर इतने रुपये खर्च करता है.

भाभी- अच्छा, फिर उनका साथ कैसे छूट गया?मैंने एक कदम आगे बढ़ाते हुए कहा- वो ज्यादा मजेदार नहीं थी.

अब नीचे मेरी चूत पर बहुत सारी क्रीम डाली गई और साइड से चॉकलेट क्रीम और ऊपर स्ट्रॉबेरी लगा कर मेरी आंख की पट्टी को खोला गया. मैंने 30-40 ज़बरदस्त धक्के मारे और अपना पूरा कामरस भाभी की गांड में भर दिया. कुछ देर मुँह चोदने के बाद मैंने राजन को खींच कर लिटा दिया और उसके ऊपर चढ़ गया.

वो लंड लेने की खुशी से मचल रही थी और दर्द से रोती तड़पती चीखती चिल्लाती हुई मजा ले रही थी. फिर पति ने पूछा- कैसी लगी वीडियो?मैंने बोला- बहुत ही मस्त वीडियो थी. मैं उसके बालों को पकड़ पकड़ कर झटके मारे जा रहा था लेकिन फिर भी वह पीछे ना होकर मेरा साथ जैसे तो तैसा की तर्ज़ पर मुझे चुदाई का पूरा मजा दे रही थी.

मैंने एक हाथ से शैम्पू की शीशी से शैम्पू लिया और उसकी चुत में मल दिया.

सुनीता की बीएफ: ये मेरी पहली गरम सेक्स कहानी है, जो कि मेरी मां और मामा की चुदाई पर आधारित है. फिर वो बोलीं- क्या तुम अभी मेरे घर आ सकते हो … मेरे कमरे का पंखा नहीं चल रहा है, शायद खराब हो गया है.

अरे मैं तुम्हारा मार्डन चाचा हूँ … न कि दकियानूसी … इसलिये अपनी खूबसूरत बहू को देखा तो जो मन में आया वो कह दिया।”मेरी इस बात को सुनकर वो बाहर निकल गयी।अब मैं इंतजार कर रहा था कि वो चैट करे।मैंने अपना लैपटॉप खोल लिया था और उसके एक्टिव होने का इंतजार करने लगा।कोई आधे घंटे के बाद अंजलि एक्टिव हुयी. मैं- ठीक है नेहा, वैसे आपकी उम्र क्या होगी?नेहा- अभी 38 है, पर उम्र से क्या करना? आपको नहीं करना तो साफ कह दो. फिर हम दोनों अपने अपने घर चले गए और उस दिन के बाद मैंने कई महीनों तक उसको चोदा.

तो भाभी बोलीं- मुझे तो तुम बड़े शरीफ लगते थे … न किसी से कोई बात करते हो, न ही कोई बोलचाल लेकिन हवस तो बहुत है तुममें!मैंने कहा- भाभीजी, आप हो ही ऐसी चीज कि कोई न चाहे तो भी आपके जिस्म का दीवाना हो जाए.

मैंने देखा कि मौसा ने मौसी की जांघ के ऊपर हाथ रखा और मौसी के गाउन को ऊपर कर दिया. [emailprotected]हॉट वाइफ Xxx कहानी का अगला भाग:खूबसूरत जिस्म से मौजाँ ही मौजाँ- 3. दोस्तो, मैं आपकी अपनी प्यारी सी दोस्त प्रीति शर्मा!अन्तर्वासना की पुरानी साईट पर मेरी कई कहानियाँ प्रकाशित हो चुकी हैं.