बीएफ 4जी वीडियो

छवि स्रोत,सेक्सी पिक्चर एचडी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

एक्स एक्स एक्स बीएफ साउथ: बीएफ 4जी वीडियो, उसके बाद मैंने उसकी टांगों को चौड़ा कर दिया और उसकी चूत पर हाथ फेरते हुए जीभ से चाटने लगा और वो कसमसाने लगी.

मुर्गी का जन्म कैसे हुआ

पर हर्ष ने अभी धक्के मारना बंद नहीं किया था और साथ ही मैं भी झड़ गयी।थोड़ी देर बाद हर्ष का लंड छोटा होकर बाहर निकल गया. जंगली सेक्स ओपनएक दिन भाभी ने मुझसे पूछा- शिवा यार … अपनी गर्लफ्रेंड से तो मिलवाओ?मैंने कहा- नहीं भाभी … मैं अभी इन चक्करों में नहीं पड़ा हूँ.

वो बार-बार अपने पैर को मेरे लंड पर दबा रही थी लेकिन पूरा नहीं दबा रही थी बस हल्का सा ही प्रेशर दे रही थी. हिंदी डॉग सेक्सीसुमिना ने उसकी चूत में उंगली करनी शुरू कर दी और काजल नीचे की तरफ सुमिना की चूत से चूत लगाकर उसकी चूत में ऐसे धक्के देने लगी जैसे वो उसकी चूत को अपनी चूत से चोद रही हो.

” ज्योति ने सीरियस होकर रोते हुए कहा।सॉरी बहन, मैंने आप को रुला दिया.बीएफ 4जी वीडियो: कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा बाप ने अपनी ही सगी बेटी की चूत चोदी और फिर उसकी गांड भी चोद डाली.

इसलिए वो दूसरों की छत पर देख सकती थी लेकिन कोई उसकी छत पर नहीं देख सकता था.क्यों?” उसने सवाल पर सवाल दाग दिया।मैं चाहता हूँ कि हम दोनों प्यार का भरपूर मज़ा लें कहीं!”कैसे?” उसने पूछा.

हॉट सेक्सी बीपी - बीएफ 4जी वीडियो

मुझे उसके मम्मे सबसे अच्छे लगते थे … जिनकी तारीफ़ में रीतिका से भी करता था.” महेश ने अपनी बहू की चूत से पानी को निकलते देखकर एक सिसकारी ली।आआह्ह्ह बेटी, क्या तुम मेरी आखिरी बात मानोगी? मैं सारी ज़िंदगी तुम्हारा गुलाम बनकर रहूँगा.

… वो दो साल तक नहीं आने वाला है, जब तक उसका प्रोजेक्ट पूरा नहीं हो जाता. बीएफ 4जी वीडियो अन्तर्वासना पर ये मेरी पहली कहानी है अगर मुझसे कोई गलती हो जाए, तो पहले ही माफी चाहता हूँ.

पतिदेव ने मुझे बेड पर धक्का देते हुए झुका दिया और मेरी मैक्सी उठा कर अपना लंड मेरी चूत पर पीछे से ही रगड़ने लगे.

बीएफ 4जी वीडियो?

वैसे तो चुदाई सर्दी में ज्यादा मजेदार लगती है लेकिन मैं तो गर्मी में भी गर्म चूत का खूब मजा लेता हूं. किसी तरह मैंने उसकी जाँघे फैला दीं और उसके बीच में आ गया। वो बार बार मुझे कुछ भी करने से रोक रही थी, इस वजह से मैं अपनी पैंट भी नहीं खोल पा रहा था। कभी-कभी उसके चेहरे पर गुस्सा दिखता था और कभी शर्म। वो अपने सिर को यहां-वहां झटक रही थी और मेरे सिर के बालों को पकड़ कर खींच देती थी. मैं ऊपर से शॉट पर शॉट मारे जा रहा था और साथ ही उसके एक निप्पल को अपने एक हाथ की दो उंगलियों से मसल रहा था.

वो भी दो मिनट तक वहीं खड़ा रह कर अपना लंड चुसवाता रहा और फिर उसने लंड निकाल लिया. मेरा हाथ उसकी चूत को सहलाने लगा और मेरे होंठ उसके चूचों पर जा धंसे. आप सबका मेल मुझे बहुत प्रोत्साहित करता है और इससे मुझे आगे की कहानी बताने में बहुत सहायता मिलती है.

वो मेरे पास आई और मुझे चूमते हुए मेरी टी-शर्ट निकाल दी, फिर नीचे बैठ कर उसने मेरी जीन्स निकाल दी. ऋतु ने लम्बी सी ड्रेस पहन रखी थी जिसकी बाजू आधी थी और रेस्तरां की लाइट में उसके गोरे हाथ चमक रहे थे. रात को मैंने रीतिका को प्रीति समझ कर और बोल कर उसके साथ ख़ूब सेक्स किया.

जब रीतिका आ गयी थी और थ्री सम सेक्स का क्या मजा हुआ, वो मैं आपको बाद में बताऊंगा. उठकर सीधा मैं नहाने चली गयी और नहाने के बाद खाना खाकर मैं छत पर चली गयी.

इससे पहले कि मॉम कुछ बोलतीं, मैं अपना हाथ उनके मम्मों की ओर बढ़ाने लगा.

हम दोनों की जीभें एक दूसरे के मुँह में ऐसे खेल रही थीं, जैसे हम दोनों एक दूसरे में समा जाना चाहते हों.

घूम कर जब हम वापस आ रहे थे तो रास्ते में हमने एक अफ्रीकी लड़की को आते हुए देखा. मैंने भी देर ना करते हुए लंड एक ही धक्के में सीधा उसकी चूत में जड़ तक घुसा दिया. फिर काम में क्या हसरत, मैंने दबे मन से हां कह दी और उन्हें मसाज के लिए एक दरी और लहसुन की पोथी डाल कर गर्म तेल मंगवा लिया.

फिर उसने मेरे कान में धीरे से सिसकारते हुए कहा- पकड़े ही रहोगी या हिलाओगी भी इसको?उसके कहने पर मैं उसके लंड को हाथ से हिलाने लगी. यह वही पैंटी थी जिसे मैंने कई बार बाथरूम में सूंघा और लंड पे रगड़ा था।आखिर पैंटी को भाभी के शरीर से जुदा होना पड़ा। इस दौरान मेरा तौलिया जाने कब मेरा साथ छोड़कर फर्श पे पड़ा था. थोड़ी देर बाद उन्होंने खाँसने की आवाज की, तो हम दोनों ठीक होकर बैठ गए.

‘उम्म्ह… अहह… हय… याह… ऊई मां’ की गूंज से वातावरण जोशीला हो गया था.

उनमें कोई ऐसी पॉपुलर साइट नहीं रह गई थी जहां पर मैंने चुदाई के वीडियो देख कर मुठ नहीं मारी हो. क्योंकि उनके मम्मे काफी छोटे थे केवल 28 इंच के और वो बहुत खुद भी बारीक फिगर की थीं. जब वो थक गई तो मैंने उसको फिर से अपने नीचे लिटा लिया और उसके स्तनों को मुंह में लेकर चूसते हुए उसकी योनि में धक्के देने लगा.

कब लेक्चर खत्म होगा और कब यहां से छुट्टी मिलेगी, यही विचार चलते रहते थे. फिर मैंने सोच लिया कि क्या वही एक मर्द रह गया है क्या इस दुनिया में, अभी तो मेरी जवानी चढ़ी है, अभी तो इसने और उफान पकड़ना है. मैं दिन पर दिन जवान होती जा रही हूँ और जवानी में मुझे सेक्स करने का मन हो रहा है.

मैंने भी देर न करते हुए अनिता भाभी की लाल पेंटी को जाली वाली जगह से पूरा फाड़ कर अलग कर दिया.

सारिका ने मना भी किया तो राहुल ने भी कह दिया- हाँ इसमें क्या है … और अब आपको सोना ही तो है. पूरी चुदाई करके जब वो चूत के ऊपर से उतरा, तो बोला- सच-सच बताना कि तुमको कैसा लगा?मैंने उससे लिपटते हुए कहा- तुम अपनी बताओ, तुम्हें मजा आया कि नहीं?उसने कहा- मेरी तो आज लॉटरी लगी है, जो तुम्हारी चूत के आज दर्शन ही नहीं बल्कि मेरा लंड इसमें अन्दर तक सैर भी करके आ गया है.

बीएफ 4जी वीडियो सीमा भी मुश्ताक के होंठों से चिपक गयी … पहली बार वो अपनी ग्रुप सेक्स की फंतासी के पहले चरण को पूरा होते देख रही थी. उसने एक तकिया लेकर उसकी कमर के नीचे रखा, दूसरी बांह गर्दन के चारों तरफ लपेट ली.

बीएफ 4जी वीडियो एक दिन मैं योग कर ही रहा था कि उसी समय अपने कपड़े सुखाने के लिए आ गई. उसकी वाइफ ने मेरी पत्नी की नाइटी एकदम ऊपर कर दी और फिर पेंटी भी उतार दी.

दीदी ने मेरे कान में बोला- आकाश, प्लीज मेरी 6 महीने की प्यास बुझा दो.

यूपी के बीएफ एचडी

आंटी मस्ती से भर गई थी और अपनी गांड को उछाल कर मेरे लंड को पूरा अपनी चूत में ले रही थी. फिर बाहर निकाल कर उंगली पर लगे मेरे पानी को चाट गया। फिर वो झुक कर अपनी जीभ से मेरी चुत की चुदाई करने लगा।मेरा बस होने ही वाला था कि एकदम से गेट खुलने की आवाज आई. उसने मेरे वापस आते ही मुझे चाय पिलाई और मेरे पास बैठ कर काफी देर तक बातें करती रही और उनके पति के बारे में बात करते हुए रोई भी.

अब कमरे में अँधेरा था, बस हलकी सी रोशनी म्यूजिक प्लेयर से आ रही थी. यह लंड जब तक ठंडा नहीं होगा, जब तक यह चूत में घुस कर अपना काम ना कर ले. मैं समझ गया कि पापा को बाहर गए हुए 2 महीना से अधिक हो गए हैं, इसलिए मॉम का यह हाल है.

मॉम का उत्तर सुनते ही मैंने मॉम को जकड़ लिया और उनके होंठों पर जोर से किस करने लगा.

वो कभी मेरे सामने भी आती, तो घूंघट में होती, जिसके कारण मेरा आकर्षण उसके प्रति बढ़ता जा रहा था. मैंने उसको फोन करने की कोशिश की थी मगर न तो उसने कोई कॉल उठाया और न खुद ही किया. तो दोस्तो, यह थी मेरी कॉलेज फ्रेंड चारू की पहली गांड चुदाई की कहानी.

पिंकी और धीरज अच्छा डांस करना जानते थे तो पिंकी राजीव और धीरज सीमा और जोड़ों से टकराते हुए डांस करने लगे. अनिल पहले तो ये सुनकर बहुत शॉक हो गया लेकिन फिर बाद में वो बोला कि कोई बात नहीं। किसी पराये मर्द के साथ सेक्स करना इतनी बुरी बात भी नहीं है. कई बार तो मैंने पैसे देकर चूत मारी थी लेकिन उसमें ज्यादा मजा नहीं आता है.

उसके बाद मैंने उसकी टांगों को चौड़ा कर दिया और उसकी चूत पर हाथ फेरते हुए जीभ से चाटने लगा और वो कसमसाने लगी. मैंने एक सिगरेट जलाई और उसकी तरफ धुंआ छोड़ते हुए पूछा कि पिछवाड़े की तरफ से करूं.

तो वो बोले- कोई बात नहीं बेटा, मैं हूँ ना, तुमको कोई परेशानी नहीं होगी. सभी जोरों से हंस पड़ी और नीता के पीछे पड़ गयी कि वो अपना एक कपड़ा उतारे. और जब वो मेरे मम्मों को ताड़ने के बाद मेरी आँखों में देखते तो मैं मुस्कुरा देती।बल्कि एक दो बार तो मैं जानबूझ कर उनकी गोद में भी बैठी ताकि वो मेरी नर्म गांड का और मैं उनके कड़क लंड को महसूस कर सकूँ।और फिर एक दिन मेरी मेहनत रंग लाई, मैं अरविंद सर के सामने जानबूझ कर झुक कर लिख रही थी.

और अब पत्नी की चूत में रेत की आफत या शामत जो भी थी … हम सब के लिए नियामत बन गई थी.

ये लड़की कौन बैठी थी तुम्हारे साथ हॉल में?” मैंने सहजता से पूछा।काजल… मेरे कॉलेज की दोस्त है। हम दोनों एक ही क्लास में हैं।”‘ओके’ इससे ज्यादा न तो मैंने कुछ कहा और न ही सुमिना से कुछ और पूछने के लिए मेरे पास अभी था। वो कहते हैं न कि ‘ठंडा करके खाना चाहिए…’ बस उसी नीति का ख्याल आ गया था।मैं हॉल में जाकर टीवी देखने लगा. हम रोज रात नंगे बदन एक दूसरे की बांहों में लिपट कर प्यार की बातें किया करते थे. उसके चुचे ज्यादा बड़े तो नहीं हैं, पर हाथ में आ जाएं, ऐसे मुलायम हैं, जैसे मक्खन हों.

इसलिए वो इतनी जल्दी अपने हथियार डाल कर मेरी हरकतों का साथ देने लगी. मैंने चार साड़ी दो नाईटी, ब्रा पेंटी ब्लाउज पेटीकोट तौलिया वगैरह रख लिया.

वो मुस्कुराते हुए बोले- फिर तो अब तुम यहां से प्रेगनेंट होकर ही जाओगी. शाम को मैं अपनी माँ के साथ गली में कुर्सी पर बैठी थी। हर्ष अपनी एक्टिवा पर जा रहा था, वो मुझे देख बोला- आओ दीदी, बाजार घूमने चलते हैं. इसलिए रजू ने कहा कि जब चंडीगढ़ से गुजर ही रहे हैं तो मीनू से मिलकर भी चलेंगे.

इंग्लिश बीएफ वाला

इतना सुनते ही मेरे शरीर से भी करंट सा निकलने लगा और मैंने धक्कों की गति बढ़ा दी, 10-12 गहरे और तेज झटके मारते ही लंड उफान पर आ गया.

चयन को मेरा मोटा लंड गुलाबी चौंच वाला इतना पसंद आ रहा था कि वो जैसे किसी लॉलीपॉप चूस रहा हो. भाभी डार्लिंग शब्द पढ़ कर खुश हो गईं और बोलीं- वाह मेरे राजा … अब देख तेरी भाभी तुझे कैसे खुश करती है. मॉम हंस कर झिड़की देकर बोलीं- पागल हो गए हो क्या … इतनी चुत चुदाई करने के बाद तुम्हारा मन नहीं भरा.

चाची की गांड पहली बार गांड चुदाई के बाद आज थोड़ी ज्यादा मोटी दिख रही थी. वो बिल्कुल अडल्ट फिल्मों की पोर्न स्टार की तरह मेरा लंड चूस रही थी. करीना की सेक्सी फोटोउसके ये बोलने पर वो हल्के से हँसी और उसका साथ देने के लिए अंकित भी मुस्करा दिया.

मैंने तुझे उस लड़के के सामने कुछ नहीं कहा, इसका मतलब यह नहीं कि मुझे कुछ पता ही नहीं चला. वो पीछे हटने की कोशिश करने लगी तो मैंने अपने दूसरे हाथ को भी उसके कन्धे पर रख दिया.

मैंने अपने चेहरे की घबराहट छुपाते हुए उससे कहा- कुछ नहीं!पर शायद वो जान चुकी थी, उसने तुरंत ही कहा- मेरा नंबर ले लो, फिर हम फोन पे बातें करते हैं. हमने उसके दोस्तों से पूछताछ की, लेकिन किसी ने ज्यादा कुछ नहीं बताया. मैं कभी उसकी गांड से खेल रहा था, तो कभी उसकी गांड पर चांटें मार रहा था, तो कभी उसके मम्मों को दबा रहा था.

मैंने उन्हें बीच में ही रोक दिया और कहा- बस कुछ नहीं, ये बात हम दो के अलावा किसी तीसरे तक नहीं जाएगी, बस अब और कुछ नहीं कहिए … और रहा सवाल सही गलत का, तो अपनी खुशी तलाशने में कुछ भी गलत नहीं होता है. मेरी बीवी एक लंड को चूत में लेकर चुद रही थी और दूसरे लंड को मुंह में लेकर चूस रही थी. मैंने पूछा- भैया और अंकल हॉस्पिटल से आ गए क्या?भाभी बोली- नहीं अभी तक नहीं आए.

मैं उसके चूतड़ों को बड़ी वासना से देख ही रहा था कि तभी उसने पीछे पलट कर कहा- आप मुझे ऐसे क्या देख रहे हो … चलो बिस्तर पर जाओ.

राहुल ने फटाफट शावर लिया और अपना कॉस्टूम पहन कर ऊपर से ट्रैक सूट डाल लिया और स्वीमिंग पूल की ओर चल दिया. शायद तुम समझ रहे होगे कि मैं कोई बाजारू औरत की तरह व्यवहार कर रही हूँ.

एक झटके के साथ वो दर्द की सिसकारी निकालने लगी, तो मैंने लंड बाहर निकाल लिया. और तब डॉक्टर की बीवी ने अपने पति को कहा- मेरा बागड़बिल्ला … ठोक दे अपना किल्ला!डॉक्टर ने बहुत ही आहिस्ता से अपना लन्ड मेरी बीवी चूत की चूतराई में धंसा दिया. वो भी कोई प्रतिक्रिया नहीं कर रही थी और हम तीनों बातों में लगे हुए थे.

फिर सोनम आंटी उठी और उसने मेरे लंड को हाथ से पकड़ते हुए अपनी चूत के मुंह पर लगाया और मेरे लंड पर बैठती चली गई. अगले दिन शिवानी ने मुझे सब कुछ बता दिया और अपनी कामयाबी पर बहुत खुश थी. भाई ने मेरे सिर पर हाथ रख लिये और वो भी लंड चुसवाने के मजे लेने लगा.

बीएफ 4जी वीडियो उसने यह भी बताया- मेरे हस्बैंड मेरी चूत को मुँह में लेते ही नहीं हैं. मैं दिखने में अच्छा हूँ और मैंने अपना शरीर भी मैंने फिट करके रखा हुआ है.

एक्स एक्स एक्स बीएफ भेजना

मुझे लगा कि अब तो मैं इतनी दूर जा रहा हूँ तो सब कुछ ख़त्म!किन्तु उसी समय मेरे सिलेक्शन एक बड़े सरकारी अफसर के पद पर हो गया और किस्मत ऐसी कि पोस्टिंग भी उसी के शहर में मिल गयी।अब मैं उस जिले में सरकारी आवास में रहने लगा। मेरे आवास से उसका घर लगभग साठ किलोमीटर की दूरी पर था। ऐसे ही एक साल और बीत गया. इसी बहाने तुम्हें भी इधर के बारे में कुछ पता चल जाएगा और खाना भी खा लेंगे. मैं जैसे ही वहाँ पहुंचा तो संजना मुझे ऋषि (संजना का बेटा) के साथ दिखाई दी.

मैंने एक ही झटके में अपना पूरा लंड मेरी नंगी भाभी की चुत की गहराई में ठोक दिया. वो मुझको देख कर बोलीं- क्या हुआ वरुण … कुछ परेशान लग रहे हो?वैसे मैं बता दूँ कि वीना आंटी अकेली ही रहती थीं और घर चलाने के लिए ट्यूशन देती थीं. छोटे बच्चों की पिकजैसे ही मेरा हाथ पेट के नीचे चला गया, मेरा हाथ उसके बैग से टकराया। मैंने बैग को उठाया और अंदाजे से आगे वाली सीट पर फेंक दिया.

मैंने आंटी के चूचों को चूसते चूसते उनकी चूत में उंगली करने लगा और फिर उनके चूचों से होता हुआ उनके पेट और नाभि पर चूमने लगा.

पंद्रह मिनट बाद ही बियर और उसमें मिली व्हिस्की का सुरूर उन पर चढ़ना शुरू हो गया था. हम दोनों लोग आज भी जब भी मौका मिलता है तो हम दोनों लोग सेक्स करते हैं.

आंटी अभी कुछ समझ पातीं कि उसी टाइम मैंने पीछे घूम कर उनके होंठों पर एक लिपकिस कर दिया. उधर शिवानी तो अपनी चूत के मुँह में लंड को लेना चाहती ही थी, मगर सागर अभी भी कुछ झिझक रहा था. कहीं कुछ कोई कमी तो नहीं रह गई मुझमें? वो तो पूरी तरह से मेरा साथ दे रही थी.

वो बोली- चुत में मत डालना, मेरे मुँह में डाल दे, मुझे वीर्य पीना है.

अब मेरे धक्के इतने तेज हो गये थे कि मेरी जांघें उसकी गांड से टकराने लगी थी और इस टकराव के कारण पट-पट की तेज-तेज आवाज पूरे माहौल में गूंज उठी थी. तुम दोनों ने मुझसे बड़े होने के बावजूद भी मुझे तुम्हारे साथ खेलने का मौका दिया. उसने मुझे गले लगा लिया और बोली- आई लव यू हनी …इसके कुछ देर बाद मुझे मालूम हुआ कि उसकी सहेली भी साइड वाले रूम में चुद रही थी.

हिंदी सेक्सी पिक्चर हिंदी सेक्सीफिर उसने धीरे से मेरे अंडरवियर की इलास्टिक को अपने हाथों से नीचे कर दिया और इलास्टिक के नीचे जाते ही मेरा फनफनाता हुआ लंड उसके होंठों से टकरा गया. मैंने पूछा- जान अब ठीक लग रहा है?पर वो कुछ बोली नहीं और बस इशारे में जवाब दिया कि हाँ अब ठीक है.

देसी हिंदी फिल्म बीएफ

धीरे धीरे हमने एक दूसरे के कपड़े निकाल दिए और हम नंगे हो कर अपने बदन को आपस में जोर से रगड़ रहे थे. मेरी आवाजें आने लगी थीं- आह … आई … उह ओह शीउई!कुछ देर तक मेरी कुंवारी बुर चूसने के बाद उसने मेरी टांगों को उठाकर मुझे बोला कि इनको पकड़ो. एक बार फिर से मैं आप लोगों के लिए अपनी बीवी की चुदाई की कहानी लेकर आया हूं.

सबने उस बोतल से शेम्पेन पी… सब बहुत खुश थे… एक नया तजुर्बा हुआ था और सबसे बड़ी बात कि कुछ भी एसा नहीं नहीं हुआ जिस पर वो सभी गिल्ट फील करते. मैं जब अन्दर आया, तो मेरी वाइफ बोली- आप भी चेंज कर लो और फ्रेश हो लो. मैं पेट के बल लेट गयी और उसने मेरा पेटीकोट मेरी गांड तक कर दिया था.

मैंने बोला- किस टाइम?तो उसने कहा- रात को 9 से 10 के बीच में फोन करूंगी. अनिल उसके दूधों को मुंह में भर कर पीने लगा और मैं उसकी चूत को चाटने लगा. अब सारिका ने राहुल से उसके शौक, लाइफ आदि पर बातें करने शुरू कर दीं.

मैंने पूछा- यह सब क्या है?वो बोली- याद करो, पिछली बार जब हम मिले थे तो मैंने तुमसे कहा था कि अपनी गांड तुम्हारे लिये परोस कर रखूंगी. मैं उसकी चूत को मस्ती से चोदता रहा और पांच मिनट के बाद उसने खुद ही अपनी टांगों को उठा कर मेरे कंधे पर रख दिया.

अब जैसे मैं सीधा खड़ा हुआ, मेरा लण्ड भाभी की चुत के मुंह में किसी हुक की तरफ से फंसकर एक चौथाई के करीब उस मखमली गहराई में उतर गया जिससे स्वाति भाभी ‘ओह्ह य्य्य्य … ईईश्श्श … आआह्ह्ह …’ कहते हुए अपनी दोनों बांहें मेरे गले में डालकर मुझसे चिपट सी गयी और अपना एक पैर ऊपर हवा में उठाकर अपनी जांघ को मेरी कमर तक चढ़ा दिया.

उसकी वाइफ ने मेरी पत्नी की नाइटी एकदम ऊपर कर दी और फिर पेंटी भी उतार दी. हिंदी कहानियां मजेदारउसने मेरा लंड फिर से मुँह में ले लिया और उसे अपनी चूत के लिए तैयार करने लगी. शायरी जवाबीउनसे कंट्रोल नहीं हो पा रहा था, तो वो बोलीं- आप थोड़ा साइड हो जाओ … और गाड़ी का गेट खोल कर आड़ लगा दो. अलमारी से एक साफ फ्रेंची निकाली और जांघों से फंसाते हुए लिंग को छिपा लिया.

मैं उसके चूतड़ों को बड़ी वासना से देख ही रहा था कि तभी उसने पीछे पलट कर कहा- आप मुझे ऐसे क्या देख रहे हो … चलो बिस्तर पर जाओ.

” कहकर मैं हंसने लगा। अब तो गौरी के चेहरे पर भी मुस्कराहट ऐसे फ़ैल गई जैसे रात को चांदनी फ़ैल जाती है।प्यारे पाठको और पाठिकाओ! आज का सबक मैंने जानबूझ कर अधूरा छोड़ा था। बस थोड़ा सा इंतज़ार कीजिये हमारी तोतेजान खुद ही वीर्यपान की इच्छा जाहिर करने वाली है।कहानी जारी रहेगी. उस समय तो बात टल गयी, पर मुझे कुछ शक हो गया कि ये कहना क्या चाहती है. मैं उन दोनों को मजे से पढ़ाने लगा जिससे वो मेरी तरफ आकर्षित हो जाएं.

उस पल का आनंद यहां शब्दों में लिखना तो मुमकिन नहीं लग रहा है लेकिन वो अहसास इतना आनंदमयी था कि ऐसा लग रहा था कि इससे ज्यादा मजा किसी और चीज में हो ही नहीं सकता है. थोड़ी देर बाद भैया ने भाभी की चुत चाटना बंद किया और भाभी के ऊपर आकर अपने लंड को भाभी की चूत पर सैट करने लगे. हम दोनों ने अपने अपने कपड़े पहने और खेत बाहर गए, फिर अपने अपने कपड़े पहने और घर आ गए.

बीएफ वीडियो गाना डीजे सॉन्ग 2020

फिर उसने मुझे अपने केबिन में बुलाया और पूछने लगा कि तुम्हारे सामने एक गैर मर्द ने तुम्हारी बीवी की चुदाई कर दी तो तुम्हें बुरा नहीं लगा?मैंने कहा कि शुरू में तो मुझे बहुत गुस्सा आया था लेकिन फिर बाद में सब नॉर्मल लगने लगा था. मैं सोच रहा था कि आखिर वो मुझे इस तरह से बिना कुछ कहे क्यों चली गयी. और ऊपर से मामी की दी हुई ये धमकी … वो भी इतना आगे बढ़ने के बाद।तभी मुझे सीढ़ियों से अखिल उतरता नजर आया.

उसको समझते देर नहीं लगी कि मैं उन दोनों के साथ फोन सेक्स कर रही थी.

सेक्स करते करते कुछ देर बाद हम दोनों का रज अब निकलने वाला हो गया तो विवान भैया मेरी चूत को जोर जोर से चोदने लगे और कुछ देर के बाद हम दोनों चुदाई करते करते झड़ गए.

राहुल ने सारिका से माफ़ी मांगते हुए बाहर वाशरूम इस्तेमाल करने की इजाजत मांगी. 00 बजे यशिमा ऑफिस से आई और हम तीनों बाहर गए, एक होटल में खाना खाया और आइसक्रीम लेकर हम घर आ गए. सट्टा कार्टूनपिंकी और धीरज अच्छा डांस करना जानते थे तो पिंकी राजीव और धीरज सीमा और जोड़ों से टकराते हुए डांस करने लगे.

मैं ऊपर से शॉट पर शॉट मारे जा रहा था और साथ ही उसके एक निप्पल को अपने एक हाथ की दो उंगलियों से मसल रहा था. मैंने आंटी के मस्त मस्त चूचों पर हमला कर दिया और दबा दबा कर चूसने लगा. ” नीलम से अब बर्दाश्त नहीं हो रहा था। वह जल्द से जल्द अपनी चूत में अपने ससुर का मोटा लंड घुसवाना चाहती थी इसीलिए उसने ज़ोर से सिसकारते हुए कहा।ओहहहह बेटी… यह ले, मैं अभी तुम्हारी चूत में लंड घुसाता हूँ.

आंटी ने बोला- क्या मैं तुम्हारी गर्लफ्रेंड बनने लायक हूँ?मैं तो जैसे पागल हो गया और बाइक वहीं पर रोक कर बंद कर दी. कहीं कुछ कोई कमी तो नहीं रह गई मुझमें? वो तो पूरी तरह से मेरा साथ दे रही थी.

तभी तम्बाकू रगड़ कर मैंने अपने मुँह में ले ली, मुझ पर अब बुरी तरह नशा छाया हुआ था.

उसके पिताजी की ज़िद के चलते हमारी शादी नहीं हो पायी, इस बात का मुझे आज तक मलाल है. मैंने अपने लंड पर हाथ फेरते हुए कहा- मैं कुछ दिखा सकता हूँ?भाभी ने अपनी आँखें मेरे लंड के उभार पर लगा दीं. इसी बीच में मैंने अपने लंड को थोड़ा और अंदर खसका दिया था। लेकिन अब भी लंड आधा ही गया था और हम दोनों ही ठण्ड के मौसम में भी पूरी तरह पसीने पसीने हो गए थे।वो बार बार यही बोल रही थी- मुझे दर्द हो रहा है, मेरी सहेली मेरा इंतजार कर रही होगी, मुझे घर जल्दी पहुंचना है.

देसी भाषा में सेक्स उसने अपने दोनों हाथों से मेरे हाथों को जोर से पकड़ा हुआ था। दोनों ओर से मेरे ऊपर हमला हो रहा था और मुझे प्रतिकार करने का मौका ही नहीं मिल रहा था।युवराज मेरे दांयें निप्पल को चूसता, फिर स्तनों के बीच की घाटी को चूमते हुए बांयें निप्पल को मुँह में पकड़ता, दूसरी तरफ अमित मेरे पैरों को किस कर रहा था। घुटनों से शुरू करते हुए वह जांघों तक किस करता रहा और फिर मेरी चूत की तरफ बढ़ने लगा. मैं जब अन्दर आया, तो मेरी वाइफ बोली- आप भी चेंज कर लो और फ्रेश हो लो.

मैं उसके बुलाये बिना ही उसके पास चली गई और नीचे बैठ कर उसके तने हुए लंड को फिर से मुंह में लेकर चूसने लगी. काजल ने सुमिना के मुंह पर अपनी चूत लगा रखी थी और आशा सुमिना की चूत में उंगली कर रही थी. मेरी वाइफ बोली- कोई बात नहीं … मगर जब तक यह बात हम तीनों के ही बीच में है, तब तक मुझे कोई प्राब्लम नहीं है.

मुस्लिम लड़की के बीएफ वीडियो

हम सोच रहे थे कि पास में कोई भी नहीं है लेकिन पास ही में एक बोलेरो गाड़ी खड़ी हुई थी जिसका गेट अचानक से खुला और उससे चार लोग निकल कर बाहर आये. कुछ समय बाद मैं थोड़ा धीमा हुआ, तो वो मेरे नीचे से निकलकर मुझे उलटा कर मेरे ऊपर आ गईं और चालू हो गईं. अंजू बोली- अब अपना लंड मेरी चूत में डालो यार … अब मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा है.

उसने अपनी बहन की टांगों को घुटनों तक मोड़ते हुए उसके चूतड़ों के नीचे एक तकिया रख दिया। ज्योति की चूत अब बिल्कुल खुल कर ऊपर उठ गयी थी और उसकी चूत का छेद खुला हुआ था जिसमें से पानी निकल रहा था।समीर अपनी छोटी बहन की टांगों के नीचे बैठते हुए अपने लंड को ज्योति की चूत पर रगड़ने लगा।आह्ह भैया … आराम से डालना 8 बरसों से यह बंजर है. अब रजू ने मीनू की गांड में उंगली करनी शुरू कर दी थी और वो अपने एक हाथ से अपने चूचों को दबा रही थी.

क्या गोल गोल गोलाइयां थीं उसकी!नीता ने तो आगे आकर उसके निप्पल चूम लिए.

इसके बाद दोनों ही अपनी अपनी चूत को चूसने लग गए और दोनों ने ही अपनी चुत वालियों के मम्मों को निचोड़ना शुरू कर दिया. इस पर मैंने उनका हाथ थाम कर उनसे कहा- क्यों दामाद दोस्त नहीं हो सकता क्या? दोस्ती का रिश्ता हर रिश्ते से बड़ा होता है और अच्छे दोस्त का फर्ज एक दूसरे के काम आना भी होता है. ज्योति को गए हुए आधा घंटा बीत चुका था। महेश अपने कमरे में टीवी देख रहा था.

अनिल बोला- तुम बीच-बीच में काम के बहाने से मुझे और ऋतु को अकेले छोड़ देना. उसको लगने लगा था कि मेरा गर्म लौड़ा अब उसकी चूत को शायद नहीं मिल पायेगा. फिर वो कहने लगी कि उसे कुछ रोज़ की जरूरतों का सामान चाहिए है इसलिए हम लोगों ने बाजार जाने का प्लान किया.

उन दिनों उनके बेटे की तबियत भी ठीक नहीं थी इसलिए वो भी नहीं जा रही थी.

बीएफ 4जी वीडियो: थोड़ी देर बाद उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया और इधर मेरे लंड से भी बौछार निकल गई. विशाल ने हॉल में रखे फ्रिज से बियर कि बोतलें निकाल कर उसमें थोड़ी थोड़ी व्हिस्की मिला दी और चिल्ड बोतलें सबको पकड़ा दीं.

रास्ते की बरसात में सागर भी गीला हो चुका था और शिवानी के पास कोई भी लड़कों का कपड़ा नहीं था. राहुल ने महसूस किया कि जो कपल हैं वो अपनी बीवियों से चिपका चिपकी सी कर रहें हैं और आपस में हलके मजाक भी कर रहे थे. मैं बोला- ऐसा ही है … क्योंकि मुझे लड़कियों से बात करने में डर लगता है.

मैं उसे पूरी तरह गर्म कर देना चाहता था ताकि वो खुद ही कपड़े उतारने पर मजबूर हो जाये.

” महेश ने अपने हाथ को अपनी बहू की चूत से हटाते हुए कहा जिसे वह अपनी लार से गीला करके अपनी बहू की चूत को चिकना कर रहा था।महेश ने अपने दोनों हाथों से अपनी बहू की चूत के छेद को पूरी तरह से फ़ैला दिया।आह्ह्ह्ह बहू, तुम्हारी चूत का छेद कितना सुंदर है. मैंने पहले भी कई सरदारनियों की चुदाई की है, पर जो स्वाद एक कुंवारी सरदारनी की चुदाई में मुझे आया, वो उन चुदी-पिटी फुद्दियों में नहीं आया था. कुछ देर पहले तक जिन आंखों में सेक्स की प्यास थी उनमें अब मुझे दर्द साफ-साफ दिखाई दे रहा था.