बीएफ हिंदी फिल्म ब्लू

छवि स्रोत,राजस्थान बीएफ सेक्सी हिंदी

तस्वीर का शीर्षक ,

ব্লু ফিল্ম দেখতে চাই: बीएफ हिंदी फिल्म ब्लू, तभी लोलिशा भी आ गई।देव के आने के बाद हमने खाना खाया।वह बहुत थक गया था जाम की वजह से।फिर वो सो गया।उसके बाद उस रात मैंने लोलिशा को तीन बार और चोदा।मैं सुबह पाँच बजे जाकर बाहर वाले कमरे में सो गया।फिर देव ने मुझे सुबह आठ बजे जगाया.

सेक्सी बीएफ सेक्सी नेपाली

ये कहते हुए डॉक्टर रोहित ने मेरी स्कर्ट उठा दी और मेरी गोरी गोरी गद्देदार गांड नंगी हो गयी. सेक्सी भाई बहन की बीएफमैं बीच में कुछ बोल भी नहीं सकता था कि तुम लोग मजे करो, मुझे नहीं चाहिए.

उन्होंने मुझे बस एक मुस्कान दे दी और अपने आपको बाथरूम में जाकर साफ करने लगीं. हिंदी सेक्सी वीडियो बीपी बीएफसुन्दर ने पीछे से मेरी साड़ी के ऊपर से मेरे चूतड़ दबाए।मेरे मुंह से मीठी सिसकारियां फूटने लगीं.

मगर दो मिनट में ही मेरे लंड ने पानी छोड़ दिया और मैंने अपना लंड मामी के मुँह से बाहर खींच लिया.बीएफ हिंदी फिल्म ब्लू: इस वक्त मुझ पर इतनी मस्ती छाई थी कि क्या बताऊं … मन कर रहा था कि अभी जाकर अफ़रोज़ का लंड अपनी चुत में डलवा लूं.

एक मिनट के लिए तो वो घबरा गई लेकिन समझ गयी कि आज मुहब्बत करने की बेला आ गयी है.कुछ देर बाद कृति के सामान्य होते ही मैंने फिर से लंड चूत में पेल दिया.

सेक्सी वीडियो बीएफ गाने - बीएफ हिंदी फिल्म ब्लू

कुछ 15 मिनट की चुदाई के बाद उसकी आवाजें तेज हो गईं, उसने अपनी गति बढ़ा दी.अपने लण्ड का सुपारा बुर के लबों में फँसा कर मैं बहार के ऊपर लेट गया और उसके होंठ चूसने लगा.

राजेश ने मेरी चूत को पीना शुरू किया तो मेरी आवाजें और तेज हो गईं ‘ओओ … ऊह ऊम्म. बीएफ हिंदी फिल्म ब्लू मैं जब तक कुछ समझ पाती कि वो अपने दूसरे हाथ से मेरी चूचियों को दबाने लगा.

पापा फ़ौज़ में थे, जिस वजह से वो साल में 2 या 3 बार ही घर आ पाते थे.

बीएफ हिंदी फिल्म ब्लू?

मिहिका बोली- बस आज तो नींद उड़ गी … तू आजा बस … इब तो दादी पोता दोनों सो रहे हैं. इंडियन रंडी देसी कहानी मेरी चालू गर्लफ्रेंड और उसकी बड़ी बहन की चूत चुदाई की है. मैंने धीरे से पूछा- प्रसाद में क्या देना होगा?एक ने कहा- हम हर रोज खीर बनाते हैं.

अभय ने ममता को नंगी ही अपनी गोद में उठाया और सीधा बाथरूम में ले जाकर उसे कमोड पर बैठा दिया. हुर्रेम एकदम ऐसी चुसाई कर रही थी, जैसे पोर्न ऐक्ट्रेस ब्लू फिल्म में चूसती है. मैं- शीना, अब मैं क्या करूँ ये तुम्हारे जाने के बाद मुझे बहुत तंग करेगा.

इन ग्यारह वर्षो में बिंदु ओर मैं कैसे तड़पती रही थीं ये साफ़ दिख रहा था. अब मुझसे सेक्स के बिना बिल्कुल भी नहीं रहा जा रहा था मुझे कोई ऐसा मर्द चाहिए था जो मेरी सेक्स की भूख को शांत कर सके और मैं उसकी!घर पर अकेले पड़े पड़े मुझे मेरा घर खाने को दौड़ता था; घर पर बिल्कुल भी मन नहीं लगता था. मामी जी- ओह ओह्ह ओ ओह हइई मार डाला … उफ्फ़ सुनिए राहुल … ओह्ह् … ओह्ह अपने मूसल लंड सेसीई और जोर से चोदो ओह्ह्ह.

नीचे चुत में मेरे लंड के धक्के जारी थे और ऊपर मैंने बुआ के होंठों को चूसना शुरू कर दिया था. हस्बैंड एंड वाइफ सेक्स कहानी में पढ़ें कि पुरानी सहेलियाँ शादी के बाद मिली तो उन्होंने क्या गुल खिलाये.

रीमा उसके मुँह से उतर गयी और उसने निखिल को अपनी ओर आने का इशारा किया.

मैं भी जोश में था … मैंने भी मिहिका के नीचे वाले होंठ को अपने होंठों में कैद कर लिया और जोर से खींच खींच कर होंठ चूसने लगा ….

मैंने देखा कि एक हाथ मेरे अंडरवियर के अन्दर है और मेरे लंड से खेल रहा है. अभिनव के लिए नीम्बू का मीठा वाला अचार भी आप भेज देतीं क्योंकि मम्मी आपको पता ही है कि अभिनव को नाश्ते में परांठे और नीबू का मीठा अचार ही पसंद है. वो मुझसे लिपट गई और हम दोनों एक दूसरे के विश्वास को प्यार में बदलने लगे.

मेरी सूझबूझ, सूर्यभान की मदद और सेना की ताकत से सिर्फ दो दिन में ही हम विजयी हो गए. ह्म्म्मम् … सही है पापाजी!” बहू बोली और लंड को मुंह में भर लिया और अपनी जीभ के दबाव से चूसने लगी. गन्दी भाभी की सेक्स कहानी में पढ़ें कि ओरल सेक्स के बाद भाभी ने अपनी चूत मेरे होंठों पर रख दी और बोली कि अब मेरा अमृत रस पीयो.

वो चीख पड़ी- आह मर गई … याल्ला आहहह आहहह धीमे चोद करमजले … आह मर गई साले.

अगर मैं उसे आगे कुछ करने देती, तो इसका मतलब था कि मैं चुदवाने के लिए ज़्यादा बेकरार हूँ … और अगर उसे मना करती तो उसका मूड ख़राब हो जाता और शायद फिर वह मुझसे बात भी ना करता. डेलिवरी बॉय सेक्स कहानी में पढ़ें कि पड़ोसी लड़के ने मुझे सेक्स में चरम तक नहीं पहुंचाया तो मुझे लंड की जरूरत थी. जिन लोगों के कॉलेज या स्कूल से टूर जाता होगा, उन्हें ये सब पता होगा.

वो बोला- हां तो आगे आओगी, तो मारनी पड़ेगी ही ना!मैंने बोला- मुझे नहाने जाना है. वो भी तुरंत बेड पर कुतिया बन गई।नीतू की उभरी हुई गांड देखकर मैं खुद को रोक न सका और एक के बाद एक कई झापड़ उसकी गांड पर जमा दिए।उसकी गुलाबी गांड लाल हो गई थी. बात करते करते मैं उसके कान के ऊपर हाथ फेरने लगा और कभी उसकी गर्दन सहलाने लगा.

फिर घूंघट उठा मेरे होंठों को धीरे से चूमते हुए बोले- वाह … क्या खूबसूरती की मूरत हो।धीरे धीरे कपड़े बदन से हटते गए और मुकेश ने मुझे बांहों में कस लिया।उन्होंने मेरा हाथ पकड़ लिया और अपने अकड़े लंड पर रख दिया.

नगमा तो पहले से एक नम्बर की रंडी थी, पर मुझे अब तक ये मालूम था कि हिना वैसी नहीं थी. मैं दरवाजा खोलकर वापस आया तो पलंग पर शन्नो पल्लू ढक कर बैठी थी और गुलाब की पंखुड़ियों से पलंग सजा हुआ था.

बीएफ हिंदी फिल्म ब्लू इस तरह से मीरा ने रीमा को अपनी बातों के जाल में उलझा लिया और निखिल के जोर देने से रीमा मान गयी. मैंने अपने बेटे करन, यह नाम हमने पहले ही सोच लिया था, को किस किया और घर के लिए चल पड़ा.

बीएफ हिंदी फिल्म ब्लू अब भी क्या कसावट थी, जिस अंग को जहां जैसा कड़क होना चाहिए … वैसे ही एकदम व्यवस्थित था. चाय पीते पीते मैंने बिंदु से पूछा- यार बिंदु फैमिली प्लानिंग के लिए क्या सोचा है?यह सुनते ही बिंदु उदास हो गई और कुछ नहीं बोली.

वो मेरी बात समझते हुए बोलीं- अच्छा ये बात है … वैसे तुम किसी लड़की को पसंद करते हो?मैं बोला- अभी तक तो नहीं … मगर आपके जैसी कोई हो, तो बताना.

कुवारी दुल्हन मराठी चित्रपट

पूनम बुआ बाहर बैठक में थीं और बेटा पढ़ाई कर रहा था, जबकि बेटी सो चुकी थी. अब आगे स्टेप मॉम सन सेक्स स्टोरी:अब हम दोनों एक दूसरे का हाथ पकड़ कर उंगलियों में उंगलियां फंसाए हुए एक-दूसरे की आंखों में आंखें डालकर देखने लगे. इसलिए मैंने कहा- चल, अगर मैंने तेरा मज़ा ख़राब किया है … तो मैं ही तेरा मज़ा वापस कर देती हूँ.

शादी के एक हफ्ते बाद हमें अपने दिल्ली वाले फ्लैट में भेज दिया और यहाँ सबको बता दिया कि विजय और बरखा यूके गये हैं. हमने भी मना नहीं किया और तीनों खाना खाते हुए साथ में थोड़ी थोड़ी पीने भी लगे. मैं पूरी कोशिश करूंगी कि अपनी दूसरी सेक्स कहानी जल्द ही आपके लिए ला सकूं.

और फिर आगे क्या हुआ ये सब जानने के लिए अगली कहानी ज़रूर पढ़ना।आपको मेरी देसी गांड और चूत की दो मर्दों से चुदाई की ये थ्रीसम सेक्स स्टोरी कैसी लगी मुझे अपने मैसेज में जरूर बताना.

तब चाची बोलीं- तेरा राजू भी तो पूरा जवान है … साली, इतना अच्छा माल घर में है और मोमबत्ती से काम चलाती है. मैंने भी जानबूझ कर अपना कमरा लिए रखा था ताकि कोई दूसरा उन्हें परेशान न करे … और कोई दूसरा उनकी मजबूरी का फायदा न उठा सके. तो उन्होंने कहा- बेटी तू फिक्र मत कर, तेरे अब्बू (ससुर जी) मुझे वहीं छोड़ कर रात तक वापस आ जाएंगे।दोस्तो, जैसा मैंने चाहा था बिल्कुल वैसा ही हुआ।वो दोनों चले गए.

हमने भी मना नहीं किया और तीनों खाना खाते हुए साथ में थोड़ी थोड़ी पीने भी लगे. मैंने भी उसकी चाह समझ ली और अपने मुँह में उसके मुँह में भरा घूंट पी लिया. ममता की चूत से सीटी की आवाज के साथ मूत बाहर आने लगा, जिसे अभय सुन कर मुस्कुराने लगा.

मुझे उसकी बात सुनकर मायूसी सी हुई कि लंड खड़ा नहीं होता तो क्या गांड मराने के लिए फोन किया. धीरे धीरे सायरा से मेरी सेटिंग हो गई और संगीता की गैरमौजूदगी में सायरा की चुदाई होने लगी.

वाइफ एक्सचेंज सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरे पति के दोस्त की बीवी प्रेगनेन्ट नहीं हो पा रही थी. ममता लंड मुँह से निकाल कर बोली- ऐसे क्या देख रहे हो? क्या किसी ने इस तरह तुम्हारा लंड नहीं चूसा? वैसे मेरी रगों में भी वही खून दौड़ रहा है. जिसके कारण हम दोनों की जांघें आपस में टकरा रही थीं और पट पट की मादक ध्वनि उत्पन्न कर रही थीं.

चुदाई का ये खेल दिन ब दिन बढ़ता जा रहा था और हम दोनों को पता नहीं चला कि कब साहिल को हम दोनों पर शक हो गया था.

मैं अपनी गांड उछाल कर लौड़ा अंदर लेने लगी।मुझे चुदने में आनंद आने लगा. जिसके लिए लंड हमेशा खड़े रहते हैं और लड़कियों की चूत में हमेशा पानी बहता रहता है. पापा का लंड मम्मी की चुदाई कर रहा था, उनके हाथ मम्मी के दूध दबा रहे थे और उनके होंठ, मम्मी के होंठों का रस पी रहे थे.

न्यू हॉट गर्ल्स सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरा दोस्त अपनी गर्लफ्रेंड की चुदाई के लिए मुझे साथ ले जाता था. मैंने आंटी की दोनों टांगें फैलाकर उनकी चुत को गौर से देखा और अपनी जीभ से चुत चाटने लगा.

मैंने मन में सोचा कि रानी मैं चोदता भी बहुत जबरदस्त हूँ … कभी हवेली पर आओ तो तुम्हारी चुत चोद कर भोसड़ा बना दूँ. जहां ममता ने अपने लिए कुछ सलवार सूट लिए और अभय ने भी अपने लिए जींस टी-शर्ट खरीद लिए. पर थोड़ी जबरदस्ती से इस इंकार और इकरार के खेल में मज़ा दोगुना हो जाता है.

సెక్స్ తమిళ్ వీడియోస్

एक बार फिर से महारानी कृति ने मुझे अश्वशक्ति प्रदान करने वाला पेय पिलाया और कुछ ही देर में मैं पुनः एक अश्व के समान हिनहिनाने लगा.

सुबह मीरा उठी तो उसने रीमा को उठाया और वो काम वाली बाई के आने से पहले रीमा को अपने कमरे में ले गयी. शमा मुझे देख कर हंस पड़ी और बोली- अब क्या आप बैठोगे नहीं?मैं फिर से अचकचा गया और हं. उर्वशी बात करने लगी पर उसे दर्द होने की वजह से अच्छे से नहीं बोल पा रही थी.

और फिर उसकी सासू माँ मुझसे यह बात छेड़ेगी कि ग्वालियर की शादी में जाना है; अभिनव तो जा नहीं पायेगा; आप कहो तो बहू को जाने दें? अगर आप भी चले जाते तो और भी अच्छा रहता; किसी को कोई शिकायत नहीं रहती. हम सब दोस्त और टीचर्स बस में आ चुके थे और हम लखनऊ के लिए निकल चुके थे. बीएफ सेक्स मूवी सेक्स मूवीमैंने नोटिस किया कि मम्मी की और उनकी कई देर तक रात में चैट एवं वीडियो कॉल होती थी.

देसी फैमिली की चुदाई कहानी कैसी लगी आपको? आप मुझे मेल करना न भूलें. हमारा ये रोलप्ले मेरे झड़ने के बाद ख़त्म हो गया और लंड को चूत ने धकेल कर बाहर कर दिया.

अफ़रोज़- आपा आप तो ऐसे कह रही हैं … जैसे लड़कियां मेरे लिए सलवार नीचे और कमीज़ ऊपर किए तैयार हैं कि आओ पेंट खोलकर मेरी ले लो. अब आगे देसी चाची चुत चुदाई स्टोरी:शबनम चाची के दर्द भरी आवाजें शांत होते देख का खान सर बोले- शबनम मादरचोद … मजा आ रहा है. मेरी उत्तेजना बढ़ने लगी थी और अब मैं बुआ के हर अंग को भलीभांति महसूस कर सकता था.

”तुम्हारी थकावट और कमजोरी दूर हो जाये तो खेलने को तैयार हो?”हाँ, सर. मैं मन में सोच रही थी कि कैसे इस कुंवारे लंड को लड़की पटाकर चोदना सिखाऊं. दोस्तो, इस तरह मैंने एक आंटी शन्नो को रात भर चोदा और उसके साथ सुहागरात मनाई.

थोड़ी देर के बाद रमेश ने दीदी के दोनों दूध पर चांटे मारे और उन्हें लाल कर दिए.

मेरे लंड को इस वक्त न जाने क्या हुआ था कि मैंने वहीं पर उसकी चुत में गधे की तरह लंड पेल कर उसे चोदता रहा. उसके होंठों पर होंठ रखकर मैंने उसकी चूत पर हाथ फेरा तो उसने मेरा बरमूडा नीचे खिसका दिया.

उसके पास मेरे लिए कोई काम था … तो मैंने उसे हां कर दिया और काम के बारे में पूछा. उसने मेरा हाथ पकड़ा और मुझे अन्दर बॉथरूम में ले जाकर बहुत जोर से चोदा. अभय ने चूत को छोड़ कर अपना मुँह आगे करके एक निप्पल मुँह में ले लिया और चूसने लगा.

सुरजन ने जुबान चूत में घुसा कर ज़ोर ज़ोर से मेरी चूत चूसनी शुरू कर दी. उसके बाद वो मेरे होंठों को किस करते हुए मेरे सभी अंगों को चाटने लगी थी. ये मॉम बेटा सेक्स सीन देख कर मेरा और मम्मी का दिमाग भी खराब हो चुका था.

बीएफ हिंदी फिल्म ब्लू लेकिन मेरा लंड आगे नहीं जा पा रहा था; ऐसा लग रहा था कि उसे कोई चीज रोक रही थी।मैंने नीतू से अपनी गांड ढीली करने को कहा तो उसने कहा कि उसे नहीं पता कैसे ढीली की जाती है, जो भी करना है, खुद करो।मैं उसके दोनों चूतड़ों पर जोर-जोर से झापड़ लगाने लगा। मेरा हर झापड़ उसके चूतड़ों पर मेरी उँगलियों की छाप छोड़ देता।मैं झापड़ लगता तो वो दर्द से कलप जाती लेकिन साथ ही साथ और जोर से मारने को कहती. रुबिका के कॉलेज जाते ही मैंने अपने भाई को बुला लिया और उन दोनों को अपनी नानी के यहां भिजवा दिया.

काम की सेक्सी

वह बोली- मेरे पास कोई दूसरा सिम कार्ड नहीं है, प्लीज प्लीज आप नया नंबर ले लो … ये नम्बर मैंने अपने परिचितों में दे दिया है. मेरी पहली बार सेक्स की कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपनी भाभी को उनके दोस्त के साथ नंगी चुदाई करते देखा. मैं दरवाजा खोलकर वापस आया तो पलंग पर शन्नो पल्लू ढक कर बैठी थी और गुलाब की पंखुड़ियों से पलंग सजा हुआ था.

सभी टीचर्स छात्रों को बसों में बिठाने में व्यस्त थे क्योंकि बस में जितनी सीट थीं, उतने ही छात्र बैठे जा सकते थे. रात में जब मैरे पास आईं, तो मैंने पूछा- क्या हुआ है मां? आप मुझे कुछ दिनों से परेशान लग रही हो. बीएफ सेक्सी ओपन मराठीमैं तो पहले ही गीली हो रही हूं ऊपर से रात भर से सोई नहीं; मुझे और मत छेड़िए.

इसी तरह कुछ देर मेरे मम्मे दबाने के बाद उन्होंने मेरी शर्ट उतार दी और मेरी ब्रा के ऊपर से मम्मों को दबाया.

प्रिंसिपल सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं लौड़ों की प्यासी हो गयी थी। स्कूल के प्रिंसिपल ने कैसे मुझे होटल में लेजाकर चोदा. उसके बाद मैंने मम्मी के सामने अपनी पड़ोसन चाची को भी चोदा और मम्मी की गांड भी मारी.

कभी कभी तो मैं उसकी कमर में हाथ डाल देता हूँ, पर तब भी वह कुछ नहीं कहती है. वो मादक सिसकारियां लेने लगी और चिल्लाने लगी- आह और ज़ोर से चोद मेरे राजा. अगली बार Xxx मामी से शादी करके मैंने उनकी चुदाई का मजा लिया और उनकी कुंवारी बहनों की सील तोड़ चुदाई का मजा कैसे लिया … वो सब मैं अगली सेक्स कहानी में लिखूंगा.

”मेरी राजधानी एक्सप्रेस जब मंजिल के करीब पहुंचने को हुई तो लण्ड लोहे के मूसल जैसा हो गया.

जीजा जी ने मुझे अपनी बांहों में भर लिया और मेरे होंठों पर अपने होंठों को रख कर मुझे चूमने लगे. मैंने झट से मोबाइल में से अपनी मॉम की फोटो उनको दिखा दीउन्होंने मेरी हॉट मॉम को देखते ही कहा- अरे ये तो बड़ी खूबसूरत हैं. मैंने अपने बदन पर साड़ी डाली हुई थी, उसने मेरे बदन से मेरी साड़ी ब्लाउज पेटीकोट को अलग कर दिया और अब मैं सिर्फ ब्रा और पैंटी में उसके सामने रह गई थी.

सेक्सी सीन वाली बीएफसाहिल की अम्मी भी मुझसे चुदते समय अपने बेटे से चुदने की इच्छा जाहिर कर रही थी. हम 69 की पोजीशन में आ गए; दोनों एक दूसरे के अंगों को चूसने चाटने लगे।वो तो लंड को लोलीपॉप के जैसे चूसने लगी और गपागप अंदर तक ले रही थी।उसकी चूत ने नमकीन पानी छोड़ दिया; अब उसकी चूत गीली हो गई थी।मैंने उसे उठाकर बिस्तर पर सीधा लिटा दिया उसके ऊपर आ गया.

कार का गेम दिखाओ

कोई भी उनको देखकर सपने में भी नहीं सोच सकता कि वो एक बच्ची की मां हैं. भाभी बोलीं- ओके, मैं तब तक तुम्हारे दोस्त से बात कर लेती हूँ कि वो रात तक वापस आ जाएंगे या नहीं. आपको देखकर तो ऐसा लगता है कि आपको ही अपनी गर्लफ्रेंड मानकर यहीं पर चूम लूं.

मैं पूरे इंतज़ाम से बैठा था कि शाइना आएगी और मैं उसके मुँह में लंड दे दूँगा. आपको यह ग्रुप में ओपन सेक्स की कहानी कैसी लग रही है?आपकी प्यारी मनीषा भाभी[emailprotected]ग्रुप में ओपन सेक्स की कहानी का अगला भाग:पड़ोसन भाभी ने मेरी अन्तर्वासना को समझा- 3. उसके बाद उन्होंने मेरे होंठों को चूमा था और मैंने कोई एतराज नहीं जताया था.

चाची की आंखों से आंसुओं की धार निकल गई और वो बोलीं- आहहह … बापरे सर आपने तो गांड फाड़ दी. वो धीरे धीरे फिर से गर्म हो गईं और सिसकारियां लेने लगीं- उह उई ईहह उम्म्ह ओह यहह!अब भाभी ने कहा- अब मुझसे बर्दाश्त नहीं होता राज … अपना मूसल मेरी चुत के अन्दर डाल दो. मैं आपकी रंडी और रखैल बन कर रहूंगी ज़िन्दगी भर। आप जिससे बोलोगे उसी से चुदूँगी!फिर उन्होंने मुझे घोड़ी बनाया और अपना लम्बा मूसल लौड़ा मेरी चूत के मुँह पर रख कर एक हल्का सा झटका दिया।ऐसा लगा मुझे जैसे आज मेरी सुहागरात है।मुझे हल्का सा दर्द हुआ तो मैंने बर्दाश्त कर लिया।फिर उन्होंने एक ओर झटका दिया जिससे आधा लंड मेरी चूत को चीरता हुआ अंदर चला गया।इस झटके ने मुझे दिन में तारे दिखा दिए थे.

उसने भी मेरे लंड पर चॉकलेट लगाकर मेरे लंड को चूसा और मेरा पानी एक बार निकाल दिया. दोस्तो, मेरी देहाती विधवा मां की वासना इतनी अधिक बढ़ चुकी थी कि वो अपनी चुत रगड़ने लगी थीं.

नगमा जोर से चिल्लाई- आह्ह अह भड़वे … मादरचोद मेरी गांड फाड़ दी तूने … अह्ह्ह्ह रुक जा शैतान के बच्चे!मगर मैं नहीं रुका और उसकी गांड मारता ही रहा.

”मैं नहाने के लिए चल पड़ा, मैंने देखा कि बहार ने बहुत छोटी सी फ्राक पहनी हुई थी, जिसमें से उसकी गोरी गोरी मांसल जाँघें ढक नहीं पा रही थीं. सेक्सी बीएफ एक्स एक्स एक्स एक्स बीएफऔर उस पर झड़ने के कारण उसकी बुर का पानी ऐसे चमक रहा था जैसे फूलों पर ओस की बूंद चमकती है. अंग्रेजी अंग्रेजी बीएफअब वो बेड के बिल्कुल किनारे पर आकर घोड़ी बन गईं और मुझे नीचे खड़ा होकर लंड पेलने की कोशिश करने को कहा. कहां तो मेरे हस्बैंड मेरे साथ रोज सेक्स करते थे और फिर अचानक से हम एक दूसरे से बिल्कुल अलग हो गए थे.

मैं गांड उठाते हुए बोली- आह राजू … सच में प्राची और आपकी बीवी इतना मस्त आनन्द अकेली ही उठा रही थीं.

मेरा दोस्त अपने गांव गया था और वो एक दूसरे दोस्त को चाभी दे गया था. [emailprotected]मैं इसका अगला हिस्सा लिखने को उत्सुक हूँ, बस अपने पाठक जैसे भाभी जी, आंटी जी, अंकल जी और मस्त कुंवारी चुत वालियों के आग्रह का इंतज़ार है. उसका लंड कड़ा हो गया था और वह अपनी जांघों के बीच मेरे चूतड़ों को जकड़े था.

मैंने मीना कि तरफ देख कर कहा- आओ मीना देवी … इधर आओ … अब थोड़ा अपने पतिदेव के लंड का भी स्वाद चख लो. कुछ इसी तरह की परिस्थितियां बनीं कि उस दिन हम दोनों की मुलाक़ात नहीं हो सकी. ममता- तो अपनी ही छोटी बहन को ब्रा पैंटी में देखने की इच्छा है आपको?अभय मुस्कुराते हुए बोला- तुम्हीं ने तो पूछा.

सेक्सी होली इमेज

जिसके बाद रुबिका एकदम बेताबी से अपनी चूत पूरी शहज़ाद के मुँह में घुसा घुसा कर उससे चटवाने लगी. सेल्सगर्ल- मैं आई हेल्प यू मेम?नेहा- यस कुछ लेटेस्ट डिजाइन के ब्रा पैंटी सेट्स दिखाओ. अब तो दीदी खुद के हाथों से रमेश की गांड पकड़ने लगी थीं- आह चोद दे आह साले … मस्त अन्दर तक पेल रहा है … आह कितने दिनों से मेरी चुदने की इच्छा आज पूरी हुई है.

उन्होंने मेरे बदन को अपनी बाँहों में दबोच लिया और मेरे मम्में पकड़ कर दबाने लगे। उन्होंने लंड मेरी गांड में घुसा दिया और तेजी से मेरी गांड मारने लगे.

कुछ मिनट बाद मैंने लंड खींचा और अपने कपड़े उठा कर अपने रूम में चला गया.

जैसे ही मैं मामी जी के ऊपर आया, उन्होंने अपनी जांघों को फैला दिया, जिससे मेरा लंड मामी जी की चुत की फांकों से टकरा गया. वो मेरे लंड को ऐसे चूस रही थी, जैसे लंड में कुछ ढूंढ रही है और उसे चूस कर निकाल लेना चाहती हो. अमेरिका बीएफ बीएफममता- मुझे नहीं पता!अभय- अभी तो मेरा लंड कितना स्वाद ले लेकर चूस और चाट रही थीं और अब शर्मा रही है.

सादिका का मेरी बीवी के मामा जी के घर वालों से रिश्ता अच्छा था, तो वो लोग उसे भी वहीं बुला रहे थे. मां ये सब देख बहुत परेशान हो रही थीं, फिर थोड़ी देर बाद वो भी ये सब भूल कर सेक्स वीडियो देखने लगीं. फिर नाश्ते के बाद मैं जानबूझ कर रुबिका को बोलकर गयी- मैं कुछ काम से बाहर जा रही हूँ, दोपहर तक आऊंगी.

मैं अपनी जिंदगी के और भी सेक्स अनुभव आप लोगों के साथ शेयर करने की चाह रखता हूँ … आपके प्रोत्साहन से मुझे हिम्मत मिलेगी. चूंकि मैं अपने पति के साथ वोडका लेती रही हूँ और अब तो मुझे वोडका पीने में मजा भी आने लगा था.

इससे नेहा की हालत अब खराब होने लगी तो वो भी ममता की चूत सहलाने लगी … और ममता भी नेहा के कड़क कूल्हे मसलने लगी.

जब उन्हें मेरी इस नज़र के बारे में पता चला तो पहले तो वो नज़रअंदाज़ करने लगीं पर बाद में चाची ने अपने पल्लू को पिन लगाना चालू कर दिया. अब तक उसने लंड को पैंट की जिप से निकाल कर चूसा ही था लेकिन पूरा खोल कर नहीं देखा था. इससे दीदी को मजा आने लगा और वो सीत्कार भरते हुए रमेश से बोलीं- आह मजा आ गया … और दो थप्पड़ मारो.

भूतवाला बीएफ मैंने पूछा- मुस्कुरा क्यों रही हो!वो बोली- मैंने लंड की लंबाई और मोटाई नाप ली और मुझे आज जन्नत की सैर होगी. करीब दो मिनट की दर्दनाक चीखों के बाद अब मीना का दर्द आनन्द में बदल चुका था.

मेरा हर हफ्ते का संडे फिक्स है … क्योंकि संडे को कोई घर पर नहीं रहता, मम्मी की किटी पार्टी होती है … और प्रज्ञा अपनी फ्रेंड के यहां जाती है. मैं तुरंत दादा दादी के पास गया और बोला कि दादा ये स्कूल का फॉर्म है, इस पर आप साइन कर दो. तभी उसके पास रितेश का फोन आया कि मैं आज घर नहीं आ पाऊंगा और कल शाम तक घर पहुंच सकूंगा.

मशीन वाला सेक्सी

ये सब मैं बहुत जोर जोर से कर रहा था ताकि भाभी जी जल्दी गर्म हो जाएं और मुझे लंड डालने के लिए खुद ही बोल दें. चाय पीते पीते मैंने बिंदु से पूछा- यार बिंदु फैमिली प्लानिंग के लिए क्या सोचा है?यह सुनते ही बिंदु उदास हो गई और कुछ नहीं बोली. उसने मुझसे सिर्फ ओके कहा और मेरा हाथ पकड़ कर अपने घर की तरफ ले जाने लगी.

अब तो उसका लंड भी मुझपे रगड़ मार रहा था।मेरे मन में ख्याल आ रहा था कि ये चोद के ही मानेगा. मेरा इशारा पाकर पूजा ने दूसरा मुकुट मीना के सर पर सजा दिया और राजकुमारी मीना अब महारानी मीना बन गई थी.

मैंने राजेश का लंड मुँह से निकाल लिया और बोली- यार, आज तक मेरी चूत ने वीर्य नहीं चखा है.

ऐसे में आप क्या क्या करोगे मेरे साथ?” बहूरानी अपने दोनों हाथ कमर पर रख कर इठला कर बोली. पर बहूरानी जितना उसके लिए संभव हो सकता था उतना वो अपनी तरफ से निभा ही रही थी; कभी नाश्ता दे जातीं, कभी कॉफ़ी दे जाती. मुझे यकीन है कि जो भी उसे एक बार देख लेगा, तो वो बिना मुठ मारे रह ही नहीं पाएगा.

वो बोला- चुप कर जा साली रंडी, तेरी गांड के लिए मैं सोया भी नहीं हूँ. मैं खुद गांड उठा उठाकर साथ दे रही थी।मेरी आँखों की पुतलियां मस्ती से चढ़ने लगीं. वो अपनी मदमस्त वाली चुदाई करवाने लगी और अपनी गांड उठा उठा कर लंड चुत में लेने लगी.

लण्ड को अन्दर बाहर करने के दौरान मैंने जोर से ठोकर मारी तो उसकी चूत की झिल्ली फट गई.

बीएफ हिंदी फिल्म ब्लू: फिर उसने ड्रिंक मंगाया और बोला- मेरी बीवी को चोदना है, चोद पाएगा?मैंने कहा- माल दिखाओ … शिकायत का मौका नहीं दूंगा … और अगर उसे संतुष्ट ना कर पाया, तो आप मेरी गांड मार लेना. मैं- चाची बस करो … वरना बॉक्सर की तरह ये पैंट भी गीली हो जाएगीचाची ने खुश होते हुए कहा- ठीक है हो जाने दो.

आयुषी मुझे बहुत प्यार करती है और सेक्स में तो वह मुझे और भी ज्यादा प्यार करती है. कुछ देर बाद जब मैं उठा और बाजू में लेट गया तो मेरे बदन का तेल मां के बदन पर भी लग चुका था. उसने मेरे कमर में अपनी टांगें लपेट दी और मैं तेजी से अंदर-बाहर करना शुरु कर दिया।मैं उसकी भरी भरी चुचियां मसलने लगा.

!! जैसा मैंने सोचा था कि लंड छोटा होगा मगर उसका एकदम उलट था।भाई का लंड 6 से 7 इंच का था और गोरा … एकदम लाल सुपारा … घनी लंबी काली झांट, गोल-गोल गोरे टट्टे।मेरा तो दिमाग ही सुन्न हो गया लंड देखकर।मैं बोली- नीलेश, तू तो बहुत बड़ा हो गया है भाई.

दूसरे दिन मैं नहा रहा था कि तभी चाची घर आ गईं और मम्मी से बोलीं- क्या हुआ मेरी जान, रात को चुदाई देखी थी?मम्मी ने कहा- हां देखी थी … मगर मुझे तुमसे बात नहीं करनी है तुम अकेले अकेले ही मज़ा ले रही हो, तुम्हें मेरा तो कुछ ख्याल ही नहीं है. मैं फिर नंगी ही बाहर जाकर मुँह धोकर वापस आयी, उसी समय राजू के छोटे भाई ने देख लिया. मैंने भाभी को बिस्तर पर चित्त लिटाया और अपने लंड को उनकी चूत पर सैट करके एक जोर से धक्का दे मारा.