हिंदी बीएफ सेक्सी पिक्चर ब्लू

छवि स्रोत,तालिबानी सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

नादिया अली सेक्स वीडियो: हिंदी बीएफ सेक्सी पिक्चर ब्लू, शुरू में चिट्ठी में रोमांटिक बातें होती थी लेकिन धीरे धीरे अश्लील और गंदी बातें लिखने लगे.

अजीत सेक्सी वीडियो

आंह … आप औरतें भी गजब की माल होती हो यार … मेरा तो लंड रुक ही नहीं रहा है. सेक्सी वीडियो आलियाकभी कभी मैं उसके मम्मों और निप्पलों को हल्का सा काट भी देता था, जिससे वो और भी मचली जा रही थी.

सोनाक्षी दीदी की शादी 5 साल पहले हो चुकी थी, पर आज भी उनकी चूत आज भी उतनी ही प्यासी है, जो उनके अविवाहित के समय थी. सेक्सी वीडियो देखने के लायकदो मिनट बाद उसने फिर से मुझे नीचे गिरा लिया और दोबारा से अपने लंड और मेरी गांड पर थूक लगा दिया.

एक दिन मैं बाजी को साथ लेकर छत पर ले आया और अपने बच्चे की बात कर रहा था।तभी वहां राबिया आ गई तो हमने बात बदली और राबिया बोली- मुझे लगा तुम कुछ कर रहे होगे.हिंदी बीएफ सेक्सी पिक्चर ब्लू: मुझे अच्छा लग रहा है।मैंने मौसी के चेहरे को देखा तो वो मुस्करा रही थी.

तो मैंने अपना लन्ड उसके चूत से निकल लिया।दवा अपना असर दिखा रही थी। फिर मैं पीहू को घोड़ी बनाकर पीछे से अपना लन्ड उसकी चूत में डाल कर उसकी कमर पकड़ कर उसे चोदने लगा.दो-तीन मिनट में ही चूत से कामरस बहने लगा।मैंने उसको अपना लंड पकड़ाया और चूसने को बोला.

सेक्सी मन - हिंदी बीएफ सेक्सी पिक्चर ब्लू

तो वो बोली- मुझे मेरे बेटे को स्कूल लेने जाना है, तुम बाद में आ जाना.कुछ देर तक एक दूसरे के होंठों का रस पीने के बाद मैंने उसकी टॉप को उतार दिया.

बीच बीच में वो मेरी तरफ भी देख लेती थी तो मैं चादर को नीचे कर देता था. हिंदी बीएफ सेक्सी पिक्चर ब्लू इसके बाद दोनों ने एक साथ अपना पानी छोड़ दिया … जिससे हम दोनों को ही बहुत मजा आया.

सुमन की शादी को तीन साल पहले हो गई थी और खुशबू की शादी को एक साल हुआ है.

हिंदी बीएफ सेक्सी पिक्चर ब्लू?

भाभी तेज आवाज में चिल्लाई- उउउ उई मां … उउउउई … मार डाला … मेरी चूत को फाड़ दिया।दोस्तो, मैं डर गया कि कहीं मेरी छोटी बहन जाग न जाए. मैं तेजी से उठा और उसको अपनी बांहों में जकड़ कर उसकी चूची पर दाँत काट लिया. मगर बारिश से बचने के लिए उस समय उससे अच्छी जगह और नहीं मिल सकती थी.

वो भी मेरे लंड को अपनी चूत में लेते हुए गांड को बार बार ऊपर उठा रही थीं. जैसे ही दो लेक्चर्स के बाद मैं लाइब्रेरी के पास गया तो वहाँ पर मुझे कोई दिख नहीं रहा था. लेकिन अब तो मेरी शादी हो चुकी है और उसकी भी!अब वह मुझ से बात नहीं करता क्योंकि उसकी वाइफ उस पर शक करती है.

मैं- क्यों … अगर मुँह में नहीं लेना है तो बाल साफ करवाने का क्या फायदा?निशा भाभी- तुम मेरी फुद्दी चूसोगे?मैं- हां तभी तो बोला कि चुत साफ़ करके रखा … सारे बाल साफ़ करके चुत चिकनी कर लेना. पास वाले बेड पर लेटी मेरी सास को मैंने देखा तो वो भी सोयी हुई लग रही थी. इतनी देर में मैंने महसूस किया कि मेरे बेटे के क्लास टीचर ने अपनी बांह मेरे बदन से सटाना चालू कर दी थी.

मैं भी चुत चाटता जा रहा था और मैम मेरे सर को अपनी चुत में ठूँसे जा रही थीं. हमें ऐसा करते हुए शाम के 4 बज चुके थे, पर मॉम की चूत चोदनी अभी बाकी थी.

वो अम्मी से इतना घुल मिल गयी कि अपनी सारी बातें अम्मी को बताने लगी.

बहुत देर तक चोदने के बाद मैंने भाभी के एक पैर सीधा करके उनको दीवार के सहारे सीधा लगा दिया और फिर से चोदने लगा.

नीचे से उसने मेरे शॉर्ट्स को उतार दिया था और साथ ही मेरे अंडरवियर को भी खींच दिया था. कैसे एक बार गांव में दादाजी ने बकरी को गर्भ करने के लिए अपने घर के ही एक बकरे के साथ सहवास करवाया था जबकि वह बकरा वही था जो उस बकरी ने 2 साल पहले जना था. मगर अभी भी मेरे मन में एक सवाल बार बार आ रहा था कि मामी मेरे साथ ये सब करने के लिए राजी कैसे हो गयी.

मुझे बड़ा मजा आ रहा था और मोनिका रजाई में मुँह छिपाकर आआआ… कर रही थी. मेरे ट्यूशन टीचर ने एक रात मुझे साड़ी पहना कर …लेखक की पिछली कहानी:बेटे के भविष्य के लिए कई मर्दों से चुदीदोस्तो नमस्कार. अभी तू अपनी गर्ल फ्रेंड की बात कर रहा था … वो बता!मैंने उसके मम्मे ताड़ना बंद नहीं किए और कहा- कोई बनती ही नहीं है यार, पर मन करता है कि काश मेरी गर्लफ्रेंड होती, तो मैं उसके साथ खूब मजे करता.

जैसे उसने वजन मेरे लंड पर डाला तो मेरा सुपारा उसकी बुर को चीरता हुआ अंदर घुस गया और वो एकदम से चीखने लगी.

मैंने अपने हाथ को पूरा मौसी की चूत पर रगड़ दिया और मौसी की छोटे बालों वाली चूत को मैंने हथेली से सहला दिया. मैंने भी अपने हाथ उसकी कमर में डालकर उसे जोर से स्मूच करना चालू कर दिया।हम दोनों पल भर में ही उत्तेजना से भर गये. अम्मी कह रही थीं- आजकल तू जल्दी क्यों झड़ जाता है … मेरी तो प्यास ही नहीं बुझी.

मैं रात के 12:00 बजे तुम्हारे रूम में आऊंगी, तब हम रात में मस्ती करेंगे. उसने अपनी जीभ को मेरे लंड पर फेरना शुरू किया और फिर धीरे धीरे मेरा पूरा लंड अपने मुँह में ले लिया. मेरा लंड आन्दोलन करने लगा था और दिल ने बोला कि भाभी को चोद कर उनके बच्चे का बाप मैं ही बनूंगा.

भाभी की दोनों टांगें मेरे कंधे के ऊपर थीं मैंने अपने लंड को चुत के ऊपर सैट किया और धक्के लगाना शुरू कर दिया.

मेरा लंड में इतना दम है कि ये किसी भी आंटी औरत और भाभी और लड़की की चुत प्यास बुझाने को काफ़ी है. मैं ऊपर अपने अपार्टमेंट में चला गया और एक बार फिर उसका नशा लंड से उतारने के लिए मुझे मुठ मारनी पड़ी.

हिंदी बीएफ सेक्सी पिक्चर ब्लू तभी अचानक मैंने उसके होंठों को अपने होंठों में दबा लिया और चूसना चालू कर दिया. राजीव एक हाथ से उसके दूध दबा रहा था और दूसरा दूध मुँह से चूस रहा था.

हिंदी बीएफ सेक्सी पिक्चर ब्लू तो मैंने यह कहां से सीखा? तो आजकल तो आप जानते हैं कि पोर्न मूवी में सब कुछ देखने को मिल जाता है।तभी मुझे ध्यान आया अब तो बहुत टाइम हो गया मेरे दोस्त भी मेरा इंतजार कर रहे हैं. धीरे धीरे करके मैंने लंड को उसकी चूत में उतार दिया और फिर उसके ऊपर लेट गया.

मुझे भी अब अच्छा लगने लगा था क्योंकि खाना बनाने का काम वो अच्छे से कर लेती थी.

गांव की औरतों की बीएफ

अपनी हसीन पत्नी के अलावा किसी दूसरी स्त्री के साथ ये मेरा पहला समागम था।क्या हसीन नज़ारा था।साक्षात रम्भा मेरी बाँहों में थी. इस बात को अम्मी भी समझती थी पर उसके कम आने से अम्मी प्यासी रहने लगी थी. तो मुझे नहीं पता था कि कितना वक्त था मेरे पास। लेकिन मैंने मीनाक्षी के गालों को चूमा, फिर उसके होंठों को चूमा और दोनों हाथों से उसके चूतड़ मसल दिए.

मेरी मौसी बोलीं- दीदी अगर मैं प्रेगनेंट हो गई, तो क्या होगा?तभी मेरे पिता जी ने कहा- तू भी मेरी आधी घरवाली है … पर आज से तू पूरी है. मैंने उसे छेड़ते हुए कहा- आज कितनों को मारने वाली हो?उसने भी तपाक से बोल दिया- कितनों का तो पता नहीं, पर आपको जरूर मारने का विचार है. उसके साथ चुदाई के समय उसने मुझे अपनी मामा की लड़की के बारे में बताया था.

घर आने के बाद शाम को फिर से पार्क के लिए निकला और उसके घर के पास रुका.

उस दिन रात में मम्मी पापा के सोने के बाद वो दोनों मेरे रूम में आ गईं. कुछ बूंदें भाभी के मुँह में गईं, कुछ उनके चेहरे पर गिरीं और कुछ उनके मम्मों पर आ गिरीं. इसके बाद उसने मामी की गांड की दरार में जैसे अपनी जीभ डाली, मामी एकदम से सिसक उठी.

अब फट फट की तेज आवाज के साथ सागर मेरा माँ सुधा की गांड मारने लगा और उनकी गांड में बहुत चांटे भी मारे।सुधा अपनी उत्तेजना भरी सिसकारियाँ निकालकर सागर का इस चुदाई में साथ दे रही थी।सागर ने कुछ देर सुधा की गांड पेलने के बाद अपनी रफ्तार और बढ़ा दी जिसके एक मिनट बाद वो उनकी गांड में ही झड़ गया।इसी तरह उन दोनों ने रात भर चुदाई का मज़ा लिया. मैंने देखा वो आदमी अपने ऊपर वाली बर्थ से दीदी की मिड्ल बर्थ में दीदी से कुछ बोल रहा था. अबकी बार मैंने कॉन्डम नहीं लगाया और उसको मेरे लंड पर बैठने के लिए कहा.

मैंने अपनी टांगों को थोड़ा ऊपर कर लिया ताकि टांगों के बीच में मेरा हाथ लंड पर चलते हुए मामी को दिखाई न दे. वो आह्ह … आह्ह … करते हुए मेरा पूरा का पूरा लौड़ा अन्दर ले रही थी।अब वो थक गई थी तो मैंने उसे बिस्तर पर लिटा दिया और उसकी एक टांग उठा कर चोदने लगा.

कुछ देर के धक्कों के बाद मेरे लंड ने भी उसकी चूत में पानी छोड़ दिया. ननदोई जी ने अपने लन्ड को दोबारा मेरी बुर के छेद पर सेट किया और एक धक्का मारा तो उनका आधा लन्ड मेरी बुर में चला गया मुझे दर्द होने लगा. वो चिहुँकी; मैंने धीरे धीरे धक्का मारते हुए पूरा लण्ड अंदर डाल दिया और 30 मिनट तक उसे लगातार चोदते हुए उसके चूत में ही झड़ गया.

उन्होंने बोला- तुमने होमवर्क क्यों नहीं किया, तुम तो पढ़ने में अच्छे हो.

इससे मेरा तो दम घुटने लगा, लेकिन उमेश सर की पकड़ इतनी तेज़ थी कि मैं खुद को नहीं छुड़ा सका. हम दोनों को ही ऐसा लग रहा था कि न जाने हम कितने वर्षों बाद मिल रहे हैं. मेरी कमर को भैया ने एक हाथ से पकड़ा और मेरी पैंट को एक झटके में खोल दिया.

अगर मेरी जगह कोई मेहमान या रिश्तेदार होता तो क्या इज्जत रह जाती हमारी?मेरी बात पर उसके होश सफेद हो गये और वो गिड़गिड़ाने लगी- नहीं साहब, गलती हो गयी. सब घर के काम उनको ही करने पड़ते थे।अब गरम रजाई की बात करते हैं।काफी रात हो गई.

शैम्पू और साबुन लेकर वो अंदर बाथरूम में गयी और करीब आधे घंटे के बाद वो बाहर आई. कभी उसके होंठ और कभी उसकी चूची पीते हुए मैं उसको दस मिनट तक चोदता रहा और फिर उसकी चूत में झड़ गया. अज़ीम ने अपना पूरा हाथ मेरी गाँड में डाल दिया था। जिसकी वजह से गांड में से खून बहने लगा।वह अब मेरी गाँड में अपनी मजबूत कलाई और हाथ से चुदाई कर रहा था। मेरी तो जान ही निकलने को हो रही थी.

बहन के बीएफ

अब मैंने भी भाभी की टांगों को कंधे पर रखकर 5-6 जोरदार धक्के लगाए और भाभी की चूत में ही झड़ गया और भाभी के ऊपर लेट गया।दोस्तो, इससे पहले मैंने अपनी बहन के बारे में कभी ऐसा नहीं सोचा था लेकिन भाभी ने गाली दी जिससे मेरा भी मन बदल गया.

जब मैं स्कूटी चला कर ले जाता था, तो उल्फ़त मेरे पीछे बैठ जाती थी और जब भी ब्रेकर लगता, तो उल्फ़त की चूचियां मेरी पीठ से चिपक जाती थीं. उनके जाते ही मैंने उल्फ़त को पकड़ कर बेड पर लिटाया उसकी चूत में लंड डालकर चुदाई करने लगा. मैंने उसके शहर से नई दिल्ली वाली टिकट की फ़ोटो खींचकर व्हाट्सएप्प कर दिया और दोनों टिकट को कोरियर कर दिया।और फिर हम दोनों अपने हॉस्टल चली आईं.

इसलिए हमेशा ही उनको साड़ी में घर में पौंछा लगाते हुए देखता रहता था और उनके नाम से मुठ मारा करता था. माथे से गले तक, फिर स्तनों को और फिर पेट तक, फिर जांघों को, फिर पैरों को भी पूरी शिद्दत के साथ चूमा. हिंदी सेक्सी व्हिडिओ पंजाबीइसने यह शर्त रखी थी कि कि तुम अपनी मामी और अपनी चुदाई की बातों का यकीन दिलाओ.

वो पागल हो उठी, पर बंधी होने के कारण कुछ कर नहीं पा रही थी, सिर्फ छटपटा रही थी. यानि दीदी के दोनों बड़े-बड़े बूब्स दबा रहा था और निप्पल चूस रहा था.

उनके मुंह से अब आह्ह … ओह्ह … आईई … आह्ह … करके चुदाई की कामुक सिसकारियां निकल रही थीं. अब भाभी को थोड़ी राहत मिलने लगी और धीरे-धीरे उन्हें भी चुदने में मजा आने लगा. अब आगे की कहानी उन्हीं के शब्दों में सुनिए … तब तक मैं अपना लंड हिलाता हूँ.

एक दिन उसका मैसेज आया कि तुम डिनर करना चाहो, तो मेरे घर आ सकते हो … लेकिन 11 बजे के बाद ही खाना मिलेगा. वो बोली- यहां पर इतना बाल होता है क्या?मैंने सोनी से कहा- जब तुम और जवान हो जाओगी तो तुम्हारी बुर भी ऐसे ही बालों से भर जाएगी. मैंने मैम से कहा कि मैम यह स्कूटी अभी ठीक नहीं हो सकती, आप इसे किसी गैराज में दे दें.

इस देसी कहानी के अगले भाग में पढ़ें कि मैंने सोनी की कुंवारी बुर को कैसे चोदा.

लंड के अन्दर की नसें जोर से फूलने लगी थीं मेरे जिस्म में खून तेजी से दौड़ने लगा था. फिर दूसरे दिन जब वो मुझसे चुदने बाथरूम में आयी, तो उसके पीछे पीछे रिया भी आ गई.

20 मिनट तक चोदने के बाद अमित ने मेरे हाथ खोल दिए और अपने टेबल पर सीधा लेटा दिया. खैर, मैंने इस बात पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया क्योंकि अभी तो मुझे आम खाने से मतलब था, गुठलियां गिनने से नहीं. कुछ देर बाद भाभी की चूत में से कुछ नमकीन पानी छुटा और वो भाभी एकदम निढाल हो गई.

इससे मेरी बहन काफी घबरा गई और अपने छोटे-छोटे नींबू जैसे चूचों को हाथ से ढकने लगी. अब मैंने मां की चुत की खूब मालिश की और कुछ ही देर में मैं एकदम से गर्म हो गया. एक तो कुरते का गला वैसे ही ज्यादा गहरा खुला था और मेरे मम्मों की साइज़ भी कुछ ज़रूरत से ज़्यादा बड़ी थी.

हिंदी बीएफ सेक्सी पिक्चर ब्लू जब कभी भी मौका मिलता जीजा मेरी चूत और गांड की चुदाई करते।दोस्तो, मेरी सहेली आरोही की जीजा साली सेक्स स्टोरी आप लोगों को कैसे लगी? आप मेल करके और कमेन्ट करके जरूर बताएं।[emailprotected]. मगर मैंने ज्यादा नहीं सोचा क्योंकि अभी तो बस चूत चोदने का पूरा मजा लेना था.

हिंदी सेक्स वीडियो चुदाई बीएफ

उसकी झांटें वगैरह साफ़ करके उसे नहलाया और अपनी बहन की चूत चोदने रेडी हो गया. मैंने बिना देर किए उसकी चूत पर अपना जीभ को टिका दिया और चुत चाटने लगा. यह जवानी मैंने आपके लिए ही संभाल रखी है, आज मुझे इतना चोदो कि मेरा जी भर जाए.

एक बार मैं जबलपुर से इंदौर आ रहा था। इंदौर पहुंचने बाला ही था कि मुझे नींद आ गई। आरक्षण नहीं होने की वजह से मैं जनरल बोगी से आ रहा था। ट्रेन इंदौर पहुंच गई, मैं सामान वाली सीट पर सो रहा था। सारे यात्री उतर गये, मैं लेकिन फिर भी मैं सोता रहा. मैं उसके दोनों चूचों को दबाने के साथ उसके निप्पलों को भी चूसने और काटने लगा. सेक्सी व्हिडिओ सेक्सी व्हिडिओ व्हिडिओउसे अच्छी खूबसूरत बीवी मिली थी पर कुछ ही समय बाद वह फिर मुझे ट्यूशन के बहाने अपने रूम पर बुलाने लगा.

उनके चेहरे पर आई हुई मुस्कराहट से और हाव-भाव से मैं समझ गया था कि वो मेरे इरादा समझ गई थीं.

चूत लंड में तेल लगा के होने के कारण मेरा लंड एकदम से मां की चुत में घुसता चला गया. मगर उसका कमीज थोड़ा सा टाइट था स्तनों के पास से … तो दोनों हाथ मैंने साइड से सूट के अंदर किये और ऊपर को करने लगा।इतने में उसकी ब्रा पर हाथ पहुँच गया.

मेरी न्यू अन्तर्वासना स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मैं अपनी इंस्टीट्यूट के ऑफिस के एक लड़के की ओर आकर्षित हो गयी. एकदम से ब्रेक लगने से मैं झटके से आगे लड़ने वाली थी, तो संजय ने मुझे पकड़ लिया. मैंने लंड बाहर निकाल कर उसके मम्मों पर अपना पानी डाल दिया और उसके बगल में लेट गया.

लेकिन बाद में फिर हम उसकी ज्यादा जिद करने पर मैं मान गई और हम दोनों साथ में एक होटल में गए.

मैं अपनी आंखें बंद करके अपना लंड शनाज़ के मुँह के हवाले करके मजा लेने लगा- शनाज़ मेरी जान … कल रात की चुदाई मैं कभी भूल नहीं पाऊंगा. शाम को ही उसकी एक सहेली मिलने आ गयी थी, तो वो उसके साथ बाहर वाले कमरे में बैठ कर बात कर रही थी. सिर्फ मेरे दोस्तों को पता था कि मैं यहां पर हूं।अब मैंने देर न करते हुए सीधा अपना लन्ड बाहर निकाल कर उसकी चूत में रगड़ने लगा उसकी चूत पूरी तरह से गीली हुई थी मैंने जैसे ही हल्का अंदर को डालने की कोशिश की तो वह एकदम से चीख पड़ी.

भोजपुरी में एचडी सेक्सीअम्मी की बात सीधी थी … पर ज़ोहरा और मैंने इस बात का उल्टा मतलब निकाला. सच बता?” उसने पूछा।मैंने उसका हाथ पकड़ा और करीब ले आया; उसको पास खींच कर गले से लगाकर मैंने कहा- हां सच!करीब एक मिनट तक ऐसे ही गले लगे रहने के बाद हम अलग हुए।वो पीछे मुड़ने लगी कि एक बार फिर मैंने उसे बाजू से पकड़ा और अपनी तरफ खींचकर गले लगा लिया और गले के पास किस कर दिया।किस करते हुए मैं अपने हाथ उसकी पीठ पर घुमा रहा था.

सेक्स बीएफ मद्रासी

उसके हाथ मेरे बालों पर जमे थे और वो बार बार लंड से चुदाई करने के लिए कह रही थी. मैं चारू के इस रूप को देखकर अत्यंत ही विस्मित था।होंठ से होंठ, छाती से छाती … एक दूसरे में जैसे समा जाने के लिए तत्पर थे हम!हम दोनों प्रेमी युगल एक बार फिर से एक दूसरे को चूमने चाटने में व्यस्त हो गये थे. इससे पहले कि मैं रूम का दरवाजा खोलता मेरी नजर अंदर के नजारे पर चली गयी.

चूंकि मेरा घर ज्यादा दूर नहीं था, तो अपने घर पहुंचने के लिए पैदल चलते हुए मुझे आधा घंटा ही लगता है. फेसबुक पर जुड़ने के बाद ही उसे मालूम हुआ कि मैं उसकी क्लास में ही पढ़ता हूँ. मैं हंस कर बोला- अम्मी, तुझे नानी और दादी बनने की बड़ी जल्दी है?अम्मी हंस कर बोली- तुम दोनों तो मेरे दिल की धड़कन हो … मैं चाहती हूँ कि तुम दोनों के बच्चे तुम्हारी ही शक्ल लेकर इस दुनिया में आयें.

उसने जैसे ही मेरे लंड पर अपनी जीभ लगायी, मेरे अन्दर मानो एक लाख वोल्टेज का करंट दौड़ गया. मैं कामुक सिसकारियां लेने लगी और ज़ोर ज़ोर से ‘उफ्फ़ अहह यससस्स ओह उफ्फ़ यहह … फक्क मी … उफफ्फ़. मैंने फिर पूछा- यार क्या हुआ था … अब तेरे पेट में दर्द कैसा है?वो बोली- अभी दर्द 4-5 दिन रहेगा.

इस बात पर मैंने मौसी के होंठों को चूम लिया और फिर वो भी मेरे बदन को अपनी बांहों में कसते हुए मुझे चूमने लगी. बुआ चीख पड़ीं ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’तो मैंने उनके चुचे दबाते हुए धीरे धीरे आगे पीछे होना शुरू कर दिया.

ध्यान से देखने पर पता लगा कि उनके बदन भी बारिश में पूरे भीग गये थे.

इस पर वो बोली- क्या हुआ … उदास क्यों हो?मैंने हिम्मत करके बोल दिया- मुझे आज तुमसे कुछ कहना है. चीन की सेक्सी वीडियोसआह … अब मानो मक्खन का दरिया मेरे सामने ऊंची ऊंची लहरों जैसा अठखेलियां कर रहा था. सेक्सी डांस हिंदीमैंने चाची की चूचियों के बीच में तने उनके निप्पल्स पर जीभ से चाट लिया. पहले अपनी बेटी से ये बात छुपाना चाहती थी, लेकिन मेरे से ज़्यादा उसको दूसरे मर्द की ज़रूरत थी.

वो दो दिन तक वापिस नहीं आने वाले! तो तुम आ जाओगे ना?मैं बोला- नेकी और पूछ पूछ? ऐसा नहीं हो सकता कि मैं ना आऊँ.

ये तो अच्छा है कि वे ये सब घर में ही करती हैं … यदि बाहर किसी के साथ ये सब करतीं, तो शायद बदनामी भी हो सकती थी. अंकल ने एक तेज आवाज के साथ अपने लंड का वीर्य उनकी गांड में डाल दिया. अब मैंने शांता को कुतिया बनाया।लण्ड पर और उसकी चूत पर मैंने थूक लगाया और फिर उसकी चूत पर लंड को सेट कर दिया.

उनकी बातों से मेरा साहस बढ़ गया था और मैंने भी न जाने किस झौंक में भाभी से कह दिया कि आपके जैसी कोई मिले, तो मन लगे. मैं सोचने लगी कि कार की सीट में बगल में तो इतनी जगह होती नहीं है, तो क्या मुझे इनकी गोद में बैठना पड़ेगा. इसलिए पूरी रात मैंने आपको सरप्राइज देने के लिये किया।उसने कहा- मेरी जान को कैसा लगा?मैंने उसके माथे पर किस करते हुए कहा- बहुत अच्छा लगा जान।ज्योति से मैंने कहा- जानेमन, अब उठो और अपनी चूची अपने हाथों से मुझे पिलाओ.

मारवाड़ी का बीएफ

मैंने अपनी गोटियों को भाभी के होंठों तक सटाया और उनके मुँह में पूरा लौड़ा ठांस दिया. मुझको सुधा बोलो अगर आज रातभर के लिए मुझे अपनी गर्लफ्रैंड माना है तो!सागर- ठीक है सुधा!अब मम्मी उठी और उसको बीच में करके उसके लन्ड पर बैठ गयी और सागर के पूरे शरीर को चूमने लगी; उसके निप्पल्स को चाटने लगी. फिर कुछ देर बाद उसका लंड फिर से खड़ा हो गया और उसने मुझे अपना लंड चूसने को कहा.

उसके बाद मैं और वैशाली अक्सर फोन पर सेक्स की बातें कररने लगे लेकिन अभी तक वैशाली ने चुदाई के लिए नहीं बुलाया था.

उसकी चुत के दाने को दो उंगलियों में पकड़ कर मींजा, तो उसने अपनी टांगें खोल दीं.

मुझे ऐसा लगा कि इस समय की उत्तेजना में जैसे मैं अभी ही निकल जाऊंगा. साथ में बड़बडा़ रहा था- साली होशियारी करती है, अब पता चला मुझसे पंगा लेने का अंजाम. मारवाड़ी सेक्सी वीडियो कॉलेज कादोस्तो, मेरा नाम दीप है, मैं अहमदाबाद गुजरात से हूँ।यह मेरी पहली और सच्ची घटना है रिश्तों में चुदाई की, सास दामाद की सेक्स स्टोरी!मेरी उमर 29 साल है और मैं प्राईवेट सेक्टर में जोब करता हूँ.

अब मैं भी अपने आप को संभाल नहीं पाया और उसे अपनी बांहों में भर लिया. मैंने किस करते करते अपना एक हाथ उनकी दायीं चूची पर रख दिया और हल्का हल्का सहलाने लगा. पर जब से उसने मेरे सामने अपने मामा की लड़की काजल का नाम लिया था, तब से ही मुझे उसके सपने आते थे.

वो दूसरे कमरे में सो रहा था तो मैं अपनी बीवी की चूत चुदाई करने लगा. आज मम्मी एक बहुत सेक्सी सी साड़ी पहने थी और वो सागर के साथ बैठ कर हॉल में दारू पी रही थी.

मेरे घर में मैं और मेरे मम्मी पापा ही थे क्योंकि मैं उनका एकलौता बेटा हूं.

फिर जैसे ही किसी के आने की आहट हुई, तो तनिष्क एकदम से खड़ा हो गया और इधर उधर देखने लगा. मैं थोड़ी सामान्य हुई, तो उसने फिर से एक ज़ोर का शॉट मार कर पूरा लंड अन्दर पेल दिया. मेरी सहेलियां अक्सर मुझे अपनी चुदाई की कहानियाँ सुना कर बेचैन कर देती थी.

ब्रिटेन की सेक्सी पिक्चर हम रोज की तरह जो हमारे 4-5 दिन की दिनचर्या के अनुसार दूध निकाल कर लाये और फिर आज खाना खाकर और बच्चों को स्कूल छोड़ कर बाड़े गए … ताकि 5-6 घंटे आराम से तैर सकें. मैंने जानबूझकर भाभी के सामने वो कागज़ डाला था ताकि उनको पता चल जाये कि मैं उनसे कुछ कहना चाहता हूं.

उसका लंड इतना बड़ा था कि मेरे गले में जाकर फिर अंदर धक्का मारता तो मेरी तो जान ही निकल जाती थी। कुछ देर ऐसे ही चलता रहा. जब मैं जीन्स या कोई चुस्त कपड़े पहनता हूँ, तो उसमें मेरी गांड बहुत ही ज्यादा उभर कर दिखती है. एक दिन मैंने उसे चूत में बैंगन डाल अन्दर बाहर करते देखा तो मेरा मन अपनी बहन की वासना शांत करने का होने लगा.

हिंदी बीएफ फिल्म दिखा दो

सागर मामी के चूत को भोसड़ा बना रहा था और मामी भी अपने पूरे जोश में सागर का लन्ड भकाभक अपने अंदर लिए जा रही थी।बिना झड़े सागर बोला- एक बार गांड की सील तोड़कर फिर चूत मारूंगा आपकी!इस पे मामी तैयार हो गयी. उसके बूब्स भी बहुत छोटे छोटे नींबू के समान हैं … लेकिन देखने में वो किसी हीरोइन से कम नहीं लगती है. इस चुदाई कहानी में मेरी अम्मी की गैर मर्दों के साथ चुदाई का नजारा है.

मैंने कहा- सुन कुतिया … जब तक मैं नहीं बोलूंगा, तू अपनी चूत सहलाती रहेगी. बात कुछ ऐसे शुरू हुई कि दीदी के कान में कुछ प्रॉब्लम थी, तो वो बाइक पर मेरे साथ डॉक्टर के पास गई.

जैसा उत्साह आप सभी को भी अपने किसी दोस्त की शादी होने पर हुआ होगा वैसा ही मुझे भी था.

वैसे दोस्तो, मैं बता देता हूँ कि हमारी कपड़ों की बड़ी दुकान है तो उसमें मैं ऊपर वाले फ्लोर पर बैठता हूँ. उसका एक पैर सीधा था और दूसरा पैर मुड़ा हुआ जिसे मैं टटोल रहा था।मेरा हाथ मेघा की निक्कर को ऊपर करते हुए उसकी चूत तक पहुंच गया था।मैंने तुरन्त उसकी टीशर्ट उतारी और उसकी ब्रा में कैद उसके छोटे छोटे संतरे मुझे दिखने लगे. मेरा भी पानी निकलने वाला था और मैंने उसकी चूत में ही पानी छोड़ दिया.

चारू का चेहरा बता रहा था कि उसकी काम वासना को मेरा स्पर्श किस कदर भड़का रहा है. मुझे एक दिल्ली से मेल आया कि उन्हें मेरी भाभी की चुदाई की कहानी बहुत पसन्द आई थी. मैं भी सुन रहा था कि क्या बात हो रही है।फोन बगल वाले घर से अभय का था.

हमको अब चुदाई के अलावा कोई ध्यान नहीं था।उसकी साड़ी का पल्लू अब उसकी छाती पर नहीं था.

हिंदी बीएफ सेक्सी पिक्चर ब्लू: रिंकी का दाखिला तो हो गया था लेकिन घर वाले रिंकी को अनजान शहर के कॉलेज के हॉस्टल में रखने में परेशान थे. उसके मुंह के अंदर मैंने लंड को अंदर बाहर करना शुरू कर दिया और तेज़ तेज़ झटके मारने लगा।उसको लंड गले में जाकर लगने लगा.

मैंने उन्हें पीछे से पकड़ लिया और अपना लंड उनकी गांड में घुसाने लगा. माँ ने अपनी गांड को थोड़ा उचकाया, जिससे उनकी गांड का छेद मुझे दिख जाए. वो चिल्लाने लगी- उई मां मर गई रे … उई भाईजान छोड़ दो … छोड़ दो प्लीज भाईजान आप मेरे सगे भाई हो … आह मर गई मुझे छोड़ दो.

मैं सोच रहा था कि अब जब भी मुझे अगला मौका मिलेगा तो मैं दीदी की चूत को पैंटी उतार कर देखूंगा.

उसके घर पर सिर्फ उसकी माँ थी और उसकी नवविवाहिता सुंदर बीबी!एक दिन अचानक मेरे दोस्त का फ़ोन आया और कहा- यार शिवा, तेरी भाभी की तबियत खराब हो गई है, तुम उसे डॉक्टर से दवा दिलवा दो. बीच बीच में मैं भाभी की गांड के दो भाग में से एक ऊपर ओर एक नीचे करके जोर से हिला देता था और गांड के अन्दर उंगली कर देता. हम दोनों पति पत्नी की ये सब हरकतें मेरी सास देख रही थी और मुस्कुरा रही थी।करीब 11 बजे सब सोने की तैयारी करने लगे तो मैं बहुत खुश हो गया.