हिंदी पिक्चर बीएफ फिल्म

छवि स्रोत,हिंदी पंजाबी बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

रक्षाबंधन में: हिंदी पिक्चर बीएफ फिल्म, तुझे मैंने पूरा मजा दिया ना, फिर क्यों कंडोम के पीछे पड़ा हुआ है?मैंने कहा- तुमने निकाला कंडोम?वो बोली- हां, तो? मजा नहीं मिला क्या तेरे को?मैंने झल्लाते हुए कहा- तुम्हारा दिमाग खराब है क्या? तुमने कंडोम क्यों निकाला?वो बोली- साले अब दिमाग मत चाट, तेरा हो गया ना, अब निकल यहां से.

मसाज सेक्सी बीएफ

हालांकि दीदी गांड मराने की अभ्यस्त थी, लेकिन एक हब्शी का खीरे सा मोटा लंड अपनी गांड में लेना दीदी के लिए बहुत भारी पड़ गया था. हिंदी में बीएफ चलाओवो सिसकारते हुए मेरे बालों को सहलाने लगी और मैंने उसकी चूत को चाटना शुरू कर दिया.

हमने उसकी चूचियों को पकड़ लिया और उनको दबाते हुए उसकी चूत में कई शॉट मारे और फिर अंदर ही झर गये. एक्स एक्स एक्स बीएफ वीडियोसलंड को भी इस बात जाका अहसास हो चला था कि अब चुत में आगे बढ़ने का समय आ गया है.

हमको वो मौका कैसे मिला?फ्री सेक्स कहानी के सभी पाठकों को रोहित का नमस्कार.हिंदी पिक्चर बीएफ फिल्म: मैंने उनकी तरफ देखा, तो उन्होंने मुझे अपनी तरफ खींचा और फिर से मेरे लंड को चूसने लगीं.

उसके बाद मैंने अनुजा को सारे कपड़े पहनाए और लिटा कर आराम करने को कह दिया.मैं अपने कमरे में आ गया और कपड़े उतार कर अपने लंड को देखने लगा, जो होटल में प्यासा रह गया था.

लोकल बीएफ वीडियो हिंदी - हिंदी पिक्चर बीएफ फिल्म

एक दो पल की खामोशी के बाद मैंने उसके घुटने पर अपना हाथ रखा, तो वो एकदम से सिहर गई.मेरी नंगी कमर पर मेरे बाल बिखरे पड़े थे और मेरी कमर पर उसके हाथ चल रहे थे.

दोस्तो, मैं अपनी ग्रुप सेक्स कहानीगाँव की कुंवारी चुत की वासनाका दूसरा भाग आपके लिए पेश कर रहा हूँ. हिंदी पिक्चर बीएफ फिल्म तभी बाकी के साथी लोग भी बाइक के पास ग्रुप में तस्वीर लेने के लिए आ गए.

एक दिन में उसके घर के सामने गुजर रहा था कि अचानक उसने मुझे रोक लिया और बोली- मुझे तुम्हारा नंबर चाहिए.

हिंदी पिक्चर बीएफ फिल्म?

जब भी वो कुर्सी पर बैठती थी तो उसकी गांड उसकी कुर्सी पर बाहर निकली हुई अलग से ही दिखाई देती थी. कभी वीर्य का प्रेशर बहुत ज्यादा हो जाता तो मुठ काम कर जाती थी, मगर यह तो खाली पेट को खील से भरने जैसा था, मुठ मारने में ना तो चूत की वह गर्माहट और फिसलाहट मिलती थी, ना ही इसमें लड़की के कोमल बदन को अपने नीचे मसलने आनंद. मेरी मां ने खुद मुझसे कहा कि अगर वो जल्दी से हमें पोता दे सके तो इससे ज्यादा खुशी की बात और क्या हो सकती है.

उसने जल्दी से मुख में लेकर मेरा हथियार पूरा खड़ा किया और बोलने लगी- अब जल्दी से डाल कर मेरी चुदासी चूत को फ़ाड़ दो. मैंने पूछा- क्यों आज अपनी चुत में कोई दवाई लगा कर आई हो क्या?वो हंसने लगी और मुझे लिपट गई. इसी दौरान मैंने उसको नीचे लेटाया और उसकी चुचियों में सलाद और नमक डाल कर चाटने लगा.

बरखा मेरे लोड़े को लॉलीपॉप की तरह जोर जोर से चूसने लगी और कहने लगी- तुम्हारा लौड़ा तो बहुत मजेदार है. उम्म्ह… अहह… हय… याह… आईई … ऊऊ … मैया … ईईस … करते हुए एकदम से मेरी आंखें खुल गईं. कुछ ही देर में उसने मोम्मे छोड़ दिए और उसने आशिमा की जींस का बटन खींच कर खोल जीन्स नीचे खिसका दी, साथ-साथ आशिमा की पैंटी भी नीचे खिसक गयी.

दोस्तो क्या बताऊं, पहली बार चूत मारने की वो फीलिंग आज भी मेरा लंड खड़ा कर देती है. जब मिष्टी ने मुझे ये बात फोन करके बताई, तो मेरे दिमाग में एक आइडिया आ गया.

उनकी सगाई फिक्स हो चुकी थी और मामूजान के घर में उसी की तैयारियां चल रही थीं.

मेरी माँ पूरी नंगी होकर विडियो कॉल में पापा को अपनी चूत दिखा रही थी.

मेरा दोस्त बोला- ठीक है, अब तेरी चूत तेरे भाई की मलाई चखने वाली है. वो तो जब एक्सेप्ट हो जाती थी, तब मैं उसकी प्रोफाइल चैक करता था कि मुझे किसने एक्सेप्ट किया है. भाभी बोलीं- तुम कितने क्यूट हो … प्यार से मांगोगे, तो तुम्हें तो कोई भी अपनी चूत दे देगी.

हर थप्पड़ के झटके में उसके मुँह में रवि का लंड और अन्दर चला जाता था. मैं उसके मम्मों के साथ खेल ही रहा था कि उसने नीचे से हाथ निकलते हुए मेरा लंड अपनी चूत पर टिका दिया. यह सब मैं पहली बार देख रहा था और अंदाजा भी हो चला था कि इस जगह पर फाइव स्टार होटल वाली सुविधायें तो मिलने से रहीं.

उसने चुत के चारों तरफ मलहम लगाई, तो मैंने उसकी गांड तक उस क्रीम को मल दिया … क्योंकि मैंने ये क्रीम उसकी गांड मारने के लिए ही उसे लगाने को दी थी.

इतने में ही मेघा ने अपने बैग से बीयर की बोतल निकाली और प्रिया के गिलास की कोक को निकाल कर उसके गिलास को बीयर से आधे से ज्यादा भर दिया. शाम को हम लोग कुछ छोटी मोटी बातें कर लेते, उसे कुछ रोजमर्रा की तकलीफ होती तो मैं उसका हल बता देता. एक बार मैंने उसकी तारीफ की और बोला- तुम बहुत खूबसूरत हो और मुझे लंबी लड़कियां पसंद हैं.

निम्मी के मुँह से जोरदार चीख निकली जिसे मैंने उसके होंठों को अपने होंठों में लेकर दबा दिया. मेरा ख्याल है उस लड़के का लंड उस समय पूरी तरह साफ़ नहीं था, वैसे भी गर्मी का मौसम था, ऐसे में लंड और टट्टे अगर साफ़ ना हों तो एक नशीली सी बदबू देते हैं जो हर लड़की को पसंद हो यह ज़रूरी नहीं. मैंने उनकी साड़ी को उनकी जांघों तक सरकाया तो भाभी बोल उठीं कि बेडरूम में चलते हैं.

[emailprotected]कहानी का अगला भाग:चचेरी बहन की जवानी और कुंवारी बुर.

मैंने कहा- देखो तुम्हारी चुदाई से तुम्हारी चाल एक दो दिन के लिए बदलेगी उसके बाद तुम जैसी अभी हो, वैसे ही बाद में दिखोगी. पर बात वही थी कि बिल्ली के गले में घंटी कौन बांधेगा?शनिवार का दिन था, लेग्स डे.

हिंदी पिक्चर बीएफ फिल्म पर मैं तो सोच रहा था कि मॉम कपड़े मेरे सामने ही चेंज कर लेंगी और मुझे मॉम के चिकने, सेक्सी और नंगे बदन की दर्शन हो जाएंगे. लौड़ा उसके मुँह से लगे थूक की चिकनाहट के कारण लंड के सुपारे तक उसकी चूत में फीट हो गया.

हिंदी पिक्चर बीएफ फिल्म गर्लफ्रेंड सेक्स की इस कहानी में पढ़ें कि कैसे एक देसी लड़की ने पहल करके मुझसे दोस्ती की. मैंने अनुजा की बुर को अपने रुमाल से साफ किया, लेकिन उसका दर्द कम नहीं हुआ.

एक चूची को मैंने अपने हाथों में भर लिया और दूसरी को मुंह लगा कर चूसने लगा.

सी बीएफ हिंदी मूवी

मेरे को कुछ कुछ समझ में आ गया था कि पापा वीडियो कॉलिंग से मॉम को नंगी करेंगे और मॉम के चूत को संतुष्ट करेंगे और खुद भी अपना वीर्य निकाल देंगे. प्रीति के हाथ नौकरानी की चूचियों को दबा रहे थे और उसकी जीभ उसकी चूत में मजा दे रही थी. वो भी बार बार अपने हाथ से मेरे लंड को मसल रही थी और मैं उसकी चूचियों को दबाने में लगा हुआ था.

थोड़ी देर के बाद दोनों उठ गए और बाथरूम में जाकर एक दूसरे की सफाई करने लगे. पर बात वही थी कि बिल्ली के गले में घंटी कौन बांधेगा?शनिवार का दिन था, लेग्स डे. रिश्तों में चुदाई की रियल सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मेरी बीवी की तबियत खराब होने पर मेरी सलहज हमारे घर रहने आई तो मैंने उसे पटा के कैसे चोदा.

मैंने कहा- आपकी ख़ूबसूरती को देख कर ये ख़ुद को रोक नहीं पाता और अपने असली रूप में आ जाता है.

अनिरुद्ध ने बहाना बनाना शुरू कर दिया, वो बोला- कुनाल, देख मेरी कोई गलती नहीं है. हम दोनों की नंगी उछलती हुई चूचियां देख कर सुरेखा ने भी अपनी ब्रा उतार दी और अपनी चूचियों को मसलते हुए मस्ती में नाचने लगी. मगर डर अभी भी बना हुआ था क्योंकि रात को खाने के समय सब लोग इकट्ठा होने वाले थे.

कभी कभी मेरा लंड भी खड़ा हो जाता था मामी को देख कर! फिर मैं अपना लंड छुपाने की कोशिश करता था पर मामी मेरी और देख कर हँस देती. उस दिन मैंने जान बूझ कर उसको सबसे आखिर तक किसी ना किसी वर्कआउट के बहाने रोके रखा. उसने एक झटके में मेरा साया भी फाड़ कर अलग कर दिया और अगले झपट्टे में मेरा ब्लाउज भी मेरी चुचियों का साथ छोड़ चुका था.

उसने मेरी तरफ आते हुए मेरी मेरी ब्रा और पेंटी को उतार फेंका और मेरी चूचियों को तेज़ी से दबाने लगा. उसका पहला दिन था, तो मैंने ज्यादा जोर ना देते हुए हल्की फुल्की कसरत करवा दी.

उनके पीछे पीछे दो हट्टे-कट्टे आदमी सामानों को लादे केबिन में घुसे और करीने से सभी सामान बर्थ के नीचे जमा दिया. आरिफ़ा उठी और उसने प्रीति की ब्रा को खोल कर उसकी मोटी चूचियों को आजाद कर दिया. मगर अचानक ही किचन में मेरे हस्बेंड आ गये और उन्होंने प्लम्बर को मेरी चूत में लंड डालते हुए देख लिया.

अपनी अनचुदी चुत पर किसी मर्द के होंठों का अहसास पाते ही वो एकदम से चिहुंक उठी.

मैं अचानक उठा और अपने साथ में काव्या को देख कर उसको बांहों में भरने की कोशिश करने लगा. उसने फ़ोन निकाला और बोली- प्लीज दो मिनट कुछ मत बोलना … घर से फोन है. ये ब्रा उसके दोनों मम्मों को किसी जालिम अंग्रेज के जैसे गुलाम बना कर जकड़े हुए थी.

भाभी ने तुरंत मेरा लंड मुँह से निकाल कर अपनी चूचियों के बीच में रख कर मेरा माल निकलवाया. फिर हिम्मत करके बोला- आप भी तो देखती हो?तो वो हंसने लगी और बोली- मैं देख सकती हूं।हम मूवी देखते रहे और मेरी नज़रे अब मैम की चुचियों पर फिर से जाने लगी अब धीरे धीरे फिर से मेरा लन्ड खड़ा होने लगा मैम भी थोड़ा थोड़ा मूवी के खुमार में आ चुकी थीं।मैंने मौका देखते ही मैम के हाथ पर अपना हाथ हल्के से रख दिया.

मैंने अपने स्वेटर, शर्ट, पेंट और अंडरवियर आदि सब जल्दी से उतार दिए. इतने पर भी मुझे पक्का यकीन था कि उसे बी ग्रेड की फिल्म से ज्यादा कुछ नहीं मिल सकता है. भाभी बोलीं- जोग्गी … आज पहले एक बार तुम मुझे क्विकी वाली चुदाई कर दो.

एक्स एक्स व्हिडीओ बीएफ व्हिडिओ

दोस्तो, कॉलेज गर्ल सेक्स कहानी के पिछले भागकॉलेज टूअर का सेक्सी सफर-2में अब तक आपने हम सभी छात्र छात्राओं के विशापट्टनम ट्रिप की कहानी का मजा लिया था.

उसके बाद उसने जैसे ही मेरी चुत में अपना लंड डाला, मुझे बहुत दर्द हुआ. मैंने अपना टी शर्ट अब उतार दिया, अब मैं पूरी तरह से नंगा था लेकिन मॉम की हाफ पैंट अभी तक नहीं उतारी थी. मैं तुम्हें कुछ ऐसे गोल्डन वर्ड बताउंगी, जो तुम्हें और जिसको तुम चोदोगे, दोनों को एनर्जी देंगे.

जब मेरा लंड उसकी चूत में घुसा हुआ था उस वक्त मेरे अंदर ऐसी फीलिंग आ रही थी जैसे मैं आसमान में उड़ रहा हूं. मैं भाभी और अपनी बहन को चोदने के कारण एक चुत चुदाई का नशेड़ी बन चुका था. बीएफ एलसीडीआह्ह इस्श्श … आई … उम्म्ह… अहह… हय… याह… करके वो मेरी पीठ पर नाखूनों से नोंच रही थी.

मेरा दोस्त बोला- ठीक है, अब तेरी चूत तेरे भाई की मलाई चखने वाली है. फिर मैंने निशा को नीचे लेटाया और लंड में कंडोम चढ़ा कर उसकी दोनों टांगें कंधे पर रख कर पूरा लंड अन्दर तक डाल कर चुदाई करने लगा.

एकता बोले जा रही थी- उम्म्ह … अहह … हय … ओह … आआहहह … येयेहह … जोर से … और जोर से चोदो मेरे भैया राजा. मैंने भी मस्ती मस्ती में भाभी के ब्लाउज़ के ऊपर अपने हाथ रख दिए और अन्दर हाथ डाल कर रंग लगाने के बहाने भाभी के बोबे दबाने लगा. कुछ देर में ही यह सब मेरे लोड़े की बर्दाश्त के बाहर हो गया और मैं बोला ‘ये ले मेरी बिच, अपने भाई का सीमन ले!’ और मेरा लोड़ा ज़ोरदार धार मारने लगा, मेरे हल्के पीले सॉलिड माल से आशिमा की सारी पैन्टी भीग गयी.

मेरी बीवी का परिवार शुरू से ही रूढ़िवादी विचारधारा का परिवार रहा है. वो सर झुका कर चुपचाप मेरी बात सुन रही थी … मेरे शब्दों के चक्रव्यूह में वो उलझती जा रही थी. पहले साड़ी फिर ब्लॉउज और जैसे ही उसने ब्रा उतारी, मेरी सांस धौंकनी की तरह धड़ धड़ चलने लगी.

मैंने उससे कहा- आज मैं पूरा दिन फ्री हूं, चलो किसी होटल में चलते हैं.

मैंने बुआ को पीछे से पकड़ लिया और दरवाजे के सहारे लगा कर उनकी गर्दन पर किस करने लगा. ”मैंने पूछा- आप सच कह रही हो?वो बोली- हां, सौगंध लेकर कहती हूं कि मैंने कोशिश जरूर की थी लेकिन बात नहीं बन पायी.

मैंने पूछा- क्यों नहीं जाएगा?उसने बोला- मेरी तबियत ठीक नहीं लग रही है … इसलिए मैं वापस घर जा रहा हूँ, तुम चली जाओ. वाह … एक कसी सी ब्रा में उसके चुचे बहुत बड़े और रसीले फंसे से लग रहे थे. मेरी वाइफ बोली- मैं अभी कुंवारी हूँ … पर आज मुझे पीरियड्स हैं … तो दो दिन बाद करें? नहीं तो तुम्हें लगेगा कि…मैं उसकी बात बीच में काट कर बोला- कोई बात नहीं … बस तुम गेट बंद कर दो.

ज़िया खुद रसोई से तेल लेकर आई और उसने मेरे लंड और अपनी चूत पर लगा दिया. उसने भी अपनी लुंगी में अपना लंड जरा सा सहलाया और मेरी तरफ देखता हुआ बोला- कैसे लोगी भाभी जी?मैंने मन ने सोचा कि कह दूँ कि जैसे तुम देना चाहो. अब इसे हम दोनों का प्यार कह लीजिए या प्यार में हुआ सेक्स! पर हम एक दूसरे को और नजदीक से जानना चाहते थे, एक दूसरे को टूट कर प्यार करना चाहते थे।हमने एक होटल में रूम लिया और हम पूरा दिन वहां रहे। होटल में जाकर हम दोनों बेड पर एक दूसरे से चिपक गए.

हिंदी पिक्चर बीएफ फिल्म और तेरे पापा तो तेरे पापा हैं, बहुत ही सेक्सी हैं, वो जल्दी ही मेरे बूब्स 42″ या 44″ तक पहुंचा देंगे. अगले दिन 8 बजे मेरी आँख खुली तो मैंने देखा बेड की चदर पर खून लगा हुआ था और मेरा बदन भी लाल हुआ पड़ा था.

हिंदी बीएफ देवर भाभी वाला

एक हब्शी जो दीदी की गांड पर मार रहा था … उसने तो दीदी के चूचे दबा दबा कर लाल कर दिए थे. फोन पर कहने लगी- मैंने आपके पास घर का पता मैसेज कर दिया है आदित्य जी. शिखा- पर हम लोग मिलेंगे कैसे? आपकी बेटी तो मेरे साथ हमेशा ही रहती है.

मुझे भगवान् ने बहुत ही प्यारा और खूबसूरत बनाया है मेरा कद पांच फुट आठ इंच का है. वो उसको बेड की तरफ ले गई और उसकी पैंटी को उतार कर उसे पूरी नंगी कर दिया. बीएफ नंगी नंगी वीडियोदरअसल जब मैं आठवीं में था तो मेरी मम्मी गुज़र गयीं थे, तब मेरी बुआ और दादी ने पापा की दूसरी शादी करवा दी थी.

दीदी ने खुद मुझे साथ देते हुए अपना पजामा निकालने के लिए अपनी दोनों टांगें हवा में उठा दी थीं.

उसकी आवाज बड़ी मुश्किल से आ पा रही थी ‘अअ उम्म्ह … अहह … हय … ओह … अ ऊ ऊ ऊ. चूंकि हम दोनों एक ही कॉलेज में थे तो उसने मेरी रिक्वेस्ट स्वीकार भी कर ली.

मैंने उसे अलग किया और अलग करने के साथ ही अपने आपको भी कपड़ों की बेड़ियों से मुक्त कर दिया. उसका नाम था दीपा। अगर वो भी मेरी कहानी पढ़ रही हों तो मुझे माफ़ करियेगा; मैं आपके साथ बिताए उन लम्हों को भूल नहीं पाया और कागज के पन्नों पर उकेर रहा हूँ।गोरी … गदराया बदन … लंबी … कुल मिलाकर पूर्ण रूप से किसी भी पुरुष को अपने सौन्दर्य की गिरफ्त में लेने का सम्पूर्ण साजो सामान उपलब्ध था उनके पास. उसने मेरे लंड का सुपारा होंठों से टच किया और होंठ खोलकर लंड को मुँह में लेने की कोशिश की.

चाची की चुदाई के बाद मेरी नजर उनकी जवान बेटी यानि मेरी चचेरी बहन पर थी.

टॉयलेट में हो रही चुदाई को लेकर मैं बड़ा उत्सुक था कि अन्दर सैंडी किस तरह से चुदाई का मजा ले रहा था. इस पर मैं मुस्कुराया और बोला- कौन सा रोज़-रोज़ तुम्हारा बर्थ-डे आ रहा है … इट इज जस्ट टू चिल आउट ऑनली … क्या तुम्हें कोई प्रॉब्लम हो रही है?वो बोली- नो नो सर … इट इज़ ओके विद मी … वट आई कान्ट से एबाउट दीदी. जब उसने देखा कि लंड सही जगह नहीं लगा है तो रश्मि ने खुद ही मेरे लंड को पकड़ कर अपनी गांड के छेद पर रख लिया.

राजस्थानी मारवाड़ी बीएफमैं भी बाथरूम में गया और रूपाली के मम्मों के बारे में सोच कर लंड हिलाने लगा. पर मैं अपने मम्मी पापा को छोड़ कहीं नहीं जाना चाहता था क्योंकि मेरे अलावा था ही कौन उनका.

बिहार की देसी सेक्सी बीएफ

हम दोनों भावनाओं में बह गए थे और उसके नतीजे में अब मैं उसके बच्चे का बाप था. थोड़ी देर बाद अनिल ने एकता के चूचों को सहलाते हुए पूछा- मजा आया?एकता बोली- हां … बहुत मजा आया भैया. मेरा इतने सालों का इंतजार खत्म हुआ था इसलिए मैं चाची के होंठों का पूरा रस निचोड़ लेना चाह रहा था.

आपको हमारा सेक्स सम्बन्ध कैसा लगा, मेल से जरूर बताएं तथा इस चुदाई की कहानी के बारे में अपनी राय जरूर भेजें. जब मिष्टी ने मुझे ये बात फोन करके बताई, तो मेरे दिमाग में एक आइडिया आ गया. मैं धमाधम गांड में लन्ड के शॉट मारने लग गया और मॉम के बूब्स झूल रहे थे आगे और पीछे! मॉम की आवाज ज्यादा नहीं आ रही थी क्योंकि उनको तो पापा के साथ यह सब करने का अनुभव तो था ही!मॉम की गांड की मस्त चुदाई हो रही थी.

मैंने उसे अलग किया और अलग करने के साथ ही अपने आपको भी कपड़ों की बेड़ियों से मुक्त कर दिया. मैंने लंड हिलाने का काम भी शुरू कर दिया था … लेकिन भीड़ में कोई देख लेता, इसी डर मैं ज्यादा देर लंड नहीं हिला पाया. उसके बाद मैंने चाची को सॉरी कहा और यह बात किसी से न बताने की रिक्वेस्ट की.

मैं बोला- ओके मॉम, जैसी आपकी आज्ञा!तब मैं नंगा ही मॉम के बाजू में लेट गया और मॉम भी नंगी ही लेट गई. और जैसे ही मैंने योनि में उंगली डाली, मुझे लगा कि वो सातवें आसमान पर चली गयी और ‘जोर से … और जोर से …’ करने को बोले लगी.

जब मां लाइट बंद करने के बाद वापस चली गई तो मैंने अपने लंड को निकाल कर उसकी मुठ मारी और मैं सो गया.

इसी प्रकार गर्लफ्रेंड सेक्स के साथ हमारी प्यार भरी जिंदगी चल रही थी. एचडी सेक्सी बीएफ व्हिडिओमैं मामी को अपने से लिपटाए हुए खड़ा हुआ और मोबाइल की फ़्लैश लाइट में उनके रूम में आ गया. बीएफ हिंदी ट्रिपल एक्समैंने चाची की चूचियों को काफी देर तक भींचा और फिर उनकी एक-एक चूची को बारी-बारी से मुंह में भरने लगा. मैंने झट से पोजीशन बदली और बिना देर करे अपना लंड उसकी चूत में पेल दिया.

मैं बोला- मॉम, मेरे को प्लीज दिखाओ ना कि कैसे हैं टॉयज़?मॉम ने अपनी अलमारी से सेक्सी खिलौने निकाले.

हमारी परीक्षाएं खत्म हो गई थीं और हम घर पर बैठ कर मक्खी मार रहे थे. मैंने अलमारी से एक टाईट पिंक कलर की लेडीज़ सेक्सी हाफ पैंट, जो लेडीज पैंटी से थोड़ी सी लंबी होती है और जो शायद मॉम बेडरूम में जब पापा होते थे, तब ही पहनती होंगी. फिर मैं बोला- मॉम कंडोम है क्या?वो हंस के बोली- तू उसकी चिंता मत कर!मैं बोला- ओके मॉम!फिर मॉम ने ड्रेसिंग टेबल से एक स्प्रे अपने चूत के अंदर छिड़का और बोली- इससे अब मैं जल्दी नहीं झड़ूँगी.

अब्बू अंदर आ गये और बाजी उनके लिये खाना गर्म करने लगी तो अब्बू ने मना कर दिया, वो बोले कि वो क्लाइंट के साथ ही बाहर खाकर आये हैं. उसकी साड़ी का ब्लाउज पीछे से बैक लेस थी, सिर्फ एक पतली सी डोर ब्लाउज को बांधे हुए थी. उस समय वो मेरे साथ पढ़ती जरूर थी, लेकिन मेरी जिया से बात नहीं होती थी.

इंडियन लड़की बीएफ

लेकिन इस बार अनिल नहीं माना और वो वापस एकता के ऊपर आकर उसे किस करने लगा. चाची बोलीं- हां मैं चुदक्कड़ हूँ, लेकिन भोसड़ी के, तेरी मां से कम हूँ. उनका गला भी इतना मदमस्त और गोरा था कि वो पानी भी पिएं, तो गले में से पानी जाता दिख जाए.

वो आये और बोले- मैं आपसे एक बात करना चाहता हूं, कल सबके सामने करना मुझे उचित नहीं लग रहा था.

दोस्तो, उस वक्त मेरे अंदर हवस को शांत करने की धुन और सेक्स करने की भूख दिमाग में ऐसे सवार थी कि कुछ दिनों के बाद हस्तमैथुन से मुझे मजा आना बंद हो गया.

एक पल घबराने के बाद वो खुश हो गई और मुझको चूम कर फिर से चोदने को कहने लगी. आंटी ने जब हम दोनों को नंगा देखा, तो वो समझ गईं कि सुजन भी मिष्टी को चोद चुका है. बीएफ चुदाई वाली फिल्म बीएफमुझे मालूम था कि जैसे ही इसका लंड अन्दर जाएगा मेरी चुत एक कबाड़खाना बन जाएगी.

इससे भाभी इतना ज्यादा उत्तेजित हो गईं कि मेरे सिर को पकड़ कर दबाने लगीं और उत्तेजित होकर ‘शीईईईई उईईई … आह ओऊऊ …’ करने लगीं. जब चोदने की बारी आती है, तो साली नखरे दिखाने लगती हो … एकमद चुप रह साली रंडी … आज तेरी चुत का मैं भोसड़ा बना दूँगा. वो मुझसे लंड बाहर निकालने को कहने लगी, तो मुझे उस पर तरस आ गया और मैंने लंड बाहर निकाल लिया.

उसने मुझसे पूछा- मुझे कब से आना होगा?मैंने उससे कहा- आज से ही तुम अपने आपको ड्यूटी पर समझो. चाची ये सुनकर बोलीं- नहीं … मैंने अभी तक तुम्हारे चाचा के अलावा किसी के साथ चुदाई नहीं करवाई है.

मुझे लगा यह मामला तब तक तय नहीं होगा जब तक मैं आशिमा से इस बारे में बात नहीं करूँगा.

मॉम को लगा कि अब मैं चूत को चाटूंगा, उंगली से चूत को खोदूँगा, या मुंह से चूत के अंदर के दाने को काटूंगा और गांड को मसलूंगा. अपना मोटा, लम्बा लण्ड उसकी चूत पर टिका दिया और हल्का सा दबाव डालने लगा तो वो तुरंत बोली- जनाब धीरे, काफी सालों से इसमें किसी का लण्ड अंदर नही गया है।मैंने हल्का दबाव बनाते हुए एक झटके से उसकी चूत में आधा लण्ड घुसा दिया. मैं बोला- मॉम, 38″ के 42″ कैसे हो जायेंगे?तब मॉम बोली- बेटा, जब किसी लड़की की शादी होती है तो शादी के बाद उसके शरीर के कई अंगों में वृद्धि होती है विशेष तौर पर बूब्स और हिप्स में! क्योंकि आदमी औरत जब शारीरिक संबंध बनाते हैं तब परिवर्तन आता ही है.

बीएफ सेक्सी वीडियो एक्स एक्स एक्स एचडी लेकिन फ़ोन काटने के बाद पापा ने बताया कि बुआ की लड़की खुशबू, जो मुझसे छह साल बड़ी है. वो बोली- कुआं बाद में खोद लेना, अगर अभी कोई आ गया तो सारा मजा खराब हो जायेगा.

इस बीच निशा दो बार पूरी तरह से अकड़ कर झड़ चुकी थी और मेरी पीठ पर नाखूनों के निशान बन चुके थे. मैं नीचे लेट गया और निशा मेरे ऊपर बैठ कर मेरी शर्ट और बनियान उतार कर मेरे सीने में किस करने लगी. मैंने भाभी से कहा- मेरा निकलने वाला है … किधर करूं?भाभी गांड उठाते हुए बोलीं- अन्दर ही छोड़ दो.

बीएफ हिंदी में साड़ी

दो मिनट के बाद वो एकदम से मेरे ऊपर आ गयी और उसने मुझे अपनी बांहों में ऐसे दबोच लिया कि मुझसे सांस भी न लिया गया. आपको जानकार हैरानी होगी कि उसने यह सब केवल अपने मनोरंजन और मौज मस्ती के लिए किया था. वो मेरे लंड को ऐसे चूस रही थी कि मुझे इससे ज्यादा आनन्द तो कभी मिला ही नहीं था.

मैं मन ही मन बुदबुदाया कि अच्छा तो बकरा बनाने के लिए दोस्ती कर रही थीं. उनका क्लीवेज मुझे साफ साफ दिख रहा था, मैं उनके क्लीवेज को तिरछी नजरो से देख रहा था.

दोपहर को राजेश ने मुझे फिर से नंगी कर लिया और मेरी चुदाई शुरू कर दी.

मैंने अपने लंड को बाहर निकाल लिया और चाची की गांड के बारे में सोच कर मुठ मारने लगा. और फिर जब मेरी आँख खुली तो मैंने देखा कि मेरी चाची मेरे पास बेड पर बैठी अपनी चुत में उंगली कर रही थी। मैं वैसे ही लेट रहा, आइने उन्हें पता नहीं लगने दिया कि मैं जाग गया हूँ. उसने बताया- मेरा टीचर मेरी लेता जरूर है पर मुझे प्यार भी बहुत करता है.

मैं मॉम के नहा कर आने के बाद बाथरूम में जाता और उनकी ब्रा या पेंटी में अपने वीर्य को निकाल देता. [emailprotected]कहानी का अगला भाग:चचेरी बहन की जवानी और कुंवारी बुर. इससे मुझे लगा कि भाभीजान समझ जाएंगी कि मैं जाग रहा हूँ, तो मजा किरकिरा हो जाएगा.

शादी के बाद तेरे पापा ने मेरे साथ बहुत सेक्स किया और सेक्स करते वक़्त ज़्यादातर वो मेरे स्तनों के साथ बहुत खेलते थे, इनको बहुत दबाते थे अपने हाथों से खींचते थे.

हिंदी पिक्चर बीएफ फिल्म: कुछ ही समय बाद मुहल्ले में रहने वाली 26 वर्षीया मनप्रीत उर्फ मनी से मेरी सेटिंग हो गई. शायद खाली पेट होने के कारण या पहली बार पीने के कारण वोडका का सुरूर चढ़ने लगा था.

मामी बोली- तूने मेरा तो ये हाल कर दिया और खुद पूरे कपड़े पहने खड़ा है. पांच-सात मिनट के अंदर ही मैंने अपना नियंत्रण खो दिया और फिर मैं उसकी चूत में ही झड़ गया. हालांकि जिम में और भी बहुत खूबसरत लड़कियां आती थीं, पर कशिश का गदराया बदन सबसे कुछ अलग ही था.

मेरे शहर में रहने से उनको भी अपनी बेटी की सेफ्टी की चिंता करने की आवश्यकता नहीं थी.

उसके बाद विपुल ने इसी पोज में मेरे चूतड़ों पर 2 थप्पड़ मारे बहुत जोर से. निम्मी नशे में बोल रही थी- सर … मुझे नंगी क्यों कर रहे हो? मुझे शर्म आ रही है. मेरी मां ने खुद मुझसे कहा कि अगर वो जल्दी से हमें पोता दे सके तो इससे ज्यादा खुशी की बात और क्या हो सकती है.