बीएफ की ब्लू फिल्म

छवि स्रोत,बीएफ ब्लू फिल्म वीडियो दिखाएं

तस्वीर का शीर्षक ,

xxx videos इंडियन: बीएफ की ब्लू फिल्म, इतना मज़ा बहनों की चुदाई में भी कभी नहीं आया, जितना आज अपनी मां चोदने में आ रहा था.

सेक्स बीएफ ओपन

यही जन्नत थी मेरे लिए!इससे पहले मैंने कभी कभार उंगली से भी अपने आपको शांत किया था. भाई बहन की बीएफ सेक्सी पिक्चरराजीव बोला- मेरे साले एक बात बता … अनन्या तुम्हारी बहुत तारीफ करती है आखिर बात क्या है?सनी बोला- अच्छा … क्या बोलती है मेरे बारे में?राजीव बोला- वो बोलती है कि तेरे चोदने का स्टाइल अलग है और तेरा लंड भी बहुत बड़ा है.

सनी ने मुझे बताया कि राजीव को ऐसा लग रहा था कि वो मुझे चोद कर मेरा पति बन गया है और मैं उसका साला. मोती औरत की बीएफचूत चटाई के बाद लंड से उनकी ताबड़तोड़ चुदाई करवाने के बाद उनको जो परम संतुष्टि मिलती है, वह मैं अपने शब्दों में बयां नहीं कर सकता हूँ.

मैं गर्म था इसलिए जोर-जोर से मुठ मारने लगा और कुछ देर बाद झड़ गया।पहले मेरे मन में पिंकू के लिए गंदे विचार नहीं थे लेकिन मैंने जब से पिंकू को बिना कपड़ों में देखा तभी से वह मेरे दिमाग में घूमने लगी.बीएफ की ब्लू फिल्म: उसने मेरा हाथ पकड़ लिया और बोली- आप कहां जा रहे हो जानू, यहीं रहो ना मेरे पास.

विलेज सेक्स की कहानी में पढ़ें कि मैं गाँव में दो चूतों को एक साथ पटा रहा था.मैंने उसके पैरों को फैलाया और उसके घुटनों में अपने हाथ डालकर उसके ऊपर सवार हो गया.

कामसूत्र पिक्चर सेक्सी - बीएफ की ब्लू फिल्म

पॉल को ये एक तरह का इशारा था कि उसे अब मेरा लौड़ा मुँह में लेकर चूसना है.जब उससे यह नहीं हो पाया, तब वह बोलने लगा कि पानी का कनेक्शन ही बंद करना पड़ेगा.

अब मैं उन्हें गोद में उठा कर बेडरूम में ले गया और एक बार फिर से उनके ऊपर चढ़ कर उन्हें किस करने लगा. बीएफ की ब्लू फिल्म उनके जाने के बाद बच्चियों साथ में सोती थी और उन अचानक जाने का गम उनकी नौकरी की जगह मुझे नौकरी मिल गयी.

राकेश अब बहुत ज्यादा हांफ रहा था और मुझे किस करते हुए धकापेल चोद रहा था.

बीएफ की ब्लू फिल्म?

उस रात हम दोनों ने कई बार चुदाई की और सोये भी तो बस थोड़ी देर के लिए. थोड़ी देर के लिए मैं जब भी दिन में आता था और शालिनी को चोदता था, तब मेरे मन में स्नेहा दी ही रहती थी. मेरी साली क्या गजब की माल है, ये बात तो मुझे आज ही पता चली, जब वो मेरे सामने पूरी नंगी पड़ी थी.

अंकल जो कुछ भी मेरे साथ कर रहे थे, वह मेरे अन्दर की लड़की को शायद जगाता जा रहा था. फिर वो नीचे आयी और मुझे गाली देने लगी, उल्टा सीधा बोलने लगी- साले हरामी तूने मेरे कपड़े खराब कर दिए, तुझे तमीज नहीं है कि किस तरह से घर में रहना चाहिए. मैं उसे समझाता कि आजकल लोग नौकरी छोड़ कर अपना खुद का व्यवसाय शुरू कर रहे हैं क्योंकि उन्हें पता होता है कि नौकरी करने वाले इंसान को एक मशीन के जैसे काम करना पड़ता है.

जैसे ही उसका हुक खुला, उसकी ब्रा नीचे गिर गई और मैं उसके तने हुए मम्मों को देख कर पागल सा हो गया. शैली खड़ी हुई और बोली- लाओ, मैं कोल्डड्रिंक सर्व कर देती हूँ, तुम ईशा के पास बैठो. मुझे इस समय ढेरों कहानियां मिल रही हैं लेकिन ज्यादातर कहानियां पढ़ने से ही पता चल जाती हैं कि ये बनाई हुई हैं.

मैंने बूब्स चूसते हुए एक हाथ से उनकी चूत को भी सहलाना शुरू कर दिया था. मैंने उसके मम्मों को ब्रा के ऊपर से मसलने के साथ साथ उसकी ब्रा को खोल दिया.

उसके मुलायम दूध और गांड की छुअन से मेरा लंड अपने तेवर दिखने लगा था.

इस बार फौजी पहली बार की तरह नर्म नहीं पड़ा बल्कि उसने दुश्मन की चीख को अनसुना करते हुए अपनी तोप को दुश्मन के ठिकाने को फाड़ते हुए वहीं पर घुसेड़े रखी.

यह तब की बात है, जब मैं अपने दोस्तों के साथ क्लब में अपनी एक फ्रेंड की बर्थडे पार्टी सेलिब्रेट कर रही थी और हमने जमकर शराब पी थी. मैंने कुछ झटके मारे और अपना लंड निकाल कर उसके मुँह में डाल दिया और उसे चुसाने लगा. मगर अन्दर से चूत पानी छोड़ चुकी थी तो अन्दर जाने के बाद लंड ने चूत में अपनी जगह बना ली.

उन्हें यूं कमरे में आया देख कर मं थोड़ा घबरा गयी पर मन ही मन मैं उनके लंड का मजा लेना चाह रही थी. फिर सिसकती हुई रोने सी लगी- आंह बेबी प्लीज, बहुत दर्द कर रहा है … एक बार निकाल लो … बाद में फिर से डाल लेना. अपनी बारहवीं क्लास में पास करने से पहले ही मैं इन दोनों औरतों से कई बार मिला था लेकिन कभी भी मेरे मन में गंदे ख्याल नहीं आए.

जैसे ही पूरा लंड बाहर निकला, तो गीता की गांड से मेरा वीर्य बाहर आने लगा था.

मम्मी ने अपने हाथों से इन्द्रेश अंकल के लंड को सहला कर फिर से खड़ा कर दिया. उस बारिश में हम लोग आधे से ज्यादा गीले हो गए थे पर कोई रुकने की जगह ही नहीं मिल रही थी. टीवी तो रिमोट से ऑन न होने के कारण स्क्रीन ऑफ थी लेकिन सीडी प्लेयर ऑन हो चुका था और उसमें डिस्क प्ले हो चुकी थी।मैं बातों ही बातों में यह बात भूल चुका था कि सीडी प्लेयर ऑन है.

इस बार लगभग आधे से ज्यादा लंड किरण की गांड के छेद को फाड़ता हुआ अन्दर घुस चुका था. नीचे दबी लंड के हमले झेलती शीरीं को भी अब इतना सब दर्द झेलने के बाद हल्का हल्का मज़ा आने लगा था. उसे एक रात में कम से कम दो या तीन बार चुदाई चाहिए होती थी जबकि मैं एक ही बार उसे ढंग से नहीं चोद पा रहा था.

दोस्तो, हॉट Xx कपल सेक्स कहानी के अगले भाग में आपको इससे आगे का मजा लिखूंगा.

हालांकि मैं हूँ तो उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले से, पर पढ़ाई के लिए दिल्ली आ गई थी … तो अब दिल्ली वाली ही हो गयी हूँ. मैंने भी देर न करते हुए अपने लंड को उसकी चूत पर सैट किया और अन्दर डालने लगा.

बीएफ की ब्लू फिल्म फच्च फच्च और थप थप की आवाज़ करता हुआ मेरा लंड बुआ की चूत में अन्दर बाहर चलने लगा. अब वो भी अपने आपको रोक नहीं पाया और मेरी पैंटी के अन्दर हाथ डाल कर मेरी चूत को सहलाने लगा.

बीएफ की ब्लू फिल्म वो ऑफिस में अपना दबदबा वैसा ही बनाए रखना चाहती थी, सो ये ख्याल भी उसने एक पल में झटक दिया. किस के दौरान मेरे हाथ कभी सोनी की पीठ सहलाते तो कभी उसके नितंबों को.

रसिका भाभी भी अपनी गांड में चुभते हुए मेरे खड़े लंड का अहसास करने लगी.

हिंदी बीएफ सुहागरात वीडियो

मैंने उससे खाना खाने को कहा, तो बोली- नहीं यार … अब मुझसे कुछ नहीं खाया जाएगा. कॉलेज में आने के बाद उसको थोड़ा आजादी मिली और उसकी दोस्ती भी आजाद ख्याल की लड़कियों से हो गयी. आप मुझे मेल से बताएं कि आपको मेरे ऐस फक़ एक्स्पीरिएंस में मजा आया?[emailprotected]ऐस फक़ एक्स्पीरिएंस का अगला भाग:चढ़ती जवानी में सेक्स की चाह- 4.

फिर रीना ने अपने मुँह से थूक निकाल कर पॉल की गांड का छेद गीला कर दिया और अगले ही पल उसने उस रबर के लौड़े का सुपारा पॉल की गांड में घुसा दिया. अब मैं अपने बॉयफ्रेंड से भी बात नहीं करती, बस अपना सारा टाइम अपने बड़े भाई के बारे में सोचती रहती और उसके साथ सेक्स करने के सपने देखती रहती. मैंने शादी करना सही नहीं समझा क्योंकि मेरे दो बेटे हैं, जो कि अब बड़े हो चुके हैं.

मैं चाहती भी थी कि जैसे मेरी गांड की खुजली मिट गई, वैसे ही मेरी चूत की खुजली भी उसके पानी से मिट जाए.

फिर थोड़ी देर में विपिन मेरे पास घुटनों के बल चलता हुआ आया और बोला- दीदी, मुझे भी दिखा दो फिल्म! मुझे नींद नहीं आ रही है. एक दिन मैंने बात करते समय उससे पूछा कि आप बच्चा कब पैदा करोगी या ऐसे ही अकेली नवेली पत्नी बन कर सारी उम्र मजे लेने हैं. हम दोनों इस बात को लेकर बहुत ज्यादा खुश थे कि हम दोनों का मिलन फिर से हो जाएगा.

”यार अवि, मेरा फर्स्ट टाइम है, सब ठीक होगा ना …मैं थोड़ी घबरा रही हूं. राजीव को देखकर सनी हंसते हुए बोला- अच्छा तो जीजू को साथ लेकर आई हो. वो हमारे फ्लैट के सामने ही रहने लगा था, जिस वजह से उसके विषय में मुझे काफी जानकारी हो गई थी.

तब उनकी दो उंगलियां मेरी चूत में और अंगूठा मेरी गांड के मुहाने पर था।उन्होंने मेरी टांगें चौड़ी की और घुसा दिया अपना चेहरा मेरी जांघों के बीच … और मेरी कसक छूट गई।हां … इसी का तो इंतजार कर रही थी मैं!जाने कितने अरसे से … सालों से … इस कामुक जिस्म को यही तो चाहिए था।करीब तीन चार मिनट ही गुजरे होंगे कि मैंने पानी छोड़ दिया, ऐसा लगा जैसे जमीं पर स्वर्ग के दर्शन हो गए. सौतेली माँ ने अपनी इच्छा अपने बेटे को बताई तो …अन्तर्वासना के सभी दोस्तों को हर्षद का नमस्कार.

देसी गर्ल न्यू चूत कहानी में पढ़ें कि मैं पड़ोस की कई चूतें मार चुका हूँ. वो मुझे घर छोड़ना चाह रहा था ताकि वो मेरा घर देख सके और मौका मिलते ही मुझे आकर चोद सके. [emailprotected]Xxx स्कूल गर्ल हॉट स्टोरी का अगला भाग:चुदाई के चाव में कुंवारी बुर की सील तुड़वाई- 3.

दोनों ने एक दूसरे को कस लिया और ऐसे लिपट गए कि जैसे एक दूसरे में समा जाना चाहते हों.

मैं- अरे नहीं बोलूंगा, मैं भी इसी मौके की तलाश में था कि तुम्हारी दीदी जाएं और मैं ड्रिंक एन्जॉय करूं. मैंने उन्हें खींच कर अपनी बांहों में भर लिया और पूछा- मेरा लंड कैसा लगा?वो इठला कर बोलीं- सबसे मस्त … इसलिए तो अब मैं अपनी सहेलियों को तुम्हारे लंड से चुदवाऊंगी. उसके बाद उन्होंने किताब देखते-देखते मेरे हाथ और मेरे बदन पर हाथ चलाना शुरू कर दिया.

मैं आगे की तरफ हो गया लेकिन उसने मेरे चूतड़ों को पकड़ कर खींचा और पीछे खींचते ही पूरा लौड़ा मेरे अन्दर उतर गया. मैंने उसे अब घोड़ी बनाया और उसकी गांड के छेद पर अपना लंड टिका कर डालने लगा.

उसके बाद मैं नहा कर कमरे में आई तो मैंने नीचे बिना पैंटी के एक एकदम फिटिंग की काले रंग की, लेकिन बिल्कुल झीनी लेग्गिंग पहनी जो मुझे एकदम टाइट थी. वो मेरे लंड के नीचे लटकते आंडों को पकड़ कर लंड चूस रही थी और अपनी चूत में मेरा मुँह और ज्यादा दबाने कीई कोशिश कर रही थी. मैं, अपनी व जिसके बारे में कहानी लिखी जा रही है, उसकी निजता भंग न हो, इसलिए ज्यादा कुछ उजागर नहीं करूंगा.

बीएफ एक्स एक्स एक्स इंडियन

थोड़ी देर बाद उसका वीर्य छूट गया तो उसे जैसे आराम सा मिला और आनन्द की अनुभूति हुई.

फिर पापा बोले- सॉरी मेरी परी, तू ठीक है न … अब सीधी हो जाओ, मैं तेरी चूत चोद लेता हूँ. यह एक लड़के जिसका नाम रिक्की है, उसके, उसकी विधवा मां मोहिनी और उसके प्रेमी अर्णव के सेक्स सम्बंधों को लेकर है. किरण को चूत चूसवाने का मस्त मज़ा मिलने लगा था तो उसने खुद अपनी चूत रेशमा के मुँह पर रगड़नी चालू कर दी- उफ्फ चूस रेशमा मजा आ रहा है साली रंडीई पूरी जीभ घुसा ना मादरचोद की औलाद … आह.

पहली बार या दूसरी बार में शर्म ही खत्म नहीं होती, लंड चूसना तो दूर की बात है. उसकी नाभि को चूमते ही वो जैसे पागल हो गई और अपने दोनों हाथों का जोर लगा कर मेरे सिर को नीचे धकेलने लगी. हिंदी बीएफ फिल्म दिखाएंअपनी गांड के छेद पर अपने बेटे की जीभ चलने से मेरी मां एकदम से कामुक आवाजें निकालने लगीं- आह हहह अहह … लग रही है बेटा … आंह आराम से!कुछ देर बाद मैंने मां की गांड में बिना बताए लंड पेल दिया.

तब मैंने नंदा से कहा- मेरे कंधे पर हाथ रख कर चलो अन्यथा गिर गयी तो तौहीन हो जाएगी. तभी सर थोड़ा नाटक करते हुए बोले- अरे माफ करना, मैं गलती से अन्दर आ गया.

दस सेकंड के लिए मैं हिल ही नहीं पाया शायद मनु मेरे मन के विचार समझ गई थी. मैंने काफ़ी बार भाई बहन के बीच होने वाली चुदाई कहानी पढ़ी हैं और उनको पढ़ कर मजा भी लिया है. मैंने उसे उसके लेटर दिखाकर कहा- तेरे चक्कर का मुझे सब पता चल गया है.

फिर दस मिनट बाद आंटी की चूत झड़ने की पोजीशन में आ गई और उनके मुँह से गर्म आवाजें निकलने लगी- आआहह … जानू … मैं झड़ने वाली हूँ … आह मैं तो गई जानू!ये कह कर रूचिका आंटी ने अपनी चूत से फव्वारा छोड़ दिया. अब कमरे में टीवी और हम दोनों की मादक आवाजें मिक्स होकर गूंजने लगी थीं. पहले तो मुझे थोड़ा अजीब सा लगा कि भाई बहन में सेक्स कैसे हो सकता है, फिर मैंने वो कहानी पढ़ना शुरू की.

मैंने बाहर से ही उससे कहा- अबे यार कुंडी तो लगा लेती … और तेरे रूम के बाथरूम में क्या पानी नहीं आ रहा था जो मेरे रूम में नहाने आई?वो हंसने लगी और अन्दर से ही आवाज लगा कर बोली- सॉरी भैया, वो मेरे रूम का शॉवर चल नहीं रहा था, इसलिए मैं आपके रूम में आ गई थी.

वो मान गई और मेरी सीट में आकर बैठ गई।फिर थोड़ी देर बाद हम दोनों सीट पर लेट गए उसका शरीर मेरे शरीर पर लगते ही मेरे शरीर पर करंट दौड़ने लगा।मेरा हाथ धीरे धीरे उसके शरीर पर चलने लगा।उसकी गान्ड पर मेरा लौड़ा टच करने लगा।उसे भी अब शायद महसूस होने लगा. मैं एक बार फिर से उसके पैरों के पास जाकर बैठ गया और उसकी दोनों जांघों को अलग कर दिया.

अगले दिन शाम की ट्रेन थी मतलब मैं और रेशमा रात भर एक ही कूपे में होंगे और यही सोच कर मेरा लंड अभी से फड़फड़ाने लगा था. तब भैया ने मैनेजर से पूछा- नीचे दुकान में कोई ड्रेस मिल जाएगा?मैनेजर ने बताया- हां मिल जाएगा. उसके होंठों का रसास्वादन करते हुए मुझे दस मिनट से भी ज्यादा समय हो गया था.

चाची मुझे खाना खाने के लिए आवाज देने लगीं पर टीवी चलने की वजह से मुझे आवाज आई नहीं. पर मुझे कहां सुध थी इस बात की … मैं तो सुबह उठ कर सीधे फ्रेश होने के लिए उनके पास चली गई थी. मुझे इतना मजा आ रहा था दोस्तो, कैसे बताऊं!उसने चाटकर मेरा पूरा लंड साफ कर दिया था.

बीएफ की ब्लू फिल्म देसी माल लड़की Xxx कहानी में पढ़ें कि मेरे घर में गाँव से एक जवान नौकरानी आई तो मैं उसके गदराये बदन को देख उसे चोदने पर उतारू हो गया. जिस तरह से तुम्हारी चूत लंड को निचोड़ती है, उससे तो लंड की माँ चुद जाती है.

काले लंड की बीएफ

कुछ पल के बाद मुझे मजा आने लगा था और मैं ज्योति को लेकर मदमस्त होने लगा था. मौसी उस वक़्त कानपुर गयी हुई थीं और मैं और भाभी घर पर अकेले रह गए थे. उन्होंने मुझे कुछ गालियां भी दीं, पर अब मैं वहां तीन लोगों के सामने पूरी नंगी खड़ी थी.

इसके बाद मैं अन्दर चेंज करने गई और मैंने फ़ोटो शूट के लिए रेड ब्रा सिलेक्ट की. मम्मी हंस कर बोलीं- अरे वो चिंटू लेटा है, बिल्कुल अपने पापा की कद काठी पर गया है. એક્સ વિડીયો એક્સ વિડીયો એક્સ વિડીયોलेकिन तुम दोनों ने ये सब कैसे किया … और सरिता फिर से पेट से हुई तो?मैंने अदिति से कहा- देखो अदिति हमने संभोग कब और कैसे किया, वो मैं फिर कभी बताऊंगा.

मैं अपनी इस लम्बी कहानी में बता रही हूँ कि मेरी बुर की चुदाई की शुरुआत किस तरह से हुई और मैं एक के बाद एक लंड से चुदती चली गई.

नेहा थोड़ा सा छटपटाने लगी पर मैंने उसकी टांगों को मजबूती से पकड़ लिया था. मगर मेरा लंड शांत होने का नाम नहीं ले रहा था तो मैंने करिश्मा को मनाया और उसे किस किया.

बेटी को भी अपने पापा की मंशा का आभास हो गया था और …कहानी के पहले भागबाप ने बेटी को बॉयफ्रेंड संग नंगी देखामें आपने पढ़ा कि विधुर राजेश की वासना से भरी निगाहें उसकी कमसिन जवान बेटी के सेक्सी जिस्म पर टिकने लगी थी. वह तो ऐसे पागल हो रही थी कि आज तक उसको कभी लंड मिले ही ना हों और तीन तीन लंड आज एक ही साथ में अन्दर घुसने वाले हों. उन्होंने कहा- किस के लिए करती … तेरे मामा तो बस चूत में लंड डाल कर पेलना जानते हैं, मेरी चूत से खेलना उन्हें पसंद ही नहीं है.

मुझे सोनी पसंद थी तो दुनिया उसके बारे में क्या सोचती है या क्या कहती है … इससे मुझे फर्क नहीं पड़ता.

जैसे ही मेरे लंड का सारा माल रीना की चूत ने चूस लिया, मैं धीरे धीरे अब उसके बदन से ऊपर उठने लगा. थोड़ी देर में हम दोनों ही झड़ गए, रागिनी निढाल होकर मेरे ऊपर गिर पड़ी और मैंने कसकर उसे अपनी बांहों में जकड़ लिया. वो बोला कि क्यों अब और मजे नहीं लेने क्या?मैंने हंस कर कहा- हां करना है.

देसी एचडी बीएफयह देखकर हम दोनों को और जोश भर गया, हमने भी रेशमा को पूरे ताकत से चोदना जारी कर दिया और कमरे में रेशमा की मादक सिसकारियां गूंजने लगीं. बस कुछ ही दिनों की बात थी जब मेरा ब्वॉयफ्रेंड मुझे अच्छे से रगड़ रगड़ के कर चोद देगा और मेरी पूरी तरह से खुजली मिटा देगा.

हिंदी बीएफ चुदाई में

तब से आज तक जब भी हमको मौका मिलता है, तो हम दोनों चुदाई कर लेते हैं. फिर शाम हो गई और मेरा मन तो रात होने का इन्तजार कर रहा था क्योंकि आज तो मेरी और भी जम कर चुदाई होने वाली थी. थोड़ी देर में वो शांत हुई तो मैंने बड़े प्यार से उसे घोड़ी वाली पोजीशन में लाकर धीरे-धीरे वहीं पर धक्के मारना शुरू किया.

तुम लोगों ने कोई 14 मिनट तक किस की है, ये देखो मेरे पास वीडियो सबूत है. जब मैंने यह महसूस किया तो मैंने बात बदलते हुए उनसे कहा कि मैं थोड़ा नीचे जाकर वापस आ जाऊंगी और कुछ दिनों के लिए तुम लोगों बाथरूम और टॉयलेट यूज़ करना चाहूंगी, जब तक मेरा बाथरूम टॉयलेट ठीक नहीं होता. फिर हमने फ़ोन नंबर भी एक्सचेंज कर लिए और हमारी फ़ोन पर भी बातें होने लगीं.

इन बड़े हुए धक्कों को भी उसने सहन कर लिया तो मैंने मौका देखकर एक जोरदार झटके से अपना पूरा लंड उसकी गांड में डाल दिया. गीता ने हम दोनों को चाय के कप देकर खुद एक कप लेकर मुझसे सटकर बैठ गयी. अभी वो कुछ कह पाता, मैंने तुरंत आगे हाथ बढ़ा कर उसका लंड पकड़ा और अपने मुँह में ले लिया.

पाटिल जी- हां मेरे लौड़े की कुतिया, ले मेरा लौड़ा तेरे इस मदमस्त गांड में बहन की लौड़ी, क्या मस्त माल है तू रेशमा … आज से तू हम दोनों की रखैल बन गयी रंडी. वो अन्दर जाकर हमारा सामान और अपने कपड़े ले आई और साथ ही उसने पीजी वाली आंटी को कह दिया कि वो कुछ दिन अपनी सहेली के हॉस्टल में रुकेगी.

सोचते सोचते उसका लंड खड़ा हो गया और उसने फिर से वही सब किया और लंड झाड़ कर थक कर सो गया.

अभी आधा लंड भी नहीं घुसा था कि वह चीखती हुई आगे को सरक गई और लंड बाहर निकाल दिया. बीएफ सेक्सी दिखाइए वीडियोमैं भी घर पर बोर हो रही थी तो मैंने कहा- मैं भी चली जाऊं क्या, यहां थोड़ा अजीब सा लग रहा है. नंगी सेक्सी इंग्लिश मेंअगर तुम मेरे यहां हरदम साथ रहने लगो, तब क्या दोगे?मैं बोला- इसका एक समय फिक्स कर दो. काफी देर तक दोनों मियां-बीवी ने मिलकर मेरे लौड़े की और गांड की अच्छे से सेवा की.

लड़का अपनी मां को अभी भी तेजी से चोद रहा था, दोनों में से कोई झड़ने का नाम नहीं ले रहा था.

वो बोली- तो उसका कोई मुहूर्त निकालना पड़ेगा क्या?मैंने कहा- काहे का मुहूर्त …बस मैंने बिना कुछ सोचे अपना मुँह उसकी बुर पर लगा दिया और जोर जोर से चूसने लगा. रीना भी अपनी कमर का वेग बढ़ाती हुई जोर जोर से अपनी फुद्दी पॉल के मुँह पर रगड़ने लगी- आअह हम्म्म्म पॉल कुत्ते तेरी मां की चूत साले ईई!यही सब कहती हुई रीना पॉल का मुँह चोदने लगी. उधर रीना की चूत अब चुदने के लिए बिल्कुल तैयार थी तो इधर मेरा लौड़ा भी रीना जैसी बाजारू रंडी की चूत मारने के लिए तैनात हो चुका था.

मैं उसके मैसेज के बारे में बात करने लगा तो करिश्मा ने कहा कि घर में मम्मी पापा के आगे हम नार्मल ही रहेंगे और अब से तुम मेरे दोस्त, ब्वॉयफ्रेंड पार्टनर सब कुछ हो. दोनों हाथों की उंगलियों से अपने फुद्दी की पंखुड़ियां खोलती हुई वो पॉल से बोली- देख ले मादरचोद आज फिर से चुद गयी मैं तेरे बाप से … अब साफ़ कर अपनी मां की चूत भोसड़ी के, देख कैसे तेरे बाप का माल निकल रहा है मेरे भोसड़े से कुत्ते!मेरा वीर्य जैसे जैसे रीना की भोसड़े से बहने लगा, वैसे वैसे पॉल बिना किसी संकोच के किसी दूसरे मर्द का अपनी बीवी की चूत से चाटने लगा. आने वाले कल को लेकर आपा बहुत घबराई हुई थीं कि सच जानने के बाद बच्चे कैसा रिएक्ट करेंगे.

बीएफ हिंदी कॉम

अब मैं उनके बाजू में लेट गया और हम दोनों लेटे हुए ही एक दूसरे को स्मूच कर रहे थे. अदिति मचलने लगी और मदहोश होकर मेरा आधा लंड अपने मुँह में लेकर जोर जोर से चूसने लगी. चुदाई के बाद मम्मी बिल्कुल शांत और धार्मिक स्वभाव की ऐसी हो जाती थीं जैसे वो अपनी चूत में कभी लंड न लेती ही न हों और चुदाई को गलत आदत मानती हों.

मेरा नाम सिड कपूर है, मैं दिल्ली में अपने माता-पिता और भाई के साथ रहता हूँ.

[emailprotected]लड़के की गांड की कहानी का अगला भाग:बूढ़े अंकल ने मेरी कुंवारी गांड चोदकर खोली- 2.

मैंने करिश्मा से पूछा- कभी तुम्हें फिजिकल रिलेशन की जरूरत फील नहीं होती?इस पर करिश्मा ने जवाब दिया- कभी कभी लगता है, लेकिन सोसाइटी का भय … और ऊपर से तलाकशुदा होने का धब्बा होने से हर कोई ये सोचता कि बस ये औरत तो खिलौना है, इससे खेल लो. आपको इस सेक्स कहानी को पढ़ कर पता लग जाएगा कि ये मेरी एक सच्ची चुदाई कहानी है. इंडियन पोर्न दिखाइएये कह कर मैंने अपने नाइट ड्रेस को मम्मों से थोड़ा नीचे खिसका दिया और उसके मुँह को अपने बूब्स पर दबाकर बोली- सब रिश्तेदार मेरी ले चुके हैं, तू ही बचा था बस … आज तू भी ले ले भाई.

वो पराये मर्दों से चुदने का सोच भी नहीं सकती थीं, भले ही जब वो कहें, तब पापा उनको ना भी चोदें. कुछ देर बाद मैं 69 की पोजीशन में आ गया, पर वो मेरा लंड मुँह में नहीं ले रही थी. वो कुछ समझी नहीं, तो मैंने उससे कहा- मेरी हाइट कम है, तो मैं तुमसे ज्यादा दूर नहीं बैठ पाऊंगा और वो तुम्हें थोड़ा असहज लगेगा.

ऐसे ही जब अगला सीन आया, तो मैंने हिम्मत करके उसके हाथ पर हाथ रख दिया. मैं भले ही खुद को समझा रही थी कि मेरा खुद का ठोकू आएगा और मेरी प्यास बुझा देगा.

करीब 5-10 धक्के और लगाने के बाद वो झड़ गई और उसकी चूत से फव्वारा निकलना शुरू हो गया जो मेरे आंडों को भिगोने लगा.

तो जब सिमी की फ्रेंड रिक्वेस्ट आई तो मैंने फटाफट उसे एक्सेप्ट कर लिया. मैंने उसे बहुत समझाया- तुम अपनी गांड को ढीला छोड़ो, फिर उसमें लंड जाएगा. अब मैंने अपनी शर्ट भी पूरी उतार दी थी और उसके सामने बिल्कुल नंगी हो चुकी थी.

वीडियो सेक्सी फिल्म बीएफ कुछ देर बाद मैंने लंड बाहर निकाल लिया और बुआ को लंड पर बैठने के लिए कहा. भावनाओं में बह कर ऐसा कोई कदम उठाना शायद मुझे आगे चल कर बहुत तकलीफ दे सकता है.

आप इस देसी GF सेक्स कहानी से संबंधित कोई विचार मुझे मेरे ईमेल आईडी पर बता सकते हैं. आपने मेरी पहली सेक्स कहानीक्लासमेट की चुदाई उसकी शादी के बादपढ़ी थी. एक दो बार कोशिश करने पर जब सोनी ने अपना हाथ हटाने नहीं दिया तो मैं फिर से उसके ऊपर आ गया और उसे चूमने लगा.

बिहार का सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी

एक दिन मैंने उससे इस बात को लेकर चर्चा की तो वो बोली- हां भाई, मुझे एक लुक छिप कर चुदाई करवाने में मजा नहीं आता है. मैं करिश्मा को श्वेता के घर छोड़ कर अपने फ्रेंड के पास चला गया और रात को वहीं रुका. तभी मैंने देखा कि पापा भी करवट बदल कर मम्मी की तरफ मुँह करके लेट गए.

मेरी दीदी जिज्ञासा इन्द्रेश अंकल के घर ना रुक कर अपने एनजीओ के काम से चली गयी. फिर मुझे लगा कि अब चूत से ज्यादा मजा गांड में आएगा तो मैंने झट से अपना लौड़ा किरण की चूत से बाहर खींचा और किरण के बाल खींचते हुए उसे मेरे लौड़े की तरफ घुमा लिया.

पॉल भी रीना की चूत और मेरे वीर्य से भरी उसकी उंगलियां बड़े मज़े से चाटने लगा.

मोहिनी अपनी टांगें कभी सीधी करती, कभी मोड़ कर चूत को अर्णव के लिए खोल देती. वो सीढ़ी पर खड़ी थी और मैं बाथरूम में नंगा नहा रहा था और अपना लंड सहला रहा था. मैंने देखा कि नवाज भाई अपने लंड में थूक चुपड़ कर उसकी गांड पर टिका रहे थे.

पॉल ने भी अपनी गलती मानते हुए रीना को अपने तरीके से कामजीवन का मज़ा लेने की सहूलियत दे दी थी और तब से ये दोनों ऐसे ही अलग अलग मर्दों से एक साथ चुदाई का मजा लेते आ रहे थे. दोस्तो, आगे क्या हुआ जब जीजा साले दोनों मिलकर मेरी नंगी जवानी को निहार रहे थे, वो सब मैं आपको सेक्स कहानी के अगले भाग में बताऊंगी. रेखा मैं जिस दिन तुम्हारी मां से मिलने आया था उसी दिन तुम्हें नंगी देखा था और तभी से तुम्हें पसंद करने लगा था.

उस वक्त उसका मुझे इस तरह से किस करने का आभास भी नहीं था, तो मैं उसे किस करते ही एकदम से डर गई और एक अजीब से अहसास से अन्दर से हिल गई.

बीएफ की ब्लू फिल्म: मैंने उससे खाना खाने को कहा, तो बोली- नहीं यार … अब मुझसे कुछ नहीं खाया जाएगा. थोड़ी देर मैं वैसे ही शान्त रहा और उससे कहा- अब और दर्द नहीं होगा नीता … गांड फक़ में पहली बार ऐसा ही दर्द होता है.

मेरा भाई मेरी बुर में ही झड़ गया और मेरे ऊपर ही लेट कर मुझे किस करने लगा. रीना ने उसका मुँह ऊपर करते हुए पॉल के मुँह पर थूकते हुए कहा- साली तेरी मां किस हिजड़े से चुदी थी कि तेरे जैसा नामर्द पैदा हो गया. यही सोचते हुए मैंने उसे स्कूटी के बारे में बताना शुरू किया और उसे चाबी दे दी.

मैंने उसके पैर जरा ज्यादा खोले और पीछे से उसकी चूत में लंड डाल कर उसे चोदने लगा.

मुझे इस समय ढेरों कहानियां मिल रही हैं लेकिन ज्यादातर कहानियां पढ़ने से ही पता चल जाती हैं कि ये बनाई हुई हैं. उन्हें यूं कमरे में आया देख कर मं थोड़ा घबरा गयी पर मन ही मन मैं उनके लंड का मजा लेना चाह रही थी. उन लोगों ने भी जब लच्छो को देखा तो मुझसे उसकी गदराई जवानी की तारीफ की.