सेक्सी हिंदी में सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,चूत को चोदते हुए सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

कामसूत्र बीएफ पिक्चर: सेक्सी हिंदी में सेक्सी बीएफ, हम दोनों बिस्तर पर ही एक दूसरे के ऊपर झूमने लगे; मतलब हम बिस्तर पर लेते लेटे एक दूसरे के ऊपर कलाबाजियां खा रहे थे.

पाकिस्तानी सेक्सी रंडी

लंड में तनाव पहले से ही बहुत ज्यादा था, मैं धक्के मारे जा रहा था, वो निश्चल सी लेटी आह-ओह करे जा रही थी।बहुत ज्यादा देर तक मैं नहीं चल सकता था, कुछ ही पेलम पेली के बाद ही मैं उसके सीने पर चढ़ गया और लंड उसके मुँह में डाल दिया. आदिवासी व्हिडिओ सेक्सीफिर वो उठी और उसने फिर साड़ी और पेटिकोट को चढ़ा कर अपने कमर पे अटका दिया।उनकी गदरायी हुई माँसल जांघों को देखकर मेरा लंड पैंट में पूरी तरह खड़ा हो गया।फिर उन्होंने मुझे देखा और कहा- बेटा उठ गए … चलो मुंह हाथ धो लो … मैं चाय बना देती हूँ तुम्हारे लिए!उनकी नजर मेरे शार्ट्स पर पड़ी.

मैं जोर जोर से धक्के मारने लगा।प्रिया के चेहरे पर दर्द था फिर भी मजे ले रही थी- बहुत मजा आ रहा है! ऐसे ही करते जाओ करते जाओ!उसकी चूत में दर्द भी हो रहा था. శ్రియ సెక్స్एक दिन मुझे फोन आया, उस आदमी ने पूछा- क्या आप रजनी जी हैं?मेरे हां कहने के बाद वह बोला- मैं रोहित तिवारी हूँ.

मैंने फिर से अपना हाथ उसकी रजाई में डाल दिया तो उसने मेरे हाथ में अपने नाखून गड़ा दिए पर मैंने हाथ बाहर नहीं निकाला.सेक्सी हिंदी में सेक्सी बीएफ: मेरे प्यारे दोस्तो,कहानी के पिछले भागकालगर्ल ने मुझे चुदाई का पहला पाठ पढ़ायामें आपने पढ़ा कि मैंने पैसे उधार लेकर कालगर्ल को चोदा.

अब मैंने नीचे से हाथ डालकर उसके पेटीकोट के ऊपर से और एक हाथ उसकी कमर में डाल कर उसे अपने गोदी में उठा लिया और उसे बेडरूम की तरफ ले जाने लगा.वो कुछ सेकंड्स के लिए रुक गए और मेरे पेटीकोट के ऊपर से ही मेरे मम्मों को जोरदार तरीके के दबाने लगे.

सेक्स बॉईज - सेक्सी हिंदी में सेक्सी बीएफ

यह सुनकर विशाल ने कहा- ठीक है, मैं भी अपने लंड को तैयार कर लेता हूं.मैंने भी अपनी गांड उठाते हुए कहा- हां मैं भी सच बोल रही हूँ … अगर आपको कोई प्रॉब्लम ना हो तो मैं बड़ा लंड अपनी चुत में लेना चाहती हूँ.

मैं भी पीछे से उनको देखने के लिए चला गया पर मॉम ने दरवाजा बंद कर दिया था. सेक्सी हिंदी में सेक्सी बीएफ उसने वो दवा हाथ में लेकर फेंक दी और बोली- मुझे तुम्हारे बच्चे की मां बनना है, उस नामर्द की नहीं, जो एक औरत को चुदाई का सुख नहीं दे पाता.

मीनू ने लंड को अपने हाथ से पकड़ कर चूत में सैट किया और बोली- हां अब पेलो.

सेक्सी हिंदी में सेक्सी बीएफ?

वो वैसे ही आंख बंद करके ‘उम्म्म ऊऊओह सस्स्स … ऊऊओह उउफ़फ … मेरे राज्ज्ज्जजा पीईइ जाओ इन्हें …’ गर्म सेक्सी आवाजें निकालने लगी. वो मुझे घूरने लगी और बोली- मैं जीती हूँ, तुमको मेरी बात माननी पड़ेगी. पहले अय्यर धीरे धीरे से गांड मारता रहा, फिर पूरे ज़ोर के साथ पेल पड़ा.

[emailprotected]सेक्स सैटिस्फैक्शन स्टोरी का अगला भाग:शादीशुदा जोड़े की संतानोत्पत्ति में मदद की- 3. उसकी टागें खुद ब खुद फैलने लगीं और कुछ ही पलों बाद वो अपनी कमर उठा उठा कर अपनी चूत मेरे मुँह में देने की कोशिश करने लगी. उसने लंड को पकड़ कर अपनी चूत की फांकों में सैट किया और इशारा किया कि पेल दो.

तो आपा इस बात पर मान गयी और जोश में बोली- अब चाहे मेरी गांड की माँ क्यूँ न चुद जाये, आज तो मैं गांड मरवाकर रहूंगी. पेनफुल सेक्स की कहानी में पढ़ें कि मेरा काम कंपनी के ग्राहकों को खुश करना था. वहां से ऊपर जाने के लिए हमको डक के इस्तेमाल की जरूरत होगी, उस डक के सहारे हम ऊपर का जंगला खोल लेंगे और मैं तुमको फाइल लाकर दे दूँगा.

उसने मेरा हाथ अपने लंड पर रखवा दिया और बोला- ये है हथियार … इससे खेलना चाहोगी?मैंने कुछ नहीं कहा और अपने भाई के मोटे लंड को महसूस करती रही. देसी आंटी सेक्स कहानी में पढ़ें कि भाभी की चाची के घर गया तो उनकी भाभी मेरे लंड को पसंद आ गयी.

अब अब्बू पंजों के बल बैठे और उन्होंने अपने लंड के सुपारे को अम्मी की गांड के छेद पर टिका दिया.

मामी- अच्छा … दोस्त या गर्लफ्रेंड?मैं बात पलटते हुए बोला- वो जाने दो मामी … आप अपनी बताओ, मामा का काम कैसा चल रहा है?मामी- हां … ठीक चल रहा है, ऐसा चल रहा है कि उन्हें घर आने का भी टाइम ही नहीं मिलता.

मैं अपनी मौसी सास की दोनों टांगें ऊपर किए लंड से उसकी चूत के अन्दर चोट पर चोट मारना जारी रखे था. मैंने फरहीन को चुम्मी करते हुए उसके कपड़े उतार कर फेंक दिए और उसकी बड़ी बड़ी, गोरी, सेक्सी, हॉट चिकनी चूंचियों को मुँह में लेकर जोर जोर से चूसने काटने लगा. उसने मुझे गाली दी तो मैंने एक सेकेंड भी देर न करते हुए कुसुम की चुत के छेद पर अपना लंड रख कर धक्का दे मारा.

मैं- अच्छा ये बात है … तो तू उसकी गलतियों की सज़ा अपने आपको क्यों दे रही है?कीर्ति- यार, वो मुझसे प्यार करे या ना करे … पर मैं तो उससे प्यार करती हूँ ना!इतना कह कर वो फिर से रोने लगी. तो मेरे ससुर जोर से गरजे- मालिक के बच्चे … पैसा क्यों नहीं दिए अभी तक. भाबी हंस दीं और बोलीं- अच्छा तो उसके घर में उसी के कमरे में मिलते होगे.

अब मैंने भी उम्मीद छोड़ दी थी।फिर एक दिन एक अनजान नंबर से कॉल आयी तो मैंने सोचा आ शायद उसी का हो सकता है.

अगले एक घंटे में मैंने अपनी बहन की चूत की दो बार चुदाई की और दोनों बार उसकी चूत में ही रस छोड़ा. फिर मैंने मेम की लैगी और पैंटी को एक साथ उतार दिया और देर न करते हुए मैं नीचे को आ गया. भैया ने भाभी के वस्त्रविहीन जिस्म को अपनी जिह्वा से चाटना शुरू कर दिया.

मैंने उससे कहा- क्या हम ये सब कर सकते हैं?वो शर्माती हुई बोली- हां … मेरा मन भी है. मेरे भी मन में हलचल होने लगी कि आखिर अमित ये सब करेगा कैसे?कहीं जबरदस्ती तो नहीं करेगा?लेकिन अमित मैनेजर था. फिर तिवारी बोला- नहाने से पहले मैं तुम्हारे शरीर की मालिश करके तुम्हारी सफ़र की थकान दूर कर देता हूँ.

हर धक्के के साथ मैं चीख रही थी, मेरा सारा बदन और मम्मे जोर जोर से हिल रहे थे.

मैं जैसे अन्दर गया, मुझे दरवाजे पर किसी लड़की की कच्छी टंगी हुई दिखी. आपा अब सामने घुटनों के बल बैठी हुई मेरा लंड सहला रही थी और मुस्कुरा रही थी.

सेक्सी हिंदी में सेक्सी बीएफ मैंने अब अपना फोन वापस लेने के लिए हाथ बढ़ाया और फोन लेते वक्त मैंने उनकी उंगलियों को छू लिया. आपको क्या लगता है?क्या मैं दोषी हूँ?हॉट स्कूल टीचर सेक्स कहानी पर आप अपने विचार मुझे मेल पर और कमेंट्स में बताएं.

सेक्सी हिंदी में सेक्सी बीएफ मुझे उसका हाथ बहुत मुलायम लगा तो मैंने कुछ पल के लिए उसके हाथ को नहीं छोड़ा. उसका हाथ लंड पर महसूस करते ही मेरा लंड झट से खड़ा हो गया और फुंफकार मारने लगा.

तो मैंने उनसे मजाक के अंदाज में कहा- क्यों … जाकर विशाल का लंड भी चूसना है क्या?तो वे मेरी इस बात पर मजे में मुझे मारने के लिए मेरे पीछे भागी.

एक्स एक्स एक्स वीडियो 2020

करीब दस मिनट की चुदाई के बाद वो झड़ गई और तेज तेज आवाज लेती हुई निढाल पड़ गई. चल घोड़ी बन जा, आज तेरी गांड मारूँगा!मेरा इतना कहना ही था कि आपा घोड़ी बन गयी. पूरण ज़ोर ज़ोर से मुझे चोद रहा था, मैं भी उसका साथ दे रही थी।कुछ देर बाद मुझे बहुत ज्यादा मजा आने लगा, मानो मैं स्वर्ग में झूल रही हूं।मुझे महसूस हुआ कि मेरी बुर गीली होने लगी है … शायद पानी छोड़ गई थी.

मैं कुछ दिन पहले वहां गया था, तो एक रात को मैं और मेरी बीवी प्रियंका दोनों खाना खाकर छत पर टहल रहे थे. वरना आपा इतनी सीधी और शरीफ थी कि मुझे नहीं लगता कि उन्होंने खुद भी कभी अपनी चूत में उंगली की होगी. फिर मैंने देखा कि उनके बंगले का चौकीदार दरवाजे से अन्दर देखने की कोशिश कर रहा था.

सिस्टर एंड ब्रदर सेक्स कहानी मेरी मम्मी और मामा के बीच हुए सेक्स की है.

मैंने सोचा कि ओह अब समझा कि मैंने क्या गलती की, पर अब क्या कर सकता था. मैंने उसके उरोजों को ब्रा के बाहर निकाल लिया और उसके गुलाबी निप्पलों को बारी बारी से चूसने लगा. तभी मौसा जी ने मौसी की चूत में उंगली डाल दी और मौसी ने मौसा के लंड को पकड़ लिया.

लड़कियां जब पसंद पूछने जातीं, तब लड़के हाय सेक्सी कहकर लड़कियों के बदन पर हाथ फेर देते. उसने मेरे दोनों मम्मों को खींच खींच कर चूसा और मेरे मम्मों को पूरा लाल कर दिया. मैंने दस मिनट तक मौसी को हचक कर चोदा और उनकी चूत में लंड का पानी निकाल दिया.

उसकी चूचियां ऐसी लग रही थीं कि जैसे दो अमृत कलश रखे हों और ब्लाउज फाड़कर बाहर निकलना चाहते हों. कुछ देर बाद किसी नम्बर से मुझे व्हाट्सएप पर मैसेज मिला- भैया आप घर क्यों नहीं आते?डीपी देखने पर पता चला ये तो भीभीजी का नम्बर है, तो मैंने सेव कर लिया और उन्हें हामी भेजी कि आऊंगा.

अब मेरी दोनों चूचियां नंगी होकर उसके सामने भी थीं और उसके दोनों हाथों में थीं. मुझे देखते ही उसने अपना दूध ब्लाउज से ढकने की कोशिश की लेकिन मुझे भरपूर नज़ारा मिल ही गया. अनिकेत मुझे बिस्तर पर पटक कर मेरी गांड को उचका कर मेरी चूत में झटके दिए जा रहा था.

उस समय आप मेरे लिए एक अपरिचित थे और मैं किसी भी अपरिचित के साथ इतनी जल्दी घुल मिल नहीं पाती हूँ.

मैं तेरे अकाउंट में रूपए ट्रान्सफर कर देता हूँमैंने उससे बोला- ठीक है. भाभी के इस बढ़िया डांस पर वहां खड़ी हमारी ताईजी, बुआजी व भैया ने वार फेर कर भाभी को बहुत सारे रूपए दिए. मैं फिर से चूत को रगड़ने लगी और हल्के हल्के चूचे दबाने लगी।मुझे इंतज़ार सा हो रहा था।मैं सोच में पड़ गई कि अब काका क्या करेंगे.

मैंने कहा- क्या है?मौसा बोले- तुझे अपनी मौसी कैसी लगती है?मैंने कहा- अच्छी. लाइट जलाई तो देखा कमरे में नसरीन आपा बैठी हुई हैं, वो उस वक़्त नाईट सूट में थी.

मुझे वहां पर कुछ ही टाइम हुआ था कि एक दिन पापा ने मुझसे कहा- तुम्हारी बुआ कि बेटी इधर कुछ दिनों के लिए रहने आ रही है. उसकी इस बात से मैं समझ गया कि लौंडिया को खेलने का मन तो है मगर जरा नखरे कर रही है. आपने इससे पहले मेरी एक सेक्स कहानीपड़ोसन भाभी की चूत ने मेरे लंड की सील तोड़ीभाभी के साथ चुदाई वाली पढ़ी होगी.

विद्या बालन सेक्स

वो सब मेरे जिस्म को सहला कम, नोच ज्यादा रहे थे जैसे मैं उनके लिए कोई खेलने वाली गुड़िया थी.

सामने बारात आई हुई थी, सब मस्ती कर रहे थे और मेरे मन में बहन की नंगी चूत दिखाई दे रही थी. वो मुस्कुरा दी और बोली- अच्छा तो तुम तीनों मुझे चोदना चाहते हो?एक बोला- बड़ी जल्दी समझ गई छमिया … हां हम तीनों तुझे चोदना चाहते हैं. पूरण मुझे चोद देता कभी खेत में, कभी घर में!मैं काका के लंड के पानी की दीवानी हो गई।फिर अचानक एक दिन माँ ने बताया कि पूरण के ट्रैक्टर का एक्सीडेंट हो गया.

सास की कसी गांड की कड़क पकड़ के आगे मैं ज्यादा देर रूक ना सका और लंड को अन्दर दबाकर मैंने अपना सारा वीर्य मौसी सास की गांड में भर दिया. मुझे डिल्डो की आदत थी तो लगा कि इस पोज में दर्द नहीं होगा पर मुझे पता नहीं था कि वह साला कुछ अलग ही सोच रहा था. नेकेड बूब्सयोगेश का 7 इंच का लंड खड़ा हो गया और मेरी चुत चुदाई के लिए रेडी हो गई.

उसने अपनी चूत की तरफ उंगली करके कहा- मालिक अब इतना उकसा दिया है कि ये भी अन्दर डलवाए बिना नहीं मानेगी. मैंने उसकी गांड भी मारी, उसकी गांड चुदाई की कहानी मैं बाद में बताऊंगा.

मैं उसे गर्म करने के लिए उसके गले और कंधों को चूमे जा रहा था और वो मेरी बांहों में सिमट कर कसमसा रही थी. मैं ये जताते हुए उनके रूम में घुस गया कि मैंने अन्दर आने से पहले देखा ही नहीं था. अगले दिन सुबह मेरी आंख खुली तो मैं नहा धोकर जैसे ही नीचे पहुंचामैंने देखा कि आपा पूरी इज्जत के साथ बैठी हुई नाश्ता कर रही थी.

लंड का मुंड ऐसा टाइट हुआ पड़ा था कि जैसे चुत को फाड़ ही देगा, पर नायिका के मूड का अंदाजा न होने की वजह से उसे सहला कर अन्दर कर लिया गया. उधर नीचे अंकित बुरी तरह से पैरों से चुम्मी लेते हुए ऊपर की ओर बढ़ रहा था. उसका लंड आपा की चूत में चला गया जिससे आपा की एक जोर की सिसकारी निकली … आपा ने जसवंत को अपनी बाँहों में जोर से जकड़ लिया और उसके हर धक्के का माकूल जवान देने लगी.

कम से कम 10 मिनट की चूत चुसाई के बाद मैंने उसके मुँह में अपना लंड दे दिया तो वो उसे लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी.

मैं भाभी से अलग हुआ तो भाभी ने हाथ पकड़ लिया कि क्या हुआ किधर जा रहे हो?मैंने कहा- मैं दो मिनट में वापस आता हूं. मगर दूसरी ओर मिताली के अरमानों का गला घुट चुका था; उसने अपने से 10 साल बड़े और अनपढ़ पति की कल्पना नहीं की थी.

मैं उससे कहता रहा कि देख अंजू मैं तुमको बहुत प्यार करूंगा और तुझे एक अनुभवी मर्द का प्यार दूंगा. मिया बीबी की चुदाई कहानी में पढ़ें कि कैसे मेरी सलाह से मेरे सामने एक जोड़े ने सेक्स करके बच्चा पैदा करने की कोशिश की. मुझे भी सेक्स करना का मन था लेकिन मैंने उसको एक बार फिर से मना किया कि नहीं यार ये ठीक नहीं होगा.

वो पूछने लगी- अरे वाह … क्या क्या और कैसे हुआ था?मैंने उसे सारी स्टोरी बता दी. जेबा अब से तू मेरी छिनाल रंडी बेटी हो गई है … आज तेरी चूत को चोद चोद कर कबाड़ा कर दूंगा. उससे सब्र नहीं हो रहा था तो वो अपने हाथ से मेरे लंड को पकड़ कर अपनी चुत में सैट करने लगी.

सेक्सी हिंदी में सेक्सी बीएफ अय्यर ने जेठालाल को चाय में दवा मिलाकर पिलाकर उसे कुर्सी से बांध दिया था. तुम्हें कैसी लगी देवर जी?मैं- मुझे तो ऐसा लगा, जैसे मीठा पान अधकच्चा चबाया हो और पीक मारकर निकाल दिया हो.

रंगोली फॉर दिवाली

बैंक में रखने और प्रॉपर्टी, गाड़ी आदि खरीदने के लिए हमको कोई कमाई का ज़रिया दिखाना होता था. मैं एक पक्की रंडी बन चुकी थी और रंडी की तरह ही सबके लंड चूस रही थी. मैं कुछ समझ पाती, उससे पहले ही उन्होंने मेरी गांड के छेद में अपना लंड डाल दिया और मेरे ऊपर चढ़ गए.

उसके मुँह से धीरे-धीरे आवाज निकल रही थी- आह आ आ ऊ आह नहीं … आह मैं मर गई आह उह … थोड़ा धीरे धीरे करो!इधर मेरे लंड का हाल भी बुरा हो रहा था तो मैंने जरा सा लंड बाहर निकाला और पूरी ताकत से लंड चुत में घुसेड़ दिया. तभी क्षमा ने अपनी जींस खोल कर उसे घुटनों तक कर ली और पैंटी नीचे करके बैठ कर पेशाब करने लगी. किन्नर सेक्सी वीडियोसदोस्तो, आपको मेरी ये गांड चुदाई कहानी कैसी लगी, प्लीज़ कमेंट करके बताएं, ताकि मैं अपनी और कहानियां आपके साथ शेयर कर सकूं.

मैं सोच रहा था कि काश मौसा की जगह मैं होता, तो अभी मौसी को चोद कर ठंडी कर देता.

कुछ पल के दर्द के बाद उसकी आहें निकलने लगीं- आह आह उह उह अब्बू … मेरे सनम चोदू अब्बू … आह उह चोद दो मुझे … मैं आपसे बहुत प्यार करती हूं … और जोर जोर से चोद दो मुझे … आंह काट लो मेरी रसभरी चूंचियों को … आंह और जोर से पेलो … ओह अम्मी देखो अब्बू मुझे चोद कर मेरी चूत को भोसड़ी बना रहे हैं. फिर मेरा भी होना वाला था तो 10-15 जोरदार झटकों के बाद मैं भी उनकी चुत में ही झड़ गया.

उसने ये महसूस किया तो उसके बाद वो अपने लंड को धीमे धीमे अन्दर बाहर करने लगा. वो भी मेरी चूचियों रगड़ने का मजा लेता रहा और मैं भी अपने दूध रगड़वाती रही. अभी पांच मिनट ही हुए थे कि रेशमा की अकड़न बढ़ गई और वो मेरे मुँह पर झड़ गई.

झड़ने के बाद मैंने उसके कान में आई लव यू कहा, पर वह बस मीठी आह ले रही थी.

उनके लण्ड मुझे अच्छे लगते थे तो उनसे भी चुदवाती थी और खूब एन्जॉय करती थी।नाते रिश्तेदारों में भी मैंने कई लड़कों के लण्ड पकड़े हैं। कुछ लड़कों के लण्ड अपनी चूत में पिलवाये भी हैं।कई लड़कों के लण्ड का सड़का मारा है पर चुदवाया नहीं. भाभी जी- मस्ती करना चाहते हैं … इसका क्या मतलब हुआ दीदी सा?कलावती जी- व्व…वो आपको चोदना चाहते हैं. एक दिन मुझे फोन आया, उस आदमी ने पूछा- क्या आप रजनी जी हैं?मेरे हां कहने के बाद वह बोला- मैं रोहित तिवारी हूँ.

हिंदी सेक्सी सीन दिखाइएफिर कुछ महीनों के बाद एक दिन मेरी आपा मेरे बिस्तर पर आई और मुझसे बोली- भाई क्या आप जानते हैं कि मेरी शादी के लिए सब लोग क्यों मना करते हैं?मैं बोला- नहीं. वो खुश होकर अपने घुटनों पर बैठ गयी और अपने हाथों से उसने मेरे लंड को छुआ.

दिल्ली सेक्स दिल्ली सेक्स

मेरा लंड 7 इंच का है, जो किसी भी लड़की को आराम से संतुष्ट कर सकता है. मैडम स्टूडेंट Xxx कहानी में आगे बढ़ने से पहले मैं आपको केमिस्ट्री वाली मेम के बारे में थोड़ा बता देता हूँ. आपके मेल मिलने के बाद मैं आपको रेशमा और अपनी भाभी की एक साथ चुदाई की कहानी लिखूँगा.

इतने में भाभी घुटने के बल बैठ गईं और मेरा लिंग बाहर निकाल कर सुपारा खोलकर जीभ से चाटा. भाभी ‘आह राहुल … ओह राहुल … और तेज और तेज …’ कहने लगींफिर मैं नीचे लेटा और भाभी का मुँह मेरे पैरों की तरफ करवा दिया और उनसे लंड के ऊपर बैठकर चुदाई करने को कहा. मैंने धीरे धीरे उसकी चुत में अपना लंड अन्दर बाहर करना शुरू किया और वो ‘इसस्स आआ आअहह उन्ह ओफ्फ़ …’ करती हुई चुदी जा रही थी.

जब मैंने अपनी बहन को चुत में उंगली करते देखा तो पहली बार मुझे भी अपनी आपा को चोदने को मन हुआ. अगले दिन मैंने उसको अपने घर बुलाया और उसे किस करने लगा तो वो मुझसे दूर जाने लगी और उसने मुझे किस नहीं करने दिया. वो अपने दोनों चूतड़ों और चूत को ऊपर नीचे हिला हिला कर जोर जोर से मजा लेने लगी और अपनी चूत फड़वा फड़वा कर चुदवाती रही.

अब रेशमा ने बोला- तुम शायद जानते नहीं हो कि तुम्हारी भाभी और मैं आपस में पक्की सहेलियां हैं और मुझे सब कुछ मालूम है. बहन की गांड की चुदाई कहानी में पढ़ें कि मेरे मामा की बेटी हमारे घर रहने आयी तो मैं उसकी चुदाई करना चाहता था.

मामा का लंड गीला होने से चाटने की ‘चप … चप …’ आवाज हो रही थी और मॉम के मुँह से भी मस्त आवाज आ रही थी ‘उम् … उ्म … उन्हह … हम्म …’मॉम पूरे दस मिनट तक मामा के लंड को चूसती रहीं और मामा मेरी मां के मुँह को चूत समझ कर पूरे गले तक लंड को पेलने लगे.

वो कराहती हुई बोली- गन्नू के बापू ने भी किया था, तब भी दर्द हुआ था और आज फिर हुआ. पुराना सेक्सी चोदा चोदी ताजमहल गुरुअमित बोला- अबे मैं तेरी बीवी की चुत फ्री में थोड़ी ही मारूंगा … कुछ पैसे मैं भी दे दूंगा. ऑनलाइन कपड़े शॉपिंग boyसुबह जब मैं सो कर उठा तो हम सब नंगे ही एक दूसरे से चिपक कर सोये पड़े थे. शिवानी तो उधर रसोई में थी, प्रिया को पूरा मौका मिल गया इधर … वह मेरे लंड को सहलाने लगी।उसे यह भी ख्याल नहीं आया कि कहीं शिवानी आ जाए तो क्या होगा।और दरवाजा भी बंद नहीं किया था.

उसने तो कई और फ्रेंड के साथ किटी पार्टी में भी मुझे बुलाया और उसके साथ उसके कई फ्रेंड को भी मैंने अपने लंड का स्वाद चखाया; उन्हें भी खूब चोदा.

मैं- क्यों नहीं मेरी बावली कुतिया … तू तो अब मेरी रांड है, मैं जब चाहूंगा, तब तेरी प्यास बुझाऊंगा अपने लौड़े से … मेरी रानी तू लंड की चिंता मत कर. इसको खूब अच्छे से एन्जॉय करो और खुलकर न सिर्फ लंड लो, बल्कि मर्द को भी खुलकर चोदो. लेकिन बात सिर्फ एक आदमी की हुई थी तो मैंने दूसरे की तरफ देखकर कहा- मेरे साथ कौन सेक्स करेगा?तो पहले वाला बुड्ढा जिसका नाम सुनील था, वो बोला- मेरी जान, आज हम दोनों तुझे मिलकर चोदेंगे.

मैंने अपना तना हुआ लंड उसकी चूत पर रखा और फांकों को फैला कर जोर लगा दिया. अपनी गांड उठाए हुए सुनीता बोली- लगता है आज बीजारोपण होकर ही रहेगा!मैंने आहिस्ता आहिस्ता धक्के लगाने चालू किए. मीनू जैसी नारी के बदन की महक छुपाए नहीं छिप रही थी और मेरे लंड की अकड़न हाथ दबाए हुए भी नहीं दब रही थी.

सेक्सी प्लस

मॉम लेटी रहीं और मामा मॉम को चोदने के साथ चूचियों को अपने मुँह में लेकर चूसते रहे. भाभी का चेहरा सुर्ख लाल होता जा रहा था और उनके हाथ अब भैया के लिंग को टटोलने लगे. वो मेरे हाथ का स्पर्श पाकर कुछ शर्मा गई और बोली- आप बैठिए, मैं आपके चाय लेकर आती हूं.

उसके साथ ही पारुल की आंखों से आंसू निकलने लगे, जिनको मैंने चाटकर कर साफ कर दिया और उसकी चुचियों का मर्दन जारी रखा.

जब उसका लंड पूरा कड़क हो गया तो मैं बेंच का सहारा लेकर घोड़ी बन गई और राज ने मेरी साड़ी और पेटीकोट को ऊपर उठा मेरी पैंटी नीचे कर दी.

मैं अपनी जगह पर खड़े होकर उसकी साड़ी खींच रहा था, वो बड़े ही मोहक अंदाज़ में गोल गोल घूम घूम अपनी साड़ी उतरवा रही थी. मैं अपनी तरफ से पूरी कोशिश करूँगा कि उनकी चूत की खुजली दूर करने की विधि उन्हें बता सकूँ. बंगाली बिहारी सेक्सीथोड़ी देर लंड चूसवने के बाद जसवंत सीधा होकर आपा के ऊपर आ गया और आपा को किस करने लगा.

उसकी गोरी सी नाज़ुक सी पतली कमर, जो उसकी बीवी का सबसे खूबसूरत अंग है, उसके बीचों-बीच बबीता की गोल और गहरी सी नाभि, जो किसी भी मर्द को घायल कर दे, साले जेठालाल की क्या औकात है. शालिनी मेरी तरफ देखने लगी तो प्रिया भाभी ने उसी समय मेरा लंड निकाल कर शालिनी के हाथ में पकड़ा दिया. मैंने कहा- हां बन जाऊंगा मेरी छिनाल लौंडिया … चल आज मैं तुझे चोद चोद कर तेरी कुंवारी चूत फ़ाड़ कर हामिला कर डालता हूं.

ये सुनकर अय्यर को अपने कानों पर यकीन नहीं हुआ कि बबीता उससे माफी मांगने के लिए बोल रही है. थोड़ी देर तक उसके मुंह में धक्के मारने के बाद मरा पानी निकल गया और वह मेरे लंड का पूरा पानी पी गई और बोली- बहुत यम्मी है, बहुत मजा आया। तुम बहुत अच्छे हो!उसके बाद 2 घंटे में उसकी दो बार और चूत मारी, खूब मजे से उसने भी चुदवाया।चुदाई करने के बाद मैंने फिर से बाहर नजर दौड़ाई देखा निशा वहां नहीं थी।उसके बाद साली ने अपने आप को ठीक किया और कपड़े पहनकर बाहर आ गई.

वो एकदम पागल होकर इस बेताबी से मेरे कपड़े उतार रही थीं कि शब्दों में बयान नहीं कर सकता.

फिर जैसे ही मम्मी पीछे मुड़ीं तो उनका कुर्ता चुचियों के पास गीला सा था, जिसका कारण मुझे पता था. पर आप मेरी बहन को ऐसे रंडी मत बोलो!तो वह बोला- चल बता कहाँ है वह? आज साली की चूत चुदाई करूंगा. सारे दिन में मुझसे ज्यादा बात नहीं करती मगर रोज रात को मेरी तरफ गांड करके सो जाती.

हैप्पी होली gif मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए और नीचे के होंठों को चूसने लगा. कुछ ही देर में रूम गर्म हो गया तो हम दोनों ने रजाई को हटा दिया और एक दूसरे से चिपक कर किस करने लगे.

हमारी पहली चुदाई कैसे हुई, स्टोरी में जानें।दोस्तो, मेरा नाम माणिक (बदला हुआ) है। मैं अहमदाबाद गुजरात का रहने वाला हूं।मेरी उमर 23 साल है। मैं दिखने में साधारण सा लड़का हूं। मेरी हाईट करीब 5. अगले दिन सुबह भाभीजी के व्हाट्सएप स्टेटस पर मैंने उनसे मैसेज से पूछा- भाभीजी एक बात पूछ सकता हूँ?उन्होंने कहा- हां भैया. अपनी इंजीनियरिंग के बाद नौकरी के लिए गुड़गांव आ गयी और यहां एक पीजी में रहती हूँ.

चोदने के फायदे

उसे दर्द हो रहा था मगर चिकनाई के कारण उसने मेरे लंड को झेल लिया था. अब आपा ने एक हाथ से जसवंत का लंड पकड़ लिया और एक हाथ से मेरा लंड पकड़ लिया और सहलाना शुरु कर दिया. सेक्स के काम में आने वाला सबसे महत्वपूर्ण अंग मेरा लंड काफी लंबा मस्त लंड है.

अब वो झड़ने वाली थी, वो मेरे सर को जोर से अपनी चूत से रगड़ रही थी और गांड उठा कर चुत चटवा रही थी. उसने मुझसे पूछा- क्या तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है?मैंने कहा- जी नहीं, अभी तक तो नहीं.

दोस्तो, जहां प्रियंका की चूचियां पपीते जैसी थीं, वहीं स्वाति के दूध संतरे जैसे.

इसलिए मैंने तुम्हें और जेठालाल को सबक सिखाने का फैसला किया जिससे तुम दोनों फिर कभी भी मेरे कुछ बोल न सको. फिर वो उनको दिखा दिखाकर और जोर जोर कूदने लगी।फिर मैंने उनको गोदी में उठा लिया और गोदी में उठाकर चोदने लगा. मैंने भी मौके का फायदा उठाया और कहा- अरे ये दोनों तो बहुत आसान हैं, अगर तुम चाहो तो मैं तुम्हें सिखा सकता हूँ.

फिर उसने कहा- हम दोनों एक ही घर में रहते हैं, हमें सिर्फ सुबह में लंड चूस कर बर्दाश्त नहीं कर सकती। मेरी चुदाई जल्दी कर दो. मैंने बोला- देखो मैंने भी तुम्हारी चूत को चाटा था न … तुम भी लंड चूसो. आह आह चोदते रहो, ऐसे ही पूरी जिंदगी मुझे मजा देते रहना … हाय रे रे आह मैं झड़ी … आंह मैं झड़ी हाय असगर के अब्बू … और तेज चोदो … झाड़ दो मुझे हाय हाय मैं झड़ी … झड़ गयी झड़ गयी झड़ गयी … हम्म हाय रे असगर के अब्बू यार क्या मस्त चुदाई करते हो.

मतलब लड़का लड़की का मूत पी रहा था और लड़की लड़के का!ये सब देखकर मैंने सलीम की तरफ देखा और उसको बोला- यार ऐसा गन्दा सेक्स कोई कैसे कर सकता है?तो सलीम ने कहा- ऐसे बहुत लोग हैं जो ऐसा सेक्स करते हैं.

सेक्सी हिंदी में सेक्सी बीएफ: अम्मी हंसती हुई बोलीं- चूत ही चोदोगे क्या … मेरी गांड भी मारो न … प्लीज सुबह से ही गांड मरवाने का बहुत मन है. मगर दस मिनट के बाद मैंने उसका हाथ फिर से अपनी टी-शर्ट के अन्दर महसूस किया.

इसलिए मैंने तुम्हें और जेठालाल को सबक सिखाने का फैसला किया जिससे तुम दोनों फिर कभी भी मेरे कुछ बोल न सको. मैंने झटके से पोजीशन बदली और भाबी की रसभरी चूत में अपना लंड पेल दिया. छोटा छोटी के पास गई और वहाँ चुपचाप बैठ सब घटना के बारे सोचने लगी।घर लौटी देखा कि मां बहुत खिली हुई घूम रही थी।आखिर उसकी चूत की खुजली विपिन ने मिटाई थी।और मुझे बार बार काका का लंड दिख रहा था … चूत में लंड की रगड़ याद कर अजीब सी सिरहन होने लगती।रात को भी मुझे कहाँ नींद आने वाली थी … रह रह कर काका का स्पर्श याद आने लगा.

वो आह हहह आहह करके मजा ले रही थी और मैं झटके पर झटके लगाने में लगा था.

अब मम्मी की ब्रा और पैंटी को मैं कभी जीभ से चाटता, तो कभी लंड में लपेट कर रगड़ता. मैं- अभी अगली महावारी आने में कितना समय है?मीनू- उसमें तो अभी बीस दिन हैं, पर क्यों?मैं- मैं तुम्हारे गाभिन होने के समय के बारे में जानना चाह रहा था. काका ने मुझे और कस के बांहों में लिया और बोले- पूजा, मजा आ रहा था क्या तुझे अपनी माँ को चुदती देख के?मैं बोली- काका, मुझे जाने दो!पर काका मुझे कहाँ छोड़ने वाले थे। उन्होंने मेरे होंठों पर होंठ टिका दिए, मेरी चड्डी नीचे खिसका दी और मेरी नाज़ुक गुलाबी कुंवारी चूत पर जैसे काका ने हाथ फेरा, मैं मदहोश हो गई.