अंग्रेजी बीएफ का वीडियो

छवि स्रोत,न्यू सेक्सी ब्लू वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

देहाती चुदाई बीएफ: अंग्रेजी बीएफ का वीडियो, आप सभी अन्तर्वासना की देसी हिंदी सेक्स कहानी पढ़ने वालों को मेरा नमस्कार.

ट्रिपल एक्स सेक्सी ओपन

अगले ही दिन मैंने उसे फोन लगाया और उसे अपना फैसला बता दिया।इसके एक घंटे बाद ही उसने फ्लैट की चाबी मेरे पास भेजवा दी।मैंने अपना सामान पैक किया और उसी दिन फ्लैट में शिफ्ट हो गई।जैसे ही मैंने फ्लैट का दरवाजा खोला तो देख कर मुझे मेरी आँखों को सामने के नजारे पर भरोसा नहीं हुआ. ઇન્ડિયા સેક્સ વીડિયોउसके बाद हम दोनों ने खुद को सही किया और बाहर आकर फिर से एक ऑटो पकड़ ली.

तो मैं उन्हें बोली- अंदर नहीं आना क्या?तो वो तो जैसे नींद से जागे और बोले- हाँ मुझे अंदर आना है. ब्लू पिक्चर हिंदीमैंने कहा- अब यह तुम्हारी भाबी तुम्हारी चुत को कभी भी भूखी नहीं रहने देगी.

कुछ देर खड़े रहने के बाद मुझे टॉयलेट लग आई तो मैं ऊपर टॉयलेट करने चला गया.अंग्रेजी बीएफ का वीडियो: लगभग दस मिनट चोदने के बाद विक्रम उसी अवस्था में संजू को गोद में लेकर खड़ा हो गया और संजू को बेतहाशा चोदने लगा.

ज़मीन पर एक बड़े गद्दे पर एक दूसरे को नंगा करके एक दूसरे के गुप्तांगों को छेड़ कर उत्तेजित करने लगे.उसकी गांड और चूत पर मेरा सूखा वीर्य दिख रहा था और वो गांड के दर्द की वजह से ठीक से चल नहीं पा रही थी.

भोजपुरी सेक्स एक्स एक्स एक्स - अंग्रेजी बीएफ का वीडियो

मन भारी हुआ थोड़ा लेकिन मैंने सोचा कि जो भी हो, मैं किसी तरह इसके साथ एन्जॉय जरूर करूंगा.हम दोनों ऐसे ही बाथरूम में चले गए और खुद को साफ़ करके ऐसे ही नंगे रूम में आकर सो गए.

कुछ देर बाद मेरी कोहनी उसके चूचों पर लगनी शुरू हुई, जिसका अहसास उसे था और मेरे मन में तो मानो कई सारे ख्याल एक साथ आ रहे थे. अंग्रेजी बीएफ का वीडियो उसने मुझे पूरे बदन पर चूमते हुए मेरे मम्मों को खूब पिया और फिर चुदाई की स्थिति बन गई.

ये अचानक आए मज़े से भाभी की ‘औईई …’ निकल गयी और उन्हें बेहद मज़ा आने लगा.

अंग्रेजी बीएफ का वीडियो?

एक दिन मैंने मॉम के मोबाइल को चैक किया तो उसमें मॉम और नमन के बीच काफी सेक्सी चैट थी. ये सुन कर वो उछल पड़ा- क्या बात करती हो, उसकी चुत को तो मैं जमाने से सूंघ रहा हूँ. उन्होने जल्दी से अपना लंड गांड पर टिका दिया ओैर जोर के धक्के से पेल दिया लंड मेरी गांड के अंदर.

ताई भी मेरे सर को अपने दूध पर दबाते हुए कहने लगीं- आह चूस ले मेरे मम्मे … ठंडी कर दे मेरी आग. एक दिन चुदाई करते समय मैंने उससे पूछा कि क्या तुम्हें ग्रुप सेक्स अच्छा लगता है?उसने थोड़ा सोचते हुए कहा- हां, मगर इंडिया में ऐसा कहां होता है. एक पल बाद रूबी बोलने लगी- उई माँ क्या कर रहे हो … आराम से करो न … मुझे दर्द हो रहा है.

अंततः मेरे जीवन की वो रात आ ही गयी, जब मुझे ताई के साथ संभोग की प्राप्ति होने वाली थी. विजय ने तुरंत मेरी गर्दन पर किस कर दिया और मुझसे बोला- प्लीज़ शालू … क्यों तड़पा रही हो, मेरी जान निकल जाएगी. महीने, पन्द्रह दिन में एक बार आता है और दरवाजा खटखटाकर चला जाता है.

मैं हर समय इधर नहीं रह सकता हूँ क्योंकि मुझे बाहर के काम भी निपटाने होंगे तो पीहू को इधर ही रह कर काम काज देखने होंगे. कुछ झटकों बाद मैं उसकी गांड में झड़ा तो उसने अपनी गांड भींच ली और लंड को पूरा निचोड़ लिया.

तब मैं बिस्तर पर लेट गया और उन्हें ऊपर बैठकर अपनी चूत में मेरा लंड घुसाने को कहा.

यह मेरी पहली कहानी है, उम्मीद करता हूं कि आपको यह ऑफिस गर्ल Xxx कहानी पसंद आएगी.

बच्चे हो जाने के बाद वे भर जाती हैं और उनका पति बाहर किसी जवान और कमउम्र की लड़की की चूत चोदने का जुगाड़ करने लगता है. जिसे देखकर पहले तो मैं चौंक गयी और सोचने लगी- भारतीय मर्दों का इतना बड़ा और मोटा कैसे हो सकता है?लेकिन दूसरे ही पल मेरी चूत ने पानी छोड़ना शुरू कर दिया. समझ तो वो भी गयी थी कि आज उसकी चूत को लंड मिलने वाला है और वो भी उसके घरवालों की मर्जी से।वो रूम में चली गयी और सुरेश ने अंदर से किवाड़ बंद कर लिए.

मेरे और ममता‌ जी‌ के सम्बन्धों के बारे में ज्यादा जानने के लिए आप‌ मेरी एकपुरानी सेक्स कहानी‌ पढ़ सकते हैं. दो मिनट बाद ही संजू की नकली सी रोने की आवाज आई- नहीं विक्रम अब नहीं, नहीं ना बाबा … अब छोड़ो ना. बस इसी के साथ अंकल ने पूरे हैवानियत के साथ बड़े जोरदार और बहुत ही भयंकर शॉट मारने शुरू कर दिए.

ड्रेस का गला थोड़ा बड़ा था, तो उसकी उठी हुई चुचियों के बीच की दरार एकदम घाटी जैसी लग रही थी.

मैं नहीं चाहती हूँ कि मेरा अगला साथी मुझसे कुछ ऐसी बातें पूछे, जिसका जवाब देने में मुझे अच्छा ना लगे. हम दोनों अब खुलकर एक दूसरे से चिपक गए थे और मैंने उसके गालों पर किस कर दिया था. वो बोली- अगर तुमको कुछ ऐतराज ना हो, तो मैं तुम्हारे साथ हर रोज आ सकती हूँ क्या? मैं आपको महीने के पैसे दे दूंगी.

क्योंकि एक तो गर्मी का मौसम था, ऊपर से मेरा कमरा भी सबसे ऊपर की‌ मंजिल‌‌ पर था और उसमें हवा के‌ लिए बस एक पंखा ही था. वो करता तो है मगर तेरे जैसे बिल्कुल भी नहीं … बस अन्दर पेला और पुल्ल पुल्ल करके खत्म हो जाता है. रात को करीब ग्यारह बजे टेलीग्राम पर मैसेज आया- थैंक्यू अमित, पेमेंट दिखा दिया तुम्हारे अंकल को.

मैंने जैसे ही अपना मुँह अलग किया, वो ‘आहह आह हह …’ करके चिल्लाने लगी.

मुझसे रहा नहीं गया, मैंने भी अपना एक हाथ उसकी गांड की दरार पर रख दिया और साथ में बीच वाली उंगली उसकी गांड के छेद पर दबाए रखी. अब मैं भी उसके लण्ड को खोजने लग गई और नेकर के ऊपर से उसके तने हुए लण्ड को पकड़ना चाह रही थी.

अंग्रेजी बीएफ का वीडियो फिर वो मदहोश होकर बोली- आह्ह साब … अब मैं झड़ने वाली हूं आह्ह … चोदो … आह्ह … फाड़ दो।मैंने अपने धक्के तेज़ कर दिए और उसकी चूत से रस की धार बह निकली जिसका अहसास मैं अपने लंड पर कर सकता था. कुछ ही धक्कों बाद ज़ारा- जा … न मैं आ र … ही हूं …!कहते कहते वो झड़ गयी.

अंग्रेजी बीएफ का वीडियो मैंने बुआ को देखा और ढेर सारा तेल लेकर उनकी चूत की दरार में डाल दिया और हाथ से बुआ की चुत को रगड़ना चालू कर दिया. मैंने भाई से कहा- मेरा क्या होगा?भाई ने कहा- लंड खड़ा हो जाने दो … आपको भी चोद देता हूँ.

मेरी बेटी चीखने लगी और फिर सोनी उसकी पकड़ से छूट कर एकदम भागी और टेबल के नीचे छिप गयी.

अंग्रेजी सेक्सी वीडियो हिंदी में

मुझे उसका गाली देना अच्छा नहीं लगा, पर समीना को किया वायदा निभाना भी था. नीचे उसने काले रंग की जाली वाली ही पैंटी पहन रखी थी जिससे उसकी चुत का रस रिस कर उसकी लैगी को भिगो गया था. पल्लवी 19 साल की 32-26-32 के टाईट फिगर वाली माल है और समीर की छोटी बहन है.

रूबी सुपारे की मोटाई से तड़फ उठी और बुरी तरह से कराहने लगी- आह उम्म आई … फट गई मेरी चूत … निकाल ले साले मुझे नहीं चुदवाना … आह बहुत दर्द हो रहा है. अगर मुझे संतुष्ट किया तो वो दोनों भी चुत चुदवा लेंगी, वरना तुम अपना नया नाम खुद सोच लेना. वो बोली- यार, तुम बहुत सीधे हो, तुम्हारे सामने मैं इतनी देर तक ऐसे ही नंगी लेटी रही और तुमने मेरे साथ कोई गलत हरकत नहीं की.

वो राजी हो गई और उधर फ़ार्म हाउस में रहने के लिए उसने अपना मन बना लिया.

पर इस दौरान उस बुजुर्ग व्यक्ति ने एक काम बढ़िया किया; उन्होंने हमसे पूछा- बेटा क्या आप ऊपर वाली सीट पर चले जाएंगे!तो इस पर वंदना ने झट से कह दिया- हां अंकल ठीक है. वो अपनी गांड हिला हिला कर चोदने का सिगनल देने लगी।मैंने अब दूसरा झटका मारा और पूरा लन्ड उसकी चूत में पेश कर दिया. उनका रंग एकदम गोरा है, शरीर एकदम पतला सा और चूचियां भी छोटी छोटी हैं.

वो बस मादक सिसकारियां ले रही थी- अअअहह … मुम्म्म्म बस लकी … बस कर … कोई आ जाएगा … अब हट जा … आई काट मत साले … मेरी तो जान निकली जा रही है. ब्यूटी सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कैसे पड़ोस में हो रही शादी में एक खूबसूरत लड़की को पटाकर चोदने की जुगत में लग गया. भाभी चूत कहानी में पढ़ें कि भाभी ने मुझे चाची की चुदाई करते देख लिया था.

वाइफ पोर्न सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मेरी दूसरी शादी के बाद मैं सुहागरात मनाना चाह रहा था. दोस्तो, भाभी जब प्यासी हो तो वो अपने आप ही इतनी चुदासी रहती है कि अगर उसको ठीक से गर्म कर दो तो वो फिर पूरी शिद्दत के साथ चुदवाती है और पूरा साथ देती है.

मैं देखता रह गया, क्या दिख रही थी, शरीर का गोरा गोरा रंग, पैर तो पूरे खुले थे … एकदम आइटम दिख रही थी. मैं कसम खा कर बोल सकती हूं कि आज तक इतना लंबा लौड़ा मैंने किसी का ना तो लिया था और ना ही देखा था. मैं भी हल्के हल्के स्वर में ‘आ … आहह … आहह … चोद हरामी भैनचोद स्सी … स्सी …’ करती हुई उसके धक्कों से ऊपर नीचे हिल रही थी.

सफ़र के कारण मुझे नहाने की इच्छा हो रही थी, तो मैंने उससे कहा- मैं तो नहाऊंगा, यदि आपको फ़्रेश होना हो, तो आप हो लें.

फिर मैंने अपने तने हुए लंड को देखा और शर्म का नाटक करते हुए उस पर तकिया रख कर उसे छिपा लिया. अचानक अंकल ने मेरी कमर में हाथ डालकर मुझे अपनी तरफ खीचा और बोले- जान, आज तो तेरी चूत की खैर नहीं! साली को बुरी तरह से फाड़ दूंगा. मैंने पीने की इच्छा जाहिर की, तो जौहरा दारू की बोतल, गिलास, पानी और नमकीन आदि ले आई.

नेहा पीछे से स्नेहा को मारते हुए बोली- क्या आप भी … इसकी बातों में आ जाते हो. वो दोनों बाबा मुझे चूतिया समझ रहे थे और इधर मैं उन्हें अपनी चूत गांड का आसामी समझ रही थी.

इस बार हम ज्यादा देर नहीं रुके और एक मिनट तक आराम करके फिर से चुदाई को तैयार थे. मैंने कहा- तुम्हारी मसाज की जा रही थी इसलिए तुम्हें कपड़े निकालने थे. अंदर मैंने क्या नजारा देखा … आप भी जानें।दोस्तो, कैसे हो सब? मैं आपको अपनी पैसे की मजबूरी में हुई घटना के बारे में बता रहा था.

मुसलमान सेक्सी वीडियो फुल एचडी

आह क्या मुलायम चूतड़ थे, मुझे पता नहीं क्या हुआ … मैंने आंटी के चूतड़ों को हाथों से दबाना शुरू कर दिया और कस कस के दबाता रहा.

आपको मेरी रेल सेक्स स्टोरी कैसी लगी?मुझे मालूम है सच्ची कहानियां किसी को भी अच्छी नहीं लगतीं जब तक इसमें मिर्च मसाला न हो. मैं लंड को सहलाने लगा और फिर अंडरवियर में हाथ डालकर मुट्ठ ही मारने लग गया. ममता की उस गहरी गुफा की गर्मी अपने लंड पर पाकर मैं तो जैसे पागल ही हो गया था.

मैंने कहा- क्यों पहले किसी ने नहीं किया?वो बोलीं- सच में तेरी कसम आज … पहली बार तूने ही नीचे किस की है. लिली के जाने के बाद यामिना बोली- साहेब, यह तो बहुत बदतमीजी कर गई, इसको इतनी भी तमीज़ नहीं है कि अपने साहब से कैसे बात करते हैं, आपने चाय पूछकर कोई गलत काम किया है क्या?मैंने कहा- कोई बात नहीं यामिना, मैं नया हूँ, पहले सब कुछ समझ लूँ, फिर देखता हूँ क्या करना है?यामिना एकदम जोश में आ गई और बोली- साहेब, क्या, … क्या करना है? ऐसी लेडी को तो नीचे लिटाओ और सीधा कर दो. हिंदीxxxcमैंने पूछा- क्या बहुत बड़ा है?भाभी बोलीं- मार दिया आह अभी कुछ मत पूछो … बस जल्दी जल्दी करो.

फिर मैंने उसकी साड़ी ऊपर कर दी और उसके चूतड़ों में लंड लगा कर उसकी चूची भींचने लगा. चूंकि हमारा कोई भाई नहीं था इसलिए मैं ही अपने परिवार की जिम्मेदारी का बोझ उठाना चाहती थी.

आपको बस सेक्स KLPD स्टोरी कैसी लगी या आपका कोई सुझाव हो तो मुझे मेल करें. मैं गुलजान को किस करने लगा और अपने हाथ से उसकी मोटी मोटी चुचियां दबाने लगा. मैं इतना तो नहीं जानता था कि उसके मन में क्या बात चल रही थी … लेकिन इतना बता सकता हूं कि वंदना की मनोदशा देख कर मुझे लगने लगा था कि उन दोनों के बीच में आज तक कभी सेक्स नहीं हुआ होगा.

पर मेरा लंड तो अब भी वैसे ही फटने को हो रहा था।अब भाभी उठ कर बाथरूम गयी और अपनी चूत साफ़ कर के बाहर आयी।वे पास आ कर मेरे पास लेट गयी और बोली- दीपू, तुमने आज जो अभी तक मुझे जो सुख दिया है, वो मेरी लाइफ का सबसे बेस्ट मोमेंट था, जिसे मैं जिंदगी भर नहीं भूल सकती। सच कहूँ तो मैंने सिर्फ आज तक सुना था कि चूत चटवाने में मजा आता है. यह जवान लड़की की चुदाई कहानी एकदम सच्ची है और यह घटना लॉकडाउन के कुछ ही दिन पहले की है. मैंने एक सिगरेट सुलगा ली तो उसके पति शाईस्ता ने भी एक सिगरेट जला ली.

लड़कों ने ध्यान से सुना।मैंने उनके साथ तीन महीने तक रोज दौड़ा, कुदाया, पेपर रटाए.

मुझे थोड़ा होश आया, तब मैं जाकर पीछे वाली सीट पर बैठ गया और उसके बारे में सोचने लगा. दोस्तो, मेरी पिछली स्टोरी को पढ़कर बहुत से दोस्तों के ईमेल आये और उन्होंने बहुत प्यार दिया.

ममता- कौन अप्सरा?मैं- अरे … शायरा, जिसका ये घर है, उसे तो शायद तुम भी जानती होगी?ममता- कौन शायरा? कहीं तुम‌ उस बैंक वाली‌‌‌ लड़की‌ की तो‌ बात नहीं‌ कर रहे हो?मैं- हां वही शायरा. अब मेरा हाथ ना तो निकल रहा था, ना कि उनमें चल रहा था।चाची ने फिर अपने ब्रा की हुक खोल कर मेरे हाथ को निकाला।जैसे ही मेरा हाथ बाहर आया मैंने समय ना गंवाते हुए सीधे चाची को अपने तरफ खींचा और अपने होंठ उनके होंठों पर लगा दिए।वह बचने की कोशिश कर रही थी परन्तु मैं अपना हाथ सीधे नीचे ले जाते हुए पैंटी के ऊपर से ही चाची की चूत रगड़ने लगा।5 मिनट तक ऐसा ही चलता रहा. सोनी अब मुझे नजरअंदाज करने लगी थी, मुझे समझ में नहीं आ रहा था कि मैं क्या करूं?क्योंकि सोनी ने मुझे कुछ भी करने को मना किया था.

मैं जितनी बार लंड चूत में अन्दर बाहर कर रहा था, उससे उसे और मुझे दोनों को ही चरम सुख की प्राप्ति हो रही थी. अपनी बेटी के इस कामुक आलिंगन को देखकर मेरे लंड में झटके लगने लगे थे और सोच रहा था कि अब सोनी छोटी नहीं रही, वो तो औरत बनने के ख्वाब सजाये हुए है और उसका ये ख्बाव आज मेरे दोस्त के मोटे लंड से चुदकर पूरा भी होने जा रहा है।वैसे तो इससे पहले वो इन सब चीजों से अनजान थी लेकिन एक मर्द के हाथ का स्पर्श औरत को खुद ही लाइन पर ले आता है और वो स्वयं ही सब कुछ उसके सामने खोलकर रख देती है. जैसे ही भाभी कुतिया बनी, मैंने उनकी गांड का छिद्र सूँघा, उसमें से इतनी मदहोश करने वाली महक आ रही थी कि मैं एक मिनट तक महक लेता रहा.

अंग्रेजी बीएफ का वीडियो धीरे धीरे पीछे से पूरा कंबल मैंने हटा दिया और उसकी गांड को चूमते हुए उसकी पीठ तक गया और उससे चिपक गया. एक मिनट बाद उसकी चुत एकदम साफ़ हो चुकी थी और मैं एक मस्त मदांध प्रेमी की तरह उसे देखने लगा.

सेक्स वीडियो चोरी

मैंने उसकी चूत में नीचे से थोड़ा झुककर लंड को चढ़ाया और फिर उसको अपने सीने से चिपका लिया. वो बोलीं- अरे सीधे मिल कर बात करते हैं न!मैंने मुस्कुरा कर कहा- ये तो वही मिसाल हुई कि अंधा क्या चाहे … दो आंखें. वो बोले- मस्त तैयार होना और जल्दी बुला लेना!मैंने उन्हें बोला- आप 8 बजे आ जाना।ये बोलकर मैं भी अंदर आ गयी.

इसलिए हमारी नींद न खुलने पर सुबह सासुजी ने दरवाजा खटखटाकर हमें उठाया. संजू ने भी अपने हाथों से अपनी दोनों चुचियों को सटा दिया था, जिससे लंड से चोदने में विक्रम को और मजा आने लगा था. स्थानी सेक्स”और बेबी अगर आज तुमने मेरी गांड नहीं मारी, तो मुझे बहुत बुरा लगेगा कि मैं तुम्हारी एक जरा सी इच्छा पूरी नहीं कर पाई.

उसको इस तरह बिना कपड़ों में काम करते देखना सच में शब्दों में वर्णित करना मुश्किल है।आटा गूँथते समय उसके माँसल नितंबों में जो कंपन हो रहा था वो मुझे फिर उसके पास खींच रहा था.

अब आगे भाभी पुसी लिक स्टोरी:मैं भाभी से आई लव यू कह कर उनके कान की लौ को अपने होंठों में दबा कर चूसने लगा. मैंने उनकी सामने से खुलने वाली नाइटी की डोरी को खोल दिया और ब्रा के ऊपर से ही मम्मों को देखने लगा.

फिर फोन आने पर भारी मन से बनारस से कार्यक्रम स्थल पर पहुंचा और वहां पहुंच कर मैंने देखा कि संचालक के पास वाली कुर्सी पर दिव्या बैठी हुई थी. उसका विरोध न होता देख मैंने अपना दूसरा हाथ उसकी सलवार के ऊपर से गांड पर हल्के से रख दिया. पर इस दौरान उस बुजुर्ग व्यक्ति ने एक काम बढ़िया किया; उन्होंने हमसे पूछा- बेटा क्या आप ऊपर वाली सीट पर चले जाएंगे!तो इस पर वंदना ने झट से कह दिया- हां अंकल ठीक है.

दोनों मिल कर खाने पर टूट पड़े क्यूंकि हम दोनों को पता था कि पेट की आग मिटाने के बाद हमें बदन में लगी आग भी बुझानी है.

उसको इस तरह बिना कपड़ों में काम करते देखना सच में शब्दों में वर्णित करना मुश्किल है।आटा गूँथते समय उसके माँसल नितंबों में जो कंपन हो रहा था वो मुझे फिर उसके पास खींच रहा था. कुछ मिनट तक मैं कभी गांड का छेद चाटता, तो कभी उसके कूल्हे जोर जोर से चाटने लगता था. मैं सनी के लंड पर बैठकर धीरे धीरे फिर से उसको अपनी गांड में लेने लगा.

ब्लू सेक्सी वीडियो एचडीयह बात उस दूसरे आदमी को पता थी, तो वह हम दोनों के बीच में आने की कोशिश करता था. वो बोला- नाश्ता पूरी रात होता रहा है, अब आपकी ननद रानी को नींद आ गई है.

ಕ್ಷ್ಕ್ಷ್ಕ್ಷ್ಕ್ಷ್

मैंने महसूस किया कि दिव्या की सांसों में हल्की हल्की गर्मी थी।अब दिव्या की तपती जवानी पर बस अंतिम वार करना बाकी था।मेरे प्रिय पाठको, आपको मेरी यह कामुक कहानी कैसी लग रही है इस बारे में अपने सुझाव और विचार मुझ तक पहुंचाते रहें. उसका विरोध न होता देख मैंने अपना दूसरा हाथ उसकी सलवार के ऊपर से गांड पर हल्के से रख दिया. उसकी हाइट ज्यादा नहीं थी वो देखने में इतनी सुंदर थी कि मैंने बहुत कम ऐसी लड़कियां देखी थीं.

लेकिन एक दो दिन देखने के बाद मुझे लगा कि ये लौंडिया शायद उम्र में मुझसे काफी छोटी है. वो मेरी गांड में तेल लगाकर अपना लंड धीरे-धीरे मेरी गांड में डालने लगा. मैंने जल्दी जल्दी समीना की चूत में अपना वीर्य निकाला और अगली बार उसकी गांड मारने का वादा लेकर चला गया.

मगर उनके मुँह से यही निकल रहा था कि अब बस अब बस … मगर खुद ही अपने गालों को मेरे सामने करती जा रही थीं. उसके पति ने उससे कहा- फोन स्पीकर पर डाल दो और चलो हम लोग फोन सेक्स करते हैं. ये कहकर मैंने जैसे ही दो धक्के मारे तो मेरे लंड से वीर्य का शॉट निकला और मैंने उसकी चूत को अपने माल से भर दिया.

वो भी मुझसे इतना खुली‌ तो नहीं मगर फिर भी हमारी पहली मुलाकात ठीक-ठाक ही रही. वो उसे देखकर हंसने लगे और बोले- तेरी बेगम को इससे तू खुश रख पायेगा?मैं बोला- मैं क्या करूं चचा … अब मेरा है ही इतना.

बाजू में खड़ा एक लड़का मेरी बीवी के मुँह में लंड देकर लंड चुसवाने लगा.

अब मैं उसकी चूत का रसपान कर रहा था और वो मेरे नागराज को लॉलीपोप की तरह चूस रही थी. क्षक्शक्शमैंने उसके गाल और माथे को चूम लिया उसको थोड़ी देर बांहों में लिया और उसके आंसुओं को चाट कर पी लिया. वीडियो बफ वीडियोमैंने अवकाश में संभोग का प्रबंध करने के लिए अपना नाम पता और मोबाइल नंबर एक ऑनलाइन वेबसाइट में रजिस्टर किया था और चुत मिलने की आस में उस साईट का भुगतान भी किया था. वह आह निकाल रही थी … पर मैंने उसका मुँह दबा दिया … ताकि समीना तक ऊपर आवाज़ न चली जाए.

मैंने बुआ को देखा और ढेर सारा तेल लेकर उनकी चूत की दरार में डाल दिया और हाथ से बुआ की चुत को रगड़ना चालू कर दिया.

समीना खांसने लगी पर मैंने उसे पानी पिलाया और कहा- कोई बात नहीं … बस हो गया. फिर जब उससे रहा न गया तो बोली- मेरा बहुत मन कर रहा है, एक बार अंदर लेने का ट्राई करके देखूं?मैं बोला- क्या कह रही हो? अगर तुझे बच्चा हो गया तो?वो बोली- एक बार में क्या बच्चा होगा, तुम इतना कर रहे हो मेरे लिये, मैं भी तुम्हें थोड़ा मजा देना चाहती हूं. दोस्तो, चाहे आपके उत्तर अच्छे हों या बुरे … मुझे जरूर बताना क्योंकि आपके रिप्लाई से ही पता चलता है कि मेरी स्टोरी कैसी लिखी गयी है.

विपिन हंसने लगा और बोला- अभी कैसे फटेगी चूत … अभी तो लंड अन्दर घुसेड़ा है … अब आप देखो दीदी मेरा जंगलीपना. हम दोनों वहां से निकल कर नजर बचाते हुए उसके घर पहुंचे जहां सब कोई पहले ही शादी में जा चुके थे और अब वहां सिर्फ हम दोनों और हमारी काम वासना थी।घर पहुंचते ही हम दोनों के जिस्म आपस में लिपट गए. वह अब बेजान सी हो गई थी, पर उसके होंठों ने भरपूर जवाब दिया कि अभी वह मेरे साथ ही है.

అమ్మ సెక్స్

वो- और तेज करूं क्या डार्लिंग?मैं बोली- हां … करो ना … आह्ह … करो!पता नहीं ये सब मेरे मुँह से सुन कर उनका जोश और ज्यादा बढ़ गया और वो अपनी पूरी ताकत से मेरी चुदाई करने लगे।मेरी भी गांड अपने आप उचकने लगी और मैं भी चुदाई का पूरा मजा लेने लगी।जल्द ही मेरी आवाज तेज हुई- आह्ह … आईई … याह … आह्ह … ऊईई … आह्ह … करते हुए मैं झड़ ही गई. मैंने उसके होंठों से होंठों को सटा दिया और उसने मस्ती में मेरे होंठों को चूसने का पूरा मजा लिया. जब हम दोनों ने मां से कहा- यदि पापा तैयार हुए, तभी हम उन लोगों को रोक पाएंगे.

यह सारी सेक्स कहानी समीना की बेटी को हमारी चुदाई देखने की पहले की है.

मैंने भी उनके होंठों को चूसते ही एक‌ हाथ से अपने लंड को पकड़कर उनकी चुत के‌ मुँह पर लगा लिया.

वरना लास्ट ऑप्शन वही है कि मैं समीना को बिना बताए उसकी बेटी को पटा कर चुदाई कर लूं. इसके अगले दिन इंस्टीट्यूट में सर और मॉनिटर ने मुझे रगड़ कर चोदा और वो शादी में मिले लड़के ने भी आज मुझपे हाथ साफ कर दिया. सेक्सफिल्मलंड का टोपा चूत के अन्दर गया तो ऐसा लगा, जैसे मैंने किसी आग की भट्टी में लंड डाल दिया हो.

पर मुझे इस बात की कोई फिक्र नहीं थी कि किसको कितना दर्द हो रहा है या फिर कितनी तकलीफ हो रही है. अब आगे गे स्टूडेंट वर्जिन गांड स्टोरी:मुझे वो सब देख कर अजीब सा नशा छाने लगा जबकि अंकल लंड सहलाते हुए मेरे बगल में आकर बैठ गए. मैंने भाभी से कहा कि मेरी एक गर्लफ्रेंड पहले थी … पर अभी मैं सिंगल हूँ.

फिर करीब 5 मिनट तक भैया ने मुझे लॉलीपॉप जोर-जोर से चुसाया और लॉलीपॉप का सारा दूध मेरे मुँह में आगे तक डाल दिया, जिससे वो मेरे मुँह से बाहर न आए. मैं उनको किस करने लगा और साथ ही उनके चूचे दबाने लगा ताकि उनको ज़्यादा दर्द ना हो और वो भी चुदाई के नशे में डूब जाएं.

चाची- सोनू (मेरी वाइफ) क्या हुआ दीपक तो बड़े कमजोर कमजोर लग रहे हैं.

लेकिन उस दिन उसका मेरी तरफ पहली बार में देखकर आंखें मिलाना, मेरे दिल में घर कर गया था. उसकी गांड की खुशबू ने मुझे पागल से बना दिया और मैं उसकी गांड को कुत्ते की तरह चाटने लगा. मैंने बस सीधे ही अपना काम शुरू कर दिया और काम निपटाकर मैं दूसरे काम के लिए चली गई.

सेक्सी क्लिपा फिर उसकी ब्रा को खोलकर चूचों को आज़ाद कर दिया। उसके चूचे मानो मुझे निमंत्रण दे रहे थे कि आओ शौर्य आज इन्हें दबा दबा कर इनका दूध निचोड़ डालो।ब्यूटी ने मुझसे कहा- शौर्य अब मैं तुम्हरी रंडी हुई, मुझे तृप्त कर दो मेरे सैयां जी।मैं उसकी चूचियों को चूसने लगा. मैं क्या बोलूंगी पापा को कि मैं जिससे शादी करना चाहती हूँ, वो एक दुकानदार है? फिर जब मेरी जॉब पर्मानेंट हो जाएगी और मैं अपने पैरों पर खड़ी हो जाऊंगी, तब कोई भी मुझे किसी भी फैसले के लिए फ़ोर्स नहीं कर पाएगा.

अपना सारा माल उन्होंने मेरे बूब्स पर निकाल दिया और फिर वहीं लेट गये. मैंने अपना मुँह सीधा उसके एक निप्पल पर ले जाकर उसे अपने मुँह में भर लिया. इतने में ही ट्रेन की सीटी ने मेरी नींद तोड़ी और मैंने खुद को वहीं स्टेशन पर भूरा के साथ खड़ा पाया.

दिसावर की आवाज

दोनों नितंबों के बीच का घर्षण किसी भी नर को कामरस में सराबोर कर सकता था। न चाहते हुए भी मैं उस यौवना के सौंदर्य का उपासक सा हो गया।धीरे-धीरे दिन गुजरते गए मगर उस यौवना का आकर्षण कब प्रेम में परिवर्तित हो गया पता भी न चला। जब कभी मुझे मौक़ा मिला, मैं उसके बाथरूम में जाकर उसके अंतःवस्त्रों को हाथ में लेकर ऐसा महसूस करता कि जैसे वो मेरे आगोश में हो।समय सदैव एक सा नहीं रहता. फिर वो बाबा मेरा हाथ अपने हाथ में लेकर सहलाते हुए बोला- कन्या, तुम्हारी त्वचा कितनी कोमल है और तुम्हारा हाथ भी बड़ा नर्म है. उधर विक्रम जन्नत में गोता लगाते हुए संजू की गांड को चोदे जा रहा था.

खैर … जैसा कि मैंने आपसे वादा किया था कि मैं आपको आगे की सेक्स कहानी जरूर बताऊंगा. उसकी गर्म चूत का पेशाब पीकर मैं तो खुद को रोक ही नहीं पाया क्योंकि इससे मुझे बहुत ज्यादा उत्तेजना हुई.

ऊपर से उनकी चूचियों में दूध भरे होने की वजह से वो टाइट और तनी हुई थीं.

ललिता भाभी की सिसकारियां बढ़ने लगीं और चूत लंड पर अपना कसाव बढ़ाने लगी. मैंने कहा- इतना जल्दी!वो बोला- हां यार … दो तीन मीटिंग हैं … ये बहुत ही इम्पोर्टेंट हैं. मैंने कहा- यामिना, मैं किसी को नहीं बताऊँगा और रही बात पेमेंट की तो वह बाद में सोचेंगे.

मैंने उनसे हंस कर कहा- आपने तो अभी पैर दबाने का कहा था, पर अभी पूरे शरीर की मालिश करने का कह रही हैं. एक बार कॉल पर बात के दौरान मैंने सोनी से लड़के और उसके पापा का नाम पूछा तो उसने मुझे गलत नाम बताया जो मुझे उसकी शादी के बाद पता चला. ननिहाल पहुंचने तक रास्ते में अन्तर्वासना वश मामी की चुदाई की योजना बनाता रहा.

दोस्तो, मैं आपकी सुहानी चौधरी एक बार फिर से अपनी चुदाई कहानी का अगला भाग लेकर हाजिर हूँ.

अंग्रेजी बीएफ का वीडियो: दोस्तो, थ्रीसम चुदाई का मजा आना शुरू हो गया है, बस अब अगले अंक में आपको इस नंगी चुदाई कहानी का बाकी का मजा भी दे दूंगा. ललिता अकेली है बेटा, तू इसके साथ चला जाएगा क्या? कल शाम तक वापस आ जाओगे.

भरे हुए बदन की औरत को सहलाना कितना कामुक और आवेश भरा होता है, ये तो आप सभी जानते हैं. अब जब बंगलौर में भाई रहता हो तो बहन हॉस्टल में क्यों रहे?मैं और सोनल एक ही फ्लैट में रहते हैं, दिन में वो कॉलेज में रहती है और मैं अपने ऑफिस!रात हमारी एक ही बिस्तर पर कटती है. इस तरह कई बार बाइक पर बैठे हुए मेरे बूब्स उसकी पीठ पर चिपक जाते थे.

रुखसार- मैं ये सवारी नहीं रोकने वाली … कशिश, तू ही मेरे कपड़े उतार दे.

मैं रचना के मुलायम गोरी टांगों को चाटते और सहलाते हुए उसकी जंघाओं तक पहुंच गया. मैंने उसकी चूचियां देखते हुए कहा- तुम कमरे में चलो मैं अभी आता हूँ. मैंने धीरे धीरे अभी अपना लंड उसकी चूत में डालना शुरू ही किया था कि उसको दर्द होने लगा क्योंकि करीब छह महीने से उसने सेक्स नहीं किया था.