सेक्सी बीएफ हिंदी देहाती चुदाई

छवि स्रोत,एक्स एक्स बीपी दिखाओ

तस्वीर का शीर्षक ,

बीपी चुदाई: सेक्सी बीएफ हिंदी देहाती चुदाई, जूनियर गर्ल सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरे ऑफिस में एक नयी लड़की आयी, उसकी नयी शादी हुई थी.

भाई बहन की सेक्सी वीडियो इंग्लिश

उसके पति ने उसकी समुन्दर जैसी रसीली जवानी की एक बूंद मात्र ही पी है. தமிழ் செக்ஸ் வீடியோ பிஎப்इस सेक्स कहानी के अगले भाग में मैं आपको बताऊंगा कि किस तरह से मैंने अपनी चचेरी बहन नीतू की गांड मारी.

वो अपने ड्राइवर और नौकरों के सामने बिकिनी और पैंटी पहनकर अपने फ्लैट में घूमती थी. सनी लियोनी चुदाईमैं चित लेट गया और खड़े लंड पर अपनी चुत फंसा कर भाभी घुड़सवारी करने लगीं.

मेरी हलचल और आवाज से किसी का कोई रेस्पोंस नहीं आया तो मुझे समझ आ गया कि सब सो गए हैं.सेक्सी बीएफ हिंदी देहाती चुदाई: वह मेरे पास फ़ाइल लेकर आज फिर से आई और जानबूझकर फ़ाइल मेरे ही पैरों के पास गिरा दी.

मैडम ने मेरी नजरों न जाने कभी ताड़ा या नहीं, मगर मैं छुपी नजरों से उनकी फूली चूचियों को देख कर खूब उत्तेजित हो जाता था और मेरा लंड मेरे लोअर में फूलने लगता था.मैंने भी अपने लौड़े को रफ्तार दे दी थी और उसकी चूचियां दबाने लगा था.

हिंदी में ब्लू पिक्चर एक्स एक्स एक्स - सेक्सी बीएफ हिंदी देहाती चुदाई

आज मैं आपको जो इंडियन एक्ट्रेस बॉलीवुड सेक्स कहानी बताने जा रहा हूँ, वो मेरी ज़िंदगी का एक डरावना सपना था जो हकीकत में बदल गया था.आखिरकार वो समय आ ही गया था जब दीदी की गर्मागर्म चुत ने रस छोड़ दिया.

‘फकक्च्छ फकक्च्छ …’ की आवाजें पूरे कमरे में गूंज रही थीं और नन्दिनी अपनी मस्ती में चिल्लाए जा रही थी- आह और ज़ोर से करो बेबी … आह जान मजा आ गया … आह!इसके बाद मैंने अपनी रफ्तार और बढ़ा दी. सेक्सी बीएफ हिंदी देहाती चुदाई फिर मैंने उसकी चोटी पकड़ ली और पीछे से ऐसे चोदने लगा, जैसे मैं कोई घोड़ी कि लगाम पकड़ कर उसकी सवारी कर रहा हूँ.

उस रात मैं घर आकर सो गया लेकिन अगले सुबह जब उठा तो मेरे फ़ोन के नॉटिफिकेशन में उसका फॉलो को लेकर नोटिफिकेशन आया था.

सेक्सी बीएफ हिंदी देहाती चुदाई?

उसने अपने दोनों पैर मेरे चूतड़ों से लपेट दिए और चुत में लंड लेने लगी. उतने में वहां से शरद अन्दर आया- अच्छा हुआ तुम उठ गई, बेबी मुझे जल्दी निकलना होगा. कुछ देर की पीड़ा के बाद सुमोना भी मेरे होंठों को चूस चूस कर मेरा साथ दे रही थी और अपने हाथों से मेरी कमर को कसके पकड़ कर लेटी थी.

उन तीनों की चुदाई में मैं इतना ज्यादा मगन था कि अपनी गर्लफ्रेंड की चुदाई ही नहीं कर पाता था. मैंने 2-3 झटके ही मारे होंगे और दर्द की वजह से अर्शिया की नींद खुल गई. फिर मैंने पूछा- आप क्या पढ़ाई करती हैं?उन्होंने बताया- हां, मैं एमए कर रही हूं.

दोस्तो, आपको मेरी रण्डी माँ की सेक्स कहानी कैसी लगी, आप कॉमेंट कर सकते हैं. तभी मुझे फोन आया- कैसा लगा?मैं बोली- मैं नहीं जानती थी कि आप इतने रोमांटिक हो … चलिये अब जल्दी आ जाइए. मेरी बीवी ने आज घुटनों के थोड़ा ऊपर तक आने वाली और डीप नेक वाला एक वन पीस पहना हुआ था.

इसी बीच मेरी कुंवारी चुत में आशीष के मोटे लंड से चुदने की बहुत चुल्ल मचने लगी थी. जैसा कि आपने मेरी पिछली कहानी में पढ़ा था कि हाल ही में मेरे पति का तबादला उत्तर प्रदेश के गोरखपुर ज़िले में हो गया था.

उधर डायरेक्टर ऑटो सैट कैमरा से मेरी बीवी की गांड चुदाई की रिकॉर्डिंग को देखने लगा.

नाज की चूचियों के निप्पल्स चूस चूस कर मैंने लाल कर दिये थे और लण्ड की रगड़ से बुर एकदम लाल हो गई थी.

अब मेरे लंड को शीना की चूत में प्रवेश करके उसकी चिकनी चूत को चोदकर भोसड़ा बनाना बाकी रह गया था. जैसे ही वो मेरे सीने से लगी, उसके कड़क बूब्स मेरी छाती में धंस से गए और मुझे तो नशा सा चढ़ गया. आंटी बोलीं- तुम किसी को बोलोगे तो नहीं!मैंने कहा- कभी नहीं आंटी … ये भी कोई बोलने वाली बात है.

मैं चिल्लाया भी … मगर उन्होंने अपना दूसरा हाथ मेरे मुँह के अन्दर डाल दिया. अपनी बहन की बातें सुनकर मैं भी उत्तेजित हो गया और जल्दी ही फ़्रेश होने के बाद हम नाश्ता करने बैठ गए. उसके बाद तो अक्सर मैं मौसी के घर जाने लगा और हम दोनों खूब मज़े करने लगे.

चूंकि दोनों केले जैसी जांघें चिपकी थीं तो मुझे इससे ज्यादा कुछ दिख नहीं रहा था.

मैं लगातार मैडम की चूची को खींच खींच कर पी रहा था और मैडम खुद अपने हाथ से अपने दूध पकड़ कर मुझसे चुसवा रही थीं. अरे कुछ नहीं मम्मी, मैं तो मज़ाक कर रहा था, अगर आपका और पापा का हो गया हो तो आप कपड़े पहन लेना, तब तक मैं सुसु करके आता हूँ. ये सब बताते हुये मैंने उनके टी-शर्ट के ऊपर से अंदर देखा तो भाभी ने ब्रा नहीं पहनी थी.

वो किसी से किस करने लगी और जब संजना ने उसके सामने से अपना चेहरा हटाया तो एक पल को तो मेरे पैरों के नीचे से ज़मीन खिसक गई. जब रघु ने श्रेया को ये सब बताया, तो श्रेया बोली- मतलब वो सेक्स करेगा, तभी रोल देगा. मेरा पूरा लंड उसकी चूत के छेद को चीरता हुआ अन्दर तक सरसराता चला गया.

वो अंकल का पूरा लंड अपनी चुत में अन्दर तक लेने की कोशिश कर रही थीं.

दुल्हन का सीन शुरू हुआ तो वो मुझे सिंदूर देते हुए मांग भरने के लिए बोली. हम दोनों नंगे बदन एक दूसरे को चूमने लगे और एक दूसरे के अंगों से खेलने लगे।मैं उसकी चूचियां को चूसने लगा, वो सिसकारियां भरने लगी।मैंने उसे 69 में किया.

सेक्सी बीएफ हिंदी देहाती चुदाई मैंने 2-3 झटके ही मारे होंगे और दर्द की वजह से अर्शिया की नींद खुल गई. अब मेरी हिम्मत और भी बढ़ गई और मैंने अर्शिया के होंठ अपने होंठों में दबा लिए और उनको चूमने लगा.

सेक्सी बीएफ हिंदी देहाती चुदाई मैंने कहा- पर ये बता लास्ट फोल्डर में मेरा नाम क्यों लिखा है?रंगोली शर्माकर बोली- जिसके नाम का फोल्डर … उसके साथ सेक्स. मैंने उनसे कहा- ठीक है, आप टाइम निकालकर फिर से दिल्ली आ जाइए, मैं भी आ जाऊंगी.

लंड क्या घुसा … मेरी सारी जवानी निचुड़ गई और मेरी चुत में इतनी जोर से दर्द हुआ कि मैं छटपटा कर कार्तिकेय के होंठों से अपने होंठ छुड़वाने की जद्दोजहद करने लगी.

मालिश करने वाला

एक बार अम्मा ने पकड़ लिया तो उसने अंकल को पीटकर भगा दिया और दीदी की शादी कर दी. क्योंकि अभी भी हमारे बीच सेक्स को लेकर कुछ खुली खुली बातें नहीं हुई थीं जो कि मिलने पर सेक्स होता तो शायद उसके लिए कुछ असहज होता. अगर उसकी मोटेपन वाली कमी को हटा दूँ, तो वो भी मस्त माल से कम नहीं थी.

तो बात कैसे बनी?मेरी क्लास में एक स्कूल टीचर से दोस्ती हुई और हमने दोस्ती मैं कैसे सारी हदें पार कर दीं … मेरी इस सैक्सी टीचर Xxx चुदाई कहानी में आप पढ़ें. नमस्कार दोस्तो, मैं आपका राज शर्मा, हिन्दी देसी चुदाई की कहानी की साइट अन्तर्वासना पर आपका लौड़ा खड़ा करने और चुत गीली करने के नजरिए से स्वागत करता हूँ. धीरे धीरे मैंने उसके कपड़े उतारने शुरू किए; उसकी सलवार और कुर्ती उतार दी.

ब्रा खुलते ही उसके जरूरत से ज्यादा बड़े स्तन, जो उसके मर्द ने बहुत दबाए थे, खुलकर सामने आ गए.

कभी वो अपना पैर मेरे अंगूठे और उंगली के बीच धंसा रहा था, कभी मैं ऊपर से उसका पैर दबा रही थी. वो अपनी प्यास अब गाजर, मूली, ककड़ी से या फिर अपनी उंगलियों से बुझा लेती थी. वो कहने लगी- सौरभ छोड़ो … अभी नहीं … थोड़ी देर बाद!पर मैं रुकने वालों में से नहीं था.

होंठों को चूसना छोड़ कर मैंने उसकी तरफ देखा, तो वो शर्मा कर बोली- ऐसे मत देखो!आंखों में भर लेने दो आज … रोको मत. नील के नर्म होंठों से निकलने वाली गर्म सांसों ने मुझे भी गर्म कर दिया. जैसे ही शहर से थोड़ा बाहर आए मैंने गाड़ी को साइड में लगाया और उसको अपनी तरफ खींच लिया.

मेरे चाचा की लड़की भी जवान हो गई थी और उसका शरीर काफी गदराया हुआ सा दिखने लगा था. जो मुझे चूसने में और मजा दे रही थी क्योंकि चुत के रस का टेस्ट काफी अच्छा लग रहा था … तो मज़े से पूरे रस को पी गया.

थोड़ा रूकते हुए मैंने अपनी पकड़ को ढीला किया तो नील ने मेरे नीचे से निकलने की कोशिश नहीं की. इसलिए मैंने सोचा कि मुझे भी अपने जीवन में घटित हसीन पलों को सेक्स कहानी का रूप दे कर आपका मनोरंजन करना चाहिए. अब उसकी गान्ड आगे पीछे होने लगी और लंड अंदर तक जाने लगा।दोनों तरफ से बराबर झटके लगने लगे और थप थप थप थप ऊईई ऊईई आहह आहह की आवाज तेज हो गई।समारा ने शरीर ढीला छोड़ दिया उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया।अब लंड फच्च फच्च करके अंदर बाहर होने लगा।मैंने उसे बिस्तर पर लिटा दिया उसकी टांगों को चौड़ा किया और लंड घुसा दिया.

अब हमारी मैसेज के अलावा कॉल पर भी बात होने लगी … मतलब दिन भर मैं उसी में लगी रहती या जब भी मैं अकेली होती, तो मुझे उसके साथ बिताए पल याद आते.

तो मैंने क्या किया?नादान उम्र की प्यास क्या होती है, मैंने इसी को इस सेक्स कहानी में आपके लिए लिखा है. हमने कुछ देर बातें की तो भाभी ने बताया कि मेरे दोस्त का लंड सिर्फ साढ़े चार इंच का होता है खड़ा होने के बाद. लेकिन उसने होटल में मिलने के लिए यह कह कर मना कर दिया कि शादी के बाद चुदाई करेंगे.

आप का गिलास कहाँ है?”गिलास से तुम लोग पियो, मैं गिलास से नहीं पियूँगा. भाइयो, भौजाइयो और हरजाइयो, आप सभी का अन्तर्वासना सेक्स कहानी साईट पर स्वागत है.

मैंने तसल्ली के लिये एक बार अपनी मम्मी को फ़ोन करके पूछा कि आप लोगों को कब तक आना है?वो बोलीं कि अभी तो प्रोग्राम शुरू हुआ है … अभी देखो कितना समय लगता है. लेकिन ये तो बताओ कि ये सब तुमने कब और कैसे सीखा?अभी भी उसका हाथ मेरे हाथ में ही था और एक हाथ से मैं उसको सामान्य करने के बहाने से उसकी पीठ को सहला रहा था. उत्तेजना के चरम उल्लास में शीना की योनि रस से डूबे, मेरे लंड ने स्पीड और बढ़ा दी.

खेसारी लाल की नंगी फोटो

मौसी कभी कभी इतवार को मेरे घर आ जाती हैं और सारा दिन यहीं रुकती हैं.

नंगे होने के बाद मैंने सरोज को लिटा दिया और उसकी टांगों को चौड़ा कर दिया. वह भी मेरे निकले हुए वीर्य को अंदर गटक गई और बोली- तुम्हारा रस बहुत टेस्टी है. मैं नींद में होने का नाटक करते हुए अपने होंठ अर्शिया के होंठों के और करीब ले गया.

मुझको उनकी चूचियां मस्त लग रही थीं … तो मैंने दबाना शुरू कर दिया और वो कुछ ही देर में फिर से मुझसे खेलने लगीं. तो मैंने उससे पूछा कि कैसा स्पेशल, तो वो सुहागदिन मनाने कि बात कहने लगा. सनी लीओन की सेक्सी मूवीमैं बस भाई से कह रहा था कि भाई रूको मत … आज पूरी रात हम दोनों भरपूर मजा लेंगे.

बस इसी कारण मैंने उन्हें बिस्तर पर बिठा दिया और धीरे से अपनी साड़ी उनके सामने उतारने लगी. फिर कुछ पल बाद जब वो शांत हुई तो मैं आगे पीछे होकर लंड को अन्दर बाहर करने लगा.

वो वासना भरी आवाज में बोलीं- अगर लाइट जलती रही … तो मेरी सारी मेहनत ख़राब हो जाएगी, जो मैंने कमरा सजाने में की है. ऊपर से वह मेरे चौड़े सीने के नीचे दब चुका था और उसके दोनों हाथों को मैंने ताकत से पकड़ते हुए उसकी बॉडी को जाम सा कर दिया था. मैंने उसको पूरी तरह से फ्री कर दिया तब भी वह मुझे डलवाए हुए ऐसे ही पड़ा रहा.

मैंने उससे कहा- क्या हो गया अमिता?उसने कहा- कुछ नहीं!और एक उदास वाली इमोजी भेज दी. आशीष ने तीन घंटे तक मेरी दीदी को ताबड़तोड़ तरीके से चोदकर लस्त कर दिया और वहां से चला गया. लेकिन उसकी बातों से और उसकी मासूमियत देखने से नहीं लग रहा था कि इसका कोई हमदम होगा.

जब दर्द कम हुआ तो वो बोली- राज, तुम मस्त चोदते हो … और तेज़ करो।मैं जोश में आ गया और उसको घोड़ी बनाया और पीछे से ताबड़तोड़ चुदाई करने लगा।अब समारा की आवाज पूरे कमरे में गूंजने लगी थी और मैं तेज़ तेज़ चोदने लगा.

मेरी सभी सहेलियां भी जब ये पढ़ेंगी, तो वे पक्का इस सलाह को अपने बॉयफ्रेंड या पति के साथ जरूर करेंगी. मेरी बुआ का मादक फिगर 36-28-38 का था और वो एकदम सेक्सी आइटम लग रही थीं.

हैलो फ्रेंड्स, मैं आपको मेरी और मेरी मौसेरी बहन अर्शिया की सेक्स कहानी सुनाना चाहता हूँ. मैंने अपना लिंग उनकी चूत में सेट किया और उनके चूतड़ों पर तीन-चार चपाट जोर जोर से मारे. मैंने अपने सर को हल्के से जुम्बिश देते हुए उन्हें आदाब किया और अपने काम करने में वापस लग गया.

उन्होंने तीन दिनों तक, न ही अपने लंड को मेरे मुँह में दिया … ना गांड में. इस बार वो बोलीं- ये क्या कर रहे हो?मैं धीरे से बोला- जो आप जैसी सेक्सी माल औरत के साथ करना चाहिए. मुझे तो इतना अच्छा लग रहा था और मैं सोच रही थी कि मेरी जिंदगी में हर समय इसी तरह की अवस्था बनी रहे.

सेक्सी बीएफ हिंदी देहाती चुदाई अपनी चुत में लंड लेते ही कामवाली बाई की एक गहरी चीख निकली- आह … छोटे साब … मर गई मैं!जबकि मेरे लंड का सुपारा ही अभी चुत के अन्दर घुसा था. वो बोलीं- हां देखती हूँ कि कैसे काम बनता है … तुम बस मेरे इशारे समझते रहना.

राजस्थानी सेक्सी पिक्चर दिखाएं

उसका भी जवाब आ गया और इस तरह से उससे मेरी 3 दिन तक काफी लम्बी चैट हुयी. उसकी लगातार 20 मिनट की ताबड़तोड़ चुत चटाई के बाद मेरे अन्दर का गर्म गर्म माल उसके मुँह में ही निकल गया. सोढ़ी रोशन की गांड को अपने दोनों हाथों से सहला रहा था कि तभी अचानक गोगी अपने कमरे से बाहर निकला.

उनकी कामुक सीत्कार निकलना शुरू हो गई थी और उन्होंने अपना सिर मेरे कंधे के ऊपर रख दिया था. मैंने पूछा- अब खुली नजरों से भी देखना चाहोगी?वह बोलीं- केवल दिखाओगे या और भी कुछ करोगे?मैंने उनसे कहा कि अभी ये आपका है … इसके साथ आप जो भी करना चाहो, वह कर सकती हो. देसी फौजी बीएफपूरी तरह से दुल्हन जैसी सजने के बाद मैंने अपने आपको शीशे में देखा तो वाकयी मैं किसी हूर से कम नहीं लग रही थी.

फिर वो गांड हिलाती हुई पलट गई और दोस्त के लंड के ऊपर आकर अपने हाथ से लंड को गांड पर सैट करके धच्च से बैठ गयी.

मैं भी लंड में क्रीम लगाकर दीदी को लिटा दिया और उसकी दोनों टांगों को फैला कर उनकी चूत में लंड रगड़ने लगा. भले ही धक्के तेज नहीं लगे, मगर उनका लंड मेरी चुत के चिथड़े उड़ाता रहा.

मैंने उसको कहा- कल तुम विवेक के साथ सेक्स कर लेना तो उसको शक नहीं होगा. फिर मुझे लगा कि अब मेरा होने वाला है … तो मैंने उनसे कहा कि मौसी मेरा होने वाला है. मैं कुछ नहीं बोला, तो एक ही झटके में मेरी गांड के अन्दर अपना पूरा का पूरा लंड में पेल दिया.

मेरा लंड तो खुशी से फूलकर अपनी औकात में आ गया और उसकी चूत की गर्मी को महसूस करने लगा था.

तभी दरवाजा खुला और चाय की ट्रे लेकर सलमा आ गई- बाजी ने कहा है कि तुम लोग चाय पियो, मैं आती हूँ. वो मुझसे बोले- क्या हुआ?मैंने कहा- आप थक गए हो, मैं आपकी मालिश कर देती हूँ. मैंने उसी समय अपनी दोनों टांगों से उनको जकड़ लिया ताकि वह तेज धक्के ना लगा सकें.

देसी इंग्लिश ब्लू फिल्मकंपनी आजकल 8 घंटे चल रही थी तो मैं अपने रूम में हिंदी सेक्सी कहानी पढ़ने में ही लगा रहता; कभी रेखा आंटी से फोन में सेक्सी बातें कर लेता. मैंने एक सिगरेट सुलगाई और मुंतजिर की भरी हुई मादक चुचियों का अहसास करने लगा.

भाई बहन की लड़ाई

चुदासी लड़की सेक्स स्टोरी मेरी गर्लफ्रेंड की चचेरी बहन की चूत चुदाई की है. क्लासरूम सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरी कक्षा की एक खूबसूरत लड़की मुझे पसंद करती थी. अब मैं रोज रात को मम्मी और पापा की चुदाई देखने लग गयी और मेरा हाथ कब पता नहीं चूत पर जाने लग गया.

वो बोली- तू तो जाटनी को ऐसे चोद रहा है … जैसे किसी रंडी को चोद रहा हो. एक तरह से मैं डिप्स लगाते हुए दीदी की गांड तक अपना मुँह ले जा रहा था. क्लासरूम सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरी कक्षा की एक खूबसूरत लड़की मुझे पसंद करती थी.

अंकल ने पूछा- किस लड़के से बात कर रही हो?मैंने इठला कर बोला- किसी से नहीं. सोढ़ी अपनी मस्ती में रोशन में कंधे दबाता हुआ उसे अपने लंड पर ठांसता चला गया. शीना ने मेरे कान में धीरे से कहा- मुझे आपका लंड देखना है … प्लीज़ इसे बाहर निकालो न!जैसे ही मैंने लंड बाहर निकाला, शीना भाभी ने बिना देर किए मेरे लंड को अपने कोमल हाथों में कैद कर लिया और दबाकर कहा- बहुत बड़ा लंड है आपका, मेरे पति का तो गिल्ली है गिल्ली.

ये देख कर मैंने झट से उसके होंठों को अपने होंठों से चिपका लिया और चूमने लगा. करीब 5 मिनट किस करने के बाद मॉम ने मेरे सारे कपड़े उतारना शुरू कर दिया.

निशा ने अपनी ही चूत के पानी को मेरे मुँह से चाट चाट कर साफ किया और अब उसने अपने थूक से वापस मेरे मुँह को गीला करना शुरू कर दिया.

मैंने थोड़ा लंड अन्दर डालना चाहा, इतने में अन्वेषी भाभी आगे को खिसक गईं. बीएफ पिक्चर नंगी तस्वीरमुझ पर कण्ट्रोल नहीं हुआ तो मैंने उसे अपनी तरफ खींचा और उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए. हिंदी नया बीएफसेक्स के वक़्त शरद अक्सर कंडोम का इस्तेमाल करता था, पर जब कभी भी हमने बिना कंडोम के चुदाई की, मैं हमेशा उसे अपने वीर्य से मेरी चुत भरने को कह देती थी. शाम को 5:00 बजे वह मेरे घर आ गए और मेरे अब्बू से कुछ बातें करने लगे.

वो आहहह आहहह करके घोड़ी के जैसे अपनी गांड आगे पीछे करके मज़े लेने लगी।मैंने उसकी चूचियों को पकड़ लिया और मसलने लगा और चोदने लगा.

अर्शिया को शर्म आ गई, वो बोली- अच्छा ऐसा क्या खास है इनमें?मैंने बोला- तेरी चुत एकदम अमेरिकन लड़की की चुत जैसी है गोरी गोरी … और तेरे बोबे भी किसी मक्खन के गोले से कम नहीं हैं. भाई ने अलग-अलग सेक्स साईट से गांड मारने की पोजीशन देख देख कर मुझे चोदा था. अगली बार मैं स्लीपिंग सिस्टर सेक्स कहानी को आगे लिखूंगा कि सेक्स हुआ तो कैसे हुआ.

मैं पानी लेने के बहाने आंटी की गांड तरफ से निकला और उनकी गांड को दबा दिया. मैंने धीरे से बुदबुदाते हुए कहा- ऐसी महक लगाने से तो मन करता है कि गुलनिहाल … मैं तुझे खा ही जाऊं. मैंने उनकी चूत चुसाई शुरू कर दी और कुछ ही देर में मौसी की चुत चूस कर उनको एक बार झाड़ दिया.

राजस्थानी मारवाड़ी सेक्सी वीडियो एचडी

पिज़्ज़ा वाला आए या कोई सामान डिलीवर करने आए, वो नंगी सोफे पर बैठी रहती थी. इसके बाद, मेरी बीवी और दोस्त दोनों बहुत बार मिले और उन दोनों ने मेरे ही घर में, मेरे ही बेड पर चुदायी भी की. मैं कपड़े धो रही थी और पीछे से जेठ जी मुझे देख रहे थे; ये बात मुझे पता नहीं थी.

दीदी की टांगें बड़ी ही चिकनी थीं … उस पर तेल की चिकनाहट और भी मस्ती दे रही थी.

वहीं हम दोनों साथ में नहाए और बाथरूम में ही मैंने साली साहिबा की चूत पर अपनी पेशाब की धार मार दी.

पर मेरे काम पर जाने के बाद शायद उसने अपनी चुत चुदायी करवा ली होगी … और मुझे पता नहीं लगने दिया होगा. मैंने अपने प्यासे होंठों को जैसे ही उसकी चड्डी पर चुत वाली जगह रखा था … तो मेरे नथुनों में उसकी कुंवारी जवानी की सनसनाती हुई एक तीखी गंध नाक में घुसी. हिंदी सेक्सी भाभी की वीडियोथोड़ा रूकते हुए मैंने अपनी पकड़ को ढीला किया तो नील ने मेरे नीचे से निकलने की कोशिश नहीं की.

ऐसा लग रहा था … जैसे मां की चूत को ऐसा ही लंड चाहिए था, जो बहुत प्यार से चुदाई करे. वो होंठों से मेरी जीभ को चूसती हुई मेरे लंड पर गांड उठा उठा कर कूद कूद कर चुदवाने लगीं. साली साहिबा का मैसेज आया- कहीं से सिगरेट का अरेंज्मेंट हो सकता है क्या? बहुत तलब लग रही है.

फिर धीरे धीरे मम्मों की गोलाइयों को चूमने और उन पर दांत गड़ाने लगा, उसके दोनों मम्मों को पकड़ कर दबाने लगा और चूमने लगा. जीजू के पापा जो लखनऊ में सरकारी नौकरी में थे, वो एक पुलिस स्टेशन में दारोगा थे, तो उन्हें छुट्टी नहीं मिली थी, इस वजह से वो लखनऊ में ही रह गए थे.

मैंने अनन्या ने कहा- डार्लिंग, तुमने तो कहा था कि तुम्हें पीरियड चल रहे हैं?‘हां मगर वो रुक रुक कर आते हैं.

हैलो सेक्सी लड़कियो, आंटियो, भाभियो और मेरे प्यारे भाइयो … आप सबका प्यारा सा योगी, एक बार फिर से आपके सामने अपनी सेक्स कहानी का दूसरा भाग लेकर पेश है. उन्होंने बड़बड़ाते हुए कहा- ओह युवराज … यू आर सो गुड, कम ऑन मुझे और गीला कर दो. हम 69 की पोजिशन में थे … मैं मॉम की चूत चाट रहा था और वो मेरा लन्ड चूस रहीं थीं.

नई सेक्सी नंगी फिर तेज आहहहह की आवाज करते हुए मैंने उसकी गांड में अपना वीर्य छोड़ दिया. हमारी कभी ज्यादा बातचीत नहीं होती थी, पर जब भी हम दोनों की नज़रें मिलतीं, तो उनके कुछ ना कुछ इशारे होते रहते थे.

मैंने अपने दोस्त वासु से पेनड्राइव में उसका पोर्न कलेक्शन लिया और रात को जब मॉम डैड औऱ मेरी बहन रंगोली सो गए, तो मैं अपना कमरा बंद करके लैपटॉप में वासु का कलेक्शन देखने लगा. मैं बिना कुछ पहने किचन में गया और फ्रिज से ठंडे पानी की बोटल निकालने लगा. उसके जाने के बाद मैंने ठंडी आह भरी और पहली सफलता के लिए खुद को बधाई दी.

राजस्थानी मारवाड़ी सेक्सी

[emailprotected]हॉट स्टूडेंट सेक्स कहानी का अगला भाग:पड़ोसन भाभी की बेटी की सीलतोड़ चुत चुदाई- 3. बचपन से ही पढ़ाकू रही हूँ और साथ ही साथ अपनी निजी जिंदगी में भी मैंने अब तक भरपूर मज़े लिए हैं. उसने मेरे पल्लू को हटा दिया और मेरी पीठ और कमर को सहला कर देखने लगा.

रोज तो वो मेरे होंठों को चूसते थे … परंतु आज उन्होंने ऐसा नहीं किया. चूंकि मैं दिल्ली अपने एक एग्जाम के सिलसिले में आया था … तो मेरा दोस्त या अन्य कोई भी मुझे बाहर ले जाने के फोर्स नहीं करता था.

मैंने कहा- क्या मतलब!वो लंड को अन्दर लेते हुए बोली- मेरी बड़ी दीदी शुरू से चुदक्कड़ है.

मैंने भाभी को कहा- बस थोड़ी देर बाद!जब भाभी का दर्द कम हुआ तो मैंने आराम से भाभी को चोदना चालू कर दिया. थोड़ी देर के बाद वह अपने होंठों को सीधे मेरे लौड़े पर ले आई और अपना पूरा मुँह खोल कर उसने लौड़े को जड़ तक अपने मुँह में घुसा लिया. चाची की चूत गीली होने की वजह से मेरी उंगली आराम से उनकी चूत में जा रही थी.

दीदी ने बस हल्की सी आह निकाली मगर ऐसा रिएक्ट किया मानो उनको कुछ महसूस ही नहीं हुआ. करीब बीस मिनट तक ताबड़तोड़ चुदाई के बाद उसने अपने लंड का पानी मेरी चूत में टपका दिया. मैंने और सलमा ने कई बार मेरे रूम पर चुदाई की थी, वो बहुत ही मस्त माल थी.

मुझे ऐसा लग रहा था जैसे मैंने किसी उबलते गर्म पानी में अपना हाथ लगा दिया हो.

सेक्सी बीएफ हिंदी देहाती चुदाई: आशीष का नंगा शरीर और उसका ताकतवर लंड देख कर मैं उसी सोफे पर पेट के बल लेट गयी और आशीष को सामने से पैरों को फैला कर बैठने को बोला. उसके संतरे मेरी आँखों के सामने उसकी छाती पर लटक रहे थे और जिनके निप्पल बहुत ही नुकीले होकर आगे की ओर चोंच बनाये हुए थे.

उस दिन के बाद से मैडम की चुत गांड मेरे लिए हर वक्त खुली रहने लगी थी. मैंने पूछा- भाई आज भी गांड में उंगली करोगे क्या?भाई ने बोला- नहीं अब तू तैयार हो चुका है … अब तेरी गांड को उंगली से नहीं, अब तुझे तेरी गुलामी का हिसाब देना होगा. कक्षा बारह तक हम दोनों एक ही स्कूल में थे लेकिन ग्रेजुएशन के समय हमारे कॉलेज अलग अलग हो गए.

वो मुझसे बोले- क्या हुआ?मैंने कहा- आप थक गए हो, मैं आपकी मालिश कर देती हूँ.

मैं अपने दोनों हाथों से उनकी गांड पर तबले की थाप देते हुए स्लैप पर स्लैप मारे जा रहा था. दोस्तो, अभी तो निशा की चुदाई भी नहीं हुई थी लेकिन मैं उसे शुरू से ही हर काम का मजा देना चाहता था. कज़िन सिस्टर चुदाई कहानी में पढ़ें कि कैसे मैं अपनी बुआ के बेटे की ओर आकर्षित हुई.