पाकिस्तानी बीएफ सेक्सी पिक्चर

छवि स्रोत,हार्ड सेक्सी फिल्म

तस्वीर का शीर्षक ,

सैक्सी बीडियो: पाकिस्तानी बीएफ सेक्सी पिक्चर, जिनमें एक हवलदार नंदू था, जिसे मुखिया पहले से जानता था और दूसरा इंस्पेक्टर बलराम चौधरी था, जो गांव में नया आया था.

छोटी बच्ची की सेक्सी

धीरज हंसने लगा और अपना लंड मेरी गांड में अन्दर बाहर करते हुए गपा गप मेरी गांड चुदाई करने लगा. सेक्सी पंजाबी सेक्सी वीडियोफिर अगले दिन जब मैं ऑफिस के लिए निकला तो सोनिया मेरी ओर ही देख रही थी.

एक दिन आवेश में आकर गांव वालों ने उसे पीट पीट कर मार दिया और उसकी लाश जंगल में फेंक दी. दूध वाली सेक्सी पिक्चरमुखिया ने सुमन को अपनी बांहों में समेटा और उसकी तनी हुई चूचियों का मजा महसूस करने लगा- अरे क्या हुआ सुमन रानी, इतनी डरी हुई क्यों हो तुम?सुमन ने मुखिया को पूरी बात बताई, तो मुखिया के चेहरे पर मुस्कान आ गई.

उनके पैर कांपने लगे और फिर उसी रात उन्होंने मुझे अपनी चुदाई से जुड़ी एक एक बात बताई.पाकिस्तानी बीएफ सेक्सी पिक्चर: पूरा लंड उसकी गांड के अन्दर पेलने के बाद मैंने नीचे से जोरदार झटके देने शुरू कर दिए.

मेरी पिछली कहानी थी:भाभी की हवेली में चूत चुदाईअपनी मौसी की चुदाई की स्टोरी के द्वारा सभी गर्म चूतों का मैं पानी निकालने की कोशिश करूंगा.वो बोला- क्या बात है, नीचे से चड्डी पहनने लगे हो?मैंने मुस्कराते हुए कहा- क्या करें … आजकल लन्ड ज्यादा ही शैतान हो गया है.

સેકસીપીચર - पाकिस्तानी बीएफ सेक्सी पिक्चर

उसने डेक ऑन कर दिया। इंग्लिश सोंग चलने लगे।तभी गरिमा डान्स करती हुई आगे गई और रंग का पैकेट उठाया और सीधा जॉन के पास गई और उसकी छाती पर रंग लगाया.फिर सिमरन ने अपने पापा को बताया कि फैमिली बहुत अच्छी है, आप मेरी चिंता न करें … और हां पापा आप लोग संभल कर जाईएगा क्योंकि आज कर्फ्यू है और यही सब न्यूज़ में दिखा रहे हैं कि कोरोना बीमारी की वजह से 3 दिन तक सब बन्द है.

मैं- क्या भाभी, आग भड़का कर यहां रुक गयी हो, आज मेरे लंड का क्या होगा?रुक्मणी धीरे बोलीं- धीरे बोल बदमाश. पाकिस्तानी बीएफ सेक्सी पिक्चर कालू- बोल क्या कहता है … खोल रहा हूँ तेरी पट्टी … जल्दी जवाब दे मुझे!कालू ने हरी को खोल दिया और उसकी तरफ़ गौर से देखने लगा.

राहुल अब रूचि के आंखों में देखे जा रहा था और रूचि भी उसकी आंखों में डूबी हुई थी.

पाकिस्तानी बीएफ सेक्सी पिक्चर?

अब कोई इंसान का काम हो, तो सुराग मिले ना!बलराम- तो आपका मतलब जो सब गांव वाले कहते हैं, वही सच है. दोस्तो, मुझे उम्मीद है कि आपको मेरी अम्मी की चुदाई की कहानी में मजा आ रहा होगा. अब मेरी मानसिकता का स्तर भी बढ़ चुका था। थोड़ा सा अहं भाव भी आ गया था.

फिर ससुर ने अपने हाथों से साबुन बहू को पकड़ाया और बहू उनकी पीठ पर साबुन लगाने लगी. मेरे बारे में तुम क्या सोचते हो!उसने जब इतना खुल कर पूछ लिया तो मैंने भी बिंदास कह दिया- तुम कमाल की सेक्सी हो. फिर भाभी ने भी उसके मुंह को अपनी चूत में दबा लिया और वो भी झड़ गयी.

भाभी- खुशी अभी सोई है, सुबह होने वाली है प्लीज कुणाल … जो भी करना है … जल्दी करो. मैंने जल्दी से कपड़े निकाले और मैं दो पल बाद सिर्फ अंडरवियर में ही था। अंडरवियर में मेरा मूसल जैसा लंड उनकी गांड को सलामी दे रहा था।बहुत कामुक नजारा था. शुरू में वह मुझ पर जोर से चिल्लायी- तुम यहाँ? यह सब क्या कर रही हो??जवाब में मैंने वो सारी बातें कह डालीं जिनको मैंने आज तक नोटिस किया था.

उसको तुम्हारे भाईसाहब के बारे में भी पता है कि उनका खड़ा नहीं होता है. मैं भीतर ही भीतर खुश हो गयी थी कि मौसा जी ने मुझे देख कर अपना खड़ा लंड सहला के मुझे जानबूझ कर दिखाया था; इसका सीधा साफ मतलब था कि मुझे फिर से चोदने की तमन्ना उनके तन मन में जाग चुकी थी; उन्हें लुभाने ललचाने के मेरे प्रयास रंग दिखाने लगे थे.

फिर उन्होंने मुझे बिस्तर पर लिटा दिया और मेरे ऊपर चढ़ कर मेरे पूरे बदन में किस करने लगे.

मैं- अच्छा सुनो दीदी क्या तुम रोल प्ले सेक्स करोगी?दीक्षा- रोल प्ले सेक्स क्या होता है?मैं- आपको जो भी लड़का पसंद हो, मैं उसका रोल करूंगा और आप मेरी पसंद की लड़की का रोल करना.

लगभग बीस मिनट बाद धीरज ने अपने लंड का पानी मेरी अम्मी की चूत में छोड़ दिया और उनके ऊपर ढेर हो गया. मुझे न जाने क्या मस्त अनुभूति सी होने लगी कि मैं उस मजे को लिख ही नहीं पा रही हूँ. समीक्षा को चोदते चोदते मैंने लंड बाहर निकाला और एक पिचकारी उसके मुँह में मार दी.

स्तनों की चोटी के ऊपर तने काले काले चूचक स्पष्ट आकृति में उभरे हुए थे. मैं भी उतावला हो गया था … क्योंकि अम्मी की कामुक चूचियों को आज पहली बार पूरा नंगी देखूंगा और उनकी चुदाई भी. उसको नंगी देख कर मेरा लंड फिर से खड़ा होने लगा, पर मैंने लंड को समझाया कि अभी शांत रह … थोड़ी देर बार तुझे छेद का सुख दिला कर खुश करता हूँ.

वैसे भी फिर मामी तो विवाहित थी, उसको खुश करने के लिए काफी मेहनत भी करनी थी.

हमने कामसूत्र में दी गयी सभी पोजीशन में सेक्स किया और सोनिया के बूब्स 34D, कमर 28 और चूतड़ 34 के हो गये. उसकी सांस के साथ उसके बूब्स ऊपर नीचे हो रहे थे, जिसे देख कर वो साया उसके एकदम करीब हो गया और धीरे से उसने सुमन के एक बूब को टच किया. एक दो वीडियो मैंने कॉमेडी के चलाये और फिर एक पोर्न वीडियो चला दिया.

कुछ देर बाद लंड की नसों में वीर्य दौड़ने लगा और सीधा मीता के गले में पिचकारी आने लगी. उसके गीले बाल और पतली सी गोरी कमर देखकर मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया. पांच मिनट बाद मैंने समीक्षा को फिर से उसी पोजीशन में बने रहते हुए खड़ा किया और स्टेंडिंग डॉगी स्टाइल में चोदना शुरू कर दिया.

राहुल ने अपनी जीभ रूचि के मुँह में डाल दी तो रूचि अपने प्रेमी राहुल की जीभ को चूसने लगी.

उसका चेहरा मेरे चेहरे के बिल्कुल पास में था और मेरी जांघ उसकी जांघ से सट गयी थी. उसकी टाइट चूत में जीभ देकर मैं अंदर बाहर करते हुए उसकी चूत के रस को चाटने लगा और अंदर पीने लगा.

पाकिस्तानी बीएफ सेक्सी पिक्चर मैंने पूछा कि अरे तुम रो क्यों रही हो … क्या हुआ?अंकिता बोली- मुझे लगा कि आप नहीं आओगे. मैं आपको दिल भरकर रंग लगाना चाहता हूं और तब तक आपने अपनी आँखें बंद ही रखनी हैं.

पाकिस्तानी बीएफ सेक्सी पिक्चर उस वक्त तो मैं चला गया, पर सुशी अब मेरे फोन पर मुझे कॉल और मैसेज करने लगी. रात को 2:30 बजे, जब सभी गहरी नींद में सो गए और मुझे भी नींद आने ही लगी थी कि तभी मेरे फोन पर भाभी का मैसेज आया कि छत पर मिलो.

कॉलेज में मेरी कोई ख़ास सहेली नहीं बन पाई क्योंकि ज्यादातर लड़कियां हमेशा सेक्स और सम्भोग की ही बातें करतीं थीं जिससे मैं दूर भागती थी.

निक्की सेक्स वीडियो

मैं डर गया और और चचा से गिड़गिड़ाते हुए बोला- चचा गलती हो गई दारू के नशे में, हम अब ये सब नही करेंगें. सुरेश- अच्छा अब जल्दी से मुझे चाय पिला दो, मुझे क्लिनिक भी जाना है. खैर … मैंने अपनी कामुकता पर काबू करते हुए कहा- नींद आ रही हो तो तुम इसी कमरे में सो जाओ, मैं हॉल में सो जाता हूं.

हम दोनों ने रात की प्लानिंग शुरू कर दी कि अभि को कहां छुप कर लाइव ब्लू फिल्म देखना है … वगैरह. मेरी बीवी बोली- मैं भी चलूंगी और वहां पर हम लोग ताजमहल भी देख आएंगे. मुझे अपनी सास के छिनालपने पर बड़ा गुस्सा आया और मैंने अपना लंड पूरी ताकत से उनकी चूत में पेल दिया.

उनको खाना परोसते वक्त मेरा पल्लू हट गया, समधी जी की नजर मेरे गोरी गोरी भरी हुई चुचियों पर टिक गयी.

उसे गर्म करने के लिए मैंने क्या किया?दोस्तो, मैं सोनू सैम आपको अपनी हॉट रोमांस सेक्स स्टोरी के पिछले भागलॉकडाउन में मिली अनजान लड़की- 1में बता रहा था कि लॉकडाउन के दौरान एक लड़की सिमरन मेरे साथ मेरे कमरे पर फंस कर रह गई थी. मैंने कहा- तो फिर एक बार और नहीं करवाओगी?वो बोली- नहीं, मैं अब चूत में नहीं करवा सकती, गांड में डालकर कर लो. उनकी बगल की खुशबू बहुत अच्छी थी और उसमें पसीने का खारा टेस्ट मुझे पागल कर रहा था.

फिर राहुल ने रूचि की सलवार उतार दी और अपने हाथ उसकी पैंटी में फंसाकर वो भी उतारनी चाही. उसको भी पता था कि अब मैं उसे चोदने वाला हूँ, तो वो आगे किचन की स्लैब पर झुक गई. दोस्तो, मैं सच कह रही हूं कि जब तक नंगी लेडी की मस्त चूत और गांड से खून न निकले तब तक चुदाई का असली मजा नहीं है.

दीदी- मैं तुमको कैसी लगती हूं?मैंने- बहुत अच्छी, आप ख्याल रखती हैं. वो पूरा माल पी गई।फिर मैंने उन्हें ऊपर उठाया और उन्हें किस करने लगा.

मेरी चूत पूरी तरह से गीली हो गई और मैं अपने हाथ से अपनी चूत मसलने लगी. तो सिमरन ने बताया कि मेरी उम्र 23 साल है और मैं एक कुंवारी लड़की हूँ. तभी एक दिन मैंने देखा कि अम्मी करीब 6-30 बजे रूम से आकर पहले मेरे कमरे में आईं.

मुझे देख कर मम्मी बोलीं- उठ गए बेटा, खाना लगा दूं?मैंने खाने के लिए मना कर दिया क्योंकि मुझे भूख नहीं थी.

भाभी बोली- मैंने तो बताया था, अब मैं जाकर तो नहीं कह सकती कि मेरी ननद को चोदो! देख, तीन दिन बाद तेरे भैया ऑफिस के किसी स्टाफ के बेटे की शादी में जाने वाले हैं. मौसा जी का लंड उतना बड़ा तो नहीं था, पर मेरे पति नमन से तो काफी बड़ा और मोटा था. ये मेरी पहली शर्त रहती थी कि लंड चूसने के 5 मिनट बाद चूत में लंड लेना ही पड़ेगा.

कालू- कोई बात नहीं, आप अभी चले जाओ … सुरेश तो अभी वहां होगा नहीं … या आप बोलें तो मैं मैडम जी को यहां बुला लाऊं!मुखिया- नहीं, उसको क्यों बुलाना. दोस्तो, हमारे देश में गोरे रंग को लेकर लोग बहुत ज्यादा खर्चा करते हैं.

उसकी चूत पर लंड के टोपे को लगा दिया और अंदर घुसाने की पोजीशन में हो गया. उसके भूरे रंग के निप्पल मेरे काटने से लाल हो चुके थे। उसकी चूचियों को मसल मसल कर मैंने टमाटर जैसी लाल बना दिया. कई बार मेरी चुदाई करते हुए वो थ्रीसम सेक्स के बारे में भी बात करते थे.

क्शण्क्शक्ष

वैसे भी वो चाहकर भी बाहर नहीं निकाल सकती थी, तो उसे रस का स्वाद थोड़ा अजीब लगा, मगर पी गई.

मैं समझ रही थी कि अब वो सुनसान जगह पर मुझे छेड़ेंगे और फार्महाउस में पहुंच मेरी जम कर चुदाई करेंगे; मैं भी तो यही कब से चाह रही थी. फिर धीरे धीरे हम दोनों क्लोज होने लगे, इस पर सबको शक हुआ कि मैं उसको इतना भाव क्यों दे रहा हूँ. मेरे पिताजी के दोस्त की एक बेटी थी और मेरे पिताजी चाह रहे थे कि मेरी शादी उनके दोस्त की बेटी के साथ हो जाये.

मैंने अपने लंड का सुपारा भाभी की चुत पर टिकाया और जोर से धक्का दे दिया. उधर 2 बजने से पहले सुरेश ने मीता को घर भेज दिया कि वो खाना खा आए और वापस कैसे छिप कर आना है, सब उसको समझा दिया. दिवाली बंपर 2021मुखिया- अच्छा ये बात है … जा अभी तू जा, देख आज शाम तक तेरी बकरी तो मैं ले ही जाऊंगा … साथ साथ तेरे बाप को भी उस झोपड़े से धक्के मारके निकाल दूंगा.

फिर मैंने लंड को धीरे धीरे आगे पीछे किया तो उसने गांड का होल थोड़ा लूज़ कर दिया. देवर बाबी सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कोरोना लॉकडाउन में मैं और मेरी भाभी घर में अकेले रह गये.

सुरेश मीनू के एकदम करीब हो गया और उसकी गर्दन को पकड़ कर उसके मखमली होंठों को चूसने लगा और एक हाथ से उसके मम्मों को दबाने लगा. वो रेजर से मेरी चूत को साफ कर रहे थे और मेरी चूत से रस निकलना शुरू हो गया था. आधा खुला ब्लाउज और नंगे सपाट पेट से खिलखिलाती हुई उसकी नाभि मुझे लगातार मदहोश कर रही थी.

नंदू- उनको कहलवाऊं क्या अभी!बलराम- अबे वो सब बाद में, अभी तो चौकी में मेरी मालिश का इंतजाम कर. अब मैंने उसकी चूत के ऊपर लंड के टोपे को ऊपर नीचे करना शुरू कर दिया. उससे जब बर्दाश्त नहीं हुआ तो वो रूम में घुस गया और बोला- दारू साथ में पी और गंडमस्ती अकेले अकेले?हम आवाज सुनकर चौंक गये और उठ खड़े हुए.

इससे भाभी सिहर उठीं- राजा स्टॉप इट, इस सबके लिए यह सही समय नहीं है.

सुरेश- कहां चली गई थी तू … पता नहीं यहां कितने काम होते हैंमीता- मैं तो यहीं बाहर ही थी. लेकिन मैंने तभी महसूस किया कि उसने मेरी चादर हटा दी और मेरे खड़े लंड को देख कर बालों का पानी झड़ा दिया.

साले किसको बताएगा … उस नए इंस्पेक्टर को! साले हरामी, वो भी मेरा ही आदमी है. फिर उन्होंने रोका और अपनी पैंटी को अपने आधे चूतड़ों तक नीचे कर लिया. वो बाथरूम से जब बाहर आई, तो उसके सेक्सी शरीर देख कर मेरी वासना जाग गई और मैं उसे चोदने के लिए मचल उठा.

वो मुझे चाहती थी और मैं उसे चाहता था मगर हम दोनों के बीच में हमारा स्टेटस आ रहा था. उसके बाद मेरी गांड के साथ क्या क्या हुआ वो मैं आपको कहानी के अगले भाग में बताऊंगा. उसका मूत नमकीन था।यही कहानी लड़की की वासना भरी आवाज में सुनें!फिर उसने अपनी धार मेरे चेहरे और चूचियों पर मारी.

पाकिस्तानी बीएफ सेक्सी पिक्चर फिर उसने बहुत सारा रंग हाथ में लिया और मॉम के सामने आया। मॉम की आंखें बंद थीं।सामने आकर वो बोला- आंटी, थोड़ा पैरों को और ज्यादा खोलो।मॉम ने पैर खोल दिये।मॉम की चूत बिल्कुल साफ दिखाई दे रही थी। वो मॉम के पास गया और अपना हाथ मॉम की चूत पर रख दिया। मॉम को झटका लगा और वो पीछे हो गयी।विक्रम ने तपाक से कहा- लो, आंटी मान गयी बुरा. सुमन उस आवाज़ का पीछा करती हुई जब कमरे से बाहर निकली, तो वो आवाज़ तहख़ाने से आ रही थी.

देसी लड़कियों के फोटो

मामी को मैं देख पा रहा था लेकिन भाभी मेरी सीमा मामी को नहीं देख पा रही थी. थोड़ी देर उसके मम्मों से खेलने के बाद उसने मेरी आंखों में देख कर कहा- मैं तुमसे बहुत प्यार करती हूं, अब से मैं बस तुम्हारी हूँ. रात का खाना कोठी पर खाना … और उसके साथ आपकी पसंद की चीज भी वहीं आपको मिल जाएगी.

मैं इकबाल सिंह के बारे में बता दूं कि इकबाल सिंह जुए का अड्डा चलाता था. उसने रवि को अपने कंधे का सहारा दिया और दूसरे हाथ से दरवाजा बंद कर दिया. नई पंजाबी सूटगांड पर लगे लंड में तूफान उठा हुआ था और वो भाभी की गांड के छेद में अंदर घुसने के लिए गुहार लगा रहा था.

पहली मुलाकात में तो हमने ज्यादा बात नहीं की, पर उसके बाद मैंने ठान लिया था कि उसको अपने लंड के नीचे लाना है और उसकी जम कर चुदाई करनी ही है.

दोस्तो, मैं आपका दोस्त सोनू सैम एक बार फिर आपके सामने एक नई हक़ीक़त को सेक्सी इंडियन गर्ल स्टोरी के रूप में लेकर आया हूं. मैं बोला- कोई बात नहीं, रात में तो ज्यादा आसान होता है ड्यूटी करना.

दीक्षा- अच्छा दे दूंगी, पर बाद में भेजूंगी ओके!मैं- थैंक्यू दीदी सो मच. वैसे भी मेरे आगे पीछे कोई नहीं है, मैं तो कभी भी टेस्ट ले सकती हूँ. अचानक उनकी नजर मेरी नजर से टकरा गई। वो समझ गई कि मैं उनके स्तनों को ही घूर रहा था.

फिर वो सिसकारते हुए बोली- अब डाल दे हरामी मादरचोद … कर ले अपनी हसरत पूरी … तूने मुझे भी आज चुदने पर मजबूर कर दिया है … जल्दी से चोद दे अब मुझे … कई दिन से तेरे पापा के लंड को मिस कर रही थी.

तो मैं वो सब कर ही रही थी कि मौसा जी रसोई में आ गए और आते ही मुझे चूम लिया. उस समय मैं अपनी पढ़ाई खत्म कर चुका था और यूरोप में आगे की पढ़ाई के लिए जाने वाला था. मैं उनकी बातें सुन कर कुछ उत्तेजित हो गया था, जिससे मेरा लंड खड़ा था.

खुला सेक्सी खुला सेक्सीउसने हाथ में रंग लिया और उसके मुंह पर लगाने लगा। फिर उसने और रंग लिया और उसके सूट के ऊपर चूचों पर रंग लगाने लगा।तब गरिमा बोली- अरे ऐसे कैसे लगा रहा है, रुक मैं बताती हूं।वो सुनीता के पास गयी और रंग लिया और सुनीता के सूट के गले में हाथ डालकर उसके चूचों पर रंग लगा दिया।इस पर सोमेश बोला- यार हमें तो पता ही नहीं चला कि रंग लगा भी है या नहीं. मैंने अशोक से बोला- पकड़ के रख इसे, मैं इसकी चुत और गांड तेल से भर देता हूं.

चुत के बाल

फिर मैं आपकी पूरी बॉडी पर किस करूंगा, आपके रसीले होंठों व गुलाबी गालों पर, सेक्सी आंखों पर, गले पर और मेरे फेवरेट आपके चूचों पर चुम्मी करूंगा. अशोक ने भी मेरा उपकार समझते हुए जल्दी ही निकिता की चुत दिलवाने का वादा किया. सीधी बात ये है कि वो हसीना तुम हो सुमन!सुमन- सी सी क्या … मैं क्यों? ये क्या बोल रहे हो आप … मैं ही क्यों!मुखिया ने हरी की बात उसको बताई कि उसने तुम्हें देखा था.

मैं ये सुनकर मन ही मन बहुत खुश हुआ कि साली ये तो मस्त परीक्षा है सास की चुदाई की. आपको बता दूं कि मैं उत्तर प्रदेश के प्रयागराज जिले का रहने वाला हूं. मुखिया- देख गीता मैंने मोहलत दी थी ताकि तू टंकी खाली कर देगी, मगर तूने नहीं की.

बॉस से चुदाई करवाने का मेरा मन बहुत करता था लेकिन मैं अपनी तरफ से पहल नहीं करना चाह रही थी. मैंने उससे घोड़ी वाली पोजीशन में आने के लिए कहा और वो उठ कर बेड पर झुक गयी. घर में हम दोनों ही अकेले थे और मेरा चूत मारने का बहुत मन कर रहा था.

दिसंबर महीने में बाइक चलाने का अनुभव तो आप में से भी कईयों ने किया होगा. मैं डर गया और और चचा से गिड़गिड़ाते हुए बोला- चचा गलती हो गई दारू के नशे में, हम अब ये सब नही करेंगें.

रात में राजेश मेरे यहीं पर रुकने वाला था इसलिए मैं उसके आने से पहले ही सारा इंतजाम कर लेना चाहता था.

अगर किसी को इस बात के बारे में पता चल गया तो मेरी बहुत बदनामी होगी. बीवी नंबर वन पिक्चरतभी दूसरे रूम से भाभी की आवाज आई- सोनिया?वो मुझे पीछे धकेल कर जल्दी से रूम से बाहर निकल गयी. सुल्तान फुल मूवी हिंदीमैंने उन्हें खींच कर अपनी गोद में लिटा लिया और हम दोनों खुलकर प्यार की बातें करने लगे. कुछ पल बाद अम्मी ने अपना एक पैर मोड़ लिया और पेटीकोट को आधी जांघों तक उठा लिया, जिससे उनकी दोनों टांगें बिल्कुल नंगी हो गईं, सिर्फ गांड ढकी थी.

साले सब ऐसी ऐसी लड़की मांग रहे हैं, जो हमारे काबू से बाहर हैं वो साली तो मेरे से चुदने से ही नहीं मान रही थी.

कुछ देर के बाद वो भी बाहर आ गयी और लंगड़ाते हुए चलकर बेड पर आकर लेट गयी. फिर आदिल ने एक बोतल निकाल कर दी और बोला कि साफ कर ले और कपड़े पहन ले. धीरज के मुँह से मादक कराहें निकलने लगीं- आह … ऊफ्फ … बड़ा मजा आ रहा है जान.

सोचा कि फिर से बोतल वाली मस्ती करते हैं।राजेश ने शरारती अंदाज़ में बोला- लगता है लौंडे की गांड की अच्छी तरह से सर्विसिंग करनी पड़ेगी. करीब पांच मिनट तक उसके मुँह में पूरा लंड घुसा होने से सिर्फ ‘घुउन … घुऊंटट घुंट …’ की ही आवाज़ आती रही. आप यकीन नहीं मानोगे मेरा यह सेक्स का पहला अनुभव था और मेरी सील टूटी नहीं थी.

देहाती ब्लू पिक्चर सेक्सी

मेरा टीवी रिवाइंड मोड पर था, तो सेक्स वीडियो बार बार प्ले हो रही थी. ज्यादा देर तक वो मेरे लंड को झेल नहीं पाई और उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया जिससे वो निढाल हो गयी. दो-चार मिनट के बाद ही मामी की चूत झरने की तरह बह गयी और उनकी चूत का सारा पानी मेरे मुंह में जाने लगा.

ऐसे साजिश क्यों की आपने?मुखिया- ये क्या बकवास कर रही हो तुम … मैं तुम्हें क्यों मारना चाहूँगा?सुमन- ऐसी भूतिया हवेली में मुझे लाना एक साजिश ही तो है.

हाय रे … कितना सुख दे रहा था मुझे वो उनका झटका ले लेकर झड़ना!वो मेरे सीने से कस कर चिपक गए और सांसें बहुत तेज हो गयीं। उनका लन्ड सीधा मेरी बच्चेदानी में ठोकर मार रहा था.

मैं उनके पीछे पीछे अन्दर चला गया और खाने को टेबल पर रख कर बाथरूम में घुस गया. गांव की कई लड़कियों की नज़र इन दोनों पर टिकी रहती हैं कि काश ऐसे मर्द से उनकी शादी हो जाए. आई लव यू छत्तीसगढ़ी पिक्चरबीस मिनट तक रणजीत ज़बरदस्त चुदाई करता रहा, उसके बाद दोनों एक साथ झड़ गए.

आज मेरी चूत रस में भीगी मेरी पैंटी से मदहोश करने वाली महक मुझे सराबोर करने लगी. कुछ देर के बाद मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया और दूसरे राउंड में मैंने आधे घंटे तक मॉम की चुदाई की. अब हमारी चुदाई महीने में 3 से 4 बार होने लगी। मैं वीकेंड में इलाहाबाद रहने लगा। इलाहाबाद अब जैसे मेरा दूसरा घर हो गया था। अब ज़ूबी भी रात को साथ रुकने लगी थी और हमारी चुदाई 2 सालों तक चली.

इसको खाने से भाईसाहब का लंड कम से कम आधे घंटे तक टनटना कर खड़ा रहेगा. मुझे बहुत दर्द हो रहा था, लेकिन उसकी पकड़ से खुद को छुड़ा पाना मेरे लिए नामुमकिन था.

मैंने उससे घोड़ी वाली पोजीशन में आने के लिए कहा और वो उठ कर बेड पर झुक गयी.

मैंने उसे घोड़ी वाली पोजीशन में किया और अपना लंड उसकी गांड के मुँह पर फेरने लगा. उसका लंड अब बड़ा होना शुरू हो गया था और मॉम की गांड में सटा हुआ था. तुम्हारी बहुत याद आ रही थी और तुम हो कि साले मिलते ही नहीं?उसने मुस्कराते हुए शरारती अंदाज़ में बोला- अच्छा, इतना मिस कर रहा था क्या?उसका हाथ मेरे तौलिया पर आ गया और मेरी नाभि के नीचे बंधी तौलिया की गांठ पर हाथ मारते हुए उसने मेरे तौलिया को खोल दिया.

सुंदर दिखने के उपाय अब हम दोनों एक ही बिस्तर पर बेड पर दीवार का सहारा लेकर अगल बगल में बैठे थे. मोनिषा ने मुझे सोते देखा, तो उसने मेरा हाथ अपनी पैन्टी से निकाला और वो भी सो गई.

सुमन- क्यों ऐसा क्या खास चोदता है वो?मुखिया- बस एक बार ही हरी ने उस कामवाली को चोदा था, तब से वो उसके लंड के ही गुणगान करती है. मैं शहर से जब भी उनके घर जाता हूँ, तो सभी लोग बहुत खुश होते हैं और मुझे बड़ा दुलार करते हैं. इसके अगले ही दिन मैंने तत्काल में आरक्षण करवा के ट्रेन से वापिस अपने घर लौट आई और अगले दिन बैंक में अपनी ड्यूटी ज्वाइन कर ली.

छोटी बहू नाटक वीडियो

उसने मेरी गोद में ही पेशाब कर दिया और मैं चिल्लाता हुआ चाची के पास आया. वह तेज़-तेज़ सिसकारियां लेने लगी और कहने लगी- भाई जान, अब मत तड़पाओ, अपना लंड मेरी चूत में डाल दो. उधर मौसा जी की नज़र नीचे फिसली और मेरी भरपूर चूचियों के बीच अटक कर रह गयी.

मैंने भी उसकी गांड पर चमेट मारी और बोला- ऐसे क्या देख रही है रंडी … तू साली बाहर दूसरों के लौड़े चुत में लेती है, तो मैं भी दूसरी चुत क्यों न चोदूं … पर मेरा प्यार और हवस तेरे लिए हमेशा ऐसी ही रहेगी. उनके पैर कांपने लगे और फिर उसी रात उन्होंने मुझे अपनी चुदाई से जुड़ी एक एक बात बताई.

मीता के साथ तुम्हारी रासलीला मुझसे छिपी नहीं है … और वो बेचारी भोली भली मीनू की चुदाई जो तुमने की, वो भी मैं जानता हूँ.

बुआ ने अपना एक हाथ मेरे गले में डाल दिया और एक पैर मेरे ऊपर रखकर लेट गईं. अब दोनों खुलकर मज़ा करना … क्योंकि तुम्हारी चुत अब ठीक से खुल गई है. मैंने आपको भाभी कहा, आपको बुरा तो नहीं लगा?रुक्मणी- नहीं, बुरा क्यों मानूंगी.

बस ये सोच रहा था कि बाकी सदस्यों के साथ अब ये भी मेरी दिनचर्या में शामिल हो जायेंगी. मैं अब ऊपर की ओर गया और उसके ब्लाउज को खोल कर उसकी चूचियों को आजाद कर दिया. कहां मैं अवनी की झलक पाने की लालसा में सब कुछ पीछे छोड़कर आ रहा था और यहां एक और रोड़ा बीच में आ अटका.

क्या मस्ती से लंड चूस रही थी वो!अब मैं भाभी की चुदाई करना चाह रहा था.

पाकिस्तानी बीएफ सेक्सी पिक्चर: अब भाभी भी गर्म होने लगी थीं, उन्होंने अपनी दोनों टांगों को फैला कर मेरे हाथ को ज्यादा जगह दे दी … जिससे मैं उनकी चुत को सही से सहला सकूं. मैंने भी इशारा पाकर अपनी स्पीड तेज कर दी और धीरे धीरे पूरा आठ इंच का लंड उनकी चूत में पूरा जाने लगा.

चाची की सेक्सी नाइटी को देखकर मैंने बोल ही दिया- चाची आप तो गजब लग रही हो. भाभी भी अब आखें बंद करके ऐसे बैठी थीं, जैसे खुद को कुछ समझा रही हों. बुआ ने पूछा- गर्लफ्रेंड के साथ कुछ किया या नहीं?मैं एकदम गर्म था, तो कह दिया- बहुत कुछ कर चुका हूं.

सुमन को बाद में आने का बोलकर मुखिया जल्दी से कालू को लेकर वहां से निकल गया.

मेरी फुल चुदाई की स्टोरी में पढ़ें कि फेसबुक पर एक लड़की से बातें हुईं. फिर मेरे पति ने सर के सामने मेरी चूचियों को ब्लाउज़ के बंधन से आज़ाद कर दिया और मेरे नंगे दूधों को मसल कर पीने लगे और सर को दिखाने लगे. फिर हमने सर को चाय पानी कराया और उसके बाद मैं खाना बनाने में व्यस्त हो गयी.