फैमिली बीएफ

छवि स्रोत,गुजराती सेक्सी वीडियो मोकलो

तस्वीर का शीर्षक ,

नया सेक्सी गाने: फैमिली बीएफ, जैसे ही हम दोनों रूम में पहुंचे, वो मुझे अपनी बांहों में लेकर मेरे होंठों को जोरदार किस करके लगा.

সেক্স এইচডি ভিডিও

मेरा हाथ अभी भी उसकी जांघ पर रखा हुआ था जिसे हटाने का उसने कोई प्रयास नहीं किया. हिंदी गाना सेक्स वीडियोजब मैं वहां आ गई तो मेरी बगलों के बाल, मेरी चूत के बाल, लेग वगैरह सब जगह वॅक्स करके एकदम मुझे चिकनी बंदी बना दिया गया.

वो अपने पापा से बोली- पापा?अशोक- हाँ मेरी जान?मयूरी- क्या मैं आपका लंड चूस सकती हूँ?अशोक- बिल्कुल मेरी जान… मुझे बहुत ख़ुशी होगी… तुम्हें शायद नहीं मालूम पर मैंने कई बार अपने सपने में तुम्हें अपना लंड चुसाया है… आज वो सारे सपने पूरे कर दो मेरी सेक्सी बेटी. बियफ बियफउसे मेरा लंड देखने में शायद मज़ा आ रहा था लेकिन वह मुझसे कुछ बोल नहीं रही थी.

मैं तुरंत तैयार तो नहीं हुआ, पर दो चार बार के वार्तालाप के बाद में उस लड़के को बस एक नजर देखने को तैयार हो गया.फैमिली बीएफ: तू सब कुछ भूल कर इन पलों का मज़ा ले; ऐसा हसीन मौका और समय ज़िन्दगी में बार बार नहीं मिलता!” मैंने उसे कहा और अपनी शर्ट और बनियान भी उतार कर फेंक दी.

धीरे-धीरे रेशमा अपने पैरों से मेरे लंड को सहलाने लगी और मेरा लंड धीरे धीरे खड़ा होने लगा.उसके बाद इस लंड की गर्मी को कहाँ निकालूँगा? वैसे भी शादी के बाद आप दोगी नहीं.

सेक्सी नंगी वीडियो दिखाएं - फैमिली बीएफ

वो यह सुन कर बहुत खुश हो गई और मुझसे बोली- आज मुझे लग रहा है कि मैं किसी खुले आसमान के नीचे आ गई हूँ.आप सबने मेरी पिछली कहानीदेसी बॉय ने मेरी चूत चोदीपढ़ कर मुझे अपने मेल भेज कर प्रोत्साहित किया तो मैं अपनी एक और कहानी आपको बताने जा रही हूँ.

अब उसकी चूत का तिकोना खुल कर स्पष्ट रूप से मेरे सामने था; कम्मो ने एक बार फिर से अपनी चूत हाथों से ढकने की व्यर्थ सी कोशिश की पर मैंने उसके हाथ हटा दिए और चूत पर अपने हाथ रख दिए और उसे सहलाने लगा. फैमिली बीएफ इसलिए मैं अपनी बॉडी को फिट रखने के लिए जिम जाता हूँ और रनिंग करता हूँ.

मयूरी ने बड़े जोश में आकर अपने एकदम आदमजात नंगे बाप को जाकर एक जोरदार चुम्बन दिया.

फैमिली बीएफ?

वो बोला- क्यूं?मैंने कहा- नहीं यार, बस कर, आगे नहीं!वो बोला- ऊपर से तो हाथ फेरने दे।मैंने कहा- दुख रही है।वो बोला- दिखा … कहां से दुख रही है।मैंने कहा- नहीं!वो बोला- प्लीज़ …कुछ नहीं करूंगा … एक बार दिखा तो दे, कहां से दुख रही है।मैंने कहा- पिछली बार तुमने मुकेश के खेत में जो किया था उसके बाद बहुत दुखी थी। मैं आज वो सब नहीं करवाऊंगी।वो बोला- हां तो मैं कब अंदर डाल रहा हूं …. पता ही नहीं चला कि कब हम दोनों अपने चरम सुख तक पहुंच गए और एक दूसरे से लिपट गए. मैं उसकी चूत में जब लंड को घुसाने लगा तो वो मछली की तरह तड़पने लगी और जोर जोर से तेज सांसें लेने लगी.

मैंने कहा- पूजा क्या कर रही है? मेरा निकल जाएगा!तो उसने छोड़ दिया और छोड़ते ही वो लेट गई और बोली- आ जाओ सैंया … अब दिखाओ अपना प्यार!यह कहकर उसने अपनी बांहें फैलाई और मैं भी तुरंत उसकी बांहों में चला गया. अशोक ने ऐसा कहते हुए अपना लंड बाहर निकाला और अब मयूरी के सामने उसके पिता का टनटनाते हुआ लंड है जिसको उसने छुप छुप कर कई बार देखा था. इतने में प्रिया ‘ओह … आह … मर गई … मैं गई …’ करते हुए झड़ गई और वहीं 20 से 25 झटके मारते हुए मुझे भी लगा कि अब मेरा निकलने वाला है.

मैंने अपना लंड फिर से उसके चुत पे टिकाया और धीरे धीरे अन्दर डाल दिया. उसके दोनों हाथ भी मेरी कमर पर से मेरे सिर पर आ गए और वो अपने दोनों हाथों से मेरे सिर को पकड़ कर मेरे होंठों व जीभ को जोरों से चूसने लगी. चाची- तुम्हारा वीर्य बहुत ज्यादा निकलता है रे … पूरा छेद अन्दर तक भर गया.

इस बात को लेकर मुझमें और सृष्टि में कभी कभी शर्त भी लग जाती थी कि किसकी मुस्कुराहट ज्यादा प्यारी है. उस वक्त कई लोगों के होने से संपत जी मुस्कुरा दिए और बोले कि कल दिन में आपकी जमीन देखूंगा.

फिर मैंने उनके कुरते को जल्दी से उतार दिया और उनके मम्मों को ब्रा के ऊपर से मसलने लगा.

मैंने उसकी जुबान मेरे होंठों से खींच कर अपने मुँह में ले ली और उसकी जुबान को चूसना शुरू कर दिया.

क्या यही समझा था तुमने मुझे आज तक?अगले दिन जब वो ऑफिस में आया तो मैंने उससे कहा- मुझे नहीं करनी कोई भी बात, तुमने मुझे बहुत रुलाया है. उसने अपनी आँखें इस कदर बंद की हुई थीं, जिससे साफ़ दिख रहा था कि वो दर्द को भरपूर सहने की कोशिश कर रही थी. मामी की चुत पर इतने ज्यादा बाल उगे हुए थे कि पानी में भीग कर एकदम तर हो गए थे.

रजत ने इस बीच में अपने एक हाथ से अपनी माँ की चूचियों को भी काफी देर तक दबाया. एक दिन जब जसवीर शॉप पे था, स्नेहा स्कूल गई हुई थी और मौसा जी कहीं शराब पीने गए हुए थे, तब घर में सिर्फ़ मैं और मौसी ही थे. हम तीनों ने मिल्कशेक पिया और अंकिता ने 3 सिगरेट जलाई और हमने सिगरेट पी.

तो मित्रो, पिछली कहानी से आपको याद होगा कि पिछली रात हम सब लोग साथ में डिनर कर रहे थे और कम्मो मुझे बड़े प्यार और अनुराग से सर्व कर रही थी … कभी दही बड़े, कभी रसगुल्ला कभी कुछ कभी कुछ.

उसे चोदते हुए मैं किस करने के साथ साथ उसकी कमर को भी सहला रहा था, जिससे उसकी उत्तेजना बढ़ती जा रही थी. फिर बेड के बीच में बैठ कर वो मेरा हाथ पकड़ कर खींच कर मुझे अपनी गोद में बैठाने लगे. फिर मैंने उसे देखते हुए कहा कि बोलो स्वाति तुम्हें क्या हुआ है? तुम क्यों अकेला महसूस कर रही हो?वो अपनी प्रॉब्लम बताते बताते रोने लगी तो मैंने उसे अपना कंधा दे दिया.

मैं बोला- मैंने क्या किया जी?प्रिया बोली- सब कुछ तो लेकर चले गए और अब यहां मैं अकेले में तड़प रही हूँ. दिन में तो मैं सिर्फ उसको चूम ही स्का था, उसकी चूत का स्वाद नहीं ले पाया था. तो मित्रो, पिछली कहानी से आपको याद होगा कि पिछली रात हम सब लोग साथ में डिनर कर रहे थे और कम्मो मुझे बड़े प्यार और अनुराग से सर्व कर रही थी … कभी दही बड़े, कभी रसगुल्ला कभी कुछ कभी कुछ.

वो मेरे मुँह को पकड़ कर अपनी चूत की तरफ दबा रही थी, जैसे मेरे पूरे सर को ही अपनी चूत में घुसेड़ लेगी.

उसकी गोरी जांघें बिल्कुल साफ नज़र आ रही थी जो देखने में एकदम चिकनी लग रही थी. मैंने कहा- हां, कुछ मैंने रख लिये हैं ताकि तुम किसी को ये ना बता पाओ कि इस बारे में मुझे पता था.

फैमिली बीएफ मैं उसके गाल पे धीरे धीरे किस करने लगा और उसके बूब्स, गांड दबाने लगा. उसके बाद हाथ को पेट पर फिराते हुए धीरे से सलवार में डाल दिया और साथ में फिर से किस करने लगा.

फैमिली बीएफ अब मैंने उनके पैरों से चूमना शुरू किया और उनकी जांघों व नाभि को किस करता हुआ दोनों स्तनों तक पहुंच कर उन्हें मुँह में भर कर चूसा, चूमा और जीभ से चाटने के साथ-साथ हाथों से भी दबाया, सहलाया व मरोड़ा. मैं वहां आईटी डिपार्टमेंट में काम करता हूँ … मतलब ये कि कंप्यूटर इंजीनियर हूँ.

मुझे पूरा विश्वास था कि जब मनोज को पता लगेगा, तो वो यह शादी नहीं होने देगा.

भूमिका चावला की सेक्सी फोटो

कुछ देर रुक कर मैंने प्रिया को चूमना शुरू किया और साथ ही उसके चुचे भी दबा रहा था. उनसे कोई बातचीत नहीं हुई, बस मेरे ससुर उनको मेरे बारे में बताते रहे. और फिर मुस्कुरा कर मेरी तरफ देख कर बोली- बहुत मजा आ रहा है… आज तो तुम कतई जवान हो उठे हो और किसी कसाई की तरह मेरी गांड में चाकू चला रहे हो!मैंने उसे आंख मारते हुए सांत्वना दी और लंड की गति को कम कर दिया.

मानसी- क्या कर रहे हो मुनीम जी? आहिस्ता से … आपने तो मेरा ड्रेस फाड़ दिया?मैं- चिंता मत करो … और दस खरीद लाएँगे. उन्होंने मुझसे बोला- सीमा, मुझे मालूम है तुम्हें रात में सिर्फ़ जूस एंड फ्रूट लेने की आदत है. वो हिल भी न सकी और मेरा लंड उसकी चूत के अंतिम सिरे तक घुसता चला गया.

अचानक से हट क्यों गए??मेरा लौड़ा स्साला पैन्ट में पड़ा पड़ा बहुत तेज़ दुखने लग गया था.

वहां खेत में काम करने चाचा चाची और भैया जाते थे और भाभी घर पर रहती थीं. प्रिया अब इतनी गर्म हो गई थी कि उसकी सारी बॉडी गर्म हो रही थी और उसकी चूत गीली हो गई थी. मयूरी- अच्छा? चलो… फिर इधर आओ और मेरी गांड चाटो… मुझे तुमसे अपनी गांड चटवाने में बड़ा आनद आता है.

श्लोक- यह बात आपको जीजा जी बताएंगे! बताइए जीजाजी!मैं- देखो यार, मैं इन बाबाओं को नहीं मानता था लेकिन उनकी सारी भविष्यवाणी आज तक तो सही साबित हुई है. फिर उसने कहा- मुझे थूकना है!मैंने कहा- बाथरूम में जाकर थूक दो!तो वह बोली- आप मुझे अपनी बांहों में उठाकर ले जाओ. पहली बार किसी ने मुझे ऐसा किस किया था, मेरे तन बदन में आग सी लग गयी और मैंने उसको सीधे बोल दिया – जल्दी मुझे करो अब रहा नहीं जाता है मैं कबसे तुमसे कराने के लिए मर रही हूँ, मुझे चोदो आकाश!वो मेरे चूतड़ों को दबाने लगा इससे मुझे बहुत मज़ा आने लगा, मेरी चूत अब गीली होकर बहना शुरू हो चुकी थी.

बाद में मैंने धीरे धीरे मजे ले ले कर चोदना चालू किया, तो वो भी मजे ले रही थी. वाह और लंड को क्या चाहिए था अब … नेकी और पूछ पूछ … जिसकी चुदाई के सपने देखते थे, वो हमारे सामने चूत देने को राजी हो गई थी.

उनमें से एक अंकल को पहचानती थी, वो मेरी मौसी की ननद के पति थे, वो आर्मी से रिटायर्ड हो चुके हैं. ये देख तारा ने हाथों में बहुत सारा थूक लगाया और अपनी योनि को मलनी शुरू कर दी. उनके मुँह से लगातार सिसकारियां निकल रही थीं, जो मेरे कानों में पड़ कर मेरा जोश बढ़ाने लगीं.

अगले दिन मैंने फिर से वॉशरूम में जाकर मौसी की ब्रा पैंटी स्मेल की और मुठ मारी.

उसकी एकदम मुलायम रुई जैसी गांड और ऊपर से गांड की गर्माहट मिली, तो मेरा लंड तो एक ही झटके में पूरा तन गया. एक दिन मैंने उसे अपने एक और गे दोस्त से मिलवाया और हमने थ्रीसम का प्लान बनाया. प्रिया जो 40 साल की है उसकी एक बेटी है जो सूरत में बीएससी की पढ़ाई के लिए गई है.

कितनी अच्छी उंगली करते हो राहुल…”यह कहते हुए मामी जी का हाथ खुद बा खुद ही मेरे के तने लंड की तरफ उठ गया और उन्होंने मेरे लंड को अपनी मुट्ठी में भर लिया. रात का समय था और बहुत भीड़ थी, इतनी ज्यादा भीड़ थी कि ठीक से चलने की भी जगह नहीं थी.

फिर थोड़ी देर बाद जब उसकी चुत से काफी सारा कामरस निकला तो उसको इतना चैन मिला कि जैसे ऐसा पहले कभी हुआ ही नहीं हो. लेकिन मैंने अपने मन को मारा और अपने लन्ड को कंट्रोल करते हुए चुपचाप पूजा को रसोई के पास उतार दिया. बिस्तर पर खून देख कर तो जैसे उसकी जान ही निकल गई, पर मैंने उसको समझाते हुए शांत किया.

सरदार का सेक्सी

अब तक वो अपनी बेटी की इस खूबसूरत काया और जवानी का पूरी तरह कायल हो चुका था.

मैं उनके नाक से छोड़ी गयी सांसों को अपने सीने में भरने का जतन कर रहा था. अबकी बार उसने मेरी पेंटी के अंदर हाथ डाल कर मेरी चूत पर हाथ फेरना शुरू कर दिया. मैं अब पूजा की चूचियों को अपने हाथों में पकड़कर अपनी कमर झटकों के साथ हिला हिला कर पूजा को चोदने लगा.

लेकिन अगर तुम चुदना न चाहो तो कोई बात नहीं।”अब तो लंड को मेरी चूत की गहराई दिखा ही चुके हो और उसे मेरा रस चखा ही चुके हो। आगे-पीछे करके धक्के न लगाये तो क्या. पर पेट पर वो कितनी देर तक मालिश करती, थोड़ी ही देर में उसको मयूरी की उन विशाल चूचियों का रुख करना पड़ा. বিএফ ছবি বিএফ ছবিपैर इंतजार कर रहे हैं।” थोड़ी देर बाद उसने टोका।मैं पीछे सरकता उसके पैरों पर टखनों तक पंहुच गया और वहां से दोनों जांघों तक तेल फैला कर उन्हें मलने लगा। इस पोजीशन में हालाँकि उसके कूल्हों को तौलिये से ढक रखा था लेकिन फिर भी नीचे से योनि के दर्शन हो रहे थे और मेरे लार टपकाने के लिये इतना काफी था।और ऊपर तक.

मैं अपने पति से कह देती हूँ आज इंस्पेक्शन पर जाना है और बस मैं उसके लंड के साथ पूरी रात बिता देती हूँ. चाँदनी की हल्की सी रोशनी में हमारे बदन किसी छाया की तरह दिख रहे थे.

इस कमरे में अन्दर आते ही अपने हाथ के छोटे हैंडबैग को टेबल में रखा और सर्विस ब्वॉय ने बाकी का सामान हमारे सामने रख दिया और चला गया. मैं भी हल्की हल्की सिस्कारियाँ लेने लगी और उसके बाद वो मेरी चूत में अपना जीभ डाल कर मेरी चूत को चाटने लगा. मुझे छोड़ कर ना जाना!वो कई बार मेरे मम्मों को चूसते हुए ज़ोर से दबा भी देता था.

और घरवालों को पता नहीं है कि मैं फ़ोन रखती हूँ और किसी लड़के से बात करती हूँ. सुबह उठा तो मम्मी ने बोला- बेटा, रात का दूध फट गया है … तुम मदर डेयरी जाकर दूध ले आओ … तो मैं चाय बनाऊं. इसने ही सबसे पहले मेरी कॉलेज में रेंगिंग की और पूरी नंगी ही कर दिया था.

जल्दबाजी में पोस्टर को बंद करने और मैगजीन को बंद करने के चक्कर में वो हाथ से छूट कर नीचे गिर गयी.

अगर बात बनती है तो दोनों वापिस आकर मेरे एक-एक चूचियों को मसलना शुरु करो. फिर मैंने उसे कास के अपनी बांहों में जकड़ लिया और उसको नाईटसूट पहनने को कहा, वो बाथरूम में जाकर एक झीना सा गाउन पहन कर आ गई.

आंटी की चूत ने अपनी गर्म दीवारों से मेरे लंड को कसना चालू कर दिया था. फिर उसने मुझे अपने ऊपर लिया और बोली- भितोर ठेलो (मतलब अन्दर डालो)मैंने गौरी की चूत पर लंड का निशाना लगाकर धक्का लगाया तो फिसल गया और साइड में चला गया. अशोक- फिर ठीक है… जा और जाकर तेल ले आ!मयूरी- ओके पापा!और मयूरी वहीं टेबल पर पड़े कटोरी में रखा तेल ले आई.

मैंने कहा- क्यों, मैं क्या किसी को बताने जा रही हूँ?उसने कहा- नहीं, मैं अब कुछ नहीं बता सकता. सोनू एक सेकंड के लिए रुकी और बोली- आज मैं अपनी और इसकी (पप्पू) प्यास बुझाना चाहती हूं।मैं उस का इशारा समझ गया. उन्होंने मुझसे पूछा कि जब वो कपड़े धो रही थीं, तो उनके कपड़ों पर कुछ चिपचिपा सा गिरा हुआ था.

फैमिली बीएफ मैंने कहा- अगर काम बनता हुआ तो भी नहीं बनेगा, वो यह सोचेगा कि तुम मेरे बहुत नज़दीक हो और वो बिदक जाएगा. मैं बस यही सोचती कि काश कैसे भी आकर मुझे कोई अपनी बांहों में भर ले, और मेरे जिस्म को मसल दे … आज मेरी तमन्ना पूरी कर दे … मेरी प्यास बुझा दे, मेरे साथ जमकर सब वो करे जो मेरे गर्मी को शांत कर सके।परंतु ऐसा कोई नहीं मिला, कैसे मिलता जब तक कि कोई बातचीत ना हुई हो.

हिंदी में सेक्सी पिक्चर इंग्लिश

सुबह ग्यारह बजे तक मैं तीन पैंटी बदल चुकी थी, इतनी गीली हो जा रही थी, कोई मर्द जात दिखे तो उसकी जिप के पास मेरी निगाह चली जा रही थी. सुबह हुई तो पायल मुझसे शर्मा रही थी, वो मुझे चाय देने आई, तो मैंने उसको अपनी ओर खींच लिया. तो मैं उसे भी अपने साथ ले गया और हम पास ही के एक रेस्टोरेंट में जाकर कुछ खाने लगे।उस समय मेरे पूछने पर उसने मुझे अपनी लाइफ के बारे में बताया और ये भी बताया कि उसका कुछ दिन पहले ही उसके बॉयफ्रेंड से ब्रेकअप हुआ है.

नमस्ते भाइयो, लड़कियो, भाभियो दीदी सेक्स चाहने वाली सभी चुत वाली माल. मैं अपना मुँह उसकी चूत पर रख जीभ अन्दर-बाहर करने लगा। पिंकी मेरी हरकत से ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ करने लगी।कुछ देर के बाद मैं अपना लंड पिंकी की पिंकी के अन्दर डालने लगा. चुदाई सुहागरात कीतभी सर ने आवाज लगाई- अरे भाई कितनी देर लग रही है?तो सुशील जी बोले- बस आ ही रहे हैं.

उन कपड़ों में उसका शरीर ढका हुआ कम, उघड़ा हुआ अधिक लग रहा था, उसका सुन्दर, गोरा, गोल चेहरा जिसपर मोटी मोटी सेक्सी आँखें थी तथा उसके गाल पर काला तिल था जो और भी सेक्सी लग रहा था.

अब अशोक ने मयूरी की चूचियों को और जोर से पकड़ा और थोड़ी देर दबाने के बाद उसने अपने होंठों को मयूरी के होंठों से अलग कर उसकी चूचियों पर रख दिया. इसलिए अगर मर्द और औरत एक अच्छी गति और सनसनी के साथ संभोग कर रहे हों, तो उन्हें रुकना नहीं चाहिए क्योंकि इसी समय दोनों के बदन एक साथ काम करते हैं.

मैंने तभी माइक की तरफ देखा, उसने तुरंत कह दिया मुझे ऐसा कोई शौक नहीं है और न ही मैं समलैंगिक हूँ, मुझे केवल औरतें ही पसंद हैं. मेरी दीदी का देवर मेरे कपड़ों के ऊपर से मेरी चूची को दबा रहा था और कुछ देर के बाद वो मुझे किस करने लगा. दबोचने के अंदाज में।उसने अपने हाथ मेरी पीठ पर पंहुचा लिये और मुझे कस लिया, जबकि अपनी टांगों को उठा कर उनसे मेरी जांघें जकड़ लीं।धक्के लगाने हैं?”नहीं.

तब तारा ने एक हाथ में थूक लगा फिर से अपनी योनि में मला और लिंग को पकड़ कर सुपाड़े तक अपनी योनि में घुसा लिया.

मुनीर- मैं खुद झड़ गई, पर ये कमाल का था, तुमने मेरे चरम सुख का आनन्द दोगुना कर दिया. फिर थोड़ी देर में जब रजत की तन्द्रा टूटी तो उसको समझ आया कि उसको मयूरी को चुप करना चाहिए. नीचे लेटे दीमा ने लड़की के दोनों कलाइयों को आपस में जोड़ते हुए उसकी पीठ के पीछे ले जाकर रख दिया और अपने सीधे हाथ से जकड़ कर बाएँ हाथ से उसके चूतड़ों को फैलाते हुए नीचे से धक्के लगाना जारी रखा.

एक्स एक्स एक्स हिंदी मूवी एचडीहम लोग बताई हुई जगह पर पहुँचे और उस महिला को फोन किया तो उसने बताया कि शालिनी अभी बाहर गई हुई है, थोड़ी देर बाद आएगी, तब मिल लेना; आप लोग इन्तज़ार करो।हम लोग वहां रुकने की बजाये 1 किमी दूर रोड पर आकर एक रेस्टोरेन्ट पर बैठकर इन्तज़ार करने लगे. यह अपने परिवार को लेकर ही नहीं, और भी कई लोगों के लिए बाबा ने सच्ची बातें बताई हैं। सोचने समझने की बात तो है अगर उन्होंने कोई संकट बताया है तो हम उसका इलाज करें क्योंकि उन्होंने कहा था कि अगर तुम सूझबूझ से काम लोगे तो उस संकट से बचा जा सकता है.

बुड्ढे सेक्सी वीडियो

पूजा ने कहा- इसमें क्या बड़ी बात है, मैंने भी अपने छोटे भाई को पटा रखा है. मेरे पिता बचपन में ही गुजर गए थे और माँ भाई के पास रहती थीं, जो ऑस्ट्रेलिया में ही बस चुका था. साथ ही उन्होंने अपने एक हाथ से मेरे दूसरे मम्मे को पकड़ लिया और हल्का हल्का मसलने लगे.

इस बार वह अपने होंठों से जोर की ‘सी …’ निकलने से न रोक सकी।जब उसे पलट के कुछ बोलते न पाया तो मेरी हिम्मत और बढ़ गयी और मैंने हाथ में थोड़ा और तेल लगा कर अपना पूरा ध्यान उसकी योनि पर फोकस कर दिया।उसे नीचे से ऊपर तक मसलना शुरू कर दिया. मैं उसकी चुत को पागलों की तरह से चूस और चाट रहा था और वो भी मेरे लंड और पोतों को पूरे मज़े से अपने मुँह में लेकर चूस रही थी. उसके बताये टाइम पर चाची आई और हमें चुदाई करते देखकर बोली- वाह जी, यहां पर तो ये काम किया जा रहा है.

तब तक यह सामान वापस रख दो और इस पर मसाज के वीडियो देखो। अब जब यह कर लिया है तो वह भी कर लोगे।”मेरा दिल फिर जोर से धड़का. उसने कहा- बहुत तरसाया है तुमने मुझे, जब भी मैंने तुम्हें ज़रा सा हाथ लगाने की कोशिश की. अब मैंने भाभी को सीधा लेटा दिया और उनकी दोनों टांगों की बीच में आ गया.

उनकी चुत इतनी गीली हो गई थी कि मेरा लंड उसमें सटासट फिसलने लगा था और छप. हमारे बदन की घिसावट से चुदासी आवाजों से पूरा कमरा गूँज रहा था ‘आहह छट छथ.

अब तक की सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा था कि मेरी गांड में राजीव अंकल का लंड घुस चुका था और मुझे मजा आने लगा था.

भाभी कहने लगी- राज! हिमानी की थोड़ी स्टडीज़ में हेल्प कर दो, यह एक दो सब्जेक्ट में थोड़ी ढीली चल रही है. केदारनाथ फुल मूवीउसके बाद मैं अपने हाथ बैगों के नीचे से ले जाकर उसकी जांघों पर फिराने लगता. गुजराती सकसीजिन भाभी को मैं इतने दिनों से चोदने की सोच रहा था, आखिरकार मेरा वो सपना पिछली रात को सच हो ही गया. मेरा पति अपने लड़के के व्यवहार से बहुत दुखी था और उसने मरने से पहले सारा कुछ मेरे नाम कर दिया.

जो मेरा पति तुम्हारे पास है, वो पहले इनका पति ही था, जिससे इन्होंने तलाक़ देकर मुझसे शादी करवा दी है.

मैं उससे बात करने के बाद रसोई में थोड़ा काम करने चली गयी और बर्तन धोने लगी. बीच-बीच में रेशमा मेरे लंड को गियर बदलने के बहाने जोर से दबा देती थी. वो मेरे लंड को पकड़ कर धीरे धीरे हिला‌ रही थी कि तभी मैंने एक हाथ से उसकी गर्दन को पकड़ कर अपने लंड पर दबा दिया, जिससे मेरा सुपारा उसके होंठों से छू गया.

वे तीनों बड़े ही खुश लग रहे थे, मानो उन्होंने कोई युद्ध जीत लिया हो. उसने जाने के थोड़ी देर बाद मैं पायल को अपनी बांहों में उठा कर बेडरूम में ले गया. कुछ ही देर ऐसे ही करने पर वो शांत हुई और चूतड़ उठाकर मेरा साथ देने लगी.

3d सेक्सी पिक्चर

उन्होंने मुझे बिठाया, तभी प्रिया चाय लेकर आई और हम तीनों ने चाय पी. आज मेरा सपना पूरा होने वाला था दोस्तो … मैं उनके कपड़े ऊपर से निकालने लगा, तो उन्होंने मना कर दिया. मौसी धीमे स्वर में चिल्लाने लगी- आह्ह्ह्ह मादरचोद चूस अपनी रंडी मौसी की चुत.

चूंकि मेरी चुत तो खेली खायी थी सो थोड़ा चीखने का ड्रामा करना जरूरी भी था.

अब मैं उसकी चूत को सहला रहा था, उसके होंठों से किस करते हुए नीचे की तरफ आता जा रहा था.

मेरी गुलाबी पकौड़े से फूली चुत देख कर उनका लंड फिर से खड़ा होकर हिनहिनाने लगा. क्योंकि वो पिक्स तुम्हारे देखने के लिए ही मैंने अपना फोन वहां रखा था. देवर ने किया भाभी के साथ सेक्सऐसा लगता था कि वो पहले ही एक बार झड़ चुका था, इसलिए उसको दोबारा झड़ने में समय लगेगा.

अब आगे …मैं पायल के पेट को किस करने लगा और उसकी योनि को कपड़े के ऊपर से किस बाईट करना शुरू किया. और कान खोलकर सुन लो, अगर मैं चाहूँ तो मेरे लिए लंड की लाइन लग जाएगी… ऐसा हुस्न है मेरे पास… पर क्या तुम्हें कभी ऐसा हुस्न मिलेगा, वो भी अपने घर में? ये तुम सोचो? तुम जब चाहो तब मुझे चोद सकते हो और अपना लंड मेर शरीर के हर छेद में डाल सकते हो… पर ये तुम्हें साथ में ही करना होगा. हैलो फ्रेंड्स, मेरा नाम कपिल है और मैं यहां पर नया हूँ, तो मुझसे कोई भूल या गलती हो जाए तो माफ़ कर देना.

वो दे दूँगा लेकिन मेरे से बात कर लिया कर क्योंकि दिल्ली से आने के बाद मेरा टाइम पास नहीं होता. मेरे बॉस की सेक्सी बीवी की चुदाई स्टोरी के पहले भागबॉस की गरम सेक्सी बीवी-1में आपने पढ़ा कि वो मुझसे अपने बदन की वैक्सिंग करवा रही थी.

तभी दोनों कचकचाकर एक दूसरे से लिपट गए और इधर मेरा लंड भी एक बार और पिचकारी छोड़ गया.

मुझे लड़कों में भी रुचि है, ये मुझे दसवीं क्लास में ही पता चल गया था. मैंने फट से बोल दिया- मैं उसके साथ सेक्स करना चाहता हूँ, उसे आपके घर पे लाना चाहता हूँ. हम दोनों पानी में भीग रहे थे, दोनों के बदन आग की तरह गर्म हो रहे थे.

वीडियो सेक्सी देसी सुजाता थोड़ी मायूस हो गई, वह कहने लगी- राज कभी कभी कुछ मेरी भी हेल्प कर देना, उसके मैं एक्स्ट्रा पैसे दे दूँगी. मेरे मुँह से बस एक ही बात निकल रही थी- दर्द हो रहा है … दर्द हो रहा है।पर वो कहाँ सुनने वाला था, वो जम के शॉट लगाता रहा और आपकी निशा की प्यारी चूत का भोसड़ा बन गया चुद चुद के।मम्मी पापा रात को दस बजे आये.

जैसे ही उधर खिसकी तो देखा कि अंकल को मैं टच हो गई क्योंकि जगह बिल्कुल कम थी पर थोड़ी जगह निकल आई और अंकित लेट गया. पतली, गोरी, सुन्दर बाजू के बीच रगड़ मारता दीमा का लंड किसी आततायी की तरह नताशा के गुलाबी ब्लाउज को उधेड़ने लगा, और फिर हम दोनों लड़कों ने अपने हाथों से उसे नताशा के शरीर से अलग कर दिया. तो मौसी ने उससे बोला कि शायद वो सो गया है … तू रहने दे, मत जगा उसे … आज इसे मेरे रूम में ही सोने दे.

मां और बेटे के सेक्सी वीडियो

बस फिर उन सबसे बुजुर्ग अंकल ने मेरी चूत के रस को चाटना शुरू कर दिया. ले ऐश कर!” मैंने उसे कहा तो उसने गिलास माथे से लगाया और हाथ जोड़ दिये. अभी मैंने सीधी ही हुई थी कि आगे वाले ने मुझे घुमा दिया और अब मेरी रसभरी चूत उसके लंड के आगे आ गई.

उनकी चुत एकदम कसी हुई थी, ऐसा लग रहा था मानो किसी ने अपने हाथों से मेरे लंड को पकड़ कर रख लिया है, इतनी टाइट थी उनकी चुत. अंकित के दूध चूसने का ऐसा मस्त स्टाइल था कि मैं सी सी आहह आहह करने लगी.

भाभी ने अपनी बात खत्म करके मेरे लंड को झट से अपने मुँह में ले लिया और मैं भी भाभी की गीली चूत को मज़े लेकर चूसता रहा.

उसका यह इशारा मेरे लिए था, मैं समझ गया और मैंने अपने दोस्त से कहा- हम भी उधर चलते हैं. किस मूड में थी यह जालिम औरत। मैं कशमकश का प्रदर्शन करता उसे देखता रह गया और वह उठ कर बाथरूम में घुस गयी।वैक्सिंग के सामान को हटा कर मैं उसी टेबल पर बैठ कर मसाज का वीडियो देखने लगा। यह कोई नयी चीज नहीं थी. मेरी गांड फट के हाथ में आ गयी, लगा कि आज तो सारी दीवानगी एक झटके में खत्म हो जाएगी.

मैं इतनी तरसी हुई हूँ कि सिर्फ इसी सब से आर्गेज्म तक पंहुच सकती हूँ।” काफी देर बाद उसने मेरे ऊपर से हटते हुए कहा।मुझे यकीन है. चाची की मोटी मोटी गदरायी हुई जांघों के बीच मोटी और झांटों से भरी चूत में मेरा लंड घुसता और निकलता साफ़ दिखाई देने लगा था. फिर मैंने उसे कपड़े पहनाये और खुद भी पहन लिए, फिर ज्योति ने मुझे गले लगा लिया और बोली- आय लव यू राज … तुम मुझे कितना प्यार करते हो, मेरा ख्याल रखते हो.

मेरे अपेक्षाकृत छोटे टोपे के मेरी पत्नि के मुंह में होने के कारण जब काफी प्रयास के बाद भी दीमा के लंड का मोटा टोपा अन्दर नहीं घुस पाया तो मैंने सज्जनता का परिचय देते हुए अपना लंड बाहर निकाल लिया.

फैमिली बीएफ: फिर मैंने अपना लंड भाभी की चूत में रखकर फुल जोश में आकर जोरदार झटका मार दिया और लंड चिकना होने के कारण फिर से चूत में अन्दर घुसा गया. वह दो बार झड़ चुकी थी लेकिन पता नहीं आज क्यों मेरा लंड झड़ने का नाम ही नहीं ले रहा था.

राज अंकल अंकित के सगे फूफा हैं, अंकित राज अंकल से बोला- फूफा जी, किसी को मत बताना, मैं वन्द्या की चुदाई आप लोगों से अच्छे से करवा दूंगा, कोई दिक्कत नहीं है, यह बहुत सेक्सी लड़की है, बहुत चुदाती है और इसका कोई जवाब भी नहीं. और इसी लिए मैं तेज गति में चुदाई कर रहा था। परन्तु उनको मजा आ रहा था।कुछ 15 मिनट के बाद मेरा स्खलन होने को हुआ तो मैंने लंड उनके मम्मों पर रख दिया। जब मैं खाली हुआ और साइड में लेट गया तो कुछ 10 मिनट के बाद उन्होंने कहा- सॉरी रवि, मैंने तुम्हारे साथ नहीं दिया. शीतल मयूरी में आज पता नहीं क्यूँ … पर अपनी वो छोटी सी, प्यारी-सी बेटी नहीं देख पा रही थी, बल्कि वो एक खूसबूरत नायब औरत देख रही थी जो उसकी काम-इच्छाओं को जागृत कर रही थी.

अब तो भाभी मुझसे अपनी आहें भरते हुए कहने लगी थीं कि प्लीज़ तुम अब देर ना करो.

फिर तीनों उठे और शीतल अपने कपड़े ठीक करती हुए कमरे से मुस्कुराती हुई बाहर निकल गयी. मेरी बीवी की चुत तो पता नहीं कितनी बार झड़ गयी थी, लेकिन मेरी बीवी अब भी लंड के लिए प्यासी थी. उसको ठीक कराकर घर छोड़ने में रात हो गयी, जिसका धन्यवाद उसने मेरे होंठों पर किस करके दिया.