बीएफ इंग्लिश पिसातुरे

छवि स्रोत,दिल्ली की लड़की का बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ मूवी गांव की: बीएफ इंग्लिश पिसातुरे, तो वो बोला- भाई, मेरे अंदर कोई बीमारी नहीं है, विश्वास कर!मैं बोला- नहीं, विश्वास की बात नहीं है.

बीएफ सेक्सी जबरदस्ती वाली

जब कि सच तो यह था कि मेरी ये गरम साँसें पिंकी अपने मुँह में मेरे लंड में भर रही थी. लड़की बीएफ देहातीफिर आंटी मेरे लंड के ऊपर नीचे होने लगीं और आह्ह्ह्ह्ह… उह्स्स्स्स…” करने लगीं.

मैंने उससे कहा कि तुम आज ही ऑफिस से त्यागपत्र दे दो, जो उसने बिना किसी झिझक के मुझे पकड़ा दिया. इंग्लिश की बीएफ फिल्ममैंने गिलास ले लिया, भाभी ने गिलास लिया और हम दोनों ने आँखों में आँखें डाल कर दूसरे को चियर्स बोला और देखते ही देखते गिलास को धीरे धीरे खत्म करना शुरू किया.

किस के दौरान मैं उसके चूचों और गांड को भी सहलाए जा रहा था, जिसके कारण हम बिल्कुल गर्म हो गए थे.बीएफ इंग्लिश पिसातुरे: एक दिन मकान मालिक ने होटल में ले जाकर मुझे दारू पिला कर मेरी गांड भी मारी थी.

मैंने यहां की बहुत सारी सेक्स स्टोरी पढ़ीं तो मुझे लगा कि मुझे भी अपनी सेक्स स्टोरी आप लोगों के साथ शेयर करनी चाहिए.उसने मेरे लंड पर अपना हाथ फिराया, तो मैंने अपना 6 इंच का खड़ा लंड निकाल कर उसके हाथ में रख दिया.

वीडियो बीएफ खुल्लम खुल्ला - बीएफ इंग्लिश पिसातुरे

दोस्तो, जनवरी में राजस्थान में गाँवों में कैसी सर्दी पड़ती है, ये तो यहाँ रहने वाले लोग अच्छे से जानते हैं। उस दिन भी बहुत तेज़ सर्दी थी.मैं अपनी जीभ उसकी चूत पर फिराने लगा, वो तो जल बिन मछली की तरह तड़पने लगी थी.

उनकी सांसों की गर्मी और मेरे सांसों की गर्मी टकरा रही थी और उनका लन्ड मेरी चूत में पैंटी के ऊपर से ही चुभ रहा था. बीएफ इंग्लिश पिसातुरे सैटरडे की लास्ट मेट्रो थी और गिने चुने ही लोग थे ट्रेन में!मैं भी थका हुआ था इसलिए लेडीज कम्पार्टमेंट में ही बैठ गया भाभी के साथ वाली सीट पर.

उसके जिस्म के पसीने में जर्दे की खूशबू मिक्स थी जिसने मुझे दीवाना बना दिया था.

बीएफ इंग्लिश पिसातुरे?

उसकी गुलाबी जाँघों को देख कर यह अंदाजा लगाना कतई मुश्किल नहीं थाकि बुर की फांक भी जरूर मोटी मोटी और गुलाबी रंग की ही होगी. वो अपना चेहरा विंडो के पास लाकर बोली- मैं आपको कहीं छोड़ दूँ?तो मैंने एक बार उसे मना किया. मैंने उसकी केले के तने जैसी टांगों को अपने हाथों में उठा कर कन्धों पर रखा और लंड को चूत के छेद पर टिका कर धीरे धीरे टाइट चूत में उतार दिया.

मैं भी नीचे से धक्के मारने लगा तो आंटी समझ गईं कि अब मैं उनके साथ इस खेल में तैयार हूँ, तो उन्होंने मेरे हाथ खोल दिए. यह कहानी मेरे और एक अंजान भाभी रूपाली के बीच में हुई उस घटना की है, जिसमें मैंने भाभी को चोदा. मुझे बहुत गुस्सा आया, मैंने फिर से लंड उसकी देसी चुत पे रखा और पूरी ताकत लगाकर इतनी जोर से धक्का लगाया कि मेरा पूरा लंड उसके चुत को चीरते हुए अन्दर घुस गया.

आर्थर ने सिर्फ अपने कंधे उचकाए और मैंने मेहमानों को मेज के गिर्द बैठने का आमंत्रण दिया और कहा- कोई बात नहीं, जब जाएँगे, तो साथ ले जाइयेगा. मेरी उम्र भी शादी की हो गई थी, इसलिए तेरे पापा तेरी शादी अपने किसी दोस्त के लड़के के साथ करना चाहते हैं. यह कहते हुए अपना मोबाइल निकला और उसका चुदाई वाला वीडियो चला दिया, पूरा बीस मिनट का वीडियो था.

उस समय अपने लिए लाई हुई चाय मैंने उसकी माँ को दे दी, तब शायद उसकी माँ का मेरे ऊपर कुछ भरोसा जमा और तब वो पहली बार मुस्कुराई. मैंने उसे बेड पर चित लिटाया और उसके दोनों पैर मेरे कंधे पर रख कर उसे चोदने लगा.

मैं समझा नहीं?भाभी मेरे लंड की तरफ़ इशारा करते हुए कहने लगीं- इसको देखो अभी भी खड़ा हुआ है.

मैंने भाभी जी से उनके पति की कंपनी का नंबर लिया और फोन करने बाहर निकल आया.

दस मिनट तक उसी स्पीड में दौड़ने के बाद वो मेरे करीब आईं, मशीन को बंद किया और मुझको सहारा देकर चेयर पे बिठाकर बोलीं- बैठो यहां पे… मैं तुम्हारे लिए प्रोटीन शेक लाती हूँ. यह हिंदी सेक्स स्टोरी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!दोस्तो, लग रहा था कि ऊपर वाला मेरे ही साथ था उस दिन!सब को सोया देख मैं भी बाथरूम में चला गया और जाते ही पूजा मामी को अपनी बाहों में भर लिया और उसके लिप्स को चूसने लगा. अगले दिन लगभग 4 बजे शाम को मैंने सिमरन को फ़ोन किया और बताया कि मैं फ्री हो गया हूँ.

दिल्ली में मिल ले प्लीज, फिर देखो मैं तुझे क्या क्या पिलाता हूँ! उसने हँसते हुए कहा. अब घर में दो जवान मर्द और औरत अपनी प्यासी चूत और लंड लिए अकेले हों तो फिर आप सोच सकते हैं कि क्या क्या हो सकता है. इधर राम रतन को हमने कुछ पैसे दे कर कहा कि तुम अब कोई और दूसरी नौकरी ढूँढ लो.

उधर वो एक पैन्ट को ट्रायल रूम में चैक करने घुसा, मैं उधर ही खड़ी थी.

वो फिर भी मेरी छाती पर अपना हाथ फेरता रहा और मेरे निप्पलों को जो अभी चने के जितने ही थे, अपने मुँह में लेकर चूसने लगा. इतना कहकर उसने अपने पैरों को फैला लिया, मैं भी उसकी तड़प को देख कर उसके पैरों के बीच में आ गया और अपने लंड को उसकी चूत पर सेट करके रगड़ने लगा, रगड़ने से उसकी तड़प और भी बढ़ती जा रही थी, वो ज़ोर ज़ोर से आहें भर रही थी. अगले दिन मैं पहुंचा तो देखा तो सोनल आ चुकी थी, दोनों बहनों ने साड़ी पहन रखी थी जिसमें वे सेक्सी लग रही थी.

मैंने चूत के अन्दर झांककर कहा- साली जी, आप मानो या न मानो आप बड़े अच्छे से चुदी हुई हो. मैंने उनकी बात को न मानते हुए लंड एक झटके में चुत से खींच कर उनकी गांड में पेल दिया. मेरा टिकट कंफर्म नहीं था तो पापा बोले- मैं तेरा टिकट कंफर्म करवा के लाता हूँ, तू मेरे लिए एक प्लेटफॉर्म टिकट ले के आ जा.

मैंने मुँह खोल के पूरा का पूरा लंड मुँह में भर लिया और कोई बच्चा जैसे दूध की बोतल चूसता है, वैसे लंड चूसने लगी.

उससे बातचीत एकाध मिनट की ही होती थी, क्योंकि मैं उसे दीदी कहता था तो सेक्स चैट होने का तो कोई मतलब ही नहीं था… और ये तो आपको भी मालूम है कि लम्बी लम्बी गजलें सिर्फ सेक्स चैट में गाई और सुनाई जाती हैं, जिधर दीदी वाला मामला हो, उधर तो खुद से लगता है कि जल्दी से फोन काटो. तब उसने कुसुम को दूसरे कमरे से बुलवाया और बोला कि इसको जरा सेक्सी डांस करना सिखा कर जाना.

बीएफ इंग्लिश पिसातुरे मगर आप तो जानते ही हैं ना कि जब लंड चुत में चला जाता है तो फिर वो जंग के मैदान में होता है, वहाँ प्यार नहीं बंदूक चलती है. मेरी सेक्सी गन्दी कहानी के पिछले भागमेरी बीवी की गैर मर्द के साथ रंगरेलियाँ मेरे सामनेमें अब तक आपने पढ़ा था कि मेरी रंडी बीवी के यार उसके बॉस विवेक ने एक फ्लैट गिफ्ट किया था.

बीएफ इंग्लिश पिसातुरे एक दिन माँ और उनकी ऑफिस के काम से फ्रेंड्स बाहर जा रही थीं तो राधिका आंटी ने अपनी बेटी काम्या को मेरे घर छोड़ने का सोचा. इस देसी सेक्स कहानी के पहले भागसील पैक देसी लड़की को खण्डहर में चोदामें अपने पढ़ा कि मैं अपने गाँव गया हुआ था, वहां मुझे मेरी हमउम्र एक देसी लड़की मिली, मैंने उसकी कामवासना जगा कर उसे चुत चुदाई के लिए तैयार किया, फिर गाँव के पास के किले के खंडहरों में उसे ले जा कर चोदा.

फिर उसके होंठों पर हाथ रखकर एक जोरदार झटका दे मारा, मेरा पूरा को पूरा लंड उसकी चूत को फाड़ता हुआ अन्दर घुस गया.

बीएफ सेक्सी गाना वाली सेक्सी

उसको बेहद दर्द हो रहा था, वो छटपटा रही थी मुझे अपने नाखूनों से नोंच रही थी, लेकिन मुझे मालूम था कि ये तो नारी का प्रारब्ध ही होता है. लोग ख़ुशी से चहक रहे थे, वातावरण खुशनुमा था, सैनिक आर्मी बैंड की धुनों से कदमताल मिलाते हुए चल रहे थे और आसमान में महान रूस की पराक्रमी वायु सेना के विमान उड़ रहे थे. इस बार के सेक्स में हमें लगभग 15 मिनट का समय लगा और उस चरम आनन्द की भी प्राप्ति हुई.

आजकल मेरे लिए खतरनाक दिन चल रहे हैं, इसलिए तुम अपने लंड को बाहर ही झड़ाना. इस कमरे में एक खास बात ये थी कि बगल के कमरे में हो रही बात अगर दीवार से कान लगा कर सुनी जाए तो सब सुनाई पड़ता है. मैं अभी भी सुबह की घटनाओं में ही डूबा हुआ था और मॉम मुझसे सवाल पूछ रही थीं.

वरना मेरी चूत भी बदनाम हो जाएगी कि इस चूत ने दुनिया में किस गांडू लंड को निकाला था.

कुछ दिनों के बाद जूसी रानी को दस दिन के लिए अपने मायके जाना था, तो मैंने सत्येन को भी एक लम्बे टूर पर रवाना कर दिया. मैं आपका दोस्त सोनू दोबारा आप लोगों के सामने अपनी आगे की कहानी लेकर हाज़िर हुआ हूँ. मकान मालिक मेरे पीछे आ गए और बोले- हाथ ऊपर करो वन्द्या!मैंने नहीं किये तो अपने आप करवाए और मेरे टॉप को नीचे से खड़े खड़े उतार दिया, जैसे ही मेरा टॉप उतरा… तब पीछे खड़े मकान मालिक सीधे मेरी पैंटी के ऊपर से ही मेरी पीछे गांड में अपना लन्ड रगड़ने लगे और पीछे से मेरे दोनों दूध कस के पकड़ लिए.

और सुनो जैसे ही लंड का पानी लगे कि निकलने वाला है, उसे चुत से बाहर निकाल कर गीता के मम्मों और मुँह पर झड़वा देना. मैं- भाभी मजा आता होगा ना?भाभी- क्यों तुझे भी कराना है?मैं- नहीं बाबा बस ऐसे ही…भाभी- मन में तो लड्डू फूट रहे हैं… बोल भी दे माधवी. जो मुझे फील हुईं, लेकिन उस वक़्त मज़ा इतना ज़्यादा था कि मुझे ये सब अच्छा लगा.

मौका ताड़ के मैंने कहा- आपके हाथों में तो जादू है अलका जी… आपकी बनाए हुए पकवान खाकर तो जी करता है कि आपकी उंगलियां चूम लूँ… चूमूँ और बस चूमता ही जाऊँ. उसके गोरे गोरे स्तनों पर निप्पल ऐसे लग रहे थे जैसे खीर से भरे से भरे कटोरे के बीच में बादाम रख दिए हो।मैं काफी देर तक उसके स्तन मसलता और चूसता रहा। कुछ मिनट बाद वो एक तड़प के साथ शांत हो गई। उसका एक बार स्खलन हो गया था। वो प्यार भरी आँखों से मुझे निहार रही थी.

मेरा सारा ध्यान टीवी देखने में था, मामा जी तो शराब के नशे में थे और बेड पे लेटते ही सो गये और बच्चे भी बहुत थके हुए थे तो वो भी सो गये थे. अब मैंने नाटक करते हुए कहा- शायद अँधेरे की वजह से तुम्हारी सील दिखाई नहीं दे रही, एक काम करो एक टॉर्च ले आओ, मैं जरा अन्दर तक देख सकूं. कुछ पलों की पीढ़ा के बाद सम्भोग का सुख मिलने लगा और वो नीचे से अपने नितम्ब उठा कर मेरे मूसल लंड से लिपटने लगी.

मैंने कहा- अब दिखाओ अपनी चूत!उसने धीरे से अपना नाड़ा खोला और सलवार नीचे करने लगी, उसकी सलवार नीचे उतरते ही वो नीचे से नंगी हो गई, मैंने देखा कि उसने पेंटी नहीं पहनी हुई थी.

तुम्हारे लंड पर ऐसे ही तेल लगा लगा कर मैं भी मालिश करूँ तो!विवेक मेरी तरफ देख कर बोला- मैडम को केला खाना है. मैं- अच्छा साली अपने बुड्ढे सर को रोज बुर गांड चुचे सबके दर्शन करवाती है और मुझे कह रही है मम्मी को बता दूंगी, बता कितनी बार लौड़ा घुसावाया है अपनी बुर में. मैंने सोचा कि कहीं आंटी वो झाग वाली बात न मालूम हो और मुझे रात को उसी बात को लेकर डांटेगी तो नहीं.

मैं पूजा को चोदना चाहता था, पर मैंने कभी उसको इस बात के लिए नहीं बोला. मुझे सोचने का वक़्त मिलता, उससे पहले ही उसने मेरे होंठ चूसने शुरू कर दिए, कभी वो अपनी जीभ मेरे मुँह में डालता, जिसे मैं चूसती, तो कभी मैं अपनी जीभ उसके मुँह में डालती तो वो चूसता.

मैंने टांगें चौड़ी कर लीं, तो उसने दारू की बॉटल में से एक पैग निकाल कर मेरी चुत को चौड़ा करके उसमें डाल दिया. एरिक ने अपनी पार्टनर की इच्छा समझ कर धक्कों की गति बढ़ा दी, इसे देख आर्थर भी मेरी पत्नी के बाल पकड़ कर अपने लंड को और गहरे उसके गले में घुसेड़ने लगा. यह कहानी आज से 3 साल पहले यानि जनवरी 2015 से शुरू हुई थी तब मैं इंजीनियरिंग दूसरे साल का छात्र था और जयपुर में अकेले ही रेन्ट पे रहता था, मेरी एक गर्लफ्रैंड थी जिसका नाम सपना (बदला हुआ) था.

एक लड़की का बीएफ

विवेक बोला- भोसड़ी के बहरा है क्या… क्या नाटक है? साले गांड पे लात खा के ही मानेगा… जल्दी कर, जैसा मैडम ने कहा.

नीलम भाभी ने मेरे लंड के ऊपर बैठे बैठे पूनम को भी मेरे सीने पर बैठा कर उसे हग कर लिया और जोर जोर से झटका मारने लगीं. मुझसे ज़्यादा रहा नहीं जा रहा था, सो मैंने देर ना करते हुए मेरा 6 इंच का लंड उनकी गीली चुत में एक ही धक्के में डाल दिया. चलो खेतों के अन्दर चलते हैं… भरी दोपहरी में खेतों के अन्दर कौन झाँकेगा.

वो भी मेरे बदन से चिपकने के मज़े लेती, लेकिन मैं कुछ इससे ज्यादा ही पाने की सोच में था. तो इन पन्द्रह दिनों मेंइंडियन सेक्सी वाइफका क्या हाल होता होगा?उस समय भाभी के कपड़े देखकर मुझे कुछ कुछ हॉट सा फील हुआ था कि भाभी ने बहुत ही ज्यादा एक्सपोज करने वाले कपड़े पहन रखे थे. बांगला बीएफ व्हिडिओ सेक्सीमैं एकदम से खाली हो गई और मुझे लगा कि पता नहीं मेरा क्या कट गया है.

फिर हम लोग एक दूसरे को चूमने लगे और फिर मैं अपना एक हाथ उसकी चुची पर लाकर उसे दबाने लगा और दूसरे हाथ से उसके चूतड़ को मसल रहा था. पर यह मुस्कराहट कम थी, इनविटेशन ज्यादा था कि आप का लंड मेरे गांड पर मुझे बहुत अच्छा लग रहा है- पर कुछ लोग है जो अच्छा काम भी कर रहे हैं.

उससे बातचीत एकाध मिनट की ही होती थी, क्योंकि मैं उसे दीदी कहता था तो सेक्स चैट होने का तो कोई मतलब ही नहीं था… और ये तो आपको भी मालूम है कि लम्बी लम्बी गजलें सिर्फ सेक्स चैट में गाई और सुनाई जाती हैं, जिधर दीदी वाला मामला हो, उधर तो खुद से लगता है कि जल्दी से फोन काटो. कामिनी कामुक सिसकारियां लेने लगी- आअहह आअहह ऊऊहह…वो विवेक के सीने पर और गांड पे हाथ फेरने लगी. मैं ड्राइंग रूम में आया, कामिनी के हाथ में गिलास था और वो स्लीवलेस घुटनों तक की नाईटी पहने थी.

मगर शाम आते आते ही मुझे समझ में आना शुरू हो गया कि अगर मैं उस दलाल के पास नहीं जाती तो वो कुछ गुंडे मेरे पीछे लगा देगा और फिर मेरा क्या हाल होगा, उसका सोचना ही मुश्किल है. भाभी की चुत गीली और फैली हुई थी जिससे मेरा लंड एक बार में अन्दर चला गया. फिर मैं ज्योति को लेकर सीधा उसके घर आ गया और उसके पापा को फोन करके उसके एडमीशन कराने की बात बताई.

तभी झटकों के साथ एरिक के लंड ने नताशा के होंठों और चेहरे पर सफ़ेद बूंदें उगलनी शुरू कर दीं, जिन्हें प्यार की देवी ने चाटते हुए पीना शुरू कर दिया जबकि हाथों में उसने अभी तक अपने दोनों प्रेमियों के ढीले हो चुके लंड पकड़ रखे थे.

फिर चंदर बोला- मेरी जान बिंदु, जाओ अपनी चुत को साबुन से धोकर ही मेरे सामने आओ और इस पर कोई सेंट भी लगा लेना, जो आपको पसंद हो. तब उसको स्क्रीन पर उसके पहले दिन का लिया हुआ सेक्स क्लिप दिखा कर बोला कि यहाँ से चलते बनो वरना यह क्लिप तुम्हें जेल की हवा तो खिलवा ही देगी और जो भी सुनेगा और देखेगा तुमको चप्पलें मारेगा.

मेरे लंड का साइज 7 इंच है जो किसी को भी संतुष्ट करने के लिए काफी है. मैं उसके मम्मों को चूस रही थी और बीच बीच में काट लेने पे उसकी ‘आअह्ह्ह. हम दोनों ने साथ में खाना खाते वक़्त एक दूसरे के अंगों का पूरा मजा लिया.

बिंदु के साथ चंदर ने क्या गुल खिलाया, उसकी कहानी बिंदु की ज़ुबानी ही सुनिए. दीदी ने कहा- रानी सच बोल रही थी, तेरे जितना लंबा और मोटा लंड मुझे आज तक नहीं मिला. कुछ ही देर में ट्रक में पूरा अंधेरा हो गया था, किसी को कुछ नहीं दिख रहा था.

बीएफ इंग्लिश पिसातुरे वो मुझे मस्ती से चोदे जा रहा था और मैं सिसकारियां लेकर गांड को पीछे धकेलते हुए उससे चुदवा रही थी. मैं बोला- क्या मैं सलवार खोल दूँ सोनिया?अब उसने हां में सिर हिला दिया.

अंग्रेजन की चुदाई बीएफ

मैं- अरे रामसुख साले तेरे दादा ने मेरी गांड फाड़ कर रख दी… तू इसे नखरा कह रहा है. हम दोनों की काम वासना बढ़ती ही गई और मैंने भाभी की पैंटी उतार कर उनकी चिकनी सी चुत पर अपनी जीभ लगा दी. जैसे ही मैंने वाल्व ओपन किया तो पानी इतने तेज प्रेशर से आने लगा कि भाभी उसको रोक नहीं पाई और तभी शावर से भी पानी गिरने लगा.

दोस्तो, मेरी इस हिंदी सेक्स स्टोरी में मजा आ रहा है ना? तो मुझे ईमेल जरूर कीजिएगा. इस पर आंटी बोली- बस इतनी सी बात? तुम मेरा एक काम करोगे तो तुम्हें इससे भी ज्यादा पैसे मिलेंगे. एक्स एक्स चुदाई बीएफ वीडियोवन्द्या को बिना कपड़े नंगी देखकर ही हर कोई अपने होश खो बैठेगा और जो इसे छू ले उसकी तो जिंदगी ही बदल जाए! बहुत सेक्सी बहुत हॉट माल है। अंकल आप बहुत लकी हैं जो आज इसको आप अपने हाथों से वन्द्या की गांड, दूध दबा रहे हैं और होठों को चूस रहे हैं.

जब चुत में लंड जाने का रास्ता बन गया, तब मैंने धीरे से एक झटका दिया.

मगर नीना थोड़ा नाटक कर ऐसा जताई कि 72 किलो वजन के चलते वो पैंटी नहीं निकाल पर रही है. लेकिन उसके हाथ खेतों में काम करने वाले काफी मजबूत और कड़क थे जिनसे मेरी गान्ड का हाल ठीक वैसा हो रहा था जैसा कि चूसने वाले आम का चूसने से पहले हो जाता है.

वो अपनी गोरी गोरी चिकनी चिकनी गांड से विवेक के लंड को धक्का दे रही थी. इसके बाद तो जब तक मम्मी वापस नहीं आईं, हमारा चुदाई का खेलभाई बहन का सेक्सचलता रहा और अभी भी चल रहा है. मैंने फट से पेंट उतारी और तभी मैडम ने मुझे धक्का दे कर पलंग पर गिरा कर मेरे लंड को हाथ में लेकर सहलाने लगीं.

तो मैंने उस से कहा- मेरी गर्लफ्रैंड है, तो उस से आपको क्यों जलन हो रही है?उसने कुछ नहीं कहा और नाराज हो गयी.

मेरे घर में सब लोग सो रहे थे, इसलिए मैं धीरे धीरे चुदवा रही थी और धीरे धीरे सिस्कारियां ले रही थी. सर आप पलंग पे खड़े क्यों हैं, लंड कभी और दिन चुसवाना दीदी से, अभी आप नीचे बैठ जाओ. मरता क्या न करता… मैं कामिनी के पास गया और उसकी चूत से विवेक का माल निकल रहा था, पिचकारी भी उसने लम्बी वाली छोड़ी थी.

बीएफ सेक्स विदमेरा एक हाथ उसकी कमर में था और दूसरा हाथ उसकी चूचियों की गोलाईयां माप रहा था. एकदम से मोटा लंड घुस जाने से ऋतु की आँखों से पानी गिरने लगा और वो कराहने लगी.

बीएफ लड़की के बीएफ

ये कहकर मॉम अपने दोनों हाथ से नवीन की गांड पकड़ कर तेज़ तेज़ उसे अपनी तरफ धकेल रही थी- यस फ़ास्ट फ़ास्ट फ़ास्ट. मैंने कहा- अरे चाची, मतलब ये कि इस बार हम लोग भांग की ठंडाई बनाते हैं. वो मुस्कुरा कर बोली- ये लोग 20-25 दिन के लिए अपने बेटे के यहाँ गए हैं.

या यहीं पर करोगी?मैंने कहा- क्यों मुझ ग़रीब को अपने स्टाफ के सामने जलील करना चाहते हो. मैं अब जब भी अपनी सहेली को ऑफिस ले जाने के लिए जाती थी तो मकान मालिक मुझे अपने रूम में बुलाकर मुझे किस करता था और उसके बाद में मैं और मेरी सहेली हम दोनों लोग ऑफिस जाते थे. जिया के घर पर निमन्त्रण की बात सुन कर मेरी तो बांछें ही खिल गयी। मुझे लगा कि आज शाम को जिया अपने दिल की बात मुझसे जरूर कहेगी और इसी लिए जिया में मुझे अपने घर पर बुलाया है.

मैंने बस के कंडक्टर से पूछा तो उसने बोला कि यहां एक यात्री और आएगा. इसकी कम से कम 4 बार चुदाई होनी चाहिए और वो एक बार इसकी गांड भी मारे. उसने कुर्ती के नीचे कुछ नहीं पहना हुआ था क्योंकि उसने उस समय जल्दी जल्दी में सिर्फ कुर्ती ही पहन पाई थी.

पूनम और मैं हम लोग आपस में सब कुछ शेयर करने लगी थी यहाँ तक कि प्राईवेट बातें भी!एक दिन पूनम मेरे घर आई तो मैं अपने कमरे में टी वी देख रही थी, दोपहर का समय था, मेरा बेटा, बेटी स्कूल गये थे और कोई घर पर था नहीं… मैं मर्डर मूवी देख रही थी. ’ जैसी कराह मुझे और करने को उकसा रही थी कि मम्मों को चूसो और काट लो.

जब तीसरी बार वो चुद रही थी तो बोली- सर इन दोनों की दोस्ती पक्की करवा दीजिए.

अब मैं और तेज़ तेज़ उसकी चूत को सहलाने लगा और वो पागलों की तरह ‘ई ई आ ऊही माँ शशशशश. इंग्लिश पिक्चर बीएफ मूवीहां मगर चुत पहले तो पूरी तरह से फटेगी और दर्द भी होगा मगर यह सब एक दो दिन की बात ही होगी, उसके बाद तो चुत लपक लपक कर लंड को अपने मुँह में लिया करेगी और तुम गांड उछाल उछाल कर चुदा करोगी. बंगाली लड़की की बीएफवन्द्या की नाक बहुत सेक्सी है, उसको भी मुंह में भर लेना चूसना, बहुत परफेक्ट है इसका एक एक अंग, अंकल आप वन्द्या को आज सटिस्फाई कर दो, अंकल ऐसे ही आप दोनों को देखकर मुझे बहुत मजा आ रहा है. वो चीखने लगी- आहहहहह बाहर निकालो इसे… आहह… माँ रे… मैं मर गई… बहुत दर्द हो रहा है… मुझे नहीं चुदवाना.

पर दूसरे दिन राघव ने मुझे अपने प्यार से समझा ही लिया और बिना मेरी मर्जी सम्भोग करने ना करने का उसने वादा किया.

बूढ़े के मुँह में एक भी दाँत नहीं था, वो चुत के अन्दर तक अपनी ज़ुबान डाल डाल कर चूस रहा था. अगले दिन लगभग 4 बजे शाम को मैंने सिमरन को फ़ोन किया और बताया कि मैं फ्री हो गया हूँ. तो मैंने चूतड़ों को उठा दिया और अपनी सलवार के साथ चड्डी को भी खुद ही उतार दिया और अपनी मक्खन चुत को भाईजान के लिए नंगी कर दिया.

आपका संचित ठाकुर[emailprotected]कहानी का अगला भाग:फ़ेसबुक पे पटा कर चंडीगढ़ में चोदा-2. अपनी सगी बहन को किस करते करते मैं उसके कान तक आ गया और उसके कान को काटने लगा. एक बार फिर मैं साहिबा आप सबके समक्ष मेरी नई हिंदी सेक्स कहानी लेकर हाजिर हूँ.

अंग्रेजी फिल्में बीएफ

वो दरवाज़े के पास ही खड़े थे, मुझे गोद में उठाया और फ़िर बिस्तर पे ले आए. इधर योंग मेरे होंठ चूस रहा था और बूब्स के रगड़ रगड़ का दबा रहा था।कुछ ही देर में योंग ने सबके सामने मेरी शर्ट खोल दी और मेरी ब्रा भी फाड़ दी और वो मुझे उठा कर बिस्तर पर ले गया. इसके बाद उसने मुझसे कहा- मजा आ रहा है?मैंने कहा- हां राजा, चोदते रहो बहुत मजा आ रहा है.

मैं यह सोच कर तो झड़ते झड़ते बचता था कि अगर बगल के बाल इतने खूबसूरत हैं, तो नीचे चूत की रेशमी झांटों का क्या मस्त नजारा होगा.

उसके बाद मैंने एक जोर से झटका मारा और पूरा लंड की उसकी चूत में चला गया.

अनादर जाकर आंटी ने रूम का दरवाजा बंद किया ही था कि मैंने उन्हें पीछे से पकड़ लिया और मैंने आंटी की साड़ी निकाल दी, फिर ब्लाउज और पेटीकोट भी… अब आंटी केवल ब्रा और पैंटी में थी, उनके गोरे रंग के शरीर पर लाल रंग की ब्रा पैंटी मस्त लग रही थी. वो तेज़ तेज़ धक्के लगाकर बोलने लगा- साली रंडी चाची, आज तुझे बताता हूं, गे बोला था ना मुझे. सुहागरात वाली बीएफ सुहागरात वालीतो हुआ यों कि एक दिन हम लोग यानि मैं और अनामिका सेक्स कर रहे थे और चुत चुदाई के बाद ऐसे ही साथ में लेटे हुए थे और बातें कर रहे थे और हम एकदम नंगे थे।और तब अनामिका ने ऐसा कुछ कहा जिससे मेरा दिल एकदम ख़ुशी से झूमने लगा था.

क्यों मुझे मुंबई क्यों बुला रही हो आप?”बस तू आजा… तुझसे मिलने का बहुत जी कर रहा है. एक तो मेरी टांगें आपस में नहीं मिल पा रही थीं, क्योंकि चुत बुरी तरह से चुसवाने के बाद फूली हुई थी और दूसरा इतने ऊंची हील वाले सैंडल मैंने कभी पहने ही नहीं थे. मैंने चारों ओर देखा सभी लड़कियों ने सेक्सी कपड़ों में थीं लेकिन किसी के भी चूचे और गांड दीदी जितने बड़े नहीं थे.

”मैंने कहा- अच्छा आप कॉफ़ी बनाइये… मैं आपको सुलाने का इंतज़ाम लेकर आता हूँ. उन्होंने पहले तो मना किया कि नहीं, मुझे बहुत दूर जाना है और बस अभी थोड़ी देर में आती ही होगी.

मैं भी रसोई के बाहर खड़ा हो गया तो पता चला कि वो बुआ से मेरे बारे में पूछ रही थी.

पर मेरे फ्रेंड ने बोला- पूजा का 5 दिन पहले एक्सीडेंट हुआ था और उसकी मौत हो गई थी. अब वो मुझे घोड़ी बना कर किचन में चोदने लगा और मेरी चूचियों को मसलते हुए मुझे मजा देने लगा. हैलो फ़्रेंडस, मैं समीर आपको अपनीजिन्दगी की एक सच्ची चुदाईबताने जा रहा हूँ.

सेक्सी बीएफ सलवार सूट में पिंकी ने झट से पूछा- सर उसके लिए मुझे क्या करना है?पिंकी में सभी को उनकी कमियां और उसे दूर करने के उपाय दूंगा, जरा सा सब्र रखो. उससे यह कह देता था कि मुझे जरूरी विषय सिखाना है तुम बाहर बैठो कोई आए तो आवाज से इशारा कर देना.

वो बोलने लगी- मेरा होने वाला है…वो मेरे ऊपर ही झड़ कर गिर गई और जोर जोर सांसें लेने लगी. मैं- क्या?भाभी ने इशारे में दिखाया, उसकी पेंट की पीछे से सिलाई निकली हुई थी और अन्दर उसने कुछ पहना नहीं था. जैसे ही मैंने उनकी चुत के ऊपर की ड्रेस काटी, उनकी ब्लैक कलर की पैंटी दिखी.

बीएफ सेक्स मूवी चुदाई वीडियो

सेजल भाभी ने मेरी तरफ़ नाराज़गी से देखा- शर्म नहीं आती ऐसी हरकत करते हुए?उन्होंने गुस्से में आकर कहा तो मैं डर गया. मैं उनकी चूत चाटने लगा था, मुझे उनकी चूत की महक बड़ा कामुक कर देने वाली लगी. दी ने कहा- आप रूम में चले जाएं, मैं थोड़ी गन्दी हो गयी हूँ, सो पैर साफ करके आती हूँ.

संजोग कहेंगे या क्या? जब ट्रेन आयी तो मैंने उस आदमी को में मेरे ही डब्बे B3 में चढ़ते हुए देखा, मैं एक दरवाज़े से चढ़ा तो वो दूसरे वाले से. फिर मैंने उसकी चूत में एक-एक करके पूरी चार उंगलियां अन्दर कर दीं और मजे से अन्दर बाहर करने लगा.

उसने मेरा एक जोरदार चुम्बन लिया और एकदम से मेरे होंठ चूसने लगा… और जोश में आ गया.

थोड़ी देर चूसने के बाद मैं उठकर बैठ गई और उसकी टांगों को चौड़ा करके उसकी बुर को एक पल के लिए निहारा और फिर अपना मुँह उसकी बुर पे लगा दिया. रात को दस बजे मेरे पति जब घर से चले गए तो मैं उनके फ्लाइट में बैठने के फोन का इंतज़ार करने लग गई. उनका बेबी सो चुका था, उन्होंने मुझसे बोला- ये तो सो गया, तुमको पीना है तो आ जाओ.

उसने बड़ी ही बेसब्री और मेरे जोर से उसके मम्मे दबाने के कारण दर्द और उत्सुकता से भरी मिश्रित आवाज में बोला- दीदी मैं आपकी सब शर्तें मानने को तैयार हूँ. मैं उसका लंड पकड़े रहा तो उसने मेरे हाथ पर हाथ रख कर अपना हाथ हिलाया. आंटी ने हांफते हुए कहा- राज अब हो गया… अब मुझसे और न हो पाएगा… मुझे दर्द हो रहा है.

लेकिन उसके हाथ खेतों में काम करने वाले काफी मजबूत और कड़क थे जिनसे मेरी गान्ड का हाल ठीक वैसा हो रहा था जैसा कि चूसने वाले आम का चूसने से पहले हो जाता है.

बीएफ इंग्लिश पिसातुरे: वो लड़का मुझ पर इस तरह से झपटा, जैसे चूहे पर कोई बिल्ली झपटा मारती है. मैंने तुरंत रानी को उठा कर पलटाया जिससे उसके मुंह मेरी तरफ हो गया, और फिर धड़ाम से लंड चूत में दिए दिए दीवान पर लेट गया.

भाबी का इस तरह लंड चूसना मानो कोई परमसुख की प्राप्ति हो, भाबी जिस तरह मेरे लंड को पकड़ कर मुँह में आगे पीछे कर रही थीं उससे लग रहा था कि वे मेरा सारा रस पी जाने को व्याकुल थीं. सामने मैंने जब उन मैडम को देखा तो कसम से ऐसा लगा कि कोई जन्नत की परी मेरे सामने खड़ी है. जैसे ही अपने रूम पे पहुंचा, भाभी मेरा उनके घर के बाहर खड़ी होके वेट कर रही थीं… मुझे देख के सेजल भाभी के मुँह पे खुशी छा गई.

फिर हमने जी भर के एक घंटा तक बातें की और इसी बीच उनके हाथ फ़िर से मेरे जिस्म पर घूमने लगे.

हम दोनों बहुत गर्म हो गए थे और एक दूसरे को पागलों की तरह चूमने और चाटने लग गए।फिर मैंने उसका लोअर खोल दिया और फिर उसकी पैंटी भी खोल दी और उसने मेरे सारे कपड़े खोल दिये. मैंने दूसरे ही धक्के में पूरा लंड डाल दिया और थोड़ी देर तक उसको ऐसे ही रहने दिया. थोड़ी देर बाद हम सब बाहर घूमने चले गए लेकिन मेरा तो कहीं भी मन नहीं लग रहा था.