हिंदी में बीएफ सेक्सी फिल्म वीडियो में

छवि स्रोत,अंतर वासना

तस्वीर का शीर्षक ,

सैट मटका कॉम: हिंदी में बीएफ सेक्सी फिल्म वीडियो में, बात उस समय की है जब हम लोग अपने गांव से 58 किलोमीटर दूर एक शहर में शिफ्ट हो गए.

पूजा रूम का डिजाइन

मैंने कहा कि अब तुम पेट के बल लेट जाओ … क्योंकि नीचे भी कुछ बाल हैं. सेक्सी वीडियो प्लीजमेरी बहन रिचा की हाइट पांच फ़ीट पांच इंच है, रंग साफ बल्कि एकदम गोरा है.

मैं बहुत थक चुकी थी, तो मैंने दूल्हे की मम्मी से ये बोला, तो उन्होंने मुझे एक छोटी लड़की के साथ गेस्ट रूम में भेज दिया. सेक्स करने के स्टेपमगर फिर उसने मुझे पीछे की ओर धकेला और फिर मेरे अंडरवियर को निकाल दिया.

दीदी ने मेरे निक्कर में से लंड को बाहर निकाला और वो मेरे लंड को देखने लगीं.हिंदी में बीएफ सेक्सी फिल्म वीडियो में: मुझे देख कर भाभी ने कहा कि अब तो इतना सब होने के बाद घर में ऐसे भी रहा जा सकता है.

मैं गया तो क्या हुआ?हैलो, कहाँ पहुंचे हो?”आपकी मार्केट में पहुंचने वाला हूँ, भाई को भेज दीजिये।”ठीक है तुम्हारे बोलने से पहले ही मैंने उसे भेज दिया है जल्दी से आ जाओ.कल की सारी बातें मुझे वापस सपने की तरह बार बार दिखाई दे रही थीं और मुझे वापस कल्पना की चुदाई करने का मन होने लगा.

सेक्सी हॉट पिक - हिंदी में बीएफ सेक्सी फिल्म वीडियो में

उनसे छुट्टी मिलते ही मैं बहुत खुश हुआ और सोचने लगा कि आज फिर से कल्पना की जोरदार चुदाई करूंगा.और इसी बहाने मैं तुम्हें और अच्छे से मालिश करने के नए तरीके सीखा दूंगा ताकि तुम कल भी मेरी मालिश उन नए तरीकों से कर सको।यह कह कर चिन्ना बेड पर से खड़ा हो गया और अपनी लुंगी उतार कर बिल्कुल नंगा हो गया.

मैंने देखा कि मेरे लंड के रस और उसकी बुर के रस के साथ थोड़ा सा खून भी मिला हुआ उसकी बुर से बह रहा था. हिंदी में बीएफ सेक्सी फिल्म वीडियो में बहू एक ब्रा में खड़ी थी मगर उसके पूरे बूब्स बाहर थे और बूब्स की गोलाई पर स्ट्रेप थे.

मैं इन तीनों लड़कियों की चुत चुदाई के बारे में एक ही सेक्स स्टोरी में बताने जा रहा हूं इसलिए थोड़ा संक्षिप्त में बता रहा हूं.

हिंदी में बीएफ सेक्सी फिल्म वीडियो में?

मैं उसकी चुत को चाटने लगी और सोचने लगी कि इसका ये छेद मुझे कमाई करवाएगा. अलग-अलग आसनों में चोदने के बाद अंत में मैंने अपना सारा माल उनकी चूत में भर दिया। अब जाकर मेरे लड़ को थोड़ी सी शांति मिली थी।मैं उनके बगल में थोड़ी देर आराम से सो गया।कुछ देर बाद वह मेरे लिए चाय बना कर लाई. मेरी फर्स्ट टाइम सेक्स की स्टोरी आपको कैसे लगी?इसके बारे में जरूर अपनी राय दें.

उन्हीं में से उसकी एक सहेली, जो पीछे 4 सालों से बच्चा पैदा करने के लिए कोशिश कर रही थी, पर उसके पति में कोई कमी थी, जिसके कारण वो मां नहीं बन पा रही थी. हुआ भी यही … अगले ही पल उसने मेरी ब्रा को भी निकाल दिया और मेरी दोनों चुचियों को कसके दबाने और मसलने लगा. यह कहानी आज से 6 महीने पहले उस समय की है, जब मैं प्रेग्नेंट थी और मेरा नवां महीना चल रहा था, जो कि आखिरी महीना होता है.

मैं अपने कॉलेज की एक दिलकश हसीना हूँ और मुझे चोदने के लिए लौंडों की लाइन लगी रहती है. उसके बदन को छूकर इरादे तो मेरे भी कुछ बदल से गये थे लेकिन उससे पहले मुझे पूरी बात का पता करना था. दोस्तो, हो सकता है आपको ये भाग बोर लगे, पर सच मानिए जो जैसी घटना घटी है, वैसे ही मैंने लिखा है, कोई मिर्च मसाला नहीं डाला.

तभी मैंने सुना कि बहन ने अपने बच्चों को बोला कि अब तुम दोनों सो जाओ, मैं और मामा दोनों साथ खा लेंगे. बहू मेरे आगे खड़ी थी और मैं उसके पीछे!तभी कुछ और लोग भी आ गए लिफ्ट में.

वैसे गुस्से का तो पता नहीं … मगर तुम्हें उस तरह देखकर उनका लंड जरूर खड़ा हो गया होगा.

देखने से मालूम हुआ कि कोई प्रिया शर्मा (नाम बदला हुआ है) की फ्रेंड रिक्वेस्ट आई थी.

फिर मैंने एक जोर का झटका मारा और मेरा पूरा लंड उसकी चुत के अन्दर घुसता चला गया. फिर उसके कुछ देर बाद उसका मैसेज आया। फिर हमारे बीच हाय हैल्लो हुआ और फिर बात ऐसे ही आगे बढ़ी।वैसे वो पहले ही भाभी से मेरे बारे में सब कुछ पूछ चुकी थी कि मेरी कोई है या नहीं और मैं उसके साथ सेक्स करने के लिए मान जाऊंगा या नहीं।आग तो दोनों तरफ लगी थी।फिर मेरी भाभी से मैंने पूछा- तुम्हारी बहन को सेट कर लूं?तो भाभी बोली- देख, वो अपने पति को छोड़ कर यहाँ आई है. आज की इस सच्ची सेक्स कहानी को पढ़ कर आप सभी के लंड से पानी निकल जाएगा और औरतों की चूत गीली हो जाएगी.

इस बीच वो 4 बार झड़ चुकी थी और मेरा लंड अभी भी जोरदार चुदाई में लगा हुआ था. उन दोनों को मेरे आने की आहट भी नहीं हो रही थी वरना उनको पता चल जाता कि कोई उनको देख रहा है. चिन्ना की इस हरकत पर करोना चिहुंक पड़ी और बोली- ये आप क्या कर रहे हैं अंकल?चोदू चिन्ना उसकी दोनों फैली हुई टांगों के बीच घुटनों के बल खड़ा होकर अपने लण्ड को पुचकारता हुआ करोना की आँखों में आंखें डाल कर बोला- बिटिया खेल अब बहुत हो गया.

मैं नीचे से अपने लंड को ऊपर की तरफ धकेल रहा था, वो और जोर जोर से ऊपर नीचे हो रही थी- यस बेबी कम ऑन फक मी … आंह फक मी.

’करोना हड़बड़ी में लण्ड को अपनी चूत के गुलाबी छेद की सीध में लाकर- नेताजी, मेरी नाजुक कुंवारी चूत का अपने मोठे काले लण्ड से उद्घाटन कर दो प्लीज. उसके बाद मैंने और भी कई भाभी और आंटियों को पटा कर उनकी चूत को चोदने का मजा लिया. तो आवाज लगा कर मैंने कहा- दीदी, स्नेहा के कमर में दर्द हो रहा है इसके बाम लगा दो.

और उन दोनों लड़कियों की चुदाई तो मैंने अपनी इस कबूतरी को दाना डालने के लिए की थी. हमारे घर में सभी कमरे काफी बड़े बनाये हुए हैं, पलंग वगैरह भी बड़े बड़े पड़े हैं, तो आराम से ज़्यादा लोग सो सकते हैं. मधुलिका भी उसे ज्यादा कुछ नहीं बोलती थी क्योंकि अब वह सेजल से बहुत खुश होती.

फिर भाभी उठी और मुझसे बोली- तेरा लंड कितना बड़ा है?मैंने भाभी को बताया- मेरा लंड 8 इंच का है और बहुत मोटा है.

तभी मैंने उसका मुँह पकड़ कर उठाया और अपने लंड को उसके मुंह से बाहर कर दिया. मैंने अपनी बहन की बुर कैसे देखी और उसको साफ़ किया?सभी पाठकों को फिर से स्वागत है, जैसा कि मैंने अपनी सेक्स कहानी के पिछले भागभाई बहन के प्यार से सेक्स तक-1में बताया था कि कैसे मेरी छोटी बहन श्वेता ने मेरा लंड देखा और किस परिस्थितियों में मुझे उसकी बुर छूने का सौभाग्य मिला.

हिंदी में बीएफ सेक्सी फिल्म वीडियो में मैंने कहा- तो फिर अब मेरे लंड को अपने मुंह में लो जान!उसने धीरे से अपना छोटा सा मुंह खोला और मेरे लंड को मुंह में लेने की कोशिश करने लगी. भाभी बोली- उनसे क्यों?मैंने कहा- यदि तुम पापा से चुदवा लोगी तो फिर दीदी की चुदाई का रास्ता साफ हो जायेगा.

हिंदी में बीएफ सेक्सी फिल्म वीडियो में अम्मी के मुंह में लंड देने के बाद जल्दी ही मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया. अचानक पैरों को सिकोड़ने से चिन्ना का कड़क लण्ड बंधी हुई लुंगी और पेट के बीच से आगे उसकी नाभि की तरफ करोना बेटी की चूत पर घस्सा मारते हुए बाहर निकल आया.

जैसे ही स्टेशन आया टी टी ने दरवाजा खोल कर मुझे उतार दिया और हाथ हिला कर मुझसे विदा ली.

10 साल की लड़की के साथ सेक्सी वीडियो

मैंने उनकी चूचियों को खा जाने वाली निगाहों से देखा और कहा कि सब कुछ … आपकी स्माइल, आंखें, आपका नेचर सब!वो मम्मे उठाते हुए बोलीं- बस … और कुछ नहीं?मैंने फिर से चूचों की नोकें निहारते हुए कहा- भाभी आप तो ऊपर से नीचे तक पूरी ही बहुत अच्छी हो. दोस्तो, चूत को जब लंड का स्वाद मिल जाता है तो उसको दर्द में भी मजा आने लगता है. मैंने उसकी बात से राजी होकर बाथरूम में जाकर लंड चूत को साफ़ किया और वापस आकर 69 की तैयारी करने लगे.

अलग-अलग आसनों में चोदने के बाद अंत में मैंने अपना सारा माल उनकी चूत में भर दिया। अब जाकर मेरे लड़ को थोड़ी सी शांति मिली थी।मैं उनके बगल में थोड़ी देर आराम से सो गया।कुछ देर बाद वह मेरे लिए चाय बना कर लाई. मेरी इस मस्ती भरी हॉट सेक्स कहानी के पहले भागसहेली की शादी में मेरी चुत चुद गई-1में आपने अब तक पढ़ा कि मैं अपनी सहेली की शादी में गई थी. चाची बोली- आज मेरी प्यास को बुझा दो, कल जब मैंने तुम्हारा लंड अपनी गांड पर महसूस किया था तो तब से ही मेरी चूत में आग लगी हुई है.

लगातार 2 सालों के अंदर उसका पति और उसके ससुर दोनों की ही मौत हो गई.

अम्मी और अब्बू दोनों दुकान पर रहते हैं इसलिए घर में हमने काम करने के लिए कामवाली को रखा हुआ है. मेरी मां एक काम करने वाली ढूँढ रही थीं, क्योंकि हमारी पुरानी कामवाली काम छोड़ कर चली गयी थी. मैंने कहा- मामी आपके दूध इतने बड़े कैसे हो गये?वो बोली- मुझे भी नहीं पता.

कुछ देर बाद हम दोनों वहां से उसके कमरे में आ गए और उसी दिन मेरी सहेली की विदाई हो गई. तभी मेरे नज़र मेरी बहन की चूत पर गई जिसको मैंने अभी तक ठीक से देखा नहीं था. वो बोली- मेरी बात भी करवाओ अपनी गर्लफ्रेंड से।मैंने कहा- उसी से तो बात हो रही है अभी.

मैंने एक हाथ से उसके बूब्स को दबाना शुरू किया और दूसरा हाथ उसकी पेंटी में डालकर उसकी चुत में एक उंगली डाली तो उसकी चूत से पानी आना शुरू हो गया था. जब मैंने उससे बार बार अपनी बात कही, तो वो शर्मा कर बोली- यस आई लव यू.

उसे मालूम था कि मैंने योग और मसाज थेरेपी का कोर्स ऋषिकेश से किया हुआ है … इसलिए उसने शायद मेरे लिए अपना भरोसा सा जताया. उसके बाद तक आज ढाई साल हो गए हैं उन बातों को! लेकिन मनीषा के बारे में मुझे कुछ भी पता नहीं है क्योंकि उसके बाद मेरी बुआ और मेरे घर वालों के बीच लड़ाई हो गयी थी और बोलना, आना जाना बंद हो चुका था. फिर मेरा लंड खुद ब खुद ही छोटा होकर उसकी चूत से निकल कर बाहर आ गया और सिकुड़ गया.

अपने और करोना के मिलेजुले कामरस में सराबोर उसका बैंगनी रंग का बड़े आलूबुखारे जैसा सुपारा करोना की आँखों के सामने आ गया.

उसने मुझे अपने पास बुलाया और अपना काला मोटा 7 इंच का लंड मुझसे मुँह में लेने को कहने लगा. मैंने देखा कि दूध निकालने की वजह से चाची के निप्पल्स कुछ ज्यादा ही बड़े लग रहे थे. अम्मी उस नकली लंड से चुद रही थी और उनके मुंह से आह्ह ऊह्ह … आह्ह … ओह्ह करके कामुक आवाजें निकल रही थीं.

हम दोनों के घर आस पास होने के कारण हम दोनों अक्सर मिल जाया करते थे. मैंने पूछा- क्या आप बता सकती हैं मुझे कि इस एड्रेस पर कैसे पहुंचा जा सकता है?फिर मुझे उसने मेरे को बताया कि यह पता तो काफी दूर है … उधर पहुंचने में आपको काफी समय लग जाएगा.

मेरा लंड एकदम से सिकुड़ गया और कंडोम के बाहर कल्पना का वीर्य लगा हुआ था. इतना कह कर मैंने फिर से उसके मुंह को अपने लंड पर दबा दिया और उसके सिर को पकड़ कर जोर जोर से अपने लंड की मुखमैथुन उससे करवाता रहा. चिन्ना- अरे बेटी, मैं तो कम से कम 20 मिनट तक तुम्हें ऐसे ही चोद सकता हूँ.

चूत में लन्ड डालते हुए

रीना के चेहरे पर मुझे कहीं भी किसी प्रकार की ग्लानि या शर्म नहीं दिख रही थी.

मैंने लाइट जलायी तो बहू बेड पर नंगी लेटी ऐसी लग रही जैसे कोई जलपरी मेरे बेड पर लेटी है. पैसेंजर ट्रेन की रफ्तार से शुरू हुई चुदाई जब राजधानी एक्सप्रेस की स्पीड तक पहुंची तो मेरा लण्ड अकड़ने लगा. मेरी उम्र 40 साल है, मेरे लंड का साइज 6 इंच है।मैं एक कॉल बॉय हूं मुझे आंटियां भाभियाँ और अकेली रह रही लड़कियां या फिर कोई भी विधवा कॉल करके बुलाती हैं.

लेकिन जब मैं सोने ही वाला था तभी मैंने देखा कि मेरा हाथ मनीषा के हाथ में है और मनीषा मेरे हाथ को जोर जोर से दबा रही है. आह्ह … लंड जब उसकी कोमल गांड में रगड़ खा रहा था तो ऐसा मन करता कि उसके जिस्म के हर छेद को चोद कर चौड़ा कर दूं. नंगा फोटो नंगाये सुनकर मैंने ताबड़तोड़ 20-25 धक्के खींच खींच कर लगाए और अपना सारा माल उसकी चूत में ही उगल दिया.

उसकी गांड में मैं जीभ से चाट रहा था और इसी दौरान वो खुद ही अपने हाथ से अपनी चूत को सहला रही थी. उन्होंने मुझसे कहा- प्लीज, एक बार ट्राई करो ना!मैंने उनसे कहा- ठीक है.

मौके की नजाकत देख कर मैंने उसके होंठों को चूस लिया और उसकी चूचियों को दबाने लगा. करोना की चूत से भयानक बहाव के कारण चड्डी पूरी गीली हो गई थी। करोना की हालत सूखी जमीन पर पड़ी मछली जैसी हो गई थी. पहले तो मैंने उस पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया, लेकिन जैसे ही बस चलने लगी, तो ट्रैफिक की वजह से बार बार ब्रेक लग रही थी.

उसके बाद उसने अपनी जीभ मेरे चूत में डाला … वो अहसास मैं बयां नहीं कर सकती … मुझे जन्नत का सुख मिल रहा था. भाभी से मैंने कहा- हां, आज दीदी की बारी है पापा के लंड से चुदने की. चूत टाइट थी इसलिए पहली बार में लंड का सुपाड़ा अंदर न जाकर चूत पर से फिसल गया.

अब तक मेरी चूत कामवासना से पानी छोड़ कर गीली हो चुकी थी और लंड लंड पुकार रही थी.

मैं मन ही मन खुश हो रहा था मैं एक ठकुराइन की चूत चुदाई करने में कामयाब हो गया था. अब मेरा लौड़ा दीदी की तरफ था और नन्दिनी की गांड मेरी तरफ होने की वजह से जैसे ही वो पीछे को सरकी, तो मेरा लौड़ा उसकी गांड को टच करने लगा.

कमर से ऊपर तनी हुई चूचियों का नाप 36 इंच है और बीच की बलखाती हुई कमर 32 इंच की है. थोड़ी देर में मैंने अपना एक हाथ रूबी की तरफ उठाकर उसके कंधे में रख दिया, जिससे अब वो पूरी तरह मेरी तरफ आ गई. मीनू ने लगभग गिड़गिड़ाते हुए कहा- भाई, आज आपको अपना लंड हिलाना ही पड़ेगा.

उसके पूरे बदन में एक झुरझुरी सी दौड़ गई और वो शरमाते झिझकते धीरे से चिन्ना की सख्त गांड पर अपने नाजुक और कोमल चूतड़ टिका कर बैठ गई।क्योंकि चिन्ना की पूरी गांड सख्त काले बालों से ढकी थी और उसने एक पतली से लुंगी ही पहनी थी. दोस्तो, मैं आपको एक बात बोलना चाहता हूँ कि अगर लाइफ में कभी आप पहली बार चुदाई करोगे न … तब आपके मन में भी बार बार चुदाई का ख्याल आएगा. इस बार मेरी बहुत से लौड़ों, शायद एक दर्जन से भी ज्यादा, से चुदाई हुई थी.

हिंदी में बीएफ सेक्सी फिल्म वीडियो में मैंने बाथरूम में जाकर उनकी पैंटी पर कई बार मुठ मार कर वीर्य गिराया है. लण्ड के इस रूप को देखते ही करोना बोली- ओह इतनी बड़ी सू सू!उसकी इस बात को सुन कर चिन्ना की हंसी निकल गई और वह हँसते हुए बोला- बेटी, सुसु तो बच्चों की होती है, इसे तो लण्ड या लौड़ा कहते हैं.

सेक्सी गाने सॉन्ग

जब इतने से कुछ नहीं हुआ, तो मैंने सोचा कि इतने से काम नहीं बनने वाला है. उन्होंने मुझसे कहा- मैं अपने लंड का पानी तुम्हारे मुंह पर गिराना चाहता हूं. मैंने उसको फेसबुक पर मैसेज करने की सोची लेकिन उसका फेसबुक अकाउंट भी बंद हो गया था.

पहले मैं बॉलीवुड हीरोइन की नंगी फोटो देखता था, फिर मैंने सेक्स कहानी पढ़नी शुरू की. करोना की चीखें रोकने के लिए एक हाथ करोना के मुँह पर रखा एक हाथ से करोना का एक निप्पल पकड़ा और आगे झुक कर मुँह में दूसरा निप्पल पकड़ कर चूस लिया. एक्सएक्सएक्सएक्ससीउसने मुझे कस गले लगाया और लोअर के ऊपर से ही मेरा लन्ड दबाने लगी।फिर बिस्तर पे हम मस्ती करने लगे।उसने अपनी टॉप उतार दिया और मेरी टीशर्ट, फिर अपनी समीज और मेरा बनियान.

फिर उसने मेरा टॉप खोला और ब्रा निकालते ही कहने लगा- ये तो मेरी उम्मीद से ज़्यादा बड़े निकले.

वो मान गयी और कहा कि वो अपनी एक सहेली को भी साथ लेकर आएगी।मैंने कहा- चलो ठीक है. हनी की बांह पकड़कर उसे कुर्सी से खड़ा करते हुए मैंने पूछा- ये क्या देख रही हो?हनी आँखें नीचे किये चुपचाप खड़ी रही.

उसके लंड से थोड़ा पानी आने लगा था जिससे उसके लंड की चमड़ी बड़े आराम से आगे पीछे हो रही थी. मैंने अपने समधी से कहा कि मेरी बड़ी इच्छा थी कि अंजू की शादी के बाद अपनी बेटी व दामाद को देवी यात्रा कराऊंगा. कोई दस पंद्रह मिनट के बाद मेरे को अजीब सा फील होने लग गया और मेरा लंड भी खड़ा हो गया.

मैं तैयार हो कर सीधे अपनी फ्रेंड के रूम में चली गयी और कुछ देर हम दोनों ने बातें की.

वो बेहद छटपटा रही थी … लेकिन उसका मुँह बंद होने की वजह से कुछ बोल नहीं सकती थी. अगर हमारे परिवार में इतनी खूबसूरत लड़कियां हों, तो क्यों कोई बाहर की लड़की को चोदना चाहेगा. अपनी तरफ आने का इशारा करते हुए मैंने कहा- अपना कान इधर लाओ, कान में बताऊंगा.

भोसरी गांव कहां हैमैंने उसकी आह और कराह को दरकिनार करते हुए दोबारा से ताकत लगाते हुए उसकी चूत में अपना लंड घुसाया, तो इस बार लंड अन्दर तक घुसता चला गया. उसने चमन को कहा- चोली पर दोनों साइड में आधा आधा इंच तुरपाई कर दे, तब तक मैं इसके लहंगे की फिटिंग देखता हूं.

बीपी भाभी

अभी मैं चीखती या चिल्लाती, इससे पहले उसने अपने एक हाथ को मेरे मुँह पर रख दिया और एक हाथ से मुझे पकड़ लिया. आपकी याद तो बहुत आती थी लेकिन मुझे यहां पर आने के लिए समय ही नहीं मिल पा रहा था. तीन पैग पीने के बाद वो अपना लौड़ा सहलाते हुए बोले- अंजलि, तू एकदम हॉट एंड सेक्सी माल है … मेरी बीवी भी इतनी सेक्सी नहीं है.

जैसे ही भाभी मेरे पास आईं, मैंने फट से भाभी का हाथ पकड़कर पीछे की तरफ़ घुमा दिया. जब भी रचना अपना पूरा शरीर टाइट करती थी, उसकी चूत से गर्म गर्म पानी निकलता था. मैंने अपना लंड बहू की चूत पर लगाया तो बहू ने खुद लंड पकड़ के अपनी चूत में डाल लिया.

मैंने उसे हग किया और समझाया कि अब रोने से कुछ नहीं होगा, तुम परेशान ना हो. ध्यान रखना कि कोई देखे नहीं, मैं सबको खिला कर रात में सोने के लिए आऊंगी।मैं रात के खाना खा कर पूजा के साथ बातें करते हुए निधि के आने का इंतज़ार कर रहा था. मैक्सी को मैं अब उसके कमर के ऊपर तक ले आया और उसकी चूत नीचे से नंगी हो गयी थी.

जब मैंने देखा कि उसकी चूत से सोमरस की धार बह रही थी तो मैंने भी मौका सही समझा. बोला ना तुझे कि बहुत दिनों बाद लंड रही हूं। तू भी तो कुछ समझा करता बस तुझे तो चूत दिखी और तूने फाड़ डाली।”चल कोई नहीं। ऐसा कर … मेरे ऊपर आ जा, थोड़ी देर मेरी चूचियों को चूस।”मैंने ऐसे ही किया.

मैं माया से बात तो कर रहा था, लेकिन मेरी बार बार नज़र उसके चुचों पर जा रही थी.

उसके पेट को चूमते हुए जैसे ही मैंने अपनी जीभ उसकी नाभि में डाली तो वो तेज सी आह्ह के साथ उचक गयी. भोसड़ा दिखाइएउसके बाद भी वह इस तरह की अजीबोगरीब हरकतें मेरे जिस्म के साथ करते रहते हैं. भाभी की ब्रासेजल लंड के ऊपर थूक रही थी और उस थूके हुए लंड को अपने मुंह में ले रही थी सेजल अपने ससुर के अंडों को भी चाट रही थी. वो अपनी पैंट पहनते हुए बोला- साली रांड अभी ऐसे ही लेटी रहना … अभी बारी बारी से तुझे सब आकर चोदेंगे.

और कभी बीच बीच में उनका लड़का आ जाता है।फिर जब चाय बन गई तो हम दोनों सोफे पर बैठ कर चाय पीने लगे.

उन्होंने अपनी टांगों से मुझे जकड़ लिया था और अपने हाथों से मेरी कमर को और बस चाह रही थी कि मैं उन्हें छोड़ूँ ना।बस मैं उन्हें ऐसे ही चोदता जा रहा था. मैं यह कहानी मुख्यतः उन लोगों के लिए लिख रहा हूँ जो लोग समझते हैं कि एक लड़का और एक लड़की सिर्फ दोस्त नहीं हो सकते. चूंकि उसका मुंह बिस्तर में दब सा गया गया था इसलिए उसकी सिसकारियां दबे हुए से रूप में बाहर आ रही थीं.

जब मैं तौलिया बंद कर बाथरूम से निकली तो मैं सामने से साफ़ दिख रही थी. अपना लंड मैंने उनके मुंह की तरफ बढ़ा दिया वह मेरा लंड मुंह में लेकर जोर जोर से चूसने लगी. अब उसने मां के बालों को पकड़ा और अपनी ओर खींचा और अपने लंड को सटासट मां की चूत के अंदर घुसाता चला गया.

ललिता भाभी की चुदाई

यहाँ तक कि जब तक चुनाव प्रचार का काम चलेगा, मैं आपकी पर्सनल रंडी बन कर रहूँगी. माँ!तभी मैंने उसके ऊपर लेटकर उसके होंठों को अपने होंठों में ले लिया और जोर से दो तीन धक्के मारे. उसके बाद चिन्ना ने बैल की तरह जोरदार डकार से मारी और फिर सबकुछ शांत हो गया।करोना का सारा शरीर उत्तेजना के मारे बुरी तरह काँप रहा था, उसका रोयां रोयां खड़ा था, हलक सूख चुका था, चूचियां कड़क हो गई थी.

मैं- क्या?श्वेता- भैया ये आपका सुसु है न!मैं- नहीं नहीं … कुछ नहीं है.

उसने मेरी छाती को देखा और जब मेरे हाथ मेरी पैंट को खोलने के लिए चले तो उसने अपने चेहरे को चादर में छुपा लिया.

इससे पहले कि वो संभल पाती मैंने उनको पेट के बल लिटा दिया और उनकी गर्दन और पीठ को चूमने लगा. मैंने टी टी से गुजारिश भरे अंदाज से कहा- साहब, जो रिकार्डींग करी है, मुझे भी दे दीजिए. बड़े स्तन वाली महिलामैं उसके जवाब को सुनकर हैरान हो गया … और बोला- वोअहह … कहाँ छुपा रखा था इस आइटम को अभी तक!शिल्पा- और क्या!और उसने गर्व से अपना सीना चौड़ा कर दिया … मैंने उसके बूब्स को हल्के से दबा दिया।मैं- हमने इतना कुछ कर लिया, पर अभी तक किस नहीं किया.

मेरी माँ ने मास्टर की बेटी तनु को भी बहाने से हमारे घर बुला लिया था. थोड़ी देर में बहू बाहर आयी तो मैंने उसे देखकर चौंकने की एक्टिंग की- अरे बहू, तुम कब आयी?बहू बोली- डैडी जी, थोड़ी देर हुई है. एक होटल में मैंने ऑनलाइन बुकिंग की, मैंने सिंगल कमरे में दो अलग अलग बेड वाला बुक कर लिया.

पहले तो मैंने मना किया, लेकिन फिर उसने बोला कि भाई चलो कोई दिक्कत नहीं है … आप सुबह निकल जाना. तभी वो सामने वाला वेटर भी मेरे पास आया और बोला- क्या मैं भी आपको चोद लूं?मैं कुछ नहीं बोली.

मैंने पूछा- मामाजी और क्या करते हैं इनके साथ?वो बोली- इनको दबाते हैं.

इसी बीच मैं एक दिन उससे चैट कर रहा था, तो हमारी बातें सैक्स रिलेटेड होने लगीं. मैंने कल्पना की चूत को ऊपर से नीचे जीभ से तीन चार बार चाटा और उसकी चूत में एक उंगली डाल दी. उसके बाद उन्होंने मेरी अंडरवियर को लगभग खींचते हुए मेरे जिस्म से अलग किया.

काजल राघवानी के सेक्स मैं लगातार बिना रुके उसकी चूत और उसकी चूत के दाने को चूस रहा था और अपनी जीभ को उसकी चूत में जितना अन्दर तक हो सकता था, अन्दर बाहर अन्दर बाहर करके उसकी चुत को अपनी जीभ से छोड़ रहा था. उसकी इस हरकत पर करोना फुंफकार उठी और बदला लेने को आतुर नागिन की तरह लाल लाल आँखों से चिन्ना की और घूरने लगी.

दोस्तो, आपको मेरी कज़िन सिस्टर सेक्स स्टोरी कैसी लगी मुझे इसके बारे में बताना मत भूलना. और अपनी टीशर्ट और ब्रा को उठा कर अपनी चूचियों के ऊपर कर दिया।मैंने निधि को गमछे के ऊपर लिटा दिया और उसकी बायीं चूची के निप्पल को अपने मुहँ में लेते हुए बोला- इसके नीचे मेरी जान का दिल है, जो सिर्फ मेरे लिए धड़कता है।मैं निधि की बायीं चूची को पी रहा था और उसकी दायीं चूची को दबा रहा था. उसने तौलिये से मेरी हेल्प की और मैंने भी इसी बीच अपना लंड कई बार उसके टच किया.

कोमल भाभी सेक्सी वीडियो

मैंने कुछ देर तक आंख बंद करके अपनी बुर में ज़ोर ज़ोर से उंगली की और कुछ देर बाद झड़ गयी. मेरा लंड उछाले मार रहा था तो मैंने उसे धीरे से बिस्तर पर लिटा दिया और उसके बगल में लेटकर उसे फिर से और ज्यादा गर्म करने लगा. मैंने कहा- कहां पर दर्द हो रहा है?उसने कहा- जो आप पकड़ कर दबा रहे हैं न.

उसको लिटा कर मैंने बहन की चूत पर अपनी जुबान का जादू चलाना शुरू कर दिया. लेकिन हद से ज्यादा भीड़ हो जाने के कारण मुझे नीचे बैठने का मौका ही नहीं मिला.

मुझे लगा था कि वो बस यूं ही सोने का ड्रामा करती रहेगी, पर थोड़ी ही देर में उसने मेरी टी-शर्ट को पकड़ लिया, मेरी तरफ मुँह कर लिया और मेरे से चिपक गयी.

उसने कटोरी को अपनी चूची के नीचे रखा और अपने बूब्स को दबा दबा कर दूध निकालने लगी. मैंने उसकी दोनों टाँगों के बीच में जगह बनाई और अपना लन्ड उसकी चूत पर सेट कर धक्का लगाया. मेरा मन करने लगा कि मैं उसे स्टेज पर पटक कर चोद दूं।स्टेज पर जयमाला का प्रोग्राम खत्म होने के बाद मैं खाना खाने चला गया.

मैंने उसकी गांड पर हाथ फेरते हुए उसकी एक टांग को मोड़ कर अपनी कमर पर रख लिया … और फिर उँगलियाँ उसकी गांड की दरार से ले जाते हुए चूत पर फेरने लगा. वो मुझे हटाने का ज़रा मरा प्रयास करती रही लेकिन उसका विरोध ज्यादा प्रबल नहीं था. मैंने बहुत मिन्नतें की लाइट बंद करने की या फिर कम करने की लेकिन उन्होंने नहीं सुना.

दीदी ने गुस्से से मेरी तरफ देखा और कहा- पहले ये बता कि ये वीडियो तुम्हारे पास कहां से आया?मैंने हिचहिचाते हुए कहा- लैपटॉप में से.

हिंदी में बीएफ सेक्सी फिल्म वीडियो में: फिर सभी लोग शादी वाली जगह जाने लगे थे, मैं भी उन्हीं में से किसी रिश्तेदार की एक गाड़ी से शादी की जगह पर आ गई. फिर अगले दिन सुबह के 10:00 बजे भाभी के पास में गया और उनसे बोला- आपको कैसा लगा?उन्होंने बताया- मुझे बहुत अच्छा लगा.

यह कहानी दो बहनों में सेछोटी वाली बहन की चुदाईकी है जिसमें मैंने उसे उसी के रूम में जाकर चोदा।जिस मकान में मैं किराए पर रहता था, वो तीन मंजिला मकान था. मैंने उसको घुमाकर पीछे से अपनी बांहों में भर लिया और अपने दोनों हाथों से उसकी चूचियों को साड़ी के ऊपर से ही दबाते हुए उसकी गर्दन को चूमने लगा।निधि के मुख से सिसकारी निकलने लगी. वो बोली- धत भैया आप भी!फिर मैंने आफ्टर शेव अपनी हथेली में लेकर उसकी बुर पर लगाया, तो वो मचल उठी.

इसी उधेड़बुन में अनायास ही उसके हाथ चिन्ना अंकल के लण्ड की तरफ बढ़ गए.

मैंने मम्मी को चुदाई की नजर से देखा तो पाया कि 5 फुट 5 इंच कद, गोरा चिट्टा रंग, भरा बदन, मस्त चूचियां, मोटे मोटे चूतड़. जैसे ही मैं कमरे में अपना बैग लेने गया तो वहां पर सिम्मी मेरा बैग पकड़े मेरा इंतजार कर मायूस खड़ी थी. मैंने उसके बालों को पकड़ कर उसके सिर को पीछे खींच दिया तो उसे दर्द हुआ और उसके गुलाबी होंठ खुल गये.