वीडियो ब्लू सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,मारवाड़ी सेक्सी मारवाड़ी सेक्सी चुदाई

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी बीएफ मजेदार: वीडियो ब्लू सेक्सी बीएफ, मैंने उसे अन्दर बुलाया और बधाई देते हुए बोला- कैसे आना हुआ?वो बोली कि आपको मिठाई खिलानी थी.

सेक्सी mp3 सेक्सी वीडियो

मैं बोल पड़ा कि आप मुझे चोदने दो बदले में मैं आपको पैसे भी दे दूंगा. फोटो लड़की का सेक्सी वीडियोमुझे अपनी बहू की कैमल टो बहुत सेक्सी लगी तो मैंने अपना स्मार्ट फोन निकाल कर उसकी पैंटी की एक फोटो खींच ली.

क्यों न हम लोग बीच पर घूमने चलें।मुझे भी उसकी बात अच्छी लगी और हम दोनों कलंगुट बीच पर आ गए।बीच का मौसम वाकयी बहुत सुहावना था। हम दोनों ने एक रेस्टोरेंट पर जाकर बैठ गए और नाश्ता करने लगे।सामने समुद्र के किनारे बड़ी रंगीनी थी. सेक्सी चूहाखैर मैंने ढेर सारा थूक उसकी बुर पर लगाया और उसके मम्मों के ऊपर लंड लाकर कहा- मेरे लंड को अपने थूक से भर दो.

तो क्या होगा और मेरी नियत नहीं ख़राब हुई है बल्कि आपको देखकर मेरा लंड बिगड़ गया है.वीडियो ब्लू सेक्सी बीएफ: मुझे बड़ा ही मजा आ रहा था, कुछ देर तक इसी तरह उसकी चूचियों को लंड से चोदता रहा.

लेकिन अगले दो दिन मैं उसका इंतज़ार करता रहा और अपने लंड को समझाता रहा कि चिंता मत कर, चूत का इंतज़ाम हो गया है और मुठ मारकर सो जाता.जैसे ही मुझे लगा कि मेरा होने वाला है मैंने अपनी स्पीड तेज कर दी और मैं उसके अन्दर ही झड़ गया और उसके ऊपर से हट गया.

इंग्लिश मूवी हिंदी में सेक्सी - वीडियो ब्लू सेक्सी बीएफ

वो बोले- अब मेरा लंड रस निकलने वाला है!और बड़े जोश में मेरे कंधे को पकड़ कर बोले- आरती, ले अब!और जम के धक्के मेरी गांड में लगाते हुए अपना गरम वीर्य मेरी गांड में भर दिये.मैं जब उसके ऊपर से हटा तो देखा कि उसकी बुर से खून के साथ साथ कामरस भी निकल रहा था.

हाय राम रे…यही मेरे मुँह से निकल रहा था और वो था कि मेरी चूचियां ही दबाता चला जा रहा. वीडियो ब्लू सेक्सी बीएफ मैंने बहुत बारीक लाइन वाली पैंटी पहनी थी जिसमें सिर्फ पुसी की लाइन छुपे, तो मेरे पुसी के बाल थोड़ा बड़े थे, वो भी दिख रहे थे।मैं बाहर निकलने में शरमा रही थी तो भाभी ने बोला- चलता है आरती, यहां कोई नहीं, सिर्फ लेडीज़ हैं और पापा लोग!जैसे ही मैं बाहर निकली और कपड़े जहां रखे थे, वहां पहुंची तो वहां कपड़े वाला बैग नहीं था।मैंने भाभी को आवाज लगा दी- भाभी कपड़ों का बैग नहीं है.

आंटी ने जोर से आँखें भींच ली थी, मेरी इस हरकत पर उन्होंने मुंह इधर उधर फेंक कर साथ देने से मना कर दिया.

वीडियो ब्लू सेक्सी बीएफ?

हट पहले मुझे लंड मुँह में लेने दे?”मम्मी ने तुरंत ब्रायन का लम्बा मोटा लंड अपने मुँह में ले लिया. मैंने ऑटो वाले को अपना एड्रेस बताया तो कमल ने कहा- कितने पैसे हुए?कमल को मना किया मैंने पर वो नहीं माना, उसने ऑटो रिक्शे वाले को पैसे दे दिए. अन्तर्वासना की कामवासना से भरी सेक्सी सेक्सी फ्री चुदाई स्टोरीज पढ़ने वाले मेरे प्यारे दोस्तो, मैं आज आपके सामने अपनी रियल सेक्स स्टोरी लेकर आया हूँ, मुझे पूरी उम्मीद है कि मेरी कामुकता से भरी चुदाई की कहानी आपको पसंद आएगीमैं रमनदीप, हिसार हरियाणा का रहने वाला हूँ। मेरी उम्र 19 साल है, कद 5 फुट 7 इंच, मेरे लण्ड का साइज 6.

मैं भी अपने होश खो बैठा और उसकी चूत मसलने लगा। फिर मैंने अपना लण्ड उसको पकड़ा दिया. भाभी के मुँह से ऐसे बोल सुन कर में और उत्तेज़ित हो गया और अपना लंड अन्दर डालने की कोशिश करने लगा. मैंने और जोर से आंटी के चूतड़ों को थप्पड़ मारा और उनकी गांड में उंगली पेल दी.

यह सुनकर वो मुस्कुराने लगीं और बोलीं- क्या तू मेरे साथ सेक्स करेगा?यह सुन कर मैं बहुत खुश हुआ, मुझे विश्वास नहीं हो रहा था कि चाची मुझसे चुदना चाहती हैं. दो बजे छुट्टी के बाद मैं निकल रहा था कि निर्मला जी ने आवाज दी- अतुल रुको, मुझे कमला मार्केट जाना है कुछ सामान लेना है, मैं स्कूटी नहीं लाई हूँ, तुम अपनी गाड़ी से ले चलो. अब तो आलम ये हो गया था कि ममता हो न हो, मैं उसका नाम लेकर मुठ मारने लगा.

मेरी चूत ने वरुण के लंड को लीलने की चाहत दिखा दी थी, मेरी चुत पानी छोड़ने लगी थी. फिर मम्मी को भी मजा आने लगा, अब वो भी नीचे से अपनी कमर उछाल रही थीं.

मैंने जाकर अपने कपड़े वहां रखे और दोनों कमरे और बाल्कनी सब कुछ देख लिया.

मैंने देर न करते हुए भाभी को चित लिटाया और अपना लंड निकाल कर उनकी चूत पर रख दिया.

उसकी फ्रेंड भी दिखने में एकदम मस्त थी, पर पता नहीं क्यों उस दिन मुझे अपनी बहन के अलावा दूसरी कोई लड़की अच्छी ही नहीं लग रही थी. तुम्हें किसी ने रोका है क्या? और मुझे गांव के अन्दर से होकर ले चलना ताकि मैं सभी लोगों से मिल सकूँ. उसके होंठों को चूसते चूसते मेरा हाथ उसकी चूत की ओर जाने लगा और मैंने उसकी लेगी में हाथ डाल दिया.

” की आवाजें निकलने लगी थी। अब मैं ऊपर से चूमते चूमते श्रुति के शरीर के नीचे की ओर आने लगा और जैसे ही मैं कमर के नीचे आया तो उसकी साँसें तेज होने लगी।मैंने उसकी पैंटी निकाल दी और पैरों को फैला दिया। एडल्ट फिल्मों में तो बहुत देखा था लेकिन आज हकीकत में भीचूत के दर्शनहो ही गए।मैं उसके चूत को चूमने लगा. मैंने कहा- छाया जी, फिल्मों में तो लड़की एक ही बार में माँ बन जाती है. दीदी के बूट में लगे नुकीली कीलों की मार से गुलाम की गांड पर कट आ गए थे, जिससे खून रिस रहा था.

अब मुझसे बर्दाश्त नहीं हो पा रहा था, मैं चीखने लगी और उनके बालों को पकड़ कर और दबा रही थी.

मेरे पास मेरे फोन में छाया का फोन नम्बर नहीं था तो मैंने पूछा- कौन?त़ो आवाज आई- मैं हूँ छाया. दोस्तों ये मेरी पहली पोर्न कहानी थी, आपको अच्छी लगी हो तो मुझे जरूर बताना आपके मेल का इन्तजार करूँगा. फिर मैंने उसे प्यार से चेयर पे बैठाया, मेरी नजर उसकी चूत की बंद कली पर पड़ी.

मैं मुस्करा दिया और उन्होंने बताना शुरू कर दिया- आप जानते हैं हनुमंत सिन्हा तथा बलवंत सिन्हा दोनों भाई एक साथ रहते हैं. अब तक आपने मेरी और मेरी मम्मी की एक साथ चुदाई की कहानीमेरी और मम्मी की चुदाई की क्सक्सक्स मूवी-1में पढ़ा था कि मेरी मम्मी उस नीग्रो का लंड चूस रही थीं और उनकी ब्लू फिल्म बन रही थी. मैं वहां गया तो उन्होंने कहा कि यहां मुझे अच्छा नहीं लग रहा, कहीं कोई अच्छी जगह है, जहां कोई ना हो.

विवेक बेड के नीचे नंगा खड़ा हो गया और कामिनी की गांड के बल उसको एक झटके में अपनी गोद में उठा लिया.

अब मैंने भी चाची को अपनी बांहों में भर लिया और चाची ने मेरे लंड को सहलाना शुरू कर दिया. ‘मैं भी तुम्हें ऐसा ही मजा दूंगा, अभी मेरी गांड मारनी हो तो बोलो?’मुझे शाकिर की लेनी थी तो मना कर दिया.

वीडियो ब्लू सेक्सी बीएफ मैं भी मामी की चूत में हाथ फेरने लगा और वो भी मादक सिसकारियाँ भरने लगीं. फिर उन्होंने मेरी साड़ी उतार दी और मेरे पेटीकोट का नाड़ा खींच कर खोलने लगे.

वीडियो ब्लू सेक्सी बीएफ अगर कोई परेशानी हो तो मुझे या अवी को कॉल कर लेना और अपना नाम शालू ही बताना क्योंकि उसकी गर्लफ्रेंड का नाम शालू ही है ओके बाय. मैं उनके मम्मों को लगभग खा ही जाना चाहता था, पूरे मम्मों को मुँह में भर लेना चाहता था.

मैंने उनको उकसाते हुए कहा- देख क्या रहे हो सालो? आ जाओ और चोदो मुझे दोनों साइड से! और लंड है तो ले आओ… आज सब के सब ले लूंगी!तुरंत एक बंदा नीचे लेटा और उसने मुझे अपने ऊपर खींच कर अपना लंड मेरी चुत में घुसा दिया और दूसरे ने पीछे से अपना लंड मेरी गांड में ठोक दिया। मेरे मुँह से किलकारी निकल गयी.

शादी में नंगा नाच

मैं अब क्या करती एक तरफ अवी चलने कि जिद कर रहा था और दूसरी तरफ ऐसी ड्रेस थी. मुझे काफ़ी दर्द हो रहा था, मैं कामुक सिसकारियां निकाल रही थी और चुदाई के मज़े ले रही थी. मैं कामुकता में इतनी मदहोश हो चुकी थी कि संजय की हर बात को माने जा रही थी.

फिर मैंने हिम्मत करके दीदी के कान में कहा कि दीदी आप बहुत सुंदर हो, मुझे आपसे प्यार हो गया है. तब मैंने उसको बोला- मेरा एक दोस्त है और उसको एक लड़की चाहिए, उस काम के लिए. कुछ देर बाद मेरी रफ़्तार में कई गुना बढ़ोत्तरी होने लगी और सुकुमारी भौजी भी मेरा भरपूर सहयोग देने लगीं.

अब मैं धीरे धीरे एक हाथ नीचे ले जाकर उनकी चुत को पेन्टी के ऊपर से ही सहलाने लगा.

मैं ऊपर से गुस्सा होते हुए कहने लगी कि ये क्या कर रहे हैं, पर शरीर दिमाग का साथ नहीं दे रहा था. जब ज्वाइनिंग लेटर लेने पहुँचा तो वहाँ पे बैठी ख़ूबसूरत महिला के दर्शन हुए. उसके जालिम धक्कों की वजह से मेरे मम्मे बुरी तरह से हिल रहे थे जिन्हें रोकने के लिए मुझे अपने ही हाथ में उनको पकड़ना पड़ा.

मुझे काफ़ी दर्द हो रहा था, मैं कामुक सिसकारियां निकाल रही थी और चुदाई के मज़े ले रही थी. फिर बुआ बोलीं- चलो देखते हैं कि संगीता भाभी को गुरप्रीत ने चोदा कि नहीं. तो मैं गाण्ड हिलाने लगी। यश मेरा इशारा समझ गया और झटके मारने लगा। मुझे अलग ही नशा सा छा रहा था और मैं यश से लिपटती जा रही थी। परन्तु मेरे भाग्य में चुदने का पूरा सुख नहीं लिखा था।”क्यों अब क्या हुआ?”थोड़ी देर बाद मुझे अपनी चूत में कुछ गिरता हुआ महसूस हुआ और यश मेरे ऊपर हाँफते हुए लेट गया। मैं नीचे से गाण्ड उचकाती रही.

तकरीबन सुबह 5 बजे मेरी आँख खुली तो मेरा सर दर्द से फटे जा रहा था, शराब का नशा अभी भी मुझ पर था. मैंने अब पूजा को सीधा किया, उसकी आँखें बंद थीं और आँखों के आंसू भी सूख गए थे.

कुछ दिनों बाद प्रिया के कॉलेज खुल गए और प्रिया को हॉस्टल भी मिल गया, तो प्रिया हमारे घर से चली गयी. किशोरियों या टीन गर्ल्स जैसी कमनीयता या आभा, ग्लो, दीप्ति या नूर कुछ भी कह लो; उसके जिस्म के अंग अंग से छलक रहा था. तो वो मुझे बहुत अच्छी लगती थीं, पर उनको मैंने कभी गलत नजरिए से नहीं देखा था.

मोना- अरे ये क्या हो गया? अब मैं क्या करूँगी?मैं- डोंट वरी डार्लिंग, मैं नया फोन लेकर तुम्हें दूंगा.

तीन बजे तक मैं घर आ गई और अमित के यहाँ जाने के लिए मैं तैयार होने लगी. मेरी बीवी मोना की उम्र 27 साल है और वो एक मदमस्त 36-28-38 की फिगर वाले जिस्म की मालकिन है. मंजरी अब जवान हो रही थी उसका बदन खिलने लगा था, तो उसके दूर के एक मामा के लड़के पुलकित की नजर उस पर पड़ी.

तभी मेरी माँ ने मेरे बालों को कस के पकड़ लिया और अपनी चूत को मेरे चेहरे पर कस के दबा दिया और उनकी सिसकारियाँ और तेज़ होने लगी. मैंने कहा- चिंता मत करो मैं सिर्फ लंड को तुम्हारी चूत पर सहलाउंगा, अन्दर नहीं डालूँगा.

वैसे एक बात बताऊँ आज तुम बहुत अच्छी लग रही हो, इतनी अच्छी कि मैं शब्दों में बयान नहीं कर सकता हूँ. भाभी को मैंने बहुत चोदा, इतना कि मैं जब दूसरी बार झड़ा तो भाभी के ऊपर ही गिर गया. ”अंकल की बात से मैं रोमांचित हो उठी, मेरे जिस्म में स्टीव के सहलाये जाने के कारण सिरहन सी हो रही थी.

जिओटीव्ही सेक्स

फिर लगभग आधे घन्टे बाद वो लड़का बाहर आया और मुझसे आकर सॉरी बोलने लगा.

मैंने पीछे से चाची की गांड में तेल लगाया और अपना लंड चाची की गांड पर सैट कर दिया. पर हर कहानी क्या सच में सिर्फ़ कहानी ही होती है? मेरा तो ख्याल है कि बिल्कुल नहीं… खैर! यह वार्ता फिर कभी… अब वापिस आते है अपनी कहानी पर!जिन पाठकों ने मेरी पिछली कहानी ‘हसीन गुनाह की लज़्ज़त’ नहीं पढ़ी है मैं उन पाठकों से अनुरोध करता हूँ कि इस रचना का संपूर्ण आनन्द लेने के लिए पहले आप मेरी पिछली कहानी पढ़ लें. मैं जाकर उसके रूम में बैठ गईअमित थोड़ी देर बाद तौलिया बांधे हुए आया तो मैं खड़ी हो गई तो उसने ऐसे ही मुझे गले से लगा लिया और कहा- काफी अच्छी दिख रही हो.

पुलकित ने पहले मंजरी को बेड पे बिठाया, उसके पाँव नीचे ही लटक रहे थे, फिर उसने मंजरी को लेटा दिया. मैं अपने आप को शान्त करके नाश्ता बनाने लगी, तब तक संजय भी नीचे आ चुका था और हॉल में मेरी बेटी के साथ खेल रहा था. सेक्सी वीडियो श्रीदेवी कीमैं- मेनका, मैं तुम्हारी चूत को प्यार कर लूँ?मेनका- अतुल, ये भी कोई पूछने की बात है अब तो मैं पूरी की पूरी तेरी हूँ… तू जो चाहे वो कर सकता है मेरे साथ!इतना कहना ही था कि मैंने एकदम अपनी गीली जीभ मेनका की चूत पर रख दी और ज़ोर ज़ोर से चूत को चाटने लगा.

मैंने दरवाजा बंद कर लिया, दोस्त वो ड्रेस एक पार्ट वाली थी मतलब उसमें टॉप और स्कर्ट अलग अलग नहीं थे. अब इस बात से मुझे डर लगने लगा कि क्या बात है, पर वो गेट कीपर के पास गया और कहा कि कोई भी मुझे पूछे तो कह देना कि बाहर गए हैं.

मैंने भाभी को खड़ा किया और दीवार के साथ लगा कर उनकी चूत में ज़ोर ज़ोर से झटके देने लगा. अब बाइक पर सबसे आगे में था, मेरे पीछे सोनी और उसके पीछे मेरा छोटा भाई. भाभी के पैर दरवाजे की तरफ थे इसलिए मुझे तो देख नहीं सकी, पर उनकी मस्त मखमली चूत और गांड का छेद साफ दिख रहा था.

मैं रोहण की पसंद की लाल रंग की ब्रा पैंटी पहन कर आ गयी और रोहण ने मुझे पूल में उतार लिया और फिर हम पूल में खेलने लगे. मैं उनकी फैमिली के साथ हिल मिल गया था, इस कारण मुझे भी अब अकेला महसूस नहीं होता था. मगर मुझे लंड को टच करना अच्छा लगने लगा और धीरे धीरे मैंने सुपारे को मुँह में भर लिया और चूसने लगी.

एक 18 साल के गर्म लौंडे के सामने पूरी नंगी हो चुकी थी।वो- चाची जी आपने हाथों.

इसके बाद उसने अपनी सहेलियों से जाने की पर्मिशन ली और मेरे साथ चल दी. वो भी मुझे देखता पा कर वहाँ से चला गया।फिर रात को मैंने उसे अपने कमरे में बुलाया.

फिर से मैंने पैर खींचा, तो भाभी बोलीं कि दवाई लगवा लो, जल्दी अच्छा हो जाएगा. तभी मेरी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ निकल गई, उसके लिप्स थे ही इतने सॉफ्ट और अंदाज़ भी अच्छा था लंड चूसने का; दीदी लंड की टोपी को ही लिप्स में लेके हल्के से आगे पीछे करते हुए चूसने लगी. मैं भी थोड़ा भावुक हो गया था और मैंने उससे सॉरी कहा, पर उसने मेरी कोई बात नहीं सुनी.

जैसे ही मैंने भाबी की चुत पर एक किस किया, भाबी मछली जैसे तड़पने लगीं. मेरे जाते ही शहजाद ने कहा- नसीम, आज संजय की तबीयत ठीक नहीं है, तो वो ऑफिस नहीं आ रहा. अब तो मेरे मन से पूरा डर निकल गया था, मुझे विश्वास हो गया था कि चाची मना नहीं करेंगी.

वीडियो ब्लू सेक्सी बीएफ मैंने उसे देखा तो उसकी आँखों में आंसू थे, पर होंठों पर एक मुस्कान थी. अब मैं चाची की चुची को नाईटी के ऊपर से चुसकने लगा और उनके निप्पलों को काटने लगा.

अंग्रेजी सेक्सी वीडियो इंग्लिश

और आनन्द जी आपने इन्हें बताया क्यों नहीं?आनन्द- मोना जी मैंने और रवि जी ने 3-4 महीने का डिसाइड किया था जो टाइम खत्म हो गया है. जैसे मैंने अपनी जीभ उनके निप्पलों पर फिराई, उनके मुँह से आह निकल गई और वो मेरा मुँह वहाँ से हटाने लगीं. मैंने भी अब धीरे धीरे कंधों को दबाना शुरू कर दिया और फिर बांहों की भी मालिश करना शुरू कर दी.

तभी मैंने सोचा कि एक बार स्कूल के बाथरूम में जाकर माँ वाली वीडियो देख लूं, तो याद आया कि मोबाइल घर ही छूट गया था. मैं कमल के लंड से चुद कर काफ़ी खुश थी कि आज आख़िर मेरी चुदाई हो गई. बहन की चुदाई सेक्सी स्टोरीमेरी यह कहानी मेरी गर्लफ्रेंड की मम्मी की चुत चुदाई की है, मैंने आंटी की चुदाई की.

भाभी की पैंटी के अन्दर हाथ डाल कर उसकी चूत की फाँकों को सहलाते हुए अपने दो उंगलियों को उसकी चूत के अन्दर घुसा दिया.

मैं भी बड़ा जोश में था, तो अपनी एक उंगली उसकी चूत के दाने पर रगड़ने लगा. धीरे धीरे मैं उसके पेट पर जीभ फेरता हुआ उसकी चुत तक आ गया और जीभ से उसकी चूत को चाटने लगा.

भाभी हंसने लगीं और बोलीं- मेरी जैसी क्यों?मैंने कहा- आप बेहद खूबसूरत हो और आप मुझे अच्छी भी लगती हो. बात आज से 6 महीने पहले की है, एक दिन रात को खाना खाते वक़्त शहजाद ने मुझसे कहा कि नसीम क्यों ना हम अपना ऊपर वाला कमरा किराये पर दे दें?मैं- क्यों. कहानी का पहला भाग :बीवी की चुत चुदाई मेरे दोस्त से-1मेरी कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा कि मैं अपनी बीवी को अपने दोस्त से चुदवाने के लिए एक निर्जन सड़क पर कार में ले गया.

मेरा लिंग प्रिया के नितम्बों की दरार के साथ साथ बाहर की ओर से प्रिया के नितम्बों के साथ रगड़ खा रहा था, प्रिया की दोनों टांगें मेरी साइडों से मेरे पीछे सीधे फैली हुई थी.

दीदी- सॉरी सन्नी, मैं बहक गई थी अमित की बातों में, लेकिन अब तुम बेफिकर रहो, अब मैं करण की किसी भी बात का गुस्सा नहीं करूँगी, जितनी फिकर मेरी वो करता है उतनी ही फिकर अब मैं करूँगी उसकी. मैंने विनोद को कुछ देर रुकने को कहा, पर वो कहने लगे कि स्वाति उसके सामने खुल नहीं पाएगी, इसलिए वो नहीं रुकेंगे. दीदी भी मस्ती से चुदवाने लगी थींअभी 15 मिनट हुए थे कि मेरा सारा जोश दीदी की बुर में निकल गया.

सेक्सी वीडियो विद ऑडियोआज मेरी जान निकाल दोगे क्या भाई?”तड़पती रीना की चुत में लंड डालकर मैं थोड़ी देर उसकी चुचियों को चूमता चाटता रहा. मेरी उससे बात कम ही होती थी और जब भी होती थी तो वो सिर्फ पढ़ाई लिखाई की ही बातें करता, जो मुझे बिल्कुल पसंद नहीं था.

नंगी सेक्सी चूत की चुदाई

हम थोड़ा आगे गए ही थे कि रुबीना ने मेरे गालों पर एक पप्पी की और बोली- अरविंद, आप हमें बहुत पसंद आए. मम्मी ने कहा- अंकित जल्दी से उठ कर नहा धो ले… आज राखी का त्यौहार है, देख तेरी बुआ और बहन तुझे राखी बाँधने के लिए तैयार हो रही हैं, तू भी हो जा…मैंने मन ही मन सोचा कि बहन के साथ तो अभी चार घंटे पहले मैंने पूरा त्यौहार मना लिया है. फिर अचानक मेरे लंड ने जैसे विद्रोह कर दिया और मेरे बदन ने रिफ्लेक्स एक्शन किया और अनचाहे ही मेरे जिस्म में हरकत हुई और मैंने बहूरानी के जिस्म को अपने आगोश में भर लिया.

वो चिल्ला रही थी… मैंने उसके मुँह पर अपना मुँह रख कर उसका मुँह बंद कर दिया और नीचे से लंड अंदर डालने लगा. रियल सेक्स स्टोरी जारी है, कहानी पर अपने विचार दे सकते हैं।मेरा ईमेल है-[emailprotected]. आप बोलिये? मैं बुरा नहीं मानूँगी, लेकिन जो भी बोलना है जल्दी बोलिए.

उसने भी वैसे किया वो मेरा लंड चूसने लगी और ढेर सारा थूक मेरे लंड पर लगा दिया. उन दिनों हमारे घर का मरम्मत का काम चल रहा था, इसलिए हम सभी एक फ्लैट में रहने आ गए थे. मैंने मधुरा से कहा कि मैं आपकी मदद करने के लिये ही यहाँ आया हूँ और अब तो हम फ्रेंड्स हैं, सो डोंट वरी.

कॉफी पीते पीते बोलीं- अतुल, कुछ कपड़े लेना छूट गए हैं, आप सिगरेट पी लो फिर दस मिनट में कपड़े ले कर चलते हैं. बहूरानी ने बर्थ से उतर कर कूपे की लाइट जला दी; रोशनी में उसका किसी चुदासी औरत जैसा रूप लिए उसका हुस्न दमक उठा… कन्धों पर बिखरे बाल… गुलाबी प्यासी आँखें… तनी हुई चूचियाँ… चूचियों की घुन्डियाँ फूल कर अंगूर जैसी हो रहीं थीं और उसकी चूत से बहता रस जांघों को भिगोता हुआ घुटनों तक बह रहा था.

शायद हमारे माँ बेटे के रिश्ते की शर्म के कारण! इसी कारण मैं भी ज्यादा खुल नहीं पा रही थी.

मैं भी इसका फ़ायदा उठा कर बाइक को बार बार ब्रेक लगा रहा था, तो भाभी ने भी फटाक से पूछ लिया- आज ज्यादा मजे आ रहे हैं क्या. डॉग सेक्सी चाहिएमैं- ठीक है, तो बस आप अपना सामान यहीं पर सैट कर लो और फटाफट नीचे आ जाओ खाना तैयार है. सुहागरात की सेक्सी ब्लू वीडियोफिर अंधेरे में कपड़ों की सरसराहट से मुझे कुछ यूं लगा कि वो साया स्त्री या पुरुष जो भी रहा हो, वो अपने कपड़े उतार रहा है. समधी जी अपने दोनों हाठों से मेरी दोनों चूचियां तेजी से दबाने लगे।‌‌मैं बोलने लगी- आआह… धीरे दबाओ ना…वो बोले- बड़ी मुश्किल से तुम आज ही तो मेरे हाथ लगी हो, आज तो मैं तुम्हें नहीं छोडूंगा.

काम बन गया तो चूत और जेब दोनों खुश।पर जैसे ही वो विक्रांत के ऑफिस में घुसने वाली थी उसने देखा कि विक्रांत फ़ोन पे हेडफोन लगा कर कुछ देख रहा है और देखते हुए पैंट के ऊपर से ही अपने लन्ड को सहला रहा है।वो समझ गयी कि विक्रांत पोर्न देख रहा है.

मेरी जम कर चुदाई आखरी बार किशोर ने की थी और वर्षा की भी तब हुई थी, उसको पन्द्रह दिन हो चुके थे, अब मेरी चूत फिर से लंड के लिये तड़प रही थी, मैं रोज टॉयलेट में मेरी चूत में मोमबत्ती डालती पर वो ठंडक नहीं मिलती जो लंड से मिलती है. मैंने पूछा- कैसे?तो बोली- अगले महीने वो 15 दिन के लिए बाहर जा रहे हैं और मैं तुम्हारे बीवी से बात करूँगी कि जब तब मेरे पति ना आ जाएं, तब तक क्या मैं आपके साथ रह सकती हूँ. जैसे ही मैंने पीछे से उनकी गदराई हुई गांड को ठुमकते हुए देखा तो मेरे होश उड़ गए.

मामी के पैर में मोच आने की वजह से वो नहीं जा रही थीं, तो मामा ने मुझको उनके पास रुकने को बोल दिया और वो सुबह के 5 बजे ही बाइक लेकर चले गए. करीब पौने घंटे तक उनको पीटने के बाद दीदी ने उन्हें खोल दिया और अपने बूट से तीनों को लंड पर लातें मारने लगीं. सर्दियों के दिन थे तो इसलिए अधेरा था और मैं नीचे से ऊपर वाले चौबारे में फूफा जी के पास चला गया.

इंडियन सेक्सी व्हिडिओ सॉंग

कुछ देर बाद ममता भी साथ देने लगी और नीचे से अपनी कमर उचका उचका कर चुदवाने लगी. राहुल ने अपना लंड जोया के मुँह में डाल दिया, जिससे अब उसके मुँह से आवाजें निकलनी बन्द हो गईं और उसकी आवाज अब अन्दर ही घुटकर रह गईं. कभी कभी हम किस करते, वो मौका देख कर मेरे मम्मों को दबा देता तो मैं भी उसके लंड को सहला देती.

मैं अन्तर्वासना का पक्का पाठक हूँ तो इसलिए में भली भांति जानता था कि एक बार झड़ने के बाद स्टेमिना बढ़ जाती है.

काफी देर तक चूमाचाटी करने के बाद वो मेरे कपड़े निकालने लगीं और खुद के कपड़े तो उन्होंने फाड़ ही डाले.

फिर मैंने दीदी से कहा कि दीदी पूरी नंगी देखना है, तो वो बोलीं- नहीं मुझे शरम आ रही है. हाथों-पैरों पर मेहंदी और झांजरें डाली हुई थीं, मैं नई दुल्हन बन कर आई थी।तभी मेरे पति का फोन ही आ गया, उन्होंने कहा- तुम भी यहाँ ही आ जाओ. सेक्सी वीडियो उल्लूकुछ देर उसने अपनी उंगलियों से मेरी चुदाई की तो मेरा संयम ख़त्म हुआ और मैं भरभरा कर झड़ गयी.

जैसे ही उनका गरम-गरम रस मेरी चूत में भरा, मुझे बहुत मजा आया। मैं बोली- राजेंद्र, तूने क्या कर दिया, कैसे गजब चोदा कि इस गजब का मज़ा दे डाला!इतने में अब मेरी पीठ को चूमते हुए राजेंद्र अंकल उठ गए. फिर हम लगातार एक दूसरे को किस करने लगे और मुझे पता ही नहीं चला कि कब मेरा एक हाथ उसके मम्मों को और एक उसके गांड को दबा रहे थे. ऑफिस वाली को नये तरीके से चुदने की चाहतआप सभी को मेरा नमस्कार, मैं बैंक में क्लर्क के पद पर कार्यरत हूँ.

मैं चुपचाप करण के रूम में चला गया और दीदी अपना काम करने लगी, मैंने सोचा अब दीदी से बात कैसे शुरू की जाए!तभी एक आइडिया आया, मैं 10 मिनट बाद बाहर गया और अपने मोबाइल को देख कर ज़ोर से हँसने लगा, इतना ज़ोर से कि किचन में दीदी को मेरी आवाज़ सुन जाए!और ऐसा ही हुआ, दीदी को मेरी आवाज़ सुन गई और वो बाहर आ गई. अब मीना जी ने खामोशी तोड़ते हुए कहा- अच्छा कर लेते हो, देखो सरदर्द बिल्कुल चला गया और 3 घंटा बैठे बैठे शरीर भी अकड़ गया था, अब आराम मिल रहा है.

उन्होंने कहा- फिर एक काम और कर दो, मेरे पैर और हाथ में बहुत दर्द हो रहा है, थोड़ी तेल की मालिश कर दो.

पर मैंने नाटक करते हुए कहा- यह आप क्या कह रही हैं? मैं आपके साथ ये नहीं कर सकता. मगर मैंने उन्हें ऐसे‌ ही दबाये रखा… मैंने हल्के से बस एक बार ममता जी के कम्पकपाते होंठों को चूमा‌ और फिर सीधा उनके चिकने बदन को ऊपर से चूमते हुए धीरे धीरे नीचे की तरफ खिसकने लगा. इस बात पर मैं बाहर गई और थोड़ी देर बाद अवी से एक बैग ले आई, जिसमें वो ड्रेस थी.

जानवर का ब्लू सेक्सी उन्होंने फिर अपनी आँखें बंद कर लीं और मैं आगे बढ़ कर उनको किस करने लगा. कोई भी स्त्री अंधेरे में भी किसी से चुदवा ले तो वो अपने पति और पर पुरुष में फर्क तो महसूस कर ही सकती है.

तो सपना ने अपनी जींस की बेल्ट को खोल दिया और मेरा हाथ पकड़ कर उसकी पेंटी के अन्दर कर दिया. अगले ही पल सुरेश ने रमेश से कहा- भैया, मैं काजल की चूत में अपना लंड डाल कर उसको चोदना चाहता हूँ. मैदान साफ देख मैंने रीना को बेड पर पीठ के बल लिटाकर उसकी चुत पर सवार हो एकदम से मस्त चुदाई करने लगा.

ब्लू पिक्चर दिखाइए वीडियो सेक्सी

मैंने पूछा- हम वास्तव में कहां जा रहे हैं?कुणाल- ट्रेन वाली आंटी के घर. शादी में जाने के कारण उसने लिपस्टिक, बिंदी, काजल और न जाने क्या क्या मेकअप किया हुआ था. ये सब अंकल ने इतना जल्दी अचानक किया कि मैं सम्हाल नहीं पाई खुद को, मैंने अंकल को बोला- मुझे छोड़ दो प्लीज़, मुझे जाने दो, मैं आपकी बेटी की उम्र की हूँ, प्लीज मुझे जाने दो! मैं चिल्ला दूंगी, मुझे छोड़ दो!मैं घबरा गई।अंकल बोले- सुना नहीं कि वो लोग रास्ते में क्या बोले कि क्या मस्त बीवी पाई है, जाते ही चोद देना, बहुत चुदासी है तुम्हारी बीवी.

मगर मैंने उन्हें ऐसे‌ ही दबाये रखा… मैंने हल्के से बस एक बार ममता जी के कम्पकपाते होंठों को चूमा‌ और फिर सीधा उनके चिकने बदन को ऊपर से चूमते हुए धीरे धीरे नीचे की तरफ खिसकने लगा. दीदी के इतने बड़े और गोल मम्मे, कम से कम साइज़ 36 साइज़ के तो होंगे ही.

वैसे तो मेरा परिवार बंगाल से है मगर अब दिल्ली में स्थापित हो चुका है.

हम एक ही सोसाइटी में रहते थे तो ये हमारे लिए ज़्यादा मुश्किल नहीं था. फिर मैंने प्रिया भाभी से पूछा कि भाभी अगले बेबी की प्लानिंग कब कर रही हो?यह सुन कर वो उदास सी हो गईं. ये एक सच्ची घटना है जो मेरी सग़ी चुत चुदाई की प्यासी चाची के साथ हुई.

उसने भी मेरे किस का स्वागत किया तो मैंने उसके लबों पर अपने लब रख दिए और उसे पागलों की तरह चूमने लगा. जैसे ही लंड पे चुत का पानी लग गया, मैंने लंड भाभी के चुत में डाल दिया. ये कहते हुए उसने मुँह छिपा लिया।मैंने उसके हाथ हटाते हुए बोला- कभी मना तो नहीं करोगी?नहीं.

उसने मेरे लंड को देख कर समझ लिया कि मैं उसकी गांड मारने की फिराक में हूँ.

वीडियो ब्लू सेक्सी बीएफ: मैंने कहा- अच्छा तो आज आपके दिमाग में वो ख्याल तो नहीं आ रहा है, जो मेरे दिमाग में तीन महीने से है?भाभी सीना उठाते हुए बोलीं- अगर तुम ‘वो. अब मेरी दोनों बहनों की शादी हो चुकी थी और मेरे बड़े भैया की भी छह महीने पहले शादी हो गई थी.

उसके लंड से वीर्य कभी भी निकलने को था, तो उसने झट से लंड बाहर निकाल लिया और हाथ से ज़ोर ज़ोर से हिलाने लगा. एक साफ़-सुथरा छोटा सा, बीच में से फूला सा V का आकार, जिस पर किसी रोम या बाल का नामोनिशाँ तक नहीं, जिसकी भुजाओं का ऊपर का खुला फ़ासिला तीन इंच से ज्यादा नहीं और बिलकुल मध्य में जरा सा नीचे की ओर गोलाई लेती एक पतली सी दरार जिस के ऊपरी सिरे पर से ज़रा सा झांकता भगनासा. नहाने के बाद मैं सिंपल ड्रेस पहन कर बैठी थी कि मुझे वो किस और डांस के समय कमर दबाना और होंठों को काटना और तारीफें सब ध्यान आने लगी और यही सोचते सोचते मैं फिर सो गई.

कार में अवी ने एक हाथ से मेरा हाथ पकड़ लिया, लेकिन इस पर मैंने कुछ नहीं कहा.

उनकी साड़ी नाभि के नीचे बँधी थी और ऑफ वाइट कलर की हाइ हील्स बेल्ली पहनी हुई थीं. अचानक दीदी ने करवट ली और उनका हाथ मेरे लंड पर आ गया, मेरी तो जान ही निकल गई, लगा कि जैसे जन्नत मिल गई. तभी बाहर से आंटी की आवाज आई- कल्याणी बेटी, क्या कर रही है?कल्याणी ने बोला- मैं रवि से कुछ सम सीख रही हूँ.