बीपी बीएफ एचडी वीडियो

छवि स्रोत,ब्लैक कॉक सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

ग्रुप की सेक्सी वीडियो: बीपी बीएफ एचडी वीडियो, मैंने सारे फोल्डर चैक किए, पिक्स के शो हिडन फाइल्स करके भी देखा, कहीं कुछ नहीं मिला.

भाभी चूदाई

दीदी ने एक बार सर घुमा कर देखा और बोलीं- वाह … बहुत बढ़िया लग रहा है … ऐसे ही करो. लड़की और कुत्ता की सेक्सीघर से हम करीब 8 बजे निकल गए और बस कुछ ही देर में मैं राजीव सर के घर पहुंच गई थी.

अमित के कहने पर मैं वैसी तैयार हुई … जिस तरीके से नई नई शादी हुई पत्नी पहली बार अपने पति के साथ सुहागरात मनाती है, उसी तरीके से मैं दुल्हन बन कर सज गई. ब्रदर एंड सिस्टर सेक्सतो दोस्तो, मेरी पोर्न फॅमिली सेक्स कहानी आपको कैसी लगी … प्लीज़ मेल करना न भूलें.

उसी समय मैंने अपना लंड कोमल के हाथों में दे दिया और उसके निप्पलों को चूसते मरोड़ते हुए उंगलियों से उसकी चूत से खेलने लगा; चुत के दाने को छेड़ने लगा.बीपी बीएफ एचडी वीडियो: मॉम ने मेरे लन्ड पर हाथ रखा और सुपारे पर जीभ फेरने लगी और मेरा लौड़ा गपक लिया.

मगर अलीज़ा के बारे में अभी ये कहना मुश्किल था कि वो मेरे लंड से चुदेगी भी या नहीं.काफ़ी समय ऑनलाइन बातें करने के बाद नन्दिनी ने एक दिन मुझसे कहा कि उसकी रूममेट घर जा चुकी है … और वो अकेली बोर हो रही है.

कूल फोटो डाउनलोड - बीपी बीएफ एचडी वीडियो

मैंने उससे कहा कि मैं आगरा आ जाऊंगा और उधर से साथ ही ग्वालियर आएंगे.उसकी गर्म सांसों ने जैसे ही मेरी चूत को छुआ, मेरा तो बहुत बुरा हाल हो गया था.

मैं अंदर डालता तो मेरा लण्ड मानो उसके पेट में अंदर जा रहा हो, बच्चादानी में टकरा रहा हो, ऐसा लगता था. बीपी बीएफ एचडी वीडियो मैं एक टेबलेट लेकर उनके रूम में गयी और उन्होंने मुझे नाइटी में देख लिया.

लेकिन लाख कोशिशों के बावजूद भी मैं रात होते ही फिर से अपने आपको अकेला महसूस करने लगती.

बीपी बीएफ एचडी वीडियो?

मेरी पिछली कहानी थी:ईमेल वाली गर्लफ्रेंड की चूत चुदाईमैं एक बार फिर से अपनी एक नई सेक्स कहानी के साथ हाजिर हूँ. खैर … मैंने दो दिन बाद से निशा को पढ़ाना शुरू कर दिया और किसी न किसी बहाने से अब रूपा भाभी को मुझे बुलाने का मौका भी मिलने लगा. लेकिन यह लड़की ऐसी थी कि क्या बोलूं!सोशल मीडिया पर मुझे एक दिन नन्दिनी नाम की एक लड़की का संदेश आया.

वो बोलीं- आह्ह आह्ह आह्ह … ऋषि जल्दी कर ले … कोई आ जाएगा और अब मेरे पैर भी दर्द कर रहे हैं. कुछ देर बाद मैंने सुशी जी को धक्का दिया और उनके मम्मों पर आ गया और मम्मों की मालिश करने लगा. मैंने कहा- क्या कर रही है यार? ये क्या हो गया है तुझे?अश्मि बोली- क्यूं, तुझे छूना नहीं है क्या इनको? उस दिन छत पर तो बहुत मजे ले रहा था इनको देखते हुए?मेरी बोलती बंद हो गयी.

[emailprotected]मैरिड वूमन सेक्स कहानी का अगला भाग:पति की गैरमौजूदगी में मेरी अन्तर्वासना- 2. आंटी आह आह करके मेरे सर को अपनी चुत में घुसेड़ लेने की कोशिश कर रही थीं. मैं दीदी के बाजू में ही लेटा था तो उनकी रसभरी चूचियों को ब्लाउज के ऊपर से ही दबाने लगा.

लेकिन लाख कोशिशों के बावजूद भी मैं रात होते ही फिर से अपने आपको अकेला महसूस करने लगती. जैसे ही सुशी जी ने मुझे पकड़ा … तो मेरे पूरे शरीर में करंट सा लगा और मेरा रोम रोम खड़ा हो गया.

उसकी गरम चुत में मेरा पिस्टन तेजी से अंदर बाहर होता हुआ दिख रहा था.

अब मैंने बुआ की चुत में अपनी दो उंगलियां डाल दीं और चूत में उंगली अन्दर बाहर करते हुए चुत को मजा देने लगा था.

फिर मैम ने पूछा- तुझे कैसी लड़की चाहिए?तो मैंने बिना सोचे समझे कह दिया- आपके जैसी. मैं उनकी दोनों चूचियों को बारी बारी से चूसने में मस्त था और बुआ धीरे धीरे अपनी कामुक आवाजें निकाल रही थीं- आह आ उह आह हां पी ले … आह कितना मजा आ रहा है … आह आज तो मार ही डाल … उम्म्म धीरे चूस. मेडिकल स्टोर से गोली और डॉटेड कॉण्डोम का बड़ा पैक लेकर आंटी के पास पहुंच गया.

मैंने भी देर नहीं की और फिर जल्दी से अपने कपड़े पहन कर रेडी हो गया. उसने पीछे आकर रश्मि की गांड में लंड पेल दिया और हौले हौले से गांड मारने लगा. उन्हीं दिनों मेरे दूर के रिश्ते की ममेरी बहन श्रेया मुंबई जॉब करने के लिए आयी थी.

भीड़ में मैं अपना शरीर तो झट से पीछे नहीं कर पाई पर नजर झुका कर देखा तो कुछ नहीं था.

उसका प्रेम देख कर मुझे समझ आ गया था कि औरत अपने प्यार को पाने के लिए मर्द के पेट का रास्ता चुनती है. मगर इतने में ही मेरा वीर्य छूट पड़ा और मेरे मुंह से आनंद भरी आह्ह … आह्ह … निकलना शुरू हो गया. मैडम ने मुस्कुरा कर हां कर दी और बोलीं- क्या मुझे कुछ तैयारी करनी होगी?मैंने कहा- आपको तैयारी करने की क्या जरूरत है.

मैं वापस रूम के अन्दर आ गया और चुपचाप उस कच्ची उम्र की प्यास को देखने लगा. फिर करीब तीन महीने बाद मुझे उसकी रूममेट प्रियंका का फ़ोन आया जिसके साथ वो पहले रहती थी. फिर अशफाक़ आ गया, उसके साथ कुछ समय बिताने के बाद मैं अपने घर चला आया.

जैसे ही वो मस्ती के मूड में आ गईं, मैंने अपना लंड बंगालन आंटी की चुत से रगड़ना चालू कर दिया.

अब घर में फ़ालतू था तो मैंने सोचा कि क्यों ना मैं भी अपना अनुभव सभी के साथ शेयर करूं. मैंने बुआ का ब्लाउज खोल दिया और उनकी 36 साइज की चूचियां खोल कर हाथ से सहलाने लगा.

बीपी बीएफ एचडी वीडियो मस्ती मस्ती में कई बार तो मैं अर्शिया के बोबों को छू भी लेता और कई बार उसकी गांड को भी छू लेता था. मैं बोला- हनी आधा घंटा हो गया है, बारात के आने का भी टाइम भी हो रहा है, हमें चलना चाहिए.

बीपी बीएफ एचडी वीडियो जब तक हमारा पूरा पानी नहीं निकल गया, हम दोनों अपने जिस्मों को थिरकाते रहे. क्योंकि मम्मी पापा को किसी शादी में जाना था और मेरे प्रेक्टिकल चल रहे थे जिस कारण से मैं मम्मी पापा के साथ नहीं जा रही थी.

कोमल अब एकदम ज्यादा जोरदार तरीके से नीचे से धक्के लगाने लगी थी जिससे मुझे समझ में आ गया था कि अब उसका कामरस निकलने का समय आ गया है.

सेक्सी मूवी हिंदी आवाज में

साहिल ने अपने कपड़े उतारे और नंगे होकर रंगोली को अपनी बांहों में ले लिया और उसकी ब्रा की स्ट्रिप खोल दी; फिर उसके होंठों को स्मूच किया. ये अचानक से हुआ था, तो उसके मुँह से चीख निकल गयी- आआआ … आई … फाड़ दी … मेरी चूत!मैंने उसके होंठों को अपने होंठों से दबा लिया और उसे स्मूच करना शुरू कर दिया. निशा ने अपने दोनों हाथों को मेरी पीठ पर जोर से कस लिया था मानो वह अब जल्दी से जल्दी अपनी चूत में लौड़ा घुसवाना चाहती हो.

उसने इस फोटो में लाल रंग की साड़ी के साथ स्लीवलैस ब्लाउज पहना हुआ था. अक्सर ऐसा कहा जाता है कि जब समय बहुत अच्छा चल रहा हो तो वह आने वाले कठिन समय का ही एक हिस्सा होता है. अब मैंने उनको कस कर बांहों में जकड़ा और मुँह में जीभ घुसेड़ कर चूसते चूत की मां चोदने में लगा था.

मेरा पल्लू कब का नीचे गिर चुका था और अब तो मेरा ब्लाउज भी शरद ने उतार कर जमीन पर फेंक दिया था.

अन्दर से उसकी गुलाबी चूत सुर्ख हो रही थी और उसके बहते रस के कारण चमक रही थी. डायरेक्टर ने उसके सारे कपड़े ड्राइवर के सामने खोले और चूचे दबाने लगा और लंड पेल कर दो चार मिनट में झड़ गया. मैंने उससे बात बनाते हुए कहा- पर मैं तुम्हारी दीदी से प्यार करता हूं।वो बोली- मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता.

मैं तो उनकी उनके इस किस करने के तरीके से एकदम से मचल गई और अपने हाथों को उनके हाथों से अलग करने लगी. मुझे उम्मीद नहीं थी कि वो ऐसा कुछ करने वाली है।वो मेरे पास आयी और मेरा हाथ अपने हाथ में लेकर अपनी चूचियों पर रखवा दिया. उन्होंने अपना ब्लाउज खोल दिया … अन्दर आंटी ने ब्लैक कलर की ब्रा पहन रखी थी.

वो हंस कर बोले- इस बार तुम खुद से मेरे साथ सेक्स करने की पहल करोगी न!मैंने हंस कर कहा- देखूंगी. मैंने उसकी छोटी सी चूचियों को अपने हाथों में पकड़ा और कमर से लौड़े को अन्दर बाहर करने लगा.

फिर दीदी की शादी हुई, जिसमें आशीष भी आया और दीदी ने विदा होने से पहले शादी के जोड़े में कमरे में जाकर आशीष से ही चुदवा कर सुहागरात मना ली. वो बोली- मैं जानती हूँ, सलमा दीदी ने मुझे आपके बारे में सब बता दिया है कि आप लंबी रेस के घोड़े हैं. मैं उसके लंड पर एकदम से झपट पड़ी और उसके लंड के सुपारे की चमड़ी को पीछे करती हुई उसके लाल सुपारे को सूंघने लगी.

वहीं हम दोनों साथ में नहाए और बाथरूम में ही मैंने साली साहिबा की चूत पर अपनी पेशाब की धार मार दी.

फिर मैंने उसकी हिम्मत देकर चलाया और उसकी गांड में फिर से तेल लगाया. मैंने अपनी जिप खोल दी … तो उसने पहले अपना एक हाथ अन्दर डाल दिया और अंडरवियर के ऊपर से ही मेरे लंड को सहलाने लगा. खिड़की पर जाली लगी है, जो रोशनी वाली साइड से दिखती है … लेकिन अंधरे वाली साइड से नहीं.

[emailprotected]मेरी माँ की चूत की कहानी का अगला भाग:मैंने अपनी माँ की चुदाई देखी- 2. दो मिनट के किस के बाद मैंने उन्हें अपने से दूर किया और समझाया कि कोई आ जाएगा.

अब मैंने भी उसको लिटा कर करीब 20 मिनट उसकी चूत को चूस चूस कर उसका पानी निकाल दिया. बॉस सेक्रेटरी सेक्स कहानी में पढ़ें कि पति की मौत के बाद गुजारे के लिए मैंने जॉब करनी चाही. फिर उन्होंने मेरी जींस पैंट उतार दी, अब मैं पूरी तरह से उनके सामने नंगा था.

गांव देहात की सेक्सी

वो बहुत प्यार से मुझे देख रही थी और बहुत ही प्यार से बच्चे की तरह खा रही थी.

कुछ पल बाद मैंने उसे उठा कर बेड पर लुढ़का दिया और उसे पागलों की तरह चूमने लगा; उसके मम्मों को दबाने लगा. जैसे ही सलमा से मेरी नजर मिली, मुझे करंट सा लगा और ऐसा ही करंट शायद सलमा को भी लगा था. मैंने अब भी झटके मारने जारी रखे और उसकी चूत को बुरी तरह से चोदते चोदते अपनी आखिरी बूंद भी उसकी चूत में छोड़ दी.

लंड की गर्मी से वो देसी हॉट गर्ल सेक्स के लिए तड़प उठी और बोली- अब इन्तजार नहीं होता … संजू पहले एक बार मुझे जल्दी से चोद दो बाकी खेल दूसरे राउंड में कर लेना. जूनियर गर्ल सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरे ऑफिस में एक नयी लड़की आयी, उसकी नयी शादी हुई थी. एक्स एक्स एक्स योगाउसने पैंटी नहीं पहनी थी; उसकी चिकनी चूत पर मैं अपनी उंगलियों को चलाने लगा.

मैंने अपनी पैंट उतारनी चाही पर नहीं उतरी और इन्होंने ही मेरी मदद की. सोढ़ी- ओये सोनिये … तुसी 100 साल जियेगी डार्लिंग … तुझको ही याद करके लंड की तेल मालिश कर रहा था.

मैंने स्वाति से कहा- सुन स्वाति मैं जॉब के लिए इंटरव्यू देने जा रहा हूँ. एक दिन मैंने भी सोचा कि क्यों न मेरे साथ जो घटना हुई, वो मैं आप लोगों के साथ साझा करूं. दो हफ़्ते बाद वो मुझसे बोली- उस दिन वाले डायरेक्टर ने मुझे ऑफ़िस बुलाया है ट्रायल देने के लिए … एक साइड रोल है, वो ऑफर कर रहा है.

अब हम दोनों में ही मिलने के लिए बहुत उत्सुकता थी क्योंकि मैं उससे सेक्स चैट के माध्यम से तो बहुत खुल चुका था … लेकिन सामने से उसके साथ मिलने का ये पहला मौका था. आपको इस सेक्स कहानी में क्या अच्छा लगा, जरूर बताइए, मैं सभी के मेल पढ़ती हूँ. मैं उसके साथ ही रहता था तो मुझे भी उसकी चुदाई हुई लड़की चोदने को मिल जाती थी.

उस दिन से मैंने पूरी फिल्म देखी थी और मैं तुम्हारे दमदार शॉट्स की दीवानी हो गई थी.

उस पर मेरे बेटे की उम्र का मतलब यही कोई 19-20 साल का एक लड़का मेरी तरफ देख रहा था. दिन गुजर रहे थे लेकिन मुझे कोई मौका नहीं मिल रहा था।एक दिन की बात है कि अश्मि सुबह के समय मुझे छत पर मिली.

मेरे तने हुए लंड को देख कर बोलीं- बस अब मत तड़पाओ अपनी भाभी को … अपने इस बिग कॉक को मेरी चूत में डाल दो. उसने बिना देर किए अपना हाथ मेरी चैन खोल कर अन्दर डाला और लंड पकड़ कर बाहर निकाल लिया. साथ ही वो मेरी चुत में अपने लंड का दाब दिए जा रहा था जिससे लंड चुत में घुसता ही जा रहा था.

भाभी सिसकारियां लेने लगी ‘उम्म्म … ऊउम्म्ह’पर ज्यादा ही जोर से मेरे लंड को पकड़ के जोर से दबाने लगी. तुम मुझे पसंद करते थे और मेरी जवानी को अपना शिकार बनाना चाहते थे, तो मैंने भी तुम्हें नहीं रोका. मेरी जांघ पर उसका बहकता हाथ मुझे इस कदर कामुक कर रहा था कि मुझे अपने दाएं हाथ में साड़ी का पल्ला लेकर मुख के भाव छुपाने पड़ रहे थे.

बीपी बीएफ एचडी वीडियो जैसे जैसे मैं उनके मम्मों को दबा रहा था, उनके मुँह से मादक आवाज आ रही थीं- ओह मां ओह मां … मर गई!कुछ ही देर में उन्होंने मेरी शर्ट के बटन खोल दिए और बनियान भी उतार कर फेंक दी; मेरे नंगे सीने पर भाभी हाथ फेरने लगीं. थोड़ी देर में इसी तरह की आवाजें फिर सुनाई देने लगीं, तो मुझे लगा कि दाल में कुछ काला है.

सेक्सी पिक्चर एचडी वीडियो में

वैसे तो मैं ज्यादा पीता नहीं, पर उस दिन दिशा की मदमस्त जवानी का नशा कम करने के लिए दारू का नशा जरूरी लगने लगा था. लंड लेते ही शुरू में तो आंटी एकदम से चिहुंक उठीं और बोलीं- आह मादरचोद … आराम से डाल भोसड़ी वाले … तेरा लंड मेरे पति के लंड से काफी बड़ा है. मैंने उसके होंठों को अपने होठों से चिपका दिया और तेज़ तेज़ चोदने लगा.

कुछ पल बाद ही वो मेरे गले में हाथ डालकर मेरे सीने से लिपट गई और मैं उसे अपनी गोद में लिए चोदे जा रहा था. उस दिन से मैंने पूरी फिल्म देखी थी और मैं तुम्हारे दमदार शॉट्स की दीवानी हो गई थी. हिन्दी सैक्समेरे अन्दर इतना सेक्स आ गया था कि मैं जोर जोर से सिसकारियाँ लेने लगी.

वो अपने कपड़े ठीक करने लगीं और कहने लगीं- ऋषि, ये मेरी जिन्दगी का सबसे बेस्ट सेक्स है.

अब मैंने लंड निकाल लिया और सरोज को लंड चूसने को बोला, वो भी लंड को लॉलीपॉप समझकर चूसने लगी. अब आगे कॉलेज रोमांस की कहानी:मैंने भी रिप्लाई किया कि मैंने ऐसा मैसेज भेज दिया … आपको आपको बुरा तो नहीं लगा?तो मैम ने हंसते हुए पूछा- कोई गर्लफ्रेंड नहीं है क्या तुम्हारी?मैंने भी मौके का फायदा उठाते हुए लिखा- नहीं मैम … मैं इतना लकी कहां!उन्होंने कहा- अरे इतने हैंडसम तो हो … कोई भी आसानी से पट जाएगी.

समय से पहले वह भी ट्रेन में पहुंच गई थीं और हम दोनों एक साथ बैठ गए. ऐसे ही एक दिन सुबह सुबह आंटी का फोन आया- विजय, आज मत आना क्योंकि आज मेरी कजिन सलमा आ रही है, अभी अभी उसका फोन आया था. मैं लगातार 2 महीनों तक सबसे उच्चतम मैनेजर के तौर पर चुनी गई थी … और सब मेरे काम से बहुत खुश थे.

[emailprotected]बॉयफ्रेंड चुदाई कहानी का अगला भाग:मेरे बॉयफ्रेंड से मेरी दोनों बहनें चुद गईं- 2.

आखिर वो उस रास्ते को पार करते हुए उस जगह पहुंच गयी, जहां उसकी बड़ी बहन अपनी चूत चुदवाती थी. मैंने अन्वेषी भाभी को फिर से पकड़ लिया और कसकर अपने पास खींचकर उनके मम्मों पर हाथ रखकर जोर से मसल दिए. पिछले भागगर्लफ्रेंड की मां की अन्तर्वासनामें आपने पढ़ा था कि मेरी जीएफ की मम्मी रेखा आंटी नहा कर बाहर आईं और वो मेरे सामने ही अपने अधनंगे जिस्म में बॉडी लोशन लगाने लगीं.

दाँत दर्द का इलाजमैंने उनकी तरफ देखा और पूछा- क्या हुआ गुल … आप लेटी क्यों है तबियत तो ठीक है न!उनकी आंखों में ऐसा नशा सा छाया था, जैसे उन्होंने शराब पी रखी हो. एकदम दूध सी सफेद और पूरे चेहरे पर कहीं कोई तिल तक का नामोनिशान नहीं था.

जोर की सेक्सी वीडियो

मुझे लगा कि कोई रसभरा पका हुआ फल पेड़ से टूट कर मेरी झोली में आ गिरा. लंड चुत में घुसा तो मां के मुँह से तेज आवाज निकल गई- हाय मैं मर गई. मैं भी उसके ऊपर जाकर लंड पर थूक लगाया और लंड गांड के छेद पर सटा कर लेट गया और ऐसे ही झटके देता रहा.

हॉट स्टूडेंट सेक्स कहानी के अगले भाग में मैं इस गर्म सेक्स को आगे लिखूंगा. मुझे नहीं पता था कि मेरी पड़ोसन लड़की इतनी सेक्सी होगी और उसकी चुदाई का ऐसा मौका मुझे मिलेगा. उसके जाने के बाद मैं सोचने लगा कि क्या पता निशा अब पढ़ने आए या नहीं.

उसने अपने मम्मों पर ब्रा नहीं पहनी थी, जिसकी वजह से उसकी कुर्ती उतरते ही मुझे उसके बड़े बड़े चुचे दिखने लगे थे. मुंतज़िर- गुड मॉर्निंग फरमान कैसे हो!वो मुझे विश करके बातें करने लगीं. फिर डायरेक्टर रश्मि के ऊपर चढ़ कर उसके बोबों में लंड रगड़ने लगा और उसके सिर की तरफ़ से कैमरा लिए राजू ने मेरी बीवी के मुँह में लंड दे दिया.

अन्दर से वासना भी भर जाती थी और मैंने एक बार उन दोनों की चुदाई की बातें पढ़ते हुए मुठ भी मार ली थी. उसने मेरी तरफ देखा, तो उसका मुँह खुला का खुला रह गया क्योंकि मेरा लौड़ा जड़ तक साफ़ दिख रहा था.

चूचियां और चूत चटवाने से शबाना मस्त हो गई तो उसने मेरी लुंगी खोलकर मेरा लण्ड पकड़ लिया और खाल आगे पीछे करने लगी.

अपनी बहन की जवानी से मुझे उत्तेजना के साथ डर भी लग रहा था कि कहीं कोई बवाल न हो जाए. सेक्स की समस्यामैं इन सबका मज़े लेते हुए उसके नाजुक गर्दन पर हल्के हल्के किस कर रहा था और अपने दोनों हाथों से उसके पीठ से लेकर गांड तक सहला रहा था. नेपाल कॉल गर्लउसने भी बिना देर किए, मेरे लंड को पैन्ट के ऊपर से ही पकड़ लिया वो मुझे एक प्यारी स्माइल देकर हवस भरी नजर से देखने लगी. शुरू में तो निशा ने साथ नहीं दिया, पर हौले से जब मैंने अपना जोर उसकी गर्दन पर बनाया तो वह नीचे झुकने लगी.

अंजुमन की मादक सिसकारियां निकल रही थीं- उम्म आहहह इस्स ऊई मां मर गई.

चूचियां और चूत चटवाने से शबाना मस्त हो गई तो उसने मेरी लुंगी खोलकर मेरा लण्ड पकड़ लिया और खाल आगे पीछे करने लगी. फिर मैंने उसकी एक टांग उठा दी और तेज़ी से लंड चुत में अन्दर-बाहर करने लगा. इतना बोलकर उन्होंने अपनी गांड उठा दी और मैंने फाटक से उनकी पैंटी निकालने लगा.

दूसरे दिन सुबह ही मेरे पति ने जेठजी को सुबह नाश्ते के लिए कॉल किया और घर बुला लिया. मैं आज से पहले किसी लड़की के साथ नहाया नहीं था, तो मुझे उसकी ये बात सुनकर बड़ा अच्छा लगा. चुदाई गर्ल सेक्स स्टोरी के पिछले भागमेरे बॉयफ्रेंड ने मेरी सीलबंद चूत फाड़ीमें अब तक आपने जाना था कि आशीष मुझे चोद चुका था और चुदने के बाद मैं उसका लंड फिर से चूसने लगी थी.

सेक्सी वीडियो देहाती सेक्सी

जब वह मेरे कमरे में आया, तो आकर बैठ गया … पर सर्दी का सीजन था, तो मैंने उसको मेरी रजाई में आने को कह दिया. जिससे शीना की गीली चूत ने फच्च फच्च फक्च फचाक की आवाज से चुदना चालू कर दिया था. ये सोचा कि बहन के कंप्यूटर में दोस्तों के नाम के बाकी के फोल्डर शाम को खोलूंगा.

अपने लण्ड पर सांडे का तेल मलकर मैं शब्बो की टाँगों के बीच आ गया और उसकी टाँगें अपने कंधों पर रख लीं.

इन दोनों ही बार हमने एक दूसरे को भरपूर प्यार किया था और एक दूसरे से दूर रहने की एक एक कसर को पूरा किया था.

हुस्न परी शब्बो की जांघों को अपनी बाँहों के घेरे में लेते हुए मैंने लण्ड को अन्दर धकेला. कुछ देर बाद उसने मुझे उठाया और मेरी ड्रेस उतार कर मुझे पूरी नंगी कर दिया. चेस्ट कम करने की क्रीमरोहन- बिल्कुल … तू मेरी रंडी है साली रखैल … जया कुतिया … मादरचोद … अह्ह ह्ह्ह्ह … चुस लंड भैन की लौड़ी.

फिर जैसे ही डीवीडी ऑन हुआ … तो सामने टीवी पर एक ब्लू फिल्म चलने लगी. सेक्सी स्टूडेंट की कहानी में पढ़ें कि 19 साल की एक लड़की को लंड खाने की तलब लगी हुई थी. देखिए न आज बादल भी लगे हुए हैं … अगर बारिश हुई तो हम दोनों बारिश का पूरा मज़ा उठाएंगे.

कोमल ‘आ … आह … आह … करती हुई उचकी और मेरा टोपा उसकी चुत में प्रवेश कर गया. तो मैंने मॉम को थोड़ा घुमा कर पीछे से पकड़ लिया और अपना लौड़ा मॉम की गांड की दरार में रगड़ने लगा.

मेरी मम्मी दारू के समय उनके सामने नहीं जाती थीं, तो मैं ही बार बार उनके सामने जा रही थी.

थोड़ी देर बाद जब सब नार्मल हुआ तो रमा मैडम ने मुझसे कहा- मुझे ऐसा अनुभव पहली बार हुआ है … जब मैं एक ही समय में बार बार झड़ी हूँ. ऐसे देखने में तो वो बिल्कुल सही लग रही थीं, उन्होंने उस समय गाउन पहना हुआ था. मैं- अंकल नहीं तेरा मादरचोद … साली कुतिया तू गाली देकर ही मुझे पुकार मेरी सेक्सी डार्लिंग, मेरी रंडी साली.

चूत चूत चूत चूत इसके बाद हम दोनों ने अरुणिमा की सैंडबिच चुदाई की और परेश ने हम दोनों का लंड चूसा. जैसे तैसे करके मैंने शॉर्ट्स पहना मगर लोअर के अन्दर जो शेर था वो बैठा ही नहीं था.

मगर बाई ने मुझे इशारा करके अपनी तरफ बुलाया और मुझे अपने पीछे कर लिया … मेरा लंड उसके पिछले पहाड़ से टकराने लगा. पूरा पलंग ऐसे हिलने लगा था … जैसे कोई सुपरफास्ट ट्रेन अपनी रफ़्तार से चल रही हो. फिर आंटी ने मुझे बादाम का दूध पिलाया और बोलीं- सच में मस्त चोदता है तू!कुछ देर बाद फिर सेचुदाई शुरू हो गई.

फिल्म सेक्सी फिल्म वीडियो

भाभी ने घुटनों के बल बैठ कर मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगीं. उस अधेड़ के निकलते ही मैं खिड़की की तरफ वाली सीट पर खिसक गई और पास खड़ी लड़की सीट पर बैठने को लपकी. दोस्त की बीवी की चूत गांड की चुदाई की मैंने। वो पहले भी मुझसे चुद चुकी थी.

मैंने उत्सुकता में मैम के निप्पल हाथ की उंगली में लेकर मसलना शुरू कर दिया. तो मेल करो न यार … और हां अगली बार मैं अपनी बहनों की चुदाई भी लिखने वाली हूँ.

ये बात मुझे उनकी कांपते हुए पैरों … और तेज़ हो रही सांसों से साफ पता चल रही थी.

करीब दस मिनट बाद उसकी चूत में सुर्खी आ गई और उसने कहा- मैं गई!उसके जाते ही मैंने भी उसकी चूत में अपना माल छोड़ दिया. वो भी गर्म हो गया था, उसने मेरे एक दूध पर अपने होंठ लगा दिए और मैंने उसको अपने दूध चुसाने लगी. काले नाग की तरह फुफकारता मेरा लण्ड नाज की बिल में जाने के लिए उछल रहा था.

लेकिन जब मैंने अगले दिन उसे नहाने के बाद देखा तो मेरी आंखें खुली की खुली रह गईं. बातों बातों में उन्होंने मुझसे पूछा कि शरद के तबादले के बाद तुम अपने आपको कैसे संभाल रही हो?मैंने उन्हें अपनी सारी बातें बेझिझक बता दीं. वो उसको नंगा करके उसके दूध पी रहा था और उसके बाद उसने उसकी चूत भी चाटी.

पहले तो उसने मुझे रोका, लेकिन जब मैं नहीं रुका तो थोड़ी देर बाद उसने मुझे रोकना बंद कर दिया.

बीपी बीएफ एचडी वीडियो: वो घुटनों के बल बैठ गई और लंड को अपने मुँह में लेकर मजे से चूसने लगी. आज मैं आपको जो इंडियन एक्ट्रेस बॉलीवुड सेक्स कहानी बताने जा रहा हूँ, वो मेरी ज़िंदगी का एक डरावना सपना था जो हकीकत में बदल गया था.

मैं शादीशुदा हूँ लेकिन मैं लगती एकदम लड़की की तरह हूँ क्योंकि मैं अपने आपको बहुत फिट रखती हूँ. मैं भी थोड़ी देर बाद अन्दर घुसा और वो मुझसे लिपट कर मुझे किस करने लगीं. इसी दौरान ऊपरी हाथ ने अपना जवाब दिया ‘तरुण सिंह … क्या हम दोनों नम्बर अदल बदल सकते हैं?’चश्मे से आंखों पर जोर देकर मैंने उसका मैसेज पढ़ा और उसी के अंदाज को अपना कर ऊपरी हाथ से पहले मैंने निचले हाथ से जवाब दिया.

अब वो मेरे बच्चे को भी पैदा करने वाली है, ऐसा इसलिए हुआ कि उसका पति बंगलोर में जॉब करता है और महीने में सिर्फ़ 2 दिन के लिए आता है.

मेच्योर लेडी सेक्स कहानी में पढ़ें कि भीड़ भरी बस में एक लड़का मेरे जिस्म के स्पर्श का मजा ले रहा था. मैंने उसे गोदी में उठाया, तो उसने मेरी गर्दन में अपनी बांहें डाल दीं और इस पोजीशन में उसकी गांड मेरे लंड पर आ गई. फिर वो रुके और अपने कपड़े पहनते हुए बोले- आज की ट्रेनिंग बस इतनी ही थी.