बीएफ पिक्चर कोट्स

छवि स्रोत,ब्लू पिक्चर सेक्स करते हुए

तस्वीर का शीर्षक ,

नंगे सेक्स करते हुए: बीएफ पिक्चर कोट्स, सुमन- पापा हम एक खेल खेलते हैं जिसमें एक पुतला बन जाएगा और दूसरा उसके जिस्म से छेड़खानी करेगा, लेकिन उसको हिलना नहीं है.

विराज का सेक्सी वीडियो

अब तक की इस हिंदी पोर्न स्टोरी में आपने पढ़ा कि गोपाल ने नीतू से अपने लंड की मुठ मरवा ली थी और मोना ने ये सब देख लिया था. sexy सायरीमेरे दोस्तों द्वारा अपनी चूत चाटने की बात सुनकर उसकी चूसने की स्पीड बढ़ गई और वो दोनों हाथों से मेरा लंड पकड़कर अन्दर बाहर करने लगी.

भाभी की चुद की कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपने कमरे के नीचे वाले कमरे में रहने वाली बिहारन भाभी को चोदा. पिज़्ज़ा फोटोमैंने उनकी कमर जोर से पकड़ी और अपने लंड को चूत पर सेट करके एक जोर का धक्का लगा दिया.

अगले दिन फिर से इसी तरह हुआ, एक बार मैंने बाबू के कपड़े सूखने क्या डाले कि एक दिन मामी ने अपनी ब्रा और पैन्टी भी दे दी.बीएफ पिक्चर कोट्स: मैंने उन्हें अपने बारे में बताया कि हम लोग फोटोग्राफी के लिए आए हैं.

सुमन भाभी जब अपने पानी छूटने के करीब आने लगीं तब उन्होंने कहा- सैम उम्म्ह… अहह… हय… याह… प्लीज जल्दी करो.फिर मैंने जानबूझ कर कहा- कामिनी भाभी जरा और राइस दीजिए ना!वो जैसे ही राइस देने झुकी.

किसी को बुलाने के लिए शायरी - बीएफ पिक्चर कोट्स

फिर उनकी पैंटी को भी उनके जिस्म से अलग करने के बाद मैं उनकी चूत को पहले अच्छे से निहारने लगा.एकदम पिंक कलर के उसकी चुत की फांकें और उन पर सुनहले ब्राउन कलर की झांटें उगी थीं.

आते ही उसने सिर पर पल्लू लेकर मेरे पैर छुए जैसे कि वो हमेशा करती थी. बीएफ पिक्चर कोट्स पहले तो वो नहीं ले रही थी, लेकिन मेरे फोर्स करने पर उसने गिफ्ट ले लिया.

सुमन अच्छी तरह जानती थी कि उसकी माँ किचन से एक घंटे पहले बाहर नहीं आने वाली.

बीएफ पिक्चर कोट्स?

इंटरवल के बाद हमारी लाइन में बैठा जोड़ा पीछे वाली लाइन में जाकर बैठ गया. तो सविता उठ के बोली- आग लगा कर मत जाओ!मैं बोला- मेघा मनोज के पास गई है, मुझे देखना है. !पूजा- आज स्कूल जाते टाइम ना उस लड़के ने फिर मेरे पीछे अपना लंड टच किया.

वो स्माइल करते हुए घर चली गई।अगले दिन जब मैं पानी चलाने के लिए किरायदारों के यहाँ गया. जब वो मुझे रोटी दे रही थी तो उसकी बाजू पे एक निशान था शायद वो सुमित ने आपने दांतों से काटा होगा. भाई के लम्बे-लम्बे झटके देने के बाद फ़ाइनल उसका लंड मेरी गांड में ही झड़ गया.

मैंने देर न करते हुए उन्हें चूसना शुरू कर दिया और दबाना मसलना शुरू कर दिया. वो दूसरे कमरे में गया और उसने अपने सारे कपड़े निकाल दिए फिर चादर ऊपर डाल कर लेट गया. परन्तु तुरन्त ही उन्होंने अपनी आंखें खोल दी और अपना हाथ मेरे ऊपर से उठा लिया.

मैं चाय बना कर रूम में ले आई, चाय पीने के बाद कप लेकर किचन में गयी. भाभी ने कहा- प्राची … प्राची नाम है मेरा, कमरे में या अकेले में तुम मेरा नाम ले सकते हो, मुझे अच्छा लगेगा.

जब सब सामान आ गया तो मैं भी फेरे देखने वहीं बैठ गया, भाभी की सिस्टर जो सामने बैठी थी वो किसी काम से उठकर बाहर गई और जब वापस आई तो उनकी जगह पे कोई और आके बैठ गया था.

इस बार मेरा पूरा 7 इंच का लंड बुर को चीरता हुआ जड़ तक अन्दर पहुँच गया.

लंड का गुलाबी टोपा मेरे मुँह में जाते ही मुझे नमकीन और खट्टे स्वाद का मजा आने लगा मानो मुझे मामा जी ने लेमनचूस खिला दिया हो जो कभी हम बचपन में ट्रेन से यात्रा के दौरान खाया करते थे. टीना इशारा देगी तब।इधर टीना ने अपना पासा फेंका कि फ्लॉरा उसमें फँस जाए।टीना- एक बात कहूँ. मोना तो ये सुनकर सोच में पड़ गई कि इतने करीब के रिश्ते में भी ये सब होता है क्या?मीना- अब देख तू गाँव जाए ना.

वैसे यार रोज चाय ही पिलाती हो कभी अपने संतरों का रस भी पिला दिया कर. सांस भी रोके रहा। जब वह रुक गया तो हम दोनों थोड़ी देर शांत लेटे रहे।उसने गर्दन पीछे घुमा कर मुझे देखा. फ्लॉरा ने अपने माँ बाप की प्यार की कहानी बताई कि कैसे उन्होंने भाग कर शादी की थी.

तभी उसने मेरे बाल खींचकर मुझे खड़ा किया। बाल खींचे जाने से मेरे मुँह से एक घुटी सी चीख निकल गई.

गुलशन जी ने जैसे तैसे ममता के सवालों का जवाब दिया और उसको कहा कि घर जाकर सब बातें करेंगे, अभी नहीं. फिर मैंने उसके होठों को कस कर चूम लिया, कामुकता वश वो मुझे और तेजी से पकड़ने लगी और मुझसे लिपट गयी. सुमन- दीदी क्या होगा, अब पापा किसी और के साथ बिल्कुल नहीं करेंगे वरना इतने साल वो ऐसे तड़पते नहीं.

तो मैं बोली- प्लीज गांड नहीं!सुरेश बोला- चुप चाप रह, हम जो करते है. ठीक तभी चंगेज़ भी अपने लौड़े को उसके मुंह के नजदीक ले आया, और मेरी प्यारी परी ने दूसरे लंड को भी अपने छोटे से मुंह में जगह दे दी! थोड़ा सा चुभलाने के बाद गोरी पतली डॉल ने दोनों लंडों को मुंह से बाहर निकाला और बारी बारी से प्रत्येक लंड को चूसने लगी. वैसे भी मेरे बेटे और बेटी का कमरा ऊपर है इसलिए कभी कभार एमर्जेन्सी में वो मेरा बाथरूम यूज कर लिया करते थे.

क्या बताऊं यारो, पहली बार कोई लड़की इतने अच्छे तरीके से और प्यार से मेरे लंड को चूस रही थी.

मैंने भाभी के दोनों मम्मों को चाट चाट कर अपने थूक से एकदम गीला कर दिया. वो दिन मैं कभी नहीं भूल सकता कि कैसे मैंने अपनी गर्लफ़्रेंड को चुदाई के लिए मनाया था.

बीएफ पिक्चर कोट्स मेरा लंड उसके होठों के काबू में आ गया था, वह कड़क हो जा रहा था और एक पल को मुझे ऐसा लगा यह ज्यादा देर चूसेगी तो कहीं मैं इसके मुंह में ही झाड़ दूँ अपना माल. मैं उन्हें गोद में उठाए हुए किस करते करते ही उनके साथ किचन में गया.

बीएफ पिक्चर कोट्स उसके लंड ने जैसे सरिता की बुर की चमड़ी को पूरा छील दिया, उसे बहुत दर्द हो रहा था और वो अभी भी आह ओह ओहाआ आआअ अह्ह्ह्हह्ह कर के रो रही थी. मैं गेट खोलने के बाद उन्हें डांटने लगी कि धूप में खेलने मत जाया करो, बीमार हो जाओगे.

‘बहुत इंटरेस्टिंग गेम लगता है… मैं ट्राई करना चाहूंगी इसे!’ मेरी बीवी मंद मुस्कराहट के साथ बोली.

जींस में सेक्सी

चाय पी लो।वो तो जैसे घर के अन्दर घुसने को बेताब था, मेरे चाय के ऑफर के साथ ही वो अन्दर आ गया।मैंने उससे कहा- तुम बैठो. उसने मेरे बारे में पूछा तो मैंने पूछा- आपके घर कमरा किराए पर मिलेगा?तभी उसकी मम्मी आ गई और नमस्कार करके बोली- बाहर क्यों खड़े हैं, अंदर आ जाइये, मैं आपको अच्छी तरह से जानती हूँ. मौसी मुझ पर इतनी मोहित हो चुकी थी कि एक बार मेरे कहने पर उसने मेरा पेशाब भी पी लिया.

अब मैं उसे उस हद तक प्यार करना चाहता था, जिसे आजकल के लोग चुदाई का नाम दे चुके हैं. ये तो पहली बार में होता ही है।फिर मुझे उस पर बहुत ज्यादा प्यार आने लगा और मैंने उसे फिर से किस करना शुरू किया। कुछ ही पलों बाद मेरा लंड भी अब उसकी चूत में आराम से अन्दर-बाहर हो रहा था। वो भी अपनी साँसों और धक्कों से मेरा साथ और जबाव दोनों दे रही थी। लगातार 10 मिनट तक चुदाई करने के बाद मैं झड़ने वाला था. मैं- अब लंड कहाँ से लाऊं तेरे लिए?ऋतु- तुझे जरूरत नहीं है, मेरे पास है!इतना कहते ही उसने राहुल को आवाज दी- राहुल?और अगले ही पल राहुल हमारे सामने नंगा खड़ा था.

फिर पीछे मुड़कर देखा तो उसकी पैन्ट आगे से गीली हो गई थी और वो बहुत घबरा गया था.

अब मेरी भी रफ्तार बढ़ रही थी, मैं भी अपने चरम की तरफ पहुंच रहा था, पूरा केबिन हमारी चुदाई के शोर से गूंज रहा था, शोर इतना था कि सोता हुआ आदमी भी जाग जाता. परन्तु तुरन्त ही उन्होंने अपनी आंखें खोल दी और अपना हाथ मेरे ऊपर से उठा लिया. एक दिन एक लड़का हमारे घर आया, उसे पास वाले दुकान वाले ने बताया था कि हमारे घर का एक कमरा खाली है.

आआआ स्सस्सस्स सआआअ अच्छा लग रहा है मेरी चूत चाटो न प्लीज!” मेघा ने उसकी पजामे में हाथ डाल कर लंड पकड़ के सहलाना शुरू कर दिया और उसे नंगा कर के लंड सहलाने लगी. हम उसके पास गयी और पूछा- हाय, आय ऍम निकिता एन्ड शी इज रिया, तो क्या कह थे तुम?उसने बड़ी गर्मजोशी से हमसे हाथ मिलाया और कहा- राजीव! मैं आप दोनों का एक रात का रेट जानना चाहता था. वो बोला- क्या करें यार, बोर हो गये हैं यहाँ पर… ऊपर से गर्मी भी इतनी पड़ रही है.

मैंने अपना लंड उसकी चूत से निकाला, तो वो मेरी तरफ घूमी, उसकी आँखों में हल्का पानी सा नज़र आया मुझे. पर पूजा को सीरियल अच्छा लग रहा था इसलिए उसने बोला- थोड़ी देर रुको, लास्ट तक देख लें, फिर चल देंगे.

मैं और मेरे पति इंदौर, मध्य प्रदेश में एक ही बैंक में जॉब करते हैं लेकिन हमारी ब्रांच अलग-अलग है. लेकिन उधर एंड्रयू से सब्र नहीं हुआ, जब मैं वाइफ की गांड के छेद को देख रहा था, तो उसने अपना हैवी लंड रूसी लड़की की गुलाबी, बालरहित चूत में घुसेड़ दिया. तभी मेरा छूटने को हुआ तो मैं भाग के बाहर छत पे चला गया और माल वहां निकाल दिया.

फिर उसकी लंड चूसने की ललक उसको नीचे ले गई और वो मज़े से लंड को चूसने लगी.

मेरे सीने के मर्दाना चूचुकों को प्राची भाभी ने जब दांतों से काटा, तो मैं सिहर गया. अब वो मादक आवाजें निकालने लगी- ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह… उन्ह… आअह्ह… उईईइ… मेरे सजन मुझे और जोर से चोद… मर्र गयी… मेरे जानम, मेरी चूत फाड़ दे आज… आह्ह… ओहहो… उम्म्म… अहह… हई… याह… उईई… क़र उह्ह्ह… आआअह्ह… बहुत मजा आ रहा है… मुझे तूने पहले क्यों नहीं चोदा मेरे सनम!मैं भी उसकी हर बात का उत्तर अपने लंड के झटके से लगातार दे रहा था और उसे अपनी बातों से गर्म भी कर रहा था. जॉन- बेबी अपना फ्रॉक निकाल दो, मैं तेरी मालिश कर देता हूँ, फिर तुझे आराम मिलेगा.

कॉलेज के बाद संजय सीधा अपने उसी घर में चला गया और पीछे से टीना ने सुमन को अपने साथ ले लिया. एक बार उसका दोस्त मेरे साथ गलत करने की कोशिश करने लगा कि इस चिकने को ही चोद लेते हैं तो रमेश इस बात पे गुस्सा हो गया और उसको थप्पड़ भी मारे.

मैं ठहरा मर्द जात… उसी चिकनी टाँगें देख कर फिसल गया, मेरे हाथ उसकी जांघों में घूमने लगे. चन्दन ने अपनी सास के एक स्तन का सारा रस पीने के बाद दूसरे स्तन को अपने मुँह में ले लिया और उसे भी चूसने लगा. ओह, माय डार्लिंग माँ!’ कहते हुए मैंने माँ की चूचियों को दोनों मुट्ठियों में भर कर कस कर दबाया और अपने आप को उनके ऊपर झुका कर उनके होंठों पर एक जोरदार चुम्बन लिया.

सेक्सी वीडियो सेक्सी चोदी चोदा

फिर वो खड़ी हुई और मेरे कपड़े निकलने लगी और मेरे लंड को अंडरवियर के ऊपर से ही दबाने लगी.

फ्लॉरा की बात खत्म होने के पहले गुलशन जी ने लंड को चुत से बाहर निकाला और गांड पर सेट करके झटके से पेल दिया. अब सुमन के नंगे चूचे उनके सामने थे और सुमन आँखें बंद किए बस दर्द का नाटक कर रही थी. मैं भी बेड पे मौसी के साथ लेट गया तो मौसी बोली- लेट मत, इधर आ मेरे ऊपर!और उसने मुझे अपने सीने पे बैठा लिया.

कोमल- ये राजेश किसकी गांड चोद रहा है? क्या तुमने गांड भी चुदवा ली यार? रुको मैं तुमको स्काइप कॉल करती हूँ तब दिखाओ. यदि आपका एक दूसरे पर यकीन ही नहीं तो आपका परिवार ही टूट जाता है जो हम नहीं चाहते. सुपर बाउल xxivमेरी चीख सुनकर पूल में चुद रही रिया ने कहा- निक्की, मुझसे पहले दो दो लंड डलवा लिए तूने कमीनी… अब देख मैं इन तीनों के लंड निचोड़ती हूं.

उस दौरान वो मुझे कई बार देख कर नज़रें हटाती रहीं, पर मुझे कुछ होश ही नहीं था. मामा अपने आधे लंड को ही मेरी चूत में अन्दर-बाहर करने लगे और मेरे होंठ को चूसने लगे.

आप नीचे बैठी लड़कियों या महिलाओं की क्लीवेज और मम्में बड़े आराम से तक सकते हैं निहार सकते हैं. पहले दिन से ही मेरा दिमाग इस भाभी की चूत के गुलाबजामुन को खाने के लिए मचल रहा था. मुझे क्यों आपत्ति होगी?खाना खाकर पण्डित जी बहुत खुश हुए और बोले- बरसों बाद इतना स्वादिष्ट खाना मिला है.

वह मुझसे थोड़ा लंबा था इसलिए मैं उसके गले और छाती तक ही पहुँच रहा था. मैंने अपने हाथ उठा कर एक ज़ोरदार अंगड़ाई ली और मेरा हाथ उसके चेहरे से टकराया तो मैंने सॉरी बोल दिया. उसका बायाँ बाजू मेरे कंधे के ऊपर से मेरी पीठ पर था तथा उसने उससे मुझे जकड़ा हुआ था और उसका दायाँ बाजू हम दोनों के बीच में था तथा उसका वह हाथ मेरे लिंग पर रखा हुआ था.

मैं शाम को ऑफिस से आया तो देखा कि वो सिर्फ़ एक मैक्सी में मेरी बीवी के साथ किचन में हैं.

मैंने फिर से चाची को पकड़ लिया पर इस बार चाची ने मुझे धक्का दे दिया. उई साली तेरी जवानी का रस मेरे लंड और टट्टे भिगो रहा है मादरचोद!सुलेखा अपने पूरे जोश में चुद रही थी, मैं उसकी चूत को लंड से चोद रहा था, उसकी गांड में अपनी उंगली को भी चलाये जा रहा था.

अब मैं अपने हाथ उसके कन्धे से लेकर उसकी गांड तक फेर रहा था और ऋतु भी चुपचाप इसके मजे ले रही थी. वैशाली छटपटाने लगी, दर्द से करहाती हुई बोली- एक बार बाहर निकालो, बहुत बड़ा और मोटा है, लगता है अंदर कुछ फट गया है. उसने अचानक ही मेरे बाल पकड़े और मेरा मुँह उसके लंबे ताजे लंड पर दबा दिया जिससे उसका लंड मेरे कलेजे तक पहुँच गया.

विभूति तो क्या, सभी उन पर दिल हार जायें, ऐसी उनकी कामुक अदायें जलवे बिखेरे हुए थी. वो किसी गांव का जवान, मस्त, हट्टा कट्टा जमींदार का बेटा लग रहा था इसलिए जाहिर सी बात थी कि वो हर शाम को शराब तो पीता ही होगा. फिर उधर मोहन और कोमल ने चुदाई शुरू कर दी और इधर जमीला और सबीना 69 हो गई.

बीएफ पिक्चर कोट्स फिर मैंने मेरे होंठ उसके होंठों से लगा दिए और हम पूरी ताक़त से एक दूसरे के जीभ को चूसने लगे. आपको बता दूँ गुलशन जी के कमरे में आने के साथ ही सुमन बाहर कान लगा के खड़ी हो गई थी.

देहाती देहाती सेक्सी पिक्चर

कहाँ पे मिलना है, बोलिए?उन्होंने अपने घर का एड्रेस दिया और बोलीं- आधे घंटे में आ जाओ।उसके बाद क्या था. मैं सुमन भाभी के पांव और जांघ को चाटते हुए उनकी चूत के करीब आ गया और फिर सुमन भाभी के दोनों पैरों को फैला कर सुमन भाभी की चूत को अपनी जीभ से छेड़ने लगा और एक हाथ की उंगली से उनकी चूत के दाने को मसलने लगा. ’मैंने उसकी चूत के रस से उंगली गीली की और उसके पीछे धीरे-धीरे डालने लगा.

जब उसकी ब्रा ओर पेंटी रह गई तो वो बोली- धीरे धीरे करना, मेरी ज्यादा चुदाई नहीं हुई है, मेरे पति का दो मिनट में ही निकल जाता है और मैं आज तक प्यासी हूँ, आज तुम मेरी प्यास बुझा कर अपनी रखैल बना लो. वो तो कॉलेज गर्ल्स या कोई मजबूर लड़की ढूँढते थे, जिससे उनको पैसे और अंकल को नई लड़की की चुत मिल जाती थी. दूल्हा दुल्हन की चुदाईएक दिन की बात है, अंकल-आंटी को कहीं बाहर जाना था तो आंटी ने मेरी मम्मी से कहा कि हम लोग बाहर जा रहे हैं, हमारे लौटने तक आप बच्चों का ध्यान रखना.

पर भाभी जी को मेरा व्यवहार रूखा लगने के बजाए ये मेरा अंदाज मजेदार लगा.

मैंने उनके पेट में हाथ लगाया था … क्योंकि उनके गोद में बच्ची भी थी. साले तुझसे होगा या नहीं?मैंने डरते हुए कहा- चाची पहली बार है, हो जायेगा.

उसका एक हाथ अपनी चूत की मालिश कर रहा था और वो अपने होंठों पर अपनी लाल जीभ फिरा रही थी जैसे वो मेरा लंड चूसना चाहती हो. मैं बैठा ही था कि मेरे मोबाइल पे दुल्हन के सिस्टर का कॉल आया, उसने मुझे जल्दी से उसके घर जो मेरे घर से 7-8 किलो मीटर दूर है, वहाँ आने के लिए कहा. ये कहते हुए भाभी खड़ी हो गईं और उन्होंने अपना नीचे वाला नाइट सूट उतार दिया.

चेहरा गोल और फूला हुआ था, बाल ऊपर की तरफ बनाये हुए थे और कान में एक बाली पहन रखी थी जो उसे एक सेक्सी लुक दे रही थी.

वहीं पास पड़े सोफे पर उसने फ्लॉरा को लेटा दिया और पागलों की तरह उसकी चुत चाटने लगा. वो बोलीं- क्या तुम्हें पता है कि इनको छूने से औरतों को घबराहट सी होती है?मैं चुप होकर सो गया, फिर थोड़ी देर बाद वो खुद से मेरा हाथ पकड़कर अपने मम्मों पर रख कर बोलीं- क्या करना चाहते हो. मेरे पापा और उसके पापा दोनों एक ही कम्पनी में नाईट ड्यूटी का काम करते थे.

मधु जी का सेक्सी वीडियो!बरखा को देख कर अतुल की हालत पतली हो गई, मगर वो कुछ कहता या सोचता तब तक तीनों जोर-जोर से हंसने लगी थीं. 00 बजे ही उसका फ़ोन आया- काम वाली चली गई है, लड़की स्कूल गई है, अतः तुम आ जाओ.

18 साल की लड़की की सेक्सी फोटो

मैंने फ़ोन पर पूछा- कैसा लगा?उसने कहा- तुम्हारा लंड पसंद आया है यार, आग लग गई, कब मिटाओगे. इस मस्त चुदाई की देसी कहानी को शुरू करने से पहले में बता दूँ कि मेरा नाम लॅविश गोयल है और मैं पंजाब का रहने वाला हूँ. अब मैं लगभग हर तीसरे दिन उनके घर में सामान देने जाने लगा और इसी दौरान हमारी बातचीत भी होने लगी.

मैं समझ गया कि वो कुछ करना चाहती है तो मैंने मौका देख कर उसका हाथ पकड़ लिया. मैं मर गईईई… क्या आप आराम से नहीं कर सकते? बड़ी बेदर्दी से मार डाला मुझे. ‘कहाँ जा रही है भाबी जी?’ तिवारी को लगा मानो अनीता उसे सुबह सुबह ही अपने बेडरूम में चुदने के लिए रिझा रही थी, तिवारी ने खड़े हो कर अनीता का पीछा करना शुरू किया कि तभी अनीता बोल पड़ी- ठहरिये तिवारी जी, मैं आपको कुछ दिखाना चाहती हूँ, आप मेरा इंतज़ार कीजिये.

आनन-फानन में सब रेडी हुए, फ्लॉरा और टीना ने नाश्ता तैयार किया और सबने साथ नाश्ता किया. तो मैं भी तो देखूं कि तुझे क्या-क्या पता है?नीतू- वो हमारे घर के पास नाला है, सब आदमी उसी में मूतते हैं, तो कई बार उनकी लुल्ली देखने को मिल जाती है. अब चंगेज़ मियां मेरी बीवी की चूत में अपनी उंगली डाल-डाल कर खेलने लगे और हमारी बीवीजान की बत्तीसी और ज्यादा खिल उठी, वो अपनी सुरीली उह-आह से स्टूडियो के वातावरण को मतवाला किए जा रही थी, लगभग सभी मर्दों के लंड पैंट फाड़ कर निकलने को तैयार थे.

अगर किसी को ट्विस्टर के बारे में न मालूम हो तो बताए देता हूँ… खेल में एक लूडो की तरह का बोर्ड होता है, जिसके बीच में एक घूमने वाला पहिया घड़ी की सुई जैसे एक तीर को चारों ओर घुमाता है. मोना- अच्छा ये बात है तुझे तो बहुत ज्ञान है मगर मैं उन लड़कियों में से नहीं हूँ.

उसके बाद उसकी 30 इंच की पतली कमर और उसके नीचे ऊपर को उठी हुई 32 इंच की मदमस्त गांड.

फिर कुछ देर बाद मैंने पाया कि वह मुझे जकड़ रही है तो मैं उसे और तेज़ चोदने लगा और हम दोनों एक साथ झड़ गए. सेक्सी पिक्चर चे गाणेतो भाभी ने सीधे कहा- लगता है तुम प्रोफेशनली वर्क करते हो, आई लाइक इट. खुल्लम खुल्ला चुदाईटीना और बरखा यही दिखाने की कोशिश कर रही थीं जैसे उनको कुछ पता नहीं, मगर अतुल की इस हालत का मज़ा वो भी ले रही थीं. नमस्ते दोस्तो, मैं प्रनब मंडल कोलकाता से मैं बँगाली हूँ इसलिए कहीं गलती हो जाए तो माफ़ करना। यह मेरी प्रथम सच्ची सेक्स स्टोरी है यदि यह आपको अच्छी लगी तो मैं और अच्छी से अच्छी कहानियाँ पेश करुँगा।रूपा मेरी कजिन सिस्टर यानि बुआ की लड़की थी, वह मेरे घर के पास ही रहती थी.

शहज़ाद ज्यादा इंतज़ार न कर सका और उसने अपने लंड को मेरी चूत पर लगा दिया.

मेरी परेशानी बढ़ रही थी, मेरे दोनों छेद में दो लंड थे अब ये तीसरा क्या कर रहा था, यह मैं जान नहीं पा रही थी. उसकी चूत तीन बार पानी छोड़ चुकी थी, उसने कहा- अब तुम अपना कर लो, बाकी कल दिन में कर लेना. मैंने उसे हेल्प करने को कहा तो वह बाथरूम से एक ऑयली क्रीम ले कर आई और उसकी चूत पर अपनी उंगलियों से लगा दी, फिर कुछ मेरे लौड़े पर मसल दी और बोली- अब इसे जम कर चोदो, और प्रेग्नेंट कर दो.

मेरी पैंटी का साइज 38 इंच है, पर मैं जल्दी जल्दी में 32 साइज की पैंटी ले आयी थी. वो हमारा काफी लम्बा किस था, किस करते हुए मैंने उसके बूब्स भी दबा दिए थोड़े. तुरंत दो मिनट के अंदर सपना नीचे आई!जैसे ही वो नीचे आई, थोड़ी डर गई पर उसने सोचा कि मैंने कुछ नहीं देखा.

सेक्सी प्रियंका सेक्सी वीडियो

सुधीर ने स्पीड बढ़ा दी, अब वो भी किसी भी पल अपना लावा छोड़ सकता था।सुधीर- आह. मैंने पूछा- पूजा ये बताओ कि तुमने अपनी पहली चुदाई योगी के साथ ही की थी?तो बोली- अगर मैं सील बंद मिलती योगी को… तो ये मां का लौड़ा मेरी सील भी ना तोड़ पाता. दोस्तो, मैं अपनी पिछली सेक्स कहानीपड़ोसन भाभी से प्यार और फिर चुदाई-1पड़ोसन भाभी से प्यार और फिर चुदाई-2से आगे की घटना लेकर फिर से हाजिर हूं.

जिस दिन इंसान को ये समझ आएगा कि सेक्स एक जिस्मानी जरूरत है, तो सारी दुनिया कितनी सुन्दर हो जाएगी!आप दोनों ने जिस तरह यहाँ तीन दिन बिताए, उससे तो यहाँ का स्टाफ भी आप से प्यार करने लगा है.

हाय फ्रेंड्स, मैं नक्श एक बार फिर से हाजिर हूं अपनी गे सेक्स कहानीदिल्ली के चोदू लड़के से गांड चुदवा ली-1का दूसरा भाग लेकर.

क्योंकि ये लंबी कहानी है और खाना भी लग चुका है तो बात अधूरी रह जाएगी।टीना- चलो कोई बात नहीं. वो घर आते तो किसी ना किसी बहाने से मुझे टच करते, मुझे गोद में बिठाकर हिलते, मगर उस वक़्त मुझे नहीं पता था कि उनके इरादे क्या हैं. दूधिया स्तन”अब तुमको तेज तेज चोदूँगा जान… आआअ स्स्स्स तुम ऊपर आकर लंड पर सवारी करो!”ठीक है जानू!”सविता लंड पर चढ़ कर कूद रही थी और मैंने गांड के छेद में उंगली डाल कर गांड भी चोदना शुरु किया.

बस की लाइटें दोबारा बंद हो चुकी थीं और सब लोग सफर के आखिरी पड़ाव में झपकी लेने की मुद्रा में चले गए थे. उसका नाम नैना था, वो दिल्ली की रहने वाली थी और बहुत सुन्दर और स्मार्ट लड़की थी. वो तो मेरे लंड को ऐसे चूस रही थीं, जैसे उन्हें कभी ऐसा लंड चूसने को मिला ही ना हो.

उनकी इस क्रिया की मेरे बदन में प्रतिक्रिया हुई, मैं इतनी ज्यादा उत्तेजित हो उठी कि मेरे शरीर में सुरसुरी उठने लगी, साँसें तेज हो गयीं, स्तनों और निप्पलों में सख्ती बढ़ गयी, योनि और गुदा दोनों के सुराख और कस गए और ऐसा महसूस हुआ जैसे योनि की दीवारों से पानी रिस रहा हो. बाहर आकर सोनू कहने लगी- मम्मी! आज तो मामा जी भी नहीं हैं हमें रात को डर लगेगा.

मैं दिखने में अपनी सहेलियों से थोड़ी ज्यादा अट्रैक्टिव हूँ और क्लास के लड़के मुझे पटाने में लगे भी रहते हैं.

कुछ मिनट बाद सुरेश ने अपनी स्पीड बढ़ा दी और मेरी चूत में जोर से पिचकारी मार कर अपने वीर्य से मेरी चुत को गीला किया. और कोई समय होता तो मैं शरमाती, लाज की गठरी बन जाती; आपको कहीं भी हाथ न लगाने देती आसानी से लेकिन आज इन सब बातों का समय नहीं है. सुमन- वो तो ठीक है दीदी मगर क्या मैं ये सब कर पाऊंगी?टीना- ये सब नहीं.

बीफ पिसातुरे और इसका रस तुझे कैसा लगता है?फ्लॉरा- भाई सच्ची में मुझे ये चूसना बहुत पसंद है और इसका रस तो बहुत टेस्टी है. रास्ते में मेरा भाई मेरी स्कर्ट के नीचे से मेरी चुत में उंगली कर रहा था.

फिर चंदन ने उसे बिस्तर पर लिटा दिया और चंदन ने बिना वक्त गंवाए अपनी सासू माँ की चूत पर मुँह लगा दिया और चुत को चूसने लगा. पता नहीं हमारे बदन पे कितने हाथ रेंग रहे थे, कौन कहाँ हाथ लगा रहा था ये भी ढूंढना मुश्किल था. फिर मैंने अपने दोनों हाथों से मामी के दोनों मम्मों को पकड़ लिया और आँख बंद किए हुए सोया रहा.

सेक्सी वीडियो है क्या

गुलशन- अच्छा तो ये बात है? कोई बात नहीं अबकी बार उसका भी इंतजाम कर दूँगा. गुलशन जी का लंड अकड़ रहा था, जिसे सुमन ने भी महसूस किया मगर वो तो अनजान बन कर बस अपने पापा को सिड्यूस कर रही थी. रिसेप्शन के प्रोग्राम के लिए सब दुल्हन के घर ही रुके हुए थे और वहीं से तैयार होकर लॉन में जाने वाले थे, उसके पति के बारे में पूछा तो बोली- आज उनका सवेरे से ही प्रोग्राम चालू है, उसका कुछ समान घर पे छूट गया था जिसे लेने वो यहाँ आई है.

यदि एक बार थोड़ा सा पीछे चलकर देख लो ताकि अच्छे से कहानी समझ आ जाएगी. मगर अंकल ने हमें संभाल लिया और मेरी माँ को उन्होंने व्यापार का काम समझा दिया ताकि पापा की जगह वो बिजनेस चला सकें.

बस दोस्तो अब इनकी कहानी अगले पार्ट में सुनना आप, तब तक जल्दी से आप मुझे मेरी इस होम सेक्स स्टोरी पर कमेंट्स कर सकते हैं.

फिर ऋतु ने कहा- क्या तुम्हें लगता है कि तुम्हारी कोई सहेली भी अपनी चूत चुसवाना चाहती है?पूजा- तुम्हारा मतलब क्या है?ऋतु ने सब डिटेल में बताया- मेरा मतलब कि अगर तुम अपनी सहेलियों को भी यहाँ ले आओ जो ये सब मजे लेना चाहती हैं तो मेरा भाई और उसके दोस्त ये सब कर सकते हैं और अगर तुम चाहो तो हम उनसे चार्ज भी कर सकते हैं फिर और भी मजा आएगा. मैंने उसको कहा- ये सब गलत है मानसी और फिर तू मुझसे प्यार भी तो नहीं करती. चाची की पारदर्शी नाईटी में से उनकी काले रंग की ब्रा भी दिख रही थी और उसमें से दिखती उनकी मोटी-मोटी चूचियां, जो ब्रा फाड़ कर बाहर आने को बेताब थीं.

मैंने भी नीचे से मस्ताना की स्पीड बढ़ा दी तो जमीला बकने लगी- बहनचोद साले, फाड़ दे मेरी इस चूत को! बहुत आग लगी हुई है इसमें आहह… ओह्ह… मादरचोद साले आज 3 तीन दिन से तेरे मस्ताना के लिए तड़प रही हूँ. पण्डित जी ने कमर उठा कर नीचे से एक थाप मारा, तो थोड़ा सा लिंग मेरी योनि में और घुस गया. मैंने अपने मुरझाये हुए लंड को निचोड़ कर आगे किया और उसके सिरे पर बड़ी सी वीर्य की बूंद चमकने लगी तो मैंने दोनों से कहा- अब इसका क्या होगा?ऋतु- पूजा तुम चाट लो इसे!पूजा घबराते हुए बोली- मैं… नहीं मैं कैसे!?!मैं- जल्दी करो… नहीं तो मैं जा रहा हूँ.

दो दिन बाद जब तिवारी फिर अनीता के घर पहुंचा और ‘भाबी जी घर पर हैं’ ऐसा बोल गृह प्रवेश की अनुमति मांगी, तो अनीता ने उनकी ओर देखा और उनको अन्दर बुलाया.

बीएफ पिक्चर कोट्स: मैं धीरे से उठा और बैठ गया, फिर उनकी साड़ी को धीरे-धीरे उनके सीने से हटा दिया. इस पार्टी का नियम है कि एक बार तुम ऐसी पार्टी का हिस्सा बन गई तो तुम किसी को भी मना नहीं कर सकती। जिसे तुम पसंद आयी वो तुम्हें चोद के ही मानेगा! भले वो एक हो या पूरे सौ!मैंने अपनी आँखें तरेर के कहा- यार रिया, ऐसे कैसे किसी भी लल्लू से कोई लड़की चुदवा लेगी यार?तो उसने कहा- ऐसे किसी को भी एंट्री नहीं मिलती यहाँ। सब कुछ वेरीफाई करने के बाद ही आपको परमिट मिलता है.

’ऋतु अब गन्दी गन्दी गालियाँ भी देने लगी थी ‘बहनचोद… चोद न… आआआअह… चोद अपनी कुँवारी… कमसिन… बहन को… अपने लम्बे लंड से… पूरा ले लूंगी… आआअईईई… हरामखोर… चोद मुझे… फाड़ दे अपनी बहन की चूऊऊत… आआआह…. सविता के विवाह के समय उनकी कुछ अन्तरंग सहेलियां मजाक कर रही थीं कि सविता जैसी लड़की को एक लंड से कैसे संतुष्टि मिलेगी. अनुराधा- मतलब?मैं- अरे जैसा कुत्ता खड़ा रहता है ना, उस तरह से बन जा.

फ्लॉरा- सस्स आह भाई… ठीक से करो ना उफ़ थोड़ा और ऊपर करो आह वहां बहुत जलन हो रही है ससस्स प्लीज़ करो जल्दी.

मुझे मालूम था कि अगर एक बार नीचे से निकल गई तो फिर दुबारा हाथ नहीं आएगी, मैंने उसको जोर से पकड़े रखा और उसके सयंत होने तक धक्के न लगाने का निर्णय ले लिया. तब मेरा बेटा मेरे लोवर के छेद के अन्दर मेरी गुलाबी चुत को देखे जा रहा था. अब नजारा इस तरह था कि जमीला और सबीना 69 में एक दूसरी की चूत चाट रही थी और मैं सबीना की गांड… रफीक जमीला की चूत चोद रहा था.