सविता भाभी कार्टून बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी चोदने वाली लड़कियों की

तस्वीर का शीर्षक ,

चुनरी सेक्सी: सविता भाभी कार्टून बीएफ, नीता ने उठते हुए मेरे हाथ का गिलास ले लिया और बोली- चलो हर्षद, अब काफी रात हो गई है.

सेक्सी कहानी घर की

जब वह हमारी कॉलोनी में आईं, तब उस समय मैं कॉलोनी में नहीं था, मैं अपने काम के सिलसिले में बाहर गया हुआ था. भाजपा का सेक्सी वीडियोउसने लंड का सुपारा गांड में महसूस किया और अपनी टांगें खोल कर लंड को अन्दर जाने का रास्ता दे दिया.

मामी की चुदाई के बाद उनकी बेटी को चोदाअर्चना भी अपने घर के दो कचक जवान मुस्टंडों के बीच बिना पहल किए चुदाई कराना चाहती थी. ठंड की सेक्सी वीडियोमेरा लंड पूरा खड़ा होने बाद वो हैरान हो गयी कि और बोली- आज मेरी चूत का क्या हश्र होगा, मुझे पता नहीं.

जैसे ही मैंने अपनी जुबान उसकी गांड के छेद पर रखी, तो सोनाली अपनी गांड हिलाकर जोर से सीत्कारने लगी- ओह आह ऊंई इस्स हा आह हुं ओह हर्षद … बहुत गंदे हो तुम … कहां अपनी जुबान लगा रहे हो … आह लेकिन मुझे बहुत ही ज्यादा मजा आ रहा है.सविता भाभी कार्टून बीएफ: मैंने पूछा- दी आपको और क्या क्या मालूम था?वो लंड का मजा लेती हुई बोली- तू रात को भी मेरे मम्मे दबाया करता था.

डरी सहमी चेतना एक शब्द भी नहीं बोली और घर में किसी और को नहीं बताने की मिन्नतें करने लगी.मैं- तुझे शर्म नहीं आती रंडियों की तरह हर शाम मुझसे पैसे लेते हुए?स्नेहा- एक्सक्यूज मी, तुमने मुझे रंडी कहा?मैं- रंडी को रंडी ही बोलना चाहिए और उसके साथ रंडी जैसा बर्ताव भी करना चाहिए.

औरत और कुत्ता का सेक्सी पिक्चर - सविता भाभी कार्टून बीएफ

मैंने घर आकर उसको कॉल किया मगर उसने नहीं उठाया, वो शायद मुँह में वीर्य डाल देने से नाराज थी.इसी क्रम में अचानक से मेरी पेशाब झर झर करती हुई निकल गई और वह अमृत की तरह सब कुछ पी गया.

शायद बहुत समय से उसने सेक्स नहीं किया था और उसे इस बात का अहसास नहीं था कि मैं आज ही उसकी चुत में हाथ लगा दूंगा. सविता भाभी कार्टून बीएफ मैं चाहता था कि आज पहले मैं सुमैत्री की मस्त गोरी गांड को अपने लंड को मजा चखाऊं.

दूसरा शायद मेरी चूत का स्वाद तुम्हें अच्छा लगे और मेरी कम्पनी को लोन मिल जाए.

सविता भाभी कार्टून बीएफ?

स्नेहा ने स्लीवलैस ब्लाउज पहना हुआ था जिस वजह से उसके हाथ बेहद सुंदर दिख रहे थे. मैंने मानसी से पूछा- तुम्हें कोई दिक़्क़त तो नहीं है?मानसी ने हंस कर कहा- नहीं. मैंने उसी वक्त उसके मम्मों पर हाथ रख दिया और कहा- शायद मेरा हाथ इधर भी लगा था, जिस वजह से तुम चिल्ला पड़ी थी?वो कुछ नहीं बोली और न ही उसने मेरा हाथ हटाने के लिए कहा.

मैंने उससे कहा कि हमें शादी से पहले एक दूसरे के शरीर और आत्मा को जानना चाहिए. कुछ देर के बाद दोनों बाबाओं ने अदल बदल कर मुझे यानि अपनी बीवी को रात भर चोदा और हम तीनों करीब सुबह 4 बजे सो पाए. मैंने धीरे धीरे चुदाई जारी रखी और आधा घंटा तक अपनी भांजी की चुत को चोदने के बाद मैं झड़ने वाला हो गया था.

उसने ढेर सारा तेल अपनी गांड के छेद पर लगाया और मेरे लंड की भी उसी तेल से मालिश कर दी. दोस्तो, आप सबको मेरी और मेरी बेटी जैसी यंग गर्ल Xxx स्टोरी कैसी लगी?प्लीज़ मेल करें. हम सभी घर वालों का उस फकीर के प्रति पिछले दस सालों से बहुत ही अधिक झुकाव था और हम सब उसे फ़रिश्ते की तरह मानते थे बल्कि यूं कहें कि फ़रिश्ते से भी ज्यादा बढ़कर मानते थे.

वो इठलाई और बोली- ना भाईजान … बीवी का बीवी जाने … बहन बेटियों का नेग तो देना ही पड़ेगा. दोस्तो, मैं हर्षद एक बार फिर से आपका अपने सेक्स कहानी में स्वागत करता हूँ.

मैं मस्त होकर आवाज निकालने लगी- उफ मादरचोद … और मार थप्पड़ … आज मैं तेरे लिए एक रंडी हूँ … उफ साले मार!बलदेव- ले मेरी कुतिया, साली रंडी भैन की लवड़ी.

[emailprotected]कहानी का अगला भाग:दोस्त की बहन के साथ बितायी एक रात- 2.

मैंने उसकी दोनों चूचियां अपने दोनों हाथों में पकड़ीं और हल्के हल्के से लंड अन्दर बाहर करने लगा. नंदा ने अपना गिलास खाली करके मुझे देते हुए कहा- चलो अब बाहर चल कर कुछ नाश्ता कर लेते हैं. मेरे झड़ जाने के लगभग 5 मिनट के बाद उसने दुबारा से लंड चूसना शुरू कर दिया.

नीता ने झट से मेरी पैंट खोली और अंडर पैंट के साथ उसे मेरे घुटनों तक नीचे कर दी. तभी मैंने एक हाथ से उसकी ब्रा को ऊपर की ओर सरका दिया जिससे उसके बूब्स आजाद हो गए. पर मैं जोश में था तो मुझसे रुका ही नहीं जा रहा था, उसे मैं बिना रुके चोदता रहा.

अब मैंने उससे पूछा- मेरा साथ कैसा लगा?उसने सर झुका कर कहा- तुम बहुत स्वीट हो.

रेखा बोली- हर्षद, आज पहली बार पानी में चुदने की मेरी तमन्ना पूरी हो गयी है और वो भी तुम्हारे जैसे हैंडसम के साथ. वो समझ गई और बोली- ठीक है मैं कल कितने बजे आऊं?मैंने उससे कहा- तुम कल 11 बजे आ जाना. शनाया ने मुझसे कहा- मैं एक बहुत अच्छा गिफ़्ट लायी हूँ, तुझे बहुत पसंद आएगा.

मुझसे रहा नहीं गया, मेरी चीख निकल गयी- आउच ओह्ह मोहक इतना ज़ोर से क्यों मारा?मेरा बूब तो टमाटर की तरह लाल हो गया।मोहक बोला- डेज़ी, वो ब्लू फ़िल्म में करते हैं न ऐसा … तो मुझसे रहा नहीं गया तो मैंने मार दिया।मैंने कहा- बेबी प्यार से मारो न … देखो कैसे लाल हो गया।फिर मोहक ने मुझे लेटने को कहा और मेरे ऊपर आकर उसने मेरी चूत में लंड डाल दिया. Xxx लड़की की चुदास की कहानी में पढ़ें कि अन्तर्वासना के नशे में एक लड़की ने सड़क चलते दो बाबा को घर में बुलाया और अधनंगा जिस्म दिखाकर उन्हें फांस लिया. आज तक मैंने अपने तन और मन की प्यास और सारी इच्छाएं मन में ही दबा कर रखी थीं लेकिन आज तुम्हें देखकर सारी इच्छाएं फिर से जागने लगी हैं.

मैंने सना से पूछा कि क्या मैं इन्हें अपने हाथ में लेकर चूस सकता हूँ?सना ने हां में सर हिला दिया.

और मैं चीख पड़ी- ओह माई गॉड अह हअअ … अह मार ही डालोगे … तुम अअह … बहुत दर्द दे रहा है हाय साले हरामी … मेरी चूत को फाड़ डाली रे!मैं रोने लगी मगर उसे कोई फर्क नहीं पड़ रहा था. मैंने बिना टाइम गंवाए उसके सारे कपड़े उतार दिए और उसने भी मुझे पूरा नंगा कर दिया.

सविता भाभी कार्टून बीएफ चाची के बाद जब मैं मम्मी से गले लग कर मिला तो मेरा लंड मेरी मम्मी की चूत के पास ही लग रहा था. हो सकता है कि पर्वी ने मेरी हालत नोट की हो लेकिन वो नॉर्मल लग रही थी.

सविता भाभी कार्टून बीएफ जावेद लंड सहलाते हुए बोला- क्या करोगे?ये कह कर उसने मेरा लंड अंडरवियर से निकाल कर हाथ में लिया और आगे-पीछे करने लगा. आपका हर्षद मोटे[emailprotected]फोरप्ले सेक्स की कहानी का अगला भाग:बरसात में अजनबी लड़की की कुंवारी चूत मिली- 4.

मैं अपने गांव के पास के एक कॉलेज में पढ़ता हूं और मैं यहां गर्मी की छुट्टी बिताने के लिए हूं.

सेक्सी बीएफ चलती हुई दिखाओ

राज की पहली बार एक साथ दो की चुदाई थी शायद, इसलिए वो थोड़ा ज्यादा थक सा गया था. पीछे से मैं टूथ ब्रश लेने आया तो उसे न जाने क्या सूझी, उसने मेरा लंड मसक दिया. बुजुर्ग दंपति ने मेरी खूब आवभगत की और जरूरी पूछताछ में बताया कि लड़का पास ही शहर में सिंचाई-विभाग में कार्यरत है और घर में, एक विवाहित बड़ा भाई एवं एक छोटी कुंवारी बहन चेतना सहित कुल छह सदस्य हैं.

मैंने कहा- कुछ नहीं होगा यार, मेरे ऊपर भरोसा नहीं है क्या?वो बोली- पिला कर कुछ कर लिया तो!मैंने कहा- यार, बिना तुम्हारी इजाजत के मैं तुम्हें टच भी नहीं करूंगा. मैंने अपने कपड़े पहने और काफी देर तक बिस्तर पर बैठकर इस घटना के बारे में सोचती रही कि अब कैसे बाहर जाऊं, ससुर जी क्या सोचेंगे. क्या मजा नहीं आया?मैंने फिर से घुटनों के बल बैठ कर उसके चूतड़ चूमे और कहा- नहीं यार, तेरे से भी मजा आया, तू बिना नखरे के पूरा ले गया.

उसने मेरे लौड़े को साफ किया और कहने लगी- खुश हो कि नहीं … आई लव यू.

रात में 10 बजे के बाद मुझे तू वहीं मिलना, चल अब जा तू!फिर माँ ने अपने कपड़े पहने ओर वहाँ से चली गयी. उसे लंड की बहुत जरूरत महसूस हो रही थी शायद … तभी उसने मुझ जैसे कॉल बॉय को बुलाया था. मैं थोड़ी कड़क आवाज में बोला कि नहीं ये गलत है … और मैं ऐसा इंसान नहीं हूं.

कई महीनों तक मेरे द्वारा ये खेल चलता रहा लेकिन कोई परिणाम नहीं निकलता देख मैंने अब आर या पार करने की सोच ली. पंद्रह मिनट में रूचि ने जैसे ही अपनी चूत से पानी छोड़ा, मैं उठ कर खड़ा हो गया. दोस्तो, वैसे दिक्कत तो मुझे भी थोड़ी हो रही थी क्योंकि अभी तक मेरा लंड वर्जिन था.

मैंने उसकी इच्छा पूरी की उन्हीं के घर में! कैसे हुआ ये सब?नमस्कार अंतर्वासना के प्रिय पाठकगण, मैं भगवानदास फिर से चटकती चुतों को लंडवत नमस्कार करते हुए अपने सेक्सजीवन की एक और देसी घटना लेकर हाज़िर हूं. आंखें खोल कर मैंने एक बार रेशमा को देखा, तो पता चला कि वो भी एक हाथ से अपनी चूत में दो उंगलियां घुसा रही थी.

उस दिन पहली बार मुझे चिकन खाते हुए कुछ अजीब सा लगा लेकिन 2 कौर के बाद मुझे उसमें स्वाद आने लगा. लेकिन लंड गांड में घुस चुका था और मैंने सुनीता की चिल्लपौं को रोकने के लिए कहा- साली कुतिया, हल्ला मत मचा … भैन की लौड़ी तेरी गांड में लंड घुस चुका है, अब झड़ कर ही निकलेगा. मुझे समझ में आ गया कि अगर इस गांडू की बहन को लौड़े के नीचे लाना है तो यही मेरी मदद भी करेगा.

बलदेव- साली कुतिया बोल … माँ की लवड़ी रंडी मालकिन की चोदी … आंह लंड में मजा आया?मैं- आहं आह उफ बहुत मजा आ रहा है मेरे लवड़े … आंह रगड़ते जाओ मेरी चूत को भोसड़ी के.

धीरे धीरे ललिता भाभी को भी मज़ा आने लगा और वो मस्ती ने बोलने लगीं- आह आह आहह राज … और चोदो मुझे … आहह आहह … कितना अच्छा लग रहा है. उसी पल मैंने अपनी टांगें खोल दीं और सटाक से उनका लंड मेरी Xxx गांड में चला गया. अब चाची रोने लगीं और कहने लगीं- प्लीज़ बाहर निकाल ले, बहुत दर्द हो रहा है.

वो बोली- तुझे अच्छा नहीं लगा?मैंने जवाब दिया- यार, ये मेरे लिए नया अनुभव था. मैंने अपना लंड धीरे से भाभी की चूत में डाल दिया और उन्हें चोदने लगा.

थोड़ी देर तक उंगलियां गांड में घुमाता रहा, फिर मैंने कहा- हां, अब तैयार?बस ये कह कर मैंने राकेश की गांड पर लंड टिका दिया. सोनाली बोली- मेरी शादी के बाद अभी तक मेरी चूत से जितना चुतरस मेरे पति ने नहीं निकाला, उतना तो तुमने कल रात और अभी इतना सारा चुतरस निकाला है हर्षद. ’फिर मैं नीचे बैठा और उसकी एक टांग उठा कर उसके हाथ में थमा दी और अपनी उंगलियों से उसकी चूत खोल कर अपनी जीभ से उसकी चूत चाटने लगा, अपनी जीभ से उसकी चूत में डाल कर चूत चोदन करने लगा.

सूरत बीएफ

एक बार मेरे हस्बैंड ने दिल्ली के एक होटल में एन्जॉय करने की सोची तो उन्होंने एक होटल में कमरा बुक किया.

झट से मैंने अपनी जीभ उसकी चूत पर ऐसे चलानी शुरू कर दी मानो वो कटोरी में रखी मलाई हो. चुत चटवाने वाली भाभियां और चुत चाटने का मजा लेने वाले मुझे मेल कर सकते हैं. मैंने दुबारा फोन लगाया तो उसने फोन उठाया और कहा- अब बाद में बात करती हूँ.

उसके तने हुए दूध और पीछे उभरी हुई गांड किसी को भी अपना दीवाना बना सकती थी. थोड़ी देर दूध दबाने के बाद मैं उसके ऊपर लेट गया और उसकी दोनों चूचियों को बारी बारी से चूसने लगा. जानवर और लेडीस का सेक्सी फिल्मदस मिनट बाद मैंने तेज तेज शॉट मारे और भाभी से कहा- मेरा रस आने वाला है.

आरजू ने मुझे बताया कि जीजा तो एकदम तैयार है और मैं भी, पर जगह की अड़चन है. जब नीता मुझे चूम रही थी तब मेरा लंड उसकी चूत पर रगड़ खा रहा था और लंड के नीचे लटक रही मेरी दोनों अंडगोटियां उसकी गांड के छेद पर रगड़ रही थीं.

रूना ने भी अपनी दोनों टांगें ऐसे फैला दीं जैसे वो मुझे अपने में समा लेने के लिए बिल्कुल तैयार थी. कुछ ही देर में उत्तेजना चरम पर पहुंच गई थी और मुझसे रुका ही नहीं जा रहा था. मैंने कहा- इन तरकीबों से कुछ नहीं होगा, लंड से जब तक पानी नहीं छूटेगा … तब तक बाहर नहीं निकलेगा.

जब मैं 20 साल का था, तो मुझे अपने गांव के पास एक कॉलेज में प्रवेश मिल गया था. थोड़ी ही देर में हम सबका खाना हो गया और हम सभी बाहर आंगन में रखी कुर्सियों पर आराम से बैठकर बातें करने लगे. इसके बाद उस रात हमने 3 बार चुदाई की और कई तरह के पोज़ बनाकर चुदाई के मजे लिए.

ये हॉट आयेशा सेक्स कहानी दो साल पहले की उस समय की है जब मैं 12वीं कक्षा में पढ़ता था.

ये हॉट आयेशा सेक्स कहानी दो साल पहले की उस समय की है जब मैं 12वीं कक्षा में पढ़ता था. कुछ देर तक उसे चोदने के बाद मैंने लंड चूत में पेले हुए ही उससे बात शुरू की.

भाभी को अपनी गांड पर लंड का सुपारा गर्माहट देने लगा तो उन्होंने अपनी टांगें और ज्यादा खोल दीं. जैसे ही मैंने दरवाजा खोला, नेहा भाभी ने कपड़े बदल लिए थे वो एक नाइटी में थीं. मुझे देखकर मौसी ने कहा- क्या हुआ?मैंने कहा- मौसी आप अब भी कितनी अच्छी लगती हो.

मैं धीरे धीरे स्कर्ट उपर करने लगा लेकिन स्कर्ट बहुत सॉफ्ट लग रही थी. मेरे रुकने पर सीमा ने मुझसे पूछा- क्या हुआ … क्यों रुक गए चोदो ना बड़ा मजा आ रहा था. मैंने भाभी से कहा- खुद तो रात में सोती नहीं हो, हमको तो सो जाने दिया करो.

सविता भाभी कार्टून बीएफ मैं उसके रसीले होंठों को चूसने लगा और एक एक कर सारे कपड़े उतार कर उसे मादरजात नंगी कर दिया. मेरे पिताजी, मम्मी, विलास की मां और पिताजी, सोनाली के सास ससुर, विलास की मौसी, सरिता भाभी, मैं और विलास हम सब लोग बैठ गए थे.

सेक्सी बीएफ भाई बहन का

मैं पायल की अंदरूनी जाँघों तक पहुंच चुका था और पायल अपनी आँखें बंद किये गहरी सांसें ले रही थी।पायल की छाती ऊँची – नीची होती देख मुझमें जोश बढ़ता जा रहा था।वह शराब के नशे में मदहोश थी या मेरे नशे में … यह कहना तो मुश्किल था पर मैं पायल के नशे में पूरा मदहोश था और इसका पता हम दोनों को ही था।अगले भाग में आप पढ़ेंगे कि पायल ने मुझे उसके पास आने की कितनी छूट दी. चूत की फांकों को मास्टर अपनी जीभ से चाट रहा था और चूत के दाने को अपने होंठों से पकड़ कर खींच खींच कर चूस भी रहा था. जब मैं स्खलन करने वाला था, मैंने अपना लंड निकाल लिया और उसके हाथ पर स्खलन कर दिया.

बुर की गर्मी पाकर लंड में मस्ती आने लगी और मैं बुर की फांकों में लंड रगड़ने लगा. चूत का दाना बड़ा ही संवेदनशील होता है और औरत को झाड़ने के लिए इस दाने को रगड़ना और सहलाना ज़रूरी होता है. सेक्सी वीडियो देखना चाहतीमैंने भी जल्द अपना निक्कर निकाल दिया,हम दोनों अब केवल अंडरवियर में रह गए थे.

लेकिन दोस्तो, मैंने कई बार गौर किया कि ससुर जी का नजरिया पहले से बदल गया था.

इस बार भी मैं करीब 30 मिनट तक लगा रहा और उसकी गांड में ही रस छोड़ दिया. कई महीने बाद मैंने उसे कैसे चोदा?दोस्तो, कैसे हैं आप सब!मैं आपका दोस्त एक बार फिर से एक सच्ची सेक्स कहानी लेकर आया हूँ.

उसकी चूचियों को, दोनों निप्पलों को स्क्रबर से खूब रगड़ते हुए दबाया और अञ्जलि का एक पैर उठा कर, वहीं पर रखी बाल्टी पर रख दिया. भाभी ने झटके से पति का हाथ अलग कर दिया और बोलीं- मुझे गर्म मत करो, जब ठंडी ही नहीं कर पाते हो तो क्यों परेशान करते हो. पेशे से मैं एक कॉल बॉय हूँ, मैं कॉलेज गर्ल, हाउस वाइफ, भाभियों और आंटियों के जिस्म की प्यास बुझाने का काम करता हूँ.

बस ऐसे विचार आते ही मैंने उसके होंठों में अपने होंठ रख दिए और लंड को चूत की फांकों में फंसा दिया.

मैंने पूछा- आपको मेरे साथ सेक्स क्यों करना है?उसने बताया- एक तो कई सालों से कोई ऐसा मर्द नहीं मिला, जो दिल को भाये. मुझे उम्मीद है कि आपको मेरी Xxx लड़की की चुदास की कहानी पसंद आ रही होगी. भाभी को असीम सुख मिल रहा था और उनकी मदमस्त आहें और कराहें मास्टर के लंड में जोश भरने का काम कर रही थीं.

वीडियो सेक्सी चुदाई सेक्स वीडियोफिर कुछ देर बाद जब मुझसे रहा नहीं गया तो मैं अनजान बनने का नाटक करते हुए सीधा बाथरूम में घुस गया. उसने मेरी तरफ सवालिया नजरों से देखा तो मैंने उसे लंड चूसने का इशारा कर दिया.

बीएफ सेक्सी माल

मैंने उससे कहा- अब कैसा लग रहा है आयशा?वो चुदासे स्वर में बोली- करते रहो अंकित … मुझे बहुत अच्छा लग रहा है. नीता एकदम से अकड़ उठी और फिर से तेज तेज आवाजों में सिसकारियां लेते हुए मेरा सर अपनी चूत पर दबाने लगी. मैं जाने लगा तो स्वीटी मैडम मेरे सीने से लग गईं और हम दोनों ने एक लम्बा स्मूच किया.

मेरी मम्मी की चूचियां बहुत बड़ी हैं जबकि चाची की चूचियां थोड़ी छोटी हैं, पर उनकी गांड बड़ी है. सब साथियों को पता है कि चूत मिलनी हो, तो इंतजार करना कितनी मुश्किल होता है. अब वो दोनों पूरी नंगी हो गई थीं और मुझे उनकी चूत साफ़ दिखाई दे रही थी.

मैंने उन्हें कई बार वियाग्रा खाकर चुदाई करने को कहा तो उन्होंने मना कर दिया. मेरा बॉयफ्रेंड मेरी चूत में शॉट मारने लगा ज़ोर ज़ोर से!मैं बोल रही थी- आह हहह ओह हहह उहह म्ममम्म उहह ममम्म मोहक ज़ोर ज़ोर से चोदो!उसने फिर से मेरे दूसरे बूब पर थप्पड़ मारा!मैंने मोहक से कहा- जो ब्लू फिल्म में करते हैं, वो तुम्हारी फंतासी है क्या?मोहक ने कहा- हाँ मुझे वैसे करना है।और मोहक ज़ोर ज़ोर से चोदने लगा. लगातार 10 मिनट तक की चुदाई के बाद चेतना के चूतड़ भिंच कर सख्त होने लगे और उसने मेरी कमर में अपने दोनों पैरों से कुंडली मार ली.

करीब पन्द्रह-बीस मिनट की चुदाई के बाद सुमैत्री ने बोला- मैं झड़ने वाली हूँ. कुछ ही देर में उसने मुझे कस कर पकड़ लिया और तभी एकदम से उसकी चूत से पानी छूटा.

क्योंकि माँ अक्सर रात में भी खेत पर काम करने जाती थी तो दादा जी और दादी जी ने माँ से कुछ नहीं पूछा.

यही प्लान था हमारा।मैंने अपनी बांहों में उसे उठाया और बिस्तर पे ले आया. भारती हीरोइन की सेक्सी वीडियोजैसे ही उसने आंख खोल कर मुझे देखा, तो मैंने पाया कि उसकी आंखों में अलग ही नशा था. पंजाबी इंग्लिश सेक्सी फिल्मवो गजब की खूबसूरत थीं, एकदम दूध की तरह उजली, आंखें कटीली, होंठ गुलाबी और रसीले. मैंने उसका भी हाथ पकड़ा और उसे उठाते हुए उसे घुटनों के बल बैठा दिया.

आप सभी ने मेरी कहानियां पढ़ी भी हैं और अपने प्यार भरे मेल व कमेंट भी किए हैं.

नई जगह होने के कारण मुझे नींद नहीं आ रही थी और अपनी चाची और भाभी की बड़ी चूचियों को देख कर मैं बहुत उत्तेजित हो गया था. उसने भी अपनी टांगें खोल दीं और मुझे उसकी पैंटी गीली सी लगने लगी थी. जब मेरे हाल चाल पूछने पर उसने मुझ पर अपनी मुस्कान फेंकी तो मैं आनन्द से भर गया.

हम दोनों को यह तक भी अहसास नहीं हो रहा था कि आसपास में कौन है और हम दोनों कहां हैं. साली तू इतनी खूबसूरत है कि जब भी तुझे देखता था, तो लगता था कि वहीं पटक कर तुझे चोद दूँ. रूम के अन्दर जाते ही मेरी बीवी ने फकीर के पैरों को दबाना शुरू कर दिया.

एचडी बीएफ फुल एचडी में

इसी तरह वह बात बात में गालों को छूता, हाथों को छूता और हाथों को चूम लेता. मैंने देखा था कि वो दोनों रास्ते में साथ साथ ऑटो में कहीं जा रहे थे. फिर उस फकीर ने कहा- क्या तुम मेरे नीचे लेटकर संभोग करने के लिए राजी हो?मेरी बीवी ने सहमते हुए कहा- पहले मैं अपने खाबिंद से पूछूंगी, यदि मेरे शौहर बोलेंगे तो फिर मैं आपके साथ संभोग कर लूंगी.

मैं सोचने लगा कि दोनों कितने खुश रहते थे और ऐसा क्या हुआ कि उनका तलाक हो गया.

इसके अलावा भी उसने मुझे कुछ प्राइवेट फ़ोटो भी दिखाए जिसमें नैना और उसके ससुर पूरी तरह से नंगे थे और एक दूसरे को चूम रहे थे.

शब्बो की कमर, गर्दन तक तो ठीक था मगर एक बार वीरु का हाथ शब्बो की चूची के बिल्कुल नीचे तक आ गया था।दोनों को इस बात का आभास हो रहा था मगर दोनों भी चुपचाप उसका मजा ले रहे थे. शाम को मैंने अपने आपको हर तरह से एकदम क्लीन किया और एक सेक्सी सा गाउन पहनकर तैयार हो गयी. सेक्सी हिंदी में रोमांटिकउन्होंने मेरे मम्मों पर हमला बोल दिया और अपने दांतों से मेरे निप्पलों और स्तनों को बारी बारी से काटने लगे.

उसने गलती से मेरे लंड पर दांत लगा दिए, तो मैंने भी अपने चाटों की रफ्तार बढ़ा दी. राखी का ये मैसेज पढ़ते ही मैंने उसे कॉल की और बिना बोले- आओ लव यू राखी जानू मेरी शोना मोना. वह कहने लगा- आंह बहुत लग रही है … निकाल लो बस करो, क्या अब फाड़ ही डालोगे?मैंने उसे वहीं खेत में जमीन पर लिटा दिया और उसके ऊपर चढ़ बैठा.

फिर वो मेरी तरफ पीठ करके खड़ी हो गई और उसने मेरे दोनों हाथ अपने दोनों बूब्स पर रख दिए. आप कल्पना कर सकते हो कि आम्रपाली दुबे की तरह भाभी उसके जिस्म का कॉपी राइट लिए मेरे सामने चुदने खड़ी थीं.

मैंने उससे पूछा- कहां निकालूं?वो- मेरी चूत में ही डालो … मेरी चूत बहुत दिनों से प्यासी है.

पापा मस्त सिसकारियां भरने लगे तथा कहने लगे- आंह बहू, यह सुख तुम्हारी सास ने कभी नहीं दिया … आज मेरी सच की सुहागरात मनी है. ऐसे करते ही वो मेरे पैरों में पड़ गई और बोली- प्लीज पंडित जी मेरी हालत समझिए. मैंने जानबूझ कर अपनी नाइटी को भी अस्तव्यस्त कर दिया ताकि उसे लगे कि मैं गहरी नींद में सो चुकी हूँ.

टीना टीना सेक्सी वीडियो मैं नीचे झुककर अपने मुँह से उसके दोनों चूचुकों को बारी बारी से चूसने लगा. ये सीधी उसके पेट में गयी क्योंकि उसने मेरा लंड मुँह से बाहर निकाला ही नहीं था.

इसके बाद जब सोनम सलवार सूट में पापा के सामने जाती तो किसी कुंवारी कली से कम नहीं लगती थी. टीचर फक़ वर्जिन गर्ल स्टोरी एक स्टूडेंट लड़की की है जो मैथ के पेपर में पास होने के लिए अपने टीचर को अपनी कुंवारी जवानी का मजा दे रही है. पहले मैंने अपने हाथ से चूत के चारों तरफ सहलाया, जिसके कारण मस्ती में फ़लक की सांसें ऊपर नीचे होने लगीं.

गांव की औरत का बीएफ

मैं अमन के लंड के ऊपर बैठी और लंड चूत में डाल कर सेट किया और अपने हाथ अमन के निप्पल पर रख कर अपनी कमर हिलाने लगी।थोड़ी देर बाद अमन ने भी अपनी कमर उठा कर मेरा साथ देना शुरू कर दिया. मेरा एक दोस्त मुझे देख कर बोला- बधाई हो रवि, अब तुम रोज अपनी आंखें अच्छे से सेंक पाओगे. शायद भाभी का काम खत्म हो गया था और वो दोनों सोने के लिए अपने रूम में आए थे.

चाची ने चूचियां हिलाईं और बोलीं- सही पकड़े हो … हम दोनों तुम्हारे चाचा के साथ खूब मस्ती करती हैं. उसने मुझे एक कमरा दिखाया और कहा- तुम यहां आराम करो और फ्रेश हो जाओ.

कुछ ही पलों में भाभी ने अपना सारा पानी मेरे मुँह में भर दिया जिसको मैंने पी लिया और भाभी की चूत को चाट चाट कर साफ कर दिया.

दोस्तो, मैं अपनी कहानी शुरू करने से पहले अपने बारे में कुछ विवरण देना चाहता हूं. मैं- सब्र कर मेरी जान, कहीं तेरे अम्मी ने देख लिया तो इधर ही तेरा निकाह पढ़वा देंगी. मैं घर आया ओर एक बड़ा सा मैसेज लिखा- गलती हुई, पर क्या करता तुमसे प्यार हो गया है.

मैंने उसके बूब्स को जगह जगह काटना और चूसना शुरू कर दिया।वो आह आह शी करते हुए आवाज़ें करने लगी और मेरे कपड़े भी उतारने लगी।हम दोनों ऊपर से नंगे थे. मैं इधर उधर देख रहा था लेकिन कोई और नजर नहीं आ रहा था, वहां केवल हम दोनों ही थे. मैंने उससे कहा- मुझे दुःख है मेरी जान रीतिका, मैंने तुम्हारी सील तोड़ दी है.

वो हंस कर कह देती थी- हां हां, मैं आपका माल बनने वाली हूँ, फिर जैसे चाहे मजा ले लेना.

सविता भाभी कार्टून बीएफ: मैंने चादर से ही अपना हाथ पौंछ लिया और आयशा के साथ चिपक कर लेट गया. ऐसे ही इस बार मैंने अपना हाथ उसकी टी-शर्ट के अन्दर डाला और उसकी कसी हुई ब्रा के अन्दर उसके मलाई जैसे मासूम चूचों को अपनी हथेली में भर लिया.

वीरेन्द्र- तुमने अपना मूसल सा हथियार उसके छोटे से चिकने छेद में पेल दिया, अभी फट जाती तो लेने के देने पड़ जाते, लौंडा छोटा है, तुम तगड़े जवान. मैंने कहा- तुमने आज से पहले ऐसा लंड देखा है?वो बोली- फिल्म में देखा है. ‘अअ अअअ सर आराम से चूसिए न … निप्पल पर जीभ आराम से फेरो आह … कितना सुकून मिलता है.

तो सोच रही थी कि मोहक को साथ ले चलूं अगर आपकी इजाजत हो?मोहक के डैड- अरे बेटा, तुम और तुम्हारी फॅमिली जा रही है तो मुझे कोई ऐतराज नहीं है, तुम मोहक को ले जा सकती हो।डेज़ी- जी शुक्रिया अंकल, अब मैं चलती हूँ।फिर मैंने मोहक को फ़ोन किया और कहा- तुम्हारे डैड ने हां कहा है.

मैंने नींद खुलने का नाटक किया और अपने पैर पूरे लंबे करके और हाथ फैलाकर पीठ के बल होकर लेट गया. मैंने कहा- क्या बात है बहुत खूबसूरत लग रही हो!वो बोली- अच्छा ऐसी ठंड में मैं कहां से तुम्हें खूबसूरत लग रही हूँ!फिर उसने सब सामान को प्लेट लगाया और दो गिलास लेकर आयी. भाभी मेरे मुँह से चाशनी शब्द सुनकर हं दीं और मैं उनकी चूत को चाटने लगा.