कुमारी लड़की का बीएफ दिखाओ

छवि स्रोत,बिग अस्स हॉट मॉम्स

तस्वीर का शीर्षक ,

बाप बेटी के बीएफ हिंदी: कुमारी लड़की का बीएफ दिखाओ, तब मैंने कालू को मुझे सुम्मी ही कह कर पुकारने को कहा और बोली- आज मैं तुम्हारी हूँ राजा, मुझे जन्नत की सैर करा दो.

हिंदी में सेक्सी चुड़ै वीडियो

मैं लंड उसकी चूत पर ऊपर से नीचे और नीचे ऊपर की तरफ रगड़ते हुए, उसका स्मूच करते हुए भरपूर साथ दे रहा था. अंग्रेजी में सेक्सी पिक्चर वीडियो मेंमैंने धीरे धीरे चुदाई जारी रखी और आधा घंटा तक अपनी भांजी की चुत को चोदने के बाद मैं झड़ने वाला हो गया था.

उसका ये रौद्र रूप देख मैं उत्तेजना नियंत्रित करने लगा क्योंकि मेरी हार निश्चित दिखाई दे रही थी. सनी लियोन के सेक्सी चुदाईकुछ पल प्यार से निहारने के बाद मैंने उसकी ब्रा उतार दी और पागलों क़ी तरह उसके मम्मों को चूसने लगा, जोर जोर से दबाने लगा.

मैंने सोचा कि यार आज इसके साथ ही लंड चुसवाने काम कर लेता हूँ और अगर अच्छा लगा तो साले की गांड भी मार लूंगा.कुमारी लड़की का बीएफ दिखाओ: शनाया ने मुझसे कहा- मैं एक बहुत अच्छा गिफ़्ट लायी हूँ, तुझे बहुत पसंद आएगा.

बिहारी भाभी की चूत की चुदाई का मजा लिया मैंने! वो मेरे पड़ोस में रहती थी.उसने मुझे देख लिया और गुस्से में कहा- ये आप क्या कर रहे हो अंकल?ये कह कर उसने कंबल से अपना नंगा बदन ढक लिया.

डॉगी की सेक्सी पिक्चर - कुमारी लड़की का बीएफ दिखाओ

एक साथ एक से ज्यादा मर्दों से चुदवाने का ये मेरे लिए एक सुनहरा अवसर था.मैं तो मन ही मन बहुत खुश हो गया था कि जो मैंने सोचा था, मेरा वो ही काम हो रहा है.

वो अनचाहा विरोध करने लगीं और मैं धीरे धीरे उनके ऊपर आकर होंठों को चूसने लगा. कुमारी लड़की का बीएफ दिखाओ कुछ टाइम बाद दूध वाले का दोस्त बेड पर लेट गया और मैं उसके लंड पर चूत सैट करके उछलने लगी.

वो फिर से हंस पड़ी और बोली- ये तो बड़ी मुसीबत है … तेरी गर्ल फ्रेंड की दुकान बंद है और मुझे अभी मौक़ा नहीं मिल रहा है.

कुमारी लड़की का बीएफ दिखाओ?

दोस्तो, नंगी लड़की सेक्स फोरप्ले कहानी के अगले भाग में चुदाई की दास्तान लिखूँगा. मेरे मुँह में पानी आ गया और उसने मुझे देख लिया था कि मैं उसको कामुक नजरों से देख रहा हूँ. आधे दिल की आकार के कान और उनमें छोटी छोटी बालियां, लंबी गर्दन और उसमें एक पतली चैन.

मेरी आंखों में हद से ज्यादा खुशी थी कि सुनीता मेरी इच्छानुसार चुदाई का मजा दे रही थी. फिर मैं उसके ऊपर से उठा, वो अपनी चूत पर हाथ रख कर इधर उधर पलट रही थी और रो रही थी. चु…!मैं- मतलब आप चुदवा नहीं सकती, पर क्यों?भाभी- मैं अपने पति को धोखा नहीं दे सकती.

करीब दस मिनट बाद पापा ने सोनम के होंठों को छोड़ कर अपना सुपारा उसके होंठों से लगा दिया तो सोनम बेशर्मी से ससुर के लंड को चूसने लगी. मैंने टेबिल से क्रीम की शीशी लेकर अपने लंड पर पोती, कुछ क्रीम उंगली पर लगाई और उसे बांह पकड़ कर उठाया. मैंने अपनी पूरी रफ्तार से ललिता भाभी की चुदाई शुरू कर दी और तेज़ी से सटासट अन्दर बाहर करके चोदने लगा.

अब मेरा निकलने को था तो वो समझ गई और अपने मुँह को हटाने लगी पर मैंने उसका मुँह कसकर पकड़ लिया और उसके मुँह में ही अपना सारा माल निकाल दिया. तो उसने मेरी चौड़ी और गठीली छाती को अपने दोनों हाथों से सहलाया, वो बोली- हर्षद वो मेरी प्यारी बहन जो है … मेरी खुशियां ही चाहेगी ना वो!मैंने अपनी जुबान से उसकी जुबान को सहला कर कहा- अच्छा.

कोई एक मिनट बाद मैंने दूसरे धक्का मारा और अबकी बार मेरा पूरा लंड अन्दर चला गया.

मैंने अभी ‘सॉरी पर …’ इतना ही कहा था कि उसने थोड़ा ऊंचा स्वर करके कहा- विक्की, प्लीज यहां से अभी के अभी चले जाओ.

प्रियांशु नीचे लेट गया तो मैंने भी जल्दी से उसके लंड को चूत पर सैट किया और जोर से बैठ गयी. अब वो मजा लेने लगी थी और मेरे लंड की हर एक चोट जब बच्चेदानी तक असर करती, तो मादक आवाजें निकालने लगी थी. कुछ देर बाद मैं उसकी गांड में झड़ गया और लंड का सारा पानी उसकी गांड में निकाल दिया.

तीन दिन के लिए वैसे भी मेरा घर खाली था और मुझे चाहिए भी था कि किसी तरह से मेरी जबरदस्त चुदाई करने वाला आ जाए. जैसे ही वो सांस लेता, मैं फिर से अपना पूरा लंड उसके मुंह में डाल देता. बस ऐसे विचार आते ही मैंने उसके होंठों में अपने होंठ रख दिए और लंड को चूत की फांकों में फंसा दिया.

अब मैं आपका ज्यादा समय ना लेते हुए मेरी अधूरी सेक्स कहानी का अगला भाग आपके सामने पेश कर कर रहा हूँ.

मैंने नौकर से कहा कि वह मेरे माता-पिता को रीतिका के आने के बारे में न बताए. सर का कॉल आया- मेघा आज कॉलेज नहीं आई क्या?‘सर वो हमारे पड़ोस के घर में कोई नहीं है, तो मुझे उनके घर पर रहना है. घर में किसी चीज की कमी नहीं है, बस मम्मी नहीं हैं … जिससे आपकी खुशियां खत्म सी हो गई हैं और आपके बेटे की वजह से मेरी …इतना कह कर सोनम ने मुँह बंद कर लिया.

कुछ देर बात करने से महसूस हुआ कि चेतना की कच्ची उम्र के साथ सेक्स ज्ञान भी कच्चा है. दोस्तो, इसके आगे क्या हुआ किस तरह से मैंने सविता को पूरी रात चोदा और दोनों के बीच कैसी चुदाई हुई, ये कहानी के अगले भाग में पढ़िए. अदिति सीत्कारने लगी- ओह हर्षद ऊंई ऊंई ऊं ऊं स् स् स्ह स्ह हम्म बहुत मजा आ रहा है.

उसकी गांड इसके लिए तैयार नहीं थी, ना ही वो!वो एकदम से हुए इस दर्द से चीख उठा.

कुछ कहानियों में थ्रीसम सेक्स होता है, लड़की की चूत और गांड में एक साथ लंड चलते हैं. मैं थोड़ा सा रुक गया और उसका हाथ दबाते हुए दुबारा से होंठ उसके पास कर दिए.

कुमारी लड़की का बीएफ दिखाओ मैंने रूम में आते ही अपने कपड़े निकालकर रख दिए और पूरा नंगा हो गया था. कज़िन सिस्टर हार्ड सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मुझे लॉकडाउन में बुआ के घर रहना पड़ा.

कुमारी लड़की का बीएफ दिखाओ झटके के साथ ही लंड का सुपारा उनकी चूत में घुस गया और प्रियंका मैडम की चीख निकलने लगी. फिर मैंने रोहण से फोन से पूछा, तो उसने आधी बात बताई कि मेरे भाई को स्कूल से निकाल दिया गया है.

फिर उसकी दोनों गोलियों को मैंने बारी बारी से चूसा।मैंने दोबारा लंड को मुँह में लिया और सिर्फ टोपा ही चूस रही थी क्योंकि आज से पहले मैंने कभी लंड नहीं चूसा था।तभी अमन ने अपने दोनों हाथों से मेरे सिर को पकड़ा और धक्का लगाकर मेरे मुंह में अपना आधा लंड डाल दिया।मेरे मुख से गु गु की आवाज आ रही थी।उसने एक और धक्का मारा और अपना सारा लंड मेरे मुंह में डाल दिया.

पंजाबी सेक्सी चलने वाला

दोस्तो, स्वीटी के साथ चुदाई की कहानी का पूरा रस मैं अगले भाग में लिखूंगा. मुझे यह मजा कैसे मिला?प्यारे दोस्तो, कैसे हो आप सब … सब कुछ बढ़िया होगा, ऐसी आशा है. मैं दोनों गिलासों को टकरा कर चियर्स करते हुए बोला- जब सुहाना लगेगा तो कोई रोएगा किस लिए?वो मुस्करा कर बोली- तब मुझे ऐसे ही क्यों छोड़ रखा.

फिर उसकी दोनों गोलियों को मैंने बारी बारी से चूसा।मैंने दोबारा लंड को मुँह में लिया और सिर्फ टोपा ही चूस रही थी क्योंकि आज से पहले मैंने कभी लंड नहीं चूसा था।तभी अमन ने अपने दोनों हाथों से मेरे सिर को पकड़ा और धक्का लगाकर मेरे मुंह में अपना आधा लंड डाल दिया।मेरे मुख से गु गु की आवाज आ रही थी।उसने एक और धक्का मारा और अपना सारा लंड मेरे मुंह में डाल दिया. अभी भी लंड बुर में जकड़ कर जा रहा था लेकिन वीर्य से लबालब बुर चिकनी और मुलायम महासुख दे रही थी. उसको अपने चूतड़ों का कमाल पता था, जिस वजह से मुझे लगता था कि ऐसा नहीं हो सकता था कि विवाह से पहले उसके ब्वॉयफ्रेंड नहीं रहे हों.

’मैंने अपने पेट पर सर के लंड का पानी निकलवाया और हम दोनों साथ में टेबल पर लेट गए.

दीदी नंगी होकर मुझे भी नंगा करने लगी और बोली- तुम मुझसे छोटे हो फिर भी मैं तुम्हारे साथ सेक्स करना चाहती हूँ क्योंकि तुम मुझे चोदना चाहते हो. फिर अंडगोटियों से बह कर नीचे मेरी गांड के छेदको गीला करके बेडशीट पर फैलने लगा. फिर मन में आया कि सबसे बेहतर विकल्प तो शनाया की सहेली सुमन और उसका बॉयफ्रेंड अमित है या फिर मेरे साथ पढ़ने वाली मेरी दोस्त श्रुति और उसका बॉयफ्रेंड गौरव है.

जब वो मुझे पकड़कर बेडरुम में ला रहा था तब उसकी उंगलियां मेरे मम्मों के ऊपरी हिस्से को टच कर रही थीं. फिर मुझे धीरे धीरे पता चला कि सविता के कई मर्दों के साथ संबंध थे और अमित ने रंगे हाथ सविता को चुदाई करवाते पकड़ लिया था. इस बात पर रेशमा हंस कर बोली- ऐसे तगड़े धक्के दे रहे हो मेरे मालिक, तो चीख निकलेगी ही ना?वो बात तो सही कर रही थी.

उसने लंड मेरे गले तक ठूँसा, तो मुझको सांस लेने में दिक्कत होने लगी थी. लेकिन दोस्तो, मेरा ये नजरिया गलत निकला और अब मैं ये पूरे विश्वास के साथ कह सकती हूं कि हॉट लड़की की वासना, जिस्म की प्यास एक ऐसी प्यास है, जिसे बुझाने के लिए इंसान किसी भी हद तक जा सकता है और वो सारे रिश्ते नाते भूल सकता है.

कुछ देर बाद जब बातों का दौर शुरू हुआ तो सना ने बताया कि रियान और उसका पुराना रिश्ता है. कुछ देर बाद उसने आसन बदलने का कहा, तो मैं उसे उल्टा लिटाकर चोदने लगा. मैंने साथियों को, जो चारों ओर से घेरे थे और उत्सुकता से गांड मराने का खेल देख रहे थे, कहा- देखो इसके चूतड़ कस्ते ढीले हो रहे हैं.

एक बार वो नंगी होकर अपनी चूत में खीरा डाल रही थी तो …यह कहानी पढ़ें.

मैंने पूछा- दी आपको और क्या क्या मालूम था?वो लंड का मजा लेती हुई बोली- तू रात को भी मेरे मम्मे दबाया करता था. पैंटी उतारते समय वो झुक गयी, तो उसकी गोरे गोरे और थोड़े बाहर को निकले गदराये चूतड़ देखकर मेरे लंड में तनाव आने लगा था. अब मैं अपनी उंगलियों पर और गांड पर जैल लगाकर गांड में उंगली करने लगा.

मैं भी शान्ति से उसकी तरफ से होने वाली किसी प्रतिक्रिया का इन्तजार करने लगा. इस तरह के मौकों के लिए मैं तरह तरह की टेबलेट और तेल से अपने लंड की मालिश करता हूँ, जिससे मेरा लंड काफी ताकतवर और लंबी रेस का घोड़ा बन गया है.

मैंने कहा- कैसे चोदूं यार … आपके पति तो सारा दिन घर पर ही रहते हैं?भाभी बोलीं- मुझे नहीं पता, कैसे भी करो, मुझे बस आपका लंड चाहिए. अभी भाभी कुछ समझ पातीं कि मास्टर ने अपना लंड भाभी की चूत में पेल दिया. उसके चुचे सौतेले माँ बेटे का सेक्स की इच्छा में और भी भारी हो गए थे.

आदिवासी सेक्सी वीडियो 2020 की

मैं गरीब परिवार से हूँ, मेरे परिवार की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं है.

और दूसरी बात ये है कि हर्षद, जब से मौसी ने तुम्हें देखा है … तब से वो तुम पर फिदा हो गयी हैं और तुम्हें चाहने लगी हैं. अब आपका ज्यादा समय ना लेते हुए आगे की हॉट भाभी सेक्स कॉम कहानी लिख रहा हूँ. उसकी गांड इसके लिए तैयार नहीं थी, ना ही वो!वो एकदम से हुए इस दर्द से चीख उठा.

मैं समझ नहीं पा रहा था कि अब इससे किस तरह से बात करूं और असली बात कैसे कहूँ. खुशखबरी थोड़ी ही देर में बुआ और मामी तक पहुंच गई जबकि मैं अभी भी आश्वस्त हो नहीं पाया था. बुआ और भतीजे की सेक्सी कहानीउसकी शादी के बाद पहली बार जब मैंने राखी को देखा, तो बस देखता ही रह गया.

राजीव नंगा सो रहा था।शीना मुस्कुरा गयी। वो चुपचाप बाहर आ गयी।बाहर अब उसे खुजली होने लगी कि एक बार राजीव का लंड देखा जाये!पर उसे डर भी था कि अगर वो जग गया तो क्या सोचेगा।आखिर हिम्मत करके शीना दोबारा कमरे में गयी और बेपरवाही से अंदर घुस गयी।अंदर का नजारा तो बेहद मजेदार हो गया था।राजीव सीधा लेटा पड़ा था, उसकी चादर पूरी हटी हुई थी और उसका लंड पूरा तना हुआ था।शीना की हालत खराब हो गयी. मुझे किसी नई चूत चोदने का मन करने लगा था लेकिन मैं शनाया के बिना इस तरह से चुदाई का मजा नहीं लेना चाहता था.

मैं और मोनिका मिल कर दूध वाले को और उसके दोस्त के लंड तैयार करने लगीं. ‘सर कोई आ गया तो?’‘आज यहां कब तक है तू?‘सर वो लोग तो रात को ग्यारह बजे आएंगे. बाप का लंड मेरी चुत में घुसने से डर रहा था और मां ने मुझे अनिकेत भैया या विवेक से चुदने को मना किया हुआ था.

फिर बोली- ठीक है शालिनी, नौ बजे तक मैं रेडी हो जाऊंगी, तुम मुझे अपने साथ पिक कर लेना … बाय. मास्टर का लौड़ा पूरा बांस जैसा खड़ा था और लम्बा ऐसा जैसे भाभी की चूत से घुस कर उनकी गांड में से निकल जाएगा. फिर उन्होंने अपने हाथों को मेरे पेट पर बांध लिया, जिससे उनका लंड और मुझे ज्यादा गड़ने लगा.

अब आगे हॉट गांड Xxx कहानी:उन्हें नंदा को देते हुए मैंने कहा- किसी भी प्रकार इन गोलियों का चूर्ण कर वाइन में रुचिका को पिला देना, भूलना मत.

उन दोनों के लंड का जो पानी हम दोनों के मम्मों पर लगा था, उसे चाट कर साफ कर दिया. मैंने पूछा- मेल फ्रेंड या फीमेल?वो बोला- भाभी …मैंने उसे बीच में ही टोकते हुए बड़े प्यार से कहा- भाभी की मां का भोसड़ा और भाभी की बहन की चुत.

मेरे निवास पर एक गांव का लड़का झाड़ू पौंछा, बर्तन कपड़े धोने व साफ सफाई के लिए आता था. मेरा लंड भी जोर जोर से फड़फड़ाने लगा था तो मैं अपने आपको रोक न सका और मैंने नीचे से अपनी गांड उठाकर जोर का धक्का देकर पूरा लंड अदिति की चूत की गहराई में डाल दिया. चूत चाटने के साथ मैंने एक उंगली चूत के अन्दर डाल दी और पूरी शिद्दत से चूत चाटने लगा.

हम दोनों चंडीगढ़ की लिए फ्लाइट में जाने के लिए बोर्डिंग एरिया में बैठ गए. उसने बंद आंखों से ही अपने कपड़े ठीक किए और मुझसे कहा- विक्की तुम जाओ यहां से, अभी के अभी … प्लीज जाओ. मैंने जैसे ही अपनी एक उंगली भाभी की चूत में डाली, भाभी की मादक आवाज़ निकलने लगी- ओहह … आआहह उच्च … ओह राहुल और करो … आंह और करो आह!फिर मैंने भाभी को बेड पर लिटा दिया और उनकी पैंटी को अलग कर दिया.

कुमारी लड़की का बीएफ दिखाओ वो समझती हुई बोली- हां तुम्हें भी पिलाऊंगी, लेकिन अभी नहीं … जब हमें समय मिलेगा तब!सरिता ये शर्माकर बोली. वो मुझे देख कर इतना खुश हो गया था, जैसे उसे जीवन का सब कुछ आज मिलने जा रहा है.

ओपन सेक्सी वीडियो चुदाई वाला

मेरी हिम्मत थोड़ी बढ़ चुकी थी तो मैंने उससे उसका फोन नंबर मांग लिया. वो अनचाहा विरोध करने लगीं और मैं धीरे धीरे उनके ऊपर आकर होंठों को चूसने लगा. आज जब हम दोनों एक दूसरे को एक बार ज़ी भर कर चोद चुके हैं और चूस चुके हैं और अपनी जवानी की प्यास को आंखों से अभी चोद रहे थे.

फिर उसने कपड़े पहन लिये और अरुणिमा करने के लिये मंदिर वाले कमरे में चली गयी. तभी उनके कुटुम्ब के चाचा सुन्दर जो उनके पड़ोसी भी थे, ने मुझे देख कर कहा- ये डाक्साब मेरे यहां सो जाएंगे, किशोर तुम परेशान न हो. मारवाड़ी लुगाइयों की सेक्सी वीडियोलेकिन मैंने जो लंड सबसे पहले पकड़ा था, वह लंड था मेरी भाभी जी के भाई आशुतोष का.

लंड पर थूक मला मेरी गांड पर टिका कर बोले- जब तक डाक्टर लौट कर आता है, उसके पहले जल्दी से निपट लेते हैं.

उसने बताया कि तमन्ना के साथ ही कॉलेज में पढ़ती है और पास ही की सोसाइटी में रहती है. लगभग 15 मिनट के बाद संजना बोलने लगी- प्लीज आर्यन … मेरी चूत में लंड डाल दो … अब मुझसे बिल्कुल बर्दाश्त नहीं हो रहा है.

वीरू के हाथ शब्बो की पीठ को जैसे ही सहलाने लगे तो उसकी फुद्दी फिर से बहने लगी।इतने सालों के बाद भी उसका जिस्म करारा था, भरे हुए जिस्म को किसी और मर्द ने पहली बार सहलाया था. मैंने झटके मारने तेज कर दिए और फुल जोश में उसे चोदने लगा था, साथ ही मैं उसे गालियां भी दे रहा था- साली रंडी, थोड़ी देर पहले तेरे को लंड चाहिए था ना … ले अब … ले अब कुतिया साली रांड … साली तू आज से मेरी रंडी है आह ले मादरचोद लंड ले. अब हम दोनों के अलावा कोई तीसरा है क्या … जो हमें देखेगा?नीता तैयार हो गयी.

नीचे संगमरमर की तरह तराशी हुई गहरी नाभि के साथ लचकती कमर … आह क्या कहने थे.

साथ में सिगरेट का भी और स्नैक्स का भी।मैं आपको बताना चाहूंगी दोस्तो कि मैं अंकल हमारे पड़ोसी हैं, मेरे शौहर पीने पिलाने के चक्कर में कई बार उनके साथ वक्त बिताया करते हैं. अब तक मैं बहुत गर्म हो चुका था और दीदी की चुत भी लंड लंड करने लगी थी. ऑफ़िस और कॉलेज में भी ख़ाली समय में तुम मुझसे सेक्स करने की कल्पना करती हो।5.

क्सक्सक्स फुल सेक्सीउसकी गांड अपने लंड के निशाने पर ली और थोड़ा सा थूक लगा कर उसकी गांड को चिकना किया और लंड पेल दिया. मैंने जाकर देखा और कुछ सोच कर उसके बगल में लेट कर रुचिका से चिपक गया.

बड़े बूब्स की सेक्सी वीडियो

दोनों तरफ से हो रहे हमले से मेरा लौड़ा भी झट से चुदाई की लड़ाई के लिए खड़ा होने लगा. अचानक क्रीम चिपचिपी होने की वजह से उंगली फिसल कर चूत के अन्दर चली गई जो मैं जान नहीं पाया क्योंकि मेरी आंखें बंद थीं. डॉक्टर का लन्ड मुखिया जी के लन्ड से छोटा था पर उसने माँ को बहुत बेरहमी से चोदा.

मैंने देविका का एक स्तन अपने मुँह में लिया और जोरों से खींचते हुए चूसने लगा, साथ ही मैं अपने हाथ से दूसरे स्तन को मसल रहा था. फिर मैंने आहिस्ता से अपने दोनों हाथ नीता के मुलायम पेट पर रख दिए और उसके पेट व नाभि को सहलाने लगा. मैंने सोफे पर लेटे हुए अपने देवर को ऐसे अनदेखा किया जैसे कि मैंने उसे देखा ही नहीं था.

मैंने लंड सहलाते हुए पूछा- अब तुम मेरे निजी सामान के बारे में अपनी राय बताओ. मेरे मुँह में एक मम्मे का मजा था, तो मेरे दोनों हाथ उसकी कमर में से पैंट में घुस गए थे. मेरा भी लंड फड़फड़ाने लगा था तो मैंने कहा- हां नीता मेरा भी बहुत मन कर रहा है.

थोड़ी देर बाद वो उठकर कपड़े पहनने की कोशिश करने लगी लेकिन मेरा लंड एक बार फिर तैयार होने लगा था. वो बड़े कामुक अंदाज से धीरे धीरे से कभी दायां तो कभी बांया गोटा मुँह में लेकर चूसने लगी थी; साथ में मेरी आंखों में आंखें डाल कर मुझे रंडी की तरह देख रही थी.

लगभग 2:30 बजे वो मेरी बात मान कर उठी और उसने मुझे इशारा कर दिया कि छत पर आ जाओ.

लंड कि ये हालत पिछले 5 घंटा से थी … जब मैसेज पर बात होना शुरू हुई थी, उसी टाइम से ही लंड एकदम कड़क था. సెక్స్ వీడియోస్ తెలుగు మూవీफ़लक के थूक में घुले हुए चॉकलेट वाले केक को मैं मस्ती के साथ खाने लगा. आदिवासी ऑंटी सेक्सीवहीं मैं खुश था कि आज नई चूत मिलने वाली है।मैंने एक ही झटके में उसकी नाइटी निकाल दी. कुछ देर बाद मैंने भी अपने पेटीकोट से अपनी चूत को पौंछा और चादर ओढ़कर लेट गई.

लगातार दस मिनट तक वो ऐसा ही करती रहीं और अचानक मेरा सारा माल उनके मुँह में ही झड़ गया.

लंड अन्दर घुसा तो मैं चिल्ला पड़ा- आह … आह … लग रई … बस … बस … फट गई … आ … आ!मैंने अपना हाथ बढ़ा कर उसका लंड पकड़ना चाहा पर उसने जोर लगा कर मेरा हाथ हटा दिया और चिपक गया. ऐसे ही एक दिन मैं जब उनकी सेक्सी चड्डी मैं अपना लंड डाल कर हिला रहा था तो वो अचानक से चाय देने के बहाने ऊपर आ गईं. अब तो मेरी स्थिति और भी दयनीय हो गयी थी क्योंकि मेरे चूतड़ों से ऊपर का हिस्सा बेड के ऊपर था और मेरी टांगें नीचे लटक रही थीं.

मैंने कहा- फिर कैसे गांड में लंड पेलूँगा?वो बोला- मेरी सलवार नीचे करके मार लेना. आरजू को भी बहुत मजा आने लगा; चीखें, मादक सिसकारियों में बदल गईं और एक दूसरे का साथ देते हुए चुदाई करने लगे. चांदनी रात में खुले आसमान के नीचे मैं पूरी ताकत से सुनीता कीचूत का भोसड़ाबनाने पर तुला हुआ था.

हिंदी सेक्सी राजपूत

दो दिन बाद जब अनीशा का मैनेजर आया तो मेरे सेक्रटरी ने उन्हें कहा- सर आपका ऑफिस विजिट करेंगे और आपके सारे कागजात खुद चैक करेंगे. कुछ ही देर में मैंने उसकी चुत में अपनी दो उंगलियों को एक साथ डाल दिया. मैं भी उनको चोदने की सोचने लगा लेकिन बीवी के होते हुए मौका नहीं मिल रहा था.

पहले मुझे उसके बारे में नहीं मालूम था कि वो भी इसी कॉलेज में है, पर जब वो मुझे दिखाई दिया, तो मुझे जानकारी हुई थी.

लेकिन मास्टर साला बहुत बड़ा वाला चोदू था, वो अभी भाभी को धकापेल चोदे जा रहा था.

मैंने सोचा कि आंटी आपके पास खुद के इतना है तो बाहर से क्या मंगवाना. सोनाली कामुक सिसकारियां लेती हुई बोली- आंह हर्षद, पहली बार इस तरह कोई मेरे निपल्स चूस रहा है. एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो नंगी फोटोलंड का सुपारा गांड में लेते ही वो जोर से चिल्लाई- आह मर गई … ईइह ओओह प्लीज बहुत दर्द हो रहा है … निकाल लो.

उसी समय पता नहीं मुझे क्या हुआ, मैं साबुन पकड़ उसकी पीठ पर लगाने लगी और मैंने अपना पल्लू नीचे सरका दिया. काश सोनम भाभी इस वक्त साथ होतीं, तो दोनों साथ में कामक्रीड़ा करते हुए नहाते. सूरज सर पर चढ़ आया था और साढ़े 6 बजने लगे थे लोगों का आनाजाना शुरू हो गया था.

मैं अपनी गर्लफ्रेंड शलाका को बहुत बार चोद चुका था व उसी से शादी भी करना चाहता था पर मेरी गर्लफ्रेंड के घर वाले नहीं माने और उसका कहीं और रिश्ता कर दिया. कॉलेज गर्ल Xxx स्टोरी में पढ़ें कि सेक्स में नयापन लाने के लिए हमने दो कपल को स्वैपिंग के लिए तैयार किया.

मैंने उससे कहा- अगर मैं तुम्हारी जॉब के लिए कुछ कर सकता हूँ, तो बताओ.

मेरे दिमाग में उस वक्त थ्रीसम सेक्स का कीड़ा चल रहा था और ये मौका भी मिल रहा था कि यदि प्रियांशु सैट हो जाए … तो कुछ काम बन सकता है और मेरे मन की चाहत पूरी हो सकती है. उन्होंने मेरे पजामे को निकाल दिया और बोलीं- मुझे तुम्हरा लंड चूसना है. टी-शर्ट में उसके तने हुए दूध मस्त लग रहे थे जिनका साइज मेरे हिसाब से 34 का लग रहा था.

लिंग स्प्रे अब मैं पूरी ताकत से धक्के मारने लगा और दूसरी तरफ नीचे से नीता जोर जोर से सिसकारियां लेकर झड़ने लगी. ‘आआहह उहह वीरू जी …’ जैसे कामुक सीत्कार रेशमा के मुँह से बाहर आने लगे.

गेहुंआ बदन, बड़ी आंखें, भारी भोंहें देखते हुए उसकी मस्त साइज की उठी हुई चूचियों पर मेरी नज़रें ठहर गईं. सेक्स कहानी के पहले भागपार्टनर की जवान बीवी पर दिल आयामें अभी तक आपने पढ़ा था कि किस तरह से सविता और अमित के तलाक के बाद मुझे एक बहुत बढ़िया मौका मिला कि सविता मुझसे दोस्ती के लिए तैयार हो गई थी और आज की रात मैं उसे चोदने वाला था. मैंने नीचे झुककर उसके एक चुचे को मुँह में भर लिया और उसे और तेज़ चोदने लगा.

भाई और बहन की फुल सेक्सी वीडियो

कुछ देर बाद भाभी ने मेरे लंड को पकड़ कर अपनी चूत पर सैट किया और धीरे धीरे नीचे बैठने लगीं जिससे मेरा लंड भाभी की चूत में घुसता चला गया. मैं कुछ पल बाद उसके हाथ को अपने लंड पर ले गया लेकिन उसने हाथ हटा लिया. एक चुत ही तो थी, हजारों मिलती हैं विक्की तुझे … क्यों सेंटी हो रहा है.

सोनाली ने झुककर अपने दोनों हाथों में मेरा नब्बे डिग्री में तना हुआ लंड पकड़ा और सहलाने लगी. अब मैंने भी नीचे से अपनी गति बढ़ा दी, तो रेखा की मुँह से गर्म सिसकारियां निकलने लगीं जो मुझे मदहोश करने लगी थीं.

मैं पानी का जग लेकर उनके पास गई और उन्होंने पानी अपने दारू वाले गिलास में भरा और बाक़ी का जग का पानी अपने जग में भर लिया.

मेरी उंगलियां और मुँह जल्द ही उसकी चुतरस से भीगने लगे थे और आखिरकार मेरी मेहनत रंग लायी. पहले नीता अन्दर गयी तो गीता ने उसे अपने गले लगाकर कहा- कितने दिन बाद घर आयी हो नीता. उस लड़की ने साफ़ साफ़ कहा था कि मैं जिससे चुदवाती हूँ, उससे अपनी अम्मी को भी चुदवाती हूँ.

अब मेरी टांगें अपने आप उठ गईं और उसके चूतड़ों पर अपनी टांगों को फंसा कर मैं उसे अपनी तरफ खींचने लगी. मैंने फिर से ललिता भाभी को बिस्तर पर लिटा दिया और उनकी टांगों को फैला कर चोदने लगा. वो और जोर से आवाज निकाल रही थी।थोड़ी देर बाद दीदी ने मुझसे पूछा- सेक्स करोगे मेरे साथ?ये सुनकर तो मुझे और पसीना आने लगा, मैं चुप रहा।दीदी ने अपना लोवर उतार दिया और मुझे भी उतारने को कहा.

फिर मैंने शैली मामी के साथ गर्म पानी से चेतना की बुर साफ कर मलहम लगा कपड़े पहनाने में सहयोग किया.

कुमारी लड़की का बीएफ दिखाओ: फिर शादी तय हो गई और वो दिन भी आ गया जब हम दोनों एक साथ एक ही बिस्तर पर आने वाले थे. मैं मटकती हुई अन्दर गई तो आज वो अभी बैठा फोन पर भोजपुरी गीत सुन रहा था.

चंडीगढ़ पढ़ाई के लिए आया तो मकान मालकिन से दोस्ती के बाद सेक्स का मजा मिला मुझे!जब मैं करीब बीस साल का था, उस वक्त मैं बारहवीं उत्तीर्ण करके घर से बाहर रहने के लिए चला गया. मेरी पिछली कहानी थी:पड़ोसन भाभी ने मुझे पटा कर चूत चुदवाईआज मैं आपको अपनी चाची की गांड कैसे मारी, वो बताने जा रहा हूँ. वो गजब की खूबसूरत थीं, एकदम दूध की तरह उजली, आंखें कटीली, होंठ गुलाबी और रसीले.

अर्चना दीदी को वो चुदाई की काली रात भारी पड़ गई थी जो उन्हें ता-उम्र याद रहने वाली थी.

मैंने भी पलंग से ही उसके हाथ को अपने हाथ में ले लिया और अपना हाथ नीचे ले जाकर उसकी टांगों में डाल दिया. फिर उसने स्लीवलैस गोल्डन ब्लाउज में से हाथ ऊपर करके अपने अंडरआर्म्स आगे कर दिए और थोड़ा दूसरी तरफ झुक गयी. इससे भाभी मुझे बड़ा स्नेह देने लगीं और मेरा रोज ललिता भाभी के घर में आना जाना हो गया.