भाभी और देवर की बीएफ हिंदी में

छवि स्रोत,शीलभंग वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

हिंदी सेक्सी इंडियन: भाभी और देवर की बीएफ हिंदी में, प्रियंका- आहह मजा आ रहा है यार … अन्दर डाल न!मैंने अपनी दो उंगलियां गीली करके प्रियंका की चूत में डाल दीं और ऊपर से जीभ भी चलाने लगी.

सेक्स फोन नंबर

आपको मेरी ये Xxx देसी जवानी की कहानी कैसी लगी … प्लीज़ मुझे मेल जरूर करें. पोर्न starउसके कुछ देर बाद एक बार फिर से दोनों में घमासान चुदाई का युद्ध हुआ.

उसने पीछे से लंड सैट किया और धक्का देकर अपना मोटा लंड मेरी गांड में डाल दिया. घड़ी सेक्सी भेजोवो लैट्रिन करने के साथ साथ अपनी गांड उठा उठा कर मुझे चोद भी रहे थे.

मैंने उंगली और तेज कर दी और कुछ ही पलों में उसकी चूत से पानी निकल गया.भाभी और देवर की बीएफ हिंदी में: दरवाजा खोलते ही मेरी सामने साक्षात रम्भा (स्वर्ग की अप्सरा) नैना खड़ी थी.

मैंने पूछा- विशु हो गए तुम्हारे सवाल!वो बोला- दीदी नहीं, एक अभी बाकी है, वो हल नहीं हो पा रहा है.फिर तुम उसके साथ यहां पर मजे कर लेना और थोड़ा बहुत मजे तपिश को भी करने देना।तपिश और निधि ने कहा- हां ये ठीक है।यश ने भी हां में सिर हिला दिया।हम थोड़ी देर ऐसे ही बातें करते रहे।तभी तपिश बोला- अरे मैं एक बात बताना भूल गया अंजलि, मेरी रिचर्ड से बात हुई थी और वो तुम्हें अस्थाई रूप से तीन महीनों के लिये रिक्रूट करने को राजी हो गया है.

भोजपुरी हीरोइन ब्लू पिक्चर - भाभी और देवर की बीएफ हिंदी में

तभी मैडम स्टाफ रूम के बाथरूम की ओर मुड़ीं और बॉथरूम के पास पहुंच कर मुझसे बोलीं- तुम अन्दर जाकर चैक करो, कोई है तो नहीं.फिर सुबह मेरी आंख 10 बजे तब खुली, जब कोई मेरे घर की घंटी बजा रहा था.

भाभी बोलीं- लो दूध पी लो मेरे प्यारे देवर जी, तभी तो रात भर चोद पाओगे. भाभी और देवर की बीएफ हिंदी में वो बोली- मुझे कुछ सामान लेने मार्केट जाना है … तो आप मुझे कल ऑफिस जाने से पहले कुछ पैसे दे देना.

वो मेरे दोनों हाथ पकड़ कर अपने मम्मों पर रख कर मुझे अपनी चूत और गांड को रगड़ रही थी.

भाभी और देवर की बीएफ हिंदी में?

ज्योति ने शरमाकर अपनी नजर नीची कर ली।मैंने ज्योति की चोली को खोल दिया और उसे बैठाकर उसकी चोली को निकाल दिया. और Xxx यंग सिस्टर सेक्स का मौका जल्द ही मिल गया जब ज्योति की पहली बार ससुराल से विदाई हुई और वो घर आ गयी।घर आने के बाद जब पहली बार उसे देखा तो वो और भी खिल गयी गयी थी. मैंने बोला- ठीक है, कुक्कू तुम घबरा तो नहीं रही हो? मैं तुम्हें तब तक कुछ नहीं करूंगा, जब तक तुम नहीं चाहोगी.

मेरा भाई मेरा फोन चेक करता रहता है।मैंने कहा- ठीक है।फिर हमारी डेली बातें होने लगी।बीच बीच में मैं गंदी बातें भी करता था. तभी अंकल ने धीरे से मेरे कान ने पूछा- कैसा लग रहा है?मैंने अंकल से कहा- अंकल, ये ग़लत है, आप मेरे पापा के दोस्त हो और आपकी उम्र 50 साल है. ट्रेनर- सभी लोग एक दूसरे को नहला दो और कपड़े पहनकर खाने की जगह आ जाएं.

आज मैं पहली बार उसे इतने पास से देखूंगी, उसका हाथ पकड़कर बातें करूंगी. फिर बुआ मेरे पास आईं और बोलीं- तुम मेरी कसम खाओ कि इस बारे में किसी को नहीं बोलोगे. चाचा चूमते चाटते हुए अपना हाथ उनकी कच्ची पर ले आए और कच्छी को धीरे-धीरे नीचे की ओर सरकाते हुए उतारने लगे.

मैं उसे भी नहीं छोड़ सकता क्योंकि मैं अपनी बीवी के साथ बुरा नहीं करना चाहता. फिर महेश सर ने मम्मी की साड़ी का पल्लू हटाकर उनके मम्मों को पकड़ लिया और गोलाइयां नापने लगे.

गाड़ी आगे की ओर चल दी।मैंने थोड़ा सा एस्केलेटर बढ़ाने का इशारा किया।मेरी गर्म-गर्म सांसें अब दाइशा जी के चेहरे पर पड़ रही थी और शायद वो भी इसे एंजॉय कर रही थी क्योंकि उन्होंने किसी तरह से मुझे रोकने की कोशिश नहीं की।पर शायद उन्होंने सब कुछ मेरे हाथों में सौंप दिया था.

चूंकि पढ़ाई के चलते अब ऑनलाइन क्लास चलने लगी थी, तो उसके पापा ने उसे भी एक स्मार्टफोन दिला दिया था.

मुझे और ऋतु को कम्बल शेयर करना था और दूसरा कम्बल पल्लवी और मीनाक्षी को. थोड़ी देर बाद सब प्रोग्राम में बिजी हो गए थे मगर हम दोनों एक दूसरे को ही देख कर स्माइल कर रहे थे. वो सोते समय पैंटी नहीं पहनती है जिससे उसकी नंगी चूत को कई दूसरे किराएदारों ने भी देखा है.

वो इतने तेजी से दूध दबा रहा था जैसे उसका प्लान ही मेरे मम्मों को बड़े करके रोज़ उसके मज़े लेने का हो. फिर मैं अमित की बीवी चोदने लगा, अमित विशाल की बीवी चोदने लगा और विशाल मेरी बीवी चोदने लगा. कुछ पल बाद मम्मी महेश की तरफ घूम गईं और महेश सर के होंठों में अपने होंठ लगाकर किस करने लगीं.

मैंने कहा- जब तुम सामने हो तो मैं मुठ क्यों मारूं? तुम अपने हाथों से ही शांत कर दो न इसे!इतना बोल कर मैंने अपना पैंट नीचे कर दिया.

चूंकि पढ़ाई के चलते अब ऑनलाइन क्लास चलने लगी थी, तो उसके पापा ने उसे भी एक स्मार्टफोन दिला दिया था. मैं नीचे से उसकी पैंटी को नाक से और होंठों से रगड़ रहा था और वो भी अपनी चूत जोर लगा कर मेरे मुँह पर रगड़ रही थी. ‘क्यों तुमने कभी सेक्स नहीं किया किसी के साथ?’वो शर्माकर नीचे देखने लगा.

रात के 12 बज चुके थे और गोवा में हम दोनों एक दूसरे की बीवी चोदने का आनन्द ले रहे थे. हम तीनों बिस्तर पर वापिस आ गये और नीता ने मुझे कोई तेल या लुब्रिकेंट लाने को कहा. मैं स्माइल करके बोला- झेल लोगी?दीप्ति हंस कर बोली- अब कोई रास्ता भी तो नहीं है.

उसके हाथों की हरकत मेरे सीने के निप्पलों को कड़क कर रही थी और अब धीरे धीरे मेरे लंड में तनाव आने लगा था.

मैं मुस्कुरा दी और मैंने भी जरा नॉटी होते हुए कहा- जब तोहफा मुझे मिलना है … तो छिपा कर गिफ्ट पैक करके दो या सामने पैक करो, आना तो मेरे पास ही है!आकाश खुश हो गया और बोला- अच्छा जी … अगली बार से ध्यान रखूँगा. अब रिशू को और ज्यादा दर्द होने लगा तो वो बोली- भाई, बहुत दर्द हो रहा है.

भाभी और देवर की बीएफ हिंदी में मॉम बोलीं- अब तुम दोनों ने अपनी तमन्ना पूरी कर ली या कुछ बाकी है?हम दोनों थक गए थे. आपको मेरी ये हॉट कुड़ी सेक्स कहानी कैसी लगी, मुझे ईमेल से जरूर बताएं.

भाभी और देवर की बीएफ हिंदी में पर आप तो जानते ही हैं कि लड़कों को एक चुत से मन नहीं भरता है इसलिए मैं सभी लड़कियों के साथ सैटिंग करने में लगा रहता हूँ. वैसे मुझे चूत चाटना बहुत पसंद है लेकिन वो एक कॉ गर्ल थी तो मैंने उसकी चूत नहीं चाटी.

लेकिन अभी तक वो किसी से भी नहीं पटी और ना ही उन्हें कोई चोद पाया है।हमारे मोहल्ले में उनके जैसी कोई और माल नहीं है जो भी उन्हें देखता है, उसके लण्ड में तूफान आ जाता है।इसलिये हर कोई उन्हें अपने लंड की सवारी करवाना चाहता है।पहले मैंने कभी भी भाभी को गन्दी नजर से नहीं देखा था.

বাংলা বৌদির বিএফ

उन्होंने गोल्डन कलर की साड़ी, ब्लैक स्ट्रिप वाले गोल्डन ब्लाउज को पहना था. मोनिका ने गुड़िया को दीदी को दिया और मेरा हाथ पकड़ कर बोली- जल्दी चलो … बहुत दिन हो गए यार. दोनों की बीवियां दूसरे के मियां का लंड चाटने में एक बार फिर से जुट गईं.

और मेरा मन कब से भाई के प्यार के लिए तरस रहा था।फिर हम लोग कामुक होने लगे, एक दूसरे को चूमने लगे. दीदी की चूत के गर्म पानी से मेरे लंड ने भी हार मान ली और अब मेरा शरीर भी अकड़ने लगा. मैंने पूछा-चूत गांड में लंडएक साथ लेने में दर्द नहीं हुआ था?वो हंस कर बोली- नहीं यार … दारू की मस्ती थी.

मेरा थोड़ा सा लंड चूत में घुस गया और दीप्ति की आवाज निकल गई ‘आह मर गई … धीरे.

मैंने अपनी पैंट भी उतार दी और सिर्फ अंडरवियर में कंबल में घुस कर उसको बांहों में भर कर जोर से हग करते हुए उसके होंठों पर किस करने लगा. कुछ दिन बाद मैंने मैडम से कहा- मेरा गिफ्ट मुझे अभी तक नहीं मिला और ईद को निकले भी एक महीना हो गया. रश्मि ने बोला- अंकल, ये नीचे से क्या चुभ रहा है?मैंने कुछ नहीं बोला.

उसी क्लर्क से मैंने पूछ लिया था कि मेरी क्लास कहां है और उसने मुझे बता भी दिया था. मैंने रूम में जाकर चेंज किया और कपड़े पहनकर दोपहर का खाना खाकर रूम में आ गया. उसे दूसरों के लंड का मज़ा लेना खूब आता है और वह इस मज़ा को कभी छोड़ना नहीं चाहती है.

इसलिए जब भी मैं जॉगिंग करने जाता हूँ, ट्रैक पैंट वाले लौंडों पर मेरी नियत एकदम से बिगड़ जाती है. फिर मैंने उनको सलवार निकालने का इशारा किया तो उन्होंने शर्मा कर दोनों हाथों से अपना मुँह छुपा लिया.

खड़ा लंड देख कर मैडम से रहा न गया और वो मुझे लेटा कर मेरे लौड़े के ऊपर चढ़ गईं. फिर सबके सामने इस बात की रजामंदी हुई और करीब एक माह बाद की दस तारीख को उन दोनों की शादी होना तय हो गई. भाभी ने एक कातिल मुस्कान के साथ मेरी ओर देखा तो मैंने भी इशारे में कहा- यहीं आकर आराम कर लो.

मैं आपको बता दूं कि अंकल बहुत ही हैंडसम दिखते हैं और उनकी हाइट भी अच्छी है.

पुसी लिक से सुहानी दीदी बहुत कांप रही थी और मुझे लगातार गालियां दे रही थी. इसे करने से उसके शरीर की कम्पन उसका हाल बता रही थी।मैंने दोनों होंठ खोलकर अब उसके कान को चूसना शुरू किया. तो सुनील ने मेरा मुंह पकड़ कर खोल दिया जिससे नीरज का मूत मेरे मुंह में आने लगा.

वो कह रही थीं- आंह सागर … अपने लंड से मेरी बुर को चोदिए न!मैं भी कह रहा था- मुझे भी आपकी बुर चाहिए. मैंने अपने रूमाल से उनकी चूत साफ की और जैसे पॉर्न फिल्म्स में करते हैं, वैसे ही उनकीचूत चाटने लगा.

कुछ देर बाद मैंने नेहा दीदी को घोड़ी बनाया और उनकी चूत में अपने लंड को घुसा दिया. चाचा बिना रुके लंड को और ज्यादा तेज रफ्तार से भीतर बाहर करने लगे थे. वो बोली- अगर मैं बहक गई तो क्या होगा?मैंने कहा- कुछ नहीं होगा … यहां कौन आ रहा है.

सेक्सी चोदने की वीडियो

मैं घर आया और अपने रूम से स्प्रे और पेन किलर लेकर वापिस दूध डेरी पर चला गया.

वो बोली- चलो देखती हूँ घर पर भी गोली देनी पड़ेगी कि सारी रात किस सहेली के साथ रहने वाली हूँ. हां अगर आप इसे पूरा पढ़ेंगे, तो आपको वो आनन्द आएगा, जो आपने आज तक नहीं पढ़ा होगा. हरियाणा सेक्स कहानी हिंदी में पढ़ें कि लॉकडाउन में मैंने अपने पड़ोस की कुंवारी लड़की को अपनी चाची की मदद से पटा कर खेतों में बुलाकर चोद दिया.

नैना- आनन्द जी, आप क्या कहीं जा रहे हैं?मन ही मन कहीं ना कहीं नैना आनन्द के जाने से खुश थी. मैं अपनी सीट की तरफ चल दिया और सोचा अब क्या किया जा सकता है, जो भी होगा, देखा जाएगा. सेक्सी वीडियो करीना कपूरमेरा लंड अपनी औकात में आकर फुंफकार मार रहा था और अंडरवियर लंड से फूल गयी थी.

मैंने उसके दोनों मम्मों को पूरा चूस चूस कर और काट कर लाल कर दिया था. आपकी उसी फरमाइश पर मैं आपके लिए अपनी नयी हॉट लेस्बो सेक्स स्टोरी लेकर आई हूं.

मैंने उसकी कमर के नीचे तकिया रख दिया, जिससे उसकी चूत उठ कर मेरे सामने आ गई. फिर रात भर हम तीनों बीवियां अपने अपने हसबैंड अदल बदल कर चुदवायेंगी।इस तरह हमारा दायरा बढ़ता गया और हम सब अदला बदली के खेल मज़ा लेतीं रहीं।तो ये थी हमारी एक सच्ची बिहारी सेक्स स्वैप स्टोरी … आपको कैसी लगी बताना जरूर![emailprotected]लेखिका की पिछली कहानी थी:सास बहू की चुदाई में ननद की चूत का तड़का. शायद मैं अपने उन दो हाथों से पूरे तन छुपाने की असफल कोशिश कर रही थी जिसका वो भरपूर लुत्फ़ उठा रहा था.

हम दोनों ने एक दूसरे की तरफ देखा तो मैडम ने अपनी बांहें फैला दीं और मुझे करीब आने का इशारा कर दिया. मेरा आधा लन्ड अन्दर चला गया और वो जोर जोर से रोने लगी- हां जीजू, मुझे मार दिया आपने! मेरी चूत फाड़ दी आपने! मर गयी मैं, निकालो अपना लंड मेरी चूत से!मैंने उसे धीरे धीरे समझाया और वो नॉर्मल हो गई. थोड़ी देर में प्रियंका ने खड़ी होकर अपनी सलवार को घुटनों तक नीचे सरका दिया और पैर ऊपर उठा कर वापस पार्क की चेयर पर बैठ गयी.

मुझे दर्द सा महसूस होता तो मैं आह्ह ह्ह करके रह जाती, पर मुझे भी चुदाई का मजा लेने की बहुत जल्दी थी.

’उसकी इस आवाज से मेरा जोश बढ़ गया और मैंने धक्का लगाना शुरू कर दिया. अंकल बोले- अरे तू चिंता मत कर … मैं ऑफिस के बाद खुद ही तेरे घर आ जाया करूंगा!वो अंकल हमारे घर से 12 किलोमीटर दूर रहते थे.

एक सुबह उसने अपनी सहेली को बोला- मुझसे बात नहीं हो पाई, अब क्या करूं. मैंने उसे अपने फ्लैट में ले गया और उस Xxx देसी जवानी को नंगी करके पहले उसकी झांटें साफ़ की और साथ में नहाया. चुदने के बाद मैं घूम गई और बाबा जी के लंड को मैंने चाट चाट कर साफ़ कर दिया.

अब उसने मिक्की की चड्डी ली और उसमें अपनी पेशाब भर कर फिर से मेरे मुँह में चड्डी को डाल दिया और टेप लगा दिया. कल्पेश ने नीचे नीचे बैठ कर मीरा की ड्रेस ऊपर की और उसकी पैंटी निकाल दी. रश्मि ने झटके से अपना हाथ मेरे लंड पर रख दिया, उसकी इस हरकत से मैं हक्का-बक्का रह गया.

भाभी और देवर की बीएफ हिंदी में मैंने कहा- आज तक कभी बताया है … अगर तुम्हारी चुदाई की कहानी मम्मी को बताऊं, तो पूरी एक किताब छप जाएगी. सब रविवार के दिन सुबह लगभग 7 बजे तैयार होकर यहां से नजदीक पोरबंदर शहर की ओर निकल पड़े.

एक्स एक्स एक्स फिल्म दिखाइए

वहां का लेखा जोखा रियासत का जागीरदार रखा करता था जो उधर का बलशाली ठाकुर होता था. मैंने एक एक पैग और बनाया और हम दोनों ने पी लिया।अब मैं भी गर्म होने लगी थी, उसके हाथ मेरे शरीर पर चलने लगे थे।मैंने उससे कहा- कि तुमने मुझे कोई गिफ्ट नहीं दिया?वो बोला- मैं एक डिलीवरी बॉय हूं मैं आपको क्या दे सकता हूं?मैंने मुस्करा कर कहा- तुम तो मुझे वो दे सकते हो जिसकी मुझे सबसे ज्यादा जरूरत है।वो बोला- मेरे पास कुछ नहीं है. उसने कहा- क्यों सता रहे हो … जल्दी से पेल दो न!मगर मैं लंड चुत पर घिसता रहा.

मैंने उससे कहा- पहली बार में थोड़ा बहुत दर्द तो होगा, झेल लेगी?उसने कहा- आज तो मेरी जान भी निकल जाए, तब भी कोई बात नहीं. हम थोड़ी घनी झाड़ियों के अन्दर गए और उसने मुझको एक धौल लगाते हुए कहा- साले अब तू मेरी रंडी है समझा! मैं जो बोलूंगा, तू करेगा. दांत में दर्द हो तो क्या करना चाहिएवो मेरे सामने पूरी नग्न पड़ी थी और अब तक मेरे कपड़ों का एक बटन भी नहीं खुला था.

और उस रात मैंने भी मुठ मारी और फिर हम सो गए।अगले दिन उसका दिन मैं फोन आया.

मैंने कार में रखे टिश्यू पेपर बॉक्स से टिश्यू पेपर निकाल कर उसकी चूत को साफ किया और फिर से चोदने लगा. मैंने नैना को अपने ऊपर आने के लिए कहा और अपने लंड को सुपारा उसकी चूत के छेद पर सैट कर दिया.

मैंने ट्यूशन जरूर कोमल दीदी से ली थी पर मेरा सारी समस्याओं का हल सिर्फ मोनिका के पास होता था. मैं अभी कुछ समझती कि उसने मेरी टांगें फैला दीं और मेरी चूत चाटने लगा. अब वो मैरिड गर्ल सेक्स के लिए तैयार थी, उसने कहा कि चलो जगह बताओ किधर चलना है?मैंने कहा- ओके कुछ मिनट का टाइम दो.

मैंने नैना की नजरों से नजर मिलाकर कहा- मेरी जान नैना … कुश्ती लड़ने के लिए तैयार हो जाओ.

फिर ममता के साथ मैं हॉल में आया और अपने बैग से एक गिफ्ट निकालकर कुक्कू को दिया. फिर 11 बजे अनन्या का मैसेज आया ‘क्या कर रहे हो?’मुझे गुस्सा तो बहुत आया पर मैंने खुद को संभाला और सोचा कि उसकी लाइफ है, वो जैसे जिए … मैं उसको क्यों कुछ बोलूं. आकाश अपनी ब्यूटीफुल गर्लफ्रेंड Xxx चुदाई का सब कुछ पहले से ही प्लान करके बैठा था.

हिंदी चुदाई ऑडियोमैंने कहा- थोड़ा आराम से कर ना!इस पर उसने मेरे लंड में एक तमाचा मारा. सोने के कुछ समय बाद मैंने उसको जैसे ही किस की, वो जाग गयी और हल्के स्वर में कहने लगी- ये क्या कर रहे हो?मैं बोला- अब मुझसे नहीं रहा जा रहा है.

राजस्थानी मारवाड़ी चुदाई वीडियो

फिर मैंने उनको सलवार निकालने का इशारा किया तो उन्होंने शर्मा कर दोनों हाथों से अपना मुँह छुपा लिया. मेरा ऐसा कहना हुआ कि वह लेडी यानि लूसी मेरी तरफ बड़ी बेबाकी से बढ़ी और उसने मेरी चड्डी के दोनों तरफ उंगली फंसाकर उसे नीचे खींच दिया. हम दोनों एक दूसरे को बांहों में लेकर अपने शरीर के हर हिस्से को रगड़ रहे थे.

मोनिका- कोई दिक्कत नहीं है, दीदी घर आ गई हैं, तो हम शाम को उनसे मिलने चलेंगे. मैंने महसूस किया कि उसकी चूत थोड़ी गीली हो गयी है; लंड भी जरा घुसने की कोशिश करने लगा था. मैं उनके मुँह के ऊपर अपनी चूत को रगड़ने लगी और उनकी चूत चाटनी शुरू कर दी.

कुछ ही देर में बुआ ने अपने सारे कपड़े उतार दिए और मेरे पैरों के पास आकर मेरे निक्कर को खींच दिया. वह प्यार से आहें भरते हुए कहने लगी- भैया, अब मत तड़पाओ, अब बस चोद दो।मैंने ज्योति की बातों पर ध्यान ना देते हुए उसकी चूचियों को मसलना चालू रखा. तब उन्होंने मुझे एक किस दिया तो मैंने भी किस दिया और एक दूसरे को देखने लगे.

वो कुछ देर वो वैसे ही मेरे ऊपर लेटे रहे और जब मेरे दर्द कम हुआ, तो एक और धक्का मार दिया. जब उसको होश आया तो उसने स्कर्ट में हाथ डाल कर पैंटी को अपनी चूत पर ठीक से सैट किया और शर्मा कर नीचे भाग गई.

कुछ पल बाद सुमन आंटी ने मेरी मॉम को पटका और वो मॉम के ऊपर चढ़ गईं, मॉम के होंठों को चूसने लगीं.

मैंने ज़्यादा वक्त ना लगाते हुए अपनी लैंगिंग्स नीचे की और घोड़ी बन गयी. सेक्सी चूत फोटोफिर जाकर अपने अपने हाथ से काम चलाओ, पार्टनर हो तो उसकी रात हराम करो. सेक्सी हॉट गानेआधा लण्ड चूत में गया और उनकी तेज चीख निकल गई- आआआ!मैं उनके ऊपर लद गया, उनके लब चूमने लगा और धीरे धीरे लण्ड को अन्दर करता गया. मॉम बोलीं- अब तुम दोनों ने अपनी तमन्ना पूरी कर ली या कुछ बाकी है?हम दोनों थक गए थे.

तभी मेरे दोस्त का कॉल आया- फ़्लैट पर कब आ रहा है?मैंने उससे कहा- आ रहा हूँ.

मम्मी- जाने भी दो, गहरी नींद में सोया हुआ है … उठाने से उसकी नींद खराब हो जाएगी. एक मिनट बाद लंड ने मेरी मॉम की चुत में जगह बना ली थी और राहुल मेरी मॉम की चुत में लंड पेलने लगा. मेरी बीवी अनिता भी बड़ी मस्ती से सारी दुनियां भूल कर थामस के लंड में तल्लीन हो गयी थी.

दोपहर का खाने के बाद उसने फिर से पूछा- क्या सोचा तुमने?‘कुछ भी नहीं. मैं- इतनी खूबसूरत सा फूल को कौन नहीं मसलेगा!भाभी- अच्छा इतनी तारीफ मत करो, तो आपको मेरी चुदाई करनी ही है?मैं- हां … और हर रोज करनी है. यौन रोगों से कैसे बचना चाहिए, ये भी सिखाया जाता है … इसके अलावा और भी बहुत कुछ.

ஹிந்தி செக்ஸ் பிச்சர்

सुबह 9 बजे मेरी आँख खुली तो देखा कि मेरी एक तरफ नीता और दूसरी तरफ दीप बिल्कुल नंग धड़ंग लेटा सो रहे थे. टीचर Xxx चुदाई कहानी में पढ़ें कि हमरे स्कूल के बाथरूम की कुण्डी टूटी हुई थी. मैंने उसकी मदद करने का सोच लिया- आप चिंता मत करो, मैं कुछ करता हूँ.

इस घटना के समय मुझे सेक्स के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं थी पर जैसे जैसे मैं बड़ा होता गया तो सब समझता गया.

सुबह जब उठा तो देख मेरी वाइफ मेरी साली से वीडियो कॉल पर बात कर रही थी कि कल क्या किया.

मैंने भाभी से कहना ही चाहा था कि भाभी ने मेरी मम्मी से कहा- अच्छा आंटी अब मैं जाती हूँ. कभी होंठ एक दूसरे से मिल जाते, तो कभी शरीर के किसी और अंग को चूम रहे होते थे. कंडोम कैसा होता हैफिर थोड़ी देर और बात करने के बाद मैंने उसे झूठी आइडी के बारे में बता दिया.

मेरे सास ससुर एकदम धार्मिक विचारों के थे और हमेशा खुदा की इबादत में लगे रहते थे, जिसके कारण उन्हें मेरी या मेरे देवर की कोई परवाह नहीं थी. अपनी अगली कहानी के में मैं आपको अपने देवर से अपनी चुत चुदाई की कहानी लिखूँगी. इधर उन दोनों की आवाजों को सुन कर कुछ रानियों का ध्यान छोटी रानी के कक्ष पर गया.

मेरी मम्मी तो अपनी पहली सुहागरात पापा के साथ मना चुकी थीं लेकिन चाचा की तो ये पहली हसीन रात होने वाली थी. मैंने मीना को नीचे लिटाया और धीरे से उसकी ब्रा से उसके मम्मों को आज़ाद कर दिया.

इसलिए जब भी मैं जॉगिंग करने जाता हूँ, ट्रैक पैंट वाले लौंडों पर मेरी नियत एकदम से बिगड़ जाती है.

उसने गहरे गले का सलवार कुर्ता डाल रखा था, जिसमें से उसकी छातियां बिल्कुल बाहर निकलने को बेताब दिख रही थीं. तो मैंने उसे समझाया- मेरी प्यारी रानी, मैं तेरे साथ बहुत प्यार से सेक्स करूंगा, तुझे बिल्कुल भी दर्द नहीं करूंगा।उसके बाद हमने एक दूसरे के बचे हुए कपड़े भी उतार दिए. अम्मी जोर जोर से सांसें लेने लगीं- आह … उह … मत कर … आह … आग लगा दी … उह ओह!अब अम्मी ने मेरा सर पकड़ कर अपनी चूत में दबा लिया और इसी के साथ उनकी चूत ने गर्म गर्म पानी छोड़ दिया.

चूत चाटने के फायदे यह सब देख कर मेरी समझ में नहीं आ रहा था कि ये मुझे रेड सिगनल है या ग्रीन सिगनल है. उधर कल्पेश ने रमेश के हाथ ऊपर बढ़ते देखे, तो वो मीरा की एक बगल में आ गया और रमेश को आगे बढ़ने के लिए रास्ता दे दी.

ममता बोली- ओके कुछ और?मैंने बोला- हां, कुक्कू के लिए जूस का एक और गिलास ला दो और मुझे व्हिस्की का पैग बना देना. मैंने एक दिन उसे अन्तर्वासना साईट के बारे में बताया, उसने गूगल किया तो उससे नहीं बना. ’नैना मुस्कुराती हुई बोली- अन्नू जी, आप भी ना … फिर तो मैं भाग्यशाली हूँ कि कोई तो है, जो मुझे चाहता है, मेरी खूबसरती की प्रशंसा करता है.

हरियाणवी एक्स एक्स

मैंने उतार दी और वो भूखे कुत्ते की तरह मेरे निप्पलों को चूमने और चूसने लगा. और मेरा मन कब से भाई के प्यार के लिए तरस रहा था।फिर हम लोग कामुक होने लगे, एक दूसरे को चूमने लगे. तो मम्मी ने अपने ही घर के ऊपर वाले एक कमरे से उनके लिए इन्तजाम कर दिया.

फिर भाभी ने मुझसे मेरे बारे में पूछा, तो मैंने जानबूझ कर झूठ बोला कि मैं अकेला रहता हूं. मैंने भी बोल दिया- हां स्वाति मैं भी बहुत खुश हूँ, थैंक्यू मेरी जान स्वाति!अब हम दोनों मुस्कुरा दिए.

अच्छी कद-काठी का था, एकदम मस्त जवान लड़का था, जिसे कोई भी लड़की देख कर अपना दिल दे बैठे.

मैंने उसके पानी में अपनी उंगली को भिगोया और जब उसको चटाया तो वो कहने लगी- समीर भाई ये कैसा रस है, बड़ा मजेदार है. उसे देख कर ऐसा लग रहा था कि जैसे कोई नव नवेली दुल्हन अपने पति का इंतजार कर रही हो. मैंने कहा- सच में अम्मी … अगर आपको यकीन नहीं है, तो आप भी एक पैग लगा कर देखिए.

कोमल दीदी को शादी के मेकअप के लिए घर से बाहर जाना पड़ता था तो कोमल दीदी कभी अपनी मॉम के साथ, तो कभी मोनिका के साथ भी जाती थीं. उसने लंड पर जीभ फेरते हुए कहा- विशाल तेरा लंड तो बिल्कुल घोड़े के लंड की तरह सख्त है यार. जैसे ही बेड पर मैंने उसे लेटाया तो मैंने देखा कि मेरा तंबू वापस से बन गया था, जिसे मीना बिना पलक झपकाए देख रही थी.

वो मेरे होंठों को चूसते हुए ही आगे बढ़ा और उसने मेरे मुँह में अपनी जीभ डाल दी.

भाभी और देवर की बीएफ हिंदी में: थोड़ी देर बाद दीप्ति स्कॉच की बोतल और दो ग्लास लेकर आई और मेरे पास बैठ गई. वाह क्या नज़ारा था … झक्क सफेद ब्रा में भाभी के दोनों कबूतर मेरे सामने तने थे.

निकिता- तो चोद दूँ!उसने एक हाथ अपनी गांड पर दबाते हुए चाची की चूत पर हाथ फिरा दिया. अब मैं सुनीता की गर्दन से सीधे बूब्स मसलते हुए पेट पर पेट से जांघों तक और जांघों से पैर तक मालिश कर रहा था।वो अपनी गर्दन उठा कर आहें भर रही थी और अपने हाथों से मेरी जांघ पर हाथ फेर रही थी मानो कुछ ढूंढ रही हों. तकरीबन दस मिनट और धक्के मारने के बाद मुझे लगने लगा कि मैं भी झड़ने वाला हूं.

डॉक्टर साहब दिखने में बहुत हट्टे-कट्टे मर्द थे लेकिन शक्ल से मादरचोद लगते थे.

मैंने मम्मी की जांघों के ऊपर हाथ फेरना शुरू किया और धीरे धीरे मैंने उनकी चूत पर हाथ फेर दिया. वैसे भी अब हमारे गांव में कोई कॉलेज तो है ही नहीं, तो आपके पास रह कर वहां ये कॉलेज की पढ़ाई कर लेगी. कुछ देर बाद बेल बजी, तो ममता बोली- वही है, तुम चुपचाप आवाज सुनते रहना.