बीएफ सेक्सी अंग्रेज

छवि स्रोत,सनी लियॉन का बफ

तस्वीर का शीर्षक ,

xx9 सेक्स: बीएफ सेक्सी अंग्रेज, तो दोस्तो, यह थी मेरी चूत स्टोरी! आपको कैसी लगी, मुझे जरूर बताइएगा.

ट्रिपल+एक्स

मैंने हैल्लो किया तो मामी बोली- अभी तक सोये नहीं हो?मैं बोला- नहीं, नींद नहीं आ रही थी. ब्लू फिल्म दिखाओमैंने अपने लंड पर थोड़ा था थूक लगाया और पूर्वी ने लंड पकड़ कर अपनी चुत पर रखा.

मैंने बिना पल गंवाये अपने होंठों को लगा दिया उनकी मस्त चूत से। मैं पूरी तसल्ली से भाभी की चूत को चूस रहा था और अपनी जीभ से भाभी की चूत को चोद रहा था।भाभी की हालत पूरी तरह से खराब हो चुकी थी; भाभी चाहकर भी कुछ बोल नहीं पा रही थीं, उनकी मादक आवाजें बता रही थी कि आज उन्हें पूरा सुख मिल रहा है. चाची भतीजे की सेक्सी वीडियोमैं मॉम को गंगा के दूसरी तरफ वाले घाट पर ले गया, जहां बहुत कम लोग नहाते हैं.

चूत का रस साफ़ करने के बाद मैंने उसे पलट दिया और उसकी दोनों टांगें अपने कंधे पर रख लीं.बीएफ सेक्सी अंग्रेज: मैंने फिर उसके माथे पर चूमा, तो उसने एकदम से मेरे सीने पर अपने सर को रख दिया.

कुछ ही देर में मैंने माँ की साड़ी कमर तक कर दी और उनका पेटीकोट धीरे धीरे ऊपर करने लगा.फिर वो बोली- क्या बोला तुमने?मैंने बात को टालते हुए कहा कि कुछ नहीं … कुछ नहीं.

xxxx भाभी - बीएफ सेक्सी अंग्रेज

आंटी ने मेरे से बोला- अरे मैं भी आपके पास ही रहती हूं … आपके बगल में जो कॉलोनी है, उसी में.मैं तुम्हारी याद में अपने चूचों को दबाती और हस्तमैथुन करके सुकून लेती रही … कुछ उस वजह से भी मेरे बूब्स का साइज़ बढ़ गया है.

शादी से पहले भाभी जीन्स और टॉप वगैरह भी पहनती थी लेकिन शादी के बाद ज्यादातर साड़ी या सूट में ही रहने लगी थी. बीएफ सेक्सी अंग्रेज उन्होंने इसका पहले विरोध किया पर थोड़ी देर में वो भी जोश में आ गयी और मेरा साथ देने लगी। अब में उनके रसीले होंठों का रस चूसने लगा.

40 हुआ, तो मैं बोला- अब मैं घर जा रहा हूँ … शाम 5 बजे तक पैसा लेकर आऊंगा … तब तक आप लोग आज का काम खत्म कर देना.

बीएफ सेक्सी अंग्रेज?

मेरी ये आवाज और हरकत उसके लिए आग में बारूद का काम कर गयी और जब तक मैं ठंडी होती, उसने अपने शरीर की सारी ऊर्जा धक्कों में झोंक दी. उसने मेरे माथे पर तिलक लगाया और दूसरे हाथ से मुट्ठी भर रंग लेकर अचानक से मेरे गालों को रंग लगाने लगा. आप तो जानते ही हैं कि मेरी माँ खुद एक टीचर हैं और वो उस समय छुट्टी पर आई हुई थीं.

मैंने आंटी से कहा- आंटी मुझे औरतों में सबसे ज्यादा उनका बदन चाटने में बहुत अच्छा लगता है … खासकर उनकी गांड में जीभ डाल कर चाटने में तो मेरा मजा चौगुना हो जाता है. वो कमरे में ले जाते ही मुझे जानवरों की तरह नोंचने लगा, मेरे होंठों को काटने लगा. आज की रात चुदाई की इतनी जबरदस्त रात होने वाली थी, ये मैंने सोचा ही न था.

मेरा पड़ोसी संजय मेरी चूत को चोद कर मेरे अन्दर की चुदास को मिटा रहा था. उसने मुझे कार का नम्बर बताया था, तो मैं कार पार्किंग की तरफ बढ़ गया. उसने पतला सा टीशर्ट पहन रखा था और ब्रा भी नहीं पहनी थी, नीचे मिनी स्कर्ट।उसकी जाँघ और टाँगें एकदम गोरी और चिकनी थी जैसे वेक्स की हुई हो!पर वेक्स की हुई नहीं थी … वे प्राकृतिक रूप से ही चिकनी थी.

प्रीति ने उसकी गांड पे कस कस के चांटे लगाए, कल्पना ने तो दांत ही गड़ा दिए. रोनिता के मुँह से मदमस्त सिसकारियां निकल रही थीं- अहह यहह कम्म अह्ह उह अह्ह्ह कम्मं ऐसे हीईई अहह चोदो … और जोर से … अह्ह एहहह कम्मं हहह ओह्ह अहह फ़क मी हार्ड … यहस अह्ह.

अब मैं शिवानी के जिस्म पर चढ़कर अपने लण्ड को उसकी प्यासी चुत में डालने लगा। लेकिन मेरा लण्ड अंदर घुस नहीं रहा था.

मैंने कहा- तुम्हें ये सब कैसे मालूम?तब वो बोला- मुझे मालूम है … सुरेश अपने दोस्तों से बता रहा था कि आज मेरी रंडी शालिनी गांव आ रही है, उसे गांव में चोदने का मज़ा ही अलग है.

मैंने हल्का सा उठते हुए उसकी मदद की मगर उसको पता नहीं लगने दिया कि मैं भी उसकी हरकतों का मजा ले रही हूं. ये मेरी उसके बारे में सोच नहीं, बल्कि उसके साथ हुआ लोगों का व्यवहार बताता है. क्योंकि मैंने स्ट्राबेरी फ्लेवर वाला कंडोम चढ़ाया था और उसको स्ट्राबेरी पसंद थी.

देवर भाभी की चुदाई की इस हिंदी सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे मेरी भाभी ने मुझे उत्तेजित करके अपनी वासना शांत की. चूंकि तुम मेरे ब्वॉयफ्रेंड के दोस्त हो, तो मेरे भी दोस्त हुए ना!मैंने कहा- चलो अच्छी बात है कि तुम मिलने आ गयी … मेरा तो रात भर से तुम्हारे बिना मन ही नहीं लग रहा था. मेरे कहने का मतलब ये था कि क्या तुम यहीं खड़े खड़े मुझे खा जाओगे या अन्दर भी आओगे.

इसलिए उसने मेरा लंड हाथ से पकड़ कर अपनी बुर की दरार के बीचों बीच सैट कर दिया औऱ अपनी बुर को मेरे लंड पर दबाने लगी.

जबरदस्ती ही सही, पर मुझे लगने लगा कि उसने मुझे अपने वश में कर लिया था. शायद मुझे भी उसका साथ अच्छा लगा, इसलिए मैं अपने गुस्से को दिखा ही नहीं पाई. मुझे उनकी बात सुनकर लगने लगा कि हां ये बात तो सही है, मैंने खुद ही कभी किसी लड़की को प्रपोज नहीं किया है.

पांच मिनट तक ऐसे ही एक दूसरे को हमने चूसा और फिर दरवाजे की बेल बजी. अब देखूंगी कि कितनी बार फोन करोगे मेरे पास!मैं बोला- जब तक आप करने दोगी, तब तक करता रहूंगा. जब पूरा लिंग जड़ तक मेरी योनि में चला जाता, तो लगता कि सुरेश और मेरे शरीर की बनावट एक ही है.

तभी इतने में रीता की चुत ने भी अपना रस निकाल दिया था, जिससे मेरे लंड को ऐसा लगने लगा था, जैसे इसकी चुत में मलाई का तालाब सा बन गया हो.

बहन से सेक्स का ऐसा कामुक नजारा देख कर मेरा लंड भी बेकाबू होने लगा था. वो गंदी गालियां निकाल रही थीं- भोसड़ी के बाहर निकाल मादरचोद … छोड़ दे मुझे कमीने … बहन के लौड़े निकाल … वर्ना तेरे चाचा को कह दूँगी.

बीएफ सेक्सी अंग्रेज मैंने फिर भी उससे कहा- क्यों … मजा नहीं आया क्या?वो बोला- पानी भर तो निकला है, ऐसा तो मैं मुठ मार कर भी निकाल लेता हूँ. उस वक्त मैं उठा और अपने लंड को हाथ से पकड़े हुए जल्दी से बाथरूम की ओर भागा, क्योंकि मुझे जोर से आई थी.

बीएफ सेक्सी अंग्रेज मामा जी के मारने के बाद गांड असंतुष्ट रह गई थी, प्यास और भड़क गई थी. फिर एक दिन मेरी दीदी अत्यधिक गर्मी होने के कारण शाम को बाथरूम से नहा कर आईं, तो मैं उन्हें देख कर हैरान रह गया.

एक दिन मैंने उसको कॉल की तो वह कहने लगी- मैं स्कूल में हूँ, और बच्चों के एग्जाम चल रहे हैं, जल्दी छुट्टी हो जाएगी.

हॉट वीडियो सेक्सी चुदाई

इसके बाद मैंने मौक़ा और जगह देख कर उसकी गांड में शैम्पू डाल कर गांड भी मारी. नीचे से गर्म योनि में गर्म लंड और ऊपर से नर्म चूचों पर जवान लौंडे की सख्त छाती का मिलन जब हुआ तो दोनों के ही आनंद का कोई ठिकाना न रहा. मेरे खेतों में जो मजदूर काम कर रहे थे, मैंने उनके लिए खाना भी ले लिया.

अपने पति के सामने तो बहुत सीधी लग रही थी, पर अब वो मुझ पर डोरे डाल रही थी. इसी तरह 15-20 दिन गुजर गए और एक दिन मैं पति के साथ बाजार गयी हुई थी. मैंने अपने लंड पर थोड़ा था थूक लगाया और पूर्वी ने लंड पकड़ कर अपनी चुत पर रखा.

मैं जितनी बार धक्का मारता, उतनी बार वो चिल्ला देती- हाय दैय्या … उह … मम्मी … मर गई रे … आह मम्मी रे … आह और तेज … आह मम्मी.

अब मुझे भी लगा कि भाभी को भैया की जरूरत नहीं … बल्कि लंड की जरूरत है. [emailprotected]देसी हिंदी सेक्स स्टोरी का अगला भाग:पड़ोसन भाभी को मदमस्त चोदा-3. मैं जल्दी से उनके घर गया और अन्दर जाकर देखा तो असगर अपनी बहन ज़रीना के साथ लड़ाई कर रहा था.

अब मम्मी ने मुँह खोलकर उसके लंड को मुँह में ले लिया और उसके लंड को चूसने लगीं. मैंने कहा- पहले आप दीजिये तो सही, उसके बाद देखेंगे कि मैं थकूंगा कि नहीं. मैंने अपने लंड को वहीं पर पैंट से बाहर निकाल लिया और उन दोनों की रासलीला देखते हुए मुठ मारने लगा.

मेरा बेटा प्रकाश तैयार होकर कहीं जाने की फिराक में था तो मैंने उसे टोक दिया. ’डॉगी स्टाइल … सच में क्या मस्त पोजीशन होती है दोस्तों … बड़ी शानदार और लाजवाब आसन होता है.

मैंने आंटी की चुत पर थोड़ी देर लंड रगड़ने के बाद कहा- आप मेरे लंड को अपने हाथ से पकड़ कर अपनी चुत पर रखो. मैंने सारी साड़ियों पर नजर दौड़ाई और फिर एक रेड चिली कलर की साड़ी उठा कर मैडम की तरफ कर दी. वो अपने दोनों हाथों से मामी के स्तनों को दबाने लगे और उनका लंड मामी की जांघों के बीच में घुसने की कोशिश करने लगा.

उसकी चूची चुसाई से मेरे मुँह से कामुक आवाजें निकलने लगी- आंआह … उन्हह … उई … इस्स … धीरे … आह मैं मर गयी.

कहानी का पिछला भाग:प्यासी टीचर चूत चुदाई ने मुझे चुदक्कड़ बनाया-3 मैम ने कहा- अब तुम मेरी चूत को चोदो. मेरा निशाना तो दीदी ही थी, मगर वो बोली- अपनी गर्लफ्रेंड बना ले … उसी से करना. वो एकदम से मेरे सर को अपनी बुर पर दबाने लगी और खुद गांड हिला हिला कर धक्के देने लगी.

शायद वो अपनी चुत में उंगली करती थी इसलिए उसे मेरी उंगली से कोई दिक्कत नहीं हुई, बल्कि उसे मजा आने लगा. उसने कई मिनट तक मेरे चूचों को पीया और उसके बाद वो मेरी पैंटी की तरफ बढ़ा.

मैंने जो करतब दिखाए हैं सारी रात, चूत के दाने को चाट चाट कर पिघला दिया दोस्तो … इतना खोल खोल कर खाया कि साली नींद में भी उठती तो मना ना कर पाती … अब मैं ठहरा गांड का चटोरा लेकिन उसे पलटा तो सकता नहीं तो बस नीचे लेटे लेटे ही पूरी रात गुज़ारी. मैं उसके आगे एक हाथ से दोनों स्तनों को और एक हाथ से योनि को छुपाने के प्रयास करती रही. मैंने बिना कोई हिचकिचाहट के उसका लंड मुँह में ले लिया और चूसने लगा.

भक्ति सुविचार

मेरा लंड अंडरवियर और जींस दोनों फाड़कर ज्योति की चूत में घुसने की ताबड़तोड़ कोशिश कर रहा था.

मेरी काम वाली शाम को आती है इसलिए हमें उसके आने से पहले सेक्स करना था. जॉयश बोली- क्या बात है … अब लग रहा है कि हम सब नए जमाने की औरतें हैं. उन्होंने बताया कि अंकल के शरीर से जो गंध आती है, वो मुझे पसन्द नहीं है.

मैं- मतलब इस वासना के खेल में वो भी शामिल है?सुरेश- अरे नहीं … वो बहुत पहले उसने सरस्वती को बताया था. जब हम दोनों को पढ़ते हुए काफी देर हो गयी, तो पूर्वी से मैंने पूछा- तुम्हारा कोई ब्वॉयफ्रेंड है?उसने शर्माते हुए कहा- नहीं भैया … अभी कोई अच्छा मिला ही नहीं. भोजपुरी वॉलपेपरइशारा मिलते ही उसने अपने कमर के हिस्से से दबाव बढ़ाया और लिंग का सुपारा सट से मेरी योनि की पंखुड़ियों को फैलाता हुआ भीतर चला गया.

वो भी मेरी मस्ती से समझ गया था कि अब मैं विरोध नहीं बल्कि साथ दूंगी, इसलिए उसने अपना पूरा वजन मेरे ऊपर डाल दिया और धक्के मारते हुए मेरे स्तनों को बा री बारी से चूसने लगा. अब तो उसके मुंह से सिसकारियां निकल रहीं थीं- उम्म्ह … अहह … हय … ओह … मम्मीईई … आह्ह … चोदो जानू … आइ लव यू डार्लिंग!जैसे जैसे चुदाई आगे बढ़ रही थी वो मुझसे लिपटने लगी थी.

जिस लड़की को एक साल पहले तक मैं ठीक से देखता नहीं था, आज वो एक कड़क माल बन गई है. तो दोस्तो, आपको मेरी यह चोदने की कहानी पसंद आई हो तो मुझे मैसेज करना. मैंने धीरे धीरे अपना हाथ उनकी चूत की तरफ बढ़ाया और चुत पर उगी लंबी लंबी झांटों पर फेरने लगा.

उसके बाद चुदाई का दूसरा राउंड भी हुआ जिसमें मैंने उसकी चूत को बीस मिनट तक चोदा. रात का खाना खाने के बाद मैं अपने कमरे में चला गया और सोनू का इंतजार करने लगा. भूसा लेने के लिए कभी मैं, तो कभी माँ उसकी दुकान के पीछे बने गोदाम से भूसा ले आते थे.

जब मैं अपनी पढ़ाई खत्म करके नौकरी की तलाश में था और बहुत परेशान भी था.

उधर प्रीति मुझे देख रही थी, वो अंग्रेजन टॉवल बांध कर बाथरूम चली गई. वह अपने कपड़े वापस पहनने के लिए बढ़ी लेकिन जॉयश ने मंगल को बोल कर उसके कपड़े एक तरफ रखवा दिए और कहा- आपने ऐसे ही रहना है आज!सब औरतें खिलखिला कर हंसने लगी और फिर उसके बाद बारी बारी से सब अपने कपड़े उतारने लगी.

उसने मेरी आंखों में देखा और फिर मेरी पैंट में तने हुए मेरे लंड को देखा. एक तरफ चाचा जी कार्ड बांटने जा रहे थे तो दूसरी तरफ मैं बाकी की रिश्तेदारियों में कार्ड बंटवाने जा रहा था. उनकी बिना दुपट्टे वाली चूचियां मुझे दिखने लगीं और मुंह में फिर से लार आने लगी.

पार्टी काफ़ी देर तक चली थी और उसमें मेरे भाई (मौसी के लड़के) ने खूब दारू पी ली थी. वो बाइक में मुझसे बिल्कुल सट कर बैठी थी, उसके हाथ मेरी बांहों में लिपटे हुए थे. अब मुझे भी लगा कि भाभी को भैया की जरूरत नहीं … बल्कि लंड की जरूरत है.

बीएफ सेक्सी अंग्रेज मैंने उससे पूछा- आख़िर बात क्या हुई, अपनी बहन पर ही हाथ क्यों उठा रहा है?वो गाली निकालते हुए बोला- ये साली होटल में एक लड़के से अपनी माँ चुदवा कर आ रही है. मैं उसके कहे अनुसार हल्के हल्के से अपनी कमर हिला हिला कर लिंग को अपनी योनि से घर्षण देने लगी.

அனிமல்ஸ் எக்ஸ் எக்ஸ் வீடியோ

अगले दिन मेरे दोस्त ने बताया कि उस दिन सोमेश भैया ने नेहा की चुदाई की थी, सारे लड़के बालकनी से उन दोनों की चुदाई लाइव देख रहे थे. अगली सुबह उठ कर मेरी पत्नी उर्वशी ने स्लीवलेस ब्लाउज पहन लिया और उस पर काले रंग की साड़ी पहन ली. समझ में नहीं आता कि क्या करूँ, अपनी ही माँ और बहन को देख देख कर अपने वीर्य का नाश कर रहा हूँ.

लेकिन आज जब मैंने तुम्हारे ब्रेअकप के बारे में सुना तो मुझे लगा कि हम दोनों एक दूसरे की जरूरत को पूरा कर सकते हैं, क्या मुझे सभी औरतों की तरह शारिरीक सुख लेने का कोई हक़ नहीं है?यह बोल कर वो रोती हुई अपने कमरे में चली गईं।अब मुझे भाभी पे दया और प्यार दोनों आ रहे थे. सुरेश लगातार धक्के मारे जा रहा था और एकाएक मैंने टांगें बिस्तर पर पटक दीं. கனடா செக்ஸ்படம்हां लेकिन मैंने सोचा था कि किसी बाहर के लड़के से चुदूँगी और वो तुम पहले हो, जिसे मेरी चूत चोदने का मौका मिल रहा है.

कुछ देर चूचे मसलने के बाद मैं उसके एक चूचे को मुँह में लेकर चूसने लगा.

मैंने कहा- लंड को प्यार करने का क्या ये तरीका ठीक है?भाभी बोलीं- मतलब?मैंने कहा- यदि आपको लंड प्यारा लग रहा है, तो इसे मुँह में लेकर प्यार करो न. फिर अपनी योनि की दरार में ऊपर नीचे रगड़ा ताकि मेरी योनि से निकल रहे रस से सुपारे का मुँह गीला और चिकनाई से भर जाए.

रूम पर जाने के लिए मार्किट से होकर जाना पड़ता था, इसलिए मैंने सोचा कंडोम ले लूँ. जब बस किसी गड्डे में उछलती थी, तो मैं अपना हाथ मॉम के चुत की ओर ले जाता. मगर उसके लिए मुझे मामी को यह बताना होगा कि मैं उसकी चूत को चोदना चाहता हूं.

मेरे लिए अब वह मम्मी नहीं, बल्कि एक ऐसी औरत थीं … जो सेक्स समागम के लिए प्यासी थीं.

लेकिन जॉयश इस बात का ध्यान रख रही थी, 5 मिनट होते ही वह मंगल के बाल पकड़कर उसका सिर दूसरी की चूत पर रख देती थी. उसके बाद मामा ने उनके होंठों से हट कर अपने होंठों को मामी के ब्लाउज के अंदर के क्लीवेज पर लगा दिया. मैं- अरे मास्टर साहब कोई अहसान नहीं … मैंने अपनी ड्यूटी में आपकी सेवा की … आप कहां फंसा रहे … और आज तो रहने ही दें … बिल्कुल दम नहीं बचा है.

योगा टीचर सेक्स वीडियोसेक्स तक तो बात सही थी, पर बच्चे पैदा करने के लिए पैसे लेना सही नहीं लग रहा था. अब उसने पूछा- भैया आपकी कोई गर्लफ्रेंड है?मैंने कहा- मुझे भी ऐसी कोई मिली ही नहीं, जो तुम्हारी ही तरह खूबसूरत हो.

शरदा सेक्सी वीडियो

अगर मैं उसको पहले ही ये बता देता कि मैं कॉलेज में नहीं जा रहा हूं तो वो सावधान हो जाता. ऐसा लग रहा था जैसे कोई तूफान आकर अभी-अभी गुजरा हो और उसके बाद चारों तरफ शांति पसर गई हो. इतना कहते हुए वे मेरे ऊपर चढ़ बैठे और दीवार में बने आले में रखी तेल की शीशी उठा ली.

मुझे नहीं पता कि मेरे दोस्त ने अंदर भी मेरी बहन से सेक्स किया या नहीं. मेरी भी स्थिति अब ये थी कि मैं चूमने में उसका खुल कर साथ दे रही थी. मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा था कि क्या करूँ, मुझे जिधर जगह मिली, मैं भागने लगी.

मेरी चूत में उंगली करने के बाद विभोर अपना लंड मेरे मुंह में दे दिया. मैंने कहा- अभी तो आप इसे मुँह में लो … चूत को पता है इसका स्वागत कैसे करना है. इंशा खड़ी थी और शिफा उसके सामने अपना लहंगा उठा कर बैठी थी, गोरी चिकनी टांगें, उसकी फुद्दी तो मैंने नहीं देख पाया, मगर कमर से लेकर नीचे तक खूबसूरत टांगें देख कर ही मेरा तो मन बहक गया.

अधिकतर बाबू या अफसर टाईप जवान खूबसूरत लोग किसी से कह भी नहीं पाते हैं कि यार मेरी गांड में खुजली हो रही है, ज़रा मार दो. राजशेखर- रिश्ता हमारा सही है, हमें तो केवल अपने बचे हुए जीवन को मजे से जीना है और जब तक किसी को पता नहीं चलता, ये गलत कैसे हो सकता है.

मैंने उसके खड़े लंड को देखा, तो उससे पूछा- क्या हुआ?अरमान हंस दिया और बोला- तू खुद समझ ले भाई … मेरा मूड बन गया.

भाभी अभी भी सिर्फ ब्रा और पैंटी में थीं … इसलिए वो पैर खोल कर अपनी चूत पसार कर लेट गईं. देवर भाभी की चुदाई पिक्चररोनिता ने कहा- तुम तो बड़े भुल्लकड़ निकले … मुझसे रोज बात करते हो और आज पहचान भी नहीं पा रहे थे. मद्रासी सेक्सी ब्लू पिक्चरउनकी सेक्स की बातें सुन कर मैं उत्तेजित हो जाता था और अब मुझे भी अपने लिए कम से कम एक गर्लफ्रेंड की आवश्यकता थी जिसे मैं प्यार कर सकूँ और मौक़ा मिले तो चोद सकूँ. क्या मस्त फीलिंग थी … हम दोनों की आंखें दस मिनट तक खुद ब खुद बंद थीं और मेरी जीभ से उसकी जीभ खेल रही थी.

थोड़ी देर में रोनिता अपनी कमर हिलने लगी, तो मैं समझ गया कि रोनिता का दर्द कम हो गया है.

जब उसकी थैली पूरी खाली हो गयी, तो वो मेरे ऊपर से लुढ़क कर नीचे गिर गया. 5 मिनट बाद आंटी का पानी निकल गया और मैंने भी जोर जोर से मारते हुए अपने लंड का पानी प्रमिला आंटी की चुत में डाल दिया और असहाय होकर प्रमिला आंटी के ऊपर ढेर हो गया।हम दोनों थोड़ी देर ऐसे ही लेटे रहे. चूँकि वो पहले भी बहुत बार चुद चुकी थी, तो लंड आराम से अन्दर चला गया.

नीचे से गर्म योनि में गर्म लंड और ऊपर से नर्म चूचों पर जवान लौंडे की सख्त छाती का मिलन जब हुआ तो दोनों के ही आनंद का कोई ठिकाना न रहा. हम दोनों भी सामने वाले सोफे पर बैठ गये और आंटी अंदर किचन की तरफ चली गई. वो मान गई और उसने मुझे बिस्तर पर पीठ के बल लेटा कर मेरा लंड मुँह में ले लिया.

sex ভিডিও

उसके बड़े बड़े तने हुए चुचे, तोप सी उठी हुई गांड एकदम बाहर को उभरी हुई थी. उसकी चूत चाट चाट कर लंड ने इतने झटके दे दिये थे कि कामरस से पूरा अंडरवियर गीला हो गया था. कुछ देर तक तो हम बातें करते रहे लेकिन फिर धीरे-धीरे आंखें भारी होने लगीं क्योंकि मैं तो मुठ मारकर आया हुआ था.

मैं सोच रहा था कि शायद किसी ने बदनाम करने के लिए दीदी सेक्स के किस्से बात चला रखे हैं कॉलेज में.

आपको मेरी पिछली कहानीमैंने हॉस्टल गर्ल की सील तोड़ीमें ज़रूर मजा आया होगा … उसके लिए आपके अनेकों मेल भी मिले.

फिर थोड़ी देर बाद जब मैं उठा, तो मैंने उनसे पूछा- आपको कैसा लगा?उन्होंने बताया- बहुत अच्छा लगा. मैंने भाभी को बोला- ठीक है आप बता दो, मैं भी आपके पति को आपके और आपके फ्रेंड के मैसेज और फोटो दिखा दूंगा. नई दुल्हन की चुदाई वीडियोमैं तन्वी के पास गया और मैंने उसको गोद में उठा कर पास ही बेड पर पटक दिया और उसके ऊपर चढ़ गया.

आंटी थकने लगी थीं, जिस वजह से मुझे उनके झटकों में मजा नहीं आ रहा था. थोड़ी देर में ही वो झड़ गईं और एक हाथ से अपने चूचों को सहलाते हुए चूत में से उंगली निकाल कर चाट ली. मैंने कभी कल्पना भी नहीं की थी सोनू के साथ ये सब इतनी मस्ती में होने वाला है.

पर अब वो अपनी गलती पर पछता रही है और वो अपनी इस भूल को सुधारना चाहती है. अरमान दीदी को एक साल से चोद रहा रहा था, लेकिन मैंने कभी दोनों को ऐसे नहीं देखा था.

अपनी थोड़ी सी बेशर्मी और बदतमीजी की बदौलत मुझे ज़िंदगी भर याद रहने वाली यादगार चुदाइयां करने का मौका मिला.

हम दोनों के बीच में कई बार बॉयफ्रेंड और गर्लफ्रेंड जैसे टॉपिक को लेकर भी बातें हो चुकी थीं. मैं स्पीड बढ़ाता चला गया, धक्के अब और ज़ोरों से मारने लगा, जिससे लंड पूरा अन्दर तक समाए जा रहा था. मैंने उसकी टाँगें उठाकर अपने काँधे पर रखी और फिर से चुदाई चालू कर दी।5 मिनट की चुदाई के बाद मैं झड़ गया और उसके ऊपर ही लेट गया।उसे लगा कि उसकी चूत से कुछ बह रहा तो उसने अपनी चूत में हाथ लगा कर देखा तो उसे पता कि वो खूँ है.

ब्लू फिल्म वीडियो सेक्सी ब्लू फिल्म दीदी के सामने लंड को हिलाते हुए वो दीदी के मुंह पर लंड को पटक रहा था. मैंने उसको लेटा दिया और उसकी टांगों को फैला कर उसकी चूत को चाटने लगा.

वो दोनों काफी देर तक एक दूसरे के होंठों को चूसते हुए एक दूसरे के होंठों का रस पीते रहे. वो बोली- अरे तुम परेशान तो करो, मैं तो 2 इंच आगे खिसक आऊंगी लेकिन पीछे नहीं जाऊंगी इंच भर भी. उसके बाद उसने मेरी चूत को हथेली रगड़ते हुए अपना लंड मेरी गांड में लगा दिया.

लड़कियों का गेम

आप ये बताओ कि आप मेरे यहां पर क्यों नहीं आते हैं? कभी मुझसे बात भी नहीं करते हैं. अब तो ऐसा है कि बहुत सी महिलायें मुझे मसाज के लिए बुलाने लगी हैं।रिया की चूदाई कैसे हुई; फिर कभी ये भी बताऊँगा।मेरी ये ब्यूटी पार्लर में सेक्स की सच्ची कहानी कैसी लगी बताना ज़रूर।[emailprotected]. ये देख कर मैं तुरंत ही बैठकर मॉम के रसीले होंठ चूसने लगा और मॉम का एक हाथ अपने लंड पर रख दिया.

अंडरवियर न होने की वजह से लंड देवता सीधा उसके मुँह से टकराये … उसने बिना देर किए अपने हाथों में पकड़ा और बड़े प्यार से उसे देखने लगी।मैंने पूछा- क्या हुआ … पसन्द नहीं आया?मेरी बहन बोली- पहली बार देखा है तो आँखें रुक गयीं अपने आप … कैसे जाता होगा अंदर, ये सोच रही हूँ. उनकी सेक्स की बातें सुन कर मैं उत्तेजित हो जाता था और अब मुझे भी अपने लिए कम से कम एक गर्लफ्रेंड की आवश्यकता थी जिसे मैं प्यार कर सकूँ और मौक़ा मिले तो चोद सकूँ.

ऐसे ही एक दिन मेरी मां ने मुझे और चाची को रंगे हाथ चुदाई करते हुए पकड़ लिया तो चाची ने सारा इल्जाम मेरे सिर पर लगा दिया.

कुछ ही पलों में सुरेश मेरे पीछे पीछे कमरे में हांफता हुआ आया और गरम नजरों से मुझे घूरने लगा. उसकी आवाज सुनते ही मैं समझ गया था कि साली को मेरा लंड लेना हैलड़की- राजन जी मुझे आपका नंबर काजल ने दिया है … और मेरा नाम रीता है. कई दिनों तक मैं अन्तर्वासना सेक्स स्टोरी साइट पर सेक्सी कहानियां पढ़ कर लंड को हिलाता रहा लेकिन मुझे चुत चाहिए थी.

जब यह क्रीड़ा अंतिम चरण में पहुंची तो दोनों के ही बदन पसीने से तरबतर हो चुके थे. फिर मेरी जीभ वहां पहुंच गई जिसके लिए वो काफी देर से इंतजार कर रही थी. मेरी सच्ची क्सक्सक्स स्टोरी मेरे ख़ास दोस्त की गर्लफ्रेंड के साथ सेक्स की है.

शुरू के दिनों में तो मेरे मन में ऐसा कुछ नहीं था लेकिन फिर होते-होते बहुत कुछ हो गया.

बीएफ सेक्सी अंग्रेज: सरस्वती- वो तो मैं अकेली थी और आधे घंटे से टांगें फैलाए हुई थी इसलिए … वरना अगर फुरसत से मिलते, तो तुम रो देते. मैं तुम्हारी याद में अपने चूचों को दबाती और हस्तमैथुन करके सुकून लेती रही … कुछ उस वजह से भी मेरे बूब्स का साइज़ बढ़ गया है.

अंत में दोनों शांत हो एक दूसरे को बांहों में समेट कर हांफते हुए लेट गए. मैंने कहा- हां, आंटी ने बताया तो था कि तुमको रात में अकेले सोने में डर लगता है. दो मिनट तक लंड को चुसवाने के बाद उसने दीदी को वहीं पर टेबल पर पीठ के बल लेटा दिया.

भाभी को भी पता चल गया कि मेरा लंड उसे सलामी दे रहा है, तो उसने कहा- तेरे लंड को अभी भी मेरी चूत चाहिए … देख कैसे इशारे कर रहा है.

मेरे मुँह से ‘चूत’ सुनकर वो शर्मा गयी और मेरे लौड़े को जीभ से चाटने की कोशिश करने लगी. मैं जैसे ही उसके पास गया, उसने मेरा लंड पकड़ कर अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगा. राजशेखर उसकी थुलथुली बड़े गांड को दोनों हाथों से मसलने लगा और निर्मला उसे चूमती हुई एक हाथ से उसका लिंग पकड़ कर अपनी योनि से सीध बना कर बैठ गई.