इंग्लिश बीएफ बीपी

छवि स्रोत,रंगोली सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

सुहागरात के विडियो: इंग्लिश बीएफ बीपी, उसके धक्के धीरे धीरे कम होते गए जिससे मैं आराम से झड़ गई। मुझे असीम संतुष्टि मिल रही थी।मेरे झड़ने के बाद भी उसके धक्के रुक नहीं हो रहे थे.

ब्लू फिल्म चोदने वाली सेक्सी फिल्म

उसकी गर्दन पर मैंने किस करना शुरू किया, तो वो कुछ और गर्म सी होने लगी. हीरोइन की सेक्सी वीडियो चोदने वालीपता नहीं तू मेरा काम करेगी भी या नहीं!रूबी- अब बता तो सही!मैं- पहले तू मेरी कसम खा कि तू किसी को बताएगी नहीं.

वो मुझे हल्का सा सहारा देते हुए गाड़ी तक ले आया और अपने दोस्त को धन्यवाद देने चला गया. सेक्सी पिक्चर नंगा दिखाइएवहां लोग भी काफ़ी मिलनसार हैं, ख़ासकर मेरी चचिया सास और मेरे चाचा ससुर, जो कि मुझसे फ्रैंक रहते हैं.

लंड को बाहर निकालने के बाद मैंने हम दोनों पर फिर से पानी डाला और मैं दोबारा से फिर साबुन मलने लगा.इंग्लिश बीएफ बीपी: मगर हम दोनों अभी भी व्हाट्सएप पर सेक्स चैट करते हैं तथा जब भी समय मिलता है, हम एक दूसरे के फ्लैट पर आकर प्यार और चुदाई कर लेते हैं.

मैं रचना के मुलायम गोरी टांगों को चाटते और सहलाते हुए उसकी जंघाओं तक पहुंच गया.नीता ने अपना हाथ जोर से मेरे लंड पर दबाया और बोली- बाहर ठंडी हवा चल रही है, बीमार पड़ जाओगे हर्षद.

नए साल की नई सेक्सी वीडियो - इंग्लिश बीएफ बीपी

उसको भी पता था कि इस तरह की दोस्ती का बस एक ही मतलब होता है और वो है चुदाई.कुछ ही पलों बाद मेरा हाथ खुद ही उसके मस्त चुचों पर आ गया और मैंने उन्हें मसलना शुरू कर दिया.

उसकी बुर बहुत टाइट थी, आधा लण्ड अन्दर गया लेकिन सोनल कराहने लगी थी. इंग्लिश बीएफ बीपी चाय पीने के बाद बसन्त जी कहने लगे- राज! फ़िलहाल तो कोई जुगाड़ बन नहीं रहा है.

फिर मैंने अपनी गांड की प्यास को बुझाने के लिए किस किस तरह से चुदाई करवाई वो मैं आपको अपनी अगली कहानियों में बताऊंगा.

इंग्लिश बीएफ बीपी?

मेरी पिछली कहानी थी:औरत की वासना का परिणामआज मैं आपके लिए ऐसे ही विषय पर एक सेक्स कहानी सुनाने आया हूँ. इसी तरह पूरे एक हफ्ते तक हम वहीं रहेऔर इस बीच मैंने भाभी का खूब ख्याल रखा, जिससे भाभी बड़ी खुश थीं. मैंने चुपके से कंडोम निकाल कर अपना लंड पौंछा और उसकी चूत भी साफ़ की.

मैंने उसकी साड़ी थोड़ी हटा दी और ब्लाउज के ऊपर से ही मम्मों को चूसने लगा. संजू ने भी अपने हाथों से अपनी दोनों चुचियों को सटा दिया था, जिससे लंड से चोदने में विक्रम को और मजा आने लगा था. मैं कशिश दीदी की एक टांग उठा कर उनकी चूत का भोसड़ा बनाने पर तुला था.

जो लोग फ्लैट में रहते हैं, उनको पता होगा ही कि फ्लैट वालों का अधिकतर टाइम पास बाल्कनी में ही होता है. इसके बाद मैं उन दोनों को अन्दर ले आई और उनको सोफे पर बैठने का बोल कर उनके लिए चाय और नाश्ता बना कर लेकर आई. भूरा के नैन नक्श तीखे थे और उसके बाल भूरे रंग के थे इसलिए उसका नाम भूरा रख दिया गया था.

उसके स्तन भी धक्कों के साथ उछल पड़ते थे।और तेज … और अदंर डालो … फाड़ दो आज … आह्ह … और तेज … और तेज!” कहते हुए वो धीरे-धीरे बड़बड़ाने लगी,10 मिनट के भरपूर गुदामैथुन का रेनू ने सम्पूर्ण आनन्द लिया. मेरे मुँह से खुद अपने चुतरस का स्वाद लेने वाली रेशमा अब और खूंखार लग रही थी.

पर थोड़ा बहुत ध्यान हमारा भी रख लिया करो।मैंने कहा- मैं कुछ समझा नहीं भाभी?तो उन्होंने कहा- अब इतने भी नासमझ ना बनो, तुम्हारी इस हथियार के तो बहुत कारनामे देखे है मैंने!यह कहते हुए भाभी ने धीरे से मेरे लंड पर कच्छे के ऊपर से ही हाथ फेर दिया और हंसने लगी.

कशिश दीदी चिल्लाती हुई- आअह मम्मी, मैं मर गई … साली हरामन रुखसार भाभी.

काम खत्म करके हमने दिन में जयपुर घूमा और रात का खाना खाकर होटल आ गए. मैंने उसे अपनी बांहों में भर चूम लिया और वापस नीचे को लेकर गया जहां मामा मामीजी हाल में बैठे अब भी बातें कर रहे थे. गुलजान की मोटी मोटी चुचियां मेरे सीने के नीचे दब रही थीं और मुझे एक मखमली गद्दे का अससास करा रही थीं.

पता नहीं किचन में वो‌ क्या करने गयी थी और क्या नहीं, मगर वो अब मुझे दिखाई नहीं दे रही थी, जिससे मुझे अब फिर थोड़ी घबराहट होने लगी. वो गालियां दे रहा था- आह्ह … चूस बहन के लौड़े … तेरी मां … बहन … चाची … आंटी सबकी चूत मार लूंगा मैं साले गांडू। आह्ह चूस … मादरचोद।मुझे भी उससे गाली सुनने में मजा आ रहा था. मैंने अदिति से कहा- हां अदिति … अब मैं भी झड़ने वाला हूँ … हम दोनों साथ में ही झड़ेंगे अदिति.

फिर वो मेरे अधतने लंड को देखकर बोली- हर्षद, मुझे तुम्हारे लंड का अमृत जैसा वीर्य पीना है.

मेरा विश्वास है कि इस हॉट चुत सेक्स कहानी को पढ़ कर यहां सब लड़के अपने लंड हिलाएंगे और लड़कियां अपनी चूत में उंगली डालकर पानी निकालेंगी. वे मुझे उनके होंठों पर चुंबन लेने को कहते थे और मैं उसे असली बनाने के लिए किस जैसी आवाज भी निकालती थी. इस समय हम दोनों एक डीलक्स बस में थे और उसकी डबल स्लीपर में अच्छी जगह रहती है.

सुबह फिर से मुझे गांव आना था लेकिन आज आने का मन नहीं कर रहा था क्योंकि दिव्या का इवेंट कल ही ख़त्म हो गया था. फिर मैंने उसको उल्टा लेटा दिया और उसके पीछे से उसको चाटने लगा उसकी पीठ पर उसे किस करने लगा. स्नेहा- ओके दीदू, छोड़ो उस रंडी की बात … आप एक काम करोगी मेरा?नेहा स्नेहा की चूत पजामे के ऊपर से मसलते हुए- कौन सा काम?स्नेहा- पहले कसम खाओ गुस्सा नहीं करोगी?नेहा कुछ सोचते हुए- चल ठीक है.

उसकी चूचियों पर मेरी नजर पहले दिन से ही थी और मैंने आज मन की तमन्ना अच्छे से पूरी की.

मैं छत पर जाता, तो वो मुझे देखने के लिए छत पर आ जातीं और स्माइल करके अपने रूम में चली जातीं. हल्के भूरे बालों से ढकी सोनल की बुर पर मैंने अपनी जीभ फेरनी शुरू की.

इंग्लिश बीएफ बीपी फिर वो मेरी चूत पर आ गया और गर्म जीभ को उसने मेरी चूत पर रख दिया और उसको चाटने लगा. अगर रास्ते में कुछ हो गया तो कौन देखने वाला है तुम्हें?ये कहकर उसने मेरी बाईक की चाबी निकाल ली.

इंग्लिश बीएफ बीपी वो मेरे सोये हुए लंड का उभार देखकर गाउन के ऊपर से ही अपनी चूत सहला रही थी. मेरी लुल्ली पूरी तरह से खड़ी हो चुकी थी और उनका लंड मूसल सा तन गया था.

फिर वो बाहर जाने लगी तो मैंने उसे आवाज दी- मम्मी, आप कुछ खाओगी या पीओगी?मेरी सास ने कहा- तुम परेशान मत हो दामाद जी, मैं कुछ देखती हूं किचन में जाकर.

सेक्सी फिल्म हिंदी में बीएफ फिल्म

मैंने आपा को एक बार फिर से चोदना चालू कर दिया और बहन चुदाई का मजा लिया. उधर नीचे से मेरा लंड ममता के मुँह के पास था, जिसका उन्होंने भी अपना पूरा मुँह खोलकर स्वागत किया और अपने मुँह‌ में पूरा लंड भरकर जोरों से चूसना चाटना शुरू कर दिया. जौहरा ने अपनी एक उंगली शाईस्ता की गांड में डाल दी और अन्दर बाहर करने लगी.

सेक्स चैट के दौरान पता नहीं वो संतुष्ट हाती थीं या नहीं, लेकिन अगर उनको मजा आता था तो उसके बाद मैं उनसे पर्सनली मिलने जाया करता था. अब जब भी अशोक आउट ऑफ स्टेशन होगा, उस समय मैं कौन से लंड का इंतज़ार करूंगी. मुझे ये बात मुंबई शहर पहुंच कर पता चली कि मुंबई को माया नगरी क्यों कहा जाता है.

रेल सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि बैंक ट्रेनिंग में मेरी दोस्ती एक नवविवाहिता सहकर्मी से हुई.

उस दिन मैं ऑफिस से जल्दी घर जाने के लिए निकला क्योंकि मुझे आगरा जाना था फैमिली के साथ. मुझे पता था कि तुम नहीं जाने वाली … और मैं तुम्हें थोड़ी ही जाने देता. इसलिए जब मैं घर पहुंचा तो वो मुझे उसके घर के सामने सीढ़ियों पर फिर से मिल गयी.

करीब दस मिनट के बाद नमन ने मेरी मॉम सतवंत कौर के मुँह में ही सारा माल छोड़ दिया और मॉम के मुँह में गले तक लंड पूरा डाल दिया. सचमुच भगवान ने हमे साथ मे लाकर सच्चे प्रेम का साक्षात्कार ही नहीं करवाया बल्कि सेक्स की नई परिभाषा सिखाई है. मैं एक छोटी जगह से आई थी और मुंबई जैसे शहर की चकाचौंध मुझे डरा रही थी.

मैंने पूछा- बनारस में आपको कहां छोड़ दूँ?उसने मेरे रूम से कुछ दूरी का ही एक पता बताया जो कि उसके किसी रिश्तेदार का मकान था. ब्रा में कैद उसके स्तन बाहर आने को बेताब हो रहे थे। मैंने पहले उसके चूचों पर ब्रा के ऊपर से चुम्बन किया.

मैं उस दिन कॉलेज आया … तो पता चला कि एक दो दिन में दस दिनों का एक हिस्टोरिकल टुअर जा रहा है. अब सुरेश का एक हाथ सोनी की गांड पर सहला रहा था और उसने उसकी स्कर्ट ऊपर उठा दी थी. जिससे चाची जोर जोर से कामुक सिसकारियां भरने लगीं और हम दोनों 69 की पोज़िशन में एक दूसरे को चाटने लगे.

तब मुझे पता चला कि वो पहले से जाग रही थी और बिना विरोध किए इस खेल का मजा ले रही थी.

मैंने भैया से कहा- यह तो बहुत बड़ी है और मेरे मुँह में नहीं जा रही है. चाची ने मुझसे लंड बाहर निकालने को कहा, तो मैं समझ लिया कि वास्तव में इनको दर्द हो रहा होगा. किरायेदार लड़कियों में बड़ी वाली बहन गोरी थी और उसका फिगर साइज़ 34-30-36 का था.

सुबह फिर से मुझे गांव आना था लेकिन आज आने का मन नहीं कर रहा था क्योंकि दिव्या का इवेंट कल ही ख़त्म हो गया था. जब मैं उनके खड़े लंड पर बैठने लगा तो इस बार मुझे दर्द कुछ खास नहीं हुआ.

जब तक वो और गुलजान रसोई का काम पूरा करके आती हैं, तब तक बात करते हैं. आप लोगों के पास इस समस्या का कोई इलाज हो, तो मुझे कृपया मेल करके बताएं. जैसे ही मैंने लन्ड डाला तो सीधा अंदर प्रवेश कर गया।अबकी बार करीब आधे घंटे तक हर पोज में चुदाई की मैंने!कभी भाभी मेरे ऊपर तो कभी मैं भाभी के ऊपर!अब तक भाभी लन्ड की मार से घायल हो चुकी थी और मुझे रोकने लगी।मैं बोला- तभी रूकूंगा जब आप या तो मेरे माल को मुंह में गिराओगी या अपनी गांड में … अबकी बार मैं माल को बाहर बर्बाद नहीं होने दूंगा.

बीएफ गावाला

फिर मैंने गुलजान को अपना लंड चूसने को बोला और हेलीमा को अपने लौड़े के ऊपर लेकर उसे किस किया.

फिर मैंने दोबारा से उसी नम्बर पर कॉल किया तो वो पहुंच से बाहर बताने लगा. मखमली कोटी के नीचे लक्स की बनियान और शॉर्ट्स में अनु दीदी के चौंत्तीस के चूचे और छत्तीस इंच नाप के चूतड़ साउथ इंडियन फिल्मों की लड़कियों की तरह गजब क़यामत ढा रहे थे. मैंने दोनों चूचियों को पकड़कर दबाना शुरू किया और उसे कुतिया समझ कर चोदने लगा.

उन्होंने अपने दोनों हाथों से बेड की चादर को पकड़े हुआ था और अपनी गर्दन को ऊपर उठा रही थी. उन्होंने मुझसे कहा था- मैं तुम्हें बाद में सजा दूंगा!क्या सजा दोगे?”मैं उस वक़्त जमीन पर लेटी हुई थी. ऑंटी साडी सेक्सी व्हिडिओअब मेरा लंड रचना की गांड में घुसने के लिए बेताब हो रहा था- जानू, तैयार हो गांड मरवाने के लिए?रचना ने लम्बी सांस ली- हां, मैं तैयार हूँ.

ये कह कर चाची घुटनों पर बैठ गईं और लंड को गॅप से मुँह में लेकर जोरों से चूसने लगीं. इस कहानी को आगे आप सोनम के ही शब्दों में पढ़ेंगे क्योंकि तभी आपको कहानी सही तरीके से समझ में आयेगी और पढ़ने में मजा भी आयेगा.

उसको अपना अपमान भी महसूस हो रहा था लेकिन साथ ही साथ वो गर्म भी हो रहा था. जब घर में हम दोनों के अलावा कोई नहीं होगा, तब मेरे काले सांप का तुम्हारे छेद में प्रवेश होगा. उसने उत्सुकता से पूछा- आप मेरा हाथ भी देख लेंगे?मुझे लगा कि मेरा प्लान सही दिशा में जा रहा है.

मैंने कहा- जब सरिया था तो पहले क्यों नहीं खोला?विपिन हंस कर बोला- बस मन नहीं था, आपको आधे अधूरे कपड़ों में देखने का मन था, पर देख तो बिना कपड़े के भी लिया. उन्होंने इतने साल से किसी के साथ सेक्स नहीं किया था तो वो कांप रही थीं. वो बोली- हां व्योम … मेरा सब तुम्हारा है जान … जैसे चाहो वैसे कर लो.

सुबह 6 बजे मैं पीहू को उठाने के लिए गया तो वो एकदम नंगी पड़ी थी और बहुत गहरी नींद में थी.

राकेश भी बोला- सर थोड़ा धीरे करो ना!फिर डॉक्टर ने मेरी ब्रा उतार दी और वो अपने एक हाथ से मेरे दूध ज़ोर ज़ोर से दबाने लगा. किसी दिन मैं उसका इंटरव्यू ले लेता हूँ, तुम उसे किसी दिन यहीं, इसी कमरे में ले आना.

मैं वो उठा कर लाया और बहुत सा तेल मेरे लंड पर और भाभी की चूत पर लगाया. मैंने ताई को बिस्तर पर लिटा दिया और फिर से उनके होंठों को चूमने लगा. मैंने उससे मजाक में कहा कि मेरे पास के एफसी का बकेट है, उसमें कर लो.

ममता की चुत चाटते चाटते मैं तिरछी नज़रों से खिड़की की तरफ भी देख ले रहा था. सुबह हम सब लोग जगह देखने चले गए सभी को वो फार्म बहुत पसंद आया तो हम उसे खरीदने के लिए तैयार हो गए. अब हम दोनों जल्द ही 69 की पोजीशन में आ गए और एक दूसरे के गुप्तांगों को चुम्बन करने और चाटने लगे.

इंग्लिश बीएफ बीपी मगर मैंने संजू से कहा- मान जाओ ना यार … बेचारा आज शाम को चला जाएगा. बुआ ने भी नीचे से अपनी गांड उठाते हुए मेरे लंड का मुकाबला शुरू कर दिया और कहने लगीं- आह और जोर से चोद मादरचोद … भोसड़ी वाले चोद साले … जितनी दम है आज पूरी लगा कर चोद दे.

सेक्सी में बीएफ हिंदी

रूम में रचना ने सभी तरफ दिए और मोमबत्तियां लगाई थीं, अलग अलग रंग की लाइट्स लगाई थीं, उसमें रचना का जिस्म और खूबसूरती से चमक रहा था. एक उंगली से योनि की दोनों दरारों को खोला तो उंगलियों में कुछ चिपचिपाहट सी महसूस हुई. मैंने लाल रंग की साड़ी पहनी थी और मैं उसको यूं अपनी तरफ देखती हुई कुछ समझने की कोशिश कर रही थी.

उन्होंने मुझसे फिर से कहा- तुम प्रॉमिस करो कि यह सब बातें जो हमारे बीच हो रही हैं, वह किसी से नहीं कहोगे वरना कभी भी मैं तुम्हारे साथ नहीं बोलूंगा … और ना ही कभी भी तुम्हें चीज दिलाऊंगा. मैं उठकर गोलियां और मलहम की डिब्बी लेकर आया और अदिति को एक गोली दी, पानी की बोतल दी. देहाती चुदाई का सेक्सी वीडियोधीरे धीरे धक्के बढ़ाने पर गुंदाज़ जांघों और उसकी चौड़ी गांड से टकरा कर मस्त पट-फट के साथ चुदाई की फचा-फच, हच-फच की मधुर आवाज़ कमरे में गूंजने लगी.

दो मिनट के बाद मेरे लंड ने भी पिचकारी छोड़ दी और वो मेरे सारे वीर्य को अंदर ही गट गट करके पी गयी.

मैंने सोचा कि क्यों न सासू मां को गर्म करके चोदने की कोशिश की जाये?ये सोचकर मैंने भी रूम में जाने का फैसला किया. उसने सोनी को इतना गर्म कर दिया था कि वो बेचैन हो उठी और उसके लण्ड को देखने के चक्कर में वो सारी शर्म भूल गयी.

उनकी ब्लू रंग की पैंटी में कसी और फूली हुई चूत बहुत ही हसीन लग रही थी. चुदाई के बाद इसको वापिस जाने के लिए बोल देना या फिर खुद आओ तो वापिस चली जाना. उसकी सांसें तेज होने लगी थीं, उसे आनन्द मिल रहा था, जिस कारण से उसकी सिसकारियां बढ़ती जा रही थीं.

मैंने सोचा कि ये बात भी ठीक है; मैंने उनका लंड उनकी पैंट के ऊपर से ही टटोला तो काफी बड़ा हथियार समझ आ रहा था.

उसने कुछ सोचते हुए अपनी बेटी को जगाया और उसके बाद अपने बेटे चिराग को जगाने लगी. पहले तो मैंने इग्नोर करने की कोशिश की लेकिन फिर मेरी भी नज़र उन पर जाने लगी. अब मैं और सोनी दोनों ही आश्वस्त हो गए कि ये भी रिश्ता कैंसल हो ही जाएगा.

गुजराती ट्रिपल सेक्सी वीडियोवो किसी पोर्न स्टार के जैसी, किसी भी सेक्सी मर्द के हवस की पूरी करने वाली माल लौंडिया थी. मैं किचन में चाय बनाने के लिए गयी तो अंकल मेरे पीछे पीछे किचन में आ गए और एकदम मेरे पीछे खड़े होकर मुझसे बात करने लगे.

देसी भाभी के सेक्सी बीएफ

ये सुनकर वो बोली- तो क्या तुमने अभी मेरे लोअर के नीचे कुछ नहीं पहना है?मैं हंस दिया और बोला- नहीं, तभी तो छोटे उस्ताद बाहर टहल रहे हैं. पर विक्रम को कोई फर्क नहीं पड़ा और वो संजू को डॉगी पोज में चोदने लगा. अगली बार वह मेरे घर पर आए और मेरी बाजू में बैठकर मेरे कंधों पर हाथ टेक दिया.

मैं संजू के सब आंसु पी गया और उसके बालों को सहला कर उसे सांत्वना देने लगा. वो बोला- रीना मेरी जान, बहुत मस्त चूचे हैं तुम्हारे!मैं इठला कर बोली- तो लो आज जो मन हो, वो करो. वो एक ब्लैक कलर की फ्रॉक जैसी नाईटी में आई थीं; इसमें आंटी का गोरा शरीर क़यामत लग रहा था.

मैंने किसी तरह बहाना बनाया और कुछ देर के बाद सरस्वती से सारी बात कह-समझा उससे पति की बात करा दी. मेरी बात बुरी लग गई क्या?मैंने उसे बताया- नहीं यार, मैं और मेरी बीवी शादी के बाद दो साल तक एक की थाली में खाते थे, लेकिन उसके बाद से उसे कुछ भी अच्छा नहीं लगता था. यह कह कर मैंने अनन्या को अलग से कहा कि अगर मनोज कुछ करना चाहे, तो थोड़ी नानुकर करके कर लेने देना.

हम एक दूसरे को देखते ही ऐसे खुश हो गये कि जैसे जन्मों के प्यासे हों. जब उनके हाथ दुखने लगे तो मेरे साइड में आ कर लेट गयी और मुझे किस करने लेगी।अब मैंने उनके बूब्स को चूसना शुरू कर दिया.

इस बार रचना की आवाज जोर से निकल गयी- उईई मां … मर गयी मैं … आह जानू जानू बहुत दर्द हो रहा है … आं बाहर निकालो!बेबी बाहर निकाला, तो फिर से डालने में दिक्कत होगी … तुम्हें कुछ नहीं होगा जान … थोड़ी देर दर्द होगा बस!”मैं उसको किस करने लगा, उसके आंसू पीने लगा.

ये सेक्स फॉर मनी Xxx कहानी एक साल पहले की है, एक दिन राकेश जब शाम को घर आए तो वो बहुत खुश थे. सेक्सी वीडियो मराठी हिंदी मेंतभी भाभी रूम में आ गईं और मुझे जागा देख कर मेरे होंठों पर किस करके मुझे अपने फ्लैट में जाने को बोलीं. चलती ट्रेन में सेक्सीबहुत देर तक किस करने के बाद मैंने आपा की एक चूची के दाने को मसलना शुरू कर दिया. काफी देर तक उन्होंने मेरी गांड मारी, फिर गांड के अन्दर पूरा लंड जड़ तक पेल दिया.

मेरे धक्कों के गांड पर लगने से पूरे कमरे में चट्ट चट्ट की आवाज़ आने लगी.

विपिन बोला- क्या हुआ?मैंने कहा- कुछ नहीं तुम चोदना शुरू करो भोसड़ी के … ज्यादा टाइम नहीं है. उनकी मोटी मोटी जांघें और फूले हुए चूतड़ देखकर मेरा दिमाग खराब हो गया. धीरू अंकल अपनी उंगलियों से मेरी गांड की चुदाई कर रहे थे और जीभ से मेरी कमर को चाट रहे थे.

मैंने ज्यादा उसके दिल को ना दुःखाते हुए उसे अपनी ओर खींचा और उसके एक चूचे को मुँह में भरके चूसने लगा. जैसे ही उसकी आंखें खुलीं, मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए, जिससे उसकी आंखें दुबारा से बंद हो गईं. मेरी गांड में अब खुजली होने लगी और मुझे लड़कों के लंड की जरूरत लगने लगी.

देवर भाभी की बीएफ दिखाएं

सभी लोग मेरी मॉम को गंदी नज़र से देखने लगे थे क्योंकि मेरी मॉम सुबह झाड़ू लगाने जब बाहर जाती थीं, तब लोग मेरी मॉम की चूचियां जो शर्ट से बाहर झाँक रही होती थीं, उन्हें देख कर लंड हिलाने लगते थे. और मैंने मौक़ा देखकर चोद दिया उसे!मैं हूं आपका अपना साथी सन्दीप सिंह!मेरी उम्र 26 साल है। मैं दिल्ली में जॉब करता हूं। वैसे मैं उत्तर प्रदेश के शहर कानपुर का रहने वाला हूं।दिल्ली में मैं अपने एक दोस्त के साथ रहता हूं।अपनी शारीरिक बनावट की बात करूं तो मेरी हाईट 5’7″ है।मेरा शरीर बिल्कुल फिट है।उसकी वजह ये है कि मैं प्रतिदिन एक्सरसाइज़ करता हूं।मेरे लण्ड का साइज़ करीब 7 इन्च लम्बा और करीब 2. वो कुछ भी विरोध नहीं कर रही थी और मैं नहीं चाहता था कि ये मौका हाथ से निकल जाए.

इससे वो एकदम से गर्मा उठीं और अलग होकर मना करते हुए बोलीं- इससे बड़ी सनसनी हो रही है.

एक पल का इंतजार किए बिना रेशमा ने लंड मुँह में भर लिया और चूसना चालू कर दिया.

उसकी गान्ड पैंटी में समा नहीं रही थी।मैंने उसे बिस्तर पर लिटा दिया और उसके होंठों को चूसने लगा. मैंने उससे कहा कि यदि तुमको मेरे आने से कोई दिक्कत हो तो मैं अभी के अभी चला जाऊंगा. सेक्सी हॉट videosफिर वो बोली- ये ठीक नहीं है यार, मैं ऐसे बिना कपड़ों के तुम्हारे सामने पड़ी हूँ और तुमने अभी तक पूरे कपड़े पहने हुए हैं.

नेहा समझ कर मुस्कुराते हुए- क्यों तुझे नहीं पता ये क्या हैं, तेरे पास भी तो हैं. फिर मैंने दोबारा से उसी नम्बर पर कॉल किया तो वो पहुंच से बाहर बताने लगा. डॉक्टर मुझे देख कर एकदम से बोला- वाह क्या आइटम दिख रही हो … आज तो बहुत मज़ा आएगा.

पहले मैंने अपने लिए व्हिस्की मंगाई तो पीहू ने भी पीने की इच्छा ज़ाहिर की. उनको बहुत मजा आने लगा तो वो बोलीं- मेरा पेटीकोट ऊपर करके मेरी जांघों को भी मसल दे.

मुझे उसमें ज़्यादा कुछ तो नहीं समझ आता था लेकिन वो खुश थे इसलिए मैं भी खुश थी.

हम दोनों ही एक दूसरे के होंठों व जीभ को जोरों से चूम-चाट रहे थे और पूरा मजा ले रहे थे. ललिता अकेली है बेटा, तू इसके साथ चला जाएगा क्या? कल शाम तक वापस आ जाओगे. क्या मदमस्त कर देने वाला दृश्य था वो!मैं उसकी गांड की खुशबू सूंघने लगा.

बबीता की सेक्सी चुदाई इससे भाभी की मदभरी सिसकारियां निकलने लगीं ‘आह उफ़्फ़ सीई आहह …’मैं धीरे धीरे भाभी की गर्दन को चूमने और चाटने लगा. भाभी थोड़ी घबरा कर बोली- आराम से करना, तेरे लंड के हिसाब से मेरी चूत काफी छोटी है.

पर मुझे क्या पता था, तुम यहाँ मुझे ऐसे मिलोगे और मेरा आधा काम आसान कर दोगे. वो मुझको चूमाचाटी करते हुए बेड पर लेट आया और मेरे मम्मों को दबाते हुए मजा लेने लगा. मुझे उसकी चूत से निकलने वाले हल्के नमकीन पानी का स्वाद आना शुरू हो गया था.

सविता भाभी सेक्सी वीडियो बीएफ

मेरी सौतेली मां की गर्म चूत की प्यासमें अब तक आपने पढ़ा था कि मेरी सौतेली मां मेरे साथ चुदाई में गर्म हो गई थी और वो तकिया के सहारे से उठ कर मेरे लंड को चूत में घुसते निकलते देखने लगी थी. जितना इस जिस्म पर मेरा अधिकार है, आज से तुम्हारा भी उतना ही अधिकार है बेबी. मैंने अंकल से पूछा- राहुल की क्या खबर है वो कब तक आने वाला है?अंकल ने बताया कि वो आज रात की फ्लाइट से आने वाला है.

मेरी बीवी मुस्कुराती हुई बोली- ऐसे नहीं देवर जी, पहले मुझको किस तो कीजिए. स्नेहा- अच्छा एक काम करती हूं, एक हफ्ते के लिए मुंबई नेहा दीदू के पास घूम कर आ जाती हूँ, इससे मेरा दिमाग फ्रेश हो जाएगा और पढ़ाई में मन भी लगेगा.

और ममता जब तक‌ कुछ समझती, तब तक मैंने एक‌‌ जोर का धक्का मारकर अपना आधे से ज्यादा लंड चुत में घुसा दिया.

मैंने अपने लैपटॉप पर पोर्न पिक्चर लगा कर छोड़ दी थी और वह हल्का खोल दिया था. फिर मैंने जबरदस्ती उसका लंड निकाल दिया और हाथ में पकड़ लिया।अभी उसका लन्ड एकदम आग की तरह गर्म था।फिर उसने मेरे हाथ लन्ड हटाया और मेरी चूत पर निशाना लगाया. अब वो जब भी कपड़े सुखाने छत पर आती, तब मैं खाली पीली फ़ोन में ऐसे बात करता … जैसे उसको लगता कि मैं कोई ज्योतिषी हूँ.

अगर समय का अभाव न होता तो लिंग फिर से नितंबों पर प्रहार के लिए खड़ा हो गया था।चाय पीकर उसने मुझसे फिर आने का वादा लिया और उसके नितंबों पर एक चपत लगा कर मैं घर से निकल दिया।भाभी की चूत की कहानी पर अपनी राय भेजते रहें. मैं- हां मिलता तो है … पर होटल के खाने में प्यार नहीं मिलता, जो आपके नाश्ते में मिला है. सुबह जब नेहा मुंबई पहुंची, तो उसने देखा कि उसकी दीदू और जीजू उसको लेने स्टेशन आए हैं.

थोड़ी देर की कशमकश के बाद वो आराम से बैठ गईं और मैं किसी प्यासे भंवरे की तरह उनके होंठों का रस पीने लगा.

इंग्लिश बीएफ बीपी: तभी मोनिका की चूत ने अपना पानी छोड़ दिया और मैं उसकी चूत का सारा पानी पी गया. इधर दिल्ली में तो मुझे और ममता जी को मिलने की कोई जगह नहीं मिल रही थी, इसलिए हमने इस टुअर पर ही जाकर चुदाई का प्लान बनाया.

उन्हीं कहानियों से प्रेरित होकर आज मैं भी अपनी प्रथम सेक्स कहानी सेक्सी ताई की चुदाई की लिखने जा रहा हूँ. गाँव की लड़की की सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैंने बारिश में एक लड़की को लिफ्ट दी, उसे घर छोड़ने गया तो उसने घर में बुला लिया. मैंने ध्यान दिया कि बुआ ने चुत के ऊपर एक थोंग पहनी हुई थी, जिसकी डोरी चुत की फांकों में घुसी हुई थी.

सच मानो दोस्तो, ऐसी चुदाई बहुत दिनों बाद हुई थी।मेरी चूत काफी गीली हो चुकी थी और लंड भी मोटा होने से चूत में टाइट चल रहा था।चूत चुदाई में अब फच … फच … की आवाज आ रही थी.

भाभी बताती रही- मैं तो आज ये सोच कर आयी थी कि चाहे आज कुछ भी हो जाये, मैं आज तुमसे चुद कर ही जाऊँगी. मैं उसको उसकी बात का जवाब देने लगा- इस प्यार वाली बात में ऐसा नशा होता है … ऐसा मजा आता है कि दुनिया की सारी खुशियां एक तरफ … और प्यार एक तरफ. मेरे जैसे चुदक्कड़ आदमी के लिए ऐसी चूत का मिलना बहुत किस्मत की बात थी.