बीएफ हिंदी फुल एचडी वीडियो

छवि स्रोत,बीपी में सेक्सी मूवी

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्स ऑडियो इन हिंदी: बीएफ हिंदी फुल एचडी वीडियो, मैंने उसकी तरफ देखा तो वो धीरे से मुस्कुराई और बोली- क्या नाराज हो गए?मेरी तो लॉटरी लग गई, मैं बोला- मैं किस लिए नाराज होऊंगा!वो बोली- आपकी कोहनी से मुझे प्रॉब्लम हो रही थी.

सेक्सी जल्दी से

उसने उसकी चुत को खोल खोल कर देखा और इसी बहाने वो अपना मुँह उसकी चूत के पास ले जाता था, जिससे फिल्म में लगे कि जो बनाई जा रही थी कि वो चूस रहा है. 89 साल की सेक्सी वीडियो” वह ऐसे याचनात्मक स्वर में बोला कि मुझे लगा वो बस अभी रो ही देगा।तुम ठीक तो हो… तुम्हें कुछ हुआ तो नहीं?” मैंने चिंताजनक स्वर में कहा।नहीं।” उसने रुआंसे होकर कहा।मैंने न चाहते हुए भी खुद को बाथरूम से बाहर कर लिया और उसने उठ कर दरवाज़ा बंद कर लिया.

मैंने जैसे ही उसकी नजरों से नजरें मिलाईं, वो बोली- अब पास आये तो मैं पापा से सब कह दूँगी. राधा वाली सेक्सी वीडियोजब दिल की धड़कनें और साँसें सामान्य हो गयीं तो मैंने उठ कर स्थिति का मुआयना किया.

उसने मेरी चूची को अपनी मुट्ठी में लेकर मसल दिया और मुझे अपनी बाँहों में भर कर मुझे चूमने लगा.बीएफ हिंदी फुल एचडी वीडियो: किचन में नाश्ते की अच्छी सुगंध आ रही थी, जैसे कि अभी अभी नाश्ता बना हो.

मैं अभी कुछ कहती कि चाचा ने मनोहर से कहा- मनोहर एक झटके में डाल पूरा लंड वन्द्या की चूत में.अभी तक आपने पढ़ा:हर धक्के पर मेरा टोपा धाड़ से जाकर रानी की बच्चेदानी पर धमाका करता जिसकी ठनक मुझे सिर तक महसूस होती.

सेक्सी चोदा चोदी सेक्सी एचडी - बीएफ हिंदी फुल एचडी वीडियो

मुझसे अब रहा नहीं जा रहा था, वह पूरी गांड को अपनी जीभ से चाटने लगा.उनकी फेवरेट मूवी इमरान ख़ान की जहर आ रही थी, जिसमें इमरान हिरोइन को प्रपोज करता है.

फिर 2-3 महीने तक में केवल सैलून में ही आने वाले लोगों को बॉडी मसाज देने लगा. बीएफ हिंदी फुल एचडी वीडियो एक बार मैं उसके घर गया हुआ था और किसी काम से दोपहर में झुंझुनू शहर आया.

अभी मैं कुछ समझता इससे पहले उसने बैग के नीचे से हाथ डाल कर मेरे लंड को पकड़ लिया और दबाने लगी.

बीएफ हिंदी फुल एचडी वीडियो?

मेरी वाइफ बोली- कोई बात नहीं… लंड तो लंबा मोटा है?मेरा फ्रेंड बोला- हां भाभी, उसका लंड बहुत लंबा और मोटा है, आपकी चुत में जब 2 लंड एक साथ जाएंगे तो आपको भी चुदाई का मज़ा आ जाएगा. मेरा नाम प्रीति है और मेरी उम्र 20 साल की है। मैं पंजाब से हूँ। मेरा एक भाई है और दो कजिन है काजल और रोहित। काजल 22 साल की है और रोहित 19 साल का। मेरी कहानी मेरी चूत की चुदाई यात्रा है।जब मैं 18 साल थी तो मेरी बहन काजल को हमारे किरायेदार ने चोद दिया. मैं हमेशा उन्हें देखता रहता था और वो भी बीच बीच में मुझे देखती थीं, पर सोसाइटी में होने के कारण हम बात नहीं कर सकते थे.

हम गरीब घर से हैं, ज्यादा पैसा नहीं है मेरे मम्मी पापा के पास, मेरे पापा एक साल के लिए मुंबई चले जाते हैं. बेड की चादर पर भी ब्लड लग गया था जिसे हिमानी ने बाथरूम में ले जाकर तुरंत धो दिया और उसपर टोवल डाल दिया. डॉली आवाज़ निकालना चाहती थी लेकिन एकता ने किस करके उसका मुँह बंद कर दिया.

अब वो मेरी पत्नी की तरह पेश आती है और मेरी सारी जरूरतों को पूरा करती है. रात तो दस बजे मैं पूरी नंगी हो कर अपने रूम में बैठी थी और बिंदु अपने साथ जगत को लाई. मेरा मन उसके लंड को पकड़कर दबाने सहलाने का कर तो रहा था लेकिन पता नहीं क्या सोचकर मैंने हाथ वापस हटा लिया… मैं सोचने लगा कि ये सब तो मैं गगन के मेरी जिंदगी में आने से पहले भी कर रहा था.

मैं बोली- इससे पहले तुम कभी किसी लड़की के साथ सोये हो?तो मेरा भानजा बोला- नहीं, वन्द्या आज पहली बार ही मैंने तुम्हें चूमा है. मैंने उनको एक छोटी सी नींद की गोली दे दी थी और में बाहर खेतों में मोटर वाले कमरे पर चली गयी.

आखिर हार के मैंने कहा- ठीक है लेकिन हम यहाँ सोयेंगे कैसे?उसने कहा कि तुम पलंग पे सो जाओ और मैं नीचे सो जाऊँगी.

एक अच्छे सेक्स के बाद एक दूसरे की बांहों में सोने का मज़ा ही अलग होता है.

रिया की लम्बाई 5’6″ की थी, उसकी उम्र 18 की थी और 32-24-32 का फिगर बड़े ही कमाल का था. लेकिन मैंने उनकी बातों पर ध्यान ना देकर धक्के लगाना शुरू किया, मेरे प्रत्येक जोरदार धक्के पर उनकी चीख स्वाभाविक थी ही… साथ में कुछ आंसू थे, वो अलग!तो मैंने धक्कों की रफ़्तार थोड़ी कम कर दी. तो भाभी ने कहा- अन्दर ही झाड़ दो!मैं जोर जोर से धक्के लगाने लगा, तभी भाभी का पानी फूट पड़ा और उसकी गर्मी से मैं भी झड़ने लगा। झड़ने के बाद में भाभी के पास ही लेट गया और उनके मम्मों से खेलने लगा।भाभी को मैंने पूछा- आज सुबह आपने एकदम से मेरा लंड क्यों मुंह में ले लिया था?तो उन्होंने कहा- मैं बहुत दिनों से देख रही थी कि आप मेरे मम्मे और गांड को ताड़ते थे और मुझे भी चेंज के लिए नया लंड चाहिए था.

शाम को ऑफिस से घर आने के बाद फ्रेश होकर भाभी के घर खाना खाने चला गया. मैंने उसके पैरों को फिर से ऊपर किया और पैरों को फैला कर उसके अन्दर जोर से धक्का लगाया, उसकी चीख निकल गई और वो रोने लगी. एक तो उसका लन्ड ही मोटा सख्त जबरदस्त था फिर उसके जोरदार झटके अपनी कमर का पूरा जोर लगा रहा था गांड का भुर्ता बना कर रख दिया, तबियत मस्त हो गई, बहुत दिनों बाद किसी ने ऐसी जबरदस्त चुदाई की… मजा आ गया!फिर वह चिपक कर रह गया, अब झड़ रहा था.

चाची ने बड़ी चाची की चुत को मुँह से चोद कर एक गहरी कराह भरी और बोलीं- अरे ये ताला बहुत दिन से बन्द पड़ा है जरा प्यार से कर मादरचोद.

लेकिन वो कहाँ मानने वाला था, उसे तो मेरे मम्मे इस तरह से लग रहे थे जैसे किसी बच्चे को उसका मनपसंद खिलौना मिल गया हो और वो उसे छोड़ना ही ना चाह रहा हो. करीब 15 मिनट बाद अंजलि का पानी झड़ गया और वो वही बेहोशी जैसे होकर वहीं नंगी ही सो गयी. कभी अपने कानों के बुंदों को कुछ करती, तो कभी बैठ के अपने पैरों के बिछुओं के साथ कुछ घसर पसर करती.

वो बोली- फूफाजी, ले लो मेरी चूत, चोद दो मुझे!रमेश बोला- वाह ससुर की जानू और मैं फूफा जी? भेण की लोडी मुझे जीजू ही बोल तू भी! तेरे जानू का जीजू तो तेरा भी जीजू!ओके मेरे प्यारे जीजू… आज ये सलहज आपकी ही है. तो बताइए कि मैं कब आऊं आपके पास?वो बोली- आप कल दिन में 11 बजे आ जाओ. फिर मैंने उससे कहा कि तुमने मुझे रोका क्यों नहीं?तो उसने कहा- मैं आपको दु:खी नहीं करना चाहती थी.

मैंने कहा- और नहीं तो क्या… पता है फूफा जी, जब आपका लंड पहली बार मेरी चूत में घुसा था तो मुझे कितना दर्द हुआ था… दर्द के मारे मेरी तो जान ही निकलने वाली थी, उस वक़्त तो मैं ज़ोर से चिल्लाने वाली थी.

फिर मैं वहीं रूककर धीरे धीरे धक्के लगाता रहा और करीब 10 मिनट बाद ज्योति अपनी कमर को फिर से हिलाने लगी. फिर बोले- आप ऐसे ही सोएंगे?मैंने कहा- हां।तो वे बोले- मैं भी कच्छे में सोऊं?मैंने कहा- कोई बात नहीं, जैसा आप चाहें।मैंने देखा कि कच्छे में से उनका लंड उचक रहा था.

बीएफ हिंदी फुल एचडी वीडियो फिर अपना हाथ मेरे नंगी जांघों से चलाते हुए मेरी पैंटी की इलास्टिक खींचकर अन्दर घुसा दिया. पर मेरी किस्मत में भी वो दिन आया जिसका मुझे इंतजार था और जब मैंने पहली बार सेक्स किया.

बीएफ हिंदी फुल एचडी वीडियो पद्मिनी पीठ पर स्कूल बैग लिए हुए बापू की उस अदा से अचानक झुक गयी और बापू के कंधों को पकड़ कर मीठी आवाज़ में बोली- आज क्या हो गया आपको बापू, मुझे स्कूल नहीं जाने दोगे क्या? छोड़िये मुझे, बस करो प्यार करना. भाभी- डाल भी दो अब अपना लंड… मेरी रंडी चुत में… फाड़ दे इसे… अपनी रंडी की तरह चोद मुझे… बुझा दे मेरी प्यास को…मैंने देर ना करते हुए अपना लंड एक जोरदार धक्के के साथ उनकी चूत में पेल दिया.

रात को जब वो अपने रूम में आया तो उसके आने के कुछ देर बाद बिंदु ने उसके रूम की घंटी बजाई.

हिंदी में बीएफ दिखा

ऐसे अलग अलग स्टाइल में करीब 15 मिनट तक मुझे चोदने के बाद फूफा जी ने अपनी स्पीड बढ़ा दी और फिर मुझे बैड पर पटक दिया और अपना लंड मेरी चूत में से निकाल कर मेरे मुँह के ऊपर ले आए और फिर उनके लंड से एक जोरदार पिचकारी निकली, जिसने मेरे चेहरे, मेरे बूब्स और मेरे पेट को भी गाड़े वीर्य से भर दिया. वो भी हंस कर पैन्ट के ऊपर से ही मेरे लंड को मसलने लगी और चुम्बन करने लगी. मॉम गांड उचका कर बोलीं- चुदाई क्यों रोकी?मैं बोला- आप मेरी बात तो मानती हो तो ठीक है नहीं तो मैं नहीं चोदूँगा.

मेरे एक चाचा वहीं सिटी में रहते थे, इसलिए मैं उनके घर पर जाकर रहने लग गई. मेरा लंड उसकी चूत की मांसपेशियों के बंधन ढीले करता हुआ पूरी गहराई तक घुस गया और मेरी झांटें बहूरानी की झांटों से जा मिलीं. फिर कुछ देर चुदाई करने के बाद मेरा गरम गाढ़ा वीर्य उसकी चूत में समा गया.

फिर वो अपनी जीभ को उस पर फेरते हुए अपने बापू के चेहरे पर देख रही थी.

इसके बाद उसने अपनी सलवार समीज को निकाल दिया और वो मेरे सामने ब्रा और पैंटी में आ गयी. लेकिन उस हालत में भी मैं लगा रहा, थोड़ा बहुत लिंग और थोड़ा बहुत अपने हाथ मुंह से मैंने उनका भी पानी निकलवाया. ”भाईजान मेरी बात सुन मेरे ऊपर झुक मुझे चूमकर मेरे गालों पर जीभ फेरते बोले- ऐसा क्यों सोचा जूही?वो इसलिए भाईजान क्योंकि मुझे आप बहुत अच्छे लगते हैं.

मैं अन्दर गया और बंगले को बड़ी गौर से निहार रहा था, तभी अन्दर से एक महिला आ रही थी. फिर नेहा ने मुझसे बोला- क्या तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है?मैंने बोला- दीदी नहीं है. उसे इस झटके से करने के कारण मज़ा आ गया, उसकी हल्की सी आह भी निकल गई.

उन्होंने अब अपनी एक जांघ मेरी जांघों के ऊपर रख दी, वे मेरे से चिपक गए, उनका खड़ा लन्ड मेरी जांघों से टकरा रहा था. तब भी मुझसे उनका रोना देखा नहीं जा रहा था, तो मैं थोड़ी देर उनके बूब्स चूसने लगा और दबाने लगा.

उस दिन पूजा क्या कयामत लग रही थी स्लीवलेस टॉप में… और पीछे पीठ का भाग पूरा खुला ही था, सिर्फ एक डोरी बंधी हुई थी, उसे देख कर मैं पागल होने लगा था, मैंने सोच लिया था कि कुछ भी करके इसे चुदाई के लिए पटाना पड़ेगा।मैंने केक काटा और प्रदीप को खिलाया, फिर पूजा को भी अपने हाथ से खिलाया. मेरे चूतड़ बहुत गोल और बाहर को निकले हुए हैं जिनको देखकर किसी का भी लंड खड़ा हो जाये. अब मैं सोनिया के पास ज्यादा वक़्त बिताने लगा और उससे ज्यादा बात करने लगा.

उनकी उंगलियां भी बहुत मोटी थी, दो उंगलियां ही तीन के बराबर होंगीं!वे बड़ी देर तक मेरी गांड में उंगली डाले रहे, फिर उन्हें अंदर बाहर करने लगे, फिर गोल गोल घुमाने लगे, फिर डाल कर रुक गए, फिर अंदर बाहर करने लगे.

आपको ये मदमस्त चुदाई की कहानी कैसी लगी, बताने के लिए मुझे मेल जरूर करें, मेरी मेल आईडी है. इतना कड़ियल लंड है कि एक बार जिसकी चूत को चोद दिया तो वो दोबारा चुदने को बेताब रहती है. अगले दिन, जब मैं अपने काम से दोपहर को वापिस होटल आया तो देखा कि जूली रिसेप्शन पर नहीं थी.

मैंने उससे खुलते हुए पूछा- तो कैसा लगा मेरा लंड?उसने भी कहा- मज़ा आ गया देख कर और उसका पानी निकल कर जब वो छोटा सा हो गया था, तो मन कर रहा था कि इसको चूस के फिर से खड़ा कर दूँ. हम दोनों सहेलियों ने तय किया था कि अपनीचूत की खुजलीमिटाने के लिए ऐसे कॉलब्वॉय को बुलाया करेंगी, जिसका लंड एक्स्ट्रा लॉन्ग न हो.

फिर 4 दिन बाद भाबी ने पूछा- मेरा सामान तैयार हो गया हो, तो घर पर भिजवा दो. तभी जीजा प्लेट रखकर मेरे को बोले- थोड़ा मुंह में होंठ के नीचे यहां पर कुछ लग गया है. सलीम का लंड अभी तक खड़ा था।तुम इसको और कितनी देर खड़ा रखने वाले हो, यह बच्चों का खेल बहुत हुआ अब हमको बड़ों का खेल खेलना चाहिए.

बीएफ एचडी में दिखाइए

मैंने देखा हिमानी की चूत कल की अपेक्षा सूजी हुई थी और मोटी लग रही थी.

कुछ देर धीरे धीरे चुदाई होने के बाद उसने स्पीड बढ़ाने के लिए कहा- जोर जोर से करो. मैं उससे बोला- डार्लिंग मैं तो बस प्यार करना जानता हूँ और कुछ नहीं. करीब दस मिनट बाद काले रंग की ऑडी कार आकर रुकी और तो उसमें से मेरे पड़ोस की रहने वाली काजल दीदी, ज्योति और एक 24-25 की दूध जैसी गोरी और एकदम मस्त आइटम शायद उसका नाम कविता था, उतरीं और तीनों सुन्दरियां सीधी उस कमरे में आईं, जहाँ मैं लेटा हुआ था.

नेहा का घर मेरे घर के पास ही है तो हमारा एक दूसरे के घर पर आना जाना था. मेरे अंडरवियर के ऊपर से पहले लंड का चुम्बन ले कर मेरी अंडरवियर निकाल फेंकी, अन्दर से मेरा लंड उछल कर उसके सामने आ गया. किरण यादव की सेक्सी वीडियोमैं उसके मम्मों को कपड़ों के ऊपर से ही दबाने में लग गया और साथ ही मैं उसके होंठों को चूम रहा था.

मैं ज़ोर ज़ोर से उनको धक्के पे धक्का दे रहा था, उनके दोनों चूचे तो मानो झूले में झूल रहे हों, ऐसे हिलोरें ले रहे थे. आप इस फिगर से उस लड़की के बारे में जान ही गए होंगे कि वो बहुत स्लिम थी.

पहली बार पीयूष और लालजी ने मेरे खुले नंगे मम्मों को देखा, दोनों ने लगभग एक साथ कहा- आह. जब सुबह हुई तो मैंने देखा सासू मां अपने काम करने में बिज़ी थी और सुबह सुबह मेरा लंड भी सख़्त हुआ पड़ा था. मेरी पिछली कहानीशीला का शीलऔरवो सात दिन कैसे बीतेथीं।असल में जिओ ने मेरी नौकरी की वाट लगा दी थी, फिर काफी संघर्ष भरा वक़्त गुज़रा इस बीच, जिससे मैं इस मंच से अपना कोई अनुभव साझा न कर सका।अब फिर से किसी ठिकाने लग गया हूँ तो सुकून है और इस बीच जो अनुभव ख़ास रहे, उन्हें आपके साथ ज़रूर साझा करूँगा। ऐसा तो नहीं है कि इस बीच कहीं सहवास के मौके न मिले हों.

मैं पूरी तरह से आश्वस्त होने के बाद चाची जी के करीब आ गया और उनके चूचे ब्लाउज के ऊपर से ही दबाने लगा। चाची का कोई नहीं हुआ तो मेरी हिम्मत बढ़ी. ऐसा लग रहा था, जैसे कोई युद्ध चल रहा हो और कोई भी हारना नहीं चाहता रहा था. मैंने उससे कहा था कि अभी तो मेरा खुद का कोई जुगाड़ नहीं बन रहा, जैसे ही बनेगा.

मन तो कर रहा था कि इसको यहीं पटक के चोद दूँ, पर ऐसा नहीं कर सकता था.

मैं- भाभी अगर वो ऐसा चाहती हैं और आपको कोई प्रॉबलम ना हो, तो बेशक बता दो. वहाँ जाकर जो कुछ मालूम हुआ, उससे मेरे कान सुर्ख हो गए, मेरी 1 कजिन जिसका नाम सारा था और उम्र लगभग १९ साल थी की शादी हमारे कजिन इमरान से हुई थी और उनका आपस में बहुत प्यार मोहब्बत था, पता नहीं क्या हुआ कि उसने ग़ुस्से में आकर मेरी कजिन सिस्टर को तलाक़ दे दिया और इसी कारण से वह शादी में भी नहीं आयी थी.

थोड़ी देर बाद दीदी को मजा आने लगा और दीदी भी चूतड़ उठा उठा कर लंड लेने लग गई. तभी अलका ने अपनी लात भी मेरे नितम्बों पर लपेट ली और मेरी गर्दन को कस के अपनी तरफ खींच लिया जिससे हमारे होंठ आपस में यूँ चिपक गए जैसे लिफाफा और टिकट चिपक जाते हैं. जब उन्हें मजा आने लगा तो फिर भाभी जी खुद अपनी कमर उठा उठा कर मुझसे चुदने लगीं और मेरे लंड को अपने अन्दर तक डलवाने लगीं.

यह सब प्यार करने का एक तरीका होता है और इससे दोनों जनों को बहुत मज़ा और आराम मिलता है. मेरी बहन रीनू चालीस साल की है लेकिन भेण की लोड़ी तीस साल जैसी ही दिखती है. और थोड़ी देर बाद जब लंड महाराज फिर से टाइट हो गये तो मैंने आरुषि को बेड के सहारे झुका कर खड़ा करके पीछे से लंड उसकी फुद्दी के मुँह पर लगाकर मैं एक बार थोड़ा पीछे को हुआ और एक झटका लगाते हुए लन्ड को फुद्दी में धक्का मारा तो लंड थोड़ा सा उसके अंदर घुस गया.

बीएफ हिंदी फुल एचडी वीडियो वो अधिकारी अगले कुछ दिनों में ही आकर कंपनी का रिकॉर्ड चैक करेगा और अगर उसमें कुछ ग़लत पाया गया तो क्रिमिनल केस भी चल सकता है. याना की माँ की बहन यानि याना की मौसी जो ऑस्ट्रेलिया में रह रही है, अभी इंडिया आई हुई है, नीलू मुझे आज भी अपने घर बुला कर अपनी सगी बहन को भी मुझसे चुदवा रही है.

टीचर का सेक्सी बीएफ

मैं भी एक हाथ से उसकी चूत में उंगलियां कर रहा था और दूसरे हाथ से उसके सर को पकड़ कर जमकर किस कर रहा था. फिर धीरे धीरे उनकी गांड में अपना लंड डालने की कोशिश करने लगा मगर उनकी गांड बहुत टाइट थी… तो मैंने एक ज़ोर से धक्का दिया, जिससे मेरा आधा लंड उनकी गांड में चला गया. भाभी अब केवल ब्रा और पैन्टी में खड़ी साउथ की हिरोइन की तरह लग रही थी.

अगर तुम बुरा न मानो तो तुम मुझे पीछे से जकड़ कर मेरी चनक निकाल दो जिससे मेरी कमर एक बार चटक जाए तो शायद दर्द ख़त्म हो जाए. मैंने उनको देख कर अगले 5 मिनट में लंड को चुदाई के लिए तैयार किया और उसकी बेटी की चुत पर रख कर डाल दिया. हिंदी सेक्सी वीडियो 2021 न्यूतो खाला ने मुस्कुरा के पूछा- फिर तो बहुत मजे किये होंगे?इससे पहले मैं जवाब देता, खाला का फ़ोन आ गया और खाला उठ कर चली गयी.

यही कोई 9 बजे के आसपास मुझे दीदी ने जगाया तो मैं उठ कर हाथ मुँह धोने चला गया.

मेरा नाम नेहा है, मेरी हाइट भी ठीक है और मैं भी जवानी के दौर में हूँ। मैं गाँव में रही हूँ लेकिन मेरे घर वाले शहर में रहने लगे क्यूंकि हम लोगों का घर शहर में हमारे पापा जी ने ख़रीदा और हम शहर में रहने चले गए।मैं शहर में गयी तो मुझे पता चला कि यहाँ तो बहुत लोग झूठे हैं और झूठे वादे भी करते हैं।मेरी बहुत सारी सहेलियां भी बन गयी जो मेरी पड़ोसी थी. मेरा भी मन करता था कि कोई मेरे बड़े बड़े मम्मों को दबाए, मेरे होंठों को चूमे, मुझे घोड़ी बना कर या कुतिया बना कर पटक पटक कर जी भर के चोदे.

और खुद नीचे फर्श पर बैठ उसकी जांघों में पकड़ बनाये मुंह से उसकी योनि पहले की तरह चाटने लगा।रज्जो. यही कोई 9 बजे के आसपास मुझे दीदी ने जगाया तो मैं उठ कर हाथ मुँह धोने चला गया. वो मेरी चूची को चूसते चूसते मेरे निप्पलों को भी काट रहा था और मैं सिहरे जा रही थी.

मैंने उससे पूछा- पूरा मजा लेना है या बाकी कल करें?उसने मुझे बाँहों में जकड़ लिया, वह दुबारा सेक्स से भर गई थी, उसने कहा- अबकी बार थोड़ा क्रीम लगा कर करो.

मैं आजकल एक कॉलगर्ल हूँ और मेरे अंदर शर्म नाम की कोई चीज अब नहीं है. मैंने कंडोम को हटा दिया और उसकी चूत को फिर किस करने लगा और चूत में दो उंगली डाल दीं. उसने अपने लंड पर रबर लगा रखा था इसलिए उसने अपना लंड बाहर नहीं निकाला और जब उसका पानी निकल गया तो वो फिर भी मेरे ऊपर चढ़ा रह कर मेरे मम्मों की माँ चोदता रहा.

सेक्सी वीडियो एचडी मुस्लिमरास्ते में मैंने उससे कहा- नहीं, यह कपड़े तुमको इसलिए लेकर दिए हैं कि जब भी तुम मेरे साथ कहीं जाओ, तो तुमको कोई ड्राइवर ना समझे. आह कितनी गरम और गीली चुत थी, मैंने उंगली को निकाला और उस पर लगे पानी को अपने मुँह में लेकर चूस लिया.

सनी लियोन सेक्सी बीएफ हिंदी में

मैं अपनी सहेली के भाई के कपड़ों को निकालने लगी और मैं कुछ देर में ही उसको नंगा कर दिया. उसके झड़ने के 1-2 मिनट बाद में भी झड़ने वाला था, मैंने उसे इशारा किया कि मैं झड़ने वाला हूँ. यह देख कर अंजलि ने कहा- तुम लोग भाई बहन आपस में भी सेक्स करते हो?इस पर शीतल हंसी और बोली- ये मेरे भैया से ज्यादा मेरे पति हैं, जब मम्मी के पेट में भैया अपना बच्चा टिका देंगे तो भैया फिर मुझसे शादी कर लेंगे.

हम दोनों कामुकता से भरने लगे थे और थोड़ी थोड़ी सिसकारियां भी ले रहे थे. मेरे दूध मसल और पी।” अहाना ने ऐंठते हुए कहा।मैं पास आ गयी और एक हाथ से उसका एक दूध सहलाने मसलने लगी जबकि दूसरे की घुंडी मुंह में लेके चुभलाने लगी और वह कमान की तरह तन कर सिसकारने लगी।डालो अब।” फिर वह बोल पड़ी।और राशिद उठ कर खड़ा हो गया। अपना समूचा बैंगन उसने गचाक से अहाना की मुनिया में पेल दिया और धडाधड़ धक्के लगाने लगा।ऐसे ही. मैं रूम में डायरेक्ट घुस गया और चलते चलते ही कहा कि लीजिए आपका आम, खैर आपको ये पसंद नहीं आएगा क्योंकि आपके पास तो इससे भी मीठा आम वो भी बिना गुठलियों वाला है.

हम वो सच में कब करेंगे?उसने कहा- जल्दी ही…उसने फ़ोन पर गुड नाईट कहा और फ़ोन रख दिया. उसे देखते ही मेरे मन में कुछ कुछ होने लगता, पर जानता था कि वह मेरी बहन है. तैयार न होती तो यह न कहती कि कल की कल देखेंगेबल्कि साफ़ साफ़ मना कर देती.

जब मैंने पूछा तो उसने बताया कि उसकी शादी को एक साल हो गया है पर मेरे पति मुझे खुश नहीं रख पाते हैं और कभी कभी झगड़ा भी करते हैं. मैं सुन्न हो गया… मानो मैं कुछ हूँ ही नहीं! मैं तो बेवजह ही उछाल भर रहा था, मंजू तो मुझे अपना पति समझ रही थी.

फिर मैंने भाबी की दोनों चूचियां मसली और मैं वापिस अपने बुटीक आ गया.

उससे बोलना कि नंगी होकर अच्छी तरह से डांस करे, उसकी भी फिल्म बननी चाहिए. सेक्सी फिल्म कुंवारी लौंडिया कीवैसे शहर में मेरे रिश्तेदार रहते थे, पर पापा नहीं चाहते थे कि मैं वहां जाऊं, इसलिए हॉस्टल में ही रखा. हिंदी मारवाड़ी पिक्चर सेक्सीफिर मैं उनके ब्लाउज को खोलने लगा और ब्लाउज को खोल कर उनके मम्मों को सहलाने लगा. इस बार बीस मिनट के बाद मेरा झड़ गया मगर साली उसी स्पीड से उछल उछल कर गांड मरवाती रही.

बड़ी चाची ने मेरा लंड छोटी चाची के हाथ में से लिया और बोलीं- साली कुतिया अकेले ही लंड खाएगी क्या?कहानी जारी रहेगी.

मैं बेसब्र की भांति तेज कदमों से बेडरूम की ओर भागा और बेडरूम में घुसते ही मैं चौंक गया. तुम क्या कर रही हो?उसने कहा- मैं अपनी चूत में उंगली कर रही हूँ, तुम्हारे लंड की गर्मी याद आ रही है. मैं किस करने के साथ साथ हल्का सा काट भी लेता था गर्दन में, गालों पर!फिर मैंने उनकी साड़ी का पल्लू हटा दिया और उनके दूधों को ब्लाउज़ के ऊपर से ही दबाने लगा.

एक दिन मेरी नानी की तबीयत बहुत खराब हो गई और मम्मी को उनके पास जाना पड़ा. मेरे सामने उनकी एकदम सफ़ेद चूचियां थीं, जिन्हें देख कर मेरी हालत इतनी खराब हो गई कि क्या बताऊं. मैं काफी शर्मीले मिजाज का आदमी हूँ, सो कभी गर्लफ्रेंड नहीं बना पाया.

फुल सेक्सी बीएफ फुल सेक्सी बीएफ

मेरी सेक्सी भाभी की उम्र 25 साल और लम्बाई 5 फुट 5 इंच है, भाभी दूध की तरह गोरी हैं, उनकी ब्रा का नम्बर 34 था और पैंटी का 32 जो कि मुझे बाद में पता चला था जब मैंने ब्रा पैंटी छत पर सूखती हुई देखी थी।भैया भाभी के स्तन ब्रा के ऊपर से दबा रहे थे भाभी धीरे-धीरे विरोध कर रहीं थीं और सिसकारियाँ भी ले रहीं थीं. अब वो मेरे ऊपर और मैं उसके नीचे था, दोनों के सारे कपड़े पहले ही अलग हो चुके थे, अब बस काण्ड होना बाकी था।जैसे ही मैंने उसको अपने लण्ड पर बैठने का इशारा किया उसने मेरा लण्ड पकड़ के एक टांग दूसरी साइड करके लण्ड को चूत पर सेट किया और पच्च से बैठ गयी. कहां गायब हो गए थे? तुमको ढूँढने मैं रोज उस दुकान पर जाती थी कि शायद तुम दिख जाओ.

कुछ देर उसकी गर्दन पर चूमने के बाद मेरे होंठ ऊपर उसके कोमल गालों पर से होते हुए उसके होंठों पर आ गये.

सुहैल तो अपने हाथ से अपनी मुनिया रगड़ रहा था, तुम कैसे रगड़ती हो?”यही तो परेशानी है कि लड़की कैसे रगड़े। ऐसे में उसे लड़के की जरूरत पड़ती है जिसकी मुनिया में भी खुजली हो रही हो।”फिर?” मैंने अविश्वास से दोनों को देखा।फिर क्या.

मेरी सेक्स स्टोरी के पहले भागइत्तेफाक से जेठ बहू के तन का मिलन-1में आपने पढ़ा कि मैं, मेरा भाई और उसकी पत्नी एक स्टेज शो की तैयारी कर रहे थे कि मेरे भाई का एक्सीडेंट हो जाने के कारण वो इस शो में भाग नहीं ले रहा था. मैं उसके कसे हुए शरीर को मोहित हो गई। फिर क्या हुआ?पूरी कहानी यहाँ पढ़िए…मैं अर्चना जैन बहुत बड़ी चुदक्कड़ हूँ, ना जाने कितने लंड मेरी चूत खा चुकी है. सेक्सी वीडियो जल्दी भेजिएतो चलिए शुरू करते हैं;शुरू करने से पहले सभी लड़कियों और भाभियों से मेरा आग्रह है कि अपनी स्कर्ट, जीन्स, सलवार या पेटीकोट को खिसकाकर अपनी चूत में उंगली करने को तैयार रहे.

मैंने उसके हाथों को हटाया और उसके बूबस को छुआ, उसकी आँखें बंद हो गयी, उसने धीरे से मेरे कान में कहा- कभी मुझे छोड़ोगे तो नहीं?उसके माथे पे मैंने किस किया और कहा- कभी नहीं।मैंने उसके एक बूब को चूसना चालू किया तो वो सिहर उठी और उसने आह… कहा!ना इससे पहले कभी मैंने किसी लड़की को छुआ था ना उसने कभी किसी लड़के को!हम दोनों ही इस कामक्रिया में नए थे इसलिए हम दोनों को काफी मज़ा आ रहा था. दो तीन मिनट ऐसे ही मजे लेने के बाद बहूरानी ने थोड़ा सा ऊपर उठ कर लंड को अपनी चूत के छेद पर सेट किया और उसे भीतर लेते हुए मेरे ऊपर बैठ गयीं और उनकी चूत सट्ट से मेरा लंड निगल गयी. हालंकि वो उस वक़्त पूरी तरह तनाव में नहीं था लेकिन फिर भी खड़ा था।और फिर कई दिन तक वो अर्धउत्तेजित लिंग मेरे दिमाग में नाचता रहा और मेरे होंठों को खुश्क करता रहा.

जैसे ही उसके पापा को कमरे में बंद किया, वो फिर मेरे गले लग गयी और रोते हुए थैक्स बोली. मैं- मतलब आपको रफ़ सेक्स पसंद है?सुकन्या- केवल पसंद होने से क्या होता है?मैं- तो जल्दी समय निकालिये न, प्रैक्टिकल भी हो जायेगा.

बुड्ढे लोग, बिन ब्याहे लड़के और लड़कियों के लिए छोटे वाले बैंक्वेट में फर्श पर बिस्तर बिछा दिए गए थे.

मैंने भी उनकी गाली का मजा लिया और चालू हो गया- ले कुतिया साली लंड खा छिनाल!हां चोद मादरचोद. इन सब बातों से मुझे चुदास सी भड़कने लगी थी और अब मैं हमेशा यही सोचता था कि बुआ को कब प्रपोज करूँ. वह ब़ड़े प्यार से अंडों को सहला रही थी और तेज़ तेज़ सिर को आगे पीछे करती हुई लंड को मुंह में अंदर बाहर, अंदर बाहर, अंदर बाहर कर रही थी.

तेलुगु चुदाई सेक्सी मेरे दोस्त का तो पहले से सब सेट किया हुआ था, मैंने अपने दोस्त की गर्लफ्रेंड को भी चोदा था और मेरे लिए लाने के लिए बोला था तो वो अपनी सहेली को ले आई थी. क्योंकि मैं उनसे बहुत प्यार करता था और मैं उनको उदास नहीं देख सकता था.

मैंने अपने लंड की जोर जोर से मुठ मारते हुए कहा- मैं आपकी चूत में अपना लंड डालना चाहता हूँ. क्योंकि जिस तरह से उसका बाप उसको चूस रहा था… उससे वो खुद उत्तेजित हो रही थी. इतने में धीरे से उसने अपना हाथ पेटीकोट के ऊपर से ही मेरी चूत के ऊपर रख दिया और पेटीकोट के ऊपर से, जहां मेरी चूत थी, उस जगह को ज़ोर से दबाने लगा और वहीं अपना हाथ रगड़ने लगा.

बीएफ पिक्चर सेक्सी बीपी

हम तीनों के पास बाहर के गेट की चाभी रहती थी ताकि मॉम को दिक्कत न हो. जब शाम हुई तो वे दोनों उठे और भैया घूमने के लिए निकल गये क्योंकि उनको शर्म लग रही थी, पड़ोस की महिलायें, लड़कियाँ भाभी को देखने के लिए आयीं थीं और उनको शादी की बधाइयाँ दे रहीं थीं. उस लड़के ने मेरी पूरी बात सुनकर हां में सर हिलाया और गीता को किसी गेस्ट हाउस में ले गया.

इतने में वो उठते हुए बोलीं- अब मुझे चलना चाहिए, काफी देर हो गयी है. शादी वाले दिन भैया अच्छे से तैयार हुए, बहुत सारे मेहमान आये हुये थे, पूरा घर मेहमानों से भरा हुआ था।फार्म हाउस में शादी हुई, वहां मैंने एक लड़की को चोदा, लेकिन कैसे चोदा, वो कहानी मैं बाद में लिखूँगा।रात को शादी हुई, सुबह भाभी दुल्हन बनकर घर आ गयी, रात भर जागने के कारण भैया भाभी दिन में आराम करते रहे, सोते रहे.

फूफा जी ने कहा- तुम शोर भी तो मचा सकती थी?मैंने कहा- शोर भी मचाने वाली थी, फिर मैंने सोचा कि आप यह सब तो नशे की हालत में कर रहे हैं, और अगर मैं शोर मचाऊँगी तो आपके साथ साथ मेरी बदनामी भी होगी, और सास ससुर जी के साथ साथ गाँव वाले भी आपको बुरा भला कहेंगे.

आख़िर मुझे सोचता देख कर वो बोला कुछ दिनों बाद तुम्हारी चुत की कीमत एक बार चुदने के लिए सिर्फ 2000 की रह जाएगी और पूरी रात को चुदवाने की कीमत बस 5000 से ज़्यादा नहीं मिलगी. अब कोमल भाभी का जब भी मन करता, वो मुझे फोन करके बुला लिया करती थीं. मैं अब बहुत गर्म हो गई थी और कुछ ही देर में मैं चुत चाटने वाले के मुँह में ही झड़ गई.

तो मैंने अपनी उंगली को उसकी चूत में डाल कर अन्दर बाहर करना शुरू किया, अपनी जीभ से उसकी चूत होंठों के ऊपर रगड़ने लगा, वो अपनी गांड जोर जोर से हिलाने लगी और उसने अपना पानी छोड़ दिया. वो बोली कि पीछे गर्मी लग रही है, तो मैंने एसी के कारण उसको आगे की सीट पर आने को कहा और वो आगे आ गई. फिर भैया ने भाभी की दोनों टाँगों को उठा कर खोल दिया और चूत को देखने लगे।अब मेरीभाभी की चिकनी चूत फाड़ने की तैयारीथी तो भैया ने अपना लंड भाभी की चूत के छेद पर लगा दिया और जोर लगाने लगे.

उसने कहा- आप किधर हो?मैं बोला- मैं बस स्टैंड पर बैठा हूँ, आप इधर ही आ जाओ.

बीएफ हिंदी फुल एचडी वीडियो: फिर मैंने आंटी को बोला कि चलें अब?वो बोलीं- जब हम अकेले रहें, तो आंटी नहीं. कुछ देर तक यूं ही मजा लेने के बाद हम तीनों साथ में फव्वारे के नीचे खड़े हो कर नहाए.

मेरा लंड उसकी चूत के छोटे कांटे जैसे बालों को टच कर रहा था मानो किसी कंटीले पार्क में हो. यह नजारा फिल्मों की वजह से मेरा देखा भाला था और उस वक्त मेरे लिये बाकी नजारे से ज्यादा खतरनाक था।रगों में खून चटकने लगा. आंटी ने कहा- ठीक है ठीक है… अब इस तरह की बातें मत करो, मैं तुम्हारी आंटी हूं.

मैं उससे चुदवा कर खुश थी और उसने मुझे चोद कर मुझे खुश कर दिया था, मैं उससे चुदवा कर एकदम तृप्त हो गयी थी.

करीब 15 मिनट तक दीदी ने मेरे लंड को चूसने के बाद मेरा पानी भी निकलवा दिया. अब उसका एग्जाम 2 दिन बाद था और मुझको अगले दिन शाम को एक फ्रेंड की शादी में जाना था. उसने एक ग्रास उठाया, थोड़ा सा चबाया और बोली- अभी मुँह खोलो अपना!भाभी ने मेरी गोद में आकर मेरे मुँह में सब डाल दिया.