सेक्सी बीएफ चुदाई सेक्सी बीएफ चुदाई

छवि स्रोत,लड़की की चुदाई की

तस्वीर का शीर्षक ,

चूची सेक्स: सेक्सी बीएफ चुदाई सेक्सी बीएफ चुदाई, अब भाभी को सीधा खड़ा करके मैं उनके पीछे चला गया और गर्दन को चूमते हुए उनकी चुत को पेटीकोट के ऊपर से ही सहलाने लगा.

गांव की चूत चुदाई

मैंने अपना लंड उनकी गांड पे लगाया और जोर से झटका दे दिया तो लंड थोड़ा अन्दर गया और वो दर्द से चिल्ला उठीं और मना करने लगीं, पर मैं कहां मानने वाला था. पंजाबी सेक्सी बफकरीब 2 महीने बाद अमित मुझसे मिलने आया और मुझे गले लगाया और बताया कि आज तुमको एक पार्टी ज्वाइन करनी है तो तैयार हो जाओ.

फिर उन्होंने कहा- कल तुम इस ड्रेस में मत आना, किसी और सेक्सी ड्रेस में आना ओके. सीएनएक्सएक्स कमये महेश तुझे क्या बोल रहा था और इतनी जल्दी में दिव्या के साथ कहां गया है?सुदेश- वो यार महेश बोला कि दिव्या को अपना घर दिखाने जा रहा हूँ, तुम सब मत आना.

उन की चूत के गरम पानी की गर्मी से मैं भी उनके ही साथ उन की चूत के अंदर झड़ गया और भाभी के ऊपर ही लेट गया.सेक्सी बीएफ चुदाई सेक्सी बीएफ चुदाई: फिर आकाश ने मुझे सीधा किया और मेरी स्कर्ट को ऊपर उठा कर मेरी चुत पर लंड को सैट करके लेट गया.

मैं सलमा से बोली- अरे सलमा, तुम क्या हम लोगों को ब्लू फिल्म की तरह देख रही हो? अरे क्यों मजा खराब कर रही हो.और भाभी ने मेरे साथ, मैंने भाभी के साथ चुत और गांड की चुदाई करके सुहागरात मनाई.

ब्लू फिल्म सुपरहिट - सेक्सी बीएफ चुदाई सेक्सी बीएफ चुदाई

अरे भाई! सुनना जरा!!” लड़के की नाव के नजदीक पहुँचने पर ओमार ने सांवले लड़के को आवाज दी- हमें तुमसे कुछ बात करनी है…और आगे मुझे कुछ सुनाई नहीं दिया क्योंकि एक दूसरे के नजदीक पहुँचने पर वो मंद स्वर में बात करने लगे थे.मंजरी कमरे में आई तो पुलकित वैसे ही बेड पर लेटा था, उसका लंड ढीला सा हो कर एक तरफ को लटका पड़ा था और थोड़ा सा वीर्य उसके लंड से उसकी जांघ पर भी चू रहा था.

[emailprotected]कहानी का अगला भाग :मेरी रशियन बीवी दो लंडों से खेली-2. सेक्सी बीएफ चुदाई सेक्सी बीएफ चुदाई जब वापस ऑफिस गया तो अपने पार्टनर को सब बता दिया तो मेरे पार्टनर ने मुझे बताया कि वो इसके पहले जिस पुणे की कंपनी में काम करती थी, वहीं के एक लड़के से शादी की लेकिन दो महीने के भीतर ही उसका पति चल बसा और यहाँ पर अपने मायके में रहती है.

कुछ देर बाद मैंने अपने लंड पर भी लोशन लगाया और लंड को हाथ से पकड़ कर दीदी की गांड के छेद पर रखा और धक्का लगा दिया लेकिन मेरा लंड फिसल कर दूसरी तरफ मुड़ गया, मैंने फिर से कोशिश की लेकिन कोई फ़ायदा नहीं हुआ.

सेक्सी बीएफ चुदाई सेक्सी बीएफ चुदाई?

उनको परवाह करनी चाहिए थी कि अब मोहनलाल (इन भाई-बहन का पिता और मयूरी का ससुर) घर आ चुका था और वो हॉल में दरवाज़े के पास खड़ा, ये दृश्य देख रहा था. वो चिल्ला रही थी और बोल रही थी- बस भाई, निकाल लो, बहुत तेज दर्द हो रहा है. पहले तो उसने एक दम से मना कर दिया लेकिन मैं उसे मनाता ही रहा तो काफ़ी ‘ना ना’ करने के बाद वो चलने को तैयार हो गई.

तभी मेरे मन में एक ख्याल आया कि क्यों न आज कॉल गर्ल की जगह सरिता की जवानी का स्वाद चखा जाए. मैंने सागर के पास जाकर उसका पैग बनाया और उसकी गोदी में जाकर उसको पिलाने लगी. फिर मैंने उसे लंड को मुँह में लेने को बोला, उसने मना कर दिया तो मैंने भी ज्यादा जोर नहीं दिया.

वो तो जैसे पागल हुई जा रही थीं; इतनी सिसकारियाँ ले रही थीं मानो न जाने कितनी दिनों की प्यासी हों. मैंने मजाक मजाक में भाभी का चुम्बन ले लिया, तो उन्होंने मुझ से कुछ नहीं कहा. मैंने मुमताज को बिस्तर पर लेटाया और उसकी छाती पर बैठ कर अपने लंड से उसके स्तनों की चुदाई करने लगा.

मैंने उसकी गांड मारने की भी सोची लेकिन उसने कहा कि कल गांड का उद्घाटन करवा लूँगी. ”उनके जाने के थोड़ी देर बाद मैंने मेघा को कॉल कर दिया कि वो संजय को बाय बोल कर आ जाए तो मेघा आ गई.

जब उसकी चूत खुलने लगी तो मैं ज़ोर ज़ोर से धक्के मारने लगा और अप्पी का भी अब दर्द जा चुका था और उसे भी मज़ा आने लगा था!अब वो मुझे सइयां कह कर बुला रही थी- चोदो मेरे सइयां… आजशादी से पहले मेरी सुहागरातहै!और कुछ देर चोदने के बाद वो झड़ गयी और मैं भी झड़ने वाला था तो मैंने अपना पूरा वीर्य अपनी बहन की चूत में ही छोड़ दिया!मैं उसी के पास लेटा रहा.

फिर मैं उसके चहरे को पकड़ कर उसके गर्म और नर्म होंठों पर अपने होंठ रख दिए.

मैंने उसे छोड़ा नहीं और एक दूसरा धक्का लगाया, लण्ड एकदम बुर के अंदर पहुँच गया, उसने मेरे होंठों को कस के काटा, मेरी तो जैसे जान ही निकल गयी, हम एक दूसरे को किस करने लगे. मैंने कहा- ये मेरे कजन की…पर तो वो बात काटते हुए बोला कि साले जब तेरे में ही दम नहीं थी, तभी तो ये बाहर तो मुँह मारेगी ही ना!वो बात मेरी ऐसे दिल पर लगी कि मैंने भी सोच लिया कि मैं एक बार इसे कह कर देख लेता हूँ, मान गई तो ठीक वर्ना अपना क्या जाता है. काजल ने इठलाते हुए अपनी चूत पसारी और कहा- भाभी, मुझे भी बताओ ना प्लीज…सुरेश- और भाभी मुझे भी…मयूरी- हाँ, हाँ… तुम सब को बताऊँगी.

जैसे ही उसने अपनी आँखें बंद की, मैंने लंड को स्वर्ग दरवाजे पर रख कर पूरी ताकत से धक्का दे दिया. वो सर बोले- आरती, तेरी बातें सुन कर सब चोदने वाले दुगना इकसाईटेड हो जाते हैं और पागल कर देती है तू! मैं अब गया!और वो पूरा घुसेड़ कर गांड में लंड का वीर्य गर्म गर्म गिराने लगे और ‘ऊं हहह वोहह हहह आरती… तू बेस्ट है!’ उठ गये।ऐसे चुदाई हुई मेरी पहली ही बार में!कैसे लगी मेरी सत्य कहानी का एक एक शब्द सच है. अरे रे रे… अदिति बेटा, ऐसा जुल्म मत करना अपने पापा पे… तू तो मेरी एकलौती प्यारी प्यारी बहूरानी है न!”हम्म!” उधर से बहूरानी की आवाज आई.

मैं हॉल में सोफे पे बैठ गया,मुझे जोर से पेशाब लगी तो मैं बाथरूम की ओर चल दिया.

इससे पहले कि रिया कुछ कहे, मैंने फिर से अपने होंठ उसके होटों पे रख दिए. मैं जल्दी से फ्रीज़ में से बर्फ लेकर आया और उसके मम्मों पे धीरे लगाने लगा. मैंने अपना हाथ नीचे ले जा कर उसकी पैंटी में अंदर डाला और उसकी ओर देखा तो वह भी अपने नीचे के बाल बना कर आई थी.

मैं खाना खाते हुए उसी को घूरे जा रहा था, क्या माल लग रही थी… मन कर रहा था कि अभी इसकी चूत में अपना लंड डाल दूँ लेकिन मैंने संयम रखते हुए खाना खाया. पिंकी और रेखा को भी जब पता चला कि कल शाम तक हम तीनों अकेले हैं तो वो दोनों भी खुश हो गईं. मैं आप सबका थैंक्स करता हूँ कि आपने मेरी हिंदी सेक्स स्टोरी काफी पसंद की.

उसने मयूरी की ब्लैक कलर की पैंटी को उसकी चूत के ऊपर से हटाया और देखा कि मयूरी की चूत बहुत गीली हो चुकी थी.

अब मैंने घर से ब्लू कलर का टॉप और ब्लैक कलर की फुल स्कर्ट पहनी हुई थी. मुझे मेरी भाभी की पैंटी पर मेरा वीर्य गिराना है, और वो पेंटी मेरी भाभी हाथ में लेकर पूरा वीर्य चाट जायें!41.

सेक्सी बीएफ चुदाई सेक्सी बीएफ चुदाई भैया वहां से निकल ही रहे थे, वो बोले- बच्चे, अब तुम्हें अपनी भाभी का ख्याल रखना है, मैं 10 दिन में आ जाऊंगा. आगे क्या हुआ… यह मैं आपको इस हिंदी एडल्ट स्टोरी के अगले भाग में बताऊँगी।[emailprotected].

सेक्सी बीएफ चुदाई सेक्सी बीएफ चुदाई मम्मी थोड़ा शर्मा रही थीं, लेकिन मम्मी भी अपने पैरों को खोल कर उसको सपोर्ट भी कर रही थीं. अब धीरे-धीरे उसे भी मजा आने लगा था और वो भी मेरा पूरा साथ दे रही थी.

मैं तब तक एक के बाद एक तेज धक्के देता गया, जब तक उसकी आँख में से मजे के आंसू नहीं आ गए.

कराची सूट

चूंकि मेरा लिंग योनि के भीतर था और तुरन्त ही लिंग मुरझाता भी नहीं, इसलिए मुझे एक अलग तरह का अहसास हो रहा था और अकड़ और सिहरन के हाथ ही तनु का तूफान भी थमने लगा. वो उठा तो आंटी ने कुणाल से पूछा कि सफ़र में तकलीफ तो नहीं हुई?कुणाल- नहीं आंटी बहुत मज़ा आया और अच्छी नींद भी. विक्की ने खुश होकर कहा- देखो तुम्हारी सील टूट गई, अब तुम कुंवारी नहीं बची.

मैं- एड्रिआना, क्या आज की रात तुम यहाँ रुक सकती हो अगर तुम्हें कोई परेशानी ना हो तो?एड्रिआना- क्या? तुम मुझे यहाँ रुकने को क्यों बोल रहे हो? क्या तुम्हारे मन में कुछ गलत तो नहीं?मैं- नहीं एड्रिआना… मैंने आज तक कभी किसी को इस तरह नहीं पूछा लेकिन ना जाने क्यों जब से आप मिली हो, लगता ही नहीं कि हम पहली बार मिले हैं. काफी देर इंतजार के बाद वो धीरे से अंदर आया और मेरे सीने से लिपट गया और मेरे एक एक कपड़े को खोल कर उतारने लगा. ”बोलो बेटा क्या बात है?”पापाजी मैं भी चलूंगी शादी में… एक ही तो भाई है मेरा!”ठीक है बेटा, तू फ्लाइट से दिल्ली आ जाना, मैं यहाँ से ट्रेन से पहुंच जाऊँगा.

मॉम लाल जोड़े में गई थीं, वहां एक पंडित से बात करके हम दोनों ने शादी की, फेरे लिए.

भैया अपने सर की कार लेने गए तो सर ने कहा- मैं भी चलता हूँ और उसे वैसे भी अब यहाँ मेरे साथ ही घूमना है. पर जब मेरे बदन पर भाई की पकड़ तेज़ होने लगी और वो मेरे बूब्स को जोर से दबाने लगा तो मेरी नींद खुल गयी, तो मैंने देखा कि भाई ये सब कर रहा है. उतने में मेम ने अपनी गांड खोली और फिर क्या था मैंने एक ही झटके में अपने पूरा लंड मेम की गांड में पेल दिया.

मैं बोली- तो वर्षा अब हम कब प्लान करेंगे?वो बोली- कैसा प्लान?मैंने कहा- तू रात को क्या बोल रही थी मजदूर से चुदने का. एकदम से ये सब होने से मेरे हाथ से कंडोम का बॉक्स नीचे जमीन पर गिर गया. मैंने उससे बोला- मैं अब तुमको कभी नहीं मिलूँगा, अगर मिलना है तो मैं तुम्हारी चूचियों को टच करूंगा, मुँह में भी लूँगा.

शायद वोमेरी माँ की चुत चाटने लगाथा क्योंकि मुझे अंदर का तो कुछ दिखाई नहीं ड़े रहा था. उस वक़्त देखा मैंने मीना पूरी गर्म हो चुकी थी और दोनों हाथों से सागर को कसके पकड़ा था, लेकिन उसी समय सागर ने मीना का ब्रा निकाल कर मीना को झट से अपने से दूर कर दिया.

तभी बाहर किसी के आने आवाज़ हुई, देखा तो मेरे चचेरी बहन की ननद अपने पति और दो बच्चों के साथ हमारे घर मिलने आए थे. मुझे माला को पटाना था सो मैंने वह शो पीस खरीद कर चुपके से गाड़ी में रख दिया और डैम की ओर चला गया. मेघा के ऊपर जाते ही संजय बोला- ये शाल क्यों ओढ़ा है?लो उतार देती हूँ.

फिर मैं भाभी के मुँह में झड़ गया और भाभी ने मेरे पूरा वीर्य अपने अंदर कर लिया.

अंकल लोग बोले- क्या माल है आरती, बहुत सेक्सी है!और मेरी चूत को जबरदस्त चाटने लगे. मैं बोली- दो बार फट चुकी है तीसरी बार भी फट जाएगी तो कोई चिंता नहीं, आप जल्दी करो, मम्मी ना आ जाए बस!बोले- एक साथ आरती तुम्हारी गांड में और चूत में डालें?मैं बोली- हां, गांड में भी डाल दो।जैसे ही मैंने यह कहा कि दरवाजे पर ख़ट खट हुई और मम्मी आवाज देने लगी. आगे क्या हुआ… यह मैं आपको इस हिंदी एडल्ट स्टोरी के अगले भाग में बताऊँगी।[emailprotected].

गुस्से में अंजलि कुछ बड़बड़ाती जा रही थी और इसी वजह से कमरे की कुण्डी भी नहीं लगाईं थी. उसने मेरी बेक पर किस की, तब मुझे ऐसा एहसास हुआ कि मैं जन्नत में आ गया हूँ।अब उसने मुझे सीधा कमर के बल लिटा दिया और अंडर वियर के ऊपर से ही मेरे लोड़े पर किस करने लगी, फिर उसने धीरे से मेरा अंडरवियर भी उतार दिया और मेरे लोड़े का सुपारा मुँह में भर लिया.

वो मुझसे कुछ छुपाती तो नहीं, पर ये सब तो नहीं बताया… उसको आने दो फिर बात करते हैं. मैंने कहा- तुम बेफिक्र रहो, मैं आराम से चुदाई करूँगा, तुम्हें बिल्कुल भी दर्द नहीं होगा बल्कि ज़्यादा मजा आएगा. एड्रिआना बिस्तर पर अपनी सांसें ठीक कर रही थी और मुझे प्यार भरी आँखों से देख रही थी.

सेक्सी सेक्सी लड़की का फोटो

मामी पूरी तरह से गर्म हो चुकी थीं और वो मजे से मेरे लंड को हिला रही थीं.

अब अगला दिन शुरू हुआ, सुबह जब मैं सोकर उठा, तब तक मॉम शायद नहा कर तैयार हो चुकी थीं, उन्होंने नीले रंग का सूट पहना था जो मम्मों और पेट पर थोड़ा टाइट था. जैसा कि आप जानते हैं कि मैं मेल एस्कॉर्ट हूँ, मुझे पिछले शुक्रवार 3-30 बजे करीब एक कॉल आया. अचानक मेरे दिमाग में भाभी के बारे में याद आया कि मैं और भाभी नीचे अकेले हैं, तब मैंने सोचा कि क्यों ना आज अपनी किस्मत को आजमा कर देखा जाए.

मोना का ब्लाउज उतर गया तो मैं हैरान रह गया क्योंकि मोना ने पिंक कलर की ब्रा पहनी थी जो उसे बिल्कुल पसंद नहीं थी, ऐसा उसने मुझे बताया था. दीदी भी तेज़ी से सिसकारियाँ लेते हुए मुझे उनकी गांड चोदने को बोल रही थी- आहह… पेल मेरे राजा… पेल अपनी रंडी दीदी को… गांड फाड़ दे… अपनी… दीदी … की।मैंने दीदी की बात सुनी और हाथों को दीदी की कमर से हटा कर दीदी के बूब्स पर रखा और बूब्स को मसलने लगा। मैं दीदी की बातें सुन कर खुश होने लगा, अब शिखा दीदी को भी बड़ा मज़ा आ रहा था. सेक्सी चूत की चुदाई हिंदी मेंब्रा पेंटी में खड़ी मुमताज़ को मैंने अपनी बाँहों में भर लिया उसके रस भरे होंठों को मैंने इस तरह चूस रहा था कि मानो कोई आम से रस चूस रहा हो.

एक दिन शाम के आठ बजे जब ऑफिस के सब लोग निकल चुके थे और मैं अकेला फेसबुक देख रहा था तो आकांक्षा वहाँ आई और साथ लाई भेल पूरी को प्लेट में डाल कर मेरे सामने रख दिया. कुछ देर बाद पिंकी का छटपटाना कम हुआ तो मैंने उसके मुँह से हाथ हटा लिया.

फिर वो मेरे दोस्त अमित से बोली- छोड़ना शुरू करो यार… मेरी चूत में धक्के मारो! चोदो मुझे!अमित मेरी बीवी की चूत में अपना लंड पेलने लगा मेरी बीवी आनन्द विभोर हो कर आहें, सीत्कारें भरने लगी. लेकिन कभी उससे अपने दिल की बात नहीं कहा पाया क्योंकि मुझे पता था कि उसका किसी लड़के के साथ चक्कर है. मैंने अपनी शर्ट उतारी और उसने मेरी जीन्स उतारते ही मेरे लंड को मेरे प्लेबॉय को कच्छे के ऊपर से चूमने लगी.

घर आने के बाद भाभी मुस्कुराते हुए मुझसे बैठने का कह कर अपने रूम में चली गईं और थोड़ी देर बाद बाहर आकर बोलीं- शेखर भाई साहब हम दोनों को दुबारा मार्केट में उसी दुकान पर जाना पड़ेगा. लगभग 5 मिनट तक मेरी सास की चूत से पानी निकलता रहा, मैंने और रिया दोनों ने सास की चूत का पानी पिया, बहुत मस्त था, मजा आ गया. मेरी बहन मेरे लंड को हाथ मे लेकर ऊपर नीचे करने लगी जैसे वीडियो में हो रहा था.

भाभी ने मेरी बात को हंस कर मान लिया और कमरे में आकर भाभी मेरे साथ नंगी ही लेट गईं.

वर्षा ने खाना खाया, मैं उसे ही चोरी से देख रही थी, वो खाकर टीवी देखने चली गई, मैं भी पीछे आई. फिर क्या था दोस्तो, मैंने अपना लंड निकाला और चूत के ऊपर लंड को रख कर अन्दर धकेलने लगा.

इसलिए उसकी दोस्ती में बुरे गुण होने के बाद भी उसका साथ नहीं छोड़ सका. यही सोचकर मैंने सरिता को अपने साथ अपने फ्लैट पर चलने को कहा और वो तैयार हो गई. यह मेरा किसी पुरूष के साथ पहला मौका था, आश्चर्य की बात और बेहद ही अलग अनुभव था लेकिन मुझे बहुत आनन्द आया और मैंने अनामिका के होंठों पर अपने होंठों को रख दिया.

तभी चाचा ने बोला- यार बृजेश, तू आ जा और आरती की चूत में डाल दे लंड… मैं तो झड़ गया, यह बहुत प्यासी है, अभी इसका पानी नहीं निकला!तब जो अंकल मेरे मुंह में लंड डाले थे, वह आ गए और मेरी टांग ऊपर कर के मेरी चूत में लंड फंसा कर जोर से धक्का दिया. भाभी बैठ गई और निपटने के बाद अपने चूतड़ धोकर खड़ी हुई तो मुझे भाभी की चूत फिर दिखाई दी. दोस्तो, ये जींस टॉप जो अमित लाया था उसमें घुटने तक की जींस थी, जैसे कैप्री होती है और टॉप में पीछे और ऊपर तो सब ठीक था, लेकिन मेरी चूची के नीचे से और कमर तक पूरा खुला था.

सेक्सी बीएफ चुदाई सेक्सी बीएफ चुदाई मैंने बैठकर लंड मुँह में ले लिया और थोड़ी देर चूस कर बोली- जल्दी करो. उसने मुझे सीधा किया और अपने लंड का जो वीर्य बचा था, वो उसने मेरी क्लीवेज में भर दिया.

सैक्सी कहानी हिन्दी

देवर भाभी की हिंदी एडल्ट स्टोरी पर अपने इमेल मुझे भेजते रहे ताकि मुझे पता चलता रहे कि आप सब पाठकों को मेरी कहानी अच्छी भी लग रही है या नहीं!धन्यवाद. मैंने तय कर लिया कि जब तक मेरी शादी नहीं होती, मैं तो अपने भाई से चुदती रहूँगी और शायद शादी के बाद भी उसका लंड लेती रहूँगी. लेकिन इस तरह की बातें कुछ करने की इजाजत दे दूँ, वो दिव्या के मोबाइल से ही अभी होता था और इसी लालच कि वजह से मैं अवी को भी अपना बॉयफ्रेंड बनाने को राजी हो गई और उससे बात करने लगी.

सन्डे को 10 बजे हमारे रूम आना, तब मैं रूम पर नहीं हूँगी क्योंकि मैं घर जा रही हूँ, तुम वो ड्रेस उसे दे देना और कहना कि दिव्या के लिए है. अंजलि ने मेरा हाथ पकड़ा और अपनी बड़ी गांड को मटकाते हुए मुझे बगल वाले कमरे में ले चली. इंडिया की ब्लू फिल्मबाद में दीदी के हुई बातचीत में अंजलि ने बताया कि वो पड़ोस के शहर में एक प्राइवेट स्कूल में इंग्लिश टीचर है और वहां टू रूम फ्लैट में अकेली रहती है.

तुझे भी लंड चाहिए, तू नहीं लेगी तो इस तरह बिन पानी की मछली की तरह तड़पेगी.

मयूरी सुरेश के सामने फर्श पर बैठ गई और उसके लंड को अपने दोनों हाथों से पकड़ते हुए बोली- सुरेश, तुम चिंता मत करो मेरी जान. वो कभी इतना दुखी नहीं रहती थी, पर उसको कल मुझ से मिलना है, इस खुशी में मुठ मार कर सो गया.

मैंने देर न करते हुए एक ज़ोरदार धक्का मारा, उसकी चुत बहुत कसी हुई थी. मैं बोली- अब समझी तुम्हें गांव शादी में जाने नहीं मिला इसलिये मुझसे नाराज हो. मैंने बिना बात किए हुए लंड पर तेल लगाया और उसकी चुत में आधा घुसा दिया.

आज मैं अपने साथ हुई इसी पर आधारित एक सच्ची घटना को आपसे शेयर करना चाहता हूँ.

मैंने उसे लेटाया और एक तकिया उसकी क्मर के नीचे लगाया और मैंने थोड़ा उसका चूत रस लिया, उसे लंड के उपरी हिस्से पर 3 इंच तक लगाया ताकि लंड आसानी से चूत में जा सके और फिर मैंने अपना लंड जैसे ही उसकी चूत पर रखा उसके मुँह से हह्ह्ह्ह की आवाज़ निकल आई. इसके बाद पूनम चली गई और फिर मैं रोज़ाना पूनम से मैसेज से चैट करता और हम सेक्स चैट भी करते रहे. मैं अपने आप पर जैसे तैसे काबू रखते हुए इरफान से फोन पे बात कर रही थी.

भाभी का सेकसमंजरी की दोनों जांघें खोल कर पुलकित ने बीच में देखा, मंजरी ने शायद आज ही अपनी चूत के बाल साफ किए थे, इसलिए बहुत ही साफ और गोरी चूत थी. कॉलेज में एडमिशन के बाद मैं अपने कालेज के पास किराये के मकान में रहने लगा.

सेक्सी ट्रिपल एक्स मराठी

तब मैंने उससे पूछा- मामा मामी कहां गए?उसने बताया कि पापा अपने काम पर और मम्मी स्कूल गई हैं, पर स्कूल में कोई प्रोग्राम होने की वजह से वो लेट ही आएंगी. इसलिये मैंने सबसे पहले गीतांजलि को अलग अलग पोजीशन में करीब बीस मिनट तक लगातार चोदा और जब मेरा बीज निकलने को था तभी मैंने गीतांजलि से कहा- गीतांजलि, अब मैं झड़ने वाला हूँ!गीतांजलि बोली- आपका बीज पीना है मुझे!मैंने अपना लंड गीतांजलि की चूत से निकाल कर उसके मुँह में दिया और काफी तेज तेज़ धक्के मारने और उसके मुँह को चूत समझ कर चोदने लगा और कुछ देर बाद मेरे लंड से पिचकारी छूट गई. मुझमें सेक्स की भूख कुछ ज़्यादा ही बढ़ गई थी, मेरा लंड अचानक खड़ा हो रहा था.

क्या कर रहे हो?तो मैं बोला- यार, आपने ही तो आँखें बंद करके हुक़ लगाने को बोला तो बंद आँखों से मुझे कहाँ पता चलेगा कि कहाँ है हुक़?उसने हंसते हुए बोला- ओ के, आँखें खोल कर देख लो. लंड क्या घुसा वो सारी मुहब्बत भूल गई और दर्द के मारे निकालने के लिए चिल्लाने लगी. अब मोहन लाल ने काजल को अपने पास बुलाया और कहा- बेटी, अपने बाप का लंड अपने चूत में लेगी न?काजल- पापा, आज आप पूरी तरह से बेटीचोद बन जाओ.

मैंने दोनों को बुलाया और बोला- देखो अब कल शाम तक हम तीनों घर में पूरे नंगे रहेंगे. सुभाष की शादी जिस लड़की से फिक्स हुई है, वो सीकर की है और उसका नाम रेणुका है. वो भी मेरी पकड़ से निकलना चाहती थी पर पकड़ मज़बूत होने के कारण उसका बस नहीं चला.

मैं भाभी से सॉरी सॉरी बोलने लगा, पर भाभी ने मेरी एक न सुनी और मुझे अपने कमरे से निकाल कर दरवाजा बंद कर लिया. मैंने बोला- एक दिन मौक़ा मिला था और उस दिन मैं करना तो बहुत कुछ चाहता था, पर प्रेक्टिकल रूम में अटेंडेंट आ गया था.

जैसे मैंने आखें खोलीं, अवी ने मुझे गले से लगा लिया और पीठ को हाथ से रगड़ने लगा.

कहानी का पिछला भाग:रानी से रंडी बनने का सफर-1अभी तक मेरी सेक्सी कही में आपने पढ़ा कि आर्थिक तंगी के कारण मुझे अपनी शानो शौकत, बड़ा घर छोड़ कर एक छोटे घर में आना पड़ा. ब्लू फिल्म दिखाओ ब्लू ब्लूवो मेरे सीने से चिपकी रही शायद उसे अच्छा लगा था इसलिए वो कुछ नहीं बोली. ब्लू सेक्सी अच्छी वालीऔर रही बात सुभाष की, तो उसको मैंने दवा दे दी है, उसे नींद आ गई है, वो सो गया है. सागर को एक मिस्ड कॉल दिया ताकि सागर मीना को बेडरूम से निकलने ना दे.

मैं बड़ी ही खुशनसीब हूँ, जो आपसे मुझे अपने पापा जैसा प्यार मिल रहा है.

फिर उस लड़के ने मॉम के ब्लाउज को खोल कर मॉम के बोबे बाहर निकाल लिये और एक निप्पल को चूसने लगा, वो बदल बदल कर मेरी मॉम की चूचियां चूस रहा था. और अब हमें याद आया कि हमें ताऊ जी के यहां जाना है तो हम फिर बाथरूम में गये और फिर दोनों ही साथ नहाये और फिर हमने अनार का जूस पिया ताकि हम में ताक़त आ सके वहाँ जाने की!फिर हम तैयार होकर निकल पड़े. मैंने लंड की ठोकर देते हुए कहा- आज भी पार्क में उस बहनचोद की चुदाई न देखता तो मैं आज भी तुमको चोदने की न सोचता.

मैं भी धीरे धीरे उंगली अन्दर बाहर करने लगा और वो धीरे धीरे आपे से बाहर होने लगी. आपको मेरी देसी सेक्स स्टोरी पसंद आई या नहीं, कृपया अपनी राय मेरी मेल पर जरूर मुझे भेजें. स्वाति हिसाब चेक करती है तो वो निकिता को दान्तेती हुई कहती है कि ये क्या गलत हिसाब किताब कर रखा है.

அனுஷ்கா செஸ்

हम दोनों ने उस रात तो बस 2 बार हीचुदाई का खेलखेला क्योंकि मुझे दर्द बहुत हो रहा था. आप गाड़ी कैसे चला सकती हैं? ए जगत, वो दूसरी लड़की को देखना तो!जगत नाम का पुलिसिया लपक कर रिया के पास आया तो रिया ने खुद ही मुँह खोल दिया। दो पल उसकी सुंदरता देख कर जगत ने ऐलान कर दिया- ये लड़की भी बहोत पी हुई है जनाब!तब तक एक बन्दे को हमारी पिछली सीट पे पड़ी हुई बोतलें दिख गयी तो और बवाल मच गया. 30 बजे कॉल किया तो बोली- ऑफिस में डायरेक्टर ने कुछ काम दिए हैं, निपटा कर आती हूँ.

मैंने अब लंड को थोड़ा सा बाहर निकाला और फिर से अन्दर किया और आराम आराम से आगे पीछे होने लगा.

फिर मैंने उनकी जांघ को अपने हाथ से सहलाते हुए कहा- आज अपनी सलहज को भी प्यार कर लो.

अगर अंकल की तरफ़ से सोचता हूँ, तो मुझे लगता है कि मैंने बहुत गलत किया, अगर अपने बदले की तरफ़ देखूँ तो लगता है कि ठीक ही किया. इसके बाद भाभी हमारे लिए नाश्ता और चाय ले आईं और बोलीं- भाई साहब आप कहां रहते हो. सेक्स चालूमयूरी की ये बात सब के लिए थोड़ी अटपटी सी थी, पर ये सब देखने के बाद मयूरी की ये प्रतिक्रिया इन तीन भाई-बहनों के लिए राहत की बात थी, क्योंकि इससे ये जाहिर हो रहा था कि मयूरी को इस बात का बुरा नहीं लगा.

भाभी को अत्याधिक पीड़ा हो रही थी तो भाभी ने मुझे थोड़ा रुकने को कहा तो मैं थोड़ी देर के लिए रुक गया. फिर मैंने जैसे ही उसकी चूत के दाने पर अपनी जीभ लगाई तो वो एकदम ऐसे उछली जैसे उसे 440 वॉट का तेज़ करंट लगा हो. मैं ड्रेस बदल कर और सिंपल टॉप और लोअर पहन कर लेट गई और वही सब सोचते सोचते सो गई.

मैंने कहा- ये मेरे कजन की…पर तो वो बात काटते हुए बोला कि साले जब तेरे में ही दम नहीं थी, तभी तो ये बाहर तो मुँह मारेगी ही ना!वो बात मेरी ऐसे दिल पर लगी कि मैंने भी सोच लिया कि मैं एक बार इसे कह कर देख लेता हूँ, मान गई तो ठीक वर्ना अपना क्या जाता है. खैर हमने उसे समझाया लेकिन उसके चेहरे मुझे समझ आ गया कि वो असली कहानी समझ चुकी है.

उसने भी अपनी पेन्ट उतार दी, वो बोला- माया, मेरे लंड को थोड़ा थूक से गीला तो करो.

मैंने थोड़ा गुस्से के साथ कहा- क्या कह रहे हो आप?मैं ऐसा इसलिए किया ताकि उसे लगे कि मैं उससे गुस्सा हो गई हूँ. कुणाल ने पहले आंटी को गौर से देखा तो उसको लगा कि ये माल है, मौक़ा मिलेगा तो चोद ही दूँगा. उसने झिझकते हुए लंड की टोपी पर अपनी जुबान लगाई, जैसे सॉफ्टी को चाट रही हो.

भाभी और देवर की सेक्सी फिल्म अब मैं और अनुष्का एक दूसरे से चिपक गए और मैं उसके होंठों को चूसने लगा. फिर रश्मि भाभी कहने लगी- तुम्हारे बड़े लैंड की सोच कर ही मेरी चूत पानी पानी हुई जा रही है, मुझे तेरे लंड से चुत चुदाई करवानी है.

मैं हर साल गर्मियों की छुट्टी में अपने मामा के घर घूमने जाता था, उस बार तो बात नहीं बनी, फिर दीवाली आई, खुशबू मामा के साथ भाई दूज पर हमारे घर आई. लेकिन पिछली बार की डाँट की वजह से मैंने इस बार भाभी पर कोई भी रहम नहीं किया और ताबड़तोड़ 2 जोरदार धक्के पूरी ताकत के साथ लगा दिये. इतने में कंडक्टर आया और उसने कहा कि पीछे सीट खाली होने वाली है, वहां बैठ जाना.

ஆன்ட்டிஸ்

उसने काली ब्रा पहनी हुई थी, जिसमें उसके सफ़ेद चूचे जो कि 36 इंच के थे, वो बाहर आने को बेताब लग रहे थे. मम्मी दोनों टाँगों को चौड़ा करके फैलाये लेटी थी।और मेरी मम्मी की चूत चुद गई. क्या हुआ?वो मुझे देख कर रो पड़ी, मुझे बांहों में भरके काँपते हुए रोते हुए बोली- माया दीदी कुछ भी ठीक नहीं है.

इसके बाद उस लड़के ने लड़की की चूची को निकाल कर चूसना शुरू कर दिया, जो कि चादर के ऊपर से ही समझ आ रहा था. इसके बाद विनीत ने उसकी दूसरी चुची को बाहर निकाल दिया और चूसने लगा, जिससे आरजू की हल्की हल्की आवाज़ आने लगी- आह हाह हह हहाहा हा…और आरजू को मैं ऐसे ही देखता रहा.

फिर अमित के एक एक से बढ़िया सेक्सी एसएमएस आते थे, जिसमें दोस्त का बॉयफ्रेंड के बीच के सेक्स का फेवर किया गया था.

मैं सिर्फ अपने भाइयों से ही नहीं, बल्कि मैंने अपने पापा से भी चुदाई की इच्छा जाहिर की थी तो मेरे पापा और भाइयों ने मुझे खूब चोदा और प्यार दिया है. वो इन धक्कों से निहाल होकर 10 मिनट में ही झड़ गयी और मुझसे कस के चिपक गयी. मैं- आप मुझे अपना मोबाइल नंबर दे दो ताकि बाद में हम एक दूसरे से बातें कर सकें.

वो बोलीं- ये क्या कर रहा है?मैंने कहा- चुप रहो नहीं तो हल्ला मचा दूँगा कि तुम मुझसे गांड मारने के लिए कह रही हो. आनन्द के मारे मेरे तो होश उड़ चुके थे, अंजलि दीदी को चोदने का जो सपना मैं कुछ देर पहले ख्यालों में देख रहा था, वो अब साकार जो होने को था!अंजलि मेरे लंड के चुस्से लगाती रही और मैंने दीदी की गोरी चूत को चाट कर लाल कर दिया था. शिखा दीदी अब तक पूरे गुस्से में थी, अगर अमित अभी उनके सामने होता तो दीदी सच में उसका खून कर देती!अमित- हाँ क्यों नहीं, वैसे मेरे और भी 2 दोस्त हैं जो उसकी चूत लेने को बेकरार है, तेरा भी नंबर लगवा दूँगा, लेकिन पहले तू सपना से मेरा काम करवाना उसके बाद तेरी बारी आएगी…सन्नी- ठीक है सर मैं कोशिश करता हूँ, और जैसे ही कुछ होता है मैं आपको फोन करता हूँ.

आह…कुछ टाइम में मैं झर गया और उसने पी लिया शायद उसे टेस्ट अच्छा लगा होगा।हम ऐसे ही नंगे लेट गए बेड पर और कुछ टाइम बाद उसने मेरा लंड सहलाना शुरू कर दिया, मेरा लंड भी खड़ा हो गया, मैंने उसे किस किया और लंड को उसकी प्यारी सी चूत पे रगड़ने लगा.

सेक्सी बीएफ चुदाई सेक्सी बीएफ चुदाई: ”मेघा और सविता अन्दर आईं तो सविता ने मेघा को एक सेक्सी नाइटी सैट दिया- ये पहन लो डार्लिंग. अब अमित मेरे बदन से चिपक कर पीठ से लेटने लगा, उसका लंड पहले मेरी कमर में लगा तो डंडे जैसा लगा.

मैंने रोहण से कहा- बेटा, मुझे ब्रा पहना दो।रोहण ने कहा- ओ के माँ!रोहण मुझे मेरी ब्रा पहनने लगा और मुझे ब्रा पहना ली रोहण मेरे बूब्स को ब्रा के अंदर करने की कोशिश कर रहा था पर वो नहीं रहे थे क्योंकि मैंने 30 साइज की ब्रा पहनी थी और ब्रा मेरे बूब्स को संभाल नहीं पा रही थी. मैंने गौर से देखा कि उन्होंने ब्रा नहीं पहनी हुई थी और पसीना आने के कारण उनके ब्लाउज गीला हो गया था और उनके मम्मे साफ़ दिखाई दे रहे थे।जब मैं उनके कमरे में गया. मुझे बहुत मजा आ रहा था, आज मैं पहली बार 2-2 लंड से एक साथ चुदने वाली थी.

रमेश ने तो ये कामुक शरीर बहुत बार देखा हुआ था, पर काजल और सुरेश के लिए एकदम नया था.

अपने उतारे हुए स्कर्ट टॉप एंड पैंटी ब्रा को उसी टाइम धो कर फैला दिया. मैंने कहा- मेरा वीर्य तुम्हारे अंदर है, तुम प्रग्नेंट हो सकती हो!तो वो डर गयी, फिर मैंने समझाया कि मैं तुम्हें कॉन्ट्रासेप्टिव पिल ला दूंगा और नेक्स्ट टाइम से कंडोम यूज़ करेंगे।फिर वो मुझसे कुछ देर तक लिपटी रही और मौक़ा मिलते ही बुर की चुदाई का वादा कर के चली गयी. ”बेंच पर साथ बैठा कोई न कोई लड़का मेरे स्कर्ट के नीचे से मेरी चड्डी में हाथ डालकर मेरी चूत को सहलाता रहता.