बीएफ नंगी चुदाई बीएफ नंगी चुदाई

छवि स्रोत,कान्हा जी की पिक्चर

तस्वीर का शीर्षक ,

मारवाड़ी शुदाई: बीएफ नंगी चुदाई बीएफ नंगी चुदाई, अब आगे कॉलेज रोमांस की कहानी:मैंने भी रिप्लाई किया कि मैंने ऐसा मैसेज भेज दिया … आपको आपको बुरा तो नहीं लगा?तो मैम ने हंसते हुए पूछा- कोई गर्लफ्रेंड नहीं है क्या तुम्हारी?मैंने भी मौके का फायदा उठाते हुए लिखा- नहीं मैम … मैं इतना लकी कहां!उन्होंने कहा- अरे इतने हैंडसम तो हो … कोई भी आसानी से पट जाएगी.

विद्या बालन सेक्सी फोटो

मैंने बोला- ठीक है, ये सब मैं श्रेया के घर वालों को बता दूंगा कि वो काम करने के साथ साथ तुम्हारे साथ चुदवाती है. प्ले स्टोर कैसे खोलते हैंमैं उनको फिर से गर्म करने लगा; उनकी चूचियों को दबाने लगा और एक उंगली उनकी चूत के अंदर करना शुरू कर दिया.

इससे सुमोना का शरीर अब अकड़ने लगा और वो और तेज और तेज कहकर तेज तेज कमर हिलाने लगी. लोंग सेक्सीमैं थोड़ी देर उसी मुद्रा में रुका रहा, उसके बाद मैंने धीरे धीरे अपने लंड को चुत में अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया.

तभी उसका फिर से एक मैसेज आया- जीजू एक बात बोलूं, आप किसी को बोलेंगे तो नहीं?मैंने कहा- हां बोलो.बीएफ नंगी चुदाई बीएफ नंगी चुदाई: थोड़ी देर बाद में चाचा मार्केट से आ गया और मोटो चाची मेरे घर की तरफ देखती हुई अपने घर के लिए चली गई.

कुछ देर में नाज सामान्य हो गई, शायद उसे मजा आने लगा था, अब वो भी रसपान और चुम्बन का जवाब देने लगी थी.वो मेरी गांड पर अपनी हथेलियों से चांटा मार रही थीं और मैं उनकी गांड पर तबला बजा रहा था.

मंडी सेक्सी - बीएफ नंगी चुदाई बीएफ नंगी चुदाई

मेरे दोस्त ने उसे कैसे चोद दिया?लेखक की पिछली कहानी:जीजा ने बहन की चूत चुदवा दीमेरा नाम अविनाश है.मैंने उसकी चुत के मुहाने पर जैसे ही अपना लंड टिकाया, वैसे ही उसकी चुत ने पानी छोड़ दिया.

मैंने अपना अगला कामदेव का तीर फेंका और निशा के कोमल से हाथ को आराम से चूमा. बीएफ नंगी चुदाई बीएफ नंगी चुदाई जैसे ही वो मस्ती के मूड में आ गईं, मैंने अपना लंड बंगालन आंटी की चुत से रगड़ना चालू कर दिया.

मैंने झट से अपना हाथ उसके मम्मों पर रख दिया और धीरे धीरे दबाने लगा.

बीएफ नंगी चुदाई बीएफ नंगी चुदाई?

अगले दिन मामा मामी, रितिका को छोड़ने आ गए और कुछ समय मेरे घर रुकने के बाद वो दोनों दिल्ली के लिए निकल गए. फिर में नीचे बैठ गया औऱ रंगोली के दोनों पैरों को थोड़ा फैलाकर उसकी चूत की गुलाबी दरारों में अपनी गर्म जीभ रख दी. मैसेज में लिखा था कि जल्दी फैसला करो … मेरे पास और भी बहुत सी लड़कियां हैं.

वो मेरी बीवी को हंसते हुए देख कर बोला- मज़ा तो अभी बाकी है, आज मैं दूल्हा ना होता, तो मैं ही सारा मजा ले लेता. नन्दिनी आगे बढ़ी और बोली- अरे क्या हुआ पहचाना नहीं क्या … हाय … मैं नन्दिनी!मैंने झट से उसे हाय कहा और हम गले लगे. मैंने उसे लंड चूसने को कहा, तो वो बैठ गई और लंड मुँह में लेकर चूसने लगी.

ये सब इतना जल्दी हुआ था कि रमा मैडम की चीख भी ठीक से नहीं निकल पाई. वो मेरी बीवी की चचेरी बहन थी, कुंवारी थी और अपनी पहली चुदाई का अनुभव लेना चाहती थी. मैं उनका लम्बा और मोटा खड़ा लंड देख कर सहम गई लेकिन चूत में चुनचुनी हो रही थी कि बस किसी तरह से इस लम्बे लौड़े से चुद लूं.

मैं उनसे बहाने से बात करने की बहुत कोशिश करता था पर वो बात ही नहीं करती थीं. कुछ महीनों पहले उसके घर में डेकोरेशन का काम चल रहा था … तो रघु ने उसको हम लोगों के साथ रहने के लिए कहा.

इसके बाद उसने मेरी गांड को कुछ मिनट सहलाया और पीछे से अपना लंड मेरी चूत में डाल कर आराम आराम से चोदने लगा.

मैं कपड़े धो रही थी और पीछे से जेठ जी मुझे देख रहे थे; ये बात मुझे पता नहीं थी.

यह मेरी बेटी है निशा … इसकी इंग्लिश बहुत वीक है, तो मैं चाहती हूँ कि आप थोड़ा बहुत इसको पढ़ा दिया करें. धीरे धीरे वो मेरे सामने मटक रही थी और यह देख कर मेरा छोटा भाई फिर से सलामी देने लगा. वो पूरे मज़े ले रही थी और इधर मेरा बेचारा लंड ऐसी सजा काट रहा था, जैसे भूख से तड़प रहा था.

मैं- आअहह … यअहह फक मी … अहम्म्म्म … आहह … मैं गई नवीन आह आह मैं कट गई जान. उस दिन मैं उससे बात करने लगा और मजाक करने लगा लेकिन मम्मी के रहने के कारण मैं उसे देखने के अलावा उसके साथ कुछ कर नहीं सकता था. थोड़ी ही देर बाद आंटी बोलीं- छोड़ो विजय, ये सब गलत है, तुमको समझना चाहिए कि तुम मेरे बेटे जैसे हो.

वो चुदी कैसे?दोस्तो, मैं एक बार फिर से अपनी मौसेरी बहन की चुदाई की कहानी में आपका स्वागत करता हूँ.

इसके बाद उसने मालती के कान में कुछ कहा और मुस्करा कर अपने घर चली गई. एक दिन हुआ यूं कि सुबह 9 बजे मैं सुनीता के घर में उसकी चुदाई कर रहा था. उसी पल उसने अपनी जीभ मेरे मुँह में डाल दी और वो अहसास आह … कितना मीठा था, मैं शब्दों में बयान ही नहीं कर पा रही हूँ.

लिंग को ढीला छोड़कर मैंने अपनी तर्जनी उंगली उसके लिंग के छिद्रित भाग पर ले आई. उसने मेरी तरफ कोई ध्यान नहीं दिया बस वो लंड अन्दर गाड़ कर मेरे ऊपर लेट गया और मुझे दबा लिया. सुमन की आंखें बंद थीं और मैं लगातार गपागप गपागप चोदने में लगा हुआ था.

बात उस समय की है, जब मेरी पहली वाली गर्लफ्रेंड की मां गीता के साथ चुदाई का आलम मस्ती से चल रहा था.

‘नाम?’मैंने पर्स से अपना फोन निकाला और इसी क्रिया में मैंने अपना थैला उसके बैग से चिपका दिया. लेकिन असली जिगोलो क्लब ढूंढ़ने के चक्कर में मेरे काफी पैसे और समय बर्बाद हो गए.

बीएफ नंगी चुदाई बीएफ नंगी चुदाई वो मादक स्वर में बोली- रियांश अब सहा नहीं जाता, प्लीज प्लीज लंड चुत में डाल दो. जिससे शीना की गीली चूत ने फच्च फच्च फक्च फचाक की आवाज से चुदना चालू कर दिया था.

बीएफ नंगी चुदाई बीएफ नंगी चुदाई दोस्त ने श्रुति को घोड़ी बना दिया और पीछे से उसकी चुत में लंड पेल कर जोर जोर से चुत चोदने लगा. उसने मेरी गांड भी दबा दी जिससे मेरी सिसकरी निकल गयी ‘अअअह …’वो थोड़ा पीछे को हटा और बोला- तुम्हारी कमर में नहीं … गुदा में दर्द है क्या!मैंने कहा- नहीं … उसे तो आपने मसल दिया था इसलिए आवाज निकली थी.

हर वीकेंड पर हम कभी कोई सिनेमा, या कहीं अच्छी जगह घूमने निकल जाते और अकेले होने पर अब भी मज़े से सेक्स का आनन्द लेते हैं.

खान सेक्सी फोटो

ये सुनकर रंगोली ने मुझे हग कर लिया और उसकी टी-शर्ट के अन्दर तने हुए बूब्स मेरी छाती पर सट गए. उसने मेरे सामने अपनी गलती के लिए माफ़ी मांगी और मुझसे कहने लगी- मुझे मालूम ही नहीं था कि तुम मुझसे प्यार करते हो. मैडम ने दो गिलास, पानी और नमकीन काजू सामने टेबल पर रखे और अल्मारी से व्हिस्की की बोतल निकाल आकर पैग बनाए.

मैं दरवाजे के पास आया ही था कि काम वाली बाई ने कहा- साब, आपके लिए चाय बना कर लाती हूं. उन्होंने लंड को धीरे धीरे अंदर बाहर करना शुरू कर दिया।अब मेरी चूत में राज शर्मा का लंड अंदर बाहर होने लगा।मैं भी गर्म होने लगी थी क्योंकि पिछले तीन महीने से मेरी चूत में लन्ड नहीं गया था।अब डॅाक्टर राज़ ने लंड बाहर निकाल लिया और कंडोम उतार दिया. हैलो फ्रेंड्स, मैं राज सिंह अपनी स्टूडेंट निशा की कुंवारी चुत की सीलतोड़ चुदाई की कहानी में एक बार फिर से आपके सामने हाजिर हूँ.

चुत ने भी कुछ रस छोड़ दिया था … तो लंड चुत में अब जल्दी जल्दी अन्दर बाहर होने लगा था.

दोस्तो, यहां मैं एक बात बता दूं कि ट्रेन में हमने यह सेक्सी खेल बहुत सावधानी के साथ खेला था. इसके बाद हम दोनों ने ट्रेन के केबिन में आकर फिर से चुदाई चालू कर दी. बाहर पहुंच कर मैंने मैम को कॉल की तो एक मिनट बाद मैम आ गयीं और बाइक पर बैठ गयीं.

तेल की मालिश से उनका लंड जब पूरी तरह से चिकना हो चुका था तो मैं धीरे से उनके लौड़े के ऊपर आकर बैठ गयी और मैंने उनका लंड अपनी चूत से सटा दिया. आंखें बंद करके और लौड़े को अपने हाथ से पकड़कर भाभी का सपना देखकर उन्हें खूब चोदा था. दोस्तो आपको मेरी ये मोटी लड़की की चुदाई कहानी कैसी लगी, मुझे मेल से जरूर बताएं.

इससे अब किसी को कोई शक भी नहीं होने वाला था कि मैं आंटी के घर क्यों जाता हूँ. मौसी धीरे से बोलीं- कितना सारा था रे ऋषि … कब से सम्भाल के रखा था!मैंने कहा- आपको देख कर कुछ ज्यादा ही उत्तेजित हो गया था मौसी.

मैंने देर न करते हुए उसकी कुर्ती को ऊपर किया और उसकी गर्दन से निकालते हुए अलग को फेंक दिया. मैम मुझे रोक तो रही थीं लेकिन मेरी इन हरकतों का उन पर प्रभाव भी पड़ रहा था, जो उनकी सहनशक्ति को धीरे धीरे कमज़ोर कर रहा था. मैंने उसको सही बात नहीं बताई, हां थोड़ी घुमा-फिरा कर उसे बताया कि मैं इतनी बेकार और दब्बू जैसी दिखती हूँ, इसी लिए कोई कॉलेज में मुझसे बात नहीं करता.

उन्होंने जल्दी से एक गाउन पहन लिया और मैंने भी टी-शर्ट बरमूडा पहन लिया.

वो अपनी धुन में दोस्त से बात करते हुए बोला- कमर और पीछे हाथ से टच करता हूँ … तो भाभी कुछ नहीं बोलती हैं. भाभी मेरी तरफ गुस्से से देख रही थी, उन्होंने मुझसे पूछा- तुम वहाँ पे क्या कर रहे थे?अब मेरे पास माफी मांगने के अलावा कोई पर्याय नहीं था तो मैंने उनकी तरफ देख कर कहा- मुझसे गलती हो गयी, मुझे माफ़ कर दीजिये. मैं उसके लंड पर अपने लंड को रगड़ते हुए उसको चोदने की स्टाईल में ऊपर नीचे होता हुआ जम जम कर अपने लंड को उसके लंड पर रगड़ रहा था.

”धत्त …”मैं मजाक नहीं कर रहा, टटोल कर देखना, मान जायेगी तो उसका ही फायदा है. इंतज़ार करते करते कॉलेज टाइम खत्म हुआ और मैं मैम को बाइक पर लेकर घर की तरफ निकल गया.

हाय दोस्तो, मैं आपकी अंजलि, कैसे हो आप सब … उम्मीद है कि सब ठीक होगे. उन तीन लड़कियों में से एक लड़की आजकल उसी शहर में पढ़ रही थी जहां मैं पढ़ाई कर रहा था. अब आगे मेरी रण्डी माँ की सेक्स कहानी:जब मैंने मां को खुश देखा तो मुझे भी काफी अच्छा लगा.

कामवाली का सेक्सी

सर को पहली बार मैं इस हाल में देख रही थी और ये सोच भी रही थी कि वो सही भी हैं.

मैंने उसकी ब्रा को उतारा और उसके एक मम्मे को अपने मुँह में भर लिया. भाभी का फिगर 38-34-40 का था, काफ़ी भरा हुआ बदन, मस्त चाल और मेरे लंड का हाल-बेहाल कर देने वाली उनकी वो अदाएं लंड को हिनहिनाने पर मजबूर कर देती थीं. हल्के दर्द से मेरे चेहरे के भाव गम्भीर हुए, पर वो दर्द मुख से बाहर में ना ला पाई.

और जब वो अपने धर्मानुसार सर पर स्कार्फ बाँध कर शर्म-हया दिखाकर सेक्स करती है तो ज्यादा उत्तेजना होती है. हमारे होंठ एक बार फिर एक दूसरे से जुड़ गए और इस बार मैंने अपनी जीभ को उसके मुंह में डाल दिया. इंडिया-पाकिस्तान का मैच दिखाएंये अचानक से हुआ था, तो उसके मुँह से चीख निकल गयी- आआआ … आई … फाड़ दी … मेरी चूत!मैंने उसके होंठों को अपने होंठों से दबा लिया और उसे स्मूच करना शुरू कर दिया.

नमस्ते दोस्तो, उम्मीद हैं आपने मेरी पिछली सेक्स कहानीमेरी विवाहित जिन्दगी की एक रातको पढ़ा होगा और आशा करती हूं कि आपको वो पसंद भी आई होगी. भाभी की आह निकल गई और वो जोर जोर से आहें भरती हुई मेरी आंखों में देखने लगीं.

मेरे पास अब नाज और शब्बो दो बकरियां हैं, दोनों बारी बारी से चुदती रहती हैं. जब वो नहाने के लिए गईं और स्वमिंग सूट पहनी, तो क्या गजब की माल लग रही थीं. मैंने तुरन्त सोच लिया कि लोहा गर्म है और चोट कर ही देना चाहिए क्योंकि अगर मैं ऐसा नहीं करता हूँ, तो जरूर ये किसी और से चुदवा लेगी.

उस छोटे से टॉयलेट में ट्रेन की पटरियों की खटपट उनके मुंह से निकलने वाली मादक सिसकारियों को दबा रही थी. थोड़ी देर बाद वो लंड से चुत निकाल कर उठ गई और लंड को पकड़ कर अपनी गांड में दबाने लगी. सोढ़ी रोशन की गांड को अपने दोनों हाथों से सहला रहा था कि तभी अचानक गोगी अपने कमरे से बाहर निकला.

उसने मम्मों को हाथ से दबा कर टाइट कर दिया और लंड आगे पीछे करवाने लगी.

मैंने उतावलापन दिखाते हुए अपनी कमर ऊपर को उठाते हुए उसके लंड को चुत में लेने की कोशिश की. ’‘क्या चाहिए ही है अभी?’‘तुम …’मैंने मन में सोचा कि तुम्हारा प्यार अनन्या.

देर रात तक पार्टी चलने के बाद सब एक एक करके अपने अपने घर की ओर निकलने लगे. उसकी लंबी जीभ जब मेरे लंड पर चढ़ी, तो लंड को मानो किसी गर्म लार के कुएं में गोता लगाने लगा. यह बात उसने मुझे बाद में बताई और अपनी चिकनी चूत में मेरे कुंवारे लंड को जगह दी.

फिर अंकल ने टी-शर्ट मोड़ कर मेरी चूची पर हाथ रख लिया, जिसके लिए मैंने भी उनको कुछ नहीं बोला. मेरे पति जेठजी से बोले- मुझे आज दोपहर में ही किसी जरूरी काम से इन्दौर जाना है. मैंने हरियाणवी में कहा- अब तू म्हारी लुगाई सै और तेरे शरीर में मारा हक है.

बीएफ नंगी चुदाई बीएफ नंगी चुदाई दूसरी तरफ ये भी तो गलत है कि उसके अलावा मैं किसी लड़की को देखकर उत्तेजित होता हूँ. उसने हां कर दी और हम दोनों ने रास्ते में रुक कर साथ में ही चाट खाई.

सेक्सी वीडियो गर्ल कॉलेज

उसी समय वो एकदम से उठ गईं और उन्होंने कहा- ये तुम क्या कर रहे हो?मैंने न जाने किस झौंक में कह दिया- आंटी मुझसे कण्ट्रोल नहीं हो रहा है. मुझे दवा लगा देने दो, फिर आप जैसा कहोगी वही होगा।मैंने कहा- ठीक है. तभी उन्होंने अलमारी खोली, उसमें से एक शीशी में तेल लेकर अपनी हथेली पर मला और अपने लण्ड की मालिश करने लगे.

कार्तिकेय- तो चूस लो न जान … ये लंड अब तुम्हारा ही तो है … तुम मेरी रंडी हो. हम दोनों ही समझ चुके थे कि चुदाई का मूड है, पर शुरुआत कैसे हो … ये कशमकश चल रही थी. 9 की चुदाईकुछ देर बाद जब मौसी से रहा नहीं गया तो उन्होंने कहा- जल्दी से अन्दर बाहर कर दे … कोई आ जाएगा, तो मजा किरकिरा हो जाएगा.

दूसरे दिन स्कूल के पास आकर हम दोनों ने एक दूसरे को गले लगाया और वो मुझे उस दोस्त के कमरे के पास छोड़ कर बोला- मैं अकेला कमरे में जा रहा हूँ.

असल में मेरी बीवी रश्मि एक बहुत सुंदर फिगर वाली और रंग से फिरंगियों जैसी कामुक बला है. मैंने देर ना करते हुए दीदी की सास की साड़ी ऊपर करके चूत का दीदार किया.

हम दोनों एक दूसरे को किस करने लगे और वो अपनी चुत का रस मेरे होंठों से चाटने लगीं. उसने मेरे कान में बोला- मालती को चोदना है क्या?मैंने कहा- मालती कौन है!वो बोली- मेरे चोदू राजा मालती, मेरी बड़ी बहन का नाम है … और मैंने उसे तेरे लौड़े का मज़ा बता दिया है. उसने मुझे अपनी बांहों में उठा लिया और बाथरूम में ले जाकर मेरी चूत की गर्म पानी से सिकाई की.

आज की सेक्स कहानी सरिता भाभी की अपने इसी नए पड़ोसी विजय के साथ की चुदाई की कहानी है.

वो हल्की आवाज़ निकाल कर मजा ले रही थी- आअहह अम्म्म … उहह आहह अरमान डोंट बी स्लो बी फास्ट … मुझे मजा आ रहा है. जैसे ही मैंने चुत में उंगली डाली तो अर्शिया थोड़ी सी हिली … मैं झटके से पीछे हो गया. मैंने कहा- बड़ी फ़ास्ट हो यार!वो हंस दी- तुम भी तो स्लो हो न … इसलिए मुझे फ़ास्ट होना पड़ा.

नंगी पिक्चर इंग्लिश सेक्सीकुछ देर बाद जब हमारी सांसें कंट्रोल हुई तो मैं खड़ा हुआ और अपना लंड उनकी चूत से निकाल कर अपने कपड़े पहन लिए और एक लंबा किस देकर मैंने उनसे विदा ली. एक बार उसने मुझे पकड़ लिया और …मेरे प्यारे दोस्तो, कैसे हो सब? मुझे पता है कि आप सभी को अन्तर्वासना पर ऐसी बहुत सी कहानियां पढ़ने को मिलती हैं और आप सभी रोज ही पढ़ते हैं.

कमाठीपुरा का सेक्सी

हम दोनों एक दूसरे से गुत्थम-गुत्था हो गए और एक दूसरे के बदन को चूमने चाटने लगे. मैंने वजह पूछी, तो वो बोली- मुझे डायरेक्टर ने कहा है कि अगली फिल्म में मुझे मेकअप आर्टिस्ट का या को-एक्ट्रेस का रोल मिल सकता है. ये बात तब शुरू हुई थी, जब मैं और मेरे दोस्त नए साल की पार्टी में शहर से कुछ दूर के एक होटल में गए थे.

मेरी क्लास में एक लेडी भी आती थी, जिसकी उम्र लगभग 40 के आस-पास रही होगी. मैंने बोला- लड़के वाले ही क्यों, लड़की वालों के यहां भी लड़कों की कमी थोड़ी है. उसके चूतड़ों पर हाथ फेरते फेरते मैंने उसकी पैन्टी नीचे खिसका दी और उसकी बुर पर हाथ फेरने लगा.

खुश होते हुए मैंने कहा- हां हां, तू जब भी मुझे बुलायेगी मैं किसी काम के लिए मना नहीं करूंगा. ऐसे सड़ू से व्यवहार पर गुस्सा तो मुझे भी आया और मैं वहां से जाने ही लगा था … तभी मेरे घर से फ़ोन आ गया और मैं रुक कर फोन से बात करने लगा. दोस्त मेरी बीवी को चोदते हुए उससे बोला- शादी में अपनी बीवी को छोड़ कर तेरी गुलाबी चुत याद आएगी भाभी!इस पर मेरी बीवी गांड हिलाते हुए हंसकर बोली- सिर्फ़ शादी में ही नहीं, मैं तुम्हारे हनीमून में भी साथ चलूँगी.

मैं अपनी बहन को वो वीडियो दिखायी तो …हैलो फ्रेंड्स, मैं मानस एक बार फिर से आपको अपनी बहन की चुदाई की कहानी में भिगोने ले आया हूँ. मैं ये सुनकर दंग रह गया कि जो लड़की इतनी देर से सेक्स की बात ही नहीं कर पा रही थी, वो मेरे साथ नहाने की बात कह रही है.

मैं उसके कंधों को चूमते हुए और उसके बड़े बड़े चुचों को निचोड़ते हुए आगे बढ़ने लगा.

क्योंकि चुत बहुत गीली हो चुकी थी तो लंड सरसराता हुआ अन्दर तक घुसता चला गया. तेरी अखियां का काजलजेबा आंटी ने सलमा से मेरा परिचय कराया और मुझसे बोलीं- विजय, बेडरूम का एसी ऑन करो और वहीं बैठो, मैं चाय लेकर आती हूँ. साडी वाली भाभी की चुदाईवो भी ये सोच कर आया था कि दूसरों की तरह वो भी यहां अपना नसीब आजमाएगा. नन्दिनी आगे बढ़ी और बोली- अरे क्या हुआ पहचाना नहीं क्या … हाय … मैं नन्दिनी!मैंने झट से उसे हाय कहा और हम गले लगे.

लेकिन बाद में ये ख्याल भी आया कि अर्शिया रोज़ रोज़ नहीं मिलेगी, आज जो भी कर सकता है, कर ले.

’ की आवाज में तब्दील होती चली गई और चुदाई का मजा बढ़ता ही जा रहा था. अब तो उन्हें मेरी जीभ को चूसने का मानो शौक सा चढ़ गया था … क्योंकि उनकी मां उसके पापा के लंड को चूस रही थीं और सुशी जी मेरी जीभ को लंड समझ कर चूस रही थीं. शुरू में तो निशा ने साथ नहीं दिया, पर हौले से जब मैंने अपना जोर उसकी गर्दन पर बनाया तो वह नीचे झुकने लगी.

मैं समझ चुका था कि ये लंड की भूखी है और इसे एक जवान मोटे लंड की तलाश है. उसने मेरे कान में बोला- मालती को चोदना है क्या?मैंने कहा- मालती कौन है!वो बोली- मेरे चोदू राजा मालती, मेरी बड़ी बहन का नाम है … और मैंने उसे तेरे लौड़े का मज़ा बता दिया है. मैंने हॉल में हल्की रोशनी कर दी और मैं अपने कमरे में आ कर दरवाजा उड़का कर बिस्तर पर लेट गई और ओमी अंकल से अपनी चूत चुदवाने का तरीका सोचने लगी.

सेक्सी वीडियो ऑनलाइन दिखाओ

उस रात हमने डेढ़ बजे तक चैट की और उससे एक किस लेने का वादा करके एक सप्ताह बाद साथ जाने का प्लान बना लिया. अगले दिन सुबह जब मैं उठा तो कल वाली बात से थोड़ा घबराया हुआ था कि कहीं ये मम्मी पापा से कुछ बोल ना दे. करीब 5 मिनट लंड चूसने के बाद उसने अपना पानी मेरे मुँह में छोड़ दिया.

”छी … यह कोई मुँह में लेने की चीज है?”तो जहाँ लिया जाता है, वहीं ले ले.

फिर मैं उसके होंठों की तरफ बढ़ा, जो लाल सुर्ख गुलाबी ऐसे लग रहे थे, जैसे दुनिया के सारे रस आज इसी के होंठों में भरे हुए हैं.

मैं इन सबका मज़े लेते हुए उसके नाजुक गर्दन पर हल्के हल्के किस कर रहा था और अपने दोनों हाथों से उसके पीठ से लेकर गांड तक सहला रहा था. ‘संजना … और तुम्हारा?’इस प्रश्न का जवाब उसके ऊपरी हाथ से पहले निचले हाथ ने दिया. मोनालिसा के सेक्स वीडियोवो चुत सहलाते हुए बोली- साली रांड कुछ भी नहीं सुनती है, बस लंड देखा नहीं कि शुरू हो गई टपकने.

जैसे ही सरिता भाभी विजय से चिपकी, विजय के रोम रोम में बिजली सी दौड़ गई. चीटिंग गर्लफ्रेंड सेक्स कहानी उस लड़की की चुदाई की है जिसे मैं प्यार करता था मगर उसने मुझसे सेक्स नही किया, धोखा दिया. मेरा मन कर रहा था कि इसके गोल मटोल गोरे गोरे मम्मों से सारा दूध निचोड़ कर पी जाऊं.

उन्होंने कहा- कभी जरूरत नहीं होती है क्या?मैंने कहा- हां होती तो है … लेकिन क्या करूं!आंटी एक आंख दबा कर मुस्कुरा दी. दूसरी लड़की जो उसी बेड पर हमारे साथ ही पड़ी थी, वो अब थोड़े थोड़े होश में आ रही थी और कुछ ही पलों बाद वो लगभग जाग चुकी थी.

लंड झड़ जाने के बाद भी वो मेरे लंड को नहीं छोड़ रही थी‘अब मुझे जाना होगा.

वो भी मुझे अपने साथ बाइक पर बिठा कर ले जाते और मैं भी उनकी कमर पकड कर उनके मर्दाना जिस्म को स्पर्श करके अपने अन्दर की आग को भड़काती रहती. अब मैंने लंड निकाल लिया और सरोज को लंड चूसने को बोला, वो भी लंड को लॉलीपॉप समझकर चूसने लगी. मेरे लंड का साइज 6 इंच है और मोटा 2 इंच है … वो अपनी औकात में आ गया था.

गाउन दिखाइए मेरी सगी बहन मेरे लंड से चुद गई थी और अन्तर्वासना पर भाई बहन की चुदाई की कहानियों को पढ़कर मैंने भी सोचा कि क्यों ना मैं भी आपके साथ मेरी ये सच्ची सेक्स कहानी शेयर करूं. कज़िन सिस्टर चुदाई कहानी में पढ़ें कि कैसे मैं अपनी बुआ के बेटे की ओर आकर्षित हुई.

वह पीछे मुड़ी और कब हमारे होंठ आपस में मिल गए हमें कुछ पता ही नहीं चला. मैंने कोमल को अपने नीचे आने का इशारा किया, वो थोड़ा घबराई और बोली- अभी नहीं प्लीज … ऐसे ही ठीक है. तुमने उसकी प्रोफाइल चैक नहीं की क्या? कितनी सारी लड़कियां उसकी गर्लफ्रेंड हैं.

राजस्थानी बंजारा सेक्सी वीडियो

ये सुनकर मैं और जोश में आ गया और लंड को तेज़ तेज़ अन्दर बाहर करने लगा. मैंने आज से पहले कभी अंदाजा ही नहीं लगाया था कि चुत चूसने में इतना मज़ा आता है. मेरा लंड शीना भाभी की चूत की गहराई में उतरकर उसकी चूत को रगड़ रगड़ कर चोदना चाह रहा था.

उतने में वहां से शरद अन्दर आया- अच्छा हुआ तुम उठ गई, बेबी मुझे जल्दी निकलना होगा. उन्होंने एक दूसरा कंडोम मुझे दिया जिसमें दाने बने हुए थे।मैंने उनके खड़े लंड पर कंडोम लगा दिया।उन्होंने मुझे एक टेबल पर लिटा दिया.

इसके बाद हम दोनों निढाल हो गए और मैंने अपना सारा वीर्य चुत के बाहर निकाल दिया.

बुआ के मुँह से धीरे धीरे सिसकारी निकलने लगी- उम्म्म्म हाआआ उच्च … आज मेरा सपना पूरा हो गया. उसकी इस बात से मैं भी खुश हो गई और मैंने उसके पास से किताब को थोड़ा अपनी तरफ सरका लिया. मुझे यह अहसास हो गया था कि इस वक़्त ये सोचना सही नहीं है कि क्या सही है और क्या गलत.

मैंने पूछा- क्या हुआ?तो वो बोला- यार मेकअप वाला नहीं आ पाया, उसका एक्सीडेंट हो गया है. कोई भी लड़की या भाभी मुझे देखेगी तो मेरे ऊपर पहले से ही फिदा हो जाएगी. वो मेरी चुचियों को अपने मुँह में रख कर चूसते हुए बोला- अब मुझे तुम्हारी गांड भी मारनी है.

एक बच्चे की माँ बन गई हैं … मगर आज भी देखने में एकदम कुंवारी दुल्हन सी ही लगती हैं.

बीएफ नंगी चुदाई बीएफ नंगी चुदाई: मैंने हम दोनों के लिए एक और पैग बनाया और वो भी मेरे काफी करीब मुझसे लिपट कर बैठ गए. इतना सब होते हुए अभी 8-9 मिनट ही हुए होंगे कि उनका शरीर अकड़ने लगा और उनका पानी छूट गया.

मैंने दरवाजे से आवाज़ दी, तो दोस्त बोला- थोड़ी देर बाहर ही रूक … मैं चेंज कर रहा हूँ. आह … हम दोनों की जीभों ने कुश्ती लड़ना शुरू की तो हम दोनों ही मदहोश हो गए. तभी मुझे फोन आया- कैसा लगा?मैं बोली- मैं नहीं जानती थी कि आप इतने रोमांटिक हो … चलिये अब जल्दी आ जाइए.

मैंने ऑटो में बैठते ही आशीष को कॉल किया और उससे पूछा- कहां हो?उसने बोला- बस, अभी घर से निकला हूँ.

मुझे विश्वास ही नहीं हो रहा था कि निशा एक मंजी हुई खिलाड़िन की तरह चुदाई के इस खेल को इतनी अच्छी तरह खेल सकती है. रघु ड्रिंक बना ही रहा था कि तभी श्रेया नशे की हालत में बिल्कुल नंगी ही बाहर आ गई और मेरे बगल में सोफे पर बैठ गई. उनकी कमर पकड़ते ही मुझे कुछ अजीब सा लगा और उनकी बॉडी की मर्दाना सुगंध से मैं मदहोश सी हो गई.