भोजपुरी सेक्सी बीएफ बीएफ

छवि स्रोत,फिल्म सेक्स सेक्स फिल्म

तस्वीर का शीर्षक ,

शिल्पी सेक्सी: भोजपुरी सेक्सी बीएफ बीएफ, लेकिन अब भी मेरे मन में सेक्स चल रहा था, मुझे नींद कहां आने वाली थी.

ट्रिपल मूवी सेक्सी

हुआ यूं कि जब लॉकडाउन लगा तो उस वक्त मेरी पत्नी अपने मायके गई हुई थी. செக்ஸி ப்ளூ பிக்சர்फिर मैंने उनको सलवार निकालने का इशारा किया तो उन्होंने शर्मा कर दोनों हाथों से अपना मुँह छुपा लिया.

मैंने उससे कहा- क्या पहली बार है?वो बोली- नहीं पहली बार तो नहीं है मगर आज मूड नहीं है. सेक्सी फिल्म कॉलेज की लड़कियांकिधर चलना है?वो बोलीं- एक काम से चलना है, पहले मुझे आपसे कुछ बात करनी है, फिर चलेंगे.

सुहानी दीदी पूरी पसीने से तरबदार लाल हो गई थी और उसकी आंखों से आंसू आने लगे थे.भोजपुरी सेक्सी बीएफ बीएफ: वो बोली- चलो बताओ किस तरह से प्यार करना चाहते हो?मैंने कहा- बस तुम्हारी राजी से तुम्हारे साथ एक बार मजा करना चाहता हूँ.

मेरी चूत से खून निकलकर बह गया और अंकल का वीर्य, जो उन्होंने मेरी चूत में डाल दिया था, वो भी बह गया.वो मुझसे छूटने की कोशिश करने लगी पर मैंने उसे कसके पकड़ रखा था इसलिए वो ज्यादा हिल नहीं पा रही थी.

देसी मुस्लिम सेक्स - भोजपुरी सेक्सी बीएफ बीएफ

मैंने उन दोनों जैसे हरामी लोग आज तक नहीं देखे थे जो अपने ही लंड का पानी पी रहे थे.[emailprotected]कहानी का अगला भाग:मम्मी का चाचा से पुनर्विवाह और गर्मागर्म सेक्स- 2.

सौम्या भी थक तो गयी थी पर कैमरे के सामने सच में किसी अप्सरा से कम नहीं दिख रही थी।अब हम लोगों को इंडोर फोटोज भी लेने थे पर तीस पेंतीस फोटो के लगभग हम पहले ही आउटडोर में ले चुके थे. भोजपुरी सेक्सी बीएफ बीएफ मैंने कहा- मैंने तो न जाने क्या क्या सोच लिया है मैडम … बस आप साथ तो दो.

अगर मेरे साथ जबरदस्ती की, तो मैं अपने बॉस के साथ ही रहने लग जाऊंगी.

भोजपुरी सेक्सी बीएफ बीएफ?

अब मैंने अपना टॉप पूरा उतार दिया,राहुल मेरी गोद में सर रखकर लेट गया और उसने मेरा एक स्तन अपने हाथ में ले लिया. जैसे ही मुझे प्रस्ताव मिला, मैं शर्म की वजह से मानो पिघल सी रही थी. मैंने बोला- अब तो वापस नहीं आ सकते हैं, हम दोनों इतनी आगे पहुंच गए हैं.

एक बार लालच में आकर मैं बहुत पैसे हार गया और मेरे पास कुछ भी नगदी नहीं बची थी. इसमें मुझे भी फायदा है कि घर की लड़की ऑफिस में होगी, तो किसी बात की टेंशन नहीं रहेगी. मेरी मजबूरी थी कि अगर किसी को पता चला, तो मेरी और मेरे परिवार की इज्जत जाती रहेगी क्योंकि एक बार लड़की नंगी होती है तो उसको रोक पाना मुश्किल होता है.

सुहानी- आह उंह आह अहहश् श्ह आई चाट ले … आह!वो खुद भी मेरा लंड एकदम आइसक्रीम की तरह चूस रही थी. चाचा- भाभी, ये आप कैसी बात कर रही हो, आप किसी पर भी बोझ नहीं हो … बल्कि आपने इस घर को अच्छे से ही चलाया है. वो बोल रही थी- राज मजा आ रहा है और चोदो मुझे … आहह आह मेरी प्यास मिटा दे यारा … आहह आह राज मैं तुम्हें देखते ही तुमसे चुदने को मचल उठी थी मगर तेरी बुआ के सामने कुछ संकोच कर रही थी.

यह बोलते हुए मैंने उसे पकड़ कर अपने पास खींच लिया और मेरी बगल में बैठा लिया. अब आगे वाइफ हॉट सेक्स कहानी:चाचा ने अपनी जीभ से मम्मी का सारा पेट गीला कर दिया था और चाचा के थूक में सनी हुई मम्मी की चिपचिपी कमर बहुत ही उत्तेजक लग रही थी.

देख खुद को आईने में … तू इसी लिए पैदा हुआ कि तुम लड़कियों की सेवा करो.

सच में दोस्तो, चाचा और मम्मी हम तीनों के मुँह से अपनी शादी के लिए हां सुनकर बहुत खुश हो गए थे.

भैया ने उनसे कहा- मुझे ड्यूटी जाना है, सो मैं यहीं से निकल रहा हूँ. अब आगे हॉर्नी Xxx भाभी की चुदाई:मेरी कामुक नजरें दीप्ति के कातिलाना मम्मों पर ठहर चुकी थीं. मैंने अपना हाथ यह सोचकर डाला था कि वो यदि नहीं सोई होगी तो कुछ बोलेगी.

तभी मोनिका ने भी मुझे अपने ऊपर से उठाया और मैं कोमल दीदी को बड़ी उदास नजरों से देखने लगा. मैंने आंटी की चूत चाटना शुरू कर दिया और दोनों हाथों से बूब्स को दबा रहा था।अब सुनीता मदहोश हो चुकी थी, वे सिर्फ सिसकारियां और आहें भर रही थी- आ आआउ उउउ ईईई ईईई खा ले मेरी चूत … गोलू आआ आउउउह!मैंने अब देर न करते हुए 69 की पोजीशन ली, उनने भी मेरा लण्ड चूसना शुरू कर दिया. बाद में उसका मैसेज आया कि यार उसमें तो एक लड़का और लड़की की चुदाई की फिल्म थी.

इस पर वो अपनी गांड उठाती हुई चिल्लाने लगीं- आंह हां बेटा चोद दे … आंह जोर से चोद दे … और तेज और तेज … आंह आज मेरी चूत फाड़ दे मेरे बेटे … तेरी अम्मी न जाने कितने सालों से प्यासी है.

उनके चेहरे पर एक अलग ही प्रकार का सुकून था और वो ऐसे मुस्कुरा रही थीं जैसे उनकी मन मांगी मुराद पूरी हो गई हो. मगर मैं जानती थी कि एक दिन मेरे पति ने मेरी हर ख्वाहिश पूरी कर देनी है; तो मैं भी अपने पति का पूरा साथ देती, उनके प्रति पूरी वफादारी से उनकी बीवी होने का हर फ़र्ज़ निभा रही थी. उसे अपनी बांहों में उठाकर मैं वॉशरूम ले गया, वहां हम दोनों शॉवर के नीचे नहाए.

मेरे मुँह से कामुक सिसकारियां निकल रही थीं- आह आह … आह बस ओह यस अब निकल जाएगा ओह. आपको मेरी हॉट वर्जिन फर्स्ट सेक्स कहानी कैसी लगी, प्लीज मुझे मेल करके जरूर बताना. बामुश्किल दो मिनट उसने मेरी चूत को चाटा होगा कि मैं खुद बा खुद उसके लंड को अपने मुंह में ले गई.

तभी मैंने चुपके से देखा तो देवर ने मेरे एक स्तन को ऊपर से ही अपने मुँह में ले लिया था और बड़ी वासना से मेरा दूध चूस रहा था.

उसको दुविधा में देख मालकिन ने आगे बढ़ कर उसका हाथ पकड़ा और अपनी कमर पर रख दिया. मैंने 15 दिन बाद मेम को कॉल किया, तो उन्होंने कहा- हां आमिर आपका अकाउंट चालू हो गया है, आप पासबुक ले जाओ.

भोजपुरी सेक्सी बीएफ बीएफ उसने कहा- हां भैया, लेकिन इस बार इस बार आप बेईमानी नहीं करना, जो भी ब्रांड मंगवाना, दोनों की एक ही जैसी मंगवाना. रानी वासना से मचलती जा रही थी और चुदने के लिए गिड़गिड़ा रही थी- आह अब मत तड़पाओ … जल्दी से डाल दो अन्दर … मुझको पूरा मजा दे दो.

भोजपुरी सेक्सी बीएफ बीएफ और उसका भी हाथ कपड़ों के ऊपर से ही मेरे लंडूराम पर पहुँच गया, वो उसे मसलने लगी. मुझे इस हालत में देख मेरी साली साहिबा मुस्कुरा दी और बोली- जीजू, जल्दी से तैयार हो जाओ, तो नाश्ता लगा देती हूँ.

अचानक एक लड़की कमरे में आ गई तो मैंने हडबड़ा कर अपना हाथ पैंट में से निकाला और मोबाइल बंद कर दिया.

हिंदी सेक्सी हॉट सीन

जब हम लोग छत पर सोते हैं तो मैं सुबह सुबह अपनी पत्नी की नाइटी ऊपर कर देता था, जिससे उसकी गांड कोई ना कोई देख सके. आप सभी के हाथ पीछे बांध दिए जाएंगे, जिससे आप अपनी आंख की पट्टी उतार नहीं सकें. मैं बाबा जी की चुदाई को याद करके चूत रगड़ने लगी और कुछ देर बाद झड़ कर सो गई.

मैं फर्स्ट टाइम ओरल Xxx करती हुई अपनी चूत को ‘उह उअअह आआह ई सी सी सी … उन्ह …’ की आवाज के साथ चटवा रही थी. अब वो ‘आह हहह आहह ओहह …’ करके मेरे जिस्म में अपने नाखून गड़ाने लगी और मैं झटके पर झटके रफ्तार तेज करने लगा. चाचा मम्मी की चुत का रस चाटते हुए कहने लगे- ओह मेरी गुलबदन, तुम्हारी चुत से निकलता हुआ ये नमकीन पानी तुम्हारे जैसा ही नशीला है मेरी जान … मजा आ गया.

फिर चाचा मम्मी के एक दूध को अपने मुँह में भरकर जोर से अपने दांतों से काटने लगे.

मैंने कोमल दीदी को बेड के किनारे पर लेटा कर उनके पैर उठाए और उनकी पैंटी उतार दी. जैसी अवस्था में हम थे … मैं पूर्ण नग्न और वो तौलिया लपेटे।हम खाना खाकर बेडरूम में आ गए. ‘ओह मेरी जान … आउउउउम्म … आउउउउम्म … आउउउउम … पुच … पुच …’चाचा मम्मी के गर्दन को चूमते हुए उनसे कह रहे थे- ओह्ह रेखा … मेरी गुलबदन तुम्हारे बदन की खुशबू में एक अजीब सी कशिश है.

मैंने उसके बालों को पीछे से जोर से खींचा तो उसके मुँह से आआह्ह की आवाज आई और मुँह खुल गया. वो मेरे साथ अडल्ट जोक साझा करने लगी, तो मैं भी उसे कुछ रोमांटिक फोटो आदि भेजने लगा. जब भी मैं शहर से बाहर रहता हूँ, तो खाली समय में मेरे दिमाग में कुछ न कुछ आता रहता है.

मैंने कहा- क्यों आपके पति आपको नहीं चोदते हैं क्या?वो बोलीं- मैं अपने पति से दो सौ किलोमीटर दूर हूँ … वो महीने में एकाध बार आ पाते हैं. सुनम आंटी ने मेरी मॉम की चुत में अपनी जीभ डाल दी और चूत चाटने लगीं.

अब चाचा ने मम्मी की दोनों टांगों को फैला दिया और मम्मी की चुत के पास जाकर अपनी उंगली को चुत में डालकर उसको चुत में अन्दर बाहर करने लगे. मैंने उसके पेट पर अपना मुँह रखा और धीरे से नीचे उसकी चूत के पास ले गया. पर दाइशा जी की ओर से कोई भी ना नुकर ना होने से अपने हाथ से दाइशा जी कंधों से लेकर बांहों तक छूने लगा था.

फिर महेश सर उठकर बेड पर बैठ गए और मम्मी को उठाकर अपनी गोद में बैठा लिया.

भाभी बोलीं- चलिए मेरे पतिदेव, अब हम दोनों पति पत्नी सुहागरात मनाते हैं. मैं भी उसकी मोटी गांड पकड़ कर चूत को अपने मुँह में ढकेलने लगी और काटने लगी. अब मेरा निकलने वाला था, मैंने जल्दी से लंड को उसकी चूत के बाहर निकाला और एक बार फिर 69 की पोजिशन में आते हुए मैंने अपना लंड उसके मुंह के अन्दर डाल दिया और उसकी चूत से निकलते हुए रस को मैं चाटने लगा.

फिर लंड बदले और मैंने जयेश के लंड से गांड मराई और नरेंद्र ने मेरे दोस्त भावेश की गांड मारी. मैंने समझ लिया कि इसे चुत में कीड़ा काट रहा था, तभी अपने भाई से चुत चुदवाने आ गई.

मैं उन्हें अब कुछ बोल नहीं सकता था क्योंकि दो साल शादी होने के बाद मेरा और कोमल दीदी का कोई रिश्ता रहा ही नहीं … फिर चुदाई करने का उन्हें ऐसा क्या कह दूँ, जिससे वो फिर से मेरे लिए वही प्यार बरसा सकें. मैंने जॉब पर से लौटा तो पाया कि वो पलंग पर लेटी हैं और कराह रही हैं. कुछ पल निढाल रहने के बाद अब वो हॉट बेब सेक्स के लिए तड़प रही थी, वह मेरे ऊपर आ गयी थी और पागलों की तरह किस कर रही थी.

2020 के हिंदी सेक्सी वीडियो

और उसका भी हाथ कपड़ों के ऊपर से ही मेरे लंडूराम पर पहुँच गया, वो उसे मसलने लगी.

उसे देखने के बाद मैंने उससे एक दो बार उससे कहा भी था- रानी ये सब ठीक नहीं है. नेहा दीदी- आहह हहह ऊईई ईईई ऊईई मां … मर गई भाई प्लीज धीरे धीरे करो. शाम के 4 बजे के करीब भैया ने कहा- चलो, तुम्हें आज चूत दिल देता हूं.

मैं- बात तो सही है, पर तुम्हारे कपड़े चेंज करना मुझे सही नहीं लग रहा है. लिखने को तो और भी बहुत कुछ है मगर अब मैं इस सेक्स चूत चूत की कहानी का यही सम्मान जनक समापन करूंगा. ओपन में सेक्सी वीडियोहमें उम्मीद जरूर थी कि इतने बड़े बीच में, इतने सुन्दर और मन मोहक बीच में कोई न कोई तो आएगा ही, जो हमारी मनोकामना पूरी करेगा.

थोड़ी देर तक मैं नीरज के मुंह में ही मूतती रही, फिर सुनील भी उसके साथ नीचे बैठ गया और उसने मेरी चूत अपने मुंह पर रखवा ली. फिर उन्होंने मेरे होठों पर अपने होंठ रखे और दोबारा से मेरी चूत में अपना लौड़ा घुसा लिया.

अब हम दोनों अपने जिस्मों को एक दूसरे में समा कर झड़ने लगे और सांसों को काबू करते हुए शांत हो गए. मैंने उन दोनों जैसे हरामी लोग आज तक नहीं देखे थे जो अपने ही लंड का पानी पी रहे थे. मैंने धीरे से अम्मी की गांड पर अपना लौड़ा रखा और एक जोरदार धक्के में पूरा लंडअम्मी की गांडमें घुसा दिया.

गांड का छेद इतना टाइट था कि मैं ज्यादा देर नहीं रुक सका और झड़ गया. मैंने उसकी गांड पकड़ ली और उसकी आंखों में देखते हुए उसकी चूत पेलने लगा. मुझे उनकी फूली सी चूत देख कर बड़ा आश्चर्य हुआ कि इस उम्र में भी मम्मी की चूत बड़ी मस्त लग रही है.

मैंने कोमल दीदी की चूत की गहराई में लंड डाल दिया और धक्के लगाने लगा.

अब मेरी जान इसी तरह मुझे हर रोज प्यार और खुशी देते रहना मेरे राजा आह … मजा आ रहा है. उनका शरीर देख कर अच्छों अच्छों के लण्ड खड़े हो जाएं … खासकर उनके बूब्स देख कर!पर वो नेचर से कड़क थी.

भाभी को मैंने ठीक से बिस्तर में लेटा दिया और खुद उनकी दोनों टांगों के बीच में आ गया. उसका एक हाथ पकड़ कर मैंने अपने लोअर के ऊपर से लंड पकड़ा दिया पर ज्योति ने उसे छोड़ दिया. मेरी सोसाइटी में गिनती के सात घर थे, उसमें से दो घर बंद ही रहते थे.

सोच अगर मैं मेरा इतना बड़ा लंड तेरी चूत में डालूंगा, तो तुझे कितना मजा आएगा. उसके हाथ साफ़ करवाते हुए मैंने उसके होंठों पर गीले हाथ फेरे और मुँह की सफाई करते हुए उससे पूछा- अब तुमको नींद आ रही होगी. इस सेक्स विद टीचर कहानी में मेरा नाम के अलावा सब कुछ शहर और मोहल्ले का नाम भी सच है।यह बात सन 2003-04 की है.

भोजपुरी सेक्सी बीएफ बीएफ कभी कभी सुबह सुबह निकिता मुझे गुड मॉर्निंग बोलने मेरे रूम पर आने लगी. थोड़ी देर में हम दोनों रूम के अन्दर आ गई और दरवाजा लगाते ही बिना किसी देरी के हमने अपने कपड़े वहीं उतार दिए, एक दूसरी से लिपट कर चूमने लगी और हमारे हाथ भी अपना काम बखूबी से करने लगे.

सेक्सी फिल्म चूत वीडियो

मैं नहा कर ऊपर गई तो देखा कि विशु मोबाइल में पोर्न देख रहा था और दबी आवाज में ‘रिंकी दीदी … आंह रिंकी …’ बोल बोलकर अपने लंड को सहला रहा था. दीप्ति- क्या कर रहे हो?मैं- तुम्हें इस अवस्था में देखकर मेरा फिर से मूड बन गया है. मैंने भी लंड पेलते हुए कहने लगा- हां अम्मी, मुझसे आपका दुःख देखा नहीं जाता था.

अगली बार में मैं आपको एक विदेशी लंड से अपनी बीवी अनिता की चुदाई की कहानी लिखूँगा. [emailprotected]सेक्सी लड़की की चूत चुदाई कहानी का अगला भाग:दिल्ली में मिली लड़की की चूत गांड की चुदाई- 2. सेक्सी टार्जनआह दोस्तो … क्या मुलायम मम्मे थे!मैंने एसा अनुभव पहली बार किया तो मुझे बहुत अच्छा लगा.

तो मैंने उस मैकेनिक को कॉल किया और उसको बताया- पुणे से दस किलोमीटर दूर पर एक महिला की कार बंद हो गई है.

मैंने हंस कर कहा- हां, हम दोनों का भी मूड कुछ ऐसा ही है … क्यों न हम चारों मिल कर मस्ती करते हैं. अंतत: मुझे सोम और रणवीर की सलाह ये मिली कि यदि मुझको पुरुष वेश्या बनना है तो आंटी से ट्रेनिंग ले लेना चाहिए.

तो मैंने कैसे अपनी प्रेमिका की बहन को चोदा?दोस्तो, मेरा नाम समीर खान है. मैं उसके कहे अनुसार कार को चैक करने लगा और कार ठीक करने की कोशिश की. उन्होंने पहले मुझे गौर से देखा, फिर एक प्यारी सी स्माइल देकर थैंक्यू कहा.

उसी बीच मैंने अपने एक हाथ से भाभी के पेटीकोट के नाड़ा ढीला कर दिया और उसको खोल कर अलग कर दिया.

मैं अभी कुछ सोच पाती कि उसके लंड ने उल्टी करना शुरू कर दी और लंड का वीर्य एकदम से निकला. दादा जी के जाते ही लड़के 11 बजे तक आ जाते और 4 से 5 के अन्दर अन्दर चले जाते थे. मेरा लन्ड फच फ़च की आवाज़ के साथ तेज़ी से अन्दर बाहर हो रहा था।अब तो वो भी अपनी जीभ मेरी जीभ के साथ लड़ाने लग गई थी.

देहाती विलेज सेक्सी वीडियोकुछ देर बाद हम दोनों 69 में आ गईं और फिर से एक दूसरे की चूत का स्वाद लेने लगीं. रियासत में कोई भी नया माल यानि किसी की भी बहन बहु-बेटी दिख गई तो ठाकुर उसको उठा लेता और 2-3 दिन, जब तक उसका मन नहीं भर जाता, उसको सुबह शाम चोदता था.

नंगी भाभी की चुदाई सेक्सी

करीब 10 मिनट तक चली जबरदस्त चुदाई के बाद मैं भी झड़ने वाला था, मैंने अपना सारा गाढ़ा माल उसकी चूत में ही निकाल दिया।5 मिनट तक मैं उसके नंगे जिस्म के ऊपर ही लेटा रहा और उसके बोबे चूसता रहा।अब मैंने उससे उसकी गांड मारने को बोला. भाभी ने इठला कर अपने मम्मे हिलाए और कहा- क्या हुआ मेरी जान … इन्हें बस देखते ही रहोगे क्या? जल्दी से आगे बढ़ो ना यार!मैं समझ गया कि इस समय भाभी बहुत गर्म हो गई थीं, उनको सब कुछ जल्दी-जल्दी करने का मन हो रहा था. चल आ जा!मेरी मॉम अब्दुल के पास आ गईं और अपने हाथों से अब्दुल के लंड को सहलाने लगीं और बालिश्त लगा कर लंड को नापने लगीं.

मैं चाहती तो उसी वक्त पर्दे के पीछे से निकल कर उसके सामने आ सकती थी. मैंने उसे यूं ही अपनी गोद में सोने को बोल दिया और वो मेरे एक थन को अपने होंठों में दबाए सो गया. मैंने ऐसी चुदाई पहले सिर्फ पोर्न में देखी थी, आज सामने से भी देख ली, वो भी अपनी मॉम की चुदाई.

जैसे ही मैं वहां से निकलने को हुआ, तो भाभी जी ने मुझे पीछे से रोका और कहा- आप अपना नंबर तो दे दो. थोड़ी देर बाद भाभी की आवाज आई- इतनी हिम्मत है?मैंने कहा- अभी तुमने मेरी हिम्मत देखी कहां है. आज सवेरे हम दोनों मियां बीवी यहां समन्दर के किनारे आ गए तो आप लोग मिल गए.

मैं अपने माता पिता की एकलौता पुत्र होने के कारण गांव में और रिश्तेदारों में भी मेरा बहुत अच्छा सा वर्चस्व हो गया था. ममता ने उसका हाथ पकड़कर बेड पर बिठा लिया और बोली- कुक्कू, आज का दिन तुम्हारे लिए काफी यादगार होने वाला है.

इस लड़के से चोदते चोदते कब शाम हो गई, पता ही नहीं चला।मैं जैसे तैसे सामान बांधकर जाने लगी और कैंप वाली जगह पर जाकर देखा तो सब बंद हो गया था और सब जा चुके थे।मैंने अपने दोस्तों को कॉल करना चाहा तो पता चला कि मेरे मोबाइल में कुछ भी सिगनल नहीं है जिसके कारण कोई मुझे कॉन्टैक्ट नहीं कर पाया होगा और मेरे बिना ही चले गए होंगे।इस सारी पंचायत में अंधेरा हो गया था.

भाभी कामुक सिसकारियां ले रही थीं- आह … उफ्फ … आराम से करो न रुद्र … दर्द हो रहा है. सेक्सी बीपी सेक्सी बीपी सेक्सी बीपीमैं पहले पार्लर गयी, वहां अच्छे से मेकअप करवाया और वैक्सिंग भी करवा ली. लैंड मार्क क्या हैवह प्यार से आहें भरते हुए कहने लगी- भैया, अब मत तड़पाओ, अब बस चोद दो।मैंने ज्योति की बातों पर ध्यान ना देते हुए उसकी चूचियों को मसलना चालू रखा. भाभी अपनी चूची मेरे मुँह से चुसवाती हुई बोलीं- आंह सागर … इसका पूरा दूध पी जाओ … आह मसल दो इन्हें … ये मुझे बहुत परेशान करती हैं आह आज खूब पियो इनको … मुझे बहुत मज़ा आ रहा है.

उन्हीं दिनों मेरे देवर के रिश्ते की बात चल रही थी जो बाद में किसी वजह से टूट गई.

मम्मी लगातार सीत्कार भर रही थीं और अपने ही हाथों से अपने मम्मों को दबा रही थीं. भाभी मेरा मुँह देखने लगीं, लेकिन मूड उनका भी बन रहा था तो उन्होंने कहा- ठीक है. सारे काम के साथ साथ डेरी से दूध लाने का काम भी मेरे हिस्से में आ गया था.

डॉक्टर ने चुत शब्द सुना तो एकदम से बोला- ये गड़बड़ बात है … उधर तो जलन नहीं होनी चाहिए. इस बात के बेसिस पर मैं कह सकती हूं उस वक्त उसका लंड 7 इंच का रहा होगा. अनन्या- मेरी एक हेल्प करोगे!मैं- बोलो क्या करना है?अनन्या- अभी नहीं, रात को बताऊंगी.

सेक्सी इंग्लिश पिक्चर सेक्सी पिक्चर

आपको मेरी BDSM यूरिन सेक्स कहानी पर क्या कहना है, प्लीज़ मुझे मेल करें. उसकी गर्म सिसकारियों और उनकी बातों से मुझे बहुत ज्यादा जोश चढ़ने लगा. जब ज्योति उठी तो देखा बेडशीट पर खून लगा था और उसकी चूत सूजी हुई थी.

अब आधे घंटे बाद पापा उठे और दीदी के बेड पर चले गए और उनके बगल में लेट गए.

दोस्तो, सेक्स में सबसे ज्यादा मजा आता है, जब साथी भी उन्मुक्त होता है और कहता है कि जो चाहो कर लो.

मैं दस बजे के करीब उसके कमरे में एक बहुत ही पारदर्शी नाइटी पहन कर गई. थोड़ी देर में हम दोनों रूम के अन्दर आ गई और दरवाजा लगाते ही बिना किसी देरी के हमने अपने कपड़े वहीं उतार दिए, एक दूसरी से लिपट कर चूमने लगी और हमारे हाथ भी अपना काम बखूबी से करने लगे. फुल सेक्सी वीडियो हदमम्मी- इतनी दूर क्यों बैठे हो, पास आ जाओ न!चाचा थोड़ा झिझकते हुए मम्मी के पास सरक आए.

मैंने अपने टॉप का निचला बटन खोला और एक चूचा निकाल कर प्रसाद के मुँह में दे दिया. मैं उसको फिर से बहुत जोर जोर से चोदने लगा, जिससे हमारे पूरे रूम में फच्च फच्च की आवाज आने लगी. बाबा आगे बोले- और आज से जरा जल्दी सुबह के समय आना, जिससे शाम तक तू अपने घर वापस जा सके.

मैंने मिताली की दोनों टांगें उठाकर अपने कंधे पर पर रख लीं और लंड को जोर जोर से अन्दर बाहर करने लगा. गुल्लू- अच्छा, तो अब मैं इसे चूसूं और फिर तुम बोलोगे शायद चोदने से ये दर्द ठीक हो जाए, तो मुझसे चुदने के लिए भी कहोगे.

फिर मैडम से पूछा- कहां चलना है?तो वो बोलीं- शिमला जाना है या जहां तुम चाहो.

कल्पेश ने नीचे नीचे बैठ कर मीरा की ड्रेस ऊपर की और उसकी पैंटी निकाल दी. इस उल्टी पोजीशन में लंड पिलाई से लंड में दर्द हो रहा था मगर मजा भी बहुत आ रहा था. जब मेरी बुआ चलती थीं, तो एक टुकड़ा ऐसे दूसरे के ऊपर चढ़ जाता था जैसे कि भूखा शेर हिरण के ऊपर चढ़ कर उसको दबोच लेता है.

जंगली बिल्ली मैडम चिल्ला पड़ीं और हाथ से लंड हटाने लगीं जिसकी वजह से वो आगे की तरफ गिर गईं. वो लम्बी लम्बी सांस लेती हुई बोलीं- आह मजा आ गया बहू … तुझे यह सब का अनुभव कैसे है?मैं बोली- मम्मी स्टूडेंट लाइफ में मैं लेस्बियन रही हूँ.

वो शोख निगाहों से मुझसे बोली- अब बता कैसे हैं?मैंने कहा- एकदम धांसू हैं यार. उसने चूड़ियां पहनी हुई थीं तो वो जितनी तेजी से लंड हिला रही थी, उतनी जोर से छन छन की आवाज आ रही थी. मैंने दीदी से कहा- दीदी अब बोलो तो पूरा पेल दूँ?दीदी ने कहा- हां डलवाना तो पूरा ही है … लेकिन एक काम करो पहले मुझे पूरी तरह से पकड़ कर किस कर लो और जोर से पेल दो.

भूमिका चावला की सेक्सी फोटो

फिर मैंने कहा- ओके मम्मी, जांघों पर तो लगा दूँ?उन्होंने कहा- हां उधर लगा दे. उस लड़की की मम्मी उनसे बोलने लगी- वो लड़का कौन है … मेरे यहां क्या देख रहा था?भैया ने मुझे बुलाया और उस आंटी से पूछने लगे- क्या आप इसके बारे में पूछ रही हैं. मेरे बहुत से दोस्तों ने कहा कि किराए का रूम ले लेते हैं; वहीं पर हम सब साथ में रह लेंगे.

मैं उसके पूरे चूचों को अपने मुँह में भरकर खींच कर उसे मजा दे रहा था. इसके बाद मैंने उसकी चुत गांड को इतना मजा दिया कि वो मुझसे मिलते ही अपनीचुत गांड दोनों में लंडले लेती है.

तभी मैडम स्टाफ रूम के बाथरूम की ओर मुड़ीं और बॉथरूम के पास पहुंच कर मुझसे बोलीं- तुम अन्दर जाकर चैक करो, कोई है तो नहीं.

पांच मिनट बाद हम दोनों अलग हुए और गाड़ी में बैठ कर उनके घर की तरफ चल दिए. तभी फैसल ने कहा- चाची, भाभीजान शायद छत पर गई होंगी … और उन्हें आपकी आवाज नहीं सुनाई पड़ी होगी. मॉम ने मेरी तरफ हंस कर देखा और बोलीं- लव जा अपने दोस्तों की बात मान!मैं सामने जाकर बैठ गया.

मैंने उसे तुरंत बुलाया और उससे इधर उधर की बातें करने लगी ताकि मैं उसे ज्यादा समय तक मैं उसे अपने नंगे अंगों को दिखा पाऊं।ऐसे ही कुछ दिन और बीत गए पर बात अब भी बनती नज़र नहीं आ रही थी. भाभी बोलीं- लो दूध पी लो मेरे प्यारे देवर जी, तभी तो रात भर चोद पाओगे. मादक खुशबू और रोमांटिक गानों की वो धुन … और अचानक सौम्या मेरे सीने पर थी।मेरा बायाँ हाथ उसके सर पर था और दायां कमर में!मैं उसे और उसकी अंदर की तपन को अंतर्मन तक महसूस कर पा रहा था और मेरे शरीर में भी कुछ हलचल थी.

चूंकि कैमरे में सिर्फ सीन आ रहा था, आवाज नहीं आ रही थी, मैं झट से बाथरूम के दरवाजे के पास आकर उनकी आवाजें सुनने लगा तो वो मेरा ही नाम लेकर अपनी मुठ मार रही थीं.

भोजपुरी सेक्सी बीएफ बीएफ: हम दोनों पार्किंग में आए तो मोनिका ने पूछा- क्या हुआ परेशान क्यों है?मैं काफी संवेदनशील हूँ, ये मोनिका जानती है … इसलिए वो समझ गई. मैं अपने पति के साथ बिताये उन सुनहरे पलों को याद करते करते अपनी उंगली को अपनी चूत के अन्दर बाहर करने लगी.

हैलो फ्रेंड्स, मैं अक्की एक बार फिर से अपनी दीदी की दमदार चूत चुदाई की कहानी में आपका स्वागत करता हूँ. हॉट साली की कहानी में पढ़ें कि मेरी साली मेरे साथ मेरे घर में अकेली थी और लॉकडाउन लग गया. वो पूरी दुल्हन की तरह सजी हुई थीं और रूम को गुलाब के फूलों से सजा रखा था.

मैं सोच रहा था कि ऐसा क्या करूं, जिससे मेरे अंडकोषों में दर्द न हो.

पर जब उसकी तरफ से कोई हलचल न हुई तो मेरी हिम्मत और बढ़ी; मैंने दूसरा हाथ भी मम्मे पर रखा और उन्हें ऊपर से ही दबाने लगा. मैं अपना मोबाईल चला रही थी और भाई अपना!कुछ देर तक ऐसे ही हिचकिचाहट के कारण चलता रहा, कुछ नहीं हुआ. चाचा की लड़कियों में सबसे बड़ी का नाम सपना, दूसरी हीर, तीसरी वैशाली और चौथी का नाम माया था.