छोटी लड़कियों की बीएफ पिक्चर

छवि स्रोत,बाप बेटी एक्स

तस्वीर का शीर्षक ,

नंगी वाली बीएफ पिक्चर: छोटी लड़कियों की बीएफ पिक्चर, अंकल से रहा नहीं गया और उन्होंने मेरे दोनों नंगे कंधों से मुझे पकड़ कर अपनी छाती से लगा लिया.

ट्रिपल एक्स सेक्स फिल्म

न मुझे पलंग की जरूरत थी न किसी बर्तन वगैरह की।बेडरूम में एक शानदार डबल बेड और एयर कंडीशनर सभी कुछ तैयार था। मुझे पूरा भरोसा हो गया कि उनको पता था कि मैं जरूर यहाँ रहने के लिए मान जाऊँगी। इसलिए उन्होंने पहले से ही सारा इंतजाम कर दिया था।मुझे वहाँ रहते दो दिन ही हुए थे कि सुबह सुबह उनका फोन आया और उन्होंने बताया कि वो किसी जरूरी काम से बाहर गए हैं और वापस आते ही मेरे साथ कुछ समय बिताएंगे. गुजरातीभाभीएक बार मुझे 50 हजार रुपये की जरूरत पड़ी तो मैंने उससे मेरी मदद करने के लिए कहा.

वो मेरी गर्दन को चूमने लगा और मैं उसके होंठों के नर्म चुम्बनों से मदहोश सी होने लगी. लेडीस के सेक्समेरे कदम अपने आप शैली की तरफ बढ़ गए हर कदम के साथ उसके शरीर से उठती लहर की तरह वह खुशबू मुझमें और जोश भर रही थी.

मैंने उनसे कहा- क्या विचार है, लेना है या मुँह से ही चुसवा कर काम खत्म कर दूँ?वो बोले- बेटा, अभी तो मुँह से ही चूस ले … बड़ा मजा आ रहा है.छोटी लड़कियों की बीएफ पिक्चर: वो बोला- वो मेरी स्पेशल वाली कोल्डड्रिंक है, बाजार में नहीं मिलती है.

अनामिका को निप्पल काटे जाने से मीठा दर्द हुआ तो वो सिसयायी- आह कमीनी … प्यार से चूस वैसे चूस ना जैसे अंगूर चूसे जाते हैं.इन्द्रेश अंकल लगभग रोते हुए अपने लंड को मां बहन करवा रहे थे- आह सन्ध्या भाभी, प्लीज़ थोड़ा आहिस्ता करो … मेरा लौड़ा दु:ख रहा है.

कॉलेज गर्ल्स एक्स एक्स वीडियो - छोटी लड़कियों की बीएफ पिक्चर

वो हर बार मुझे यही भरोसा दिलाती कि वो जल्दी ही मेरे पास हमेशा के लिए आ जाएगी.थोड़ी देर मैं जब मैं उसके ऊपर से हटने लगा, तो उसने मुझे हटने नहीं दिया और जोर जोर से मुझे चूमने लगी- भैया आई लव यू … लव यू आप सिर्फ मेरे हो.

इसी बीच सोनी की एक बचपन की सहेली, जो हम दोनों के बारे में शुरू से जानती थी, उसने भी सोनी को समझाया कि वो अपने पापा से बात करे. छोटी लड़कियों की बीएफ पिक्चर हालांकि उसका फिगर समीना से अच्छा था, पर समीना पूरी गोरी थी और रीता सांवली थी.

अब मैं खड़ा हो गया और उसका हाथ अपनी कमर पर रख दिया।वो मुझे चूमने लगी.

छोटी लड़कियों की बीएफ पिक्चर?

साला ऐसे सोनी की चूत चाट रहा था जैसे पता नहीं उसमें से शहद निकल रहा हो।फिर अचानक कुछ ऐसा हुआ कि मैं भी हैरान रह गया. मैंने कहा- चिंता मत करो जान … इसी के साथ लिटा कर तुम्हें भी चोद दूँगा. मैं बोली- आगे भी मुझे ही बताना पड़ेगा या तुम भी कुछ करोगे?विपिन मुस्कुराया और बोला- नहीं दीदी अब मैं अपने आप कर लूंगा.

मुझे डर भी लग रहा था और एग्ज़ाइट्मेंट भी थी कि पहली बार एक गैर से चुदने में क्या होगा और कैसे होगा. इसी बीच उसमें से एक लड़का मेरे सामने से आया और एकदम से मेरे सीने से चिपक गया. अंत में वह अपनी वासना के आगे झुक गई और उसने मुझे अपने घर बुला ही लिया.

अभी मेरा तो छूटा नहीं था इसलिए जोश ऐसा था कि मौनी की चूत के चिथड़े उड़ा दूं मगर मैं मौके की नजाकत को जानता था. मैंने उनकी ख़ुशी का कारण पूछा, तो उन्होंने बताया कि आजकल के लड़के तो बस लड़कियों के कपड़े उतारना जानते हैं मगर तुम मुझे कपड़े पहना भी रहे हो. उसे देखकर वो मुस्करा गयी और फिर उसने मेरी गर्दन पर चुम्बन करना शुरू कर दिया.

मेरी आंखें बंद हो गई मैं जोर से चिल्ला उठी- उफ़्फ़ विजय … मर जाऊंगी मैं!मैं जल्द से जल्द बजे का मोटा लंड देखना चाह रही थी. मैंने कहा- यामिना, मैं किसी को नहीं बताऊँगा और रही बात पेमेंट की तो वह बाद में सोचेंगे.

सलमान भाई रिहा हो गए, तो पैसे की वजह से, भगवान सही में अपने गधों को हलवा खिलाता है.

वो भी अपनी गांड उठाकर मेरे लंड को पूरा अपनी चूत में घुसाने लगी थीं.

हैलो फ्रेंड्स, मैं जय फिर से आपकी चुदाई की आग को ठंडा करने के लिए हाजिर हूँ. ‘अंकल आप अरेंज कर लो प्लीज, मेरी जॉब के चक्कर में मेरे पास टाइम नहीं मिलता है … और ऊपर से लाइन में लगना आजकल रिस्की सा मैटर है. फिर उसका मोटा लौड़ा अपने मुँह में लेकर मैं लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी.

आप इस वर्जिन पुसी Xxx कहानी पर अपनी राय मुझे कमेंट्स और मेल में बताएं. बैठने के बाद मैंने कहा- अगर आप चाहो तो ये खुशकिस्मत पांव आपके घर पर ही रह सकते हैं. वो बोली- मैं वापस इसलिए नहीं गयी कि शाम को किसी से अकेले में मिलना चाह रही थी, वो मिले नहीं, इसलिए रात में वहीं रूक गयी.

मेरे और ममता‌ जी‌ के सम्बन्धों के बारे में ज्यादा जानने के लिए आप‌ मेरी एकपुरानी सेक्स कहानी‌ पढ़ सकते हैं.

मैं इतना सुनते ही उठकर उसके बाजू में बैठ गया और एक दिया उसके हाथों में देकर कहा- आंखें बंद करके इसे पकड़े रखो … ताकि प्रेत तुम्हारे शरीर को ज़्यादा छुए नहीं. मैंने कहा- क्या कभी तुम्हारी चूत को किसी ने चूमा है?वो चौंक गयी, बोली- छी: … वहां कोई क्यों चूमेगा? चूमने के लिए ये होंठ हैं ना!मैंने बोला- लड़की के पास दो किस्म के होंठ होते है और आदमी का फ़र्ज़ बनता है कि वो इन दोनों होंठों के बीच कोई फर्क न करे. सामने एक सम्पूर्ण नारी को देखकर हृदय के किसी कोने से आकर्षित होने वाली भावनाओं की अनुभूति सी हुई।सिर से पैर तक रतिरूपी नारी को इतने पास से देखकर कामदेव ने भी कोई कसर नहीं छोड़ी।यह थी रेनू … मेरे दूर के चाचा के बेटे वैभव की पत्नी.

कसरत के समय मैं बिना टी-शर्ट के कसरत करता रहता था, जिसे वो भाभी और उनकी किरायेदार लड़कियां देखती रहती थीं. इतने में हेलीमा मेरे को पीछे से पकड़ कर मुझे गर्दन पर किस करने लगी, तो मैंने हेलीमा को गुलजान के मुँह पर बैठा दिया और गुलजान उसकी चूत चाटने लगी. नीचे पतली सी गोरी कमर उसकी मोटी चिकनी जांघें और बीच में हल्के भूरे गुलाबी रंग की छोटी सी चूत मुझे मदमस्त किये दे रही थी.

अब रेनू के लिए एक साथ योनि मुखमैथुन और गुदामैथुन सहन करना मुश्किल हो रहा था।फिर मैंने उसकी गुदा में दो उंगलियां घुसा दीं.

मैंने चॉकलेट बोतल मेज पर रखी और दरवाजा बंद करके उस छोटे से बॉक्स को खोला, तो उसमें काले रंग की जालीदार ब्रा पैंटी थी. उसे बेड पर लेटाकर उसका एक चूचा पकड़ा और दूसरे को मुंह में लेकर जोर जोर से पीने लगा.

छोटी लड़कियों की बीएफ पिक्चर वादा नहीं भी किया होता, तो भी तुम जब भी बोलते, तब मेरे जिस्म का हर एक हिस्सा तुम्हारे लिए हाजिर है. मैंने उसे पीछे से बांहों में ले लिया- ज़ारा!ज़ारा- बोलो!मैं- नाराज हो?ज़ारा- मेरी नाराजगी से आपको क्या फर्क पड़ता है?मैं- यार मुझे तुम रूठी हुयीं बिल्कुल अच्छी नहीं लगतीं.

छोटी लड़कियों की बीएफ पिक्चर यह देख कर एक दूसरे लड़के ने मेरी बीवी को चुदाई की पोजीशन में कर दिया और उसकी चूत में लंड डालने लगा. उसने एक मिनट बाद अपना सारा वीर्य संजू के मुँह में उड़ेल दिया, जिसे संजू मजे से पी गई.

मैंने उसे थोड़ी सी जगह दी, तो वो मेरे लंड को आगे पीछे करते हुए लंड की मुठ मारने लगी.

देसी सेक्सी वीडियो पिक्चर

वो शरीर का काफ़ी तगड़ा है और वो ज्यादांतर ग़ांज़ा फूंकने वालों के साथ रहता था. सबसे पहले जिस लड़के ने अपना 8 इंच लंबा और 3 इंच मोटा लंड मेरी बीवी की चूत में पेला हुआ था, उसने मेरी बीवी की टांगें अपने कंधे पर रख लीं और उसकी चूत पर ताबड़तोड़ झटके देने शुरू कर दिए. मैंने कई बार अपनी मॉम को नंगी नहाते हुए देखा है और मैं रोज उनके नाम की मुठ मारता हूँ.

मैंने हर तरह से उसके होंठों को किस किया, फिर मैंने बूब्स पर ध्यान केंद्रित किया और एक एक करके मैंने दोनों मम्मों को चूसना शुरू कर दिया. यह मेरी खुशनसीबी थी कि मैंने पहले दिन से ही उसके दिल में जगह बना ली थी. काम खत्म करके हमने दिन में जयपुर घूमा और रात का खाना खाकर होटल आ गए.

दोनों ने एक दूसरे के लिए ब्रा पैंटी सिलेक्ट की, जिसमें थोंग पैंटी, पुश अप ब्रा और कुछ रेग्युलर ब्रा पैंटी भी, जो बस पीरियड के समय में ही काम आती हैं.

एकांत के क्षणों में तो कामदेव वासना के रथ पर सवार रहते हैं।वो चली गयी लेकिन जैसे मेरी आत्मा को साथ ले गयी. भाभी ने मेरी बात पर पहले तो बनावटी गुस्सा दिखाया और फिर अंदर किचन में मजाक में डांटते हुए चली गयी. जो आकर्षण एक अरसे से दबा हुआ था वो बाहर आने को मचलने लगा। मैंने उसे व्हाट्सएप पर फॉलो करना शुरू कर दिया.

मैं मुस्कुरा दी और मैंने कहा- तू भी दे दिया कर … गाली के साथ चुदाई में ज्यादा मजा आता है. अगले ही पल मेरे होंठों ने जौहरा के होंठों को अपनी गिरफ्त में ले लिए और मैंने अपनी जीभ उसके मुँह में डाल दी. उसके बाद मैंने चूची छोड़ी और अपना कच्छा नीचे करके खड़ा हो गया और उससे कहा- मेरा लंड चूस अब।मौनी घुटनों पर बैठ गयी और लंड को मुंह में लेने लगी.

उधर मैंने देखा संजू की गांड में विक्रम अपना लंड घुसा कर बहुत जोर जोर से चोद रहा था. जब राज धक्के लगा रहा था तो जय का लंड भी मेरी गांड के छेद में टकरा जाता था.

‘कुछ नहीं … बस प्यार कर रहा हूँ!’मैंने भी थोड़ा जोर से उंची आवाज में कहा … ताकि शायरा मेरी आवाज पहचान‌ ले और हमें चोर समझकर वो शोर ना मचाए. उसे कुछ दर्द हो रहा था लेकिन कुछ ही देर में चुत ने लंड के लिए जगह बना दी थी और उसने भी नीचे से ठुमके लगाना शुरू कर दिए थे. मगर सुरेश ने सोनी की टांग पकड़ कर उसे टेबल के नीचे से बाहर निकाल लिया.

आंटी ने पीहू को बुलाया और बोल दिया- तुम कान्हा के साथ जाओ और कोई अच्छा सा मैरिज प्लेस बुक कर लो.

मेरा हॉट कॉलेज गर्ल फक़ कहानी आपको कैसी लगी? मुझे आप मेल करके जरूर बताइएगा. लगभग 20-25 मिनट बाद मैंने कहा- ये सब चीज की पर्मिशन नहीं लेते, जो करना होता हैं, कर देते हैं. बल्कि लड़कियों की गांड मारना और उनके दूध मसलना ज्यादा पसंद हैं बजाए उनकी चूत चुदाई के.

मैंने कहा- आपने कभी मुझसे कहा नहीं था बुआ … आज जैसे ऑफर पहले दे देतीं, तो अब तक कभी का मजा ले चुकी होतीं. फिर चलती गाड़ी में मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिये और उन्हें चूमने लगा। वो भी मेरा पूरा साथ दे रही थी।फिर कुछ पल बाद वो बोली- जल्दी चलो, नहीं तो फिर देर हो जाएगी।मैंने गाड़ी फुल स्पीड पर भगा दी।थोड़ी देर बाद ही मीना के पति का फोन आया तो मीना ने कहा कि वो पानीपत बस अड्डे से करनाल वाली बस में बैठी है। करनाल से आगे की बस पकड़ लेगी.

मैंने उसे थोड़ी सी जगह दी, तो वो मेरे लंड को आगे पीछे करते हुए लंड की मुठ मारने लगी. मैं सिमरन … आप सबने मेरी पिछली कहानीइंडियन बीडीएसएम गर्ल का कॉर्पोरेट बॉय संग मजापढ़ कर मजा लिया. चूत को हथेली से रगड़ते ही उसने अपनी चूत को मेरी हथेली पर जोर लगाकर दबाना शुरू कर दिया और वो सिसकारते हुए बोली- कर दो यार … कर दो प्लीज … अब मेरे से बर्दाश्त नहीं हो रहा है.

बड़ी साली की चुदाई

रास्ते में हमेशा की तरह उन्होंने मुझे चॉकलेट कैंडी और लॉलीपॉप दिलाई और कहा- आज तुझे बड़ी वाली लॉलीपॉप भी चुसाऊंगा.

अब उसकी ब्रा और पैंटी को उतरवा कर मैंने भी उसको पूरी की पूरी नंगी कर दिया. अब मेरे देखने लायक कुछ भी नहीं बचा था मगर फिर भी मैं सुरेश का मुर्झाया हुआ लंड देखना चाहता था।कुछ देर बाद सुरेश का लंड जब मेरी बेटी की चूत से बाहर निकला तो ऐसे लग रहा था जैसे किसी कोबरा सांप की खाल छील दी गयी हो. गिलास पकड़ने की बजाए उसने अपना मुँह आगे किया और अपने गुलाबी होंठ गिलास पर चिपका दिए.

मगर प्रियंका ने सीधे उसके दूसरे निप्पल को होंठों में दबा लिया और उसे चूसते हुए काटने सी लगी. तुम मेरा हर काम करते हो तो मैं भी इतना कर ही सकती हूं कि अपने भाई का लंड चूस लूं. बीएफ दिखाएं बीएफ दिखाएंउसकी सुन्दरता पर मैं ऐसा मोहित हुआ कि …‘नमस्ते भईया!’एक दिन एक आवाज़ मेरे कानों में पड़ी.

मैंने चॉकलेट बोतल मेज पर रखी और दरवाजा बंद करके उस छोटे से बॉक्स को खोला, तो उसमें काले रंग की जालीदार ब्रा पैंटी थी. मैंने कहा- तुम्हारी मसाज की जा रही थी इसलिए तुम्हें कपड़े निकालने थे.

जिस आफिस में मैंने जॉइन किया वह सबका कंट्रोल ऑफिस था और उसमें मेरे नीचे 8 का स्टाफ था जिनमें 2 लड़के और 6 लड़कियां थीं. मैंने उसकी चूत में नीचे से थोड़ा झुककर लंड को चढ़ाया और फिर उसको अपने सीने से चिपका लिया. उन्हीं साहब ने मेरे पूछने पर बताया कि इसमें क्या क्या जरूरी है- दौड़, लम्बी कूद, ऊंची कूद और सामान्य ज्ञान आदि के लिखित पेपर.

उससे दो चार बार मिलना होगा, धीरे धीरे उससे खुलना होगा और इसके लिए बातों को सिलसिला मुझे ही चालू रखना होगा. मैंने उसके गालों को चूमते हुए उससे कहा- थोड़ी बहुत तकलीफ होगी, तुम सह लेना … फिर कुछ ही देर में सब ठीक हो जाएगा. उसकी कामुक आवाज सुनकर मैंने चूचों पर जीभ फिराई और आंख खोल कर उसे देखने लगा.

जब वो चलती है तो उनकी गांड के दोनों पलड़े जबरदस्त हिलते हैं जिनको देख कर बूढ़े के लंड में भी जान आ जाए.

मैंने कहा- हां मुझे पता है कि औरतें बैठकर मूतती हैं, लेकिन मुझे तुम्हें खड़े होकर मूतते हुए देखना है. ममता‌ का आशय मैं समझ‌ गया था इसलिए मैंने अब उनकी चुत को ही चूमना और चाटना शुरू कर दिया, साथ ही साथ ही मैंने ममता को खींचकर थोड़ा सा टेढ़ा भी कर लिया ताकि शायरा भी मुझे ममता की चुत को चाटते हुए अच्छे से देख सके.

अनामिका हंस कर बोली- ये हुई ना बात … अब मेरे हाथ भी खोल दे जल्दी से प्लीज. थोड़ी देर चुत चाटने के बाद मैंने अपना लंड भाभी की चुत में पेल दिया और धक्के लगाने लगा. सभी लोग मेरी मॉम को गंदी नज़र से देखने लगे थे क्योंकि मेरी मॉम सुबह झाड़ू लगाने जब बाहर जाती थीं, तब लोग मेरी मॉम की चूचियां जो शर्ट से बाहर झाँक रही होती थीं, उन्हें देख कर लंड हिलाने लगते थे.

मैं- अरे मेरी जान चुचे चूसना और उनका दूध पीना मेरी कमज़ोरी है, लेकिन उनसे दूध पीकर मैं पूरी रात चोद सकता हूँ. आंटी उस समय जब गिरी थीं तब मेरे इतने पास थीं कि उनके बड़े बड़े दूध मुझे बड़ा ही आकर्षित कर रहे थे, काश मैं अपने हाथ में एक को पकड़ पाता. अब भाभी की चूचियां एकदम से तनकर कसाव में आ गयी थीं और निप्पल कड़क हो गये थे.

छोटी लड़कियों की बीएफ पिक्चर वह आगे कहने लगी- लेकिन साहब … एक तो मैं पैसा नहीं लूँगी, दूसरा मेरी एक रिक्वेस्ट है कि यह बात हम दोनों में ही रहेगी. उसने मादक सिसकारी भरी तो मैं उसके इस दूध को अपने मुँह में भर कर चूसने लगा.

सनी लियोन नंगी फोटो

उसकी चूत में लंड चलना शुरू हुआ तो मैं जैसे स्वर्ग के आनंद में खो गया. मुझे इस अवस्था में देख कर उनका चेहरा शर्म से लाल हो गया और अपना चेहरा अपने आंचल से ढक लिया. उन्होंने बड़े इत्मीनान के साथ अपनी तीन उंगलियों को मेरी चूत के भीतर घुसेड़ दीं.

मैंने धीरू अंकल को कहा- भोसड़ी के … मेरी गांड भी फाड़ेगा क्या मादरचोद बहन के लोड़े? धीरे-धीरे चोद ना!मगर धीरू अंकल पर तो किसी बात का कोई असर था ही नहीं!उन्होंने दूसरे झटके में पूरा लंड मेरी गांड में उतार दिया और जोर जोर से धक्के देने लगे. एक दूसरे की बांहों में खड़े हम वासना के पंछी अपना सामान भी ठीक से नहीं रख सके थे. गांव की भाभियों की चुदाईलेकिन मेरा ये पहली बार होने के कारण मैं 30-35 धक्कों में ही झड़ गया.

ये सब सोचते सोचते मैं काफी देर तक जागता रहा … और फिर पता नहीं कब मुझे नींद आ गयी.

वो गपागप … गपागप … लंड चूस रही थी।मैंने 2 उंगलियों से चोदना शुरू कर दिया. आंखें बंद करके अंकल सिसकारी लेने लगे- हां बेटा चूस चूस … आह बेटा चूसो और चूसो अपने अंकल का लंड!अंकल के लंड से एक अजीब सी लेकिन बहुत ही प्यारी सी खुशबू आ रही थी.

जानू आज रात नहीं, आज मैं बहुत थक गया हूं … और अगर आज हम चुदाई करेंगे तो मैं तुझे चुदाई का पूरा मजा नहीं दे पाऊंगा. मैंने उसकी आंखों में झांका और झट से उसके दूसरे चूचे को अपने मुँह में भर लिया. यह सारी सेक्स कहानी समीना की बेटी को हमारी चुदाई देखने की पहले की है.

इससे हेलीमा की मादक सिसकारी निकल जाती और वो अपने हाथों से गुलजान की चुचियों को ज़ोर से दबा दे रही थी.

करीब आधा घंटे बाद हम दोनों संतृप्त होकर वापस कपड़े पहन कर गाड़ी में आ गए. अब उन्होंने मेरे लोअर के अन्दर हाथ डालकर मेरे लंड को दबाया और उसे आगे पीछे करने लगीं. मतलब गांड मराने का शौकीन हूँ … साधारण भाषा में मुझे आप गांडू कह लीजिए.

ब्लू पिक्चर सेक्सी मद्रासीमैंने अपनी दो उंगलियों से उसकी चूत की फांकों को अलग किया और अपनी जीभ को नुकीला करते हुए उसकी चूत में घुसेड़ दिया. मेरे धक्कों के गांड पर लगने से पूरे कमरे में चट्ट चट्ट की आवाज़ आने लगी.

हिंदी सेक्सी चुदाई वाली पिक्चर

मैं लंड को सहलाने लगा और फिर अंडरवियर में हाथ डालकर मुट्ठ ही मारने लग गया. बीस झटकों के बाद जब मेरा रस आने वाला हुआ तो मैंने लंड बाहर निकाल लिया. अपना लण्ड मैंने मामी की चूत के मुखद्वार पर रखा तो मामी करवट बदलकर सीधी हो गईं और बेसुध हालत में पीठ के बल लेट गईं.

मुझकोलंड का मालपीना बहुत पसंद है, एकदम नमकीन सा बहुत अच्छा लगता है. पहले मैंने एक उंगली उसकी गांड में डाली, एक उंगली चूत में डाली और दोनों उंगली को अन्दर हिलाने लगा. रचना ने मेरा खड़ा लंड देखा- बेबी, लगता है मेरे बाबूराव को आज नींद नहीं आ रही है.

सुरेश ने सोनी को बेड के किनारे पर घुटनों के बल मेंढक की तरह होकर गांड ऊपर उठाने को कहा. मगर उस पर गुस्सा भी आ रहा था कि जब वो ही मुझसे बात नहीं कर रही तो मैं क्यों करूं?आखिर मुझे थप्पड़ भी तो उसने ही मारा था. मैं भाभी पुसी चाटने में लगा रहा और थोड़ी ही देर में भाभी ‘ऊंह अक्की ऊम्म्म … मर गई … आंह …’ बोलती हुई मेरे मुँह पर झड़ गईं.

फिर दो लड़के सामने सोफे पर बैठ कर आराम करने लगे और कुछ देर बाद नमन ने मॉम की टांगें खोल कर उनकी चूत पर लंड टिका दिया. अब मुझे मजा आने लगा क्योंकि अब मैं उसके हालात का सही तरीके से फायदा उठा सकती थी.

मैंने कहा- ठीक है अम्मा जी, कब निकलना है?वो बोलीं- आज 9 बजे वाली बस से जाना है.

वह मस्त होकर सिसकारने लगा- अरे सर … आह्ह … वाह … सर … आप तो लौंडों को गर्म कर देते हो. देहाती औरतों की चूत की चुदाईमुझसे रहा नहीं गया, मैंने उनका पेटीकोट निकाल दिया और उनकी टांगों के बीच में हाथ ले आया. एक्स एक्स एक्स सेक्सी बीपी ब्लूऔर मैंने तुरंत ताली बजा कर उसे जन्मदिन की बधाई दी।केक का एक टुकड़ा उसने अपने हाथों में लिया और अपने हाथों से मुझे खिलाया।मैंने भी उसे अपने हाथों से केक खिलाया।उस वक्त उसकी आँखों में आँसू आ गए और बहते आंसुओ के साथ उसने मुझसे कहा- अंकल, आप कितने अच्छे हैं. कुछ देर बाद रोहन ने उसकी चुत को चाटना शुरू कर दिया और मेरे मम्मों को दबाना शुरू कर दिया.

फिर तो बस एक पल एक दूसरे की आंखों में देखा और अगले ही पल हम दोनों एक दूसरे के होंठों को जोर जोर से किस करने लगे.

अब मैंने उसके सामने सिगरेट पीना भी शुरू कर दिया क्योंकि मां घर में नहीं होती थी तो मैं पी लेता था. और वो सिसकारने लगी थी- आह्ह … मार दी कती … आईई … आह्ह … रुक जा … आह्ह … स्स्स … मरगी मां … आह्ह … राज … चूस ले … आह्ह मजा आवै है … ओह्ह … चाटता रह।मौनी पूरी गर्म हो चुकी थी. इतने में नीता ने आवाज लगाई- सो गए क्या हर्षद?उसने मेरी तरफ देखकर कहा.

फिर तो बस उसने घुटनों के बल आगे पीछे सरकते हुए मेरी चुदाई शुरू कर दी. मैं भी डॉक्टर के यहां से बीमा प्रीमियम का चेक लाने जाने के लिए तैयार होने लगी. अपनी चूत की प्यास और अपनी फैंटेसी को पूरा करने के लिए मैंने कैसे उस जवान लड़के का फायदा उठाया?अन्तर्वासना x के सारे रीडर्स को मेरा हैलो.

मराठी साड़ी वाली की चुदाई

फिर मैं उसको वहां से दूर एक तरफ ले गया जहां पर कुछ पेड़ और झाड़ियां थीं. करीब आधे घंटे यूं ही लेटने के बाद मेरी आंख खुलीं तो अनामिका एक लॉन्ग टॉप पहने हुए थी. इस हॉट गर्ल सेक्स कहानी के पहले भागकमसिन पहाड़ी लड़की को चुदाई के लिए मनायामें आपने पढ़ा कि रंगोली मुझसे चुदने के लिए मेरे कमरे में आ गई थी.

इन सब बातों में मैंने आपको उनक नाम तो बताया ही नहीं!उनका नाम धीरेन्द्र प्रताप सिंह था.

करीब पंद्रह मिनट नाटक करने के बाद मैंने बुदबुदाते हुए कहा कि अब प्रेत मेरे शरीर में आ रहा है … लेकिन तुम डरना मत.

इतना कहते हुए मैं उसके ऊपर चढ़ गया और उसके होंठों को चूसते हुए उसके मम्मों को मसलने लगा. वो तड़पने लगी; सिसकारते हुए वो कहने लगी- आप जो कहेंगे सैयां जी, मैं वो करुँगी. हिंदी बीएफ हिंदी बीएफ सेक्सीअब आगे ट्रेन हॉट सेक्स कहानी:जैसे ही उसने अपना ये नया रूप मेरे सामने पेश किया, वैसे ही मेरे लौड़े ने अपना सर उठाकर उसके कामुक बदन को सलामी देना चालू कर दिया.

संजू बोली- हां वो तो है … लेकिन सुना है कि आपसे इस हब्शी लंड की वजह से रंडियां भी चुदने में खौफ खाती हैं. कमरे में पंखा चलने पर भी हम पसीने से तर थे और मैं भाभी के शरीर का पसीना भी चाट रहा था. फिर उसने मुझे पूरी नंगी कर दिया और मेरे पूरे बदन को चूमा-चाटा, मेरी चूत को भी चाटा.

मैंने कहा- इसका मैं क्या करूं?वो तुरंत बोली- वो ही, जो बाथरूम में मेरी रखी हुई पैंटी के साथ किया था. एक दिन बाद जब मैं सब काम सैट करके राहुल के घर गया, तो उधर आंटी परेशान बैठी थीं और मेरा इन्तजार कर रही थीं.

कि तख्त पर बैठकर सब्जी काट रही मामी ने कहा- विजय ये कुछ छिलके नीचे गिर गये हैं, उन्हें भी उठा लो.

कुछ सेकेन्ड्स के खेल में ही उन दोनों ने मेरे बदन में झनझनाहट पैदा कर दी. उफ्फ़ … उसकी गोरी जांघों के बीच फंसी इस छोटी सी पैंटी में उसकी चुत एकदम फूली हुई सी थी और रो रही थी. अब हम दोनों ने मोबाइल को बंद करके फोटो देखने का नाटक बंद दिया था और मैं खुल कर उसके बूब्स को दबाने लगा था, उसके बालों को सहलाने लगा था.

गुजराती ब्लू फिल्म गुजराती ब्लू फिल्म और सुमन भाभी अगर मेरी शादी से पहले मुझे यह प्रस्ताव रखती तो आज शायद हम पति-पत्नी होते. अब वो मदरजात मेरे सामने नंगे थे; उनका मूसल लंड मेरे सामने लटक रहा था.

और मैं लड़की या भाभी या आँटी पटाते वक्त या चोदते वक्त मेरे ही शब्दों और मन पसन्द आसनों को बोलता और अमल में लाता हूँ. भाभी ने मुझे कस कर हग कर लिया और हम दोनों एक दूसरे की बांहों में खो गए. इतना कह कर नेहा किचन में गई और उसने एक नौकरानी के हाथ से पानी भेजा.

सेक्सी नेपाली चुदाई

फिर उसने मुझे पूरी नंगी कर दिया और मेरे पूरे बदन को चूमा-चाटा, मेरी चूत को भी चाटा. रोहण को हमारे बारे में पता था और सोनी ने रोहण से बात करके मेरे आने के बारे में बता दिया था. जैसे ही उंगलियां योनि की दीवारों से टकरातीं रेनू चिहुंक उठती। फिर से चाय और रेनू का जिस्म, दोनों उफान पर थे।फिर मैंने अपने होंठों को उसकी योनि की पंखुड़ियों के ऊपर रखा.

मैं सबसे पहले उनके ऊपर चढ़ गया और उनके होंठों पर किस करना शुरू कर दिया. उस दिन रचना का मेरे प्रति प्रेम देखकर मैं बहुत खुश हुआ और मैंने उसे वचन दिया कि तुम्हें हर वक्त हर पल खुश रखूंगा.

पहले तो मैंने पीछे से उनके चूतड़ों में मुँह घुसाया और चूत को एक बार किस किया.

मैंने मीना की गांड चुदाई भी की।फिर एक दिन मेरे दोस्त मोहित को मेरे और मीना के बारे में पता चल गया तो उसने मुझसे बातचीत ही बंद कर दी. मैंने अपनी दो उंगलियों से उसकी चूत की फांकों को अलग किया और अपनी जीभ को नुकीला करते हुए उसकी चूत में घुसेड़ दिया. घबराकर रेशमा मुझे देखने लगी, पर तभी मैं उसको उसका बुरका देते हुए पहन लेने का इशारा किया.

ललिता भाभी की गांड अब पूरी खुल चुकी थी और लंड आसानी से अन्दर बाहर हो रहा था. रीना के गोल गोल चूतड़ों के बीच गहरी फंसी चौंतीस इंच नाप की जालीदार लाल पैंटी में सिर्फ़ सामने एक पान बनाया हुआ था और ब्रा में कैद चुचों के सिर्फ़ चूचुकों को ढका गया था … इस जालीदार ब्रा पैंटी के सैट ने उसके पूरे नंगे जिस्म पर चार चांद लगा दिए थे. वो कुछ नहीं बोली तो फिर मैंने अपनी हरकत बढ़ा दी।अब आंटी भी गर्म होने लगी और बोली- कितनी गर्मी हो रही है … तू अपने लोवर और टी-शर्ट उतार को उतार ले.

मैंने समझ लिया कि अब खेल में मजा आने लगा है तो मैं उनको स्पीड में चोदने लगा.

छोटी लड़कियों की बीएफ पिक्चर: वापस आते समय मैंने अपनी ड्रेस उतार दी और मैं अब केवल ब्रा और पैंटी में थी. अब तो आपको पता चल ही गया होगा कि वो और कोई नहीं … आप लोगों का अपना साला और मेरा सबसे प्यारा कजन भाई सन्नी है।दोस्तो, जब से मैं अपने एक पाठक से चुदी हूँ। आप सारे लोग मुझे चोदना चाहते हो। लेकिन आप सब को पता है कि मैं इतने लोगों से नहीं चुद सकती.

उनके बड़े बड़े थनों को मैं देख देख कर अपने मन में ताई को चोदने की इच्छा को और बढ़ाते हुए खुश होने लगा था. मनोज ने मुझको देखा तो एकदम से बोल उठा- जान, तुम तो बहुत खूबसूरत हो. और यह कह कर वह बेड पर बैठ गई और अपना हाथ पीछे ले जाकर दर्द जैसा मुँह बनाने लगी.

प्लीज अब जल्दी निकाल लो अपना पानी! मेरी गांड के मजे फिर कभी ले लेना.

मैं उसके कान के पास गया और पूछा- क्या तुम इसे एन्जॉय कर रही हो?उसने आंखें खोलीं और मेरे होंठों पर एक जोरदार किस दे दी. ‘ठीक है, देखते हैं … कल शाम को क्या बना कर लाते हो तुम!’‘यस सर … गुड इवनिंग सर. कुछ देर बाद मैं भी वहां पहुंच गई और उससे बोली- अब सुनाओ, अनन्या को कैसे फुसलाया और उसकी चुत में अपना माल कैसे डाला?उसने कहा- सब तैयारी तो तुमने ही करवा दी थी.