एक्स एक्स सेक्सी बीएफ मूवी

छवि स्रोत,सेक्सी पिसातुरे पिसातुरे

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी विडियो बिहारी: एक्स एक्स सेक्सी बीएफ मूवी, इनका कहना है- मनोज का लिंग बहुत अच्छा है और मेरे लिंग से बहुत बड़ा है.

सेक्सी वीडियो खेत में के

चूँकि मैं उसकी चूत अँधेरे की वजह से देख नहीं पा रहा था, परंतु चूत इतनी चिकनी और टाइट थी कि ऐसा लग रहा था जैसे लंड किसी भट्ठी में डाल रखा हो. हिंदी सेक्सी वीडियो बिहार वालादही बड़े, चटनी, आम नींबू के अचार, मूंग की दाल की बड़ी, पापड़ ये सब अच्छी तरह से पैक करके मुझे दे दिया.

इस समय मैं रॉबर्ट के सामने बिल्कुल नंगी खड़ी थी और मुझे बहुत शर्म आ रही थी. सेक्सी ब्लू लंड चूतमैं दूसरी मंजिल पर गया और यहाँ कोई मर्द ढूंढने लगा इसके बाद पहली मंजिल पर गया.

उस रोशनी में सासू माँ ने चन्दन को अपने से अलग करके अपने जमाई के नग्न शरीर को निहारा, चंदन ने भी उनके गठीले शरीर को भूखी नजरों से देखा.एक्स एक्स सेक्सी बीएफ मूवी: मैं रुका हुआ हूँ।वे सब चले गए, भाई साहब रुके रहे। मुझे ड्यूटी पर छोड़ने वाले डाक्टर साहब आ गए.

ये तो पहली बार में होता ही है।फिर मुझे उस पर बहुत ज्यादा प्यार आने लगा और मैंने उसे फिर से किस करना शुरू किया। कुछ ही पलों बाद मेरा लंड भी अब उसकी चूत में आराम से अन्दर-बाहर हो रहा था। वो भी अपनी साँसों और धक्कों से मेरा साथ और जबाव दोनों दे रही थी। लगातार 10 मिनट तक चुदाई करने के बाद मैं झड़ने वाला था.हमें उसके साथ आज ही यह मीटिंग जरूर करनी है, वरना हमारा बहुत नुकसान हो जाएगा.

सेक्सी vidieo - एक्स एक्स सेक्सी बीएफ मूवी

मेरे होंठ चूसते हुए वो मेरे मम्मे मसल रहा था, चूतड़ों को दबा रहा था.मेरी ऐसी हालत देखकर वह मन ही मन मुस्कराती थी, उसके चेहरे पर नई चमक उभर आती थी.

वहाँ का हर कमरा सेक्स के लिए परफेक्ट था बस कमी थी तो जवान मर्द की जो मस्त चुदाई कर सके. एक्स एक्स सेक्सी बीएफ मूवी अब बनाने का भी इरादा है क्या?गोपाल- अरे नहीं जान मेरा ये मतलब नहीं था.

लगभग दस मिनट बाद वो हटीं और मुझे अपने ऊपर चढ़ा कर मेरे लंड को अपनी चूत में डलवाने लगीं.

एक्स एक्स सेक्सी बीएफ मूवी?

कमाल का तराशा हुआ 34-30-36 का एकदम बेदाग़ गोरा बदन मेरे सामने नंगा था. हम हांफते-हांफते एक दूसरे की बगल में पड़े हुए थे कब नींद आ गई पता ही नहीं चला. मेरे अंदर की हवस उसकी मटकती गांड देखना चाहती थी मैं दो कदम पीछे चलने लगा, और दोस्तो, जो मैंने देखा वही आपको बता रहा हूँ.

चल बन जा कुतिया अभी तुझे पटा कर चोद देता हूँ।पूजा घुटनों पर होकर कमरे में चलने लगी और संजय उसके पीछे-पीछे घुटनों पे चलने लगा। साथ ही वो पूजा की चुत को सूंघने लगा और थोड़ा जीभ से चाट भी लेता।पूजा- उहूँ हू हूँ. हमारे आस पास लोग थे तो मैंने बात को और नहीं खींचा, मैं बैठे बैठे दूल्हा दुल्हन की फोटो खींच रहा था, उसने मुझसे मेरा मोबाइल माँगा और अपने पिक्चर लिए, वो मुझसे बोली- आपके मोबाइल से पिक्चर अच्छी और क्लियर आ रही हैं. करीब 5 मिनट वो चूत चाटता रहा और मैं उन 5 मिनट किसी जन्नत की सैर करती रही.

उसकी चूचियों पर कोई जगह ऐसी नहीं थी जहाँ मेरे दांतों के निशान ना हों. पर अब तो बहुत मजा आ रहा है।”जब कॉलेज में था तो खूब चुदाई का मजा किया है। मेरी एक गर्ल फ्रेंड थी रानी… वो 21 साल की थी और मेरे साथ कॉलेज में थी और मेरे पड़ोस में अपनी बड़ी शादीशुदा बहन के साथ रहती थी। दोनों बहनें बहुत बदमाश और चुदासी थी। मुझे अपने बीच में लिटा कर मेरे लन्ड से कामसूत्र की तस्वीरें देख कर वैसी ही पोजीशन में चुदवाती थी और उनकी फोटो अपने सेल से लेती थी. जितनी देर मैंने उनके अन्डकोशों को हाथ में लेकर चूसा और पुचकारा, उतनी देर वो मेरी चूचियों को जोर जोर भींचते रहे.

‘पर मेरा अभी नहीं हुआ है चाची, मुझे चोदने दो अभी!’चाची बोली- ठीक है चोदना शुरू कर और पिला दे अपना पानी मेरे चुत को!मैंने चाची की चुत में लंड हिलाना शुरू किया. किस करते हुए मामा जी का हाथ अब मेरी गांड की तरफ बढ़ रहा था, पीछे से मामा मेरी शॉर्ट्स में हाथ घुसने लगे, मामा जी का हाथ मेरी पेंटी की अंदर घुस कर मेरी दोनों कूल्हों को सहलाने लगा, मैं गर्म होने लगी, मेरी चूत में गर्म पानी आने लगा, मैं नहीं चाहती थी कि मामा जी को मेरी गांड की ढिलाई के बारे अभी पता चले, मैं चाहती थी कि मामा जी को मेरी चुदाई के वक़्त पता चले.

उसने मुझे बताया कि वो योगी को बहुत प्यार करती है लेकिन योगी का लंड इतना सख्त नहीं हो पाता है इसलिए उन दोनों ने सोचा कि पूजा को चुदाई का मजा कोई तीसरा ही दे सकता है.

कहते हैं कि उत्तर पश्चिम यूरोप के एक देश में हुए शोध से पता चला है कि पुरुष के लिंग को पूर्ण चेतना में लाने के लिए किसी भी स्त्री को अधिक से अधिक दस सेकंड ही लगते हैं.

वो इठला कर बोली- अभी इसमें से दूध कैसे निकलेगा?मैंने कहा- वो तुम मुझ पर छोड़ दो. राहुल के द्वारा मेरे बूब्स चूसे जाने से मुझे थोड़ी देर में राहत होने लगी और अब जय के लंड से चुदने में भी पूरा मजा आने लगा. ’अब मैं भी जोश में आ गया और उसकी चुत का दाना खींचते हुए चुत को चाटने लगा.

मेरी पिछली कहानी में जो लड़की है, उसके साथ ही … लेकिन मैं सोचता हूं कि अपनी नई किरदार के साथ कहानी लिखूँ।तो आज मैं वहीं से शुरुआत करता हूं. चंदन ने अपना हाथ उठा कर संगीता के एक उभार पर रखा और उनकी छाती को दबा कर बहुत धीरे से मसला. आने के बाद बहुत ही रोमांटिक मुद्रा में थे, साथ में कंडोम लेकर आये थे, मुझे दबा कर कहा- क्या मूड है जानू?मैंने कहा- जैसा आपका है, वही मेरा है!दिन में कभी-कभी ही तो मौका मिलता है, और ये शुरू हो गए, मुझे चूमने लगे.

मैंने उसकी मैरून ब्रा पेंटी उतारी और उसकी एक चूची को मुँह में ले कर चूसने लगा.

पर मेरा दिल वही लगा रहा, काफी दिन बीत गए पर मुझे उसकी याद आती रही, पर मैं अपनी पढ़ाई और काम मे व्यस्त हो गया, और वक़्त के साथ साथ उसकी यादें धीरे धीरे धुँधली पड़ने लगी. मेरे पापा ने उन्हीं के साथ जॉब की थी और काफी दूर के रिलेशन में भी हमारे अंकल यानी चाचा जी भी लगते थे. मैं उसी के पास जाकर बैठ गया, मैंने उसके बैज की तरफ देखा तो उस पर नवीन जाखड़ लिखा हुआ था और वो हरियाणा पुलिस में सिपाही था.

फिर उसने मेरी तरफ देखकर कहा- निकी, एक काम करते हैं!मैंने कहा- क्या, बोल?फिर उसने नजर घुमा कर खिड़की से बाहर देखते हुए कहा- जब हम घर पहुंचेंगे तो तू अपने बैडरूम में सोना, मैं और पीटर मेरे रूम में सोएंगे. मैंने डोर खोले तो सामने मामा आधी जाँघ तक की पेंट और टी-शर्ट पहने खड़े थे. मामा बोले- मैं किसी ना किसी तरह से तुम्हारी आदत और ख्वाहिश को पूरी करता रहूँगा.

रमेश का लंड जैसे अब तो और भी अंदर तक आ रहा था और जब वो अपना लंड पूरा अंदर डाल के अपने शरीर का वजन उस पे देता तो सरिता को बड़ा ही मजा आता था.

मुझे पता था कि चाची के आसपास उनके बच्चे सोयेंगे तो मेरा प्लान कामयाब नहीं होगा. वहां पहुँच कर ममता ने अपने पति जॉय को कॉल कर दिया कि उसकी तबीयत खराब है तो वो किसी के यहाँ रुकी है.

एक्स एक्स सेक्सी बीएफ मूवी मैंने एक सिगरेट सुलगते हुए कहा- दोस्तो, माफ़ करना, हमने आप सबसे एक बात छुपाई. तैयार होकर मैं बस स्टैंड की तरफ निकल पड़ा और बस अड़्डे पर जाकर हिसार जाने वाली बस का वेट करने लगा… आधा घंटा वेट करने के बाद सीधा हिसार जाने वाली बस आ गई और मैं बस में चढ़ गया.

एक्स एक्स सेक्सी बीएफ मूवी उसके लंड ने जैसे सरिता की बुर की चमड़ी को पूरा छील दिया, उसे बहुत दर्द हो रहा था और वो अभी भी आह ओह ओहाआ आआअ अह्ह्ह्हह्ह कर के रो रही थी. लेकिन मेरा लिंग तो बिना किसी स्त्री की सहायता लिए, सिर्फ उसके साथ किये संसर्ग के बारे में सोचने से ही सात सेकंड में उस स्थिति में पहुँच गया.

फिर मैंने उनकी नाभि में किस किया, तो भाभी और तेज सिसकारियाँ लेने लगीं- प्रिन्स आआहह.

कंचना सेक्सी

मैंने अपने दोनों हाथों से उसके चेहरे को पकड़ लिया और अपने होंठों को उसके होंठों पर लगा दिया. उन्होंने कहा- वाहह … क्या तेवर हैं, लगता है, बरसों बाद किसी मर्द से चुदूंगी … बाकी अब तक तो सब चूत की तौहीन करने वाले ही मिले थे. सुन, तू मौका देखना कि पापा तेरे कमरे में आ रहे हों, बस उसी वक़्त कपड़े बदलने की एक्टिंग करना.

आह चुद गई रवि तेरी रानी… चोद दी साले तेरे यार ने उई आह आह… मादरचोद बस बस बस. अब वो लंड को मुँह से निकालना चाहती थी लेकिन मैंने नहीं निकाला और अन्दर तक झटके मारने लगा. कभी कहता ‘गांड दे दे’ कभी कहता ‘मौसी तुम्हारे बोबे बड़े मस्त हैं’ कभी निकर उठा कर उसको अपना लुल्ला निकाल कर दिखाता और कहता ‘आजा ले ले इसे’.

फिर लंड को अपने दोनों हथेलियों में लेकर उसको सहलाने लगी, कुछ देर सहलाने के बाद मेरे लंड के अग्र भाग को चूम लिया और लंड को अपने मुँह में लेकर लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी.

गुलशन- क्यों अब यकीन आया ना कि मेरे लंड में कितना पावर है और ये तो शुरूआत है, अबकी बार देखना तुम्हें और भी ज़्यादा टाइम तक चोदूँगा. क्या आ आप?’‘हाँ, मैं तैयार हूँ, तुमने जब अपनी बहन को चोदने का पाप कर लिया है तो फिर इस पाप के लिए भी अपने आप को तैयार कर लो…’‘मेरे बेटे, क्या मैं तुम्हें सुंदर नहीं लगती?’‘नहीं माँ तुम ऐसा कभी नहीं सोचना, तुम बहुत सुंदर हो और तुम्हें देख कर मुझे हमेशा काजोल की याद आ जाती है. हाय फ्रेंड्स, मैं नक्श एक बार फिर से हाजिर हूं अपनी गे सेक्स कहानीदिल्ली के चोदू लड़के से गांड चुदवा ली-1का दूसरा भाग लेकर.

रोहन ने मुझे कई कहानियाँ भी बतायें कि कैसे उसकी माँ जान बूझ कर बस में चलते वक्त जवान लड़कों के आगे खड़ी हो जाती थी और वह लड़के पीछे से उसकी माँ की गांड चोदते थे कपड़ों के ऊपर से ही… कैसे पीछे से गुजरने वाला आदमी उसकी माँ की गांड मसल दिया करता था. ऋतु- तुमने तो मुझे अपने वीर्य की लत लगा दी है… कितना मजा आता है तुम्हारा लंड चूसने में और तुम्हारा वीर्य पीने में!मैं- मैं भी तुम्हारे मीठे रस का शौकीन हो चुका हूँ… जी करता है सारा दिन तुम्हारी चूत चूसता रहूँ. मैंने बीच में चुदाई रोक कर मैंने रफीक को बेड पर चढ़ने को कहा, मैं भी बेड पर चढ़ गया और सबीना और जमीला को फिर 69 में कर दिया और अब मैंने रफीक को फिर सबीना की चूत चोदने को कहा और खुद अपना मस्ताना जमीला की गांड में घुसा कर चोदने लगा, बीच बीच में लण्ड निकाल कर मैं सबीना को और रफीक जमीला को चुसवा कर फिर चोदना शुरू कर देते.

वो दोनों भी कुछ मिनट में झड़ गये और फिर से मेरे मुंह और चूत में वीर्य की वर्षा हो गयी. गुलशन- ले भाई, ये काम तो हो गया, अब बोल?सुमन- पापा, पहले आप मेरे साथ कितना रहते थे मगर अब तो आप बहुत बिज़ी रहते हो.

सुमन भाभी ने कहा- सैम प्लीज अब बर्दाश्त नहीं होता, प्लीज अपना लंड मेरी चुत के अन्दर डाल दो. कुछ दिन के बाद भैया को फिर से गुजरात जाना पड़ा और भाभी की देखभाल की जिम्मेदारी अब मेरे ही कंधों पर थी. अब हम दोनों रोज रात मैं घण्टों बात करने लगे, मैं उससे बहुत प्यार करने लगा बहुत ज्यादा.

उन दोनों को भी चूत चूसवाने में बड़ा मजा आ रहा था, दोनों अब साथ में बैठी थी तो एक दूसरे को भी किस कर रही थी.

अब तो खुश ना!सुमन की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। वो भाग कर अपने पापा से चिपक गई और गाल पर एक जोरदार किस कर दिया।सुमन- ओह पापा. जैसे उसके बदन में बिजली हो कोई, उसके अधनंगे बदन को छूते ही हम सब यारों के लंड टनाटन्न हो गए. मैंने कहा- वो सब तो ठीक है, लेकिन आप अपनी बहन को मुझसे ही क्यों चुदवाना चाह रही हो और मैं तो उसको जानता भी नहीं, न ही वो मुझे जानती है, फिर कैसे होगा?वो बोली- देखो, मेरी बहन बहुत बड़ी रंडी है.

दोस्तो, स्कूल गर्ल की चुदाई की मेरी कहानी पर मुझे काफी मेल आये, सभी ने कहानी की तारीफ की है पर मैं आपको बता दूँ कि यह कहानी पूरी तरह से काल्पनिक है. खाली हुए गिलास भरते हुए मैंने पूछा- लेकिन तुम्हें इस जगह की इतनी सारी जानकारी कहां से मिली जान?सिगरेट सुलगते हुए रिया बोली- कहीं से सुना था तो पहले इंटरनेट पे देखा और फिर वहां के फ्रंट डेस्क से फ़ोन पे बात करके सारी बातें मालूम कर ली.

अब गीता और उसकी बेटी का कोई सहारा नहीं था तो गुलशन जी ने गीता को अपनी दुकान पर रख लिया. ये फ्लॉरा जिसके साथ आप कितनी बार सो चुके हो और ये टीना इसी की वजह से अपने मुझे भी नहीं बख्शा है. ये लंड आपकी चुत की सेवा के लिए ही है।भाभी बोलीं- मैं जब भी फ्री रहूंगी आपको फोन करके बुला लूँगी.

मोठ्या गांडीची सेक्सी व्हिडिओ

मैंने उसकी आँखों में देखा तो उसने मुस्कुराते हुए मेरे लंड का सुपारा अपनी जीभ से चाटा और लंड को अपने मुँह में लेकर चूसने लगी.

काका ने उसकीचुत का भोसड़ाबना दिया था अगर अभी वो गोपाल से चुदवाती तो उसको पता लग जाता और दूसरी टेंशन साधु वाली बात की थी. मेरी बड़ी चाची दिखने में एकदम गोरी हैं, उनका फिगर साइज़ 34-28-34 का है. लो उतार दिया पजामा, हो गई पूरी नंगी… अब चोद दो मुझे प्लीज!”तुमने तो मजा बिगाड़ दिया, अब तुमको तड़पाऊँगा बहुत ज्यादा”आआअ स्स्स्स चूसो पूरा दूध पी जाओ आआआह आआ आआअ!”बहुत टेस्टी है.

जहाँ पर मैं परीक्षा देने जाता था, मेरी क्लास में मेरा रोल नम्बर एक कोने पर था. जब सब सो गए तो संजय ने पूजा को दवा दे दी और अपने हाथ से उसकी सूजी हुई चुत पे मलहम लगा दी. गाना में सेक्सी वीडियो गानारमेश चुची के ऊपर अपनी जीभ फेरने लगा, उसके निप्पल को बारी बारी से चूस रहा था और एक हाथ से उसकी पैंटी के ऊपर से रगड़ भी रहा था.

ऋतु ने अपनी आँखें खोली और मेरी तरफ नशीली आँखों से देखा और मुझसे कहा- आई लव यू… रोहण!मैं कुछ समझ पाता इससे पहले उसने अपनी गांड का दबाव मेरे ऊपर डाल दिया और मेरा पूरा लंड उसकी चूत में समाता चला गया. और जोर से चूसो जमाई राजा!यह बोलते हुए संगीता ने जमाई के पजामा के ऊपर से ही उसके लंड को पकड़ लिया.

मैं रोना चाहता था, चीखना चाहता था मगर जय का लंड अभी भी मेरे मुँह में था तो मेरी चीख अंदर ही दब गयी. अचानक से मोना के तेवर बदल गए उसकी बोली में कड़कपन की जगह मिठास आ गई, जिसे देख कर गोपाल भी टेंशन में आ गया. लगभग दस मिनट तक धीरे धीरे धक्के मारने के बाद जब मैंने तेज़ धक्के लगाने शुरू किये तब माला भी अपने कूल्हे ऊपर उठा कर मेरा साथ देने लगी.

हालांकि उसके साथ इन अनैतिक रिश्तों की शुरुआत उसी की तरफ से अनजाने में ही हुई थी फिर बाद में वो और मैं दोनों चुदाई के इस सनातन खेल में लिप्त हो गए थे. वो जोर से चीख भी रही थी- ओह ओह सी सीईईईइ आह्ह्ह सी उई अशोक जोर से एई एई उईई अशोक खूब जोर से ईई उईई ओफ्फ्फ हो जोर से आआऐईइ आई…!हर धक्के पर चाची आई उई कर रही थी. अब आते हैं आज की कहानी पर!वैसे तो चुदाई की घटनाएं बहुत हो चुकी हैं.

अब वो मोना की जांघें दबा रही थी और मोना और ऊपर और ऊपर करके उसे चुत के एकदम पास दबाने को बोल रही थी.

रजनी ने धीरे से सीईईई… की आवाज से साथ मेरे कान में कहा- सर थोड़ा धीरे!फिर मैंने उसे पलंग पर लिटा दिया और उसके ऊपर आ गया. तो मुझे पता कैसे लगेगा और बिना पता लगे मैं तेरी मदद कैसे कर पाऊंगी?सुमन ने रात से लेकर सुबह अपनी माँ से हुई बहस तक की सारी कहानी टीना को बताई.

तो मेरा सारा माल कन्डोम में ही रह गया। मैं पसीना-पसीना होकर भाभी के ऊपर ही लेट गया। कुछ पल बाद मैं बगल में लेट कर बेसुध हो गया मेरी नींद लग गई. कहानी का पिछला भाग :सहकर्मी भाभी ने दोस्ती करके चूत चुदाई-1वाह भाभी, आज तो तूने कमाल ही कर दिया… क्या मस्त जोरदार चुदाई कर डाली… आज तो असली जवानी की चुदाई का मजा आ गया। बहुत धम-धम चुदाई थी. साथ में उसके मम्मों को भी दबाने लगा।मोना- ये तुम क्या कर रहे हो सुधीर.

मैंने हालात को देखते थोड़ी हिम्मत करते हुए उसकी ब्रा खोल दी और फिर आराम से उसकी कमर मसलने लगा. तभी मैं चौंका, मुझे खिड़की के बाहर कोई साया हिलता महसूस हुआ… कहीं कोई चोर तो नहीं?मेरा खून सूखने लगा. मुझे भी सभी को देखने में मज़ा आ रहा था।पर दोस्तो नज़र कहाँ किसी की शक्ल पर जा रही थी, हर लड़के की तरह मेरी भी आदत सेम थी, चेहरा छोड़ के मम्मों पर ही ध्यान जाता था। किसके कितने बड़े मम्मे हैं.

एक्स एक्स सेक्सी बीएफ मूवी फिर पूजा ने अपने मामा संजय के होंठों को चूम लिया और उसकी तरफ़ देखने लगी. मैंने धीरे से अपने एक हाथ को उनके चूचे के ऊपर रख दिया और सोने का बहाना करने लगा.

पहली बार चुदाई सेक्सी

जैसे तैसे पेशाब करके और लगभग उसके सामने ही लौड़े को पैंट के अंदर डाल कर मैं फिर उसके पीछे बैठ गया. मेरी प्राणप्यारी नताशा ने कुछ वीर्य पी लिया और कुछ वीर्य उसके स्तनों पर टपक गया, जिसे उसने अपनी हथेलियों से अपने शरीर पर मल लिया. चाची गुस्से में बोलीं- पागल हो गया है क्या तू… कुछ समझ नहीं आता तुझे.

मैं अब तेज़ी से धक्का लगाने लगा था और मेरी रांड माँ के मुँह से सिसकारियाँ फूटने लगी थीं. फिर मैंने कहा- भाभी, वहाँ से आपको तकलीफ़ हो रही है आप मेरे पास मतलब मेरे बाजू में बैठ जाइए. सेक्सी वीडियो मां चुदाईइधर मनीष ने अपने हाथों से मेरे उभरे हुए मम्मों का कचूमर निकालना शुरू किया.

उसकी क्रीम कलर की पैंटी पूरी तरह ट्रांसपेरेंट हो गई थी और मुझे उसकी झांटें साफ़ दिख रही थींअनुराधा- भैया.

उसने मेरी आँखों में बड़े प्यार से देखा तो मैंने आगे बढ़ कर उसके होंठों को अपने होंठों में ले लिया और चूसने लगा. फच्च की आवाज़ के साथ लौड़ा बाहर निकाला, जिस पर खून और वीर्य लगा हुआ था.

थोड़े से विश्राम के पश्चात् मेरी सुन्दर पत्नि को फिर से सोफे से कमर टिकाए रुस्लान के लंड को अपनी अब तक बुरी तरह पिट चुकी गांड के अन्दर लेते हुए उकड़ूं बैठना था, जिसे उसने बखूबी अंजाम दिया और पीछे से आए चंगेज़ के लंड को पीछे की तरफ नीचे झुकता हुए अपने भक्काड़ा हो चुके मुंह में ले लिया. तभी भाभी ने कहा- शुभम, बहुत दिनों से मुझे तुम्हारे लंड की महक नहीं मिली है. मैं- वाह, मैं तो तुम्हारी अक्ल का कायल हो गया… तुम तो मुझसे भी दो कदम आगे हो.

और तेरी आँखें सूजी हुई क्यों हैं? जीजू से झगड़ा हुआ क्या?मोना- अरे नहीं ऐसा कुछ नहीं है.

वो अपने दो बेटों के साथ ही रहती थीं, ये उन्होंने मुझे बाद में बताया था. कितना आनन्द आ रहा था तुम्हारी रेशम जैसी चूत में अपना लंड डालने में. सोनू के मामा जी आ तो गए थे लेकिन वह काफी बड़ी उम्र के थे और उनसे कुछ बात नहीं बन रही थी.

देहाती हिंदी ब्लू सेक्सीअब संजय उसके मखमली होंठों को चूसने लगा और एक हाथ से उसके मम्मों को दबाने लगा. तो वह मौन प्रश्नवाचक नजरों से देख रहा था। मैंने उसे पलटने का इशारा किया.

सेक्सी वीडियो खेलने वाले

वो फिर से शर्मा गई और उसने मुझसे चिपके रह कर दुबारा पूछा- क्या पीओगे?मैंने कहा- वही. उसने कहा- आप मेरी हेल्प कर देंगे न?मैंने कहा- तुम चिंता मत करो, तुम्हारी हर समस्या का समाधान कर दूंगा. इसलिए अब तक जितने भी लोगों से दोस्ती की है और जिनसे रिलेशन बने, वो हमेशा मेरी रिस्पेक्ट करते है और मैं उनकी.

वो तो कॉलेज गर्ल्स या कोई मजबूर लड़की ढूँढते थे, जिससे उनको पैसे और अंकल को नई लड़की की चुत मिल जाती थी. जब उसकी चूत चोदते हुए मुझे एक घंटा हो गया था तो उसकी चूत दुखने लग गई थी, उसने थोड़ा रेस्ट करने को कहा. संजय ने सोचा चलो इसकी इच्छा पूरी कर ही देता हूँ। बस वो दोनों काफ़ी देर तक ये कुत्ते वाला गेम खेलते रहे। फिर संजय ने पूजा को बेड पे घोड़ी बनाया और लंड उसकी चुत में पेल दिया।पूजा- आह आ मामू.

5 मिनट तेजी से चुदाई के बाद उन्हें घोड़ी बनाया और फिर पीछे से उनकी चूत को चूमने के बाद लंड को चूत में प्रवेश करा दिया. मगर तू करेगी क्या? कुछ तो तेरे दिमाग़ में होगा ना!सुमन- नहीं दीदी मेरे दिमाग़ में कुछ नहीं है. रूबी मुस्करा कर कहने लगी- ठीक है, राज! जैसा ये कहे वैसा ही करना, यदि यह कहे अंदर डालो तो भी इसे नहीं चोदना है.

मैं- चाची, तुम इसके खाने पीने का क्यों इतना सोचती हो? ये तो वैसे ही मोटी है. अब वो लंड को मुँह से निकालना चाहती थी लेकिन मैंने नहीं निकाला और अन्दर तक झटके मारने लगा.

कहानी पर आते हैं:राहुल ने ऋतु के दोनों हाथ पकड़ कर पीछे खींच लिए और जोर जोर से उसकी गांड चुदाई करने लगा.

दोस्तो, आपने मेरी काल्पनिक कहानी पढ़ी, आशा करता हूँ कि आपको पसंद आई होगी. देहाती रंडी खाना सेक्सी वीडियोशहज़ाद ने मेरे से पूछा कि मैंने उसकी बात का जवाब नहीं दिया तो मैं चुप हो गई. सेक्सी चुदाई गांव की लड़की कीउन सभी लोगों का भी धन्यवाद जिन्होंने मुझे ईमेल पर कांटेक्ट करने की कोशिश की. हेमा ने सुमन की तरफ गुस्से से देखा- तेरे दिमाग़ में ये बात आई कैसे?सुमन- माँ बस ऐसे ही ख्याल आ गया अगर आप नहीं बताना चाहती तो कोई बात नहीं.

मैंने फिर उसके सर को पकड़कर उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए और हम स्मूच करने लगे.

वो जैसे जैसे कहानी पढ़ रही थी, वैसे ही उसके चेहरे के हाव भाव बदल रहे थे. ‘चलो अच्छा ही है’ मैंने भी मन ही मन सोचा और मुझे राहत भी मिली, आखिर गलत काम करने का दोषी तो मैं भी था. कुछ ही पलों की चुसाई में मेरे लंड से माल निकलने वाला था तो मैंने उनसे पूछा कि क्या वो मेरा मुँह में ही लेंगी, तो उन्होंने इशारा किया कि अन्दर ही आने दो.

जब अगले दिन 12वीं क्लास के स्टूडेंट्स टयूशन पढ़ने आ रहे थे, तब मैं उस नई लड़की का इंतजार कर रहा था. इस कहानी में मैं सभी पात्रों के नाम और जगह बदल रहा हूँ ताकि किसी को परेशानी ना हो. वो दोनों मेरी तरफ देखने लगे तो मैंने जय से कहा- पहले राहुल को कर लेने दो फिर तुम्हें भी आसानी होगी मेरी गांड में अपना लंड डालने में क्योंकि तुम्हारा लंड राहुल से ज्यादा है साइज में, ये शुरू में आसानी से नहीं जायेगा.

पंजाबी सेक्सी यूट्यूब

मैंने उसके पास लेट कर उसके चेहरे पे गिरी उसकी जुल्फें हटा कर पूछा- थक गई क्या?वो बोली- हाँ थोड़ी सी, तीन तीन मर्द, एक के बाद एक मेरे ऊपर चढ़े हैं. ऎसी ही एक कमसिन कॉलेज गर्ल की चूत चुदाई की तलब की कहानी है यह!पूरी कहानी यहाँ पढ़िए…मेरी हिन्दी सेक्सी स्टोरी मेरी सहेली की है, उसके घर पूजा करने आए पण्डित और अपनी सहेली को मैंने अचानक ही सेक्स करते देख लिया था. उसका लंड पूरे उफान पर आ गया… और वो बोला- रूक क्यूं गया, बता ना मेरी जान… आगे क्या हुआ?मैंने आखिरी रात की बात बतानी शुरु की कि कैसे रवि नशे की हालत में मेरे कमरे में आया और मेरे ऊपर गिर पड़ा और…आगे कुछ बताता… इससे पहले उसने कहा- मेरे लंड को पकड़ ले!मैं भी कामुक हो चुका था, मैंने उसका लंड उसकी पैंट के ऊपर से ही अपने राइट हैंड में उंगलियों से पकड़ लिया.

वो तो मेरे लंड को ऐसे चूस रही थीं, जैसे उन्हें कभी ऐसा लंड चूसने को मिला ही ना हो.

उन्होंने डरते हुए अपना एक हाथ सुमन के एक चूचे पे रख दिया, मगर उन्होंने कोई हरकत नहीं की, बस चूचे पर हाथ रखे हुए सुमन के चेहरे को देखते रहे.

तुम्हारी तो पसंदीदा चीज है न इतनी बड़ी चूचियां… है ना?मैंने सिर्फ हम्म्म्म कहा और दोबारा वहीं देखने लगा। मेरा लंड अब फिर से खड़ा हो रहा था और ऋतु, मेरी बहन की की गांड से टकरा रहा था. सबसे पहला मेरा नम्बर आया, मैं भी बीच में गया और अपने कपड़े उतारकर उसी लड़की के पीछे खड़ा हो गया. देहाती सेक्सी पिक्चर दिखाइएआप सेक्स स्टोरी का आनन्द लें और मर्यादित भाषा में ही कमेंट्स करें।[emailprotected]कहानी जारी है।.

रूबी बोली- राज! मैंने आपको बताया था कि वैशाली स्पर्म डोनेशन चाहती है, क्या आप कर देंगे?मैंने कहा- वैसे तो मैं ये करता नहीं, परंतु आपकी सहेली हैं तो कर देता हूँ, परंतु कैसे करना होगा?रूबी ने ही बताया कि वैशाली चाहती है कि आप स्पर्म बैंक में जाएँ और वहाँ हाथ से निकाल कर जमा करवा दें. कुछ लिखा और पेपर को वहीं गिरा कर चली गईं।मैंने सोचा शायद उनका कुछ गिर गया और जब मैंने उस पेपर को उठा कर खोल कर देखा तो उस पर एक मोबाइल नंबर लिखा हुआ था और लिखा हुआ था कॉल मी आफ्टर 2 आवर।मैं समझ गया कि ये भाभी मुझसे बात करना चाहती हैं।मैंने दो घंटे बाद उनको कॉल किया।मैं- हैलो, मुझे आपका ये नंबर शॉपिंग माल में मिला था, जब आपने पेपर में लिख कर गिरा दिया था।औरत (काजल)- यस, आप अभी कहाँ हो. अब मैंने देर करना सही नहीं समझा, उसको सीधी लिटाया और उसकी योनि पर लंड रगड़ने लगा.

मैंने झुककर रिया के होटों पे किस करके उसे जगाया और फिर हम दोनों ने सभी लड़कों को लिप किस करके जगाया. लेकिन बहूरानी ने मेरे फोन पर कभी भी फोन नहीं किया और न ही मैंने उसके फोन पर कभी किया.

मगर मोटे लंड से सुमन भाभी को घबराहट होने लगी और सांस लेने में दिक्कत होने लगी, तो मैंने वापस अपना लंड उनके मुँह से निकाल लिया.

तो उन्होंने बोला कि अगर मुझे अच्छा लगे तो कल शाम को मूवी देखने चलते हैं. थोड़ी देर बाद रिया आई, उसने जोर से कहा- लव यू निकी डार्लिंग! तुम्हारी वजह से मैं तो जन्नत में आ गयी यार!मैंने भी उसे ख़ुशी ख़ुशी गले लगा लिया. com/teen-girls/bahan-ki-jwan-beti-ki-bur-chudai-ki-lalsa-part-1/बुर की चुदाई की आवाजों से गूंज उठा था.

कार्टून की सेक्सी एचडी जिसका लंड पहले से ही अंदर था वो बड़े अचम्भे से मेरी आँखों में देख रहा था. पड़ोसन भाभी की प्यासी चुत चुदाई की देसी कहानी-1अब तक आपने मेरी भाभी संग चुत चुदाई की कहानी में पढ़ा कि भाभी मेरा मोटा और लम्बा लंड देख कर डर गईं और उनका मुँह खुला का खुला ही रह गया.

लेकिन मुझे भी यही पसंद है कि लड़की चिल्लाये, उसकी चीखें निकल जायें दर्द में भी और मजे में भी!मैंने ऋतु को कमर से कस लिया और उसकी टांगों को अपनी टांगों से लपेट लिया. छी: छी: मैं भी क्या सोचने लगा, वो मेरी बेटी है।काफ़ी देर तक गुलशन जी कसमकस में रहे, उनका दिमाग़ कुछ कहता और दिल कुछ कहता। आख़िर एक बाप की जीत हुई. सासू माँ को ऐसा लगा कि जमाई का तगड़ा लंड उनके पूरे शरीर को चीर कर रख देगा.

प्रियंका चोपड़ा हीरोइन का सेक्सी

वो आप को रियल सेक्स स्टोरी से पता चल जायेगा और जो भाभी मुझसे चुदती है वही ऐसे बोलती है. इधर सुमन अपने पापा को गरम करने के लिए हर मौके का इस्तेमाल करने की सोच चुकी थी. नीलम को शायद इस बात का पता चल गया था कि मैं छिप कर उसकी हरकतें देखा रहा हूँ, वह मेरी हाजरी में ज्यादा आक्रमक हो जाती थी, अपनी हरकतों से मुझे उकसाने की कोशिश करती थी.

सुमन- आप ऐसे क्यों बोल रही हो दीदी? मैंने मना कब किया, मौका आएगा तब मैं भी कर लूँगी ना. मैं- किस रात के लिए?अनुराधा- उस दिन जब तुम किस करना चाहते थे और मैंने तुम्हें मार कर भाग गई थी.

मुझे जॉब के सिलसिले में कई बार बाहर जाना पड़ता है तो एक बार करीब एक वर्ष पहले मैं मध्यप्रदेश के एक छोटे से शहर नीमच 15 दिन के लिये गया.

उसने मारे सर को पकड़ लिया और अपनी कमर थोड़ी सी ऊपर को उठाई, शायद उसको मज़ा आया. उसकी चूत काफी फूली हुई थी, ऐसा लग रहा था कि उसकी जांघों के बीच एक फूली हुई पाव रोटी हो. भाभी की इस नाराजगी भरे कमेंट्स से मुझे ग्रीन सिग्नल सा मिला, मैंने धीरे से कहा- तो हम क्या मर गए हैं भाभी?यह सुन कर भाभी एकदम से सर घुमा कर मेरी आँखों में देखने लगीं.

इस बात से चिंतित गुलशन जी किसी बहाने से अनिता के पास रुक गए और घर पर बता दिया कि वो शहर से बाहर जा रहे हैं. और रही बात भाभी की, तो वो मुझे अपने टाइम पर खुद उठा लेंगी, उसके लिए रात जागकर मैं स्टेमिना क्यों कम करूं. मैंने वैसे ही किया, जब मैं मामा जी के लंड पर बैठ गयी तो मेरी सीधी वजन के वजह से मेरे चूतड़ मामा जी के गोलों में सट गये जिससे मामा जी का लंड और ज्यादा मेरी गांड के अंदर समा गयी, शायद पहले से भी ज्यादा.

दोनों तरफ से एक-एक लोग उठकर रिसेप्सन से होते हुए अन्दर की तरफ चले गये.

एक्स एक्स सेक्सी बीएफ मूवी: स्कूटी सिखाने का प्रोग्राम हमने अगले दिन सांय पांच बजे का, सोसाईटी से दूर एक खाली पड़ी जगह का बना लिया था. रिया पूल के किनारे पे लेट गयी थी और राहुल पूल में खड़ा होकर उसकी चूत चूस रहा था.

मैं खुद को और कंट्रोल कर नहीं पाया और मैंने उनके मम्मों को दबाने लगा. गुलशन जी ने मौके का फायदा उठाया और सुमन की टी-शर्ट में हाथ डाल कर अबकी बार बारी-बारी दोनों मम्मों को अच्छे से दबाया और मसला. फ्लॉरा की बात खत्म होने के पहले गुलशन जी ने लंड को चुत से बाहर निकाला और गांड पर सेट करके झटके से पेल दिया.

शहज़ाद ने धीरे धीरे मेरे बूब्स को छेड़ना शुरू कर दिया तो मैंने भी उसके लंड को हिलाना शुरू कर दिया जिससे वो फिर से खड़ा होने लगा.

मेरी एक कहानी प्रकाशित हुई थीशिकारा किश्ती में मादक चुदाईजिसमें मैंने मेरे और मेरी पहली मोहब्बत के बीच हुए एक सेक्स सम्बन्ध के बारे में बताया था. इतना कहते हुए सुमन उठ गई और बहुत आराम से पीछे मुड़ी ताकि गुलशन जी को संभलने का मौका मिल जाए और वो लंड जो तना हुआ है उसे वो छुपा लें. वो ढीली हो गई थी, मैं उसे जोर-जोर से चोदने लगा और कुछ मिनट बाद मैं उसकी चुत में झड़ने को हो गया.