नहाने का बीएफ

छवि स्रोत,चिल्लाती है

तस्वीर का शीर्षक ,

ब्लू सेक्सी पिक्चर दाई: नहाने का बीएफ, मेरा लन्ड कड़क होने के साथ साथ फूलता जा रहा था और रोहन मस्त हो उसे चूसने में व्यस्त था।कुछ देर चूसने के बाद रोहन बाथरूम में मुंह का पानी थूक कर मेरे पास आया और मेरी जाँघों को सहलाते हुए मेरे लन्ड के आसपास चाटने लगा.

सेक्सी स्टोरी ऑफ़ आंटी

वैसे तो मैं चुदी चुदाई थी, लेकिन शहज़ाद के लंड के हिसाब से मेरी चूत कम खुली थी. हिंदी में वीडियो सेक्सी दिखाइएवो मुस्कुराती हुई बोली- क्या हुआ बाबू … मुझसे डर गए क्या?मैंने कहा- क्यों?तब वो कुछ नहीं बोली और हंसती रही.

चलो किसी ब्लूफिल्म में तीन की चुदाई देख कर बताऊंगी कि हम तीनों में खेल कैसे हो सकेगा. न्यू हिंदी देसी सेक्सीउसके बाद मैंने उसके सर के नीचे से तकिया हटाया और उसकी गांड के नीचे लगा दिया.

थोड़ी ही देर में भैया के लंड से पिचकारी छूट गई, तब उसके बाद उनकी नजर मुझ पर पड़ी.नहाने का बीएफ: रेड कलर की ट्रांसपरेंट ब्रा पैंटी का सैट निकाला और जल्दी जल्दी से हल्का सा मेकअप करके तैयार हो गयी.

नेहा का हाथ मेरे अंडरवियर पर लगने लगा तो उसने धीरे से मेरे लन्ड को अपने हाथ से पकड़ कर उसकी मोटाई का अंदाजा लेना चाहा.मैंने अपना मुँह उनके एक चूची पर लगा दिया, तो भाभी किसी बच्चे के जैसे मुझे अपना दूध पिलाने लगीं.

गंधी सेक्सी व्हिडिओ - नहाने का बीएफ

आंटी की चुत पानी तो पहले से ही छोड़ चुकी थी और अब मेरा लंड भी आंटी की चुदाई करने तड़पने लगा था.मैं भी क्या कहता … बस चूतियों की तरह हंस दिया।तभी दरवाजे की घण्टी बजी.

निखिल चुपचाप पड़ा रहा और मज़े ले रहा था कि आज लगता है कि खुद ही सब कुछ हो जाएगा. नहाने का बीएफ मैंने उनके हाथ को अपने तनतनाते हुए लंड पर रखा तो वो होश खो बैठीं और मेरे लंड को ज़ोर ज़ोर से दबाने लगीं.

मैंने उन्हें अपने ऊपर से हटाने का असफल प्रयास किया पर उन्होंने मुझे दोहरा कर दिया और मेरे ऊपर चढ़ गए.

नहाने का बीएफ?

मैंने तुरंत घर कॉल करके बता दिया कि मैं एक दोस्त के यहां रुक गया हूँ, कल आऊंगा. मैं चौंकने का नाटक करते हुए बोली- ठीक है … कर लो, जरा मैं भी तो देखूं कि मेरे पास कौन सी फैक्ट्री है. वो चुदने के लिए इतनी जल्दी में थी कि मुझे ठीक से चूत भी देखने नहीं दी.

और मैं उसका इंतज़ार करते हुए फोन में लग गयी।पर मेरे फोन में बैटरी कम हो गयी तो मैंने सोचा कि चलो फोन चार्जिंग पे लगा देती हूँ. वो वीर्य निकलने के बाद भी रुका नहीं और मुंह को लंड पर चलाता ही रहा. मैंने यामिना से कहा- यामिना तुम जाओ, मैंने फ़लक को कुछ बातें समझानी हैं और इसे यूनिफॉर्म पहन कर मुझे दिखाना है.

एक दिन वो जब रूम पर आयी तो कहने लगी कि जब वो मेरे पास आ रही थी, तो कुछ लड़के उसका पीछा कर रहे थे और अश्लील भाषा बोल रहे थे. दस मिनट तक मैं उसकी गांड मारता रहा और जब मैं झड़ने के करीब हुआ तो जोर जोर से धक्के मारने लगा. चाची उठी और दूसरे कमरे में जाकर एक गद्दा लाई और उसे कमरे में जाली के दरवाजे के आगे बिछा दिया.

तन्वी ने मुस्कुराते हुए कहा- हां जरूर, क्यों नहीं मेरी जानेमन, जानेतमन्ना, जानेजिगर, जानेबहार. कुछ देर बाद आसन बदला और अब शन्नो मेरे लौड़े पर सवार होकर सरपट भाग रही थी.

मैं बोली- उसकी ऐज कितनी होगी?तो गौतम बोला- ये सब आप क्यों पूछ रही हो?मैं बोली- साले तू तो मुझे बीच रास्ते में ही छोड़ दिया.

यहां से मुझे कुछ ऐसे दोस्त मिले, जिन्होंने अपने अलग अलग तरह के कई किस्से साझा किए.

उसने एक चीख और मारी और कुछ धक्कों के बाद अब वह आंख बंद कर मज़े से चुद रही थी. मैं उठा रूपाली का एक बार फिर से शुक्रिया अदा किया और नीतू के कमरे में चला गया।कमरे में अँधेरा था. कैसे चुदी मुझसे वो?मेरे पड़ोस में एक भाभी रहती हैं, उनका नाम नेहा है.

अब वो उन उभारों को बिना किसी दीवार के अपने हाथों में महसूस करना चाहता था।उसने अपनी उंगलियों से ब्लाउज़ का बटन ढूँढने की कोशिश की. तमन्ना- क्या इरादा है?मैं- इरादा तो नेक है!तमन्ना- हां जैसे कल था! जैसे परसों था!कहकर मुझे चूमा और उठकर सोफे पर जा लेटी. मैं अभी उनसे कुछ और पूछता, तब तक भाभी ने कुछ सोचा और मेरी तरफ देखने लगीं.

मैंने नेहा के दोनों हाथ सिर के ऊपर ले जाकर दोनों को एक हाथ से पकड़ लिया.

आपको ये ऑनलाइन इरोटिक चैट स्टोरी कैसी लगी इस बारे में अपनी राय देते रहें।मेरा ईमेल आईडी है-[emailprotected]ऑनलाइन इरोटिक चैट स्टोरी आगे भी जारी रहेगी।. अब तक मैं उसके प्रति सम्मोहित हो चुकी थी और उसकी आंखों में वासना से देखे जा रही थी. मैंने भाभी को किचन की पट्टी पर घोड़ी बना कर लंड चुत के अन्दर डालने की कोशिश की, तो भाभी बोलने लगीं- आज नहीं … फिर कभी कर लेना अभी काफी देर हो गई है.

उसकी गर्मी तो शांत हो गयी थी, लेकिन मेरी गर्मी और बेचैनी और बढ़ गयी थी. इस जोरदार चुदाई से संगीता चिल्ला रही थी- आह … मेरी फट रही है … रहम करो रुक जाओ जान आह्ह आह्ह फट गई. मीरा भी गांड मटकाती हुई आकर लंड पर निखिल की छाती से अपनी चूचियों को सटा कर बैठ गयी और उसने अपनी चुत में निखिल का लंड ले लिया.

अब मैं उन्हें एक माल के रूप में देखने लगा था, मैं भी अब उनके नाम की मुठ मारने लगा था.

वहाँ पहुँच कर शेखर ने फ़्लैट की घंटी बजाने के बजाए धारा को फ़ोन पर मैसेज किया कि वो आ गया है. मैंने अपनी जीभ उनकी चूत में पूरी डाल दी और मुझे चूत चाटने में बहुत मज़ा आ रहा था.

नहाने का बीएफ भाभी- क्या, अपनी भाभी को चोदोगे?मैं- हां भाभी मुझे आप बहुत अच्छी लगती हो, मुझे आपसे प्यार है. आधा लंड अन्दर जाते ही मेरी मम्मी जोर से चिल्ला दीं- आह मर गई मैं … आह मादरचोद धीरे कर … आह फट गई मेरी.

नहाने का बीएफ शेखर- जी शुक्रिया। वैसे मन तो आपने मोह रखा है हमारा, जब से वो आँखों पर पट्टी वाले खेल के बारे में सुना है आपके पति, से तब से मेरा मन बस उसी ख़्याल में लगा हुआ है कि इतना रोमांचक होता होगा वो खेल … बिना देखे एक दूसरे के भीतर समा जाना और अपनी आत्मा को तृप्त कर लेना!धारा- सच कहूँ तो मुझे भी वो खेल बहुत पसंद है, एक अलग ही रोमांच है उसमें. पिछले कई महीनों से मैं अपनी सेक्स कहानी लिखना चाह रहा था मगर समय न मिल पाने के कारण ऐसा न कर सका.

तमन्ना- ये क्या किया आपने?मैं- क्यों क्या हुआ?तमन्ना- झाड़ दिया मुझे बिना किये ही?मैंने उसे बांहों में लेकर घुटनों के बल खड़ा कर लिया और किस करने लगा.

नई सेक्सी में

ऐसा करने से मुझे बहुत मजा आ रहा था और मुझे लगने लगा कि मेरा वीर्य ऐसे ही निकल जाएगा. कुछ देर ऐसे ही बैठे रहने के बाद अम्मा बोलीं- सामने वाली दुकान पर बहुत हंगामा होने की आवाज आ रही है, मैं देख कर आती हूं. थोड़ी देर बाद मैंने अपना लंड बाहर निकाल लिया और उसकी चूचियों पर रगड़ना शुरू कर दिया.

कुछ देर बाद मैंने देखा कि मेरा दोस्त हम दोनों को देख कर मुठ मार रहा था. फिर मैंने उसको बिस्तर पर लेटा दिया और उसकी पूरी बाडी पर किस करने लगा. नतीजा यह हुआ कि रोहन जिस लंड को पहले पूरे मुंह में भरकर निगल रहा था उसे अब वो तन चुका लौड़ा मुंह में पूरा लेना मुश्किल हो रहा था.

हम दोनों कुछ मीटर की दूरी पर थे लेकिन हमारे जिस्म एक दूसरे में समा चुके थे.

भाभी कराहते हुए बोलीं- आह धीरे दबाओ राजा … मैं कहीं भागी नहीं जा रही. कोई दो मिनट बाद मैंने भाभी का मम्मा अपने हाथ से पकड़ा और दबा दबा आकर दूध चूसने लगा. अब मैंने अपने भाई के साथ गांड मरवाने का मन बनाया है और आजकल मैं अपनी गांड में मोमबत्ती डाल कर इसे लंड के लायक कर रही हूँ.

अगर इस प्रैक्टिकल मैं यह पास हो गई तो आप इसकी नौकरी पक्की समझो और यदि इसने आनाकानी की तो फिर मैं मजबूर हूँगा. फिर संगीता ने एक उंगली से गाल पर लगा हुआ दूध उठाया और जीभ पर रखकर चाटने लगी. मैंने ताई के मुँह में ही लंड से चोदने की कोशिश की, लेकिन उन्हें सांस भी नहीं आ पा रही थी.

अब धारा ने अपने दोनों हाथों से शेखर के घुटने को थोड़ा ऊपर से थामा और फिर अपनी नाक से गर्म साँसें छोड़ते हुए उसकी जाँघों को चूमते हुए ऊपर की तरफ़ बढ़ी. अब किसी के आने का डर तो था नहीं, न ही चुदाई की जल्दी थी क्योंकि दोनों को पता था कि चुदाई तो होगी ही.

सुनीता ने आगे होकर मेरे लंड के अचानक हुए हमले से बचना चाहती थी लेकिन मेरी पकड़ के मजबूत होने की वजह से वैसा नहीं कर सकी और मेरा पूरा लंड उसकी चूत की दीवारों को चीरता हुआ उसकी गहराई में समा गया. मैंने फूला हुआ सुपारा चाची की चूत के छेद पर लगाया और पूरा अंदर ठोक दिया. फिर अंकल ने मेरी गांड चूमते हुए एक उंगली गांड में डाल दी, मैं चिहुँक उठा.

और तेरी प्यारी नीतू भाभी ने तो टांगें उचका उचका कर मेरा लंड खाया है.

भाभी के घर में ही उनके डैड का ऑफिस था, जो उनके जाने के बाद भी खुलना था. तभी ताई ने मुझसे कहा- तुमने तो हम दोनों को गर्म कर दिया है, इसलिए हमारा भी फ़र्ज़ बनता है कि तुम्हें भी हम दोनों गर्म करें. शन्नो रंडी की चूत खुल गई थी और वो ‘आह हहह ऊह हहहह …’ करके मस्ती से चुदवा रही थी.

उसका इतना बोलते ही मैंने उसे अपनी बांहों में भर लिया और किस करने लगा. भाभी- क्यों नहीं है?मैंने भाभी को बोल दिया- पहले कभी आपके जैसी कोई मिली ही नहीं.

विजय का जोर जोर से गांड में धक्का देने से … और मम्मों को पकड़ कर मींजने के कारण जया को दर्द होने लगा था. शेखर- ललित भाई से आपके और उनके द्वारा सेक्स में मसालेदार और रोमांचक तरीक़े से मज़े लेने वाली बात मेरे दिमाग़ पर छायी हुई है. तो तन्वी हंसते हुए बोली- अरे यार अनलिमिटेड … बट इसके पहले मुझे तुझसे एक बात पूछनी थी.

भारत के सेक्सी चित्र

ब्यूटीफुल गर्ल सेक्स कहानी में पढ़ें कि ट्रेन में लड़की पटाने के बाद मैं उसकी चुदाई का मौका देख रहा था.

कुछ देर बाद मेरा लौड़ा अन्दर ही झड़ गया और उसकी गांड में लंड घुसा कर उसके ऊपर ही गिर गया. घोड़ी की पोजीशन की बजाए चाची मेंढक की पोजीशन में आ गई अर्थात घुटने तो मोड़े रखे लेकिन अपने चूतड़ों को अपनी एड़ियों पर टिका लिया. चाची भी कभी अपना सिर ऊपर उठाती थी तो कभी दाएं बाएं झूला कर मारती रहती.

मस्त हवा चल रही थी, मुझे भी खाली सड़क पर गाड़ी चलाने में बड़ा मजा आ रहा था. फरियाल मेरा लंड ऐसे चूस रही थी, जैसे वो मेरे लंड को पूरा चूस कर खा ही जाएगी. मौसी की सेक्सी फोटोमैं तौलिया उठाकर अपने नंगे बदन पर बांधती हुई इठलाती हुई बोली- सिर्फ खाने की ही सर्विस देते हो या और कुछ भी.

वो- बहुत दिन से चुदाई नहीं हुई है … मेरी बुर तुम्हारे लंड के लिए तरस रही है चाचा … पहले मुझे चोद दो. भाभी बोलीं- अब पूरा कैसे जाएगा?मैं हड़बड़ा गया और मैंने उनकी सवालिया नजरों को उठाया तो वो मोबाइल दिखाने लगीं.

पंजाबी आंटी सेक्स के लिए झट से घोड़ी बन गईं और मैंने पीछे से उनकी झांटों वाली चूत में अपना लंड सैट कर दिया. मैंने सोचा- अगर इसकी माँ अपनी चूत चुदवा रही है, तो क्यों न बेटे को तो कोई गिफ्ट दे ही दिया जाए. जबमैं उसकी बहन चोद रहा थातो वो मेरे बगल में अपनी बीवी को चोद रहा था.

मैंने फ़लक को गोद में ही पलटा और उसके सुड़ौल गोरे चूतड़ों पर हाथ फिराने लगा. कुछ देर बाद उठकर अपना लंड और उसकी चूत साफ करके मैं बाथरूम में चला गया. भाभी- तुम्हारी गर्लफ्रेंड का क्या नाम है?मैंने बताया- मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है.

उनसे बात खत्म करने के बाद उन्होंने मुझसे पूछा- अरुणिमा आप क्या कर रही हो?इससे पहले मैं कुछ बोल पाती, मेरी मम्मी ने बोल दिया कि इस टाइम ये कुछ नहीं कर रही है.

वह मेरे लबों को ऐसे चूस रहा था जैसे उसे आज के बाद कभी कोई लड़की मिलेगी ही नहीं!उनका उतावलापन देखकर मैं समझ गई थी कि यह इन चारों का पहली बार है. कुछ पल बाद मैंने अपने लौड़े की रफ्तार बढ़ा दी और तेज़ी से चुत में अन्दर-बाहर करने लगा.

वे तो बस जैसे आज मेरे गुलाम बन चुके थे, जैसा मैं कह रही थी वे तुरंत वैसा कर रहे थे. चपरासी ने बिना कुछ बोले सोनम के गुलाबी होंठों पर अपने होंठ चिपका दिए और दूसरे ही पल दोनों किसी हवस भरे इंसानों की तरह एक दूसरे के होंठ पीने लगे. उसने अपने मुँह को मेरी गांड के छेद पर लगा दिया और जीभ डालकर गांड चूसने लगा.

खैर उसने शेखर की जींस के बटन खोल दिए और शेखर ने जींस को अपने पैरों से बाहर निकाल दिया. मां- तू पहले नहा ले और अब तू मुझे मां मत बोल, मेरा नाम लिया कर!मैं- क्यों मां ग़ुस्सा हो क्या?मां- गुस्सा नहीं, तुम पहले नहा लो. तभी उसने जल्दी जल्दी झटके देने शुरू कर दिए और लगभग 30 सेकंड बाद उसने अपना सारा पानी मेरे मुंह में निकाल दिया.

नहाने का बीएफ प्रभा मुझसे दोस्ती की बात तो अलग, किसी भी तरह की बात भी नहीं करना चाह रही थी. फिर मैंने आशारा के ऊपर चढ़कर पीछे से हाथ डालकर स्तनों को पकड़ा और मथने लगा.

सेक्सी बीपी ब्लू सेक्सी सेक्सी

उसने उसे पैसे देने के लिए अपने क्लीवेज से पैसे ऐसे निकाले कि उसकी टॉवेल गिर जाए. इस तरह मैंने रोहन और नेहा से मुलाकात कर रोहन के कहने पर नेहा को पराये मर्द का सुख दिया. उनके चेहरे पर एक सुकून था जो उनकी खूबसूरती में चार चांद लगा रहा था.

मैंने नेहा के दोनों हाथ फैला कर उन्हें कस लिया और अपने कड़क लन्ड को उसकी चूत पर रख कर कमर हिलाने लगा ताकि उसकी चूत पर लन्ड की रगड़ हो और वो मचले. थोड़ी देर के बाद उसे मजा आने लगा और वो अपनी गांड उठा कर मेरा साथ देने लगी. बैंगन वाली सेक्सीभाभी चाय सामने टेबल पर रखी और मुझे टोकते हुए बोलीं- ये लो स्पेशल चाय रेडी है.

थोड़ी देर लंड चुसवाने के बाद मयंक लंड को संगीता की गांड की तरफ ले गया.

मेरी एक्स और मेरी वर्तमान गर्लफ्रेंड की चुदाई का मजा तो मुझे मिल ही रहा था, लेकिन इस बार उन दोनों हसीनाओं को एक साथ चोदने मजा मिला था. उसने अन्दर आते ही पूछा- किसके साथ पूरी रात चुदी है मेरी बहना?मैंने उसे सब कुछ बता दिया.

अंजू आंटी करीब 30-32 साल की होंगी और दिखने में ठीक ठाक हैं, पर साली के मम्मों को देख कर मेरा चूसने का मन करता था. मैं जैसे ही उनके निकट पहुंची, उन्होंने बैठे बैठे ही मुझे अपनी गोदी में खींच लिया. जैसे ही उसके नंगे सीने पर मेरी चुचियों की नोक गड़ी और जब मैं उससे एकदम से चिपक गई, तो उसका लंड भी हिलने लगा.

मैंने फैसला किया था कि आशारा के हर अंग को अपने लंड से चोदूंगा इसलिए मैं उसके ऊपर आ गया और पहले पैरों को लंड से सहलाते हुए ऊपर की ओर बढ़ने लगा.

वो मन में सोचते हुए बड़बड़ाने लगा- पता नहीं किसकी बहन चुद गयी …चिराग चल कर बाहर निकला, तो देखा स्नेहा अन्दर की तरफ आ रही थी. निखिल ने भी समय निकलता देख कर अपना लंड रीमा की चुत की फांकों पर रख दिया और धीरे धीरे अन्दर घुसाने लगा. अपनी चूत पर मेरे होंठों का स्पर्श पाकर भाभी सिसक उठीं- इसस्स्स … क्या कर रहे हो राजा … अब देर न करो … मेरी चूत में बहुत खुजली हो रही है.

सेक्सी व्हिडीओ डब्ल्यूदरवाज़ा बंद करने के बाद धारा शेखर के पीछे खड़ी हो गयी और अपने दाहिने हाथ की उंगलियों को शेखर के कान के ठीक पीछे से शुरू करते हुए पूरी गर्दन और धीरे-धीरे उसकी पीठ पर इधर-उधर घुमाने लगी. धारा- हा हा हा … मैं समझ सकती हूँ! लेकिन क्या सच में आपने इससे पहले ऐसे किसी के साथ मस्ती नहीं की है क्या?शेखर- नहीं धारा जी, मैं ठहरा एक छोटे से शहर में रहने वाला इंसान जिसकी दुनिया बस अपने घर-परिवार तक ही सिमटी होती है.

देहाती सेक्सी मूवी ब्लू

धीरे-धीरे वो ख़ुशबू बिल्कुल क़रीब आ गयी और शेखर को महसूस हुआ कि कोई उसके ठीक सामने खड़ा है. अब भाई बोला- क्यों मेरी रंडी, चुदने में मजा आया?मैं हंस दी और बोली- हां यार … तेरा लंड मस्त है. मेरा ये टॉप बहुत फिटिंग का और थोड़ा लम्बा था, तो उसको मैंने जींस के अन्दर खौंस लिया.

मेरा लन्ड तन कर बिल्कुल मूसल हुआ पड़ा था जिसे देख कर शीना की आंखों के साथ साथ उसकी गांड भी फट गई. उनके दोनों हाथ मेरी छाती पर आ गए थे और सिर मेरे कंधे पर था, जहां मैं उनकी आंखों से बहने वाले आंसुओं की नमी महसूस कर रहा था. हॉट गर्ल ओरल सेक्स कहानी में पढ़ें कि ग्वालियर से दिल्ली की ट्रेन में मुझे एक सेक्सी जवान लड़की मिली। उससे मेरी बात हुई तो आगे कहाँ तक बढ़ी।दोस्तो, मेरा नाम आदित्य है.

मैंने तुरंत भाभी के ऊपर आकर अपना लंड भाभी की गर्म चुत में पेल दिया. चाय पीते पीते मेरे दिमाग में एक आइडिया आया और मैंने थोड़ी सी चाय अपनी पैन्ट पर गिरा दी और ऐसे एक्टिंग की, जैसे मेरी जांघ के पास से जल गया हो. उसका 34-30-34 का फ़िगर इतना मादक था कि जो भी देखता, बस उसे चोदने की सोचने लगता था.

कुछ समय बाद वो मुझसे बोली- हम लोग कितने बजे से तक पहुंच जाएंगे?मैंने कहा- सुबह पांच बजे तक पहुंच जाएंगे. वो गगन के लंड को अपने दोनों पैरों के बीच में फड़फड़ाती चुत के अन्दर लेकर धच्च से बैठ गई और गांड हिलाती हुई लंड से चुदने लगी.

एक दिन तो वो अपनी क़ातिलाना नजरों से आंख मारती हुई बोली- यार, कभी मेरी भी वैक्सिंग कर दो न … हमने कौन सा तुम्हारा कुछ बिगाड़ा है.

फिर हम तीनों ने अपने अपने गिलास उठाए और गिलासों को खाली करके साईड में रखी टेबल पर रख दिए. सेक्सी खून वाला वीडियोमैं बोला- वीडियो तो मैं मंगवा लूंगा … पर तुम्हें सेंड नहीं कर सकता. भारतीय सेक्सी वीडियो बताएंचाचा- शालू डार्लिंग चुदाई ही करनी हो तो किसी का भी लंड डलवा लिया कर. आपको ये ऑनलाइन इरोटिक चैट स्टोरी कैसी लगी इस बारे में अपनी राय देते रहें।मेरा ईमेल आईडी है-[emailprotected]ऑनलाइन इरोटिक चैट स्टोरी आगे भी जारी रहेगी।.

जया ने प्रिया की टपकती चुत में मुँह लगा दिया, तो प्रिया, जया से अपने मम्मों को भी दबाने का कहने लगी.

मैं फ़लक की चूचियों को काटने और चूसने लगा, नीचे से चूत में लण्ड सरासर अंदर बाहर हो रहा था. भाभी बोलीं- पागल है तू … तेरे भैया क्या करेंगे फिर?मैंने कहा- भाभी मैं आपको किस करना चाहता हूँ. मैंने कहा- बस मेरी जान … थोड़ी देर में ये सारा दर्द खत्म हो जाएगा … फिर आपको बहुत मज़ा आएगा.

असल में मैं आपको बताऊं कि मेरे पूरे शरीर पर एक भी बाल नहीं है, क्योंकि मैं जिम जाता हूँ तो मेरी बॉडी भी अच्छी है और इसीलिए मैं अपनी बॉडी को सेक्सी बनाने के लिए अक्सर वैक्सिंग करता रहता हूँ. शीना मेरी बात को बहुत गौर से सुन रही थी, फिर वो बोली- क्या आपके पास वो वीडियो है, मैं वो देखना चाहती हूं?मैं बोला- वो वीडियो मेरे पास नहीं है. ये देख कर ताई के हाथ से लौड़ा छूट गया और दोनों के मुँह से एक ही बात निकली- हाय राम इतना बड़ा!मैं बस उनकी तरफ देखने लगा.

कॉलेज की मैडम का सेक्सी वीडियो

वे पागलों की तरह ऐसे लंड चूसने लगीं जैसे उन्हें पहली बार लंड मिला हो. आंटी की चुत पानी तो पहले से ही छोड़ चुकी थी और अब मेरा लंड भी आंटी की चुदाई करने तड़पने लगा था. इतना अच्छा समय बीता मेरा कि मैं बहुत खुश थी।मैंने अजय से बोला- मेरे लिये कुछ खाने को ले आओ.

शेखर चाहता था कि धारा उसका लंड पूरा मुँह में जड़ तक भर ले फिर चूसे … मगर धारा तो धारा ठहरी … वो अपने तरीक़े से लंड के मज़े ले रही थी.

मेरी चूचियों को ब्रा से बाहर निकाल कर उसने चूचों को अच्छे से मसला और पी पीकर मेरी चूचियों लाल कर दिया था.

वो मेरे लंड से निकले हुए वीर्य को गटकती चली गईं और उन्होंने लंड को चूस कर साफ कर दिया. गगन अपनी बहन को चोदने के लिए आगे बढ़ा और उसके चूचे दबाते हुए बोला कि तुझे तो मैं न जाने कितने दिनों से चोदने की फिराक में था. सेक्सी वीडियो सपना कीमैं उसको कभी दीदी बुलाता था, तो वो मुझसे कहती कि क्या यार दीदी दीदी लगा रखा है.

मैंने पूछा- क्या हुआ? छुओगी नहीं इसको?शीना- अंकल, आप का लन्ड तो बहुत लम्बा और मोटा है. धारा की सिसकारी और दर्द भरी आह्ह सुनकर शेखर को भी अहसास हुआ कि शायद जोश-जोश में उसने कुछ ज़्यादा ही ज़ोर से धारा की चूचियाँ मसल दी थीं. अब आगे दोस्त की बीवी की चुदाई कहानी:प्रशांत मेरी हथेली सहलाते हुए बोला- ठीक है भाभीजी अच्छे से सोचकर बता देना … पर आज तो हम दोनों की मांग पूरी कर दो.

तैयार होकर जब मैंने खुद को आईने में देखा तो आज मैं एकदम करारी माल लग रही थी. कुछ देर वहां खड़े रह कर ये सब करने से भी मुझे संतुष्टि नहीं मिली … और ना ही बारिश रुकी कि मैं घर चली जाऊं.

मैंने धीरे से उसके दोनों गालों को अपने हाथों से पकड़ कर उसके गाल को चाटा.

एक बोला- मेरी रानी आज पूरी रात हम दोनों मिलकर तेरी चुदाई ही करेंगे. मैं उसके पैरों की उंगलियों को चूसता हुआ, पिंडलियों को चूमता हुआ धीरे धीरे ऊपर बढ़ रहा था. ज्योति लजाते हुए- पागल कहीं के … लाओ मैं इसे हाथ से ठंडा कर देती हूं.

सेक्सी वीडियो रानी की उसने जैसे ही हाथ बढ़ाया, मैंने जान बूझकर पैसे गिरा दिए और बोली- ओह्ह सॉरी … मैं उठा देती हूं. क्योंकि उस समय कोरोना कर्फ्यू चल रहा था तो दुकानें चोरी छिपे खुल रही थीं.

उधर वो भी झड़ गई और मैंने भी उसकी चुत को चाट चाट कर एकदम शीशे सा चमका दिया. वो तड़फ कर ऊपर की तरफ उठने लगी लेकिन मैंने संगीता को पीठ से पकड़कर मेरी छाती पर दबाया हुआ था और मयंक ने संगीता के दोनों चूतड़ों को जोर से पकड़ कर लंड अन्दर घुसा रखा था. लेकिन अभी मेरा उन दोनों को कुछ कहना ठीक नहीं था, इसी लिए मैं शांत रही और उन पर नज़रें बनाए रखीं.

सेक्स सेक्सी वीडियो चुदाई वाली

मेरी शादी को अभी डेढ़ साल ही हुआ है, मैं अपने पति से पूरी तरह से संतुष्ट हूँ और हम दोनों बिस्तर में हर तरह से मजे करते हैं. मैंने थोड़ा उचक कर लण्ड को छेद पर टिकाया तो फ़लक बोली- सर, धीरे धीरे अंदर डालना, मैंने ये कभी नहीं किया है. जैसे ही लंड को आजादी मिली, वो एकदम से झटके देता हुआ सीधा खड़ा हो गया और भाबी को सलाम करने लगा.

वो हंस दिया और बोला- तो आज हम से मिल लो, मैं अपने रूम में अकेला ही हूँ और उद्घाटन समारोह भी अच्छे से करूंगा कि इससे बड़े बड़े लौड़े भी अपनी गांड में लेने के लिए तुम्हारी गांड मचलने लगेगी. मस्त हवा चल रही थी, मुझे भी खाली सड़क पर गाड़ी चलाने में बड़ा मजा आ रहा था.

किसी को स्तनों के मसलने, उन्हें चूसने, सहलाने पर उत्तेजना हो जाती है.

मोहन नीरू के बगल में लेटकर जोर जोर से सांस लेने लगा और नीरू को सॉरी बोल कर सो गया. अगर मैं टॉवल को बिना पकड़े खड़े होती, तो पक्का खुल जाती … जो कि मैं चाहती भी थी. अब आगे हॉट चुदाई का मजा:मैंने पूछा- दीदी, आपने अपने रेट कैसे तय किए और उस ब्यूटीपार्लर वाली भाभी ने आपको पहली बार ग्राहक के सामने कैसे सैट किया?दीदी- भाभी एक शॉट के हजार रुपये लेती थीं, जिसमें से कमरा किराये पर देने के लिए दो सौ रुपये खुद रखती थीं और आठ सौ रूपये उस लड़की को देती थीं, जिसकी चुदाई होती थी.

मयंक संगीता के मुँह की तरफ चला गया और बेड पर खड़ा होकर संगीता से लंड चुसवाने लगा ताकि लंड संगीता के थूक से गीला हो जाए. वो मेरे सबसे करीब थी तो मैं उससे सट कर खड़ा हो गया।मैंने रूपाली की कमर में हाथ डाल कर उसे खुद से चिपका लिया। मैंने अपनी एक उंगली रूपाली के मुंह डाली और उसे चुसाने लगा।मेरी उंगली उसकी लार से गीली हो गई. थोड़ी देर थोड़ी देर बाद वह लड़की ऊपर वाली साइट बर्थ पर आ गई तथा उस पर सो गई.

कुछ देर बाद मेरा लौड़ा अन्दर ही झड़ गया और उसकी गांड में लंड घुसा कर उसके ऊपर ही गिर गया.

नहाने का बीएफ: मैं मम्मी पापा के पास स्थिति का जायजा लेने गया तो देखा कि वो दोनों अपने रूम में टीवी देख रहे थे. ’तभी भाभी की चूत का रस बाहर आने लगा और वो अकड़ते हुए बोलने लगीं- आह … मैं कट गई … आह मैं झड़ गई हूँ.

इस बात से मुझे और तेज गुस्सा आ गयी और मैं बोली- साले जब लंड में ताकत ही नहीं थी, तो ये सब नाटक क्यों किया. मस्त चुदाई हुई थी यार … वो भाभी अब भी मेरे दिमाग से निकलती ही नहीं है. एक बार मैं उनके घर के सामने से निकला तो अंदर से ब्लू फिल्म की आवाज आ रही थी.

अब भाभी काली ब्रा और पीली साड़ी में थीं और उनका वो गोरा बदन मेरी वासना को सातवें आसमान में ले जा रहा था.

रुचि चुत खोल कर लेट गयी और साथ ही चंचल और ऋतु अपने में मगन हो गयी अर्थात वो दोनों एक दूसरे के मम्मों को दबा रही थी, तो कभी चुत में उंगली डाल रही थी … तो कभी एक दूसरे को चाट रही थी. अन्तर्वासना पर ये मेरी पहली सेक्स कहानी जरूर है, पर मुझे यकीन है कि आप लोगों को ये कहानी पसंद आ ही जाएगी. नीतू ने शर्म से खुद ही अपने मुंह को दोनों हाथों से बंद कर लिया लेकिन अभी उसके मुंह से आह्ह … मम्मी … आअह्ह … उस्स्स्ज़ … उम्म्म्म जैसी सिसकारियां सुन पा रहा था।लगातार तेजी से चूत चोदने से चूत के पास सफ़ेद झाग आ गया था।थोड़ी देर में नीतू का बदन कांपने लगा.