एक्स वीडियो बीएफ एक्स वीडियो

छवि स्रोत,xxx video भाई बहन

तस्वीर का शीर्षक ,

লন্ডন সেক্স: एक्स वीडियो बीएफ एक्स वीडियो, एक बार फिर उनकी चूत की खुश्बू ने अपना असर दिखाया और मेरा लंड फिर से टाईट हो गया। मैं उनकी चूत को याद करते हुए अपना लंड गद्दे पर रगड़ने लगा।थोड़ी देर तक ऐसे रगड़ने के बाद अब मुझे थोड़ी नींद आने लगी थी। तभी अचानक से कोई मेरे ऊपर आकर बैठ गया। मैंने देखा तो वो मेरी प्यारी भाभी थीं.

मौसी एक्स एक्स एक्स

थोड़ा सहन करो।अनु दर्द से कराह रही थी और मैं धक्के पर धक्का दिए जा रहा था।अनु की यह पहली चुदाई थी. बंगाली देहाती सेक्सी बीएफअक्सर ये सब उस वक्त होता है, जब मैं बाहर गांव जाता हूँ तो उससे करता हूँ.

जहां तक इतने माल का सवाल है, वो मैं हर काफी ज्यादा मात्रा में दूध और काजू बादाम खाता हूँ. बीएफ सेक्सी फिल्म चाहिएघर देख कर मेरी आँखें फटी की फटी रह गईं। इन्होंने घर के तीन माले भाड़े पर ले रखे थे जिनमें न सिर्फ बहुत सारे अफ्रीकन लंड होंगे.

शाम को लंच के बाद करीब 2 बजे बॉस ने मुझे अपने केबिन में बुलाया और कहा- वो लोग आज शाम को आ रहे हैं और होटेल क्रिस्टल पैलेस में रुकेंगे.एक्स वीडियो बीएफ एक्स वीडियो: चूसने का मन कर रहा था।दो दिन तक उसकी कोई मेल नहीं आई मैंने बस पिक के लिए लिखा कि आप फोटो में बहुत प्यारी लग रही हो.

मैं भी पेशाब करने लगा। मैंने पानी से उसकी चूत धोई और उसने मेरा लण्ड धोया।फिर उसने एक गाऊन पहन लिया और मैंने एक लोअर और शर्ट। उसने फ़ोन से खाने आर्डर किया और हम टीवी देखने लगे।वो मेरे कन्धे पर सर रख कर मुझसे कहने लगी- अखिल तुम बहुत अच्छा चोदते हो.मैं उसे मेरी बुक्स दिखाने के लिए ऊपर रूम में लेकर गया, जो कि मेरा प्लान था.

सेक्सी पिक्चर नंगी वाली वीडियो में - एक्स वीडियो बीएफ एक्स वीडियो

पर उसने मुँह हटा दिया।फिर धीरे से मैंने उसे लिटा दिया और और उसके चूतड़ों के नीचे एक पिलो रख दिया.’उसने चौंकते हुए मेरी तरफ चाय बढ़ा दी। मैं कप उठाया और चाय पीते हुए.

मैं उसके पास जाकर उसको टच करने की कोशिश करता, पर वो दूर कर देती, मेरी फ्रेंड ये देखकर बहुत ग़ुस्सा हो रही थी. एक्स वीडियो बीएफ एक्स वीडियो घर जाकर मैंने खोलकर देखा तो उसमें एक डिज़ाइनर ब्रा-पैन्टी का सैट था.

थोड़ा आराम पड़ जाएगा।’ कहकर उन्होंने अलमारी से एक ऑइनमेंट निकाल कर मेरे हाथ में दे दिया और खुद फिर से रसोई में चली गईं।जब वो वापस आईं.

एक्स वीडियो बीएफ एक्स वीडियो?

मुझे अपने लंड पर दबाने लगा।मैंने इससे पहले कभी ये नहीं किया था, यहाँ तक कि मैं जब भी इसे सेक्स मूवी में देखती या सहेलियों से कभी इसकी चर्चा होती. तो उस पर खून के निशान थे। हमने चादर धोई और हल्की सी सुखाकर बिछा दी. और कुछ लड़कियों का दिल कर रहा होगा कि काश सन्नी जैसा लड़का हमारी लाइफ में भी आए।कहानी कैसी लगी प्लीज़ जरूर बताना।[emailprotected].

मैं एक कॉलेज में पढ़ता हूँ और में कानपुर से हूँ। सेक्स मेरा पैशन है। मेरे लण्ड का साइज़ 6. मुझे एकदम जवान लड़के बहुत पसंद हैं। जनरली मैं 18-23 साल तक के लड़के तलाश करता हूँ. चाची ने करवट ली और मेरे तरफ मुँह कर लिया।अचानक चाची बोलीं- क्या चाहिए.

मैंने फोन उठाया तो थोड़ी देर तक पति महोदय चुप रहे और फिर एकदम से बोले- मज़ा आ रहा है या नहीं?मैं एकदम से सन्न रह गयी. उसकी चूत भी गीली हुई पड़ी थी और मेरे लंड को उसकी गर्मी पूरी तरह से महसूस हो रही थी. मैं और मेरा भाई हँसने लगा कि गिलास कैसे बनेगा।तब मेरा भाई दूसरे कमरे में चला गया। आंटी चौकड़ी मार कर बैठ गई थीं.

तो वो भी मुझे रो-रो के धीमे स्वर में कह रही थी।फिर मैं थोड़ा रुका और उसे किस करने लगा। उसने शायद काफ़ी टाइम से कोई बड़ा लण्ड नहीं लिया था. पर उसका विरोध बहुत कमज़ोर था और मेरे हाथ उसकी पैंटी के ऊपर से उसकी बुर के आस-पास आ गया था।मैं जानबूझ कर वहाँ हाथ नहीं लगा रहा था। ममता अपनी कमर को उठा कर मेरी उंगलियों को अपनी बुर से टच कराने की कोशिश कर रही थी।मैं उसको तड़पा रहा था.

उसकी तारीफ में उसने उसका चूतरस मुझे मेरे मुँह पर बैठकर पिलाया।मेरी किस्मत में एक ऐसी लड़की थी.

उसको अपनी कामुक माँ की पीठ की त्वचा बहुत ही मुलायम लगी, उसको अपनी माँ को साबुन लगाने माँ बहुत मजा आया, वो बोला- माँ…शीतल- हाँ बेटा?विक्रम- आपकी पीठ तो ढकी हुई है, नीचे साबुन कैसे लगाऊं?शीतल- अच्छा रुक… मैं पेटीकोट नीचे करती हूँ.

मयूरी के लिए ये नया नहीं था, वो पहले भी कई बार अपनी चूत अपने दोनों भाइयों से चटवा चुकी थी पर एक औरत के होंठों और जबान की बात ही अलग होती है और विशेष रूप से अपनी सगी माँ आपकी चूत चाट रही हो तो उसकी बात ही थोड़ी अलग होती है. तो उसने बड़े आराम से अपने हाथ ऊपर करके मेरी मदद की।दोस्तो क्या बताऊँ. और यह कहकर मैं उन्हें लिप किस करने लगा, मैंने अपनी जीभ को उनके मुँह में डाल दिया और वो उसे चूसने लगीं।करीब 5 मिनट के बाद मेरे मुँह में इतना थूक भर गया कि मेरा मुँह भर गया और मैंने मौसी से इशारा करके मुँह खोलने को कहा और उनके मुँह में आधा थूक दिया.

मैं उसे किस करने लगा।भाभी भी पूरी पागल हो गई और उसने मेरा सिर पकड़ लिया।फिर मैंने उसे बिस्तर पर लेटा लिया और उसकी चूत चाटने लगा. जीवन के मोड़ पर ममता और मेरा ये एकदम नया अनुभव हम दोनों को किस पड़ाव पर ले जाने वाला था इसको पूरा जानने के लिए अन्तर्वासना पर मेरे साथ जुड़े रहिए।आपके विचारों का मेरी मेल पर स्वागत है।कहानी जारी है।[emailprotected]. मानो मेरे अन्दर करंट सा लग गया।लेकिन मैंने चाची को अच्छी तरह रंग लगाया।फिर चाची ने मुझे रंग लगाया.

आज मेरी चूत पहले से ही पानी छोड़ने लगी थी क्योंकि मैं इस मूवी को देख कर आलरेडी बहुत गर्म हो चुकी थी.

हर जगह नाखूनों के निशान और शौच करते समय बहुत दर्द हुआ और थोड़ा सा खून भी निकला. पूजा ने मुझसे मेरी पर्सनल लाइफ के बारे में कुछ सवाल किए और अपनी जिंदगी की बहुत सारी बातें मुझसे शेयर की. कभी किसी लड़के के साथ और कभी किसी बूढ़े के साथ … जो भी मुझे पसंद आता और जहां भी मुझे मौका मिलता, मैं किसी के भी लंड से अपनी प्यासी चुत की प्यास बुझा लेती.

अब ठंड थोड़ी ज्यादा हो चली थी। हम दोनों में इधर-उधर की बातें होने लगीं. तेरा लंड बहुत बड़ा है।मोनू ने लंड को चूत के छेद पर टिकाया और हल्का सा धक्का दिया. तब फिर मॉम झुकीं, तो डैड ने थोड़ा सा नीचे से लेकर लंड को मॉम की चूत में पेल दिया और फटाफट धक्के पे धक्का मार कर चोदने लगे.

लेकिन मैंने कभी उसको चोदने का सोचा नहीं था। बात करीब एक साल पहले की है.

मैं जानता था कि मेरी बहन का चक्कर बहुत सारे लड़कों के साथ चल रहा था. जिससे हम तीनों को सीट मिल गई थी।मैं अपने साथ एक जीके की बुक लेकर आया था जिसे मैं पढ़ रहा था।मुझे पढ़ता देख वो लड़की भी मेरे पास आकर उसी बुक को पढ़ने लगी।इस तरह हमें पढ़ते हुए 1:30 बज चुके थे ट्रेन के अधिकतर लोग सो गए थे और अब हमें भी नींद आने लगी।अब हमने किताब बन्द कर दी थी और आपस में बातें करने लगे। बातों-बातों में मैंने उससे नाम पूछा.

एक्स वीडियो बीएफ एक्स वीडियो चूसने और गाण्ड मरवाने की क्लिप देखना बड़ा अच्छा लगता था। कुछ हॉर्नी किस्म की थी ये सोनू।मैं ऐसी ही किसी लड़की की तलाश में था। सोनू मेरे जाल में आकर फंस गई। जाल भी मैंने ऐसा बुना था कि सोनू की चूत बार-बार चुदासी होती। वो मुझसे हमेशा सेक्स की बातें करती।मैं एक शादीशुदा आदमी था. उससे पहले वो खड़ी हुई और हाथ में वो पानी की गिलास लिए हुए मेरे पास आ गई, वो धीरे से नीचे बैठी और कहा- मैं तुम्हें बहुत पसंद करती हूँ और तुम्हारी हर ज़रूरत को पूरा करूँगी।इतना कहते ही उसने वो पानी का गिलास अपने चूचों पर गिरा दिया।मेरी नज़रें उसके उभरे हुए चूचों पर गईं तो मैं दंग रह गया.

एक्स वीडियो बीएफ एक्स वीडियो पर मेरी चूत में बहुत जलन हो रही थी।किसी तरह मैंने अपनी चूत साफ की और वापस आकर बिस्तर पर लेट गई।इतने में मैंने देखा कि उन दोनों के मूसल अब फिर से तन्ना रहे थे।प्रकाश ने मुझे बाँहों में भर लिया और चूमने लगा और नीलेश से कहा- अब तू आराम कर. कुछ टाइम बाद मैंने चाची की चुची को मुँह में लिया और चूसना शुरू कर दिया.

रोहन सो रहा था तो उसने दरवाज़ा खोलने में जरा देर कर दी। रोहन के दरवाज़ा खोलते ही मैं कमरे के अंदर आई, तब तक रोहन भी वापिस बिस्तर पर लेट गया.

सेक्सी गाना सेक्सी फोटो

तभी से ही मैंने तुझसे चुदने की सोच ली थी।यारो, यह घटना बिल्कुल सत्य है. मैं अपने मुलायम होंठों से अपने देवर का लंड चूस रही थी और वो मुझे अपना लंड चुसवा रहा था और अपनी आँखें बंद करके लंड चुसवाने का मजा ले रहा था. मैंने कहा- तो मैं कौन हूँ?रिया बोली- आई लव यू विराज, लेकिन अगर मेरी शादी नहीं हुई होती तो मैं सिर्फ़ तुम्हारी होती … बट ऐसा नहीं है जान!मैंने कहा- तो आप मुझे भूल जाओ.

रवि की पिचकारी मेरे हलक में गिरने लगी और चूत में जीजू का लौड़ा घुस चुका था. मैंने किस तरह वापिस आकर भाभी की बहन को चोद कर अपनी आग बुझाई।अगर आपको ये कहानी अच्छी लगी हो तो मुझे ईमेल कीजिएगा।आपका हंक।[emailprotected]. उसकी चुदाई की कहानी बहुत जल्द आपको बताएँगे।दोस्तों आपको मेरी ये कहानी कैसी लगी.

उनकी चूत का द्वार खुला था और अन्दर से लाल लाल एक छोटी सी गुफा जैसे दिख रही थी.

तो दो दिन के बाद आऊँगा।मैं घर से बाहर निकला और रात को मामी के घर आ गया।मामी मुझे देख कर बहुत खुश हुईं और उन्होंने मुझे गले से लगा लिया।पहले हम दोनों ने चाय पी और बातें करने लगे।मामी उस दिन बहुत सुंदर लग रही थीं, मैंने धीरे से एक हाथ मामी के मम्मों पर रख कर उनको मसलने लगा और उनको किस करने लगा।मामी भी मेरा साथ दे रही थीं।मामी ने सलवार और कमीज़ पहना हुआ था. तो उन्होंने कहा कि मुझे नहीं पता और फिर तभी खिड़की से उन्होंने तुम्हें देखा और कहा कि वो नीचे सूरज है. प्रिया के गले की चैन को तो मैंने अच्छी तरह से पहचान लिया था, जिसको अब उसने पहनना बन्द कर दिया था.

किसी ने सही फ़रमाया है:ना चोदो किसी को इतना …कि उसकी चूत तुम्हारी कमजोरी बन जाए;उसे चोदो कुछ इस तरह …कि तुम्हारा लंड उसके लिए जरूरी बन जाए. तो जल्दी ही करना होगा।मैंने सोनी के टॉप के अन्दर हाथ डाल कर उसकी पूरी पीठ को सहलाने लगा. फ़िर उसके होंठों पर किस करना चालू किया। उसके होंठ इतने रसीले थे कि ऐसा लग रहा था बस इसे चूसता ही रहूँ।मैंने उसे अपनी गोद में उठाया और अन्दर बेडरूम में ले गया, बिस्तर पर लिटा दिया और उसके ऊपर लेट गया।अब मैं उसे किस करने लगा, किस करते-करते मैं नीचे आ गया, मैं उसे गर्दन पर किस करने लगा.

प्रिया लगातार सीत्कार रही थी- आइया … अह्ह्ह … ऊऊह्ह …लम्बी चुदाई के प्रिया अब अकड़ने लगी और बोलने लगी- बेबी … मेरा होने वाला है …मैंने फुल स्पीड में कुछ धक्के मारे होंगे और प्रिया की गांड में सारा माल डाल दिया. लेकिन मैं थोड़ा अपनी जवानी में अपने परिवार से आगे निकल गई हूँ और अपनी प्यासी चूत को शांत करने के लिए मैंने अपने जीजू से ही दैहिक सम्बन्ध बना लिए.

मैं उनके मुँह में ही झड़ गया।चाची चटखारे लेते हुए बोलीं- बहुत गाढ़ा माल है. इस बार वो अपनी चीख़ों को दबा नहीं पाई- आहह … आ … आह … ओह … हम्म … अ … आहहहह …तभी मैंने उसकी टांगों को खोला और जैसे ही फिर से लंड अन्दर डाला. मैं बेहोश हो गई थी।फिर उसने आराम-आराम से अपने लंड को आगे-पीछे किया.

तो मैं समझ गई कि ज़रूर मुँह में लेने के लिए बोल रहा है।मैंने मना कर दिया.

और दोनों फाँकें एक-दूसरे से पूरी तरह से चिपकी हुई थीं।उसको हटा कर जब अन्दर देखा तो पूरा पानी से भरा हुआ था और एकदम गुलाबी था. जो मेरे साथ हुआ है। मैं एक हाउसवाइफ हूँ और एक मिडल क्लास फैमिली से हूँ।मैं 32 साल की हूँ. सच में मजा आ गया।वो मुझे किस करने लगी और हम दोनों की ख़ुशी हमारे चेहरों पर थी।उसके बाद मैंने उसको उसी रात में दो बार और चोदा।सुबह सुनयना चाय लाई और मैंने और उसने साथ नाश्ता किया, फिर मैं वापिस आने लगा।सुनयना ने मुझे बोला- जब भी मैं बुलाऊँ तो आ जाना.

तब तक वेटर हम लोगों के लिए ड्रिंक्स ले आया और मैंने पूजा को एक ग्लास ब्लडी मेरी पकड़ा दिया. फिर बेड पर मालिश करने के लिए बोला, बाद में मतलब उन्हें भी मजा आ रहा था.

पोर्न स्टोरी के पिछले भागलेस्बो मकान-मालकिन की चूत की प्यास-1अब तक आपने पढ़ा. क्योंकि जो हुआ वो वक़्त का तक़ाज़ा था और प्यार में ये सब बेमानी हो जाते हैं। बस प्यार साथ रहे यही चाहत होती है. जीवन के मोड़ पर ममता और मेरा ये एकदम नया अनुभव हम दोनों को किस पड़ाव पर ले जाने वाला था इसको पूरा जानने के लिए अन्तर्वासना पर मेरे साथ जुड़े रहिए।आपके विचारों का मेरी मेल पर स्वागत है।कहानी जारी है।[emailprotected].

नंगी से नंगी सेक्सी पिक्चर

वैसे मैं मौका देख कर किसी न किसी को पटा लेती हूँ और उससे चुदवा लेती हूँ.

’वह भी तीसेक शॉट मार कर अपने लण्ड का पानी मेरी बुर की गहराई में छोड़ने लगा।मैं कहानी भेजती रहूँगी. पर लण्ड फिसल गया। मैंने फिर कोशिश की इस बार जोरदार धक्का मारा और लण्ड का सुपारा अन्दर घुस गया।रेणु जोर से चिल्ला उठी और मेरी पकड़ से छूट गई। मैंने फिर से उसे कस के पकड़ा और एक ही धक्के में आधा लण्ड उसकी चूत में उतार दिया। उसके आंसू आ गए और उसके नाखून मेरी पीठ पर गड़ गए।मैंने थोड़ा रुक कर एक और धक्का दिया. वो बोली- दीदी, मैंने कभी चाटा नहीं है। क्या आप चाटती हो?मैंने कहा- हाँ, बहुत अच्छा लगता है मुझे!और फिर वह मेरी चूत के रस को पीने लगी.

शीतल ने अपने एक साथ से साबुन और एक हाथ से लूफा (बदन को रगड़ कर साफ करने वाली चीज़) पकड़ी हुई थी, उसका पूरा शरीर भीगा हुआ था, उसका पेटीकोट भी भीगा हुआ था और उसके भीगे होने की वजह से वो शीतल के पूरे शरीर में चिपका हुआ था. पर अजीब लग रहा था। तो उसने मेरा सिर पकड़ कर अपना लंड मुँह में पेल दिया।थोड़ी देर बाद मुझे भी मज़ा आने लगा, अब वो मेरी चूत से खेल रहा था, मेरी झाँटों को खींच रहा था।फिर अचानक से उसने बोला- अपनी टाँगें फैलाओ।मैं डर गई. गोवा की नंगी फिल्ममैंने रीतिका से कहा- तुम कपड़े बदल लो!तो वो बोली- मैं कपड़े उतार दे रही हूँ.

पता है उस रात तुमने एक रजाई तो नीचे बिछा रखी थी और एक रजाई को ओढ़कर सो रहे थे, तुमसे रजाई लेने के लिये हमने तुम्हें कितना जगाया मगर तुम उठे ही नहीं. जो की सपना ने अपनी जीभ से चाटकर साफ़ कर दिया।भाभी मेरा पूरा बीज गटक गईं और सपना से बोलीं- कितना स्वादिष्ट बीज है.

मैंने देखा कि रवि बहुत गर्म हो चुका था और उसके चेहरे से वासना की लकीरें साफ़ दिखाई दे रही थीं. यह घर है और भाई जी बाहर बैठे हैं। यह सब काम अभी नहीं हो सकता और अभी रात में तेरी चूत को दो बार चोदा है न. मैंने उसके मम्मों को फिर से प्रैस किया और उसकी गाण्ड को सहलाते हुए कहा- भाभी के अन्दर आज एक साथ दो-दो लौड़े उतार देते हैं यार!वो बोली- हाँ.

’आखिरकार बात करते करते हम दोनों ने फोटो एक्सचेंज करी, उसे मैं कैसा लगा नहीं पता, पर मुझे तो वो सेक्स बम लग रही थी, फिर हम दोनों ने बात जारी रखी. भाभी और मैं एक-दूसरे की प्यास बुझाने में शुरू हो गए।भाभी तो बस मेरा लंड खा जाने पर उतारू थीं. अब तो हँस दो।और मैं भी मुस्कुराते हुए पति के होंठों का किस करने लगी।पति के जाने के बाद मैं मुख्य दरवाजा बन्द करके बेडरूम में आ गई। मैंने नाईटी को निकाल कर एक दूसरा टू-पीस की नाईटी पहन ली।नाईटी के अन्दर सिर्फ ब्रा पहनी.

तभी विकास भी दरवाजा बंद करके अन्दर आ गया और दादा जी को मेरे ऊपर चढ़े देख भौंचक्का देखता रह गया.

वो अगली बार ही पोस्ट करूँगा।प्लीज़ मुझे ईमेल करें।[emailprotected]. मैंने इसका फायदा उठाया और कहा कि चल मैं बताता हूं कि ये लंड क्या है?मैंने फिर से उसका हाथ पकड़ कर अपनी चड्डी के अन्दर ले गया.

मेरी समझ नहीं आ रहा था कि मुझे ऐसी हालत में देख कर वे क्या सोचेगें और अब क्या होगा?तभी शायद एक या दो बची हुई सीढ़ी से ही उन्होंने आवाज दी- नेहा कहाँ हो. कुछ देर बाद मैं जाकर उसको ड्राप कर आया और वापस आकर मैंने अपनी फ्रेंड को चोदा. मैंने रीतिका से कहा- तुम कपड़े बदल लो!तो वो बोली- मैं कपड़े उतार दे रही हूँ.

पर फिर से फिसल गया।फिर चाची ने मेरा लण्ड पकड़ कर चूत पर लगाया और बोलीं- धीरे से मेरे राजा. ये उस सीडी से पता चला। जबरदस्त घनघोर जानवरों जैसी चुदाई का वो मंजर. मैंने उसके होंठों को चूसते हुए लंड को पूरी ताक़त से अन्दर तक धकेला और सुनयना भी पूरी चूत ऊपर करके मुझे कस कर पकड़े हुई थी।‘अहहसीए.

एक्स वीडियो बीएफ एक्स वीडियो तब उसने अपनी आँखें खोलीं और लण्ड देखते ही घबरा गई।उसने कहा- ये तो बहुत मोटा है. ठीक है मैं तुम्हें भाई-बहन की कुछ कहानी भेज रहा हूँ। तुम उसे पढ़ लो.

बिहार का सेक्सी डांस

फिर एक दिन मैंने उससे पूछा- कहीं घूमने चलें क्या?तो उसका जवाब आया- ठीक है. जिससे मुझे भी राहत हुई, नहीं तो मेरा भांडा फूट जाता।अनु बहुत देर तक मेरा लंड देखती रही और करीब 15 मिनट बाद उसने मेरे लंड पर अपना हाथ रखा. क्या बताऊं दोस्तो कि कितना मजा आ रहा था! मन तो हो रहा था कि वहीं उसके पास सो जाऊं और उसको अपनी बांहों में भर लूं लेकिन ट्रेन में होने की वजह से मैंने ऐसा कुछ नहीं किया; बस अपने हाथों से कभी उसके गालों को कभी उसके स्तनों को दबाता।मैंने प्राची के कान में धीरे से कहा कि वह थोड़ा ऊपर आ जाए.

मुझे सिम्मी बहुत पसंद थी, पर मैंने उसके बारे में कभी कुछ ग़लत नहीं सोचा था. क्योंकि वहाँ मेरा कोई दोस्त नहीं था। मैं बहुत अकेला-अकेला महसूस कर रहा था। पहली बार घर से दूर गया था न. एक्स एक्स एक्स hotसाथ ही अंकल अपनी कमर को उछाल कर अपने लंड को मेरे मुँह में ठोके जा रहे थे.

मैंने अपना लण्ड भाभी की गाण्ड पर रख दिया।भाभी बोली- आज तक तो तेरे भाई ने ऐसा नहीं किया.

तो नीलेश ने खुद मेरी चूत में धक्के मारे।मैं बेहोशी की हालत में भी चिल्ला रही थी।करीब दस मिनट बाद मैं नीलेश के ऊपर गिर गई।करीब एक घन्टे के बाद मुझे कुछ होश आया. पर आपने तो सारी मर्यादा भुलाकर अपने ससुर के साथ चुदाई का खेल खेला है.

तो अदिति बोली- बहुत जल्दी में लगते हो।मैंने कहा- इस काम में कपड़ों का क्या काम औऱ अगर ऐसी ही बात है. मैं और मेरा भाई हँसने लगा कि गिलास कैसे बनेगा।तब मेरा भाई दूसरे कमरे में चला गया। आंटी चौकड़ी मार कर बैठ गई थीं. तो सपना ने शिखा से पूछ ही लिया- शिखा यह तुम्हारे चेहरे पर चिपचिपा सा क्या लगा है?शिखा ने छुपाने की बहुत कोशिश की लेकिन जवान बीज की एक अलग ही महक होती है.

”लेकिन आज न तो आपका लन्ड कामयाब हो पायेगा … न ही मेरी चूत उसे अपने भीतर समाने देगी! देख लेना … आप चाहे मुझे कितना ही जला लें! मेरी वासना की आग को आप कितना भी भड़का दो पर आज न चुदूँगी मैं आपसे! देख लेना!” मीता ने अपनी बड़ी बड़ी कजरारी आँखें मटकाते हुए मुझे चैलेंज किया.

पर वो दिन न वो भुला पाई और न ही मेरी सेक्स की प्यास को वो खत्म कर पाई और वही कालेज वाली सेक्स की प्यास अभी तक मुझ में धधक रही है। सो देखते हैं कि कब कोई इस लंड की प्यास बुझाती है. मयूरी उसके एकदम पास उसके बिस्तर पर खड़ी हो गयी, जिससे उसकी चूचियां ठीक विक्रम के चेहरे पर हों. मेरे बदन में तो जैसे बिजली का करंट दौड़ गया और मेरी गाण्ड का छेद सिहरने लगा।राजेश ने अपनी जीभ धीरे से उस छेद के अन्दर घुसाई। मेरी साँस अपने आप रुक गई.

बीएफ सेक्सी बुर चुदाईआज रात को कर लेना।फिर मैं मान गया और अपना लण्ड उसके मम्मों के बीच में लगाकर रगड़ने लगा और वो भी मेरा ज़ोर-ज़ोर से साथ दे रही थी। वो एकदम पूरी रंडी की तरह मेरे लण्ड के साथ खेल रही थी।दोस्तो. मुझे बिस्तर पर औरतों के साथ तरह तरह के एक्सपेरिमेंट करने में बहुत मज़ा आता है.

बिहार का सेक्सी चाहिए बिहार का सेक्सी

फिर मैं संतोष को बाहर बने सर्वेन्ट क्वार्टर को दिखा कर बोली- तुमको यहीं रहना है और जो भी जरूरत हो. मैंने उन्हें अपने हाथों में ले लिया और उसकी एक निप्पल को चूसने लगा. रवि की आकर्षकता पर पूरे कॉलेज की लड़कियां फिदा थीं, पर वो मुझसे बहुत प्यार करने लगा था.

मेरा नाम राहुल है, मैं काफ़ी समय से अन्तर्वासना पर कहानियां पढ़ रहा हूँ।कई बार मैंने सोचा कि अपनी कहानी भी सबको बता सकूँ. मैं उसकी चूत में लण्ड डालने के लिए उसको तैयार करने लगा। उसकी इतनी खूबसूरत चूत देखकर तो बुड्ढे का लण्ड भी खड़ा हो जाए. ’ ये कहकर और ज़ोर से खींच रहा था। तभी पिंकी को मेरे लण्ड का एहसास हुआ.

मेरी पिछली चुदाई कहानीआपने पढ़ी ही होगी जिसमें मैं अपने पति के फूफाजी से चुदी थी. मैंने जीजू से कहा- कोई बात नहीं!और उसके बाद शाम को हम दोनों लोग घर में अकेले थे. नहीं सिर्फ़ सुधा बोल।मैं- ओके बाबा।मैंने चाय बनाई और हम दोनों ने पी और मार्केट चले गए।एक मॉल में मैंने कहा- सुधा यहाँ से क्या खरीदना है?सुधा- कुछ ड्रेस ले लें.

उधर लंड की सटासट पम्पिंग से लगातार प्रिया की सिसकारी निकलते हुए और तेज हुई जा रही थीं. धीरे से हल्का सा धक्का लगाया कि मेरा फूला हुआ सुपाड़ा उसकी चूत की गलियों में जा के फंस गया।ममता- आआह्ह्ह्ह.

तो गीत सिसकती हुई जोर-जोर से चिल्लाते हुए अपनी चूत चुदवाने लगी।इतने में गीत की गाण्ड के नीचे से मैंने उसके नितम्बों को हाथ से पकड़ा और जोर-जोर से झटके लगाने लगा।अब गीत भी जोर-जोर से उछलने लगी, गीत भाभी की सिसकारियाँ तेज़ हो गई थीं।जैसे ही मैंने गीत को थोड़ा और ऊँचा किया तो उसकी गाण्ड के पास खड़े संजय को गीत की गाण्ड पसंद आ गई और उसने आगे-पीछे बिना देखे.

फिर मैंने मधु को अपने ऊपर लंड में बैठने के लिए बोला और उसके बूब्स दबाते हुए नीचे से धक्के लगाने लगा, मधु भी उचक उचक के चुदाई का मज़ा ले रही थी और मैं उसके उछलते हुए चूचों को पकड़ कर दबाने की कोशिश में था. देवर भाभी की नंगी चुदाई दिखाओऔर मैं चूत चुदाने के नशे में अंधी होकर पूरी जांघें खोल कर लण्ड के अन्दर जाने का इन्तजार साँसें रोक कर करने लगी।मैं जवानी के नशे में पागल हो रही थी ‘बस. भाभी की चुदाई हिंदी सेक्सी बीएफया जमीन पर लेटे-लेटे अपने दोनों छेदों को चुदवाना चाहती हो?‘आप जैसा कहें. न मैंने उनकी बात मानी क्यूँकि मैं पढ़ने के लिए दिल्ली चला गया।उनकी आखों में आज भी प्यार देखता हूँ लेकिन मैं ऐसी कोई गलती नहीं करना चाहता.

ताकि उसका लौड़ा पूरा का पूरा मेरे हलक तक पहुँच जाए।फिर उसने हल्के-हल्के झटके लगाने शुरू किए और मेरा मुँह चोदने लगा।मैं तो उसकी झाँटों के पास से आ रही मर्दानी खुशबू से ही पागल हो रहा था। मैं प्यार से उसके अँड़ुए सहलाने लगा और उसके कूल्हे पकड़ कर उसे अपनी ओर खींचने लगा।वो बुदबुदाया- आह्ह.

फिल्म शुरू हो गई।कुछ देर के बाद मैंने उसकी जाँघों पर हाथ रखा तो उसने कुछ नहीं कहा. मैंने कहा- रानी अब मैं कुर्सी पर बैठे बैठे तुझे शीशे के सामने चोदूंगा. फिर मैंने अपना माल मामी की चूत में ही छोड़ दिया। मामी चुदाई के दौरान 2 बार झड़ी थीं। फिर मैं 10 मिनट तक ऐसे ही मामी के ऊपर पड़ा रहा और फिर मैंने मामी से कहा- अब मैं गाण्ड मारूंगा।मामी ने मना कर दिया.

अकेले में कोई मज़ा आता है क्या?तो उन्होंने बोला- क्यूँ विकी मज़ा नहीं दे रहा?मेरा चलता हुआ ख़ून जैसे जम सा गया. मैं भाभी के पास कुत्ते की तरह ही गया और फिर उनकी चूत को चाटने लगा। वो चूत फैला कर चुसवाने लगीं।फिर भाभी ने मुझे सीधा लेटा दिया और मेरे मुँह पर आकर अपनी चूत लगा कर ज़ोर-ज़ोर से हिलने लगीं. जिनमें से कुछ हमारे एरिया के गुंडे टाइप लड़के भी थे। वो आते-जाते भी मेरी बड़ी बहन के साथ मज़े लिया करते थे और मेरी बहन भी उनकी हरकतों में मज़े लिया करती थे।मैंने कई बार अपनी बहन को लड़कों के साथ मॉल में भी देखा था.

सेक्सी वीडियो ब्लड वाली

जिससे मेरा काम और आसान हो गया था।फिर मैंने उसे किस किया और उसे काफ़ी अच्छा लग रहा था, मुझे तो रात की मलिका मिल गई थी।हालांकि मैं वहाँ कपड़े तो नहीं उतार सकता था. अंकल के होंठ बहुत गर्म थे, उनके गर्म होंठ मेरे तपते होंठ पर जैसे ही रख गये, सबसे पहले उनकी गर्म गर्म सांसें मेरी सांसों से मिल गई, मुझे अब कुछ होश नहीं रहा, सच में ऐसा लगा कि मुझे दोनों अंकल मस्त कर दें. उसके नितम्ब कुछ खास सुडौल नहीं थे, पर उसकी पैंटी इस तरह से दोनों कूल्हों के बीच घुसी हुई थी कि लग रहा था पैंटी उसने पहनी ही नहीं है.

हम दोनों कांच के आगे खड़े होकर आपस में एक दूसरे को देखने लगे और मुस्कुरा उठे.

बस में भीड़ का फ़ायदा उठाकर वो मेरे बदन पर हाथ फेरने में भी कामयाब हो गया और मुझे पटाने में भी सफल हो गया.

मैं जल्दी से अपनी साड़ी पहनने लगी क्योंकि अब मेरे सास ससुर का आने का समय हो गया था. हम दोनों को ठंडी में पसीना आने लगा।‘मेरी चूत मार ले… फाड़ दे आज मेरी फ़ुद्दी. बीएफ पिक्चर वीडियो ब्लूगोरे जिस्म पर काली ब्रा-पैन्टी कहर ढा रही थी।फिर मैंने मामी की ब्रा भी उतार दी और उनके मम्मों को चूसने लगा.

कोई बात नहीं।फिर मैंने दुबारा उसके मुँह में लण्ड डाल दिया और जोर-जोर से उसका मुँह चोदने लगा। उसका सर को पकड़ कर जो जोर-जोर से झटके मारे तो मस्ती में आ गई।करीब 5 मिनट बाद पिंकी ने मुँह से लण्ड को निकाला, बोलने लगी- चलो अब मेरी चूत भी आपका लण्ड मांग रही है. बस नाम अच्छे होने चाहिए। इससे पति और पत्नी कुछ टाइम बाद खुल कर बातचीत कर सकते हैं। इसी तरह से सम्भोग क्रियाओं के नाम बोलने की बजाए लव और प्यार का शब्द इस्तेमाल करें।जैसे कि अगर रात को सेक्स का प्रोग्राम हो तो आप पत्नी को कहो ‘आज रात को मैं आपसे प्यार करूँगा. मेरे भैया और रामेसर चाचा का लड़का बातें कर ही रहे थे कि तभी उनकी छोटी लड़की प्रिया हमारे लिये चाय नाश्ता ले आई.

मैंने शावर चालू किया और उनको कहा कि वो अपने शरीर को रगड़ रगड़ कर पेंट और पसीना धोयें. अभी 5 मिनट में लौड़ा खड़ा हो जाएगा। उसके बाद ना कहना कि बस करो मैं थक गई हूँ.

सबकुछ नियम से होगा। चलो टॉस करो।”वह जितनी गर्म थी उतने ही नशे में भी थी और उसे नाराज करना ठीक नहीं था। अंततः मैंने ही अपने वालेट से सिक्का निकाल कर उसे थमा दिया।हेड आया तो रोहित चढ़ेगा पहले और टेल आया तो शिवम चढ़ेगा.

तो गर्लफ्रेंड को टाइम कब देते हो?मैंने थोड़ा सोच कर- आपको ख़ुश रखना ज़्यादा ज़रूरी है. मैंने जल्दी ही उसकी चुत में लंड को डाला और उसकी जोर जोर से चुदाई करने लगा. वो वैसे ही रुक गया और बड़े प्यार से मुझे सहलाने लगा, मेरी चूचियों को दबाने लगा, थोड़ी देर बाद जब मैं उसके किस में पूरा सहयोग देने लगी.

बीएफ एक्स पिक्चर हम अपने आपको ठीक भी न कर सके।कीर्ति के मम्मे और मेरा लंड अभी भी बाहर थे और वो उसे देखे ही जा रहा था।सोफा ऐसा होने की वजह से वो हमें दिखा ही नहीं था। फिर वो उठ कर पीछे हमारे पास आकर तुरंत बैठ गया।अब कीर्ति उसके और मेरे बीच में थी, वो बाजू में आकर बैठ गया था।वो भी कीर्ति के मम्मों को टच करने लगा. अब मैंने उसको चोदने की स्पीड इतनी तेज कर दी, जैसे मानो कोई ट्रेन लेट हो गई हो और उसे जल्दी से अपने स्टेशन पर पहुंचना हो.

उन्होंने झट से अपना हाथ बाहर निकाल लिया और मेरी तरफ गुस्से से देखने लगीं।मैं कुटिल निगाहों से उन्हें घूरने लगा।मैंने उनको अच्छा-खासा मजा चखाया था. मैं खिड़की पर जा कर देखने लगा, भैया भाभी को किस कर रहे थे और बूब्स दबा रहे थे. शायद मेरे लंड से अब भी नेहा की चुत के रस की महक आ रही थी, जो कि प्रिया को पसंद नहीं आई.

सेक्सी मूवी वीडियो कॉल

उसने दोनों हाथों से मुझे अपनी बांहों में भरकर पूरा ही ऊपर खींच लिया, जिससे मैं अब उठकर बिस्तर पर बैठा सा हो गया‌. मैंने वहीं पहली बार अपनी मम्मी को भी चुदते हुए देखा था, जब दो अंकल उन्हें चोद रहे थे. मैंने उससे कहा- यार, तुम समझने की कोशिश करो न!रवि- क्या कोशिश करूँ?मैं- यही कि मैं ये सब नहीं करना चाहती हूँ.

मैंने उसके पेटीकोट का नाड़ा पकड़ा और खींच दिया, उसका पेटीकोट खुल गया और मैंने उसकी टाँगों को नीचे से उठा कर उसका पेटीकोट निकाल दिया।नीचे भी उसने काली पैन्टी पहनी थी. उन दिनों दिसम्बर चल रहा था। मेरी माँ घर के बाहर काम कर रही थीं और पापा भैया के साथ दीदी के यहाँ चले गए थे तो घर में मैं अकेला ही था।उस दिन जो हुआ अब आगे बताता हूँ मेरी ताऊजी के बड़े लड़के की बहू यानि मेरी श्वेता भाभी.

पर हमें क्या पता था कि एक दिन यह मस्ती सस्ती नहीं मंहगी पड़ने वाली है।हम दोनों ने एक दिन मूवी देखने का प्लान बनाया.

अब वह पीछे से मुझे पकड़ कर अपने शरीर से चिपका कर मेरी गुदा में अपना लण्ड गड़ाएंगे।कुछ ही देर में चाचा ने खुली छत पर मुझे बाँहों में भर कर पूछा- किसी को खोज रही हो क्या जान?चाचा एक हाथ मेरी गदराई चूची पर आ गया और उन्होंने दूसरा हाथ मेरी चूत पर ले जाकर दबा दिया।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !‘आहह्ह्ह्…सीईईई. इसलिए मैंने उसके मुँह को चूमने के साथ दबा रखा था ताकि इससे उसकी आवाज़ दब जाए।ये उसका पहला टाइम था. उसके उन गोल चूतड़ों पर एक तिल तक नहीं था।वो झुककर बाल्टी से पानी निकालने लगी.

उनको भी मालूम था कि मुझे सेक्स के लिए मना कर देने का नतीजा है कि मैंने भाभी से दूरी बना ली. इसके बाद मैंने उनकी काले रंग की पेंटी को भी उतार कर बेड से दूर फैंक दिया. मेरी बात सुनते ही एक बार तो प्रिया के चेहरे पर शर्म के से भाव उभर आये, उसने पहले तो नेहा की तरफ देखा और फिर मेरी तरफ देखकर शरारत से हंसते हुए कहा- क्यों झूठ बोल रहे हो, तुम तो ऐसे सो रहे थे, जैसे कि तुम्हें होश ही नहीं हो.

फिर मैं रेशमा के रूम में आया, देखा कि रेशमा सोई हुई थी, मैं उसके बगल में लेट गया और उसके जिस्म को देखने लगा.

एक्स वीडियो बीएफ एक्स वीडियो: वो सिर्फ़ ब्रा और पैन्टी में थी।मैं उनके मम्मों को दबाने लगा, उन्होंने मुझे नंगा होने को कहा. तब रीतिका बोली- दीदी, मैंने लेस्बीयन सेक्स देखा बहुत है, कभी किया नहीं है.

वो मुझे जोर से अपने बाहों में ले रही थी।उसके बाद मैं और नीचे सरक गया, अब मैं उसके पेट पर किस करने लगा।मैं अपनी जीभ से उसकी नाभि में भी जीभ से गुलगुली करने लगा. उसकी चूत मेरे मुँह के पास थी, मैंने सलवार का नाड़ा खोल दिया और मेरी आँखों के सामने मेरी भाभी की चूत नंगी दिख रही थी. पर मैं नॉर्मल बना रहा था।उसी दिन रात को पुनः चैट शुरू हुई।मैं- हाय अनु.

’‘ये फोन सेक्स तुम्हें कैसा लगता है?’‘जानू तुम जब मुझसे पूछते हो ना कि तुम्हारे कितना अन्दर घुसा है.

हम दोनों लोग सेक्स करते करते अकड़ने लगे और हम दोनों का पानी निकल गया. मैंने वी पहले उसकी मोटी जाँघों को सहलाया और फिर अपना हाथ उसकी फुद्दी पर ले गया. वो झिझकते हुए बिस्तर के किनारे पर बैठ गया।मैंने अपना ड्रिंक बनाया और ड्रिंक करने लगा।वो बात करने में ज़्यादा इंट्रेस्टेड नहीं था.