एक्स एक्स हिंदी बीएफ एचडी

छवि स्रोत,बेटी बाप की चुदाई

तस्वीर का शीर्षक ,

गैलरी सेक्सी वीडियो: एक्स एक्स हिंदी बीएफ एचडी, !मुझे नशा तो चढ़ ही गया था, मैंने भाभी को देखा और कह दिया- मुझे प्यार व्यार में भरोसा नहीं है, मैं सिर्फ मज़े लेता हूँ और देता हूँ.

गांड मारने वाला सेक्स वीडियो

मैंने तुरन्त कूपे को फिर से लॉक किया और बहूरानी को अपने आगोश में भर लिया. ब्लू फिल्म सेक्सी सेक्सी फिल्म ब्लूलेकिन मैंने उसकी एक ना सुनी और जल्दी से एक शॉट मार कर पूरा लंड अन्दर कर दिया.

कुछ दस मिनट में चुत ने रस छोड़ दिया और वो सारा रस आइसक्रीम के साथ चाट गया. चूत का सेक्समैं इस तरह से उन लोगों के बीच में सैट हो गई कि कोई और मुझे नहीं देख पा रहा था.

मैंने उनसे इसका कारण पूछा तो उन्होंने बताया कि उनके पति साल में एक या दो महीने के लिए आते हैं और वो उन्हें ठीक से संतुष्ट भी नहीं कर पाते हैं… बच्चा करना तो दूर की बात है.एक्स एक्स हिंदी बीएफ एचडी: वो कैसे?”मैंने बुआ को चैक करने के लिए कहा- जैसे ब्वॉयफ्रेंड पीछे से रगड़ता है.

जिसके पीछे कॉलेज के सभी लड़के पड़े रहते थे, पर ये अपनी नजरें भी ऊपर नहीं करती थी। खुद मैं भी इसे पटाने की सोचता था। मैं ये भी नहीं जानता कि वो मुझे पहचानेगी भी या नहीं। क्योंकि वो कक्षा के किसी लड़के से बात तो दूर.यह मुझे बर्दाश्त नहीं हुआ और मैं बोली- मुझसे ऐसी बातें मत किया कीजिए, वरना मैं प्रिन्सिपल सर से आपकी कंप्लेंट कर दूँगी.

ससुर बहु का सेक्स वीडियो हिंदी - एक्स एक्स हिंदी बीएफ एचडी

मैंने भी खुलते हुए कहा- मुझे चूत में मज़ा नहीं आता, मैं गांड के मज़े लेता हूँ.मैं भी बिना धक्का लगाए लंड ऐसे ही चूत में घुसाए चूत की गर्मी और चूत के गर्म गर्म चिकने जूस का आनंद उठाता रहा.

फिर उसे मैंने सीधा किया और उसके दूध की तरह सफ़ेद चूचों को और उन पर एकदम पिंक निप्पलों की छटा को देख कर मैं भी पागल हो गया. एक्स एक्स हिंदी बीएफ एचडी जैसे जैसे सेजल भाभी की पैन्टी कट रही थी, उनकी गुलाबी चूत बाहर झाँकने लगी.

मैंने उससे पूछा- क्या तूने कभी सेक्स किया है?और वह फिर मेरी तरफ देख कर हंसने लगी.

एक्स एक्स हिंदी बीएफ एचडी?

अब मैं निशा के तीनों छेदों की अच्छे से चुदाई करता हूँ और उसे भी मज़ा आता है. अब वो सिर्फ ब्लैक कलर की फ्रेंची में थी, उसका मोटा लंड साफ़ नज़र आ रहा था. मैं बोला- भाभी क्या बात है अभी तक इतनी टाईट चूत कैसे है?तो भाभी दर्द में ही बोलीं- उस साले मेरे पति का 3 इंच का है.

मैं आपको बताने जा रहा हूँ कि किस प्रकार मैंने मम्मी की सहेली को चोदा. हमने प्रोग्राम तो पहले से ही तय कर लिया था कि अंजलि और पारुल मुझे एक चौंक पर मिल जायेंगी. मैं तुरंत भाग कर खिड़की पर गया और अपनी मोबाइल का फ्रंट कैमरा चालू करके रख दिया ताकि दरवाज़ा और सामने की खिड़की मुझे दिखती रहे.

चाची ने कहा- कहाँ लगी है दिखाओ जरा?मैंने कहा- नहीं चाची मैं टॉवल नहीं हटा सकता. आंटी ने पहली बार लंड का पानी पिया था, उन्हें बड़ा मजा आया और वो बड़ी खुश हुईं. उसकी मादक आवाजें सुनकर मैं अपनी स्पीड बढ़ाने लगा और ज़ोर ज़ोर से चोदने लगा.

मेरे ख्याल से जब वो उसकी क्लिट को छूता था, तब मेरी साली थोड़ा टाईट हो जाती थी और उसका हाथ पकड़ लेती थी. अब मैंने उन्हें लिप किस करना शुरू किया, यहां एक हाथ से उनके मम्मों को जोर जोर से दबा रहा था, दूसरे हाथ से उनकी गांड जोर जोर दबा रहा था.

मैंने उन्हें गुड मॉर्निंग विश किया तो उन्होंने मुस्कुरा कर रिप्लाइ दिया.

इससे पहले मैं अलका को चोदने के लिये धक्के लगाता, उसने मेरी दोनों कलाईयों को झटका दिया, मैं सीधे अलका के ऊपर गिर पड़ा.

वो हमेशा की तरह मेरे मम्मों को टच कर रहा था, पर लाइट्स ऑफ होने की वजह से किसी और को ये दिख नहीं रहा था. उसका भी दर्द कम हो गया। अब उसने रोना बंद कर दिया और मुझे जोरों से चूमने लगी। मैं समझ गया कि ताबड़तोड़ चुदाई का वक्त आ गया है।मैंने धीरे से धक्के लगाने शुरू किए। उसे मज़ा आने लगा तो वो मुझे और जोर से किस करने लगी और मेरे कमर की लय में अपने कमर को भी हिलाने लगी। अब मैंने बिना रहम किया जो चोदा. दीदी अपनी दो उंगलियां वी शेप बना कर अपनी चुत के दोनों फांकों पर रख दीं और उंगलियों को फैला कर चूत को पूरा खोल दिया.

उसने आँखें खोल कर हमारी तरफ देखा और फिर मुस्कुरा दी और फिर बोली- आप लोग किचन में जाकर कुछ स्वादिष्ट तैयार कीजिए, मैं थोड़ा सा आराम करना चाहती हूँ!तुम चिंता मत करो डार्लिंग!” मैं उसके सिर को सहलाता हुआ बोला- तुम आराम से लेटो, जब तक जी करे… और जब तुम आओगी, तुम्हें किचन में सब कुछ तैयार मिलेगा!जवाब में मेरी महान पत्नी सिर्फ मुस्कुराई और फिर करवट बदल कर लेट गई. उसकी चुदाई की पिक्चर याद करके मुझे भी कुछ कुछ होने लगा मगर मैंने दिल को मजबूत करके अपने आप को सम्भाल लिया. वो उसकी चूत के अन्दर झड़ रहे थे… और वो भी झड़ रही थी… दो लंड उसकी चूत के अन्दर अपना वीर्य निकाल रहे थे, और उसकी चूत भी स्खलित हो रही थी!मैं उत्तेजना के आधिक्य में फट पड़ा और नताशा के सिर को अपने हाथों से जकड़ कर उसके मुंह के अन्दर हुचक-हुचक कर झड़ने लगा!मेरी पत्नी ने मेरा सारा वीर्य पी लिया.

मेरी मम्मी ने कहा कि आज तेरी मीना आंटी रोशनी का खाना नहीं बना कर गई है, इसलिए जाके रोशनी को ऊपर से बुला के ला.

अब हम रोज रात रात भर बात करते और सुबह क्लास के बाद दोनों साथ नाश्ता करने किसी होटल या रेस्टोरेन्ट में जाते. लड़की- मुझे अरेरा कॉलोनी जाना है क्या आप बताएँगे यहाँ से कैसे जा सकते हैं?मैं- आप यहाँ से ओला कॅब या ऑटो रिक्शा से जा सकती हैं. तुम्हीं बताओ कि मैं क्या करूँ?उसका जवाब सुन कर एक बार तो ठंडी लहर सी मेरी रीड की हड्डी से निकल गई.

मेरी इस बात पर विनय ने भी मुझे कस लिया और मेरे होंठों को जोर से चूसना शुरू कर दिया. जब वो पूरा 7 इंच का हो गया तो भाभी ने अपनी साड़ी ऊपर की और मेरे लंड पर एकदम से बैठ गईं. मैंने खुद उसका लंड अपनी चुत में रखवा कर धक्का देने का इशारा किया तो उसने करारा धक्का दे मारा.

मैंने कहा- आंटी, आप तेल से मेरे लंड की मालिश कर दो, फिर आसानी से चला जाएगा.

मेरा लंड एकदम कड़क खड़ा था, वो मेरे लंड पर बैठ गई और मेरा लंड उसकी चूत में अन्दर तक घुस गया. तुम्हें मैं कंपनी की पब्लिक रिलेशन ऑफिसर बनाता हूँ और तुम्हारा काम होगा कंपनी के लिए नए नए कॉन्ट्रैक्ट्स लाना, जिसके लिए तुम जो करती हो, बस वो ही करना पड़ेगा.

एक्स एक्स हिंदी बीएफ एचडी एक भाई अपनी सगी बहन को रक्षाबंधन के दिन चोद रहा था और वो बहन मजे से चुदवा रही थी. मेरा भाई काम के सिलसिले में गाँव छोड़ कर भाभी के साथ शहर चला गया है.

एक्स एक्स हिंदी बीएफ एचडी तो रेहाना दोनों हाथों से जैसे तेल लगाकर मालिश करते हैं, उसी अंदाज में सहलाने लगी. किसी सेक्सी लड़की से कम नहींआज की आगे की कहानी भी मैं एक लड़की की तरह ही लिखूंगा.

कुसुम अपनी दोनों टांगों को इधर उधर करके उसके खड़े हुए लंड पर अपनी चुत टिका कर एक ही धक्के में पूरे का पूरा लंड अपनी चुत में अन्दर तक ले गई.

सेक्सी बीएफ पिक्चर हिंदी बीएफ

वो बोला- कुसुम जानेमन मेरा ये लंड तुमसे तुम्हारी मुनिया में जाने के लिए भीख माँग रहा है. मैंने आंटी की चुत से लंड निकाला अंडरवियर में ही उसके रूम से बाहर आ गया. फिर एक दिन मेम ने सबका टैस्ट लिया और इस टैस्ट में मुझे सबसे कम मार्क्स मिले.

जो तुम्हें देखते ही खड़ा हो जाता है।ये कहते हुए लण्ड को गाण्ड पर दबा दिया और गर्दन पर चुम्बन करने लगा।वो बोली- राज छोड़ो. मैंने मेरे लिंग को उनकी योनि पे रखा और डालने की कोशिश की, पर उन्हें बहुत दर्द हो रहा था. मैं दरवाजा खुला छोड़ कर किचन में गई, तब तक वो अन्दर आ गया और उसने दरवाजा बंद कर दिया.

मैंने उसके पूरे कपड़े उतार दिए और खुद भी नंगा हो गया, मैं उसको नंगी देख कर ही पागल होता जा रहा था और मेरा शेर अपने ओरिजिनल शेप में आ गया था.

जैसे ही उन दोनों ने मुझे अपनी गांड को सहलाते देखा तो वे दोनों रुक गए. पूरे पांच महीने लगे तुझे बिस्तर पर लाने में… मैं भी पक्का चूतनिवास हूँ… हिम्मत नहीं हारी… पीछे पड़ा ही रहा. जब तक मेरी साली की भोस में उसका लंड नहीं उतर जाता तब तक कुछ नहीं कहूँगा, ताकि साली ये न कहे सके के उसने लंड नहीं लिया, सिर्फ ऊपर से किया है.

क्या हुआ?मैं उसकी गांड को सहलाने लगा और एक हाथ से चुत को सहलाने लगा. हालाँकि मैं पायल को अक्सर कर चोदता रहता था लेकिन उसका फ़ीगर ही कुछ ऐसा था जिससे वो हर बार बहुत सेक्सी लगती थी और उसे हर बार चोदने का मन करता था. फ़क… फ़क आह आह…जैसे ही पानी का फव्वारा ख़त्म हुआ, दीदी ने झट से करेला वापस चुत में घुसा दिया.

कुछ ही पलों में मैं सिर्फ ब्रा, जिसका कप सिर्फ मेरे मम्मों को नीचे से ही पकड़ कर रखता था और बाकी पूरी चूचियां साफ़ दिखती थीं. इस बार वो चोदते समय मुझे गलियां भी दे रहा था- ले मादरचोदी रांड भैन की लौड़ी लंड खा साली कितने दिनों से तुझे चोदने की सोच रहा था.

फिर अचानक मेरी बुर के अन्दर कुछ गर्म गर्म निकल गया, जो अवी का वीर्य था. मैंने पूछा- भाभी, शाम के लिए बाजार से कुछ लाना है क्या?वो बेरुखी से बोली- नहीं. मैं उसकी चुत पे अपनी जीभ फिराने लगा और उसको अपने दोनों होंठ के बीच ले कर चूसने लगा ‘मुऊउऊहह…’उसने मेरा सर पकड़ लिया और अपनी चुत पे दबाते हुए तेज सांसें लेने लगी.

जैसे ही अपने लिंग को मैं बाहर निकाल कर दोबारा योनि में धकेलने के लिए जोर लगाता था, प्रिया के मुंह से इक दर्द भरी आह निकल जाती थी.

गर्मियों के दिन थे… एक दिन मैंने मेरी एक फ्रेंड थी, जिसका नाम हरकेशी था, उसको बताया कि मैं अभिलाषा को बहुत प्यार करता हूँ… प्लीज़ तुम मेरे प्यार को रूप देने में मेरी हेल्प करो और अभिलाषा को बताओ कि मैं उसको कितना प्यार करता हूँ. उसके बाद वो आए दिन दोपहर में मुझे चोदने आ जाता और हम दोनों मस्त चुदाई का मजा करते. मैंने मदद की तब थोड़ा सैट हुआ, पर भैया इतना गरम थे कि उनका पानी जल्दी ही छूट गया.

मैं- क्या हम बेस्ट फ्रेंड बन सकते हैं?माँ- फ्रेंड्स तो हम हैं ही!मैं- ऐसे वाले नहीं… बेस्ट फ्रेंड्स जिनके साथ हम कुछ भी शेयर कर सकें… अपनी प्रॉब्लम्स, अपनी फीलिंग्स… चाहें वो कैसी भी हों!माँ- कैसी भी फीलिंग शेयर करने के लिए तुम अभी बच्चे हो. वो मुझसे बोल रहा था कि अपना मुँह बंद रखो वरना मुझसे बुरा कोई नहीं होगा.

इस तरह उस दिन मैंने उसे तीन बार चोदा ओर फ़िर वो जाने के लिए कहने लगी. यह सुन कर उसकी जान में जान आ गई और वो हाथ जोड़ता हुआ बोला- आपने इस मुसीबत की घड़ी में जो मेरे लिए किया है, उसे मैं जिंदगी भर नहीं भूलूंगा, क्योंकि यह नौकरी आप नहीं समझ सकती कि मेरे लिए क्या मायने रखती है. उसका एक हाथ मेरी साली के चूचे सहला रहा था और एक हाथ से उसने मेरी साली की सलवार का नाड़ा खोल दिया.

हॉट बीएफ वीडियो हिंदी

जूही एकदम नशे में आ गयी और हम दोनों को देख कर नाज़ अपने आपे से बाहर होने लगी और अपने हाथ से अपनी हॉट चुत सहलाने लगी.

दीदी के चारों तरफ पानी ही पानी हो गया था जो दीदी की चुत से ही निकला था. अब मैं आराम से बिस्तर पर लेट गया और दिव्या को अपने ऊपर लेकर उसके लबों को चूमने लगा. मैं- आज का दिन तुम चाहो तो तुम्हारी जिंदगी का सबसे सुखमय और यादगार दिन होगा.

मैं तो बाहर जाने को तैयार था, जब हम रास्ते में थे तो मेडिकल से वियाग्रा टेबलेट ले ली. माँ- सुनो… पहले प्रॉमिस करो कि ये बातें हमारे बीच में ही रहेंगी, किसी और को पता नहीं लगेंगी. ब्लू फिल्म नंगी वीडियो मेंअब तक की सेक्स कहानी में आपने पढ़ा कि मैंने अपनी चुत की खुजली मिटाने के लिए अपने ड्राईवर को चुना और उससे हम मां बेटी ने काफी समय तक अपनी चूत की सेवा करवाई.

मेरा माल निकलने वाला था, इतने में मैंने उससे कहा- जान, आपके लिए एक गिफ्ट है. इतने से उसका मन नहीं भरा, और वो दोबारा उसका चुम्बन लेने को नीचे को झुका तो मेरी सती-सावित्री पत्नी ने अपनी गुलाबी जीभ को पतला बना बाहर निकाल दिया, जिसे आर्थर ने अपने मुंह में ले लिया! जी भर कर चुसवाने के पश्चात् नताशा ने अपनी जीभ को वापस ले लिया, और अब तक अपनी जीभ बाहर निकल चुके आर्थर की जीभ को अपने मुंह में लेकर चूसना शुरू कर दिया.

इस तरह से कुछ देर तक चुदाई के बाद उसका रस फिर से निकल गया और वो झड़ गया. मैंने उसके चूचे उसकी ब्रा से बाहर निकले और उसकी चूची चूसने लगा और वो मेरी इस क्रिया से गरम होने लगी थी. फिर मैं बुआ के और करीब जाकर खड़ा रहने लगा ताकि वो जब खींचने की कहें और जैसे ही उठें तो उनकी गांड मेरे लंड को टच हो जाए.

मैंने बिना रुके दूसरा जोरदार धक्का मारा और मेरा आधा लंड उसकी चूत में घुस गया. वैसे भाभी ने उस समय गाउन डाल रखा था तो मैंने उनके होंठों को चूमते हुए अपना हाथ उनके गाउन में हाथ डाल दिया. मैं खामोशी तोड़ते हुए बोला- भाभी आपको ये दर्द भरी चुदाई क्यों चाहिये?सेजल भाभी मुस्कुराईं.

मैंने उसे पहले कुर्सी पे बिठाया, उसकी जीन्स और पेंटी घुटनों तक उतरी हुई थी, पर चूत झांटों से छिपी हुई थी.

मैंने धीरे से उसकी पेंटी उतार दी और अपनी बहन की चुत को मुँह में भरके बेतहाशा चूसने लगा. दो मिनट के बाद मैंने लंड उसकी चुत पर सैट किया ही था कि वो बोली- प्लीज़ डॉगी स्टाइल में करो.

किसी भी सवाल को पूछने के लिए सर बार-बार मुझे ही खड़ा कर रहे थे और मैं शर्म की वजह से किसी भी सवाल का उत्तर नहीं दे पा रही थी. तो वो रो रही थी।मैंने- कहा जान बस थोड़ी देर में दर्द कम हो जाएगा। फिर तुमको आज का सबसे बड़ा वाला मज़ा आएगा।ये बोल कर मैं उसे चूमने और मम्मों को मसलने लगा। जैसे कि सारी लड़कियों के साथ होता है. सेजल भाभी ने मेरी तरफ़ देख कर एक शैतानी स्माइल दी और एक और झटका मारा.

फिर वो उठे, मेरे सीने के अगल बगल दोनों टांगें करके मेरे बूब्स को दोनों हाथों से जम के पकड़ लिया और फिर अपना लन्ड मेरे बूब्स के बीच में घुसा दिया और थूक लगा के लंड से बूब्स को चोदने लगे. एक दिन में जल्दी ऑफिस से कामिनी के ऑफिस पहुंच गया और बाहर वेट करने लगा. पापा जी, मुझे कपड़े चेंज करने हैं मैं बत्ती बुझा रही हूं अपना गिलास संभालना आप!” बहूरानी बोली.

एक्स एक्स हिंदी बीएफ एचडी जैसे ही मेरे लंड का सुपारा उनकी चूत से टच हुआ, उन्होंने होंठों को दांतों से दबाते हुए आँखें बंद कर लीं और अपने मुँह से कामुकता भरी मदमस्त सिसकारी निकालनी शुरू कर दीं ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’जिससे मेरा जोश बढ़ता चला गया. रोशनी ने पिंकी से कहा कि तुम्हारी चूत में भी क्लिट वाला मटर का दाना नहीं है, यदि है, तो हमें दिखाओ.

हिंदी बीएफ मूवी एक्स एक्स एक्स

यह कहानी मेरी नई भाभी की है, जिनकी शादी में शामिल होने के लिए मैं गांव आया था. उसकी सूजी हुई चूत में जोकि बुरी तरह से चुदने के लिए फुदक रही होती है, अपने लंड के पानी से ठंडी कर देता हूँ. कहां छुपा कर रखी थी आपने इतनी सुन्दर जवानी!मेरे मुँह से ये सब बातें सुन कर चाची को शर्म आ गई और वो बिना कुछ बोले बस हल्की सी मुस्कराहट के साथ अपने कमरे में चली गईं.

फिर मेरा लंड चुत पे रख कर उस पर बैठ गईं, मेरा लंड सरक करदीदी की चुतमें घुस गया. मैंने उसकी दोनों टाँगें अपने कंधों पर रख कर उसकी चूत पर लंड की टोपी को सैट किया और उसकी कमर के नीचे तकिया लगा दिया. मोटी गांड वाली सेक्सीकामिनी बस आअह्ह्ह आअह अह ऊऊह ऊह ऊऊह्ह्ह करती रही और कमरे में उं दोनों की सिसकारियों के साथ ‘फिच फिच फिच फिच फिच’ की आवाज भी गूँज रही थी.

मैंने उन्हें लंड चूसने को कहा तो उन्होंने कहा- ये मुझसे नहीं हो पाएगा.

हाय मेरी माँ मैं भोले राजा पर सड़के जॉन… राजे देख यह मिस्टर तो तन तना गए… फूल के कुप्पा हुए पड़े हैं महाशय… पुच्च पुच्च पुच्च पुच्च पुच्च पुच्च पुच्च पुच्च पुच्च. मेरे हाथ उसके मम्मों पर थे और मैं हल्के हल्के उसके मम्मो को दबा रहा था.

रात को जब वो डिनर करके वापिस जाने लगा तो मैंने उसको बाहर तक छोड़ा और उसके इतना पास चिपकी सी रही कि अपने मम्मों की रगड़ भी उसको लगाती रही. वो कैसे?”मैंने बुआ को चैक करने के लिए कहा- जैसे ब्वॉयफ्रेंड पीछे से रगड़ता है. मैं उससे कभी कभी घर का सामान मंगवा लेती थी और उसे कुछ रुपए भी दे देती थी.

मैंने उसे नजर भर के देखा तो उसने अपनी चूत में उंगली डाली और कहा- अब देखते ही रहोगे क्या?मैं झट से नंगा होकर स्मिता के ऊपर चढ़ गया.

सुबह शाम अब तो बस मैं दीदी की चूत और चुदाई के बारे में ही सोचता रहता. और मेरी तरफ देख कर बोला- क्यों सही कहा ना?मैंने कहा- जी!बोले- अरे मैडम की बर्थडे है, शैम्पेन वगैरा नहीं खोलोगे?मैंने- नहीं… है नहीं!वो बोला- मैं लाया हूँ!और मुझसे बोले- नीचे मेरी कार खड़ी है, ड्राइवर है, उससे ले लीजिए!मैंने कामिनी की तरफ देखा तो वो बोली- अरे सर कह रहे हैं जाओ ना!और मैं मजबूरी में कार से बोतल लाने चला गया. उस लड़के ने इस दौरान मेरी साली के चूतड़ों को सहलाना चालू कर दिया था, वो भी जैसे अब हवस में पागल हो गया था.

भोजपुरी सेक्सी नंगा वीडियोउम्मीद है आप सबको मेरी जिंदगी की ये सच्ची चुदाई पसंद आई होगी। अपने कमेंट्स मुझे जरूर मेल करें ताकि मैं अपने और अनुभव आप सबके साथ बांट सकूँ। मेरी सेक्स कहानी पर आप सबके मेल का मुझे इंतज़ार रहेगा।[emailprotected]. इसलिए बार-बार उसकी चूत पर दाँत गड़ा देता, पर वो कुछ न बोलती।फिर मैं एक उंगली चूत के छेद पर रखकर अन्दर डालने लगा। चूत काफी गीली थी.

बीएफ दे वॉलपेपर

क्या अहसास था वो, मैं भाभी की चुत की झलक दूर से तो पहले ही देख चुका था लेकिन पास से भाभी की सफाचट चुत देखने का मजा ही अलग था. किसी तरह मैं घर आकर अपने कमरे में चले गई, सबने डांटने का प्रयास किया, पर माँ ने सबको चुप करा दिया, कमरे का दरवाजा लगा कर मेरे पास आकर बैठ गई और मुझे गले से लगा लिया, और कहा कुछ गलत हुआ है क्या बेटी तुम्हारे साथ।मैंने कुछ नहीं कहा. चाची बोलीं- शरमा क्यों रहे हो? मैंने बचपन में भी तुमको पूरा नंगा देखा है.

वो जब झुक कर मेरे पास आकर पूछतीं कि ‘और कुछ लोगे बेटा…’ तो उनके मम्मे जो ब्लाउज से आधे से ज्यादा बाहर निकले थे, मुझे उनके दीदार हो जाते और मेरा लंड खड़ा होने लगता था. और चुदी हुई चुत को जो चोदना चाहे, ये उस पर डिपेंड करता है कि वो कितना देगा. फिर पता नहीं दीदी को क्या हुआ वो दोबारा फ्रिज की तरफ गईं और फ्रिज खोल कर कुछ और ढूंढ कर निकाला और दोबारा आकर चेयर पर वैसे ही बैठ गईं.

मैं भी उनके पीछे चला गया और उनको बांहों में भर लिया और उन्होंने मना किया कि तुम्हारे पापा आ जाएँगे. उसने कहा- मत चाहो… बस आज मेरी प्यास बुझा दो, इसके बाद तुम खुद मेरे पास आओगे. मैं बोली- नहीं चाहिए प्लीज, मुझे नहीं चाहिए!पर उन्होंने पैसे मेरे हाथ में रख दिए। अंदर से मेरा मन था, मुझे पैसे लेकर बहुत खुशी हुई, मैंने सोचा कि ये तो बहुत अच्छे हैं.

मैंने स्माइल करते हुए अपने पढ़ाई के कमरे में जाकर सोने की कोशिश की और पता नहीं कब नींद लगी. भाभी जी मस्त आवाज़ निकाल रही थीं और बोल रही थीं- बना ले आज अपनी भाभी को अपनी रांड.

गोरा रंग, उसका 32-26-33 का माप, 5’3″ का कद और डिज़ायन में कटे हुए कंधों से थोड़ा नीचे तक के बाल.

लंड चूत के टकराव से बनने वाला म्यूजिक माहौल को अलग ही नशा दे रहा था. सेक्स डॉट कॉम एक्स एक्स एक्ससंदीप मॉम की कॉलेज की गाड़ी का ड्राइवर था, जो कि बाहर गाड़ी लेके खड़ा था. सेक्सी बुरफिर एक दिन वो वक्त भी आ ही गया, जब मुझे उस गुप्त कक्ष में जाने के लिए तैयार होने को कहा गया।कहानी जारी रहेगी. मैंने उनको पीछे से कस कर पकड़ लिया और बोला- जानेमन, तुझे जबसे देख रहा हूँ बस ऊपर वाले से यही माँगता हूँ कि तेरी गांड मारने को मिल जाए और आज मौका मिला तो आप जाने लगीं.

उन्होंने मेरे हाथ छुड़ा लिए और पीछे हाथ लाकर मेरा लौड़ा अपनी गांड में से बाहर खींच लिया.

पर पता नहीं आज दिव्या की चुत मिलने के चक्कर मेरा लंड झड़ने को राजी नहीं था. मैंने उसकी कमर के नीचे तकिया लगाया और उसको अपनी बुर फैलाने को बोला. सभी टपकती हुई चूतों और खड़े हुए लंड को मेरा सलाम!दोस्तो, आज मैं आपको अपने जीवन की सच्ची घटना के बारे में बताऊंगा। सच कहूँ तो अन्तर्वासना पर कहानी लिखने के बाद मेरे भाग्य खुल गए, आज तक अन्तर्वासना की बदौलत मैंने 9 चूतों का रसपान किया है जिनमें से 3 की नथ भी मैंने ही उतारी थी.

एक वक़्त तो ऐसा आलम आ गया था जिस घड़ी उससे बात नहीं होती थी, उस दिन मन ही नहीं लगता था. थोड़ी देर बाद मैं धीरे से उठा, मेरे पैर काँप रहे थे, कमरे का दरवाजा धीरे से खोल कर बाहर झांका तो ड्राइंग रूम की लाइट बंद थी. क्योंकि उसे पता था कि मैं उसके बिछाए जाल में फंसती जा रही हूँ और इसमें से निकलने का कोई रास्ता नहीं बचेगा, सिवाय चुत को चुदवाने के.

हिंदी सेक्सी बीएफ वाली

तभी अचानक ही मेरी कमर अपने आप ऊपर हो गई और मेरी चूत ने पानी निकाल दिया. सेक्स के पूरे 52 स्टेप मिले, सेक्स से पहले क्या करना चाहिए और बाद में क्या करना चाहिए. उनका रूखा और चिड़चिड़ापन देख कर मैं समझ गया कि इनकी चुदाई भैया ठीक से नहीं कर पा रहे हैं.

माँ- तुम्हारी माँ की उम्र और साइज़ क्या है?मैं- 44 साल और 36डी-32-34 की साइज़ है.

रमेश अंकल और उनके दोस्त भी मां के पास बैठ गए और फिर रमेश अंकल मां को चुंबन करने लगे.

जब मैंने उसे बताया कि अगर तुम हाँ नहीं कहती तो मैं बोल देता कि अप्रैल फूल बनाया, तो वो बहुत हँसी. वह बूब्स को जोर-जोर से खींच कर जम के मसलने लगा और बोला- मादरचोदी, बहुत टाइट और जबरदस्त दूध हैं रे वन्द्या तेरे!इधर आशीष का लन्ड मेरे मुंह में घुसा था जिसे मैं चूस रही थी. ಬಿಎಫ್ ಎಚ್ಡಿ ಕನ್ನಡलड़की- मुझे अरेरा कॉलोनी जाना है क्या आप बताएँगे यहाँ से कैसे जा सकते हैं?मैं- आप यहाँ से ओला कॅब या ऑटो रिक्शा से जा सकती हैं.

फिर मैंने उनकी सलवार में हाथ डाल दिया तो आंटी कहने लगीं- अभी नहीं विकी. मैंने भाभी की चिल्ल पों को इग्नोर करते हुए एक और तेज धक्का दे मारा और मेरा पूरा लंड अन्दर घुस के उनकी बच्चेदानी को ठोकर दे गयाओये रे ओये रे. इस वक्त बहुत गर्मी हो रही थी तो वो बोली- चल बाथरूम में फुव्वारे के नीचे नहाते हुए‌ मजा करते हैं.

दोस्तों के नाम पर केवल एक लड़का और मेरे घर में मेरे माता पिता के अलावा चाचा चाची की दो बच्चों की फैमिली भी थी. और फिर जब भाभी थोड़ी शांत हुई तो मैंने और एक ज़ोरदार शॉट मारा और पूरा लंड भाभी चूत में घुसेड़ दिया और फिर भाभी के मुख से चीख निकल गयी- उईईई ईईई मां री ईईईईई मर गयी रे मैं… निकाल ले देवा इसे… मेरे से इतना बड़ा लंड सहन नहीं हो रहा है.

फिर मैंने उसके बाल पकड़े और उसके पैरों को फैला कर पूछा- बता… कहां छुपा के रखा है चोरी का माल?ऐसा कहते ही मैंने उसकी चड्डी उतार दी और अब मेरी बहन मेरे सामने नीचे से नंगी हो गयी.

मैंने कहा- नमस्ते अंकल, आंटी नहीं है घर पर?वो कड़क आवाज में बोला- हाँ हैं. विनय- नेहा तुम तो चुदी हुई हो फिर भी दर्द हुआ? बॉस तो तुमको हमेशा चोदते हैं ना?मैं- हां… पर बॉस ने काफी दिनों से मेरी चूत नहीं मारी. वहां मैं किसी को जानता नहीं था तो में आखिरी पंक्ति में एक कुर्सी पर बैठ गया और सेमीनार शुरू होने की प्रतीक्षा कर रहा था.

हिंदी एक्स एक्स वीडियो मैंने उसको अगले 5 मिनट तक अपना लंड चुसवाया और फिर मैंने उसको डॉगी स्टाइल में करके पीछे से उसकी चुत पे अपना लंड रख कर एक जोर का धक्का दे मारा. मैं उम्मीद करता हूँ कि आपको मेरी ये देसी पोर्न कहानी बहुत पसंद आएगी.

उसके बाद तीसरी चुदाई हमने रात का खाना खाने के बाद की, तीसरी चोदन क्रिया हमने घर की छत पर की क्योंकि काव्या का घर तिमंजिला था और आसपास कोई घर उतना ऊंचा नहीं था तो किसी के देखने का कोई सवाल नहीं था. कभी कभी मयूर अपनी शादी से पहले की गर्लफ्रेंड्स को कानूनगो साहब से चुदने के लिए भेज देता था. मैंने कहा- अच्छा जो मैं बोलूँगा, वो करोगी?उसने मुस्कुरा कर कह दिया- हां कर दूंगी.

सेक्सी वीडियो बीएफ हॉट

जब लोगों के जागने का समय हो रहा था तो हम दोनों प्रेमी नंगे ही सोने लगे. मैंने उससे कहा कि मेरी भी स्टेप मदर है मगर वो मेरी फ्रेंड की तरह से ही है और एक स्टेप ब्रदर भी है, जो आज कल बंगलोर में सर्विस कर रहा है. यह सब मेरे होने वाले पति बालू सब देख और सुन रहे थे, उनके सामने उनकी होने वाली बीवी के पूरे जिस्म को कोई दूसरा मर्द मसल रहा था और गंदी से गंदी गालियां दे रहा है, और वो सब होने दे रहे थे.

आगे इस ताश के खेल के बाद चुदाई का खेल किस बेहतरीन अंदाज में हुआ, वो मैं आपको अगले भाग में लिखूंगी. मैं कहा- आंटी अब देर न करो लंड आपके मुँह में जाने के लिए मचल रहा है.

वो आपको पूरी रात अपने पास रखेगा और फिर आप जानती ही होगी कि क्या करेगा.

एक झटके में पूरा लंड अन्दर जाते ही उसकी ज़ोर से चीख निकल गई, वो बोली- हाययई. मेरी मकान मालकिन आंटी 37 साल की मोटी सी कम हाईट की एक शानदार माल है. करीब 5 मिनट तक मैंने मिंकी की नाभि में जीभ डाल कर घुमाई, उसके बाद मैं उसकी चूत पर आ गया और एक हाथ से उसका बायाँ दूध दबाने लगा और सीधे हाथ की एक उंगली उसकी चूत में डाल कर उसकी चूत के दाने पर अपनी जीभ चलाने लगा।जैसे ही मैंने मिंकी की चूत के दाने पर अपनी जीभ लगाई, वैसे ही मिंकी एकदम ऐसे उछली जैसे उसे 1000 वॉट का करंट लगा हो और पलक झपकते ही उसने अपने दोनों हाथ से मेरा सर पकड़ा और अपनी चूत पर दबाने लगी.

मैं क्या बताऊं आपको मेरा लंड, जो सिर्फ 6 इंच का था और हस्तमैथुन के समय भी वो उतना ही रहता था, उस दिन मानो 7 से 8 इंच का लग रहा था. अब तक वो भी चुदासी हो चुकी थीं उन्होंने मेरी आँखों में आँख डाल कर देखा और कमर उठा दी. माँ उत्सुकता से पैकेट को खोलने लगीं लेकिन मैंने कहा- आप मेरे जाने के बाद इसे आराम से अकेले में देख लेना.

हल्की लाल रंग की ब्रा में जकड़े हुए उनके तकरीबन 35 इंच साईज के चुचे, मुझे मदहोश करने के लिए काफी थे.

एक्स एक्स हिंदी बीएफ एचडी: मैं उसके पैरों के बीच जा कर पैंटी के ऊपर से उसकी चुत में उंगली करने लगा. जिनेन्द्र नहीं खेलेगा क्या?”नहीं वो बस बियर एन्जॉय कर रहे हैं… और हमें खेलते हुए देख रहे हैं.

मैंने पूछा- क्या चक्कर चल रहा है?वो बोली- कैसा चक्कर?मैंने कहा- तुम ऑफिस के बाद उस कार में बैठ कर कहाँ गई थी?वो बोली- ओह्हो… तो मेरी जासूसी हो रही है?बोली- काम से गई थी!मैंने कहा- तुम जॉब छोड़ दो!वो बोली- में जॉब नहीं छोड़ूंगी, तुम मुझसे जल रहे हो कि मैं तुमसे ज्यादा सैलरी कैसे ले रही हूँ. दोनों उरोजों के बीच की घाटी को चूमा-चाटा पर सब्र कहाँ?हम लोग बड़ी ही असुविधजनक स्थिति में बैठे थे लेकिन परवाह किस को थी. मैंने उसे अपने पलंग पर लिटा दिया और उसके होंठों को बेतहाशा खाने लगा.

मेरी कामुक बीवी कामिनी जोर जोर से बोल रही थी- विवेक… चोदो… जोर जोर से चोदो… बहुत मजा आ रहा है! वाऊ वाओ मेरी जान!‘फट फट फट फट फट’ और तेज हो गई, विवेक कामिनी के निप्पल बीच बीच में मुँह में भर लेता और मम्में मसल देता.

फिर मैंने भाभी जी का ब्लाउज और पेटीकोट भी खोल दिया, अब वो मेरी सामने ब्रा और पेंटी में थीं. तुम्हें जो अच्छा लगे करो। बस इतना ध्यान रखना कि मैं बदनाम न हो जाऊँ।ये कहते हुए वो रोने लगी।मैंने उसे समझाया और भरोसा दिलाया कि इस बारे में किसी को पता नहीं चलेगा और दूसरे दिन टाइम पहुँच जाऊँगा।यह कह कर फोन काट दिया। दूसरे दिन मैंने अपने घर वालों को बोल दिया कि मैं दो तीन दिन के लिए बाहर जा रहा हूँ और बैग पैक करके घर से निकल गया। रास्ते में बैंक से दस हजार रूपये निकाल लिए. मैं अपने हाथ से उसके ब्लाउज के ऊपर से ही उसकी मोटी मोटी चुचियों को दबाने लगा.