बीएफ ब्लू फिल्म देखना है

छवि स्रोत,डॉक्टर पिक्चर सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी गधे: बीएफ ब्लू फिल्म देखना है, मैंने भी उसकी कमर पर अपने बांहों का घेरा बना दिया और उसके आगोश में खो जाने को मजबूर सी होती चली गई.

सेक्सी वीडियो भेजो 2021

उसे नर्म बिस्तर पर लिटा कर, मैंने उसके पैरों से उसे किस करना स्टार्ट किया और जांघों से होते हुए कमर पर किस करने लगा. सेक्सी चोदा चोदी हिंदी वीडियोवैसे तो मैंने काफी लड़कियों के साथ सेक्स किया है, लेकिन भाभी की बात ही अलग है.

मैं बोला- लंड को मुँह में ले लो, थोड़ी देर में मूंगफ़ली से तोप बन जाएगा मेरी जान. सेक्सी फोटो वीडियो फुल एचडीतभी उसने डरते हुए मुझसे पूछा- क्या हुआ?मैंने उससे कड़े शब्दों में कहा- हुआ क्या? आपकी मर्दानगी देख ली, एक औरत को संतुष्ट नहीं कर सकते और लंबी लंबी बातें करते हो.

वह इतनी जोर से चिल्लाई थी कि मुझे लगा शायद उसकी आवाज को पूरे घर ने सुना होगा, वह इतने जोर से चिल्लाएगी, इसका मुझे जरा भी अंदाजा नहीं था, वरना मैं पहले ही उसके मुँह पर हाथ रख लेता.बीएफ ब्लू फिल्म देखना है: जैसे चूत से कोई बहुत गर्म गर्म पिचकारी से निकलने को हो और मुझे इसका अहसास भी हुआ.

अब मुझे लंड घुसने की सोच कर बहुत डर लगने लगा था, तो मेरे पड़ोसी ने मुझसे बोला- डरो मत, मैं तुम्हें बहुत आराम से करूँगा.पुनीत मेरी गांड से बहुत जोर से चिपक गया और हांफते हांफते गांड में अपने लंड से धक्के भी मारते जा रहा था.

सेक्सी वीडियो भाभी की चूत चुदाई - बीएफ ब्लू फिल्म देखना है

तो रंजना दीदी बोली- अरे नहीं पगली, तेरे लिए थोड़ा बहुत तेरे सुकून के लिए तो मैं कुछ भी कर सकती हूं.पर एक बात मैंने मार्क की कि वो एक बार झड़ जाती, तो आगे और करने से उसे शायद तकलीफ होती थी.

उनके बॉब कट घुंघराले बाल थे, स्लीवलेस ब्लाउज में उनकी बड़ी-बड़ी खड़ी चूचियां और साड़ी में कसी हुई उनकी भरी हुई गांड किसी भी आदमी को अपनी तरफ आकर्षित कर लेती थी. बीएफ ब्लू फिल्म देखना है एक दिन ऐसे ही नैना के हस्बैंड यानी दिवेश जी आये हुए थे, तो वे रात को मुझे एक पब में ले गए और बोले- तुमसे एक जरूरी बात करनी है.

उसके बाद उसने अगले ही पल मेरे अंडकोषों को अपने होंठों में भर लिया और उसकी नाक मेरे लंड की जड़ में आकर धंस गई.

बीएफ ब्लू फिल्म देखना है?

उसकी गुलाबी कोमल चूत को अपने लंड चोदने में इतना मज़ा आ रहा था जिसे मैं यहां पर बता नहीं सकता. सुषी ने मेरे दोनों पैरों को अलग कर दिया और फिर खुद मेरे पैरों के बीच में आकर बैठ गई. साथियों लंड चुत की देसी सेक्सी कहानी मजा लेने के साथ मुझे मेल भी करते रहना.

उसकी चूत ने थोड़ी ही देर में पानी छोड़ दिया, पर मेरा लंड अभी और बेकरार था, इसलिए मैंने चूत से लंड बाहर निकाल कर उसकी गांड में डाल दिया और पद्मा भी चूतड़ हिला हिला कर गांड मरवाने का मज़ा लेने लगी. वो कहने लगीं- ये सब क्या बोल रहे हो?मैंने उनसे कहा- मुझे चोदते वक्त गालियां देना अच्छा लगता है. अब ऋतु की गांड रवि के फेस की तरफ थी और वो झुक कर फ्लोर पे बिल्ली की तरह चलने लगी.

मैं भी गांड में ज्यादा इंटरेस्टेड नहीं था, अतः मैंने उनके पटों के बीच में से उभरी चूत को उँगलियों से अलग किया, उनकी टांगों को थोड़ा चौड़ा किया और लंड अन्दर जाने की जगह बना कर, सुपारा चूत के बीच में रख कर, एक ही झटके में पूरा लंड अन्दर तक ठोक दिया. मेरे बालों को खींच रही थी, मैंने दाँतों से उसकी पैंटी को उतरना शुरू किया. अब मुझे बहुत मज़े आ रहे थे, इतने मजे तो पहले के राउंड और पहले की चुदाइयों में भी नहीं आए थे.

’राजिंदर के धक्के तेज़ हो गए और फिर उसने मेरी गांड अपने मर्द जल से भर दी. उसके दांत मेरे चूचुकों को काट कर यह बता रहे थे कि आग अब दोनों तरफ बराबर की लगी हुई है जिस पर संभोग का पानी डालना अब बहुत आवश्यक हो गया है.

फिर अपना एक तरफ से आधा शरीर नंगा करके एक तरफ के चूतड़ और मम्मे दिखाने लगी, फिर जल्दी जल्दी पूरे बेड पर उलटने पलटने लगी.

इसके बाद भाभी ने मुझे किस किया और हम दोनों नंगे ही चिपक कर आपस में प्यार मुहब्बत की बात करने लगे.

मैं गया तो आंटी ने घर के लोगों से मिलवाया और सब को ये भी बता दिया कि मैं उनकी दूध की डेरी को देखने के लिए आया हूँ. उनकी पत्नी यानि मेरे पति की भाभी यानि मेरी जेठानी मुझसे बोली- रेशमा, संजय तो तीन महीने बाद आएगा और तेरे जेठ जी भी शायद एक महीने बाद आएंगे, तब तक तुम क्या करोगी?मैंने कहा- मैं क्या कर सकती हूँ?भाभी बोली- ठीक है मैं ही कुछ करती हूँ. मैं बरेली का रहने वाला हूँ और अपने घर से दूर एक कमरा लेकर अपनी ग्रेजुएशन पूरी कर रहा हूँ.

सुजाता अजय को बोलने लगी- रमेश जी को तुमने क्या बोला है मेरे बारे में?अजय बोलने लगा- दोस्ती की बात दोस्तों ही को तो बोलते हैं यार. मैंने धीरे से उसके हाथों को हटा कर उसकी आँखों में झांकते हुए उसको देखा. मैंने अपने लंड को हाथ से पकड़ कर हिलाया और अपने अंडरवियर को उतार दिया.

वह थोड़ी नीचे की तरफ झुकी और उसने मेरी पैंट में तने हुए मेरे लंड पर अपने होंठों को रगड़ना शुरू कर दिया.

मैंने सोनू से कहा- सोनू, प्लीज मुझे अपने मम्मे देखने दो?वह कुछ नहीं बोली तो मैंने सोनू का टॉप ऊपर उठाया और उसके दोनों मम्मों को बाहर देखते ही मुंह में ले लिया. जबकि नीना शादी से पहले ही सौ फीसदी खेली-खाई बिंदास चुदैल लड़की रही, इस बात की जानकारी मुझे बाद में हुई. वहां भाभी की चड्डी और ब्रा दिखी तो मैंने उन्हें सूंघ कर मुठ मारी और सारा माल चड्डी में गिरा दिया.

मेरी चूची को चूसने के बाद उसने मेरी पेंटी निकाल दिया और मेरी पेंटी पर लगे मेरी चूत के पानी को वो चाटने लगा. वो कसमसाती रही, लेकिन जैसा कि नेचुरल है किसी भी चूत को एकदम से लंड लेने में दर्द होता ही है, बाद में चूत लंड लंड करने लगती है. मैं एक बार फिर से उछल गई और फिर चीखी- उम्म्ह… अहह… हय… याह…इस बार मैंने कसके कुर्सी सहित दीदी को जमके पकड़ लिया और उनके दूधों को जोर से अपने हाथों से दबा दिया.

मामा भी पापा के साथ ही बातें करने में लगे हुए थे और माँ मेरी मामी के साथ बातें कर रही थी.

पता नहीं वो कौन थे, फिर मैं तो तेरा करीबी निकला और मैं तुझे उन लड़कों से ज्यादा प्यार से करूंगा और बहुत मजा दूंगा. मैं भी खड़ा हुआ और दोनों को अपने लंड ले सामने घुटनों पर बिठाकर दोनों के मुँह पास में चिपका लिए.

बीएफ ब्लू फिल्म देखना है खाली समय में या लंच टाइम में मुझसे बात करना, आगे बढ़के काम में मदद करना, तारीफ करना और ना जाने क्या क्या. वे कुछ नर्म पड़े, प्रिन्सिपल की ओर देख कर बोले- क्या करें मैडम?प्रिन्सिपल खिलखिला कर बोली- ये तो आपको ही देखना है माथुर साहब! वैसे … लड़की का बदन भरा हुआ है … मेरा मतलब पूरी जवान लग रही है” उसने पैनी नज़रों से मुझे देखते हुए कहा और उनकी तरफ बत्तीसी निकाल दी.

बीएफ ब्लू फिल्म देखना है उसका उत्तर- अच्छा आवाज़ भी गांड फाड़ होती है क्या?मैं- अब अगर भाभी जवान माल हो तो क्या उसकी आवाज़ गांड फाड़ नहीं हो सकती … भला बताओ?वो- हा हा हा … हां क्यों नहीं हो सकती खैर तुम इस समय क्या कर रहे थे?मैं- सोया था मेरी जान … तूने कॉल करके उठा दिया. यह बोल कर उसने ख़ुद से अपने बालों को मेरे हाथ में पकड़ा दिया और मुझे बाल खींचने का इशारा किया। जैसे ही मैंने उसके बाल खींचे वैसे ही उसकी आह … निकल गयी। मैंने भी देर न करते हुए उसको ज़मीन पर धकेल दिया तो वो अपनी जुबान को बाहर निकालते हुए अपना मूत चाटने लग गई.

आते ही मैंने सलहज को बोला- भाभी जी कहां हो?वो घर में झाड़ू लगा रही थी.

बीएफ ब्लू सेक्सी हॉट

मेरे हाथ को उसकी चूत बहुत गर्म लगी और साफ पता लग रहा था कि उसकी पानी छोड़ चुकी थी. करीब बीस मिनट की धमाकेदार चुदाई के बाद मैं एकदम से अपने शरीर को ऐंठने लगी मेरे हाथों की मुट्ठियों ने बिस्तर की चादर को भींच लिया था. फिर मैं घर आया तो दीदी ने पूछा- चढ़ा दिया सामान?मैंने कहा- हां दीदी, वो चली गई.

अगर वह और उसके घर वाले तैयार होंगे, तो आगे चल कर मैं तेरी शादी तेरे आशीष से करवा दूंगी. अब ना जाने मुझे क्या हो गया, मुझे कुछ समझ ही नहीं आया कि मैं क्या करूँ. बोल तो ढूंढना शुरू कर दूँ तेरे लिए?मैं- मम्मी जी, इतना बड़ा फैसला लेने के लिए मुझे कुछ वक्त चाहिए, मैं आपको एक दो दिन में सोच कर बताती हूँ.

भगवान का शुक्र और सर की मेहरबानी से मैं परीक्षा में फर्स्ट क्लास से पास हुई। घरवाले बहुत खुश थे। पिंकी भी सेकेंड क्लास से पास हुई थी। मेरी अधिकतर सहेलियाँ जल भुन गई थीं.

उसने तब मजाक करते हुए कहा- कर लेने दीजिये सारिका जी, इनको भी हक़ है. आंगन में पहले से रखी हुई प्लास्टिक चेयर पर नीना कुछ इस तरह पसर गई, जैसे वह गंभीर रूप से बीमार हो. ऐसे ही काफी देर तक करने के बाद मैं रिवर्स पोजीशन में आ गया और किस करते हुए उसकी चूत के पास आ पहुंचा.

इसी बीच मैंने अपना हाथ उसकी चूचियों पर रख दिया और धीरे धीरे दबाने लगा. मैंने सोचा, कोई बात नहीं, थोड़ी ही देर में खुद पता चल जाएगा कि क्या सरप्राइज है. हालांकि मेरी बीवी सुहागरात को कुंवारी थी, उसकी चूत से भी खून निकला था.

जब मेरी नींद खुली तो भोर के 3 बज चुके थे, कौशल्या मेरी तरफ पीठ करके लेटी थी, मैंने कमर से सटते हुए उसकी चुचियों को पकड़ा और उसके निप्पल मसलने लगा. मैं हंसते हुए ऊपर अपना हाथ बढ़ा कर उसकी चूची पकड़ी और मसलते हुए अपनी जीभ उसकी चूत से सहला दिया.

नहाते समय भाभी ने दरवाजे पर दस्तक दी लेकिन मैंने उनकी तरफ ध्यान नहीं दिया क्योंकि खड़े लंड पर धोखा मुझे बर्दाश्त नहीं हो रहा था. रात को खाना खाने के बाद उसका रिप्लाई आया, उस वक्त लगभग 9 बजे होंगे. हालांकि उसका टमाटर के आकार का सुपारा मेरी चूत को उत्तेजित कर रहा था, लेकिन बेचारी फुद्दी को इस वक्त अगले ही पल होने वाले दर्द का अहसास ही नहीं था.

राहुल फाड़ दो मेरी जालिम चूत को आहह्ह्ह् … चोदो … पूरी तरह निचोड़ कर पानी निकाल दो.

इतना कहकर उन्होंने मेरे लंड को मेरे लोअर के ऊपर से ही पकड़ लिया और सहलाने लगी. मैंने कहा- मामी, अब मैं टी-शर्ट पहन लूं क्या?मामी बोली- हां, और अगर तुम मुझे अकेले में पूनम बुलाना चाहो तो बुला सकते हो. उधर सुजाता भी गांड उचकाते हुए लंड पर कूद कूद कर चुदने का मजा लेने लगी.

एक तो मैं इतना मोटा, ऊपर से मेरी हवस … मैंने बहुत बेदर्दी से उनकी चुदाई जारी रखी. साथ ही उसने भी अपनी गति बढ़ा दी और मेरी ताल के साथ ताल मिलाते हुए वाणी की सामने से चुदाई करने लगी.

थोड़ी देर तक चूत के मुँह पर ही रख कर ऊपर नीचे किया, फिर एक झटके से अन्दर डालने की कोशिश की. पति के दोस्त के बारे में बताऊं तो वो अमिताभ बच्चन से भी ऊंचा होगा … तक़रीबन छह फुट सात इंच की हाइट होगी उसकी … और उसकी छाती भी काफी लंबी चौड़ी थी, एकदम गठीला बदन था. सब कुछ तय होने के बाद दोनों घर वालों के बीच एक मीटिंग फिक्स हुई, जिसमें लड़के को और मुझे भी शामिल होना था.

सेक्सी मूवी बीएफ चाहिए

मेरी शादी कम उम्र में ही हो गई थी, पर मेरा कमजोर पति मुझे सुख नहीं दे पाता था.

मेरी जान, थोड़ा दर्द सह लो … फिर तो तुम्हारे मज़े ही मज़े होने हैं. थोड़ी देर ऐसा करने के बाद लंड अब पूरा अन्दर बाहर होने लगा और प्रमिला को भी अब कम दर्द और ज्यादा मजा आने लगा. मैंने सोचा कि भाभी को सॉरी बोलने का अच्छा मौका है तो मैंने उनको सॉरी बोल दिया.

लेकिन अभी कुछ दिन पहले मेरी लंड लेने की इच्छा अनायास ही पूरी हो गई. मैंने भी उसकी बात मान ली और बिना देर किए उसकी चुत में अपना लंड घुसा दिया और उसने भी बड़ी आसानी से लंड निगल लिया. सेक्सी वीडि योवह ऐसे हुआ कि एक रोज़ लता भाभी शनिवार को, जब मेरी छुट्टी होती थी, मेरे कमरे में ऊपर आई और मैंने फटाफट दरवाज़ा बंद करके, अपना लोअर निकाला और उन्हें बेड पर लिटा कर, उनकी साड़ी ऊपर करके चोदने लगा.

करीब 15 मिनट तक उसने मेरी चुदाई की और बाद में वो मेरी गांड में ही झड़ गया. मुझे काफी डर भी लग रहा था कि अगर भाभी ने किसी को बता दिया तो क्या होगा.

मैं अन्दर गया तो उसने मुझे लॉबी में बैठने का कहा और दो मिनट बाद घंटी बजने पर अन्दर आने का कहा. मेरी यह पहली सेक्स स्टोरी है जो मैं आप सब लोगों को बताने जा रहा हूँ जो एक सच्ची घटना है कि कैसे मैंने अपनी गर्लफ्रेंड और उसकी मम्मी को चोदा।जब मैं स्कूल में था उस वक्त मुझे अपने ही स्कूल की एक लड़की बहुत पसंद थी. लेकिन मैंने अपने लंड और अपने आप पर कंट्रोल किया और दूसरी ओर मुंह करके खड़ा हो गया और ऐसे दिखाने लगा जैसे मैंने कुछ नहीं देखा हो.

मैं भी आंटी के बाद कुछ पल का विराम देकर खेत से बाहर आ गया और हम आगे बढ़ने लगे. उसकी रेहड़ी से आ रही धीमी-धीमी आंच और धुंआ तथा ऊपर से गुजर रही ऊंची मेट्रो लाइन मुझे ठंड से काफी हद तक बचाने लगी. ’ की आवाज निकलने लगी और दो शॉट लगने के बाद वो अपने लड़की को पेलने लगा.

फिर उसने मेरे कानों को किस किया … लिक किया … बाईट किया और कान में ज़ुबान डाल दी.

उसकी पोजीशन ऐसी थी कि वह आधी खिड़की पर बैठी थी और उसकी चूत मेरे सामने खुली हुई थी. मेरी गीली चूत में वो अपना पूरा लंड मेरी चूत में डाल कर मुझे हचक कर चोद रहा था.

मयूर ने मुझे एक प्यारी सी और लंबी सी किस की और मुझे अपनी बाहों में भर लिया. मेरी? … क्या बताऊं? आज तो कुछ नहीं आता … मैं तो पक्का फेल हो जाऊंगी आज के पेपर में!” मैंने बुरा सा मुँह बनाकर कहा।कुछ नहीं होता … रिलेक्स होकर पेपर देना … जो क्वेस्चन अच्छे आते हों उनका जवाब पहले लिखना … एक्जामीनर पर इंप्रेशन बनेगा … ऑल द बेस्ट!” उसने कहा और सीधा देखने लगा।सिर्फ़ ऑल द बेस्ट से काम नहीं चलेगा. उसके इतना बोलते ही मैंने उसके होंठों को किस किया, जब इसका उसने कोई विरोध नहीं किया, तो मैंने उसको और जोर से किस किया.

[emailprotected]कहानी का अगला भाग:कोटा की स्टूडेंट की कुंवारी चूत-2. सीमा ने मेरे सिर को पकड़ कर अपनी जांघों के बीच में दबा दिया और मैं उसकी चूत में जीभ को घुसाने की कोशिश करने लगा. जगत अंकल बोले- राज, अब इधर ध्यान दे … और बता पहले कहां चलना है?मम्मी बोलीं- राज जीजा, सबसे पहले दुकान में ही चलो, पहले खरीददारी कर लेते हैं … फिर ही कुछ और सोचना या और कहीं चलना … नहीं तो दुकान बंद हो जाएगी.

बीएफ ब्लू फिल्म देखना है तब तक ज़रीना एक बार झड़ चुकी थी, पर मेरा लंड तो जैसे मानने को तैयार ही ना था. उसने भी मुझे सही से पकड़ते हुए पोजीशन सही की और फ़िर हम दोनों ने पूरे ज़ोश से धक्के मारने शुरू कर दिये.

अंग्रेजी एक्स एक्स बीएफ

मैंने पूछा- क्या हुआ?वो बोली- कुछ नहीं मेरी चूत ने भी पानी छोड़ दिया … मज़ा आ गया मुआआह … मस्त एकदम. उस दिन सुजाता की तीन बार चुदाई हो गई और सुजाता रमेश काफ़ी देर तक ऐसे ही नंगे पड़े रहे. मैं इस बार के प्रहार से और जोर से चिल्लाने लगी- अअअई मरररर गई रे … साले ने फाड़ दी … आह मार डाला ऊऊफ़्फ़ … अब नहीं अअहह … उहह!तभी वो उतना ही लंड अन्दर बाहर करने लगा और फच्च फच्च की आवाज़ पूरे घर में गूंजने लगीं.

अब तो मैं वासना के अंतिम छोर में पहुंच गई थी और रोके से भी मेरी सिसकारियां नहीं रुक रही थीं. यह कहते हुए वो मेरे दूधों को दबाने लगे, फिर मुझसे बोले- तू हल्का सा झुक जा. बिहार का सेक्सी वीडियो देनाअब तुम इसे भी एक बार पकड़ कर ज़रूर चोद दो, वर्ना यह कहीं भी हमारी बात बता सकती है.

मैंने थोड़ा प्यार से पूछा तो उसने बताया कि उसका कोई परिवार नहीं है, बस एक बड़ी बहन है, जिसे एड्स है और उसके इलाज के लिए उसकी प्राइवेट जॉब की सेलरी कम पड़ती है, इसलिए उसे ये काम करना पड़ता है.

मैंने उसकी गांड में उंगली को डालने की कोशिश की तो उसने मेरा हाथ हटा दिया. राहुल और सुरभि के साथ भी टाइम स्पेंड करें, उनके स्कूल, कॉलेज और फ्रेंड्स के बारे में उनसे बात करें … धीरे धीरे सब नार्मल हो जाएगा, आप टेंशन मत लें.

जिसका सबूत है मेरा मेल बॉक्स, जिसमें मेलों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है. नीचे पैंट में मेरा लौड़ा तना हुआ था जो अलग से ही तंबू बनाकर खड़ा हुआ था. ऐसा कहते हुए उसने मेरे लंड को अपने हाथ में लिया और अपनी चूत पर सेट करते हुए मेरे लंड पर बैठ गई.

शाम को आंटी मेरे घर आई और बोलने लगी- अजय दो महीने से मेरी हालत बहुत खराब है, तुम बस मुझे 15 दिन का टाइम और दे दो.

अब तक हम दोनों बहुत गर्म हो चुके थे और एक दूसरे को चूमने और चूसने में लग गए थे. उसके बाद मैंने अपने दोनों हाथ उसकी दोनों चुचियों पे रखे और जोर जोर से दबाने लगा. दो मिनट बाद वो भी अन्दर आ गई और दरवाजे को अन्दर से कुंडी मार कर बंद कर दिया.

लड़की कुंवारी सेक्सीवैसे तो मैं शाम को अक्सर बाहर निकलता था क्योंकि लक्ष्मी नगर में स्टूडेंट बहुत रहते हैं और शाम को बहुत चहल-पहल भी रहती है तो घूमने में मन भी लगता था और इसी तरह मेरे दिन कट रहे थे. इस बार चुदाई का खेल लम्बा चला और आंटी ने अपनी चूत की खुजली मिटवा कर ही छोड़ा.

बीएफ एक्स एक्स एक्स न्यू

मैंने बात आगे बढ़ाई तो उन्होंने कहा कि क्या तुम बिना चेहरे की अपनी कुछ कामुक तस्वीरें भेज सकती हो. उसका शाम को रिप्लाई आया- बस रहने दो … तुम बस फेंकते रहो, भला कौन थप्पड़ मरवा के गांड लाल कराये अपनी. दोस्तो, हम एक संयुक्त परिवार में रहते हैं और मेरे परिवार में मुझे मिलाकर 25 लोग हैं.

मिशिका भी रिशु की कमर पर हाथ फिराते हुए उसके होंठों को चूसने में मस्त हो रही थी. फिर उसने मेरी चूत के रस को अपनी नाक के पास ले जाकर सूंघा और मुस्काने लगा. मैंने देखा कि मिशिका के फोन में रिशु नाम के एक लड़के का मैसेज आया हुआ था.

मैंने उनकी भावनाओं को पढ़ने की कोशिश की और उनकी आँखों में देखता रहा. तो मैं उसे चुपके से अपने वाले रूम में लेकर आया और उसके घर पे लॉक लगाकर चाभी वहीं रख कर आ गया. इसके बाद तीसरे आदमी ने मेरी जानू की दोनों चुचियों को जमकर दबाया और चूसा.

मेरा लंड मोटा होने के कारण लंड पूरा अन्दर नहीं गया और भाभी के मुँह से एक आह निकल गयी. उनके होंठों को चूसते हुए मैंने आंटी के ब्लाउज के अंदर हाथ डाल दिया.

पहली बार जो देखी थी मैंने अपनी बहन की चूत। फिर मैं धीरे से क्लिटोरिस को उंगली से छेड़ने लगा तो उसने मेरे हाथ को पकड़ लिया.

इसलिए संजना नहीं चाहती थी कि मैं शीना से बात करूँ या उसके आस-पास रहूँ. सेक्सी वीडियो संजयकुछ देर उसे देखने के बाद मेरी दबी हुई अभिलाषा फिर से जागृत हो गई और उसे देख कर मेरी चाहत मुझे काण्ड कर देने पर आतुर कर देने लगी. हिंदी में सेक्सी ब्लू फिल्म बताओतभी वर्षा गुस्से में बोली- पापा, आप उस तिवारी अंकल की बातों में आ गए. हम दोनों लोग मस्ती से सेक्स कर रहे थे, जिससे मेरी चूचियां हौले हौले हिल रही थीं.

वो मूंछों वाले दादा साहेब बोले- जल्दी ही कर रहा हूं … नहीं तो तू तो ऐसी गर्म आइटम है, ऐसी माल है कि पहले तो तेरे एक एक अंगों को पहले चाटता, उसे प्यार करता और एक एक अंग को सहलाता, उनसे दो चार घंटे खेलता, तब जाकर तुझे चोदता, पर अभी समय बिल्कुल नहीं है.

यह सब मेरी सोची समझी चाल थी, इसी चाल के अंतर्गत एक दिन मैं अपने बाथरूम में नंगा खड़ा होकर मुट्ठ मार रहा था. इधर उसने भी मुझे फोन पर यही बताया कि वो भी डर रही थी कि मम्मी ने मुझे क्यों बुलाया है।मैंने सोचा कि कोई बात नहीं, अब पकड़े गए तो जाना तो पड़ेगा ही. कुछ क्षण के लिए हम दोनों ही एक दूसरे के साथ हुए इस संभोग का आनंद महसूस करते रहे.

मेरा बॉयफ्रेंड मुझे बेतहाशा चूम रहा था और मेरे बूब्स को दबा रहा था. अब यह मेरी सहन शक्ति के बाहर हो गया और मैं उसको मारे उत्तेजना एवं सहन नहीं होने के कारण ‘कुत्ती … कमीनी … हरामजादी … मां की लौड़ी … और पता नहीं न जाने क्या क्या बोल गई. भाभी ने बताया- जब तुम कमरा किराए पर लेने आए थे तो मुझे बहुत अच्छे और स्मार्ट लगे थे.

माधुरी दीक्षित के बीएफ सेक्स

बस दो मिनट में वाणी बोली- मेरे बारे में भी सोचो … इस कुतिया को तो ऐसे ही मज़ा आता है इसलिये ये हमारे मर्दों को उकसाती है और हर बार मैं ही सूखी रह जाती हूँ. दोनों को ही एक दूसरे की चाहत बड़े लंबे समय से थी जो अब जाकर पूरी हुई. मैं तृप्त हो गई लेकिन पंकज अभी भी मेरी चूत को चोदने में लगा हुआ था.

उसके धक्के से मैं हिल जाती, तो बीस साल वाला लड़का मेरी नीचे को झुकती चूत को चाटने लगता.

चूत को चाटते हुए पांच-सात मिनट हुए थे कि उसकी चूत ने बहुत सारा पानी छोड़ दिया.

और मुझसे घर वापस जाने और उसके आने का इंतजार करने को कहा।मैं निराश हो गया और घर वापस आया. एक-दो ने पूछा भी कि भैया कहां जाओगे तो मैंने मुंडी हिलाकर उनको मना कर दिया. इंग्लिश पिक्चर सेक्सी जानवरों कीभाभी बोली- बस करो जीतू … मार ही डालोगे तुम तो आज मुझे … आज तक तुम्हारे भाई ने भी मुझे इतना मज़ा नहीं दिया.

जब उसका लिंग मेरी योनि से स्वयं ही बाहर आ गया तो उसने उठते हुए अपने मोबाइल में टाइम देखा. उनके धक्कों से मेरी चूत में उसका लंड बहुत आसानी से जा रहा था। मैं तो मस्ती में कभी उनके बाल नोंचती तो कभी उनकी पीठ नोंचती. सुषी ने मुझे कस कर पकड़ लिया और मैं तेजी के साथ उसकी चूत में लंड को अंदर-बाहर करते हुए उसकी चूत को चौड़ी करने लगा.

मैंने शारदा से कहा- तो फिर मैं आज अपनी इस सुहागरात को इतनी यादगार बना दूंगा कि आप इसे कभी नहीं भूल पाओगी. सोच रहा था कि अपने ही जीवन की एक घटना आप लोगों के साथ साझा करूं, मगर एक पाठक की कहानी ने मेरा ध्यान अपनी तरफ आकर्षित कर लिया.

उसके कहने पर मैं उठकर ‘सर’ के पास जाकर खड़ी हो गयी- सर प्लीज़ … शीट दे दो.

उसका 36-28-34 का सेक्सी फिगर स्किन फिट सिल्क गाउन में साफ़ दिख रहा था. रमीज की इस तरह की हरकत से मुझे बहुत गुदगुदी होने लगी और मैं तड़पने लगी. हमारे तरफ यही घटना हुई होती, तो नौकरानी शरमा कर वहां से भाग गई होती.

सेक्सी वीडियो चुदाई वाली ब्लू फिल्म थोड़ा सा मैंने होंठों को गीला किया और प्रिया के होंठों पर रगड़ने लगा. अपनी बनियान और कच्छा उतार कर मैं नंगा दोनों के नज़दीक जाकर उनकी चूचियां दबाने लगा.

एक दूसरे से मिलन की आग ने हम दोनों को सेक्स करने का मन बना दिया था. उसने मेरी चूत में अपना लंड नहीं डाला और मेरी चूत को बहुत देर तक चाटा. एक हाथ से मैंने उसके अंडों को हल्के हल्के सहलाना शुरू किया और दूसरे हाथ से लिंग को मुट्ठी में भर कर आगे पीछे करके सुपाड़े को चाटने लगी.

हिंदी सेक्स बीएफ हिंदी सेक्स वीडियो

इस पर गीता बोली- अरे वाह … जब वाणी जा रही थी तो उसे नहलाने जा रहे थे. तकरीबन दस मिनट तक अपने लंड को मुख मैथुन का सुख दिलाने के बाद उसने मेरी पेंटी उतार कर मुझे पूरी नंगी कर दिया और मेरी टांगें खींच कर मेरी चूत को अपने मुँह के नजदीक कर लिया. हल्के से झटकों के साथ ही आंटी भी मुझे चूमने लगी, कहने लगी- चोद सौरभ … मुझे चोद दे … चोद-चोद कर अपने वीर्य से मेरी चूत का कुँआ भर दे.

उसने कहा- वहां घरवालों के आने का डर है।अचानक से फिर से निहारिका ने मेरी पैंट को खोल दिया और जोर-जोर से मेरा लंड चूसने लगी।मुझे तो स्वर्ग की अनुभूति सी होने लगी। मुझे लगा कि मैं झड़ने वाला हूँ. उसने बैठ के स्टाइल से टांगों के बीच में अपनी टांगें फंसाकर पूरी ताकत से लंड घुसा दिया और मुझे चोदने लगा.

फिर दो मिनट तक वे दोनों ऐसे ही ऊपर बैठ के किस करती रहीं, तो कभी आपस में बूब्स चूसने लगीं.

मुझे बहुत अच्छा लग रहा था क्योंकि मैं किसी दूसरे आदमी से दूसरी बार ही चुद रही थी. ”एक औरत की वासना की भूख मिटा दे, ऐसा कोई मर्द नहीं है दुनिया में मेरे राजा. एक तरह से ये पल मुझे ताकतवर होने का एहसास करा रहा था, जो मुझे अच्छा लग रहा था.

जैसे ही उसका हाथ मेरे खड़े लंड पर पड़ा वो चिहुँक उठी- आमिर ये तो फिर तन कर खड़ा हो गया है, इसे फिर से मेरी चूत में डाल दो. साथ ही नीना ऊपर-नीचे सांस छोड़ने लगी जिससे चूचियां भी ज्वार-भाटा की तरह हरकत करने लगीं. दोस्तो, मैं सैम शर्मा हाजिर हूँ अपनी एक और सेक्स स्टोरी के साथ कि कैसे मैंने लड़की पटाई और फिर उसकी चुदाई भी की।आपने मेरी पिछली सेक्स स्टोरीटीचर के साथ की पहला सेक्सपढ़ी ही होगी.

वो मस्त हो गई और अपने दांत दबाते हुए अपने हाथों से अपने मम्मे को मेरे से चुसवाने का मजा लेने लगी.

बीएफ ब्लू फिल्म देखना है: मेरे जैसे चोदू लड़के का लंड तो उन सभी की मादक सुगंध से ही खड़ा हो गया. आंटी की बड़ी सी गोल-मटोल गांड और उसके बीच में प्यारी सी छोटे-छोटे बालों वाली चूत दोनों ही चमक रही थीं.

मैंने कुछ देर बाद दोनों को ऊपर से हटाया और एकता को डॉगी स्टाइल में आने का बोला. मेरी दो बहनें हैं जिनमें से एक की उम्र 20 साल है और दूसरी की उम्र 22 साल है. जैसे कि क्या कल्पना को मैं सच में पसंद आया या नहीं? कल्पना को सच में मुझसे मिलना है या वो सिर्फ टाइम पास कर रही थी? वो दिखने में कैसी होगी? दोस्तो, भले ही मैं प्ले ब्वॉय का काम करता हूँ, लेकिन हूँ तो मर्द ही ना, मैं भी चाहता हूँ सामने वाला भी ठीक ठाक हो, तो सर्विस देने में भी मज़ा आए.

वह इतनी ज़ोर से दबा रही थी कि मैं सही तरीके सांस भी नहीं ले पा रहा था.

मैं अपना मुँह उनके पेट पर लगाए उन्हें किस करता करता उनकी पैंटी के ऊपर ले गया और पैंटी के ऊपर से ही उनकी चूत को चाटने लगा. राहुल मैं तुमसे बहुत प्यार करती हूँ।राहुल बोले- भाभी, मैं भी आपको बहुत प्यार करता हूं।मैं बहुत मस्ती में आ गयी थी. मैं कभी उसके गुलाबी सुपारे को जीभ से चाटता और कभी उसका पूरा लंड अपने मुँह में उतार लेता.