हिंदी में सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी

छवि स्रोत,सेक्सी फिल्मी गाने

तस्वीर का शीर्षक ,

xxxx हिंदी सेक्सी वीडियो: हिंदी में सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी, वहां किसी को हम पर शक भी नहीं होगा … और ऐसे भी मैं किचन में आपको चोदना चाहता हूं.

मुंबई एक्स एक्स

कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा था कि श्लोक और नील ने मिल कर अपनी बीवियों की सुंदर दिखने की आपसी प्रतिस्पर्धा का फायदा उठाते हुए उन्हें उकसाया. લેસ્બિયન સેક્સवो कई महीनों के बाद घर पर आते हैं और इसी कारण मेरी मां ने अपने कुछ दोस्तों को मदद के लिए रखा हुआ है.

अनिता भाभी अपने पेट पर हाथ रखते हुए बोली- ये जो पहले का फल है इसे तो बाहर निकालूं!मैं- इसमें मेरा क्या कसूर है. ब्लू सेक्सी चाहिए वीडियोअगले कुछ ही मिनट के अंदर हम लोग समुद्र की उफान भरती हुई झाग वाली लहरों के बीच में थे.

मैं भी एक हाथ से भाभी के मम्मों को दबाने लगा और दूसरे हाथ से भैया का लौड़ा सहलाने लगा.हिंदी में सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी: लेकिन उन्होंने मेरी नाक को बंद कर दिया और मुँह में लंड पेले रहे, जिससे मुझे न चाहते हुए भी उनका सारा माल पीना पड़ा.

उनके बारे में नहीं लिख सकती क्योंकि वो बहुत ही शॉर्ट में मजबूरी में हुआ सब, दिल से नहीं था मजबूरी में हुआ।आपको मेरी यह कहानी कैसी लगी ईमेल करके बताना। शुक्रिया![emailprotected].वो पूछने लगा कि तुम्हारे घर में कौन है अभी तो मैंने बता दिया कि मेरे जीजा हैं.

स्त्री योनी - हिंदी में सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी

मैं अपने एक हाथ की दो उंगलियों से छेद सा बनाया और दूसरे हाथ की एक उंगली को छेद में डालने का इशारा करते हुए कहा- चुदाई …मोना मुस्कुरा दी.जैसे ही मैं वहाँ पहुँची, उसने मुझे अपनी बांहों में खींच लिया और मुझे किस करने लगा.

मैं बोली- मगर तुम पहले की तरह वैसे ही दोबारा मुझे छोड़ने की बात मत करना. हिंदी में सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी मैंने पूछी- नामित कैसे … वो तो तेरा बेटा है न?नेहा बोली- कोई बात नहीं … बेटा से चुदवाना तो और ज्यादा मस्त रहता है.

मेरी मां के बारे में मैंने भी कुछ ऐसा ही सुना है जैसा तुमने सुना है लेकिन तुम ही बताओ कि मेरी मां की भी कुछ जरूरतें हैं.

हिंदी में सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी?

तभी मैंने देखा कि संजय जीभ से अपने होंठों को ऐसे चाट रहा है, जैसे उसे उसका शिकार मिल गया हो. उसके तेज धक्कों से मिल रहे आनंद के कारण मैं जल्दी ही सातवें आसमान पर पहुंच गया. मेरी जीभ निकाल कर चूसने लगा और इतना तेजी से धक्के मारने लगा कि मुझे बहुत मजा आने लगा.

फिर मैंने उनकी पैंटी को ऊपर से किस किया, तो वो एकदम से चुदासी हो गईं और तड़पने लगीं. हमें पता था कि सीमा इस अदला-बदली के लिए इतना जल्दी मान जाएगी क्योंकि एक तो रकुल ने उसे इतना चिढ़ा दिया था कि वह मन ही मन यह सोच रही थी कि उसे रकुल से किसी भी प्रकार जीतना है. हम रूम से बाहर निकल ही रहे थे कि अमन ने मुझे पकड़ कर फिर से रूम में ले गया और मेरी टीशर्ट उतार दी और फिर जीन्स भी उतार दी.

उसे तो तूने पटा लिया है, लेकिन तुमसे नहीं भी पट पाती और तुम मुझसे उसके लिए कहते, तो मैं खुद उसे पटा कर तुम्हें देती. मुझे एक फ़ाइल के चक्कर में ब्यावर जाना जरूरी था तो मैंने बस से जाना फाइनल किया. दर्द के मारे मेरा तो बुरा हाल हो चुका था। मेरी आँखों में अन्धेरा छा गया। ऐसा लग रहा था कि मैं होश में ही नहीं हूँ।काफी देर तक वो मेरे ऊपर ही लेटे रहे, बीच बीच में थोड़ी थोड़ी लंड अन्दर बाहर कर लेते.

फिर मैंने भाभी से पूछा- क्या ये सही में साधना भाभी ने कहा?तो भाभी ने कहा- हां सही में साधना भाभी ने ही कहा. उनकी चूचियों और भाभी के सेक्सी जिस्म को देख कर मैंने दरवाजे और दीवार को सान दिया था.

अभय ने चोदते हुए ही अपने हाथों की उंगली से एक तोले की सोने की अंगूठी निकाल कर मुझे दे दी.

तो दोस्तो, कैसी रही मेरी गंदी कहानी, मुझे जरूर बताएं, अगली स्टोरी में मैं आपको बताउंगी कि कैसे मेरे भाई ने मुझे विक्की के साथ गांड मरवाते हुए देख लिया था.

मैं बोली- देखो मेरे पास पैसे तो हैं नहीं, मगर जो थोड़े बहुत हैं वो भी तुमको दे दूंगी. ”छीईईई ईईई!”क्या छीईईई?”कितनी गन्दी बात बोलते हैं आप?”क्यों … चुदाई करना गन्दी बात है क्या?”पता नहीं?”वो मुस्कुराते हुए बोले- शर्माओ मत, खुल कर बात करो. इसलिए मुझे कुछ खास दिक्कत नहीं थी किसी गैर मर्द को मेरी बीवी की तरफ ऐसे ताड़ने में.

श्वेता दीदी- तुम्हें घर में क्या दिक्कत है?दीदी- कोई ने देख लिया … तब क्या होगा. जब सब लोग खेलने के लिए चले गये तो उसने रूम का दरवाजा बंद कर दिया और वो मुझे किस करने लगा. सोफा थोड़ा साइड में था। इसीलिए महेश को वहां पर बैठने में कोई झिझक नहीं हुई.

मेरी पिछली कहानी थी:सुबह सवेरे बीवी की मदमस्त चुदाईये पिछले साल की बात है, मेरी बेटी की छुट्टियां चल रही थीं, तो मेरी बीवी और बेटी मेरी साली के पास मुंबई चले गए.

वो मेरे सामने आ गया और मेरी गालों पर हाथ रख कर बोला- मेरी जान बंध्या, मेरे सामान को ऐसे मत घूरो, यह तुम्हारा है. ?सीमा- अभी तक मैं वो … क्या हूँ?मैंने आंख दबा कर कहा- सीलपैक!सीमा- हां. मासी चिल्ला दीं- उम्म्ह… अहह… हय… याह… मर गई!मैं जरा रुक गया और उनके मम्मों को चूसने लगा.

कुछ 10-15 मिनट हुए होंगे और जॉली ने रिया के मुँह में नौ इंच तक लौड़ा पेल दिया. मैंने कहा- मुझे थोड़ा टाइम चाहिए सोचने के लिए!उसने कहा- हां मुझे भी लगता है कि तुमको मेरे बारे में जानकारी होनी चाहिए. फिर मैंने धीरे धीरे गौर किया कि मेरे मकान मालिक मुझे छुप छुप कर देखा करते हैं.

वो किसी लड़के से कभी बात नहीं करती थी, पर आज वो डायरेक्ट किसी से मिल रही है, तो थोड़ा डरी हुई है.

मैंने कहा- रानी तू अपने मुंह वाली कतली मेरे मुंह में डाल दे … आधी तू खुद खा, आधी मेरे मुंह में डाल, अच्छे से चबाकर … तेरे मुंह के रस का स्वाद जब मिलेगा तो कतली में नशा आ जाएगा. उस समय तो मैंने उसका लंड पहली बार ही देखा था लेकिन आज तो मैं ये कह सकती हूँ कि मैंने इससे भी बड़े लंड लिए हैं.

हिंदी में सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी जब मेरे घर आने वालों ने उसके बारे में मुझसे पूछा, तो मैंने बता दिया कि वो मेरे साथ ऑफिस में काम करता है. वो बोले- पहले वादा करो कि मुझे श्वेता की चूत दिलावाओगी, किसी भी कीमत पर?मैंने कहा- हां, वादा करती हूं.

हिंदी में सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी अचानक परी मैम बेड पर सीधी होकर लेट गईं और कहने लगीं- जल्दी मेरी चुत में डाल दे. मैं- मादरचोद … तेरी माँ का भोसड़ा … चुप कर … भैन की लौड़ी … आह आह आह ऊईई आईई अअअअअ आह.

जब लंड गांड के अन्दर जाता और गांड की गर्मी लगती, तो मुझे काफी मज़ा आने लगता था.

जापान सेक्स वीडियो फिल्म

चुत का कुछ रस मेरे पेट में जा रहा था, तो कुछ लार के साथ नीचे बह रहा था. अब तक इस पर बहुत सी कहानी पढ़ कर मैं अपना लंड हिला कर मजा ले चुका हूं. करीब पांच मिनट की धीमी चुदाई के बाद मेरा खून तपने लगा तो मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी और उसके मुंह से गाली निकलने लगी- आह्ह … चोद दे मुझे साले … बना ले मुझे अपनी रंडी … ओह्ह … अम्मम … मां ….

कहानी पर कमेंट करके अपनी राय दें और मुझे मैसेज करने के लिए नीचे दिये गयी मेलआईडी पर मेल करें. मुझे समझ नहीं आया कि अभी तो वो मेरे लंड को खाने की नजरों से देख रही थीं और अचानक हमारी नजरें मिलते ही उनको इतना गुस्सा भी आ गया. उसने मेरी चड्डी को उतार लिया और मेरे लंड को अपने हाथ में लेकर उसको नापने लगी.

फिर महेश ने ज्योति के मुँह से लंड निकाला और उसके होंठों को चूमते हुए कहा- ज्योति मेरी जान, अब अपनी प्यारी चूत को चोदने दो.

दीपा के हलक तक जा रहा था और दीपा को सांस लेने में भी दिक्कत हो रही थी. फिर उन्होंने अपने घर फोन किया और अपनी मेड से अपने बेटे को लेकर बात करके उसे नानी के घर जाने को बोल दिया. इस बात को जानते हुए भी कि ऐसा करने से रिया के गदराये मम्मे उसके सीने से दब जाएंगे.

सभी पार्टी में मशगूल थे, तभी मामी मेरे पास आ गईं और मुस्कुराते हुए बोलीं- क्या हुआ जनाब ध्यान कहां है आपका?तभी मेरा ध्यान टूटा और पाया कि ये क्या … मामी तो कब की मेरे काफी पास आ गई हैं. मैंने अगले ही पल गप्प से उनका पूरा उरोज अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगा. मैं उसके बोबों को मसल रहा था और वो ऊपर नीचे होकर अपनी चुत से रगड़ कर मेरे लंड को सहला रही थी.

जब मैं वहां से गुजर रहा था तो मैंने देखा कि एक औरत अपने कमरे के बाहर झाड़ू लगा रही थी. मुझे लग रहा था कि भैया मेरे लंड को गर्म करके भाभी की चुत में मेरे लंड को मजा दिलवाएंगे.

फिर भाई को पता चल गया था कि मैं जाग रही हूँ और उनसे चूत चटवा रही हूँ. साथ साथ गालियां भी बके जा रही थी चुदास के नशे में चूर होकर- राजे माँ के लौड़े … कमीने भोसड़ी के अब चोद दे न राजा …कभी मेरा हाथ उठाकर अपने चूचे पर रखती- देख राजा कितना सख्त हो रहे हैं ये दोनों दुश्मन … क्या सोच रहा है कर इनका काम तमाम … साले तेरी माँ की चूत … देख बहनचोद तेरी चूत में कितना रस आ रहा है … देख राजे अब और तंग न कर … देख न तेरा लण्ड भी खड़ा है … बस अब घुसा दे यार!कहानी जारी रहेगी. जब भाभी रसोई में गई, तो पिंकी बोली कि अंकल आपके होंठ को क्या हो गया?मैंने बोला- हां … लगता है शायद किसी कीड़े ने काट लिया.

चूत में पापा का लंड पूरा घुस चुका था मेरे निप्पल पापा के मुंह में थे.

लगभग हर धक्के पर मैं कराह उठती थी, पर इतना मज़ा आ रहा था कि लिख कर बताना बहुत मुश्किल है. उसके बाद पंद्रह-बीस मिनट गुजरने के बाद एक लेडी डॉक्टर हमारे रूम पर आ पहुंची. रोहन- आह्ह्ह आह्ह तुम भी अपनी चूत को ज़ोर ज़ोर से रब करो ना मेरी जान.

वो आंख मारते हुए बोली- अच्छा जी ऐसा है क्या?मैंने स्माइल दी और बोला- हां रे …फिर मैं अंकल और आंटी जी से भी मिला. करीब पांच मिनट की चुदाई के बाद मेरी बीवी बोली- मेरा फिर से होने वाला है.

अब मनोज ने भी सोचा कि कहीं बात ना बिगड़ जाए तो उसने टीवी बंद कर दिया और दीपा को मन कर उठाने की कोशिश की. आज एक नया जवान लड़का सामने नंगा होते हुए देख कर चूत में खुजली होने लगी थी. अब वो भी मूड में आने लगी थी तो मैंने अपना पैग मुँह में लेकर उसकी गांड के छेद में लगा कर उसमें गांड को पिला दिया.

సెక్స్ ఇంగ్లీష్

मुझे कुछ शर्म आ रही थी और मैंने हाथों से बुर को छुपाने की कोशिश की पर उन्होंने मेरे हाथ को हटा दिया और मेरी चड्डी की इलास्टिक पकड़ के धीरे धीरे नीचे सरकाने लगे.

भाभी भी बीच बीच में उसकी चूचियां मसल रही थीं और उसकी एक चूची को चूस भी रही थीं. मैं भी उसकी इस बात से थोड़ा चौंक गया कि ये इसको क्या हो गया … आज ये ऐसे क्यों बात कर रहा है. उसने बाल्टी उलटी कर एक पैर उस पर रख दिया, तो मुझे चाटने के लिए अच्छा स्पेस मिल गया.

मेरा लंड खड़ा करने के बाद उसने मुझे नीचे कर दिया और वो मेरे ऊपर चढ़ गई. जैसा कि आपने मेरी पहली स्टोरीजिगोलो बनने की राहमें पढ़ा था कि कैसे मैं सारिका को मिला और हम दोनों में सेक्स शुरू हुआ. সানিলিওনের ট্রিপল এক্স ভিডিওप्रिन्स नीता की चूत के अंदर उंगली डालने लगा और अंदर बाहर करने लगा और बोला- भाभीजी, अब मुझसे रहा नहीं जाता.

यह कहानी असली है क्योंकि मैं भाभी को बहुत समय से जानती हूं और यह कहानी उनकी ही कहानी है. उसकी इस तरह की बातें सुनकर मेरा जोश और बढ़ गया और मैं सबा को सहलाते हुए चोदने लगा.

वो बोले जा रही थी- ये सब गलत है … ये पाप है, किसी को पता लगा … तो बदनामी हो जाएगी. वन्दना ने अपने दोनों हाथ अपनी चूत पर रख लिए।नीरू- ले अभी कम से कम ये तो पहन!नीरू ने उसे उसकी पैंटी देते हुए कहा।वन्दना ने हँसते हंसते पेंटी पहनी और ऊपर मेरी बनियान पहन ली।मैं- अच्छा, अब लंच का क्या प्रोग्राम है?नीरू- आप लंच आर्डर करो, तब तक मैं नहा लूं, सारा शरीर पसीने से भीगा हुआ है।मैं- नहाना तो मुझे भी है, वन्दना तुम लंच आर्डर करो तब तक मैं और नीरू नहा लेते हैं. मैं कितनी बार अपनी चूत का पानी उनके लंड पर निकाल चुकी थी, पता ही नहीं चला.

मेरी लाइफ के बारे में जानकर वो थोड़ा सा सेंटी हो गया और मुझे दिलासा देने के लिए मेरे हाथ को अपने हाथ में ले लिया और अपने कंधे पे मेरा सर रख दिया।मैं भी यही चाहती थी कि कोई मुझे इस तरह का सहारा दे। इधर उधर देखकर उसने भी मौके का फायदा उठाना शुरू किया, मेरे होंठ को किस किया, मैंने भी उसको करने दिया।पहली बार इतने कम उम्र के लड़के को मैंने किस किया था. वो बोला- क्यों, विक्की का तो बहुत अच्छे से चूसती हो?इस पर मैं कुछ नहीं बोली और उसका लंड मुँह में लेकर चूसने लगी. मेरा कद 5 फुट 5 इंच है, बदन गठीला, यौवन के रस से भरे हुए कसे स्तनों की मालकिन हूँ.

विवेक ने मेरे कंधे पर हाथ रख दिया और कहा- बंध्या, सच में तुम्हारे जीजा ने तुम्हारे बारे में जो भी बताया था सब सच है.

अबकी बार राहुल ने भाभी को अपना लंड चूसने को कहा तो भाभी ने राहुल का लंड का सुपाड़ा अपने मुंह में लिया और धीरे-धीरे चूसने लगी. जब से मैं आपसे बात करने लगा हूं तब से ही आपसे मुझे एक लगाव सा हो गया है.

थोड़ी देर में जैसे ही मेरा निकलने को हुआ, तो वो मेरे ऊपर लेट गयी और मेरे होंठों चूसते हुए चूतड़ हिलाने लगी. पांच मिनट के बाद ही ऐसा लगने कि अब पापा झगड़े के कगार पर पहुंच गये हैं. इसलिए तुम किसी गलतफहमी में ना रहना … और तुम मुझे आप आप कहना बंद करो.

इसलिए मैंने खुद को रोक रखा था क्योंकि मेरे पति के अंदर ही इतना सेक्स भरा हुआ था कि सारी इच्छाएं वो ही पूरी करने वाले थे. पर मैं कहां सुनने वाला था … मैंने उसके ऊपर 69 में आकर उसके मुँह में अपना लंड दे दिया, जिसे वो लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी. कई दिनों तक मैंने अपनी चूत और गांड की सिकाई की तब जाकर मुझे आराम मिलने लगा.

हिंदी में सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी बीवी की अदला बदली की मेरी सेक्स कहानी के पहले भागबीवी की बड़े लंड की चाहत-1में अब तब आपने पढ़ा कि कैसे मेरी बीवी होटल के कमरे में मेरे दोस्त के लंबे लन्ड से चुदी और अपनी मन की इच्छा पूर्ति की। यह तब सम्भव हुआ था जब मेरी पत्नी को प्राइवेसी देने के लिए मैं निक्कू (रॉकी की वाईफ) को लेकर घूमने निकल गया था. मैं उसकी गांड मारता रहा और धक्के पर धक्के लगाए जा रहा था और वह रोये जा रही थी.

बिल्ली से होने वाले रोग

दीपा के हलक तक जा रहा था और दीपा को सांस लेने में भी दिक्कत हो रही थी. चूंकि बेटे का पहला जन्मदिन था तो श्वेता ने जाते ही मुझे गले से लगा लिया. स्टेफी- हाई जीशान … प्लीज़ कम … वॉयलेट बताती है मुझे तुम्हारे बारे में.

आज सोचा कि क्यों न अपनी सेक्स कहानी भी अन्तर्वासना के पटल आप सभी के साथ साझा की जाए. अत: मेरी इसी कोशिश के चलते मैंने कई सारे लेख लिखे हैं जिनके माध्यम से मैंने आप लोगों को सेक्स ज्ञान बांटने के साथ ही मजा देने का भी भरसक प्रयत्न किया है. xxx सेक्सी वीडियो हिंदीदीदी ने जैसे ही अपने टांगों को थोड़ा फैलाया, तभी उनकी गुलाबी बुर दिखी.

कुछ देर बाद उसने खुद काल करके कहा कि मर मत … मैं आ रही हूं!मैं खुश हो गया.

दोस्तो, यह मनमोहक और शानदार चुदाई की कहानी मैं आप लोगों के साथ शेयर करने जा रहा हूं. बॉस ने मेरे मुँह में मुँह डाल कर अपनी कमर को तेज तेज चलाना शुरू कर दिया, जिससे गांड में भी जल्दी जल्दी लंड घुसने लगा.

अभय ने विवेक से कहा- इसको सहज करने के लिए हमें भी पहले सहज होना होगा. एक बार घर के बाहर खड़े हुए उसने मेरे ऊपर कमेंट किया और मैं शरमा कर अंदर आ गई. धीरे धीरे मैं भी मस्त होने लगी, बोलने लगी- अअअह आअह …सशसस बहुत मजा आ रहा है सर!सर ने मेरे निप्पलपकड़ के उमेठने शुरू कर दिए.

इन्हीं दूधों को देख कर उसके जीजा अपनी साली की चूत चुदाई की जिद पर अड़ गये थे, ये बात अब मुझे अच्छी तरह समझ आ गयी थी.

मेरा मन कर रहा था कि मैं सर को बोल दूँ कि मुझे जल्दी से पूरी नंगी करके अपने लंड मेरे मुँह में दे दो. इधर संजू ने फिर से अपने बाल सुखाए और बालों को संवार कर पॉवडर-क्रीम की और लिपस्टिक लगाई. और पूछ रहा था- भाभीजी, आप कंफर्टबल तो फील कर रही हैं ना? कैसा लग रहा है?नीता बोलती- हाँ अच्छा लग रहा है; मस्त फील हो रहा है.

हिंदी नंगी पिक्चरेंकुछ देर बाद मैंने फिर से लंड को सुपारे तक बाहर निकाला कर और लंड पर तेल गिरा कर एकदम से ही पूरा अन्दर पेल दिया. मेरी चूत जैसे फट गई और मेरे मुख से निकला ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ मुझे बहुत दर्द हुआ था एकदम.

नाते सलाम

बॉस बहुत जिद करने लगे, तो मैंने अपने और विनय के लिए भी गिलास ला दिया. मैंने सिसकारते हुए कहा- आह्ह मैम, निकालो मेरे लंड को बाहर, मेरा छूटने वाला है. ये दृश्य उसके लिए इतना कामुक था की अनजाने में ही उसका हाथ उसकी टांगों के बीच चला गया.

मुझे उस पर रहम तो आ रहा था लेकिन अगर मैं लंड को बाहर निकाल देता तो फिर दोबारा डालने में बहुत मुश्किल हो जाती. जब मैंने उसे छेड़ना नहीं छोड़ा, तो वो भी मेरा तगड़ा लंड हाथ में लेकर मसलने लगी. भाभी ने सब कुछ वही बताया जो मेरी पड़ोसन के भाभी के बारे में मैं जानता था.

मेरे दोस्त ने मुझे कॉल करके बोला कि आर्यन इस लड़के को 2-3 दिन अपने पास रख लो यार. शान्ति भाभी के मुँह से इतना सुनते ही दूसरी भाभी शर्मा कर बोली- मुझसे न हो पाएगा. इस गांड चुदाई स्टोरी में पढ़ें कि पिता ने अपनी बेटी की कामवासना जगा कर उसे चुदाई करवाने पर मजबूर कर दिया.

उनके बाहर निकलती हुए मोटी मोटी गांड, मोटे मोटे चुचे मुझे पागल कर देते हैं. फिर वो मेरे पास आने लगा और एकदम से मेरे करीब आकर उसने आगे की तरफ से मुझे अपनी बांहों में कस लिया.

मैंने ओके कहा और उससे चिपक गया मेरे लंड ने अंगड़ाई लेना शुरू कर दिया था.

वो झुक कर घड़े से पानी का लोटा भरने लगीं, गाँव की भाभी की मांसल और मोटी गांड देख कर मुझसे रहा नहीं गया. पंजाबी नंगा वीडियोबहुत मस्त मजा आ रहा है बहुत अच्छा लग रहा है।अभय बोला- बंध्या, तू गजब की लड़की है. सेक्सी गाना सुनाइएमाँ मेरी चूचियों को सहला रही थीं और शान मेरी नंगी माँ की गांड पर चमाट देते हुए मुझे धकापेल चोदने में लगा था. मुझे जब होश आया तो मैंने उसकी गांड से लंड को बाहर खींचा और देखा तो मेरे लंड पर खून लगा हुआ था.

मैं भी मज़े से चूत चाट रहा था।नित्या ने मचलते हुए अपनी पूरी टांगें पसार दीं और कहने लगी- प्लीज़ … चाट और जोर-जोर से चाट ना.

मेरी चूचियां बहुत मुलायम हैं, जिससे मुझे और उसे हम दोनों को ही बड़ा मजा आ रहा था. दोस्तों मेरे लिए भगवान से प्रार्थना कीजिएगा कि मेरा यह चुदाई का मिशन सफल हो जाए और मैं शिखा मामी को चोद सकूँ. दोस्तो, आपका स्वागत है मेरी रीयल सेक्स कहानी के दूसरे भाग में।कहानी के पहले भागजवान लड़की की सेक्स कहानी-1में आपने पढ़ा कि किस तरह मैंने पूजा और सुखविन्दर की चुदाई का कार्यक्रम बना दिया.

मैं सर की पूरी प्लानिंग समझ रही थी और मैं अंदर से बहुत खुश थी कि आज मुझे नया लंड मिल ही जाए शायद!फिर भी मैं दिखावा करती हुई बोली- सर आप ये मुझे कहाँ ले जा रहे हैं? ये कॉलेज का रास्ता नहीं है. मैंने ये सब दिमाग से निकाल कर ‘मुख्य’ काम पर ध्यान केन्द्रित किया। शायद यही इधर उधर की बातें जो दिमाग में आ रही थी, ये भी मुझे झड़ने से रोक पा रही थी. इस बात के बाद हमारी कुछ दिन बात नहीं हुई और मुझे लगा कि एक ही लड़की मिली थी, वो भी गयी.

कार गेम्स फ्री डाउनलोड

हाय दोस्तो, मैं निशा फिर से आपके लिए सेक्स का नया सफर करने को तैयार हूं. मैंने उसकी बनियान उतारी, तो उसके गोल खरबूज़ जैसे चूचे आज़ाद होकर फुदकने लगे. और साथ ही मेरी अगली कहानी को और ज्यादा उत्तेजक बनाने के लिए आप अपना सुझाव जरूर शेयर करें।अपनी अगली सैक्सी स्टोरी के साथ जल्द ही आपसे मुलाकात होगी.

उधर वो लंड के साथ खेलने में मस्त हो गई थीं … इधर मेरे बदन में जलन जैसी होने लगी थी.

करीब पांच मिनट की चुदाई के बाद मेरी बीवी बोली- मेरा फिर से होने वाला है.

मुझे ऐसा करते हुए 20 मिनट ही हुई थे कि घर का दरवाजा बजा, पर मुझे सुनाई नहीं दिया. सोनिया- क्यों नाइंसाफी कैसी?रोहन- मैं सिर्फ अपने अंडरवियर में हूं जबकि तुमने पूरी नाइटी पहनी हुई हैसोनिया- तो?रोहन- तुम भी अपनी नाइटी उतारो ना प्लीज. देवर भाभी सेकस विडियोमैंने उससे कहा- अरे यार इसमें शर्माना क्या … ये तो जानवर हैं, कहीं पर भी चालू हो जाते हैं … इसके लिए क्या कर सकते हैं.

विक्की- हां तुमने कभी अच्छे से दिखाए ही नहीं हैं … तो मुझे साइज़ का कैसे पता चलेगा. यशिमा मेरे सीने पर सर रख कर बोली- राज मैं तुम्हारी अहसानमन्द हूँ यार … तुमने मुझे संतुष्ट कर दिया. रोहित आया और बेड के नीचे ही खड़े अवस्था में लेटी हुई संजू के चेहरे को अपनी तरफ घुमा कर लंड सामने कर दिया.

मैंने देखा कि यह लड़का राहुल था और अब ये रीमा का ब्वॉयफ्रेंड बन गया था. पर आपका लंड है कि हथेली में समाता ही नहीं है। सोनू का लंड मेरी चूत को छूने से पहले झर जाता है और आपका लंड जब तक मेरी चूत को जब तक मसल नहीं देता तब तक छोड़ता ही नहीं है।इतना कहने के साथ ही साथ दो-तीन बार उसने मेरे लंड को चूमा और सुपारे पर अपनी जीभ चलाने लगी.

आज भी हम मिलते हैं तो उसके बोबों को मसलने में अत्यंत ही आनन्द आता है.

मैं आंटी की चूत को बहुत पसंद करता हूँ लेकिन मुझे अब बहुत दिन से किसी आंटी की चूत नहीं मिली है. अब जब भी मैं चाची के पास जाता तो था … पर मेरे देखने का नजरिया बदल गया था. जैसे ही उसकी वासना की चिंगारी सुलगती है वह निहायत ही बेशर्म बन जाती है.

भोजपुरी चुदाई वीडियो सेक्सी पर मैं तो वासना से इतना गर्म हो गया था कि मेरा लाल चेहरा ही उन्हें दिखा।उनकी आँखों में देखते हुए ही मैंने उनका हाथ पकड़ के अपने पूरे लंड पर रख दिया।उनके हाथों के स्पर्श से मेरी आँखें बंद हो गयी. चाची ने कहा- दीपू ऐसा नहीं है, मैं सिर्फ तुम्हारे चाचा से ही प्यार करती हूं और उनके अलावा मैंने किसी की तरफ नहीं देखा.

मेरी उम्र 36, मेरा शरीर सामान्य काठी का है, 5-10 लम्बाई, गोरा रंग, मुस्कुराता शालीन व्यवहार सभी को मेरे प्रति आकर्षित करता है. अगर आप नहीं सोच पा रहे हैं तो बता ही देता हूं कि जो ब्रा और पैंटी हमारी बीवियों ने पहनी हुई थी वो पानी में भीगने के कारण उनके चूचों और चूतड़ों से एकदम जैसे चिपक ही गई थी. जब मेरी सारी बात खत्म हो गई तो वहां से आवाज आई कि मैं आशीष नहीं उसके चाचा का लड़का विजय हूं.

10 साल की लड़की की

वो अपने शहर से नीता के लिए एक खूबसूरत गिफ्ट और एक डिब्बा मिठाई भी लाया था. इतने में हनी ने मुझको गले से लगा लिया और अपने प्यार का इजहार करने लगा. लंड चूसते चूसते मैंने अपनी आंखें ऊपर की ओर शान की तरफ देखा, तो वो अपनी आंखें बंद करके लंड चुसाई का मजा ले रहा था.

तभी नेहा ने फिर आगे बोला- विराट तो है ऊपर … उसी से चूत शांत कर ले न. मेरे पति तो चुत को चाटना तो दूर की बात है, उन्होंने तो आज तक मेरी चुत को ढंग से छुआ भी नहीं है.

काफी देर तक होंठों को चूसने के बाद उसने अपना लंड मेरी चूत में डाल दिया.

मुझे नहीं पता था फोन पर बात करके भी झड़ने में भी इतना ज्यादा मजा आ सकता है. इस कहानी के कई भाग होंगे जो आपकी मेल से मिलने वाले प्रोत्साहन से मैं और भी रसीले अन्दाज में पेश करने की कोशिश करूंगी. मैं जानती थी कि अब अगर वह अपना लंड अब मेरी चूत पर रख भी देंगे तो वह सीधा अंदर चला जाएगा.

मैंने अपनी किताब एक तरफ रख दी और हम दोनों करीब 1 घंटा बातें करते रहे. उसने अपना लंड मेरे मुँह में घुसा कर मेरे हलक में पिचकारी मारी और लंड चांप दिया. ऐसा नहीं था कि मेरे पास उनके अलावा कोई और महिला मित्र नहीं थी लेकिन कई बार कुछ ऐसा दिख जाता था कि मुठ मारनी ही पड़ती थी.

दोनों ने तौलिया हटा कर मेरी चूत को चूम लिया और दुबारा जल्दी ही मिलने को बोला.

हिंदी में सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी: भाभी की इस बार चीख निकल गई क्योंकि अबकी बार तो बहुत तेज तेज धक्के लगा रहा था वह. उसने अपने होंठों पर हल्की लिपस्टिक लगाई हुई थी और उसने जो दुपट्टा पहना हुआ था, वह उसके सेक्सी कर्व्स को छुपाने की नाकाम कोशिश कर रहा था.

केवल अपने बच्चों की चिंता में रही वो पूरे जीवन भर।मैंने सोचा कि ज्यादा हाथ-पांव मारने से कोई फायदा नहीं। ये औरत उस तरह की नहीं है। फिर मैंने कोशिश ही करनी बंद कर दी।वो पंद्रह अगस्त का दिन था और मैं छुट्टी वाले दिन आराम से सो रहा था. हालाँकि पूल ज्यादा बड़ा नहीं था पर इतनी दूरी हो गयी थी कि पड़ोसी जोड़े को ज्यादा उलझन न हो. मैं- ठीक है, मैं उसे बुलाऊंगी और जैसा पहले विक्की और राहुल के साथ किया था … इस बार भी हम वैसे ही करेंगे.

मैंने उसे बहुत समझाया और मौसी से बात कराने की बात कही।बड़ी ना नुकर के बाद उसने कॉल उठाया और अपनी मौसी को फोन पकड़ा दिया।फिर क्या था, हमारे बीच की जो दूरियां थी मानो कम हो गयी हों। अब अमृता को भी सारा खेल समझने में देर नहीं लगी और वो उसकी चुदक्कड़ मौसी के नये रंग देखने लगी.

मैं तो सोच में पड़ गया कि ये वही सीधी सादी औरत है या उसकी कोई हमशक्ल? उसको ऐसे रूप में देखने के बारे में मैंने कभी सोचा भी नहीं था. फिर उसने मेरे लंड के टोपे को खोल कर पीछे खींच दिया और अपने मुंह में भर कर चूसने लगी. हम दोनों मन बना चुके थे कि पूल खाली होने के बाद खुल कर मस्ती करेंगे.