बीएफ भेजो हिंदी में सेक्सी

छवि स्रोत,सेक्सी बीएफ वीडियो चाहिए सेक्सी बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

वेरी सेक्सी वीडियो: बीएफ भेजो हिंदी में सेक्सी, वो चूचों पर मेरा हाथ पाते ही उछल पड़ी और कामुक आवाज़ निकालने लगी- आह ईयाह.

हिंदी कव्वाली बीएफ

”मेरे कहने पर वो मान गई और मुझे उसकी पैन्टी उतारते हुए प्यार से देखने लगी. घोड़ा लड़की की सेक्सी बीएफकाजल ने सुरेश से मुस्कुराते हुए पूछा- भैया?सुरेश- हाँ…काजल ने अपने मम्मों को लगभग सुरेश के सीने से टच करते हुए कहा- मसाज़ में मजा आ रहा है कि नहीं?सुरेश- हाँ.

जांच के बाद पता चला कि उसकी लड़की के पेट में अपेंडिस था, मैंने रागिनी को बताया कि ऑपरेट करना पड़ेगा. बीएफ सेक्सी साउथ मूवीपर आखिर में थक कर बोलीं- बेटा राजेश क्या बात है? आज मूड नहीं है क्या?मैंने कहा कि मौसी आज किसी टाईट बुर वाली को चोदने का बहुत मन कर रहा है.

उसने मुझसे भी फ्रेश होने को कहा और मैं भी बाथरूम से फ्रेश हो कर बैठ गया.बीएफ भेजो हिंदी में सेक्सी: मैंने अपने लंड पर अब थोड़ा सा सरसों का तेल लगा लिया था, जो मनोज ने इस बार पास ही रख दिया था.

तो मैंने देखा भाभी नंगी सोई हुई थी और ये चीखना सिर्फ़ मुझे धोखे से कमरे के अन्दर बुलाने की एक चाल थी.पर अंजना रुकी नहीं, उसे अपने हाथ में एक हैवी लन्ड महसूस हो रहा था- तुम मेरे मम्मों से खेलो, मैं तुम्हारे लन्ड से!इतना कह कर उसने अपने गर्म गर्म होंठ राहुल के होंठों पे रख दिए और चूसने लग गई.

बाप बेटी के बीएफ वीडियो में - बीएफ भेजो हिंदी में सेक्सी

करके अपनी कमर को उचका रही थी।हम दोनों का ही वक़्त करीब आ चुका था और हम दोनों ही अपनी पूरी ताक़त से एक दूसरे को चोद रहे थे। मैं ऊपर से और ममता जी नीचे से धक्के लगा कर मज़े ले रही थी। हम दोनों की ही सांसें उखड़ गयी थी और पसीने से बदन भीग गये थे.वह पीछे आकर मेरे सामने वाली सीट पर बैठ गए, जिससे मेरे पैर चाचाजी के पैर से टच हो रहे थे, शायद वो जानबूझ कर मेरे पैर को अपने पैर से सहला रहे थे.

संजय- क्या बात है आज पहली बार तेरे मुँह से चुदाई के बजाए पढ़ाई शब्द सुन रहा हूँ. बीएफ भेजो हिंदी में सेक्सी अर्पिता की चूत एकदम साफ़ थी जैसे उसके एक-दो घंटे पहले ही बाल साफ किये हों!मैंने दो उंगली चूत में डाल के फिंगरिंग करनी शुरू कर दी.

अब मेरी गांड फटने लगी कि कहीं ये अपने पति को मेरी शिकायत ना कर दें क्योंकि भाभी पहले से जानती थीं कि मैं उन को लाइन मारता हूँ.

बीएफ भेजो हिंदी में सेक्सी?

फिर 15 मिनट बाद उन्होंने मुझे छत पर चलने को बोला, वहाँ काफ़ी कम जगह थी. ये देख कर मनोज बोला- ओह, तो आपकी साली की चूत को चोदने मैं आ जाता हूँ. एक हिन्दी ब्लू फिल्म देखते हुए मैंने अपनी पत्नी से कहा- जानू, एक बार मैं तुम्हारे साथ हिन्दी में सेक्स यानि चुदाई करना चाहता हूँ.

मैंने अपनी ज़बान अन्दर डाली और वो मेरे चेहरे पर धक्के मार रही थी- ठीक से चाट साले और अन्दर ज़ुबान डाल… पूरा चूस पी कमीने… बीवी का जूस बहुत पिया है ना, आज इस रंडी का जूस पी ले…उसकी चूत से जूस बह रहा था. नेहा के चूतड़ों पे मैंने एक चपत लगाई और पूछा- कैसा लग रहा है साली!वो बोली- उई जीजू. एक दिन उसने चुदते हुए मुझसे एक बात पूछी- क्या तुम मुझे चोदकर बोर नहीं हुए?यानि?” मैंने पूछा.

मैंने उसके दोनों चूतड़ों पर हल्के दांतों से काटा और हल्के हाथ चपत लगाई. अब उसका विरोध भी ढीला पड़ता गया और वो मुझे गन्दी गन्दी गालियां देते हुए आत्मसमर्पण कर गई. अब मैं अपनी जांघ उसकी जांघ से रगड़ने लगा, तो वो भी धीरे-धीरे रगड़ने लगी.

उस औरत की नाभि में उंगली डालते हुए वो बोला- मोहल्ला तो अच्छा है लेकिन लोग हरामी हैं. गई…ये कहते ही मेरे लौड़े ने अपनी धार सोनिया की चूत के अन्दर छोड़ दी और मेरे लंड की गर्म धार का स्पर्श पाकर सोनिया की चूत ने भी फव्वारा छोड़ दिया.

मेरे एग्जाम हो चुके थे, मैं दिल्ली में एडमिशन के लिए दिल्ली आना चाहती थी तो सलमा ने मुझसे कहा कि वो भी दिल्ली में अपनी बहन के यहां गर्मी की छुट्टियां बिताना चाहती है.

मैंने उस की पेंटी उतार कर उसको पूरी नंगी किया तो उसका बदन देख कर मेरे तो होश उड़ गए.

पिछले महीने भी यही हुआ, उसके स्कूल में छुट्टियां हुई और सभी लड़कियाँ अपने अपने घर चली गई लेकिन वो अपने घर ना जा कर जयपुर के लिए निकल गई अपने बॉयफ्रेंड के साथ मौज मस्ती करने!जब वो बस से जयपुर जा रही थी तब भी उसकी चूत चुदाई के लिए मचल रही थी, पानी बहा रही थी, वो चाह रही थी कि उसकी चुदाई अभी शुरू हो जाए. मैंने तुरंत अपना अंडरवियर निकाल कर अपना लंड आंटी की चुत की फांकों पर रखा और एक ही झटके में अन्दर पेल दिया. फिर मैंने उसके गले के ऊपर आ गया, वो भी बहुत गरम होने लगी थी और ‘उम्म्म… अम्म्ह उउम्म हाह…’ करने लगी.

मैं जब भी पूछता, तो वो कहतीं- तुम्हारे साथ जब मैं सेक्स करूँगी, तो तुम्हें खुद ही जवाब मिल जाएगा. जीजू मुझे बहुत प्यार करते हैं और जब भी आते हैं, मेरे लिए कुछ न कुछ लेकर आते हैं. मैं बोली- रूको, मैं बेडरूम का दरवाजा बंद करना भूल गई हूँ अभी बंद करके आती हूँ.

पर एक दिन जब बच्चों की परीक्षा चल रही थी तो मैं उसके पास पेपर लेने गया.

आरुषि की चूत लन्ड की गर्मी से पिघलती जा रही थी, उसके बदन फिर गर्म हो रहा था, दर्द और शर्म की जगह काम सुख ने ली- आह… पापा बड़ा… मजा आ रहा है… ऐसे ही… आह… मुझे आपका लन्ड चाहिए… आह…दिनेश- देख आया न मजा… ऐसे ही नाटक कर रही थी. अंकल मुझे उन लड़कों में से कोई भी पसंद नहीं, वैसे उन लड़कों के साथ यह करने का मन कैसे हो? उन गुंडे मवालियों से क्या मुँह लगना? हाँ भीड़ का फायदा ले कर लड़के कभी कभी मेरा जिस्म सहलाते हैं, मेरा सीना और पिछवाड़ा दबाते हैं और पिछवाड़े पे रगड़ते हैं… बस उतना ही लड़कों से संबंध हुआ है और कुछ नहीं. लेकिन हम आखिर हैं तो भाई बहन, इसलिए मैंने अपने आप पे कंट्रोल कर लिया.

मेरे दोनों हाथ अंजलि के चुचों पर थे और मेरा मुँह अंजलि की गर्दन पर टिका था. बस लंड हिलाने का मजा लें और चुदाई की कहानी अच्छी लगी हो तो जल्दी से मेल करें. मैं उठा और नेहा को अच्छे से बिस्तर पर चित्त लेटाया, ताकि उसे दर्द भी कम हो और लंड डालते वक़्त वो हिल भी न सके; फिर मैंने उसकी दोनों टांगें अलग-अलग की और उसके दोनों बांहों को पकड़ कर अपने दोनों हाथों से दबा लिया और अपने लंड को उसकी चूत से बार बार टच कर रहा था, ताकि वो उतावली हो जाए.

अभी तक आपने पढ़ा कि रूपा को एक युवक बस में मिला, दोनों की आपस में सेटिंग हुई और रूपा उस युवक से चुद गई.

काश वो रस आप मुझे पिला देते, तो मज़ा आ जाता मगर जो भी हुआ अब आपको उसके आगे लेकर आऊंगी. आज दिखा दीजिये कि आपके लंड में कितना दम है?फिर ससुर जी मम्मी की चूचियों को मसलने लगे और बोले- समधन जी, अगर आपको गर्भवती न बना दिया तो कहना.

बीएफ भेजो हिंदी में सेक्सी और माँ रोते हुए बोलीं- बच्चे, पागल और पशु से नहीं शर्माना चाहिए बेटी माया. जोशना ने मुझे खींच के अपने सामने खड़ा कर लिया और खुद सोफा पे बैठ गई.

बीएफ भेजो हिंदी में सेक्सी मनोज का लौड़ा भी अब जवाब दे चुका था और फिर कुछ ही देर के बाद उसने अपना लंड नेहा की चूत से बाहर निकाल लिया और उसने सीधी पिचकारी नेहा के मम्मों पर मार दी. दोस्तो, मेरा नाम अमित शर्मा है, मैं जयपुर राजस्थान का रहने वाला हूँ.

खैर, वो उठकर दोबारा रसोई में गया और एक बड़ी सी थाली लेकर वापस आ गया.

मोती वाली बीएफ

पिछली बार प्रकाशित कहानीसोचा ना थाके बाद मुझे मिले एक नये दोस्त के साथ बिताये उन हसीन पलों को आप के साथ साझा करने के लिए मैं अपनी नई कहानी आप के लिए लेकर आया हूं. अर्पिता की चूत एकदम साफ़ थी जैसे उसके एक-दो घंटे पहले ही बाल साफ किये हों!मैंने दो उंगली चूत में डाल के फिंगरिंग करनी शुरू कर दी. कुछ देर वो ऐसे ही पड़े रहे, उसके बाद उन्होंने गांड मारनी शुरू की और दे दनादन पेलते रहे.

चूंकि मामा की दुकान है इसलिए वे सुबह से शाम तक दुकान पर ही रहते थे. इसलिए मैंने दूर रहने वाले अपने कॉलेज के दो पक्के दोस्तों दीपक और रामकुमार को राजी कर मामी के साथ फुल नाइट मस्ती का पूरा प्लान तैयार किया. ओह गॉड राजू… अभी तक गीला बैठा है?”वो मेरे सामने खड़ी होकर मेरा सर सुखाने लगी और मेरे तम्बू को देख रही थी।मैंने उसकी बाथरॉब की बेल्ट खोल दी, वो अंदर नंगी थी.

कुछ देर बाद चाचाजी ने मेरे कान में धीरे से कहा- मेरी जान चूसोगी नहीं इसे??मैं- नहीं नहीं…चाचाजी- क्यों? तुम्हें अच्छा नहीं लगा?मैं- मैंने कभी ऐसा नहीं किया.

उधर यह अहसास मेरी वाइफ को भी हो गया कि हम दोनों अंदर आ गए हैं तो उसका जिस्म अकड़ सा गया, तेज़ तेज़ साँसों से उसके वक्ष के उभार ज़ोर ज़ोर से ऊपर नीचे होने लगे, पसीना भी चमकने लगा. अफसर हैं जो इस समय उत्तराखंड के एक जिले की जिलाधिकारी हैं और मेरे भैया विदेश में रह कर पढ़ाई कर रहे हैं, इस वजह से आगरा में मैं, पापा और भाभी ही रहते हैं और जब कभी पापा को बिजनेस के सिलसिले में आगरा या देश से बाहर जाना होता है तो केवल मैं और भाभी ही घर पर रह जाती हैं।मैं इस साल आगरा कॉलेज से बी. इनमें से मुझे कुछ हिंदी सेक्स स्टोरीज तो बहुत ही हॉट लगीं, जिनको पढ़ कर मुझे कई कई बार मुठ मारनी पड़ी.

मैंने एक बार कैंप की ओर देखा। रात के तीन बज रहे होंगे। सब सो रहे थे। किसे पता था कि अंधेरे जंगल में आग लगी हुई है।तभी मैंने महसूस किया कि सलोनी मेरे बालों में हाथ फिरा रही है. उसने काजल की गांड को बड़े प्यार से छुआ और उसकी पैंटी को भी नीचे सरका दिया. जब मैंने फ़ोन उठाया तो जीजू ने कहा- रोमा, क्या कर रही हो? क्या तुम अपने घर की छत पर आ सकती हो?मैंने उनसे पूछा- क्यों जीजू, क्या हुआ? आप मुझे इतनी रात में छत पर बुला रहे हो, सब ठीक तो है ना?उन्होंने कहा- रोमा, सब ठीक है, तुम छत पर आओ तुम्हारी बहुत याद आ रही है.

वो उठी और मेरी तरफ अपनी मोटी सी गांड करके कुतिया वाले आसन में बैठ गयी। एक आदमी पीछे से आया और अपना थूक से भीगा हुआ लंड उसकी चूत में डाल दिया।दूसरी औरत भी उठी और उसके साथ ही उसी आसन मैं बैठ गयी और दूसरे आदमी ने अपना मोटा काला लंड उसकी गांड में पेल दिया। दोनों ने एक दूसरे को देखा और ऊपर हाथ करके हाई फाइव किया और एक आदमी दूसरे से बोला- यार, तू सही कह रहा था. पर एक दिन दोपहर लंच के बाद मामी को मेरा लंड चूसते हुए अचानक मामी की बेटी अर्चना ने हम लोगों को रंगे हाथ पकड़ लिया था.

दीदी ने बोला- सागर एक तो तेरा लंड ही इतना बड़ा है कि मेरी चुत में अभी दर्द हो रहा है और तू मेरी गांड में भी घुसाना चाहता है. मैं आराम से हुक लगाने की कोशिश कर रहा था, पर दरअसल मैं हुक लगा नहीं रहा था. मेरा लंड फिर खड़ा होने लगा, ये देखकर वो आँख मारते हुए बोली कि अब इसे अगली बार तक के लिए काबू में रखो और हम दोनों हंसने लगे.

शीतल को लंड के सख्त होने का अहसास हुआ तो वो मेरे ऊपर आ गई और उसने अपनी चूत में मेरे सख्त लंड को गटक लिया.

मुझे तुम्हारा शरमाना बहुत अच्छा लगता है, पर क्या सारी रात ऐसे ही गुजारना है या कुछ करना भी है?उस की इस बात से मेरी हिम्मत बढ़ गई मैंने दरवाजा बंद किया और शीतल को अपनी बांहों में भर लिया. मैंने उसकी आँखों में हैरत से झांका तो उसने कहा- तुम्हारा मुझको देख कर मुठ मारना मुझे अपने लिए कॉंप्लिमेंट सा लगा और मैं इस तरह से धन्यवाद कहना चाहती हूँ. सुरैया भाभी बोली कि तुम्हारे दोस्त जुनैद ने ये तुमसे वादा कराया है कि तुम अपनी सुरैया भाभी का ख्याल रखना, तो तुम्हें ये करना ही होगा.

गुड़िया ननद की शादी के बाद जब आप उस रात छत पर उस एकान्त कमरे में अकेले सो रहे थे और मैं आपके पास आपको अपना पति समझ के पूरे कपड़े उतार कर पूरी नंगी होकर आपके पास लेट गयी थी और आपको सम्भोग करने के लिए मना रही थी, उकसा रही थी. अर्चना आनन्द के उन्माद में एक हाथ में मामी के चुचे और दूसरे हाथ में तकिया भींच रही थी.

अब तक लंड चुसाई का मजा लेता हुआ उस्मान भी ज्यादा टिक ना सका और उसके लौड़े ने लावा उगल दिया. मैंने जिस कोचिंग सेंटर को ज्वाइन किया था, ये कहानी वहीं से शुरू होती है. ’मैं भाभी को अपनी तरफ़ घुमा कर सीधा किया और उनको दीवार से सटा कर उन के होंठ को चूसने लगा.

फिल्म स्टार बीएफ

उसने मेरे सर को टांगों में जकड़ लिया और जीवन में पहली बार चरम आनन्द को पाकर चीख चीख कर झड़ने लगी.

उसने एकदम से पीछे हटना चाहा, तो रीतिका ने उसे आगे को धक्का दे दिया. मैं- क्यों? क्या हो गया?आयशा मुस्कुराते हुए बोली- वो दूध भर गया है ना. मैं अभी तक झाड़ा नहीं था, मैंने उनके मुँह में अपना लंड डाल दिया और आंटी पूरे मज़े से लंड चूसने लगी.

फिर उन्होंने काफी कोशिश की लेकिन मम्मी ने मुँह में नहीं लिया तो शमशेर बोला- चलो साली की चुदाई करते हैं. रिया ने मेरा हाथ अपने हाथ में लिया और कहा- जान, मजा आ गया यार! आज तो हम दोनों बाजारू औरतों से भी कुछ ज्यादा ही इस्तेमाल हो रही हैं. सुरजापुरी सेक्सी बीएफविक्की ने उसकी नाईटी को निकाल दिया, अब वो सिर्फ़ ब्रा पेंटी में रह गई थी.

मैं मौसी को देखता ही रह गया, वो सिर्फ ब्रा और पेंटी में ही थीं और मेरी तरफ़ किसी छिनाल की तरह देख रही थीं. तुम ऐसे क्यों बोल रही हो?सुमन ने शुरू से आख़िर तक की सारी बात टीना को बता दी, जिसे सुनकर उसके होश उड़ गए.

अगले दिन कम्पनी आकर मैंने फोन किया और अंजलि को बोला कि चूत कब दोगी?वह बोली कि सही समय आने पर दे दूंगी. तुम्हारा दिमाग़ जगह पर है भी कि नहीं?मैं बोली- पहले पूरी बात तो सुन लो. फिर वो झुक कर मेरी गांड के छेद के ऊपर जीभ फेरने लगा और कहा- बेबी, यहाँ पर दर्द हो रहा है.

वो यह तो न देख पाई कि वो क्या कर रहा था पर कच्छे का बड़ा सा उभार देख कर समझ गयी कि राहुल मुठ मार रहा था. कहानी का पहला भाग:मेरी जयपुर वाली मौसी की ज़बरदस्त चुदाई-1कहानी का दूसरा भाग:मेरी जयपुर वाली मौसी की ज़बरदस्त चुदाई-2अभी तक आपने पढ़ा कि मैं मौसी के घर आया हुआ था, मौसी का सेक्सी बदन देख मेरी नियत डोल गयी और किस्मत से मौसी भी मान गयी थी. उसने घर पहुँच कर चेंज किया और फिर एक गाउन में आ गई जिसमें गौर से देखने पर उसके ब्रा और पैंटी के दर्शन हो जाते.

अब मेरी जान को नंगी करो और उसके सामने सब भी नंगे हो जाओ, फिर मुझे दिखाओ कौन बरखा का सबसे बड़ा आशिक है.

अगले ही पल मेरी दो उंगलियां उसकी चुत में चली गईं और अंगूठा उसकी गांड में चला गया. फिर उसने पूछा- तुम क्या लोगे?मैंने डबल मीनिंग में बोला- तुम क्या दोगी?वो भी समझ गई और बोली- जो तुम्हें लेना हैं.

अंजलि ने कहा कि आज ‘जी सा आ गया…’ दोस्तो हरियाणवी में ‘जी सा आ गया. क्या होगा… ये सोच कर सारी रात जाग जाग कर गुजारी, नींद आने का नाम ही नहीं ले रही थी. ” मैंने कह दिया।उसके बाद जो हुआ उसने मेरे मन में उसके आंटी के सम्मान की छवि को खत्म कर दिया। वो मादरचोद रंडी साली कुछ और चाहती थी। उसने अपनी चूत मेरे मुँह पर लगा दी.

उसके उन्नत मम्मों के ऊपर भूरे दाने, किसी पहाड़ की चोटी की तरह खड़े अपने फतह किए जाने का इंतजार कर रहे थे. उसकी आँखों से आँसू बहने लगे, सर चकराने लगा मगर उसने हिम्मत नहीं हारी. वाइफ नाइटी में थी, मैंने उस पे लेटते हुए उसे अपने आलिंगन में लिया और चेहरे पे चुम्बन लेने लगा.

बीएफ भेजो हिंदी में सेक्सी मुझे लगा ये रोक रही है, पर ये क्या वो खुद ही अपने हाथों से मेरे हाथ पकड़ कर अपनी समीज़ निकाल रही थी. काजल अपने कमरे से बाहर आई और अपने भाइयों के लिए ग्लास में पानी ले आई.

इंडियन जंगल बीएफ

मैं अंदर की और लपका, टूटी खिड़की से जैसे ही मैंने अंदर झांका, मैं सन्न रह गया. घोड़ी बनी रीना के नीचे से निकल कर उसका पेट चूमने चाटने के बाद मैं अब नीचे टांगों में आ गया. मैं उसकी दोनों टांगों के बीच में जा कर बैठ गया और झट से उसकी चूत को चूम लिया.

अब मैं लंड को पूरा अन्दर ले गया और फिर लंड को अन्दर बाहर करता रहा, जिससे समीर को बहुत मजा आ रहा था. वो मेरे पास आई और लंड को हाथ से पकड़ कर मेरे होंठों में होंठ डाल दिए. कॉलेज बीएफ मूवीजो कि जींस के साईड में एक मोटी रॉड की तरह सख्त हो चुका था और काफ़ी मोटा और लम्बा लग रहा था.

आराम से करो न!फिर मैंने उसे बिठाया और उसके वन पीस की चैन खोलनी शुरू कर दी.

अजय के जाने की देर ही थी कि बस जोशना ने मेरा कॉलर पकड़ा और ऐसे किस करने लगी जैसे इसके अलावा उसे कुछ दिख ही नहीं रहा. शुरू में उसको दर्द हुआ फिर जब उंगली चुत में एड्जस्ट हो गई तो उसको मजा आने लगा.

मैंने अपने दोनों हाथ उनके कंधे के पास बेड पर टिकाए और इस बार मैंने पूरी ताकत से जोरदार धक्का मारा तो मेरा पूरा लंड उनकी गांड को चीरते हुए अन्दर समा गया. तो देखा रूम पूरी तरह से सजाया हुआ था और बेड भी फूलों से सज़ाया हुआ था. मैंने उस के एक निप्पल को अपने दांतों से हल्का सा काट दिया, जिस से एक तेज सिसकारी उस के मुँह से निकल गई- अह्हह्हह्ह… अभि माय बेबी… मुझे बहुत ही मजा आ रहा है क्या सब यूं ही खा जाओगे?फिर वो मेरे ऊपर आ गई और मेरे सीने पर किस करने लगी.

जहाँ पर मैं उसके होंठों पर बहुत देर तक किस करता रहता और उसे भी मजा आता.

मेरा काम करेगा?मैं अभी कुछ समझ पाता कि उन्होंने मुझे किस करना शुरू कर दिया. अब उस से रहा नहीं गया और उसने मुझे दबाते हुए नीचे बिठा दिया और मेरा मुँह अपनी जींस के ऊपर से ही ज़ोर से दबा दिया. झाड़ी के पीछे कॉलेज के बहाने निकला हुआ एक लड़का तथा स्कूल ड्रेस पहने एक लड़की आलिंगनबद्ध थे.

हिंदी वीडियो बीएफ ब्लू पिक्चरहम दोनों ने एक वेटर को पास बुलाया और गटागट दो ड्रिंक्स अपने अंदर डाल लिए. मैं देख रहा था कि अब मम्मी रबर की गुड़िया की तरह उनके इशारों पर कर रही थीं, जैसे वो चाह कर रहे थे.

जापानी एक्स एक्स एक्स बीएफ

मैं देख रहा था कि अब मम्मी रबर की गुड़िया की तरह उनके इशारों पर कर रही थीं, जैसे वो चाह कर रहे थे. मैं बाथरूम चली गयी पिचकारी को लेकर… कमोड पर बैठ कर भी कोशिश करने लगी पर पिचकारी सीधी नहीं हो पा रही थी. उसने थाली चारपाई पर रखी और हुक्के को हटाकर साइड में रखा स्टूल उठाकर दोनों चारपाई के बीच में रख दिया.

तो उसने मेरा लंड मुंह में ले कर चूसना शुरू कर दिया।हाय… मैं तो मानो सातवें आसमान पर था। मेरी सिसकारियां निकलने लगी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… चूस यार कनिका… मजा आ रहा है. मैं भी थोड़े धक्के और लगाने के बाद चरम पर पहुँच गया और पूरा वीर्य उसकी चूत में निकाल दिया. मैं माजरा समझ गया और उन लोगों को मालूम नहीं होने दिया कि मैं आ गया हूँ.

मगर मैं कैसे उसको बोलती कि मेरी चूत में डालो और मेरी ये इच्छा दीपक ने पूरी कर दी. वो बोला- तुम्हें ये चोट कैसे लगी दीदी?मैंने कहा- बाथरूम में साबुन पे फिसल गई और नल के पे जा गिरी, नलका मेरी टांगों के बीच में चिर कर अन्दर तक जा लगा. सुमन- आह… आह… पापा एमेम मेरी जान निकल रही है ओफ्फ… एयेए…गुलशन जी ने सुमन को बहलाया कि वो आराम से करेंगे.

और आप यहाँ कैसे?तो वो बोलीं- यार आज मैंने एक बहुत ही ख़राब सपना देखा और मैं बहुत डर गई हूँ, इसीलिए यहाँ तुम्हारे पास सो गई. मैंने बोला कि ये सब क्या है?तो महेश हंसने लगा और उसके साथ सभी हंसने लगे और मैं डर गई.

पायल की आज नाईट शिफ्ट है तो वो हॉस्पिटल चली गई है मुझे तुम्हें देखना है, तुम छत पर आओ.

अब येबेटी की सहेली पापा के साथ अकेली… क्या होगा यहाँ? चुदाई होगी भी या नहीं… अगर होगी तो कैसी होगी? ये आप लोग अगले पार्ट में खुद देख लेना. हिंदी चुदाई बीएफ देसीमौसी धीरे धीरे मेरे लंड को सहलाने लगीं और अचानक ही उन्होंने मेरे लंड को जोर से दबा दिया. सेक्सी दिखाना बीएफमेरी बहन की चूचियां एकदम गोरी थी, चिकनी दिख रही थी, एक निप्पल भी दिख रहा था, निप्पल मटर के दाने जितना गुलाबी रंग का था. ये सुनकर वो बहुत खुश हो गया और मोना को बांहों में लेकर झूमने लग गया, साथ ही उसने नीतू को पकड़ कर एक जोरदार किस भी किया.

फिर मैं उसकी चुत पर टूट पड़ा, उसकी टांगों को फैला कर भाभी की चुत को चाटने लगा.

उसने रमेश के लंड पर एक नज़र मारी और उसको बड़े प्यार से अपने दोनों हाथों से पकड़ लिया. जितना तेज़ उस्मान माया के निप्पल खींचता, उतनी ही ताकत लगा कर माया उस्मान का लंड चूसती. अब तुम और गोपाल यहाँ लेट कर कामक्रीड़ा करो और मैं इस कन्या को आशीर्वाद देता हूँ.

उसने मेरी गांड पर एक जोरदार थप्पड़ मार कर बोला- कहाँ चली मेरी जानेमन. वैसे तो अब तक मैं 5 चूतों का स्वाद ले चुका हूँ लेकिन ये कहानी मेरी पहली चुदाई की है जो मैंने अपने साथ किराये पे रहने वाली रेनू आंटी के साथ की. इतनी देर में सुगंधा की नजर मेरी शर्ट पर पड़ी जो पीछे से गंदी हो गई थी.

प्रियंका चोपड़ा की बीएफ दिखाएं

हमारी दोनों की जीभें एक दूसरे के मुँह में थी और मुझे वो बहुत उत्तेजित लग रहा था. मैंने कहा- अगर तुम कहते हो तो मैं पकड़ लेती हूँ लेकिन तुम कुछ और तो नहीं करोगे ना?वो बोला- बिल्कुल नहीं. मैं सोचने लगी कि साले ने पहले तो मेरी गांड में पेंटी तक लंड की टोपी घुसा दी, चूत पर लंड रगड़ रहा था और अब कैसा भोला बन रहा है.

वैसे तो मैं रिच फैमिली से थी लेकिन मेरी मम्मी मुझे कभी आई फोन नहीं दिलाने वाली थीं.

उस वक़्त जब जब मुझे सेक्स का मतलब भी या यूं कहें लंड का इस्तेमाल भी नहीं पता था, उस टाइम चुत तो मिल गई.

मम्मी ने मेरा हाथ पकड़ा और वापस मुड़ने को कहा तो वो तीनों हमारे पास आ गए और हमसे पूछा कि हमें कहां जाना है. ऐसा करते वक्त वो अपनी आँखें बंद कर रही थी और अपने होंठों को अपने दाँतों से दबाती थी. बीएफ ब्लू फिल्म दीजिएमेरा दिल बहुत तेजी के साथ धड़कने लगा था और मेरी साँसें भी बहुत तेज चलने लगी थीं.

अगर मेरे लंड को तेरे दांत ने छुआ भी तो और एक उंगली तेरी गांड में डालूँगा. लड़का चुत में जीभ चलाता रहा, फिर लड़की को मजा आने लगा और लड़के के बाल पकड़ कर जोर से अपनी बुर में चिपका लिया. जिस तरह पप्पू उसकी चूत चाट रहा था, उससे रूपा मदहोश हो कर पप्पू का सिर चूत पे दबाते हुई बोली- आहहह चोद जैसे मर्ज़ी आए वैसे चोद.

मुझे सोते वक्त किस करना, मेरे चूचों को दबाना और मेरी चूत पर हाथ फेरना. मेरे भाई ने जब मुझे और मम्मी को चोदा तो उसने यही कहा- दीदी, मुझे ज्यादा मजा मम्मी को चोदने में आया है.

मैंने तुरंत ही दीदी के सारे गहने उतार दिए और दीदी की साड़ी भी उतार दी.

जांच के बाद पता चला कि उसकी लड़की के पेट में अपेंडिस था, मैंने रागिनी को बताया कि ऑपरेट करना पड़ेगा. अन्दर कुछ साफ तो नहीं दिख रहा था लेकिन उनकी परछाई से लग रहा था कि वो जरूर कुछ अलग ही कर रहे हैं. अब मैं भी झड़ने वाला था, मैंने कविता की तरफ देखा तो उसने मुझे झड़ने का इशारा कर दिया और मैं खुशी की चुत में ही झड़ गया.

ब्लू सेक्सी बीएफ चोदा चोदी शाम को दीदी खाना खाने के बाद मेरे कमरे में आईं और कहने लगीं- अपनी पैन्ट उतारो. जब मैंने उसकी तरफ एक बार चुपके से देखा तो वो भी अपनी आँखो से ब्लू-फिल्म के मजे ले रही थी.

मैं कभी नहीं चाहता था कि मेरी और मामी एवं अर्चना बहन के सेक्स सम्बन्धों की भनक किसी को लगे. रीतिका पूजा के ऊपर 69 में थी, रीतिका भाभी पूजा की चूत चाट कर कहती- अब ट्राइ करो. अगर तुम मन से अपनी पत्नी को प्यार करते हो तो उसे इस बारे में सब बताना तुम्हारा पहला कर्तव्य है.

बीएफ फिल्म दिवाली

मैं सोचने लगा कि करूँ भी तो क्या?अगले दिन वो नई लड़की खाना लेकर अकेली आई. मैंने मोनिका से हाथ जोड़े और कहा- देवी, मैं समझ गया कि बिना लड़की की इजाजत के आओगे और अगर वो अपनी पर आ जाएगी तो तुम्हारी बैंड बजा देगी. तभी ना जाने मुझे क्या हुआ कि मैंने सब कुछ भूल कर वासना के नशे में रागिनी को कस कर पकड़ लिया.

अपना फीड बैक मुझे जरूर दें ताकि मैं अपनी अगली सेक्स स्टोरी को उसी हिसाब से सुधार कर आपको सुना सकूं. अब तक आपने पढ़ा कि रूपा ने सचिन से अपनी नजदीकियां कुछ ज्यादा ही बढ़ा ली थीं। उधर सोनाली और पंकज ने भी उसको पूरी छूट दे दी थी। सचिन रूपा को अपने सारे राज़ बता चुका था और उसके साथ थोड़ी मस्ती भी हो गई थी। लेकिन अब वो सोने के लिए रूपा के कमरे में जा रहा था.

मैं देख ही रही थी कि तभी अचानक से मेरी सास बाथरूम से निकल आई और मुझे वह प्लास्टिक का लंड पकड़े देख लिया और बोली- निशा तुम यहाँ क्या कर रही हो? और यह क्या है तुम्हारे हाथ में? मेरी अलमारी क्यों खोली तुमने?और कई सारे सवाल करने लगीं.

मैं उठ नहीं रहा था, मौसी ने मुझे बाकी बातें घर में बताने का वादा करके मुझे वापस ले आईंरात को खाने के बाद मैं तुरंत ही मौसी के पास चला गया और पूछने लगा, तो मौसी बोलीं- सबको सो जाने दो फिर बताऊंगी. अब मैं गिनती गिनते हुए उस का लंड चूस रहा था, जो मेरी पुरानी आदत है. पूजा- नहीं मामू, मुझे पता है आप गांड मारोगे तो मेरी जान निकाल दोगे.

वो मज़े ले रही थी- चोद मेरे मम्मे चोद, झटका दे कमीने और तेज चोद और जोर. आज तुझे उसके घर जाने ही नहीं दूँगा, अभी यहाँ चोद कर फिर मेरे घर ले जाऊँगा समझी? बहनचोद साली तुझे बच्चों के बारे में पूछा तो जवाब क्यों नहीं देती हरामी. ये कहकर मैं उठा, तभी रागिनी जी ने मेरा हाथ पकड़ लिया और बड़े प्यार से बोलीं- प्लीज सर चलिए ना!मैं कुछ कहता इससे पहले रागिनी जी बोलीं- मुझसे डर रहे हो क्या? मैं खा थोड़ी जाऊँगी क्या?उन्होंने मेरा हाथ पकड़ कर जबरिया जमीन पर लगे बिस्तर पर लेकर मेरे से सटकर बैठ कर बात करने लगीं.

मामी को असीम आनन्द की अनुभूति हो रही थी जिससे उनकी आँखें बंद होने लगीं.

बीएफ भेजो हिंदी में सेक्सी: [emailprotected]कहानी का अगला भाग:जीजू की चचेरी बहन की बुर चोदन की कहानी-2. [emailprotected]कहानी का अगला भाग :फुफेरी बहन की चुत और गांड चुदाई.

रात में करीब एक बजे नीलेश जीजू का फ़ोन आया उन्होंने मुझसे पूछा- क्या सब सो गए हैं?तो मैंने कहा- हाँ जीजू मम्मी पापा सो गए हैं. मुझे पता था कि अब वो जरूर चूसेगी, चाहे उस पर वैसलीन ही क्यों न लगी हो. मैंने उस के एक निप्पल को अपने दांतों से हल्का सा काट दिया, जिस से एक तेज सिसकारी उस के मुँह से निकल गई- अह्हह्हह्ह… अभि माय बेबी… मुझे बहुत ही मजा आ रहा है क्या सब यूं ही खा जाओगे?फिर वो मेरे ऊपर आ गई और मेरे सीने पर किस करने लगी.

उफ्फ्फ यह क्या कर रहे हो? आपने कहा था कि गांड नहीं मारोगे?”चुप कर मासूम रंडी.

चलो जल्दी से पोज़िशन बनाओ ताकि हरामजादी के सारे छेदों में लंड घुस जाएं. माया की चुत अब अमित के लौड़े को ऐसे पकड़ रही थी, जैसे माया के होंठ अमित के लंड को चचोर रहे हों. तो वो बोलीं- देवर जी भी नहीं हैं, मैं किसके साथ जाऊं?पापा ने कहा- तुम धर्म को लेकर चली जाओ.